इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,करवा चौथ के बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

अंग्रेजी एचडी: इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ, मैंने पूछा- कैसा लगा?उसने हांफते हुए कहा- बहुत अच्छा … तुम्हारे लंड ने तो आज मेरी चूत की मस्ती ही निकाल दी, बहुत तड़प रही थी.

गांव के देसी बीएफ

करीब पांच मिनट की चुदाई के बाद मेरी बीवी बोली- मेरा फिर से होने वाला है. बीएफ वीडियो में एचडी हिंदीमैंने वैसे ही चुत को थोड़ा सहलाया और उसके बाद एक उंगली उसकी चुत में घुसा कर उंगली से चुदाई करने लगा.

जेठजी से नज़र मिलते ही मुझे शर्म आ गयी और मैंने अपनी नजरें नीचे कर लीं. एक्स एक्स ब्लू बीएफ फिल्मकई मिनट तक पापा मेरी चूत को रगड़ते रहे और इस बीच में मैं कई बार झड़ गई थी.

दोस्तो, आपकी कोमल मिश्रा एक बार फिर हाजिर है अपनी असल जिंदगी की एक और नई कहानी के साथ!आप लोगों को मेरी जिंदगी की कहानियाँ कैसी लग रही है, ये मुझे जरूर बतायें, मुझे मेल करें.इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ: तभी शान ने मुझे खींचा और मेरे सर को अपने हाथ से दबाते हुए मुझे घुटने पर बैठने को मजबूर कर दिया.

रोहन- क्यों अगर इस वक्त मैं तुम्हारे पास होता, तब भी कपड़े पहनती क्या?सोनिया- तब क्यों पहनती, तब तो तुम्हें ही अपने बदन से लिपटा कर सोती ना.” महेश ने अपनी बहू का हाथ पकड़ते हुए कहा।अपने ससुर का हाथ लगते ही नीलम के पूरे शरीर में एक सिहरन सी दौड़ गयी।बापू जी, जब आप मुझे छूते हैं तो मुझे पूरे शरीर में कुछ होने लगता है.

इंडियन सेक्सी बीएफ भेजो - इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ

मैंने पूजा को गोद में उठाया और बेडरूम में लाकर बिस्तर में पटक दिया अब मैंने उसका लोवर निकाल उसकी चूत में चाटना शुरू कर दिया.वो बोली- हां, मेरी चूत … आह्ह मेरी चूत … दीदी … मेरी चूत तो चिपचिपी हो चली है.

उनका लंड इतना बड़ा था कि दीदी के मुँह में पूरी तरह से नहीं आ रहा था. इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ मेरी चूत और गांड तो लंड खाने की शौकीन थी, लंड घुसवाने की आदत थी मुझे, लत लग गयी थी मुझे चूत गांड चुदाई की तो मेरा क्या बिगड़ जाना था.

अब तुम मुझे रंडी समझो या वेश्या समझो … वो तुम देख लो! लेकिन जो भी सच था वो मैंने तुमको बता दिया है.

इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ?

मैं बस इंतजार कर रही थी उनका लंड अपनी चूत में लेने का।बॉस ने मुझे ऐसे ही किस करते करते मेरी चूत में लंड डाल ही दिया. मेरी मां ने कीटनाशक दवाई भी पीने की कोशिश की और पापा उस दिन बहुत चिल्ला रहे थे तो सारे मौहल्ले को पता लग गया था कि मेरी मां के पास बाहर के मर्द भी आते हैं. दो दिन बाद मैंने देखा कि प्रतीक का मूड बहुत अच्छा है और आज उसको छट्टी भी थी.

अब जब उसके बाप का हथौड़े जैसा लंड उसकी कुंवारी गांड में घुसा तो उसे मालूम हुआ कि गांड की चुदाई करवाना बच्चों का खेल नहीं है. ’उसकी चुदास देख कर मैंने कुछ ही पलों में सबा को चोदने लायक नंगी किया. शायद मामी को यह समझ आ गया था इसीलिए इस बार उन्होंने हाथ छुड़ाने की ज्यादा कोशिश नहीं की जैसे कि मुझे झड़वा कर वो ये सब जल्द ही ख़त्म करना चाहती हों।जब मैं उनकी कलाई पकड़ के पीछे लाया तो मैंने गौर किया कि इस बार उनके हाथ में कुछ अलग सा फील है.

मैं जानती थी कि ये दर्द बस कुछ ही पल का है।उन्होंने एक दो बार लंड को आधा बाहर निकाल कर अन्दर डाला और लंड अच्छे से पुद्दी में सेट हो गया।कुछ देर तक वो ऐसे ही मेरे ऊपर लेटे रहे और कुछ ही देर में मेरा दर्द कम हो गया, मैं सहज हो गई।उन्होंने धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करना शुरू किया। लंड इतना मोटा था कि फुद्दी से चिपक के अन्दर जा रहा था. मैंने बॉस के लंड को अपने मुँह में और जकड़ लिया, जिससे बॉस ने मेरे सर को पकड़ के लंड पूरा मेरे गले तक घुसा दिया. तभी सुखविन्दर बोले- चुप मादरचोद साली … इतने में फट रही है? अभी तो खेल शुरू किया है हमने!और सुखविन्दर ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और मुँह को चोदने लगे।अभिजीत मेरी फुद्दी को पेलने लगा और करीब 5 मिनट में सुखविन्दर ने पूरा पानी मेरे मुँह में भर दिया, न चाहते हुये भी मुझे पूरा पानी गटकना पड़ा।कुछ देर में अभिजीत भी झड़ गया.

रात का सफर होने की वजह से मैंने लोअर और टॉप पहना था और ऊपर से स्टॉल लिया हुआ था. तभी यशिमा बोली- क्या हुआ जनाब … कहां खो गए हैलो … आप भी नहा लो, फिर खाना खाते हैं.

विवेक बोला- अब बंध्या मेरी रानी, अब तू मेरी कुतिया बन जा!मैं बोली- चाहे कुतिया बना या घोड़ी, मेरी गांड को फाड़ कर रख दे साले.

और ऐसे में अगर तूने अपने जीजू के साथ थोड़े बहुत मजे ले भी लिए तो कौनसा तूफान आ गया।वन्दना- ओह दीदी, आप कितनी अच्छी हो!यह कह कर उसने नीरू को बांहों में भर लिया.

हालांकि मैं उसे बचपन से जानती हूं, लेकिन इस बार उसका बर्ताव कुछ बदला बदला सा था. भाभी ने उसे हौसला देते हुए कहा- अब बस थोड़ा और …उसने फिर सहमति में सर हिलाया और भाभी उसके मम्मों को दबाने लगीं. मैंने मेम को अपनी बांहों में भर लिया और मेम भी मेरे सीने से चिपक कर अपनी सांसों को संतुलित करने लगीं.

अगले ही पल मैंने उसका गाऊन ऊपर से निकाल कर अपनी बीवी को पूरी नंगी कर दिया. ऐसा एक भी दिन नहीं जाता, जब वो मेरे मादक मम्मों को मसलता चूसता ना हो. हम दोनों ही आपसी सहमति से ये रिश्ता बरकरार रखना भी चाहते थे, इसलिए हम लोग जब भी टाइम मिलता, साथ में वक्त गुजार लेते हैं.

आपको मेरी उस ट्रेन में मेरी पंजाबी फुद्दी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर करें.

आप सभी को मेरी खेत में हुई 2 गाँव की भाभी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, कमेंट करके जरूर बताना. जॉली खिलखिला कर हंस दिया और इस बार उसके कूल्हे को पहले से ज्यादा कस कर दबोचा, जिससे रिया की बारीक़ सी आह निकल गई. हम दोनों मन बना चुके थे कि पूल खाली होने के बाद खुल कर मस्ती करेंगे.

चूंकि मैं पहले से ही उत्तेजित थी और संदीप के अहसास ने मुझे और गर्म कर दिया. मैंने धीरे से पूजा के लोअर में हाथ डाल दिया और उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से मसलने लगा. वहां आने के बाद मेरे मन में उसके लिए सेक्स जैसा कोई विचार नहीं आ रहा था.

कुछ सेकंड में ही उसकी योनि भीग गयी थी और उसकी उँगलियाँ वहां पर अपना काम कर रही थी.

जब मेरे हस्बैंड यहां नहीं होते हैं, तो मुझे ही उसकी देखरेख करनी होती है. धीरे धीरे बिना रुके ही मैंने पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया और उसको होंठों को अपने होंठों से दबाये रखा.

इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ फिर जब मूवी शुरू हुई तो उसमें एक किसिंग सीन को देख कर मेरी नजरें भी भटकने लगीं. मैंने उसके मम्मों के बीच में भी लंड लगा कर मम्मों को चोदा, मुँह की चुदाई की और फिर गांड भी चोदा.

इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं और क्या नहीं क्योंकि उसकी तरफ से मुझे कोई इशारा भी नहीं मिल रहा था. अभी मेरे लंड का सुपारा ही गांड में गया था कि मेम ‘उह आह मर गई …’ करते हुए चिल्लाने लगीं.

क्यों??”यह सुनकर मेरे होंठों पे मुस्कान आ गई, बिना कुछ बोले ही वो सब समझ गए।इतने में मैं अपने कमरे की तरफ जाने लगी.

anti ठंड xnxx

इतनी दूर वैसे मैं कभी जाता नहीं था लेकिन वो मजबूर थी और मैं उसकी आस को तोड़ना नहीं चाह रहा था. दो पल बाद मेरी आँखें खुलीं तो देखा कि सीमान्त ने अपना लंड रीमा के हाथ में दे दिया था. रोहित ने गमछा लपेटे ही संजू के करीब बैठ कर लैपटॉप में देखा और बोला- भाभी, ये तो बीएफ है.

फिर मैंने भी अपना परिचय दे दिया। इससे ज्यादा उससे कोई बात नहीं हुई और फिर उसका स्कूलआ गया और वो उतर कर जाने लगी. केवल फ़ोन या वाट्सएप्प पर ही बात होती थी।मैं उससे ज्यादा सेक्स की बात भी नहीं करता था ताकि वो मुझे गलत न समझे। फिर एक रात फ़ोन पर बहुत देर बात हुई और फिर सेक्स के बारे में बातें होने लगीं तो उस दिन मैंने उससे पूछ लिया कि पति के जाने के बाद उसने कभी सेक्स किया या नहीं।उसने मुझे साफ-साफ कह दिया कि उसने न कभी किया और न ही कभी इस तरह से सोचा. तब तक ससुर तेल की बोतल लेकर आ गए और मैंने ढेर सारा तेल अपने मोटे लंड पर लगा लिया.

ऐसे में मैं मना कैसे कर सकती हूं?उसने मुझे किस किया और बोला- तुम वर्जिन हो तो तुम्हें थोड़ा दर्द होगा, बर्दाश्त कर लेना.

अब हम दोनों वापिस आए और नीचे बिछे हुए गद्दे पर चादर डाले एक दूसरे को बांहों में नंगे ही लेट गए. जब कुछ नहीं हुआ, तो मैं मोसी के पूरे दूध को अपनी हथेली में भर कर सहलाने लगा. ऐसे ही कई दिनों तक मैं उसको फोन करती रही लेकिन उसने मेरे फोन का कोई जवाब नहीं दिया.

अब मेरा पानी निकलने वाला था, मैंने नीरू को बताया तो वो दोनों मेरे ऊपर से उठ गई. जिस दिन हमको मिलना था तो उस दिन मैं तो सुबह से ही वहां पर पहुंच गया था और उसके आने से पहले उसने जो फोटो व्हाट्स पर भेजी हुई थी उसी को देख कर मैं मुठ मार चुका था. फिर आशीष बोला कि बंध्या तुम ये तो जानती ही होगी कि साली आधी घरवाली भी होती है.

मेरी आंखों के सामने दीदी की दोनों बड़ी बड़ी गोरी गोरी चूचियां सामने उछल रही थीं. साथ ही मैं होली वाली भी कहानी जल्द ही लाऊंगा … तो मिलते हैं इस कहानी के अगले भाग में.

वैसे भी तुम तो देखती हो ही कि मैं भाभी से कितना खुल कर मज़ाक कर लेता हूं और तुम देख भी चुकी हो भाभी के साथ में बहुत कुछ कर देता हूं. वो अब तक इतनी गर्म हो गई थीं कि किस करते वक्त ही आवाजें कर रही थीं. फिर मेरे उन चारों यारों ने मुझे खूब चोदा और मैं अपनी गीली चूत लेकर सीधी ही वहां से स्टाफ रूम में चली गयी.

मैं उन्हें अपने जिस्म से लिपटा कर प्यार करने लगा, किस करते हुए उनके मदमस्त मम्मों को दबाने लगा.

पिंकी बोली- अच्छा सीमा, चल एक काम कर … तू राजीव को जरा इधर भेज दे, तू बाहर घूम आ. पीछे से मनोज ने भी उसके गाउन के अंदर हाथ डाला और पहले तो मम्मे दबाये फिर एक हाथ से उसकी जांघ सहलाने लगा. श्वेता दीदी- अरे कुछ नहीं यार … वो स्कूल ड्रेस की बोल रहे हैं, तो वही पहन लो न.

दोस्त की बीवी के बूब्स की असली खूबसूरती तो अब मुझे दिखाई दी।जहां मेरी पत्नी के बूब्स बड़े भारी और थोड़े लटके हुए थे वहीं दोस्त की बीवी के चूचे मीडीयम साइज के थे लेकिन उभरे हुए थे. भाभी भी बीच बीच में उसकी चूचियां मसल रही थीं और उसकी एक चूची को चूस भी रही थीं.

उसने जॉली से पहले उसके छह ब्वॉयफ्रेंड के साथ इश्क और जिस्म की हर तरह की रास रचा ली थी. अब पूजा न न तो कर रही थी लेकिन बस नाम मात्र का!सच तो यह था कि अमित की गैरमौजूदगी का फायदा हम दोनों उठाना चाहते थे. मैंने बुर्का पहन रखा था और अंदर हरा टॉप और सफ़ेद लेगी पहनी थी, हम काफी दूर ऐसी जगह पर गए जहां कोई देखने वाला नहीं था।गाड़ी को स्टैंड पे लगा के मैं सीट पे बैठी थी, वो मेरे करीब था.

सेक्स का वीडियो बताइए

मुझे मेरे दोस्त की बदौलत सेक्स का भी अच्छा ज्ञान हो गया था और धीरे धीरे हम दोनों की दोस्ती और भी गहरी होती गई.

अब जब भी मैं अपने घर पर पार्टी रखती थी, तो मैं उसको अपने घर जरूर बुलाती थी. लगभग एक बजे दोपहर में मैं जब खेत पहुँचा, तो वहां कोई नहीं था और मुझे गर्मी के कारण प्यास भी लगी थी. फिर प्रिन्स ने नीता को सीधा लिटाया और अपने 7 इंची लंड पर कॉन्डोम चढ़ाया और नीता की चूत में रगड़ने लगा.

उसने मुझे होंठों पर एक किस दिया और बोली- आज तुमने जो खुशी दी है, मैं जिन्दगी भर तुम्हारी आभारी रहूंगी. जैसे ही मैंने अपनी जीभ मेम की चूत पर लगाई, मेम की एक मस्त सीत्कार निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो चुदास से मचलने लगीं. काला वाला बीएफउससे बात करने पर उसने बताया कि वो लोग पहले दिल्ली में रहते थे और अब रोहतक में रहने के लिए आये हैं.

मैं उसके करीब बैठा और उससे कहा- इस तरह याद करो … हहे, लिबे, बकनोफने, नामगा, अलसीपसकलारका. वो कहने लगी कि पारिवारिक संकोच के कारण वो पार्लर में नहीं आ सकती है.

फिर मैंने उससे उसके फिगर के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि ये सारी बातें हम लोग फ़ोन पर करेंगे. घर का चिराग एक साल का हो जाने की खुशी में सब लोग फूले नहीं समा रहे थे. मैंने उस आंटी रीता के साथ सेक्स भरी बातें करके उसको गर्म करने की सोची.

जॉली ने किसी भी तरह से उसके इस आवेशपूर्ण आलिंगन का कोई जवाब नहीं दिया और कटोरे में डाले अंडे में नमक मिर्च डालने लगा. भाभी की इस बार चीख निकल गई क्योंकि अबकी बार तो बहुत तेज तेज धक्के लगा रहा था वह. मैंने उसकी शीट पर भी आंसर लिख दिये ताकि उसके अच्छे मार्क्स आ जायें.

विवेक मेरे चेहरे के सामने अपने चेहरे को लाकर मेरे चेहरे को घूरने लगे.

पर लंड अन्दर घुस ही नहीं रहा था। और फिर छिटक के पेट की तरफ चला गया।उन्होंने कई बार कोशिश की पर लंड अन्दर जा ही नहीं रहा था. कुछ देर हांफने के बाद वो मुझ पर से उठा और उसने रस से भीगा हुआ अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया, जिसको मैंने चाट कर साफ कर दिया.

मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्योंकि मैं काफी दिन बाद चुद रही थी. मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि ये वही श्वेता है जिसको मैं अपने मायके में देखा करती थी. लेकिन अमित का डर अब न पूजा को था, न मुझे!मैंने उसके गालों पर, गले पर किस करना चालू कर दिया.

मेरा मन कर रहा था कि जेठजी को बेड पर धकेल कर उनके ऊपर चढ़ जाऊं और पहली राउंड में जो ख्वाहिशें अधूरी रह गयी थीं, उन्हें पूरा कर लूं. उनके होंठों की गर्मी ने तो लंड में अलग ही किस्म की खलबली मचा दी थी. जल्दी-जल्दी लन्ड को चूत में अंदर बाहर करने लगा, मैं बहुत घबरा गई थी कि यह क्या हो गया.

इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ सोनिया- ओ गॉड … तुम्हारी बातों की वजह से मेरी टांगों के बीच में बारिश हो रही है. चाची के मुँह से बुरी तरह से कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं- ईश्श्श्श् … आहहह … दीपउउउ … आंह … उंह … हाय राम … क्या मस्त चुचे चूसता है यार तू.

वीडियो बीपी मराठी

इस समय आंटी के दोनों हाथ हरकत में थे और उनके हाथों की चूड़ियों की खनक मुझे और पागल कर रही थी. इस से टाइम भी बचेगा।नीरू ने अपने बैग से कपड़े निकाले और वाशरूम में जाने लगी तो मैंने उसे कहा- अरे अपने कपड़े तो उतार दो।नीरू- नहीं, मैं अंदर ही उतारूंगी।मैं- मैं तुम्हें पूरी नंगी होने को नहीं बोल रहा हूँ, यहां अपनी लेगिंग और शर्ट उतार दो, देखो वन्दना भी तो पेंटी में ही है।नीरू ने रूम में ही अपने कपड़े उतार दिए. मैंने भी दो चार जबरदस्त धक्के उनकी गांड में लगा कर अपना सारा माल दीदी की गांड में भर दिया.

वो तड़फने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मुझसे बाहर निकालने को कहने लगी. आदमी लोग तो खुल कर ड्रिंक्स लेते हैं, चारों लड़कियां भी एक-आध पेग मार लेती हैं. मुसलमानों की सेक्सी बीएफ वीडियोकुछ देर वहीं रुक कर हम दोनों ने एक एक कॉफ़ी पी और हम दोनों बाहर आ गए.

वो चीख पड़ी- आँआह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह माय गॉड … यू आर सो डीप.

फिर अलग होने के बाद चाचा और मेरे परिवार में खाना अलग ही बनने लगा था. जेठजी के कमरे का दरवाजा हल्का सा खुला होने की वजह से मेरी आवाज जेठजी तक तक पहुंच ही रही होगी पर फिर भी जेठजी कोई जवाब नहीं दे रहे थे.

उसका हाथ मेरे बालों में घूम रहा था और वो मज़े के साथ कामुक आवाजें करने लगी. मैंने तुरंत ही पास में ही पड़े एक कपड़े को उठाकर अपनी चूत पर दबा दिया ताकि जेठजी का रस फर्श पर ना गिरे. हम दोनों ने खाना खा लिया और अब मैं रसोई में पापा के लिए खाना बना रही थी.

चाची ने कहा- हरामखोर मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और खुद ने कुछ ना निकाला.

हम दोनों एक दूसरे से रोज काफी बातचीत करते हैं, कई अलग अलग मुद्दों पर हम दोनों की चर्चा होती रहती है, तो हम दोनों एक दूसरे से काफी घुल-मिल गए हैं. मुझे तो मानो उड़ने के लिए सारा आसमान मिल गया था और मैं लंड चुसाई का मजा ले रहा था. मुझे उसके नियम कानून भी नहीं पता थे, तो हम लोगों ने ज्यादा ध्यान भी नहीं दिया.

चाची चुदाई बीएफसुनील ने 5-7 मिनट की रेलमपेल क बाद अपना माल दीपा की चूत में ही निकाल दिया और थक कर एक ओर लेट गया. मैं नए शहर में आ गयी थी, ये शहर मेरे लिए नया था, तो पापा ने मुझसे मामा-मामी के यहां रुकने को कहा.

বৌদিদের সেক্সি বিএফ

उसके बाद मैंने अपने आंसर शीट नेहा को दे दी और उसकी शीट लेकर बैठ गया. यह मैं उनकी राहत भरी एक सांस से समझ गया था।शायद मेरा ‘हो गया है’ यह सोच कर उन्होंने अपने हाथ पीछे कर के साड़ी नीचे करने की सोची. मैंने उनकी चूत पर हाथ फेरा, तो आंटी ने भी झट से अपनी सलवार उतार दी.

मैं चुप कर गया, लेकिन जब चाची ने अपने कोमल कोमल हाथों से मेरी जांघ की छुआ … तो मेरे लंड ने टाइट होना शुरू कर दिया. भाबी- हा हा … अब तो इसकी ही गांड प्यारी लगेगी तुम्हें … मेरी गांड से तो बोर ही चुके हो न. अभी बात करनी पड़गी नहीं तो चाची ने ये बात मेरे घर वालों को बता दी, तो तू तो गया काम से.

मुझे वो दिन याद आ गए, जब हम पसीने से लथपथ घंटों चुदाई का खेल खेला करते थे. मैंने उसे बताने के लिए कातिल सी और सेक्सी सी स्माइल दी कि मैं अब क्या चाहती हूं. उसके अलावा सभी ने यही समझा कि मैं सील पैक हूं।अब इधर मेरे पीछे विवेक ने मेरी गांड को पकड़ कर कूल्हों को थोड़ा ऊपर उठाया और अभय को बोला- अभय भाई अब इसका मुंह आप अच्छे से बंद कर लो.

मैंने टॉवल से अपना शरीर पौंछा और तौलिया बेड पर डाल कर आईने के पास नंगी खड़ी होकर बाल सुखाने लगी. सब हंस पड़ी और पार्लर से पिंकी के घर पर ही वेक्सिंग कराने की बात तय कर ली.

तो दोस्तो, आशा करती हूँ कि मेरी यह कहानी पसंद आएगी आपको![emailprotected].

अनिता भाभी अपने पेट पर हाथ रखते हुए बोली- ये जो पहले का फल है इसे तो बाहर निकालूं!मैं- इसमें मेरा क्या कसूर है. बीएफ वीडियो सॉन्ग यूट्यूब डाउनलोडश्वेता दीदी- आंटी डॉक्टर के यहां कब जाएंगी?दीदी- पता नहीं … हो सकता है कल जाएं. देहात की सेक्सी बीएफ वीडियोमुझे पता नहीं था कि जो पहले कभी चुदी हुई नहीं होती है … उसे चोदने में कुछ समय लगता है. ऐसा कहते हुए अभय ने अपने लन्ड का सुपारा ताकत लगा कर मेरी चूत में अंदर करना शुरू कर दिया.

उसने इस बार गांड के छेद पर थूक टपकाया, जो कि लंड के लिए एक चिकनाई का काम कर गया.

चाहे धरती इधर से उधर क्यों न हो जाये लेकिन तेरी शादी उस लड़के से नहीं हो सकती. मैं उसके लंड से निकले रस को अपनी चूत की गहराइयों में महसूस करना चाहती थी. चट्टानों की आड़ में भारतीय जोड़े कामुक क्रियाएं करने से भी परहेज नहीं करते हैं.

ऐसा नहीं था कि मेरे पास उनके अलावा कोई और महिला मित्र नहीं थी लेकिन कई बार कुछ ऐसा दिख जाता था कि मुठ मारनी ही पड़ती थी. हमें पता था कि सीमा इस अदला-बदली के लिए इतना जल्दी मान जाएगी क्योंकि एक तो रकुल ने उसे इतना चिढ़ा दिया था कि वह मन ही मन यह सोच रही थी कि उसे रकुल से किसी भी प्रकार जीतना है. क्योंकि उसने रिकॉर्डिंग बटन ऑन कर दिया था।अब आपको तो पता ही है आगे क्या होना था, मुझे थप्पड़ पड़े … पर घर की बात घर में दबा दी इज्ज़त के खातिर।मेरा फोन हमेशा के लिए बंद करवा दिया इसलिए काफी दिन तक किसी से कोई रिश्ता नहीं रहा। विकी और शरद भी अब सिर्फ दिखाई देते हैं, घर के पड़ोस में है इसलिए; पर बात नहीं होती.

देसी बोसी

मेरी माँ ने फुंफकार भरते हुए कहा- अच्छा तू मादरचोद भी है … साले तेरे जैसे कई लंड मैंने अपनी चुत से छील कर बाहर निकाल दिए. फोन उठाने पर उसने पूछा कि अगर आप घर पर ही हो तो आ जाओ, साथ में बैठ कर चाय पीते हैं. उम्मम्मम …”सश्सस स्स्स्स …”मेघा कितनी प्यारी खुशबू है!”उम्म्म्म सश्सस स्स्स्स … अअअअअ सर … कुछ हो रहा है!”सर की जीभ मेरी चूत के अंदर जा रही थी.

हम दोनों ने उस रेस्तरां में खाना खाया और अपनी मंजिल की तरफ निकल पड़े.

वो संदिग्ध नज़रों से मुझे देख कर बोला- क्या हुआ? क्या तुम ये सब करना नहीं चाहती? मेरी जान मैं तुम्हें जबरदस्ती नहीं करूंगा.

उसकी गांड को अच्छी तरह से देखा और जांचा कि गांड कहां-कहां से और कितनी फटी हुई है. जब उन्हें लग गया कि मैं खाली हो गया तो उन्होंने अपने हाथ को मेरे लंड पर दबा के बचा रस निकालने को नीचे से ऊपर की तरफ ले गयी. करवा चौथ की सेक्सी वीडियो बीएफकुछ ही देर में सुखविन्दर ने दूसरा ग्लास भी तैयार कर दिया, मगर उन्होंने कहा- मुस्कान, मैंने तुम्हारे लिए जो शर्ट मंगाया है, उसको पहन के दिखाओ जरा।मैंने पूछा- कौन सा शर्ट?तो वो किचन से वही शर्ट ले आये जो थैले में था और मुझे देकर बोले- लो जाओ जल्दी पहन आओ।मैंने उसे देखा तो वो एक जालीदार नाईट शर्ट था, बहुत ही छोटा।मैं बाथरूम में गई और उसे पहन लिया.

दीपा मनोज की गोदी में सर रख के लेट गयी और सिगरेट के छल्ले बनाने लगी. मैं- अच्छा तुम उसके साथ सेक्स करना चाहते हो … लेकिन तुम्हारा खड़ा तो होता नहीं है … कैसे करोगे और किसके साथ करोगे. उसने मेरा सर पकड़ कर रखा था, तो मैं उसका लंड बाहर नहीं निकाल पाई और मुझे उसका पानी पीना पड़ा.

मैंने भी देर न करते ही उनकी चूत में अपना लंड फंसाकर धक्का मारा, लेकिन फिसल गया. अपना सारा बोझ उन पर डाल भाभी को अपनी बांहों में लेकर बेतहाशा चुम्मों की बौछार लगा दी.

”अच्छा क्या कर रही हो?”कॉलेज जा रही हूँ!”आज मैं लेने आता हूँ … मैं छोड़ दूंगा!”नहीं सर … मैं चली जाऊँगी.

इस वक्त मेरा ध्यान भाभी की चुदाई से ज्यादा उनके मुँह से निकलने वाली चीखों पर था. हालांकि अभी दो हफ्ते पहले ही पार्लर गर्ल्स को बुलाकर बॉडी चमकवायी थी, पर अब तो कुछ बात ही नयी होने को थी. उसने मेरे होंठों को छोड़ कर मेरी आंखों में देखते हुए कहा- राज, तुम इतनी सेक्सी कहानियां लिखते हो, मुझे तो यकीन नहीं हो रहा! उस दिन जब तुमने मेरी ब्रा में अपना माल छोड़ा तभी से मेरी चूत तुम्हारे लंड के नाम से गीली होने लगी थी.

बीएफ चुदाई सेक्सी मूवी तब मैंने कहा- आप मेरी जगह पर होतीं तो क्या करतीं?भाभी ने भी कुछ नहीं कहा. भाभी को उस लड़के की बातें बहुत पसंद थीं जो भाभी के दिल को छू जाती थीं.

ऐसे ही करते-करते मेरे चाचा के लड़के यानि कि मेरे भाई को मेरे बारे में पता लग गया कि मैं किरायेदार लड़के को पसंद करती हूँ और उससे रात भर बातें करती रहती हूं. पापा लंड पूरा भीग गया और पानी बहकर नीचे की तरफ मेरी नाभि से होकर मेरी चूचियों तक आ रहा था. राहुल ने भाभी के फिर से लेटा दिया और अपने दांतों से भाभी के पेटीकोट का नाडा़ खींच कर खोल दिया.

नंगी पिक्चर वीडियो

मैंने कारण पूछा, तो उसने बताया कि किसी ने भी उसकी चूत आज तक नहीं चाटी थी. मेरी मोसी का फिगर एकदम भरा हुआ और मादकता से भरपूर है कि कोई भी उन्हें देखे तो चोदना चाहेगा. मैंने फिर से चार पांच झटके दिए और अपना लंड थोड़ा बाहर निकाल कर जोर का धक्का लगा कर एक ही बार में पूरा लंड गांड की जड़ में पेल दिया.

अचानक उसको पता नहीं क्या हुआ कि उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी लोअर के ऊपर से ही अपनी चूत पर मेरे हाथ को रगड़ने लगी. साथ ही वो मेरा सर दबा रही थी कि मैं उसके मम्मों को और जोरों से चूसूं, जिससे उसकी चूत में चुदास बढ़ने लगे.

मैं- हां आंटी … आज वॉयलेट ने कुछ ज़्यादा पी ली है … इसलिए इसको लेकर अन्दर आना पड़ा है.

उसकी इस तरह की बातें सुनकर मेरा जोश और बढ़ गया और मैं सबा को सहलाते हुए चोदने लगा. मैं ना तो कहना नहीं चाहता था, फिर भी मैंने उनके ऊपर छोड़ दिया कि आप जो कहेंगी, मैं वही करूंगा. इस दौरान जिस लड़की को जिस लड़के के साथ रात गुजारनी है वो उसके कान में ‘आई लव यू’ बोल देगी और अपना कोटेज नंबर बता देगी.

कुछ देर चूत में धक्के देने के बाद उसने एकदम से मेरी टांगों को उठाया और अपने कंधे पर रख लिया. इसी वजह से मुझे हल्का दर्द भी महसूस होने लगा था लेकिन इस सब पर ध्यान न देते हुए मैं रीमा की चुत चूसना देख रही थी. मेरी इस हरकत पर मेरी पत्नी मुझे गुस्से से मारने के लिए पानी में ही मेरी तरफ दौड़ी.

मैंने भाभी की चूत चूसने की कोशिश की, तो उन्होंने मना कर दिया और कहा कि कहीं ऐसा न हो कि चूत पीने में ही आपके नलका से पानी गिरने लगे.

इंडियन सेक्सी बीएफ इंडियन सेक्सी बीएफ: फिर जब भी मैं अपनी फेसबुक की आई-डी को चलाता हूँ तो रीता आंटी की याद आती है मुझे। दोस्तो, ये थी मेरी रीता आंटी के साथ चुदाई की कहानी. मैं- क्यों हमेशा यही गिफ्ट दोगे क्या?विक्की- तुम बोलो जान … तुम्हें क्या चाहिए.

अब साकेत भैया के दोनों हाथ दीदी की मोटी गांड को मसल रहे थे और वो अपनी जीभ से दीदी की बुर और गांड के छेद को चाट रहे थे. तभी मैंने गौर किया कि साकेत भैया का लंड इतना मोटा था कि पूरी तरह से दीदी की मुट्ठी में नहीं आ रहा था. दोस्तों मेरे लिए भगवान से प्रार्थना कीजिएगा कि मेरा यह चुदाई का मिशन सफल हो जाए और मैं शिखा मामी को चोद सकूँ.

भाभी की गांड एकदम से चौड़ी थी जैसे कोई बड़े बड़े फैले हुए पहाड़ हों.

मैं आज पूजा की जवानी का पूरा मजा लेना चाहता था।काफी देर उसको चूमने के बाद मैंने उसके होंठों को आजाद किया. तुम बाद में शिकायत मत करना कि मैंने अपनी चूत गैर मर्दों से चुदवा ली. जो डॉक्टर कपल था वो हमसे भी ज्यादा आगे था इस खुलेपन के मामले में।अगर डॉक्टर दोस्त के शरीर की बात करूं तो उम्र में मुझसे छोटा था और स्मार्ट भी था.