बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,किन्नर सेक्सी व्हिडीओ

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू सेक्सी क्लिप: बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स, फिर मैंने उसे दीवार से सटा दिया और उसका चेहरा दीवार से चिपका कर हार्ड सेक्स शुरू कर दिया.

हसन सेक्सी फोटो

चूतिया हस्बैंड से सेक्स की परमिशन मिलने के बाद मैं उठी और दरवाज़ा खोल दिया. सेक्सी वीडियो भेजा करोमैंने मां से कहा- ठीक है आज आप भाई के साथ खेत में जाओ और पापा को किसी तरह घर भेजो.

वो फोन पर बात करती हुई बोली- अरे यार, बात तो देती कि तुम्हारे आमोद जी यहीं पर ही हैं. देहाती एक्स सेक्सीउसने तुरंत मेरी बीवी को अपनी बांहों में भर लिया और बिस्तर पर खींच लिया.

मैंने उसके होंठों को अपने मुँह में ले लिया और होंठों को चूसते हुए लंड को बुर के मुहाने पर टिका कर ज़ोर का धक्का मार दिया.बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स: मुश्किल से तीस सेकंड में मेरा लंड फूट पड़ा और चाची ने मेरे लौड़े का सारा माल खा लिया.

मैंने देर ना करते हुए उसके पैंट को खोल दिया और उसके काले मोटे लौड़े को बाहर निकाल लिया.जैसे ही गाड़ी से उतरने का नंबर आया तो मैंने श्रेया की दोनों चूचियों को अपने हाथों से पकड़ा और चूम लिया.

हिंदी में बोलकर सेक्सी वीडियो - बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स

किसी ना किसी बहाने वह मेरी बीवी से बात करता, तो उसे शायद यह सब अच्छा लगता था.मैंने जीभ उनकी चूत पर चलाना शुरू कर दी और गांड के दोनों फलकों को हाथों से दबाने लगा.

फिर मैंने अपना लंड दीदी की चूत में डाल दिया चूत बहुत टाइट लग रही थी. बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स उसने कुछ पल बाद अपनी गांड को मेरी तरफ धक्का दिया, जिससे मेरा लंड उछाल मारने लगा.

मैंने उसके कहा- हमारी सेक्सलाइफ़ कुछ बोरिंग नहीं हो गई है!शनाया भी कहने लगी- हां यार तू सही कह रहा है.

बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स?

मैंने जाकर देखा, तो घर में सिर्फ भाभी और बच्चे ही थे, भैया नहीं थे. वो खड़ा हुआ तो मैंने उसका लोवर चड्डी समेत उतार दिया और उसके लंड को हाथ से सहला कर मुँह में भर लिया. इस बार मैंने बहुत ज्यादा ताकत लगाई थी जिस वजह से मेरा पूरा लंड एक बार में ही घुस गया.

मेरे पास एक ही रास्ता था; हॉट सेक्स विद वाइफ!इस सेक्स कहानी में मेरी बीवी का दिल कैसे बदल गया, उसी को मैंने लिखा है. मैंने कहा- तुम डिस्चार्ज हो गई हो लेकिन मेरे लंड का ज्वालामुखी फटना अभी बाकी है जान … मेरे लंड में जो लावा भरा हुआ है, उसको तो तुम्हें अपनी चूत की गहराइयों में ही लेकर ही शांत करना होगा. अब आयशा भी मेरा साथ देने लगी थी और वो अपनी गांड उठा उठ कर अपनी सीलपैक चूत चुदवा रही थी.

हम दोनों जैसे सालों से एक दूसरे के साथ सेक्स करते आ रहे हों, वैसे लग रहा था. वैसे ही मैंने पूछा- मुहल्ले में कोई आप पर लाइन मारता है कि नहीं!वो बोली- मोहल्ले वालों को मालूम है कि मेरा शौहर घर कम आता है, तो लाइन क्या … साले खा जाने वाली नज़र से देखते हैं. तो मैंने कहा कि मेरी तो शादी हो गई है, अब मुझमें तुम्हें कुछ नहीं मिलेगा.

थोड़ी देर में उसने चाय बनाई और चाय पीते हुए हम दोनों में बातें होने लगीं. मैंने उससे पूछा- पहले सेक्स किया है न!उसने कहा- नहीं, अभी मैं वर्जिन हूँ.

उसका गधे जैसा लंड चूत की फांकों को रगड़ते हुए मुझे झड़ने को मजबूर कर दे रहा था.

मैंने सोचा कि आज कुछ भी हो जाये, मैं आज दीदी की पेंटी में अपना लंड का पानी ज़रूर लगाऊंगा.

मैं बड़ा अचम्भित हुआ और उससे पूछा कि क्या हुआ?तो उसने मुझे रुकने का इशारा किया. मैं जोर से चिल्लाती … उससे पहले ही सर ने मेरे होटों पर अपने होंठ रख दिए और मेरी आवाज दब गई।मेरी आंखों से आंसू निकले, मैं गद्दे पे हाथ मार रही थी और गूं गूं बस आवाज निकाल पाई।दोस्तो, एक लड़की ही जाने सील टूटने का दर्द!सर एक पल भर रुके और फिर एक करारा धक्का लगा दिया।इस बार का प्रहार बहुत तेज और कठोर था जिससे मेरी चूत की नसें फट गई और शायद खून भी निकला. आज तू अपनी कमसिन बुर को चोदने के लिए अच्छे से तैयार कर लेना ताकि चुदाई का मजा बढ़ जाए.

उसके शरीर पर मैंने काटने के निशान बनाए थे, उससे उसका बदन और ख़ूबसूरत लग रहा था. एक बार रायपुर के ही पास एक छोटे मजार पर फकीर आया हुआ था और उसी के कहने पर मेरी बीवी उस जलसे में शामिल होने गई थी. उसने मुझे सहारा दिया तो मैंने अपना पल्लू सरका दिया और उसकी बांहों में आ गई.

उसे मैंने बांहों में लेकर नंदा के सामने कहा- अच्छा अब हम दोनों सोने जा रहे हैं.

वो गर्म होती गयी और उसकी कामुक सिसकारियां निकलने लगीं ‘आह हहह उमंह उह उम्म आह हह …’फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया. उसके बाद उसने कहा- मुझे लगता है कि तुम्हारा ये कुछ ज्यादा ही मस्ती कर रहा है. मेरे मैसेज के जवाब में उसने लिखा- नहीं मैं बुरा नहीं मानूंगी, आप बेधड़क बोलो.

तभी भाभी का पति करीब आया और उसने मेरे और भाभी के सारे कपड़े निकाल दिए. उसकी गांड की गर्मी पाते ही मेरे शरीर में करंट सा दौड़ गया और लंड खड़ा होने लगा. ‘आआहह उहह वीरू जी …’ जैसे कामुक सीत्कार रेशमा के मुँह से बाहर आने लगे.

यह देहाती चुदाई की कहानी तब की है जब मैं अपनी फुफेरी बहन रीना के रिश्ते की बात लेकर अपने एक दूर के रिश्तेदार के यहां गया था.

शब्बो सिसकारने लगी- आआह वीरू, और रगड़ अपनी चाची की गांड … मसल दे जोर से!बोलते हुई शब्बो ने लाज शर्म किनारे रख वीरू का लौड़ा उसके शॉर्ट्स के ऊपर से मसलना चालू किया।आख़िरकार दोनों के जिस्म को हवस की आग अपने लपेटे में ले चुकी थी. तब सरिता बोली- हर्षद, मौसी आज रात तुम्हारे साथ बेड पर सोना चाहती है.

बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स मैं जल्दी से उसे नंगी करना चाहता था लेकिन मैंने अपने आप पर कंट्रोल किया. उसकी एक चूची मुँह में लेकर चूसने लगा और एक हाथ से दूसरी चूची को रगड़ रहा था.

बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स मैं भाभी की बात सुनकर बड़ा खुश हुआ, बच्चों के स्कूल जाने के बाद हम दोनों ने अपना सेक्स का खेल फिर से शुरू कर दिया. मैं उसकी दोनों जांघों के बीच बैठ गया और उसकी बुर में अपनी जीभ अन्दर डाल दी.

वो बोली- क्या तुमने कभी उसके साथ रात बिताई है?मैं जानकर अनजान बन रहा था.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी दिखाओ

मैंने उसे साहसिक निर्णय लेने के लिए बधाई दी और कहा- कल उसी समय मेरे घर आना. मैंने कहा- लंड कैसा लगा?उसने कहा- लंड का साइज़ और इसकी स्टैमिना से मैं बहुत ज़्यादा खुश हूँ. मैंने कहा- हां मेरी जान, मैं भी झड़ने वाला हूँ … जल्दी बोलो … किधर निकलूँ?वो बोली- अन्दर ही आ जाओ.

उसने मोनिका को चित लिटाया और उसकी चूत में जीभ पेल कर चूसने लगा; साथ ही वो जोर जोर से उसके मम्मों को दबाने, चूसने और काटने लगा. वो अचानक से मदहोशी में बड़बड़ाने लगी- आंह हर्षद और जोर से डालो आह आह … मैं फिर से आ रही हूँ!मैं और जोर से धक्के देने लगा तो हर धक्के के साथ मेरी अंडगोटियां नीता की गांड के गीले छेद पर रगड़ जा रही थीं. एक दिन हम दोनों पढ़ाई के बीच बात कर रहे थे तो मैं उसका हाथ पकड़ कर उससे बात करने लगा.

वह क्या करते हैं और क्या कहते हैं, ये देखना और वैसा करते जाना, जैसा फकीर कहें.

इसके बाद सोनम ने सिर पर दुपट्टा डाल कर हम दोनों के लिए मेज पर खाना लगाया. भाभी ने आंखें मटका कर कहा- ओहो … लाला मतलब तुम्हारी गर्लफ्रेंड चाहे जिधर से दे देती है?मैं कहा- हां भाभी, आप सही पकड़े हैं. ये हॉट आयेशा सेक्स कहानी दो साल पहले की उस समय की है जब मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता था.

वो बोला कि तो फिर किसी और को भी साथ लेकर आऊं क्या?मैंने भी सकुचाते हुए कहा कि देख लेना. हम किस दिन काम आएंगे?वो आंखें नचाकर बोली- आप क्या करेंगे?मैंने कहा- हम आपका टाईमपास करेंगे, आपको चुटकुले सुनाएंगे. मैंने उसकी चूचियां जोर से मसलते हुए कहा- तो नीता तुम मुझे ही अपना पति मान लो न.

मैं जानता था कि दीदी मेरी वजह से ही बालकनी में स्कर्ट पहन कर खड़ी है. मैं उसकी चुत का पानी उसकी गांड में मलने लगा, तो वो डर गयी कि अब उसकी गांड की बारी है.

मैंने उसकी जांघों को सहलाना शुरू किया और मेरे हाथों का स्पर्श पाकर रूना की आहें निकलने लगीं. आप रहने दीजिए, मैं उनसे बात करके कुछ करती हूँ।यह बोल माँ वहाँ से मुखिया जी के घर को निकल गयी. मेरे ऐसे कामुक और नटखट बोलने से रेशमा दर्द में भी हल्के से मुस्कुरा दी.

भाभी ‘आहह हह आ हहह …’ करती रहीं और मैं अपनी रफ़्तार बढ़ा कर चोदने लगा.

बीस मिनट बाद उसने मेरा लंड फिर से चूसा और मेरा हथियार फिर से तैयार हो गया. दो दिन बाद जब अनीशा का मैनेजर आया तो मेरे सेक्रटरी ने उन्हें कहा- सर आपका ऑफिस विजिट करेंगे और आपके सारे कागजात खुद चैक करेंगे. अनीशा ने मुझे रोकते हुए पूछा- आज आप ऑफ टाइम के बाद क्या कर रहे हैं?मैंने कहा- आज मुझे अपने घर जाना है.

फिर जब मैं आयशा की कमर में बाम लगाने लगा तो उसकी नर्म और मुलायम कमर का स्पर्श होने पर मेरा लंड खड़ा होने लगा. पहले तो वीरू ने शबाना की जवानी ठीक से देखी नहीं थी मगर एक दिन वो जल्दी उठ गया था।उस रोज़ शबाना घर के पिछवाड़े में एक जगह पर झुक कर घर के कपड़े धो रही थी; इसी के चलते उसने अपनी चुन्नी उतार रखी थी।झुकी होने के कारण उसके 40 साइज के चूचे लगभग आधे बाहर की तरफ झांक रहे थे.

सानू- सब ट्रेनी तब से दोहरा रहे हैं … एक बार फिर से कहो न!मैं- मैंने कहा था कि अगर सर का बहुत सुरसुरा रहा था तो ‘मेरी’ में डाल देते. वो अब कामुक सिसकारियां लेने लगी- आह उह हहह नीरज आह हहाह उह हहह नीरज और तेज करो नीरज. मैंने उसे बांहों में लेकर बेड पर लिटा लिया और खुद उसके ऊपर आकर उसकी गर्दन को बेतहाशा चूमने लगा.

बीपी पिक्चर सेक्सी मराठी

तब राज बोला- ओ माय गॉड … इतना लंबा और मोटा … मामी आप लोग कैसे लोगी?दूध वाला बोला- बेटा, ये दोनों बहुत बड़ी वाली चुड़क्कड़ हैं, आराम से ले लेंगी.

माँ के मुँह से थूक निकल रहा था और वो मुखिया जी का पूरा लन्ड अपने थूक से भीगा चुकी थी. शलाका से ही बात कर लेता हूँ … ये ही अपनी गांड में मेरे लंड को आनन्द दे दे, तो जीवन की इस अभिलाषा को भी पूरा कर लूंगा. कुछ ही देर के दर्द के बाद भाभी को मजा आने लगा और वो लंड की चुदाई से पागल हो उठीं.

पिताजी की गांव में थोड़ी सी ही जमीन थी जहाँ पर मेरी माँ खेती करती जिससे हमारा घर चलता था।माँ के बारे में मैं आपको बता देता हूँ. अब मैंने अपने एक दोस्त के मेडिकल स्टोर से ड्यूरेक्स का स्ट्राबेरी वाला स्प्रे और सेक्स की गोलियां ले लीं. मुंबई रंडी बाजार का सेक्सी वीडियोअब वो बिल्कुल नंगी लेटी हुई थी और पहली बार मैंने उसकी चूत के दर्शन किए.

थोड़ी देर बाद हस्बैंड ने वेटर को कॉल किया और उससे कहा- दो बियर और एक हाफ व्हिस्की, पानी और कुछ खाने के लिए ले आओ. जिस तरह भाई की शादी में बहन रूम में जाने से पहले गेट पर गिफ्ट लेती है.

वो लड़का फिर से छटपटाने लगा- आह … आह … लग रई भैया … आपका बहुत मोटा है … आई मेरी परपरा रही है भैया … उई … बस बस … ओह. कुछ देर बाद चाची की सांसें तेज तेज चलने लगीं और उनकी कमर कुछ ज्यादा ही तेजी से मेरे लंड को रगड़ने लगी. ये बोलकर मैंने अपने हाथ से उसकी कड़क चूची पर हल्का हल्का दबाते हुए सा छुआ और उंगलियों को गोल गोल उसके निप्पल की चारों तरफ घूमने लगा.

कहानी के दूसरे भागप्राइवेट सेक्रेटरी के साथ ओरल सेक्समें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने रेशमा की संकरी सी चूत में अपना मूसल लौड़ा पूरा पेल दिया था. दोस्तो, आपने देखा होगा कि औरत की उम्र बढ़ने के साथ उसकी इच्छाएं धीरे धीरे ख़त्म होने लगती हैं, चाहे वो सेक्स की हों या फैशन करने की हों. वो जा रही थी कि मैंने उसे चोटी से पकड़ कर रोका और कहा- एक कुतिया कभी दो पैरों पर नहीं चल सकती, चल साली चार पैरों पर रेंगते हुए जा.

चाची समझ गईं, उन्होंने अपनी सलवार का नाड़ा ढीला कर दिया और टांगों से निकालते हुए मेरी मम्मी से कहा- दीदी आप भी अपनी सलवार उतारो न … अपना विक्की शर्मा रहा है.

अगर प्यार करना है, तो केवल यही ऊपर ऊपर वाला प्यार कर लो, नहीं तो रहने दो. जब देविका नहीं मानी तो मैंने अपने पैर को साड़ी के अन्दर से देविका के घुटनों तक कर दिया.

मैंने अपना सर उसके कंधे पर रख दिया, तो सोनाली ने मुझे अपनी बांहों में कस लिया. रुचि अचानक से मेरे पैंट की जिप खोलने लगी, जिप खोल कर ऊपर से भी खोलने लगी. मुझसे रहा नहीं गया, मेरी चीख निकल गयी- आउच ओह्ह मोहक इतना ज़ोर से क्यों मारा?मेरा बूब तो टमाटर की तरह लाल हो गया।मोहक बोला- डेज़ी, वो ब्लू फ़िल्म में करते हैं न ऐसा … तो मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने मार दिया।मैंने कहा- बेबी प्यार से मारो न … देखो कैसे लाल हो गया।फिर मोहक ने मुझे लेटने को कहा और मेरे ऊपर आकर उसने मेरी चूत में लंड डाल दिया.

उनकी रसभरी चूत में मेरा लंड आराम से अन्दर चला गया और भाभी ‘आह … आहह …’ करके उछलने लगीं. मेरे मुँह से मस्ती में सिसकारियां निकलने लगीं- आह ओह हां हां चोद … और चोदो खूब चोदो वाह हां … और तेज़ी से चोदो चीर डालो मेरी बुर उन्ह हां ओह हाय मेरी जान निकली जा रही है बड़ा मोटा है तेरा लंड … आह तेरा लंड तो साला मोटा ही होता जा रहा है वाउ क्या लंड है तेरा … ग़ज़ब का लंड है तेरा रोहित तेरी मां की चूत साले कुत्ते अकेली पाकर मेरी बुर ले रहा है. उसकी गांड का तो मैं अब दीवाना हो चुका था और जैसे ही वो मुड़ कर जाने लगी, मैं फिर से उसकी गांड देखने लगा.

बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स कुछ देर बाद उसने आसन बदलने का कहा, तो मैं उसे उल्टा लिटाकर चोदने लगा. मैंने कुछ देर बाद फिर से उसे चोदा और इस बार उसने मेरे लंड का पानी गटक लिया.

राजस्थानी एक्स एक्स

शिराज को गालियां देकर अब मैं उसे अपमानित कर रहा था और वो हाथ जोड़ कर मेरे सामने घुटनों पर बैठ कर मिन्नतें करने लगा था. पर उन्होंने खुद को ऐसे फिट करके रखा था कि देखने में कोई भी उन्हें 33 या 34 साल से ज्यादा की नहीं बता सकता था. तब भी अभी के लिए मेरी हां है, क्योंकि आपके साथ कुछ यादें बन जाएंगी और कुछ नया टेस्ट भी हो जाएगा.

मैंने कहा- इतनी जल्दी क्या है जान?वो कुछ नहीं बोली और मेरे सीने से अलग हो गई. उसके चुचे मेरी छाती से रगड़ रहे थे और वो मस्त होकर आह आह करके चुदवा रही थी. सेक्सी वीडियो कलामैंने अपने दोनों हाथों से उसे कस लिया और हम दोनों एक दूसरे के होंठों का रसपान करने लगे.

मैंने उसकी कमर को अपने एक हाथ से थाम लिया और उसे अपने और करीब ले आया.

मेरे ऐसा करने से सीमा सिहर सी उठी और मेरे सर को अपनी जांघों के बीच दबाने लगी. वो अपने हाथों से मेरा सर जोर दबाने लगी और बोली- ओह हर्षद, कितने गंदे हो तुम … कहां कहां भी जीभ डालते हो, मुझे गुदगुदी हो रही है.

कुछ क्षणों तक उस लड़की ने अपनी नजरों से नत्थूलाल को देखा और अपने मुँह से हाथ हटाया. वो कहने लगीं कि उम्म्ह … माई रे … मर गई अहह … हय … दईया फ़ाड़ दिया साले ने मेरी निगोड़ी चुत को. मैंने चूत की फांकों में लंड का सुपारा घिसा और एक जोरदार धक्का दे मारा; मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुसता चला गया.

अब मैंने ऊपर अपने रूम में जाकर कपड़े निकालकर कर रख दिए; अंडरपैंट भी निकाल दिया और नंगा होकर नहाने चला गया.

सुमैत्री को पकड़ कर मैंने अपने नीचे लेटा लिया और उसकी चूत में अपना लंड डाल कर उसको चोदने लगा. वो पहले तो कुनमुनाने लगी और कहने लगी- नहीं यार उधर से नहीं … तुम आगे से ही कर लेना. अब मैंने खुल कर बोलना सही समझा- आपके कहने का मतलब है कि बहुत दिनों से आप चुदी नहीं हो, सही है ना!भाभी कुछ नहीं बोली और अपना सर नीचे कर लिया.

सेक्सी और हिंदीपहले मैं लड़कों से चुदवाया करती थी और अब शादी के बाद पराये मर्दों से चुदवाती हूँ. एक दिन हम दोनों पढ़ाई के बीच बात कर रहे थे तो मैं उसका हाथ पकड़ कर उससे बात करने लगा.

पोर्न वीडियो पोर्न

अब मैं भाभी पर लाइन मारने लगा, कभी उनकी खूबसूरती की तारीफ करता, कोई न कोई बहाने से उनको छूने की कोशिश करता. उसका लौड़ा सुबह के समय किसी खम्बे की तरह एकदम टाइट था जिसको मैं अपने हाथों में लेकर हिलाने लगी. ‘वॉव ऊं हुं हां हो ओहा हाय रे ही हो उफ़ ई ओ हो आह …’ करते हुए वो झड़ भी गया और मैं जोश में सब कुछ पी गयी.

’‘सर जवाब नहीं दिया आपने?’‘यार तुझको देख कर तो पूरे कॉलेज का खड़ा हो जाता है. उस हिजड़े की लुल्ली चूसते चूसते तुझे पता ही नहीं है कि लौड़े को चूसना किसे कहते हैं. मैं भी एक टाइट टीशर्ट और नीचे चड्डा पहन कर ही गया था ताकि आसानी हो.

घर के अन्दर आते ही मैंने उसको देख कर बड़े ताव से कहा- अजी अगर देखने लायक खूबसूरती हो, तो आदमी बस देखता ही रहे … और आप तो चलती फिरती सुंदरता की मूरत हो. Xx सेक्सी गर्ल की चुदाई कहानी के पहले भागडांस टीचर को चूत में उंगली करती देखामें अब तक आपने मेरी सेक्स कहानी में पढ़ा था कि मैं श्रेया की गांड मारना चाह रहा था और वो राजी हो गई थी. मेरी मकान मालकिन देसी भाभी की चूत की कहानी कैसी लगी, प्लीज मेल से बताइएगा.

जीजा ने देर ना करते हुए एक ही झटके से लंड अन्दर डालने की कोशिश की पर लंड फिसल गया … आरजू की टाईट चूत में अन्दर नहीं जा सका. मनीष के झटके बहुत ही जबरदस्त लग रहे थे जिससे थोड़ी ही देर में मेरी चूत पानी छोड़ने लगी.

पर दूसरे बाबा ने मुझे सांत्वना देते हुए मेरे नंगे कंधे पर हाथ रखा और मेरा कंधा मसलते हुए कहा- कन्या इसका उपाय भी है … लेकिन थोड़ा कठिन है, जो तुमसे हो नहीं पाएगा.

कहानी के पिछले भागमाँ के कहने पर पापा को पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अपनी मां की सलाह पर अपने पापा को गर्म करने लगी थी. सेक्स बीपी मराठी सेक्सी बीपीभाभी मुस्कुराने लगीं- तो मेरी आज अपने मन की कर लो … इन्तजार किस बात का है!मैंने कहा- बस आपकी तरफ से हरी झंडी मिलने का इन्तजार था भाभी. सेक्सी वीडियो सनी लियोनी कीभाभी मेरे लंड पर भूखी शेरनी की तरह टूट पड़ीं, अपने घुटनों के बल बैठ कर मुँह में लंड लेकर चूसने लगीं. इतना सब होने के बाद भी मेरी बीवी समझ ना सकी कि यह फकीर उससे क्या चाह रहा है.

वैसे तो मेरे पास में थीं लेकिन उनके पति कहीं नहीं जाते थे उस वजह से मैं भाभी को नहीं चोद पाया.

फिर मैंने उसकी चूत पर दो उंगलियों से फांकों को जरा फैला दिया और अपना लंड का सुपारा घुसा कर ठेल दिया. मैं उसकी आंखों में देख का उसे चुदाई के लिए बार बार इशारा कर रहा था. वहां उनकी फैमिली रहती थी, बच्चे पढ़ते थे … इसके अलावा कुछ लोग कस्बे के ही रहने वाले थे.

कॉलेज खत्म करके मैं सीधा मेरे दोस्त वरुण की मेडिकल शॉप पर गया और उसे नींद की दवाई देने को कहा. करीब 30 मिनट की घमासान चुदाई के बाद मैंने चाची की गांड में ही लंड का पानी निकाल दिया और चाची के ऊपर ही लेट गया. नंदा उचित समय जान कर बोली- मैं लंच की तैयारी करती हूं, तुम दोनों एन्जॉय करो.

ओपन सेक्स वीडियो देहाती

मैंने बोला- हां तुमने सही कहा यार … अब मैं तुम्हें जब भी देखता हूँ, तो मेरा खड़ा हो जाता है. मैंने भी उसके पास जाते हुए उसका हाथ फिर से अपने हाथ में लिया और उसके बिल्कुल करीब जाकर खड़ा हो गया. हम सब पहले भी विलास की शादी में आए थे, तो विलास के सभी रिश्तेदार पहचानते थे.

मैं पहली बार ये सब अनुभव कर रही हूँ … और वो भी तुम्हारे जैसे हैंडसम मर्द से.

मेरा मन भी उसकी सारी लिपस्टिक खाने का था, पर मैं उसे खुद चुदवाने की कहने पर लाना चाहता था.

शलाका मेरे लंड को चूसती रही और उसने मेरे लंड को झड़ने को मजबूर कर दिया. हर तरफ से चोदा, आगे से चोदा, पीछे से चोदा, कुर्सी पर बैठ कर और मुझे लंड पर बैठा कर चोदा. मौसी और बेटा का सेक्सी वीडियोवैसे मेरी बीवी मार्च के अंत में जाने वाली थी, हमने उसी समय का प्लान किया था कि कहीं बाहर चलेंगे.

स्नेहा काली नेट वाली नाइटी पहन कर मुझे देखती हुई मुस्कुराये जा रही थी. फिर चाहे कैसा भी लंड हो, जब दोनों छेद में एक साथ जाएंगे, तो दर्द होता ही है. ‘अरे पजामे के ऊपर से चूसूं क्या?’‘अब ये आप देख लो कि कैसे चूसनी है.

इसी तरह गांड मराने में जब मजा आने लगता है, तो गांड हरकत करने लगती है. मैं उनकी नीचे चूत के पास आ गया और उनके पैरों को पूरा खोला और उनके छेद को देखने लगा.

बलदेव- साली कुतिया बोल … माँ की लवड़ी रंडी मालकिन की चोदी … आंह लंड में मजा आया?मैं- आहं आह उफ बहुत मजा आ रहा है मेरे लवड़े … आंह रगड़ते जाओ मेरी चूत को भोसड़ी के.

मन कर रहा था कि बस लंड को देखती ही रहूं और लंड का टोपा चूसती ही रहूं. लगभग एक महीने तक हमारी पढ़ाई ज़ोर शोर से चल रही थी और वो अच्छा परफॉर्म कर रही थी. मैं बातें तो कर रहा था पर बीच बीच में चोर निगाहों से उसे देखे भी जा रहा था क्योंकि किचन ओपन था और सामने था.

4 साल लड़की का सेक्सी वीडियो किसी भी रंडी किस्म की लौंडिया के लिए ये सबसे बड़ा सुख होता है कि उसके मन की हो गई. हमने कभी किसी की शादी में जाकर, कभी काम के नाम पर भारत के हर नगर में चुदाई की है.

मेरी बीवी भी समझ नहीं सकी, उसे लगा कि यह तो बूढ़ा आदमी है, शायद दर्द हो हो रहा होगा. जब मैं घर से ऑफिस के लिए निकलता, या जब भी फ्री होता … सोनी को कॉल कर लेता. मैं एक बार फिर आप लोगों का लंड खड़ा करने के लिए अपनी Xxx कुकोल्ड हस्बैंड सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ.

সেক্স দেখতে চাই

देसी माल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मामा के घर गया तो वाहना मामी की सहेली मिली. फिर वापस से साड़ी में कसी हुई उसकी गांड की गोलाइयों पर हाथ ले जाकर, उसको अपनी तरफ खींच लिया. पक्क की आवाज के साथ मेरा सुपारा गांड के पहले छल्ले को फैलाता हुआ अन्दर घुस गया.

वह मेरा सिर पकड़े अपने लंड की तरफ खींच रहा था शायद वह अपना पूरा लौड़ा मेरे मुँह में अन्दर तक पेल देना चाहता था. मैंने उसको अपनी बांहों में भर कर उसके दुपट्टे के ऊपर से ही उसे समेट लिया और मदहोश होकर उसके होंठों को चूसने लगा.

कुछ देर मॉल में घूमने और बात करने के बाद हमने पास में ही एक कैफे में लंच किया.

लंड की मालिश करती हुई वो मेरे सामने सोफ़े पर बैठी थी और मैं उसके सामने खड़ा था. वो दर्द और आनन्द से मिश्रित बिलबिलाती हुई बार बार छोड़ देने की गुहार कर रही थी. मैं नंदा के साथ बाजार गया और दवा की दुकान से कामवासना बढ़ाने वाली दवा ले ली थी.

वहां पर एक कमरा ओर टॉयलेट बाथरूम बनाया हुआ था, साथ ही एक सिंगल बेड भी था. इसके बाद एक बाबा मेरे मुँह के सामने अपना लंगोट में आ गया और दूसरा बाबा भी मेरी गांड चाट कर मेरी चूत पर आ गया. वो ‘आआह हहह ऊऊह हहह …’ की मादक सिसकारियां ले रही थी जिससे कमरे में एक भरपूर सेक्स का वातावरण बन गया था.

क्योंकि माँ अक्सर रात में भी खेत पर काम करने जाती थी तो दादा जी और दादी जी ने माँ से कुछ नहीं पूछा.

बीएफ हिंदी में एक्स एक्स एक्स: अब मैं सोने का नाटक ज्यादा देर तक नहीं कर सकता था क्योंकि मौसी को भी पता चल गया था कि मेरा लंड पूरा जोश में आ गया है मतलब मेरी नींद खुल गयी है. उसकी हाइट नॉर्मल थी, चुचे उभरे हुए थे, कमर पतली थी और गांड कुछ ज्यादा ही उभरी हुई थी.

कुछ देर बाद मैंने उसे सीधा खड़ा किया और उसकी टांग उठा कर उसकी चुदाई करने लगा. ये कह कर उसने अपनी लुंगी उठाकर पहन ली और दरवाजा आहिस्ता से खोलकर अपने रूम में चला गया. तभी उर्वशी बोली- वाह, क्या बात है, अंजलि आ गई!फिर उर्वशी ने मुझसे पूछा- आमोद, अगर हम दोनों की चंडीगढ़ ट्रिप थ्री सम बन जाए तो? क्या तुमको कोई प्रॉब्लम है?मैंने उर्वशी से कहा- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है, लेकिन तुम्हारी सहेली अभी फ्लैट में है.

थोड़ी देर बाद मेरा पानी उसकी गांड में ही निकल गया और भाभी ठंडी पड़ गयी.

मैंने अपने हाथों से उसकी ब्रा की पट्टियों को नीचे सरकाया और ब्रा को कमर तक कर दिया. उनके पति बोले- बताओ दीपक, सबका ऐसा ही रहता है या इससे ज्यादा होता है?भाभी बोलीं- मैं कैसे मान लूं कि सबका ऐसा ही रहता है. फिर ललिता भाभी हंस कर बोलीं- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने धीमे से कहा- नहीं है भाभी, तभी तो अपना हिलाकर ही काम चला रहा हूं.