दीदी बीएफ

छवि स्रोत,बीपी पिक्चर चोदी चोदा

तस्वीर का शीर्षक ,

मां बेटे की सेक्सी चुदाई: दीदी बीएफ, मैंने उसके गुप्तांगों को अच्छी तरह से साफ किया और फिर दोनों नहा कर बाहर आ गए.

दोस्त की गर्लफ्रेंड को चोदा

मनीष के मुँह से भी अब मादक आवाजें निकलने लगी थीं- उहह उहह … मेरी जान आह्ह … आह्ह … बस आ गया … आह्ह … ले उहह … उहह. தேசி சுடைजैसे जैसे लंड गांड में अन्दर बाहर हो रहा था, थप थप थप की आवाज़ तेज तेज आने लगी थी.

रेशमा की चूत अब किसी भी वक़्त अपना पानी निकालने की दिशा में जा रही थी. सेक्स वीडियो बीएफ सेक्सी वीडियोचाची बोलीं- यही करोगे या आगे भी बढ़ोगे … कब से मेरी चूत पानी छोड़ रही है.

मैंने धक्के देता गया और तभी भाभी की चूत से थोड़ा थोड़ा पानी बाहर निकलने लगा था.दीदी बीएफ: वो कुछ नहीं बोलीं, तो मैंने उनके मुँह में लौड़ा घुसा दिया और झटके लगाने लगा.

पर अब मुझे बहुत भूख लग रही थी तो मैं उसको अपने आपसे अलग करते हुए ड्रेस की तरफ इशारा किया.बातों ही बातों में मैंने रूम का दरवाजा बंद कर दिया और वासना भरी निगाहों से पूनम को निहारना शुरू कर दिया.

देहाती जबरदस्ती बीएफ - दीदी बीएफ

वो बोल रही थी कि चार महीने पहले आपनेमेरी सील तोड़ीथी, उसके बाद मैंने कई लड़कों से चुदवा लिया, पर किसी में मुझे इतना मजा नहीं आया, जो आपके साथ आया था … आंह जान मेरी चूत का सारा पानी निकाल दो और पी लो.पाठिकाओं की जानकारी के लिए बता दूँ कि मेरे शहजादे का साइज साढ़े छह इंच है और उसकी मोटाई ढाई इंच है.

मैंने कहा- अच्छा, इसका मतलब हम दोनों एक दूसरे के बारे में ही सोच रहे थे. दीदी बीएफ फिर मैंने उनको समाझाने की कोशिश की- मैं तो आपके दोस्त जैसा हूँ, आप बिना झिझके अपनी कोई भी प्रॉब्लम मुझे बता सकती हैं.

मैं समझ गया और मैंने उसे चूमते हुए कहा- मेरी डॉल तुझे मेरे साथ मजा आया या बुरा लगा?वो मेरे सीने से चिपकती हुई बोली- आप बहुत मस्त मर्द हैं.

दीदी बीएफ?

शेखर के लंड के झटके उसे मज़ा तो दे रहे थे लेकिन साथ ही तंग छेद के खुलने का दर्द भे दे रहे थे. भाभी की बड़ी बहन और मैं दोनों एक दूसरे के होंठों को खा जाना चाहते थे. फिर मैंने अपने एक हाथ में लंड पकड़कर लंड का चिकना सुपारा गीता की गीली चूत पर टिका दिया और ऊपर से नीचे रगड़ने लगा.

दोस्तो, आपको यह कॉलेज सेक्सी गर्ल देसी कहानी कैसी लगी मुझे ज़रूर बतायें. कुछ देर ऐसे चोदने के बाद ससुर जी ने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और मेरे दोनों पैरों को फैला दिया. [emailprotected]सेक्स इन बस का अगला भाग:वंश चलाने के लिए दो बहनें चुद गयी- 2.

मैंने अपना हाथ पैंटी के अन्दर ही थोड़ा ऊपर उठाया और हथेली को एक कप सा बना कर, जिसमें मेरी चारों उंगलियां नीचे की ओर थीं, सोनी की तपती चूत पर रख दिया. अब भाभी हांफ रही थी मेरे ऊपर लेटे लेटे!फिर अचानक से उन्होंने मुझे एक तप्पड़ मारा और बोली- भोसड़ी के, पानी चूत में क्यों छोड़ दिया? मैं तेरे बच्चे की मां बन गई तो क्या होगा?मैंने कहा- आपने मुझे इतना जोर से जकड़ रखा था … मैं बाहर पानी कैसे निकालता?भाभी ने कहा- कल सुबह मुझे गोली लाकर दे देना जिससे मैं प्रेगनेंट ना होऊं।कुछ देर बाद भाभी उठी और पेशाब करने चली गई. उनके साथ सेक्स करने का मौक़ा मुझे कैसे मिला?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम आशीष है और मैं महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ.

अब मेरा लंड सीधा बच्चेदानी में टकराने लगा और मॉम की सिसकारियां मधुर संगीत बन कर निकलने लगीं. मैं- तू चिंता क्यों कर रही है डार्लिंग … तुझे तो मैं बहुत प्यार से चोदूंगा.

फिर धीरे धीरे जैसे जैसे आंटी का दर्द कम होने लगा, आंटी की कमर हिलने लगी.

शैम्पू लगाने के बाद मैंने अपने बालों को पानी से धो लिया और अब मैं अपने बूब्स पर गोल-गोल घुमाते हुए साबुन लगाने लगी.

उन्होंने अपने पति से इस बारे में बात की और अपने पति को लखनऊ आने के लिए मनाया भी. आंटी छटपटाने लगी थीं और उनके बंद होंठों से घूघू घूघू की आवाज़ आ रही थी. वो अपने दोनों हाथों से मेरे लंड को सहलाती हुई बोली- हर्षद एक बात कहूँ?मैंने कहा- हां बोलो देविका.

वो, ‘उईई उईई बचाओ बचाओ बचाओ मर गई मम्मी बचाओ मर गई मम्मी बचाओ …’ चिल्लाने लगीं. मैं भी लगातार सोनी को चूमे जा रहा था और सोनी भी मेरा साथ दे रही थी. फ्रेंड्स, मैं सौम्या एक बार फिर से अपनी नंगी जवानी की चुदाई की कहानी के साथ आपके सामने हाजिर हूँ.

दोनों ने मेरे कपड़े उतार कर मुझे बिल्कुल नंगी कर दिया और मुझे घोड़ी बनाकर रोहन ने अपना लंड मेरे मुँह में भर दिया.

कुछ देर बाद मुझे उसने फिर से सीधा लिटा दिया और कमर के नीचे तकिया रख कर मेरी टांगें फैला दीं और लंड अन्दर घुसा दिया. तो मुझे भी अपने पुराने शौक ताज़ा हुए!जिनको मैं तब न कर सकी, उनको अब कर सकती थी. मैंने स्कर्ट थोड़ी और ऊपर की और खुद को थोड़ा ठीक करके दरवाज़ा खटखटाया.

मैंने उसके हाव भाव से भाम्प लिया कि लड़की मेरे साथ वक्त बिताने में नहीं हिचकेगी. इसके बाद हमें जब भी मौका मिलता, हम दोनों खूब चुदाई करते और बहुत मजे लेते. थोड़ी देर बाद गीता सामान्य हो गयी और आहिस्ता आहिस्ता अपनी गांड ऊपर नीचे करने लगी.

कोचिंग सर के एक दोस्त ने कैसे मुझे पटा कर मेरी चूत मारी?यह कहानी सुनें.

थोड़ी देर में मैंने अपने लंड का पानी श्वेता की चूत में भर दिया और निढाल होकर उसी के ऊपर लेट गया।हम यह सेक्स प्रेगनेंसी के लिए ही कर रहे थे. मेरा बेटा भी जवान हो गया है, तो एक बार वो अपनी गर्लफ्रेंड को घर लेकर आया था और चोद रहा था.

दीदी बीएफ मैं भी अब पूरे जोश से झटके लगाने लगा और चुदाई की आवाज़ आना तेज हो गई. शेखर की इस दयनीय हालत का मज़ा लेने में धारा ने कोई कसर नहीं छोड़ी थी.

दीदी बीएफ अब धीरे धीरे ललिता भाभी की कामुक सिसकारियां आह आह निकलने लगी और उनकी कमर हिलने लगी. मैं एक हाथ से चूचे को दबा रहा था और दूसरे हाथ की उंगली चूत में चल रही थी.

जैसे जैसे मेरा लंड अन्दर जा रहा था, उसकी बुर की चमड़ी फैलती जा रही थी.

सेक्सी पिक्चर सुपर

मरता क्या न करता, मेरे पास उनकी बात मानने के अलावा कोई रास्ता नहीं था. कुछ देर बाद मैंने ललिता भाभी को बिस्तर पर लिटा दिया और उनकी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया, जिससे भाभी की फूली हुई चूत ऊपर उठ गई. सिर्फ इतना ही पता था कि उनकी शादी को अभी सिर्फ एक साल ही हुआ है और उन्होंने टीचर का जॉब नया नया ही ज्वाइन किया था.

मैंने कहा- ये क्या कर रहे हैं आहह!ससुर जी- यही सब में तो मजा आता है, तू बस मजा लेती रह!कुछ देर तक ऐसे ही मैं उनसे लिपटी रही. मैंने देविका को चूमते हुए कहा- क्या देविका … तुम भाग्यशाली नहीं हो? कल पूरी रात हम दोनों नंगे साथ में कामक्रीड़ा कर रहे थे … और अब भी सुबह से साथ में हैं. अब मैंने उसकी योनि को चाटना शुरू किया, तो वो आआ आह ऊऊ उफफ की आवाजें निकालने लगी.

बाद में जब हम दोनों बाईक से खेतों में घूम रहे थे तो जोरदार बारिश हुई.

तभी मोहन बाबू ने मुझे बिस्तर पर चलने का इशारा किया ‘कमरे में चलें?’मैंने कुछ नहीं कहा और उनका हाथ पकड़ कर कमरे की तरफ बढ़ गई. उसने मुझसे छूटते ही मुझे आई लव यू ललित कहा और मैंने जवाब में फिर से स्मूच करना जारी रखा. अब आगे न्यू गांड की चुदाई:हम दोनों नंगे होकर एक दूसरे के साथ बहुत प्यार कर रहे थे.

उन्होंने बोला- ठीक है तुम अच्छे से रहो और ठीक होने पर ही कोचिंग आना. मेरे हाथ का दारू का गिलास लेते हुए उसने एक ही घूँट में पूरा गिलास खाली कर दिया और फिर से मेरे लौड़े को चूसने के लिए मेरे सामने आकर बैठ गयी. हम दोनों पानी के नीचे नंगे खड़े थे पानी से नहाने लगे और मस्ती करने लगे.

मैं- मेरी तारीफ़ के लिए धन्यवाद भाभी जी … मगर क्या करूं, पढ़ाई से फुर्सत ही नहीं मिलती. क्या मैं गलत था और अगर मैं गलत था तो मेघना के जिस्म पर वो काटने के निशान और टॉयलेट सीट पर फंसा हुआ वो कंडोम ये सब क्या था.

किरण भी किसी पेशेवर रंडी की तरह मेरे लौड़े में जान फूंक रही थी और धीरे धीरे उसकी मेहनत रंग ले आयी. थोड़ी देर बाद मैंने उनको अपनी गोद में उठाया और दीवार से लगा कर उन्हें फिर से चोदने लगा. सर मुझे टोकते हुए कहने लगे- क्या हुआ राजीव, बार बार दरवाजे की ओर क्या देख रहे हो? सोनी का इंतजार कर रहे हो क्या?मैंने चौंकते हुए कहा- सोनी.

सच में भाभी की गर्म जीभ से चाटने पे मेरे लंड में लोहे के रॉड जैसे सख्ती आ गई।भाभी पूरा लंड अपने हलक तक उतार लेना चाहती थी.

साबिरा का थूक देख कर मैंने शिराज को गालियां देते हुए कहा- तेरी मां का भोसड़ा साले, मेरी बेगम के मुँह में झड़ गया कुत्ते? अब चाट ये फर्श, तेरे अम्मी की भोसड़ी हिजड़े, तुझे आज इसकी सजा मिलेगी. मैं सिर्फ एक बार देखना चाहता हूँ बस!सोनी ने फिर से मना कर दिया और मैं उसे मनाता रहा. सर ने मुझे तौलिया लाकर दिया और कहा- ये लो तौलिया और खुद को पौंछ लो, वरना ठंड लग जाएगी.

अभी तक की सेक्स कहानीकुंवारी लड़की की बुर की सील खोलीमें आपने पढ़ा था कि किस तरह से मैंने एक कमसिन जवान लड़की रूपा को अपने घर पर बुलाया और अपनी कुंवारी लड़की को चोदने की इच्छा को पूरा किया. ब्लाउज का कपड़ा एकदम हल्का पीला और झीना था, जिसमें मैंने स्लीवलेस और आगे से काफी डीप रखा और पीछे से एक बस दो उगल बराबर एक पट्टी थी हुक वाली.

अञ्जलि बोली- ओह बेदर्दी चूत खोद दे … आहह बेदर्दी चूत चोद कमीने … उफ़्फ़ आहहह!वो मादक आवाज करती हुई अपनी चूत पर अपनी उंगलियों से रगड़ती हुई मालिश करने लगी. वो भी मैं किसी ब्लूफिल्म की पोर्न ऐक्ट्रेस की जगह अपनी बहन को कल्पना में देखता था और मर्द की जगह खुद को मान कर बहन की चूत गांड में लंड पेलने की सोच कर लंड का पानी निकाल देता था. आखिर मेरा पतिव्रत धर्म भ्रष्ट करने वाले में कुछ स्पेशल होना ही चाहिए.

एचडी सेक्सी वीडियो राजस्थानी

मैंने गांड पकड़कर उठा दिया और लंड पर गांड का सुराख लगाकर बैठा दिया.

मैं उनकी शर्ट से दिख रहे छाती के बाल और पसीने के साथ साथ उनकी पैंट की जिप को भी देख रहा था. मुझे पढ़ने का शौक बचपन से ही था और जब थोड़ा बड़ा हुआ, तो मेरा रुझान कम्प्यूटर की तरफ झुक गया. दर्द को रोकने के लिए रेशमा ने अब खुद अपना हाथ अपनी चूत की तरफ बढ़ा दिया और वो खुद अपनी चूत को ऊपर से सहलाने लगी.

वो मेरी सफाचट फूली हुई मस्त रसीली चूत देखते हुए बोला- आह इतनी मस्त चूत … जैसे मक्खन की टिकिया हो. वो हंसने लगीं और बोलीं- सोच ले?मैंने कहा- हां सोच लिया, आप जो बोलोगी करूंगा. इंग्लिश बीएफ सेक्सी ओपनमैंने उससे पूछा- क्या घर पर कोई नहीं है?वो बोली- मैं यहां अकेली रहती हूँ.

मैंने कहा- बस इतना ही ना देविका … इससे तो मुझे कोई एतराज नहीं है, लो पी लो और अपनी आखिरी तमन्ना भी पूरी कर लो. यह फार्म हाउस विलेज़ सेक्स वाली बात उस समय की है, जब मैं बीस साल का था.

मैं ये भाभी हिंदी कहानी में आपको अपनी चुदाई की सच्ची घटना बता रहा हूँ. हालांकि इसमें मेरी भी मर्ज़ी थी लेकिन उन दोनों को दिखाने के लिए मैंने थोड़ा नाटक किया. देविका ने फिर से मेरा बाक्सर नीचे खिसका दिया और मेरे लंड को खुली हवा में आजाद कर दिया.

मैंने एक एक करके अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिए और उसके सामने पूरी नंगी हो गयी. कुछ देर तक उसने खुद अपनी गांड को चुदवाया और पूरी तरह से बर्बाद कर दिया. मॉम ने मुझसे एक प्रॉमिस लिया कि ये बात डैड को पता नहीं चलना चाहिए और अकेले में मैं मॉम को उनके नाम से बुलाऊं.

मैंने सरिता से कहा- सरिता, अगर तुम फिर से प्रेग्नेंट हो गयी तो?सरिता ने हंस कर जबाब दिया- कोई बात नहीं हर्षद.

चुद चुद कर पकौड़े की तरफ फूली हुई साबिरा की चूत से अब धीरे धीरे मेरा गाढ़ा वीर्य बाहर आने लगा. वो- इतने हैंडसम हो फिर भी नहीं किया है?मैंने कहा- कोई मिली ही नहीं.

मैं कान में ईयरफोन लगाए मोबाइल में ब्लूफिल्म देखते हुए अपने लंड की मुठ मारने में लगा था. दर्द तो हुआ लेकिन आज पहली बार तुम्हारे लंड ने मेरी चूत को बुरी तरह से रगड़ कर चोदा है. काफी देर तक चुदाई करने के बाद रोहन बाहर चला गया और उसके कुछ देर बाद भाई भी निकल गया.

जल्द ही हम दोनों 69 स्थिति में आते हुए एक दूसरे के लौड़ा और चूत चूसने लगे. मैंने उससे एक दिन पूछ लिया- तुमने कभी सेक्स किया है?यह बात सुन कर वह बहुत भड़क गई और तेज स्वर में बोली- यह क्या बोल रहे हो तुम … आगे से ऐसी कोई बात की, तो मैं अपनी मॉम को बता दूँगी. वो मेरी सफाचट फूली हुई मस्त रसीली चूत देखते हुए बोला- आह इतनी मस्त चूत … जैसे मक्खन की टिकिया हो.

दीदी बीएफ फिर वो मेरे लंड पर कूदने लगी, उछल उछल कर मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगी. फिर मैं अपने बूब्स को रगड़ने लगी और अपनी बुर को भी उंगली डालकर साफ़ किया.

लड़कियों का फेवरेट कलर

मेरे भरे हुए बूब ही किसी भी मर्द को पानी निकालने के लिए मजबूर कर सकते हैं. मैंने कहा- मुझे जाने की जल्दी नहीं है, आराम से दिन बिता कर शाम तक जाने की सोचूँगा. कुछ देर बाद हम दोनों नहा कर बाहर निकलने लगे, तो पहले मैंने रुचिका को कमरे से बाहर भेजा.

क्योंकि हम पहली बार मिल रहे थे तो हम एक दूसरे से इतना खुले भी नहीं थे. मैंने उसके मुँह में ही अपना पानी निकाल दिया … उसने मेरा पानी पी लिया और लंड को चूस चूस कर साफ कर दिया. बीएफ वीडियो रंडीमैं चूंकि क्लीन शेव्ड रहता हूँ तो मेरे होंठों पर लिपस्टिक ने मुझे एकदम किसी लौंडिया जैसा रूप दे दिया था.

दूध पीने के बाद मैंने भाभी को अपने बाजू में लिटा लिया और अपना फोन उठा कर उसमें एक सेक्सी मूवी लगा दी.

जैसे ही मेरा लंड उनकी चूत में गया, उनके मुँह से फिर से चीख निकल गई- आआअअ … आह धीरे से डालो … बहुत दिनों से मैंने किसी से नहीं चुदवाया है. हार्डकोर सेक्स के आखिर में लंड ने ज्वालामुखी विस्फोट कर दिया और वीर्य से ललिता की गांड को भर दिया.

उसकी शर्ट में बटन आराम से खुलने वाले थे, तो जरा सी कोशिश में ही उसके दो बटन खुल गए. जबरदस्ती जांच करवाने को कहती हूं तो मुझे और मेरी दीदी को मारते पीटते हैं और कहते है कि वो नामर्द नहीं है। हमारा खानदान ही बांझ है। हम दोनों अपनी मां बाप के बच्चे नहीं है इस तरह की गाली देते हैं।और सोनम रोने लगी. मैंने भाभी से पूछा- क्या कुछ पेड वगैरह लगाया हुआ है? बड़ी सख्त लग रही हैं?भाभी ने हंस कर कहा- नहीं जी, मेरी नेचुरल हैं और ज्यादा यूज नहीं हुई हैं, इसलिए इतनी ज्यादा टाइट हैं.

वह बोली- मुझे पीना है!पहले तो मैं चौंक गया, फिर मैं बोला- ठीक है!मैं बोला- तुम भी नहा धो लो, तब तक मैं बाहर से सामान लेकर आता हूं.

मेरे अन्दर एकदम से सनसनी सी दौड़ गई और मुँह से निकल पड़ा- अहह … आह मेरे मालिक … मैं आपकी दासी हूँ. फिर जैसे ही मैंने केक काटा, भैया ने उसमें से एक टुकड़ा लेकर मेरे चेहरे एवं से लेकर मेरे गर्दन के आगे कुछ नीचे तक और पीछे भी लगा दिया. पाटिल जी- ले मादरचोदी, अच्छे से साफ कर मेरा लौड़ा … साह रंडी की जनी, इस मादरचोद ने तो दो मिनट में पानी छोड़ दिया बहनचोद.

गांड की चुदाई हिंदीअब आगे डबल सेक्स का मजा:रात में घर वालों के होने की वजह से भाई मुझे ट्रेन में चोद तो नहीं पाया, पर वो कभी मेरे मम्मे सहलाता रहा तो कभी चूत में और गांड में उंगली करता रहा. उनके मुँह से आह आह की आवाज निकलने लगी और कमर उठ कर लंड लीलने की कोशिश सी होती दिखने लगी.

तुझ्या आईची गाणी

देखते देखते रेशमा और पाटिल जी नीचे चले गए और अब यहां पर सिर्फ मैं और किरण बाकी रह गए. जब ये बात दिमाग में आई तो मैं सोचने लगा कि कहीं ऐसा तो नहीं है कि चाची को भी लंड की भूख लग रही हो. मैंने कहा- ये क्या बकवास है, दिमाग खराब है तेरा! नहीं, मैं ऐसा कभी नहीं होने दूंगा.

उसकी पसीने से भीगी चूचियां मेरे गालों में घिस रही थीं, मुझे मजा आ रहा था. फिर मैंने मुँह हटाया तो चाची मस्ती से ‘आह आह उंम्ह उंम्ह …’ करने लगीं. मैंने उसे हिलाते हुए उससे पूछा- बोलो तुम तैयार हो? क्या तुम होने भाई को सुधारने के लिए उसके सामने मेरे साथ सो सकती हो?साबिरा- पर मैं? हाय मेरे भाईजान ये क्या कर बैठे? किसी को पता चला तो हमारे घर की इज्जत तो मिट्टी में मिल जानी है मानस जी? उफ अम्मी अब मैं क्या करूं?साबिरा थोड़ी सी परेशान हुई पर मैंने बहुत अच्छे से उसको समझाया कि अगर वो अपने भाई को सुधारना चाहती है तो इसके अलावा कोई चारा नहीं है.

मैंने भी अपनी छाती उसके पीठ पर चिपका कर उसके गर्दन और कान को चूसने लगा. उनकी चूचियां मेरे सीने से रगड़ गईं, जिसकी वजह से मेरा लंड खड़ा हो गया. न्यूड भाभी की चूत इतनी गीली हो चुकी थी कि लंड खुद अन्दर की ओर फिसल रहा था.

दोनों ने अपने अपने बारे में बताया और एक दूसरे को समझा जिससे हमारे बीच दोस्ती और भी गहरी हो गई. मैंने बताया कि जब रुचिका ने पिछवाड़े की चुदाई की इच्छा की थी, पर तुमने आंखों से मना कर दिया था.

इतने में ही सुजय सर मुझे बाहर से सौम्या-सौम्या कहकर बुलाने लगे, पर पानी की आवाज़ की वजह से मैं उनकी आवाज़ को नहीं सुन पाई.

लंड उसकी गांड में कसा-कसा जा रहा था, गांड के अंदर की दीवार लंड की उभरी नसों से छिल रही थी. बीएफ हिंदी पिक्चर दिखाएंभाभी- क्या हुआ, क्या आपका बाबू कुछ कह रहा है?मैंने अपने लंड पर हाथ फेरा और भाभी की तरफ वासना से देख कर कहा- आप खुद पूछ लीजिए न भाभी जी!भाभी जी मेरे हाथ को लंड पर फिरते देखा और बोलीं- अच्छा जी, मैं देख तो लूं, पर यहां खुले में कैसे?मैं- अरे इसमें क्या दिक्कत है आपका मन हो तो एकांत भी मिल जाएगा. सुहाग रात सेक्सीवो बोली कि बहुत टेस्टी रहता है और लन्ड रस पीने के फायदे भी बहुत रहते हैं। कितने दिनों से मैं यह रस बेकार ही जाने दे रही थी. श्वेता- तुम्हारे साथ कौन है?मैं- एक लड़की है!श्वेता- अच्छा है, मज़े लो। कल सुबह तुम्हें बस स्टॉप पे लेने आ जाऊंगी। ओके बाय, गुड नाईट!मैं- गुड नाईट.

अब मैं सिर ऊपर नहीं कर पा रही थी और रमन नीचे से मेरे मुंह में धक्के दे रहा था.

उन्होंने इसका करारा जवाब देते हुए मेरे मुँह के अन्दर तक जीभ घुमा घुमाकर मेरी जीभ को चूसना शुरू कर दिया. मैं आंटी की गांड में हाथ फेरने लगा और आंटी को घोड़ी बना कर गांड में थूक लगाने लगा. और हाँ तुम्हारी शर्ट की जेब में एक ख़त है, अपने घर पहुँच कर उसे पढ़ लेना.

दस मिनट की इस चुम्माचाटी के बाद मैं गीता की नाईटी के ऊपर से ही उसके निप्पलों को अपने होंठों से बारी बारी चुभलाने लगा. उनकी बड़ी-बड़ी चूचियां 36 इंच की ही होंगी, गांड बाहर को निकली हुई थी और एकदम गोल गोल थी. ये सब कहते हुए उसने मेरी गांड की दरार में उंगलियां घुमाना शुरू कर दीं.

लड़का लड़का का सेक्सी वीडियो एचडी

फिर उसने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और चुदाई की पोजीशन बना कर अपना लंड मेरी चूत पर रख कर रगड़ने लगी. मैं भी अपने कठोर लंड को भाभी की चूत के रस में भिगोकर चूत चोदता जा रहा था. जैसे ही हम कमरे में अन्दर घुसे मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया और घुमा कर किस करना शुरू कर दिया.

मैंने भी देर ना करते हुए अपना लंड बाहर निकाला और उसके मम्मों पर मुठ मारने लगा, अपने लंड का सारा पानी उसके मम्मों और पेट पर निकाल दिया.

उसने एक हाथ मेरी गर्दन के पीछे डाल कर खींचा और अपना निप्पल मेरे मुँह में देकर बोली- आमोद, चूसो मेरी चूचियों को, काटो इन्हें.

मैं सोचता रह गया कि क्लास का टाईम 4 बजे का है और ये इतनी जल्दी जाकर क्या करना चाहती है. एक तरफ मैं सामान्य लड़का था, जिसकी गर्लफ्रेंड फातिमा थी और दूसरी तरफ मैं खुद फातिमा बन कर उसके भाई की गर्लफ्रेंड था. एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफXxx लड़की की चुदाई का मजा मैंने लिया अपने दोस्त की सगी बहन की चूत चोद कर उसी के घर में! वो लड़की पहले से ही चालू थी पर साली नखरे चोद रही थी.

मैंने रेशमा को दर्द से मुक्त करने की ठान ली और धीरे धीरे अपना लौड़ा बाहर की तरफ खींचने लगा, पर तभी रेशमा ने पीछे से अपना हाथ मेरे चूतड़ पर रखते हुए मुझे रोका. मैंने डैड से पूछा- डैड, क्या मैं आपको जॉइन कर सकता हूँ?डैड बोले- हां आ जा न. मैंने उनके घर जाकर देखा तो पता चला कि उसका रिचार्ज खत्म हो चुका था.

मध्यम आकार के एकदम नर्म और गर्म सॉफ्ट बॉल की तरह, मैं एक हाथ से उसके बूब्स दबा रहा था और उसका एक बूब मेरे मुंह से चूस रहा था. मैंने पूछा- जब रात को मैं कमरे में आ गया था तो तुम मुझसे घबराई क्यों नहीं?इस पर उसने बताया- मैं तुम्हारे बारे में सब जानती हूं कि तुम ही मेरी सभी समस्यों का समाधान कर सकते हो.

इस बार भैया ने लंड के सुपारे को भाभी जी की बुर की फांकों में सैट किया और एक हाथ से लंड पकड़ कर शॉट मार दिया.

इस बात को समझते हुए धारा ने एक बार शेखर के लंड पर पूरी तरह से अपने मुँह का दबाव बनाते हुए बिल्कुल क़ुल्फ़ी की तरह ऊपर की ओर खींचते हुए लंड को आज़ाद कर दिया. अब मैंने अपने होंठों को एक बार अपनी जीभ से चाटकर गीले किए और गीता की चूत पर रख दिए. मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर आसानी से समा गया और उसकी बच्चेदानी में जाकर लड़ गया.

एक्स एक्स एचडी वीडियो फिल्म अए हए … क्या दूध थे … एकदम पिंक निप्पल और बड़े बड़े चूचे देख कर मैं बौरा गया. मैंने भी अपने दोनों हाथ उसकी गोरी, गदरायी गांड के नीचे डालकर चूत को ऊपर उठा लिया और अपनी जीभ तेज गति से अन्दर बाहर करने लगा.

उसके 36 इंच के भरे हुए मम्मे, बलखाती कमर 30 इंच की और 38 इंच के दो मस्त गदराये चूतड़ों के बीच में भरी हुई गोल छेद वाली मखमली गांड. प्यारे मित्रो, आज आपके सामने मैं एक मस्त हॉट साली चुदाई कहानी सुना रहा हूँ. बाद में मम्मी ने मुझे बताया कि ये लोग अपने पास घर बना रहे हैं और अविषा जी मुझसे बात करने के लिए आई हैं कि इनकी कोई जरूरत हो तो हम इनकी मदद करें.

हिंदी भाषा मे सेक्स

मैंने भी अपने दोनों हाथ उसकी गोरी, गदरायी गांड के नीचे डालकर चूत को ऊपर उठा लिया और अपनी जीभ तेज गति से अन्दर बाहर करने लगा. लेकिन मैं चिल्ला भी नहीं सकती थी क्योंकि मैं अपनी भाई से चुद रही थी. हम बारात लेकर वेन्यू पर आए और बारात का स्वागत बड़ी गर्मजोशी से किया गया.

मैंने भाभी की साड़ी खोल दी और वो हंसती हुई ब्लाउज पेटीकोट में चली गईं. पर वो अभी तक नहीं झड़ा था, उसका लंड ऐसे ही लोहे की रॉड की तरह तना हुआ था.

मैं- हां कुतिया, अब बनी है तू मेरी प्यारी रांड, मेरे लौड़े की पालतू रखैल … बहनचोदी … ले चुद मेरे काले लौड़े से … आंह साली रंडी की औलाद आज तो सच में तेरी गांड का गुड़गांव बना दूंगा छिनाल.

पर शायद उसकी जीभ अच्छे से साबिरा को मजा नहीं दे रही थी तो साबिरा ने खुद अपने हाथ पीछे ले जाकर अपने भारी चूतड़ खोल दिए. मैं घर आया और आते ही जैसे भाभी को देखा, तो भाभी साड़ी बांध कर मस्त लग रही थीं. उसके बाद क्या हुआ?हाय फ्रेंड्स, आप लोगों को मेरा प्यार भरा नमस्कार.

वो गर्म हो गई थी और उसकी चूत से पानी निकल कर उसकी जांघों पर बह रहा था. मधु- अबे चूतिए … अपने लंड को मेरी चूत में पेल दे और बुझा दे मेरी प्यास … आह … अब मैं और नहीं सह सकती. ये सुनकर मेरी तो जैसे किस्मत ही खुल गई, जैसे किसी जगह एक के साथ एक फ्री मिल गई.

हर मां को अपने बच्चों को अपने चूचे, गांड या चूत को इस्तेमाल करने की भी छूट देनी चाहिए.

दीदी बीएफ: उसकी चूत से ढेर सारा हम दोनों का कामरस तकिए से होकर बेड पर बहने लगा था. आगे राजीव की जुबानी ही पढ़िए क्या हुआ, कैसे हुआ और जो हुआ, क्या वो सही हुआ?दोस्तो मैं राजीव कुमार, ये सेक्स कहानी मेरी और सोनी (काल्पनिक नाम) की है.

मेरी भाभी लंड के लिए इतना व्याकुल हो जाएंगी, मुझे जरा सा भी अहसास नहीं था. समुन्दर के किनारे बने इस हवेली में ठंडी हवा बहने लगी और हमारे जिस्मों को भी ठण्ड लगने लगी. चूत रस निकलने के कुछ पल बाद उसने मेरे पीठ पर अपनी उंगलियां धंसा कर कस लिया था.

लेकिन एक उम्र पार करने के बाद मुझे चुदने की इच्छा बहुत ज़्यादा होने लगी और पहली बार की चुदाई में मेरी बुर का उद्घाटन भी होना था, तो उसको लेकर मैं और ज़्यादा उतावली थी.

मेरी इरोटिक गर्ल X कहानी का मजा लें और मुझे बताएं कि आपको यह कहानी कैसी लगी?मैं एकदम दूध सी गोरी हूँ और मेरी चूत भी पिंक है. उन्होंने कहा- कपड़े मत पहनना, खाना देने वाला आयेगा तो नंगी दरवाजा खोलना।मैं शर्मा गई, मैंने ऐसा पहले कभी नहीं किया था।खाना देने वाला जब तक आया, रमन का हाथ मेरी चूत में था।रमन और मैं दोनों दरवाजे पे गए और दरवाजा खोल के रमन ने उसे खाना मेरे हाथ में देने का इशारा किया. तो देविका चिल्ला दी- आंह हर्षद मत करो ऐसा … बहुत आग लग रही है चूत में … अब तुम पाना मूसल जल्दी से मेरी चूत में डाल दो … अब मैं नहीं रुक सकती हर्षद!मैंने उठकर एक तकिया लेकर देविका की गांड के नीचे रख दिया.