एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू

छवि स्रोत,खून हाथ पर चोट

तस्वीर का शीर्षक ,

पोर्न मूवी फुल: एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू, मेरी वो ख्वाहिश उसने खुद ही पूरी कर दी और कहने लगी- चन्दन लाइट जला लो.

सील तोड़ने वाला सेक्स वीडियो

तभी उसने चूत से जीभ हटाई और मेरे होंठ चूमकर बोला- तुम्हारी चूत तो मक्खन है … बड़ी टेस्टी है. लड़कियों की साड़ीराहुल तैयार होकर बड़े अनमने मन से अस्पताल के लिए जैसे ही अपने फ्लैट से बाहर निकला, उसे रजनी के फ्लैट का दरवाजा खुला दिखा.

सामने से वह औरत बोली- अरे आपको लगी तो नहीं … बहुत जोर से दरवाजा बंद किया उसने. चाची की चुदाई कहानीमैं भी उसकी ही तरह छत के दो-तीन चक्कर लगा कर उसके सामने खड़ा हो गया.

मैंने जैसे तैसे उनको समझाया और विक्की का लंड उसकी बहन की चूत के अन्दर डलवा दिया.एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू: मैंने जल्दी से ज़िप खोलते हुए अपने फड़फड़ाते हुए लंड को बाहर निकाला.

मैं बोला- मामी अभी तो मैं जाता हूँ … किसी और दिन आपको चोद कर पूरा मजा लूँगा.शायद उनका लंड भी मुझे इस तरह से मस्ती में चुदाई करवाते हुए देख कर दोबारा से चोदने के लिए जिद करने लगा था.

बनारस शायरी - एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू

जब-जब मेरा पूरा लंड उसकी चुत में जाता, उसकी चुत के अन्दर गर्भाशय में अन्दर तक टकराता, तो उसकी आवाज ‘आह हूँ … मममम ओह मिंटू फक मी फ़ास्ट आह अह … इस्सस हुम्म्म … निकल जाती.मैंने भाभी का हाथ पकड़ा और कमर से पकड़ के उन्हें स्मूच मारी और छोड़ दिया.

अब मेरी जांघों और उसके हिप्स के टकराने से जो आवाज़ आती है, वो पूरे कमरे में गूंज रही थी. एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू फिर मैंने उसका ब्लाऊज़ खोल दिया तथा ब्रा को हटाकर उसके स्तन में से दूध पीने लगा तथा दूसरे हाथ से उसका दूसरा स्तन मसलने लगा.

मेरी इस दो-अर्थी बात को सुन कर वो हंसी और आंख फैला कर बोली- मुझसे आपको क्या काम पड़ेगा भला.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू?

मैं अपने हाथ आगे उसके सीने पे ले गया और अपनी तर्जनी उंगली से उसके सीने पर लगे पसीने को पौंछते हुए गर्दन तक आया और पीछे बाल पकड़ के उसका सर ऊपर कर दिया. बस ये दिखाई दे रहा था कि सामने ऋतु और अजय दोनों ही अपनी बातों में मग्न थे. मैंने सीमा भाबी के कमरे के बाहर खड़ा होकर उन्हें आवाज़ दी, पर भाबी की कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई.

पर स्टोरी पढ़ पढ़ कर अब मैंने गली के जवान लड़कों को चुपके से देखना सीख लिया था. यह बात 4 साल पहले की है जब मैं अपने मामा जी के यहाँ घूमने गया था। मेरे मामा जी की फैमिली में 5 मेम्बर हैं. तब उसे देख कर मन कर रहा था कि अभी इससे बात कर लूँ, पर डर भी लग रहा था.

जब उसे मैंने चोदा था, उस वक्त उसके लिए मेरी कोई लव जैसी फीलिंग नहीं थी. वैसे मूवी इंग्लिश थी, इसलिए भीड़ भी कुछ नहीं थी और हॉल में मुश्किल से 20 लोग थे. उसकी गांड मारने का मजा मैं आपको जरूर सुनाऊंगा, पर पहले आपकी मेल मुझे प्रोत्साहित करेगी.

उसकी गोरी-गोरी जांघों पर जवानी के भूरे-भूरे बाल आने शुरू हो गये थे. कोई दस मिनट लंड चूसने के बाद भी मेरा पानी नहीं गिरा, तो वो हैरान होकर मेरा मुँह देखने लगी.

फिर मैंने कहा- गुड मोर्निंग … चाय बना लाऊं?अंशु बोली- नहीं कामिनी, आज चाय का मूड नहीं है। रात को तो हमारी शादी होगी और तेरी मम्मी भी होगी तो हम सोच रहे हैं सुबह तेरा प्रोग्राम कर दें। तो शराब ले आ और कुछ खाने को भी!ठीक है.

मेरे मुंह में तो पहले से ही पानी आ रहा था इसलिए मैंने उसके लंड को अपने मुख में भर लिया और उसको पूरे मजे के साथ चूसने लगी.

आह क्या बताऊं एक कमसिन मुलायम हल्के गोल्डन रोयें वाली एक मुनिया ने मुस्कुरा कर मुझे देखा. मैंने उसे बोला- अदिति मेरी जिन्दगी की कुछ सच्चाई है, जिसे मैंने तुम्हें अभी तक बताया नहीं है. वो देखने में हट्टा कट्टा था और उसको देख कर लगता नहीं था कि वो 40 को पार कर गया है.

मगर फिर उसकी जांघें मेरे हिप्स को टच करते हुए मेरे करीब होकर मुझसे सटने की कोशिश कर रही थी. पहले तो उसने थोड़ा विरोध किया, शायद सिगरेट की गंध उसे बुरी लगी हो, लेकिन मैंने उसे एक लम्बा किस किया. वह अब मेरी चूत को ऊपर से सहलाता और थोड़ी थोड़ी उंगली अन्दर को भी घुसाया करता था.

जब तक मैं वहां पर रहा मैंने भाभी की चूत को चोद-चोद कर चौड़ी कर दिया.

वसुन्धरा जी! जिंदगी में एक्सीडेंट्स भी हो जाते हैं कभी लेकिन जिंदगी तो चलती ही रहती है. सुनते ही बेबी उठी और मेरे लण्ड को चाट कर, चूस कर गीला कर दिया और लेट गई. मैंने पापा से कहा- मैं ख्याल रखूंगा लेकिन आज मुझे अपने फ्रेंड के घर पर पढ़ाई करने के लिए जाना है और मैं रात को वहीं रहूंगा.

जैसी उसने मुझे फोन में फोटो दिखाई थी उससे ज्यादा ही आकर्षक लग रहा था उसका शरीर. उसने मुझे अपना सामान गाड़ी से उतरने के लिए रिक्वेस्ट की जिसे मैंने भी तुरंत मान लिया. हीना जैसी कमसिन लड़की की चूत में लंड को पेलते हुए वो ऐसे देख रहा था जैसे आज उसकी चूत को खा ही जायेगा.

दोस्तो, मेरी यह कहानी आपको कैसी लगी इसके बारे में मुझे मेल करके जरूर बताना.

भाभी- ओके, तुम क्या क्या कर सकते हो बताओ तो जरा?मैं- आप इजाजत तो दीजिये, मैं वादा करता हूँ, आपको शिकायत का मौका नहीं दूंगा. ”वंश भी बोला- आअह्ह्ह आह आह मेरी छिनाल मम्मी … ले साली कुतिया ले … आअह्ह … मम्मी आप अपने सगे भाई से भी चुद चुकी हो?मैं बोली- हाँ.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू टहलते हुए मेरी नजर एक छोटी सी दुकान पर पड़ी, जहां पर रसोई से सम्बन्धित सामान मिल रहा था. कुछ ही देर में सनसनी बढ़ गई और अब मैं उसके होंठों को चूसे जा रहा था.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू आप अगर दिल्ली के आसपास रहते हैं, तो आपको पता ही होगा कि वहां पे सिर्फ जोड़े ही मिलते हैं. इस सेक्स कहानी के पहले भागमैडम ने जिगोलो बनने का रास्ता दिखाया-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरे साथ काम करने वाली श्वेता मैडम के साथ मेरी काफी नजदीकी बढ़ चुकी थी.

अब तो मैं रोज छत पर जाकर उसे देखने लगा और शायद ये बात उसने भी नोटिस कर ली थी.

भोजपुरी बीएफ फिल्म दिखाओ

मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से दबाते हुए ज़ोर से काट लिया … वो चिल्लाने लगीं. चाची- मैं सब जानती हूं कि तेरा ध्यान किधर है, मुझसे छिपाने की कोशिश मत कर. भाभी बोली- लालू सो रहा है, तो क्या हुआ … लालू की माँ तो है ना … उससे खेल लो.

इधर उधर सोचने के बाद मेरी नजर पापा जी (मेरे ससुर जी) के दोस्त चोपडा अंकल पर पड़ी. मगर मेरी इस कोशिश को शायद आंटी ने भी देख लिया था।हमने चाय पी और हम बैठकर इधर-उधर की बातें करने लगे. मैंने पहले से सुइट को फूलों से सजाने के लिए बुक किया हुआ था, तो मैनेजर मेरे पास आया.

मैंने बिना देरी किए उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और उसे चूसने लगा.

मैं डर गया।मैंने पूछा- आप यहाँ कैसे?भाभी- तेरे भाई से लड़ाई हो गई, मैं अब तेरे पास ही सोऊंगी।मैं- पागल हो क्या आप?भाभी- कुछ भी समझ ले, मैं नहीं जाने वाली।मैं- भाभी किसी को पता चला तो गड़बड़ हो जायेगी. न जाने क्यों … उनकी इन गंदी बातें सुनकर गुस्सा आने की बजाय मेरी चुत गीली होने लगी। मेरे निप्पल भी खड़े हो गए थे और स्तन भी फूल गए थे। इस वक्त नितिन घर पर होता तो शेरनी की तरह उस पर झपटती!पर क्या रे … वो काम से गया हुआ था।मैंने निराश होकर दरवाजा खोला. उस शाम मैं उन्हीं का चक्षुचोदन करने पार्क में गया, तो वो बार-बार मुझे देखकर हँस रही थीं.

जीतू जॉब करता था इसलिए उसको जॉब में बहुत काम था तो हम दोनों की फ़ोन पर बातें होती थी. विक्की के लेटते ही मैंने विक्की की तरफ पीठ करके उसके लंड पर चूत रख दी और पूरा लंड अन्दर डलवा लिया. पुष्पिका- मैं बहन हूं आपकी और आप इस तरह के शब्द यूज़ कर रहे हो अपनी बहन के लिए?मैं- सॉरी अगर तुम्हें बुरा लगा हो तो.

फिर मैंने जल्दी से अपनी कज़िन की शर्ट उतार दी और वह मेरे सामने ब्रा में ही रह गयी थी. पेटीकोट के ढ़ाई-तीन इंच अंदर मेरी उँगलियों के सिरे वसुन्धरा की पैंटी के इलास्टिक को छू रहे थे.

मैंने भी मौके का फायदा उठाना चाहा और भाभी को बोला- आप मेरी रज़ाई में आ जाओ, आराम से देख लो. अगले दिन अंकल दरवाजे पर खड़े पेपर पढ़ रहे थे, मैं और आंटी किचन में थे. मैंने आगे बढ़ कर वसुन्धरा की दायीं टांग को साड़ी और पेटीकोट में से निकाल बाहर किया.

ऐसे ही एक दिन मैं अपने कमरे में पढ़ रहा था कि भाभी ने आवाज़ लगाई- रामू ज़रा, बाहर कपड़े सूख रहे हैं, उन्हें अंदर ले आओ, बारिश आने वाली है।अच्छा भाभी!” कहकर मैं कपड़े लेने बाहर चला गया.

मेरी रंडी छिनाल, गुलाम बनी है, तो फिर तुझे अपने मालिक का हुकुम तो मानना ही पड़ेगा ना. मेरे आते ही उसने बस एक बार तो घर के बारे में पूछा था मगर उसके बाद उसने मुझसे कोई बात नहीं की, वो बस चुपचाप अपने काम में ही लगी रही।कुछ ही देर में मोनी ने रसोई के सारे काम निपटा लिये थे और फारिग होकर उसने सोने के लिए अपना बिस्तर नीचे फर्श पर बिछा कर तैयार कर लिया था. मैं सनी जी को किस करने लगा, तो बंटी जी मेरा मुँह अपनी अपनी तरफ खींचा और मेरे होंठों को चूसने लगे.

मैंने लंड को सेट करके धक्का लगाया पर लंड अंदर जाने की बजाये फिसल गया. मैं बीच बीच में हल्के हल्के से भाभी के एक निप्पल को काटने लगा, चूसने लगा.

मैं दीदी की चुत में लंड पेलता, तो दीदी मेरी छाती से चिपक कर अपनी चूचियों का सुख मुझे देने लगती. एक दिन की बात है जब भाभी मुझे पढ़ा रही थी और भैया अपने कमरे में लेटे हुए थे। रात के दस बजे का समय हो रहा था। इतने में भैया ने आवाज दी- कंचन और कितनी देर लगेगी? जल्दी आओ न!भाभी भी मेरे पास से जाना नहीं चाहती थी लेकिन भैया के बुलाने पर उनको जाना पड़ा।भाभी उठते हुए बोली- बाकी पढ़ाई कल करेंगे क्योंकि तुम्हारे भैया आज ज्यादा ही उतावले लग रहे हैँ. पर हम मानव, सभ्य समाज में रहते हैं और समाज की कुछ वर्जनायें, कुछ बंदिशें होती हैं जोकि सबको माननी ही पड़ती हैं.

बीएफ फुल एचडी बीएफ बीएफ बीएफ

मेरी गोटियों को अपने हाथों से सहला कर वो मेरे लंड को पूरा मजा दे रही थी.

उसने राहुल को जोर से बेड पर धक्का दिया और उसके बगल में लेट कर उसकी आँखों में आँखें डाल कर उसे कभी देखती कभी चूमती. सुबह मैं लगभग 11 बजे उठा, तो देखा सब जग गए थे और भाभी भी खाना बना रही थीं. आई मम्मी रे … मर गयी … मैं!” मेरे मुंह से चीत्कार निकली जिसे दबाने का उन्होंने कोई प्रयास नहीं किया.

मुझे लगा शायद आज कुछ बन जाये! लड़कों का दिमाग हमेशा वहीं लगा रहता है. एक दिन सवेरे मैं अपनी लुंगी को घुटनों तक उठा कर न्यूज़पेपर पढ़ने का नाटक करते हुए इस प्रकार बैठ गया कि सामने से आ रही भाभी को मेरी लुंगी के नीचे लटकता हुआ मेरा लंड दिख जाये. हिनदीसैकसीकुछ देर के बाद उसने मेरे मुंह को चोदते हुए अपने लंड का पानी मेरे मुंह में ही निकाल दिया.

रश्मि- मधु, तुम राज को जितना चाहे प्यार कर सकती हो, तुम्हारा हक़ है तुम उसके बच्चे की माँ बनने वाली हो. उनके घर पर केवल एक ही कमरा था जहाँ वो और में सो रहे थे। लेकिन दोनों में से किसी को नींद नहीं आ रही थी। उन्होंने बात शुरू की और वहाँ आने का कारण पूछा।बात करते-करते वो मेरी गर्लफ्रैंड के बारे में बात करने लगी और अपने बोरिंग हस्बेंड के बारे में बताने लगी। मुझे उस समय ये पहली बार लगा कि शायद वो मुझ से कुछ और भी चाहती है।धीरे-धीरे वो मुझसे खुलने की कोशिश कर रही थी.

अब मैंने उसे टाँगें खोलने को कहा और उसने खड़े खड़े टांगों के बीच जगह बना दी और मैंने बैठकर उसकी चुत पर से उसकी पैंटी थोड़ी नीचे सरका दी औरअपना मुँह लगा दिया. नम्रता ने अपनी टांग को मेरी कमर पर रख कर मुझसे और कस कर चिपकने लगी. भाभी ने मेरा लिंग अपने हाथ में लेकर उसे अपनी योनि के ऊपर रखा तथा धक्का लगाने का इशारा किया.

अंकल की नजर उसकी सूजी हुई चूत पर पड़ी और अंकल हंसने लगे और मेरी मां को एक किस करके बोले- हाय, आज तो मेरे बेटे को गिफ्ट लेकर दूंगा. सुपारा तो जैसे तैसे फिसलता हुआ मेरी चूत में घुस गया; मैंने और जोर से लण्ड को चूत से दबाया तो फिर दर्द के मारे मेरी चीख निकल गयी और मैं उनके ऊपर से हट गयी. तभी शायद अंकल ने धक्का थोड़ा तेज मार दिया, जिससे अम्मी की चीख निकल गयी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… थोड़ा आराम से परवेज.

”अगर रात में पापा कोई लड़का लाए, तो तुम भी ऊपर आ जाना, तुम्हारी भी तेल लगवाकर चुदवा देंगे.

ऐसा कहते-कहते उसने मेरी मां को कस कर पकड़ लिया और किस करके मेरी मां की गांड साड़ी के ऊपर से दबाने लगा. इसके बाद जब तक मैं जयपुर में रहा मैंने कई बार परवीन को चोदा, अब उसकी शादी होने वाली है.

रेखा जब तक उछाल भरती रही, जब तक कि एक बार फिर से मेरे लंड ने अपनी पिचकारी का मुँह उसकी चूत के अन्दर न खोल दिया. मेरा नाम अहमद है और मैं मेरठ के पास एक गाँव का हूँ लेकिन अभी मेरठ सिटी में रहता हूँ। अभी मेरी उमर 29 साल की है. कुछ दिल्ली में, कुछ रोहतक में … लेकिन गांव की इस चुत की बात ही सबसे अलग थी, क्योंकि बहुत मेहनत से जो मिली थी.

उनकी ब्रा और कच्छी वहीं फर्श पर पड़ी हुई थी बाहर।मैंने चुपके से जाकर भाभी की कच्छी को उठा लिया और उसको सूंघने लगा. फिर भी मैं कभी लेटता, तो कभी उठकर बैठ जाता, तो कभी बारजे में टहलने के लिए चला जाता. साहिल ने धक्के देने बंद कर दिये तो हीना समझ गई कि साहिल का माल उसकी चूत में खाली हो चुका है.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू दो या तीन मिनट में ही उनका पानी निकल जाता है। मेरी शादी को 2 साल हो गए. मैंने देखा कि वहाँ पर और कोई नहीं है, सिर्फ मैडम हैं जो एक जालीदार नाईटी में खड़ी हैं.

सेक्सी बीएफ भाभी की बीएफ

फिर उन्होंने कुछ ही ऊपर चूत के छेद पर लण्ड टिका दिया और अपने जबड़े भींच कर मेरी ओर मुस्कुरा कर देखा. उसके बाद हम दोनों में थोड़ी सी बात हुई लेकिन ज्यादा कुछ बातें नहीं हुई. मैंने पहले तो एक दो बार बाइक को झटके दिए, जिससे भाभी का संतुलन बिगड़ा.

ऐसा कहकर दरवाजे की ओर चलने को हुई तो मैंने कहा- मैंने भी आपसे कुछ पूछना है. वह मुझे गंदी गालियां दे रही थी।मैं उसकी जांघों को चूमते हुए नीचे आता गया और उसके पैरों की उंगलियां भी चूमीं जिससे ज्योति मचलने लगी और बोल रही थी कि चोदो, चोदो प्लीज़ … तन्मय आज मेरी चूत पूरी रात भर चोदो। अपने लण्ड के पानी से भर दो मेरी चूत. सुहागरात की ब्लू पिक्चरशायद यह मेरी किस्मत की मेहरबानी थी मुझ पर ऋषभ बाथरूम से नहा कर आया और अपनी तौलिया निकालकर झुककर अपने कपड़े ढूंढने लगा.

भाभी की नंगी जांघें देख कर मन कर रहा था कि उसकी चूत को अभी फाड़ कर रख दूं लेकिन अभी उसके मजे ले रहा था.

ऐसे ही बात करके मैं भाभी से सिर्फ अर्चना के बारे में ही पूछ रहा था. दो मिनट चुत को लंड से ठोका, फिर चुत रस से गीले लंड को आंटी के होंठों पर रख दिया.

वो चाहे सूट पहनतीं या साड़ी, आधे चूचे हमेशा बाहर ही दिखाई देते रहते थे. उसने तभी अपना मोबाइल ढूंढने का नाटक किया और मुझसे अपने नंबर पर रिंग करने को कहा. मुझे उसके सिसकारी का डर नहीं था क्योंकि थिएटर में हमारे आस पास कोई था ही नहीं.

सीमा ने राहुल के तौलिया में तम्बू से झांकते बम्बू को हवा लगाने के लिए राहुल का तौलिया खींच दिया और नीचे बैठ कर उसका खड़ा लंड अपने मुंह में ले लिया.

30 बज रहे थे, राहुल को पहनने के लिए सीमा ने अपने पति की शॉर्ट्स और टी शर्ट दीं. वो बोली- अरे आप यहां कैसे?मैंने उसे बताया- मैं यहीं जिम में आता हूँ और थोड़ी दूर पे सोसाइटी में किराये पे फ्लैट ले लिया है. क्या सोच संगीता ने उसे एक जोरदार चुम्मी दी और बोली- ठीक है, पर तुम आना बंद नहीं करोगे न?चाय पीकर राहुल संगीता की गाड़ी से सोसाइटी वापिस आया.

खूनी मंडेऔर करन ने मुझे अपनी बांहों में ज़ोर से जकड़ लिया।हमारे जिस्म एक दूसरे के संपर्क में आते ही और गर्म होने लगे और हम वासना की मदहोशी में खोने लगे. उस दिन हीना ने साहिल को पहली बार देखा था मगर फोन पर होने वाली चैट पर वो एक-दूसरे को पहले से ही जानते थे.

देवर भाभी की बीएफ फुल एचडी

वे चूत में लंड लिए बोल रही थीं- आह … राजा … और अन्दर डालो न प्लीज़ … और अन्दर तक पेल दो … आह आह. बातों-बातों में आंटी ने मुझसे पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने बोला- नहीं, मेरी अभी तक कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. पर क्या मैं आपके बाथरूम में नहा सकती हूँ?मैंने कहा- हां ठीक है … नहा ले.

लेकिन मुझे तो अब नशा चढ़ गया था तो मैंने खड़े होकर अपनी आधी पैन्ट और अंडरवीयर सरका कर लंड उसके सामने रख दिया. मैं तो न जाने कब से इसी पल का इंतजार कर रहा था कि कब भाभी को अपने नीचे लेकर मन भर के जोर जोर से चोदूं. भाभी ने मेरे अंडरवियर में तने हुए लंड पर अपने होंठ रख दिये और उसको अपने होंठों से सहलाने लगी.

उसने कहा कि उसके दोस्त ने उसको अपने घर बुलाया है और रोहन के अलावा उसने एक और दोस्त को भी बुलाया है. बात करते हुए बीच-बीच में अजय ऋतु की जांघ पर हाथ फेर देता था जिसको लेकर ऋतु बिल्कुल भी परेशान नहीं दिखाई दे रही थी. लेकिन इन सबके जाने के बाद उनका कॉल आया कि उन्हें टाइम लगेगा और वो दूसरे दिन दोपहर में आएंगे.

मैंने उनके फोन पर फोन करके पूछा- आज बड़ी खुश नज़र आ रही हैं भाभी जी, क्या बात है?भाभी बोलीं- तुमने शिकायत का मौका जो नहीं दिया. मौसी की चूत में लंड गपागप की आवाज के साथ उनकी चूत की चुदाई करने लगा.

उसके बाद श्वेता मैडम बोलीं- संजू हमारा एक दूसरे पे बहुत प्यार और भरोसा है.

मैं उसके कुंवारे छेद का वीडियो बनाने लगा और वीडियो बनाते हुए ही उसकी गांड में क्रीम की टयूब से क्रीम ज्यादा से ज्यादा भर दिया. आलिया सेक्सी वीडियोजब भी मेरा उसकी ससुराल जाना होता, तो मेरी साली मुझे किसी न किसी बहाने से छेड़ ही देती थी. मारवाड़ी चेक्समैं अपनी गांड पर उसके लंड को महसूस करते हुए और अपने हाथ को उसके हाथों में मिलते हुए बोली- तुम जैसे पकड़ाना चाहो मैं वैसे पकड़ लूंगी पर मेरी गाड़ी तेज दौड़नी चाहिए. वैसे तो वो पंजाब की थी, लेकिन उसके हज़्बेंड अपनी जॉब के लिए यहां काफ़ी दिनों से रह रहे थे.

10 साल पहले हमारी कार का एक्सीडेंट हो गया था जिसमें मेरे पति और छोटे बेटे का निधन हो गया था.

उसने ब्लू कलर का पंजाबी सूट पहन रखा था जिसमें वो बहुत ही मस्त माल लग रही थी. मैं तो न जाने कब से इसी पल का इंतजार कर रहा था कि कब भाभी को अपने नीचे लेकर मन भर के जोर जोर से चोदूं. फिर मैंने उसकी छाती के बीच में तने हुए उसके गहरे भूरे रंग के निप्पलों को बारी-बारी से चूसना शुरू कर दिया.

मुस्कान अपने पति के बारे में बताती थी और मैं उसको अपने पति के बारे में बताती थी. सुमन भाभी को जोर से सुसु आई थी तो भाभी फ्रेश होने के लिए सबसे पहले बाथरूम में अपने कपड़े और बाथकिट लेकर घुस गईं. हमारी नींद खुल गयी, तो देखा मेरे हाथ नम्रता की चूत से खेल रहे है और नम्रता का हाथ मेरे लंड से.

सेक्सी वीडियो बीएफ चाहिए एचडी

मैं- थैक्स यार, अच्छा याद है न तुम मुझे अपनी चुदाई का किस्सा सुनाओगी न. उसको दर्द होने लगा तो वो बोली- आराम से करो साजिद… दर्द हो रहा है … आह्ह … उई …मैंने कहा- बस, कुछ नहीं होगा, मैं बिल्कुल आराम से तुम्हारी चूत में अपना लंड सेट कर दूंगा. मैंने देखा कि उसकी किसी लड़के के साथ कुछ सेक्सी व्हाट्सएप्प चैट की हुई थी.

मैं उससे बात करना चाहती थी। वह काफी हैंडसम और इंटेलीजेंट लड़का था। मैंने उसे देखते ही सोच लिया था कि चुदना तो इसी से है।एक दिन मैडम ने उसको कुछ काम बताया और मैडम ने कहा कि सब छात्रों को भी बता दे और कह दे कि कल याद करके और लिख कर भी लाना है.

फिर मैंने लोअर भी खींच कर नीचे गिरा दिया और अपनी टांगों से निकालते हुए जमीन पर ही छोड़ दिया.

मगर काजल को जैसे मेरे लंड के साथ-साथ मुझे भी तड़पाने में आनंद आ रहा था, इसलिए वो आराम से अपने हाथ को मेरे लंड पर रखे हुए थी. लेकिन इस बार भी ज्योति ने मुझे चकमा दे दिया और बोली- जरूर मिलेंगे … चिंता मत करो मेरे राज … लेकिन सुहागरात की सेज पर ही. कृतिका नाम की लड़कियां कैसी होती हैआह क्या मजबूत हाथ था उसका … मुझे उसने ट्रक के अन्दर खींचने के लिए हाथ दिया, तो मैंने उसका हाथ जोर से पकड़ा और ऊपर चढ़ने लगा.

थोड़ा आगे चलकर हमें एक झोपड़ी दिखी, तो हमने वहीं रुकने का विचार बनाया. उसके बाद उसने भी मेरे साथ फ्लर्ट करना शुरू कर दिया और कुछ-कुछ पूछने लगा. एक बार फिर नम्रता अपनी ऐड़ियों को टेबिल पर टिकाकर पैर फैला लिए और अपने दाहिने हाथ को चूत पर बड़े प्यार से फेरने लगी और उसी प्यार से मम्मों को सहलाने लगी.

मैंने कहा- अरे हां मेरी चुदासी बहनिया, मैं तो भूल ही गया था कि मेरे पास तो रामबाण रखा हुआ है. मैं आज बहुत खुश थी कि मुझे इतने दमदार लंड से चुदवाने के लिए मिला था.

शुभम जी बोले- जब भी तुम्हें देखता था … तो मेरा लंड तुझे सलामी देने लगता था.

मैंने चोदना चालू कर दिया, मुझे ऐसा अहसास हो रहा था, जैसे मैंने जन्नत देख ली हो. अंकल थोड़ी देर रुके और फिर उन्होंने पूरे जोर से एक और शॉट लगाया जिस वजह से उनका मोटा और लंबा लंड मेरी मां की चूत में पूरा उतर गया. जबकि भाभी को पता भी नहीं था कि मैंने चुपके से भाभी की सेक्सी चुदाई की बातें सुन ली हैं.

प्रियंका चोपड़ा की सेक्सी फोटो फिर जब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने उसको दोबारा से नीचे लिटा दिया और उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी चूत के छेद पर अपने लंड का टोपा रख कर उसको रगड़ने लगा. उसने शर्त रख दी कि अबकी बार मैं धीरे से करूंगा तो ही वह लंड को चूत में अंदर लेगी.

जब मुझे भाभी के आने की आहट सुनाई दी तो मैंने न्यूज़पेपर को चेहरे के सामने कर लिया और पढ़ने का नाटक करने लगा लेकिन मैं पीछे से सब कुछ देख सकता था. मैंने कहा- मुझे पता है इसीलिए तो मैंने गाड़ी बंद की और यह प्रोग्राम बनाया. उसके बाद ज्योति उठी और बोली- बस, अब अंदर डालो, मैं और नहीं रुक सकती.

सेक्सी वीडियो बीएफ मस्त

मैं बेबी की चूत चोदता रहा, चोदता रहा, वीर्य की आखिरी बूंद निकलने तक चोदा. मैंने उसकी उंगली में रिंग डाल दी और कहा- अब तो दे दी मुँह दिखाई, अब तो दीदार करा दो. ये मेरी अन्तर्वासना पर पहली सेक्स कहानी है, पाठक और पाठिकाएं मुझे[emailprotected]पर मेल करके अपने सुझाव दे सकते हैं.

मां ने अपने कपड़े ठीक किए और दोनों बातें करने लगे।वह आदमी अब मेरी मां के कंधे पर हाथ रखकर उसे सहलाते हुए उनसे पूछने लगा- पूजा, और कितने दिन तड़पाओगी, अब तो मुझे अपनी चूत का मजा दे दो. हवस की एक विशेषता यह होती है कि उसको जितना शांत करने की कोशिश करो, वो और बढ़ती जाती है.

यह सच्ची सेक्स कहानी मैं आपके सामने शुरुआत से लेकर आ रहा हूँ कि कैसे मैंने उसे पटाया और उसकी जमकर चुदाई की.

वो मुझे अन्दर ले गई और सोफे पर बिठा कर बोली- आप बैठो … मैं आपके लिए पानी लाती हूँ. एक साल तक हमने चोदने का बहुत मज़ा लिया, फिर वो दूसरी जगह पर शिफ्ट हो गई. अभी मैं फ़्लोरिस्ट को जय-मालाएँ लेकर पैसे दे ही रहा था कि ब्यूटी-पार्लर से वसुंधरा का मैसेज आ गया.

मैंने उसको एक झापड़ मारा और बोली- साले मादरचोद … रखैल नहीं, बीवी बनाना है. फिर मैंने उससे पड़ोसी के बारे में पूछा- वह कहां है?तो उसने कहा- वह अभी नहा रहा है. मेरी चुत बहुत गीली हो चुकी थी, इसलिए बड़ा लंड भी बड़े आराम से मेरी चुत को चोद रहा था.

खैर काम निपटाते हुए वो समय भी आ गया, जब मैं और नम्रता दोनों ही एक दूसरे के आमने-सामने हुए.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू: मैंने फोन सेक्स से उसका पानी भी निकाला और मेरे लंड को मुठ मार कर ठंडा किया. मैंने मामी से पूछा कि ये जनाब कौन थे?मेरी मामी बोलीं- मेरे पहचान वाले थे.

इस बात पर मैंने उसे जिम ज्वाइन करने की सलाह दे डाली कि पास में ही जिम है, जहां और भी लेडीज आती हैं, तो वो भी आराम से वहां जिम कर सकती है. थोड़ी देर में मुझे भी आनन्द आने लगा था, मैं रंडी सी बोलने लगी- डाल साले कुत्ते … मेरी चुत में पूरा लंड डाल दे … दिखा दे अपना लंड का दम … मिटा दे मेरी चिकनी चुत की प्यास. वो थोड़ी देर और ऐसे ही लंड को मेरी गांड में डाले पड़ा रहा और मेरे सिग्नल का वेट करने लगा.

भाभी ने कुछ देर तो मुझसे मिन्नतें कीं लेकिन जब मैंने उसकी बात नहीं मानी तो उसने मेरे गाल पर एक चांटा जड़ दिया.

राहुल को उसकी बेबाकी में ईमानदारी दिखी और उसने भी दोस्ताना प्यार से उसके माथे पर किस किया … और मुस्कुरा दिया. मैं- दरअसल भाबी … नताशा भाबी बोलती हैं कि राम भैया का लंड मेरे लंड से छोटा है और मेरे जितना मोटा लंड भी नहीं है. उसने राहुल को जोर से बेड पर धक्का दिया और उसके बगल में लेट कर उसकी आँखों में आँखें डाल कर उसे कभी देखती कभी चूमती.