शुद्ध देसी हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,மாளவிகா செஸ் வீடியோ

तस्वीर का शीर्षक ,

यंग गर्ल बीएफ: शुद्ध देसी हिंदी बीएफ, मेरी मां भी ये सब देख कुछ नहीं बोलती थीं तो मेरी हिम्मत और बढ़ने लगी.

बंगाली सेक्सी सेक्सी सेक्सी सेक्सी

कुछ पल बाद चाची उठकर बाथरूम में चली गईं तो मैं भी उनके पीछे चला गया. சுவாதி நாயுடு செக்ஸ் வீடியோஸ்मीना बार बार लंड को मुँह से निकलाते हुए मचलती और आवाज निकालती- आह्हह … प्रिय … अब और मत तड़पाओ उम्मह मुझसे और नहीं रहा जाता … याह अब चोद भी दो … उम्म्ह.

प्रभा- आह … आह … मर गई मम्मी … मैं तो आज मर ही जाऊंगी आह प्लीज प्रवीण आराम से करो … आह मेरी फट गई!मैं- आराम से ही कर रहा हूँ यार, जितना दर्द तुम्हें हो रहा है, उतना तुमको दर्द में देखकर मुझे भी हो रहा है. खलीफा सेक्सी फोटोकाफी देर मस्ती करने के बाद हम लोग पूल से बाहर आए और खाना पीना किया.

मैंने बोला- हम किसी को नहीं बताएंगे … पर इससे हमारा क्या फायदा होगा!राहुल बोला- तुम्हें क्या चाहिए?नवीन ने उस लड़की हुर्रेम को देखा, जो खड़ी होकर राहुल से चुदवा रही थी.शुद्ध देसी हिंदी बीएफ: उन्होंने मेरा मुंह, चूत, गांड सब कुछ चोद डाला; मेरा गोरा बदन, बूब्स और चूतड़ सब मसल डाले।मेरी गंदी भाषा से उत्तेजित हो वे दोनों जोश में चोद रहे थे.

तभी सर ने चाची के मुँह में लंड डाल दिया और बोले- तेज चोद सोहेल … तेजी से चोद भैन की लौड़ी को.ये सोच कर उसका लंड पैंट में खड़ा तो पहले से ही था … अब तो दर्द करने लगा.

सेक्सी लड़की की चूत दिखाओ - शुद्ध देसी हिंदी बीएफ

बहुत प्यासी नजर से उसको देखती और सास का भी ख्याल रखती कि कहीं वो देख ना ले।वो भी जब मुझे देखता तो बिना नजर हटाए देखता रहता.कुच्ची- तो मैं तो तुझे रात भर चोद नहीं पाऊंगा, गुड्डू को भी बुला लेता हूं … फिर हम दोनों तुझे रात भर चोदेंगे.

मैं तेरा कमरा बाहर से बंद कर देता हूँ, जिससे वो घूम कर इस कमरे में ना आ जाए. शुद्ध देसी हिंदी बीएफ बहूरानी भी जैसी किसी प्रेमातुर प्रेमिका की तरह शर्माती हुई मेरे करीब आई और मेरे गले में अपनी बांहों का हार पहिना कर मेरे सीने से लग गयी.

अदिति के कामुक जिस्म की उत्तेजना, उसकी चुदने की लालसा उस पर इस कदर हावी थी कि उसने फोरप्ले करने तक में रूचि नहीं दिखाई.

शुद्ध देसी हिंदी बीएफ?

गोविन्द ने उन दोनों को घर पर रुकने और साथ घूमने के लिए भी कह दिया था. मैं- अपना रस आप खुद पीना चाहोगी?चाची कराहते हुए मीठी आवाज में बोलीं- हां पी लूंगी हरामी … मगर जल्दी से मेरी प्यासी चुत में अपना मुँह फिर से लगा. आजू बाजू में रहने वाले लोग भाभी पर बुरी नजर गड़ाए बैठे थे, वो मौके की तलाश में थे कि कब भाभी बुलाए और कब वो अपनी हवस मिटा लें.

मैंने अपने न जा पाने की बात जान बूझ कर कही थी; मैं अदिति पर इस बात की प्रतिक्रिया देखना चाहता था. बहूरानी ने भी उदास होकर अपनी नज़रें झुका लीं पर उनकी आंखों के कोरों से झांकती नमी मुझसे छुपी न रह सकी. किंजल की बात सुनकर मैं समझ गया कि किंजल को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ा था कि मैं किसको चोद रहा हूँ.

जसविंदर की चूत पर जीभ फेरकर मैंने उसकी भट्ठी की तपिश को महसूस किया और अपना भुट्टा भूनने के लिये डाल दिया. Xxx कुकोल्ड वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक आदमी ने मुझे अपनी बीवी की चुदाई करवाने के लिए बुलाया. फिर भी मैं कोशिश करूंगी कि इसको एक मस्त सेक्स कहानी का रूप देकर आपको पूरी बात ढंग से बता सकूं.

हनीप्रीत कॉलेज से वापस लौटी तो जसविंदर का हुलिया और बेडशीट पर लगे खून और वीर्यं के दाग देखकर समझ गई कि आज जसविंदर कौर भी चुद गई. [emailprotected]प्रिंसेस सेक्स कहानी का अगला भाग:तीन राजकुमारियों के साथ सुहागरात- 2.

करीब पांच मिनट बाद राजकुमारी कृति कांपने लगी और वो अपने चूतड़ों को मेरे मुँह पर दबाते हुए मेरे मुँह में ही झड़ गई.

मां की हालत बहुत खराब हो गयी थी उनकी आंखों से आंसू निकल रहे थे और गांड की सील टूटने की वजह से गांड से खून भी निकल रहा था.

चाची मुस्कुराते हुए बोलीं- सोहेल ये सब मेरे चाहने वालों की करामात है. कुछ देर में मैंने घर पर भी फ़ोन करके बता दिया- आज घर आने में देर हो जाएगी. उसके पूछने पर जसविंदर ने कल रात से लेकर आज शाम तक की सारी कहानी बयां कर दी.

वो अपने भाई के हाथ को महसूस करके गर्मा उठी और उसकी चूत लगातार पानी छोड़े जा रही थी जिससे अभय का हाथ गीला होने लगा. उसने मेरे फोन का उत्तर न मिलने के कारण मेरे ऑफिस में मेरे कुलीग को फ़ोन करके पूछा कि मैं कहां हूँ. वो झट से घोड़ी बन गयी, मैं शीना के सामने खड़ा हो गया और अपना लन्ड उसके होठों पर लगा दिया.

मैंने बाहर आकर कमरे की कुण्डी लगायी और वापस आ कर बुआ के बराबर में बैठ गया.

हॉट लेडी Xx कहानी एम तलाकशुदा औरत की है जिसे कुश्ती के अखाड़े में एक पहलवान पसंद आ गया. आप लोगों को मैं बता दूं कि इस समय हम दोनों की उम्र केवल 19 साल की थी और हम दोनों अपनी-अपनी जिंदगी में पहली बार सेक्स कर रहे थे. हॉट ऑफिस Xxx कहानी मेरी कंपनी में काम करने वाली एक सेक्सी भाभी की है.

वो अभी भी मेरे साथ अपनी कुछ फैंटेसी को लेकर काफी कुछ पाना चाहती थीं. विवेक ने अपना सारा माल उसके मुँह में डाल दिया और वह उसका सारा माल पी गई. मौसी दो बार झड़ गई थीं और वो मुझसे कहने लगीं कि जल्दी आ जाओ … मुझे जलन हो रही है.

क्या सही में हमारे पेरेंट्स ऐसा करते हैं?ममता मजे लेने के मूड से- तुझे क्या लगता है.

मुझे अपने भाई के गुलाबी होंठ बहुत प्यारे लगते हैं, दिल करता है कि बस चबा लूं. एकदम से साढ़े चार इंच लंड कसी हुई चुत में घुसा तो दीदी की गांड फट गई और वो चिल्ला पड़ीं- आआहई मर गई मम्मी रे … आह मेरी फट गई … उउफ्फ निकाल ले साले.

शुद्ध देसी हिंदी बीएफ मैंने अन्तर्वासना पर परिवार के सदस्यों के साथ सेक्स की बहुत सारी कहानियां पढ़ी थीं. वो सिसकारते हुए बोले- हए … रंडी … तेरी अदा पागल कर देगी।मैं सामने से सुन्दर के आंड चूस रही थी कि सुरजन ने चूत तेज़ी से चोदनी शुरू कर दी.

शुद्ध देसी हिंदी बीएफ उर्वशी आगे बोली- मैं अपने आपको शान्त करने के लिए एक क्रीम भी लायी हूँ, जिसे पुसी पर लगाने से वो और टाइट हो जाती है. हम दोनों उस वक़्त किचन में थे और मेरा छोटा लड़का बाहर हॉल में कंप्यूटर पर गेम खेल रहा था.

अब मैं बड़ा हो चुका था, देश के श्रेष्ठ योद्धाओं में मेरी गणना होती थी.

सेक्सी बीपी वीडियो सेक्स

थोड़ी देर बाद मेरे लौड़े ने गर्म वीर्य की धार छोड़ दी और शन्नो की गांड भर दी. इतने में सलोनी ने मुझे हल्का सा धक्का देकर कहा- बाबू, दरवाजा तो बंद करने दो. कहने का आशय ये था कि अब मैं अपने मम्मी पापा के सामने पूरी तरह से खुल गया था.

धकापेल चुदाई होने लगी और अब उसकी सिसकारियां और थपाथप की आवाज़ से पूरा कमरा गूँज रहा था. मैं गांड उठाते हुए बोली- आह राजू … सच में प्राची और आपकी बीवी इतना मस्त आनन्द अकेली ही उठा रही थीं. पर मैंने उनकी बात अनसुनी कर दी और नीचे की ओर खिसक कर उनके पैरों के बीच में आ गया और उनके पांव दायें बाएं फैला दिए और बहू की चूत के गीले होंठ चाटने लगा.

मैंने कहा- केले का सैंपल देखोगी?वो कुछ कहने ही वाली थी कि केबिन के बाहर से किसी ने आवाज दी- मे आई कम इन सर?ये वेटर था.

मैं उनके पीछे से देख रहा था और मैंने पीछे से ही उनके कंधे पर सर रखा था. उसका जिस्म भी गुलाब के फूल की तरह है, एकदम मक्खन मुलायम, कसा हुआ टाइट फिगर और सेक्सी जिस्म की मलिका थी वो. मेरी वह पड़ोस वाली भाभी बोलीं- हां, अब हम आराम कर लेते हैं … और यहीं पर सब सो जाते हैं.

शीना जोर जोर से सिसकारियां भरने लगी और अपनी गांड को बेड पर पटकने लगी और आह … आह … ओह … ओह … हम्म … ह्म्म… याह याह करने लगी. मैंने उसके नीचे नजर डाली तो उसकी मखमली गांड के जलवे मेरे लंड को हिनहिनाने लगी थी. मैं सोचने लगा कि ये क्या पंगा ले लिया … ये तो साली मरखनी है, साली हाथ कैसे रखने देगी.

छोड़ इस बात को, अभी कितनी देर है और लगेगी … ये बता!मैंने गाड़ी रोक दी. फिर धीरे से मैंने नीचे से हाथ अन्दर डाला और उनके एक दूध को पकड़ कर दबाना शुरू कर दिया.

पर सच तो ये था कि मामा के मोटे लंड से चुदने के बाद अहमद का लंड मुझे छोटा लगने लगा था. दीदी अपनी गांड में उंगलियों का मजा लेने लगीं, मैं समझ गया कि दीदी के दोनों छेद चालू हैं. लाल होंठ, गोरा रंग, आंखों का काजल और नशीली नजरें देख कर मैं अपनी मादक मौसी पर फिदा हो गया था.

मैं उनकी बांहों में समा गया और अपनी गांड आगे पीछे करते हुए मां की चुत में लंड के झटके देने लगा.

पापा जी, अपने हथियार को काबू में रखिये और आप भी जल्दी से नहा कर आईये; फिर निकलते हैं. बरखा की चूचियां और होंठ चूसते हुए मैं अपने लण्ड से बरखा की बुर की आंतरिक मसाज कर रहा था. मेरी चूत की आग की कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मेरी चुदने की तलब बढ़ रही थी, पर कोई लंड नहीं मिला.

मैंने भी धीरे से मां की गांड पर हाथ फेरना चालू कर दिया और मां की चड्डी को धीरे से उतारने लगा. उस पर मैंने बिंदास सवाल किया- आपका लंड खड़ा होता है?अंकल बोले- तुम चूस कर खड़ा कर देना!मैंने ओके कह दिया.

देसी ब्लो जॉब स्टोरी में पढ़ें कि कैसे हम तीन दोस्तों ने कॉलेज की दो जवान लड़कियों से लंड चुसाई का मजा लिया और उन्हें भी ओरल सेक्स का मजा दिया. फिर तो अमित के हर एक झटके पर मेरी चीख और आह निकलती रही और वो बेदर्दी से मुझे चोदता रहा. मेरी उत्तेजना बढ़ने लगी थी और अब मैं बुआ के हर अंग को भलीभांति महसूस कर सकता था.

सेक्सी वीडियो गंदी

करीब आधे घण्टे बाद उसने एक जोर की आह भरी और मेरी चुत में ही झड़ गया.

भाभी को लगा कि अब मेरी जीभ गांड के छेद को चाटेगी … लेकिन मैं वहां ना जाकर नीचे पैरों के तलवे पर आ गया. फोन काट कर मैं धीरे धीरे नीचे गया और भैंस के कमरे के साइड का गेट खोल कर बाहर निकल कर गली में देखने लगा कि कोई है तो नहीं. मां मेरा लंड बाहर निकालने की कोशिश करने लगीं पर मैं नहीं माना और उनके मुँह को चोदता रहा.

इतना बोल कर उसने एक गोली ममता को दी और कहा- डोंट वरी कुछ नहीं होगा डर मत. पूनम को ठसका लगने लगा और वो खांसने लगीं पर उनकी खांसी उनके ही गले में घुट कर रह गयी. माधुरी दीमैं- तुमने उसे सबकुछ अच्छे से समझा दिया न?यामिना- मैंने उसे समझा दिया है कि यदि आप उससे खुश हुए तो नौकरी पक्की होगी, अब आगे आप देख लेना, मैं तो उसकी माँ हूँ, इतना ही कह सकती थी.

जब वो सुबह चाए लेकर आई, तो मैंने उससे कहा- आप भी यहीं बैठकर चाय पी लो. पापा मम्मी के दूध चूसते रहते थे या उनके होंठों पर किस करते रहते थे.

मैं मुस्करा कर उनके बदन से लिपट गयी और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूमने लगे. कुछ देर बाद मूवी में एक रोमांटिक सीन आया जिसमें हीरो हीरोईन को किस कर रहा था. मैंने पूरी मस्ती से अपनी भाभी के मम्मे करीब 15 मिनट तक चूसे और भाभी का दूध पी लिया.

और थोड़ी बर्फ डालने के बाद गिलास को भाभी ने दोनों जांघों के बीच लेकर चुतामृत से गिलास को भर दिया. मेरा पूरा ध्यान मामी जी की चुचियों को चूसने में लग गया था; नीचे उनकी चूत में मेरा लंड स्वत: ही धीरे धीरे से अन्दर बाहर हो रहा था. मेरा दिल कर रहा था कि अपनी पैंट और पैंटी उतार कर जीजाजी के लंड को अपनी चूत में ले लूं.

कुछ देर बाद हरीश ने सुम्मी को अपने लौड़े से उठाया और उसे अपने नीचे लिटा कर फिर से चुदाई करने लगा.

शाम को जब मैं अपने रूम में सोने के लिए गया और मोबाइल शुरू किया … तो मेरे मोबाइल पर एक अंजान नंबर से एक मैसेज आया था. तभी मालिक की पत्नी कार से निकल कर आई, पूरी बात सुनी और पंप मैनेजर से कहा- साहब की बाइक में तेल कम डाला गया है या ज्यादा, भूल जाओ.

मैंने उसको अपनी चूचियों के ऊपर खींच लिया और उसे चूमते हुए कहा- बस अब मुझसे और नहीं सब्र होता. मम्मी ने ओके कह दिया और जब वो जाने लगीं, तो मेरी मम्मी ने मुझसे बोला कि मैं उन्हें उनके घर छोड़ आऊं. मैंने चाची को खींचा और उनके मम्मों को निचोड़ते हुए जोर जोर से गांड मारने लगा.

मैंने कहा- पर अंकल मैं अपनी मॉम से कैसे इस हेल्प की बात करूं?अंकल- तू कल इनको मेरे घर पर लेकर आ जा. लगभग 35-36 साल की उम्र, 5 फीट 4 इंच कद, गोरा रंग, तीखे नैन नक्श, 38 साइज की चूचियां और 42 इंची चूतड़. मैंने उनके बाल सहलाने शुरू किए ही थे कि तभी उनकी भी आंख खुल गई और वो मुझे देखकर मुस्कुराती हुई देखने लगीं.

शुद्ध देसी हिंदी बीएफ क़रीब दो मिनट तक मैं उसके होंठ चूसती रही फिर बोली- ऐसे!वह बहुत उत्तेजित हो गया था. मुँह पर मैंने स्कार्फ बांध लिया था ताकि कोई पहचान न सके।गली में घुसकर मैंने एक बजुर्ग से पूछा कि यहां कश्मीर के कारीगर रहते हैं, लकड़ी का काम है।वो बोले- हाँ बेटी, वो सामने जो लाल गेट है उसी में रहते हैं।मैं- जी शुक्रिया.

सेक्सी वीडियो ओपन देहाती

रीमा उसके मुँह से उतर गयी और उसने निखिल को अपनी ओर आने का इशारा किया. मैं मैं गई भैया … गई तेरी बहन …बस इतना बोल कर ममता अकड़ी और झड़ने लगी झड़ते हुए उसने अपने भाई को जोर से भींच लिया. मैंने उसको अलग किया और थोड़े गुस्से में बोली- मेरी चूत भी फाड़ोगे या मैं जाऊं?वो खड़ा हुआ और अपने लंड को मेरी चूत पर टिका दिया.

फिर धीरे से मैंने नीचे से हाथ अन्दर डाला और उनके एक दूध को पकड़ कर दबाना शुरू कर दिया. अगर किसी भी नाम या पात्र के साथ आपको अपनी समानता लगती है, तो मात्र वह एक संयोग है … और कुछ नहीं. घोड़ा घोड़ा सेक्सी वीडियोहम दोनों सीधे बेडरूम में आ गए और फिर से एक दूसरे के मुँह में जीभ डाल कर किस करने लगे.

मगर मेरा लंड अभी भी खड़ा था, तो मैं अपने लंड को हिलाते हुए उन सभी लोगों को देखने लगा.

एक दिन की बात है, मैं अपनी छत पर खड़ा था तो सामने के मकान की छत पर एक लड़की दिखाई दी. तुमको बताना होगा कि अक्सर ख़्यालों में तुम किसकी चुत चोदते हो?ये कहती हुई मैं बेड पर पैर फैलाकर चित लेट गयी और उसे घुटने के बल अपने ऊपर बैठने को कहा.

मुझे मोटी लड़की सेक्स के लिए चाहिए थी भरे बदन के साथ मोटे मोटे निप्पलों वाली! देल्ही सेक्स चैट साईट पर मुझे मेरी मनपसंद लड़की मिली. मां मेरे पास ही सोती थीं क्योंकि उनके लिए अभी ये जगह नहीं थी और उन्हें यह सब समझने में समय चाहिए था. उसने मेरी दीदी के चुचों की, गांड की, चिकनी कमर की … सबकी फोटो ले लीं.

मैं उत्तेजित होने लगा और अपने हाथ उनके सर के पीछे ले जाकर उनके बालों को पकड़ कर उन्हें अपनी तरफ खींच लिया.

हम 69 की पोजीशन में आ गए; दोनों एक दूसरे के अंगों को चूसने चाटने लगे।वो तो लंड को लोलीपॉप के जैसे चूसने लगी और गपागप अंदर तक ले रही थी।उसकी चूत ने नमकीन पानी छोड़ दिया; अब उसकी चूत गीली हो गई थी।मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर सीधा लिटा दिया उसके ऊपर आ गया. कुच्ची- तो मैं तो तुझे रात भर चोद नहीं पाऊंगा, गुड्डू को भी बुला लेता हूं … फिर हम दोनों तुझे रात भर चोदेंगे. अगर होता, तो अब तक उन सबके सामने तू नंगी हो जाती और चुदती हुई पिक भेज देती.

उत्तर प्रदेश के सेक्सी वीडियोफिर मैंने अपने बैग से व्हिस्की की बोतल निकाल कर और बाकी चीजें भी सेंटर टेबल पर सजा दीं. मैंने अपनी दोनों बांहों को उनकी ओर फैला दिया था और अंकल जी मेरे आगोश में फिर से कैद हो गए थे.

एक्सीएक्सवी

इस लड़की का नाम जीनिया था, कद करीब छह फीट, तीखे नैन नक्श, रंग चमकीला काला, चूचियों का साइज 38 इंच, चूतड़ 42 इंच और वजन कम से कम सौ किलो रहा होगा. थोड़ी देर के बाद वो उठे और मेरी गांड का छेद हाथ से खोलकर जीभ उसमें घुसा दी. उसकी बुर चाटते वक्त मेरी नजर उसकी छोटी सी गांड पर चली गई और मेरा मूड बन गया.

मैंने कहा- देखा चाची, हम दोनों ने कुछ ऐसा वैसा किया भी नहीं और दोनों सॅटिस्फाई हो गए. वो मेरी तरफ आंख मार कर उठी और जैसे ही उसने एक कदम आगे रखा, वो लड़खड़ाने लगी. लेकिन मैंने उस पर जरा सा भी रहम न करते हुए एक जोर का झटका दे दिया और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया.

मैंने कैसे उसकी चूत मारी और मौका कैसे मिला?माय डियर रीडर्स! मेरा नाम विशाल है. असल में मेरी ननद की डिलिवरी का समय आ गया था इसलिए मेरे सास ससुर को एक हफ्ते के लिए जाना था. आप जानते हैं कि याराना के बाद शत्रुता का दौर मेरी कहानियों की अगली शृंखला है। जिसकी पहली कड़ी मैं आपके लिए प्रस्तुत कर चुका हूं।जो पाठक नये हैं उनसे निवेदन है कि इस कहानी को पढ़ने से पहले आपशत्रुता का पहला दौरपढ़ लें।इससे आप कहानी को बेहतर ढंग से समझ पाएंगे।अब मैं शत्रुता का दूसरा दौर शुरू करने जा रहा हूं.

थोड़ी देर में दो लड़के आ गये।इनाया ने उनका परिचय कराया बोली- ये है भोसड़ी का शेखर … और ये है इसका दोस्त मादरचोद सूरज। ये दोनों साले लड़कियां खूब चोदते हैं। आज पहली बार मेरी पकड़ में आये हैं।फिर हम सब लोग दारू पीने लगे. उनकी टांगों की जकड़न मेरे सर पर बढ़ती ही जा रही थी, इससे मुझे साफ़ समझ आ गया था कि चाची अपनी चरम सीमा पर आ गई थीं.

कभी मेरी चुत को किस करते तो कभी मेरी चुत के दाने को अपनी जीभ से चाटते और उसे होंठों से पकड़ कर खींच देते.

कोई भी सामाजिक फंक्शन, चाहे आस पड़ोस में हो या कहीं दूर रिश्तेदारी में, वो सब जगह ख़ुशी ख़ुशी निभाते हुए बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती है. सेक्सी नेपाली सेक्सी नेपालीपहले तो आप सभी से मैं माफी चाहूंगी कि आप सबकी रिक्वेस्ट के बाद भी मैं कोई नई सेक्स कहानी नहीं लिख पाई. சூப்பர் ஆண்ட்டி செஸ்अचानक से नवीन के ऐसा करने से जोया चिहुंक गई और वो नवीन से दूर हो गई. कभी वो अकेले ही घूमने चली जाती, अकेले ही फ़िल्म देखने चली जाती, घर में किताबें पढ़ती रहती … लेकिन उसके अन्दर की आग उसे चैन से जीने नहीं दे रही थी.

मैंने बात आगे बढ़ाते हुए उससे उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम रीना बताया.

मैंने हिना को देख लिया था पर मैं नजरअंदाज करके नगमा की गांड पेलता रहा. मुझे लगा कि मेरा आपके घर आना सुधीर साहब को अच्छा लगेगा या नहीं?”क्यों? सुधीर को इसमें क्या आपत्ति हो सकती है? वैसे सुबह 9 बजे सुधीर दोनों बेटियों बरखा और बहार को लेकर निकल जाते हैं, उनको स्कूल ड्राप करके दस बजे तक शोरूम पहुंच जाते हैं. अभय बेचारा इतना शर्मा गया था कि उसने नीची नजरें करके गाड़ी को आगे बढ़ा दी.

रास्ते में मैंने अदिति की जांघ पर हाथ रख कर सहलाने लगा और साड़ी के ऊपर से ही उनकी चूत को छेड़ने का यत्न करने लगा. चाय पीते पीते मैंने बिंदु से पूछा- यार बिंदु फैमिली प्लानिंग के लिए क्या सोचा है?यह सुनते ही बिंदु उदास हो गई और कुछ नहीं बोली. कुछ देर बाद उन्होंने कॉल उठाया तब मैंने उन्हें कहा- गुलशा आई आल्सो लव यू.

ट्रिपल एक्स एक्स एक्स एक्स

मुझे बहुत मजा आ रहा था और लंड मिहिका के हाथ में दबा हुआ जोश में झटके मार रहा था. तीन दिन बाद भाभी ने फोन पर बताया कि एक दो दिन में मेरे पति किसी काम से देहरादून जाने वाले हैं. मैंने अफ़रोज़ से कहा- मैं लड़की वाला डायलॉग बोलूंगी और तुम लड़के वाला.

जब पानी निकलने वाला था तो मैंने उसके मुँह में पूरा लंड अन्दर घुसा दिया.

कितना दर्द हो रहा मां … हाय मां कितना मोटा लंड है भैया का … इतना बड़ा गदहे जैसा लंड और कहां मेरी कमसिन चूत … आह मर गई रे.

मैंने उन्हें कसके पकड़ा और चुत की फांकों में लंड सैट करके एक जोर का शॉट दे मारा. मैं भी नीचे से अपने हाथों से उसकी गांड को सहारा देते हुए अपनी गांड हिला हिला कर कृति का साथ देने लगा. हिंदी फिल्म के हीरोइन का सेक्सी वीडियोमैंने 30 सेंकड के अन्दर उनका ऊपर से शर्ट उतार दिया और सलवार भी निकाल दी.

मैंने दूसरे लंड का इंतजाम किया और मेरे छोटे चचेरे भाई ने भी उसे पेला. मैंने भी मौके की नजाकत को देखते हुए उसके मस्त चूचों को आजाद करना शुरू कर दिया. स्कूल छोड़ने के लगभग एक महीने बाद मेरे व्हाट्सएप पर उसी खूबसूरत लड़की का मैसेज आया.

मेरी सेक्स चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं एक डॉक्टर के साथ काम करने लगी. कॉलेज सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि एजुकेशन ट्रिप में हम एक इंस्टिट्यूट में गए.

उसने बोला- जब से गांव आया हूँ, तबसे आपकी गांड के सपने आने शुरू हो गए हैं.

अन्दर मेरी बेटी रुबिका और मुझे चोदने वाला लड़का दोनों एक दूसरे को बेतहाशा चूम और चाट रहे थे. जोया ने कहा- ठीक है मैं अभी तुम्हारे लंड को चूस कर ठंडा कर देती हूँ. मैंने चुदाई की पोजीशन ले ली और अपनी दीदी की चूत के अन्दर लंड को डाल दिया.

पंजाबी सेक्सी वीडियो बताएं वो काम, पता नहीं आपको कैसा लगेगा?दादाजी- क्या किया तूने, बता?मैं- मैंने हमारी ग़रीबी दूर करने के लिए एक डील कर ली है. इन्हीं सबसे प्रेरणा लेकर मुझे भी अपनी सेक्स कहानी भेजने का मन में आया और सोचा कि मैं भी अपनी लाइफ की प्यार भरी सेक्स कहानी आप सब लोगों को सुनाऊं.

पर औरत जबरदस्त थी, बोली- साले भड़वे … बोल तो देता … तेरे लंड में ताक़त तो है अब दिखा … मैं भी देखती हूँ भैन के लंड … तू कितना टिकता है. उल्टी की वजह से कमजोरी बहुत थी।हिम्मत करके मैं दूसरे कमरे में गई क्योंकि किसी के आने की उमीद नहीं थी।जाते ही गुलाब ने मुझे दबोच लिया और उठाकर बिस्तर पर पटक दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया. वो रमेश से बोलीं- ठीक है मैं समीज निकाल देती हूँ, पर मेरी एक शर्त है.

एक्स व्हिडीओ

करीब 10 मिनट के बाद अहमद ने चुत में वीर्य भर दिया और मेरे ऊपर गिर गए. वो बोलीं- मंजूर है … लेकिन उनकी इच्छा हो तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है. क्योंकि हम दोनों ऐसा करते, तो यूं समझो हम दोनों उसके साथ जबरिया सेक्स करते … और मेरे भाई ये हरगिज सही नहीं रहता.

चाची अपनी कमर उचकाने लगीं और सिसकारी लेने लगीं- आहह इस्स आह आह ओह ओहआहह. उस बात को नजरअंदाज करते हुए मैंने उनके कान के नीचे हल्का सा चुम्बन ले लिया था.

मैं आगे बढ़ कर भाभी के एक मम्मे के निप्पल को अपने होंठों के बीच दबाया और चूसने लगा.

बहू ने भी धक्के लगाना बंद करके मुझे अपने दूध पिलाने लगी, नीचे उनकी चूत से रिसता दूध भी मेरे लंड को नहलाता हुआ झांटों को भी नहला रहा था. वो बोली- हां हां मैं हूं … कुतिया छिनाल रंडी शन्नो मैं ही हूँ … मैं अपने बेटे का लंड अपनी चुत में भी लेने को रेडी हूँ. मैं भोपाल नया नया आया था और ज्यादा किसी से जान पहचान भी नहीं थी इसलिए ऑफिस से आने के बाद में पूरा समय घर पर ही रहता था.

ये बात जब मुझे मालूम चली तो मैंने शहजाद से अपनी दूसरे नम्बर वाली बेटी की चुत की सील तोड़ने की कह दी. ये देख कर बंगालिन भाभी अपने दूध मसलती हुई बोलीं- काश मेरा कोई देवर होता तो मैं भी इतनी मस्त चुदाई का मजा ले लेती. मैं- तुम ठीक हो न शीना?शीना- हां जी अंकल, बस थोड़ा टांगों और चूत में दर्द हो रहा है.

उन्होंने मुझे बांहों में दबोचा और मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया.

शुद्ध देसी हिंदी बीएफ: मैंने उससे कहा कि मुझे क्यों नहीं बताया?वो बोली- उससे तुम्हारा मजा ख़राब हो जाता. फिर लंड से एक के बाद एक वीर्य की कई पिचकारियाँ निकली जो दोनों की चूचियों और पेट पर गिरती गई।देसी गन्दी चुदाई में पूर्ण रूप से स्खलित होने के बाद मैं बेजान हो गया और बेड पर बैठ गया।प्रथम रूपाली आगे बढ़ी और अपनी जीभ से नीतू के स्तन पर लगे मेरे वीर्य को उठा कर चाट लिया.

यदि मीरा भी निखिल से चुदती है तो ये तो उसके लिए एक सेफ चुदाई का अड्डा बन जाएगा. एक दिन हम दोनों को कंपनी के काम से दो दिन के लिए हैदराबाद जाना पड़ा. रमेश उनके पीछे खड़ा हो गया, तो दीदी ने वासना से कहा- जब तक मैं अपने हाथ अपने चूचों से हटा कर अपनी पैंटी उतारूंगी, तब तक तुम अपने हाथों से मेरे चुचों को ढक कर छिपा लो.

जैसे ही ममता के मुँह से लंड बाहर आया, ममता खांसने लगी- आकथू थू …ममता ने थूक कर अपना मुँह ठीक करने का प्रयास किया.

वो दोनों बस दिखने में अच्छी थीं, हमें लग रहा था कि उसमें शायद एसी भी होगा. उसका किस खत्म करने के बाद मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और बांहों में लेकर फिर से उसके होंठ चूसने लगी. अब यह बताओ कि हम आगे इनकी चुदाई की बात कहां करेंगे, यहां हम बात नहीं कर सकते क्योंकि यहां बहुत सारे लोग हैं और कोई भी हमारी बातें सुन सकता है.