बीएफ वीडियो 2021

छवि स्रोत,योगा टीचर सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

खूबसूरत सेक्सी लड़कियां: बीएफ वीडियो 2021, वे गुर्रा कर बोले- एक बार बोल दिया, यहां कुछ भी मेरी मर्जी के खिलाफ नहीं होता.

भाभी सेक्स वीडियोस

मैं अब खड़ा हो गया था और झटके से एक बार में ही उसे गोद में उठा लिया. एक्स एक्स वीडियो में दिखाइएमैं- जेठ जी, आज से मैं आपकी भोग्या पत्नी हूँ, आपको जो करना है, वो करो और वैसे मुझे भी आपका लॉलीपॉप अच्छे से देखना है और चूसना है.

क्योंकि मेरे पति का हथियार बहुत छोटा था, सिर्फ तीन इंच का और बहुत ही पतला था. सेक्सी बीपी ओपन सेक्सी बीपीसुखबीर ने उस दिन दुकान नहीं खोली और उसने करीब 11 बजे मुझे स्टेशन के पास मिलने को कहा.

वो मुझे पसंद करता था और हम दोनों ने कैसे एक दूसरे के साथ सम्बन्ध बनाए और कैसे एक दूसरे के जिस्म को मजा दिए.बीएफ वीडियो 2021: लेकिन वो इतनी जोश में आ गयी थी कि दो मिनट में ही फिर झड़ गयी और मेरे ऊपर लेट कर हांफ़ने लगी.

बाकी कहानी आपको में अगले भाग में लिखूंगा, आपको यह कहानी कैसी लगी, मुझे जरूर बताएं.कुछ देर बाद मैम ने मुझसे कहा कि तुम मुझे अपना नंबर दे दो ताकि मुझे कभी कंप्यूटर में कोई प्राब्लम होगी तो तुम्हें कॉल कर लूँगी.

xxx.iii वीडियो एचडी - बीएफ वीडियो 2021

मेरी जीभ जब उनकी जीभ से मिली, तो उनका शरीर सिहरने लगा और वे रिसने लगीं क्योंकि मेरे हाथों को उनकी चुत गीली गीली लगने लगी थी.इसे प्यार से चोद कर हमारी तरह ही कली से फूल बनाओ! लेकिन इसको दर्द ना होने पाए!मैंने कहा- ठीक है, जैसी आपकी आज्ञा!मैंने समय की मांग को देखते हुए पायल की बुर पर अपनी जीभ लगा कर उसको चाटना शुरू कर दिया.

और खाना बनाने के बाद सबको खिलाया और खाने के बाद सब अपने कमरे में सोने चले गये. बीएफ वीडियो 2021 मेरे एक दोस्त वहां के लोकल दलाल का मोबाइल नम्बर दिया, मैंने उसे कॉल किया और उससे मिलने गया.

राहुल ने भी अपने हाथों से मेरे चूतड़ों को पकड़ लिया था। फिर मैं उनके ऊपर से उठी और एक गिलास में कोल्ड ड्रिंक डाली और राहुल को देने लगी.

बीएफ वीडियो 2021?

वह बोली- क्यों ना आज रात को किसी होटल में रूक जायें … अच्छा बहाना भी है कि बारिश में बस खराब हो गई है. वह दिखने में अच्छी है, गर्दाया हुआ जिस्म है, या यूं कहें कि किसी का भी लंड खड़ा कर सकती है. मुझे उसकी बातों में कुछ शरारत सी लगी और मैं नीचे जाने लगा क्योंकि वो थी तो मेरी बहन ही!तभी पीछे से उसने आवाज लगाई- रुको सूर्या … मुझे तुम्हें एक बात बतानी है.

फिर मैंने भाभी की चूत पर लंड लगाकर पूरा ज़ोर उन पर डाल दिया और मेरा लंड भाभी की चूत में घुसने लगा. जिससे मीनाक्षी हिल रही थी और मेरा लंड खुद ब खुद आगे पीछे हो रहा था. उन्हें डर था कि कॉलोनी में किसी को पता चल गया तो हम बदनाम हो जायेंगे.

बिना कुछ सोचे समझे मैं तुरंत ही खड़ा हो गया और अपने दोनों पैर एक ही तरफ के पैरदान पर रखते हुए बाजू से अपनी मुंडी उनके हैंडल पकड़े हुए हाथ के ऊपर से होते हुए मोटे लंड के मशरूम से सुपारे को अपने मुँह में भर लिया. इसके बाद उसने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और मेरी चूत में अपना जीभ डाल मेरी चूत को चाटने लगा. मम्मी ने राज अंकल और ड्राइवर अंकल को देख कर हाथ हिलाया कि गाड़ी आगे ले जाओ.

मेरे प्रिय दोस्तो, आप सभी पाठक पाठिकाओं को मेरा और मेरे खड़े लंड का सलाम. इससे पहले भी मैंने बहुत सारे लंड देखे और चूसे थे लेकिन उसके लंड की बात ही मुझे निराली लगी.

मैं सोच रहा था कि अभी उनके पास चला जाऊं और उनकी मैक्सी उठा कर उनकी गांड में अपना लंड डाल दूं.

”मैंने भी नशे के झोंक में कौशल्या को पीछे से कमर के बल उठा लिया और कहा- अब तो हाथ पहुँच जाएगा ना.

नेहा ने मेरे बदन को निहारा और मुस्कुरा कर बोली- चलो यार, मैं भी थक गई हूं, मैं तो सोने जा रही. वो अपनी जिन्दगी में व्यस्त और मैं अपने जीवन में… इसी तरह दिन गुजर रहे थे. कुछ ही देर में उसने मेरी पेंटी को खींच कर निकाल दिया और मुझे पूरी नंगी कर दिया.

चूंकि मैं एक बार झड़ चुका था तो अबकी बार मुझे टाइम लगना स्वभाविक था. मैम ने अपना मेरे लंड पे रख दिया और वे पैंट के ऊपर से ही मेरा लंड मसलने लगीं. com/series/padosan-chachi-ki-chut-ki-chudai-ki/में आपने पढ़ा था कि कैसे मैंने अपनी चाची को चोदा.

मैं शुक्रवार के दिन उसके घर गया था, तब मेरा दोस्त कहीं बाहर गांव गया हुआ था.

पर उसने अपना मुँह दूसरी तरफ घुमा लिया और बोली- मुँह से नहीं करूँगी … पता नहीं कैसी महक आ रही है. मैंने नेहा की चुदाई करते हुए उससे पूछा- रिक्शे वाले का लंड कैसा था. कुछ देर बाद अंकल ने अपना लंड निकाला और अरुणा के मुँह को पकड़कर उस पर सारा माल झड़ा दिया.

मैंने सोनू से कहा- जिस दिन तुम पहली बार मेरे पास आई थी और मैंने जो तुम्हारी चूत देखी थी, उसमें और इसमें दिन-रात का अंतर है. अब अरुणा के मुँह में कोई शब्द नहीं था क्योंकि उसकी आंखें तो अंकल के लंड पे टिक गई थीं. मैंने भी अब अपनी जीभ को पूरी तरह से बाहर निकाल कर उसकी चूत की दरारों पर ऊपर से नीचे की तरफ सहलाया, जिससे प्रिया का पूरा बदन सिहर गया और उसने ‘इइईईईई … श्श्श्शशश … महेश्श्श्श …’ जोर से सिसकते हुए कहा और मेरे बालों को खींचने लगी.

इसके अलावा और भी बहुत कुछ पता लगा कि दुनिया में क्या-क्या होता है। अब मैं कहानी पर आती हूँ।मेरा नाम सुनीता है और मैं उत्तर प्रदेश के एक गांव से हूँ। ज्यादा पढ़ी-लिखी भी नहीं हूँ। मेरी लंबाई 5 फ़ीट 3 इंच है और शरीर पूरा भरा हुआ है। मेरे चूचे भी अच्छे खासी मोटाई वाले हैं क्योंकि मैंने जवानी में कदम रखते ही उनको दबवाना शुरू कर दिया था.

मुझे बहुत तेज दर्द हो रहा था, पर दर्द को छुपाते हुए मैंने कहा- जी मम्मी …अब मम्मी सीधी हो गईं. मैं अब बहुत असहज होने लगी और मेरे अन्दर कुछ कुछ होना शुरू हो गया था.

बीएफ वीडियो 2021 मेरी गांड वैसलीन से बहुत ही चिकनी हो गई थी और अब गांड का छेद भी लंड की मोटाई के मुताबिक़ खुल गया था. अब उसने मॉम को एक ही झटके में उनकी टी-शर्ट खींचते हुए पूरी नंगी कर दिया.

बीएफ वीडियो 2021 मैं अपने कपड़े धोकर छत पर डालने के लिये गई हुई थी कि तभी सुमन अपने कमरे से ब्रा और पैन्टी में ही निकली और बाथरूम में चली गई. ”लेकिन ये सब गलत है मास्टर जी … समाज क्या कहेगा, किसी को पता चल गया तो?”घबराती क्यों हो कौशल्या रानी … किसी को नहीं पता चलेगा.

इस बार वो जग गई, उसने मुझे देखा मैं तुरंत सोने का नाटक करने लगा और हल्की आंखों से देखने लगा कि वो क्या करती है.

ok सेक्सी

वह बोली कि मैं तुम्हारी दूसरी शर्त मान लूंगी … पर पहली शर्त नहीं हो सकती. मैं चिल्लाई- वहीं रुक जाइये जेठ जी … मैं भी यह बात मैं आपके सामने कबूल करना चाहती हूं कि आपके इस जबरदस्त सेक्स में मुझे अलग ही मजा मिला. धीरे धीरे वो हाथ अपने आप ही उसकी टी-शर्ट के अन्दर चले गए, फिर जब वहां पर पुलिस वाले ने सीटी बजाई, तब हमें अपना होश आया और हम अलग हो गए.

मैं- अच्छा और क्या क्या तैयारी की है तुमने?नूपुर- सब कुछ तैयारी कर ली मैंने. इसी मजे के कारण मैंने अब नेहा की चूची को छोड़ दिया और अपनी गर्दन उठा कर उसके चेहरे की तरफ देखने लगा … वो भी मेरी तरफ ही देख रही थी. अब जैसे ही नेहा ने मेरे लंड को बाहर निकाला ढेर सारा वीर्य नेहा के मुँह से निकलकर मेरी जांघों पर फैल गया.

तो हमने स्लीपर बस में सीट बुक करवा ली और हमें एक डबल स्लीपर सीट मिल गयी.

इतने में मेरी टांग को फैलाकर सीट में नीचे से आकर सुनील सीधे मेरी चूत में अपना मुँह रखकर अपनी जीभ से चाटने लगा तो मेरी हालत और खराब होने लगी. मैंने भी एक पीछे की तरफ गांड का जोर का धक्का दिया तो पुनीत का पूरा लंड सट से मेरी गांड में अन्दर तक घुस गया. मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ तो एक दिन मेरे बॉस ने कहा कि तुम्हें कल ही कोलकाता के लिए निकलना पड़ेगा.

फिर दूसरे दिन मैं और मेरी नयी दुल्हन हम दोनों अपना सारा सामान ले कर अपने शहर निकल गये. फिर मैं तेज़ धार छोड़ते हुए उसके मुँह में ही झड़ गया और उसी वक्त उसकी चूत ने भी पिचकारी जैसा पानी छोड़ दिया. मैंने जब किसिंग करते-करते उसके मम्मों पर हाथ फेरा तो वो और भी मस्त हो गई और मेरे कपड़े उतारने लगी.

मैं तो भाभी को देखता ही रह गया और फिर से भाभी ने अपना गिलास पूरा का पूरा केवल दारू से भर लिया. मगर फिर भाभी ने मुझ पर तरस दिखाते हुए मेरे एक‌ होंठ को आजाद कर दिया, जिससे मेरे हिस्से भी उनका एक होंठ आ ही गया.

उसकी मॉम नेहा ने मेरी मॉम के जूस में पहले ही सेक्स बढ़ाने वाली दवा को डाल दिया था और वो भी डबल डोज़ डाला था. तेरी गांड इतनी गरम है कि कोई लंड इस गांड के अन्दर 5 मिनट से ज्यादा नहीं टिक सकता. मैंने देखा उसके स्तन इतने बड़े हो गए थे कि उसका ब्लाउज भीगने लगा था.

मुझे समझ नहीं आया कि कोई भी इंसान इस स्टेज पे आकर किसी को चोदने या चुदवाने से कैसे रोक सकता है.

मैंने ब्रा के ऊपर से ही सोनू के मम्मों को थोड़ा-थोड़ा दबाया तो सोनू एकदम मस्त हो गई और सिसकारियां लेने लगी. वो एक कुर्सी लेकर मेरे पास बैठ गयी और मैं उसे गेम सिखाने लगा। बीच बीच में मौका पाकर मैं अपनी कोहनी से उसके चूचे हल्के से दबा देता था. वो- अबे भोसड़ी के सीधे सीधे बोल न … क्या करना है, बातों को घुमा क्यों रहा है?मैं- एक काम करो, पहले एक वीडियो देख लो, फिर ही आप कुछ समझ पाओगी.

दस मिनट की लंड चुसाई के बाद मेरा लंड भी झड़ने वाला था, मैंने बोला- रस कहां गिराऊं?तो बोली- मेरी मांग भर दो देवर जी, मैं आज के लिए आपकी पत्नी बनना चाहती हूँ. कुछ देर बाद मैंने उसके मुँह से लंड बाहर निकाला और उसकी ब्लैक कलर की पेंटी को उतार कर साइड में रख दिया.

मेरी नाभि को देख कर महेश बोला- ओ माय गॉड … तू तो पागलपन की हद तक सेक्सी है, क्या गदराया फिगर है तेरा … तू बहुत जबरदस्त माल है. फिर जब मैंने उससे जोर देकर पूछा तो उसने मुझे बताया कि वो अपने बॉयफ्रेंड से बात कर रही थी और जब उसका पति घर पर नहीं रहता है, तो वो अपने बॉयफ्रेंड से चुदवा भी लेती है. तभी मेरी पत्नी ने मुझको बोला- अब अपने लंड को इसकी कुंवारी बुर में थोड़ा आगे बढ़ाओ!जैसे ही मैंने अपने लंड को पायल की बुर में थोड़ा आगे बढ़ाया, वह चीख उठी, उसको दर्द हो रहा था.

ब्लू फिल्म सेक्सी सेक्स सेक्स

पीछे से मेरे देवर का लंड मेरी गांड में लग रहा था और मेरा देवर मेरे पेटीकोट के ऊपर से अपना लंड मेरी गांड में रगड़ रहा था.

हम अपने कमरे में नंगी होकर लेटी थी और सेक्स की ही बातें कर रही थी कि मॉम बहुत गर्म हैं यार, उनकी चूत शांत नहीं हो पा रही है. मैं यह देखने के लिए कि भाभी नाराज तो नहीं है, नीचे गया और मैंने फिर कहा- सॉरी भाभी जी. कार चल रही थी और सुनील मेरी चूत के अन्दर लंड डाले धक्के मारने में लगा रहा.

अब मैंने रॉकी से बोला कि भाई ये कस्टमर बिरजू करता क्या है?तो उसने बताया कि वो ड्राइवर है. मेरी दीदी बोली- कोई बात हो गई क्या घर पर … जो इतनी जल्दी जाने की कह रहा है?मैंने कहा- नहीं कोई बात नहीं हुई … बस काम है मुझे. सेक्स बीपी सेक्सी व्हिडिओमेरा लंड पहले से ही मूवी और दोस्त की गर्लफ्रेंड की हरकत की वजह से एकदम खड़ा था.

फिर मैं डर के कारण जल्दी से उठ कर अपने बेड पर आकर रज़ाई में घुस गया. मैं बीच बीच में उसकी चूचियां भी ऐंठ दे रहा था, तो वो छटपटा जा रही थी.

दोनों हाथों से उसके निप्पलों को मसल मसल कर उसकी चुचियों को दबा रहा था. करीब पन्द्रह मिनट तक मेरी गांड चोदने के बाद गांड से लंड निकालकर उन्होंने मेरी कुलबुलाती चुत में घुसेड़ दिया. फिर उन्होंने मेरे ऊपर आकर अपना लंड मेरी चूत पर सेट किया और एक जोरदार धक्का लगाया जिससे उनका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया.

मेरा लंड 7 इंच का है, आज से एक साल पहले सर्दी के मौसम में दिल्ली किसी काम से गया था।जब मैं वहाँ से वापस आ रहा था तो बस में ज्यादा लोग नहीं थे. चोद दे इसको!इतना सुनते ही मेरी उत्तेजना और ज्यादा बढ़ गई और मैं उसकी उंगलियों को चूसते हुए उसकी जांघों को चाटते हुए उसकी चूत तक पहुँच गया था. इस दिमागी उथल पुथल के कारण मैं अपने आपको रोक नहीं पाया और दुनिया को बेशर्मी दिखाते हुए अगले 2 मिनट में ही अपना हाथ गाड़ी चलते हुए मामा के लंड के उभार पर रख दिया.

दोस्तो, कहानी के पिछले भागबीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-2में आपने पढ़ा कि मैं काम के सिलसिले में हैदराबाद गया था.

इट्स ओके डियर … होता है कभी कभी … मैंने तुम्हें कुछ बोला क्या? तुम क्यों शर्मिंदा हो रही हो?” यह कहकर उसने मेरे स्तनों को जोर से भींच लिया और अपने स्तनों को मेरी पीठ पर दबा दिया. इसके अलावा और भी बहुत कुछ पता लगा कि दुनिया में क्या-क्या होता है। अब मैं कहानी पर आती हूँ।मेरा नाम सुनीता है और मैं उत्तर प्रदेश के एक गांव से हूँ। ज्यादा पढ़ी-लिखी भी नहीं हूँ। मेरी लंबाई 5 फ़ीट 3 इंच है और शरीर पूरा भरा हुआ है। मेरे चूचे भी अच्छे खासी मोटाई वाले हैं क्योंकि मैंने जवानी में कदम रखते ही उनको दबवाना शुरू कर दिया था.

दाखिले एक महीने बाद से शुरू होने थे लेकिन मालिनी ने तुरंत आने की जिद की, जिसे मैंने मान लिया. प्रियंका ने इतना बड़ा लंड आज तक देखा ही नहीं था तो उसका डरना और घबराना ज़ाहिर सी बात थी क्योंकि मेरा लंड भी 5. इधर जगत अंकल ने मेरे मुँह में अपना लंड डाल ही दिया था, तो मेरी चीख भी बंद हो गई थीं.

नेहा आंटी झट से वहीं नीचे जमीन में बैठ कर मेरा लंड चूसने लगीं और मैं उनके बूब्स मसलने लगा. तभी लिफ्ट ग्राउंड फ्लोर पर पहुँच गयी और हमें अलग होना पड़ा। इतनी रात को अस्पताल में बहुत कम लोग होते हैं. मुझे कुछ देर दर्द हुआ पर गांड का कोरापन खत्म होते ही मुझे बहुत अच्छा लगने लगा था.

बीएफ वीडियो 2021 जैसे ही मैंने उसके निप्पलों को चूसा, रोजी सीत्कार उठी- उम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… आअह!दूध तो नहीं निकला लेकिन कसम से मजा आ गया।रोजी के हाथ मेरे बालों में बहुत तेजी से घूम रहे थे। मैंने एक दूध के बाद दूसरे पर हमला बोल दिया. अभी टाइम पर पानी नहीं मिला खेत को, तो फसल खराब हो जाएगी, तो क्यों न मैं पानी लगा दूँ.

ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म वीडियो सेक्सी

वहाँ पर बहत सारे लोग थे। मगर सब समझ रहे थे कि हम डर से एक दूसरे को जकड़ कर बैठे है। कोई हम पर शक ही नहीं कर सकता था. जब मैं ऑफिस में होता तो भी वह किसी ना किसी बहाने से मेरे घर आ जाता था और अनु से काफी मजाक करता था. उनकी रखैल बनने के बाद सारी उम्र राज करेगी और जैसे जीना चाहेगी जियेगी.

रास्ते में मैंने कार एक पेट्रोल पंप पर रोकी और अपने मकान मालिक की बीवी, राखी आंटी को फ़ोन करके कहा कि मेरी पत्नी आ रही है. अब वो हल्की गर्म सांसों के साथ सिसकारियां लेते हुए पूरी उत्तेज़ना में आ गई थी. বেহেন কি চুদাইमैम ने नीचे से गांड उठा कर इशारा दिया तो मैंने अपने लंड का टोपा उनकी चूत पे रख कर जोरदार धक्का दिया.

रात के 12 बजे मैं उठी और सुमन के कमरे में गई तो देखा कि सुमन मेरा इन्तजार कर रही थी.

कुछ देर बाद अजय ने अपने मस्त लौड़े से मेरी गांड को चोदना शुरू कर दिया. वो पूरी गर्म कामुक हो गई थी, बार बार लुंगी के ऊपर ही मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर रगड़ रही थी.

मैं ट्रेन में चढ़ा आर सीधा अपनी बर्थ पर जाकर व्यवस्थित होते ही दस मिनट में ही थम्पसअप को पी लिया और तुरंत सो गया. क्योंकि मुझे मालूम था कि मेरे पति मुझसे बहुत प्यार करते हैं और वे अपनी जवान बीवी को किसी भी तरह का दर्द नहीं होने देंगे. उसका बहुत बुरा हाल हो गया था, वो बस पागलों की तरह मेरे सर के बालों को बहुत कस के पकड़ कर दबा रही थी.

ना ही हम इतनी दूर ट्रेन से जा सकते थे और ना ही बस से बैठ कर ट्रैवल कर सकते थे.

मैं अब धीरे से उठकर नेहा के ऊपर आ गया और उसके नंगे बदन से किसी जौंक की तरह चिपक गया. प्रमिला ने भी अपने अनुभव को साबित किया और झट से मेरे मूसल लंड को मुँह में लेके अन्दर बाहर करने लगी. अमित के धक्के अब पहले से ज्यादा तेज़ हो गए थे और मेरी कामुक चीखें पूरे कमरे में गूंज उठीं.

सेक्स वीडियो देसी इंडियनउसका थोड़ा सा लंड मेरी बहन की चूत में अन्दर गया तो मीनाक्षी उछली और उसने अनिल को कस के पकड़ लिया. अब मैंने अपना एक हाथ भाभी की पेंटी पर रख दिया और उनकी फुद्दी को पेंटी के ऊपर से ही मसलने लगा.

हिंदी सेक्सी फिल्म हिंदी सेक्सी चुदाई

पर छत्तू का लंड इतना मोटा था कि मुझे अन्दर से थोड़ा डर लगा, पर चुदने का मन इतना ज्यादा कर रहा था कि रहा नहीं जा रहा था. फिर मैंने प्रमिला को किस करना चालू किया और एकता के कंधे को हाथ से दबा के नीचे बैठने का इशारा किया. मुझे तो मालूम ही नहीं था कि लंड चूसना, चुत चाटना, या गांड मारना भी सेक्स होता है.

मैं उसे लेकर अपने कमरे मैं घुसा, तो देखा कि मेरा बेड सुहागरात के लिए सजा हुआ है. फिर जब नार्मल हुए, तो भाबी एक बार फिर से मेरे लंड को पकड़ के सहलाने लगी. ”आज मैं कौशल्या को ऐसे चोदना चाहता था कि वो मेरी वासना की दीवानी हो जाए.

अनिल फुल मस्ती में हो कर मीनाक्षी को खूब गालियां दे रहा था- हाय मेरी कुतिया … मेरी रांड … खा जा रे मेरा लौड़ा … मजा आ रहा रे रंडी वेश्या!वो ऐसा बोलता जा रहा था. वो जैसे जैसे नजदीक आयी, उसका बदन और उभर के दिखने लगा … उसके मम्मे इस ड्रेस में एकदम तने हुए थे … और सब कुछ दिलकश दिख रहा था. तभी मेरी फूफी की बेटी ज़ीनत यानि मेरी बहन भी मेरे पास आ गयी और मेरे एक कान का इयरफोन निकाल कर अपने कान में लगा कर वो भी गाने सुनने लगी थी.

टीवी पर एक काले लंड वाली शानदार ब्लू फिल्म चल रही थी, जो अरुणा को पसंद थी. मामी की चूत में लंड डाल दिया और मामी ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगीमामी के मुंह से कामुक सिसकारियाँ निकल रही थीं.

थोड़ी देर बाद उन्होंने पानी छोड़ दिया, लेकिन मैं उन्हें कुतिया बनाकर तब तक पेलता रहा, जब तक कि मैं नहीं छूटा.

मगर मैंने अपने लंड पर तरस नहीं खाया और सलोनी के जिस्म को चूमकर उसके पवित्र जिस्म की खुशबू में डूबता चला गया. देहाती छोडा छोड़ि वीडियोक्या हुआ मेरी जानू … घबरा गयी क्या … जरा इसे मुँह में तो लेकर देखो. मोटी गांड की चुदाई वीडियोउस रात की चुदाई के बारे में सोचकर ही मेरा लण्ड चूत के लिए त़ड़पने लगता है।अगर इस कहानी में मुझसे कोई गलती हो गई हो तो मुझे करना।कहानी पर अपनी राय ज़रूर दें. जगत अंकल कान में मेरे बोले कि अपनी टांगें फैला कर थोड़ा मेरी गोंद में ऐसे बैठना कि मेरा लौड़ा तेरी चूत में घुस जाए.

मैं आज तुझे ऐसी दुनिया की सैर कराता हूं, जिसे तुम अब तक नहीं देखी होगी.

उसके मुँह से पहले उसकी मूंछें और दाढ़ी मेरी योनि से छू गईं, जिसकी गुदगुदी से मेरे रोंये खड़े हो गए. उनमें से एक बंदे कहा कि इतनी रात में तो कोई मिस्त्री भी नहीं मिलेगा और इस समय तो कोई बस या गाड़ी भी नहीं मिलेगी. फिर पापा 69 की पोजीशन में आ गये और मॉम की चूत चाटने लगे और मॉम पापा का लण्ड चूसने लगी.

महेश मेरे दोनों दूध पकड़ के जोर जोर से इतना दबाने लगा कि वहां भी दर्द होने लगा. मैंने अब कसके अनवर को बांहों में पकड़ लिया और अपनी कमर आगे पीछे करने लगी. बातों ही बातों में उसने मेरा नम्बर ले लिया और आइ-डी पर मुझे ब्लॉक कर दिया.

सेक्सी इंडियन दाखवा

ऐसा करने से उनके मुँह से एक लंबी आह निकली और एक बड़े झटके के साथ लंड मेरे कलेजे तक पहुंच गया. मेरा नाम समर है और अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली और सच्ची चुदाई कहानी है. फिर वो नीचे की तरफ झुक कर मेरे लंड को मुंह में लेने के लिए राज़ी हो गई और मेरे लंड को अपने गर्म मुंह के अंदर लेकर चूसने लगी.

मैंने भी गांड उठा कर उसे सिग्नल दिया तो उसने एकदम से अपना लंड चूत में डाल दिया और मुझे चोदने लगा.

यही हाल रजनी का भी था।कुछ देर बाद हम अपने कॉलोनी के गेट तक पहुँचे जहाँ मैं अमित को बोली- यहीं रोक दो.

मेरे पास अपनी वासना को शांत करने के विकल्प बहुत हैं, पर समय और स्थान का अभाव था. मामी मुझसे पूछती- तुम्हें मज़ा नहीं आता क्या?मैं कहती- इसमें भी क्या मज़ा है मामी?फिर हम किराने की दुकान पर चले गए और वहां पर सामान की लिस्ट दुकानवाले को दे दी. एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियो मूवीबस दो मिनट में ही वो जोर से चिल्लाते हुए बोली- क्या बात है देवर जी.

कुछ ही देर में लंड ने चूत से चिकनाई निकाल ली थी और सटासट अन्दर बाहर होते हुए भाभी को रगड़ाई चालू हो गई. हुक के खुलते ही घाघरा उसके पैरों से होता हुआ नीचे फर्श पर गिर गया और कमरे में जैसे कि उजाला बढ़ सा गया. न कोई कलाकार परमपिता की बराबरी कर सकता है और न ही कोई कंप्यूटर उसके बराबर रचना कर सकता है.

गांव में नहीं सोया?बातचीत तो सब गयी भाड़ में लेकिन दिमाग की माँ बहन हो चुकी थी. उन्होंने कहा कि दस हजार तो ले ही ले … फिर उनकी गाड़ी सीज कर देते हैं.

दोस्तो, मुझे नहीं पता कि एक घटना को कहानी के रूप में पेश करते समय सबसे पहले क्या कहना होता है, तो मैं बस आपसे सीधे मुखातिब होता हूँ.

दो तीन कश मारे होंगे कि मेरे बाजू वाले कमरे से पियू भी बाहर आ गयी, उसने मुझे स्मोक करते हुए देख लिया और मेरे पास आकर धीरे आवाज़ में मुझे डाँटने लगी कि मैं स्मोक क्यों करता हूँ, ड्रिंक करता हूँ उतना काफ़ी नहीं क्या!मैंने उसे बता दिया कि ड्रिंक के साथ स्मोक की आदत है और बहुत कम स्मोक करता हूँ. कुछ ही देर में हम घर पहुंच गए, जैसे ही हम घर में घुसने लगे, पीछे से आवाज आई तो देखा कि मकान मालकिन हाथ में चावल से भरा लोटा लेकर खड़ी थीं. घर आने के बाद मम्मी से पता चला कि मेरे मामा के लड़के की शादी है और मुझे भी जाना है.

கல்கத்தா செக்ஸ்வீடியோ इस तरह प्रशांत की लपलपाती हुई जीभ मेरी चुदैल बीवी की चूत में अपना करामात दिखाने लगी और थोड़ी ही देर में नीना पर मदहोशी का गहरा असर हो गया. मैंने हिम्मत करके उसका नम्बर भी ले लिया और साथ ही अपना नम्बर भी उसको दे दिया.

जब वह मेरे साथ सेक्स करते थे तो मुझे किसी और से चुदवाने के लिए कहते थे। पहले तो मुझे यह बहुत अजीब सा लगता था परंतु धीरे-धीरे सामान्य लगने लगा और कुछ दिन बाद मेरा भी मन किसी और से चुदवाने के लिए करने लगा।कुछ दिनों बाद मेरे पति ऑफिस के काम से बाहर चले गए और 2 हफ्ते बाद वापस आए. मुझे चोदने के इरादे से आये हुए मेरे जेठ जी ने अन्दर अंडरगारमेंट्स भी नहीं पहने हुए थे. जेठ जी उन्हें बारी बारी चूस कर अपनी कमर से एक लय में धक्के दे रहे थे.

सेक्सी नया 2021

वो अजीब अजीब सी आवाजें निकालने लगी- ऊई आआआईई … उम्म्ह … हह …मैं उसकी टांग उठा कर घमासान चुदाई करने लगा. मैंने कहा- साली, एक बार नीचे हाथ कर के देख ले, कहीं तेरी बात झूठी न हो जाए. मेरी चुत की खुजली भी मिट रही थी, लेकिन मेरे इस पोजीशन में ताबड़तोड़ लंड के झटकों से मेरे पैर में दर्द होने लगा था.

मैंने उसकी गांड को हाथों से पकड़ लिया और लौड़े को पूरा अंदर तक पेल दिया. उसने पूछा- किस लिए?तो मैंने बोला- वो रात को मैं थोड़ा बहक गया था, इसके लिए मुझे माफ़ कर दो.

कुछ पल के दर्द के बाद भाभी भी अब अपनी गांड उठा उठा कर लंड के मज़े लेने लगीं.

फिर दिन भर अपनी उसी व्यस्क साइट पर लगी रही और शाम 7 बजे माइक और मुनीर का कैमरा मेरे सामने था. ये जन्म से ही मेरा दूध नहीं पीता है और उसे बॉटल का दूध की पिलाना पड़ता है. यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, यह एक सच्ची घटना है, जो मेरी मॉम के साथ की है.

मैंने कमरे का गेट बन्द किया और स्वीटी को बांहों में भरते हुए उसे बेड पर गिरा दिया. फिर मैंने रूपा की टांगों को घुटनों से मोड़ कर ऊपर उठाते हुए दोनों तरफ फैला दिए … जिससे उसकी चूत की फांके फ़ैल गईं. मैंने पूछा- अब चूत कैसी है?उन्होंने गांड उठाते हुए कहा- तुम खुद देख लो … तुम्हारे लंड के लिए तड़प रही है.

ये कहते हुए उसने मुझे उल्टा करने की कोशिश की, तो मैं उल्टा हो गयी और अपने घुटनों पे अपने शरीर का वजन डालते हुए अपनी गांड उसकी तरफ उठा दी.

बीएफ वीडियो 2021: जैसे ही लिफ्ट बंद हुयी मैंने हिम्मत की (हिम्मत इसलिए क्यूंकि इससे पहले कभी मैंने ऐसा कुछ भी नहीं किया था) और रोजी को खींचकर गले से लगा लिया। वो एक टूटी हुयी बेल के जैसे मुझसे लिपट गई। कुछ देर मेरे हाथ उसकी पीठ पर चले और फिर अपने आप मैंने उसके दोनों नितम्बों को अपने हाथों में ले लिया और दबाने लगा। मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए, वो भी मेरा साथ देने लगी. इस दोहरी चुदाई के बाद मनीषा और मैंने कपड़े सही किये और शादी वाले भवन आ गए.

ठाकुर अंकल ने मेरे सर को फिर से दबाया और जबरदस्ती मेरे मुँह में लंड घुसाने लगे. फिर मैंने उसके लोवर के अन्दर हाथ डाल कर उसकी गांड को दबाना चालू कर दिया, क्या मस्त मखमली गांड थी. उसके नरम थन मेरे पैर से लग रहे थे, उसमें से दूध भी आ रहा था, जो मुझे गीला लग रहा था.

वो अभी एक हफ़्ते की छुट्टियां लेकर अपनी फैमिली के पास रहने जा रही थी.

मैं दूध लाने जा रहा था, तो भाभी जी ने बोला- आशिक, कहाँ जा रहे हो?तो मैं बोला- भाभी जी दूध लाने!भाभी जी बोलीं- क्या करोगे, मैं चाय बना रही हूँ. एक महीने के बाद मेरे सास, ससुर को कुछ रिश्तेदारों के साथ तीर्थ यात्रा पर जाना था. मेरा लंड भाभी के गले तक चला गया था और उनकी चुत को मैं दाँत से काटता तो कभी अपनी जीभ उनकी गहराई में ले जाताकुछ देर बाद वो झड़ गयी और उन्होंने अपना नमकीन रस छोड़ दिया, मैंने उसे पी लिया.