सेक्सी बीएफ खून खच्चर

छवि स्रोत,गांव+की+सेक्सी+वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

kareena kapoor सेक्सी: सेक्सी बीएफ खून खच्चर, मैंने उंगली को उसकी चूत के रस में भिगोया और उसकी गांड में सरका दी तो प्राची चिहुंक उठी और मेरी ओर देखने लगी.

हरियाणवी पंजाबी सेक्सी

कभी शबाना की गांड तो कभी उसकी चूत में घुसकर उसका लौड़ा शबाना के जिस्म का भोग लगा रहा था।वीरू के टट्टों में उबलता हुआ उसका कामरस शबाना चाची की चूत या गांड में खाली होने के लिए व्याकुल था. घड़ी सेक्सी डांसइससे लंड का मस्ती और ज्यादा उभरने लगी।उसके बाद उसने मेरे आर्मपिट्स की भी यात्रा की और मज़ा लिया।वहां से सरकता हुआ मेरे पेट पर आ गया लंड!मेरी नाभि पर बैठ कर आराम करने लगा लंड!थापा का लंड मुझे बहुत अच्छा लगा और मैं लंड का पूरा मज़ा ले रही थी।फिर मैंने लंड को अपनी जाँघों तक पहंचा दिया।चूत के चबूतरे पर बैठ कर लंड मज़ा करने लगा।मैंने कहा- भोसड़ी के लंड राजा, ज़रा संभल कर बैठना.

काफ़ी बातें होने के बाद मैंने उसे बता दिया कि मैं उसे पसंद करता हूँ. सेक्सी प्ले वीडियो सेक्सीवे उन्नाव में एक बैंक में कर्मचारी हैं।अब आप मन्नत भाभी को चूत की प्यासी भाभी भी कह सकते हैं क्योंकि उनके शौहर का नवंबर 2019 में कार एक्सीडेंट में देहांत हो गया था।लेकिन बैंक में होने के कारण उनको पैसे की दिक्कत नहीं थी.

मेरी बहुत दिनों से इच्छा थी कि कॉलेज टीचर के साथ सेक्स की अपनी कहानी लिखूं.सेक्सी बीएफ खून खच्चर: मैंने सरिता से कहा- सरिता, तुम भी बहुत सुंदर और सेक्सी हो और विलास भी अच्छा और सीधा साधा है.

कुछ दिन बाद अर्चना यानि कि मेरी मौसी सास ने एक व्हाट्सैप ग्रुप बनाया और उसने मेरा नंबर मेरी बीवी से ले लिया.अब मेरी साली ने मुझसे कहा- आह जीजा जी मजा आ रहा है … आ आह आप मस्ती से मुझे चोदते रहो … बस इतना ख्याल रखना कि मेरे अन्दर न झड़ जाना.

बुआ के सेक्सी वीडियो - सेक्सी बीएफ खून खच्चर

उस लड़की का नाम शिल्पा था और वो भाभी की कोई रिश्तेदार थी, जो कि मुझे बाद में पता चला.उसे पता चलेगा तो क्या होगा?इस पर वो बोली- हम उसे पता नहीं चलने देंगे.

फिर एकदम से उसकी चूत से पानी निकला और एक लम्बी आह्ह … के साथ दीदी शांत होती चली गयी. सेक्सी बीएफ खून खच्चर आज मुझे उसी तरह प्यार करने वाले इंसान की तलाश है, जो दिल से प्यार करे … और मेरे जज़्बातों को समझे.

चाय पीने के बाद विलास पैंट पहनकर तैयार होकर बोला- हर्षद तू आराम कर, मैं जरा बाहर जाकर आता हूँ … गांव में थोड़ा काम है.

सेक्सी बीएफ खून खच्चर?

उस रात हम तीनों ने थ्रीसम सेक्स किया। मैं माफी चाहती हूँ कि मैंने तुम्हें नहीं बताया. इसके लंड को लेने के बाद मेरा क्या होगा!मैंने उसके लंड पर तेल लगा कर थोड़ी मालिश की. वो शर्मा कर बोली- ऊओ थैंक्स जान!फिर मैंने कहा- वैसे मैडम आपको पार्टी में नहीं जाना क्या … हम लेट हो रहे हैं.

मैंने उसकी बगलों में किस करना शुरू किया तो सिहरन के मारे उसकी हालत खराब हो गई और मुँह से कामुक आवाजें आने लगीं. यह देसी लड़की Xxx कहानी थोड़ी ज्यादा हवस से भरी हुई है और संतुष्टि देने वाली कहानी है. मैं- दीदी मैं सोच ही रहा था इस फोन को लेने के बारे में … और आपने फोन गिफ्ट दे दिया … थैंक्यू दी.

आज मैं पहली बार सेक्स कर रहा था तो न चाहते हुए भी खुद को काबू नहीं कर पा रहा था. जब भी मैं भाभी को देखता तो मेरा लंड खड़ा हो जाता और …दोस्तो, मैं शुभ प्रताप सिंह कोटा (राजस्थान) से हूँ, आप सबके खड़े लंड और गर्म चूतों को मेरा प्रणाम. हनी विस्मय ने बोला- क्या वाकयी?सोहल ने फिर से हां कहा और उसके लंड को सहलाने लगा.

सीमा ने अपने बच्चों की खातिर बंशी को ढूँढने की बहुत कोशिश की, पर वह कहीं नहीं मिला और ना ही वह वापस आया. दरवाजे बंद ही हुए थे कि मैंने भाभी को पकड़ लिया और उन्हें किस करना चालू कर दिया.

कुछ देर में उसके लंड ने सारा वीर्य मेरी चूत में भर दिया और वह निढाल होकर मेरे ऊपर ही गिर गया।बहुत देर तक हम दोनों एक दूसरे से ऐसे ही चिपके रहे।फिर करीब 10 मिनट के बाद उसका और मेरा फिर से वही सब दोबारा करने का मन करने लगा।और उसका लंड फिर से खड़ा हो गया तो उसने मुझसे उसे चूसने का इशारा किया.

उनकी खिड़की में कांच लगा हुआ था तो अन्दर का नजारा हल्का हल्का सा नजर आ रहा था.

अब मेरा मन तो उसकी मदमस्त गांड में सात इंच का लंड उतारने का हो रहा था. मैंने भाभी के पास जाकर कहा- ये मोहतरमा कौन हैं, भाभी जी जरा हमसे भी तो मिलवाओ. वो कई बार टीवी देखते टाइम मेरे हाथ को अपने दो हाथों में ले लेती थीं.

थोड़ी देर बाद चोदते वक़्त उन्हें किसी का फोन आया, वो बातें करते हुए मेरी गांड को और जोर से मारने लगे. रवि लेट जाता, मोहिनी और सोनम बारी बारी उसका लंड अपनी चूत में लेकर रवि के ऊपर बैठ जातीं. वो एक हाथ से एक निप्पल दबाने लगा और दूसरे हाथ से पकड़ कर दूसरा निप्पल चूसने लगा.

मैंने उंगली को उसकी चूत के रस में भिगोया और उसकी गांड में सरका दी तो प्राची चिहुंक उठी और मेरी ओर देखने लगी.

तो मैं हॉल में फोन की तरफ चला आया, देखा तो प्राची के पति मनीष का कॉल था. तो वो पूछने लगी- और क्या क्या किया है … टेंशन मत ले, मैं किसी को नहीं बताऊंगी. मैं उसके गाल पर अपने होंठों रगड़ते हुए गर्दन, फिर कंधे तक चूमता चला गया.

अब सीन ये था कि अनिल पीछे से चूत चोद रहा था और दूसरा मुँह में लंड आगे पीछे कर रहा था … तीसरा लौंडा एक हाथ से पारुल की चूची दबा रहा था और एक हाथ से अपने लंड को आगे पीछे कर रहा था. बंशी ने आते ही उसको अपनी बांहों में भर लिया; उसे खड़े खड़े ही खूब चूमा चाटा और उसे एक सरप्राईज दे दिया. सोनम को भी प्रकाश के अच्छा स्वडभाव, प्यार … और जिस तरह वह उसका ख्याल रखता था, बहुत अच्छा लगता था.

अब फिर से सोनम को पीड़ा हुई, उसने अपने पति प्रकाश की बात मानकर दर्द झेल लिया.

लंड चूसने के बाद उसने कहा- अबे साले भोसड़ी के … तू तो बड़ी जल्दी झड़ गया?मैंने कहा- हां मेरा पहली बार था ना … इसलिए मुझसे रुका नहीं गया. मैंने भी मुस्कुरा कर उसकी बात का समर्थन किया और कहा- हां, भारतीय औरतों की खूबसूरती प्रकृति की देन है.

सेक्सी बीएफ खून खच्चर बाय आई लव यू … उम्म्म्मा बाए!मैं- अरे मेरी बात तो सुनो!मगर जमीला हंसती हुई चली गई. मैंने श्रुति के ऊपर चढ़ कर अपना लंड उसकी चूत पर रखा और जोर से धक्का लगाया.

सेक्सी बीएफ खून खच्चर वो पागल हो गई और अपने मुँह से बड़बड़ाने लगी- आंह आंह निशु क्या कर दिया है … आह मर गई. मैंने धीरे धीरे उनसे बहुत सारी मीठी बातें की और उनको यहां वहां चूमता रहा.

इतना पढ़ने के बाद जब मुझे दीदी के बाहर आने की आवाज़ आयी तो मैंने उसका मोबाइल बंद करके रखा और बाहर आ गया.

ऑडियो एंड वीडियो डाउनलोड

30 बजे जब छुट्टी की घंटी बजी तो मैंने हल्के से उसे इशारा किया तो उसने भी हां में इशारा किया।मैं बहुत खुश था क्योंकि मेरा घर गांव के बाहर की तरफ आता है और कल मेरे घर पर कोई नहीं था।अब मुझे बस कल 10 बजे का इंतजार था।मैं खुशी के मारे फूला नहीं समा रहा था।मैं सुबह उठा तो मैं बुखार का बहाना बनाकर स्कूल नहीं गया. मैं पहुंची तो देखी कि वो लोग एक तरफ गद्दे बिछा कर तैयारी किए हुए थे और एक बड़ी सी टेबल पास में रखी थी. कुछ ही देर में हम दोनों पसीने पसीने हो गए थे हालांकि कमरे में एसी चालू था.

वो भी मेरे लंड की तारीफ़ करने लगी और फिर हम दोनों ने कई मिनट तक किस किया।फिर मैंने टाइम देखा।उसने भी घड़ी देखी तो बोली कि अब चलना सही रहेगा वरना घरवालों को जाकर फिर जवाब देना पड़ेगा।मुझे भी अपने काम पर जाना था और उसको भी अपने घर पर जाना था. तभी उसने एक हाथ निप्पल से मुँह हटा कर मेरा मुँह बंद कर दिया और अपने दाँत मेरे निप्पल में घुसा दिए. मैं मुग्धा की गांड मार रहा था और मुग्धा ‘आह … आह … अब बस करो’ बोल रही थी।मैंने अंगिका को देखते हुए कहा- देख आज मेरी और तेरी मम्मी की सुहागरात है.

निशा बोली- हम्म … वो तुझे मस्त लगती है … और ये भी तो बता कि मैं कैसी लगती हूँ?मैंने कहा- सच बोलूं तो मुझे तू बहुत पसंद है, पर तू किसी और को पसंद करती है.

मैंने उससे कहा- एक बार लंड चूस ले!मगर वह मना करने लगी और बोली- यह गंदा है. मैंने आगे बढ़ कर भाभी को बेड पर गिरा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर चूमने लगा. मैंने कहा- अच्छा ये बताओ, मेरा सरप्राइज क्या है?वो बोली कि अभी रूको जरा, इतनी जल्दी क्या है?फिर लगभग 9:15 हुए होंगे तब वो मुझसे थोड़ा अलग हुई.

मैंने धीरे से कह दिया कि मैं फोन करने वाले की आवाज सुनना चाहता हूँ. वो हंस कर बोली- वो सरप्राइज बाद में दूंगी, पहले इस सरप्राइज को तो अच्छे से देख लो. कुछ ही देर में मम्मी ने अलमारी से कुछ सामान निकाला और मेरे कमरे में आकर बोलीं कि मुझे चाचा के घर जाना पड़ेगा.

फिर दो या तीन महीने बाद मैंने भुवनेश्वर जाना था किसी काम से … मैंने उसको अपने आने का बताया तो वो ज्यादा खुश नहीं दिखी. अब तो मेरी गांड खुल गयी थी और मेरे पति का तगड़ा लंड मेरी गांड में अन्दर तक जाकर चोद रहा था.

जिया दीदी भी अपनी चुदाई के लिए तैयार थीं इसलिए वो भी राहुल को जाने के लिए नहीं कह रही थीं. इसलिए आगे क्या होगा … ये जानने के लिए मैंने गन्ने के पेड़ों के बीच में लेटकर आगे जाकर जगह बनाई और वहीं बैठ गया. कभी वो अपनी चूत को गोल गोल घुमाती, तो कभी लंड की चटनी सी पीसने लगती, तो कभी बस कमर को ऊपर नीचे करती, कभी पूरे शरीर से पूरे शरीर को रगड़ कर मालिश सी करने लगती.

टीना की मादक आवाज निकलने लगी- उन्ह … क्या कर रहे हो यार … आग लगा दी … मर गई.

मैं भी उठकर उसकी ऊपर चढ़ गया और उसकी पीठ के नीचे हाथ डालकर उसकी ब्रा निकाल दी. मेरे होंठों को चूत पर पाते ही वो कसमसा गयी और ‘आह अहह उहह …’ करने लगी. मैंने कहा- हां बोलो … आग लगा कर किधर भाग गई?जमीला ने हंस कर कहा- कहां हो मेरे राजा जी!मैं- पता नहीं, अभी जब से तुमसे मिला हूँ कुछ होश नहीं कि मैं कौन हूँ और कहां हूँ … बस तुम ही तुम मेरे ख्यालों में गूंज रही हो.

जब मैं मुठ मार रहा था तभी मेरी अम्मी कमरे का दरवाजा धकेल कर मेरे रूम के अन्दर आ गईं. जब कोई इतनी जल्दी बदल जाये तो दुख होता ही है।सासू माँ ने अपनी बात पूरी करके चुम्मा चाटी फिर शुरू कर दी.

वो भी मुझे अपने नाखूनों से खरोंच मार रही थीं और बार बार बोल रही थीं- आंह मेरी ऐसी चुदाई कभी नहीं हुई … आह मैं बहुत ही खुशनसीब वाली हूँ … जो आज तुम्हारे जैसा लंड वाला मिला है. वहां जाकर देखा, तो चपरासी ने ऑफिस खोल दिया था … पर कोई और आया नहीं था. एक दिन एक फ्रेंड की बर्थडे पार्टी में पूरे क्लास वाले कैंटीन गए थे.

निशा गुरबाणी

जब विलास से रहा नहीं गया तो उसने नीचे सरक कर मेरे लंड के उभार पर अपने होंठ रख कर किस कर दिया.

मैं और लूसी एक दूसरी को अपनी बांहों में भर कर एक दूसरी की चुचियों को दबाने लगी. अब उसे हज़ीरा की चुत और रमेश सर का लंबा और मोटा लंड दिखाई देने लगा था. पर उसने मुझसे प्रॉमिस करवा लिया कि ये बात उसके और मेरे अलावा किसी को पता नहीं चलेगी.

मैंने प्राची को किचन के प्लेटफॉर्म पर ही थोड़ा झुकाया और अपने लंड का सुपारा उसकी गांड की छेद पर रख दिया. उसके नाख़ून वीरू की पीठ पर गड़ चुके थे।चूत से निकलता पानी उसके लौड़े को गीला कर रहा था और वीरू का जवान बदन शबाना की बरसों पुरानी हवस मिटा रहा था. स्कूल की हिंदी सेक्सी वीडियोमुझसे अब रहा नहीं जा रहा था, तो मैंने फूफा जी से कहा- राज, न जाने मुझे क्या हो रहा है.

तुमने तो चोद चोदकर मुझे बेहाल कर दिया लेकिन उतना सुख भी दिया जो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था. सीधे जाकर मैंने प्राची के मस्त गुलाबी निप्पल को मुँह में भर लिया और उसके उरोजों से दूधपान करने लगा.

एकदम से लंड घुसा तो उसकी तेज चीख निकल गई- आंह मर गई अम्मी … फट गई मेरी. नानी(मेरी मम्मी) का चेहरा पीला पड़ गया- बेटा क्या कर रहे हो?विवेक बोला- जब जेठ के बेटे से चुदवाने में मजे आ रहे हैं तो तुम मुझे भी मजे दे सकती हो!यह कहते हुए विवेक ने मम्मी के होंठों पर अपना मुंह रख दिया और होंठों को चूसते हुए उनकी चूचियां दबाने लगा. वहां पर पहले से ही बहुत सारे कपल मौजूद थे।वहां जाकर मैंने उसका गिफ्ट खोला तो उसमें आईफोन था.

मैंने चुदाई की रफ्तार बढ़ा दी, तो उसने प्यार से मेरे गाल पर हाथ फेरे और गले में हाथ डाल दिया. बहुत बुरा हाल कर दिया तुमने!उसने अपनी पैंटी निकालकर मेरा लंड अपनी पैंटी से साफ कर दिया और मेरी ब्रीफ से अपनी चूत और जांघें साफ कर दीं. मैंने भी उनके होंठों का चुम्बन लिए और उनके कान में सरसराहट से कह दिया- आई लव यू पुरवा.

इतने में मैंने जोर का धक्का मारा, तो मेरा पूरा सुपारा सरिता की चूत की दीवारों को चीरकर अन्दर घुस गया.

मन किया कि यहीं पटक कर चोद दूँ! मेरी मुराद कैसे पूरी हुई?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम नितिन है और मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, यहां कहानिया पढ़कर मैंने भी अपनी एक सच्ची सेक्स कहानी लिख़ने की सोची. मेरे हस्बैंड को भी पता था कि वहां कोई मर्द तो रहता नहीं है, भाभी अकेली ही घर पर रहती हैं.

उसने मेरा लंड पकड़ा और अपनी चुत के मुँह पर सैट कर दिया, फिर दबाव बनाते हुए लंड अन्दर लेने लगी. इस हरकत से सोनाली सिहर उठी- आह इस्स … हर्षद गुदगुदी हो रही है!ये कह कर वो मेरा लंड जोर जोर से ऊपर नीचे करने लगी. वो बोली- पागल हो गए हो क्या … उसके सामने मैं तुम्हें अपनी ब्रा पैंटी कैसे दूंगी … अकेले में दे दूंगी.

अब मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था कि कुछ काम बन सकता है और आज भाभी की चूत चोदने को मिल सकती है. मैंने अपने वीर्य को उसकी गान्ड के ऊपर ही छुड़वा दिया।चुदाई के बाद हम दोनो एक साथ नहाए।फिर करीब 20 मिनट के बाद वह अपने घर चली गयी।तो कैसी लगी दोस्तो … मेरी हॉट इंडियन स्कूल गर्ल कहानी?मुझे मेल करें।[emailprotected]. मेरी टांगें उसके चूतड़ों पर टकराने से फच फच की लयबद्ध आवाज पूरे किचन में गूंज रही थी.

सेक्सी बीएफ खून खच्चर मौका मिलते ही मुझे बुला लेती थीं और हमारी जोरदार चुदाई का दौर शुरू हो जाता था. रीना भी हसित के किस का जवाब देती हुई उसको किस कर रही थी और बीच बीच में हसित के बालों में अपने हाथों को घुमा रही थी.

बेवफा बेवफा है तू

उसके बाद तो सब एक एक करके मेरे जिस्म को भोगने लगे, जिसे जो पसंद आता, वो वैसा करता. मतलब मेरे ऊपर बैठ कर उसने मेरा लिंग अपनी चूत में डाल लिया और जोर जोर से हिलने लगी. आप लोगों ने मेरी कहानी को इतना सराहा और इतना मुझे प्यार दिया उसके लिए मैं आप सभी का शुक्रिया अदा करती हूं.

तब प्राची लंड सहलाती हुई बोली- तुम्हारे इस चूहे को तो जरा भी चैन नहीं है. लॉकडाउन के बाद जब हमारी बेटी कॉलेज गयी तो हमने दिन के उजाले में चुदाई का मौक़ा मिला. తెలుగు బాత్రూం సెక్స్ వీడియోస్तभी सासू माँ ने एक और झटका दे डाला, उन्होंने मेरे पैंट और अंडरवियर दोनों खीचकर नीचे कर दिये.

मदन ने ये होते देख लिया और नरपत से पूछा- ये क्या कर रहा है बे?उसने बोला- मैं नींद में इसे अपनी बीवी समझ लिपट गया.

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने अपना एक हाथ उनकी जांघ पर रख दिया और सहलाने लगा. मैं फटाक से अपना लोवर उतार कर उसके जिस्म को ज़ोर ज़ोर से चूसने व मसलने लगा.

वो कसमसाने लगी और चिल्लाने लगी- आए ईयीई मर गई इई मैं … आआहह उउउहह!अब मैं कुछ देर रुक गया और उसे किस करने लगा, उसके मम्मों को मसलने लगा. आनन्द के जाते ही ज्योति सीधा बाहर आई और दरवाजा लॉक करके खिड़की से आनन्द को जाते हुए देखने लगी. दोनों पूरे नंगे थे, मैं ससुर जी का लन्ड तो सही से देख नहीं पा रही थी.

जब वह ग्रेजुएशन कर रही थी, तब बंशी और सीमा की आंखें चार हुई थीं और उन दोनों में प्यार हो गया था.

फिर जैसे ही मैं उसकी नाभि पर अपनी जीभ फिराने लगा, वो तो पागल सी हो गई. मैंने 2 प्लेट पुलाव पैक करवाया ताकि खाना बनाने में टाइम वेस्ट ना हो. मैंने तो सोचा था कि चाची के मजे लूंगा मगर ये तो मेरे ही मजे लेने लगी हैं.

भारत की सबसे सेक्सी औरतहसित मुस्काने लगा और बैठ कर दोनों हाथों से रीना के ब्लाउज के हुक खोलने लगा. वो मेरे लंड को एक हाथ से पकड़ खींचती हुई बोली- चलो जल्दी से नहा लेते हैं.

नंगी लहान औरत

उसके गौर वर्ण के चेहरे पर होंठों के आसपास उसकी लिपिस्टिक बिखर कर उसे और भी ज्यादा कामुक बना रही थी. जब धीरे धीरे प्राची का दर्द कम हुआ तो उसने खुद ही अपनी गांड को आगे पीछे करना शुरू कर दिया. उसके इतना कहते ही मैंने दीदी को अपनी ओर खींच लिया; उसके गुलाबी होंठों को चूमना शुरू कर दिया.

फिर भईया धीरे धीरे उनके कमर को चूमते हुए पैरों तक चले गए और भईया भाभी की चूत को चुमते हुए नीचे आ गए. मैं किस करते करते उनकी बड़ी गांड को दबाने लगा और एक हाथ से उनके बूब्स मसलने लगा. प्राची ने मुझे रोका और खुद ही जाकर बेडरूम से क्रीम लाकर मेरे पूरे लंड पर लगा दी.

उसे गुस्सा आ गया और उसने मेरा हाथ पकड़ा और मेरे मम्मों को चूसने काटने लगा. मैंने कहा- साथ में मैं तुम्हारी पीछे से भी लूंगा … और हां मुझे मलाई भी चाटनी है. फ्रॉक काफी शॉर्ट थी, मुझे हल्की शर्म भी आ रही थी कि इन कपड़ों में मैं कैसे बाहर निकलूंगी.

एक बार कई दिन तक मौका नहीं मिला तो मैं भाभी को बार बार सेक्स के लिए बोलता रहा. फिर थोड़ी देर बाद आंटी बोलीं- अब मैं ये तस्वीरें सोशियल मीडिया पर डाल दूँगी, यही तुम्हारी सज़ा होगी.

फिर अचानक हसित ने पूरी ताकत से धक्के देने शुरू कर दिए और रीना भी हसित की आंखों में देखते हुए झड़ने लगी.

मैंने बाथरूम में जाकर खुद को साफ़ किया और बाहर हॉल में सोफे पर आकर बैठ गया. बिहार के सेक्सी देसीमैंने उनको ऊपर आने को कहा, चाची ऊपर आ गईं और लंड को एक ही झटके में अपनी चूत में डाल लिया. देवर भाभी का सेक्सी रोमांटिकमैं अन्तर्वासना की सेक्स स्टोरी खूब पढ़ता हूँ और कुछ कुछ सेक्स कहानी तो इतनी ज्यादा कामुक होती हैं कि बिना लंड हिलाए रहा ही नहीं जाता. लवी को बैठने में दिक्कत हो रही थी तो वो रास्ते में एक दो बार अपनी गांड मटकाने लगी.

दो बार की धकापेल चुदाई के बाद हम दोनों काफी थक चुके थे और हमारी आंख लग गयी.

मैं 89 प्रतिशत नंबरों के साथ पूरे विद्यालय में तीसरे स्थान पर आया था. मेरा शरीर औसत है और लंड भी ऐसा है कि किसी को भी संतुष्ट कर सकता हूँ. गांड से लंड निकाला, तौलिया से पौंछा और अंडरवियर पहन कर वही तौलिया कंधे पर डाल ली.

मोहन ने सोनू को समझाया कि अपने पति का लंड लेते समय गांड ढीली करना, इससे तुम्हें आसानी होगी. मैं भी हंस पड़ा और मैंने भी कह दिया- भाभी, आप मुझे अच्छे से जानती हैं, तो क्यों मुझे अपनी बातों में फंसा लेती हैं!भाभी ने एक गहरी सांस ली और बोलीं- मैं कहां तुम्हें फंसा पाती हूँ. कम से कम आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने दीदी की चुत में ही लंड का पानी छोड़ दिया.

अफगान सेक्स

मेरा भाई शिवम बोला- जब तक मां की चूत नहीं मिलती, तब तक आप भैया को रोकना होगा!हम योजना बनाने में लगे हुए थे कि कैसे अनिकेत भैया से सौदा पूरा कैसे करवाया जाए. मैंने भी भाभी की कमर पर किस करते हुए उनके कुर्ते के साथ साथ उनकी ब्रा उतार दी और उनके बूब्स को चूसने लगा. पहले मैं अपने फैमिली के बारे में आपको बता देता हूँ ताकि कहानी समझने में आप लोगों को कोई परेशानी न हो.

मामी ने किस करते करते मुझे खटिया पर लेटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गईंमेरे साथ किस करते हुए मामी की साड़ी उतर चुकी थी.

फिर मां ने अपने ब्लाउज में से एक सिंगल चाबी निकाली और मेरे हाथ में देते हुए कहा कि अलमारी से ले लो.

इस बहाने हम एक-दूसरे को फिर से किस करने लगे।किस करते करते मैं सासू माँ के ऊपर झुक गया और उनको सोफे पर लगभग लिटा दिया और खुद उनके ऊपर लेट गया. एकदम से लंड घुसा तो उसकी तेज चीख निकल गई- आंह मर गई अम्मी … फट गई मेरी. सेक्सी फिल्म देसी गर्लप्राची की मटकती गांड देखकर मेरा लंड पहले से ही खड़ा था और मैं उसी हालत में मनीष से फोन पर बात कर रहा था.

सोनू को मालूम था कि मोहन और रवि शहर में काम करते हैं और काफ़ी पैसे घर भेजते हैं. खाना खाने के बाद मैंने उनसे कहा- भाभी, आप बेडरूम में चलो … मैं अभी आता हूँ. फिर उनसे काफी वक़्त तक मुलाकात नहीं हुई और अब तक मेरे मन में उनको लेकर किसी तरह के गंदे विचार भी नहीं थे.

वो कुछ समझ नहीं सकी थी कि मेरा लंड इतनी जल्दी फिर से चुदाई के मूड में आ जाएगा. तभी सोहल ने अपनी उंगलियां गांड से बाहर निकाल लीं और अपने लंड पर क्रीम लगाने लगा.

तो वो नाम बताती हुई बोलीं- इधर से मेरे गांव का रास्ता कोई 5 घंटे का है.

मेरे प्यारे पति को मुझ पर तरस आ गया, तो उन्होंने अपना मूसल लंड चुत से बाहर निकाला. उसे अपनी जांघों में और चूत में दर्द महसूस हो रहा था, वो मेरा हाथ पकड़कर खड़ी हो गयी. उसने पहले ही सब साफ बोल दिया था कि हम दोस्त बन सकते हैं, उससे आगे कुछ नहीं.

सनी लियोन की पहली सेक्सी वीडियो उसने एक हाथ से राजेश का लंड अपनी चुत में लगा लिया और राजेश ने भी अपने लंड को दाब दे दी. उन्होंने अपना पूरा शरीर टाइट कर लिया था और सांस रोक कर ‘उह … इस्स … आह …’ करने लगी थीं.

उसने तड़फते हुए कहा- आंह दर्द हो रहा है मगर आप करते रहो बाबू … मज़ा आ रहा है. मैंने जिया दीदी के ऊपर आकर लंड को चुत पर सैट कर दिया और उनकी आंखों में देखा. जिया दीदी- तुमने आज मेरी हालत कुछ पल के लिए बिगाड़ दी थी, तो पता नहीं तुम कोई वर्जिन गर्ल के साथ सेक्स करोगे तो उसका क्या हाल होगा!मैं- आपकी वजह से आज मेरी इच्छा पूरी हो सकी है.

विद्या बालन सेक्स व्हिडिओ

मैंने उनके सिर में हाथ फेरते हुए कहा- आप मुझे बोल दिया करें … जो आपको चाहिए हो. भाई भाभी सेक्स कहानी उन दिनों की है, जब मैं भईया और भाभी के घर मैं अपनी छुट्टियां बिताने के लिए गया था. मैं कोई न कोई बहाना बना के पंजाबी भाभी के घर में जाता रहता था और उन्हें तिरछी कामुक नज़रों से देखता रहता था.

उस दिन भैया घर पर नहीं थे, उनका बाहर का काम ज्यादा रहता था तो वो अधिकतर बाहर ही रहते थे. मैं अपनी इस सेक्सी मौसी की चुदाई हिंदी कहानी आपको अपनी सगी मौसी के साथ हुई घटनाओं के बारे में बताऊंगा.

मोहन मुर्गी पालन, रवि बकरी पालन, सोनू ग्रीन हाउस में विदेशी सब्जी, फूल उगाना सीखने लगे.

फिर मैंने धीरे से एक किस उसके माथे पर कर दिया और उसके बालों को सहलाना जारी रखा. इतना कहकर उसने मुझे अपनी बांहों में भर कर मेरे गालों पर बेतहाशा चुम्बनों की बौछार कर दी. बर्थ-डे पर जिया दीदी आने वाली थीं और उनके अलावा कोई रिश्तेदार नहीं होगा.

शिल्पा कुछ शर्मा रही थी क्योंकि वो पहली बार किसी और से चुदने वाली थी. मैं बातों के दौरान धीरे से उन्हें गर्म भी कर देता, पर मैं ज्यादा सेक्स के बारे में जानता नहीं था कि लड़की को पटाते कैसे हैं. मगर मैं सरिता को और तड़पाना चाहता था, मैं उसके ऊपर से उठकर 69 पोजीशन में आ गया.

इतना सुनते ही भैया ने अपना लौड़ा मां की गांड में डाल दिया और बोले- चाची ने ही तो मुझे चोदना सिखाया है.

सेक्सी बीएफ खून खच्चर: ऐसा पहली बार हुआ था पर मुझे अलग ही संतुष्टि मिली और कब नींद आयी पता भी नहीं चला।सुबह मौसी मां जब स्कूल जाने के लिए मुझे झुक कर जगा रही थी तो मैंने जसे ही आंख खोली तो नाइटी में से झांकती उनकी चूचियों की दरार नजर आयी. मैं सुध बुध खोकर उसकी तरफ देखता रहा और वो कब मेरे सामने आकर खड़ी हो गयी, कुछ पता ही नहीं चला.

जवानी में उनके चले जाने से सासू माँ काफी आहत हुई थी मगर उन्होंने खुद को किसी तरह सम्भाल लिया क्योंकि ससुरजी का बिजनेस चल रहा था तो पैसे की परेशानी नहीं हुई. इस वाली बोतल में व्हिस्की का एक एक पैग ही बन सका था तो मैं नंगी ही जाकर एक दारू की बोतल और ले आई. उसने मुझे झट से दूर किया और कहा- पागल हो क्या … मेरा एक बार में शरीर का एक एक अंग दुखने लगा है.

मैंने अपने भी सारे कपड़े उतार दिए और साथ ही साथ अपने लंड को सहलाने लगा.

अब मैंने सोनाली की चूचियां छोड़कर अपने दोनों हाथों से उसकी गोरी, मांसल गांड को थामा और सहलाने लगा. [emailprotected]हॉट गर्ल X स्टोरी इन हिंदी का अगला भाग:साजिश और सेक्स की कॉकटेल- 2. रवि ने सोनू को शहर में चाय की दुकान की नौकरी, तनख्वाह, कमीशन के बारे में बताया.