कोई नई बीएफ

छवि स्रोत,हॉट गर्ल बीएफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

करिश्मा का नंगा फोटो: कोई नई बीएफ, इतनी देर में मैंने महसूस किया कि मेरे बेटे के क्लास टीचर ने अपनी बांह मेरे बदन से सटाना चालू कर दी थी.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी हिंदी बीएफ

दिनेश अंकल ने बोला- हां भाई, आज तो इसकी गांड और चुत की सेवा एक साथ होगी. बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी चुदाईप्रिन्सिपल ने उससे मेरी पहचान कराई और मैंने उनको भी सब बातें बता दीं.

मैंने अब बिना टाइम ख़राब करे, अपना लौड़े पर थूक लगाया और उसकी गांड में घुसा दिया. हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर भेजोमैंने उससे काफी सहज भाव से बात की थी तो वो मेरे व्यवहार से काफी खुश थी और मुझसे काफी सहज होकर बात करने लगी थी.

वो चिहुँकी; मैंने धीरे धीरे धक्का मारते हुए पूरा लण्ड अंदर डाल दिया और 30 मिनट तक उसे लगातार चोदते हुए उसके चूत में ही झड़ गया.कोई नई बीएफ: चूंकि वो अंकल मेरी मॉम के ऊपर नंगे लेटे हुए थे तो मैं मॉम की चूत नहीं देख पा रहा था.

उसने आते ही पूछा- क्या बात करनी है?मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी ओर खींचा और अपनी बांहों में ले लिया और उसके होंटों को चूसने लगा.चूँकि मेरे मां बाप दिन भर बाहर रहते थे तो मैं उन्हीं के पास रहता था.

हिंदी सेक्सी सेक्सी बीएफ वीडियो - कोई नई बीएफ

और तभी मेरे लौड़े ने वीर्य की धार राखी की चूत में छोड़ दी।दोनों चिपक कर लेट गए और पता नहीं चला कब नींद आ गई।सुबह गेट बजने की आवाज आई तो दोनों नंगे पड़े थे.वो भाभी बोली- मेरे घर चलो, यहीं पर है मेरा घर!मैं उनके घर पर गया, तब पता चला कि उनका एक पांच साल का छोटा बच्चा भी है.

उसने लंड चूसने से एक बार भी मना नहीं किया, लौड़े की चमड़ी को पीछे करके सुपारा बाहर निकला और एक बार जीभ फेर कर लंड का स्वाद लिया और अगले ही पल लंड मुँह में लेकर मजे से चूसने लगी. कोई नई बीएफ अम्मी ने कहा- मजाक नहीं … लगता है उसे तुम्हारा पिछवाड़ा पसंद आ गया है.

मैं अपना सामान उठा रहा था और तभी उस लड़की ने एक कागज की पर्ची पर अपना नम्बर लिख कर मुझे दे दिया.

कोई नई बीएफ?

हम दोनों ने चुदाई का मजा कैसे लिया?कैसे हो दोस्तो! मेरा नाम संजय है और मैं बलरामपुर (यू. उसके लंड की फोटो देखकर मेरी प्यास बढ़ने लगी थी लेकिन उससे मिलने का टाइम नहीं लग रहा था. मामी के मखमली बदन पर चलते हुए मेरे हाथ उनके मस्त बदन का माप लेने लगे.

कुछ देर बाद उसकी चीखें आना बंद हो गईं और वो अब लंड के मजे लेने लगी थी. उसके मम्मों का रसपान करने के बाद मैं किस करते हुए उसकी नाभि तक आ गया. अब मैंने लंड को एक झटके से घुसा दिया और तेज़ तेज़ झटके मारने लगा।उसकी आवाज सिसकारियों में बदल गई और वो अपनी क़मर चलाने लगी.

वो मेरी नंगी पीठ पर अपना हाथ फेरता जा रहा था और मेरी भी उत्तेजना का लेबल बढ़ता ही जा रहा था. खुशबू हल्के स्वर में कहे जा रही थी- आह विक्की … तेरी नजरों ने मेरी चूचियों को क्या ताड़ा, साले चुत में आग लग गई. मेरे मुंह से गालियां निकलने लगीं- मादरचोद … आह्ह … कितनी सेक्सी है … आज तो तुझे जम कर चोदूँगा।वो आह … आह … ऊईई … आह्ह … करती रही।चूत लौड़े की आपस में छप-छप … छप-छप होने लगी।मैंने मेघा को नीचे उतारा.

क्योंकि अमित जी से मेरे संबंध अच्छे हो चुके थे तो मुझसे कोई दिक्कत नहीं थी. अब उसने अपनी एक टांग उठाई और मेरे कंधे पर रख कर अपनी चूत को चटवाने लगी.

उसके दोनों पैर मेरे छाती और कंधे से लगे हुए थे और मेरे हाथ उसके चुचे सहला रहे थे.

उसे स्वाद ठीक लगा, तो उसने पूरी उंगली मुँह में ले ली और अपने चेहरे पर लगा सारा रस चाट लिया.

मैंने भी उनकी टांगों को अपने शोल्डर पर रख कर बुर में लंड का सुपारा सैट किया और एक जोर से धक्का दे मारा. अंकल के बड़े भाई यानि नीता के मम्मी पापा दोनों एक ही कंपनी में जॉब करते थे इसलिए दोनों साथ में इंडिया से बाहर रहा करते थे. जिस दिन मेरी ये इच्छा पूरी हो जायेगी उस दिन मैं उन दोनों बहनों की चुदाई की कहानी जरूर लिखूंगा.

यह बात तब की है, जब 2 साल ही पहले मेरे पति से मेरा तलाक़ हो गया था. सलवार पहन कर ब्रा का खयाल आया तो याद आया कि ब्रा तो इंस्पेक्टर ले गया है. तभी भाभी ने मुझे आवाज देते हुए कहा- तुम दो मिनट इधर आकर चाय देख लो … मैं वॉशरूम में होकर आती हूँ.

मैं उसे अपनी बांहों में खींचने ही वाला था कि किसी ने आने की आहट हो गई.

मैं कोई ज़्यादा खूबसूरत नहीं हूँ और ना ही कोई मेरा कसरती बदन है … बस जैसा एक औसत व्यक्ति होता है, वैसा ही हूँ. सेक्सी चुदाई हिंदी कहानी मेरे पड़ोस में किराये पर रहने वाली एक भाभी की है. बस दूसरी तरफ से रजाई थोड़ा सा ऊपर हुई।मैं अब थक गया था कि क्या करूं! फिर मैं लेट गया और उनकी तरफ देखने लगा।वो 28-30 साल की विवाहित महिला थी। उसके कान में कुण्डल थे।अब मेरी नींद की तो लंका लग चुकी थी तो मैं लगातार उसको देखे जा रहा था.

मैंने ना में सर हिलाया और उनकी दोनों चुचियों पकड़ कर उनके मंगलसूत्र के अन्दर डाल दिया. अर्धचेतना की हालत में भी चारू मुझे चूम रही थी और अपने मन से निकल रहे उन्माद को बयां करने की कोशिश कर रही थी- अन्नु … मेरी जान … तुमने आज मुझे शांति प्रदान की है. इतने हॉट और स्मार्ट हो तुम!और उसके शरीर पर हाथ फेरते हुए मम्मी बोली- इतनी अच्छी बॉडी है तुम्हारी!सागर- अरे अब क्या पता सब को!सुधा- अगर तुम मेरे उम्र के होते अभी तो मैं तुमसे दूसरी शादी कर लेती या अगर मैं तुम्हारी उम्र की होती तो पक्का तुम ही मेरे बॉयफ्रेंड होते.

मैंने उसे बधाई देते हुए कहा- वाह … बधाई हो! यह तो बड़ी खुशी की बात है.

फिर नक्की की हुई जगह पर पहुंच कर मैं प्रियंका भाभी का इंतजार करने लगा. मैं ही क्या, बहुत से लोग उन दोनों को चाहते होंगे, क्योंकि उनका फिगर था ही ऐसा.

कोई नई बीएफ वो गांड उठाते हुए बोली- चाचू, आज मेरी सील तोड़ कर मुझे अपनी रानी बना लो!मैंने फटाक से बिना देरी किये अपने लंड को धक्का मारा. अंकल- तुम्हारे पास कौन सी कार है?मैं- मेरे पास कार नहीं है … क्योंकि मुझे कार चलाना नहीं आती.

कोई नई बीएफ हम दोनों एक दूसरे से मानो चिपक गए थे जाने कब की प्यास बुझाने की कोशिश करने में लगे थे. तभी उसके पापा का फ़ोन आया- घर पर कब तक आ रही हो … इधर और भी काम हैं.

कुछ देर चोदने के बाद उसने मेरी गांड में अपने लंड से कई पिचकारी ठोकी और मेरी गांड को अपने लंड के माल से भर दिया.

फिल्में सेक्सी वीडियो

मैंने अपनी पूरी ताकत लगा दी और फट … फट … व पच … पच … की आवाज के साथ पूरी स्पीड में उसकी चूत को खोदने लगा. वो बोली- गांव आइयेगा तब पहचानियेगा न … शहर में रह कर आप लोगों को गाँव पसंद ही नहीं आती है. मैं उन्हें टैंक के किनारे ले आया और बड़ी बुआ को टैंक की दीवार पर बैठा कर उनकी चूत चाटने लगा.

मैंने भी धीरे से उठकर उसके लंड के पास अपना मुंह रखकर कहा- हाँ … लेकिन इतने मोटे और बड़े लंड से कभी नहीं।फिर मैंने अमित के लंड को मुख में भर लिया और चूसने लगी. मैं चाहता हूँ कि तुम्हारी बुर में वीर्य की जो पहली धार गिरे, वो मेरे लण्ड से निकले. दो मिनट बाद ही मेरी बहन का फोन आया, उसने बताया कि गैस मंगवाने की जरूरत नहीं है.

अपनी हसीन पत्नी के अलावा किसी दूसरी स्त्री के साथ ये मेरा पहला समागम था।क्या हसीन नज़ारा था।साक्षात रम्भा मेरी बाँहों में थी.

और फिर मैं उन अंकल की तरह से ही अपनी कमर और गांड को हिला हिला दीदी की चुदाई करने लगा. फिर उन्होंने मेरे सिर को पकड़ लिया और जोर से लंड को अंदर घुसाने लगे. रात भर वहीं रुककर अगले दिन सुबह ही नाश्ता करके मैं अपने शहर वापिस लौट आया।अपने घर आकर फिर वही हाल … पिछले तीन सप्ताह से मैं रोज बीवी के साथ बिस्तर में सोता था तो अब अगली 16-17 रातें अकेले काटनी कठिन काम लग रहा था।हमारे घर में सफाई करने, बरतन मांजने और कपड़े धोने के लिए एक कामवाली लगी हुई थी पिछले दो वर्ष से वही आती थी.

मैम ने अपने हाथ मेरी पीठ से नीचे लाते हुए मेरी टी-शर्ट उतार दी और कहने लगीं- चलो, बेडरूम में चलते हैं. इस पर मैं कुछ सोचने लगा, तो उमेश सर बोले- चिंता मत करो, मैं इन फोटो को किसी को भेजूंगा नहीं … ना ही तुमको कोई दिक्कत होगी. मैं कुछ देर उसेक ऊपर लेटा रहा और फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया.

इसके बाद करीब डेढ़ महीने बाद ही मेरी बीवी भी डिलीवरी के लिए अस्पताल गयी और हमें भी बहुत प्यारी पुत्री का वरदान मिला।लेकिन मेरी मम्मी सोच रही थी कि पण्डित जी की भविष्यवाणी गलत कैसे हो गयी. उस वक्त लॉकडाउन हो गया था और मैं अपने एक अंकल के घर पर रहने के लिए गया था।तो दोस्तो, मेरी इस कहानी में हुआ यूं था कि मैं किराए के एक रूम में अकेला रहता था.

मैं चारपाई को दोनों तरफ हाथों से पकड़ कर राबिया को लंड का मज़ा दे रहा था. उन्होंने बगल में रखा नारियल का तेल लिया और मेरे गांड के छेद और अपने उंगली में लगाया और दोनों उंगलियों को गांड में पेल दिया. जब मेरा वीर्य निकलने को हो गया तो मैंने पूछा- मेरा होने वाला है, कहां निकालूं, जल्दी बताओ?वो बोली- बाहर निकालना, अंदर नहीं.

माँ के स्तन पूर्वी से बड़े थे पर पूर्वी के स्तन थोड़े छोटे होने की वजह से पापा तो उनको निचोड़े जा रहे थे.

तभी मैंने उसके होटों को जोरदार चुसाई करते हुए मैंने एक और ज़ोरदार झटका मारा और पूरा लण्ड उसकी बुर में पेल दिया. नींद का बहाना बनाकर मैं उनकी तरफ देखती रही।मेरी ननद के होंठों को ननदोई जी चूस रहे थे. थोडे़ देर बाद वो आर पी एफ जवान हमारे कम्पार्टमेन्ट में आया और कम्पार्टमेन्ट का दरवाजा बंद कर दिया.

दोस्तो, ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, अगर कोई गलती हो गयी हो, तो माफ़ कर देना. बीच बीच में मैं उसको किस करता हुआ उसके मम्मों को दबाता रहा, जिससे वो फिर से गर्म हो गई.

अब मैंने माही के पैरों को अपने कंधों पर रखा और उसकी चुत पर अपना लंड रख कर जोर से धक्का दे दिया. ऐसे कहते हुए अमित जी मेरे कंधों पे पीछे से हाथ से सहलाने लगे।उनके स्पर्श से जैसे मेरे हाथों से पसीना आने लगा और गला भी सूखने लगा. फिर मैंने उसकी नाइटी को पूरा ऊपर उठाते हुए निकालकर साइड में रख दिया.

सेक्सी विडीयो ओपन

इधर मुझे पता चला कि ज़िन्दगी में पहली बार मुझे लड़कियों के साथ एक ही रूम में पढ़ना पड़ेगा.

फिर एक बार मैं ट्यूशन खत्म कर के हमारे घर की तरफ जा रहा था तो वो भाभी रास्ते में मुझे मिल गयी और मुझे देख कर स्माइल करने लगी. मैं- तो क्या हुआ, तू मेरे लिए इतना नहीं कर सकती … मैं तुझे खूब प्यार करूंगा. वे दीवानी होती भी क्यों नहीं … इतना मस्त लौड़ा जो गांड में हलचल मना कर बाहर आया था.

मेरी भाभी की सेक्सी कहानी के पहले भागपड़ोसन भाभी ने मेरे लौड़े में चूत का सुख ढूंढामें आपने देखा था कि ज्योति भाभी अपने पति की बेरुखी के चलते मेरे लंड पर डोरे डाल रही थी. मैं फिर उसे देख कर मुस्कुराया और उसने शरमाते हुए दूसरी तरफ मुँह कर लिया. जो सेक्सी बीएफजवान लड़की की चिकनी चूत और घुमावदार गोल गांड देखकर समझ नहीं आ रहा था कि चुदाई कहां से शुरू करूं।उसकी चूत उसके गालों की तरह फूली हुई थी।चूत का छेद ठीक से नजर भी नहीं आ रहा था.

मैं कभी कभी यीशा की गांड भी मारता था, तो मैंने उसे उल्टा किया और अपना लौड़ा बीवी की गांड में डाल दिया. कुछ देर तक ऐसे ही ऊपर से नीचे हिलाते हुए मेरे लंड की लम्बाई और मोटाई का नाप लेती रही।मैं भी उनके मम्में दबाये जा रहा था.

मेरी ननद की चुदाई हो रही थी और मुझे लग रहा था कि अभी मैं ननद को हटाकर मैं अपनी चूत चूत में लंड को लेकर चुदती रहूँ।वो उनकी चूत की चुदाई तीस मिनट तक करते रहे. इस घबराहट में उसे ये भी पता नहीं था कि वो भी पूरी नंगी है … और राजीव उसे घूर रहा है. मैं प्रिया भाभी को आई लव यू बोलना चाह रहा था … लेकिन मेरी गांड में उतना दम नहीं था.

इतना कहा और फिर काट दिया।मैं तो अंदर जाते ही स्तब्ध हो गया, मैंने देखा कि एक अप्सरा, हुस्न-ए-मल्लिका मेरी तरफ देख कर मुझे बुला रही है।मैंने एक पल में उसके पूरे शरीर को अपने मन में कॉपी कर लिया। उसने एक फ्लावर प्रिंट का गुलाबी रंग का गाउन और जेग्गिंन्स पहनी हुई थी. जब मामी की जीभ मेरे लंड के टोपे पर आकर प्यार से सहलाती थी तो मैं स्वर्ग में पहुंच जाता था।धीरे धीरे करके वो लंड को अंदर तक मुंह में भरने लगी. मैं कुछ चिल्लाती या कुछ बोलती, तब तक उन चाचा जी ने मेरे मुँह में मेरी पैंटी को डाल दिया.

मैं भी सुन रहा था कि क्या बात हो रही है।फोन बगल वाले घर से अभय का था.

फिर हम जल्दी से अलग हुए और हड़बड़ाहट में कपड़े पहन लिये।हमने गाड़ी को वहां से बाहर निकाला और फिर रोड पर आ गये. वो जैसे ही झड़ी तो उसकी गर्मी से मैं भी पिघल गया और उसकी चुत में ही झड़ गया.

दो-तीन मिनट में ही चूत से कामरस बहने लगा।मैंने उसको अपना लंड पकड़ाया और चूसने को बोला. फिर जब सत्यम ने हम दोनों को बारी बारी से चोदा, तो ममता और सुमेधा भी जाग गईं. तभी अचानक मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और चूसना चालू कर दिया.

दोस्तो, मेरा नाम विदित शर्मा है अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है। पिछले कई वर्षों से मैं अन्तर्वासना पर सेक्स कहानियां पढ़ रहा हूं लेकिन कभी कहानी लिखने का मौका नहीं मिला।आज मैं आपसे कुछ महीनों पहले अपने साथ हुई एक हसीन घटना शेयर करूँगा।पहले मैं आपको अपने बारे में बताता हूं. मुझे बड़ा मजा आ रहा था और मोनिका रजाई में मुँह छिपाकर आआआ… कर रही थी. पर एक बार चुदाई करने के बाद जब मैं उठकर जाने लगा था … तब मेरा हाथ पकड़ कर रोका था.

कोई नई बीएफ अब तक मैंने संजना आंटी के बारे में कुछ भी गलत नहीं सोचा था लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हो गया, जो हम दोनों करीब आ गए. लेकिन मुझे फर्क नही पड़ा और फिर अंकल ने पिंकी के दोनों पैरों को चौड़ा कर कर फैला दिया.

देखने वाला सेक्सी वीडियो

कुछ देर बाद मैं फिर से उठा और दुबारा से भाभी की चुत में लंड डालकर चुदाई शुरू कर दी. वो उसकी चूत पर हाथ ले गयी और पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगी. लगभग 15 मिनट तक एक ही स्टाइल में धकाधक धकाधक पेलने के बाद वो उठ गया और दीदी को कुतिया बनने को कहा.

फिर मैंने नरमायी से पेश आते हुए हौले से कहा- मैं … मैं तो मजाक कर रही थी, तुम अपना कार्यक्रम चालू कर सकते हो. अब एक तरफ मैं रिया के दूध मसल रहा था और दूसरी तरफ रिंकी को चोद रहा था. सेक्सी सेक्सी पंजाबी बीएफकुछ देर उसकी एक चूची को अपने मुँह में भर कर उसकी चुत में उंगली अन्दर बाहर की.

जब मैं प्रिया को पढ़ा रहा था, तब वो आईं और एक नॉटी स्माइल के साथ के साथ बोलीं- रोहित जी आपको प्यास लगी हो … तो कुछ लाऊं आपके लिए.

उससे मैं बोलने लगा- आज तो तुझको अपने भाईजान का कटा हुआ लौड़ा अपनी इस कटी हुई चुत में लेना ही होगा. मैंने भाभी की चूचियों को पीना शुरू कर दिया तो भाभी ने मुझे धक्का देकर पीछे हटा दिया.

मैंने किसी तरह अपने आप पर कंट्रोल किया और देखा कि मेरी मां ने पिता का लिंग अपने मुँह से चूमना और चूसना शुरू कर दिया. वो एकदम मस्त माल थी कि कोई भी देखे तो उसके नाम की मुठ मारे बिना नहीं रह पाए।मोबाइल नंबर लेने के बाद हमारी सामान्य बातें व्हाट्सएप्प पर होती रही. मैं उसके मचलते बोबों को मसल रहा था, साथ में धीरे धीरे उसकी पीठ से उसे ऊपर नीचे होने में मदद भी कर रहा था.

अंकल- तुम्हारे पास कौन सी कार है?मैं- मेरे पास कार नहीं है … क्योंकि मुझे कार चलाना नहीं आती.

अज़ीम मेरी खून से सनी गांड को पेल रहा था और समीर मेरे मुँह की चुदाई कर रहा था।अज़ीम की सांसें तेज़ हो गयी थीं और वो हाँफते हुए बोला- मेरा रस निकलने वाला है. मेरी भतीजी की कुंवारी चूत की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे ईमेल कर सकते हैं. मैंने भी बाबा की पीठ को सहलाना शुरू कर दिया और चुदाई में मदहोश हो गयी.

सेक्सी बीएफ सेक्सी शॉटउसने अपनी जीभ को मेरे लंड पर फेरना शुरू किया और फिर धीरे धीरे मेरा पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया. सुबह जल्दी उठ कर हम दोनों एक साथ नहाए … अच्छे से एक-दूसरे को साफ किया.

क्सक्सक्स फिल्म सिरीयस

आपको स्टूडेंट मॉम टीचर सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं. थोड़ी देर किस करने के बाद हमसे रहा नहीं गया और हम अपने कमरे के तरफ चल पड़े. अंदर घुसते ही उसने दरवाजा बंद किया और मुझे कपड़े उतारने के लिये बोला.

मैं उसके सिर को पकड़कर अच्छे से किस कर रही थी और वो अपने हाथों से मेरे जिस्म को सहलाए जा रहा था. हम सब काफी देर तक अपने बिस्तर पर बैठ कर बातें करते रहे। शादी में काफी महिलाएं भी आईं थी मगर मैं किसी को जानता ही नहीं था।मैं बस अपने मामा के बच्चों के साथ ही लगा रहता था लेकिन वो भी ज्यादा देर तक साथ नहीं रह पाते थे. दो मिनट के बाद ही वो बोली- बस करो … आह्ह … अब मुझे लंड दे दो, और नहीं बर्दाश्त कर पा रही हूं.

मैंने उससे ऐसे ही बातें चालू कर दीं और उससे पूछा- तुम्हारा बॉयफ्रेंड कौन है?उसने जवाब नहीं दिया … उलटे मुझसे ही पूछ लिया कि तुम्हारी गर्लफ्रेंड कौन है … पहले वो बताओ, फिर मैं बता दूंगी. मैंने फिर से चूमना शुरू कर दिया और एक हाथ भाभी की फुद्दी पर ले गया. पेपर के बाद हमने होटल छोड़ दिया और बस से वापस दिल्ली आ गए।उसके बाद से मुझे भी अपनी चुदाई में मजा आने लगा था, मुझे चुदाई की लत लग गयी थी.

तो मैंने कहा कि मेरी एक शर्त है कि मेरे सामने मेरे शौहर की मिट्टी पलीत करना होगा. इसका मतलब यह लेडी सेक्स के लिए मुझे जिगोलो समझकर आज रात के लिए यहां अपने घर पर लाई है.

पर राजीव उससे बोलने लगा- प्लीज़ यीशा, इतना कुछ हो गया है तो थोड़ा और हो जाने दो.

उसकी टीशर्ट उसके बूब्स की जगह से पूरी ऊपर उठी हुई थी और पेट के ऊपर टीशर्ट हवा में झूल रही थी।शिल्पी का चिकना और स्लिम पेट साफ साफ दिखाई दे रहा था। उसका पेट एकदम मलाई जैसा था और पेट के बीचोंबीच नाभि बहुत सेक्सी लग रही थी।मैं तो उसे आंखो से ही चोदने लगा था. सेक्सी वाली बीएफ पिक्चरउसकी चुदाई से दीदी को बहुत दर्द हो रहा था … क्यूंकी उसका लंड बहुत बड़ा था, लेकिन दीदी को मज़ा भी खूब आ रहा था. गांड मारने बीएफजब दोनों को कोई दिक्कत नहीं तो आपको क्या है?वो बोली- वो सब तो ठीक है मगर मेरी बेटी भी है. उनकी बातों से मेरा साहस बढ़ गया था और मैंने भी न जाने किस झौंक में भाभी से कह दिया कि आपके जैसी कोई मिले, तो मन लगे.

मैंने धीरे से मामी के कान में कहा- मामी, अब मेरी बारी है।वो मेरी बात को समझ गयी और झट से नीचे की ओर आकर मुझे नीचे लिटा लिया.

मैंने धीरे धीरे उसकी गर्दन को चूमना शुरू किया, जिसकी वजह से वो भी गर्म हो गयी और मेरी तरफ़ चेहरा करके मुझे पागलों की तरह से चूमने लगी. कुछ देर बाद मैडम की दर्द भी सिसकारियों में बदल चुकी थीं और अब वो भी दबी हुई आवाज़ में सिसकारियां ले रही थीं. फिर मैंने उसकी चूत को चोदने के लिए उसकी जांघों को फैला दिया और अपने लंड को उसकी चूत के मुंह पर रगड़ने लगा.

वह अभी भी साड़ी में थीं और उन्हें इस तरह अकेला देख कर मेरे मन में लड्डू फूट रहे थे. खाना खाने के बाद फिर से बची हुई चुदाई हमने पूरी की।उसको चोदते हुए मैंने अपने लंड की सारी मलाई उसकी गांड में उड़ेल दी. वो भी अपने दूध मेरे मुँह में ठेलते हुए सिस्याने लगी- आह पी लो … चूस लो … बहुत दिनों से तुम्हारे लिए तड़फ रही थी.

न्यूड pic

मैं दोपहर में लेटा हुआ था और मेरी भतीजी सोनिया बाहर हॉल में टीवी देख रही थी. कभी रानी की चूचियों को दबा रहा था तो कभी पिंकी की चूचियों को दबा रहा था. आंटी की बलखाती कमर, थिरकते हुए बड़े बड़े चूचे एकदम दूध से भरी हुई मटकी जैसे गोल गोल हैं.

वो मेरी गर्लफ्रेंड कैसे बनी और मेरी सुहागरात उसके साथ …फ्रेंड्स, कैसे है आप सब! मैं राज कुमार, जयपुर से आपके लिए हाजिर हूँ.

मैंने उसके मुँह से लंड निकालना चाहा, मगर उसने लंड बाहर निकालने ही नहीं दिया.

वैसे दोस्तो, मैं बता देता हूँ कि हमारी कपड़ों की बड़ी दुकान है तो उसमें मैं ऊपर वाले फ्लोर पर बैठता हूँ. एक रात मेरी बीवी ने चुदाई का प्रोग्राम बनाया लेकिन उस रात भी आपा हमारे बिस्तर पर सो गयी तो हमने सोफे पर चुदाई करने का तय किया. देसी चुदाई वीडियो सेक्सी बीएफकुछ देर बाद उन्होंने मेरी कमर को दोनों हाथों से पकड़ा और एक जोरदार शॉट मारा उनका लण्ड मेरे गांड को फाड़ते हुए आधा घुस गया.

फिर भाभी नाईटी पैंटी लेकर नंगी ही गांड हिलाते हुए अपने कमरे में चली गईं. हमारी थोड़ी देर बात हुई, फिर उसने बोला- अब आ जाओ, हम सब रेडी हो गए हैं. क्या मस्त माल लग रही थी वो … जब उसने गेट खोला तो वो उस समय शॉर्ट्स और टीशर्ट में थी.

तभी हमने सोचा कि क्यों न हम राजा रानी के कपड़ों को पहनकर उनके जैसा रह कर जिया जाए और सेक्स किया जाए. उसके मुँह से निकल रहा था- बस नहीं … जीजा नहीं करो … प्लीज़ जीजा जाओ.

एक दिन प्रिया भाभी प्रेग्नेंट हो गयी और फिर उसके बाद हम दोनों ने सेक्स करना बंद कर दिया.

मैंने भाभी को जोर से पीछे से दबा दिया, जिसकी वजह से भाभी के बड़े बड़े गोल मम्मे मेरी छाती के साथ दब गए. भाभी- पत्नी बना तो लिया है … और क्या पता तुम मेरे पति होते, तो तुम सो रहे होते और मैं तुम्हारे छोटे भाई के साथ लगी होती. मैं- कैसा डर भाभी!निशा भाभी- एक बार जब आर्मी क्वॉर्टर में रहते थे, तब एक बार ट्राइ किया था … तो एक्सिडेंट हो गया था.

बंगाली बीएफ वीडियो फुल एचडी उसने अपनी चूत में मेरा मुंह लगा दिया और मैं चूसने लगा।अब उसने मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. दस मिनट बाद बड़ी बुआ झड़ गईं, अब मैंने छोटी बुआ को ऊपर बिठाया और उनकी चूत चूसने लगा.

फिर मैंने चाची को कुतिया बना कर एकदम से उसकी चूत में लंड को पेल दिया. कहानी आज से काफी पुरानी है इसलिए जितना मुझे याद है उतना लिख रहा हूं. फिर अमित और मैंने उसके टेबल का सारा सामान ठीक से जमा दिया।अब अमित ने पापा का भी काम कर दिया और मेरे जाने का समय भी होने लगा.

वेस्टइंडीज सेक्स

शाम को 7 बजे मैंने सर के घर के पास पहुंच कर उनको कॉल किया, तो सर ने मुझे लोकेशन बता दी. अपनी हसीन पत्नी के अलावा किसी दूसरी स्त्री के साथ ये मेरा पहला समागम था।क्या हसीन नज़ारा था।साक्षात रम्भा मेरी बाँहों में थी. उसने बिस्तर को सही किया और मेरे साथ बाहर वाले कमरे में आ गयी।वहाँ पर मैंने अपने कपड़े पहने और उसने अपनी साड़ी और अन्य कपड़े समेट लिए।मैंने उसे वो ब्रा और पैंटी दे दी जो मैं उसके लिए लाया था.

आपको यह मामी की वासना कहानी जरूर पढ़ कर मजा आया या नहीं? मुझे जरूर बताएं. भाभी ने वो डिब्बा उठा लिया था और वो मुझसे नीचे उतारने के लिए बोल रही थीं.

कुछ ही समय में कैब उसकी बिल्डिंग के बाहर रुकी, तो हम दोनों निकल आए और कैब वाला निकल गया.

किस्मत से वो भी बेटी ही थी और कुछ दिन बाद नजमा बाजी का फोन आया और उन्होंने मुझे पास के ही सरकारी अस्पताल में बुलाया. दस मिनट तक वो किस करते रहे और मैं अपने लंड को वहीं पर खड़ा होकर सहलाता रहा. वो मुझे बस किस करने, बूब्स चूसने और दबाने देती … उसके आगे कुछ भी नहीं करने देती.

मेरी इस बात पर माधवी भाभी तुरंत मान गईं, पर दूसरे ही मिनट में बोलीं- नहीं राज … हमने तय किया था कि तीन दिन तक कोई कपड़ा नहीं पहनेंगे. दूसरे दिन सर ने जब सबसे कहा कि जिसने जिसने होमवर्क नहीं किया है, वो क्लास से बाहर चला जाए. तभी जूही जाग गयी और अपनी मम्मी पर चिल्लाने लगी तो उसके मम्मी उसको समझाती हुई बोली- मुझे पता है कि रोज़ रात तुम अपने कमरे में चूत में उंगली करती हो.

तो कुछ ही देर बाद मुझे सागर भी वहां दिखा आइसक्रीम खाते हुए।क्या लग रहा था … काली शर्ट और पैन्ट में था।मैंने लाल रंग का गाउन पहना हुआ था जो कि बिना आस्तीन के था और आगे से हल्का डीप गला!मैं तुरंत सागर के पास गई।मुझे देख कर वो हैरान हुआ बोला- तुम यहाँ कैसे?मैंने बोला- मेरे जानने वाले हैं जिन भय्या की शादी है।अब उसने एक आइसक्रीम मुझे भी लाकर दिया.

कोई नई बीएफ: उसके 6 महीने के बाद श्रुति का रिश्ता तय हो गया और जल्दी ही उसकी शादी भी कर दी गयी. 36″ की टाईट चूची और 38″ की बल खाती मटकती हुई गान्ड।अमिता मौसी का तलाक हो गया था.

दस मिनट तक उसकी गांड को फिर से चोदने के बाद मैंने आंटी को कहा कि मुझे उसके मुंह में माल निकालना है. मॉम ने उसे हाथ से सहलाते हुए पूछा- ये उदास क्यों है?अंकल बोले- तुम पहले सोफे पर बैठो. पिता जी रोज की तरह दारू ले कर आए और मां से चखना और पानी देने के लिए कहने लगे.

मैंने अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और मेरा साथ मॉम ने अपने गांड उठा कर देना शुरू कर दिया.

समीर के थूक से सना लंड अज़ीम ने मेरी गांड में डाला तो मैं बिल्कुल तृप्त सा हो गया।उसके बाद समीर फिर आगे आ गया और मेरे मुँह की चुदाई करने लगा. तब मैंने उससे पूछा- क्या तुम दोनों का झगड़ा हुआ है और इसी लिए तुम यहां आई हो?आरुषि एकदम से चौंक गयी कि मुझे कैसे पता चला. पिछले भागमामा की कमसिन बेटी की बुर चुदाईमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी ममेरी बहन उल्फ़त मेरे लंड से खेलने के लिए कमरे में आ गई थी.