मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी गर्म भाभी

तस्वीर का शीर्षक ,

गाड़ी पर लिखने की शायरी: मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ, फिर 10 मिनट बाद मम्मी बाहर आयी लेकिन उनसे ठीक से चला नहीं जा रहा था.

रुलाने वाली सेक्सी वीडियो

मैंने हंसते हुए कहा- क्या नहीं बताऊं किसी को?वो कहने लगीं कि रात वाली बात!मैंने उन्हें छेड़ते हुए कहा- कौन सी बात … ज़रा खुल कर बताओ न?उन्होंने दबे हुए स्वर में बोला- ससुर जी के साथ सेक्स वाली बात!मैंने कहा- देसी हिन्दी में बोलो ना?अब उन्होंने रंडियों की तरह सीना फुलाया और बोला- मेरे ससुर से चुत चुदाने वाली बात. इंग्लिश सेक्सी बीपी एक्स एक्स”मैंने लण्ड को अंदर बाहर करते हुए देखा कि मेरा लण्ड खून से सना हुआ था.

देती भी क्यों नहीं … वो खुद काम वासना में डूब रही थी, उसके तन को एक लंड की जरूरत थी. सेक्सी वीडियो हिंदी एचडी जबरदस्तीअगले भाग में आपको और भी रसदार सेक्स कहानी के दरिया में डुबकी लगवाने ले चलूंगा.

इसलिए इसको शराब जरूर पिलाऊंगा।दोस्तो करीब 6 घंटे के सफर के बाद हम दोनों पचमढ़ी पहुँच गए। वहाँ पर एक अच्छे से होटल में मैंने एक ऐ.मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ: तुम मुझे चुदने पर मजबूर नहीं कर पाए … इसलिए अब कभी भी मुझे छूने की कोशिश मत करना.

दोस्तो, मैं राजवीर आपके लिए आपकी पसंदीदा कहानी शृंखला को एक बार फिर से आगे बढ़ा रहा हूं जो आपका भरपूर मनोरंजन करेगी.एक-दो दिन के लिए बिज़नेस-टूर के बहाने घर से निकलने में कोई परेशानी नहीं थी.

ग्रामीण की सेक्सी वीडियो - मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ

भाभी हंस दीं और बोलीं- तुमको कैसे मालूम कि ये महंगी है?मैंने कहा- मुझे इसलिए पता है क्योंकि अपनी बीवी के लिए ब्रा और पेंटी मैं ही खरीदता हूँ.तो मैंने बिस्तर पर एक तौलिया बिछाया जहां पर मेंहदी गिरने की संभावना थी.

उनके पीछे पीछे चलते हुए मैं आंटी की बलखाती गांड को ही देखे जा रहा था, शायद आंटी की गांड इस वक्त कुछ ज्यादा ही मटकने लगी थीं. मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ चूत के आशिक और लंड की दीवानी चूतों को मेरा प्यार भरा नमस्कार! मैं सबसे पहले आप सभी पाठकों का धन्यवाद करना चाहूंगा कि आपने मेरी पिछली कहानीडॉक्टर की बीवी के हुस्न का रसपानको सराहा और उसके बारे में अपनी प्रतिक्रियाएं भी दीं। आप सभी के प्यार ने मुझे एक और घटना लिखने के लिए प्रेरित किया।अब ज्यादा देर न करते हुए आज की कहानी की शुरूआत करते हैं.

वैसे भी तुम्हें तो और एक चूत चोदने को मिलेगी … बस झेलना तो हमें ही है.

मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ?

मैं कॉटेज़ की चारदीवारी के अंदर लॉन के साइड से बनी राहदारी की लाल बज़री पर से लगभग भागता हुआ कॉटेज़ के दरवाज़े पर पहुंचा. चौथे दिन मैं दोपहरी में कॉलेज आने के बाद नहाकर आई और मैक्सी पहन कर बेड पर आराम करने लगी. इस तरह से उसने बार बार किस करते हुए सोनम को बुरी तरह से तड़पा दिया.

मैं चीख उठी- आआ आहह हहआ बहनचोद आराम से कर आआआ माँ मर गयी! कितना ज़ालिम मर्द है बहनचोद।फिर उसने अपने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से चोदने लगा. ”हट!”ऐ जान! मेरी गोद में बैठ जाओ ना?”और फिर वह मनमोहक मुस्कान के साथ बड़ी अदा से मेरी गोद में आकर बैठ गई।मेरा लंड तो उसके गोल नितम्बों के नीचे दब कर जैसे निहाल ही हुआ जा रहा था। दूध पीने के दौरान मैं उसके गालों को भी चूमता रहा और उसके उरोजों को भी मसलता रहा। नताशा को भला कोई ऐतराज कैसे हो सकता था वह तो सम्मोहित हुई बस आह … ऊंह करती रही।प्रेम, खाने के बारे में क्या विचार है?”भई जो बनाओगी खा लेंगे. तो नज़मा भी अपनी चूत धोने चली गई।मैंने चुपके से जीजाजी से फोन पर पूछा- कहां हो?तो बोले- बस में 5 मिनट में आ रहा हूं।अब नज़मा भी आ गई तो मैंने उसकी पेंटी निकाल दी और सहेली की चूत को अपने ऊपर लेकर चूसने लगी। वो मेरे ऊपर आकर मेरे बूब्स चूसने लगी।मैंने अपना सर दरवाजे की तरफ कर रखा था और नज़मा का चेहरा उल्टी तरफ। वो इसलिए कि कोई गेट से अंदर आए तो उसे दिखाई ना दे.

दस मिनट की चुसाई के बाद रीना बोली- अब रहा नहीं जा रहा … सालो चोदो मेरे को!मैंने धीरज को इशारा किया, धीरज ने कंडोम चढ़ा लिया और मेरी बीवी के ऊपर आ गया. गिन्नी मदहोश होने लगी थी और मेरा लण्ड लोअर के अन्दर फड़फड़ाने लगा था. घरवालों के सामने हम नॉर्मल रहते लेकिन अपने ही कमरे में दूरियां पैदा हो गयी थीं.

एक कपड़ा एक लड़का उतारेगा, जिसके पास जाकर जो भी लड़की पूरी नंगी हो जायेगी वो उसी को चोदेगा. फिर मैंने कोमल की चुत से लंड निकाल कर कंडोम को डस्टबिन में फेंक दिया.

मुझे पता था कि जीजा का लंड आज मेरी सहेली की कुंवारी चूत की धज्जियां उड़ा देगा.

उस समय उसकी बुआ घर पर ही थी, जो कालेज की पढ़ाई के लिए बाहर रहती थी और छुट्टियों पर ही घर आती थी.

मुठ मारते मारते मेरे चेहरे के भाव देखकर उन्होंने रूमाल उठाया और मेरे लिंग के पास में कर दिया. कोमल- तुम पागल हो गए हो … उसने आकाश को बता दिया, तो मेरी जिंदगी बर्बाद हो जाएगी. मैंने सुहास के लंड को अपने हाथ में लिया ओर उसके टोपे के ऊपर से खाल हटा दी.

लेकिन मैं अकेली कल सुबह सवेरे शताब्दी पकड़ कर साढ़े ग्यारह-बारह बजे तक चंडीगढ़ पहुँच जाऊंगी. पर मैंने मुड़ कर देखा तो नेहा के निकलते ही नीचे लंच टाइम पर मिली लड़की प्रवेश कर रही थी. बेबी रानी ने गुड्डी रानी के बालों को लपेटे तो रखा मगर इतना ढीला कर दिया जिससे वो आराम से चूस सके.

आप लोगों को मेरी जीजा साली xxx कहानी कैसी लगी, मुझे कमेंट्स पर जरूर बताइएगा.

सुबह हम सभी समुद्र तट पर नहाने के बाद बियर पीने का मजा लेने लगे थे. हम दोनों किस करते जा रहे थे और बीच बीच में मैं भाभी के गहने भी उतार रहा था. जब राज आलिया को धनाधन चोद रहा था और वो चिल्ला रही थी, तब मुझे अन्दर से थोड़ा डर लग रहा था कि इससे चुदकर मेरा क्या हाल होगा.

आकाश ने भी नशे में हंसते हुए कहा- हां साले साब, अपनी बहन की अच्छी तरह से चुदाई करना. जो कोई भी इसके अन्दर जाता है, फिर बाहर निकलने का रास्ता जल्दी नहीं मिलता है. मेरी चूत से लंड का रस रिस रिस कर उनकी जांघों से होते हुए बिस्तर पर गीला निशान बना रहा था.

वो- मेरी बुर तो कब से तैयार बैठी है तुम्हीं हो कि देरी किए जा रहे हो.

दीदी ने मजाक करते हुए कहा- अविनाश, हाथ ज्यादा दुख तो नहीं रहा न!अविनाश- यह ढाई किलो के हाथ है इतनी आसानी से नहीं दुखने वाला. अभी तो मैं संजना को एक बच्चा देने के लिए अपना लौड़ा तैयार कर रहा हूं.

मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ अब चाचा ने मेरी चूत के लब खोले और अपना लण्ड मेरी चूत के मुहाने पर रखा. कुछ देर ऐसे ही चूसने के उपरान्त, गुड्डी रानी ने दोनों हाथों से लंड को जड़ से जकड़ लिया और सुपारा चूसते हुए लंड की जल्दी जल्दी खाल आगे पीछे करने लगी.

मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ मेरा अनुभव कहता है कि उसने चार पांच रोज पहले चूत के बाल साफ किये होंगे. मैं- मैं लक्की हूँ कि जो तुम जैसी औरत के साथ सेक्स करने का मौका मिला.

मेरा लंड तेल की चिकनाई के साथ थोड़ा थोड़ा करके अन्दर घुसता जा रहा था.

खूबसूरत लड़की की बीएफ सेक्सी

पर इस बार जब से ये दोनों यहाँ आई थीं तो दोनों ने ही बिना कंडोम के सेक्स शुरू किया था. थोड़ी देर बाद पीछे से नीतू आई और मेरे कंधों पर झुक कर मेरे कान के पीछे अपनी जीभ रगड़ने लगी. जब उठे तो उसने जल्दी से कपड़े पहने और मेरे होंठों पर किस करते हुए कहा- मौसी आने वाली होंगी, मैं जाती हूं.

निकले भी क्यूँ न … मर्द की कमजोरी ही औरत होती है!कुछ समय तक ऐसा ही चलता रहा. उसका व्यवहार वैसा ही था जैसे कोई जानवर अपने नवजात शिशु की चिंता में असहज होता है।खुशी की आँखों में मेरे लिए वही चिंता थी. आह … ये क्या हुआ … आज वजन भी कम लगा … पकड़ने में भी उतनी मोटी नहीं लग रही थी.

उसी अवस्था में रहते हुए, वो पलटी मारते हुए मुझे नीचे करके खुद मेरे ऊपर आकर छाती पर आ गई.

फिर मैं जोर जोर से आगे पीछे करने लगा और वो आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह कर रही थी।मैं भी ‘साली … रंडी!’ ऎसी ऐसी गालियां बके जा रहा था।20 मिनट तक हमारी चुदाई चली होगी और फिर मैंने अपने लंड का पानी आंटी के मुँह पे छोड़ दिया।आंटी बोली- कभी मेरी ऐसी चुदाई नहीं हुई। मैं तेरी दीवानी हो गयी हूँ।अनंती ने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया. सुनील बोला कि साथ बैठोगी या पियोगी भी?तो प्रिया बोली- हम अपनी कोल्ड ड्रिंक में एक चम्मच व्हिस्की मिला लेंगी. तभी मम्मी ने उसको मुस्कुरा कर देखा और बाय कर दिया।तो दोस्तो आप सबको कहानी कैसी लगी? ये आप सब मेल करके बता सकते हैं।आप सबके मेल का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected]पर आप अपने विचार भेज सकते हैं।और जो लोग मुझसे फेसबुक पर जुड़ना चाहते है वो मुझेhttps://www.

इस कहानी में सभी पुराने पात्रों का परिचय दोबारा से करवाने में कहानी बहुत लम्बी हो जायेगी. जब हम घूम रहे थे, तब हमारे साथ ऐसी घटना घटी, जिसे लेकर हमने सपने में भी नहीं सोचा था. और यहाँ तक कि उन दोनों में ये भी बात हुई थी कि उन दोनों ने अपनी अपनी मम्मियों को नंगी देखा है.

नज़मा के मुंह से सिसकारी निकलने लगी- आह्ह … जीजा जी … ऊह्ह … आई … याह … बहुत अच्छा लग रहा है… अम्म …. मैं भी मदहोशी में बक रहा था- हां रंडी तुझे आज पूरा खा जाऊंगा साली … तूने बहुत तड़पाया है.

चिकना, हल्का खट्टापन लिये हुए चूतामृत मेरी मस्ती को कई गुना बढ़ाये जा रहा था. मेरी दोनों आंखें बंद हो गयी थीं और मैं उसके नर्म होंठों का पूरा मज़ा ले रही थी. अपनी अपनी आँखें मलते हुए अम्मी ने कहा- चुदवाने गई है तो चुदवा लेने दे.

मैंने प्राची भाभी की मदमस्त जवानी को पिछली रात चखा था, जिसका स्वाद मैं कभी नहीं भूल पाऊंगा, ये किस्सा भी इस कहानी के पिछले एक भाग में प्रकाशित है.

मैंने सुना था कि एक दवाई खा लेने से आदमी ज्यादा देर तक चोद सकता है, मैंने वही दो गोलियां खा ली हैं. कोई 15 मिनट बाद मैंने अम्मी को आवाज़ दी- अम्मी, मैं अपना तौलिया भूल आया हूँ, प्लीज़ ज़रा दे देना. पहली बार में ही लंड आधे से ज्यादा अन्दर घुस गया, जिससे कोमल कराह उठी.

दीदी और आलिया दोनों हॉट माल थीं, जिन्हें देखकर कोई भी मर्द घायल हो जाए. इसके बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता था, हम दोनों चुदाई कर लेते थे.

रस की एक फुहार मेरे लंड पे सब तरफ से गिरी, और रानी ने मुझे पूरी ताक़त से भींच डाला. काफी देर की चुदाई के बाद मैं अपने होंठों को अलग करते हुए सिसकारती हुई बोली- आअह्ह ह्ह्ह … हाए … आअह्ह … चोद दीजिये … जोर से … और जोर से … उफफ्फ … मेरा भी निकलने वाला है … हाए मारिये मेरी चूत … ऐसे ही … ऐसे ही … हाँ!एकाएक मैंने झड़ना शुरू कर दिया. मैंने उनको किसी तरह से पटा लिया और उनका लंड अपनी गांड में ले लिया था.

बाप बेटी की सेक्सी वीडियो दिखाएं

कुछ देर बाद मैं सीमांशी के ऊपर से हटा तो मैंने देखा रोहिताश मुस्कुरा रहा है.

तभी मैंने मुस्कान को सतीश के पास भेज दिया और प्रियंका मोनू के पास चली गयी और मेरे पास आ गयी सीमा!मैंने सीमा की जीभ पर जीभ रख कर उसे किस किया और सीमा ने भी मेरे कान के पास मुंह करके कहा- उफ्फ … मस्त मज़ा आयेगा आज तो!मैंने उसे जवाब में कहा- येस साली, आज तेरी मज़े से गांड फट जायेगी. रोहित बोला- मैं क्या करूं भाभी … गोली की वजह से मेरा निकल ही नहीं रहा है, मैं बहुत प्रयास कर रहा हूँ. ! फिर से वैसा नहीं करने का वादा कर रहे हो, तो अभी आ जाओ मेरे रूम पर.

जब पहली बार मैंने अविनाश को नग्न अवस्था में देखा था, तब मुझे अन्दर से अजीब लग रहा था. निष्ठा … मेरी जान, ये लो!” मैंने कहा और अपना लंड उसकी चूत के छेद पर सटा दिया और भीतर घुसेड़ने का प्रयास करने लगा. सेक्सी वीडियो राजस्थानी जबरदस्तीअब रमेश ने रिया के बालों को गुच्छा बना कर कस कर पकड़ लिया और उसकी चूत में धक्के मारने लगा.

मैं बोला- ठीक है मालिक, आप जैसा कहोगे मैं वैसा करने के लिए तैयार हूं. मैंने पलट कर कहा- क्यूट स्माइल!उसने भी आंखें नचाते हुए कहा- थैंक्यू.

मैं बिना रुके चुत में लंड के धक्के लगा रहा था और हर धक्के के साथ अपनी स्पीड बढ़ा रहा था. चाचा चाची दोनों टीचर थे और अलग अलग सरकारी स्कूल में पढ़ाते थे, साल भर पहले ही उनकी शादी हुई थी. मैंने भी अपनी बहन की सहेली नताशा की चूत मारी और फिर उसकी कुंवारी गांड को तेल लगाकर खोल दिया.

भाभी ने ऐसा ही किया और मेरे लंड पर कूदने भी लगी।मेरे दोनों हाथ भाभी की पीठ पर घूम रहे थे कभी उनकी गांड को सहलाते तो कभी पेट को कभी उनके दूध को दबाते हुए. कभी जेठजी अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल देते, तो कभी मैं उनके मुँह में अपनी जीभ घुसेड़ देती. तू देखना कि कुछ ही दिनों में मैं तेरी इन चूचियों को दबा दबा कर लड़कियों के साइज की कर दूंगा.

नहीं तो ये दिल से नहीं करेगी सेक्स।तो जीजाजी ने कहा- ठीक है, तुम दूसरे कमरे में चली जाओ.

मुझे इधर लेखकों की आपबीती पढ़ कर लगता है कि ये एक ऐसा पटल है, जिसमें हर कोई अपनी बात को खुल कर रख सकता है. सोनम बोली- पहली चुदाई की क्या बात है, जब भी तुम चोदना चाहोगे तो तुम्हें ये क्लीन शेव ही मिलेगी.

उनके सीने से साड़ी का पल्लू नीचे सरक गया और भाभी की चूचियों की घाटी दिखने लगी. सुनील ये देख रहा था कि विशाल कुछ ज्यादा ही तारीफ़ कर रहा है शीला की. मैंने सुहास के पास जाकर उसकी पैंट के हुक खोल दिया और उसकी पैंट निकाल दी.

दोस्तो, कहानी के पहले भाग में मैंने आपको बताया था कि 44 की उम्र तक आते आते पति के सूखे लंड से चुद कर मेरी चूत ने कभी संतुष्टि का अनुभव नहीं किया था. मैंने सुहास के पास जाकर उसकी पैंट के हुक खोल दिया और उसकी पैंट निकाल दी. उनकी चूचियों के निप्पल एकदम तने हुए थे, जो मैक्सी के ऊपर से साफ नुमाया हो रहे थे.

मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ अब उसे मुझ पर पूरा भरोसा था। मैंने धीरे-धीरे उससे अब सेक्स की तरफ धकेलना शुरू किया. यहाँ जैसे मैं पहले तुम्हारे हाथों पकड़ी गई थी वैसे ही अब किसी और ने पकड़ लिया तो मैं तो जीते जी मर जाऊंगी। कहीं जगह का जुगाड़ करो.

सेक्सी बायका

भार्गव ने भी मुझे देखा और दोनों इतने मदहोश हो गए कि उनके बोलने से ही पता चल रहा था कि उनको अब कुछ और नहीं दिखाई देगा … सिर्फ़ मैं ही दिखाई देने वाली हूँ. ”अब मैं तेरी कमर पर उंगलियां घुमा रहा हूँ और नाभि में भी उंगलियां डाल के सहला रहा हूँ. बहुत देर तक ऐसे ही चोदने के बाद उसने मेरी दोनों टांगें अपने कंधों पर रख ली और मुझे चोदने लगा.

धीरे धीरे मैंने गिन्नी को पूरी नंगी कर दिया और उसके एक एक अंग को चूमने, चाटने, सहलाने लगा. दीदी ने मेरे लंड को पकड़ कर हिला कर ओके कह दिया और मुझे धक्का देकर जाने के लिए कह दिया. हिंदी सेक्सी चुदाई का सेक्समैंने तेज धक्कों के साथ सारा माल उसकी चूत में निकाल दिया और वो भी साथ ही फिर झड़ गई.

अगर आप सभी हमारा साथ दो तो ही ये हो सकता है, क्या आप सभी तैयार हो?तो मैंने एक नजर उन सभी की तरफ़ घुमाई.

आप सब लोग नीतू को तो जानते ही हैं, नीतू मेरी माशूक नीरू की छोटी बहन वंदना की ननद है. हालांकि कविता ने खुद के बेटे के साथ सेक्स करने के पीछे कई कारण भी बताए थे, जो कि कहीं न कहीं सही थे.

आज से मैं तुम्हें खुलकर मजा दूंगी। लेकिन मेरी बेटी के चक्कर में मेरी चूत को न भूल जाना।आंटी आप चिन्ता ना करो. अब तो मुझे रात में सपने भी यही आने लगे थे कि अमनप्रीत मुझे और मेरी बीवी को चोद रहा है. मैंने देखा कि उसकी थोड़ी चाल भी बदल गई थी … क्योंकि उसने पहली बार अपनी गांड मरवाई थी.

तो मम्मी ने मुझे बाहर सामान के साथ खड़े रहने को कहा और खुद अंदर चली गयी.

मैं- मतलब … वो मेरे बारे में जानता है!कोमल- अब सुहागरात के रात अगर किसी मर्द को टूटी चुत मिलेगी, तो उसको पता तो चल ही जाएगा. कुछ देर बाद अम्मी फिर से झड़ गईं और थोड़ी देर बाद मैं भी झड़ने वाला था. मेरी एक्स गर्लफ्रेंड की चुदाई की सेक्स स्टोरी में अब तक आपने पढ़ा कि मैं पूरी तेजी से कोमल की चुदाई कर रहा था और वो भी चुदाई का पूरा मजा ले रही थी.

हिंदी सेक्सी फिल्म चोदने वालीएक छोटे सा लेख लिखकर मुझे बतायें।जो लेख अच्छा होगा उसे मैं अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट करुँगी।Insta/sonaligupta678आप स्त्री हो या पुरुष अगर आप मेरी कहानियों पर कुछ कहना चाहते हैं तो मेल करने में बिल्कुल भी संकोच ना करें. कुछ माल उसका मेरे गालों और ठोडी पर भी गिरा जिसे मैंने उंगली से चाट लिया.

सेक्सी वीडियो पंजाबी ब्लू पिक्चर

मैंने उसके नर्म से गाल पर एक गीला सा जोरदार चुम्मा लिया और कहा- बस मेरे राजा, ऐसे ही लेटा रह, दोनों को जन्नत का मजा आने वाला है. जब-जब जी डोलता है, मन विचलित होता है … तब-तब मैं उस रात की याद को कलेज़े से और ज़ोर से लगा लेती हूँ और सच जानिये! मेरे सारे दुःख-दर्द, अवसाद क्षणभर में गायब हो जाते हैं. मैंने पूछा- क्या हुआ … मेम रात में पूरा नहीं हुआ था क्या?वो बोलीं- तीन बार!मैं- फिर मेरे साथ क्यों?वो बोलीं- अरे समझा करो ये चुदाई चीज ही ऐसी है कि जितना करो उतनी ही आग बढ़ती है.

आलिया- मतलब?मैं- दो दिन पहले नताशा तुम्हारे घर पर दीदी से मिलने के लिए आई थी. कुछ देर तक उसके रसीले होंठों का रस पीने के बाद मुझसे रुका न गया और मैंने अपने हाथों से भाभी की चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. सीमांशी की सिसकारियों को सुन रोहिताश और मैं दोनों उत्तेजित हो रहे थे.

संजना भी मेरे इशारे को समझ गई और नीचे झुककर अपनी जुबान से मेरी गांड चाटने लगी. जब मुझे पहनने के लिए चाहिए होगी तो मैं तुमसे ले लूंगी लेकिन अभी मैं इसको नहीं पहन सकती हूं. आप से अनुरोध है कि मुझे मेल करके बताएं!आप मुझे हैंगआउट पर भी जुड़ सकते हैं.

मैं दीपिका की चूत का उभरा हुआ नर्म हिस्सा अपने लण्ड और पेट के नीचे वाले हिस्से पर स्पष्ट महसूस कर रहा था. आज तूने मेरी इच्छा पूरी कर दी बिंदू … मैं तुझे कभी प्यासा नहीं रहने दूँगा.

संजू एकाएक कांपते हुए आवाज में बोली- आह … मेरी पेशाब निकलने वाली है … छोड़ो.

फिर मैंने अपने लिंग को देखा, जो कि अभी उसकी योनि में पूरा नहीं गया था. बॉडी वाली सेक्सीमैं- क्या समझ में आ गया?वो- कि तुम्हारा नंबर मेरे फोन में कैसे आया?मैं- कैसे?वो- ये मोबाइल पहले मेरे चचा के पास था … उन्हीं ने तुम्हारा नंबर बिना नाम के सेव किया होगा. मिलने सेक्सीमैंने धकापेल चुदाई करके उसकी चुत में रस छोड़ा और उसे लेकर ऊपर आ गया. कुछ सेकंड के बाद मैं कोमल के ऊपर से हट गया और कंडोम को डस्टबिन में फेंककर उसके पास लेट गया.

कविता भाभी- हर बार नहीं … हां जब पहली बार तुम्हारी भैया के साथ किया था, तब निकला था, लेकिन बार-बार करने पर वो नहीं निकलता और अभी फिलहाल तुझे जानने के लिए इतना काफी है.

उसकी बात मुझे भी अच्छी लगी और करीब एक घंटे के अन्दर वो मेरे घर पर एक बैग लेकर आ गया. शीला ने मुस्कुराते हुए उनसे ये वादा किया पर झांट साफ़ करने की क्रीम का नाम पूछा तो मेमसाब ने हँसते हुए उसे अपनी हेयर रिमूवर क्रीम दे दी. मेरी रंडी बहन मज़े से अपने ससुर के लंड को पूरा मुँह में ले कर चूसने लगीं.

वो जानबूझ कर पेंटी पहन कर नहीं आयी थीं, सो उनका साफ सुथरा छेद मेरे सामने था. मेरी बहन ने मेरी वासना को समझ लिया और उसने हंस कर कहा- ठीक है तुम मुझसे वादा करो कि मेरे और मेरे ससुर के बारे में किसी को कुछ नहीं बताओगे, तो भैया मैं आपको भी चान्स दूँगी. रोहित इसके लिए तैयार नहीं था; उसने अपने मुंह से लण्ड को निकालते हुए जोर जोर से खाँसना शुरू कर दिया और रोहन से कहा- क्या कर रहे हो ये … जितना जाएगा उतना ही तो मुँह में ले पाऊँगा!रोहन ने कहा- सॉरी यार, मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ।रोहित ने कहा- ठीक है … हम दोनों ये काफी समय से करते आ रहे हैं … पर तूने आज तक मेरा लण्ड नहीं चूसा … और मैं तेरा लण्ड इसीलिए चूस लेता हूं कि मुझे तेरा लण्ड बहुत सेक्सी लगता है.

सिक्स बीएफ

दूसरे कमरे से साब नशे में लड़खड़ाता नंग धडंग आ गया और नजारा देख के मेमसाब से बोला- हरामजादी ये क्या कर रही है?सबको काटो तो खून नहीं. स्नेहा भाभी- अच्छा जी … चलो कभी आपसे भी ठीक से बात होगी … बाय … अभी मुझे कुछ काम है, तो जब मैं मैसेज करूं … तभी आप करना ओके!इतना बोल कर भाभी ऑफलाइन हो गईं. भाभी कहने लगी कि उनके पीरियड्स चल रहे हैं इसलिए चुदाई नहीं हो सकती है.

नजमा काफी गर्म हो गई थी और कामुक सिसकारियां ले रही थी- ईश सआ स … स … खा जाओ मेरे बूब्स को … आंह निचोड़ कर चूस लो … अह … आआह … चूसो और जोर से चूसो आई लव यू राज.

रेलवे की तैयारी भी कर रहा हूँ।मेरी यह कहानी 2 साल पहले की है जब मैं जो वर्ष 2016 में अपने पुराने घर भोपाल से डेढ़ सौ किलोमीटर दूर सागर गया। वहां से मैं ट्रेन में अप डाउन करता था और उस वक्त तक मेरी लाइफ अच्छी चल रही थी।फिर एक दिन मुझे ट्रेन में एक लड़की मिली जो बहुत ही हॉट थी और बहुत ही गोरी थी। वह नर्सिंग का कोर्स करने के लिए उसी ट्रेन से अप डाउन करती थी। मैं रोज उसे उसी ट्रेन में देखता.

मैं मौसी के साथ वाले घर में रहने वाली तारा आंटी को भी मौसी कहता था. उसके वहां से खून आता है … और मुझे लगता है कि तुझे अभी इस बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं है. इंग्लैंड की नंगी सेक्सी वीडियोएक बार जब मेरी अम्मी जुबैदा योगा कर रही थीं, तो मैंने उन्हें ध्यान से देखा.

सुहास मेरी चुत को चोदे जा रहा था … मैं भी गांड उठाकर उसका भरपूर साथ दे रही थी. वो बोली- जिसने मेरी चूत में आग लगाई है, मैं अब उस आग को उसी के लंड से ही शांत करवाऊंगी. इस पर गांड उठाते हुए संजना बोली- हां मेरी जान … मैं इन सबको तुमसे चुदवा दूंगी.

चूंकि अब्बू रेलवे में क्लर्क थे, तो अनुकंपा के आधार पर उनकी जगह मेरी नौकरी लग गयी. उनके सीने से साड़ी का पल्लू नीचे सरक गया और भाभी की चूचियों की घाटी दिखने लगी.

भाभी की हंसने की देर थी कि मैंने समय न गंवाते हुए भाभी के होंठों पर होंठ रख दिए और उनको चूमने लगा.

अब मेरे पीछे बंद खिड़की की थी बीच में मैं था और मेरे सामने भाभी थी फिर मैंने उनका एक पैर उठाकर खिड़की के ऊपर रखा फिर दूसरा पैर मैंने खिड़की के ऊपर रखा ऐसा करने से भाभी झूल गई. वो बोले- कोई बात नहीं, हमें उसके अलावा जो करना है वो तो कर ही सकते हैं. जीजा जी के मेन गेट से मुख्य घर 200 मी दूर है, इसलिए हमें वाचमैन की कोई परवाह नहीं थी.

सेक्सी बाथरूम में चुदाई मेरे बार बार कॉल करने पर उसने फोन उठाया और फोन उठाते ही मुझे गालियां देना शुरू कर दिया. मैं बोली- कहां बिजी हो गया था … कोई गर्लफ्रेंड के साथ लगा था क्या?वो बोला- नहीं आंटी … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

आपको हॉस्टल का बेड तो पता ही है कि कैसा होता है … ये भी वैसा ही लोहे का पलंग था. हर धक्के के साथ उसके नाखून मेरी पीठ पर गड़ते चले गए, जो मुझे दर्द नहीं … उसके प्यार की निशानी दे रहे थे. मैंने फोन में आज सुबह जो जीजा जी और आलिया की वीडियो रिकॉर्ड की थी, वो देखने लगा और अपने लंड को सहलाने लगा.

सेक्स सेक्स वीडियो चाहिए

मैं फिर से अपना चेहरा नीचे करने ही वाली थी कि जेठजी ने मेरे चेहरे को दूसरे हाथ से रोक लिया. कभी-कभी वसुंधरा के बारे में सोचते हुए मुझे ऐसा लगता था कि वसुंधरा जरूर कोई शापित अप्सरा थी जिसे किसी क्षुद्र मानव को प्यार करने के जुर्म में स्वर्ग से निकाल कर पृथ्वी पर भेज दिया गया हो और साथ में ये शाप दे दिया गया हो कि ‘जा! तुझे पृथ्वी पर भी तेरा प्यार नसीब ना हो!’कल शाम मैं फिर से उस परी-चेहरा, उस शापित-अप्सरा को रु-ब-रु होऊंगा … सोच कर ही मेरे रौंगटे खड़े होने लगे. अब से तू मेरा गुलाम है और तू मेरी गांड चाटेगा और मेरा मूत भी पीयेगा.

मेरी पिछली कहानी थी:माँ के मोटे चूचे और मेरी हवसयह कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली रश्मि आंटी की चुदाई की है. एक बार तीनों के चूचुक से बारी बारी लुढ़का के वाइन का रसास्वादन किया.

मैंने उसकी शर्ट जींस उतारी, तो भाई बोला- मेरा अंडरवियर अपने मुँह से उतार.

बहुत दिन से मैंने कोई चुदाई नहीं की थी तो मैं चुत के लिए बावला हुआ जा रहा था. थोड़ी देर बाद मैंने अचानक से एक जोर से धक्का मारा, जिससे चाची की चीख निकल गयी. रोहित के बाथरूम जाते ही रोहन ने कैमरे की तरफ फोन काटने का इशारा किया और वो भी बाथरूम की तरफ चला गया।मैंने कॉल डिसकनेक्ट करते हुए मोबाइल में समय देखा तो साढ़े बारह बजने को थे.

ऐसे ही एक दिन मुझे घर जाने की जल्दी थी और कोई साधन नहीं मिल रहा था. वो- मेरी बुर तो कब से तैयार बैठी है तुम्हीं हो कि देरी किए जा रहे हो. जब वो सो जाता तो मेरे मन में भी उमंगें जागने लगतीं और मैं उसके बारे में सोचते हुए मुठ मारने लगता.

उन्होंने मेरी चूचियों को भींच कर मुझे जकड़ लिया और नीचे से अपनी गांड को आगे पीछे चलाने लगे.

मां बेटे का बीएफ मां बेटे का बीएफ: फिर पायल ने पास आकर कुछ देर कुछ बातें समझाईं, म्यूजिक को चलाया, रूकवाया और कब क्या करना है … ये सब कुछ स्पष्ट करने के बाद मुझे स्टेज पर चलकर रिहर्सल करने का न्यौता दिया. शरीर के बदलाव के साथ ही हमारे स्वभाव मिजाज व्यवहार और हंसी मजाक के तौर तरीकों में भी बदलाव होने लगा.

हम सभी एक दूसरे की बात सुनकर मुस्करा रहे थे और फिर पैग मारने में लग गए. संजू भी प्यार से बोलने लगी- अरे क्या हुआ बाबू?रोहित उसी अवस्था में भोलेपन से बोला- भाभी, इतनी ज्यादा ख़ुशी मैंने जिंदगी में कभी नहीं पाई, भाभी आपको कभी भी मेरी जरूरत होगी, तो मैं आपके लिए जान भी दे दूंगा. मैं सबसे छोटा हूँ, मेरी बड़ी बहन अल्पा 35 साल की हैं और उनकी शादी गुजरात मैं ही हो गयी है.

इसके बाद सुहास ने अपना लंड मेरी चुत पर रखा और दो धक्के में अपना लंड मेरी चुत में उतार दिया.

मैंने दादी के पैर छुए और कहा- पर दादी जी … मुझे सच में नाच गाना नहीं आता!इस पर आंचल ने मुस्कुरा कर और लपक कर कहा- पायल है ना! … और कोरियोग्राफर भी हैं ना … वो आपको सिखा देगा. धीरज को कुछ समझ आये पहले, रीना फुदक के धीरज की गोद में चली गयी और उसके चेहरे को पकड़ लिया और लिप किस करने लगी. उस दिन रात को अम्मी के सो जाने के बाद ज़ेबा के कमरे के दरवाजे में बने की-होल से मैंने देखा तो बगल में शान सो रहा था और ज़ेबा मोबाइल देखने में बिज़ी थी.