देसी भाभी के बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो टीवी

तस्वीर का शीर्षक ,

खाने वाला सेक्स वीडियो: देसी भाभी के बीएफ वीडियो, तो हम लोगों के सामने एक गंभीर समस्या आ गई थी कि कैसे पूजा और अग्रवाल भाई बहन होते हुए सेक्स कर सकते हैं तो जैसे ही आप लोगों के सुझाव को ध्यान रखते हुए मिस पूजा गोयल ने अपने भाई के सामने एक शर्त रखी- आप मेरे भाई हैं लेकिन मैं आपके साथ बेइंसाफी नहीं कर सकती हूँ कि आप मुझे ना छुएं! मैं घर पर आपकी बहन हूँ, लेकिन यहाँ आप चाहो तो मुझे आप अपनी वाइफ भी बना सकते हो! लेकिन घर पर मैं आपकी बहन ही रहूँगी.

हिंदी गर्ल्स बीएफ

जूसी मुस्करा दी, बोली कुछ नहीं लेकिन ऐसा लगा कि अब वो नार्मल है गई है. हिंदी सेक्सी ब्लू पिक्चर देहातीमैं भी रोहन के हर धक्कों पर अपनी कमर उछाल कर रोहन को ओर उत्तेजित कर रही थी।रोहन लगातार मेरी चूत के अंदर अपने लण्ड से वार कर रहा था… मैं भी चुदाई का मजा लेते हुए सिसकार रही थी- आहह… रोहन… बस ऐसे ही… चोद मुझे…चोद दे… मेरी चूत को अपने इस मोटे लंड से… और ज़ोर से… और ज़ोर से… हाँ बेटा.

बाद में वो भी आईं और फ्रेश होकर रूम में आकर मेरे गले लगकर मुझसे बोलीं- राजा तूने अपनीबुआ की चुदाईकरके आज बहुत सुख दिया मुझे. हिंदी गर्ल बीएफरूबी ने बार से बियर निकली और एक छोटी शीशी शहद की…विवेक बोला- शहद का क्या करोगी?तो रूबी मुस्कुरा दी.

तब शाम के 6:30 बज चुके थे। अभी कुछ किलोमीटर ही चले होंगे कि अचानक बाईक का पिछला टायर पंचर हो गया। रेगिस्तानी एरिया था.देसी भाभी के बीएफ वीडियो: उन मांसल, दिलकश टांगों को चाटता, चूमता, हाथ फेरता हुआ मैं उसकी चूत तक जा पहुंचा.

’‘इस बार मैं तुम्हें डॉगी स्टाइल में चोदूँगा।’वो बोली- कैसे?मैंने कहा- अरे पागल.मैं उठ के खड़ा हो गया रानी भी मेरे पास आकर खड़ी हो गई और अपनी बाहों का हार मेरे गले में पहना के चूम लिया मुझे!‘थैंक्स अंकल जी, आज मैं तृप्त हुई!’ वो बोली और अपना सिर मेरे सीने पर रख दिया.

बिहारी भाभी सेक्स वीडियो - देसी भाभी के बीएफ वीडियो

लेकिन अभी वेज बर्गर पहुँचा दीजिए।फिर उसने मेरा पता नोट किया और 30 मिनट का टाइम दिया।मैंने भाई से कहा- वो 30 मिनट में आ जाएगा, तुम ले लेना.30 बज गए थे।हिम्मत मेरे रूम में आया, उसके हाथ में मोबाइल भी था जिसमें मेरी और बिमलेश की चुदाई रिकॉर्ड थी, मुझे दिखाते हुए बोला- गुड़ यार, बहुत मस्त चुदाई की है… देखो चूत से कितना पानी निकला है! आज बिमलेश भी खुश है और मैं भी, चलो तैयार हो जाओ शाम होने को है 5.

फिर मैंने पेंटी के ऊपर से ही चूत पर एक किस किया तो मैडम ने उफ़फ्फ़ स्सीईईइ करके अपनी दोनों आँखों को बंद कर लिया. देसी भाभी के बीएफ वीडियो मैंने भी देर ना करते हुए चाची की टाँगों को फैलाया और अपना लंड चाची की प्यारी सी चुत पर रख कर एक ही झटके में पूरा उनके अन्दर पेल दिया।चाची मस्ती में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगीं और मुझे तो जैसे स्वर्ग का मजा ज़मीन पर ही मिल गया हो। मैं मस्त होके जोर-जोर से चाची की चुदाई करने लगा।वो मस्ती में ‘अह स्स ह.

मैंने उसकी बात अनसुनी करते हुए उसकी चूत को पैंटी के ऊपर से चूमना और चाटना शुरू कर दिया.

देसी भाभी के बीएफ वीडियो?

तब तक सुजाता का भी हो गया था, वो भी मेरे साथ नहाई और बाहर आकर दोनों कपड़े पहन कर बैठ गये।फिर उसको याद आया कि चाय तो बनाई ही नही! वो किचन में गई और बतर्न में उसके चुची से दूध निकालने लगी और उसकी चाय बना कर मुझे दी।अभी तो टाईम था सिर्फ साढ़े छः बजे थे, मैंने सुजाता को पूछा- तुम्हें कुछ खाना है? फ्रिज में देखो, जो चाहिए वो ले लो. ‘वो वो क्या स्नेहा… साफ़ साफ़ कहो न क्या बात है?’‘अंकल जी, वो मेरे मुहाँसे तो ठीक ही नहीं हो रहे!’ वो उदास स्वर में बोली. तभी वो जोर से चिल्ला उठी, मैंने कहा- हल्का दर्द होगा शुरू में!और इतने में एक जोरदार झटका दिया, अब लण्ड पूरा उसकी चूत में समां चुका था और मैं जोर जोर से धक्के देने लगा.

किरण जो मेरी दोस्त है, वो मेरे घर पर आ चुकी थी और मेरी सिस्टर से बातें कर रही थी. कॉलेज के टाइम पर उसने कई लड़कों से चुदाई करवाई थी लेकिन शादी के बाद पराए मर्द से चुदाई का यह उसका पहला अनुभव था. पर उन्होंने रानी की बात पर कोई ध्यान नहीं दिया और तेज गति से धक्के देने लगे, कुछ ही देर में चिंटू भी उनके लंड को निकाल कर मेरे मेरे मुँह को चोदने लगे, मेरी भी गांड बहुत दर्द कर रही थी.

वो आदमी चड्डी भी उतारता है, लड़की विरोध करती है, अपने पैर सिकोड़ के भींच लेती है लेकिन वो आदमी ताकत से उसकी चड्डी भी उतार कर फेंक देता है और उसके पैर खोल कर उसकी चूत पर मुंह लगा देता है. मैंने उसको उठाया और पलंग पर गिरा दिया और वापिस किस करने में लग गया. सब साले एक नम्बर के चोदू किस्म के थे। जब भी मैं उनके सामने होती तो वे मुझे खा जाने के लिए बेताब से दिखते.

थोड़ी देर बाद मुझे याद आया अगर कुछ मीठा इसकी चूत पर लगा होता तो मजा आ जाता।मैंने उन्हें दो मिनट रुकने को कहा और फ्रीज़ में खोजने से हनी की बॉटल मिल गई। बस फिर क्या था, मैंने उनके मम्मों पर पहले हनी लगाया. भाभी मेरे सिर को अपनी चुत पर दबा रही थीं। कुछ मिनट तक ऐसे ही चुत चटाई का सिलसिला चला।भाभी चिल्लाए जा रही थीं- अह.

मैं सोने का नाटक कर रही थी उसे दिखाने के लिये मैं उसका लंड छोड़ कर सीधी हो गई.

जो थोड़ा बहुत दर्द था, वो मेरे चुची चूसने से निप्पल को मसलने से थोड़ी देर में कम हो गया, उसे भी मजा आने लगा, उसके मुँह से आवाज निकलने लगी थी- फ़ास्ट किशोर… और जोर से… आह… आह… मेरे किशोर… मुझे काफी समय से इस पल का इंतज़ार था! आपको लेकर कितने सपने देखे थे, आज आप पूरा कर दो… आप और अंदर डालो… आह… सी…सी…मैं पूरे जोर से लंड को उसकी बुर में ठोक रहा था- हाँ अंजलि ओह्ह्ह आह!अब अंजलि के मुँह से स्सीईई.

फिर भी मैंने दिल में ठान ली थी कि अंजलि को चोदूंगा जरूर!रात को उसके साथ बैठे-बैठे मैं टीवी देख रहा था और सोच रहा था कि उससे कैसे कहूँ। फिर मैंने टीवी के चैनल बदलना चालू किया तो एक चैनल पर ‘तेरे संग. यह सुनकर रम्भा चाची ने कहा- पिताजी, मैं तो आपको कह रही थी लेकिन आप ही चुदाई देखने में व्यस्त थे!इतना बोलकर रम्भा चाची ने अपना ब्लाउज और पेटीकोट उतार कर दादाजी की धोती उठाई और वो विशाल काला मोटा लंड मुख में लिया. ठीक है? पर ये बात मोहन और कोमल को पता नहीं है, उनको मत बताना, यहाँ आओगे तो तुम्हारी अच्छी खातिर करेंगे.

अभी उंगली डाली तो तुझे दर्द हुआ था, लंड जाएगा तो बहुत दर्द होगा और तेरे चिल्लाने से सबको पता लग जाएगा।पूजा- हाँ दर्द तो बहुत हुआ. तो मैंने भी कहा- आई लव यू टू…अब मैं उनके ऊपर से उठ गया तो उन्होंने मुझे वापिस खींचा तो मैं उनके ऊपर गिर गया।उन्होंने प्यार से कहा- कहाँ जा रहा अब?मैंने कहा- पैंट निकाल रहा हूँ जान. तो दोस्तों ये फ्लॉरा की सबसे बड़ी कमजोरी है। जब ये अपनी कहानी बताएगी तब आप समझ जाओगे।फ्लॉरा- आह.

उसकी बात सुन कर रामू काका भी हमारे पास आ गए और मेरे लंड को देख कर बोले- अरे वाह भाई, तू तो तीस मार खान निकला, इतना बड़ा लौड़ा तो पूरी सोसाइटी में किसी का नहीं होगा, अगर सोसाइटी में ये बात पता चल गई, तो तुझे तो एक से एक चूत मारने को मिलेगी.

5 मिनट बाद, जब वो बाहर निकली तो उन्होंने घर की ड्रेस पहनी थी और वो टॉवल से बालों को झाड़ रही थी. मैंने लंड की साइड में अपनी जुबान लगाई और फिर एक झटके में उस लौड़े को मुँह से बाहर कर दिया. ऐसा तेज़ी से करने के कारण मेरा लंड पानी छोड़ने को तैयार होने लगा।मैं स्पीड बढ़ाता गया और वो गांड उचकाते हुए ‘अयाया अया.

अब मेरे लंड महाराज की प्यास बहुत ज्यादा बढ़ गई थी इसलिए मैंने उसे बाहर निकला और उनके हाथ में थमा दिया, उन्हें चूसने को कहा तो उन्होंने साफ़ मना कर दिया लेकिन हाथ में लेकर सहलाने लगी. मगर बहुत साफ-सुथरा रहता था।उसके पास एक ही बेड था तो उसने कहा- हमें दो-तीन महीने इसी एक से एडजस्ट करना होगा. ओह्ह गॉड… क्या गांड थी! इतनी मस्त कि सारा दिन चाटता रहूं!मैंने अपना हाथ उनके चिकने चूतड़ पे फेरा… एकदम मलाई थी!शायद उन्हें भी मेरा टच अच्छा लगा.

और मेरे ऊपर आ कर मेरा टॉप उतारने लगा। मैंने भी उसकी टी-शर्ट उतार दी। उसका सीना एकदम मस्त था। उसने अगले ही पल अपनी जींस को उतार दिया। अब वो केवल अंडरवियर में था। मैं उसे देख रही थी.

मैंने फिर उसके जिस्म की तारीफ की और उससे बेतहाशा चूमने लगा, उसने भी मेरा पूरा साथ दिया. आखिर में मेरा माल निकलने वाला था तो मैंने लंड को बाहर निकाल कर उसकी चूत में लगा दिया और तेज धक्के लगाने लगा.

देसी भाभी के बीएफ वीडियो मैंने पूछा- क्या हुआ?तो बोली- पेट दर्द कर रहा है…तो मैं बोला- फिर आप हाथ मेरे ऊपर क्यों हाथ फिरा रही थी?चची डर गई और रोने लगी तो मैंने उनको गले से लगाया और आहिस्ता से उनके बूब्स पर हाथ रखा. सलोनी भी अपनी चूत को सहलाते हुए आह-ओह किये जा रही थी- बहुत मस्त, मजा आ रहा है और जोर से और जोर से!बोले जा रही थी- नानी याद दिला दो इस चूत को मेरे राजा!मैं काफी देर धक्के मारता रहा, मुझे मूवी के सीन याद आने लगे, मैंने सलोनी की चूत से लंड को बाहर निकाला और उसको गोद में उठाकर पास पड़ी हुई डायनिंग टेबिल पर बैठा दिया और चूत में एक बार फिर से अपने लंड को डाल दिया और फिर उसको गोदी में लेकर चोदने लगा.

देसी भाभी के बीएफ वीडियो अपने पैरों को दूर-दूर करो। आंटी ने वही किया और मैंने चूत में एक उंगली डाली और हिलाने लगा। आंटी ‘सी सी. माँ की आवाज जोर से निकली- आह्ह्ह ऊऊऊह्ह… आआह्ह्ह… बड़ा तेज है रे… ऊऊउउइइइ… तुमने मुझे जन्नत पहुंचा दिया.

वरना दुकान वाले बाबा आवाज देने लगेंगे।मैंने थोड़ी तेज चुदाई शुरू की।वह बोला- सर आपका बहुत बड़ा है मस्त है।मैंने कहा- लग तो नहीं रही?वह बोला- आप धीरे कर रहे हो थोड़ी थोड़ी लग रही है.

साड़ी वाली देसी बीएफ

उसने मेरे साथ कोई ज़बरदस्ती नहीं की।फिर मुझे लगने लगा कि ये सही नहीं है मैं उसे खुद को छूने भी नहीं देती हूँ। अब मैंने खुद आगे बढ़ने का फैसला किया।अगले दिन मैंने उसे पार्क में बुलाया। हम दोनों एक पेड़ के नीचे बैठ गए।मैंने उससे कहा- क्या तुम मुझसे प्यार नहीं करते हो?उसने कहा- बहुत करता हूँ।तो मैंने कहा- तो मुझे किस करो।पर उसने कहा- नहीं. तुम ऐसा कुछ प्लान बनाओ जिससे तुम उसकी बहन को चोद सको और वो तुम्हारी बहन चोद सके।इस बात पर हम दोनों खुल कर हंस दिए।फिर मैंने दीदी को बोला- तुम नींद की गोलियां रात को दूध में मिला कर मॉम-डैड को दे देना और फिर उसको घर में बुला लेना।यह सुन कर दीदी खुश हो गईं।वो बोलीं- लेकिन तुम उसके घर कैसे जाओगे?मैंने बोला- मैं आज नहीं जाऊँगा मेरा कुछ और प्लान है. आप ही साथ नहीं दोगे तो मज़ा नहीं आएगा।मैंने कहा- बहुत कड़वी लगती है।तो उनमें से अजय बोला- बियर ला देता हूँ.

भाभी भी नहीं सोई थी, वो अपने मोबइल में कुछ कर रही थी। उन्होंने पिंक कलर की नेट वाली नाइटी पहन रखी थी. हमसे नाराज हो क्या?मैंने चुप्पी साध रखी थी।फिर वो बोली- इसमें मेरी क्या गलती कि हमारी सुहागरात ना हो पाई थी. यह था मेरा पहला सेक्स आंटी के साथ!आपको मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected].

कभी दाएं को चूसता।ऐसे बारी-बारी से दोनों चूचों को खूब चूसा। फिर हम दोनों वहां से खड़े हुऐ और उसने अपनी ड्रेस को ठीक किया और हम बाहर आ गए।फिर उसको मैंने जामनगर आने वाली बस में बिठा दिया और मैं अपने रूम पर आ गया। बाद में उसका कॉल आया और हम बातें करने लगे।ऐसे ही देखते-देखते मेरे इम्तिहान आ गए और उसने कहा- अगर अच्छे नंबर से पास होओगे तो जो मांगोगे वो मिलेगा।फिर क्या था.

एक नर्स से फोन सेक्स के बाद चुदाई-1एक नर्स से फोन सेक्स के बाद चुदाई-2अभी तक मेरी देसी चुदाई स्टोरी में आपने पढ़ा कि एक रोंग नंबर काल से एक लड़की मेरी गर्लफ्रेंड बनी, नर्सिंग का कोर्स करके वो मोहाली में नर्स लग गई. लगभग दस मिनट के बाद जब मैंने माला के दोनों स्तनों का सारा दूध पी लिया और मेरा लिंग भी खड़ा हो गया था तब मैंने माला को अपनी ओर खींचा और उसके होंठों को अपने होंठों से चिपका दिया. जीजू ने मेरे बालों को पीछे से पकड़ा और मुझे अपने लंड की तरफ खींचने लगा.

कुछ ही पलों में वो मेरे मुँह में झड़ गई। फिर मैंने उसकी ब्रा खोल दी और उसके चूचे पीने लगा। लगभग दस मिनट बाद वो भी फिर से गर्म हो गई और मेरा लंड अपनी बुर पे रख कर दबाने लगी। वो बोलने लगी- अब और मत तड़पाओ भाई. और आज भी चोदने के बाद ही इस सेक्स स्टोरी को लिखा है।आपके मेल का इन्तजार रहेगा।[emailprotected]. धीरे धीरे मैंने धक्कों की गति तेज कर दी, तेज धक्कों के साथ जेसिका भी तेज तेज सिसकारियाँ ले रही थी ‘आआह्ह आअह्ह आआ अह्ह आआह आअस्स स्फ़फ़्फ़्.

सुमन ही मुख्य किरदार है मगर ये सब छोटी-छोटी कहानियां आपस में जुड़ती चली जाएंगी. ‘जोर से करो ना जानू!’ मैंने उसे प्यार से कहा तो वो मुझे जोर से धक्के देने लगा, पर वो धक्के भी पेंटर के धक्के के सामने कुछ भी नहीं थे.

उसमें मैंने अपना मोबाइल नंबर उसके पास एक लड़की से पहुँचा दिया और उसका नंबर भी उसी लड़की के जरिए ले लिया।उसने ये कह कर मेरा नम्बर लेने से इनकार कर दिया कि मेरे भाई को पता लग गया तो मुझे मार डालेगा।मुझे लगा कि इसने नम्बर नहीं लिया तो बात नहीं बनेगी। लेकिन दो-तीन दिन बाद उसने मेरे एक फ्रेंड से कहा कि उससे कहो कि वो मुझे तंग करना छोड़ दे।इसके बाद मैंने ना तो उसकी तरफ कभी देखा. क्यों सही है ना?रात की ज़बरदस्त चुदाई के बाद जब फ्लॉरा घर गई तो उसकी मॉम ने डोर खोला।ममता… ये हैं फ्लॉरा की मॉम. ‘लगता है तेरी गांड भी बहुत चुदासी है, जरा जबान लगाने से साली को करंट लगता है!’ मेरी गांड चाटने के बाद उसने मुझे बेड पर बिठाया और खुद बेड पर खड़ा हो गया, मैंने उसका लंड हाथ में पकड़ लिया, थोड़ी देर हिलाने के बाद चूसने लगी.

सुल्लू रानी पहली बार किसी को अमृत पिला रही थी इसलिए वो ज़्यादा कण्ट्रोल नहीं कर पाई.

रूबी ने हंसते हुए अजय और विवेक से कहा- अभी अभी तो तुम्हारे बम्बू की हवा निकालीं है ये तो फिर खड़े हो गए?विवेक बोला- साली जी, अब तो ये इंडिया पहुँच कर ही शांत होंगे, यहाँ तो अंदर बाहर चारों तरफ ही सेक्स के नजारे हैं. पर बोला- एक शर्त है, वो ही पहने रहना होगा जो अभी पहने हो…निष्ठा बोली- धत्त…क्योंकि वो तो शार्ट नाइटी में थी. रास्ता साफ था।भाभी मुझे अपने घर में ले जाने लगीं, मैं भी उनके पीछे चल दिया।मैं पीछे से उनको मटक कर चलते हुए उनकी थिरकती गांड देख रहा था.

हेमा की बात गुलशन जी को समझ आ रही थी।गुलशन- शायद तुम ठीक कह रही हो. मैं भी देखती हूँ कैसे करोगे।इतना कहते ही उसने कहा- पहले चख कर तो देखूं.

भाभी की गोरी-गोरी मादक जाँघेंमुझे मखमल की तरह लग रही थीं, जाँघों को चूसते हुए उनकी पेंटी पर आ गया और पेंटी को सूंघने लगा. अब वो बड़ी हो गई है और कॉलेज में जैसा देखेगी वैसे ही वो भी करना चाहेगी। अभी तो वो सब बातें हम बता देती है. नहीं तो अपुन दोनों को वो चौकी लेकर जाएंगे।उतने में एक हवालदार पास आया और तभी मैंने सुनयना भाभी के कंधे पर हाथ रखा और भाभी ने भी मेरी कमर पर पीछे से डाला।उसने पूछा- क्या कर रहे हो?तो मैंने कहा- सर मैं जॉब के सिलसिले से ज्यादातर घर के बाहर ही रहता हूँ। आज ही घर वापस आया हूँ तो पत्नी को घुमाने बाहर लाया हूँ।तो उसने कहा- अरे हाँ.

बीएफ वीडियो सेक्सी हॉट

ये चारों भी शॉर्ट्स में ही थे… अजय ने रूबी का टॉप और ब्रा निकाल फेंकी तो रूबी ने भी उसका शार्ट नीचे खींच दिया और नीचे बैठ कर उसका लंड अपने मुंह में ले लिया.

यह कहते कहते रीना रानी ने चूत को ज़ोर ज़ोर से अपनी माँ के मुंह से रगड़ना शुरू किया. मैंने ट्रायल रूम में जाकर वो कपड़े पहने और राहुल को दिखाया तो वो बोला- मॉम, आप बहुत हॉट लग रही हो!पूरी कहानी अंजलि की आवाज में खुद सुन कर मजा लें. रूबी ने हंसते हुए अजय और विवेक से कहा- अभी अभी तो तुम्हारे बम्बू की हवा निकालीं है ये तो फिर खड़े हो गए?विवेक बोला- साली जी, अब तो ये इंडिया पहुँच कर ही शांत होंगे, यहाँ तो अंदर बाहर चारों तरफ ही सेक्स के नजारे हैं.

मानसी का इतना कहना था कि मैंने धीरे धीरे अपने धक्कों की गति बढ़ा दी और उसकी जोरदार चुदाई करने लगा. घर आकर पता चला कि मेरी चुदाई की वीडियो बनी है, अब सब लोग आते हैं और मुझे रात भर मेरी गांड और चूत की चुदाई करते हैं. राजस्थानी भाभी की सेक्सी मूवीहम एक दूसरे को छोड़ ही नहीं रहे थे, तभी उसने अपना हाथ मेरी टी शर्ट के अंदर किया और अपने मुलायम हाथों से मेरी कमर को सहलाते हुए मेरी टीशर्ट उतार फेंकी.

मैंने अपने हाथ को उसके गर्दन से निकाला और उसकी तरफ घूम गया और उसकी चूत को सलवार के ऊपर से ही सहलाने लगा. आइये दोस्तो, आपको अपनी पड़ोसन रंगीली की गीली देसी चुत मारने की कहानी सुनाते हैं।रंगीली मेरे कक्षा में ही पढ़ती है और मेरे पड़ोस में रहती है। हम दोनों इंटरमीडियेट फाइनल इयर में थे और दोनों का साइंस ग्रुप था। हम दोनों ही पढ़ने में होशियार माने जाते थे.

सबसे पहले मैंने उसकी कमीज़ की जिप को खोला और साथ साथ उसकी गर्दन को सहलाते हुए उसकी गाल और होंठों को चुसना शुरू किया और फिर कसमसा कर एक अंगड़ाई ली और अपनी कमीज़ को उतार दिया, वो मुझे पूरा सहयोग कर रही थी. वातावरण दोबारा मस्त बन पड़ गया, तो नताशा ने थोड़े गुमसुम राजू के लंड को हाथ में पकड़ कर सहलाते हुए कहा- माय डिअर अंकल माइक टाइसन. तब मैं उसको हाथ पे ले लूँगी फिर सोचूँगी कि टेस्ट करूँ या नहीं लेकिन ऐसा होगा कैसे?टीना- बहुत आसान है.

सारी बातचीत के बाद रीना ने पूछा- सैलरी कितनी होगी सर?विक्रम- आपको 8 हज़ार रुपये मासिक मिल पायेगा. कभी ऐसा हुआ है कि रात को तेरी आँख खुली हो और तूने उन्हें सेक्स करते देखा हो?सुमन- नहीं दीदी ऐसा कभी नहीं हुआ। मैंने उन्हें कभी नहीं देखा और वैसे भी पापा कमरे में बिल्कुल अंधेरा करके सोते हैं तो देखने का सवाल ही नहीं होता।टीना- ओके समझ गई. मेरा लंड बहुत कड़क हो चुका, था भाभी का हाथ लगते ही और कड़क हो गया।फिर भाभी मेरा लंड निकल कर हिलाने लगी और बोली- बहनचोद, तेरा लौड़ा तो घोड़े जैसा है, आज तो मैं जन्नत की सैर करूँगी.

मगर उसके बाद का हिस्सा मोटा था, इसलिए वहां पर उसके होंठों का गोल आकार बन गया था और उसने धीरे-धीरे लंड को चूसना शुरू कर दिया।मैं ‘आ आह.

अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि संजय आज पूजा की चुत की सील तोड़ने की तैयारी में लगा हुआ था।अब आगे. अब मैं रीना पर कुछ ज्यादा ही ध्यान देने लगा, उसके जिस्म से एकदम करीब आकर बात करने लगा, वो भी कुछ कुछ सोच पड़ रही थी.

उस वक्त मुझे अच्छा लगा, इसलिए तुम खुद को गिल्टी फील मत करो, अब सोने जाओ. अब जब मुझसे बिल्कुल रहा नहीं गया तो मैंने एक उंगली को अपनी चूत के अंदर घुसा दी. ये धधकती आग कैसे मिटेगी मेरे राजा।गोपाल- डार्लिंग रात भर काम करता हूँ.

इस वक़्त मैं भी रात की सारी घटना को भुलाकर बस इस पल का आनन्द लेना चाहता था. हम दोनों ही अपना एक एक राउंड पूरा कर चुके थे पर…आगे बढ़ने से पहले एक बार फिर मैंने अंजलि से पूछा- अंजलि, क्या तुम और आगे जाना चाहती हो?अंजलि ने मेरे तरफ देखा और हल्के से सर हिलाया- यस!मैं- सोच लो एक बार… कहीं तुम्हारे मन में कोई गिल्ट न आये?अंजलि- किशोर, मैं सच में आपके साथ करना चाहती हूँ. पहले तो उसको यकीन नहीं हुआ मगर मोना ने उसे वो बातें बताईं, जो साधु ने उसके बारे में बिना जाने बताई थीं.

देसी भाभी के बीएफ वीडियो तब उसकी गुलाबी गांड दिखी। उसके चारों ओर हल्के-हल्के मुलायम रेशमी बाल थे।मैंने दोनों चूतड़ जोर से मसले फिर उसकी वह गांड देख कर रूक न पाया और मैंने अपने होंठ लगा दिए व जीभ बढ़ाकर गांड चाट ली। फिर मैंने ढेर सारा थूक लगाया. जेट स्की में समुद्र में स्कूटर चलाना होता है, एक सवारी पीछे बैठ जाती है और स्कूटर पानी पर तैरता हुआ तेज स्पीड से दौड़ता है.

बीएफ सेक्सी ब्लू वीडियो हिंदी

और जोर से चिल्ला कर कहा- पेलो दीदी, पूरा का पूरा अंदर डाल दो, सभी मर्दों के कर्मों की सजा आज इसी को देते हैं।मैं डर के मारे कांप गया, तब उन्होंने कहा. यहाँ शहर में कौन किस को जानता है, जिसकी फ्री चुदाई मिलती है, मार! बहनचोद एक से एक चुदक्कड़ रहती हैं इस सोसाईटी में… कम से कम 20 औरतों को तो मैं जानता हूँ जो अपने पति के अलावा और मर्दों से चुदवाती हैं. उस समय रेंट मतलब कि किराया ही हमारी आमदनी का सिर्फ़ एक ही साधन था। हमारे पास 10-11 रूम थे, जिन्हें हमने किराये पर दे रखा था और इस एरिया में हमारा किराया सबसे कम था इसलिए हमारा कोई रूम खाली नहीं रहता था। लेकिन हमने कुछ समय बाद अपने कमरों का किराया बढ़ा दिया और काफी किरायेदार ज्यादा किराया ना दे पाने के कारण रूम खाली करके चले गए।इस तरह धीरे-धीरे हमारी आय का साधन खत्म हो रहा था.

एक दिन उसने मुझे बताया कि छुट्टियों में वो हमारे घर आ रही है, मैं खुश हो गया. ठंड काफी बढ़ गई थी और रजाई में भी ठंड लग रही थी। उस रात मैं वन पीस फ्रॉक में सोई हुई थी और मैंने अन्दर पैंटी भी नहीं पहनी थी। कुछ देर बाद मैंने महसूस किया कि सनी मेरी फुद्दी पर हाथ डाल कर सहला रहा था।मैंने पूछा- ये क्या कर रहे हो?उसने कहा- मैं तुम्हें प्यार कर रहा हूँ।मैंने कहा- अब हो गया हो तो रहने दो. एचडी ब्लू फिल्म भेजोदोनों एक दूसरे के पतियों के गले में बाहें डाल कर झूल गईं थी और चूम भी रहीं थी.

और कर भी क्या सकते हैं।हमारे आजू-बाजू की सीटों तक ही हमारी इस नोंकझोंक का पता चला। सब दो मिनट खामोश रहे फिर अपने-अपने में मस्त हो गये।रोहन की आंखों में क्रोध की ज्वाला स्पष्ट नजर आई। पर मैंने जैसे ही उसे प्यार से ह्ह्हहैल्ल्लो कहा.

स्वाति का पति अक्सर काम के सिलसिले में दिल्ली से बाहर ही रहता था लेकिन मैंने कभी इस बात का मौका उठाने का नहीं सोचा था।हम दोनों आपस में काफी बात करने लगे थे, स्काइप पे वीडियो चेट, व्हाट्सऐप हर वक़्त हम लोग टच में रहते थे. वो ऋषि के साथ-साथ मुझे भी पढ़ा देंगी।मैंने ‘हाँ’ कर दी।फिर मैं डेली ऋषि के घर पर दोपहर में 2 घंटे के लिए जाता था, उसकी मम्मी रोज कुछ ना कुछ अच्छा खाना बना कर रखती थीं। पहले हम लंच करते थे फिर पढ़ाई। ऐसे ही सिलसिला रोज चलने लगा।एक दिन ऋषि की तबीयत खराब थी तो वो स्कूल नहीं आना चाहता था। जब सुबह मैं उसके घर गया तो उसकी मम्मी ने कहा कि उनकी तबियत ज़्यादा खराब है.

चाची आगे बोली- देख अशोक, तेरे चाचा महीने में कभी कभी ही आते हैं जिससे मेरी वासना बहुत प्यासी ही रह जाती है, देख अशोक, तूने वो कमी पूरी कर दी है… तू शर्मिन्दा नहीं हो… अब तू रोज आकर अपनी चाची को चोदा कर!मैं चाची को और वासना की नजर से देखने लगा, चाची मुझे और सेक्सी दिखने लगी. टीना की बात सुनकर सुमन खुश हो गई और टीना से चिपक गई।टीना- अरे क्या हुआ इतनी खुश क्यों है?सुमन- वो दीदी, कब से मेरे दिमाग़ में ये चल रहा था कि इतने गंदे टास्क के बारे में संजय जी को पता होगा तो वो मुझे किस नज़र से देखते होंगे इसलिए मुझे उनसे मिलते समय बड़ी शर्म आती थी।टीना- अच्छा ये बात है. गुरुवार की रात तक सब कुछ सोचने के बाद जब कुछ रास्ता दिखाई नहीं दे रहा था तो ऋषि की बात मेरे दिमाग़ में घूमने लगी.

मेरा लंड कड़क होने लगा।अब मेरे हाथ ने उनके एक स्तन को दबाया तो मेरा लंड पूरी सलामी देने लगा। मेरा लंड उनकी जांघ पर स्पर्श करने लगा, इससे उनकी नींद खुलने लगी। मेरी गांड फट रही थी कि क्या होगा पर मैंने हिम्मत नहीं हारी और अपना कार्यक्रम निरन्तर जारी रखा।उनकी नींद खुली तो ये देखकर वो हैरान हो गईं कि ये क्या हो रहा था, बुआ मुझसे बोलीं- ये क्या है जतिन.

घर पर मम्मी भी थीं। मैं आपको बता दूँ कि मेरे और कोमल के घर वालों की आपस में ज्यादा नहीं बनती थी, इसलिए हमारा एक-दूसरे के घर पर आना-जाना बहुत कम था, इसलिए मेरी उसको कुछ भी बोलने में फटती है।वो मम्मी से कुछ बोल रही थी और वो बार-बार मुझे देख रही थी. कौन पूजा मुझे क्या पता कौन है क्या बोल रही है तू?टीना- देख संजू नाटक मत कर. सक्षम कुंवारा है और पुणे में जॉब करने के लिये आया है। लगभग उसको दो महीने हो गये थे उस रूम में रहते हुए और आसपास रहने वालों से उसकी दोस्ती हो गई थी और इसी तरह से उसके दिन व्यतीत हो रहे थे.

चोदने वाली सेक्सी ब्लू फिल्मतभी कुछ खारा टेस्ट वाला रस भी जोर से बाहर निकला, वो मूत रही थी और मैं पी रहा था, मेरा पूरा शरीर उसके मूत से भर गया और मैं हग रहा था और वो निढाल होकर मेरे शरीर पे आ गई. थोड़ा काम बचा था, वो पूरा करने चली गई। वापस जाते वक़्त मैंने उसे 500 रूपए दिए और दरवाजा लगाते वक़्त उसकी साड़ी उठाकर उसके टाँगों के बीच मुँह डाल कर चूत भी चख ली।तब वो बोली- इतनी भी ठरक ठीक नहीं है.

भोजपुरी में बीएफ सेक्स

स्नेहा जैन ने आज मुझे अपनी सेक्सी चुत चटवा कर उसका सारा रस निकाल कर अपने मुंहासों का इलाज़ करवाने बुलाया है. और निष्ठा बिलकुल चिपट गई कुशल से…निष्ठा उसकी बदमाशी समझ गई और उसने पीछे से एक धौल लगा दिया उसके, पर फिर चिपट गई और अपनी बाहें उसकी बाँहों के नीचे से ऊपर कर दीं. तुम मेरा ये काम कर दो, मैं तुम्हारा हर आफीशियल काम बेझिझक कर दूँगी। यहाँ पर मेरे दोनों हाथों में लड्डू नज़र आ रहे थे और मैं मन ही मन मुस्कुरा रहा था।फिर मैंने कहा- ओके मैडम ये काम रात दस बजे के बाद शुरू करना होगा.

थोड़ी देर हम ऐसे ही एक-दूसरे से लिपटे रहे और एक-दूसरे की पीठ पर हाथ फेरते रहे. मेल कीजिएगा।[emailprotected]कहानी जारी है।चूत की चुदाई करवा ली एक अजनबी से-2. तुम हो ही इतनी खूबसूरत।मैंने कहा- तुम कैसे प्यार करोगे मुझे? उसने कहा- मैं तुम्हें खाना चाहता हूँ.

’‘भाभी तू भी बहुत मस्त चुदासी औरत है, मैं भी ऐसी ही मस्त चुदासी औरत की चुदाई के बारे में सोचा करता था।’दोस्तो, आपको यह प्यार भरी लन्ड फुद्दी चुदाई की कहानी कैसी लगी। अपने विचार अवश्य लिखें![emailprotected]. टाप के उतरते ही सफेद ब्रा में कसे हुए उरोज को मैं देखता ही रह गया, इतने सुडौल की मानो दुनिया की सबसे हसीन मम्में हों, मम्मों के बीच संकरी सी घाटी में गुम हो जाने का मन कर रहा था।तभी आभा ने ब्रा की पट्टी कंधे से खींच दी, अब नंगी चूचियों को देखकर मेरी हालत और खराब होने लगी, उरोजों के मध्य लाल भूरे गोले बड़े ही आकर्षक लग रहे थे. मेरी बात सुन कर माला ने थोड़ा घूम कर उस स्तन को मेरी ओर करते हुए बोली- लीजिये साहिब, जी भर कर ताज़ा गर्म दूध पी लीजिये.

इन सब में से मुझे एक बार स्वाति से मिलने का मौका मिला, जो 26 साल की एक बहुत ही खूबसूरत लड़की थी. ऐसे जल्दबाज़ी में काम बिगड़ सकता है। टीना तुम सुनो शाम को मैं तुम्हें एक बुक दूँगा, उसके हिसाब से ही तुम सुमन को टास्क दोगी, अपनी तरफ़ से कोई एक्सट्रा काम ना करना.

आज बड़े प्यार से मारूँगा बस तू हां कर दे।मोना- उह गोपाल तुम कितने अच्छे हो काश पहले ही ऐसे प्यार से मेरी गांड मार लेते.

फिर हम दोनों रोज रात को फोन सेक्स चैट करते थे, एक दूसरे की सेक्सी पिक्स एक्सचेंज करते थे और दोनों मौका ढूंढने लगे. सानिया लियोन का सेक्सी वीडियोपर मैंने कहा- माँ मुझे भी चोदना है!माँ बोली- आह अशोक, पहले आलोक को पूरा कर लेने दे, फिर तुम चोदना. सेक्सी वीडियो बीएफ एक्स एक्स एक्समेरे पति ने झट से मेरा गाउन निकाल लिया, मेरी पेंटी को निकाल दिया और खुद अपने सारे कपड़े उतार कर, अपना लंड मेरे मुँह के पास लाया, मुझे उनका गोरा लंड अब छोटा और पतला लगने लगा, मेरा मन अब पति और पेंटर के लंड की तुलना करने लगा था, मेरे पति का गोरा पतला और छोटा था तो पेंटर का काला लंबा और मोटा था. कि किसी को भी कुछ बोलना नहीं।मैं बोला- ठीक है।अब हम दोनों पास एक बेड पर थे। मैंने धीरे उसके चूचे पर हाथ फेरा, वो कुछ नहीं बोली.

मॉंटी का मज़ा तो दुगुना बढ़ गया अब वो भी सुमन को देख रहा था और आहें भर रहा था.

उसने धीरे से अपना गेट खोल दिया और मैं डरते-डरते उसके घर में घुस गया. तभी मुझे लगा की मैं झरने वाला हूँ, मैंने मौसी से कहा- मेरा पानी पियोगी?तो उन्होंने हाँ की, मैंने झट से लण्ड चूत से निकाल कर उनके मुख में डाल दिया और सारा माल उनके मुख में ही छोड़ दिया. वो चुदास से छटपटा रही थीं।मैं दोनों हाथों से उनकी चुची को दबा रहा था और मुँह से एक-एक करके चूस रहा था। फिर मैं एक हाथ से उनकी चूत के बालों पर हाथ फेरने लगा।दीदी पैर को उछाल-उछाल कर चिल्ला रही थीं- अह.

मैंने मां से कहा कि मुझे अब और नहीं रहना है यहाँ पर… मुझे घर जाना है. मैंने कहा- भाभी, आपके जैसी असंतुष्ट महिलाओं के लिये भगवान ने मुझे भेजा है!और वो ख़ुश होकर मुझसे लिपट गई, फिर वो बोली- चलो बेड पे!मैं उनके पीछे चल दिया, वहाँ पहुँचते ही मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिये. अच्छा दिखना सुन्दर दिखना हर लड़की की इच्छा होती है और मैंने स्नेहा की कमजोर नस पर हाथ रख दिया था और मुझे यकीन था कि अगर मैंने सब्र से काम लिया तो उसकी चूत के दर्शन तो पक्का हो ही जायेंगे और हो सकता है कि मेरा काला कलूटा मूसल जैसा लंड भी उसकी गोरी गुलाबी मुलायम कुंवारी चूत की सील तोड़ने में कामयाब हो जाए!‘स्नेहा, इन मुहाँसों का इलाज नैचुरोपेथी या आयुर्वेद से ही संभव हैं.

बीएफ चाहिए एचडी वीडियो

मान गया मगर आज की रात चुत तो मरवाएगी ना!दोबारा चुदाई के नाम से मोना की आँखें थोड़ी बड़ी हो गईं।मोना- अरे काका आप आदमी हो या घोड़े. मैंने धीरे से अपने लण्ड को उसकी चुत में प्रवेश कर दिया, उसने मेरा पूरा सहयोग दिया. इससे मेरी दोनों जाँघें रोहन की कमर पर टिक गई और मेरी कमर बिस्तर से थोड़ी ऊपर हवा में झूलने लगी।रोहन ने देरी न करते हुए अपने लण्ड को मेरी चूत पर टिकाया और एक जोरदार धक्के के साथ अपना करीब सात इंच लम्बा और दो इंच मोटा लण्ड मेरी चूत में उतार दिया जो सीधा मेरी बच्चेदानी से जा टकराया.

उसने मेरी चूत को चूमा और फिर अपना लंड मेरी चूत में डालते हुए दस मिनट तक मेरी ज़बरदस्त चुदाई की.

तो वो बोली- मैं भी प्यासी हूँ… ये (उसके शौहर) अपने काम में ही बिजी रहते हैं, मुझ पे कोई ध्यान ही नहीं देते.

उसके गले में पहनी हुई पतली सी सोने की चेन उसके मम्मों के बीच जाकर छुप गई थी. उसके बाद मैंने उसकी टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और मेरा लंड उसकी चूत के छेद पर ले गया. हिंदी में बीएफ सेक्स फिल्मजो जो उसके जवाब हो सकते थे उन सबकी काट के भी डायलॉग सोच लिए!शुक्रवार को जब मैं राजे के घर रीना के साथ गई तो समय मिलते ही मैंने अपना इरादा राजे को बता दिया.

रानी के बारे में भी उसने एक बार फोन पर बताया था कि उसे जुड़वां बेटे हुए थे और उसने अपने नाकारा पति से तलाक लेकर एक प्रतिष्ठित बैंक में जॉब करनी शुरू कर दी थी और अब दूसरी शादी भी कर ली है और बहुत खुश है. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि संजय अपनी मुँहबोली बहन की बेटी यानि भांजी पूजा को बिस्तर पर लिटा कर उसकी चुत चाट कर उसको मजा दे रहा था। मजा रस को लेकर अब पूजा भी कहने लगी थी कि उसको भी ये रस चाट कर मजा लेना है।अब आगे. टीना- अरे यार मैं तेरी प्राब्लम सॉल्व करने की कोशिश कर रही हूँ और तू है कि मेरे को ही सुना रही है।टीना ने ये बात गुस्से में कही, फिर अपने काम में लग गई।सुमन- सॉरी दीदी आपको बुरा लगा तो.

मैं अपने एक हाथ से उसकी चुचियों को टटोलने लगा और अपना दूसरा हाथ उसकी स्कर्ट में डाल कर उसकी गांड की लकीर को सहलाने लगा. पिंकी के दिल की धड़कन अब तेज हो गई थी और साँस भी तेजी से चल रही थी… डर व घबराहट के मारे पिंकी ठीक से कुछ बोल तो नहीं पा रही‌ थी, बस धीमी आवाज में कराह‌ सी रही थी‘इश्श… च.

अब मैंने दूसरा धक्का थोड़ा जोर से मारा तो मेरा पूरा का पूरा लंड चूत में जड़ तक घुस गया.

भाभी के मुँह से ये मैंने ये सुना तो मुझे उनकी गांड मारने का मन हो गया. रवि को इन सब से कुछ लेना-देना नहीं था, वे बेफिक्र होकर मेरी चुदाई कर रहे थे।उत्तेजना के कारण मेरा शरीर अकड़ने लगा और मैं झड़ने लगी… मेरी चूत से रस की धार बाहर बहने लगी पर रवि का लंड अभी भी मेरी चूत के अंदर बाहर हो रहा था. अन्तर्वासना के पाठकों को विक्रम का सादर भरा नमस्कार, आपने मेरी पिछली कहानियाँ पढ़ी जो मेरी और रीना पे आधारित थी.

ऐक्स ऐक्स ऐन ऐक्स ऐक्स ऐन बस देवर जी अब अपने लंड को मेरी चुत में डाल दो।रसीली भाभी का ऐसा खुलकर बोलना था और मैं खड़ा हो गया। भाभी ने फिर से एक बार लंड को मुँह में ले कर गीला किया।मैंने कंडोम निकाला तो भाभी ने ना में मुंडी हिलाकर आँख मारी।रसीली भाभी ने बिना कंडोम के चुदाई का सिगनल दिया। मैंने एक बार चुत चाटी और दोनों पैर के बीच बैठकर लंड को भाभी की चुत पर घुमाकर लंड का टोपा चुत में धीरे से ढकेला। भाभी के मुँह से ‘उह उम्म. बस तेज गति से सड़क पर दौड़ रही थी और मेरी धड़कन मेरे दिल में उससे भी तेज गति से दौड़ रही थी.

इधर सुहाना का हाथ भी अपने रस से गीला हो गया था, वो अपने हाथ को मेरे मुंह के पास लाई, मैं समझ चुका था कि वो क्या चाहती है, मैंने उसके हाथ को चाटकर साफ किया।जब दोनों ने एक दूसरे का चाटकर साफ कर लिया तो मैं और सुहाना फिर एक दूसरे के अगल-बगल लेट गये, सुहाना ने मेरे पैरों पर अपने पैर चढ़ा लिए. बॉटल उनके हाथ में दी, चची ने पीनी शुरू की, तब तक मैं किचन से पानी पी कर बाहर आया और देखा तो चची ने काफी ड्रिंक पी ली थी और टीवी चालू करके देख रही थी. उतना टाईम देने की कोशिश करते हैं और मेरे से ज्यादा वो खुद भी दुःखी रहते हैं। वो हमेशा मेरे ही बारे में सोचते हैं। हर रोज उनके दिन में कम से कम 30 कॉल आते हैं, जब भी वापस आते हैं.

नेपाल की हिंदी बीएफ

पर मेरा लंड उनकी चुत से फिसल गया।तब भाभी ने लंड को पकड़ कर अपनी चुत पर रखा और कहा- अब धक्का मारो।मैंने वैसा ही किया. इस तरफ से निकली तो आपका ऑफिस देख के मन हुआ कि आप से कुछ बातें ही हो जायें, बहुत दिन हो गये आप से बात किये हुए!’‘जरूर, चलो वहाँ बैठ कर कोल्ड ड्रिंक पीते पीते बातें करेंगे!’ मैंने उससे कहा और हम लोग पास की ही दूकान से कोल्ड ड्रिंक्स लेकर पीने लगे. मेरे पति मुझसे पूछने लगे- क्या हुआ?तो मैं बोली- शायद उसका काम हो गया!इतने में बाथरूम का दरवाजा खोलने की आवाज़ आई तो मैं और मेरे पति वैसे ही लेट गये, जैसे लेटे थे!वरुण आया, कमरे की लाइट जला कर देखा, सब सो रहे हैं तो लाइट बंद कर के मेरे बगल में लेट गया.

’ गांड मारने की आवाज आ रही थी।मैंने आंखें बन्द कर लीं और अपना सर टेबिल पर टिका दिया। उसके हर धक्के पर मेरे भी मुँह से आवाज निकलती। ‘आ. तो मैं वहां पहुँच गया और चुपचाप उनके घर के सामने एक पेड़ पर चढ़ कर देखा तो मॉम और उनका बॉस ऊपर फर्स्ट फ्लोर पर अपने रूम में खड़े थे और मॉम ने सिर्फ़ ब्रा और पेंटी पहनी हुई थी। उनके मम्मे बिल्कुल नंगे थे। तब से मुझको पता है.

स्नेहा को मैंने ज्यादातर कान्वेंट स्कूल की ड्रेस में ही देखा था, वही घुटनों तक के सफ़ेद मोज़े, घुटनों से चार अंगुल ऊपर नीली सफ़ेद चौकड़ी वाली स्कर्ट और उसके ऊपर सफ़ेद शर्ट और गले में लाल टाई…लेकिन आज वो स्काई ब्लू जींस और नारंगी टॉप पहने थी जिसमें से उसके मम्मों का चित्ताकर्षक उभार सभी के आकर्षण का केंद्र था.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।मैंने उससे रुकने को कहा और अपनी ब्रा उतार फेंकी। मेरे बड़े-बड़े स्तन देखकर अवी पागल हो गया। वो पागलों की तरह मेरे स्तन चूसने लगा। साले ने मेरा पेटीकोट भी उतार दिया. उनका मुख मेरे वीर्य से भर गया, फिर भी वो सारा माल पी गई और मेरा लण्ड चाट के साफ किया और थैंक्स कहा कि मैंने उनकी सालों की प्यास बुझाई. तब माला ने अम्मा की बात मान कर कहा की वह सिर्फ मेरे साथ ही सम्भोग कर के संतान पैदा करना चाहेगी.

हेलो दोस्तो, मैं आपका संचित… कैसे हो आप सभी!एक बार फिर से तहे दिल से आप सब का शुक्रिया करना चाहूँगा मेरी कहानियों को इतना प्यार देने के लिए! मेरे पास बहुत से मेल्स आए और उन्ही में से एक मेल में मेरे एक अंतरवासना मित्र आदित्य ने मुझसे अपनी कहानी के बारे में बताया, तो आपका ज़्यादा समय ना बर्बाद करते हुए पढ़िए अदित्य की कहानी उसी की जुबानी…मेरा नाम आदित्य है, मैं पंजाब से हूँ. साफ नजर आने लगा था कि डबल एनल मेरी पत्नी को खासा पसंद आ रहा था, और वैसे भी मेरी धर्मपत्नी कभी भी दकियानूसी ख्यालातों में विश्वास नहीं रखती, उसे प्रयोगात्मक सेक्स बहुत पसंद है, उसका कहना है कि लंड लेने में कभी कोई नहीं मरता, वो तो सिर्फ जिंदगी दे ही सकता है. टी-शर्ट में से उसके बड़े-बड़े उभरे हुए चूचे, कसी हुई जींस में गांड पीछे से फूली हुई देख कर मेरा मन तो बावला हो गया।मैंने कहा- क्या बात है अंजलि.

इस पर भी जब वो कुछ ना बोली तो मैंने धीरे-धीरे उसके पूरे मम्मे को हथेली से दबाना शुरू कर दिया।अब मैं पूरा खुल चुका था.

देसी भाभी के बीएफ वीडियो: उसने अंडरवियर नहीं पहन रखी थी, शायद मुझे चोदने की तैयारी में उसने अपनी अण्डरवीयर पहले ही उतार दी थी।उसका 6 इंच का लण्ड मेरे सामने खड़ा हो गया, उसका लण्ड काफ़ी मोटा था. वो कुछ रिएक्ट नहीं करती। उसके चुप रहने से मेरी हिम्मत भी बढ़ रही थी।मैं एक दिन ऊपर कमरे में कसरत कर रहा था तो वो भी आ गई और बोलने लगी- भैया, आपकी बॉडी तो सलमान टाइप है.

यह मेरी पहली कहानी है एक आंटी की चुदाई की… मैं एक 28 साल का लम्बा, स्लिम शरीर वाला लड़का हूँ. कोई दिक्कत नहीं है।फिर मैंने एक दुकान से कन्डोम लिए और शाम को मामा के घर आ गया। मुझे लगा रहा था कि अंजलि मुझसे चुदने के लिए राज़ी नहीं होगी. दोस्तो, मेघा मैडम से मेरा यह रिश्ता एक साल से भी ज़्यादा रहा और इस बीच हमने बहुत बार सेक्स किया.

सच कहूं तो उनके पहले ही मेल में उनकी यह बात सुन कर मैं थोड़ा आश्चर्यचकित हुआ और मुझे उन पर यकीन नहीं हुआ.

विला पहुँच कर रूबी ने साराह को आँख मारी और खुद विवेक के साथ उसकी विला में चली गई तो साराह भी अजय से चिपटी उसकी विला में घुस गई. कितनी गंदी स्मेल आ रही है।टीना- अरे भाई पार्टी में कभी-कभी हो जाता है. फिर उनके राईट वाले चूचे को खूब चूसा और चाटा और लेफ्ट वाले की अपने हाथ से अच्छी मालिश की.