50 साल का बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बुर बुर बुर

तस्वीर का शीर्षक ,

फिरोजी कलर साड़ी: 50 साल का बीएफ, पिछले भागबुआ की चूत को लंड मिल ही गयामें अब तक आपने पढ़ा था कि बुआ पर फिर से जवानी चढ़ चुकी थी और वो मेरे लंड को टटोलने लगी थीं.

इंडिया सेक्सी पिक

मैं- तो क्या हुआ?भाभी- अभी तुम्हारी उम्र पढ़ने लिखने की है, तुम ऐसा कुछ मत देखा करो … समझे!मैं- ठीक है भाभी … लेकिन ये सब देखने में मुझे तो बहुत ही मज़ा आता है. सेक्सी हिंदी वीडियो हिंदी सेक्सी वीडियोअब मैं भी अपनी गांड को उठा उठा कर उसका साथ दे रहा था।तभी उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाला और मुझे घोड़ी बनने को कहा.

ऑफ़िस की कैंटीन में बैठ कर लंच करते-करते शेखर फिर से धारा और ललित के बारे में सोचने लगा. जम्मू के सेक्सी वीडियोजब लॉकडाउन की शुरुआत हुई तो किसी कारण भैया मुंबई में ही रह गए और मैं और भाभी गुजरात अपने गांव में पहुंच गए थे.

मुझे सबसे ज्यादा मजा उसकी गांड मारने में आया क्योंकि उसकी गांड बहुत टाईट थी.50 साल का बीएफ: उस दिन के बाद उन्होंने ऐसे सेक्स के लिए मुझे नहीं कहा, लेकिन ऐसे और भी रोमांचक पल हैं मेरे जीवन के, जो मैं आपसे शेयर जरूर करूंगा.

वे अन्दर तक अपनी जीभ को मेरे मुँह में डाल दे रहे थे, मैं भी उनकी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूसने लगती थी.अभी उससे कुछ कहने के लिए मैंने मुँह खोला ही था कि उसने मेरी बीवी को आवाज लगा दी- आप उधर अकेली क्या कर रही हो, मैं आ जाऊं?मेरी बीवी की आवाज आ गई- हां आ जा.

सेक्सी लड़की को दिखाएं - 50 साल का बीएफ

मैंने यामिना की जांघों को फैलाया और उसकी चूत में लण्ड को चलाने लगा.वो सेक्स कहानी बाद में लिखूंगा, आप फिलहाल लंड चुत हिलाना छोड़ कर इस अपने मेल लिख कर बताएं कि गाँव की सेक्सी भाभी की कहानी कैसी लगी.

फिर मैं जोर से उसके होंठों को चूसने लगा और नीचे से तेज तेज धक्के लगाने लगा. 50 साल का बीएफ वैसे तो वे बाहर जॉब करते हैं लेकिन करोना की वजह से जो लॉकडाउन लगा … तो वे घर पर आ गए.

मगर मैंने लंड गांड में पेलते ही अपने एक हाथ से भाभी के मुँह को दबा दिया था, जिससे भाभी की चीख घुट कर रह गई.

50 साल का बीएफ?

फिर अशोक से पूछा- बोलिए अब क्या बात है?उसने झिझकते हुए कहा- मेम आप मेरी बात का कोई उल्टा मतलब ना निकालिएगा क्योंकि किसी लेडी ऑफिसर के साथ बहुत सोच कर बोलना पड़ता है. मैं बोला- आपने तो आज तक मुँह में भी नहीं लिया था … मज़ा आया ना?मामी बोलीं- हां मज़ा तो आया. मेरे देवर ने मुझसे कहा- भाभी भरोसा रखो … यह मैंने आपकी खुशी के लिए ही किया है.

उसकी जांघों पर पसीना भर गया और फच्च फच्च की आवाज आने लगी।वो बोली- राज तुम मुझे हमेशा ऐसे ही चोदोगे?उसको कस कर धक्के देते हुए मैंने कहा- हां, ऐसे ही चोदूंगा. शायरा को देखते ही अब एक बार तो मेरा दिल किया कि अभी भाग कर उसको गले लगा लूं, पर मेरी नज़र उसके मायूस चेहरे की तरफ चली गयी. फ्लैशबैक:नेहा खुश होते हुए- नमस्ते चाची, आप लोग कैसी हो?संध्या- नमस्ते बेटा, सब ठीक है … तुम्हारी पढ़ाई कैसी चल रही है?नेहा ने उनके पास बैठते हुए कहा- पढ़ाई एकदम बढ़िया चल रही चाची, वो छोटा बाबू कहां है?संध्या- वो अभी सो रही है.

हौले हौले से पैर रखते हुए वो मेरी ओर अपनी कमर को लचकाते हुए आगे बढ़ रही थी. वो तो दी आ गई थीं, नहीं तो कुतिया को वहीं पटक कर चोद देता मैं … मादरचोदी रंडी. मैं अपने मम्मी पापा के लौटने से पहले इस मौके का पूरा मजा लेना चाहता था इसलिए मैंने लंड पर से हाथ हटा लिये क्योंकि मैं इतनी जल्दी स्खलित नहीं होना चाहता था.

बातें इतनी मज़ेदार हो चली थीं कि ना तो ललित रुक रहा था और ना ही शेखर!तभी बातों-बातों में पता चला कि धारा भी कभी-कभी दिल खोल कर चैटिंग पर अनजाने मर्दों से बातें करती थी और अपनी ख़्वाहिशों बयान कर देती थी. उसके मुंह से चीख निकल गयी- उफ्फ … उम्म!उसे दर्द हुआ था लेकिन उसने अपने आपको सम्भाले रखा.

अपनी कमर को नचा नचा कर रीना दीदी अपनी चुत के हर कोने में लंड की चोट लगवा रही थीं.

मैंने उसकी चूची दबाकर और चूत सहला कर उसको गर्म किया और वो चुदने के लिए तैयार हो गयी.

मैं बेड के साथ पड़े स्टूल पर बैठ गया और आँटी को लंड के ऊपर बैठने के लिए कहा. उसने अपना लंड उस रबर की चूत पर रगड़ना शुरू किया और धीरे धीरे उसका लंड तनाव में आने लगा. शाम को कमोवेश यही होता है बस उस समय मॉम भी दीदी के साथ काम करती हैं.

मगर जल्दी ही ममता जी का संयम जवाब दे गया और उनकी चुत ने कामरस का ज्वार उगल दिया. मैंने उसका नम्बर पूछ कर उन्हें अपने दूसरे नंबर से SMS करके अपने घर का एड्रेस दे दिया. अपने लाल सुर्ख चेहरे और बिखरे हुए बालों को समेटती हुई दीपक के लंड पर मस्ती में झड़ चुकी अनु दीदी भी अपनी मस्ती का इजहार कर रही थीं.

मेरी एक नजर ममता जी पर थी, तो दूसरी शायरा पर थी … जो कि अब बेखौफ खिड़की से खड़े होकर हमारी चुदाई देख रही थी.

आपने देखा कि इससे पहले वाली स्टोरी में बीवी की चुदाई उसके बॉस से हो चुकी थी. मैं लगातार चूत को चोदे जा रहा था और संगीता की दोनों चूचियों को मसल रहा था. मैं और प्रमोद बारी बारी से देखते रहे जब वह चिपक कर रह गया, तो समझ गए कि अब ये झड़ने वाला है.

बिना कुछ चिकनाई युक्त पदार्थ लगाये उसने अपने आधे उठे हुए लंड को बाहर निकाल लिया. वो लगातार कामुक सिसकारियां ले रही थी … शायद उसको चुम्बनों से अंतरिम सुख मिल रहा था. इसलिए उनकी टांग को पकड़ कर मैंने उन्हें जोरों से चोदना शुरू कर दिया.

मैंने पूछा- ऐसा क्या आईडिया दिया है?मयंक ने बताया कि वह लड़का एक मेल एस्कॉर्ट के लिए काम करता है, जिसमें बड़े घर की औरतों, भाभियों और लड़कियों को चोदकर खुश करना होता है.

मैंने दीदी की गीली पैंटी को उठा लिया और उसे उल्टा किया, तो देखा कि जहां पर दीदी की चूत का छेद था … वहां पर सफ़ेद मलाई सा चूत का पानी लगा हुआ था. मैंने जो भी किया अपनी कम्पनी की छवि बचाने और एक दोस्त का फर्ज निभाने के लिए ही किया है.

50 साल का बीएफ अब आगे गंदा सेक्स:मैंने शराब की बोतल देखते हुए कहा- भाभी जी इसकी क्या जरूरत है … हम दोनों पहले ही इतनी ज्यादा पी चुके हैं … प्लीज अब और नहीं!भाभी जी- डोन्ट वरी … इसमें ज्यादा नशा नहीं होता. मैंने संगीता को कंधों से पकड़कर बड़े प्यार से उठाया और उसकी गर्दन और गालों पर चूमने लगा.

50 साल का बीएफ उन्होंने मेरे नंगे चूतड़ों पर कई बार हाथ फेरा था, गांड में उंगली की थी. आज मुझे उसे चोदने का मौका मिला था तो मैं पहले ही अपने लंड की सफाई करके आया था.

दरवाजा बंद हो गया था … अब न कोई उधर से आ सकता … और न ही इधर से कोई जा सकता था.

सुपरहिट सेक्सी ब्लू पिक्चर

मैं देख रही थी कि वो बार बार आगे पीछे होकर अपने लंड को मेरी गांड में लगा रहा था जैसे कि मुझे पीछे की तरफ से चोद रहा हो।वो और उसका दोस्त दोनों मेरी स्थिति पर मुस्करा रहे थे. बाहर आकर अशोक बोला- रूपा, अभी मेरा तुमको छोड़ने का दिल नहीं कर रहा है. आपको ये देसी चुत Xxx स्टोरी कैसी लगी मुझे आप इस बारे में लिखना न भूलें.

पहली चुदाई के बाद उसने बताया कि उसने अपना कौमार्य मेरे लिए ही बचा कर रखा था. सुबह तुझे नंगी देख कर ही समझ गई थी कि तूने रात को अपनी चूत में उंगली की होगी और नंगी ही सो गई थी तू … है न!स्नेहा शरमाते हुए अपनी दीदू की गोद में सिर रख कर सोफे पर ही लेट गई. रंजू ज़मीन पर खड़ी होकर अनु दीदी को दोनों हाथों को ऊपर की ओर खींच रही थी और उनकी चूचियों को सिर के तरफ से झुक कर चूस रही थी.

उत्तेजना के विवश मैंने भी नीचे से धक्का लगाकर लंड अन्दर करने की कोशिश की.

थोड़ी देर में शीतल ने बेल बजायी, श्वेता ने दरवाज़ा खोला और वो दोनों बैठकर बातें करने लगीं. उसके बाद मैंने उसकी योनि को थोड़ा सा फैला कर देखना चाहा। मगर उसने अपनी दोनों जांघों को सटा लिया और चूत छुपाने की कोशिश करने लगी. उसकी आवाज़ के साथ मैंने भी एक जोर का झटका दिया और लंड को चूत के अन्दर घुसा दिया.

प्रकाश भी घूमने नहीं जा पाया और न ही अनीता ऊपर जा सकी।अनीता को मन में ग्लानि भी हो रही थी कि प्रकाश इतना प्यार करता है उससे, फिर उसने ऐसा क्यों किया!उसने रात को प्रकाश को भरपूर प्यार दिया।मगर कल रात सेक्स के दौरान प्रकाश ने उससे कहा कि क्यों न एक बार किसी कपल से स्वैपिंग की जाये?वो गंभीर होकर ये बात कर रहा था. यामिना- आप में तो फ़लक की फ़ोटो देखकर नया जोश भर गया, अब जान ही निकलोगे क्या?मैंने यामिना की ऐसी चुदाई की कि यामिना का पोर पोर रस में भीग गया. कभी मैं पापा का लंड हिलाता कभी दबाता और कभी लंड की चमड़ी हटाकर मुँह में लेकर चूसता.

तो वो भी मेरे पास खिसकने लगी।मैंने उसकी नाईटी ऊपर कर दी उसने पैंटी नहीं पहनी थी अब मेरा लौड़ा खड़ा होने लगा।मैं समझ गया कि रोमिल ने शायद उसे पहले ही समझा दिया था।रोमिल ने पिंकी भाभी की चुदाई शुरू कर दी।मैंने भी राशि की चूत में उंगली घुसा दी और अंदर-बाहर करने लगा।धीरे धीरे मैंने राशि को पूरी नंगी कर दिया और वो मेरे लौड़े को सहलाने लगी।तभी रोमिल बोला- राज, क्या हुआ? मेरी बहन को भी मज़ा दो. चाची ने आंखें बंद कर लीं और मैंने अपने मोबाइल से उनकी एक पिक ले ली.

फिर उसने साक्षी की चूत में उंगली दे दी और साक्षी के मुंह से आह्ह … निकली. देखना चाहोगे कि मैं इस डिल्डो की मदद कैसे लेती हूं अपने शरीर को फिट रखने में? अब देखना कि कैसे ये स्क्वाट्स (उठक-बैठक) करने में मेरी मदद करता है. मैं बाइक को अब धीरे धीरे चलाने लगा क्योंकि मुझे उसके स्पर्श का ज्यादा देर तक मजा लेना था.

थोड़ी देर बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया और उसके ऊपर आराम से सो गया.

तू बोले तो फिक्स कर दूँ क्या?मैंने बोला- ठीक है कर दीजिए और उसका पता मुझे भेज दीजिए. हमारी आंखों के सामने गाड़ियां आती रहीं और एक एक करके तीन लड़के गाड़ियों में बैठकर चले गए. उस दिन वो मेरे साथ बाजार गईं और अपने लिए जींस और क्रॉप टॉप व कुछ अन्य फैंसी ड्रेस खरीद लाईं.

उफ्फ़ क्या फिगर था उसका … सुबह सुबह से सामने एक गजब सी फ्रेश माल दिख गई थी. उसकी एक तेज सिसकारी निकली और अपनी गांड में अच्छी तरह चिकनाई मसल कर उसने अपनी उंगलियां वापस से बाहर निकाल लीं.

कैसे संभाल रही होगी इसके दूधों को!यही सब सोचते हुए मैं अपने लंड को सहला रहा था. चाची ने मेरा हाथ पकड़ा और मुस्कराकर बोली- क्या हुआ, तुम उस वक्त छोड़ कर बाहर क्यों चले गए थे?मैं- मैं … वो … वो. गुलजान ने उतनी देर में अपनी ड्रेस गले से निकाल दी और मुझे किस करने लगी.

अनुष्का शर्मा के सेक्सी फोटो

दोस्तो प्रणाम, मुझे पता है आप सभी तंदुरुस्त और फिट होंगे और मेरी दुआ है कि आप सभी हमेशा खुश रहें.

मैंने तुरंत ही वो सारे पिक्स अपने नम्बर पर सेंड कर लिए और उनकी सारी चैट के स्क्रीन शॉट लेकर भी सेंड कर ली. उसने आज ब्लैक कलर की मिनी स्कर्ट पहनी थी, जो उसकी पैंटी के नीचे तक आ रही थी. साथ ही मैं अपने इस दोस्त के साथ अपने जागे हुए नसीब को भी याद कर रहा था.

हॉट कॉलेज गर्ल्स स्टोरी में पढ़ें कि जब सेक्सी लड़कियाँ और गर्म लड़के इकट्ठे होकर आपस में बात करते हैं तो घूम फिर कर विषय सेक्स और मौज मस्ती होता है. सी … की आवाज निकली और उन्होंने तुरंत दूसरा भी वैसे ही करने को आगे कर दिया. सेक्सी चाइना मेंइसके बाद वे हमें पास में एक छोटे से होटल ले गए, वहां हम दोनों ने छक कर खाना खाया.

एक जो मुंबई से मेरे साथ आई थीं, जिनका नाम सोनल है और दूसरी भाभी बड़ी हैं, उनका नाम विधि है. इंडियन आंटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे आंटी ने मुझे अपना जिस्म दिखाकर अपनी चूत चुदाई के लिए तैयार किया.

दो तीन बार पूछने के बाद उसने थोड़े जोर से आवाज दी तो मैं एकदम से हड़बड़ा गई. उह्ह् … ओय्य … थोड़ा रुक ना … बहुत गर्मी लग रही है … थोड़ा एसी को‌ तेज कर दे. कुछ ही देर में पापा के लंड से काफी सारा माल निकल कर मेरे मुँह में आ गिरा.

मैं जीभ घुसा कर चूत को चाटने लगा उसकी चूचियां मेरे हाथों में लेकर दबाने लगा. वह इतनी नशे में इतनी अधिक चुदासी हो गई थी कि यह भी भूल गई कि उसी बिस्तर पर उसकी कच्ची कली बेटी भी सोई है. उंगली मुँह में लेकर मैं नमकीन चुतरस टेस्ट करते हुए चखना का स्वाद लेने लगा.

मैंने खिड़की से देखा कि श्वेता उदास बैठी है और उसकी आंखों में आंसू थे.

भाभी बहुत तेज चीखी थीं, जिसकी आवाज शायद पड़ोसियों को भी सुनाई पड़ गई होगी. अनु दीदी की मस्त जवान चुत से बाहर निकल रहे गर्म पानी को अपने हाथों में लेकर मैंने रंजू की गांड और चुत पर मल दिया, जिससे उसकी पानी छोड़ रही चुत में चिकनाई हो गई.

आँटी धीरे से सरककर ऊपर बेड पर हो गई और आंखें बंद करके लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी. संगीता मयंक को एक कमरे की तरफ ले गई और मयंक को वहीं पर रुकने को कहा. काफी देर तक मैंने उसके स्तनों को दबाने का मजा लिया और फिर उसकी ब्रा के हुक खोलकर ब्रा को भी हटा दिया.

वे पास आए और बोले- तुम्हारे चूतड़ तो बहुत मस्त हैं, अब भी कितने गोल गोल हो रखे हैं. मैं- यार प्रमोद, रोज रोज एक ही मिठाई अच्छी नहीं लगती, कभी लड्डू, कभी पेड़े, कभी बर्फी. कविता से बात खत्म होते ही मेरे मन मे स्वयं प्रीति की छवि दिखने लगी और संयोग से आधे घंटे के बाद प्रीति भी आ गयी.

50 साल का बीएफ उसकी चुत के गर्म पानी से मेरा लंड भी पिघल गया और मैं भी उसी की चुत में झड़ने को हो गया. ” कहते हुये मैंने अपना लंड उसकी गांड को टच किया।उसने अपनी गांड आगे खींच ली तो मैंने फिर सॉरी बोला।नो नो इट्स ओके, मैंने कभी यह सब किया नहीं हैं ना इसलिये थोड़ा सा डर रही हूँ। जब मर्द धक्के मारता है तो औरत आगे की तरफ़ नहीं गिरती?” उसने पूछा।नहीं, मर्द उसकी कमर पकड़ता है.

देवा सेक्सी वीडियो

अब रुकने का टाईम नहीं है … बहुत दिनों बाद मिली है ये …!” कहते हुए मैंने अपना हाथ उनकी चूचियों पर से नीचे ले जाकर सीधा ही अपनी दो उंगलियों को चुत में घुसा दिया, जिससे वो हल्का सा कराह उठीं. ” मैंने नर्म आवाज में उसके कान में कहा।अमन का जवान लंड तनाव में आकर झटके देने लगा था. ”ठीक है, बुलाओ उसे, हम समझें तो सही कि वो चाहता क्या है?”राबर्ट आया तो मैंने पूछा- तुम पायल को चोदने की बात कर रहे हो, पहले किसी को चोदा है?वो बताने लगा:हाँ, अपनी स्कूल प्रिंसिपल को.

जाते जाते मैंने उनको देखकर आंख मारी और उनकी तरफ स्माइल करके उतर गई. मेरे लंड का साईज कभी नापा नहीं, पर लंड लेने वाली को पूरी मस्ती देता हूँ. देवजी सेक्सी वीडियोमेरे और निखिल के बीच में जो कुछ भी हुआ, वो हम दोनों के अलावा किसी और को पता नहीं … मगर मेरे बेटे ने मुझे वो दिया, जिसे कोई भी बेटा अपनी मां को नहीं दे पाता.

करीब पन्द्रह मिनट तक चुत का रसपान किया और फिर वो एकदम से उठ कर एक और व्हिस्की की बोतल उठा लाईं.

उसके बाद क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो, मैं अन्तर्वासना की कहानियां करीब 5 साल से पढ़ता आ रहा हूं लेकिन मैंने कभी सेक्स कहानी लिखने पर विचार नहीं किया था. लेकिन निधि अभी नहीं झड़ी थी तो उसने मुझे देखा और एक कंडोम मेरे हाथ में दे दिया.

तभी उसने एक हाथ आगे बढ़ा कर मेरी पैंट की चेन खोल कर मेरे लण्ड को पकड़ लिया और उसको हाथ में भरकर सहलाने लगी. फिर एक झटके से उसके मुँह से लंड अपना निकाला तो खों खों खों और नेहा ने अपना चेहरा खांसते हुए ऊपर किया. उसने मेरे पैरों को अपने हाथों से दबाना शुरू किया और दस मिनट तक वो मेरी ऐसे सेवा करती रही जैसे कोई पत्नी अपने पति की सेवा करती है.

बेड पर आकर अंकल मेरे बाजू में बैठ कर मेरी गर्दन पर चुम्मी करने लगे.

लाइव सेक्स चैट करने का मेरा यह पहला अनुभव था, इसलिए मुझे अपने पेट में अजीब सी गुदगुदी महसूस हो रही थी जैसे कि बहुत सारी तितलियां अंदर उड़ रही हैं. मैंने उनकी चूचियों को जबरदस्त तरीके से चूसा और उन्होंने ही अपने हाथ से पकड़ पकड़ कर मुझे अपने चूचे चुसाए. मैंने निधि भाभी को अपनी सारी सेक्स कहानी के लिंक्स भेजे और उनको पढ़ने का बोला.

डूंगरपुर वागड़ी सेक्सी वीडियोथोड़ी देर लंड चूसने के बाद वो बोली- जीजू मुझे चोदोगे?मैंने कहा- नेकी और पूछ पूछ. आपने देखा कि इससे पहले वाली स्टोरी में बीवी की चुदाई उसके बॉस से हो चुकी थी.

आदित्य सेक्सी

मैं उसकी चूत में उंगली करता रहा और उसकी चूत हर पल गीली होकर मेरा जोश बढ़ाती रही. वह बहुत दिनों से नहीं चुदी थी, इसलिए जल्दी से लंड चुत में ले लेना चाह रही थी. मगर जब वो बाहर चला जाता है, तो मैं अपनी बुआ के लड़के को बुला कर उससे अपनी चुत की सेवा करवाती हूँ.

फिर मैं चाची के होंठ चूसते और मम्मे दबाते हुए घपाघप अपना लंड पेलने लगा. कुछ ही देर में मामी का शरीर अकड़ने लगा और वो बोलने लगीं- आह और जोर से चोद … मैं गई. वो दोनों सनी के साथ इतनी गंदी गंदी बातें करते थे कि ना मैं बता नहीं सकती.

सादिका मुझे सिर्फ देखती थी, उसकी तरफ से कुछ भी रिस्पॉन्स नहीं मिलता था. उन्होंने अपनी आंख से पट्टी उतार दी और बोली- यह क्या कह रही हो?मैंने कहा- मैं यह करना चाहती हूं, यह मेरी बहुत बड़ी इच्छा है. रमण ने अनीता का टॉप निकाल दिया और धीरे से जींस भी नीचे कर दी।गोरे और सुनहरे बदन की मल्लिका अनीता रेड ब्रा-पैंटी सेट में कयामत लग रही थी।पैरों में सुनहरी पायल … होंठों पर लाल लिपस्टिक, चेहरे पर लाली … कुल मिलाकर रमण का नसीब आज छप्पर फाड़ कर आया था … बाकी तो उसके लंड को ही फाड़ना था।अनीता ने रमण के कपड़े खींच दिये।रमण तो पूरी तैयारी में था।उसने लोअर व टीशर्ट ही पहनी हुई थी.

मैं- क्या खुशी इतनी दूर बैठकर जाहिर की जाती है?लिली मुस्कराई और उठकर मेरे साथ सोफ़े पर बैठ गई. इस बार मोना भाभी को काफी दर्द हो रहा था और वो हटाने के लिए मुझे धक्का भी दे रही थीं, पर मैं उनको कसके जकड़े हुए था.

मैंने उन्हें अभी अपनी पकड़ में ही रखा और कहा- आप मुझे प्यार नहीं करती हो क्या?भाभी शर्म से कुछ नहीं बोलीं.

मुझे यह देख कर मैं फिर उत्तेजित हो गया और फिर से लंड की मुट्ठ मार दी. सेक्सी मोटा वालामैंने उसको कहा- अपनी बहन को रंडी कहना मादरचोद, मैं यहाँ बस मज़े लेने आई हूँ!तभी उसके बराबर वाला बोला- सॉरी, ये तो चुतिया है. सेक्सी फिल्म फुल एचडी चलने वालीमेरे मन में संदेह था कि पता नहीं आज निखिल मुझ में कोई इंटरेस्ट लेगा या नहीं. किंजल अपनी प्यारी सी नशीली आंखों से देख कर मुझे स्माइल पास कर देती.

कुछ देर बाद जब मेरे पति घर आये तो मैंने उनको उस लड़के से मिलवाया और उसने वही सब बताया जो मैंने उसे बोला था.

पड़ोसन की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे साथ वाले फ्लैट की भाभी ने मुझसे सेक्स की बात करके अपने फ़्लैट में बुलाया. पार्टी में अनु दीदी ने दोनों बहनों के साथ अपने हुस्न का तड़का लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. यूँ ही किंजल से बात करते करते रात के तीन बज गए, तब जाकर उसने फ़ोन रखा.

मेरा मन भी कर रहा था कि काश साक्षी के पति की जगह अब मैं लेटा होता और वो मेरे भी लंड को ऐसे ही मुंह में लेकर चूस रही होती. रिसॉर्ट में रहने की अच्छी व्यवस्था थी और पीछे की तरफ एक आलीशान स्वीमिंग पूल भी था. रीना की बेटी की चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से अगली बार लिखूंगा.

इंग्लिश पिक्चर सेक्सी खपाखप

मैं बिना कुछ करे … थोड़ा रुका और भाभी को सहलाने लगा, उनके बोबे दबाने लगा और भाभी की पीठ को चूमने लगा. वो मेरी तरफ प्यार भरी नजर से देखने लगी और हम दोनों के होंठ मिल गये. मेरा मन कर रहा था कि मैं अमन के टट्टों को अपने हाथ में लेकर जोर से स्ट्रेस बॉल की तरह भींच दूं.

वो एक ऐसी सेक्स डॉल बन चुकी थी कि उसकी कमनीय काया को देखते ही लंड खड़ा हो जाए.

तब तक आप लोग अपना प्यार मुझे वैसे ही देते रहिएगा।तो दोस्तो, आपको मेरी अंकल पोर्न स्टोरी कैसी लगी? आप अपने विचार मुझे मिल करके जरूर बताइएगा.

पहले भागगांडू ने मकान मालकिन भाभी चोदीमें अब तक आपने पढ़ा था कि नईम सर रनवीर के साथ कमरे में चुदाई का मजा ले रहे थे. अपने इस मूसल लंड से मैं तीन चार बच्चों की मां को भी दर्द दे सकता हूं. दिल्ली सेक्सी पिक्चर हिंदी मेंवो आंख बंद करके मेरे सीने पर रोते हुए लेट गईं या शायद बेहोश सी हो गईं.

मेरी बड़ी-बड़ी मखमली दूधिया सुडौल चूचियों को सहलाने से मुझे जो मज़ा मिल रहा था, वो और कहीं नहीं मिल सकता था. रात के क़रीब 2 बज गए थे और दोनों अपनी फैंटेसी और नए-नए तरीक़ों से चुदाई का मज़ा लेने की बातें किए जा रहे थे. मगर एक बार दूसरी लुगाई का अंदेशा हो गया था, तो मैं उसकी हर चीज टटोलने लगा.

मैं ऐसी ही चारपाई में बैठी थी कि अचानक जोर से तेज़ बिजली के कड़कने से मेरे मुँह से चीख निकल गयी थी. तभी प्राची के निप्पल से दूध की एक बूंद गिरने वाली थी, उसको पकड़ने के लिए मैंने हाथ आगे कर दिया.

चाची बोली- यो त थकता ही ना है!मैं बोला- इसके सामने इतनी खूबसूरत चुत है तो ये क्यों थकेगा!फिर चाची ने कमरे में चलने का इशारा किया, तो हम दोनों बेड पर आ गए.

क्योंकि उनका लंड पहले से ही खड़ा था तो उन्होंने एक झटके में अपना लंड मेरी चूत में उतार दिया. अंदर से आवाज आई- गेट में जोर से धक्का मारो, खुल जाएगा।मैं गेट खोलकर अंदर आ गया और गेट वापस बंद कर दिया।मैंने कहा- भाभी कहां हो?वो बोली- अंदर आओ. चिराग- कल हम लोग पंचगनी जाएंगे, जो यहां से करीब 19-20 किलोमीटर यानि करीब एक घंटे का रास्ता है.

ब्लू फिल्म सेक्सी इंडियन चुदाई पर उसने कहा है कि तुम्हारी बात मैं ठुकराऊंगा नहीं, समय आने पर देखेंगे. कुछ समय में वो जैसे ही चुप हुई, तो मैंने लंड बाहर खींचा और एक तेज झटके से उसकी चुत में फिर से अपना पूरा लंड घुसा दिया.

जया अजय के ऊपर गांड रख कर चढ़ गई और उसका लंड अपने गांड में लेकर बैठ गई. उस तौलिया में से क्या मस्त खुश्बू आ रही थी, मैं नम तौलिया देख कर समझ गया कि उसने इसी तौलिया से अपना अंग भी पौंछा है. हम दोनों में से कोई भी इस चुम्बन को तोड़ना नहीं चाह रहा था खासकर रूपाली तो बिलकुल भी नहीं।इसलिये मैंने ही आगे बढ़ने की सोची और रूपाली की मैक्सी को अपनी मुट्ठियों में भरकर ऊपर सरकाते हुए उसके बदन से अलग करने लगा।रूपाली ने भी मेरी मदद करते हुए अपने दोनों हाथों को असमान की ओर समान्तर उठा लिया और मैंने उसकी मैक्सी को उसके हाथों से निकाल कर उससे अलग कर दिया.

বেঙ্গলি bf

’ कर जोर से चिल्लाने लगी- अआह जान मारो … और जोर से मारो आह्ह मजा आ गया … आह मेरी गांड को आज लाल बना दो … यह कब से तड़प रही थी. अब तो उनकी चुत से निकले हुए मूत से भी मुझे भी टेस्ट आने लगा था और वो सब में पीता चला गया. मैं नौकरी के लिए यहां-वहां धक्के खाने लगा, पर कहीं भी मुझे नौकरी नहीं मिल रही थी.

भाभी की टांगें क्या खुलीं … जन्नत आ दरवाजा लपलप करता हुआ सामने आ गया. यामिना चुदते चुदते, हिलते हुए मेरी आँखों में देखकर मुस्कराई और आंखों के इशारे से सहमति दे दी और बोली- पहना … देना.

चूंकि यामिना शीशे के आगे थी तो उसका गोरा पेट, उसमें धंसी हुई नाभि, सुडौल गोरी टांगें, आपस में सटे हुए गोरे पट और उनके बीच स्वस्थ भगोष्ठों वाली सुन्दर चूत दिख रही थी.

उन्होंने फोन रख दिया और सीमा से बोले- कपड़े उतार इसके!सीमा बोली- ठीक है. उसके बाद मैंने तौलिया को उसके बदन से अलग किया तो वो मेरे सामने नग्न पड़ी किसी संगमरमर की तराशी हुई मूरत के जैसी लग रही थी. वे बोले- अरे क्या मार ही डालोगे … गांड मराने की भी इतनी कलाकारी … मैं तुम्हें मान गया यार … सलाम करता हूं.

मैं जब वहां पहुंचा तो रीना ने कहा- चाचा जी, मेरी तबियत बहुत ही खराब लग रही है … मेरे यहां कोई भी नहीं है. मैंने चाची के होंठों और गालों को बुरी तरह चूमते हुए 20-25 दनादन धक्के मारे और मेरे शरीर में मीठी झुरझुरी होने लगी. मैंने अपना बैग रखा और कपड़े बदल कर चुपचाप उन दोनों की बातें सुनने लगा.

यह देखकर मैं हैरान हो गया कि उसने भी मेरा सिर पकड़ कर मेरे मुख से अपने लंड की खूब मसाज करवाई.

50 साल का बीएफ: उसने मुझसे पूछा कि आप क्या करते हैं?तो मैंने बताया कि मैं एक बिजनेसमैन हूं. तू पेलता रह … और चूचियां उछलेगी नहीं तो और बड़ी कैसी होंगी … तो उन्हें उछलने दे.

मैं ऑफिस से आकर खाना बनाता था और फिर खाना खाकर देर शाम को घूमने के लिए निकल जाता था. पूरे कमरे में एक अलग सी मादकता फैली थी और हम दोनों एक दूसरे में समाये जा रहे थे. वो कुछ ही देर में फुल स्पीड में पूरा लंड मुँह में लेकर लपलप करके चूसने लगी.

चलिए एक चुत की चुदाई से ही चूत और गांड की चुदाई कहानी का मजा शुरू करते हैं.

मेरी भाभी से आंखें तो मिली थीं, पर रात को लेकर उनसे कोई बात ही नहीं हो सकी थी. अब तो बहुत बात उसने लंड से निकलती मेरी गर्म पेशाब को भी पी लिया था. शादी के कुछ सालों बाद ही उन्होंने मुझमें रुचि लेना बन्द कर दिया था। अब जब तक बेटे मेरे साथ थे तो घर में मन लगा रहता था लेकिन अब ये अकेलापन मेरे बस के बाहर था। मेरी चुदाई की तमन्ना भी बरकारार थी.