इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ

छवि स्रोत,छोटे छोटे बच्चों की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

फ्री पोर्न: इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ, कुछ देर बाद मैंने खुद ही पूछ लिया- क्या हुआ … कुछ प्रॉब्लम है?फिर भी उसकी कोई आवाज़ नहीं आयी.

नेपाली कीबोर्ड

उसने अपने आपको अलग किया और अंकित ने उसको ऐसे देखा जैसे उसकी दावत छिन गयी हो. शुद्ध हिंदी सेक्सअब दर्द तो नहीं हो रहा न?” मैंने पूछा तो उसने इन्कार में सिर हिला दिया पर बोली कुछ नहीं.

अब आगे:आंटी की गांड की चुदाई और आंटी की खुशी से मैं भी खुश हो गया. आई मिलन की बेला”मैं समझ गयी कि कोई मम्मी का चोदू यार है।चौधरी साहब आप समझ तो सब गए हैं पर मेरे मुंह से सुनना चाहते हैं। ठीक है, आपका लण्ड कैसा है?”अरे उसी के लिए तो तुझे फोन किया है, फुल खड़ा है, मैं आ रहा हूँ, तेरी लेनी है.

मैं तो खुद ही चाह रही थी कि कहीं ये बात सुनकर उसके अब्बू का भरोसा न टूट जाए.इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ: क्योंकि मैं कुछ अपने में ही मस्त रहती थी, इसलिए मुझे सभी कहा करते थे कि यह अपने आपको कुछ ज्यादा खास ही समझती है.

श्वेता मैडम जब दरवाजे का ताला खोल रही थीं, तब मेरी नजर दरवाजे के सामने बनाई गई रंगोली पे जा पड़ी.मैंने उन्हें बताया- आप ट्राइ तो करो, इसमें आपको सेक्स से भी ज़्यादा मजा आएगा.

इंग्लिश सेक्सी वीडियो देखना है - इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ

दीदी की आह निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’धकापेल चुदाई का मंजर सिर्फ अहसास के जरिये महसूस होने लगा.इस बार चाची बिना किसी डर के बहुत जोर से मचल रही थीं- आआह … मेरी जान मजा आ गया.

ओय्य्य … उह्ह्ह …” नेहा ने कराहते हुए कहा और जल्दी से उठकर बैठ गयी. इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ मौसी की चीख निकल गई और वो बोलीं- आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई … समीर … थोड़ा धीरे कर, मैं कहीं भाग नहीं रही, अब तो मैं तुम्हारी ही हूँ.

मेरा मन तो किया कि लंड को उसके मुंह में और भीतर तक ठेल दूं पर मैंने वो इरादा फिर कभी के लिए पोस्टपोन कर दिया.

इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ?

मैंने देखा कि उस लड़की की चैट विंडो में लगाई गई डिस्प्ले बॉक्स में फोटो वास्तव में एक सुंदर महिला की थी. उनके होंठों ने एक दूसरे को छूना शुरू कर दिया और उसे लगा जैसे हजारों तितलियाँ उसके पेट के अंदर जाने लगी हैं. साथ ही मैं अपने लंड को उसमे मुँह में अन्दर तक घुसेड़ने की कोशिश कर रहा था.

‘अअअह … छोड़ दो कोई आ जाएगा … मुझे बहुत देर हो गई है … घर पर सब इंतज़ार कर रहे होंगे … जाने दो … अहह अहह धीरे करो … ईईई सीईईई उईई माँआ … दुख रहा है दादाजी. फिर मैंने अपना एक हाथ जब उसकी चूत पर रखा तो वो जैसे पागल सी हो गयी. मैंने तो खुद रकुल को शादी से पहले देखा नहीं था।सीमा- ऐसे कैसे हुआ?नील- बस दादा जी का अंतिम समय आने वाला था और उन्होंने अपनी इच्छा रख दी कि जल्दी से जल्दी नील की शादी करवाओ.

ज्यादातर कहानियों के नीचे कमेंट भी होते थे, मैं लोगों के कमेंट पढ़ती थी, सच में बहुत मजा आता था, कुछ नया मिलता था. मैंने कम्मो का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखने की कोशिश की पर वो आनाकानी करने लगी लेकिन मैंने जबरदस्ती उसे लंड पकड़ा ही दिया. इस नवंबर के महीने में मेरा ट्रांसफर हो गया और अब मुझे हरियाणा टूरिज्म का आफिस मिला.

मतलब उसके हुस्न को सोचते हुए मैं ये कहानी लिख रहा हूं, तब भी मेरा लंड फड़फड़ा रहा है. चूंकि उसने मिलने की हामी भर दी थी, इसलिए इसके बाद भी हम दोनों लोग मिलते रहे.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:भाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल किया-3.

मेरी एक सहेली है, जिसको इन सब बातों के बारे में पता है कि कौन लड़का मुझे लाइन मारता है.

मेरी चूत और छाती एक साथ मर्द के हाथों का मजा ले रही थी। मैं अपनी टाँगें फैलाए अपने भतीजे के हाथों सेक्स का मजा ले रही थी. अब हम दोनों के होंठ एक दूसरे के होंठों को चूम चाट रहे थे और हम दोनों की लार एक दूसरे के लार में मिलना शुरू हो गई. इसके बाद वो रुका ही नहीं और उसने आगे बढ़ते हुए मेरी चुत के पास अपना मुँह लगा दिया.

उन मैसेज में कोई लड़की मुझे इतनी बुरी तरीके से डांटते हुए लिख रही थी, जैसे मैंने उसे परेशान कर रखा हो. अब उसके धक्कों के कारण मुझे इतना मजा आने लगा कि मैं दो मिनट बाद ही झड़ गई. मैंने उससे पूछा कि हां बताओ क्या बात है?वो बोली- रात काफी हो गई है, इधर ही रुक जाओ, सुबह चले जाना.

वो बोला- रंडी, तेरी गांड में डाल दूँ क्या?सोनिया बोली- नहीं, यहीं आगे ही चोदो औऱ मेरी खेती को पानी दे डालो.

उधर पिंकी आराम से गजन का लंड गांड में डलवा रही थी।सबका राउंड खत्म हुआ तो सब लोग ही एक-दूसरे को चूमते-सहलाते हुए पैग लगाने लगे. मोहन भैया ने मुझे किस करते हुए मेरी पीठ पर अपने हाथ रख दिए और मेरी पीठ को सहलाते हुए चूमने लगे. मैं अपनी सास को 6 दिन के लिए देवर के घर छोड़ने जा रही हूँ … ताकि मैं भी तेरे साथ नंगी ही रह सकूँ.

पर मुझे कभी अपने से अलग मत करना!उसकी ये बातें सुन कर मैं उसके प्रति और प्यार महसूस करने लगा था. जब अंकित का सारा वीर्य निकल गया तो वो थक कर शबनम के स्तनों पर हांफता हुआ गिर गया. और अचानक मेरा वीर्य अंडों से तेज़ी से निकलते हुए लन्ड के रास्ते सीधा उसकी चूत में उतर गया। मैं तब तक उसकी चूत में धक्के मारता रहा जब तक कि मेरे वीर्य की आखरी बूंद उसकी चूत में न झड़ गई.

परवीन आंटी मेरा बदन चूमने लगीं और मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चुत में लगा दिया.

बार बार सबको वही बताने से थोड़ी झुंझलाहट होती है और रिप्लाई करने का मन भी नहीं करता।आप सब तो बस कहानी के मजे लिया लीजिये।आपकी प्यारी सुहानी चौधरीधन्यवाद[emailprotected]. नेहा मेरा अब इतना विरोध तो नहीं कर रही थी, मगर वो अब भी कसमसा रही थी.

इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ कुंवर साहब ने कहा- हां बेटी क्यों नहीं … तुम मुझे बाबा बोल सकती हो. बहुत बिज़ी थीं क्या?सोनिया- हां … तुम वेट कर रहे थे क्या?रोहन- सच कहूं … कर रहा था.

इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ हां लेकिन एक बात है, सासू माँ में मुझे ये बात बाद में कभी महसूस नहीं होने दी कि वो उनका ही प्लान था. हर मिनट 1 घंटे की तरह महसूस हो रहा थासोनिया- मैं सोच रही थी कि तुम मुझे कॉल करोगे या कम से कम मैसेज तो करोगे, लेकिन तुमने कुछ भी नहीं किया.

मैंने कहा- क्या मतलब?मेरी फ्रेंड ने कहा- मतलब कुछ प्यार व्यार बस!मैं मुस्कुराने लगी क्योंकि मनोज का मेरी हेल्प करना, मुझे हंसाना, मुझसे सेक्सी बातें करना … शायद कहीं ना कहीं मैं उसकी तरफ आकर्षित होने लगी थी.

இந்தியன் செக்ஸ் படம்

मैंने उससे फिर पूछा कि अरे तगड़ा है, तभी तो उसने इतनी खेती बाड़ी संभाल रखी है. मगर हर महीने उनको कुछ ना कुछ पैसे ज़रूर भेजती रहती क्योंकि वो एक आस लगा कर रखते हैं कि जैसे ही महीना बीतेगा, उन्हें घर के खर्चे के लिए पैसे मिल जाएगें. सोनिया- वॉव … तब तो मुझे लगता है कि तुम्हें इस समय आफिस में होना चाहिए.

थोड़ी देर बाद मैडम और संतोष दोनों झड़ गए और कुछ देर के लिए एक दूसरे के ऊपर पड़े रहे. फिर रोनित ने एक सिगरेट सुलगाई और कश लेते हुए रचना से झुक कर मम्मों की झांकी पेश करने को बोला. मैंने उसको ना कोई खुशी या किसी तरह का गुस्सा दिखाया और इस तरह से खुद को दिखाया कि जैसे कुछ हुआ ही ना हो.

पूजा मेरे लंड को अपने मुँह में भर कर मेरे पेशाब को गटगट पीने लगी और जब मेरा पेशाब निकालना बंद हो गया तो मेरे लंड को मुँह से निकाल कर जीभ से अपने होंठों को साफ करते हुए बोली- मज़ा आ गया.

उसका लंड अभी आधा ही घुसा था कि उसका लंड मेरी चूत में अंदर जाकर टकरा गया. मैं भी उसके एक चूचे के निप्पल को चूस रहा था और दूसरे निप्पल को मसल रहा था. ये बात जब मुझे पता लगी तो मैंने राज से ब्रेकअप कर लिया और कबीर व मेरे बीच में नजदीकियां बढ़ गईं.

फिर मैं उसी तरह उसके ऊपर पड़ा रहा आंटी ने मेरे माथे पर चूमते हुए पूछा- मजा आया क्या मेरे जानू को?मैंने कहा- बहुत मजा आया मेरी सुनीता जान. दोस्तो मैं 5 सालों से अन्तर्वासना का पाठक हूँ, इस वेबसाइट पर मैंने बहुत कहानियां पढ़ी।अब सोचता हूं कि मुझे भी अपनी स्टोरी यहाँ पोस्ट करनी चाहिए।मेरा नाम शिबू है (बदला हुआ नाम) और मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 32 साल है। मेरे लण्ड का साइज 6 इंच लंबा और 2. फिर भाई ने दिव्या की चूत से लंड को निकाल लिया और मेरी चूत में डाल दिया.

पूजा- क्या ऐसा सच में होता है जो कहानी में लिखा है?मैं- तुमने कहानी पढ़ी है, तुमको क्या लगा?पूजा- शायद होता होगा. सीमान्त- अह्ह्ह तू तो मेरी रंडी है … तुझे ऐसे ही रंडी की तरह चोदूँगा साली …मैं- आह तो चोद ना मादरचोद … तेरा लंड मुझे हमेशा ऐसे ही अपने गांड में लेना है.

मेरी इस हरकत पर वो कहने लगी कि देख पंकू, तूने कहा था कि तू मेरे साथ कुछ भी नहीं करेगा. मेरे 4 साल का इंजीनियरिंग का समय रंगीन आंटियों और लड़कियों के बीच चला. मतलब उसकी चुत चाट कर और थोड़ी चूत की चुदाई भी करके पहले उसको झड़ने दो.

तभी मेरा लंड अकड़ने लगा और मैंने अपना वीर्य अपनी सास की गांड में भर दिया- आआहह मोहिनी … मेरी सासू माँ … ऊओह मज़ा आ गया आपकी गांड मारने में तो … आह!यह कहते कहते ही उनकी चुत ने भी पानी छोड़ दिया.

मैंने भाभी को छोटे बच्चे की तरह गोद में उठा लिया और उन्हें बड़े प्यार से रूम में ले गया. इसके बाद हम दोनों में सब कुछ खुलता चला गया और अकेले मिलने का समय और स्थान भी तय हो गया. उसने कहा- उम्म्ह… अहह… हय… याह… गांडू आकर मेरे मुँह में अपनी लुल्ली घुसा दे.

एक दिन मेरे पास फोन आया, किसी सुरीली आवाज में लड़की के बोलने का आवाज आयी कि आपका नंबर मुझे वेबसाइट से मिला है. मेरी मज़बूरी एक तो ये थी कि मुझे किसी को ये नहीं बताना था कि वो मेरी बहन है.

वो तेजी से मुझे चोद रहे थे और मैं मजे लेते हुए उनकी कामुक बातें सुन कर और भी ज्यादा कामुक हो रही थी. अब वन्दना बोली- सरप्राइज ये है कि मैंने आज की तारीख में अपने पति के साथ सुहागरात मनाई थी. मैंने उसे बताया- मैं उसकी बगलें क्या … सभी औरतों की इसी स्मेल का दीवाना हूँ … और ये स्मेल ही मुझे उत्तेजित करती है.

इंग्लिश बफ वीडियो सेक्सी

मैंने अपना हाथ उसके कूल्हों पर रखा और उसे और तेज करने का इशारा किया।उसके तेज हो रहे धक्कों से मेरे अंदर एक तूफान बनने लगा था, मैं भी नीचे से अपनी कमर उठाकर उसके धक्कों से ताल मिलने लगी थी।आखिरकार मेरा सब्र टूटा और मैं उसके होठों को अपने होठों में पकड़ते हुए फिर से झड़ने लगी, मेरा पूरा बदन थरथरा रहा था। नितिन भी उसी जोश से मुझे किस करते हुए मेरा साथ दे रहा था, उसने भी अपने धक्कों की गति तेज कर दी थी.

भाई को तो यकीन ही नहीं हुआ और जब हुआ, तो उनकी और बुआजी की खुशियां देखते बन रही थीं. वो मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह सपड़ सपड़ चूसती रहती।उसके बाद मैं फिर अपना लंड चूत में घुसा देता, फिर जोरदार चुदाई!चाची की चूत से पानी झड़ रहा था. ड़ … छोड़ो मुझे … मुझे नहीं पता तुम क्या कह‌ रहे हो?” नेहा ने अपने आपको छुड़ाने की कोशिश करते हुए घबराई सी आवाज में कहा.

करीब 10 बज कर 30 मिनट हुए होंगे, मैंने साड़ी पहनी, लेसवाला ब्लाउज भी पहना. अभी लो पूजा रानी, और मुझे एक बार फिर से तुम्हारी चूत को चाट चाट उसका रस पीना है. गे सेक्स ब्वॉय बिग कॉक जींस पैंट देसीतो मेरे तो होश उड़ गए।आगे क्या हुआ ये अगली कहानी में बताऊंगी।तब तक के लिये नमस्कार.

कम्मो ने यही एक्शन बार बार दुहराया और फिर तेजी से मुझे चोदने लगी और फिर थोड़ी ही देर में किसी कामोनमत्त नवयौवना की भांति लज्जा का परित्याग कर कामुक आहें कराहें किलकारियां निकालती हुई मुझे चोदने लगी. भाभी थोड़ा नाचते हुए मेरी गोद में आ गईं और अपनी गांड से मेरे लंड को दबाकर बैठ गयी.

तो मेरे नये दोस्तो, मैं आपकी जानकारी के लिए बता देती हूं कि मेरा नाम कनिका है और शादी से पहले ही मैं गलत संगत में पड़ गई थी. मैंने उसकी तरफ कातर भाव से देखा तो उसने मुझे सीधा लेटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया. दीदी बोलीं- फिर बिकनी ही क्यों पहना रहे हो? सीधे नंगी ही होने को बोल दो ना … अरे बिकनी का ग्लैमर देखना है, तो जरा सब्र करो.

पर अब दीपा को कोई संकोच या डर तो था नहीं तो कभी कभी मनोज की गैरमौजूदगी में भी वो जला लेती. वे दोनों दिखने में एकदम काले से थे लेकिन दोनों मुझसे अच्छे से बोलते थे. मुझे भी उससे मिलने की तड़फ थी, लेकिन मैंने ढील देकर उसे लूटना चाहता था.

कम्मो के संग चुदाई का पहला दौर ही काफी लम्बा खिंच गया था जिसकी मुझे कतई उम्मीद नहीं थी.

मेरे पूछने पर उन्होंने बताया कि ये खुशी के आंसू है … आज तक उनके पति ने उन्हें ऐसा यौन सुख कभी नहीं दिया था … जो आज मुझसे मिला. तभी मैंने लपक कर अपनी बीवी के दूध पकड़ लिए और बारी बारी से उन्हें चूसने लगा.

सोनिया- तुम सारा दिन क्या करते हो?रोहन- थोड़ा अध्ययन, कुछ सर्फिंग, कुछ चैटिंग … थोड़ा सो लेता हूँ. हर दिन वह 11 के आसपास ऑनलाइन आती थी, लेकिन उस दिन वह 12 बजे तक ऑनलाइन नहीं आई. मैंने काफी देर तक उसके निप्पलों को बारी बारी से चूसा और मम्मों का मर्दन किया.

संजय ने दरवाज़े पर ही मेरा उनसे परिचय करवाया और उनका नाम हंसिका बताया. मैं दीदी के पैरों से ऊपर जाते वक़्त उनकी चूत के रास्ते से होकर गया, जिस वजह से दीदी और भी गर्म हो गई थीं. कभी कभी ऐसा हो जाता था कि मोहन भैया मुझे और अपनी बहन को अपनी कार से ऑफिस छोड़ देते थे.

इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ मैंने जीजू के लौड़े को चूस कर अच्छे से साफ कर दिया और हम अलग हो कर कपड़े पहनने लगे. फिर उन्होंने मुझसे अपने लंड की मसाज कराई और बस दो मिनट में उनका पानी निकल गया.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी यूट्यूब

उसी वजह से उस दिन मैंने ऑफ ले रखा था, तो मैं उस दिन घर पर ही रह गया था. उसके इस अचानक प्रहार से मैं एकदम से चिल्ला उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद धीरे चोद भोसड़ी के. उन्हीं दिनों दीवाली का त्यौहार आया, तो मैं अपने माता पिता से मिलने गांव आया था.

उन्हें देख कर मेरा लंड इतना टाइट हो गया कि अन्दर चड्डी में ही दुखने लगा. तब सागर ने मुझसे कहा- बात तो आपकी सही है, मगर एक बात मैं आपसे पूछता हूँ. कॉफी बनाने की मशीनमैंने उनको रूम पर लड़की लाते हुए भी देखा था लेकिन मैं इग्नोर कर देती थी.

कमलेश बोला- साली के चूचे तो देख … कितने टाइट हैं … शायद अभी तक किसी ने दबाए ही नहीं हैं.

प्रिया अब पूरे जोश में थी और मेरी ताल से ताल मिलाकर अपने कूल्हों को उचका रही थी. वह मेरे स्तन देखने में इतना व्यस्त था कि मेरे नीचे उसका ध्यान ही नहीं गया।अब मैं सीट पर बैठ गयी और मेरी जीन्स पूरी उतार कर आगे की सीट पर डाल दी.

मैंने उससे पूछा- इतनी जल्दी कैसे?वो बोली- मैंने अपने घर बोला है कि आज मैं अपनी एक फ्रेंड के घर रुकूँगी, इसलिए जल्दी आ गई. उसके बाद उसने अपने कपड़े भी उतार दिये और मेरे सामने बिल्कुल नंगा हो गया. आह क्या मस्त फिगर था उनका … पहली बार में लंड ने हिचकोले लेने शुरू कर दिए थे और पहला मौका मिलते ही मैंने उनके घर के बाथरूम में ही जाकर भाबी की मदमस्त देह को याद करके मुठ मार ली.

उन्होंने नीचे ब्रा नहीं पहन रखी थी, जिस वजह से उनके गोरे गोरे सुडौल बड़े बड़े मम्मे मेरे सामने फुदकने लगे थे.

सुबह का दृश्य मेरे मन में कौंध गया, जब वो मेरी स्पोर्ट्स ब्रा को सूंघ रही थी. फिर मैंने उन दोनों को ऋतु की फोटो दिखाई तो वो उसको ध्यान से देखने लगे. प्रीति ने बिलबिला कर मेरे होंठ छोड़ दिए और मेरी तरफ सवालिया निगाहों से देखा.

फुल सेक्सी वीडियो इंडियनमेरे मुँह में उसका लौड़ा ढंग से नहीं आ रहा था, पर फिर भी वो जोर लगा रहा था. आलिया चुत पर हाथ घुमाते हुए कराहने लगी- आह अ … आह … फट गई शायद …मैं- सॉरी …वो मुझसे पूछने लगी- तेरा पहली बार था क्या?मैंने हां में सर हिला दिया.

कैटरीना सेक्सी मूवी

फिर मैं उसे आगे पीछे करने लगी। सच में मुझे ऐसा फील हो रहा था कि मैं दूसरी दुनिया में आ गयी हूँ।मेरी चूत पानी छोड़ने लगी थी तो चूत काफी चिकनी हो गयी थी और नकली लंड भी पूरा गीला हो गया था।और मेरा 15 मिनट बाद पानी निकल गया और आज काफी ज्यादा पानी निकला था. मैं झड़ गई थी, लेकिन चुदने का एक ऐसा भूत सवार था कि मैं फिर से तैयार हो गई. उनका एक दिन मेरे पास फोन आया, वो बोले- आप मुम्बई आओ तो जीजा जी को भी साथ में ले आना.

कम से कम आप के लिए तो ऐसा ही रहूंगा।मुझे हमेशा से पता था कि वह एक अच्छा इंसान है, सीधा सादा … सब पर भरोसा करने वाला. फिर उनके हाथों ऊपर उठा कर उनकी बगलों को सूंघने लगा, तो मानो वो अपना आपा ही खो बैठीं. ” ज्योति ने चिल्लाते हुए कहा।ओह्हह बेटी तुम कितनी अच्छी हो, मुझे अपने कानों पर यकीन नहीं आ रहा है.

फिर शुरू हुआ चुसाई का जबरदस्त खेल … मैं सपड़ सपड़ करके उसकी चूत चूस रहा था और वो घअप्प घअप्प करके मेरा लंड चचोर रही थी. मेरे पति अब खाना ख़त्म कर चुके थे और हाथ धो कर सामने वाले कमरे में चले गए, मैं बस उनका साथ दे रही थी।वो बार बार मेरी तरफ देख रहे थे मुझे उनका इस तरह देखना अच्छा नहीं लग रहा था।अचानक मैंने गौर किया कि वो मेरे उभरे हुए वक्ष को बार बार देख रहे हैं. लंड रितिका की चुत में और मुँह में गांड का मजा … ये बात किसी जन्नत के सुख से कम थी.

जैसे ही मैंने थोड़ा सा जोर लगाया और मेरे औजार का टोपा ही इसके छेद में घुसा कि ये जोर जोर से चिल्लाने लगी. ज़रीना के मुंह से आह्ह … श्सस्स … अम्म … आह्ह की आवाजें निकल रही थीं.

” कह के उसने मेरी चोली ऊपर सरका दी।अच्छे से अपनी गांड का स्वाद मुझे दे कर फिर बोली- अब यूं बता … मेरी चूत कैसे चूसेगी?जी जैसे आप चाहें!”आ जा फिर!” कह के वो सीधी लेट गयी टांगें चौड़ी करके।आज तेरे लिए ही साफ चिकनी की है.

मुकेश ने निशा को बताया कि ये आज पहली बार बालाघाट आकर होटल में रुका है क्योंकि इससे पहले वो हरदम मेरे साथ ही रुकता था. काली लड़की का सेक्सी वीडियोजब मैंने बेल्ट को हाथ लगाया तो वो कहने लगी कि रुक जा … मैं पी रही हूं. सेक्स फिल्म का वीडियो दिखाइएजब उसकी एक उंगली मेरे गांड में आसानी से जाने लगी, तो वो 69 में आ गई. फिर से कमरे में मम्मी की सिसकारियाँ गूँज उठी- उहह हहह हहह अहह मर गई रे … रे जोर से!विक्की- क्या चुत है तुम्हारी … चुत के अंदर तक … आहह अहह क्या मजा आ रहा है.

फिर मैंने उसकी गर्दन पर हल्के से चूमा और वो पगली वहीं पर पिघलने जैसी हो गई.

मैंने अपनी सास को अपनी ओर खींच लिया और उनकी गर्दन और कान की लौ पर किस करना शुरू कर दिया. तू शादी के बहाने मेरे घर आ जाना और यहाँ से ही उनसे मिलने भी चली जाना. मेरे साथ देते ही बॉस मुझसे एकदम से चिपक गए और अब धीरे धीरे उनका हाथ मेरी गांड पर आ गया.

कुछ देर यही चलता रहा और फिर जब वो झड़ने वाले थे, तो दोनों ने लंड मेरे मुँह में ठूंस दिए और मेरे हाथ भी पकड़ लिए. थोड़ी देर बाद उसने लंड से मुंह हटा लिया और अपने दुपट्टे से मुंह पौंछ डाला. ऐसे ही 2 से 3 महीने बीत गए।फिर एक दिन मेरे पति ने घर आ कर बताया कि उनका प्रोमोशन हो गया है.

गांव का नंगा सेक्सी वीडियो

ऐप इंस्टाल कैसे करेंहाय दोस्तो, मेरा नाम गायत्री है और मैं बाड़मेर, राजस्थान से हूँ. मेरी मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी कुंवारी चूत को किरायेदारों ने चोदा-2. उसकी इस हरकत को मैंने इग्नोर कर दिया … क्योंकि अब मैं उसको जल्दी से जल्दी भेजना चाहती थी.

उसके अलावा और भी दो-तीन अच्छी लड़कियां थीं वहां पर, लेकिन मेरी नजर में वो पहली ही दफा चढ़ गई थी.

उसके अलावा और भी दो-तीन अच्छी लड़कियां थीं वहां पर, लेकिन मेरी नजर में वो पहली ही दफा चढ़ गई थी.

इसलिए बोल रही हूं कि अगर तुझे उसका लंड पसंद आ गया है तो जाकर चुदवा ले. एक तो मेरा लंड इतनी देर से उसकी चूत पर कमीज़ के ऊपर से ही ठोकर मार रहा था. सेक्सी बस वीडियोपरीशा- बहुत अच्छा … बहुत ही प्यारा प्यारा। जब आप मेरी चूत चाट रहे थे तो जैसे मेरे बॉडी में फूल ही फूल खिल गये थे, सारे बदन में रंगीन फुलझड़ियाँ सी झर रहीं थीं। मैंने सोचा भी नहीं था कि ये सब इतना मस्त मस्त लगेगा!और अब कैसा लग रहा है?” मुकुल राय ने पूछा।लग रहा है मैं बहुत हल्की फुल्की सी हो गई हूँ। मेरे भीतर से कुछ बह के निकल गया है। जो मुझे हरदम बेचैन किये रहता था.

आप असहज महसूस कर रही हैं?सोनिया- असहज नहीं रोहन … बस …रोहन- ठीक है, अगर आपको इस बारे में बात करना पसंद नहीं तो मैं ज़ोर नहीं दूंगा. फिर जब मैं चुत में उंगली करने लगी, तो उसने मुझे रुकने का कहते हुए चला गया. यही सब मेरे दिल और दिमाग में चल रहा था।उन्होंने मुझे रूम में लाकर दरवाजा बंद कर दिया और अपना और मेरा समान आलमारी में रख कर मेरे पास आये और अपने दोनों हाथ मेरे कंधे में रख कर मेरी आँखों में देखते हुए बोले- पूजा मुझे अभी भी यकीन नहीं हो रहा कि तुम मेरे पास हो.

वो बोल रहे थे- आह रसिका एक बार लंड लगाने दे … आह एक बार चोद देने दे. एकदम चिकनी चूत … साफ़ बेदाग सी चूत …उसकी चूत की मोटी मोटी सी फांकें मुझे दीवाना बना रही थीं.

मैं इस बात का क्या मतलब समझूं?वो बोली- यार जब लोगों को ये पता चला कि तू मेरे साथ नहीं है तो मेरा ये हाल कर दिया उन्होंने.

इसके कुछ पल बाद भाभी जी उठीं और मेरे कपड़े खींचते हुए फाड़ने सी लगीं. फिर तो सोफे पर, बाथरूम में, किचन में, हर जगह मनोज की चूमा चाटी चलती. ओह … थैंक यू!” कहते हुए मधुर ने हाथों से मेरा सिर पकड़कर मेरे होठों को जोर से चूम लिया।प्यारे पाठको और पाठिकाओ! क्या आप ‘आमीन!’ भी नहीं बोलेंगे?यह कहानी साप्ताहिक प्रकाशित होगी.

पंजाबी सेक्सी गर्ल वीडियो उनसे गांड मरवाने की आदत तो लग गयी, लेकिन मरद साला ढिल्ला है … चूत में ही बराबर नहीं करता, तो गांड क्या मारेगा. मैं तो बस देखता ही रहा भाभी की पीले रंग की पैन्टी पूरी साफ दिखाई दे रही थी.

उसके बाद उन्होंने मुझे अपने रूम में बुलाया और कहने लगीं- शालू अभी छोटी है. मगर महेश को उस वक्त कुछ पता ही नहीं था इसीलिए उसने अपनी बहू के सर को पकड़ कर एक धक्का और मार दिया जिससे महेश का लंड 4 इंच तक नीलम के मुँह में घुस गया। नीलम की आँखों के सामने अँधेरा छाने लगा उसे लग रहा था कि बस आज तो उसकी मौत आ चुकी है, वह बहुत ज़ोर छटपटा रही थी. ” समीर ने अपनी पत्नी को समझाते हुए कहा।समीर, अगर तुमने उसे नहीं छोड़ा तो मैं भी तुम्हारे अलावा किसी गैर मर्द से सम्बन्ध बना लूंगी.

कुत्ता लड़की सेक्सी फिल्म

दो तीन फोटोज अलग अलग ऐंगल्स से अलग अलग पोज में लिए और भाई को भेज दिए. मैंने आते ही उसके चूचों को दबा दिया और उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. तभी पिंकी ने नीचे बैठ आकर राहुल का टॉवल हल्का सा हटाया और उसका लंड मुँह में ले लिया.

मैंने उसकी तरफ कातर भाव से देखा तो उसने मुझे सीधा लेटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया. यह सुनने के बाद उन्होंने मुझसे कहा- आप बिना झिझक के कहो, जो भी कहना है.

मैंने उसकी कमर को अपने हाथों से जकड़ लिया और अपने पैरों से उसके पैरों को बांध सा लिया.

एक घंटे तक दोनों की चुदाई चली, अलग अलग आसनों में लंड लेकर मम्मी को बहुत मज़ा आ रहा था. जिसके आनन्द के सामने सब सुख फीके हैं उसका रूप भी आनंददायक तो होना ही चाहिए. मैंने मसखरी की- दूध कम लग रहा है क्या चाय में?बॉस- नहीं मेरी जान, पर तेरी चूचियों में कुछ नशा सा है.

राज का लंड मेरे मुंह में था और उसके मुंह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. उसके भरे हुए मम्मे उसकी बाली उम्र में ही उसकी सेक्सी जवानी को बिखेरते थे. हम तीनों ने एक-दूसरे की तरफ देखा और मुस्करा दिये क्योंकि हमारा प्लान तो कामयाब हो गया था.

”हओ… ठीत है गुलुजी।” गौरी ने हंसते हुए कहा।गौरी एक काम तो आज से करो?”त्या?”एक तो ‘हओ’ और ‘किच्च’ की जगह अब ‘यस’ और ‘नो’ बोलना शुरू करो। और अंग्रेजी के छोटे-छोटे वाक्य बोलना शुरू करो जैसे थैंक यू, सॉरी, प्लीज, ओके, वेलकम, स्योअर … आदि।”हओ… सोल्ली… इ.

इंग्लिश बीएफ मराठी बीएफ: सब होने के बाद बॉस ने मुझसे कहा कि देर हो गई, चलो मैं तुम्हें घर छोड़ देता हूँ. मतलब उसके हुस्न को सोचते हुए मैं ये कहानी लिख रहा हूं, तब भी मेरा लंड फड़फड़ा रहा है.

इस पर उसने पूछा- आप ड्रिंक करते हैं या नहीं?मैं बोला- हां मैं करता तो हूँ, लेकिन भाभीजी बुरा ना मान जाएं. करीब 5 मिनट बाद उसके लंड से कुछ बाहर निकला, जो मुझसे गटका नहीं गया. मैंने उससे फोन नम्बर ले लिया और उसको ज्यादा पैसे देने का वादा किया तो वो कुछ सोच कर मान गयी.

अगर तुम भी मुझे चाहती हो तो मुझे किस करने से मत रोकना।बेशक मैं नशे में थी मगर बेहोश नहीं थी, मैं वैसे ही लेटी रही.

राज और मैंने बहुत बार लिप किस किए थे और कितनी ही बार उसने कॉलेज बाथरूम में मेरे बूब्स चूसे थे. उनके घर के नजदीक आने पर मैंने आंटी से कहा कि मुझे पानी पिला दो, बड़ी प्यास लगी है. मौसी बोलीं- समीर बेटा आज अपनी सारी हसरतें पूरी कर लो और मुझे भी चोद चोद कर निहाल कर दो.