मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,दूध वाली सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीपी दिखाएं: मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ, शेखर थोड़ा परेशान हो गया और सोचने पर मजबूर हो गया कि कहीं ये सारी बातें धारा को पसंद ना आयीं हों या फिर ललित जिस तरीक़े से धारा और अपनी निजी ज़िंदगी के बारे में अनजान लोगों से बातें करता है वो धारा को अछी ना लगती हों.

हिंदी सेक्सी एचडी फुल मूवी

नजारा देख कर मैं बोला- अरे भाबी आप!इतने में ही उन्होंने मेरे मुँह पर अपना हाथ रख दिया और बोलीं- चुप रहो, वरना छोटू जाग जाएगा. वि शेयर प्राइस‘आआह … विशाल अअहह … अअअ विशाल … मैं गईईई …’मां ने अपने पैर खोलते हुए हवा में उठा दिए.

इन बातों में न तो शेखर ने और ना ही धारा ने कोई सेक्स का टॉपिक छेड़ा. गर्ल्स और डॉग सेक्सी वीडियोमैं- हां भाभी … पर आपको कोई दिक्कत तो नहीं है ना!भाभी- नहीं … अब जल्दी से पी लो.

तो उर्वशी बोली- यार थोड़ा आराम से करो ना … मैंने कभी इतने बड़े लंड से सेक्स नहीं किया है.मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ: अंजू भाभी इठलाती हुई उठकर मेरे पास आईं और मादक अंदाज में बोलीं- क्या हुआ माय लव.

वो अब मुस्कुरा रही थी और मुझे चूमती हुई ‘आई लव यू अगम … आह आई लव यू …’ बोले जा रही थी.मेरे प्यारे दोस्तो, कैसे हैं आप सभी?उम्मीद करता हूं आप सभी स्वस्थ और खुशहाल होंगे.

सेक्स गर्ल मूवी - मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ

अब उसने धीरे-धीरे धक्के देने शुरू कर दिए मुझे ऐसा लग रहा था कि वह मेरा मुंह नहीं मेरी चूत चोद रहा है.भाभी हंस दीं तो झट से मैं बाहर से एक बाल्टी ले आया और उसे उल्टा रख दिया.

अपने हाथों से अपनी मौसी की चूचियों को भी दबाते हुए निखिल गांड मारता रहा. मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ रात भर में भाबी की हालत बुरी तरीके से चुदाई के कारण खराब ही चुकी थी.

कसम से ऐसी खुशबू थी जैसे बरसों पुरानी शराब जो बोतल में पड़े पड़े और भी नशीली हो जाती है ठीक उसी तरह नीतू की जवानी का सारा रस उसकी चूत में जमा हो कर और भी नशीला हो गया था।मैं खुद को उसके नशीले रस से चाटने से रोक नहीं पाया और अपनी लपलपाती जीभ की ले कर उसके स्रोत की ओर निकल पड़ा।तभी नीतू ने मुझे अपनी शर्त वाली बात याद दिलवाई.

मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ?

मैं रोमांचित था … और वह भी तो अपनी आंखें बंद करके इस पल का आनन्द ले रही थी. मैंने हम तीनों के गिलासों में व्हिस्की के पैग बना लिए और पानी भी मिला दिया. भाभी बोलीं- हां अनुज, मुझे भी बहुत बुरा लग रहा था, पर क्या कर सकती थी.

अजय ने सभी से उन दोनों का परिचय कराते हुए कहा- ये मेरी बेटी प्रियंका है, कल ये पूरी जवान हो जाएगी, तब इसकी चुत में किसी का लंड जाएगा … और ये मेरी वाइफ सुम्मी है. कुछ देर बाद हम दोनों फिर से गर्मा गए तो उसने मुझे बिस्तर पर लेटने को कहा. जब कभी भी हम तीनों को टाइम मिलता था तो उस वक्त मेरे देवर पीछे रहते थे और उनका दोस्त आगे.

फिर जैसे तैसे गर्मी की छुट्टी निकल गईं और हम दोनों ने एक ही कॉलेज में प्रवेश लेने की सोची. आपका प्रवीण[emailprotected]यह जवानी है दीवानी कहानी का अगला भाग:प्रेमिका की बुर चोदने की ललक- 2. कुछ देर बाद ऋतु झड़ चुकी थी, उसकी चुत से बहते रस को रुचि पीने की कोशिश कर रही थी.

ये सोच कर कि लोगों को पता चलेगा तो क्या कहेंगे, मैंने फिर से उसे नजरअंदाज कर दिया. मौसी- अब मैंने तेरी पैंट निकाल कर फैंक दी और तेरी टी-शर्ट भी उतार दी.

जबकि एक हाथ से मैं अभी दीदी की दूसरी चूची दबा रहा था और मेरा एक हाथ अभी भी दीदी की चूत में उंगली कर रहा था.

वो मेरे सामने बैठकर सवाल करने के लिए झुकी, तो उसके मम्मे साफ साफ दिखने लगे.

उसने अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत पर सैट किया और धीरे धीरे पूरा लौड़ा चुत के अन्दर ले लिया. वो मन ही मन बड़बड़ाने लगी कि वो अपने इस टुच्चे पति का कर भी क्या सकती थी. बाल खींच कर मेरे होंठों को चूस रहे थे, मेरे होंठों से हल्का खून आने लगा.

नमस्कार दोस्तो, सेक्स कहानी के पिछले भागजवान लड़के को जिस्म दिखा के पटा लियामें अब तक आपने पढ़ा था कि रीमा और निखिल के बीच भी चुदाई का खेल शुरू हो गया था. उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं, जिससे मेरा जोश और बढ़ गया और मैंने अपने दांत रीतू की जांघों में गड़ा दिए. दोस्तो, मेरे पास चुदाई की बहुत सारी कहानियां हैं, लेकिन ये वाली छोटी चूत वाली सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, आप जरूर बताएं.

कुछ देर यूँ ही चूमने चाटने के बाद भाभी अपनी गांड हिलाने लगीं तो मैं समझ गया और भाभी की चुदाई करने लगा.

तो लकी कहने लगा- तूने यह ठीक नहीं किया … तूने मेरी मां के साथ गलत किया है. भाभी मेरी आंखों में नशीले अंदाज से देखती हुई धीमे स्वर में बोलीं- आज चोद ले मुझे … आज के लिए मैं तेरी हूँ … आज मेरी चूत तेरे नाम है राजा. उस कमरे की लाइट बन्द थी, सिर्फ बाहर एक बल्ब की हल्की रोशनी कमरे में आ रही थी.

मैंने कहा- फिर चुदाई कैसे हुई!वो हंस कर बोली- क्यों दादू जलन हो रही है क्या?मैंने उसकी गाल पर चिकोटी काटी और कहा- नहीं मेरी गुड़िया … बस मैं तो ये जानना चाह रहा था कि वो कौन सा भंवरा था, जो तेरी चुत का रस पी गया. अब तो उनके मुँह से साफ़ साफ़ शब्दों में लंड चुत हथियार चुदाई का शुमार होने लगा था. उनको हॉर्ट प्राब्लम है, तो घर में हमेशा ब्लाउज पेटीकोट में या कम से कम कपड़ों में ही रहती हैं.

फिर मैंने अपना लंड मामी की चूत टिकाया और धीरे धीरे पूरा लंड मामी की चूत में उतार दिया और पूरी दम से चोदने लगा.

भाभी- नहीं … समझता क्या है तू अपने आप को … मादरचोद!इतने में भाभी ने मेरी ठुड्डी पकड़ कर मेरे सूखे होंठों को अपने दोनों होंठों से ढक दिया. मैं- फिर तुम्हारी गर्दन पर अपनी जीभ से गुदगुदी करूंगा और अपनी गर्म सांसें फेकूंगा.

मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ मौसी- जानू, क्या देखना है!मैं जानू शब्द से बहुत खुश हो गया और बोला- वो नीचे वाली गीली गीली जगह देखनी है. लगभग एक घंटा हुआ होगा, तभी मुझे अहसास हुआ कि कोई मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहला रहा था.

मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ हम दोनों में स्कूली दोस्ती से आगे की भी बहुत सारी बातें होने लगी थीं. उसके बाद शिवम ने मुझे नीचे पीठ के बल पटका और मेरी एक टांग उठाकर अपना लंड मेरी चूत में फिर से घुसा दिया.

लेकिन वो सोच में पड़ गयी कि रितेश को इस खेल में शामिल करने में दिक्कत हो सकती है.

कुत्ते लड़की का बीएफ

’थोड़ी देर और उसकी चूत को चाटने के बाद जब उसकी चूत पूरी तरह से पानी से गीली हो गई. जैसे ही मैं उनके आगे झुकी, तो उन्होंने मेरे नंगी बांह को पकड़ लिया और बोले- लड़कियां पैर नहीं छूतीं. एक दिन मैं थोड़ी इठलाती हुई बोली- मैं तुम दोनों को मौसी जैसी दिखती हूँ?रवीना बोली- नहीं यार, आप तो बहुत हॉट लगती हो.

शेखर की मनोदशा समझ कर धारा को उस पर तरस आ गया और उसने बिना देर किए बिना हाथों से लंड को पकड़े अपनी जीभ की नोक से लंड की चमड़ी से झांक रहे सुपारे को सहला दिया. पहले तो मैंने भाभी को थोड़ा दूर धकेलना चाहा तो वो मुझे किस करने लगीं. उस टाइम मेरा लंड कुछ छोटा था, जो कि भाभी ने मुझसे चुदने के बाद मुझे बताया था.

मैं भी उनके जैसा ही था, अपनी पत्नी से अलग होने के बाद मैं भी अकेला ही रहता था.

जैसे ही पानी छूटा, उनके हाथों से मेरी पीठ पर और होंठों से मेरे होंठों पर दबाव बढ़ गया. हम दोनों में स्कूली दोस्ती से आगे की भी बहुत सारी बातें होने लगी थीं. मैंने उससे कहा- एक सप्ताह रह कर देख लो, यदि कोई समस्या हुई … तो दूसरा घर देख लेना.

तभी उन्होंने अपना लंड मेरी चूत में सेट किया और एक झटके में पूरा उतार दिया. सोनम भी किसी सड़कछाप रंडी की तरह उस चपरासी के लौड़े के लिए पागल हो चुकी थी. उनके मुँह से जोश में निकल रहा था- आह निखिल … अब मत तड़पा … चोद दे मुझे … फाड़ दे मेरी चूत … आह बना ले मुझे अपनी रखैल.

संगीता हम दोनों के बीच में बेड पर बैठी थी और मयंक की गोद में मुँह को करके उसका लंड चूस रही थी. मेरे दिमाग में आज फिर से वही बात चल रही थी, जो उस दिन लाइट जाने के बाद हुआ था.

अपन को यहां से 7 बजे तक निकल जाना चाहिए जिससे 8 बजे तक वहां पहुंचा जा सके. इधर मैंने कोमल को घोड़ी बना कर अपना लंड एक झटके में उसकी चुत में डाल दिया और तेज तेज चोदने लगा. ऐसा माहौल देख कर मेरा तो पानी निकल गया और मैं रोहित के लंड से झड़ गई.

धारा की चूत पहले ही पूरी तरह से गीली हो चुकी थी।अब शेखर की उंगलियाँ उस गीली चूत की दरार में थोड़ा अंदर तक पहुँच गयीं और ऊपर की तरफ़ सीधे चूत के दाने तक पहुँच गयीं.

जल्दी ही सेक्सी भाबी फिर से चुदास से भर उठीं और घुटनों के बल बैठ कर वो मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगीं. लड़की ने चार लड़कों से एक साथ अपनी गांड, चूत और मुंह में लंड लेकर सेक्स किया. मैंने कहा- भाभी एक बात पूछूँ, आप तो बुरा नहीं मानेंगी?भाभी बोलीं- नहीं, बोलो.

जैसे ही शहज़ाद का लौड़ा मेरे सामने आया, मेरी तो आंख फटी की फटी रह गईं क्योंकि उसका लौड़ा जैसे ब्लू फिल्मों में काले हब्शियों का खूब बड़ा लंड होता है, एकदम वैसा ही था. कुछ देर की चुदाई के बाद मुझे लगा कि मेरा टाइम पास में आ गया है, तो मैंने भाभी को बेड पर लेटा दिया और तेज चुदाई करने लगा.

वह हमेशा बहुत ही चुस्त सूट पहनती थी, जिससे उसके जिस्म का हर कटाव उभर कर आता था. मेरी पहली कहानीकिस्मत से मिली चुदाई की जॉबदो साल पहले आयी थी, जिसे आप लोगों ने बहुत प्यार दिया था. दीवार के पास खड़े खड़े मैं भाभी की चूत पर साड़ी के ऊपर से ही लंड दबा रहा था और भाभी अपनी चूत आगे करे जा रही थीं.

ब्लू बीएफ वीडियो एचडी

देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी मेरी सहेली की अपने जीजा के साथ टांका भिड़ने की है.

अब ये बताओ कि कब इसे पास से देखने का मौका मिलेगा?रोहन- जल्दी ही राज जी, हम आपसे बड़ी जल्दी ही मिलने वाले हैं. मैं सॉरी बोल कर सामने वाले सोफे पर बैठ गया और अपने लोअर के ऊपर से ही लंड को एडजस्ट करने की कोशिश करने लगा. जिसके बाद उन्होंने अपने मुँह को बंद तो कर लिया, पर लम्बे लंड की तेज चोट के दर्द छुपा नहीं पा रही थीं.

सही सोच रहा है भोसड़ी के … मैं अपनी चुत में खीरे ले रही हूँ … तो तेरा लंड भी ले सकती हूं … प्यासी हूँ मादरचोद!”बस ये कह कर भाभी ने फिर से मेरे होंठों को अपने मुँह में ले लिया. उसको अपने कानों पर विश्वास नहीं हो रहा था कि चुदाई की इतनी बढ़िया सामान आज खुद उसके पास चलकर आई है. दिसावर सटा किगइधर प्रिया कमरे में बंद सब देख रही थी … उसको लोगों की बातों से पता चल गया था कि गगन अपनी बहन को 3-4 दिन तक चोदता ही रहेगा.

लेकिन तीन दिन बाद जब फिर मेरे फ़ोटो पर उसका कमेंट आया और साथ ही ये संदेश कि साहब आप बिजली क्यों गिरा रहे हैं, किसका क़त्ल करने का इरादा है. दो दो पैग पीने के बाद रोहन ने मुझसे पूछा- राज, मेरी बीवी कैसी लगी आपको?दोस्तो, शराब है ही ऐसी चीज कि बेशर्म कर देती है.

मैंने भी उसे ‘आई लव यू टू …’ कहा और अपनी स्पीड थोड़ी बढ़ा दी जिससे उसे फिर से हल्का हल्का दर्द होना शुरू हुआ पर उसकी आवाज उसके मुँह में ही दबी रही. यह लॉकडाउन सेक्स कहानी एक भाभी की चुदाई की है जिसका शौहर विदेश में फंस गया था. मैं- तुम्हारी मां पूछेगी तो क्या कहेगी?उसने कहा- उन्हें मैं समझा लूंगी.

उधर उसने मुझे नहलाया, साफ किया और वापस कमरे में लाकर बेड पर लिटा दिया. धारा ने अंदर कोई पैंटी नहीं पहनी थी।शेखर की पूरी हथेली धारा की गद्देदार चूत के ऊपर ठहर गई थी. उसने मुझे दूसरे रूम में भेज दिया, मैंने रूम में जाकर लैपटॉप ऑन किया.

अब धीरे धीरे मैं उसके पेट और नाभि को चूमता चूसता हुआ नीचे उसकी चूत तक आ गया.

मैंने उसके बारे में मालूम किया तो वो मेरे पड़ोसी के यहां किराए से रहने आई थी. कभी रीमा एकदम टाइट कपड़े पहन कर चली जाती, जिसमें रीमा की गांड और कसी हुई चुत का साफ़ दिखता आकार निखिल को पता चलने लगता.

शाम के क़रीब 4 बजे तक शेखर और धारा एक दूसरे से ऐसे ही इधर-उधर की बातें करते रहे. थोड़ी देर बाद वो एकदम से थमते चले गये और मेरा मुँह उनके वीर्य से भर गया।वे बोले- वाह हरामजादी … वाह क्या बात है, चल अब पूरा माल गटक जा मादरचोद!मैं पूरा वीर्य गटक गई और उनके लंड को प्यार से चाटने लगी. मुँह बन्द होने से वो गों गों करने लगी और उसकी आवाज मुँह में ही दब कर रह गयी.

उनकी परेशानी समझते हुए मैंने पूरा लंड बाहर निकाला, जिससे उन्हें एक गहरी सांस आयी. मैंने फिर से उसे पकड़ा और उसके हाथ पीछे करके उसी की पीठ पर रखते हुए पकड़ लिए ताकि वो आगे को न हो सके. जब लंड उसकी बुर में सैट हो गया, तो वो ख़ुद ही गांड उठा उठा कर चुदने लगी.

मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ दोस्तो, आप मुझे मेल पर जरूर बताना कि कैसी लगी मेरी सच्ची सेक्स कहानी … भाभियो आप खास कर बताना. आप मुझसे दोस्ती करना चाह रहे थे ना … तो मैं भी आपसे दोस्ती करना चाहती हूँ.

बीएफ बीएफ बीएफटी

पट्टी कुछ इस तरह की थी कि वो चाह कर भी उसे निकाल नहीं सकता था और ना ही पहनने वाले को कुछ भी नज़र आता. मीरा जैसे ही निखिल के और करीब आई तो उसकी गीली चुत को निखिल के खड़े लंड का अहसास हुआ. मैंने लंड पेलते हुए कहा- ऊपर आ जाओ भाभी!भाभी ने लंड लिए हुए ही मुझे पकड़ा और मुझे औंधा करती हुई मेरे लंड पर सवार हो गईं.

मैं- हैलो … हां जी कहिए?उधर से आवाज आई कि क्या आप टूरिस्ट कैब चलवाते हैं?मैंने कहा- हां. वो बात तो कर रहा था, लेकिन उसकी तिरछी नज़रें मेरे शरीर की नाप लेने में लगी थीं. रक्षाबंधन का समयअब चूंकि हम दोनों स्कूल में थे, तो हम दोनों साथ मिलकर पढ़ाई कर लेते थे.

मैं ये सोचते ही गर्म होने लगा और कुछ ही पल बाद मेरा बुल्ला फिर से टाइट हो गया.

अबकी बार ज्योति सबके सामने खुल कर चिराग के साथ, कभी उसके गले में बांहे डाल कर सेल्फी ले रही थी … तो कभी हग करके फुल एंजॉय कर रही थी. शाम को में दुकान को बंद करके जाने लगा तो मैंने उससे पूछा- मौली, क्या मैं तुमको घर तक छोड़ दूं?मौली ने भी हां बोल दिया.

थोड़ी देर बाद वो एकदम से थमते चले गये और मेरा मुँह उनके वीर्य से भर गया।वे बोले- वाह हरामजादी … वाह क्या बात है, चल अब पूरा माल गटक जा मादरचोद!मैं पूरा वीर्य गटक गई और उनके लंड को प्यार से चाटने लगी. मेरी जीभ चूत के निचले सिरे पर जाती, तो मुझे भाभी की गांड के छेद से आने वाली मदमस्त महक आने लगी, तो मैंने भाभी की गांड के छेद को भी चाटा और सूंघा. तमन्ना- जान… आ…ह…आ…ह… उम्म… जान!मैंने उसकी कमर पकड़कर उसे अपने ऊपर लिटाकर बांहों में कसा और पलटकर उसके ऊपर आ गया.

इन दोनों से चुदने के बाद मैं नहा कर बाहर गयी और उन दोनों को काम का पैसा दिया.

मुझे सोचते देख कर बंगालन भाभी मेरे करीब आ गईं और मेरे गाल पर चूमती हुई बोलीं- क्या सोच रहे हो मेरे भोले देवर जी!बंगालन भाभी ने जैसे ही मेरे गाल पर चुम्मी ली, मैं एकदम से हड़बड़ा गया. कुछ देर बाद मैं उसके गाल को चूमते हुए अलग हुई ही थी कि तभी मेरी बेटी आ गयी. समीर भी किसी कुत्ते की तरह अनामिका की गांड चाट रहा था और अब अनामिका मेरा दर्द हल्का करने के लिये मेरे होंठों को चूमने लगी, मेरी चूचियां पीने लगी।कुछ देर में मेरा दर्द कम हुआ तो मैं समीर के लन्ड पर कूद कूदकर उससे अपनी चूत की जोरदार चुदाई का मजा लेने लगी.

जंगल में के सेक्सी वीडियोमुझे शहजाद का लम्बा लंड याद आ रहा था कि इसका लंड मेरी चुत में घुसे तो चैन पड़े. पर आप और मम्मी की दोनों वीडियो में मम्मी की चूत बिल्कुल नीट एंड वलीन और आप के भी लन्ड पर भी अभी की तरह वीडियो में भी एक भी बाल नहीं.

सेक्सी चोदा चोदी चोदा बीएफ

फिर जैसे जैसे मैं बड़ा होता गया, मुझे समझ आया कि मेरी मां अपनी जिस्मानी भूख अपनी चुत में उंगली करके मिटाती हैं. परिवार में चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मुझे अपनी तायी और भाभी की चूत और गांड चोदने का मौक़ा मिला तो कैसे मैंने उन दोनों की चीखें निकलवा दी. मेरी जिस्मानी प्यास भी मिटा दे, इसलिए मैंने आपकी कहानियां पढ़ कर आपको मेल किया था.

इस पोर्न भाभी हिन्दी कहानी के सभी पात्र काल्पनिक हैं लेकिन कहानी हकीकत है. अब मैं चारों के बीच चिपकी हुई थी, कोई मेरे होंठ चूस रहा था तो कोई मेरे बूब्स को दबा रहा था. देसी लड़कियों की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी एक्स गर्लफ्रेंड ने 2 और लड़कियों को बुलाकर कैसे उनकी चूत दिलायी और ग्रुप सेक्स का मजा लिया.

मैं और भाभी अब बहुत खुश हैं और हर रोज़ मुझे मेरी खूबसूरत, सेक्सी भाभी के साथ चुदाई करने का मौक़ा मिल रहा है. [emailprotected]सेक्स विद माय स्टेप मॉम कहानी का अगला भाग:सौतेली मां और बेटे की वासना का खेल- 3. लेकिन उन्होंने मुझे रोक दिया और मुझसे कहने लगे- प्लीज भाभी, अभी नहीं.

उसने मेरे बाजू में बैठ कर अपनी पूरी कहानी बताना शुरू की कि कैसे उसका उसके पति से तलाक हुआ. वो दोनों मुझे मनाने लगे और ऐसी ऐसी बातें करने लगे कि मैं उन्हें फिर कुछ कह भी नहीं पाई.

खासकर अपनी पुरानी और वर्तमान जुगाड़ को एक साथ चोदने का मौक़ा लोगों को बहुत कम मिलता है.

मैं- मेरा तो हो गया! अब करो जितनी भागदौड़ करनी है!ये सुनते ही उसने लंड को मुंह में कसा और ऐसी चूसाई की कि लंड एक ही मिनट में फिर से छत को देखने लगा. रजनीकांत की पिक्चरलेकिन लंड का माल इतना ज्यादा था कि वो चुत से बाहर निकल कर बह रहा था. सेक्स विडिओ hdलंड की चमड़ी हटा कर उसने मानस के लौड़े की टोपी ऐसे चूसी कि मानस की भी आह्ह निकल गयी. तो मैं आप लोगों को बता दूं कि वो मस्त है और अपने नाना नानी के साथ रहता है.

मैं अपने घर में बने मंदिर में रखे अपनी स्वर्गीय माँ के चित्र के सामने ले आया और माँ को सम्बोधित करते हुए कहा- माँ, यह सितारा है, मेरी दोस्त है, आशीर्वाद दो कि हमारी दोस्ती, हमारा प्यार और विश्वास बना रहे.

लंड से निकलते वीर्य का वेग इतना तेज था कि लग रहा था जैसे कोई जान को ही लंड के रास्ते खींच रहा हो. फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसकी गांड में थूक लगा कर अपना लौड़ा घुसा कर उसे चोदने लगा. मैं थोड़ी गुस्से में बोली- ये क्या बकवास कर रहे हो?गौतम बोला- प्लीज़ दीदी बस एक बार!मैं बोली- दीदी भी बोलते हो और ऐसी सोच रखते हो.

तो मामी बोली- कोई बात नहीं, आज साथ में टीवी देखते हैं। तुम्हें जो पसंद हो लगा लो. मैंने उसके बाल पकड़ लिया और उसे घोड़ी जैसे खींचने लगा और चोदने लगा. भाभी बोली- तूने क्या सोचा था, खीरे ले रही है चूत में … तो तेरा लौड़ा भी ले लूंगी?भाभी खुलकर चुत लौड़ा बोल रही थीं.

गांव के बीएफ बीएफ

मस्त चुदाई हुई थी यार … वो भाभी अब भी मेरे दिमाग से निकलती ही नहीं है. वह हमेशा बहुत ही चुस्त सूट पहनती थी, जिससे उसके जिस्म का हर कटाव उभर कर आता था. समीर भी जीन्स और टीशर्ट में था।अनामिका ने आज पहली बार समीर को जबरदस्ती दारू पिलायी और हम सब टल्ली हो गए।अब हम दोनों समीर के साथ मदहोश होकर डांस करने लगीं और अनामिका कुछ ज़्यादा ही मॉडर्न हो गयी थी वो तो समीर को किस भी करने लगी।उस दिन रात में एक बजे हम अपने होटल के बाहर आये तो कोई टैक्सी नहीं मिली.

शेखर ने रघु को मुस्करा कर धन्यवाद कहा और फिर अपने कपड़े बदल कर बिस्तर पर ही सारा कुछ एक ट्रे में लेकर बैठ गया.

किसी को स्तनों के मसलने, उन्हें चूसने, सहलाने पर उत्तेजना हो जाती है.

फिर उसने अपने कपड़े निकाल दिए और अपना लौड़ा सीधा मेरी चूत में डाल दिया. इतने में दीदी ने मेरी शर्ट के बटन खोल दिए और शर्ट को मेरे जिस्म से अलग कर दी. ध्वनि की गतिएक बार को तो मुझे लगा कि कहीं मैंने इन चारों को बुलाकर कोई गलती तो नहीं कर दी क्योंकि ये लड़के तो कच्चे निकल रहे थे और जल्दी-जल्दी पानी छोड़े जा रहे थे.

फिर मैंने ऐसे ही उसकी टांगें चौड़ी की और उसकी चूत में अपनी उंगली डाल कर तेज़ तेज़ अन्दर बाहर करने लगा. मुझे ऊपर लेकर लंड को चूत पर रख लिया मैं ऊपर-ऊपर ही लंड फिराने लगा तो उसने ऊपर की तरफ कमर उछाली लेकिन मैं उचक गया. एक दिन क्या हुआ कि उसकी मम्मी पापा और उसका छोटा भाई कहीं गए हुए थे और रोज की तरह हम दोनों उसके रूम में बैठ कर पढ़ाई कर रहे थे.

सविता भाभी ने पति अशोक के जाने के बाद पड़ोसी वरुण और अपनी सहेली शोभा को बुला लिया। थ्रीसम सेक्स के दौरान सविता अपने कज़िन के साथ पहले सेक्स की कहानी बताने लगी. जब उससे रुका न गया तो उसने मुझे नीचे पटक लिया और मेरी छाती पर बैठकर मेरे मुंह पर अपनी चूत लगा दी और आगे धकेलने लगी.

आपके सुझावों से कहानी अधिक निखरकर आती है। कहानी पर कमेंट्स में अपनी राय दें।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]कॉलेज गर्ल की चूत की गर्मी कहानी का अगला भाग:शत्रुता का पहला दौर- 3.

भाभी की बात पर मैंने भी अपनी धुन में जवाब दे दिया कि हां मैं भी भूखा हूँ और मुझे भी दूध पीना है. उसने मेरी गांड देख कर कहा- वाह … गोरी-चिट्टी अनचुदी सेक्सी गांड देखकर मजा आ गया. वो जिस रूट पर जाती थी, उस रूट के लिए अगले दो घंटे तक कोई बस नहीं थी.

सेक्स मूवी हॉट फिर अपनी लार से गीली उंगली नीतू के मुंह में घुसेड़ दी जिसे नीतू ने एक बार अपनी जीभ से छू लिया।जैसे ही रूपाली ने अपने होंठ उसके होंठ पर रखे थे वैसे ही नीतू आँखें बंद हो गई और उसकी सांसें रुक गई।बड़ी हिम्मत करके रूपाली ने उसके होंठ चूमने शुरू किये।रूपाली नीतू के होंठ चूम तो रही थी लेकिन नीतू किसी भी तरह का कोई सहयोग नहीं कर रही थी. मैं माफी मांगता हूँ अगर मैंने आपका दिल दुखाया हो तो, पर मैं उस वजह को जानना चाहता हूँ … जिसने आपको गलत रास्ते पर चलने पर मज़बूर कर दिया है.

कोमल चिल्ला रही थी और हम दोनों उसे सड़कछाप कुतिया की तरह चोद रहे थे. कभी वह अपने दोनों हाथों से मुझे अपने अंदर समा लेने की कोशिश कर रही थी. इस तरह से वो मेरेलंड की दीवानीहो गई और जब तब मेरे साथ सेक्स का मजा लेने आने लगी.

सेक्स लोकल बीएफ

मैंने उसकी चूत में लंड डालना शुरू किया, मगर चूत टाइट थी तो वो सिसकारियां भरने लगी और आराम से करने को कहने लगी. आपने पूछा तो मैंने बता दिया कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, आप ही बन जाओ. मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और बोला- गांड में डालूं क्या?वो तुरंत सीधी हो गईं और बोल पड़ीं- ना बाबा ना … तुम बड़े जालिम हो … उसमें नहीं पेलना … बड़ा दर्द करता है.

मेरे हाथ उनकी साड़ी खोलते हुए पेटीकोट को खोलने लगे और एक ही झटके में उनका पेटीकोट पैंटी सहित उनके जिस्म से अलग हो चुका था. उसके साथ उसकी 20 साल की बेटी भी थी जिसके हाथ में स्नैक्स ओर पानी की बोतल थी.

आगे चलकर सितारा और कविता दोनों आपस में खुल गईं जिससे मेरा काम आसान हो गया.

भाभी मेरे कान में गर्म सांसें छोड़ने लगीं और बोलीं- राज, मैं बहुत प्यासी हूँ. वह अपनी कमर को ऊपर नीचे हिलाते हुए लंड के सुपारे को बुर से रगड़ रही थी. पहले तो वह लड़की मेरे नीचे वाली सीट पर बैठी हुई थी, बाद में उठकर लोअर साइड बर्थ पर आ गई.

चाची- राजू, प्लीज थोड़ा रुक जाओ, जल्दबाजी में मज़ा नहीं आएगा, मैं खुद भी मजा लूँगी और तुम्हें भी दूँगी, अभी छोड़ो. मेरा मोटा लंड लहराते देख कर आंटी की आंखें ऐसे चमक उठीं, जैसे किसी बिल्ली को मलाई का कटोरा दिख गया हो. एक दिन उन्होंने किसी को कॉल करने के लिए मुझसे मेरा फोन मांगा तो मैंने अपना फोन उन्हें दे दिया.

धारा के 7-8 मैसेज को पढ़ते पढ़ते शेखर ने उसकी आख़िरी लाईन पढ़ी जिसमें धारा ने ये लिखा था कि वो दोपहर को इंतज़ार करेगी.

मराठी सेक्सी पिक्चर बीएफ: नर्म मुलायम उंगिलयों का स्पर्श शेखर को झकझोर गया, शेखर एकदम से चौंक गया. इसीलिए गलती होना स्वाभाविक है, कृपया मुझे माफ़ करते हुए सेक्स कहानी का मजा लीजिएगा.

नीतू ने शर्म से खुद ही अपने मुंह को दोनों हाथों से बंद कर लिया लेकिन अभी उसके मुंह से आह्ह … मम्मी … आअह्ह … उस्स्स्ज़ … उम्म्म्म जैसी सिसकारियां सुन पा रहा था।लगातार तेजी से चूत चोदने से चूत के पास सफ़ेद झाग आ गया था।थोड़ी देर में नीतू का बदन कांपने लगा. तभी चंचल ने मुझे दुबारा कॉल किया- क्या आप अभी मेरे पास आ सकते हो?मैंने पूछा- कहां और क्यों?चंचल ने कहा- आपको चोदना था न?मैंने ‘हां. लेकिन वो सोच में पड़ गयी कि रितेश को इस खेल में शामिल करने में दिक्कत हो सकती है.

उधर लूसी भी एक प्रोफेशनल रंडी की तरह अपनी गांड को गोल गोल चलाते हुए विवेक के लंड को अपनी चूत में ले रही थी.

जैसे जैसे मेरी जीभ उनके लंड पर नाचती गयी वैसे वैसे उनका लंड और ज्यादा फूलकर एक मोटे तंदुरूस्त साढ़े सात इंच लम्बे लौड़े में तब्दील होता चला गया. निखिल ने अपने होंठों को उसके होंठों पर रख दिए और उसके मम्मों को दबाने लगा. मैंने भाभी की चुत इंतजार खत्म किया और अपना लंड चुत की फांकों पर रगड़ दिया.