भाभी का सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,ইন্ডিয়া পাকিস্তানের ম্যাচ

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स पिक्चर वीडियो: भाभी का सेक्स बीएफ, मैंने अपने लंड के पानी से उसकी चुत भर दी और हांफते हुए उसके ऊपर ही ढेर हो गया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर चुदाई की

कभी उसकी योनि में जीभ से चोद रहा था तो कभी उसकी चूचियों के निप्पल को अपने दांत में भींच कर उसको चुदाई के लिए उकसा रहा था. देसी लड़कियों की सेक्सी फिल्ममैं नित्या की चूत चाट कर साफ़ कर रहा था।फिर थोड़ी देर बाद नित्या और निधि ने अपनी अपनी जगह बदल ली। अब मैं निधि की चूत चाटने लगा और नित्या मेरा लंड मुंह में लेकर मेरा लंड खड़ा कर रही थी।जब मेरा लंड खड़ा हुआ तो निधि की चूत में लंड लगा कर जोर से झटका मारा.

बताओ अगर मैं गलत कह रहा हूं तो? नील ने सीमा के मदहोशी भरे चेहरे की तरफ देख कर कहा. தமிழ் செஸ் பியூல் மோவிஸ்उसमें मर्द को भले ही मजा आये लेकिन औरत घबरा जाती है और वो सहज नहीं हो पाती.

अब वो भी चिल्लाने लगी थी- अयायाहह मुझे चोद दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… और ज़ोर से चोदो आहह … ऊऊहह मेरी चूत फाड़ दो … आज मेरी गांड भी मार लो आअह … उम्म्म्मा …अब मैंने उसके दूध छोड़ कर उसकी कमर को मजबूती से पकड़ लिया और अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर वापस अन्दर डालना शुरू कर दिया.भाभी का सेक्स बीएफ: तुम दोनों ही अपनी चूत की बहुत सफाई रखती हो जो मुझे बहुत पसंद है।यह सुन कर वो मुझे चूमने लगी उसकी जीभ मेरी जीभ से खेलने लगी।वन्दना- जीजू आप तो चूत को चाटते भी बहुत अच्छा हो, मन करता है कि आपसे सारा दिन बस चूत ही चटवाती रहूं।मैं- क्या तुम दोबारा मुझसे सेक्स करना चाहोगी?वन्दना- जीजू, वो औरत पागल ही होगी जो एक बार आपका लन्ड ले कर दोबारा न ले.

जब उसने कमीज उतारी तो देखा कि उसने लाल रगं की ब्रा पहनी हुई थी। उसके बाद वो बेड पर पेट के बल लेट गयी.इससे पहले कि मैं कुछ कहता बुआ ने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चूचियों पर रखवा दिया.

माँ बेटे सेक्सी - भाभी का सेक्स बीएफ

फिर हम दोनों अलग हुए और मैंने मनोज की तरफ देखा तो उसकी नजर श्वेता के स्तनों की दरार को ताड़ रही थी.खाना गर्म करने के बाद मैंने फिर से रसोई से झांक कर देखा, पर अभी भी जेठजी नहीं दिखे.

झड़ने के बाद ने उसने मुझे मेरे होंठों पर एक जोरदार किस किया और बोली- मज़ा आ गया, आपने आज मुझे जो खुशी दी है, उसके बाद मेरा आपके लिए मेरा प्यार और बढ़ गया है. भाभी का सेक्स बीएफ बृहस्पतिवार को चारों ने अपने सभी रिश्तेदारों को कह रखा है कि न तो वो उनके घर आयें, न दोपहर से शाम तक फोन करें.

मैंने बड़े ही प्यार से कच्छे के अंदर हाथ डाल कर अपने यार के लंड को उसके कच्छे से आजाद कर दिया.

भाभी का सेक्स बीएफ?

उसे तो तूने पटा लिया है, लेकिन तुमसे नहीं भी पट पाती और तुम मुझसे उसके लिए कहते, तो मैं खुद उसे पटा कर तुम्हें देती. मेरे सामने अब उसकी पिंक चूत थी … उसके ऊपर छोटे छोटे भूरे रंग के बाल थे. सोनिया- काटो ना मेरी चूचियों और निप्पल्स को अपने दांतों से जोर जोर से जानू.

मैंने गेट खोला तो उनका ध्यान सीधा मेरे अंडरवियर में खड़े लंड पर गया. फिर एक संडे था तो उस दिन सब लड़के खेलने के लिए जा रहे थे ग्राउंड में. भाभी मेरे पास आ कर बैठीं और कहा- जो हो गया, उसकी चिंता न करके अब आगे कुछ ग़लत ना हो, उसका ध्यान रखना है.

उसके लौड़े के ऊपर बैठने की वजह से पूरा लंड मेरी चूत की गहराई में बच्चेदानी तक घुस गया. वॉयलेट- अरे रुक जा … हमारे पास काफी टाइम है … चल बैडरूम में चलते हैं. मैंने ओके कहा और उससे चिपक गया मेरे लंड ने अंगड़ाई लेना शुरू कर दिया था.

अब जब भी चाची कहीं बाहर जाते … तो हम चाची भतीजा बहुत चुदाई करते हैं. अब आते हैं चाची जी के मुद्दे पर …जब धीरे धीरे मेरा चाची को भी देखने का नजरिया बदलने लगा था, तो मुझे बस ये हो गया था कि किसी भी तरह चुत और गांड मारनी है.

कभी बेबी रानी लौड़े की चुम्मी ले लेती तो कभी मैं उसकी झांटें चूस लेता.

जब बात टयूशन की चली, तो मेरी मम्मी ने कहा कि तेरी चाची ने हिस्ट्री से एम.

आप लोगों ने जैसा कि मेरी पिछली कहानीतीन मर्द और मां की चुदाईमें पढ़ा था कि मेरे बेटे विराट ने तीन मर्दों को बुला कर मुझे उनसे चुदवाया था, उन तीनों ने कामोत्तेजक दवा खिला कर मेरे साथ रासलीला की थी. मैंने दीदी को उठा लिया और अपने शरीर से चिपका कर नीचे से उनकी चुत में लंड डाल दिया. यहां यह बताना जरूरी होगा कि हमारे साथ हमारी बीवियां निहायत उत्तेजक लग रही थीं.

अब मेरे हाथों को बुआ की जांघों के बीच में चूत की गर्मी भी महसूस हो रही थी. उसको इस बारे में भनक तक नहीं लगेगी कि आपके और हमारे बीच में कुछ हुआ भी था या नहीं. मैं चित लेट गया, मोसी मेरे पेट को चूमते हुए मेरी नाभि को चाटने लगीं.

मैंने अपना चेहरा ऊपर करके जेठजी को देखना चाहा कि उससे पहले उनका लंड मेरी आंखों के सामने आ गया, जो अभी भी जेठजी के शॉर्ट्स में झूल रहा था.

मुश्ताक ने लाईट बिल्कुल बंद कर दी अब केवल चांदनी रात की चांदनी थी … माहौल बेहद सेक्सी हो गया था. वो पूछने लगी- ऐसा क्या बोल दिया था मैंने?मैंने कहा- रहने दो, मैं नहीं बताना चाह रहा. उसने अब आराम से मेरे लंड को गांड में समा लिया और अब बारी चुदाई की थी.

कुछ देर यूं ही मम्मे मसलने और उसे किस करने के बाद वो मेरी तरफ घूम गई. मैं अगली सेक्स स्टोरी भी बहुत जल्द भेजूंगा, जिसमें मेम की एक सहेली को मैं अपने लंड के लिए कैसे तैयार किया और उनकी चूत की चुदाई की. हां ये बात भी सच है कि मेरे पापा ने एक दो बार मेरी मां को किसी और के साथ रंगे हाथ पकड़ा था.

उनका लंड नीचे से कमाल दिखा रहा था और वो ऊपर अपने हाथ और मुँह से मुझे मजा दे रहे थे.

मेरी और मनु की हालत खराब थी, हालांकि हमारी चूत भी कुलबुलाने लगी थी. मैं भाभी को चूमने के लिए आगे बढ़ता इससे पहले ही वो अलग हो गयी और बाथरूम में चली गयी.

भाभी का सेक्स बीएफ वो जोर से मेरी चूत में उंगलियों को डाल कर सट सट करके अंदर करने लगे. करीब 20 मिनट के बाद हम दोनों ने पानी छोड़ दिया और हम दोनों ने एक दूसरे के लंड चुत को अच्छे चाट चाट कर साफ कर दिया.

भाभी का सेक्स बीएफ महिलाओं को नया लंड का स्वाद मिल जाता है, तो मुझे कुछ पैसे मिल जाते हैं. मैं सोच रहा था कि शायद कोई लड़का होगा क्योंकि आजकल हर जगह पर लड़के ही मिलते हैं.

मुझे नहीं पता था फोन पर बात करके भी झड़ने में भी इतना ज्यादा मजा आ सकता है.

सेक्सी वीडियो 40 वर्ष

वो बिना लंड निकाले बैठ गया और संजू की एक टांग को अपने कंधे पर रख कर उसकी दोनों टांगों के बीच में बैठ कर मेरी बीवी की चुत चोदने लगा. मैंने मॉम से कहा- मुझे आगे के काम के लिए दो दिन बाद विदेश जाना पड़ेगा, तो मैं आज आपको पापा के पास घर में छोड़ देता हूं … फिर वहीं से निकल जाऊँगा. कुछ देर बाद मैं उनकी गांड पर हाथ फेरने लगा तो परी मैम ने अपनी पेंटी भी निकालने का कह दिया.

मुझे पूरा यकीन है आप लोगों का हाथ अपने आप अपने लंड पर चला गया होगा. मैंने भी चूत खोल दी और चूत पर थपकी देते हुए बोली- आ जाओ मेरे शेरों … आज मेरी फुद्दी को तसल्ली करवा दो. अब मेरा मन भी करने लगा था कि उनके लंड को पकड़ लूं लेकिन दुल्हन वाली शर्म अभी भी रोक रही थी.

सुबह एक एक करके सब लोग अकेले अकेले सुईट के लॉन में मिलेंगे … न कोई किसी से पूछेगा कि उसके साथ रात को कौन था … और न ही कोई अपने लाइफ पार्टनर से कभी पूछेगा ताकि जो पर्दा है वो बना रहे … और अगर सब कुछ अच्छा होता है तो कल रात कि प्लानिंग कल लंच में तय करेंगे.

मैंने उससे कंडोम का पैकेट ले लिया, तो सबा मेरी तरफ देखने लगी लेकिन कुछ बोली नहीं. इस पर शबनम बोली- उसे तो सीमा दिलवा देंगे क्योंकि सीमा का सेक्स ज्ञान कुछ ज्यादा ही है. मैंने कैमरे को उनकी चूचियों की क्लीवेज में सैट किया और दनादन कई शॉट्स ले लिए.

उसके बाद पापा ने मुझे उल्टा कर दिया, मुझे घोड़ी की पोज में कर दिया. मेरी पिछली कहानी थीमैं कैसे बन गई चुदक्कड़और अगर आप लोगों का कोई सुझाव है तो उसको भी आप जरूर बताएं ताकि आप लोगों के लिए मैं अपनी कहानी को और बेहतर तरह से पेश कर सकूं।तो बढ़ते है मेरी नयी सेक्स कहानी की तरफ:गर्मियों का मौसम चालू हो गया था और मेरे मामा की बेटी सोनम, जो रिश्ते में मेरी बहन लगती है, हमारे यहाँ छुट्टियों में आ गई. मैंने उनसे पूछा- मज़ा आया?उन्होंने भी हंसते हुए हां में गर्दन हिलाई.

जल्दी से उसने अपनी ब्रा को अपने जिस्म से अलग किया और अपने थन को उसने आजाद कर दिया और मेरे निप्पल को अपने निप्पल से चूमाचाटी करवाने लगी। फिर अपनी दोनों चूचियों को हाथ से पकड़कर मेरी छाती पर खासतौर से निप्पल पर रगड़ने लगी और फिर बारी-बारी से अपनी चूची मेरे मुंह में भर देती और मैं उसे चूसता।कहानी जारी रहेगी. वैसे तू कब से कर रहा है ये काम?मैं कुछ न बोला, उन्होंने फिर जोर से बोला- मैं कुछ पूछ रही हूं तुमसे?मैंने कहा- जब से कॉलेज शुरू हुआ है.

रोहन- उसे तो मैंने पहले ही आजाद कर रखा है और यह सिर्फ आजाद ही नहीं … बल्कि एक्साइटमेंट में झटके मार रहा है. मेरा हाथ लगते ही मानो वो और कड़क हो गया हो।वो बोला- अपने मुँह में लो ना!मैं बोली- छी मैं नहीं लेती हूं।उसे क्या पता कि यह लंड चूसना तो मेरा शौक बन चुका है।लेकिन इस वक़्त लन्ड की जरूरत मुँह से ज्यादा चूत को थी।फिर उसने अपनी जेब से लिप गार्ड निकाला और अपने लन्ड पर ढेर सारा लगा लिया. उषा सारा वीर्य साफ कर के कपड़े धोने चली गई और मैं दरवाजा बंद कर के सो गया.

नमस्ते दोस्तो, मैं आपका दोस्त आज फिर आपके लिए एक न्यू सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ, जो कि मेरी और मेरी सगी छोटी मासी के बीच की है.

चूंकि रात में मैंने पापा के लंड चूत चुदाई करवाई थी तो लंड आसानी से अंदर चला गया. भाभी ने ही मेरा लंड पकड़ कर उसकी बुर पर रखा और उसके सर पर हाथ फेरते हुए कहा कि मोना थोड़ा सा दर्द होगा, बर्दाश्त कर लेना … इसके बाद मजे ही मजे आने हैं. वो मेरी तरफ देखने लगी और बोली- चलो कमरे में चल कर देखते हैं कि नतीजा क्या रहता है.

उसकी एक बात बहुत ही अच्छी थी कि वो और मेरे पति आपस में बहुत ही अच्छे दोस्त थे, तो मयूर कभी भी हमारे घर आ जा सकता था. रोहन- और मेरी टांगों के बीच में यह 8 इंच का सिपाही, जो परेड कर रहा है … इसका क्या करूं?सोनिया- हाय उसे आजाद क्यों नहीं कर देते … हटाओ ना यह स्टुपिड अंडरवियर और उस सिपाही को आजाद कर दो.

फिर कुछ देर बाद टिश्यू लेकर मैंने खुद ने अपनी चूतसाफ की और मैं कपड़े पहनने लगी. कुछ समय बाद, छन छन आवाज़ आई, उसने दरवाज़े के अंदर सिर्फ अपना हाथ किया और चुड़ी खनका कर उंगली से मुझे आने का इशारा किया. उसने मेरे चेहरे को पकड़ लिया और मेरे चेहरे को अपनी तरफ घुमा कर मेरे गालों को चूमने लगा.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी गुजराती 28

अब आंटी बोलने लगीं- और मत तड़पा यार …मैंने अपनी जीभ आंटी की चुत में डाल दी और ऊपर नीचे करने लगा.

मैंने अपनी लाइफ अपने लिए जीना शुरू कर दिया। अब आप मुझे जानते ही है कि मैं अपने फायदे के लिए क्या क्या कर सकती हूं।यह थी मेरी बुर की चूत बनाने की कहानी. ” ज्योति की साँसें अपने पिता के लंड को देखते ही ज़ोर से चलने लगी और उसने अपनी नज़रों को वहां से हटाये बिना कहा।तुम कुछ मत करो, मगर एक बार इसे अपने हाथों में तो लेकर देखो. और फिर रात को समीर ने भी सब पूछा और देखा कि मेरे बूब्स पर काटने के निशान पड़ गए हैं.

जब वो मेरे होंठों को खुला छोड़ता था तो मेरी सांसें चलती थीं वरना मैं फिर से उसकी बांहों में तड़पने लगती थी. साथ ही मैं होली वाली भी कहानी जल्द ही लाऊंगा … तो मिलते हैं इस कहानी के अगले भाग में. ओल्ड मैन एंड गर्ल सेक्समगर मैं अपने हरियाणा के मित्रों से अनुरोध करता हूं कि मेरी महिला मित्रों के बारे में जानकारी न मांगें.

आपको मेरी उस ट्रेन में मेरी पंजाबी फुद्दी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर करें. मेरे पति के बॉस मेरे जिस्म की आग को ठंडी करने वाले थे लेकिन उससे पहले वो उस आग को और भड़का रहे थे मुझे चूम चाट कर … मैं भी चुदाई को आतुर थी.

क्या बताऊं दोस्तों कमरे की उस हल्की रोशनी में उसका दूध जैसा सफेद बदन, लाल कलर की ब्रा और पेन्टी में क्या गज़ब ढा रहा था. रात के 11 बजे से लेकर सुबह के 5 बजे तक मैंने बुआ की चूत की चुदाई खूब जमकर की. वो बोल रहा था- अब तो छोड़ दो भाई … कब तक मेरी गांड चुदाई करोगे?मैंने बोला- साले तूने ही तो कहा था न कि लौड़े की गर्मी को शांत कर लो … अब लंड शांत तो हो जाने दे भोसड़ी के.

कॉल कट दो गई और वो दीदी से बोली- वो दरवाजे पर हैं, मैं उन्हें अन्दर लेकर आती हूं. कुछ समय बाद, छन छन आवाज़ आई, उसने दरवाज़े के अंदर सिर्फ अपना हाथ किया और चुड़ी खनका कर उंगली से मुझे आने का इशारा किया. तब शायद मैंने उन पर इतना ध्यान नहीं दिया लेकिन जब मेरे हस्बैंड ने कहा कि ऑफिस में भी अक्सर मेरे बारे में पूछते रहते हैं तब मैंने उन पर ध्यान देना शुरू किया.

लेकिन अमित का डर अब न पूजा को था, न मुझे!मैंने उसके गालों पर, गले पर किस करना चालू कर दिया.

कोई 5 मिनट चूसने के बाद वो फिर से झड़ गई और सारा पानी मेरे चहरे पर आ गया. मैं सोचने लगा कि साला लंड बड़ा हरामी है, सोते में भी पिटवाने की कोशिश कर रहा है.

बहुत प्यासी हूं मैं मेरे राजा।अभय ने अपने लन्ड का गर्म गर्म लावा एकदम से तेजी के साथ मेरी चूत में उड़ेल कर भरना शुरू कर दिया. वो एकदम से लंड चूसने के लिए राजी हो गईं और मेरे लंड का स्वाद लेने लगीं. मैं कभी कभी बाजार भी उसके साथ ही चली जाती या घर का कोई काम होता, तो भी उसे बुला लेती थी.

लगभग डेढ़ दो घंटे बाद श्वेता दीदी मेरे कमरे के पास आकर मुझे आवाज देने लगी, पर मैं कुछ नहीं बोला. प्रिन्स नीता की चूत के अंदर उंगली डालने लगा और अंदर बाहर करने लगा और बोला- भाभीजी, अब मुझसे रहा नहीं जाता. वो बोले- जैस्मिन कल रात को मैंने नशे में तुम्हारे साथ पता नहीं क्या- क्या किया.

भाभी का सेक्स बीएफ जॉली के लंड आगे की चमड़ी नहीं थी … जिस कारण उसका मोटा टोपा रिया के होंठों के चंद इंच दूरी पर था. यहां मेरा एक सोच है कि जो भी लड़की सुंदर होती है, वो ज़्यादातर पढ़ाई में कमजोर होती है … ये अधिकतर की बात है, अपवाद सभी जगह होते हैं.

कोलकाता सोनागाछी देह व्यापार

‘सुहास … आह आह … साले एक बार में ही कितना अन्दर तक पेल देते हो … आह सुहास आह बेबी … चोदो मुझे. मेरी चूत से रस के छींटे यहां वहां मेरी जांघों पर और तख्त पर गिरने लगे. मैं- पकड़ा गया था … मतलब?वॉयलेट- वो कोई दूसरी लड़की के साथ उसके बैडरूम में पकड़ा गया.

अब आप सोच रहे होंगे कि इतने साधारण से लड़के से मैं क्यों आकर्षित हुई. कुछ ही देर में मेरी चूत से पानी निकलने लगा था … जिससे अन्दर चिकनाहट बढ़ गई थी. बिल्ली के गेमदोस्तो, इस सेक्स कहानी को लेकर आपको मुझसे क्या कहना है, प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं.

मैं अपने ही शरीर को सहलाने लगी और आंखें कब बंद हो गईं … उंगलियां कब चूत में घुस गईं, कुछ पता ही नहीं चला.

फिर कुछ देर बाद टिश्यू लेकर मैंने खुद ने अपनी चूतसाफ की और मैं कपड़े पहनने लगी. फिर भी मैंने कभी मेरे इस ख्याल को कभी रिया या किसी और के सामने उजागर नहीं किया था.

इस बात पर कोमल ने पास आते ही कहा- ये मेरे पहचान के हैं, इनका जो भी इंट्रो लेना हो, वो सब मुझसे ले लेना. अगर तुमने मुझको बिना बताए सेक्स कर ही लिया है तो फिर चाहे वो 4 मर्द हों या 400 तुम्हें कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए. राहुल रीमा के मम्मों को जानवरों की तरह मसल रहा था और चूस रहा था, जिससे रीमा पूरी तरह पागल होकर अपनी चूत में उसका लंड ले रही थी.

चाची ने 2-3 मिनट मेरा लंड चूसा, तो मैं झड़ गया और चाची मेरा सारा पानी पी गईं.

ये बात तब की है जब मैं 2014 में अपना एमबीए कम्पलीट करके जॉब की ज्वाइनिंग के लिए ट्रेन से बंगलोर जा रहा था. मुझे ऐसा लगता था कि वो उस दिन मुझसे चुदने के लिए ही मुझे रोक रहीं थीं. शरीर का तापमान बढ़ने लगा और ज्वालामुखी विस्फोट के साथ ही मन को थोड़ी राहत महसूस होने लगी.

सेक्स जोकअब आगे:साकेत भैया- नहीं बोलोगी … ठीक है अगर तुम्हें कोई दिक्कत है, तो मैं जा रहा हूं. मैं उठा और उसको सोफे पर पटक कर उसकी चिकनी चूत पर लंड को रगड़ने लगा.

जवायचे बिप्या

उसकी गांड में जलन सी हो रही थी लेकिन उसके अंदर एक अलग ही तरह का उन्माद भी भरा हुआ था. इस कहानी के बारे में मुझे मेल जरूर करना मैं आप लोगों से पूछना चाहती हूं कि घर में ही भाई के साथ सेक्स करना कितना सही है. वो बोले- तो फिर ठीक है, चुदाई के लिए अपने भाई को तू ही राजी कर लेना.

उधर की वो कलर फुल लाइट्स और उसके विदेशी दोस्तों के सामने मैं कुछ नहीं था. चाची ने 2-3 मिनट मेरा लंड चूसा, तो मैं झड़ गया और चाची मेरा सारा पानी पी गईं. मैं कुछ देर ऐसे ही लेटी रही, फिर अपने आप को रुमाल से साफ किया और फिर कपड़े ठीक करके उसके पास गयी.

हम दोनों चुदाई का प्रोग्राम बना कर घर आए तो घर पर अनिता भाभी के पति आ गये थे. कुछ देर किस करने के बाद बाथरूम का नल बंद होने की आवाज आई और दरवाजा खुलने को हुआ. इस तरह से उन्होंने अपने लंड को पकड़ कर मेरी चूत के फांकों में एक दो बार ऊपर नीचे घुमा कर चूत में घुसा दिया और मुझे चोदने लगे.

मैंने जबरदस्ती उसे अपने से दूर किया और बोली- ये क्या बतमीजी है? आप होश में तो हैं?फिर वो बोला- नहीं … तुम्हें देखकर मदहोश हो गया था।मैं बोली- आप पागल तो नहीं हो गए हो?तो वो बोला- हाँ, मैं तुम्हें देखकर पागल हो गया हूं मधु!मैं एकदम से चौंक गयी कि ये मेरा नाम कैसे जानता है।फिर मैं बोली- आप मेरा नाम कैसे जानते हो?तब वो बोला- मुझे तो यह भी पता है कि तुम्हारे बी. उसकी इस बात को सुनते ही मुझे कुछ देर पहले के उनके इशारों का अर्थ समझ आने लगा.

मौसी गनगना उठीं और मेरे बालों को पकड़ कर मेरे सर को अपनी चूत में ज़ोर ज़ोर से अन्दर बाहर करने लगीं.

हराम की ज़नी रांड बड़े मज़े से मेरे लण्ड से प्यार भरी अठखेलियां कर रही थी … बहन चोद चुदक्कड़ !!! उसके नाज़ुक हाथों के खिलवाड़ से लौड़ा दुबारा अकड़ गया था. स्त्री का दूध पीनाइससे पहले मैं उसको बाहर निकालने के लिए हाथ बढ़ाती, मैं बेड पर पटकी जा चुकी थी. కాలేజ్ స్టూడెంట్స్ సెక్స్ వీడియోస్अगले ही पल उसने मेरी ब्रा को भी निकाल दिया और मेरी चूची को चूसने लगा. मैं सिकाई कर ही रही थी कि अचानक से मेन डोर की बेल बजी और मैं जल्दी से अपनी लोअर को ऊपर करके दरवाजा खोलने के लिए चली.

मैंने सबसे नजर बचा कर केला कमरे में छुपा लिया और अब मैं सबके सोने का इंतजार करने लगी.

वो तो भला हो टीवी का … जिसकी आवाज़ से यहाँ से आने वाली पच पच की आवाज़ दब गयी थी।अब मैंने पूरे जोश में अपने लंड से चूत रगड़ना चालू कर दिया और उसी जोश में उनके पेट पर रखा हाथ सीधे उनके बूब्स पर रख कर दबा दिया. इतना बोल कर अभय ने मेरे होंठों को कस कर अपने होंठों से दबा लिया पीछे से विवेक ने पूरी ताकत लगा कर मेरी गांड में लंड को घुसा दिया. ज्योति ने जीभ निकाल कर उसको को चाटा और फिर पूरा मुँह खोल कर उस मोटे मूसल को मुंह में लेने की कोशिश करने लगी.

प्रीति का फिगर बहुत मस्त है 34-32-34 का … कभी कभी मैं उसे देखता ही रह जाता था और वो अपने घर में चली जाती. ”मैं तो पहले ही मरी जा रही थी लंड चूसने के लिए … मैं बस नाटक कर रही थी. मैं उसको किस करने सामने आ गया और उसके होंठों के करीब अपने होंठों को कर दिया.

जापानी सेक्सी हॉट

कान में बहुत आकर्षक लटकन, हाथों में ब्रांडेड लेडीज घड़ी, सुंदर सी सैंडल. मैं- ठीक है भैया …ये कह कर मैंने भाबी के पैरों को फैलाया और उनकी बुर की फांकों में अपना मुँह लगा कर लपर-लपर चाटने लगा. उस नौजवान लड़के की उम्र उम्र 23-24 के करीब थी और उसकी शादी नहीं हुई थी.

कुछ देर के बाद मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने अपनी गति धीमी कर दी.

उधर मेरी माँ ने एक मिनट से कम समय में अपनी साड़ी ब्लाउज पेटीकोट सब उतार दिए थे.

अभी तक की इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि हम दोनों एक पार्क में सुनसान जगह पर बैठ कर एक दूसरे के होंठों का रसपान कर रहे थे. जितना मजा दीपा को दबवाने में आ रहा था, शायद उससे ज्यादा मजा दीपक को दबाने में आ रहा था. श्रुति हासन के सेक्सी व्हिडीओभाभी को उस लड़के की बातें बहुत पसंद थीं जो भाभी के दिल को छू जाती थीं.

आज एक राउंड हो जाए?मैंने सोचा कि पहले एक बार राज से बात कर लेता हूं कि कहां है. कुछ देर चुचे पीकर मैंने चाची को बेड पर लेटा दिया और पैंटी के ऊपर से ही चूत को चाटना शुरू कर दिया. वहाँ की खिड़की में ऑटो ग्लास था जिस से ड्राइंगरूम का सब कुछ दिखता था और ड्राइंग रूम से स्टडी रूम में कुछ भी नहीं दिखता था.

उनके दोस्त ने मेरा पल्लू गिरा कर ब्लाउज का हुक खोल दिया और ब्रा के ऊपर से दूध को चूमने लगा. मैंने अन्दर देखा कि बाथरूम में बाथटब था, मैंने सोचा उसी में इसके साथ कुछ किया जाए.

अब वो धीरे धीरे अपनी गांड को आगे पीछे करके मेरे लंड को अपनी चुत में चलाने लगी थी.

वो बोला- इतनी जल्दी क्या है … मुझे इनका साइज तो नाप लेने दो … ताकि अगली बार मेरा गिफ्ट ज्यादा टाइट न हो. एक दिन हम दोनों बात कर रहे थे, तो मैंने उससे पूछा- शान एक बात बताओ तुम्हें सबसे ज्यादा किस में दिलचस्पी है? लड़की में या औरत में?उसका झट से जवाब आया- औरत में. शादी वाले माहौल में घर महमानों से भरा रहता है … इसका मामी जी को ख्याल रहेगा.

दहावीच्या पूरा लंड जाते ही वो रुक गया और मेरी चूचियों को मसलते हुए मेरे होंठ चूसने लगा. क्या मैं आपके यहाँ नहा सकती हूँ? मुझे अपनी सहेली के यहाँ पार्टी में जाना है।मैंने कहा- हाँ नहा लो।पूजा अन्दर आई और मैंने दरवाजा बन्द किया.

मनोज ने धीरे से उसके कान पर से बाल हटाये और कान को जीभ से चाटा और दांत से दबाने की कोशिश की. मैं अपने पति के बॉस के सामने घोड़ी बन गई और फिर उन्होंने कंडोम से लगा लंड मेरी चूत में डाल दिया. फिर मैंने निधि की टांगें ऊपर उठा कर फोल्ड की, टांगें पकड़ कर मैंने धीरे धीरे चुदायी शुरू की.

एक्स एक्स एक्स हिंदी देसी सेक्सी वीडियो

इसका मतलब ये था कि सभी छात्र छात्राओं के लिए स्कूल के लिए एक अवसर उपलब्ध हुआ था. परी मैम की चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ क्योंकि उनके पति का लंड सिर्फ 5 इंच का था. मैंने जबरदस्ती उसकी पैंटी पर हाथ टिका दिया जो पूरी तरह से गीली हो चुकी थी.

इसके बाद भैया ने हम दोनों के ऊपर अपने मूत की बारिश कर दी और हम दोनों को अपने गर्म गर्म मूत से नहला दिया. उसकी लाल ब्रा को खींच कर पकड़ते हुए बोला- आज मैं तेरी प्यास अच्छी तरह बुझा दूंगा मेरी रानी.

चार साल इंजीनियरिंग लाइफ की तमाम कहानियां आप सबसे शेयर करने का मन कर रहा है.

वो अपनी आंखें बंद करके अपने लंड से निकलते गाढ़े सफ़ेद रस को रिया के गले में झड़ाने लगा. जब मैं थोड़ा सामान्य हुआ, तो मैंने गांड हिलाते हुए उससे बोला- हां अब डालो. संजू उठी, तो उसकी चूत से एक काफी गाढ़ा सा सफेद वीर्य, थक्का की शक्ल में बेड पर गिर गया.

कुछ दस मिनट बाद मेम एक पारदर्शी बेबी डॉल नाइटी पहन कर आईं और मेरे बाजू में बैठ गईं. चाची की चूत पानी छोड़ रही थी, जिससे उनकी पेंटी पूरी गीली हो चुकी थी. तो फिर मैंने नीता को बुलाया और हम दोनों भी प्रिन्स के साथ बेड में लेट गये.

उसने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर चुत के मुँह पर सैट किया और धक्का लगाने को बोला.

भाभी का सेक्स बीएफ: उन रसीले होंठों का स्वाद, उफ़…कुछ देर में उसने मुझे दूर धकेला और मेरी कमर में हाथ डाल कर मुझे ड्राइंग रूम में ले गयी. अब सुनील भी बेड पर आ गया और सीधा अपने होंठ दीपा के होंठ से मिला दिये.

शान ने हाथ बढ़ा कर माँ की ब्रा को खींचते हुए फाड़ दिया और उनको अपनी तरफ खींच लिया. उम्मम्म स्स्स्सह … मेरा होने वाला है … उम्मम्म …”उम्मम्मम ससश्हह …”मुझे एक बार परम आनन्द मिल चुका था. उसकी मौसी यानि कि अनिता जिसने अमृता से मुझे मिलवाया था, उसके पेट में मेरे बच्चे ने दुलत्तियां मारनी शुरू कर दी थीं और उसको पेट में तकलीफ रहने लगी थी.

चूचियों के नीचे 28 इंच की लचकदार कमर और 36 के भारी चूतड़ मेरे कब्जे में आ गए थे.

उन्होंने उसी समय मेरी माँ को कॉल किया और बाद में मुझसे कहा- मुझे चेंज करना है. दोस्तो, आपकी मुस्कान पेश है अपनी चुदाई कहानीसफर में मिला नया लंड-1का अगला भाग लेकर। उम्मीद करती हूँ कि आपको कहानी पसंद आ रही होगी।इस कहानी में मैंने कोई छेड़छाड़ नहीं की है; कहानी बिल्कुल सत्य घटना पर ही है।मैंने और हेमन्त ने होटल में एक रूम ले लिया और रूम में चले गये।मैंने अपने बैग से अपना एक गाउन लिया और बाथरूम चली गयी. भले ही मेरी चूत में दर्द था मगर पापा जिस तरह से मेरे बदन के साथ खेल रहे थे मुझे बहुत मजा आ रहा था.