बुलंदी बीएफ

छवि स्रोत,राधिका का सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो में एक्स एक्स: बुलंदी बीएफ, मुझे देखना है आपने मेरी चुत का क्या हाल किया है?पापा- हट तो जाऊंगा बेटा.

सेक्सी व्हिडिओ 2019 का

सच बता कितने लोगों से चूत चुदवाई हो? ऐसे मस्त बूब्स और फूली चूत हम लोगों ने नहीं देखी. भाभी का सेक्सी फोटो सेक्सीहम करीब तीन चार किमी चले होंगे कि अचानक ही तीन आदमी एक डोल पर बैठे थे, जिन्हें देख कर मम्मी भी एकदम ठिठक गईं और रूक गईं.

तभी मैंने उसको वाशरूम से निकलते देखा तो डाइनिंग हाल में मैंने उसका रास्ता रोक लिया. सेक्सी का वीडियो हिंदी मेंफिर मेम मेरे नीचे आ गईं और मैंने उनके ऊपर आकर अपना लंड मेम की चुत के अन्दर डाल कर उनके ऊपर लेट गया.

परन्तु शादी का आखिरी दिन था तो जाहिर सी बात है कि घर में मेहमानों की भरमार थी.बुलंदी बीएफ: मेरा तमतमाया हुआ लंड छत की तरफ मुंह उठाये किसी खम्भे जैसा खड़ा था, बहूरानी की लार नीचे बह बह के मेरे अण्डों को भिगो रही थी.

जब उसकी दायीं चूची एकदम खाली हो गई तो मैं उसकी बायीं चूची पीने लगा और इस तरह मैंने दोनों अमृत कलशों को खाली कर दिया और चूस चूस कर उसके दोनों निप्पलों को खड़ा कर दिया, जोकि किशमिश से अंगूर बन चुके थे.लेकिन चूँकि मैं लौंडियों की गांड का शौकीन आदमी हूँ, लिहाजा मैंने विनीता की गांड का मुआयना किया.

शादी की पहली रात की सेक्सी वीडियो - बुलंदी बीएफ

मैंने बिना देर किये उस की चूत पर एक किस किया, थोड़ा दाने को चूसा तो वह चीखने लगी.भाभी जब अपनी सुहागरात की बात बता रही थी तो मेरा लण्ड मेरे लोअर में टाइट होने लगा था। भाभी ने ये बात नोटिस कर ली थी।भाभी ने मुझसे पूछा- सच सच बताओ तुमने कभी किसी के साथ सेक्स किया है या नहीं?वे कहने लगी- मुझे पता है, तुम उस दिन कुछ छिपा रहे थे.

मेरे कई पहलवान दोस्त हैं जिनको आप जैसी भारी चूतड़ों और बड़ी बड़ी चूचियों वाली औरतें चोदना पसंद हैं. बुलंदी बीएफ फिर उन्होंने लंड को दोनों जाँघों के बीच फंसाया और सुमन से चिपक कर खड़े हो गए.

वह दो उंगलियों से बुर के साथ खिलवाड़ कर रहा था, कभी उंगलियां अन्दर प्रवेश कर जातीं, तो कभी उसके भगनासे को झंकृत कर देतीं.

बुलंदी बीएफ?

मैं देख ही रही थी कि तभी अचानक से मेरी सास बाथरूम से निकल आई और मुझे वह प्लास्टिक का लंड पकड़े देख लिया और बोली- निशा तुम यहाँ क्या कर रही हो? और यह क्या है तुम्हारे हाथ में? मेरी अलमारी क्यों खोली तुमने?और कई सारे सवाल करने लगीं. करीब 2 मिनट के बाद चाचाजी ने मेरे होंठों से होंठ मिलाए और हमने अपनी जीभें लड़ा का लम्बा किस किया. कल मेरे जाने के बाद बिल्ली आई थी और तेरी लुंगी तेरे लंड से हटी हुई थी, तब वो उसे चाट रही थी.

मेरे ज़्यादा ज़ोर डालने पर उस ने मेरा लंड अपनी जुबान से टच किया फिर चूसने लगी. मम्मी ने ससुर को दूर किया और बोलीं- आप अभी कुछ देर के बाद कमरे में आइएगा और सुहागरात मनाईएगा. इसके बाद मैंने दीदी को मंगलसूत्र पहनाया और फिर आखिर में हमने फेरे लिया.

किसी ने मुझे थोड़ा आगे खींचा और झट सेमेरी गांड में अपना लंड डाल दिया।तभी रिया चिल्लाई- निकी, साले हरामी है रे ये लोग. उसमें मैं आप सब पाठकों से एक प्रश्न पूछना चाह रहा था कि सब लड़कों को कोई कुंवारी लड़की चुदाई के लिए मिल जाती है, तो वो खुशी से पागल हो जाते हैं. दूसरी बार कोशिश करने पर मेरा आधा लंड चुत में एकदम से घुस गया और आंटी ने एक जोर की चीख मारी, वे तड़फ उठीं और कहने लगीं- छोड़ दो.

कुछ ने तो सीटियां मारी।हम आगे बढ़ी तो एक बेहद सुन्दर लड़की ने आकर मुझे आगोश में लिया, मेरे होंठों को किस करते हुए कहा- ओह बेबी… आज तो तुम्हें भगवान् ही बचा सकता है!मैंने और रिया ने एक दूसरी की तरफ देखा, पता नहीं क्यों मगर हम एक दूसरी की तरफ देखकर हंस पड़ी और फिर उस जादुयी दुनिया में खो गयी. तो दोस्तो सेक्स स्टोरी को शुरू करने से पहले आपको बता दूँ कि वैसे तो कॉलेज के बाद एक और भी घटना हुई थी.

इसके बाद सुमन ने गुलशन से अपने बाथरूम के लॉक को बदलवाने के लिए बोला तो गुलशन ने उस लॉक को निकाल कर दूसरा लॉक लगवाने की बात कह दी.

मामी ने मुझे जस का तस रोक दिया और बहन के होश में आने तक उसके मुँह पर पानी के छींटे देती रहीं.

मैं कपड़ों के ऊपर से ही उसके चूचे दबाने लगा, वो मजे लेने लगी… मादक सिसकारियां लेने लगी, बोली- मुझे कुछ हो रहा है… प्लीज़ कुछ करो. क्यों गाली नहीं दूँ तेरे चूतिया पति को? साला घर में इतना गर्म गुजराती माल छुपा के रखता है, गाँडू कभी मिला मुझे तो उसकी गांड मारूँगा. अब मैं पीछे से आगे को आया और भाभी के एक चूचे को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

मैंने वहीं किचन में स्लैब के सहारे आंटी की एक टांग उठाकर अपना लंड सैट किया. मैं अपने अनुभव से उसके चेहरे पर सन्तुष्टि के भाव आसानी से पढ़ रहा था लेकिन इसके साथ ही उसके चेहरे पर झेंप के भी भाव थे. आज पता लगा था जब मेरी शादी हुई होगी, उस वक्त मोनिका पर क्या गुजरी होगी.

क्योंकि मैं तुम्हारी इच्छा पूर्ण नहीं कर सकता तो फिर कोई और क्यों न करे.

अपना हाथ अब वो उसके मम्मों के नीचे तक लाकर और 1-2 बार उसकी गर्दन हल्के से चूमते हुए पप्पू आगे बोला- भाभी तुम आरम से खड़ी रहो… पीछे भीड़ बढ़ भी गई तो तुमको तकलीफ नहीं होने दूँगा. दोस्तो, यह कोई फेक सेक्स कहानी नहीं है बल्कि एक सच्ची सेक्स कहानी है. तभी वो वापस आई, तो मैं देखता ही रह गया, उसने स्कर्ट और टॉप पहन लिया था, वो कपड़े चेंज करके आई थी.

हम सेक्स का भरपूर मजा लेते हैं, जिससे मुझे आज पता चला ही कि मैं प्रेगनेन्ट हूँ. रूपा को उस से चुद कर इतना मजा आया कि वो उसकी गुलाम बन गई और उसे अपने घर लाकर अपनी बेटी को पटाने की छूट दे दी. गुलशन जी ने सुमन की तरफ़ देखा तो उसकी आँखें बंद थीं और वो अपने होंठों को दांतों में दबा कर काट रही थी.

मैं तेरे कामरस को चख कर देखूं कि कैसा स्वाद है मेरी बेटी की चुत के रस का!’गुलशन जी ने अब सीधे उंगली चुत पे लगा दी और उसके सहलाने लगे, फिर उसपे जो रस लगा उसे वो चाट गए.

इसलिए ये मत समझो कि मुझे कुछ पता नहीं है, पहले पीछे से सट गए मुझसे, फिर पेट रगड़ा और अब सीने तक पहुँच गए. रहमत ने माँ को दीवार से उल्टा करके टिका दिया और उसकी नंगी पीठ को चाटते हुए माँ के कलमी आम जैसे मोटे मम्मों को आगे हाथ डाल कर दबाने लगा।माँ के कोमल नाजुक जिस्म पर अपनी जीभ चलाने के साथ साथ वो अपने दांत गड़ाने लगा जिससे मेरी माँ की आहें पूरे कमरे में गूंजने लगी.

बुलंदी बीएफ कुछ पल बाद मैं झड़ने वाला था और मामा को पता था कि जितना जोश में मैं हूँ उस हिसाब से मैं जल्द झड़ जाऊँगा. अब जाकर रीना ने रोना धोना बंद किया लेकिन रंजु ने इस घनघोर चुदाई को मेरे मोबाइल में रिकार्ड कर लिया, जो आज तक सुरक्षित है.

बुलंदी बीएफ मैं दीदी को होंठ पर किस करने लगा, तो दीदी ने भी मुझे रेस्पॉन्स देना शुरू कर दिया. ये उस समय की बात है जब मैं पढ़ाई करने 2008 में विदेश इंगलैंड में गया था.

अब मैंने उन दोनों को बेड पर लिटा कर उनकी सलवार और कुर्तियाँ निकाल दीं.

ब्लू सेक्स पोर्न वीडियो

सांवली बुर के बीच से हल्की गुलाबी झलक का नजारा ऐसा लग रहा था मानो एक सुन्दर गुलाब खिल गया हो. साली शादी की तो एक ही चूत चोदने को मिलेगी लेकिन नहीं की तो तेरी जैसी मस्त गर्म चूत मिलेगी… और तू इस लौड़े से चुदवा कर तेरी सहेलियों को भी सुलायेगी मेरे नीचे… है ना?पप्पू की ज़िप खोल कर रूपा ने अपने दोनों पैर घुटनों में मोड़ लिए, जिससे उसकी साड़ी जाँघों से ऊपर खिंच गई और पप्पू को उसकी चूत दिखाई दी क्योंकि रूपा ने पेटीकोट के नीचे पैंटी ही नहीं पहनी थी. उन्होंने जब पहली पहली बार अपना लंड मेरी चुत में घुसाया तो मेरे मुँह से केवल एक हल्की सी सिसकारी भर निकली और उनका पूरा का पूरा लंड एक ही धक्के में मेरी चुत के अन्दर समा गया.

फिर लगभग़ 5 मिनट के बाद वो औरत वापस आई और मेरा हाथ पकड़ कर बोली- मिस्टर संदेश, आप आराम से मेरे साथ आइए. अब तो जब भी मैं और इरफान सेक्स करते, उस वक्त मैं आँखें बंद करके चाचाजी को इमेजिन करती तो ही मैं संतुष्ट हो पाती. मंजूर है!मेरी बेटी बोली- ठीक है पापा आज आप जो कहोगे, वह मैं करूँगी.

जब हम लोग वहां पहुँचे, तो मैं आंटी को देख कर दंग रह गया और वो सलवार और कुर्ती में थीं.

ये बोलकर वो मेरे गले लग गई और कान में बोली- आप कुछ नहीं बोलोगे?मेरे अन्दर एकदम से करंट सा दौड़ गया, मैंने उसे कस कर हग किया और ‘आई लव यू टू मेरी जान. फिर 5 मिनट बाद उसने एक कंडोम मेरे लंड पर चढ़ा दिया और कंडोम के साथ ही लंड पर जीभ फेरने लगा. क्या आप मुझसे शादी करोगी?तो मम्मी बोलीं- ये कैसे हो सकता है?ससुर बोले- क्यों नहीं हो सकता? मैं भी अकेला हूँ.

मैं दर्द के मारे तिलमिलाने लगा, उसका लंड बहुत ही कड़ा और मोटा महसूस हो रहा था।मेरी गाण्ड फट गई. उस नज़र से पप्पू समझ गया कि नीता को अपनी जवानी का एहसास है और वो भी मर्द का साथ चाहती है. मैंने पलट कर पूछा- मंदिर नहीं जाना है क्या?ममता ने न में सर हिलाया और शरारत पूर्ण मुस्कान के साथ बोली कि मंदिर वंदिर आप लोगों के लिए बना है, मैं तो दोंगिया नाला वाले पिकनिक स्पॉट जाऊँगी.

अब जब भी उस फोटो को देखता हूँ तो उसका वह सेक्सी देसी अंदाज़ मुझे खुश कर देता है. कहानी का पिछला भाग:गया था बिज़नेस करने, भाभी को चोद दिया-1मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने भाभी की चूत देखने ही लगा था कि भैया के आने की आहट हुई और मामला गड़बड़ हो गया.

मैंने भी एक नारी का सम्मान रखते हुए उसके साथ उसकी इच्छा के विरुद्ध कुछ नहीं किया. वो अपने सामने दोनों भाइयों का लंड अपने ही लिए खुला देख कर बहुत ही रोमांचित हो उठी थी. अगले दिन जब मैं वहां पहुँचा तो मेरी आँखें सिर्फ़ अनुराधा को ही तलाश रही थीं.

वहाँ बैठने की जगह नहीं थी, बस एक स्ट्रेचर ट्रॉली थी मरीजों वाली, जिस पर मोनिका लेटी थी.

मैंने भी सोचा कि साली एक बार कायदे से चुद जाएगी, तभी इसकी अकड़ ढीली होगी. वो भी तो तेरी ही बेटी थी?गुलशन- अनिता की बात अलग है, वो मेरी सग़ी बेटी नहीं है. लेकिन मोहन ने मम्मी की कमर को पकड़ कर धक्के लगाना स्टार्ट कर दिया फिर ‘थपथप.

और ऐसा कहते हुए रमेश ने भी अपना पैंट ऊपर से आधा खोल दिया, उसका फनफनाता हुआ लंड बाहर निकल गया. कल तो तू लुल्ली बोल रही थी और अब बड़े आराम से लंड बोल रही है, इसका मतलब तुझे पहले से पता था इसको लंड कहते हैं क्यों?नीतू ने शर्माते हुए कहा- हाँ दीदी, मगर सच्ची मैंने बस सुना था और एक-दो बार दूर से देखा भी था.

हम चाह रहे थे कि वो फ्लैट सिर्फ हमको मिले लेकिन हमारे एड्वोकेट ने हमको कहा कि मेरे पति की बड़ी बहन की N. आज तुम्हीं मेरा मर्द बन कर मेरी जवानी का रसास्वादन कर लो और मेरा कौमार्य भंग कर दो. वो बोला- देख अंश, यार जो तू सोच रहा है, मैं चाह कर भी वो तुझे नहीं दे सकता… मुझे लड़कियों में इंटरेस्ट है। और वैसे भी प्यार व्यार तो मैं किसी लड़की से भी नहीं करता! तू तो फिर भी लड़का है.

xxx हिंदी सेक्सी वीडियो

शुरू में उसको दर्द हुआ फिर जब उंगली चुत में एड्जस्ट हो गई तो उसको मजा आने लगा.

मैं बिना किसी भूमिका के मामी की गंडासे जैसी धार दार गांड मारने लगा और अर्चना दीवार पकड़ कर खड़ी अवाक होकर ये गांड मराई का नजारा देखती रही. मोना- अच्छा ये बात है चल ये बता तुझे अपने जीजू का लंड पकड़ने में मज़ा आया कि नहीं?नीतू- दीदी सही कहूँ. दो मिनट तक ऐसे ही लगा रहा, फिर दाईं चूची को भी उतने ही समय तक चूसता रहा, जब तक मेरा मन नहीं भरा.

दोस्तो, मेरी इस देसी हॉट सेक्स स्टोरी पर आप अपने विचार भेज सकते हैं. नहीं हो पाया तो आ जाएंगी बाहर! क्या कहती है?मैंने एक मिनट के लिए सोचा और फिर मेरी की तरफ देखकर कहा- मेरी, हम दोनों क्लब ज्वाइन करेंगी। अगर ना हो सका तो बाहर निकाल लेना।मेरी ने हमारी तरफ देखकर सुन्दर स्माइल किया और कहा- अब आप अपने ड्रिंक ले सकती हैं. राजस्थान सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियोफिर मैं बिस्तर से नीचे उतर कर बैठ गया और उसकी टांगों को पकड़ कर उसे अपनी तरफ खींच लिया.

हम सेक्स का भरपूर मजा लेते हैं, जिससे मुझे आज पता चला ही कि मैं प्रेगनेन्ट हूँ. और कैसा सबक मिल गया उसको?फ्लॉरा- मुझे कुछ देर पहले पता चला संजय के बारे में.

मैंने दोनों चूतड़ों पे हल्के से दांत से काट लिया, तो उस की हल्की से सिसकी निकल गई. मामी सबसे पहले नंगी हुईं, जो थोड़ा बहुत शरमा रही थीं, उनकी सलवार को भी जबरदस्ती उतार दिया गया. जब ये लोग पहुँचे तब अतुल और बरखा फ्लॉरा के साथ कमरे में थे और टीना बाहर हॉल में अकेली थी.

मैंने अपनी सास को बेड पर गिरा दिया, फिर अपनी साड़ी, पेटीकोट, ब्लाऊज, ब्रा, पैन्टी उतार दी. जय बोला- इस समय पता नहीं कौन आ गया?मैंने कहा- अब तो रहने दो और जा कर देखो कि कौन आया है. हम दोनों माल झड़े कि विनीता की चूत से हमारा माल निकल कर उसकी गांड तक पहुँच गया था.

वो टीवी देख रही थी उसने गुलाबी रंग का पंजाबी सूट पहना था, जिसमें वो एक सेक्स-बम लग रही थी.

मैंने अंधेरे में तीर मारते हुए कहा- हां मैं इस विषय पर बहुत पक चुका हूँ … मुझसे बहुत सी लड़कियों और भाभियों ने चैट की है. उससे मिलने के बाद मेरा लंड पूरी पार्टी में टनटनाया ही रहा और मैंने पूरे समय उसका चक्षुचोदन किया.

घर आने के 2 दिन बाद मम्मी ने मुझे उनसे और उनकी सासू माँ से मिलवाया. मैंने उसे सीधा लेटाया, उस के पैर ऊपर किए और लंड उसकी चूत के मुँह पर टिका कर एक ज़ोर दार झटका लगा दिया. उस रात मोनिका दर्द से बहुत परेशान रही और अगले दिन बच्चा बहुत दर्द के साथ खुद बाहर आ गया.

फिर चाय पानी पीकर मम्मी की बुआ का हाल चाल जान कर मम्मी बोलीं- बुआ मैं पैदल चलकर आई हूँ, जिससे मेरी तबीयत खराब हो गई है. मैंने केवल तौलिया को अपने बदन पर लपेट लिया क्योंकि आज मुझेदेवर से चुदाईकरवानी थीउसके बाद मैं बाथरूम से बाहर आ गई. मैं और अलका जल्दी से अपने कपड़े उतार कर कुतिया की तरह घुटनों पर बैठ गईं.

बुलंदी बीएफ अब शमशेर ने सुपारा चूत के छेद पर रखा और कमर का एक झटका लगाया तो सुपारा सरसराता चूत में दाखिल हो गया. फिर उसने पूछा- तुम क्या लोगे?मैंने डबल मीनिंग में बोला- तुम क्या दोगी?वो भी समझ गई और बोली- जो तुम्हें लेना हैं.

सेक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी

थोड़ी देर के बाद मैंने नयना को नीचे उतार बिस्तर के किनारे उसके घुटनों पर कुतिया बना कर खुद जमीं पर उसके पीछे खड़ा अपना मस्त गीला लन्ड उसकी झड़ी हुई चूत को छुआ दिया. उसके कहने का मतलब है कि उसकी फिगर शानदार है 36 इंच की उसकी चूचियां, 38 इंच के उसके चूतड़ जोरदार हैं जो सभी मर्दों की नजर अपनी तरफ खींच लेते हैं. अगर ये रियल सेक्स स्टोरी आप सबको पसंद आएगी, तो अगली बार में एक नई कहानी आपको बताऊंगी क्योंकि उस दिन के बाद मेरे जीवन में और भी बहुत घटनाएं हुई थीं, जो अपनी नई कहानी में मैं आपको बताऊंगी.

इतनी देर में मेरी बीवी ने आवाज आई- कहां हो?मैं डर गया कि कहीं ऊपर ही ना आ जाए. एक बार भैया को ऑफिस के काम से एक महीने के लिए गुजरात के जाम नगर शहर में जाना पड़ा तो मैं खुशी से झूम उठा क्योंकि मुझे भाभी के साथ सेक्स करने के चान्स ज़्यादा दिखने लगे थे. सेक्सी ओपन यूट्यूबएक बार मेरे कजिन ब्रदर और सिस्टर छुट्टी के दिनों में हमारे घर आए हुए थे.

फिर मैंने अपने लंड का सुपाड़ा चाची की ग़ांड में टिकाकर धीरे से दबाया तो सुपारा उनकी गांड में घुस गया.

भैया राजी हो गए और मैंने उनकी पेन्ट उतारी, लंड पे तेल लगा कर मालिश करने लगी. मुझे तो चुत में मज़ा आ गया आह…संजय- अब मेरे ऊपर लेट जा ताकि साहिल तेरी गांड भी मज़ा ले सके, उसके बाद तेरी हम दोनों ताबड़तोड़ चुदाई करेंगे.

”भैया बोले- मैं क्या पागल हूं कि सबसे कहता फिरूंगा कि मेरी बहन की सूसू में मैंने दवा लगाई. सुरेश- प्लीज काजल, दिखा दे ना यार!काजल ने अपने ब्लैक टॉप के ऊपर के 3 बटन खोल दिए और सुरेश को अब काजल के क्लीवेज के साथ साथ उसकी रेड कलर की ब्रा भी नज़र आने लगी. मैं बस उन की छाती में समा जाना चाह रही थी।वो धीरे धीरे नीचे जाने लगे। अभी बारिश भी थोड़ी तेज होने लगी थी, मैंने जीजू से कहा- जीजू, बारिश तेज हो गई है, अब क्या करें?तो उन्होंने कहा- मेरी जान, बारिश में ही तो चुदाई का असली मजा है, तुम तो बस अपनी चूत की चुदाई के मजे लो और मुझे चोदने दो.

अल्का बोली- काम हो गया… कल दोपहर को मेरे घर आना नहा धोकर… नीचे सब सफाई करके आना.

जवान लड़की की चुदाई की मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है, मुझे कमेन्ट भेजिए. तभी अर्चना एक मार्मिक चीख के साथ अपना कामरस छोड़ने लगी और मैंने गरम और नमकीन पानी चाट कर उसकी बुर को साफ कर दिया. भाभी तो कामुकता से जैसे पागल सी होने लगीं, उनके मुख से बस ये आवाज़ें निकलने लगीं ‘आमम्म.

मुरादाबाद सेक्सी वीडियोदोस्तो, मेरा नाम किरण है(किरण लड़कों का नाम भी होता है), मैं पुणे महाराष्ट्र का रहने वाला कॉलब्वॉय हूँ, मैं दिखने में स्मार्ट हूँ, कद काठी भी ठीक ठाक है. मैं मौसी को चोदने की प्लानिंग करने लगा और बहुत सोचने के बाद आखिर मुझे एक तरकीब समझ आ गई.

ब्लू पिक्चर का वीडियो सेक्सी

पर फिर उसने अपने कपडे ठीक किये और सब नार्मल हो गया।मैं अगली रात को अपनी बहन की चूचियों का वीडियो देख रहा था. आराम से करो न!फिर मैंने उसे बिठाया और उसके वन पीस की चैन खोलनी शुरू कर दी. मैं तो चली जाऊँगी इस बेटीचोद का ख्याल रखना, बड़ा मस्त चुदाई करता है.

कह कर वो चली गई।मैंने रोहित से फोन पे बात की, उसका हाल भी कुछ ऐसा ही था। मतलब दोनों बहनें इस बारे में क्लीयर नहीं थी. मैंने पूछा- तुम्हें किस तरह का सेक्स पसंद है?तो वह बोली- मुझे खूब प्यार करो, मेरी चूचियाँ मसलो, इन्हें चूसो, मेरे होठों को चूसो, मेरे गालों पर प्यार करो… परंतु गालों पर निशान नहीं डालना, और जहाँ मर्जी काटो, मेरी चूत को प्यार करो. यह देख कर मैं और गर्म हो गयी, मैंने यश की कमीज़ और और बनियान निकाल के यश को नंगा कर दिया.

मैंने आंटी का एक आम अपने मुँह में भर लिया और खुद मस्त होकर आंटी का स्तन चूसने लगा. मैं अपनी किसी भी माल की पहली चुदाई मिशनरी स्टाइल में ही करता हूँ क्योंकि इसमें समान अंगों को समान अंग से रगड़ मिलती है, जो लड़की को भावनात्मक तरीके से करीब करती है. उसका पूरा 6 इंच का लंड अपनी चूत में अन्दर लेने लगी मुझे जहाँ पर जलन हो रही थी मैं लंड से खुजली सी मिटवानी लगी.

इसी तरह मैंने और चाचाजी ने 7 दिन की टूर में 2 रात चुदाई करते हुए साथ बिताए और घर आकर भी हम दो महीने से जब भी मौका मिलता है. पर आज वो बैक सीट पर न बैठ के फ्रंट सीट पर बैठी महेश के साथ। दोनों सुखना लेक पहुंचे तो हल्का हल्का अँधेरा छाने लगा था, प्रेमी जोड़े लेक के किनारे हाथों में हाथ डाले बैठे थे, कुछ तो एक दूसरे की गोद में थे और कुछ एक चुम्बन करने में खोए हुए थे.

पापा के आने के बाद शौच के लिए मौसी के साथ जाना बंद हो गया था… और जाने के दिन बहुत पास आ गए थे.

मेरा लंड कच्छे से बाहर निकल कर लपलपा रहा था मानो उसे दस वियाग्रा का डोज दे दिया गया हो. श्रीलंका सेक्सी वीडियो ओपनतीनों भाई बहन के बीच में बहुत प्यार और लगाव था, आपस में बहुत खुले हुए थे और खुलकर बातचीत करते थे. शरीर सेक्सीदूसरी लड़की ने अपनी एक उंगली मेरे मुँह में घुसेड़ दी तो मैं उसे किसी लंड के माफिक चूसने लगी. हमें टाइम पास करने के लिए बुला लिया करो।वो आँखें नचा कर थोड़ा मुस्कुराई और बोली- छी: गंदे.

मुझे बहुत दर्द हुआ, इरफान से 3 साल से सेक्स करने के बावजूद मेरी सील आज ही टूटी हो, ऐसा महसूस हो रहा था.

ठीक है पापा जी, पहले मॉल में चलेंगे मुझे शॉपिंग करवा देना, आप फिर वहीं पर किसी अच्छे रेस्तरां में डिनर भी करवा देना. हम दोनों दूसरे रूम में आ गए और वहां जाते ही श्रुति से रहा नहीं गया. मेरी चूत रिसने लगी थी और बहुत जल्द मैंने रस छोड़ दिया, जिसे सबने मिल बात कर चाट लिया.

गीले गोरे जिस्म पर लाल टावल लिपटा था, बाल और जिस्म भीगे हुए थे, गोरी टाँगें घुटनों के थोड़े ऊपर तक नंगी नज़र आई उसे. यह स्टोरी उस वक्त की है, जब मैं स्कूल में पढ़ता था, उन दिनों मैं शाम के समय गांव के सारे बच्चों के साथ मिलकर छुपा छुपी का खेल खेलता था. जब मैं मामी के कमरे में गया तो देखा मामी दीपक के लंड पर सवार अपनी गांड फड़वा रही हैं और दीपक मामी से बार बार छोड़ देने की गुहार कर रहा था, पर मामी अपना पानी निकलने के बाद ही रुकी.

एक्स एक्स वीडियो पिक्चर

नीता की नज़र अपने लंड पर देख कर अंजान बन कर पप्पू अपने पैर थोड़े और खोलते हुए बोला- एक काम कर सकते हैं बेटी अगर तू हाँ बोले तो. हमारा घर और हमारे पड़ोसी यानि नेहा की बुआ का घर कुछ इस तरह है कि हमारे बरामदे से उनके घर की छत पर साफ़ दिखता है और उन्हें भी बरामदा साफ़ दिखता है. शायद उन दोनों का अमृत रस ने चादर पर गिर कर रात भर में सूख कर चादर को कड़क कर दिया था.

मुझे क्या इरादा है?गोपाल- डार्लिंग, इरादा तो तेरी चुत चाटने का है और जमकर तेरी चुदाई करना है.

रूपा की वो हल्की अकड़ देख के पप्पू ने गुस्से से उसकी चूचियाँ बड़ी बेरहमी से मसलीं और निप्पल काटते हुए तीन उंगलियाँ ज़ोर से चूत में घुसा दीं, जिससे रूपा को बड़ा दर्द हुआ.

फिर वो थोड़ी देर रुका और धीमे धीमे धक्के लगाना शुरू किया और 5 मिनट बाद उसके धक्कों ने शताब्दी की तरह स्पीड पकड़ ली और वो मुझे तेज़ी से चोदने लगा।करीब 10 मिनट बाद फिर से मेरा बदन ऐंठने लगा और मैं फिर से झड़ गई लेकिन वो फिर भी मुझे लगातार पेलता रहा. और वैसे भी जिसका इतना मस्त लौड़ा हो, उसे शर्माना शोभा नहीं देता। इतना कह कर अंजना ने उसका कच्छा नीचे कर दिया और एक झटके से राहुल का 9 इंची हथियार पट से बाहर आ गया।हे राम ऐसा लल्ल…. देवर भाभी की सेक्सी मूवी फुल एचडीअगले दिन मेरा ऑफ था, मैंने उसे मैसेज किया और उसका मोबाइल नंबर ले लिया.

मेरे 7 इंच लम्बे और 2 इंच मोटे लंड को बहन ने चूस चूस कर गहरा लाल कर दिया था. मुझे याद आ गया कि मैंने जिस लड़की को सुबह देखते से ही हॉट समझा था वो अनुराधा ही थी. मैंने जैसे तैसे करके चाचाजी को अपने आप से अलग किया और धीरे से कान में कहा- मेरी जान सब्र करो.

मैं भी उनकी मनोदशा के अनुकूल सेक्सी बातें करने लगा, जिसने उनकी दिलचस्पी को और बढ़ा दिया. मैं लगातार चूत चाटे जा रहा था और कुंवारी चुत का मदनरस पी कर मैं धन्य हो गया क्योंकि रीना अभी तक वर्जिन थी.

चुदते चुदते मैं बेहोश हो गई मगर वो हवस के पुजारी मेरे बेजान जिस्म से ही अपनी प्यास बुझते रहे और फिर थक हार कर मेरे आजू बाजू नंगे ही सो गए.

अरे उसकी शादी नहीं हुई होती तो मैं भगा कर ले जाता उसे और उस माल को तेरे बाप से भी ज्यादा चोदता रहता. अच्छा आपको गांड ही मारनी है तो मेरी फ्रेंड की मार लेना, आपको मज़ा भी आएगा उसकी गांड भी बहुत बड़ी है. उनकी आवाज़ आते ही मौसी ने झट से मेरी पैन्ट ऊपर की, खुद के कपड़े ठीक किए, फर्श पर गिरे चुत की पानी को झटपट पौंछा और दरवाज़ा खोल कर हम बाहर आ गए.

नंगी सेक्सी आ जाए मुझे ये मानने में भी कोई संकोच नहीं होगा कि चूँकि ये मेरा पहला अनुभव था तो मुझे चुदाई का ‘चु’ भी नहीं पता था. तुम्हारा दिमाग़ जगह पर है भी कि नहीं?मैं बोली- पहले पूरी बात तो सुन लो.

दीदी दर्द के मार आगे को भागने की कोशिश करने लगीं, लेकिन मैंने दीदी को कमर से जकड़ रखा था और मेरी पकड़ मजबूत थी. डरती है क्या बड़े लंड से?मैंने कहा- लेकिन सागर आपका तो बहुत बड़ा है यार. उधर यह अहसास मेरी वाइफ को भी हो गया कि हम दोनों अंदर आ गए हैं तो उसका जिस्म अकड़ सा गया, तेज़ तेज़ साँसों से उसके वक्ष के उभार ज़ोर ज़ोर से ऊपर नीचे होने लगे, पसीना भी चमकने लगा.

इंडियन नंगी सेक्सी

एक बार फिर उस की चूत चाटी, इस बार तो कुछ ज़्यादा ही उछल रही थी और बोल रही थी- आह. जब मैंने रूम का दरवाजा खोला तो देखा शानू और रिया तो पहले ही उठ चुके थे. मुझे बहुत दर्द हुआ, इरफान से 3 साल से सेक्स करने के बावजूद मेरी सील आज ही टूटी हो, ऐसा महसूस हो रहा था.

अभी मुझे भाभी की चूत के दर्शन करने थे। मैंने भाभी की साड़ी उतार दी और वे केवल साटन के चिकने पेटीकोट में रह गई। पेटीकोट का नाड़ा भी मैंने खींच कर खोल दिया और भाभी ने अपनी आँखे बंद करके उसे भी चूतड़ उठा कर निकाल दिया।भाभी अब मेरे सामने संगमरमर की नंगी मूर्ति सी लेटी थी. अपना लंड माया की चुत में ठूंसने के बाद भी उसने चाटना बंद नहीं किया.

सांवली बुर के बीच से हल्की गुलाबी झलक का नजारा ऐसा लग रहा था मानो एक सुन्दर गुलाब खिल गया हो.

बहुत प्यासी है, इसकी गांड चूत और मुंह में एक साथ लन्ड डालेंगे, इसको भी लाइफ में मजा आ जाए!तभी अंकल मेरे मुंह में अपना डाल दिया, बोले- आरती ले चूस और जम के चूस ताकि दर्द से तुझे छुटकारा मिले! अब मजा आया है, साली एक नंबर की मस्त माल है. अब ये बात सुनकर उसके मॉम डैड का क्या हाल हुआ होगा आप खुद सोच सकते हो. मैंने कुछ आइसक्रीम अपने लंड पर भी लगा दी और अपनी बेटी को चूसने का इशारा किया.

करके अपनी कमर को उचका रही थी।हम दोनों का ही वक़्त करीब आ चुका था और हम दोनों ही अपनी पूरी ताक़त से एक दूसरे को चोद रहे थे। मैं ऊपर से और ममता जी नीचे से धक्के लगा कर मज़े ले रही थी। हम दोनों की ही सांसें उखड़ गयी थी और पसीने से बदन भीग गये थे. वही हुआ, थोड़ी देर के बाद मेरा लंड खड़ा हो गया और आंटी के चूतड़ों में दबने लगा. दोस्तो, मैं आपका सरस, आपके सामने एक बार एक नई कहानी के साथ फिर से हाजिर हूँ.

एक धक्के में ही मैंने अनाड़ी की तरह गोल गोल चूतड़ों के बीच उनकी कसी हुई गांड में अपना मूसल सा लंड जड़ तक ठोक दिया.

बुलंदी बीएफ: इतने में ही बाहर से एक औरत की आवाज़ आई।आरे छोरे…(अरे लड़के)।कित मर ग्या रे…(कहां रह गया रे). अब तो रागिनी जी बात करते हुए मेरे पैर से पैर सटा देतीं, मुझे भी कुछ कुछ समझ आने लगा था.

उसने कहा- साँस अन्दर लो और वजन अपनी गांड पर दो, पैरों पर वजन कम करो. अब मैंने उसके चिकने मोटे चूतड़ों पर कामुक और अश्लील हरकतें शुरू की, खूब तड़ातड़ चांटे लगाए, दांतों से काटा, गांड की दरार में घुसा के पहले तो उंगली फिराई और फिर अपनी जीभ फिराई, उसके बाद वाइफ को सीधा चित कर के पटक दिया. दूल्हा दुल्हन यानि छोटी दीदी सुनीता और उनके पति को सुहागकक्ष में भेज दिया गया और सारे लोग अपने सोने के लिए जगह ढूँढने लगे.

मैं- चाचाजी ये क्या कर रहे हैं? मम्मी जी हैं?चाचाजी ने मुझे अपनी बांहों में कसते भरते और गरदन को चूमते हुए कहा- नहीं, भाभीजान मेरे घर चली गई हैं शाहीन.

अब आगे:मौके का फायदा उठा के ईशा ऑफिस में आ गयी, ऑफिस में फैली वीर्य की खूशबू ईशा के नथुनों में घुस गयी. पर लंड गया ही नहीं, शायद कभी गांड मरवाई ही नहीं इसलिए छेद बहुत छोटा था. मैंने हल्के से उंगली भी करनी शुरू की, रीना मदहोश हो गई थी, वो मेरे बालों में हाथ फिराने लगी.