एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू

छवि स्रोत,తమిళం సెక్స్ మూవీ

तस्वीर का शीर्षक ,

पोर्न मूवी फुल: एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू, मेरी वो ख्वाहिश उसने खुद ही पूरी कर दी और कहने लगी- चन्दन लाइट जला लो.

फोटो ब्लू फोटो सेक्सी

तभी उसने चूत से जीभ हटाई और मेरे होंठ चूमकर बोला- तुम्हारी चूत तो मक्खन है … बड़ी टेस्टी है. मोटी चाची का सेक्सी वीडियोराहुल तैयार होकर बड़े अनमने मन से अस्पताल के लिए जैसे ही अपने फ्लैट से बाहर निकला, उसे रजनी के फ्लैट का दरवाजा खुला दिखा.

मैंने सोचा कि भाभी को देखने का कल वाला समय ही सही रहेगा क्योंकि रात में जाने में खतरा था. पायल सेक्सी वीडियोशिशिर तो मेरे पति से बहुत दमदार चुदाई कर रहा था और मुझे उनसे चुदवाने में बहुत आनन्द आ रहा था.

मैंने जैसे तैसे उनको समझाया और विक्की का लंड उसकी बहन की चूत के अन्दर डलवा दिया.एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू: मैंने जल्दी से ज़िप खोलते हुए अपने फड़फड़ाते हुए लंड को बाहर निकाला.

अपना पूरा का पूरा नौ इंच का हब्शी लंड मेरी गांड के अन्दर घुसेड़ दिया.मैंने कहा- उसके साथ ऐसी फोटोज निकलवा कर तुम तो खुश हो, मगर मेरा क्या होगा.

शिवांगी सेक्सी वीडियो - एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू

जब-जब मेरा पूरा लंड उसकी चुत में जाता, उसकी चुत के अन्दर गर्भाशय में अन्दर तक टकराता, तो उसकी आवाज ‘आह हूँ … मममम ओह मिंटू फक मी फ़ास्ट आह अह … इस्सस हुम्म्म … निकल जाती.मैंने भाभी का हाथ पकड़ा और कमर से पकड़ के उन्हें स्मूच मारी और छोड़ दिया.

अब मेरी जांघों और उसके हिप्स के टकराने से जो आवाज़ आती है, वो पूरे कमरे में गूंज रही थी. एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू फिर मैंने उसका ब्लाऊज़ खोल दिया तथा ब्रा को हटाकर उसके स्तन में से दूध पीने लगा तथा दूसरे हाथ से उसका दूसरा स्तन मसलने लगा.

मेरी इस दो-अर्थी बात को सुन कर वो हंसी और आंख फैला कर बोली- मुझसे आपको क्या काम पड़ेगा भला.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू?

मैंने अपनी किताब साइड में रख दी … और शोना की तरफ करवट लेके लेट गया. मैंने हाथ बढ़ाकर क्रीम की शीशी उठाई और डॉली को देते हुए कहा- ये लो, राजा रानी को लगा दो. बिस्तर पर लेटते ही दोपहर का वही सब नजारा मेरी आंखों के सामने आ गया कि कैसे सीमा भाबी अपने चूचों को बाहर निकाले सो रही थीं.

मेरे अंदर शादीशुदा भाभी की चूत मारने की इच्छा हमेशा बनी रहती है।एक दिन मेरी ये इच्छा जब पहली बार पूरी हुई तो वही वाकया आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ. मैंने फिर उसे पीछे पकड़ा, इस बार वो घबराई नहीं और उसने जानबूझ कर मेरे लंड में हाथ रखा और खड़ी हो गई. यदा-कदा मेरी उंगलियां वसुंधरा की नंगी कमर को छू जाती तो मेरे और वसुंधरा के पूरे बदन में कंपकपी की एक लहर दौड़ जाती.

एक दिन छत पर मैंने हिम्मत करके उसे प्रपोज़ कर दिया, पर उसने कोई जवाब नहीं दिया और वो बिना कुछ जवाब दिए वहां से चली गयी. दूसरी चूची को उसने 8-10 बार ही चूसा, फ़िर पीछे हो मेरी केले के खम्बे सी चिकनी रानों को चीर दिया. फिर मैंने एकदम झटके से अपना मुँह उसके निप्पल पर लगाया और उसके एक मम्मे को अपने मुँह में पूरा भर लिया.

मैंने उसे जबाब देते हुए कहा- मैं भी तेरे को बहन मानता था, पर क्या करूँ यह लंड है कि मानता ही नहीं. उसके कुछ पल बाद ही मेरे लंड ने भी चाची की चूत में वीर्य निकाल दिया.

भाई बहन सेक्स की इस कहानी के पहले भागमौसेरे भाई बहन के साथ थ्रीसम सेक्स-1में अब तक आपने पढ़ा कि मामा की लड़की की शादी में मेरे मौसेरे भाई बहन की कामवासना ने मेरे अन्दर भी चुदास जगा दी थी.

इतना कहकर मैंने चाची की दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख लिया और जोर से चाची की चूत की चुदाई करने लगा.

किसी की कमर, तो किसी के बड़े-बड़े मम्मे, किसी का सेक्सी फ़िगर सब कुछ चैक करता. वो अपनी सिसकारियों को दबा रही थी … या यूं कहें कि जितना हो सके, वो धीमी आवाज कर रही थी. वैसे भी सीमा भाबी का फिगर नताशा भाबी जितना सेक्सी तो नहीं था, जिसे देख कर मेरा लंड भी सलामी दे दे.

एक दिन संडे को मैं जिम से निकल रहा था तो मार्किट में अदिति दिखाई पड़ गयी. भाभी- मुझे मेडिकल से ये लाकर दे दोगे क्या?इतना कहकर भाभी ने मुझे एक बैग और पैसे दे दिए. दोस्तो, नमस्कार पहले तो मैं यह बताना चाहता हूं कि ये मेरी पहली कहानी है … और ये बिल्कुल सच्ची घटना है.

इस क्रिया से वो साहिल के लंड को अपनी गांड पर और अच्छी तरह महसूस करने का कामुक अहसास भी पाना चाहती थी.

एक महीने बाद भाभी अपने पति के पास चली गई क्योंकि उनको मेरे बीज से बच्चा चाहिए था. तेरी उम्र में मेरा भी हाल कुछ ऐसा ही था मगर खुद पर थोड़ा काबू करना भी सीख. इस बार फिर से भाबी ने मेरे लंड पर अपना कामरस निकाल दिया, जिससे मेरा लंड पूरा भाबी के माल में लथपथ हो गया.

मैं- सॉरी … मैंने सुना नहीं। और तुम खाना ले कर आयी, यह तो मेरी किस्मत है. मैं बीच बीच में हल्के हल्के से भाभी के एक निप्पल को काटने लगा, चूसने लगा. सात दिन तो जैसे तैसे निकल गए, उसके बाद मेरी चूत और गांड लंड के लिए तड़फने लगी.

मैं उनसे जब भी कुछ कहती हूं, तो मुझे मारते हैं गाली देते है, छोड़ने की धमकी देते हैं.

जब मैं स्कूल पहुँचा तब तक सुबह का स्कूल खत्म हो चुका था, काफी टीचर अपने घर चले गए थे. मैं जानता था कि अगर हेतल यहां पर हमारे साथ रुकने के लिए आई तो वह मेरे लंड को अपनी चूत में लेने का भी प्लान बनायेगी.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू मैंने नेट से भोपाल के बाहर ग्रीन व्यू रिसॉर्ट में 3 दिनों के लिए एक सुइट बुक कर दिया. अब दीदी ने कहा- ये क्या कर रहे हो? मैं तुम्हारी बहन हूँ और बहन के साथ ऐसा कोई करता है क्या?मैं घबरा गया और झट से हाथ हटा दिया.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू आप अगर दिल्ली के आसपास रहते हैं, तो आपको पता ही होगा कि वहां पे सिर्फ जोड़े ही मिलते हैं. लेकिन हुआ यों कि उन्होंने धीरे धीरे कम्बल हटाया और जब उनका हाथ मेरी बीवी के बदन पर पड़ा, साटिन के नाईट गाउन को छुआ तो वो एकदम हैरान हो गये और फिर कुछ देर सोचने लगे।मुझे लगा कि अब अब्बू खुद शर्म से अचकचा कर बाहर आ जायेंगे.

कुछ ही देर में गर्मी लगने लगी थी, तो मुझे याद आया कि मैंने अपने रूम में पंखा ही चालू नहीं किया था.

भोजपुरी बीएफ फिल्म दिखाओ

मैं ऑफिस भी बस इसी ख्याल में मस्त रहता था कि कब घर जाऊं और उसको देखता रहूं. जोन्स ने अपना एक हाथ मेरी जांघ पे रखा हुआ था और हल्के हल्के सहला रहा था. हम दोनों अपने काम पर लग गए, क्योंकि हमारे मिलन को दो घंटे खाली मिले हुए थे.

मैं- सॉरी … मैंने सुना नहीं। और तुम खाना ले कर आयी, यह तो मेरी किस्मत है. प्लान ये बना कि शाम को 10 बजे ही वो जिम से सबको निकाल देगा और मैं गली में सबकी नजरें बचा कर उसके जिम में आ जाऊंगी. मैं सिर्फ अंडरवियर में रह गया और मैंने अपना 6 इंच का खड़ा हुआ लंड परवीन के हाथ में दे दिया.

हम दोनों ने बीएससी साथ में की है, तो मेरा उसके घर जाना कॉलेज के टाइम शुरू हुआ था.

वो तुम्हारी सादगी और जो भी तुम्हारे दिल में है वो तुम्हारे चेहरे पर भी है, जिसे कोई भी पढ़ सकता है।उसने बताया- जब लड़के मुझे देखते हैं तो उनकी नज़रों में मुझे मेरे लिए वासना दिखती है. मैंने उससे बेवकूफी भरा सवाल पूछ लिया कि आप ही ट्रक ड्राइवर हो?वो बोला- ड्राइवर सीट पर तो मैं ही बैठा हूँ, तो शायद मैं ही ड्राइवर हूँ. वहां जाने के बाद पेरेंट्स का फोन आया कि उनको आने में अभी दस से बारह दिन और लगेंगे.

ज्योति फिर से पलट गई और मैं ज्योति के मम्मों पर से ब्लाउज़ को हल्का सा खींचते हुए आजाद करने लगा. फिर बबीता और उसका पति तीन दिन तक मेरे घर पर ही रहे और हमने रोज ही मजेदार गंदा सेक्स किया. मैंने अब्बू से कहा- अब्बू, मैं मुनव्वर के साथ बाहर जा रहा हूँ, आप खुद घर चले जाना, मैं थोड़ा देर से आ जाऊंगा।अब्बू कोई दूध पीते बच्चे तो थे नहीं, वो समझ गए कि हम क्या करने जा रहे हैं, उन्होंने कहा- ठीक है.

मैंने उनकी तरफ हैरत से देखा, तो वो रोते रोते हल्की सी मुस्कुरा दीं. अपना एक भी कपड़ा नहीं उतारा?तो मैंने भाभी की तरफ इशारा किया कि ये तो आपका काम है.

थोड़ी देर तक उसके लंड से चुदने के बाद मैंने उसके लंड को चूसना शुरू कर दिया. इन्हीं चूचों को बाहर दिखा कर मैं मर्दों को अपनी तरफ आकर्षित करती हूँ. वो बोली- अगर उन्होंने मना किया तो मैं तुम्हारे साथ कहीं भाग जाऊंगी.

मैंने कभी सोचा ही नहीं था कि इस ठुल्ली लड़की मतलब जानू के नाम की मुठ मारूंगा और मुठ मारने में इतना मजा आएगा.

फिर अचानक अब्बू ठहर गये और उन्होंने मेरी बीवी कौसर के गाउन को अपने हाथ से ऊंचा उठा करके धीमे धीमे ऊपर सरकाने लगे। मेरे अब्बू ने गाउन को मेरी बीवी की कमर तक चढ़ा दिया. तू एक बार जाकर मेरे कपड़े ड्राई क्लीनर के पास जाकर दे आएगा क्या?मैंने कहा- चाय पी लूँ, फिर चला जाऊंगा. इसीलिए मैं अपनी प्यास बुझाने के साथ-साथ उनकी चूत सेवा करके भी पुण्य का कमाता रहता हूँ.

दीदी- अब नहीं रहा जाता भइया … जल्दी से मेरी प्यास बुझा दो, नहीं तो मैं तड़फ कर मर जाऊँगी. उसके बाद से जब भी उसके पति अजय का बाहर जाना होता, भाभी के बिस्तर में मेरी बर्थ पक्की रिजर्व रहती.

मैं दीदी की चुत में लंड पेलता, तो दीदी मेरी छाती से चिपक कर अपनी चूचियों का सुख मुझे देने लगती. आज मेरी चूत पर एक भी बाल नहीं था क्योंकि मैं अपनी चूत के बाल को साफ़ करके चुदने को रेडी हुई थी. अपनी दूधिया चूचियों पर दीदी ने नीले रंग की ब्रा पहन रखी थी, जिससे उसके दूधिया स्तन और भी उठ कर दिख रहे थे.

बीएफ फुल एचडी बीएफ बीएफ बीएफ

मैं चीखूँ, चिल्लाऊं, रोऊँ गाऊं कुछ भी करूं आप मुझपे रहम मत करना बस!” मैंने कह दिया.

और जैसे ही कौसर ने अपनी टांगें फैलायी तो अब्बू अपने लंड को अपने ही बेटे की बीवी की चूत के अन्दर-बाहर पेलने लगे।अब्बू बहुत ज़ोर से धक्के लगा रहे थे, मेरी बीवी के मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… ही निकल रहा था और उसने अपने पैर अब्बू की गांड पर रख लिए। अब मेरे अब्बू का सारा लंड मेरी जोरू की कसी चूत में था और पच पच की सी आवाजें आ रही थी. मैं अपने मुँह में सुपारे को लेकर चूस रही थी और एक हाथ से लंड को पकड़ कर गोल गोल घुमा रही थी. वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मुझे किस करते हुए मेरी चूत को बड़ी बेरहमी से चोद रहे थे.

मां ने अपने कपड़े ठीक किए और दोनों बातें करने लगे।वह आदमी अब मेरी मां के कंधे पर हाथ रखकर उसे सहलाते हुए उनसे पूछने लगा- पूजा, और कितने दिन तड़पाओगी, अब तो मुझे अपनी चूत का मजा दे दो. आंटी बोली- छोड़ो मुझे, यह क्या कर रहे हो?मैं बोला- मैं तो आपके साथ बहुत दिन से ऐसा करना चाहता था. हिंदी में सेक्सी मूवी देखने वालीजब तक मैं वहां पर रहा मैंने भाभी की चूत को चोद-चोद कर चौड़ी कर दिया.

इसी बीच उसका एक हाथ आकर मेरे लंड पर लगा और फिर उसने अपने हाथ से मेरे मोटे से लंड को धीरे धीरे से सहलाना शुरू कर दिया. उसने अपने लंड को अपने हाथ में लेकर हिलाया और जल्दी उसका लंड पूरा का पूरा तन गया.

मैं अपने घर के आखिरी में रूम में सुबह 9 बजे सोया था और मेरा लंड खड़ा हो गया था. उस दिन दोपहर में मैंने देखा कि मेरी चाची, जिनकी उम्र चालीस साल की है, वे छत पर एक कमरे में सोई हुई थीं. मैंने उसको पीछे घुमाते हुए अपना हाथ आगे की तरफ डाल कर उसका एक बोबा मसलना शुरू कर दिया, वहीं दूसरा हाथ उसकी जांघों पर फेरना शुरू कर दिया.

अंकल ने अम्मी की चूत पर थोड़ा थूक लगाया और हल्के हल्के से अपने लंड अम्मी की चूत में उतार दिया. भाभी थोड़ी देर मुझे कुछ अलग अंदाज से देखती रही, पर मैं कुछ नहीं बोला. तो वो बोली- अचानक तुमने मेरी चूत पर पेशाब करना शुरू कर दिया, तो गर्म धार की वजह से ऐसा हो गया.

वह मुझे जैसे रंडी समझ कर मेरे मुंह में धक्के लगा रहा था और मेरा दम घुटने लगा था.

तुमने मुझे पूरा निचोड़ लिया है। अब थोड़ा मैं भी आराम कर लेती हूं।मैंने भी उन्हें एक किस की और वापस अपने घर आ गया।शाम को मैं मेडिकल स्टोर से उनके लिए दवाई ले आया और उन्हें इसे रात में ले लेने को बोलकर दे दी। थोड़ी देर के बाद भाभी के बच्चों से व भाई से बात-चीत करके मैं वापस अपने घर लौट आया।मेरा वापस जाने का मन तो नहीं था मगर वापस तो जाना ही था. ज्योति के चेहरे से तो लग रहा था कि जैसे वह बहुत उदास हो गई है मगर मैं जानता था कि वह मन ही मन खुश हो रही होगी.

फिर वो पलटी और इस बार उसने अपनी चूत को उस कोने पर टिका दिया और उसी तरह से अपनी चूत को रगड़ने लगी. देखने में बिल्कुल ऐश्वर्या राय जैसी लगती है। गुलाबी सा बदन, नीली सी आंखें, भूरे मगर चमकदार बाल (सिर के). मैंने आपको एक बात अपने बारे में नहीं बताया कि मुझे चूतड़ों पर थप्पड़ मारना बहुत पसंद है.

” मेरे लफ़्ज़ों में बला का आत्म-विश्वास पा कर वसुंधरा बिना कुछ बोले मेरे पीछे-पीछे मेरे बैडरूम में आ गयी. बस, इतना करने के बाद अंकल जी चुपचाप मेरे ऊपर लेट गए और मेरा सिर सहलाने लगे और मुझे चूमने लगे. अम्मी बोलीं- मेरा एक जवान बेटा है, वो क्या सोचेगा?अंकल बोले- वो मेरा भी बेटा है, मैं उसे किसी चीज की कमी नहीं होने दूंगा.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू दो या तीन मिनट में ही उनका पानी निकल जाता है। मेरी शादी को 2 साल हो गए. मौसी की चूत में अपने तने हुए लौड़े को लगाकर मैं मौसी की छाती पर जैसे झूलने लगा था मैं.

सेक्सी बीएफ भाभी की बीएफ

मैं उसको सहारा देकर बाथरूम ले गया क्योंकि इतनी भयंकर चुदाई के बाद उससे चला नहीं जा रहा था. ये आग और भी अधिक भड़क गई और इस पर बारिश न होने के कारण मेरे जिस्म की गर्मी बढ़ गयी. कुछ देर बाद वह पीछे को हुआ और मेरी दोनों गोरी गोरी रानों को हाथों में अलग अलग पकड़ कर झटके के चिपकी हुई रानों को खोलकर मुझे आगे को खींचा, तो मैं हांफती सी सोफ़ा पर चित्त हो गई.

मैं भी बोल रही थी- हां चोदो … और जोर से चोदो … चोदते रहो … मेरी चूत को आज भोसड़ा बना दो. पढ़ाई कम्पलीट करने के बाद मैं जॉब सर्च कर रहा था, तभी मेरे एक दोस्त ने मुझे इंदौर में एक शेयर मार्केट की एडवाइजरी कंपनी के बारे में बताया. सेक्सी कहानियां सुनने कीमैं मुनव्वर को लेकर घर पहुंचा तो कौसर कहने लगी- हमारे कमरे में मैंने छिपकली देखी है.

मैंने पूछा- नम्रता डर तो नहीं लग रहा है?नम्रता बोली- जानू, सुहागरात की फीलिंग आ रही है, जब मेरे पति मेरी चूत को चोदने के लिये मुझे तैयार कर रहे थे और मेरा दिल बहुत तेज-तेज धड़क रहा था और …तभी फक से सुपारा अन्दर चला गया और नम्रता के गले से चीख बाहर आ गई.

तो लिंग का मुंड अंदर फंस गया और अक्षिता के मुँह से एक हल्की चीख निकली- उइई माँ … मैंने सोचा कि ये काम की देवी तो नाम की तरह ही अक्षत है. मैं झाड़ू लगाने लगी और जैसे ही मैं नीचे झुकी, मेरी चुन्नी सरक कर नीचे गिर गई.

कुछ देर तक वो मेरे ढीले लंड को चूसती रही और मेरे लंड रस का स्वाद लेती रही. अब आगे की कहानी का मजा लें!पढ़ाई खत्म हो गयी … उपिंदर कहीं और चला गया … धीरे धीरे उन सब बातों की यादें धूसर हो गयी।मैं नौकरी करने लगा, फिर से अजय बन गया। फिर कोई उपिंदर जैसा नहीं मिला।घर वालों ने मेरे लिए लड़की देखनी शुरू कर दी। शादी करने में मेरी कुछ खास रूचि तो नहीं थी पर सोचा ठीक है जो हो रहा है. कुछ पल में वो एकदम नंगा उसके सामने हो जाता है।परीशा एकटक अपने पापा के लंड को देखने लगती है.

मेरे लंड का पानी निकलने को हुआ तो मैंने उससे पूछा कि पानी कहां निकालना है तो वो बोली कि चूत के अंदर ही गिरा दे अपना माल.

मुझे लगने लगा कि कहीं उसने ये बात अपने पति को या सास को बता दी, तो मैं तो गया काम से. फिर बबीता और उसका पति तीन दिन तक मेरे घर पर ही रहे और हमने रोज ही मजेदार गंदा सेक्स किया. मैं बोला- हां चाची मेरा भी होने वाला है, मैं अपना वीर्य कहां निकालूं?वह बोलीं- मेरे अन्दर ही कर लो, अब तुम्हारा सब कुछ मेरा है.

ऑनलाइन शॉपिंग साड़ी दिखाइएऔर करन ने मुझे अपनी बांहों में ज़ोर से जकड़ लिया।हमारे जिस्म एक दूसरे के संपर्क में आते ही और गर्म होने लगे और हम वासना की मदहोशी में खोने लगे. उसने अपना लंड अचानक से मेरी चूत में घुसा दिया और मैं दर्द के मारे मरने को हो गई.

देवर भाभी की बीएफ फुल एचडी

थोड़ी देर चुदने के बाद मेरा पानी निकल गया और विक्की ने लंड निकाल लिया. साहिल ने उसकी कमर को थाम लिया और पूरा लंड हीना की चूत में उतार दिया. मैंने एक बार फिर अपनी आंखें बन्द कर लीं और जो भी कुछ रेखा मेरे साथ कर रही थी, उसी आनन्द में मैं सरोबार होने लगा.

लेकिन मुझे तो अब नशा चढ़ गया था तो मैंने खड़े होकर अपनी आधी पैन्ट और अंडरवीयर सरका कर लंड उसके सामने रख दिया. लंड बैठना शुरू ही हुआ था कि मेरे बेबस लंड पर एक और प्रहार हो गया जिसकी मुझे उम्मीद कतई नहीं थी. मैं गांड में मूसल लिए चिल्लाता, उससे पहले सनी जी ने मुझे डॉगी (कुत्ते वाली) स्टाइल में बिठा दिया.

इस वक्त ताऊ जी ऐसे लग रहे थे जैसे चाची की चूत पर वो दंड पेल रहे हों. एक काम करो ना, तुम मेरे घर पे आओ न … वहीं साथ में बात करते करते टीवी देखेंगे. उसने मुझसे मदद मांगी, तो मैंने भी बहुत प्रयास किया, लेकिन गाड़ी नहीं चालू हुई.

उस दिन गांड मराने के बाद भाबी के पास उनकी सहेली प्रिया जी का कॉल आया. मुझे एक आध इंच तक तो कुछ नहीं हुआ, पर उसके बाद लगा जैसे चूत चिर जाएगी.

फिर जब वो थोड़ी सी नॉर्मल हो गई तो मैंने एक जोर का धक्का दिया और पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

मैंने शार्ट्स को भी वहीं पर निकाल दिया और केवल ब्रा और पैंटी बदन पर छोड़ दी. सेक्सी वीडियो खतरनाक जबरदस्तउसने भी किस में पूरा साथ दिया। अब अक्षिता का भी सब्र जवाब दे रहा था. दिवाली की सेक्सी फिल्मअगली बार मैं फिर किसी सेक्सी भाभी या आंटी की चुदाई की कहानी आपके लिए लेकर आऊंगा. हम दोनों इतनी जोर से एक दूसरे को जकड़े हुए थे कि हमारे बीच हवा भी नहीं निकल सकती थी.

मेरे लौड़े से लावा फूटने को था मगर भाभी के बारे में अभी कुछ नहीं पता नहीं लग रहा था कि उसकी चूत का फव्वारा अभी कितनी देर में बाहर आकर गिरेगा.

मेरा ध्यान तो बस अदिति के चेहरे पे ही रहता, ये बात बराबर नीला नोटिस कर रही थी. साथ ही उसकी चुत पर ढेर सारा थूक लगाया और लंड को उसकी चुत के ऊपर रगड़ने लगा. पहले मैं अमृता के बारे में शार्ट में बता दूं; अमृता पैसे वाले बड़े बाप की घमण्डी टाइप की लड़की थी, उसके कामुक स्वभाव से भी हम सब स्टूडेंट्स परिचित थे.

पर बहन की लौड़ी … अपनी चुत की चुदाई की आग में सब कुछ सहन करते हुए बोली. अन्तर बस यह है कि उस दिन तुमने टॉयलेट में मेरे लिए हस्तमैथुन किया था. सुबह का शो होने के कारण बहुत कम लोग थे, जिनमें ज़्यादातर जोड़े थे और 2-3 सिंगल लोग थे.

सेक्सी वीडियो बीएफ चाहिए एचडी

दूसरों की नजरों में मैं बहुत शरीफ हूँ, पर उनको क्या पता कि मैं तो चूतों का आशिक हूँ. मैंने भी उसी अंदाज में जवाब दिया, तो बोली- क्या कर रहे है आप?मैं- बस वही. हम दोनों कार में बैठे, तो मैं बोला- क़ातिल तो आज मेरे साथ वाली सीट पे बैठा है.

मैं धीरे से रजाई से बाहर निकला और चाचा के घर के अंदर बनी सीढ़ियों से ऊपर छत पर चला गया.

सर्दियों को दिन थे तो मैंने कम्बल ओढ़ लिया और आराम से लेट कर रेस्ट करने लगी.

जब वो स्कूल जाती, तो मैं अपने घर के बाहर खड़ा हो जाता और इस तरह से हमारी नजरें रोज मिलने लगी थीं. एक बार फिर से दीक्षा के पीछे जाकर उसकी पूरे पीठ को चूमते तथा चाटते हुए कमर तक आ गया. करीना कपूर नंगा फोटोदो तीन दिन बीते तो मेरी पत्नी ने बताया- बेबी भाभी तो बहुत बेशर्म हैं, कैसी कैसी बातें करती हैं.

मगर इस वक्त न तो मैं अपने हाथ से ही अपने लंड को सहला सकता था और काजल का हाथ मेरे लंड पर आने की तो दूर-दूर तक कोई उम्मीद नहीं थी. मेरी चूत फट चुकी थी और मुझे महसूस हो रहा था जैसे कोई मोटा गर्म गर्म डंडा चूत में घुस कर मेरे सीने तक फंसा हुआ हो. इसके बाद मैंने परवीन की चूचियों को छोड़कर उसकी मस्त सीलपैक चूत को चूसना चालू किया.

आह क्या बताऊं एक कमसिन मुलायम हल्के गोल्डन रोयें वाली एक मुनिया ने मुस्कुरा कर मुझे देखा. मेरे मुंह में तो पहले से ही पानी आ रहा था इसलिए मैंने उसके लंड को अपने मुख में भर लिया और उसको पूरे मजे के साथ चूसने लगी.

थोड़ी देर बाद मेरे कान के पास आकर बोली- भाई मेरा भी मन करता है लेकिन किसी को पता न चल जाये इसलिए ख़ानदान की इज्जत की वजह से मैं हमेशा अपने ऊपर कंट्रोल कर लेती हूं। आप मेरे भाई हो इसलिए मैंने आपको ये सब बात बता दी। लेकिन हमारे बीच में ऐसा कुछ नहीं हो सकता.

मैंने मामले की नज़ाकत समझी और वसुंधरा के निकट एक घुटना ज़मीन पर टेक कर बड़े सब्र से, धीरे-धीरे एक-एक रेशा खींच कर नाड़े की गाँठ खोलनी शुरू की. मैं बाथरूम गया, अपना लण्ड धोया, हाथ मुंह धोया और कमरे में आकर रिसेप्शन पर फोन किया कि मुझे कानपुर तक ड्राप करने के लिए एक ड्राइवर चाहिए. यह बात जानकार सोनम के मुँह में भी पानी आ गया कि बिना मेहनत किए और बिना बदनाम हुए चुदने को लंड मिल जाएगा.

सेक्सी ब्लू हिंदी में पिक्चर फिर जब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने उसको दोबारा से नीचे लिटा दिया और उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी चूत के छेद पर अपने लंड का टोपा रख कर उसको रगड़ने लगा. हालांकि मुझे भी लग रहा था कि मेरे सुपारा भी मानो किसी आरी पर चल रहा हो.

यहां तक कि उसने मेरे बोलने पर मेरे एक दोस्त के साथ भी वही सब किया, लेकिन सेक्स नहीं किया. पर मैंने अपनी इस सोच को दिमाग से निकाला और आँख मूंदे दर्द का बहाना किये कराहती हुई सी इस पहली पहली चुदाई का भरपूर लुत्फ़, मज़ा उठा रही थी. अगले दिन सुबह आँख खुलने पर वो बाहर बालकनी में आया तो देखा कि रजनी योगा कर रही है.

सेक्सी वीडियो बीएफ मस्त

उसने मुझे बहुत मारा, ऊपर से मेरी आंखों में आंसू और अन्दर दिल में खुशी थी. अब ताऊ जी ने लंड को चाची के चूत के छेद पर रख के जोर से कमर को झटका दे मारा. मैं देख रही थी कि कैसे बबीता उसके मोटे लंड से चुद कर मजे ले रही है.

जब मुझे भाभी के आने की आहट सुनाई दी तो मैंने न्यूज़पेपर को चेहरे के सामने कर लिया और पढ़ने का नाटक करने लगा लेकिन मैं पीछे से सब कुछ देख सकता था. उसे देख कर भाभी का मुँह शरम से लाल हो गया लेकिन उन्होंने निगाह नहीं हटाई.

भाभी अब मुझे सेक्सी नज़र से देखने लगी थी और कोई ना कोई काम से मुझे घर बुलाने लगी थी.

उसने सबकी नजर बचाते हुए मुझे फ्लाईंग किस दी, वैसा ही जवाब मैंने भी दिया. मगर सारा का सारा माल नीचे बह गया था और सिर्फ दीवार पर गीलापन ही रह गया था. भाभी बोली- लालू सो रहा है, तो क्या हुआ … लालू की माँ तो है ना … उससे खेल लो.

उसके मम्मे भी दबाता था, उसके गांड के गोलों पे थपेड़े भी लगाता और उसकी प्यारी तोंद तो इतनी सेक्सी थी कि क्या कहना. मैंने उनके लंड को कपड़े से साफ़ किया और उसके बाद मैं उनका लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. लगभग पंद्रह मिनट तक उसका लंड चूसने के बाद उसने मुझे गर्दन से पकड़ लिया.

ट्रेन का टिकट एग्जाम के एक दिन पहले का करवाया था ताकि जयपुर में समय पर पहुंच सकें और सेंटर तक पहुँचने में कोई समस्या न हो.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो न्यू: मैंने फोन सेक्स से उसका पानी भी निकाला और मेरे लंड को मुठ मार कर ठंडा किया. मैंने मामी से पूछा कि ये जनाब कौन थे?मेरी मामी बोलीं- मेरे पहचान वाले थे.

हिरेन ने उस पैंटी को अपनी नाक पर लगाया और तेजी के साथ अपने लंड को हिलाने लगा. मैंने भी उसको अपने बारे में बताया कि मेरी जॉब कॉलेज की पढ़ाई के दौरान लग गई थी, इसलिए मैंने कॉलेज छोड़ दिया था और अभी मैं छुट्टी पर गांव आया हुआ हूं. हमने देखा कि कोई देहाती लोग जो दो लोग थे और वो बाइक लेके लकड़ियाँ काटने आये थे.

इतना कहने के साथ ही नम्रता भी अन्दर घुस गयी और ब्रश करने लगी, इधर मैं भी बैठ गया और पड़-पड़ की आवाज के साथ-साथ मल बाहर आने लगा.

उसके बाद उसने मेरी पैंटी में हाथ डाल दिया और मेरी गीली चूत में उंगली करने लगा. मैंने निहारिका के होंठों को अपने होंठों में ले लिया और उनको चूसने लगी. अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है और यह मेरे साथ घटी हुई सच्ची कहानी है, जो 6 महीने पहले मेरे साथ घटी थी।मैं अपने बारे में बता देता हूं.