देसी ब्लू बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,लड़की और गधे की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स: देसी ब्लू बीएफ सेक्सी, कुछ देर बाद वो जब चेंज करके गाउन में आई तो माँ कसम मन कर रहा था कि साली को यहीं पटक कर अभी का भी चोद डालूँ.

होट सेक्सी वीडियो

मुझे माफ़ कर दो। लेकिन मुझे शौर्य के साथ चुदाई करने में बहुत मजा आया. नोरा सेक्सीउन्होंने पूछा- आप कहां पर हो?मैंने कहा- अभी तो स्टेशन के अंदर ही हूँ.

कुछ ही देर में उसका पानी निकल गया और फिर हम एक दूसरे को चूमते हुए एक दूसरे को बांहों में भरकर सो गए. ससुर बहु सेक्सी मूवीवो अपने दोनों हाथों से और बहुत मस्त तरीके से मेरे मम्मों को दबाने लगा.

अब मैंने मुस्कान से कहा- जान, मैंने तो तुम्हारी चूत को गीला कर दिया है, अब मेरे लंड को भी थोड़ा प्यार दे दो.देसी ब्लू बीएफ सेक्सी: हम दोनों कभी कभी रात भर एक दूसरे से फ़ोन पर बातें करते रहते थे और कभी कभी तो हम लोग एक दूसरे से मिले बिना बेचैन हो जाते थे.

मेरा पानी निकलने वाला है, कहाँ निकालूँ?मामी बोलीं कि मेरी गांड में ही अपना पानी निकाल दो.कुछ देर के बाद दोनों कपड़े पहनने लगे और मैं दबे पांव अपने बिस्तर पर चला गया.

செக்ஸ் வீடியோ தமிழ் ஃபுல் மூவி - देसी ब्लू बीएफ सेक्सी

तभी रशीद बोला- पायल जी, पूरे शहर में पानी भर गया है, शहर की बिजली भी चली गयी है, अब आप घर कैसी जाओगी?मैं बोला- पायल डोंट वरी … कुछ प्रॉब्लेम हो, तो यहीं रुक जा.मैं अभी भी नीचे ही बैठा हुआ था और एना अधखुली आँखों से मेरी तरफ मुस्कुराते हुए देख रही थी.

इन टीचर की उम्र लगभग 35 वर्ष, देखने में अच्छी कद काठी और ये शादीशुदा हैं. देसी ब्लू बीएफ सेक्सी जब हॉस्पिटल से छुट्टी मिल गई तो मैं उसे घर पर ले गई और बोली कि अब मुझे जाने की इज़ाज़त दो.

क्योंकि हमेशा कोई न कोई काम करने वाला या मालिक सामने ही रहते ही थे.

देसी ब्लू बीएफ सेक्सी?

अगले दिन फिर मुझे उनकी पेंटी बाथरूम में दिखी, तो मैंने फिर से उसमें मुठ मार दी और कल के जैसे फिर मौसी कपड़े धोने चली गईं. उधर से- हैलो कौन?मैं- जी मैं बस में था।उधर से- हाँ मैं तुम्हें ऑफिस जा कर कॉल करती हूँ।आधे घंटे बाद कॉल आया।हैलो अब बोलो. तू मेरी चूत को आज फाड़ दे! और हाँ, यह मम्मी वाला जो आइडिया दिया है, इस काम को जरूर करवा देना.

सुबह ग्यारह बजे तक मैं तीन पैंटी बदल चुकी थी, इतनी गीली हो जा रही थी, कोई मर्द जात दिखे तो उसकी जिप के पास मेरी निगाह चली जा रही थी. मुझे आगे वाले ने मेरे मम्मों को पकड़ कर मुझे सहारा सा दिया हुआ था, जिससे मुझे काफी राहत मिल रही थी. वैसे भी उनको अपने पति से कभी वो सब नहीं मिला, जिसकी उन्हें ज़रूरत थी.

मयूरी के ऐसा करने से रजत का हाथ मयूरी के गांड पर और भी जोर से पकड़ बना रहा था. उसने ज़ल्दी से मेरे पैन्ट की चैन खोली और मेरा तन्नाता हुआ लौड़ा निकाल कर चूसने लगी. इसी के साथ उसकी गांड मेरे लंड पर रगड़ने की वजह से मेरा लंड भी खड़ा हो गया था.

इसके लिए बाहर के पुरुषों के पास जाने से ज्यादा अच्छा और सुरक्षित विकल्प महिलाओं के लिए घर के पुरुष ही होते हैं. इस पोज़ में काफी अच्छा लगा और अब जोर जोर से प्रिया की चुदाई हो रही थी.

मैं भी पूजा की बातों को मानकर अपना लंड थोड़ा ऊपर खींच कर अब जोर से धक्कों के साथ चोदने लगा.

जब मैं उसके चूचों को दबाता और नीचे से ज़ोर से एक शॉट लगा देता, जिससे मेरा लंड उसकी बच्चेदानी पर जा कर लगता.

मैंने कहा- तुम्हारे साथ क्या क्या कर सकता हूं?तो उसने कहा- लिप किस, गांड में… पर लंड नहीं चूसूँगी. उसने कोई हरकत नहीं की तो मैं धीरे धीरे अपना लंड उसकी गांड से रगड़ने लगा. पता नहीं माइक के मस्तिष्क पर क्या था, शायद वो थक चुका था और स्खलित होना चाहता था.

मैं- ठीक मैडम … नो इश्यू!मैडम बोली- मेरा नाम रीता है औऱ तुम मुझे रीता ही बुलाओ. बीस मिनट तक एक ही अवस्था में संभोग के बाद मुनीर चीखने लगी और फिर उसने पूरी ताकत से माइक को पकड़ लिया. अब मामी पूरे कान्फीडेंस के साथ मुझसे बेझिझक पूरी रात अलग-अलग पोजीशन से खूब चुदती हैं.

इसी तरह करीब 5 साल गुजर गए और आज मैं 21 का हो गया हूं और मिताली दीदी 28 की हो गयी हैं.

क़रीब दस मिनट बाद वो थोड़ी शांत हुई, तो मैंने उसको सहलाते हुए धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करने लगा. मैं उसको अपनी बाजुओं में लेकर उसके साथ प्यार का पूरा अहसास कराती रही. पायल के मुँह से हल्की सी आवाज निकली उम्म… अह… और उसने अपनी गांड भी आगे की ओर खिसका ली.

आपको याद होगा कि उस शाम को कैसे एक सामान्य से परिवार को किस्मत ने एक नया आयाम दे दिया था. हम दोनों की जीभ एक दूसरे के मुँह में घूम रही थीं, हम दोनों हवस की आग में जल रहे थे. मैंने मुस्कुराते हुए कहा- गांडू, मैं तो धीरे कर रहा हूँ, पर मेरे लंड को कौन समझाए.

अब मैंने मुस्कान से कहा- जान, मैंने तो तुम्हारी चूत को गीला कर दिया है, अब मेरे लंड को भी थोड़ा प्यार दे दो.

मयूरी ने अशोक का लंड पहली बार अपनी चूत में लिया था पर उसको बहुत ही ज्यादा आनन्द आ रहा था. मगर जब उसको पता लगा कि जो लड़की उससे शादी कर सकती थी, वो उसकी माँ बन गई है तो वो बाप से लड़ते हुए अगले दिन ही वापिस चला गया.

देसी ब्लू बीएफ सेक्सी कुछ देर बाद मैं एक लड़की के पास गई और उससे बोली- मुझे तुमसे कुछ पूछना है. थोड़ी देर और धक्के लगे कि तारा ने सिसकारी भरे शब्दों में माइक को उकसाने वाले शब्द बोलने शुरू कर दिए.

देसी ब्लू बीएफ सेक्सी उस दिन रविवार था इसलिए हनी बहुत खुश हुई कि वो पूरा दिन मेरे साथ रहेगी. पूरी कर दीजिये।” वह आंखें चमकाती हुई मुझे देखने लगी।क्या?”अपना लंड मेरी चूत में घुसा कर मेरे ऊपर लद जाइये और मुझे दबा लीजिये.

अब मैंने भी अपने भी कपड़े निकाल दिए और उसके सामने अपने मोटे लंड को हिलाया तो वो मेरे लंड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी.

सेक्सी सेक्सी फिल्म खुला

उनकी बातें सुनकर मैं बीच में ही रुक गया और बोला- अरे मैडम जरा आराम से. दोनों अपने सपनों की दुनिया से बाहर आये, मयूरी और अशोक दोनों अपने कपड़े ठीक करके बिस्तर पर ठीक से बैठ गए. मैंने भी भाभी को तड़पाना सही नहीं समझा और अपनी पैन्ट खोल कर नीचे कर दिया.

अब मैंने अपने भाई से कहा कि मुझे नौकरी मिल रही है तो अभी यहीं रहूंगी और कुछ समय बाद आपके पास आ जाऊंगी. मुझे कोई भी काम होता था तो मैं उस लड़के के साथ उसकी बाइक से बाजार जाती थी और बाजार से सामान लाती थी. देखना है तुझे?उसने मुझे अपने ऊपर से धकेलते हुए कहा- तुम लड़कों का कभी पेट नहीं भरता, सही कहा है किसी ने, तुम लोगों का दिल और दिमाग दोनों तुम लोगों के पैंट के अन्दर होता है.

भाई तो नहीं चाहता था कि मैं अब अकेली रहूं, मगर उसने मुझे कुछ नहीं कहा.

मैंने पूछा- इसका मतलब उसका सीना और पिछवाड़ा बिलकुल भी उठा हुआ नहीं है?वे अपने मम्मे उठाते हुए बोलीं- ये देखा जैसे मेरे बूब्स हैं, ऐसे नाप में तो उस जैसी के तीन बार समा जाएंगे. उसके बाद जब मैं अपने घर आने लगा तो मौसी ने मुझे एक पैकेट में कुछ दिया और कहा कि इसमें मस्त राम की कहानियों की किताबें हैं, पढ़ कर देखना मजा आयेगा. मामा सुबह अपने लड़के को स्कूल छोड़ कर काम पर चले जाते थे और घर में सिर्फ़ मैं और मेरी मामी ही बचते थे.

हां मेरी चूत के अन्दर बहुत जलन हो रही थी, दर्द भी बहुत ज्यादा था, अब खूब मज़ा भी आने लगा था. साब, दो घूंट और मिल जाती तो रात आराम से कट जाती; ठंड बहुत होती है रात में!” वो बोला. अंकित बोला- वन्द्या, अब तू तैयार हो जा … मैं तुझे आज बहुत चोदने वाला हूं, मैं और मेरा लन्ड बहुत तड़प रहे हैं, मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा.

पायल के मम्मे इतने बड़े थे कि सुनील के हाथ में और मुँह में समा ही नहीं रहे थे. फिर लंड पर थोड़ा तेल लगाया और एक बाक़ी की बची फुहार से मैंने अपना सारा माल उसकी पैंटी में डाल दिया.

मैंने आगे बढ़ कर उसके मम्मों पर हाथ फेरा और उन्हें पागलों की तरह चूसने चाटने और दबाने लगा. मैं जैसे ही अंकित की आवाज सुनी, मुझे लगा जैसे कोई अपना हो, मैं बहुत धीरे से बोली- यहाँ जगह नहीं है, कहाँ लेटोगे? जहाँ रोज लेटते हो, वहीं जाओ, यहाँ जगह नहीं है. इस वक्त मेरे मम्मे चाचा जी की मर्दाना छाती से रगड़ कर सुख ले रही थी.

चाची की चूत फूल और पिचक रही थी … चूत की फांकें लाल हो गई थीं … पूरी चूत पानी से भीग गई थी.

उसने अपने हाथ में लण्ड पकड़ा और बोली- ये असली है?मैंने कहा- आगे पीछे करके देखो. सच में उसका 34-29-33 का फिगर रोशनी में ब्रा और पेंटी में गौरी क्या माल लग रही थी. मैं मना नहीं कर सकता, लेकिन मैं जानता था कि मैं उठा तो सुशील जी मेरी गांड को खुली हुई देख लेंगे.

प्रिया की ब्रा निकलते ही उसके चुचे ब्रा की कैद से आज़ाद हो गए और हवा में फुदकने लगे. सहारनपुर से दिल्ली तक का सफ़र किसी भी एक्सप्रेस ट्रेन से 4 घंटे का ही है.

हम लोग मस्ती में दरवाजा लॉक करना भूल गए थे और चाची के दरवाजा बजाने से दरवाजा एकदम से खुल गया और उन्होंने हम दोनों को चुदाई करते देख लिया. उसने कहा- यह भी कोई कहने की बात है? मैं जिंदगी में कोई भी फैसला तुमसे बिना सलाह लिए नहीं करूँगा. पायल की चुत में मेरा मोटा लंड एकदम फंसा हुआ था, जिससे उसको दर्द हो रहा था, दीदी लगातार धीमे धीमे कराह रही थी और साथ ही सिस्कारियां भी भर रही थी, मैंने उसके मस्त मम्मों को मींजना शुरू कर दिया और उसके होंठों पर अपने होंठ धर कर दीदी को चूमना शुरू कर दिया.

जबरदस्ती सेक्सी वीडियो डाउनलोडिंग

मैं- इसे चूसने से क्या होगा?अंकल- चूसने से तुम्हारे बदन की गर्मी को ठंडी लगेगी.

वो सब पायल के आस पास थे, लेकिन अब भी पायल को कुछ गलत नहीं लग रहा था. अंकल आगे बोले- लंड तो देख लिया, सूंघ भी लिया और अब इसे चाटना और चूसना रह गया है … इसे भी सीख लो. यह थी मेरी कहानी रेशमा के साथ!और मुझे नहीं पता था कि उसकी नौकरानी के साथ भी मुझे चुदाई करने का अवसर मिलेगा.

हमने ऐसा ही किया और इस तरह से अब उनकी नज़रों में भी मैं शादीशुदा हो गई. प्रिया का मुँह मेरे होंठों से बन्द था इसलिये उसने ऊगूंगूगूगू … गूऊऊ …” कहते हुए पहले तो अपने होंठों को मेरे मुँह से छुड़वाया और फिर दर्द से बिलबिलाने लगी. कोल्हापूर कॉल गर्लउसी बिल्डिंग में एक फैमिली रहती है, उसमें पति पत्नी और दो बच्चे है.

उसकी गुलाबी पेंटी और उसमें से निकलती मादक खुशबू ने मेरे लंड की नसों को इतना टाइट कर दिया था कि जैसे मेरा लंड फट पड़ेगा. मैंने उसकी कमर को फिर से कसकर पकड़ा और पूरी ताकत लगा कर धक्का मार दिया, जिससे पूरा का पूरा लंड दीदी की चुत की गहराई में उतर गया.

कम्मो सजधज ली थी अपने हिसाब से; वो जितना खुद को सजा सकती थी, उसने सजा लिया था. अभी तक आपने इस कहानी में पढ़ा कि बहू ने अपनी विधवा सास की कामुकता को समझा और उसकी मदद करने की कोशिश की. उसे समझना चाहिए था कि उसका बेटा शादी के लायक है, तब भी बेटे की शादी करने के बजाये अपनी कर ली.

फिर उन्होंने मेरी दोनों चूचियों को मुँह में लेकर खूब चुसाई शुरू कर दी. पर आज जब मयूरी अपने घर जा रही थी तो उसके दिमाग में कुछ नयी तरंगों ने कब्ज़ा कर रखा था. ये देख कर एक बाजू सुनील और दूसरी में मैं उसकी बांहों को किस करने लगे और उत्तेजना बढ़ने पर उसे काटने लगे.

अब वो अपने पति के साथ बहुत खुश है।तो दोस्तो, यह थी मेरी गर्लफ्रेंड की सेक्स कहानी.

तब मुझे याद आया मेरी जॉकी तो अन्दर ही पड़ी है, जिसपे मेरा रात का वीर्य लगा है. ये कहानी वहीं से शुरू होती है … जहां सेमाइक, मुनीर और शालिनी की कहानीखत्म हुई थी.

अब उसके अंदर का पिता पता नहीं कहा चला गया, वो अपने आप को जो महसूस कर पा रहा है वो है ‘बस एक मर्द’ जो इस वक्त बहुत ही ज्यादा कामुक हुआ पड़ा है. आंटी मेरे ऊपर चढ़ गईं और मेरे तने हुए लंड को अपनी चुत की फांकों पर रखते हुए अन्दर फंसा लिया. मैं वो दर्द दुबारा महसूस करना चाहती हूँ पंकज प्लीज़ एक बार में ही पूरा डालना.

एक ने अपना लंड भी चुसवाया लेकिन किसी ने भी मेरी बुर नहीं चाटी। बस उंगलियों से सहला कर गर्म कर लिया. अभी मेरी उम्र 25 साल है, कैसे मैंने मेरी पड़ोस वाली भाभी को चोद कर उसकी बरसों की तमन्ना पूरी कर दी. मैंने मुस्कुराते हुए कहा- गांडू, मैं तो धीरे कर रहा हूँ, पर मेरे लंड को कौन समझाए.

देसी ब्लू बीएफ सेक्सी भाभी झट से उठीं और मेरी कमर के दोनों तरफ पैर करके चूत के छेद को लंड पर रखकर एक जोरदार झटके के साथ बैठ गईं. आया समझ में!”तो मैं क्या कर सकता हूँ।”करने को तो तू यह मनहूस राय भी दे सकता है कि मैं हेयर रिमूवर का इस्तेमाल कर के अंडरआर्म क्लीन कर लूं और खुद अपने हाथों से अपनी मसाज कर लूं.

17 साल का सेक्सी वीडियो

इसलिए उस दिन उसने मेरे एक बार कहने पर ही उठा कर लंड को तुरंत ही अपने मुँह में भर लिया और गपागप चूसने लगी. तुम अपने घर पहुंचे या नहीं?मैंने भी रिप्लाई किया- रेशमा जी, मैं ठीक ठाक से अपने रूम पर पहुँच गया हूँ. कभी कभी मैं जब खेलने जाता था तो उनके कमरे से ‘आआहठह ऊऊठहह ईईईईए अअअअअ ऊऊऊऊ.

मेरी सेक्सी स्टोरी पर आप अपने विचार मुझे मेरी मेल पर भेजें![emailprotected]. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:विशाल लंड से चुदाई का नया अनुभव-2. সেক্স ফ্রি ভিডিওमैं जब रिसपोन्स नहीं देता था, तो भी वो अपने मम्मे मेरी पीठ से टच कराने लगती थी, मेरे लंड से अपनी गांड घिसना, ये सब करने का मजा लेती रहती थी.

इस घटना के बाद से मेरी भाभी को देखने की नज़र बदल गयी, जो शायद उनको भी पता चल गया था.

मैं उनसे अकेले में मिलने को बहुत एग्ज़ाइटिड था, पर शरम भी बहुत आ रही थी. वो सत्यम की निशानी थे, उन्हें अपने सीने से लगाया मेरी आँखों में आंसू आ गये.

पर मेरे दर्द को देखते हुए उन्होंने अपने लंड को मेरी गांड से थोड़ी देर के लिए बाहर निकाल लिया. मुझे दो तीन महीने पहले एक बार लाल जी ने बताया था कि अंकित का लंड बहुत मोटा और बड़ा है. हमारी टैक्सी लाल किले के निकट पहुंच रही थी; किले की गुम्बदें साफ़ दिखाई देने लगीं थीं इधर कम्मो की जांघों के बीच छुपा लालकिला भी मुझे ही पुकार रहा था जिस पर मुझे चढ़ाई करके जीतना था पर सुरक्षित जगह की वजह से पता नहीं जीत भी पाऊंगा या नहीं.

मैं पूजा की हरकत समझ गया और मैंने पूजा को अपने हाथों से पानी पिलाया फिर पूजा को गोद में उठाकर नीचे लाया.

माइक भी पूरा समर्थन देता रहा और तब तक लिंग की चोटें मारता रहा, जब तक कि मुनीर पूरी तरह झड़ कर शांत न हुई. मानो मैं खुद ही अपनी दोनों गोल गोल कसी हुई चूचियों को दिखाना चाहती होऊं. जब मौसी ने कोई हरकत नहीं की, तो हिम्मत करके उनकी सलवार का नाड़ा खोलने लगा.

சமந்தா sexजब वो लोग आए, तो मैंने लड़के की माँ और अपने लिए एक ही प्लेट में खाने का सामान रखा और उसी को दोनों ने अपने अपने चम्मचों से खाया. उसकी बालों रहित चिकनी चुत गुलाब की पंखुड़ियों सी दिख रही थी, जिसमें से जवानी का रस टपक रहा था.

सेक्सी मारवाड़ी सेक्सी

पति ने कहा- मेरा लंड तुम्हारी चुत में अटक गया है, धक्के मारूंगा तो तुम्हें दर्द होगा. पायल- प्लीज ऐसी बात मत करो ना, दस बार से तो मेरी हालत खराब हो जायेगी, मेरे बारे में भी सोचो ना. पहले उन्होंने मुझे चड्डी पहनाई फिर ब्रा, फिर ब्लाउज और लास्ट में साड़ी पहना दी.

फिर हम आगे की योजना बनाने में व्यस्त हो गए, अब शाम हो चली थी, रात का खाना फ्लैट में ही बनाने का प्लान बनाया।दोनों मां बेटी ने मिलकर खाना बनाया, इसी दौरान दिव्या मेरे पास आकर बोली- देखो, मैंने दिल के आकार की रोटी बनाई है!उसकी इस मासूमियत भरी बात पर मेरे चेहरे पर मुस्कान छा गयी. इस बार मैंने थोड़ा तेल उसके चुत की अन्दर तक लगाया और थोड़ा तेल अपने लंड पे भी लगाया. तो जिस दिन औरतें निकलने वाली थीं, उसी दिन बीवी ने पायल को कहा कि आज सामान भेज दो.

बस माइक ने फिर देर न करते हुए हाथ बाहर हटाया और मुनीर के कंधों को पकड़ एक जोरदार झटका दिया. तभी मैंने उसकी गरदन पर कई किस कर दिए, जिससे वो चिहुंक उठी और मुझसे और भी सट कर चिपक गयी. मैंने लंड के लिए तड़प रही उसकी चुत पर सुपारा रखा और फांकों को लंड से सहलाने लगा.

इसी बीच उन्होंने कहा- उस रात जो काम तुमने अधूरा छोड़ दिया था, आज उसको पूरा करो!जो हुकुम मेरे आका!” यह कह कर मैं उनके कपड़ों को उनके बदन से अलग करने लगा. अब मैं गौरी को हमेशा देखता रहता था और अकेले मिलने का मौका ढूंढता रहता था। मेरी हरकतों को चाची ने समझ लिया और अब वो मेरे ऊपर और गौरी पर नजर रखने लगी.

जवान लड़की के नाजुक अंगों का किसी मर्द से स्पर्श लड़की को भी बेचैन कर ही डालता है सो वही अनुभूति कम्मो को भी जरूर हुई होगी तभी वो मुझसे एक मिनट बाद ही दूर खिसक गयी.

उसने पूछा- मुझे कब करोगे?मैंने कहा- रात को!वह खुश हो गई और वहां से चली गई. डब्ल्यू डब्ल्यू सेक्सी हिंदीजूही मेरे लंड पर उछल रही थी।अचानक से वो सीधी हो गयी और मेरे लंड को हाथों से पकड़ कर अपनी चुत पे रखकर धीरे धीरे मेरे लौड़े पर बैठती गयी और मेरा लंड जूही की चुत की गहराई में घुसता चला गया। वो मेरे लंड पर उछल रही थी और उसकी चूचियाँ हिल रही थी।मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और जोर जोर से दबाने लगा. वीडियो में सेक्सी दिखाइए वीडियोहम लोग धर्मशाला में आराम से एक डेढ़ घंटे रुकेंगे, इतनी देर में मैं तुझे अच्छे से अपनी बना लूंगा; हम लोग निपट कर फिर वापिस बारात में शामिल हो जायेंगे; अरे किसी को कुछ पता नहीं चलने वाला कि कौन आया कौन गया. मैंने उसको चूमना चालू कर दिया, वो भी मेरा साथ देने लगी और हम दोनों जमकर एक दूसरे को चूमने लगे.

अगले दस मिनट में मौसी पूरे मजे में थीं और उन्होंने खुद ही मेरे लोवर में हाथ डाल कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया और उसे आगे पीछे करने लगीं.

एक दिन मैंने उसे मैसेज किया- क्या कर रही हो?तो वो बोली- फ्री बैठी हूँ. वो बस अपने काम में बिजी रहते थे और कभी कभी मूड बनता था तो एक या दो बार मुझे चोद लेते थे. ’वो बस इतना ही बोली और अचानक से वो मेरी तरफ पलट कर मेरा लंड चूसने लगी.

शीतल एक घरेलू काम-काजी महिला थी पर अन्य औरतों की तरह उम्र का असर उसके शरीर पर ज्यादा हुआ नहीं था. एक-डेढ़ घंटे की लगातार पढ़ाई के बाद सबने एक ब्रेक लेने की सोची और रिलैक्स करने लगी. इसके बाद तो मैंने उसकी चुत की कई तरह से चटनी बनाई और उसको भी मेरे लंड से चुदने में बहुत मजा आता था.

भाभी की गांड चुदाई सेक्सी

फिर मैंने उसे भी नहाने को बोलकर उसके कपड़े उतारने लगा, वो थोड़ा विरोध करने लगी… पर मैंने उसकी एक न सुनी और उसकी टी-शर्ट उतार दी. रजत ने सोचा कि अगर ऐसा है तो वो उससे बात करेगा और इस बात को यही ख़त्म कर देगा. थोड़ी देर के बाद मुझे भी लगा कि अब ज़्यादा देर रुक नहीं सकता और इसलिए मैंने अपना लंड एक बार जड़ तक पूजा की चुत में पेलकर उसकी एक चूची अपने मुँह में भर कर चुपचाप लेट गया.

फिर मैंने उसके पेट पर चुम्बन किया और जीभ फेरने लगा, कभी चूमता तो कभी जीभ फेरता और वो मदहोश हो जाती.

मैंने आज तक कोई ऐसी ब्लू फिल्म में चुदाई नहीं देखी, जैसे यह वन्द्या चुदवाती है.

वो मेरे बालों को ऐसे नोंच रही थीं, जैसे कि मैं ठीक से चुत की चुसाई नहीं कर रहा हूँ. फिर उसने मेरी तरफ देखकर बोला- हां अब बोलो, क्या तुम्हें मेरी चुत की सीटी सुननी है और क्या तुम्हें मेरी चूत से पेशाब निकलते हुए देखना है?मैंने जब हां किया तो पूजा बोली- चलो टॉयलेट के फर्श पर लेट जाओ. नेपाली सेक्सी फिल्म नेपाली सेक्सी फिल्मयह सुनकर रशीद की खोपड़ी भन्ना गई, लेकिन मैंने रशीद को इशारे से समझा दिया कि लौंडिया किधर जाएगी, साली को पूरी रात चोदेंगे.

अब दोनों भाइयों के दिल में धक्-धक् हो रही थी कि मयूरी पता नहीं क्या बोलने वाली है. https://thumb-v4.xhcdn.com/a/pIi2_lOjGHr-wtGC1JtDuA/021/689/354/526x298.t.webm. करीब 6-7 लेडीज थी और 10-12 जेन्ट्स!जब मैं लेटी तो करीब 10:30 बजे रात का समय हो चुका था पर मुझे बिल्कुल नींद नहीं आ रही थी, मेरे को सुबह के बाद अंकित भी नहीं दिखा, पता नहीं कहाँ चला गया था.

फिर मैंने भी अकेलेपन को दूर करने के लिए अन्तर्वासना पर कहानी पढ़नी शुरू कर दी और मुझे भी लगने लगा कि मेरे जीवन में भी कोई जान होना चाहिए. यह सुनकर रशीद की खोपड़ी भन्ना गई, लेकिन मैंने रशीद को इशारे से समझा दिया कि लौंडिया किधर जाएगी, साली को पूरी रात चोदेंगे.

फिर लंड पर थोड़ा तेल लगाया और एक बाक़ी की बची फुहार से मैंने अपना सारा माल उसकी पैंटी में डाल दिया.

मैं तो जैसे इंतज़ार ही कर रहा था, जैसे ही उसने ऐसा कहा, मैंने बिल्कुल वहीं हाथ डाला, जहां उसने बताया था और उसकी जांघों को सहलाते हुए हाथ ऊपर लेने लगा. मैं कल ही किसी वकील से मिल कर इसे गोद लेने की पूरी क़ानूनी करर्वाही करती हूँ. उसके सफ़ेद झीने से सूट में से झलकती ब्लैक पेंटी और ब्रा की हल्की झलक मैं साफ़ देख सकता था.

ससुर बहू की हिंदी सेक्सी फिल्म रशीद पायल के मम्मे को आम समझ कर उसका रसपान करने लगा … और चूसते हुए मसलने लगा. अचानक माइक ने अपना हाथ बिस्तर से हटा कर तारा को नीचे से हाथ डाल उसके कंधों को ऐसे पकड़ लिया, जैसे वो कहीं भाग न जाए.

हम दोनों एक सी विचारधारा की थी तो अपनी पर्सनल बातें भी करने लगी थी. नमस्कार मित्रो!मेरे द्वारा लिखी चुदक्कड़ परिवार की कहानीभाई बहन की सेक्स स्टोरीकुछ माह पूर्व अन्तर्वासना पर प्रकाशित हुई थी. मैं इस तरह की लेडीज़ की शारीरिक जरूरतों को खूब समझता था क्योंकि इनमें तो जवानी और कामवासना भरी होती है जबकि इनके आदमी अपने काम धंधे की वजह से इनकी इच्छा पूर्ति नहीं कर सकते.

गांव की लड़कियों की ब्लू फिल्म सेक्सी

मयूरी रोती हुई- पर तुमने तो देख लिया… मुझे पूरी नंगी… मेरा सब कुछ देख लिया. पर अशोक अभी रुकने के मूड में नहीं था, उसने एक और झटका मारा और बाप का लंड जड़ तक बेटी की गांड के अंदर चला गया. इस वक्त मेरे मम्मे चाचा जी की मर्दाना छाती से रगड़ कर सुख ले रही थी.

फिर 15 मिनट की चुदाई के बाद जब लंड ने पानी छोड़ना शुरू किया तो मुन्ना ने पिंकी की चूत को ही भर दिया. फिर उसने मुझे अपने ऊपर लिया और बोली- भितोर ठेलो (मतलब अन्दर डालो)मैंने गौरी की चूत पर लंड का निशाना लगाकर धक्का लगाया तो फिसल गया और साइड में चला गया.

वो अपनी कमर को इधर उधर हिलाते हुए खुद भी अपनी चूत को लंड पर रगड़ने लगीं.

शौर्य- चल, कोई नहीं, देर आए दुरुस्त आए, अब तो मेरी 10 दिन की आग बुझा दे. मृदुला अपने घुटनों पर बैठ गई और अपने मुँह में मेरा लंड भर के चूसने लगी. मैंने कहा- क्यों, मैं क्या किसी को बताने जा रही हूँ?उसने कहा- नहीं, मैं अब कुछ नहीं बता सकता.

मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में आपको बता दूँ कि वो बहुत सेक्सी और हॉट लड़की है, उसका फिगर बहुत मस्त है. प्रिया के ऐसा करने से मेरी उंगली उसके प्रवेशद्वार में थोड़ा और घुस गयी, जिससे प्रिया के मुँह से इइईईई … श्श्शशश … आआआह्ह्हह …” की जोरों से आवाज निकल गयी. भाभी शोर मचा रही थीं- आह… जोर से चोद मुझे… और जोर से…मैंने दस मिनट भाभी को चोदा और कुछ पल के लिए रुक गया.

एक यह खाएगी और एक मैं…यह कहते हुए वे दोनों मेरी तरफ देख कर अश्लील स्माइल में हंसी.

देसी ब्लू बीएफ सेक्सी: फिर मैंने अपनी जीभ उनकी चुत में घुसा दी, वो एकदम काँप सी गईं और अब उनके मुँह से सिसकारियां तेज हो रही थीं. मैंने स्पीड बढ़ा दी और उनकी चूत में ही झड़ गया, फिर हम दोनों थोड़ी देर ऐसे ही एक दूसरे से लिपटे हुए पड़े रहे.

मैंने लंड को सहलाया तो अंकल आगे बोले- चलो अब जीभ निकाल कर इस सुपारे पर फिराओ. डिम्पल भाभी पूरा दिन घर में अकेली रहती थीं और इस कारण मेरी उनसे अच्छी खासी दोस्ती हो गयी थी. इसी दौरान अशोक ने अपने एक साथ से मयूरी की गांड के एक उभार को छोड़ दिया और मयूरी की जादुयी चूचियों पर अपना हाथ फेरने लगा.

एक दिन चाचा ने बनिये के आगे अपने हाथ खड़े कर दिए और कहा- मैं आपका कर्ज़ वापिस नहीं कर सकूँगा.

मेरी उम्र अठारह वर्ष से ऊपर हो गयी थी लेकिन मेरे शरीर पर बाल नहीं थे. मेरे पड़ोस में एक लड़की थी, जिसका नाम स्नेहा था और उसके साथ मेरी सामान्य बातें होती रहती थीं. मैंने बोला- आपका लैपटॉप खराब हुआ है मैं उसे ठीक करने के लिये आया हूँ.