बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी

छवि स्रोत,ओडीशा सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सकस विडीयो: बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी, मैंने ढीले लंड को फिर कड़क करने को कहा तो वो लंड चूसने लगी और फिर से चुदाई शुरू हो गई.

चूत मारामारी

उन्हें अपनी चुत गांड में एक साथ दो लंड से चुदने का मजा मिलने लगा था. सेक्सी फोटो वीडियो मेंलंड चुत में लेते ही उसकी एक मादक आह निकली, तो मैं समझ गया कशिश चुदी हुई है.

मैंने एक रेस्तरां के सामने बाइक लगा दी और हम दोनों ने अन्दर बैठ कर चाऊमिन खाई. एन एक्स एनमैंने उनकी हालत देखकर और कुछ सोचकर उनसे कार की चाबी लेते हुए कहा- तुम दोनों यहीं रुको, मैं कार यहीं लाता हूँ.

शिवानी- लेकिन मुझे कोई मज़ा नहीं आ रहा है … मुझे बस दर्द हो रहा है.बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी: नवीन का लंड काफी बड़ा था और वो मेरी अम्मी के गले तक लौड़ा पेल रहा था.

उसने आवाज दी- कहां हो तुम?उसकी आवाज सुनकर मेरी मॉम कमरे से बाहर आईं और उससे बोलीं- मेरे पीछे आ जाओ.अगले ही पल मॉम ने हाथ बाहर निकाला तब मैंने देखा कि वो एक प्लास्टिक का लंड था.

सेक्सी वीडियो सनी देओल - बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी

मॉम घूम कर भिखारी की तरफ आईं और उसे बिस्तर के किनारे बैठा कर उसका लंड चूसने लगीं.मैं चाचा के खड़े लंड पर बैठकर उछलने लगा और नीचे झुककर उनके सीने को चूमने लगा.

मैम को देख कर ऐसा लग रहा था मानो उनके शरीर के हर एक हिस्से को ऊपर वाले ने बड़े इत्मिनान के साथ बनाया होगा. बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी मां बेटी ने मिलकर भिड़े की बनियान भी निकाल दी और अब पूरा भिड़े परिवार बिना कोई शर्म और लाज की मर्यादा का पालन किए हुए अपने हॉल में नंगा खड़ा था.

मैंने जल्दी से अपना लंड उमैय्या की चूत से निकाला, तो उसकी चूत से ऐसी आवाज़ आयी, जैसे बोतल का ढक्कन खोलते हैं.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी?

मेरे यार का लंड बहुत गर्म था और लंड के आगे वाले टोपे पर थोड़ा थोड़ा चिपचिपा भी लग रहा था. अंकल ने अपना लम्बा लंड चुत से बाहर निकाला और मम्मी को घुमा कर उनके मुँह में दे दिया. मेरे मजबूत बदन को देख कर भाभी ने अपने कबूतरों को हल्के हल्के से दबाना शुरू कर दिया.

हम एक दूसरे की बांहों में नंगे लेट कर अपनी सांसों को नियंत्रित कर रहे थे. पिछले दिन रात को मैंने पूजा को दिन में चोदा था, उसके बाद मधु को, फिर रेखा को चोदा था … जिस कारण से मेरा लंड मलाई गिरा ही नहीं रहा था. कुछ ही देर बाद नफीसा आंटी फिर से चार्ज हो गईं और उनकी कमर फिर से चलने लगी.

मैं उसकी बात काटते हुए बोला- अरे धीरज छोड़ ना क्या तू भी … चल खाना खा, इंटरवल का समय पूरा हो जाएगा!हम दोनों ने खाना खाया और इधर उधर की बात करने लगे. उसके एक पैर को अपने कंधे पर रख कर अपने लंड को मेघा की चूत पर टिका दिया. मेरे शरीर पर कोई अतिरिक्त चर्बी नहीं है, जो कि मेरे प्रति लड़कियों व भाभियों को आकर्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका रखती है.

लंड चूत में घुसा ही था जीजा जी ने हुंकार भर कर एक जोरदार झटका दिया. आज की इस गे सेक्स कहानी में मैं अपने जीवन का काला सच आप सबके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ.

हॉट सिस्टर Xxx कहानी के पिछले भागसगी जवान बहन को बुर में उंगली करते देखामें अब तक आपने जाना था कि कैसे मैं जॉब की तलाश में अपने गांव से इंदौर आ गया था.

उसे मजा आने लगा और इधर मेरे लंड धीरे धीरे करके उसकी गांड की गहराई में सरकने लगा.

करीब 20 धक्कों के बाद मैंने पूछा- रस कहां लेना चाहोगी मेरी रानी!आंटी बोलीं- मेरे अन्दर ही छोड़ दे मेरे राजा … आंह मैं भी गई … आह. मैं उनके बूब्स सहलाने लगा, वो लंड को अपने हाथों में लेकर मसलने लगीं. फिर मैंने अपने दोनों हाथ उसके मम्मों पर रख दिए और दो बार हल्के से दबा दिए.

मैं उसके पास को गया और उसको सबसे पहले माथे पर किस किया, फिर दोनों आंखों पर चूमा. वह बोली- तो चलो किसी रूम में चलें … मैं आज घर पर भी आने की मना करके आई हूँ. एक बार किसी कारण से ऑटो वाले को शहर से बाहर जाना था तो उसने पंद्रह दिन पहले उसने चौहान अंकल को बता दिया था.

वो कैसे पूरी हुई?नमस्कार दोस्तो, आज जो सेक्स कहानी मैं आप सबको सुनाने जा रहा हूँ, वो आज से चार साल पहले की है और ये मेरे जीवन की बिल्कुल सच्ची सेक्स कहानी है.

उसने दर्द के कारण अपना हाथ मुँह पर रखा और किसी तरह अपनी चीख रोकी; साथ ही उसने अपने दूसरे हाथ की पांचों नाख़ून मेरी पीठ में गाड़ दिए. उसने हाथ के इशारे से मुझे रुकने को कहा तो मैंने चुत से अपना बड़ा लंड खींच लिया. साई को थोड़ा गुस्सा आ गया और बोला- जाने दो, आगे से कीमती माल को खराब मत करना.

जब मुझे लगा कि लंड का पानी निकलने वाला है … तो मैंने लंड चुत से बाहर निकाला और उधर ही सुनामी बहा दी. मैंने पूछा- अब तक कितनी बार लंड ले चुकी हो?वो बोली- मैं पांच बार चुद चुकी हूँ. एक दिन भाभी ऑफिस आईं, तो उनका चेहरा मुरझाया हुआ था और वह बहुत उदास लग रही थीं.

वहां सामने एक म्यूजिक सिस्टम लगा था, मैंने उसे ऑन करके एक आइटम सॉन्ग लगा दिया.

उसने मुझे घुटनों के बल बैठने के लिए कहा और लंड मुँह में लेने के लिए कहा. मेरे तेज धक्कों को भाभी सह नहीं पा रही थी, वो लगातार चिल्ला रही थी.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी अब मुझे बहुत दूर दूर से लोगों के कॉल आते हैं, तो मैं उनसे चुदवाने चला जाता हूँ. मेरे स्तन बड़े होने लगे।मंगलवार को ब्रेस्ट पंप रतन के स्तनों में लगाने के बाद मोहिनी ने कहा- रतन, तुम्हारे रोल प्ले के बारे में सुनकर मुझे एक विचार आया है.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी उसने अपना लंड सहला कर पूछा- मुझे देखती ही रहोगी या उससे भी खेलोगी?मैं समझ नहीं सका कि पता नहीं वो किससे खेलने की बात कर रहा था. अब मैं ओर बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था; मैंने भाभी के मुँह में ही पिचकारी मार दी.

जैसा कि एक भाभी को केवल तारीफ सुनना अच्छा लगता है, ये मैं जानता था … तो बस अपने तीर चलाने लगा.

लड़की के सेक्स

मैं- हां तेरी चुत मेरी ही है साली … आज इसका भोसड़ा बना कर ही छोड़ूँगा. उनकी इच्छा के बाद साथ मैंने अपने दोस्त को बुला कर भाभी के साथ थ्री-सम भी किया. आंटी तो किसी नयी दुल्हन की तरह कसमसाने लगीं- आह्ह आह्ह आह्ह आह्ह ऋषि … मुझे प्यार करो!उनके मुँह से कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं.

इतनी देर शायद मैं वह भी काफी उत्तेजित हो चुकी थी और उसके चेहरे पर चुदास साफ़ दिख रही थी. वो बोली- अरे यार, मैं एक हफ्ते के लिए अपने घर पर क्या कहूँगी?मैंने कहा- तो फिर घर पर कितने दिन के लिए बोल सकती हो!वो बोली- ज्यादा से ज्यादा तीन दिन के लिए कह सकती हूँ. मैं अपनी जीभ को आंटी की चूत के चारों तरफ घुमा रहा था और पूरी चूत चाट रहा था.

मैं भी मस्ती से अपनी बहन की चुत चाटने लगा था और वो भी मस्ती से गांड उठा कर मुझसे चुत चटवाने का मजा लिए जा रही थी.

भाभी सोते समय बहुत प्यारी लग रही थीं, उनके चेहरे पर बड़ी सुकून की छाप थी. हम एक दूसरे के बिल्कुल बग़ल में बैठे थे तो मैं सीधा उसकी तरफ़ नहीं देख पा रहा था. फिर दूसरे दिन शाम अंकल को नाईट ड्यूटी पर जाना था तो उन्होंने मेरी मम्मी को बोल दिया कि वो कशिश का ख्याल रखें.

फरीना ने नर्सिंग की हुई थी, तो उसकी जॉब एक प्राइवेट हॉस्पिटल में लगी थी. इससे उसकी हिम्मत बढ़ गयी, फिर एक दिन बाद उसने अपनी लंड की पिक्चर भेजी और लिखा कि अंजलि तेरे लिए मेरा लंड रेडी है. पैर खोलते ही सामने उनकी रस से भरी … रस बहाती रसीली चूत नज़रों के सामने आ गयी.

मॉम विकी तरफ अपनी गांड करके खड़ी हो गईं, उसी समय विकी ने अपना एक हाथ मॉम की लैगीज के अन्दर डाल कर मॉम की गांड को मसला और उनकी चूत को मुट्ठी से दबा कर भींच दिया. अभी एक महीने पहले जब मुझे पता चला कि हम सब उसी लड़की के घर किसी शादी में जा रहे हैं तो मैं बहुत उत्सुक हो गया था.

वो अपने हाथ को मेरे सर पर दबाती हुई मुझे अपनी चुत में अन्दर की तरफ खींच रही थीं. उसके बाद मैं झटका लगाता रहा और वो जोर जोर से मादक सिसकारियां लेती रही- आह्ह अहहह ओह्ह भैया और तेज करो … मजा आ रहा है!मैं अपनी बहन को मजे से चोद रहा था. उमैय्या- आंह करते रहो नील, बहुत मज़ा आ रहा है!शायद वो दुबारा गर्मा गई थी.

देसी गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी नर्स गर्लफ्रेंड को चोद नहीं पाया था.

मैंने अपने लंड को जैसे ही भाभी की चूत के दर्शन कराए, तो लंड पूरी ताक़त के साथ तनकर खड़ा हो गया और कहने लगा कि अब तो सब्र नहीं होता है, डाल दो अपनी भाभी की चूत के दरवाजे में. फिर वो अपने घुटनों पर बैठ गई और उसने मेरी फ्रेंची को खींच कर उतार दिया. भैया काफी खुश थे, वो पापा बनने वाले थे, पर उन्हें ये कहां मालूम था कि असल में ये बच्चा भी मेरा था.

अब उनके होंठों को चूसते और जीभ से उनके मुंह को टटोलते हुए मैंने अपना लंड फिर से उनकी चूत में सैट कर दिया, अपने हाथों से मैं उनकी कमर ऊपर नीचे करवाने लगा. उसने आने में असमर्थता जता दी लेकिन ये बता दिया कि हॉल के बगल की खिड़की को हल्का सा धक्का देने से वो खुल जाएगी और तुम अन्दर चली जाना.

छोटा कमरा होने के नाते भाभी, दुकान के सामने बने रसोईघर में कपड़े उतारने लगी. हम दोनों एक-दूसरे को पागलों की तरह चूसने लगे।जल्दी ही आंटी ने लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. लंड घुसते ही भाभी के मुँह से जोर की चीख निकली- आआंआह … हाय बेदर्दी ने मार डाला … आंह साले तू इंसान के भेष में क्या खच्चर है माँ के लवड़े … जो इतना बड़ा लंड लगा रखा है.

ब्लू सेक्सी गाना

मैंने मामी के मुँह में पूरा लंड घुसा कर उनके सिर को पीछे से दबा दिया और मामी का मुँह चोदने लगा.

कोमल के मुँह से पहली बार चूत और चुदाई की बात सुनकर मेरे लंड ने सुरसुरी ली. मैं भी उसका साथ देने लगी और उसके सिर को पीछे से पकड़ कर मस्ती से उसके होंठ चूसने लगी. मैं लगभग 15 मिनट बाद पेट के बल लेट गया और विवेक ने मेरे ऊपर आकरमेरी गांड में लंड पेल दिया.

मगर मुझको युवावस्था से ही एक गंदी लत लग गयी थी और वो गांड मरवाने की लत थी. मैंने उन दोनों को अकेले बैठने का मौक़ा देते हुए कहा- मैं बाथरूम होकर आता हूँ. बड़ी भाभी की चूतउसी समय मेरा पिस्टन उसकी चूत में राजधानी की स्पीड से अन्दर बाहर होने लगा.

आज मैं आप सबको अपनी लाइफ की सबसे मस्त सेक्स अनुभव के बारे में बता रहा हूँ. उससे एक तेज आवाज होने के कारण में घबरा गया और वहां से भाग आया कि घर में किसी को पता न चल जाए.

प्रीति तो मानो इसी पल का इंतज़ार कर रही थी, उसने भी झठ से अपनी गांड उठायी और कच्छी उतारने में मेरी मदद करने लगी. उसी अवस्था में मैंने धीरे से उनकी चड्डी उतारी और उनके दोनों कूल्हों को चूमने लगा. आधा लंड मॉम की गांड में घुस गया और मॉम चिल्लाने लगीं- अहह्ह बाहर निकालो … बहुत दर्द हो रहा है … मेरी फट गई … उहह् ओह गॉड अहह.

आज कितने दिन बाद तो हाथ आए हो … ऐसे कैसे छोड़ दूँ!मैंने कहा- मुझे भी तो मौका दो. मुझे दीदी की ऐसी हरकतें देखकर हरा सिग्नल कुछ ज्यादा ही हरा दिखने लगा था. जैसे हर लड़के की मनोकामना होती है कि उसके पास कोई लड़की हो, जिसके साथ वो प्यार कर सके, वो इच्छा मुझमें भी थी.

थोड़ी ही देर में उसका लंड खड़ा हो गया और झटके मारने लगा।उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी गान्ड को सहलाना शुरू कर दिया.

थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मॉम ने लंड बाहर निकाला और लंड के सुपारे को जीभ से चाटने लगीं. मैं- क्या पिताजी आपका दूध पीते थे?मां- हां हर पति अपनी पत्नी का दूध पी ही लेता है.

मैं- ओके मैं तुम्हें फ़ोन तो दे दूँगा लेकिन फिर क्या तुम मुझे सिख़ाओगी कि किस कैसे करते हैं!शमा सोच में पड़ गई कि वो क्या जवाब दे … लेकिन वो भी मेरी इन बातों से कुछ कुछ उत्सुक होने लगी थी. मैं लौड़े को जोर जोर से हिलाने लगा और सारा माल मामी की पैंटी में निकाल दिया. उसकी चुत की भीनी भीनी महक मुझे मदांध करने लगी और मैंने पोजीशन बना कर उसकी चुत को चाटना शुरू कर दिया.

ये वाली राइड करीब 15 मिनट की राइड थी और इसमें लोग भी ज्यादा थे, तो अपना नम्बर आने तक के लिए हम दोनों को वेट करना पड़ा. अभी मैं यहां अपने रिलेटिव के घर में हूँ तो मुझे पिछले छह महीने से लंड नहीं मिला है. फिर लॉबी में ही धीरे धीरे मैं कभी दीदी की चूची पी रहा था, कभी उनसे लंड चुसवा रहा था.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी मैंने सावी भाभी को सीधा करके लौड़ा चुत में डाला और उनकी चुत को जोर जोर से चोदने लगा. वो काले कलर का एकदम चुस्त सूट पहनी हुई थीं, जिसमें से उनकी गांड काफी उभरी हुई नजर आ रही थी.

पद्मावती फिल्म 2018

मैंने उसके गले में, गालों पर, कान पर और छातियों पर पागलों की तरह चूमना शुरू कर दिया और उसका टॉप ऊपर करके उसकी ब्रा के ऊपर से उसके बोबे सहलाने और दबाने लगा. तो मैंने उससे कहा- ज्यादा अन्दर मत जाओ … पर मैं तुम्हें थोड़ा एन्जॉय करा सकती हूँ. दूसरे दिन भाभी ने मुझसे पूछा- क्या तेरी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने मना कर दिया और कहा कि मुझे नहीं पता कि लड़कियों से कैसे बात करते हैं.

मेघना ने अपनी पीठ मेरे सीने पर रखते हुए अपनी गांड के छेद में मेरा लंड ले लिया और हाथों को पीछे करके अपने मम्मे उठाती हुई लंड पर उछलने लगी. मेरी बात सुनकर भाभी ज़ोर से हंसने लगीं और एकदम से मेरे बिल्कुल पास आकर बैठ गईं. कंडोम सेक्स वीडियोयह मेरी चूत की खुली चुदाई कहानी हर बार की तरह एक सच्ची सेक्स कहानी है.

ये जब भी मुझे चोदते हैं तो मुझे मजा नहीं आता।आंटी ने मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत में लगाया और धक्का मारने को कहा.

सच में दोस्तो, अपने जीवन में पहली बार किसी लड़की के होंठों ऊपर अपने होंठों को रखा था. जीजू छोड़ो मुझे … पागल हो क्या? कोई आ जायेगा!” यह बोल कर वो नीचे भाग गई.

फिर जैसे ही मैंने मेरा लौड़ा बाहर निकाला, सावी भाभी लंड देखकर कहने लगीं- इतना बड़ा हथियार … आह मेरी जान, आज तो मजा आ जाएगा. अब मैंने पूछा- कैसा लग रहा है!वो बोली- आह मजा आ रहा है … बहुत मज़ा आ रहा है … काश आहह हम ऐसा रोज़ कर पाते आह. मैंने गाड़ी रोक दी और दीवार से झांक कर देखा तो वो दरवाजे की घंटी बजा रहा था.

उसकी चूत का पानी बड़ा ही स्वादिष्ट था और मुझे भी अपने वासना का भूत सा सवार हो गया था.

मैं- अरे दीदी आपको ये क्या गया है … अचानक से कार सीखने का भूत कब से सवार हो गया?दीदी- वीरा, मैं सब लड़कियों को कार चलाती देखती हूं, तो मेरा भी मन करता है कि मैं भी कार चलाऊं. अब परसों क्या क्या हुआ था और अंकल ने उस दिन मम्मी की हालत कैसी की, वो सब मैं सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. शीला दीदी अब अपनी गांड उठा उठा कर लंड अन्दर ले रही थीं, तो मैं समझ गया कि वो चुदने के लिए बिल्कुल तैयार हो गई हैं.

फेस सेक्सपहले भागसिनेमा हाल में गर्लफ्रेंड को लण्ड पर बैठायामें अब तक आपने पढ़ा था कि हम दोनों बारिश में भीग गए थे. सुनील ने बताया कि वह कभी कभी पड़ोस की भाभी की गांड मारने की कल्पना में हस्तमैथुन करता है.

सेक्सी होटल

मैंने भाबी के दोनों निप्पलों को अपने दोनों हाथों से जोर से खींचते हुए कहा- हां बिल्कुल ऐसे ही चूस रंडी … चूस साली अच्छे से … मेरी मस्त रांड लंड भी चूस और टट्टे भी चूस … ओह्ह गले के अन्दर तक ले मेरा लौड़ा … आह साली मादरचोद छिनाल … तेरी मां को चोदूं … बहन की लौड़ी. खुद को रोकने की नाकाम कोशिश करने के बाद भाभी मेरी ओर भूखी शेरनी की तरह झपटी और मेरे होंठों को चूसने लगी. वो कलप उठी और चिल्लाती हुई बोली- आह मर गई मम्मी रे … एकदम से पेल दिया … आह दर्द हो रहा है.

मुझे कोई काम नहीं था, तो सोचा कि चलो, सेल देख लेंगे और बाजार भी घूम लिया जाएगा. वो शायद अपनी गाड़ी को ठीक करने की कोशिश कर रही थी कि तभी बारिश आ गई और वह भीग गई. धीरे से मैंने भी अपना हाथ शमा की चुत पर रख दिया और उसकी चुत की उभरी हुई फांकों को सहलाने लगा.

कुछ पल बाद पीयूष ने मेरी अम्मी को कुछ इशारा किया, तो मेरी अम्मी ने अपना सलवार सूट उतार दिया और वो एकदम नंगी हो गईं. उस टीचर का नाम पीयूष था, वो दिखने में बहुत ही आकर्षक था … उसका बदन एकदम जिम वाला मस्त गठीला जिस्म था. इस बात का पता जब मेरी सासू मां को चला, वो मुझसे दूसरी शादी नहीं करने को बोलने लगीं.

कोमल की गोरी रसभरी चुचियां मेरे दबाने से लाल हो गयी थीं और निप्पल एकदम कड़े होकर मटर जैसे हो गए थे. वो बहुत मजे से मेरे लंड को चूस रही थी, आज वह बहुत जोश में लग रही थी.

हम दोनों ने कैसे सेक्स शुरू किया?हैलो फ्रेंड्स, मैं नील आपको अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड उमैय्या के साथ हुई सेक्स कहानी को सुना रहा था.

वो पौंछा करते करते मेरे पास आईं और कहने लगीं- जय बाबा जरा अपने पैर ऊपर करना … मुझे पौंछा मारना है. चुदाई चुटकुलेमैं भी गहरे गले का टॉप, बिना ब्रा के उसके सामने पढ़ने बैठ जाती … और वो मेरे टॉप में अन्दर हाथ डालकर मेरे दूध मसल कर मजे लेता रहता. म से लड़कों के नाम हिन्दू 2022फर्स्ट टाइम लेस्बियन लव स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक कॉलेज गर्ल सेक्स की उत्सुकता में लेस्बियन गर्ल बन गयी. फिर मैडम ने मेरे लौड़े पर अपने होंठ लंड पर रख दिए और लंड चूसने लगीं.

मैंने सावी भाभी को सीधा करके लौड़ा चुत में डाला और उनकी चुत को जोर जोर से चोदने लगा.

दीदी ने भी हां बोला और थोड़ी देर में हम दोनों मार्किट के लिए निकल गए. सावी भाभी ने हंसकर कहा- हम्म … मिलने की इतनी जल्दी क्या है?मैंने कहा- मैं साफ़ बोल दूँ?भाभी भी नशीली आवाज में बोलीं- हां बोल दो. फिर रात को तीन बजे उसने मुझे जगाया और बोला- तुम मेरी गोद में बैठ जाओ.

फिर वो कहने लगी- अब मेरे घर वाले आते होंगे, तुम्हें जाना होगा डियर. मेरे मामा को एक दिन किसी काम से एक हफ्ते के लिए मुंबई जाना था तो उन्होंने मेरी मम्मी को फ़ोन करके कहा- मैं कुछ दिन के लिए बाहर जा रहा हूँ. मैंने फुल स्पीड से 5 मिनट तक आंटी की चुत चोदने के बाद अपने लंड का पूरा माल आंटी की चुत में भर दिया.

अग्रवाल सेक्सी

चाचा चाची के ऊपर चढ़े थे और उनकी एक चूची चूस रहे थे और चाची अपना हाथ नीचे ले जाकर चाचा का लंड सहला रही थीं. बेटे के जन्म के दो घंटे के बाद से भाभी ने बच्चे को अपना दूध पिलाना शुरू कर दिया था. मैंने पूछा- भाभी जानकार व्यक्ति से आपका क्या आशय है?भाभी बोलीं- मेरा मतलब कोई सिद्धि रखने वाला व्यक्ति हो!मैंने कहा- भाभी मैं साफ़ साफ़ कहूँ तो मुझे इस सबसे ज्यादा ठीक तो ये लगता है कि सन्तान पैदा करने की सिद्धि रखने वाला व्यक्ति ही आपके लिए ठीक होगा, न कि टोना टोटका करने वाला.

मैंने लंड को फिर से चुत पर सैट किया और थोड़ा आगे झुक कर शीला दीदी के दोनों मम्मे पकड़ लिए.

उसी समय मैंने मेघना की गर्दन को पकड़ा और उसका सर अपने सर की तरफ घुमा कर उसे चूमने लगा.

हम दोनों बिस्तर पर आ गए, मैंने उनकी तंग स्पोर्ट वाली ब्रा को ऊपर सरका दिया. उधर शैंकी ने फिर से मेरे एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया था और वो उसे चूसने लगा था. सेक्स करने का वीडियो दिखाइएमेरी अम्मी धीरज से बोलीं- इसका हथियार तो काफी बड़ा है … मैं तो मर ही जाऊंगी.

मैंने कहा- सलईका कैसा लग रहा है?वो बोली- बहुत अच्छा लग रहा है, बस अभी तुम पहले मेरी बुर फ़ाड़ दो … अपना पूरा लंड बुर में डाल दो. मैंने पूछा- आपको परफोर्मेंस कैसा लगा?उन्होंने हंस कर कहा कि एकदम फर्स्ट क्लास … हालांकि मैं पहले भी अपने एक्स ब्वॉयफ्रेंड के साथ सेक्स कर चुकी हूँ … लेकिन ये वाला उससे दस गुना ज्यादा मस्त था. मेरी गांड को फाड़ डाला … अहह अहह अहह … बता तो देते … आह दर्द हो गया है.

मोहिनी ने कहा कि उसे छोटे बाल वाली लड़की ज़्यादा सेक्सी लगती है।मैं फूलों की दो माला ले आया था. मैंने उससे पूछा- तुम्हारे घर में कौन कौन है?वो बोली- इधर सिर्फ मैं ही रहती हूं और एक नौकरानी है बस!मैं बोला- तो मैं आ जाऊं तुम्हारी सब चीजों की नाप लेने को?वो बोली- जब मुझे तुमको बुलाना होगा, तो बुला लूंगी.

पैसों की चिन्ता नहीं करो, पर मैं चाहता हूँ कि तुम उसकी ऐसी मसाज करना कि उसे जीवन भर याद रहे.

मैंने पाया दीदी की चूत पहले से ही गीली थी, जो मेरे लंड राजा के टोपा को गीला करने में तुली थी. मैं- याद रखना तुम्हारी एक हां … तुम्हें जिंदगी का बेहतरीन आनन्द दिला सकती है और हां इस आनन्द का किसी और को पता भी नहीं चलेगा. आधी खुली कुर्ती में उनकी पहाड़ जैसी चूचियां मेरे सामने नंगी हिल रही थीं.

काजल राघवानी सेकसी नवीन मेरी बहन की टांगों में घुटने के बल बैठ गया और धीरज मेरी अम्मी की. नफीसा आंटी अन्दर का नजारा देख कर बहुत खुश थीं क्योंकि सलीम सो रहा था.

पीछे से मेरी मॉम की उठी हुई गांड देख कर ऐसा लगता है कि अभी उन्हें औंधी करके उनकी गांड मार लूं. कुछ सेकंड में ही मैंने उसको पूरा मुँह खोलने को बोला … तो उसने मेरा लंड छोड़ दिया और अपना मुँह खोल लिया. पापा के लंड की तरह मम्मी की चुत गोरी थी और उस पर एक भी बाल नहीं था.

गूगल पागल हो

उसका मुँह मेरी तरफ था तो मैं उससे चिपक गया और एक हाथ उसकी गांड पर रख कर दबाने लगा. भाभी ने अपनी टांगें हवा में उठा दीं और चुत की रगड़ाई का मजा लेने लगीं. अब शाजिया जब भी अपने रिश्तेदार के घर आती, तो मौक़ा देख कर मुझे बुला लेती औऱ मैं उसे चोद देता.

हालांकि मैं भी पांच फुट नौ इंच का लड़का हूँ, मगर शारीरिक रूप से जगप्रीत एक पहलवान जैसा है. आज के इस दौर में लंड और चूत की प्यास के सामने उम्र और रिश्ते भी कमजोर पड़ जाते हैं.

कुछ मिनट बाद मैंने उसे नीचे लेटाया और उसकी टांगें फैला कर लंड उसकी चूत पर सैट कर दिया.

मैंने 3 दिन तक रूपाली आंटी को बहुत चोदा; इतना चोदा कि वो मेरी लंड की दीवानी हो गई थीं. बाद में डॉक्टर ने फॉरमैलिटी के लिए एक दो बातें और पूछी और मेरी बहन को अल्ट्रासाउंड वाले बेड पर लेटने को बोला. तो क्यों ना हम दोनों एक दूसरे के सामने ही मुठ मारें … जिससे तुझे भी मजा आएगा और मुझे भी.

मेरी मॉम कुछ देर बाद जब उस रूम में आईं … तो वो मुझे देख कर चौंक गईं. मैडम ‘आहहा आह …’ की आवाज करते हुए लंड चुत में घुसवाने का आनन्द ले रही थीं. पापा बोले- तो दो हफ्ते तक तुम कैसे मैनेज करोगे … खाना वगैरह कर कैसे सैट करोगे.

मैं इन चीज़ों का मज़ा तो लेता था, पर इन बातों के बारे में ज़्यादा नहीं सोचता था.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर बीपी: अब आगे विलेज गर्ल सेक्स कहानी:मैं आस पास का माहौल देखकर तुरंत शिवानी के घर के अन्दर पहुंच गया. हम दोनों खाना खाने चले गए और खाना खाने के बाद मैं सीधा अपने रूम में चला गया और फोन पर लग गया.

फिर भाभी ने मेरी शर्ट उतार दी और मुझे धक्का मार कर बेड पर गिरा दिया. जब भी भाभी नहाती थीं, तो मैं उनको अपने टॉयलेट में खड़ा होकर देखता था. बात ही बात में मामी ने बताया कि मुझे बड़ा बुरा लग रहा था कि तेरे मामा जी आज जा रहे हैं.

इस हिंदी भाभी की चुदाई कहानी में सबके नाम बदल दिए गए हैं तथा जगह का नाम भी बदला हुआ है.

शीला दीदी दर्द से चिल्ला उठीं … तो मैंने उनका गला पकड़ लिया और धक्के मारता रहा. भाभी ने भी कुछ नहीं कहा और वो बोलीं- मैं तुम्हारे पास कुछ काम से गई थी. वो बाहर ही चेयर पर बैठी थी, उसने टाईट ब्लू जींस और लाल काली मिक्स रंग की शर्ट पहनी हुई थी.