फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में

छवि स्रोत,दाल कितने प्रकार की होती

तस्वीर का शीर्षक ,

xxx के वीडियो: फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में, मैं उसकी दोनों टांगों के बीच मैं बैठ गया और अपना बड़ा लंड चुत की फांकों में घिसने लगा.

लङकी सेकसी

मैंने कहा- आंटी, इधर तो कई तरह के झूले लगे हैं … आप कौन से झूले में जाना चाहेंगी?वो बोलीं- दो तीन किस्म के झूले तो झूलूंगी ही. दोपहर की शायरीमेरी अम्मी पीयूष के लंड पर अभी भी लगे काफी सारे माल को ऐसे चाट रही थीं जैसे उन्हें वो रस चॉकलेट क्रीम का सा स्वाद दे रहा ही.

मैं उत्तेजना भरी आवाजें निकाल रहा था- आह आह चूस … शाजिया लंड चूस ले. ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್उसके हाथ अपनी चूचियों को मसल रहे थे और वो अपने होंठों को दांतों से चबाने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

मैंने कहा- ठीक है आप मोबाइल ठीक करो, तब तक मैं यहीं बैठ कर इन्तजार करता हूँ.फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में: फिर लॉबी में ही धीरे धीरे मैं कभी दीदी की चूची पी रहा था, कभी उनसे लंड चुसवा रहा था.

मैंने पूछा- कोई डिस्टर्ब तो नहीं करेगा ना?उसने बोला- किसी को पता ही नहीं है कि मैं अन्दर हूँ.तभी मौसी ने कहा- तेरे लिए जगह छोड़ रखी है ऋषि … तू मेरी टीम में आ जा.

हिंदी में सेक्सी वीडियो कॉम - फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में

मैंने उससे कहा- बुर को उंगलियों से फैला कर खोलो!उसने बुर को उंगलियों से फैलाया.उसकी नाभि से मस्त सुगंध आ रही थी तो मेरा मन उसकी नाभि को खा जाने का कर रहा था.

उसने अपना लंड सहला कर पूछा- मुझे देखती ही रहोगी या उससे भी खेलोगी?मैं समझ नहीं सका कि पता नहीं वो किससे खेलने की बात कर रहा था. फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में मैंने उसका लंड पूरा मुँह में भर लिया और गले और जीभ से उसका सुपारा ऐसे दबाने लगी, जैसे मैं लंड निगलना चाहती हूँ.

5 इंच लंबा और काफी मोटा हो गया था।दोस्तो, उस वक्त मैं किराये के घर में रहता था.

फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में?

मैंने उसके मुंह से लंड निकाला और चुत चूसना छोड़ कर उसको किस करने लगा. मगर अब वो लंड चुत चुदाई की फिल्में देखता है, तो मुझे उसके सामने नंगी होने में शर्म आएगी. हमारे पास पैसे की कोई कमी नहीं है, पर मुझे अकेलापन बहुत महसूस होता था.

दीदी बोली- वीर ये सब सही नहीं लग रहा मुझे, ये सब करना हमारे लिए सही नहीं है. ये देख कर मैंने मधु को खड़ा किया और पूजा की गांड में से रबर का लंड निकल गया. मेरी बातों का बहुत जल्दी असर हो गया था उस पर!फिर मैंने उसकी ब्रा खोली और एक हाथ पैंटी के अंदर डाल दिया था।साली ने बाल काटकर चिकनी चूत कर रखी थी.

कुछ देर बाद मैंने उनकी जींस के बटन को खोला और चैन खोलते हुए जींस नीचे सरका दी. मॉम ने भिखारी का लंड मुँह से निकाला और टीवी चालू करके और अपने मोबाइल का ब्लूटूथ कनेक्ट कर दिया. मॉम- कितने गंदे हो गए हो, कितने दिन से नहीं नहाए!भिखारी- पिछली बार आपने नहलाया था, तब से नहीं नहाया है.

[emailprotected]हिंदी हॉट कहानी कहानी का अगला भाग:ढलती उम्र में अदल बदल- 4. तब मैंने केशव को फ़ोन लगाया और उसे दो लोगों के नाश्ते के इंतजाम करने को बोला.

उसके बाद मैं (रतन) और मोहिनी सोने की तैयारी करने लगे। हमारे तीन पैग खत्म हो गए थे। हमने खाना खाया और सो गए।दोस्तो, आपको ये फर्स्ट टाइम लेस्बियन लव स्टोरी कैसी लगी बताना जरूर!नीचे दिए गए ईमेल आईडी पर अपने मैसेज भेजें।[emailprotected]फर्स्ट टाइम लेस्बियन लव स्टोरी का अगला भाग:एक अनोखी शादी- 3.

मैंने उसकी कुर्ती को थोड़ा सा ऊपर करके अपना अन्दर डाल दिया और उसके कुछ करने या कहने से पहले ही मैं उसके चूचों से खेलने लगा; उन्हें दबाने लगा.

इससे वो एकदम से चिल्लाई- आह नरेश … ये क्या कर रहे हो!मैं रुक गया और मैंने पूछा- नरेश कौन है?वो एकदम से सकपका गई कि उसके मुँह से ये क्या निकल गया. मैं दीदी को मुंबई पहुंचा कर वापिस अपने शहर मम्मी पापा के पास आ गया था. जब मैं छोटी थी, तब मैंने आपको अंकल की बेटी की शादी में देखा था, तब से मैं आपकी दीवानी थी.

फिर जब मैं ट्यूशन से लौट कर घर जैसे ही आया तो मम्मी ने मुझे आवाज दे दी. उन्होंने न तो मुझसे कुछ कहा और न ही अपनी गांड को लंड से हटाने की कोशिश की. मैं धीरे से उठा और कमरे का दरवाजा खोलकर पहले मैं छत पर गया और सावी भाभी को फोन लगाया.

मेरे सवाल का जवाब न देते हुए उसने बोला- चल अब तू अपने कपड़े उतार दे.

रुक रुक कर मैं अपनी उंगली भी उसकी गांड में घुमाता रहा और दबा-दबा कर उसकी चूचियों को मसलता रहा. उसके मुँह से ‘अह अह अंह … उम्म सता क्यों रहा है साले … अब पेल भी दे लवड़े …’ की वासना भरी आवाज़ें आ रही थीं. मैंने जैसे ही किस करना बंद किया, उसकी धीमी आवाज में कामुक कराहें आनी शुरू हो गईं- आह आह ओह आहम्म करते रहो … आह करते रहो … आह.

विकी- ठीक है मेरी जान तो देखो … आज मैं तुम्हें कैसे मजे करवाता हूं. उसकी गीली उंगली को भिड़े अपने मुँह में लेकर उसकी चुदी-चुदाई चूत के गीलेपन का रसपान करने लगा. काशिफ मेरे दूध दबाते हुए बोला- हां वो भी दिखाऊंगा … जरा मुझे भी तो अपना आइटम दिखा.

मैंने उसकी कच्छी को एक साइड रखा और उसकी टांगों को फैला कर उसकी नंगी गुलाबी चिकनी चूत को चूमा.

मैंने पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- आज मुझे मज़ा आ गया … मैं पूरी तरह संतुष्ट हो गई हूँ. उसने अपने हाथों में तेल मला और मेरी बीवी के पैरों के निचले हिस्से पर मलने लगा.

फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में उसकी ये बातें सुनकर मुझे बुरा तो लगा, लेकिन मैं कोई प्रतिक्रिया भी नहीं कर सकता था. क्या नजारा था मेरा लंड इस हसीना के खूबसूरत चेहरे के बिल्कुल सामने था.

फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में भाभी ने मेरा सर जोर से अपनी भीगी चूत पर दबा लिया और मैं उस रसीली चूत को जोर जोर से चाटने लगा. उसके बाद थोड़ी देर तक ऐसे ही चलता रहा, फिर धकापेल का खेल शुरू हो गया.

आंटी ने मुझसे पूछा- क्या हुआ बेटा?तो मैंने कहा- आंटी, मुझे आपकी चूत चाटना तो अच्छा लगता रहा है लेकिन चूत का पानी पीना अच्छा नहीं लगा.

बफ दिखाओ हिंदी में

कुछ देर बाद उसने मेरे होंठों से निप्पल खींचा तो मैंने उसकी तरफ देख कर नाख़ुशी जाहिर की. मैंने उससे पूछा- अब तो तुझे कोई छेड़ता नहीं है?उसने हंस कर कहा- नहीं, अब कोई परेशान नहीं करता है. मैं प्रीति के पास गया और उसके हाथ उसकी आंखों से हटा कर उसके एक हाथ में अपना लन्ड पकड़ा दिया.

चाची मेरे लंड को प्यार से सहलाने लगीं और शायद वो मेरे लंड से अपनी चुत की प्यास बुझाने का सोचने लगी थीं. मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया, तो वो बोलीं- क्या हुआ … तू रुक क्यों गया … कर ना. आप रेडी होकर मुझे लेने मेरे घर आ जाओ, तब तक मैं भी रेडी हो जाती हूँ.

मेरा नाम जब आया तो मैम मेरा अच्छा खासा वाइवा लेने के लिए तैयार थीं.

उसी समय मुझे कुछ गर्म गर्म सा अपने लंड पर फील हुआ, मैं समझ गया कि इसकी सील टूट चुकी है. वो मेरा लंड आज ऐसे चूस रही थी जैसे वो अपनी पसंदीदा लॉलीपॉप चूस रही हो. विवेक भी मुझे वो सभी सुख देता था, जो एक रंडी को अपने यार से मिलता है.

इसके बाद मैंने भाभी को कई बार चोदा; उनकी गांड भी मारी और उनसे लंड भी चुसवाया. मैंने भी होश में आते हुए उनके होंठों पर किस किया और उन्हें हां में जवाब दिया. मैंने उन्हें चूमते हुए कहा- गांव से वापस आकर सब होगा, मुझे 2-3 दिन लगेंगे.

लेकिन शिवानी नई नवेली खिलाड़ी होने के कारण लंड सही तरीके से नहीं चूस पा रही थी. मैंने चुत से लंड निकाल लिया और नफीसा आंटी की गांड में रगड़ना शुरू कर दिया.

बीस मिनट बाद मेरा लंड सटासट सटासट सटासट करते हुए थक गया और ज्वालामुखी फट गया. तो मैंने क्या किया?दोस्तो, मेरी अम्मी शाजिया की चुत चुदाई की कहानी में आपका स्वागत है. मैं उसकी चूत का रस पिए जा रहा था और वह मेरे लंड को पूरा मुंह में लेकर चचोर रही थी.

छोटा सा, भूरा सा और गांड खुलने की वजह से बड़ी मदहोश करने वाली ख़ुशबू आ रही थी.

वो कराहती हुई बोली- सूरज, पूरे दो साल के बाद मैं अपने पति के बाद तुमसे ही चुद रही हूँ, तो मुझे अपनी पहली चुदाई याद आ रही है. मैंने उंगलियों के इशारे से चुत की चमक की तारीफ़ की तो दीदी ने शर्माते हुए कहा- आज सुबह ही सफाई की है. वो हंसती हुई बोलीं- मैं तो तुम्हारे लौड़े की गुलाम हूं … बेगम हूं तुम्हारी … तुम जैसे चाहो वैसे चोदो.

लेकिन वो गया नहीं बल्कि उसने कहा कि मुझे तुम्हारी सहायता की जरूरत है. इतने में प्रीति भी आ गयी तो ससुर जी ने उसे कुछ नहीं पूछा और प्रीति को फिश धोने के लिए बोल कर मेरे पास आकर बैठ गए.

मेरी चड्डी पूरी वीर्य से सन गई थी और लोअर भी ऊपर की तरफ थोड़ा गीला हो गया था. कुछ ही पलों में उसके लंड से प्रीकम आने लगा था, जिसके कारण लौड़े की जगह पर अंडरवियर गीला हो गया था. वो मेरी जांघ पर हाथ चलाने लगा और धीरे से बोला- आप वास्तव में ऐसा करवाना चाहती हैं?मैंने कहा- कैसा?वो फिर से सकपका गया मगर इस बार उसने कुछ साहस दिखाया और अपनी उंगली को मेरी पैंटी के किनारे से रगड़ते हुए कहा.

बीएफ 2019 की

मैंने अपनी रफ्तार बढ़ा दी और पूरी गति से लंड चुत में अन्दर बाहर करने लगा.

वो मेरी तरफ देखने लगीं और मैं उनके एकदम करीब होकर अपनी गर्म सांसों से उन्हें उत्तेजित करने लगा. इतने में डोर बेल बजी, मैंने अन्दर से पूछा- कौन?बाहर से आवाज आई- सर आपका ऑर्डर है … मैडम ने ऑर्डर किया था. मैंने पूछा कि उसने तुम्हें क्यों छोड़ा!वो बोली- उसने नहीं, मैंने उसको छोड़ा था.

मुझे गांड मरवाना इतना अधिक पसंद है कि मैं अपने खर्चे से गांड मरवाने चला जाता हूँ. हालांकि मधु को अभी भी लंड लेने में दर्द हो रहा था क्योंकि उसकी चुत पहले से ही चुदने के कारण बहुत दर्द दे रही थी. सेक्सी फिल्म वीडियो के साथकरीब बीस मिनट तक मैं उन्हें अपने सीने से लगाए हुए चुप कराने की कोशिश करता रहा था.

मैंने कहा- मैंने भी आज तक कोई लड़की नहीं चोदी है … लेकिन तू मेरी बहन है इसलिए बस मैं एक बार तेरे चूचे टच करके देखना चाहता हूं … वो भी अगर तू चाहे तो!मेरी बात सुनते ही स्वाति ने मेरा एक हाथ पकड़ा और उसके गोल मटोल चूचे पर रख दिया और बोली- लो कर लो भैया, जो भी करना हो … और अब मत तड़पाओ. मुझे नहीं पता था कि मेरा ये सफ़र मुझे और मेरी सोच को इतना बदल देगा.

दस मिनट तक अपना लंड चुसवाने के बाद उसने मुझे उसने पलट कर घोड़ी बनने के लिए कहा. तभी मम्मी ने पापा से पैसे मांगे और कहा- मुझे पार्लर जाना है, तो कुछ रूपए दे दो. एक मिनट बाद उन दोनों की आंखों में कुछ इशारा हुआ … और विकी उठ कर मॉम के सामने पड़ी कुर्सी पर बैठ गया.

अब मैंने उनके गाउन के ऊपर से उनके बड़े-बड़े मम्मों को दबाना चालू कर दिया. अब परसों क्या क्या हुआ था और अंकल ने उस दिन मम्मी की हालत कैसी की, वो सब मैं सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. मैंने उस रात पहली बार एक रात में 5 बार मुठ मारी थी … लेकिन तब भी मेरा लंड शीला दीदी की चुदाई के बिना शांत नहीं होने वाला था.

यूं तो इसे सेक्स कहानी नहीं कहेंगे, ये मेरी पहले प्यार की कहानी थी, उसके साथ मेरा पहला मिलन हुआ.

जैसा कि मैंने आपको बताया था कि मेरे पापा काम के कारण अधिकतर घर से बाहर ही रहते हैं और मेरी मॉम बहुत प्यासी रहती हैं. दीदी बोली- वीर ये सब सही नहीं लग रहा मुझे, ये सब करना हमारे लिए सही नहीं है.

चाची पूछने लगीं- पहले कभी ये कुछ किया है तुमने?मैंने पूछा- क्या?वो बोलीं- वही … जो मेरे साथ कर रहे हो. अम्मी ने मुस्कुरा कर नवीन की तरफ इशारा करते हुए अपना सर सवालिया मुद्रा में किया. मॉम घोड़ी बन कर उसका लंड चूसने लगी थीं और उस भिखारी की आंखें बंद थीं.

फिर अपने लंड को पैंट के भीतर से ही उसकी गांड पर रगड़ते हुए उसके निप्पल मींजने लगा. वह ड्रेस डार्क रेड कलर की थी और चूचियों से शुरू होकर नीचे पैर तक वन पीस थी. सच में मैडम एककातिलाना माललग रही थीं और ऊपर से ये कातिलाना हसीन रात थी.

फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में मैंने कहा- मैं मम्मी से क्या बोलूंगा?नफीसा आंटी ने मेरी मम्मी को फोन कर दिया और बोलीं- दीदी, कल सलीम का टेस्ट है … तो आप राज को मेरे घर भेज देना. प्रीति के मुंह से गर्म सिसकारियां निकलने लगी, मेरा लन्ड पूरा तन चुका था जिसे प्रीति बार बार अपनी गांड से दबाये जा रही थी.

மலையாள ஆன்ட்டிகள்

आंटी ने लंड पर कंडोम लगाया और अपनी चूत में लन्ड सेट करके बोली- राज अब अंदर डालो!मैंने जोर से धक्का लगाया तो मेरा आधा लंड अंदर चला गया. अब आगे कामुकता सेक्स स्टोरी:मेरा सारा ध्यान पीछे से उसकी गांड की थिरकन पर ही टिका था. दिन में जाकर मैंने उस खिड़की से बाथरूम में झनकने का पूरा प्रबंध कर लिया था.

ऐसा नहीं था कि भिड़े ने माधवी की चूत नहीं देखी थी लेकिन माधवी का यह बिंदास स्वरूप वो आज पहली बार देख रहा था. अब आगे देसी वर्जिन सेक्स कहानी:शिवानी- आह आह अहह … हह ओह आह … धीरे धीरे दबाओ यार. हिंदी सेक्सी व्हिडिओ इंडियनमॉम के मम्मों के ऊपर काले अंगूर जैसे चूचुकों को देख कर मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया.

उसने एक दो बार गांड को उठाया और तीसरी बार में अपना कामरस छोड़ कर अपने जिस्म को थिरकाने लगी और कुछ पल बाद धम से बेड पर गिर गयी.

भाभी की चुत की तारीफ करने का समय आ गया था … परंतु जन्नत का दरवाजा फिलहाल एक काले रंग के पैंटी से बंद था. उनका हाथ विकी के सर पर आ गया और विकी ने भी किसी कुत्ते के जैसे मेरी मॉम की चुत को चाटना शुरू कर दिया.

मैंने कहा- अरे दीदी तुम डरो मत, मैं बिल्कुल आराम से करूंगा और तुम्हें दर्द हो, वैसा कुछ नहीं करूंगा. कुछ पल बाद मैंने लंड चुत से बाहर निकाल लिया और हम दोनों बेड पर लेट गए. मैंने धीरे धीरे उसके पेट को चूमते हुए नीचे की ओर गया तो वो और जायदा मचलने लगी.

फिर जैसे ही मैंने अपना लंड भाभी की चूत में डाला, तो भाभी के मुँह से आवाज़ आने लगी.

फिर अम्मी ने अपना मेकअप ठीक किया और वो दोनों लोग मॉल के अन्दर चले गए. मुझे सनी लियोनी के दूध बड़े मस्त लग रहे थे और वो एक काले हब्शी का लंड चूस रही थी. मेरे नीचे वो कोई अप्सरा है जो मुझे अपने अंगों से खेलने का मौका दे रही है.

नितंबों का अर्थ‘अहो आप समझने की कोशिश कीजिए न! आप मानते है न कि सोनू जवान हो गई है? क्या आप चाहते है कि सोनू यह सब कहीं बाहर से सीखे? और आप तो एक शिक्षक हैं, आपको तो पता ही होगा कि इस उम्र के बच्चों का एक दूसरे के शरीर के प्रति शारीरिक लगाव कितना होता है. बीस शॉट मारने के बाद मैंने उसकी चुत से लंड निकाला और उसकी दोनों टांगें ऊपर उठा कर मेघना की गांड में लंड पेल दिया.

हिंदी में सेक्स करते वीडियो

नफीसा आंटी 42 साल की हो गई हैं, लेकिन चुदाई का नशा उनमें 21 साल की जवान कमसिन लड़की से भी ज्यादा है. मैंने ‘वाह वाह …’ करते हुए उसको कसके जकड़ लिया और उसकी गोरी गोरी कमर में हाथ डाल कर उसे अपनी तरफ ऐसे खींचा कि वो पूरी मेरे ही ऊपर आ कर गिर गयी. मैंने बिना कुछ सोचे अपने लंड का माल सासू मां के मुँह में ही गिरा दिया.

तभी एक 40-42 साल की महिला आई और बोली- बेटा, मुझे मुम्बई जाना है लेकिन मेरी टिकट कंफर्म नहीं हो रही है।दिखने में औरत ठीक ठाक लग रही थी, उसने सफ़ेद रंग की साड़ी पहनी हुई थी।मैंने उनको बोला- ठीक है, आप मेरे साथ इस सीट पर बैठ जाइए. वो लम्बी सांस लेती हुई बोली- मैं जानती थी कि पहली बार में दर्द होता है … लेकिन इतना ज्यादा होगा, ये मुझे नहीं पता था. फिर मैंने थोड़ी हिम्मत करके पूछा- तो अभी तक तुमने उसके साथ कुछ किया … आई मीन किस हग वगैरह!शमा- नहीं, अभी तक तो कुछ नहीं किया … हां बस एक बार उसने मुझे हग किया था, मैं उसी वक्त उससे अलग हट गई थी … और किस भी नहीं किया है.

मैंने कोमल को उपर उठाके होंठों को चूमते हुए अपने ऊपर आने का इशारा क़िया. उसने अपनी पैंट खोल कर उतार दी और मुझे अपनी जांघों के बीच रगड़ने लगा. जितना मैंने आपको ऊपर लिखा था कि डॉक्टर ने स्टिक टॉवल में डाल दी थी.

अब अगले भाग में आपको इन दोनों की जवान बेटी सोनू को भी सेक्स कहानी में शामिल करूंगा. तेरी चुत की खुजली भी शांत हो जाएगी और तेरे पूरे परिवार की जिम्मेदारी भी मेरी होगी.

कशिश की कमर बिल्कुल पतली थी और उसके नीचे भारी और सख्त सी दिखने वाली पिछाड़ी उसको सुराही जैसे लुक में ढाले हुई थी.

जब उसने अपने हाथों में मेरा कड़क लन्ड महसूस किया तो उसने आँखें खोली. सेक्स मूवी वीडियो प्लेआपको यह इंडियन BF GF सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे मेल आईडी पर जरूर बताएं. लड़की लड़की की वीडियोसुमोना भी अपनी टांगों को और अपनी गांड को हिला हिला कर मेरे मन को मचलने पर मजबूर कर रही थी. उस लड़के ने उस आवारा से कहा कि नहीं … मैंने तुमको ये सब करने के लिए नहीं बुलाया था.

ब्लू फिल्म देखने के कारण मुझे पता था कि औरत को सबसे ज्यादा कहां मज़ा आता है.

मैंने उसके मुंह से लंड निकाला और चुत चूसना छोड़ कर उसको किस करने लगा. मैंने सावी भाभी को अब घोड़ी बना दिया और पीछे से उनकी चुत में लौड़ा डाल दिया. वो इतना कहकर मुस्कुराने लगी और मेरे पास से उठ कर क्लासरूम में चली गई.

दीदी के बच्चे आगे आगे दौड़ रहे थे और दीदी मुझसे चिपक कर चल रही थीं. अब मैं शिवानी को चोदने की खुशी में लंड मसलता हुआ घर आ गया और कल शिवानी को चोदने की खुशी में पूरी रात सो ही नहीं पाया. मुझसे कैसी शर्म है … और अगर मुझसे शर्म आती है तो मैं अपने घर चला जाता हूँ.

बीएफ हिंदी में ब्लू फिल्म

मेरी निगाहें जगप्रीत की मूछों पर गईं, तो अम्मी ने उसे इशारा कर दिया. अब मैं सीधा बैठ गया और उसको अपनी गोद में अपनी तरफ मुँह करके बैठा लिया. वो दोनों इसी तरह की बातें करते हुए मेरी अम्मी और बहन की चुदाई कर रहे थे.

मैं उनके बूब्स सहलाने लगा, वो लंड को अपने हाथों में लेकर मसलने लगीं.

मैंने आंटी के मम्मों को दबाना शुरू कर दिया और उनकी ‘आह आअहह ओहहह …’ की गर्म सिसकारियां निकलने लगीं.

मैं उसकी चूचियों को जोर जोर से दबाने मसलने लगा, फिर एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा. मगर आप इतनी जहीन हैं कि मुझे लगता है आपसे मिलकर ही मुझे मेरी जरूरतें पूरी हो पाएंगी. भयानक सेक्स वीडियोवो थोड़ा सा इठलायी और मुस्कुराती हुई चिप्स का पैकेट खोल कर वापिस सोफ़े की तरफ़ बढ़ने लगी.

मेरी गांड का छेद बहुत अरसे से चुदाई न होने के कारण सिकुड़ गया था।अब मैं एस्स प्लग को गांड में लगाने लगा ताकि छेद खुल जाए।मोहिनी मेरी माप के ब्रा, पैंटी और लड़कियों वाले कपड़े खरीद लाई. मुझे वो पोर्न चुदाई वाली वीडियो भेजने लगा … और अक्सर यही कहता रहा कि एक दिन तुम भी मुझसे ऐसे ही करोगी और मैं भी तुम्हारे साथ ये सब करूंगा. सुबह हो गई थी तो मैं सुबह घूमने वाली जनता के उठने से पहले उसे उसके घर छोड़ दिया.

इस बाइक की पीछे वाली सीट थोड़ी उठी हुई थी, जिस कारण से उनका मेरी तरफ ऊपर को आना स्वाभाविक था. ऐसे ही लंड चूस चूस कर भाभी ने मेरे लौड़े का पानी निकाल दिया और पूरा वीर्य गटक गईं.

ऊपर से साली की गांड से लौड़े के टट्टे टकराने से थप थप की आवाज हो रही थी.

मैं- क्या डाल दूँ मेरी जान?उमैय्या पूरी ठरक में बोली- अपना लंड … और हो सके तो अपने टट्टे भी घुसेड़ दो … इतना पागल कर दिया है तुमने. उनका कद कम था इसलिए भाभी एकदम पटाखा लगती थीं मतलब छोटा पैकेट, बड़ा धमाका. फिर तुम खुद मेरा लन्ड चूसने को तड़पोगी!” बोलकर मैंने अपना लन्ड उसके मुंह के सामने कर दिया.

सेक्सी वीडियो भारतीय उनकी मुलायम गांड को अपने हाथों से पकड़ कर चूत में जीभ घुस दी और ज़ोर ज़ोर से फिर से जीभ से चूत की चुदाई शुरू कर दी. फिर वो पल आ ही गया जब मेरे लंड के नसीब में आंटी की चुत मिलने वाली थी.

तो मैंने उससे कहा- ज्यादा अन्दर मत जाओ … पर मैं तुम्हें थोड़ा एन्जॉय करा सकती हूँ. मेरी आंखों में देखती हुई भाभी ने लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. दोस्तो, मुझे लगने लगा था कि जगप्रीत ने मेरी अम्मी को सैट कर लिया है.

मराठी झवने

मैं बहुत किस्मत वाला था … जो एकदम पैक माल मेरे लंड के नीचे आ गया था. अम्मी को पीयूष जैसा मर्द पसंद आ गया था तो वो उसे नाराज नहीं करना चाहती थीं. इतनी सुंदर, कोमल, गोरी और गुलाबी चूत मैंने अभी तक अपनी जिंदगी में शायद ही कभी देखी होगी … और अगर देखी भी होगी तो इंटरनेट पर, वो भी उन विदेशी लड़कियों की.

भाभी ने मुझे देखा और बोल उठी- तुम्हें क्या चाहिए बाबू … मैं कब से देख रही हूं कि तुम दूर चुपचाप खड़े हो. लंड चूसने से लेकर कभी कभी चुदाई करने तक की सारी हसरतों को पूरा करने के बाद मैं अपने शहर वापस आ जाती थी.

हॉट सेक्सी वाइफ की चुदाई तारक मेहता का उल्टा चश्मा की गोकुल धाम सोसाइटी में कैसे हुई.

प्यासी भाभी की चुदाई का मौक़ा मुझे मिला जब मैंने फेसबुक से एक भाभी को पटा लिया. तभी अचानक उन्होंने मुझे एकदम से जगा सा दिया और कहा- बाबा किन ख्यालों में खो गए आप?मैंने एकदम से अपना होश संभाला. गर्म वीर्य की पिचकारियां आंटी की चुत में गिरना शुरू हुईं तो मेरी आंखें मदहोशी में बंद हो गईं और लंड के स्खलन का सुख मिलने लगा.

मैंने मुस्कुरा कर कहा- मेरे लिए तो तूने ताजे दूध की बड़ी बड़ी टंकियां लगाई हुई हैं. वो बोलीं- अच्छा कहां है गिफ्ट … लाओ!मैंने कहा- मामी वो तो मैं रात में ही दूंगा. हमारे बीच सेक्स के बारे में बातें होने लगीं।मैंने स्वाति को लंड की फोटो की याद दिलाई जो उसने मुझे दिखाई थी।पूछा- कभी असली लंड का मज़ा लिया क्या?स्वाति ने ठंडी सांस भरकर कहा- अभी तक नहीं।मैंने उसे बताया कि मेरे पास काम क्रीड़ा का वीडियो है, देखना है?उसने हाँ की.

मेरा लंड तो उसकी चूत में ऐसी गर्मी दे रहा था कि कभी बाहर ना निकालूं.

फुल एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी में: अगली सुबह जब सविता अपने भाई को जगाने गयी तो बेडरूम में क्या हुआ?भाई बहन ने मिलकर क्या किया?जो भी किया, इस आवाज वाली वीडियो में देखकर मजा लें. तुम भी पियोगी क्या?उमैय्या- नहीं यार, तुम्हें तो पता ही है कि मुझे तो थोड़ी सी पीने से ही नशा हो जाता है.

अपना लंड मैंने मेघना के मुँह से निकाला और मेघना की चुत में पेल दिया. मैं दरवाज़े के पास जाकर खड़ा हो गया और कोशिश करने लगा कि उनको देख सकूं. अब मुझे मजा आ गया था और मैं उसके लंड को तब तक चूसती रही, जब तक वो दोबारा छोटा नहीं हो गया.

मुझे वो सब याद आ रहा था जो मोनिका मुझसे बोली थी कि आह और ज़ोर से बेबी … और जोर से चोदो.

खैर … अब मैंने शिवानी के कुर्ते को ऊपर खिसका कर पैंटी को खींचकर तुरंत टांगों में से बाहर निकाल दिया. मैंने भी लंड चुत से रगड़ा और उनके होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा. मेरे अब्बू मेरी अम्मी से खुश नहीं रहते थे, वह दूसरी औरतों के साथ शारीरिक सम्बंध बना कर रखते थे.