इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी सेक्स मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ: इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ, अब झांसी केवल डेढ़ घंटे की दूरी पर है। हम सब मेरे रिश्तेदार की सब्जी बाड़ी में बैठकर नाश्ता करेंगे, और यहीं से झांसी जाकर सीधे घूमने निकलेंगे। लेकिन उससे पहले पास की नदी में नहा कर आयेंगे। पानी भी साफ है और प्रकृति का भी पूरा आनंद उठाना है। सभी अपने बैगों से नहाने के कपड़े निकाल कर साथ रख लें।यह आवाज एक सर की थी, यहाँ पर उनकी बहन का ससुराल था, हम मेन रोड से एक कि.

गुजराती बोल

सुधा की आवाज मेरे कान में पड़ी वो मरियम को बोल रही थी कि उसने मेरे साथ ऐसा क्यों किया, तो बोली- सुबह जो उसने बोला, उसका सबक सिखाना था. जीजा साली का सेक्सी प्यारमेरे ऐसा करते ही वो जल बिन मछली की तरह मचलने लगी और अपना एक पैर मेरी गर्दन के पीछे फंसा कर मुझे अपने ऊपर दबाने लगी- उफ्फ अंकल जी… अब सहन नहीं होता, जल्दी से ट्रीटमेन्ट दे दो मुझे!‘बस थोड़ी देर और… फिर ट्रीट करता हूँ तुम्हारी चूत को!’ मैं उसकी पिंडलियाँ चूमते हुए बोला.

फिर उन्होंने पीछे से ही अपना लंड मेरी चुत के छेद पर रखा और मुझे देखने लगे। मैंने अपने पैर फैलाये और उनको गर्दन हिला के धक्का देने को कहा।आसिफ अंकल मेरे शरीर पर लेट गए और एक ही झटके में अपना लंड मेरी बच्चेदानी तक पेल दिया।मैं उम्म्ह… अहह… हय… याह… कर चिल्लाई. सपना चौधरी का एक्स एक्स एक्स’मैं मन ही मन सोच रहा था कि ये तो आज मेरे साथ ज्यादा ही खुल रही हैं.

’ की आवाज़ गूँज रही थी। करीबन 15 मिनट चुदाई के बाद मैं नीलू की चुत में ही झड़ गया। नीलू की चुत से थोड़ा खून भी निकला था। हम दोनों ने बाथरूम में जाकर खुद को साफ किया। फिर करीबन एक घंटे बाद मेरा लंड फिर खड़ा हो गया। मैंने नीलू को लंड चूसने के लिए बोला.इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ: अगले दिन बैंक हॉलि डे था तो रयान और ऋषिका दोनों ने ही अपने अपने घर जाने का प्रोग्राम बनाया.

अजय धीरे धीरे चला रहा था क्योंकि साराह को डर लग रहा था… साराह मगर हंस रही थी और वो देख चुकी थी कि रूबी ने विवेक का लंड पकड़ा है तो उसने भी आगे खिसक कर अजय के लोअर के अंदर हाथ डाल दिया और अजय का लंड पकड़ लिया.साहिल भी उसकी चूत चुसाई कर उसका लंड रेशमा की चूत में पेलने के लिए तैयार था.

আলিয়া সেক্স - इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ

मैंने भी अपने कूल्हे हिलाने चालू कर दिए और मैं भी सुन्दर से मस्त चुदाई मजा लेने लगी.देख पहाड़ी गोरियां भी क्या मस्त फिगर वाली हैं।उसने मुझसे कहा- अमित मुझे एक तलब हो रही है.

पर अभी मेरा नहीं निकला था, तो मैंने फिर से उसे किस किया और किस करते करते उसकी एक पैर को कन्धे पर रखकर मेरे लंड को उसकी चूत में डाल दिया और फिर धक्के लगाने लगा. इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ यह हिंदी फ्री सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!कुशल लॉन में बैठा था.

लेकिन भाभी एक सीधी लड़की थीं। कभी-कभी जब वो मेरे बगल से जाती थीं तो मैं उनको टच भी कर लेता। परंतु वो बहुत शरीफ थीं.

इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ?

जो उसकी सुन्दरता को अलग ही दर्शा रहा था।फ्लॉरा इठला कर बोली- डार्लिंग देख के ही हल्के होने का इरादा है क्या?संजय- यार माँ कसम क्या फिगर है तेरा. विवेक कसमसाया तो जेट स्की हिल गई… रूबी संभल कर बैठ गई कहीं स्की पलट न जाए. उम्म्ह… अहह… हय… याह… अजय ने उसके टॉप के अंदर हाथ डाल कर उसके मम्मे अच्छे से दबा दिए.

कभी बाहर कर रही थी।लगभग दस मिनट लंड चूसने के बाद मेहनत रंग लाई और गुप्ता जी का लंड खड़ा होने लगा।संजना खुश हो गई और गुप्ता जी के आंडों को सहलाते हुए लंड को नजाकत से चूसे जा रही थी। धीरे-धीरे गुप्ता जी का लंड बहुत भयंकर रूप से टाईट हो गया और फनफनाने लगा, जैसे कोई लोहे का मोटा सा सरिया हो।मैंने उस लंड को देखा तो सहम गया… वो लगभग 7. ये आप समझ ही गए होंगे।आपको बताना चाहती हूँ कि एक और फ्रेंड का मेल आया है कि कहानी की मेन हीरोइन तो सुमन है. आभा मुस्कुरा उठी और कल्पना ने जोर की हंसी के साथ मेरा हाथ पकड़ा और मुझ पर झुकते हुए ‘चलो, तुम्हें बाथरूम दिखाती हूँ.

उनकी साँसें तेज होने लगी, वो कहने लगी- अर्पित, क्या कर रहे हो?मैंने कहा- चाची, पता नहीं क्या हो रहा है!अपने दोनों होंठ मैंने चाची की गर्दन पर रख दिए और उनको किस करने लगा. मेरे चाचा की शादी के बाद चाची घर आई तो कुछ दिनों के लिए उनकी भतीजी भी आ गई घूमने… चाची ने मुझे उससे मिलाया. मैंने खुश हो कर पूछा- सच क्या ताऊ?वो बोले- बेटा, मेरा 8 साल का तजुरबा है, इस सोसाइटी का.

मैं हाल में ही सोया था और ऐसे ही तीन दिन गुजर गये, सब कुछ एकदम ठीक ठाक था. मैंने लन्ड का टोपा उसकी गर्म-गर्म गीली-गीली फुद्दी के होंठों अंदर घुसा दिया और उसके ऊपर झुक कर एक चुची मुंह में लेकर चूसते हुए लन्ड हो दबा कर पूरा उसकी फुद्दी में पेल दिया।सोनिया चिल्ला उठी- हाय मर गई राजा… फाड़ डाली राजा… क्या जालिम मोटा तगड़ा लन्ड है.

’‘मैं अनूप!’‘टॉप के ऊपर ही सब कुछ करना है?’‘बाहर इतना मज़ा है तो अन्दर कितना मजा होगा?’‘तुम खुद ही देख लो ना.

रूबी तो दौड़ कर विवेक के स्कूटर पर उससे चिपट कर बैठ गई और विवेक ने अपनी जेट स्की दौड़ा दी.

कुछ मिनटों में ही अंजलि के चूतड़ उछलने लगे तो मैंने भी लंड को हल्का निकाल फिर से अंदर डाला. मैंने उसको अपनी तरफ घुमाया और उसके नर्म होंठों पर अपने होंठ रख दिए और किस करने लगा. उसके बाद के अगले तीन दिन भी अम्मा काम पर नहीं आई और दूसरी कामवाली ही काम पर आती रही.

सुकांत फायनल में पास हो गया और उसकी एक गर्लफ्रेन्ड भी है। उसके पिता जी, जो मेरे चाचा जी और उसके ताऊ जो मेरे पिता हैं और भी फैमिली मेम्बर तैयार नहीं थे, अब तैयार हैं। आज शाम सेलीब्रेशन है, इसी होटल में. मेरी कमर के नीचे रख दिया। इससे मेरी गांड थोड़ा ऊपर को हो गई, इससे उनका लंड और अन्दर तक जाने लगा।वे और दस मिनट तक इसी बुरी तरह चोदते रहे। फिर पूरा लंड पेल कर मेरे ऊपर लेटे रह गए।कुछ देर बाद वे अलग हुए. अब नताशा ने अपने चूतड़ों को पीछे की ओर उभार दिया था, जिससे वो आराम से एंड्रयू और स्वान नामके दैत्यों के भयानक लंडों को अपनी छोटी सी चूत में ले सके.

तभी आलोक बोला- चाची, मुझे थोड़ा दूध चाहिए!तो मैं उठ कर किचन की तरफ जाने लगी।आलोक भी मेरे पीछे-पीछे किचन में आ गया.

उनका मुख मेरे वीर्य से भर गया, फिर भी वो सारा माल पी गई और मेरा लण्ड चाट के साफ किया और थैंक्स कहा कि मैंने उनकी सालों की प्यास बुझाई. मेरा नाम पंकज है और ये हिंदी चुदाई स्टोरी मेरे दोस्त की बीवी के साथ की सेक्स स्टोरी है. उसको नहीं पता था कि मैं रजनी का ही बेटा हूँ। वो वहीं खड़े दूसरे गार्ड को बता रहा था कि रजनी कैसी औरत है.

मैं अपने साथ हुई सबसे पहले चुदाई की कहानी लिख रही हूँ।यह कहानी कुछ पुरानी है. रात में दो से तीन बार मुठ मारकर इसको शांत करता हूँ, तभी तो ये थोड़ा शांत होकर मुझे सोने देता है वरना सोने ही नहीं देता. मैंने स्पीड भी बढ़ा दी। तभी उसकी चुत भी मचलने लगी और वो मुझे जोर से जकड़ कर बोलने लगी- अह.

जब मैं उनके घर से चलने लगा तो आंटी प्याज़ का बैग उठाने लगी, तब मैं आंटी की हेल्प करने का नाटक करने लगा ताकि मैं उन्हें टच कर सकूँ, उनकी मदद करते समय मेरा हाथ उनके बूब्स पर टच कर रहा था जिसे मैं धीरे से पुश कर रहा था.

तभी मुझे पता चला कि वो मेरे दोस्त जतिन से भी चुदी है 4 बार!जतिन उसकी जान पहचान वाला लड़का था, पास में ही रहता था. मैं नीचे अपने लंड को हल्के हल्के हिला भी रहा था जिससे मानसी जल्दी ही मेरे लंड को खुद में एडजस्ट कर ले.

इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ कपड़ों से आजाद होते ही रोहन का लण्ड फनफनाने लगा।पूल में झड़ने की वजह से रोहन की चड्डी और उसका लण्ड दोनों ही उसके वीर्य से लथपथ थे. फिर इधर-उधर की बातें करके मीना चली गई और मोना भी सुधीर की तलाश में निकल गई.

इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ वो कह रही थी कि पिछले सात आठ महीने से कुछ नहीं किया उसके हबी ने!’‘अंकल जी वैसे मस्त बॉडी है उसकी. तो सुपारा अन्दर घुस गया। मैंने भी गांड ढीली कर ली थी। फिर उन्होंने एक और जोरदार झटका दिया तो आधा अन्दर हो गया था। उनके तीसरे धक्के मेंपूरा लंड गांड के अन्दर था।अब वे पूरा लंड गांड में डाल कर मेरे ऊपर लेटे रहे। वो पाँच मिनट इसी तरह लेटे रहे.

चूत के दाने के नीचे कुछ गहराई सी थी जिसमें से उसका चिपका हुआ छेद दिख रहा था जिसमें लंड घुसाते हैं.

नई नई लड़कियों की बीएफ

तब की बात है। मैं 6वें सेमेस्टर के लिए कॉलेज जा रही थी। वहाँ मैं हॉस्टल में रहती थी। मैंने रिज़र्वेशन करवा लिया था और मैं शाम 7 बजे वाली ट्रेन में बैठ गई। मेरी ऊपर वाली बर्थ थी. नमस्ते दोस्तोमैं जाह्नवी एक बार फिर अपनी एक नई चुदाई की कहानी लेकर आई हूं!आपने मेरी पिछली कहानियों से जान लिया होगा कि मेरे पति को मुझे गैर मर्द से चुदवाते देखना पसंद है. रीना रानी ने सुल्लू रानी की चूची पर च्यूंटी काटके कहा- मम्मी तेरी चूत का जूस भी बड़ा ज़्याकेदार है… पक्की रंडी है तू कमीनी!‘अब पहले ये बता कि रेखा बीवी से तेरा सेक्स कैसे हुआ?’ सुल्लू रानी बोली.

मैं हक्का बक्का उसे ऐसे ही देखता रहा और वो भी कामुकता भरी नजरों से कुछ देर ऐसे ही देखकर फिर से मुझे किस करने लगी, मैं फिर से उसके मम्मों को कपड़ों के ऊपर से ही मसलने लगा. नीलिमा- हाँ यार, आज बड़ा मजा आया तीन मर्दों के साथ नहाने में!रेशमा- अरे तीन कहाँ, चार जन थे ना!नीलिमा- चार कहाँ… तीन ही थे… वासु तो तुझ से लगा हुआ था न, उसे कहाँ तुझसे हमारे लिए फुर्सत मिलेगी!रेशमा- कुछ भी मत बोल, वो मुझे तैरना सिखा रहा था और कुछ नहीं!नीलिमा- वाह वाह, अब तूने मौके का फायदा नहीं लिया तो हम क्या करें!रेशमा- तो तू कल ले ले फायदा!नीलिमा- हाँ अगर दीपा को बुरा न लगे तो जरुर लूंगी. फिर उन्होंने मेरी चुची हाथ में पकड़ी और बोले- साली जी, आज तो मैं तुम्हारी चूत का स्वाद चखना चाहता हूँ.

हम दोनों ही बेलगाम बौछारों से एक दूसरे की प्यास को बुझा रहे थे और कभी ना ख़त्म होने वाले प्यार के पेड़ को सींच रहे थे.

साथ ही मैं एक कुत्ते की तरह अपनी जीभ उनकी चुत में घुसा कर लपलपाने लगा. इसलिए मुझे आंटी के सामने तौलिया लपेट कर आना पड़ा।आंटी मुझे यूं देख कर स्माइल करने लगीं और उठकर मुझे ऋषि का लोवर और टी-शर्ट दी।मैंने पूछा- आंटी अंडरगार्मेंट्स?तो वो बोलीं- ऋषि के अंडरगार्मेंट्स गंदे पड़े हुए हैं. पहले ललितपुर के बारे में बता दूं, ललितपुर शहर दक्षिणी यू पी के छोर पर बसा जिला मुख्यालय है जो तीन तरफ से मध्य प्रदेश से घिरा हुआ है.

थोड़ी देर की चुसाई से ही उसका मूसल लोहालाट हो गया और वो दुबारा मेरी बीवी के ऊपर चढ़ गया. और आँखों को कामुक बना लेता था, मैं मुस्कुरा के नजरें हटा लेती थी।अरे. ‘हाँ… रोहिणी तुम्हारी बहुत तारीफ कर रही थी और फिर मीटिंग रूम में तुम्हें देखने के बाद और जो तुमने मेरे साथ किया, बस मुझे तुम्हें पास से देखने की इच्छा हुई तो मैंने तुम्हें बुला लिया.

मैं सोने का नाटक कर रही थी उसे दिखाने के लिये मैं उसका लंड छोड़ कर सीधी हो गई. उनका लंड उछल कर बाहर आ गया। मैं उनका लंड देखता ही रह गया, आप सभी को भी आश्चर्य होगा, पर यही सच है कि गुप्ता जी का लंड जो कि अभी मुरझाई अवस्था में ही लगभग 5.

फिर भी उसका लंड अंदर नहीं गया, तो मैंने रोहन से कहा- ऐसे दबाव मत बनाओ, पहले पीछे होकर हल्के झटके के साथ अंदर डालो!उसने हम्म् कहा और अगले ही पल वैसा किया. वो बैठ गई, मैं लीड लगा कर गाने सुन रहा था और उसकी तरफ देखने लगा या यों कहो उस पर लाइन मारने लगा. मैं हो गई धर्म भ्रष्ट… बन गई राजे बाबू की रखैल… पर कितना आनन्द मिला इस बदचलनी में! राजे बाबू ने बहुत मज़ा दिया… तू बहुत बढ़िया चोदू है… जल्दी खलास भी नहीं होता… तेरे वीर्य का स्वाद कितना मदमस्त है… आज तो राजे तूने मुझे खुश कर दिया… कब से प्यासी मरी जा रही थी… मेरी बरसों की तपस्या आज सफल हुई.

मैंने देखा कि माँ अपने हाथों से आलोक के लंड को ऊपर नीचे कर रही थी, माँ ने अपनी साड़ी खोल दी और अपने ब्लाऊज निकाल कर चूची नंगी कर ली.

मेरे नहा कर आने के बाद मैंने अपने पहले वाले कपड़े पहन लिए और फिर सचिन ने मुझे नाश्ता करने को कहा. तो इसकी नसें अब ढीली पड़ गईं। अब ये जल्दी पानी फेंक देता है और खड़ा भी देर से होता है।राजू की बात सुनकर मोना को बड़ा गुस्सा आया वो तो कामवासना की आग में जल रही थी और ये ऐसी बातें कर रहा था। उसने राजू को जोर से धक्का दिया और चिल्ला कर बोली- कमीने नामर्द कहीं के. मैं समझ गया कि आज कुछ तो सेक्सी होने वाला है, पर सब लोग नीचे थे तो हम जल्दी वापिस आना पड़ेगा.

मेरी आंटी ने डोर खोला में देखा एक औरत घर के अन्दर आई। वो पानी लेने आई थी।दोस्तो, क्या बताऊं क्या माल थी. उसकी चूत के दर्शन अब होने ही वाले थे, मेरे दिल की धड़कन तेज हो गई वो नज़ारा मेरे सामने अब आने ही वाला था जिसकी कल्पना कर कर के न जाने कितनी बार मैंने मुठ मारी थी, कितनी ही बार मैंने इसी चूत की सोच सोच के अपनी बीवी को चोदा था.

मैडम ने फिर मेरी गर्दन को दबाया और बोली- ज्यादा हंस मत!और इस बार उनके बूब्स मेरी छाती से पूरी तरह चिपक गये और मेरा लंड एकदम टाईट होने लगा. मैं वहाँ हाथ से ढकने के कोशिश करने के साथ बोला- आप चलो, मैं आता हूँ. उसके बाद हमने बहुत बार सेक्स किया जो आज भी जारी है, उसने हमसे उसकीसहेली को भी चुदवाया, जिसकी कहानी मैं बाद में लिखूंगा.

देसी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

मेरे हाथ उनके सिर पर चला गया और मैं उन्हें अपने बूब्स पर दबा रही थी.

पहले उसको किस किया, फिर सुपारे को थोड़ा मुँह में लेके चूसने लगी। एक मिनट चूसने के बाद उसने वापस लंड अन्दर कर दिया और हँसती हुई नीचे भाग गई।संजय- उफ़फ्फ़ साली इत्ती सी है मगर चुदवाने को बेताब है। इसका भी जल्दी कुछ करना होगा. तुम्हें पता है ये भारी डिस्काउंट तुम्हें क्यों मिले?मैंने अनजान बनकर कहा- क्यों?तो सर ने कहा- सामने के दो बटन खुले थे, तो पांच सौ रुपये का डिस्काउंट मिला, कहीं चार बटन खुले होते तो मोबाइल फ्री में ही आ जाता!मैंने शरमाने का नाटक किया और सॉरी कहा… तो सर ने कहा- अरे, सॉरी की बात नहीं है. गीता की साड़ी का पल्लू नीचे गिरा हुआ था और उसके ब्लाउज़ से उसकी थोड़ी थोड़ी छातियाँ दिख रही थी.

पता नहीं रात को मेरी गांड का क्या हाल होने वाला है।मोना नीचे बैठ गई और काका के लंड को चूसने लगी। अब इसे इन दोनों की किस्मत कहो या कहानी की ज़रूरत. मैंने अपने हाथ को उसके गर्दन से निकाला और उसकी तरफ घूम गया और उसकी चूत को सलवार के ऊपर से ही सहलाने लगा. સેક્સી એપ’फिर अपनी फांकों को फैलाकर उसकी दरार में शराब की बूंद टपकाने लगी और बोली- अब यहाँ पर अपनी जीभ चलाओ.

लेकिन मैंने कभी किसी को भी इस बात को नहीं कहा। यदि तू अब भी मॉम को बताना चाहती है. तो कर देना।मैं बोला- ओके!इसके बाद मैं और भाभी भैया को एयरपोर्ट छोड़ने गए। वो चले गए और हम लोग वापिस आने लगे.

30 बजे हिम्मत ने मेरे खाते में 4000 रुपये डलवा दिए और फोन करके बता दिया कि पैसे जमा कर दिए हैं. पहले उसको किस किया, फिर सुपारे को थोड़ा मुँह में लेके चूसने लगी। एक मिनट चूसने के बाद उसने वापस लंड अन्दर कर दिया और हँसती हुई नीचे भाग गई।संजय- उफ़फ्फ़ साली इत्ती सी है मगर चुदवाने को बेताब है। इसका भी जल्दी कुछ करना होगा. उसकी बड़ी बड़ी चुची, बड़े मोटे चूतड़ गांड और खास कर उसकी बन पाव सी फूली हुई चूत जो मैं हमेशा चोदता रहता हूँ.

डोर लॉक किया और फिर मैं उसके बराबर में बेड पर बैठ गया।मैंने उसका हाथ पकड़ कर चूमा और अपनी बांहों में खींच लिया, फिर मैंने उसको होंठों पर किस किया। उसने रेड लिपस्टिक लगाई हुई थी और उसके होंठ रसभरे थे. मामी ने धीरे से अपना हाथ मेरे गाल पर फेरना शुरू कर दिया था और मेरा हाथ हल्के से खींचकर अपने बूब्स पर ले गई थी और मुझसे जोर से दबवाने के लिए अपने चूचों पर मेरे हाथ को दबाने लगी. वो बोले- नहीं, तुम भी मेरे साथ पीओ!मैं मना कर दिया पर वो ज़िद किये जा रहे थे- तुम दारू मत पीना, बियर पी लेना, बियर पीने से कुछ नहीं होगा!मैं बोली- चाहे दारू हो या बियर… मैंने कुछ नहीं पीनी!पर वो ज़िद पर अड़े थे!मैं मन ही मन सोच रही थी कि आज कुछ तो गड़बड़ है नहीं तो ये इतनी ज़िद कभी नहीं करते और आज मुझे बियर पिला रहे हैं.

एक बजे दोपहर को मैं हॉस्पिटल आऊंगी तुम मुझे वहां से पिक कर लेना।मैं खुश हो गया और तैयार होकर एक बजे उसके बताए हुए हॉस्पिटल पहुँच गया।मैंने उसको देखा नहीं था.

‘जरूर आना बहू रानी, मैं हमेशा इंतज़ार करूंगा तुम्हारा!’ मैंने भी गंभीरता से कहा. जो अभी भी गीली और चिकनी हो रही थी।मैंने आंटी की एक टाँग पकड़कर उठा दी और वो गांड के बल ज़मीन पर गिर गईं और उनकी गांड में दर्द होने लगा।मैंने कहा- आंटी लाओ आपकी गांड की मालिश कर दूँ, फिर साथ में नहाएँगे।मैं इतनी जल्दी शांत कहाँ होने वाला था.

उसी तेल से मैं उनकी मालिश कर रहा था।फिर 2-3 बारी लंड को गांड पर लगाया तो वो उछल कर चुत पर जा लगा, जिससे हम दोनों को गुदगुदी हुई और फिर काफ़ी झटकों के बाद मेरा आधा लंड आंटी की गांड में घुस गया।लंड घुसते ही आंटी चिल्ला पड़ीं- आआईयईई. दस मिनट तक टीना लंड से खेलती रही उसको पूरा मुँह में लेकर चूसती कभी गोटियों को हाथ से छेड़ती तो कभी मुँह से चूसती।ये हरकतें संजय को पागल बना रही थीं वो सिसक रहा था और मज़े में उसकी आँखें बंद थीं। अचानक टीना ने लंड मुँह से बाहर निकाल लिया और संजय को देख कर मुस्कुराने लगी।अचानक मज़ा खराब होने से संजय ने जल्दी से आँखें खोलीं।संजय- साली कुतिया क्या हुआ कितना मज़ा आ रहा था. मीना- वो तुझे क्यों बताएगा भला?मोना- चुत के बदले में तो बता ही देगा ना.

हिम्मत लैपटॉप और पोर्न मूवी की सीडी रख कर चला गया।मैंने उसमें से एक सीडी लगाई तो उसमें एक स्कूल गर्ल अपने टीचर से चुदवाती है। क्लास रूम में टेबल पर लिटा कर टीचर अपनी स्टूडेंट की चूत चाट रहा होता है. मैंने अपना मुंह पूरा पूरा खोल दिया और रानी की एक चूची मुंह में घुसा ली. मुझे सच में नहीं पता।टीना- क्यों तू अंडरगार्मेंट्स नहीं पहनती क्या.

इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ मैं शरमा भी रही थी, घबरा भी रही थी और कसमसा भी रही थी क्योंकि अभी दर्द तो बिल्कुल नहीं था पर अजीबो गरीब अहसास हो रहा था. मैं घर से निकली तो कॉलोनी में कोई नहीं था क्योंकि दोपहर का टाइम था, मैं जल्दी से बगल वाली बिल्डिंग में चली गई.

बुर चाटने वाला बीएफ वीडियो

उसके अगले दिन मुझे एक महिला का मेल प्राप्त हुआ जिसने मेरी किसी पुरानी कहानी/समस्या को पढ़कर रिप्लाई किया था. कुछ देर किस करने के बाद मैं उसके मम्मों को मसलने लगा, उसके कड़क मम्मों को मसलने का अलग ही आनन्द आ रहा था, जैसे मैं उसकी टीशर्ट के अंदर हाथ डालने लगा तुरन्त ही उसने किस करना बन्द कर मेरे गाल पर हल्का सा तमाचा जड़ दिया. इसको हाथ में लेकर देख तुझे कैसा महसूस होता है?सुमन ने डरते-डरते नकली लंड को ऐसे पकड़ा जैसे वो कोई साँप हो।सुमन- दीदी ये तो रबड़ का है.

इसने राजे को बिना हिले लेटे रहने का हुक्म दिया और चुदाई का मस्त नज़ारा बांध दिया. रयान ने मुस्कुरा कर उसके दोनों हाथ पकड़ कर थैंक्स कहा तो ऋषिका बोली- फटाफट नहा आओ, फिर खाना खायेंगे, बड़ी जोर से भूख लगी है. mosi सेक्सीफिर उसने रामू काका से कहा- ये लड़का क्या हमेशा तुम्हारे साथ ही रहेगा?रामू काका ने कहा- हाँ, अब तो यहीं रहेगा.

थोड़ी देर में निशा भाभी उसे ढूंढते हुए आई और बोली- यह यहाँ है और मैं परेशान हो रही थी!यह बोल कर वो अपने बेटे को उठाने की लिए झुकी, आय हाय… क्या बोबे थे मस्त 36″ के… देख कर मेरा लंड एकदम कड़क… मैं तो देखता ही रह गया और निशा भाभी ने मुझे पकड़ लिया, बोली- क्या देख रहे हो?मेरा तो दिमाग ही काम नहीं कर रहा था, हड़बड़ा कर मैं बोला- कुछ नहीं, कुछ भी तो नहीं…भाभी बिना बोले अपने बेटे को लेकर चली गई.

मैं अपनी बीवी और अपने दोस्त को अन्दर देखकर दंग रह गया।मैंने एक नजर अपनी बीवी को देखा वह चोटी बंधे आदमजात नंगी खड़ी थी. रानी के पति को देख कर मुझे सच में रानी कि भाग्य से सहानुभूति हुई; उसका पति नाटे से कद का सांवला सा बदसूरत आदमी था.

और आप के पास ये कहाँ से आया?टीना- अच्छा, तुझे नहीं पता ये क्या है?सुमन- नहीं दीदी सच में मुझे नहीं पता ये क्या है. तुमको चाहिए?मैं बोला- हाँ।वो बोलीं- ठीक है, मैं देती हूँ।मैंने कहा- आपके पास कहाँ से आती हैं?तो बोलीं- मेरे पति लाते हैं. लेकिन अभी वेज बर्गर पहुँचा दीजिए।फिर उसने मेरा पता नोट किया और 30 मिनट का टाइम दिया।मैंने भाई से कहा- वो 30 मिनट में आ जाएगा, तुम ले लेना.

तो इसकी नसें अब ढीली पड़ गईं। अब ये जल्दी पानी फेंक देता है और खड़ा भी देर से होता है।राजू की बात सुनकर मोना को बड़ा गुस्सा आया वो तो कामवासना की आग में जल रही थी और ये ऐसी बातें कर रहा था। उसने राजू को जोर से धक्का दिया और चिल्ला कर बोली- कमीने नामर्द कहीं के.

तो चुदेगी कब? आज तुझे चुदाई सीखनी है तो चुपचाप लेटी रह और मेरे लंड का कमाल देख आज तुझे नया मज़ा देता हूँ।संजय ने अपनी उंगली को मुँह में लेके गीला किया, फिर उसको पूजा की चुत पे घुमाने लगा और धीरे-धीरे उंगली को चुत में घुसेड़ने लगा।पूजा- आह मामू दर्द होता है उफ़ आह…संजय- तुझे ज़्यादा मज़ा लेना है ना तो इतना सा दर्द नहीं सह सकती. मैंने आंटी से पूछा- आप कैसी हैं और आज अचानक ऊपर कैसे आई?तो उन्होंने बताया- तुम्हारे अंकल बाहर गये हैं, तो मन नहीं लग रहा था, तुमसे बातें करने ऊपर चली आई. भाभी भी सेक्सी आवाज़ निकाल रही थी- सीईई ईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआआ!भाभी- और तेज़ दबा रोहन… चूस मेरी चुची! मसल डाल रे आआआ!मैं- हाँ मेरी रंडी भाभी, आज तो तुझे ऐसा चोदूँगा कि तू हमेशा मुझसे ही चूत चुदवायेगी।यह सब सुन कर भाभी भी जोश में आ गई और उन्होंने मेरे शॉर्ट्स के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ कर दबा दिया.

पंजाबी वीडियो सेक्सी मेंउम्र 45 की अच्छी कद-काठी, मगर साधारण से आदमी हैं बड़ी सादगी में रहते हैं। इनके कुछ उसूल हैं, जिसकी वजह से घर के बाकी लोग भी ऐसे ही रहते हैं। इनकी खुद की कपड़ों की एक बड़ी सी दुकान है।हेमा- ये लो जी आपकी चाय, 2 मिनट क्या देर हुई. तभी मैं अपना एक हाथ उनकी चूत पर ले गया और चूत को सहलाने लगा, मैंने धीरे से मैडम की चूत में एक च्यूंटी काट ली और जिसकी वजह से वो उछल गई और मैं हँसने लगा.

बीएफ वीडियो हप्सी

उसके कान की लौ चुभलाते हुए मैंने उसका दायाँ स्तन कुर्ते के ऊपर से ही अपनी हथेली से ढक दिया, विरोध स्वरूप उसका हाथ मेरे हाथ पर आया और दूर हटाने को लड़ने लगा, हाथापाई करने लगा, पर जीत मेरे ही हाथ की होनी थी और हुई भी… जीत की ख़ुशी कुछ यूं जैसे मैंने वो क्षेत्र, वो प्रदेश, वो अंग जीत लिया हो. अगर ना जानती हो तो मैं बता दूँ कि ये वाइट कलर का थोड़ा डार्क गाढ़ा पानी जैसा होगा। यदि पहले दिन कुछ ना मिला तो कोई बात नहीं. मैं समझ गया कि रास्ता साफ़ है, मैंने उनके चूतड़ को चूमना और चाटना शुरू किया.

अपनी बेटी के सामने वह मेरा यानि रीना रानी के फूफा का लंड चूसते हुए रंगे हाथों पकड़ी गई थी. उसके बाद दोनों एक दूसरे के गले लगे और ओंठ चूसने लगे, दुबारा आई लव यू कहा और घर को निकल पड़े. मैं उसके ऊपर चढ़ गया और अपने लंड को उसकी चुत पर सैट करके पेलने की कोशिश करने लगा। लेकिन उसकी चुत टाइट होने के कारण मेरा लंड घुस नहीं रहा था और बाहर निकल गया।वो चुदास से तड़फती.

जीजू ने मेरे बालों को पीछे से पकड़ा और मुझे अपने लंड की तरफ खींचने लगा. उसका गोरा चेहरा लाल सुर्ख हो गया था और उसकी आँखों से बहते आंसू रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे. आगे मैंने कैसे अपनीचूत की प्यासबुझाई, इस कहानी का इंतजार करना, मैं अपनी कहानी लेकर जरूर आऊँगी.

प्लीज़ सॉरी ना अच्छा आप बताओ मैं आपकी सब बात सुन लूँगी।टीना- क्यों सुन कर मुझ पर अहसान करेगी क्या? तू जा यहाँ से अब!सुमन ने टीना को पीछे से पकड़ लिया और उसके गालों पे किस करते हुए उससे रिक्वेस्ट करने लगी तो टीना को हँसी आ गई।टीना- हा हा हा छोड़ मुझे. मैंने भी अपने लंड को उसकी चूत पर घिसना शुरू किया तो मानसी ने अपनी चूत को उठाकर मेरे लंड का स्वागत किया.

अगर कोई दोस्त मुझसे अपनी सेक्सी कहानी लिखवाना चाहती या चाहता है तो उनका मेरी तरफ से सवागत है.

दोस्तो, मैं सोनाली एक बार फिर से आप सबके लिए बीवी की चुदाई एक नई कहानी लेकर उपस्थित हूँ, उम्मीद है आपको यह कहानी मेरी पिछली कहानियों की तरह काफी पसंद आएगी।आप सब लोगों नेमेरी पिछली कहानियों को तो पढ़ा ही होगाकि किस तरह मैंने एक घरेलू औरत से एक इंसेस्ट क्वीन बनने का सफर तय किया. पंजाबी सेक्सी फोटो सेक्सीमैं हूँ ना तेरे साथ!जब उसने मुझे अपनी बांहों में लिया तो मैंने भी उसको कसकर हग कर लिया और उसे भींचने लगा. पाकिस्तानी ओपन सेक्सीरात को पार्टी में नाचा गाना किया होगा, जिससे थकान होकर बुखार आ गया। अलमारी से दवा निकाल कर दे दो. अब वो बिल्कुल नंगी थी, मैं उसको किस कर रहा था कभी बूब्स पर, कभी कमर, पर कभी टांगों पर…वो बहुत ज्यादा चिकनी थी।किस करते हुए मैंने उसकी टांगें खोली तो देखा ‘बिल्कुल साफ़ चूत…’मैं देखते ही चूसने लगा उसकी चूत और उसके दाने को…वो बहुत गर्म हो गई थी सिसकारियाँ भर रही थी, उसकी चूत गीली हो गई थी।अब वो खड़ी हुई, मेरा लंड निकाल के रगड़ने लग गई और घुटनों पर बैठ कर के झुक के लंड को चूसने लग गई.

उसने छाती पर सी ग्रीन रंग की हल्के शेड वाली शर्ट पहनी हुई थी जिसका ऊपर वाला बटन खुला हुआ था.

वरुण बोला- भाभी, बस होने वाला है!तभी मैंने उससे कहा- पानी चुत के अंदर मत निकालना!तो बोला- ठीक है!वरुण मुझे और तेज़ चोदने लगा. मेरा इशारा पाकर सुनीता मेरी गोद में आ गई और मेरा नंगे जिस्म से जैसे ही उसका नंगा बदन टकराया, दोनों के बदन में एक करंट सा दौड़ गया और वासना की लहर, मेरा पूरे उफान पे खड़ा तना हुआ लौड़ा सुनीता के चूत को टच कर गया, जिससे हम दोनों एक बार सिहर से गए और फिर पता ही न चला कब दो जिस्म एक जान होते चले गये. यह सुनते ही मेरे मुंह से निकल गया- हाँ अम्मा, जल्दी जाओ और उन्हें ले आओ.

चल लेट जा, तेरी कच्ची चुत पर रगड़ खा कर शायद ये लंड पिघल जाए।संजय ने पूजा को लेटा दिया और खुद उस पर सवार हो गया। अब वो लंड को चुत पर घुमाने लगा, साथ ही पूजा के चूचे चूसने लगा।पूजा को भी मज़ा आने लगा और वो भी गर्म हो गई। अब हालत ऐसे थे कि संजय का लंड पूजा की जाँघ में फँसा हुआ था और संजू जोर-जोर से उसको ऊपर से ही चोद रहा था। कभी-कभी लंड ऊपर आ जाता और सीधा चुत से टकराता. वो स्पीड से धक्के मारने लगे और मोना को अपने ऊपर लेटा कर उसके निप्पल को चूसने लगे।कुछ मिनट ये चुदाई चली, काका के तगड़े लंड के दमदार झटके मोना की चुत सह नहीं पाई और उसकी चुत का बाँध टूट गया. भाभी- ओ जान… मुझे किस करो ना!मैं- मैं आपको किस कर रहा हूँ, मेरे होंठ अपने होंठों पे महसूस करो.

बीएफ सेक्सी चलने वाली सेक्सी

कुछ देर वैसे ही रहने के बाद जब मैंने अपना लंड निकाला तो देखा ही निशा की चुत थोड़ी लाल हो गयी है, मैंने पूछा- दर्द हो रहा है?तो वो बोली- हाँ, थोड़ा सा!मैं अपने हाथों से निशा की चुत सहलाने लगा और हम वैसे ही सो गए. मेरे मुँह से आह्हः निकल गई।राज मेरे होंठों को किस करने लगा। मेरे मम्मों को भी मसलने लगा। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था कि इतने दिन बाद मेरी चूत में किसी का लंड गया था।राज मेरी चूत की जोर-जोर से चुदाई करने लगा. बिल्कुल एक रंडी छिनाल की तरह चोदूंगा।उसके मुँह से इतनी गंदी बातें मुझे अच्छी लग रही थीं, मैंने कहा- तो फिर हो जा नंगा और चढ़ जा मेरे ऊपर.

इन्होंने अपने आपको काफ़ी अच्छे से संवार कर रखा हुआ है, जिससे दूसरों के लिए इनकी उम्र का अंदाज़ा लगाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है।गुलशन- अरे आसामान कैसे ना उठाऊं, तुम तो जानती हो.

वे एक सीनियर वकील साहब के अन्डर में प्रेक्टिस करते थे।सुबह का समय था.

अब मेरा लंड वापस चुदाई करने को तैयार था, मैंने अपना कंडोम का पैकेट निकाला और एक कंडोम लंड पर लगाया और अपना सुपारा उसकी चूत पर रखा तो उसके मुँह से एक सिसकारी निकली ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने एक धक्का लगाया, तब मेरा आधा लंड ही अंदर गया और वो जोर से चिल्लाने वाली थी पर मैंने उसका मुँह अपने होंठों से बंद कर दिया. अभी वापस चला जाएगा साला, इसके साथ थोड़े ही अन्दर तक आएगा।वो सब सुमन को आता हुआ देख रहे थे, बस उसके पापा उसके सर पे हाथ रख कर वापस चले गए।जैसे ही सुमन उनके पास से गुज़री तो वीरू ने उसको आवाज़ देकर अपने पास बुला लिया और वो भी चुपचाप उनके पास आ गई।विक्की- तुझमें थोड़ी भी अकल नहीं क्या. ब्लूटूथ सेक्सी वीडियो दिखाएंसीधे मीना को अपनी बांहों में ले लिया और उसको गालों पर किस करके धीरे से उसके कान में थैंक्स कहा.

आपसे मिलाने के लिए माला और बालक को मैं थोड़ी देर बाद घर जा कर ले आऊंगी. तब मैं 26 वर्ष का था मेरा जयपुर शहर में कम्प्यूटर और मोबाइल का कारोबार है. तभी उसने अपने मुंह से लंड निकाल के एक ज़ोरदार सीत्कार मारी और चरम सीमा के पार उतर गई.

फिर वो आदमी उस किशोरी के कपड़े उतारना शुरू करता है, लड़की विरोध करती है लेकिन उसके बदन से एक एक कपड़ा उतरता जाता है, पहले दुपट्टा फिर कुर्ती फिर शमीज फिर उसकी ब्रा और उसके समोसे जैसे छोटे छोटे मम्मे नंगे हो जाते हैं. पहले मुझे चिकनी क्लीन शेव्ड चूत पसन्द हुआ करती थी लेकिन अब मुझे झांटों वाली चूत ज्यादा सेक्सी ज्यादा मनोहर लगती है.

अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीजसेक्सी लड़कियों की आवाज में सेक्सी कहानियाँ सुन कर मजा लें!जीजू ने सीधे मेरे चूत के ऊपर अपने मुँह को लगाया और वो उसे चूसने और चाटने लगे, कभी वो मेरी चूत के होंठों पे अपनी जुबान लगा रहे थे तो कभी उनकी वो सटीक जुबान मेरे चूत के दाने के ऊपर लपलपा रही थी.

तभी सुजाता बोली- मेरे हगने का और कंडोम का क्या संबंध?मैंने उसको बोला- रुको ना यार… तुम देखती जाओ…और दोनों टायलेट के ऊपर जाकर खड़े हो गये। उसको कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था… बोली- साहब क्या कर रहो हो?मैंने उसको बोला- अभी झुको…और मैं लंड उसकी गांड में डालने लगा. पर अगले ही पल मेरी साँसे अटक गई क्यूंकि जिस चूचे को मैंने अभी प्यार से जोर से दबाया था वो मेरी मामी का नहीं था बल्कि मामी की छोटी लड़की सोनाली (काल्पनिक नाम) का था. चलो।फिर हम घूमने निकले, मस्ती करते हुए वो खुश थी। वहाँ एक हिलपॉइंट पर आए उधर मस्त ठंड थी, तो वो मुझसे लिपट कर चल रही थी। मैंने वहाँ मूड बनाते हुए उसकी गांड में उंगली की तो पता चला कि उसने कच्छी भी नहीं पहनी थी।वो कातिल स्माइल देते हुए बोली- यू नो, आई एम टू हॉट.

सेक्सी वीडियो दिखाइए ना सेक्सी वीडियो और उस पर एक भी बाल नहीं था।अब गुप्ता जी ने अपने मुँह को संजना की चूत के पास ले गए और उसकी चुत को सूंघा. मैं बता नहीं सकता। भाभी ने भी चुत चटवाने में कोई उज्र नहीं किया। कई मिनट तक मैं भाभी की चूत चाटता रहा। उनकी चूत से इतना पानी निकला कि मेरा पूरा मुँह गीला हो गया।अब मैंने अपना लंड बाहर निकाला और भाभी की चूत में पेल दिया। मैं काफी देर तक भाभी की चूत को चोदता रहा, मैंने भी गोली खाई हुई थी.

राजू के 2-4 धक्कों के बाद ही नताशा के चेहरे का तनाव उसकी सदाबहार मुस्कान में बदल गया. तू माँ चुदी बन गई आज… और सुल्लू रानी आज से तू मेरी रानी बन गई बद्ज़ात कुलटा… अब तू जीवन भर मेरी रखैल बन के रहेगी अपनी इस चुदक्कड़ बेटी की तरह. तब मैंने पूछा- आपके दोस्त का नाम क्या है?उन्होंने बताया- संजय… और उसी का लंड सबसे बड़ा है.

देहाती बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म

[emailprotected]मेरी सेक्सी कहानी : जिस्म की वासना-2रवि स्मार्ट की सभी कहानियाँ. मेरा हथियार अब मेरी जींस को फाड़ने पर आमादा था और मुझे वहां दर्द भी होने लगा था. अंशुल ने यह भी बताया- सचिन सर की कभी शादी नहीं हुई है, एक बार शादी तय हुई थी पर जिस लड़की से उनकी शादी तय हुई थी, वो लड़की मंडप से अपने बॉयफ्रेंड के साथ भाग गई थी और उसके बाद सचिन सर ने कभी शादी नहीं की और अपने काम में लग गये.

उसका लंड भी संजय के जितना था, थोड़ा सा दर्द हुआ लेकिन मैंने सहते हुए पूरा लंड अपनी चूत में ले लिया जो सीधे जाकर मेरी बच्चेदानी में लगा. जूसी मुस्करा दी, बोली कुछ नहीं लेकिन ऐसा लगा कि अब वो नार्मल है गई है.

राजे का भी लौड़ा अपनी मलाई और मेरी चूत की मिक्स मलाई में लिबड़ा हुआ था.

बातों बातों में मेरी पैन्ट गीली हो जाती थी और उसकी चड्डी भी गीली हो जाती थी, वो फोन पर बता रही थी कि जब हम दोनों बात करते हैं तो उसकी चूत में कुछ होने लगता है और फिर एक दम से चूत उसकी फूली फूली हो जाती है. थक गए थे। दोनों खटिया पर चित्त होके सो गए।दस मिनट बाद जब चैन की सांस आई तो मैंने फोन निकाल कर टाइम देखा तो सुबह के पौने पांच बज चुके थे।मैंने कमला को किस किया और बोला- सुबह हो गई है, अब हमें अपने पहले वाले बिस्तर पर चलना चाहिए।कमला बोली- ठीक है. गीली चूत में मेरा लंड ऐसे घुसा जैसे ताजे माखन में चम्मच…दस मिनट तक चची को चोदा और मैं चची की चूत के अंदर ही झड़ गया.

मैं तुझे कितने मज़े देता हूँ।काका की बात सुनकर मोना के होंठों पे एक मुस्कान आ गई। वो धीरे से काका के सीने से चिपक गई और लंड को सहलाने लगी। काका का लंड भी शायद इसी चाहत में था. आदित्य ने कहा- ठीक है।मैंने बाथरूम में जाकर साड़ी, ब्लाउज उतार दिया और गाउन पहन लिया. मैं सोने का नाटक करने लगा और कुछ देर बाद भाभी की कमर पर हाथ रख लिया.

तो ऐसा हुआ कि होली की दिन मैं उनके घर होली खेलने के लिए गया तो घर पर चाचा नहीं थे, मैंने चाची से पूछा- चाचा कहाँ हैं?चाची ने बताया- तेरे चाचा एक दोस्त के यहाँ गये हैं, एक घण्टे में आएँगे, तब होली खेल लेना!मैंने कहा- आप तो यहाँ हो चाची… आपके साथ खेल लेंगे!तो चाची ने कहा- हाँ क्यों नहीं!चाची गुलाल लेने अंदर गई तो मैंने जेब से पक्का रंग निकाल कर अपने हाथ में लगा लिया.

इंडियन बीएफ दिखाइए इंडियन बीएफ: तुम पढ़ी लिखी हो सुन्दर हो, तुमने एम बी ए कर रखा है, तुम्हारी उम्र भी अभी कोई ज्यादा नहीं, तेईस चौबीस की ही होगी तुम… यहाँ अपने टैलेंट को यूं बर्तन मांज के रोटी बना के बर्बाद करने का कोई अर्थ नहीं है. मैं अभी खाना खा कर ही आई हूँ, प्लीज़ आप कोई तकलीफ़ ना करें, ओ के!इतना कहकर टीना सीधी सामने सुमन के कमरे में चली गई जिसे देखकर सुमन खुश हो गई।सुमन- अरे टीना, आप यहाँ कैसे आना हुआ आपका?टीना- मैंने क्या समझाया था मुझे आप नहीं तुम बोलो.

साला चुत का भुर्ता बना देता है तब जाकर तू झड़ता है। ऐसे चूसने से तेरा कुछ नहीं होगा, ये ले और इसको देख के मेरे मुँह को चुत समझ कर चोद. अम्मा के जाने के बाद माला ने ख़ुशी के मारे मेरा मुख चूम चूम कर गीला कर दिया और रात के खाने से पहले एक बार फिर अपना दूध पिलाया और मेरे साथ सम्भोग किया. आप ही साथ नहीं दोगे तो मज़ा नहीं आएगा।मैंने कहा- बहुत कड़वी लगती है।तो उनमें से अजय बोला- बियर ला देता हूँ.

वो बोली- पर मेरी तसल्ली हो गई है, अब तुम जाओ, जिस दिन फिर ज़रूरत पड़ी, मैं तुम्हें फिर से बुला लूँगी.

झाग से उसकी चुत छिप गई थी। उसने साबुन मेरे हाथ में दिया और अपनी पीठ में लगाने को कहा। मैंने ऐसा ही किया. लंड चूत के अन्दर चूत के ऊपरी भाग को कस के दबा रहा था जिससे भगनासा अच्छे से दब दब के उसे बेइंतिहा मज़ा दे रही थी. तो पाया कि दुशाली के फेस पर कुछ शरारती सी हंसी दिखी।मैंने उससे कहा- चलो भाभी.