डिंपल कपाड़िया की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी ऑंटी कि चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी: डिंपल कपाड़िया की बीएफ, मैंने ऊपर देखा तो आरजू विनीत के ऊपर लेटी हुई है और विनीत को किस कर रही है.

हिंदी गाना सेक्सी वीडियो

मैंने उनके पैर थोड़े चौड़े किए और उन्हें दीवार से चिपके रहने को कहा. बी एफ फिल्ममैं स्विफ्ट के पास गया तो अन्दर बैठी महिला ने कार की विंडो को नीचे किया और फिर मुझसे पूछा कि क्या मैं ही टेसर हूँ?मैंने सिर ऊपर नीचे किया तो उसने मुझे कार के अन्दर आने को कहा, मैं कार में बैठ गया और फिर उसने कार आगे बढ़ा ली.

मैं अन्दर आया, उसने मुझे सोफे पर बिठाया और वो किचन में कुछ काम करने लगी, शायद मेरे लिए कुछ चाय नाश्ता…फिर कुछ मिनट बाद ही हमें किसी के हांफने और सिसकारियों की आवाज़ आई, हम दोनों दूसरे कमरे में गए तो देखा कि मैक्स और जूली ने तो कार्यक्रम शुरू भी कर दिया था. सेक्सी वीडियो देहाती लड़कियों कीउसे नंगी देख कर मेरी पैंट में एक तंबू सा बनने लगा, मैंने मामी की ओर देखा तो लगा कि वो सो गयी हैं, मैंने इस बात का फ़ायदा उठाया और उसे किस करने लगा, उसने मेरा लंड बाहरनिकाला और उसे किस करने लगी.

मॉम भी अब पूरी तरह गर्म हो गईं, मेरी मॉम के दोनों हाथ उस लड़के की पीठ पर थे, कुछ ही देर में वे दोनों आउट ऑफ़ कंट्रोल हो चुके थे.डिंपल कपाड़िया की बीएफ: विक्रांत कुछ और सोच नहीं पाया उसका हाथ अपने आप लन्ड पर चला गया और वो पूरी रफ्तार से मुठ मारने लग पड़ा.

पता नहीं क्यों जिस लड़की को लड़का खुद शादी से पहले चोद लेता है, उस से शादी क्यों नहीं करता.तभी उसने मुझे अपनी ओर खींचा और लंड मेरी चुत को चीरता हुआ मेरे अंदर समाने लगा.

पंजाबी भाभी के सेक्सी वीडियो - डिंपल कपाड़िया की बीएफ

निहारिका फिर जोर जोर से हंसने लगी और मैं भी वैसे ही खुल के हंसने लगा.वो झड़ने के बाद मेरे ऊपर ही पड़े रहे और उनका लंड मेरी गांड में पानी निकालता रहा.

आज कौन सी खुराफात चल रही तेरे दिमाग में? और वैसे भी इस कड़कती सर्दी में तू यहाँ टेरेस पे कपड़े उतार के नंगी भी हो गयी ना तो कोई तुझे देखने नहीं आने वाला।इतना बोल कर उनसे मेरे हाथ से बोतल खींच ली और एक तगड़ा सा घूंट भरा. डिंपल कपाड़िया की बीएफ तभी रश्मि बोली- मुझे भी यही लग रहा है लेकिन आप पूरे कपड़े में हो और मैं नंगी हो जाऊं, ये थोड़ी अच्छा लगता है.

हम दोनों की ज़ुबान आपस में लड़ने लगी थी, दीदी की चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था जिस का एहसास मुझे अपनी लंड से हल्का सा ऊपर पेट पर होने लगा था, मेरे भी लंड ने अब अपना विकराल रूप धारण कर लिया था और दीदी की चूत में जाने को मचलने लगा था.

डिंपल कपाड़िया की बीएफ?

तभी भाई एकदम से हल्का सा हिला तो मैं वहीं हाथ रोक कर दम साधे लेटी रही. या शायद इतने दिनों के बाद मिल रहा था तो शायद मुझे उसका फिगर ज़्यादा ही अच्छा लग रहा था. फिर मैंने उसको अपनी तरफ घुमाया तो उसकी नज़र नीचे की ओर थी, उसके होंठ बिल्कुल गुलाबी रंग के थे, मैंने धीरे से उन पर अपने होंठ रखे तो उसने भी मुझे रेस्पोन्स दिया और वो मेरे होंठ चूसने लगी.

मैं पूरी नंगी थी, मेरे दूध अपने होठों में भर लिए। वहां एक ही बिस्तर लगा था, उसी बिस्तर में ले जाकर लिटा दिए. मैं बेड से नीचे आ गया और उसे बेड के नारे करके उसके पैर ऊपर हवा में उठा दिए, मैं वहीं से उसकी चूत चाटने लगा. महेश- अगर तुम ने मुझे बीच में रोक दिया तो मेरी कोई भी बात माननी पड़ेगी.

मुझे मेरी भाभी के भरे हुए मम्में चाटने हैं, उन्हें चूसना है, और मैं उनके मम्मों को जोर जोर से दबाता रहूँ. मेरा दिल तो कर रहा था कि अभी उनको पकड़ लूँ और जी भर के प्यार करूँ, पर मैं डर भी रहा था. मैं भी जोश में ‘मेरी चूत मार… बहनचोद साले… चोद मुझे… रण्डी बना ले मुझे अपनी… और चोद आआहहह… मेरे राजा चोद मुझे!’ पता नहीं मैं क्या क्या बकने लगी, मेरी आँखें बंद थी.

मैं बेबस महसूस कर रही थी पर मैंने पहली बार झड़ने का अनुभव किया तो उसके मज़े में बेबसी की भावना भी कहीं लुप्त हो गयी. अभी तक इस कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं तनु की मम्मी से सेक्स की बात कर रहा था.

मैं हाथ से लंड मुठियाने लगी और मैं सोच रही थी कि अब इस लंड से तो पहले से भी ज्यादा मजा आयेगा.

अब मैंने उसकी स्कर्ट और टीशर्ट उतार दी और वो मेरे सामने अब रेड ब्रा और रेड पेंटी में आ गई थी, कसम से कयामत ढा रही थी वो उस ड्रेस में… उसका संगमरमर सा बदन ऐसा लग रहा था जैसे भगवान ने उसे बहुत ही फुरसत से बनाया हो.

जब मैं रूम पर पहुँची तो मैं अपने आप को शीशे में देखने लगी कि आखिरकार मुझमें क्या ख़ास है. अवी ने मुझसे कहा कि तुम यहाँ आराम करो, मैं 10-15 मिनट में आता हूँ और दरवाजा अन्दर से बंद कर लो. इतना बड़ा लंड देख कर मैं खुश भी हुई और दुखी भी कि अब आज फिर दर्द होगा.

एक दिन मैं घर पर अकेला ही था, तब भाभी आईं और मेरे मम्मी को आवाज देने लगीं. रूम में आ कर सबसे पहले मैंने उसे हग किया फिर उसने अपना दुपट्टा हटाया. उनकी मौन स्वीकारोक्ति से मैं आगे बढ़ता गया और कभी मैं उनकी आँखों को चूमने लगा और फिर उनके चेहरे को.

मामी के दो बच्चे हैं और उनके पति यानि की मेरे मामा की 5 साल पहले डेथ हो चुकी है.

इधर मेरे लंड का हाल ख़राब हो रहा था, वो तना हुआ था, बुर चूसते चूसते वो अचानक से अपनी दोनों टांगों के बीच मेरा सर दबाने लगी और बुर को मेरे सर में धंसाने लगी और बिस्तर पे अकड़ने लगी. पैकिंग के समय उसमें स्टीकर नहीं हटाया था और जब रेट देखा तो मैं हैरान हो गई क्योंकि वो ड्रेस 8999 की थी. मैं अपनी सास को बताया कि वो आज नहीं आ सकती लेकिन परसों आ सकती है, अगर आप कहें तो उसे परसों आने के लिए कह दूँ?मेरी सास थोड़ी मायूस सी दिखी, फिर बोली- चलो, परसों ही सही, बुला लो उसे!मैंने रिया को अपनी ससुराल का पता बताया और समझाया, और फिर वह दो दिन बाद मेरे घर आ गई.

अगर आपका प्यार मिला तो जल्द ही दूसरी कहानी भेजूंगा।मेरा मेल आई डी है:-[emailprotected]. दिव्या की उम्र करीब बीस साल है, वो एक बहुत ही खूबसूरत भरे हुए सेक्सी बदन की मालकिन है, उसके जिस्म का आकार 34-30-36 का है. चचा जान ने दोनों हाथों से मेरे मम्मों को मसलना शुरू कर दिया और अपनी गरम जीभ मेरे निप्पल पे रख दी.

मंजरी की दोनों जांघें खोल कर पुलकित ने बीच में देखा, मंजरी ने शायद आज ही अपनी चूत के बाल साफ किए थे, इसलिए बहुत ही साफ और गोरी चूत थी.

मेरे घर वालों ने भी हाँ बोल दिया क्योंकि मैं कई बार ऐसे ही उनके यहाँ रुक जाता था. वो ऐसे मस्ती से लंड चुसाई कर रही थीं, बिल्कुल लॉलीपॉप की तरह से जोर जोर से चूस रही थीं.

डिंपल कपाड़िया की बीएफ हम दोनों को इस बात का पता नहीं था, हम तो बस अपनी मस्ती में लगे हुए थे और किसी की तरफ नहीं देख रहे थे. फिर मैंने दोनों को अपने आगे बैठा दिया और अपना लंड पिंकी के मुँह में घुसा कर अपना बीज गिराने लगा.

डिंपल कपाड़िया की बीएफ कभी कभी जब नानी अपने कमरे में होती थीं और मॉम अकेले किचन में होती थीं, तब मैं मॉम के पास जाकर खड़ा हो जाता था और बहाने से मॉम की कमर को टच करके उनको हग करने की कोशिश करता था. मुमताज की चूत पर हलके हलके बाल थे जैसे 3-4 दिन पहले हेयर रिमूवर क्रीम से साफ़ किये हों.

मैंने उसके घर वालों को उस को मारने की धमकी दी और कहा- उसके फ़ोन में कोई मैसेज है या कॉलरिकॉर्डिंग है.

प्रियंका सेक्सी वीडियो एचडी

मेरी पिछली सेक्स स्टोरीलुधियाना की पटाखा देसी माल गर्ल की चुत चुदाई की वो रातेंआपने पढ़ी होगी. उसकी उम्र कोई 25-26 साल थी, वो थोड़ी सांवली थी पर दिखने में एकदम कमाल का माल थी. फिर उन्होंने मुझे 69 की पोजीशन में आने को कहा, जब उन्होंने मेरा लौड़ा मुँह में लिया तो मानो में तो जन्नत की सैर कर रहा था.

उसकी मस्त जवानी को चाट कर मैंने उसकी गांड और चूत दोनों को गीला कर दिया. उसके जिस्म पर पड़ती हल्की सी सूरज की रोशनी में वो और भी क़यामत लग रही थी. मतलब वो मेरी मॉम के बेटे जैसा था, मेरा कोई बड़ा भाई होता तो इतनी ही उम्र का होता.

फिर करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था तो मैंने अन्नू भाभी से पूछा, तो वो बोलीं- चूत में ही झड़ जाओ.

आंटी भी रेस्पोन्स में धीरे से हाथ चादर से घुसा कर उसके लंड को मसलने लगीं. मैंने जींस के अंदर पैंटी के ऊपर से उसकी चूत सहलाई और दो मिनट बाद ही मैं उसकी जींस उतारने लगा. कुछ देर में ही मेरी चुत से फ़व्वारा चलने लगा और मेरे साथ ही सुनील के लंड की पिचकारी भी चल गई.

उन्होंने मुझे सब बोल दिया कि राहुल ने उसके साथ ऐसा किया और वो प्रेग्नेंट हैं. फिर सर ने मुझे बुला कर कहा कि ये अंशु है, यह लड़की हमारे ऑफिस में रिसेप्शनिस्ट रहेगी और ऑफिस का काम भी देखेगी. नीचे आते हुए मैंने देखा कि भाभी की एक ननद पीछे आँगन में अपने ही एक कज़िन का लंड मस्ती से चूस रही थी.

हम ससुर-बहू ऐसे ही कुछ देर और ट्रेन में चुदाई का कभी न भूलने वाला अलौकिक आनन्द लूटते रहे. मैं अपने दोनों हाथों में उसकी एक एक चुची पकड़ कर सहलाने लगा, मसलने लगा.

आखिरकार मैंने अपनी आंखें बंद करके चाचा जी को ग्रीन सिगनल दिया, जिसे समझते हुए चाचा जी ने अपने दोनों हाथों को मेरे बालों में डालते हुए मेरे कांपते हुए होंठों पे अपने होंठ रख दिए और चूसना शुरू कर दिया. ओह्ह्ह… फिर क्या बताऊँ दोस्तो, मेरी बहन उछल उछल कर चुदवाने लगी, उसके मुँह से आअह आआह आआअह उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ्फ्फ. फिर वो नताशा के साथ चुम्बन करता हुआ लाल सोफे की ओर चल दिया जिस पर किड बैठा था.

बारिश रुकने के बाद मौसम सुहाना हो गया और बगल के घर की औरतें ऊपर छत पर आ गयी.

फिर मैं जल्दी से फ्रेश होने चला गया ताकि हमें टाइम ज़्यादा मिल सके. लाइसेंस को देखने का बहाना करके उसने अगला आदेश दिया- बाहर आइये। आप शायद पी हुई है. मंजरी के नर्म, भीगे लबों के एहसास ने पुलकित के मन को एक अजीब से शांति दी, उसने अपनी आँखें बंद कर ली.

इसी झटके के लिए मैंने अभी तक दीदी के कन्धों को कस के अपने हाथ से पकड़ा हुआ था ताकि दीदी दूसरे झटके से बचने के लिए आगे की तरफ नहीं निकल जाए. मेरी तो जैसे लॉटरी लग गयी, कॉलेज मेरे घर से कोई 20 किलोमीटर दूर था रास्ते में एक सुनसान जंगल में मैंने कार रोक दी यह कह कर कि मुझे चक्कर आ रहा है और धूप लगने का बहाना करके उसे जंगल में ले गयी और एक चट्टान पर बैठ गयी.

मीना सागर की ओर देखने लगी, सागर का 8 इंच का लंड तना हुआ था और सलामी दे रहा था. मेरी पिछली एडल्ट स्टोरीभाभी ने मेरा लंड चूस कर दिया ब्लोजॉबभी ऎसी ही थी. मैंने कल्पना भी नहीं की थी ऐसी… अब मजा आ रहा था, मौसी मेरे बदन को सहला रही थी.

बीएफ फिल्म हिंदी में एक्स एक्स एक्स

एक धर्म में तो रिश्तों में चुस्त चुदाई का खेल खुल्लम खुल्ला चलता है, तो हम में क्यों नहीं?मेरे घर वाले पुराने ख्यालात के हैं.

सुबह 8 बजे वो जाने के लिए तैयार हुई तो बोला कि बहुत दर्द हो रहा है. मैंने उनकी चड्डी नीचे कर दी और उनकी गांड के छेद पर अपना लंड लगा कर धीरे धीरे धक्के मारने लगा. मैंने पूछा- तुमने चैक किया?वो बोलीं- नहीं?मैंने बोला- तुम जल्दी मेडिकल शॉप पे जाओ और टेस्ट करने वाली किट ले कर चैक करके मुझे अभी बताओ.

वो दस सेकंड तक कुछ नहीं बोली, सिर्फ आँखें बंद करके बैठी रही और मजा लेती रही. लेटने के बाद मैंने घुटने तक चादर डाल ली और टॉप को ऊपर करके पेट और कमर खोल दी और ऊपर से हटा कर दोनों हाथों में कर दिया क्योंकि टॉप बड़े गले का था तो दोनों कंधे वैसे भी खुले रहते थे. সেক্সি ব্লু হিন্দিमैंने बोला कि अंकल यदि आपको एतराज न हो तो क्या मैं आपको किस कर सकता हूँ?वो बोले- बेटा, पहले मैं तुम्हें किस करना चाहता हूँ, लेकिन अभी यहाँ सभी लोग जाग रहे हैं.

गुस्से में फ़ोन बिस्तर पर पटक कर दीदी बाहर आई और बोली- मेरी सास ने बुलाया है… यहीं शहर में… बोली हैं कि सफ़ेद साड़ी पहन कर आओ. धीरे धीरे वो तेज होने लगी और अपनी चूत से मेरे लंड को कसते हुए ऊपर नीचे होने लगी.

मुझे मजा सा आया, मैंने उसे शाम को वहीं फिर देखा तो वो फिर मुस्करा दी. अब दोनों एक दूसरे के होंठों को बड़े जोश से चूस रहे थे और वो लड़का मेरी मॉम की गांड दबा रहा था. घर में मॉम, मैं नानी और बहन ही रहते थे, मिलने वाले आते थे और दिलासा देकर जाते रहते थे.

फिर मैंने अब उसे अपनी जीभ से चाटना शुरू किया, मैं अपनी जुबान निकाल कर उसे चोद रहा था, इससे वो अपनी कमर उठा उठा कर चुदवाने लगी और कहने लगी- बस अब नहीं रुका जाता, अब प्लीज चोद दो मुझे!मैं खड़ा हुआ, मैंने उसे इशारे से कहा- तुम मेरी अंडरवीयर उतारो!तो उसने झट से मेरी अंडरवीयर उतार दी और मेरा 6 इंच का लंड बाहर निकल आया जिसे उसने झट से पकड़ लिया और कहने लगी- आज मैंने पहली बार लंड देखा है. रात में करीब 1 बजे वो ऊपर आई तो मैंने पूछा कि क्या हो गया एकदम से तेरे को?वो बोली कि इधर सिर्फ़ बात ही करने आया है?ऐसा सुनते ही मैं उसके ऊपर ऐसे टूट पड़ा. रात के 10 बजे होंगे, तब चाची बच्चों को सुला कर मेरे कमरे में आ गईं और दरवाजा बंद कर दिया.

तभी मेरी 18 साल की भांजी पिंकी ने जिद करना शुरू कर दिया कि वो भी मेरे साथ मामी को लेने जाएगी.

मैं गया और झट से उसे पीछे से पकड़ लिया तो वो पहले तो डर गयी, फिर जब उसने मुझे देखा तो मुस्कुरा दी. पूरे ज़ोर से वो अपना लंड मंजरी की चूत के अंदर मारता, मंजरी को लगता जैसे पुलकित का लंड उसके पेट तक पहुँच जाता हो.

हाँ जब तुम्हारा लंड लड़की या औरत की चूत या गांड में पूरा घुस जाए, तब थोड़ा रुकना चाहिए लेकिन लंड फिर भी बाहर मत निकालना ओके. वो जैसे ही पीछे मुड़ी, अपनी बहन की गांड देख कर मेरे मुँह से आह निकल गई. यह देख कर मैंने तपाक से सिराज का लंड अपने मुँह में लिया और जी जान लगा कर उसे चूसने लगी.

कैसे कपड़े पहन रखे हैं तुमने स्वीटी? और ऊपर से ये सलवार भी उतार दी? शरम भी नहीं आ रही तुझे? नाराज होकर मैंने कहा।अरे भाई, तेरे सामने क्या शरमाना? तू और मैं बचपन से बिना कपड़ों के साथ रहे हुए हैं. गर्मी की छुट्टियों में नाना के गाँव जाना तो होता ही था तो गाँव के लड़कों के साथ पेड़ पर चढ़ कर मुठ मारने में जो मज़ा आता था और अपने वीर्य की पिचकारी दूर तक फेंकने में जो हम बालकों में प्रतिस्पर्धा चलती थी उस दुनिया का आनन्द ही अलग था. वो पहली बार आई थी, माँ ने उनका परिचय मुझसे कराया और मेरी उनसे दोस्ती हो गई.

डिंपल कपाड़िया की बीएफ ये सब इस घर में मेरे लिए अनएक्सपेक्टेड था इसलिए मैं सोच में पड़ गई थी. थोड़ी देर बाद बस रुकी और लोग नीचे उतरने लगे, वो सभी दारू के लिए उतरे थे.

क्सक्सक्स पंजाबी वीडियो

फिर मैंने एक तौलिया लाकर पूरा साफ किया और धो कर दूसरी पैंटी और लोअर पहन लिया. मेरे दिमाग में तो बस शालिनी को चोदने का ही ख्याल चल रहा था, मैंने तुरंत अपने दोस्त के पिताजी को लिफाफा दिया और मैं वहां से निकल गया और मुरादाबाद की बस में बैठ गया. मैंने उनसे पैसे पूछे तो उन्होंने मुझे अन्दर बुलाया और कहने लगीं कि वो बड़े वाले कंडोम ऊपर रखे हैं और उनके हाथ नहीं पहुँच पा रहे हैं.

आख़िर वो समय आ गया, भाभी को वापस जाना था और उनको छोड़ने जाने के लिए मुझको बोला गया. आपका लेखन मौलिक और सामयिक हो बस!जब आपकी कहानी पूरी हो जाए तो उसे कुछ दिनों के भूल जाइये और इसके बारे में कुछ न सोचिये. बफ हिंदी मेंअमित- हैलो मिनी कहां हो और क्या कर रही हो?मैं- फ्री हूँ यहीं घर पर हूँ.

शादी के बाद भी ब्वॉयफ्रेंड है क्या?वो बोली- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है.

इसके दो फ़ायदे थे, औरत और मर्द के दो सबसे संवेदनशील अंग उसका दाना और मेरा सुपारा आपस में चुम्मा चाटी कर रहे थे. फिर सुबह 5 बजे मेरी आँख खुली, मैंने उस को अपनी तरफ पलटा और मैं उस के दूध को मुँह में लेकर चूसने लगा.

” दिनेश ने विक्रान्त के कान में फुसफुसा के कहा।यार वैसे तू कुछ ज्यादा ही ठरकी है पर इसने तो मेरा भी बम्बू बना दिया है. सवाल- किस उम्र की लड़की की चूत ली जा सकती है?जबाव- बालिग़ हो चुकी लड़की को चोदा जा सकता है. वो मेरे पास आई और अपना हाथ आगे बढ़ाया- हाय आई ऍम एड्रिआना एंड आई ऍम हेयर फॉर बिज़नेस कांफ्रेंस एंड व्हाट अबाउट यू?यहाँ मैं वार्तालाप को हिंदी में आपकी सुविधा के लिए बता देता हूँ.

एक हाथ पीठ पर से कमर पर और दूसरा हाथ पीठ पर मेरी चुचियों के पास था.

इससे उसके लंड में से कुछ लाल रंग का हिस्सा बाहर खुल कर आ गया था और कुछ बड़ा भी हो गया था. मुझे उस पर बहुत तरस आया, मुझे उस बेचारी के साथ ऐसा नहीं करना चाहिये था. फिर हम दोनों फ्रेश हुए, ब्रेकफास्ट किया और वह से वसंत कुंज के लिए निकल पड़े.

न्यू एक्स एक्स एक्सधीरे धीरे टाइम निकलता गया और करीब 2 महीने के बाद कॉलेज में एग्जाम शुरू हुए, तो उस एग्जाम में मेरी तबीयत खराब हो गई थी, जिससे मैं एग्जाम की तैयारी नहीं कर पाई थी. मैंने अपनी शर्ट निकाली और कमर पे बाँध ली क्योंकि उस कज़िन ने जिस पे मॉम को शक था, उसने शराब के नशे में अपनी कमर पर शर्ट की गाँठ बांधी हुई थी और मॉम ने उसे कई बार इसी तरह से देखा हुआ था.

बीएफ पिक्चर वीडियो बीएफ

जब उन्होंने रिक्वेस्ट की तो मैंने उनकी चूत में धक्के मारने बंद किए. थोड़ी देर में उसने गांड से लंड को छुलाया, एक हाथ मेरी कमर तक बढ़ा कर उसने मेरी कमर पकड़ी और धक्का लगा दिया. पर आजकल माया को किसी और लंड की दरकार भी हो चली थी और इसका कारण उसकी बढ़ती कामवासना थी.

पार्टी ख़त्म होने पर दो लड़कों ने मुझसे कहा कि मैं आपको घर आपके छोड़ देता हूँ. कहानी लिखने में समय बहुत लगता है इसलिए आप मुझे प्रोत्साहन दें ताकि मैं अगले चार और दिन का अनुभव लिख सकूँ. मैंने कहा- मैं अब और नहीं रुक सकता मामी… रात बड़ी मुश्किल से निकली है.

साफ़ था कि भाभी की चूत बहुत गर्म हो चुकी थी और वो अपने पैरों से मेरे हाथ को अपनी चूत पर दबाए जा रही थीं. ससुर बहू की चुदाई की कहानी आपको कैसी लग रही है, मुझे मेल करें![emailprotected]. ये मेरी पहली पोर्न कहानी थी, इसलिए कुछ कम ज्यादा हो गया हो तो माफ़ कीजियेगा.

मैं कामुकता वश चुत में उंगली करती, लेकिन लंड का स्वाद जिस चुत ने चख लिया हो, उसे उंगली से क्या मजा मिलता!इसी दौरान मेरी मां की सहेली अपने पति के साथ हमारे शहर में घूमने आयी. वहाँ रोहण विदेशी गोरी और काली लड़कियों को बिकनी में देख रहा था।फिर रोहण ने अपने कपड़े उतार दिए और फिर मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए, मैं ब्रा पैंटी में आ गयी और फिर हम पानी में खेलने लगे.

मेरा रंग सांवला है, हाइट 6 फीट, लंड का साइज़ 7 इंच के लगभग है और मोटाई 3 इंच है.

ऊपर से चूमते हुए नीचे तक आने लगा, पहले गर्दन को, फिर कन्धों को चूमा. गांव की नंगी लड़कीठीक है मेरी जान, तू भी तो पचास की होने वाली है लेकिन तेरी ये मस्त चूत अभी भी वैसी ही जवान छोरी की तरह है जैसी तीस साल पहले थी” मैंने बीवी को मक्खन लगाया और उनकी चूत में फुर्ती से धक्के मारने लगा. पंजाबी बीपी सेक्सीमैंने पूछा कि बड़ी साइज़ का है?तो उन्होंने मुझे घूरते हुए देखा, फिर कहा- नहीं. पापा ने मुझे ट्रेन में बैठा दिया और कहा कि तुम्हारे भैया लेने आ जाएंगे.

दोस्तो, मेरी पिछली कहानीगर्लफ्रेंड की अदला बदली करके चुदाई की तमन्नाआप लोगों ने पसंद की उसका बहुत बहुत शुक्रिया.

जब मैं अपने गेट पर गया तब उन्होंने अपनी खिड़की से मुझे एक फ्लाइंग किस किया और होंठ हिला कर ‘आई लव यू. मैंने कहा- अन्नू मेरी जान, तेरी चूत के चक्कर में मेरा लंड फूल कर कुप्पा हो गया है. हाय सनी… मेरी गांड… फिर… फट… गई… छोड़ दे… मुझे!”सन्नी- क्या हुआ दीदी, पहले खुद ही बोल रही थी कि आज गांड ही मरवानी है खुद ही तो चूत में जाते हुए लंड को पकड़ कर गांड का रास्ता दिखाया था.

कुछ देर बाद जब याद आया कि चाचा और चाची आते होंगे, तो उठ कर खुद को साफ़ किया और किताब को भी उसके पहले वाली जगह पर रख दिया. तो लीजिये पेश है मेरी गर्लफ्रेंड की मॉम की सेक्स कहानी उसी की जुबानी. मैंने उसकी पैंटी उठाकर पहनाई और उसने अपने कपड़े डाल लिए और मैंने भी.

राजस्थानी मारवाड़ी एक्स वीडियो

दिमाग में बस दो तीन प्रश्न घूम रहे थे जैसे- आखिर मुझमें ऐसा क्या है? और मैं इतनी अच्छी क्या सच में हूँ कि लड़कों की नींद गायब कर सकती हूँ? अगर इतनी अच्छी हूँ तो मैं क्या करूँ और अमित क्यों चाहता है मुझे गले से लगना? उसे आखिर मुझसे केवल गले लग कर क्या मिल जाएगा?ये सब सोचते सोचते मैं कब सो गई, पता नहीं चला और जब मेरी आँख खुली तो सुबह के 9 बज रहे थे. मैंने आकाश को तेज़ी से धक्का देकर बेड से नीचे गिरा दिया और मैं भी बेड से उठने की कोशिश करने लगी, लेकिन मुझसे खड़ा नहीं हुआ गया. मेरा सपना आज पूरा होने जा रहा था और वो अंकल जरूरत से ज्यादा प्यारे थे.

तब भाभी ने मुझ से इशारों में मेरा फोन नंबर माँगा, तो मैंने उन्हें नंबर दे दिया.

मैंने मॉम को एक आइडिया दिया कि इस शहर में हमारे ज्यादा रिलेटिव हैं, आप यहां से किसी और शहर में ट्रान्सफर ले लो, ऐसी जगह जिधर हमें कोई नहीं जानता हो, वहां रहेंगे और बहन को बोर्डिंग स्कूल में डाल देंगे.

गोरा चिट्टा रंग, साढ़े पांच फुट की हाइट और ऊपर से उसका 36-28-34 का फिगर. वो करीब 21 वर्ष की थी, गोरा रंग, कद करीब पांच फीट तीन इंच, गदाराया हुआ भरा भरा बदन और सबसे ख़ास बात उसकी मुस्कराहट बेहद कातिलाना थी. ननंद भोजाई सेक्सी वीडियोउस दिन अमित के जाने के बाद मेरे मन में लालच आ गया था, इसलिए मैं अमित से अपने मोबाइल से बात करती रहती थी.

खैर मैंने कॉफी बनाईं और फ्रेश होने चला गया और वापिस आकर उसे उठाया और कॉफ़ी दी. पर क्यों उतारूं?वो बोली- इसलिये कि तू अभी दस मिनट पहले चूत चुदा कर और गांड मरा कर आ रही है, मैंने अपनी आँखों से तुम्हें एक मजदूर से चुदवाते हुए देखा है और अभी तुम्हारी सलवार के पीछे वीर्य की बूंदें साफ कह रही हैं कि तुम गांड मराकर आई हो. मैं कुछ समझती उससे पहले तो मेरा नाड़ा खुल चुका था और मेरी सलवार जमीन पे थी.

इस पर भाभी बोलीं- शेखर अपनी वाइफ को भी ये ही जवाब देते या कलर पसन्द करके देते. अरे अब थोड़ा धरम करम में भी मन लगाया करो!” रानी जी ने मुझे ज्ञान दिया.

उसने फिर अपना ब्लाउज खोला और ब्लाउज खोलते ही मैंने झट से पूनम के ब्रा का हुक़ लगा दिया.

लेकिन चुत में लंड डालने की स्थिति इसलिए नहीं बन सकी क्योंकि सभी लोग सटे हुए सो रहे थे, जरा भी हल्ला या झटका लगने से चिल्लपों होती तो गेम बज जाता. सबने होली खेलना शुरू किया और म्यूज़िक पर डांस भी शुरू हुआ, बीच बीच में सब अपने अपने पैग भी ले रहे थे. मैंने उसकी बांह के ऊपर तक आया, तभी उसको कुछ लगा और उसने मेरी तरफ देखा.

लड़की की सुहागरात की चुदाई चाची को वो समझने में जरा भी देर न लगी, उन्होंने मुझसे कहा- ये तुम नहीं जानते, यह प्यार कर रहे हैं. लेकिन रण्डी कभी सुधरती नहीं… या बात मेरी रंडी माँ ने अच्छे से साबित की.

तो मुझे ये महसूस होने लगा कि शायद भाभी कहीं मेरी वजह से तो भैया से नहीं लड़ रही हैं. फिर वो मेरी दूसरी चूची को सहलाने लगा और हल्के हल्के से दबा भी रहा था. तू देख लेना साला अकेला ही उसको चोदेगा और हम यहां अपना हाथ जगन्नाथ करते रह जाएंगे.

ब्लू भेजें

अमित- ठीक है करवा दूंगा पर कैसे? तुम ही बताओ, तुम उसके करीब रहती हो. मैंने कहा- बहुत देर बाद आई हो?उसने कहा- काम था!मैंने कहा- अच्छा!फिर वो बोली- थोड़ा सामान दे दो!मैंने कहा- बताओ?उन्होंने एक रेड कलर की लिपस्टिक, क्रीम, पाउडर वगैरा लिया, मेरे मन में आया कि लगता है प्लान फेल हो गया, वो ब्रा और पैन्टी नहीं ले जाएँगी!इतना सोच रहा था कि रज़िया आपा बोली- जोड़ दो, टोटल कितने पैसे हुए हैं?यह सुन कर तो मैं अन्दर ही अन्दर उदास सा हो गया. मैंने कहा- ये मेरे कजन की…पर तो वो बात काटते हुए बोला कि साले जब तेरे में ही दम नहीं थी, तभी तो ये बाहर तो मुँह मारेगी ही ना!वो बात मेरी ऐसे दिल पर लगी कि मैंने भी सोच लिया कि मैं एक बार इसे कह कर देख लेता हूँ, मान गई तो ठीक वर्ना अपना क्या जाता है.

वो दिन भर पढ़ाई करती रहती है और दिखने के अलावा हर बात में इतनी स्मार्ट है कि पूछो ही मत. अब क्या आगे मैं अकेला और पीछे तुम अकेली बैठोगी?मैं आगे बैठ गई और वो चल दिए.

शायद पूनम को मजा आने लगा और वो आँखें बंद कर ‘आअहह आअहह इसस्स्स्स्शह.

मैंने ज़ोर से दो झटके लगाए और अपना सारा माल उसके मुँह में ही निकाल दिया. उसने मेरे हाथ को नीचे पकड़ लिया और फिर उसने वो पट्टी खोल कर दूसरे हाथ से नीचे खींच दिया. अब दुनिया के सबसे सुन्दर अंकल जो जन्नत से कम नहीं लग रहे थे, वो अब मेरे लिए भगवान के द्वारा भेज गए फ़रिश्ता से थे.

अब आंटी का लड़का हमारे बीच में आ खड़ा हुआ, वो मेरा दोस्त नहीं है मगर मुझसे बात कर लेता है. तुम भी मजाक करती रहती हो!दिव्या- मजाक नहीं यार सच में तुम बहुत अच्छी लग रही हो. वो बोलीं- क्या खा लिया है तुमने… जो रुक ही नहीं रहे हो… अब तो शांत हो जाओ.

फिर मैंने उस की टॉप को उठाया और उससे अलग कर दिया अब वो मेरे सामने ब्रा में थी.

डिंपल कपाड़िया की बीएफ: रोजाना भाभी एक अजीब सी उदासी लिए रहती थीं, जिसे मैं उनके साथ हँसी मजाक करके दूर करने की कोशिश में लगा रहता था. मेरा लंड तो तभी से शांत ही नहीं हो रहा था तो मुझे मुठ मारनी ही पड़ी.

एक दिन मैंने अपनी ननद से पूछा- शीतल ये बता, ननदोई जी इतना शरमाते हैं, रात को तेरे साथ भी ऐसा ही करते हैं?वो बोली- भाभी, उनके शरमाने पे मत जाओ… रात को मुझे खूब परेशान करते हैं. मैं एक छोटे बच्चे की तरह भाभी का एक दूध पीने लगा लेकिन उनके दूध में दूध नहीं था. अब तक एक बार मेरा पानी भी उनकी चूत के अन्दर गिर चुका था लेकिन मैं धक्के मारे जा रहा था.

जब मैंने रानी को पूरी नंगी कर दिया तो मैंने अपने पजामे और टी शर्ट को भी उतार दिया.

हैलो दोस्तो, मैं सुकृति 18 वर्ष की हूँ, मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की बी कॉम पहले साल की स्टूडेंट हूँ. उन्होंने मुझसे भी कुछ शेयर नहीं किया, बस थोड़ी टेंशन में दिख रही थीं. आखिस अंजना ने अब अपने देवर को कहा- यार राहुल, इतने भी उतावले मत हो… अभी बहुत मौके मिलेंगे हमें ये सब करने के… और तुम्हारी सेक्स लाइफ तो अभी शुरू ही हुई है.