एचडी देहाती बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी भोजपुरी भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

बिना कपड़े सेक्सी वीडियो: एचडी देहाती बीएफ, मुझे तो बस ये लग रहा था कि कब ये दोनों सांड मुझे कुतिया बना के चोदेंगे.

हिंदी बीएफ वीडियो चालू

करीब 15 मिनट की खूब चूमा-चाटी के बाद उसने मेरी साड़ी खींच कर उतार दी, फिर ब्लाउस के ऊपर से ही मेरे मम्मे दबाने चालू कर दिये. xxx.iii सेक्सी बीएफ वीडियोखैर डॉली को सहलाते सहलाते, बातों में बहलाते बहलाते मैं अपना लण्ड धीरे धीरे अन्दर धकेलता जा रहा था.

आंटी अंकल के लंड की चूस रही थीं, तभी मैंने आंटी का ब्लाउज खोल दिया. सेक्सी बीएफ सेक्सी भोजपुरीआपको मेरी यह कहानी कैसी लगी आप इसके बारे में मुझे मेल करके जरूर बतायें.

अब मुझे ख़ुद को रोकना मुश्किल हो गया और मैंने अपना सारा माल उसके गले में ही निकाल दिया.एचडी देहाती बीएफ: मैंने भी एक सेक्सी स्माइल देते हुए कहा- ये सब तेरे लिए ही तो है भाई.

दादा जी ने उसकी माँ को बताया कि माइग्रेन की वजह से इसकी योनि से पानी आ रहा है.वीर्य की धारा छूटने को तैयार थी, लेकिन मैं लंड को चूत से निकालने को तैयार नहीं था और नम्रता भी नहीं चाह रही थी.

चेन्नई की बीएफ - एचडी देहाती बीएफ

हम लोग घर पहुंचे, तो दोस्त ने फटाफट एक एक पैग बनाया और हम लोग पीने लगे.मैंने हेतल की गांड के छेद पर लंड को सेट किया और एक जोर का झटका देते हुए अपना लंड उसकी गांड में उतार दिया तो उसके मुंह से चीख निकलते-निकलते रह गई.

अपने पंजे रानी के गोलगोल कुचों पर गाड़ दिए और दे धक्के के पीछे धक्का. एचडी देहाती बीएफ सभी लंडधारी भाई अपने लंड को पकड़ कर मुठ मार सकते हैं और जिनकी चुत गर्म हो जाए, तो वो लंड से या खीरा, बैंगन, लौकी, ककड़ी, गाजर, मूली जो भी मिले, डालकर मेरी इस कहानी का आनन्द लें और अपने सुझाव, मत मेल के जरिये भेज कर अपने लंड, चुत से मुझे दुआएं दें ताकि मुझे ऐसे ही नयी नयी चुत, गांड चोदने को मिलती रहे और मैं अपना अनुभव आपको सुनाता रहूँ.

एक दिन मेरा फोन बजा- ट्रिंग ट्रिंग ट्रिंग …अज्ञात नम्बर था। ऐड वगैरह के अनजान नंबर से फोन आते रहते थे.

एचडी देहाती बीएफ?

फिर मेरा लंड भी जवाब देने लगा और मैंने तीन-चार धक्के पूरी ताकत के साथ लगाये और उसकी चूत में अपना गर्म-गर्म वीर्य भर दिया. मेरे ताऊ जी जिनकी उम्र 48 साल की है वो रंग के गोरे, शरीर के लम्बे और सेहतमंद इंसान हैं. मैं उठ कर बेडरूम से बाहर जाने लगा और उसने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे रोक लिया.

फिर धीरे धीरे करके मैं उसकी चूत में उंगली डालने लगा, लेकिन चूत टाईट होने की वजह से उंगली अन्दर नहीं जा रही थी. मैं उसके काले बदसूरत जिस्म पर बहुत प्यारे और मीठे चुम्बन से उसके चेहरे को चूमती रही. जैसा कि मैंने पहले बोला मेरा नाम प्रिन्स है और मैं इंदौर एमपी से हूँ.

चूंकि मोनी की साड़ी व पेटीकोट उसके नीचे दबे हुए थे इसलिए दबे होने के कारण मैं उन्हें ज्यादा ऊपर नहीं कर पा रहा था. दर्द होगा ही, खीरा मेरे लौड़े से भी मोटा था ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो टांगें चौड़ी करके गांड उचकाए स्लैब के सहारे झुकी थी. वो नशीली आवाज में बोली- भैया, अपने लंड को नहीं दिखाओगे?मैंने बोला- अभी दिखाता हूँ.

यहां आने में उसका समय अधिक बर्बाद हो जाता है।मैं समझ गया कि शायद काजल इम्तिहान के दिनों में चुदाई-चुसाई जैसे कामों से बचना चाह रही है इसलिए वो नहीं आ रही है. क्योंकि शौहर और ससुर को काम था, इसलिए मेरे साथ मेरी सास आने वाली थीं.

इस पर उसने हंसते हुए कुछ इमोजी भेजकर कहा कि मेरा खर्चा महंगा पड़ जाएगा.

उसे आधा अपनी चूत में डाल लिया और आधे में साबुन लगाकर मेरे गांड में पेल दिया.

मैंने उसकी ओर देखा, सोनल ने कपड़े पहन लिये थे, लेकिन फिर भी उसका नग्न बदन दिख रहा था. मैं उसके साथ ही रसोई में था, हालांकि हम दोनों के बीच कोई बात नहीं हो रही थी. फिर वो जीजू की छाती के निप्पलों को चूसने लगी तो जीजू ने मानसी की गांड को दबाना शुरू कर दिया.

मैंने काजल से पूछा- कैसी लगी मेरी चॉइस?वो शर्मा कर आंख बंद करके बोली- आप बड़े बेशर्म हो. मैं तुम्हारी टांगों के बीच आ जाता हूं फिर तुम चाहो तो चूत बियर पीला सकती हो. तभी नैना की जांघों ने हरकत शुरू की और मेरे खड़े लंड को, जैसे वो अपनी जांघों से ही महसूस करने लगी, वो कभी हल्का सा अपनी जांघ को ऊपर खिसकाए, फिर नीचे कर दे.

मेरे कॉलेज के एग्जाम आने वाले थे, इसलिए मैं अपने दोस्त के घर पढ़ाई करने जाता था.

उसके टॉप को उतारा और उसके मम्मों को देखे, जो अभी थोड़े ही निकले थे, निप्पल भी बाहर को निकले थे. दोस्तो, उन ठरकी अंकल ने मेरे मम्मों को तो पहले ही आजाद कर लिया था और लगातार मसल रहे थे. खाना खाने के बाद मैं बाथरूम में मोबाईल लेकर चला गया और वीडियो देखने लगा.

मैंने भी तुरंत हामी भर दीशनिवार को मैंने अपनी बुआ से बोला- बुआ मेरी फ्रेंड स्वाति का आज बर्थ-डे है, उसने मुझे अपने घर बुलाया है. उसकी चूत के बीचों बीच एक पतली सी रेखा और उसमें से एक छोटा सा गुलाबी छेद दिख रहा था. अब वो बोले- लाओ जरा तुम्हारा जिस्म भी तो देखें कि अंदर से तुम कितनी सुन्दर हो.

तो भाई मस्ती में बोलने लगा- आह्ह्ह साली क्या कर रही है … मेरा लंड खाने का इरादा है क्या?मैंने लंड को मुँह में लिए लिए उसकी आंखों में देखा और आंख मार दी.

वैसे भी औरत की चूत जवानी में इतनी ज्यादा टाइट होती है कि चुदाई के बाद किसी मर्द को पता नहीं लग पाता कि वह पहले भी चुदी हुई है. लेकिन मैंने सबसे पहले सोनल का नाम लिया, फिर राधिका और आखिर में दिशा का नाम लिया.

एचडी देहाती बीएफ मैंने गांव में बहुत से आदमियों को पेशाब करते समय देखा है, लेकिन इनके जैसा औजार मैंने आज तक कभी नहीं देखा. फिर थोड़ी देर तक रीना शांत रही और सोचने के बाद कहा- ठीक है, कोई बहाना मार के आ तो जाऊँगी.

एचडी देहाती बीएफ ऐसे ही एक दिन ऑफिस टाइम खत्म होने के बाद उसने मुझे पीछे से आकर पकड़ लिया और उसके बाद हमारी चुदाई का खेल शुरू हो गया. मैं हंसते हुए सारा माल पी गयी।और हम सो गये।रात को उठने के बाद उसने अपने एक दोस्त को भी बुला लिया और कहा- तू मेरे दोस्त विक्रम से भी चुदेगी.

पीछे से एक लड़के ने सूट को मेरी गांड से हटा कर मेरी गांड को दबाना शुरू कर दिया.

सेक्सी वीडियो हिं

मैंने अपने होंठ सुमन के चूचों पर तने हुए निप्पल पर रख दिये और उसके जवान चूचों को चूसने लगी. मैंने कहा- सर ये कैसी लिस्ट है?तो बोले- नये पियून की भर्ती हो रही है. लंड जब पूरा का पूरा भाभी की चूत में उतर गया तो मैंने उनकी चूत में लंड के धक्के देने शुरू किये.

यानि ये मान लीजिएगा कि मैं कब क्या करता हूँ, कब सोता हूँ, कब जागता हूँ, कहां जाता हूँ, वो मेरा सब ख्याल रखती थी. अगले सुबह प्लान के मुताबिक जब विकी पानी लेने आया, तब बातों बातों में उसने मेरी सास से कहा कि वो एक काम से बाहर जा रहा है. इतना कह कर जीजा मेरी गांड में जोर-जोर से लंड को डालते हुए चोदने लगे.

थोड़ी देर भाभी की बांहों में आराम करने के बाद मैं शालू के पास चला गया.

भाई मेरी चूत का रस चाट रहा था और मैं उसके लॉलीपॉप को चूस चूस कर उसका रस निकालने पर तुली हुई थी. अंकल जी ने मेरी हालत समझ प्यार से मेरे सिर पर हाथ फेरा और मेरा गाल चूम के मुझे अन्दर लिवा ले गए और ड्राइंग रूम में सोफे पर बैठा दिया और मेरी बगल में बैठ कर यूं ही हल्की फुल्की बातें करने लगे. मुझे चोद दो जल्दी!उसने मेरे लंड को पैंट के ऊपर से ही अपनी मुट्ठी में भींच लिया और आगे-पीछे करके सहलाते हुए हिलाने लगी.

मैं आगे से चूत को चाट रहा था और पीछे गांड के छेद को उंगली से चोद रहा था. जीजा-साली दोनों ही एक दूसरे के जिस्म को ऐसे भोग रहे थे जैसे इससे पहले न तो जीजू ने किसी महिला को नंगी देखा हो और न ही मानसी ने किसी मर्द को नंगा देखा हो. उसकी चीख इतनी तेज निकली थी … मानो किसी ने उसकी चुत में गरम सरिया डाल दिया हो.

पूछने पर बताया कि यदि उसने दो दिन के अन्दर फाइल मेरे से साइन नहीं करायी, तो कंपनी उसे नौकरी से निकाल देगी. कुछ देर यूं ही मेरे जिस्म से खेलने के बाद अंकल जी उठ खड़े हुए और अपने कपड़े उतार डाले, बस सिर्फ अंडरवियर ही उतरना रह गया.

मैंने उससे पूछा- डू यू वांट मोर? (और चाहिए?)उसने नशीली आंखों से हां में सर हिलाया. वो डर से बिल्कुल सहमी हुई थी। हम अपने फ्लैट के दरवाजे के पास पहुंचे।हमारे फ्लोर पर दो फैमिली रहती थीं. स्टडी में हम फर्श पर कालीन पर या कभी कुर्सी पर, कभी लव सीट पर बैठ कर, तो कई बार खड़े खड़े चोदन करते थे.

ऐसे ही एक दिन ऑफिस टाइम खत्म होने के बाद उसने मुझे पीछे से आकर पकड़ लिया और उसके बाद हमारी चुदाई का खेल शुरू हो गया.

मेरे काफी मना करने के बाद भी वह नहीं मानी और मुझे जबरन हाथ पकड़ कर अपने साथ ले गई. मेरी चूत टाइट थी इसलिए जीजा जी पंद्रह मिनट से ज्यादा मेरी चिकनी चूत के सामने टिक नहीं पाये और उन्होंने मेरी चूत में अपना वीर्य उड़ेल दिया. टॉप को हटाने के बाद मैंने अपनी बहन की ब्रा को खोला जो कि काले रंग की थी और उसकी भरी हुई चूचियों पर बड़ी मस्त लग रही थी.

मैंने उनके पूरे बदन को, यहां तक कि उनको औंधा लिटाकर उनकी गांड की दरार और गांड के छेद को भी बहुत चाटा. मेरी लाइफ की यह पहली स्टोरी थी जिसमें मैंने एक कुंवारी गांव की चूत को पहली बार चोदा था.

मैंने अपने लंड को उसकी चुत के अन्दर करने के लिए हल्का सा झटका दिया, तो वो सिसक उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने देखा कि लंड उसकी चुत में नहीं गया, वो फिसल कर बाहर आ गया. कुछ देर यूं ही मेरे जिस्म से खेलने के बाद अंकल जी उठ खड़े हुए और अपने कपड़े उतार डाले, बस सिर्फ अंडरवियर ही उतरना रह गया. मैं भी कभी-कभी अपनी गांड उठा कर उसका पूरा साथ दे रही थी और हम दोनों लोग बड़े मजे से सेक्स कर रहे थे.

सेक्सी ऑडियो सेक्सी ऑडियो

मगर उसके चेहरे के भावों से इतना पता चल ही रहा था कि वह कल की रात वाली हसीन चुदाई से मुझसे गुस्सा नहीं थी.

फिर उसने मेरे गले में से दुपट्टा भी उतार दिया और मेरी चूचियों की दरार बाहर दिखने लगी. चाय या कॉफी?मैंने बड़े रोमांटिक मूड में कहा- आज तो मुझे दूध पीना है. वसुन्धरा का मुंह खुला और उसके मुंह से जोर से ‘आह’ की सिसकारी निकली और इसके साथ ही मेरी जीभ वसुन्धरा की पकड़ से छूट गयी.

मैंने तुम्हें जो भी बताया हैं वो सब सही है और मैं किसी को तकलीफ़ नहीं देना चाहता कि कोई मेरे कारण दुखी हो. मैं भी पूरे जोश में लगा था और वो भी पूरी ताकत से चूत चुदवाने का मजा ले रही थीं. बीएफ वीडियो सेक्सी फिल्म वीडियोथोड़ी देर आराम करने के बाद वो उठी और मेरे सामने खड़ी होकर सलवार ऊपर करके नाड़ा बांधने लगी.

वो कुछ देर लंड को अन्दर लेकर बैठी रही अपनी चूत से मेरे लंड की दोस्ती करवाती रही. उसके गदराए चूतड़ों को चाटते हुए मैंने चुत से खीरा निकाला, वो उसके रस से भीग चुका था.

मैंने दो इंच लंड घुसेड़ा और उतने लंड से ही उसकी गांड बजाना चालू कर दी. थोड़ी देर हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे और फिर एक बार हम लोगों ने जबरदस्त चुदाई का भरपूर मजा लिया. वह कैसे हमारे इस कामुक जाल में फंसती है और क्या रोमांचक घटित होने वाला है जानने के लिए जुड़े रहिए अंतर्वासना से और पढ़ते रहिए ‘याराना’। अगर कहानी पसंद आ रही है तो मेल पर याराना बनाए रखें।[emailprotected].

उनके चेहरे पर एक मुस्कान आ गई और मुझे पानी देकर बोले- तुम रिलैक्स होकर बैठो. फिर मैंने उसके पेट को जहाँ तहाँ चूमा और नाभि पे किस करने के बाद उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसेड़ दी. वो बाथरूम से वापस आयी। मेरे सीने पर सिर रख कर चिपक के सो गई। मैंने भी उसे बांहों में लिया और नींद कब आ गयी पता ही नहीं चला। सुबह उठा तो वो मेरे पास नहीं थी.

फिर मैंने उसके दोनों चूचों को हाथ में पकड़ा और उसके ऊपर लेटता चला गया.

कुछ ही पलों में वो एकदम मदहोश हो गई और उसके दोनों हाथ मेरे सर के ऊपर आ गए थे. मुझे याद करती होगी या नहीं … करती तो होगी!’ ऐसे कितने ही विचार मन में आ विचरते.

वो मस्ती से चिल्ला रही थी- आआहह ओह प्लीज़ अब छोड़ दो … मुझसे सहन नहीं हो रहा है. वह मेरी नकल करने की कोशिश कर रही थी चूंकि उसका तो यह पहला अनुभव था. उसने मेरे लंड पर और खुद की चूत पर खुद का थूक लगाया और लंड को चुत में डाल ही दिया.

और धीरे-धीरे मैंने अपनी दसों उँगलियों को ऊपर की ओर जुम्बिश देनी शुरू की और अपनी हथेलियाँ ठीक ऐसे ऊपर को उठाने लगा जैसे छतरी बंद करते हैं. मैंने सुमेर से पूछा- सच बता ये लड़की कौन है?लड़की शर्मा कर अपने शरीर को छुपाने छुड़ाने लगी और कहने लगी- प्लीज मुझे छोड़ दो और किसी को मत बताना, नहीं तो बदनाम हो जाऊँगी. उसके मम्मे काफ़ी बड़े थे और बिल्कुल ऐसे तने हुए थे जैसे किसी कुंवारी लड़की के हों.

एचडी देहाती बीएफ पेपर देने में भी पापा मुझे बाहर तक छोड़ कर जाते थे और पेपर खत्म होने के बाद घर ले जाते थे. मैंने उनकी टांगों को पकड़ा और एक ही झटके मैं उनकी चूत के अंदर पूरा समा दिया.

नेहा का सेक्सी

उसके बाद अंजलि ने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और उसको चूसने लगी. माँ सिसिया कर बोलीं- आह क्या कर रहे हो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… आऊ आआअ … आपने ये सब कहां से सीखा? उम्म्मह … आज तो आपका लंड और जीभ दोनों कमाल कर रहे हैं. मैं जान गई कि उनका वीर्य दीदी की गांड में पिचकारी के रूप में भरने लगा है.

उसके पूरे बदन में ही कयामत भरी थी, उसकी हल्की नीली और भूरी आंखें गजब की कातिलाना नशा बिखेरती हैं. उन्होंने अपनी टाँगें फैला ली और अपनी जन्नत का दरवाज़ा खोल दिया।मैं अपने लंड को उनकी चूत के ऊपर रगड़ने लगा, वे मुझे अपनी ओर खींच रही थी, उन पर चुदाई का नशा छाने लगा, उन्हें मजा लगा. एचडी में बीएफ एक्स एक्स एक्सआपके मेल के इंतजार में विक्रम-वीणा और राजवीर-रीना।[emailprotected].

जब मैं सुकांत जी से चुदी तो मेरी चूत चाट चाट कर उन्होंने मुझे हर तरह से तृप्त कर डाला.

ताऊ जी बुआ के चूचों को चूसने लगे और पीछे से उनका लंड चूत को पेलता रहा. अभी मुझे दिशा को चोदने का मन कर रहा था, लेकिन अभी दिशा चुदने की हालत में नहीं थी.

नीना जिस मस्ती से अपने सगे बाप से अपनी चूत चाटवा रही थी, उससे मेरे पूरे बदन में आग लग गई. मैं एक चादर लपेट कर बाथरूम में गई तो मेरी टांगें बहुत दर्द कर रही थीं. वह मेरी नकल करने की कोशिश कर रही थी चूंकि उसका तो यह पहला अनुभव था.

कुछ देर चूसने के बाद मेरा जोश पूरा भर गया और उसने मेरे लंड को सही वक्त पर बाहर निकाल दिया नहीं तो मैं उसके मुंह में ही झड़ जाता.

उसकी गांड की मुलायमियत और उसकी चूत से निकलती हुई गर्माहट से लंड में कुछ तनाव आने लगा. रानी ने घंटी बजाते ही दरवाज़ा खोल दिया जैसे वह भी मेरी बाट लगाए तैयार बैठी थी. घोड़ी की स्थिति में झुकाने के बाद जीजा ने अपना लंड एक ही झटके में दीदी की चूत में घुसा दिया.

मानव बीएफतभी नैना की जांघों ने हरकत शुरू की और मेरे खड़े लंड को, जैसे वो अपनी जांघों से ही महसूस करने लगी, वो कभी हल्का सा अपनी जांघ को ऊपर खिसकाए, फिर नीचे कर दे. उसकी भूरी आंखें, काले लंबे बाल और उसके होंठ तो गुलाब की पंखुरियों से थे.

मराठी सेक्सी विडिओ मराठी सेक्सी

अब विक्की को मेरा सहारा मिल गया था, तो उसने निहारिका का लोअर उतार दिया. मैंने कोल्ड ड्रिंक का गिलास अदिति की तरफ बढ़ाया तो उसने शर्माते हुए गिलास पकड़ लिया. अपनी उंगलियों पर ढेर सी क्रीम लेकर अपने लण्ड पर और डॉली की चूत पर मल दी.

तुम अकेली?”नही, हम दोनों!”मतलब तुम और तुम्हारे पति?”वो आ के बताऊंगी. चूंकि उसका मुंह मैंने उसी की पैंटी को मुंह में ठूंस कर बंद किया हुआ था तो वो बोल नहीं पा रही थी। यह कल के सेक्स वाली पैंटी थी. मैंने उससे कहा- जब इसमें से बच्चा बाहर आ सकता है, तो लौड़ा क्यों नहीं घुस सकता.

फिर वो रुके ओर उन्होंने पूरा माल मेरी पेंटी ओर पेटीकोट पर झाड़ दिया. इसके तुरंत बाद मैंने अनुषी की चुत पर मुँह लगा लिया और चूत चूसने लगा. उनकी नाभि काफी गहरी है, ऐसा लगता है कि किसी ने लंड डालकर वहां एक और छेद बनाया हो.

मेरे गोरे जिस्म को देख कर एकदम से बॉस बोले- वाह … तुम तो अंदर से एकदम मलाई हो!मैं एकदम नंगी उनके सामने खड़ी थी. भाभी को और ज्यादा मजा आने लगा और वो अपने हाथों से मेरी गांड को अपनी चूत में धकेलने लगी.

उनके दो बेटे थे (दोनों शादीशुदा) और एक अविवाहित बेटी थी … कोई पैंतीस-छत्तीस साल की और नाम था वसुन्धरा! वसुन्धरा सुधा से दो-एक साल छोटी थी.

मैंने कहानी लिखना शुरू किया और सिर्फ 20 से 25 मिनट में सब लिख दिया और बिना वापस पढ़े पब्लिशर को ईमेल भी कर दिया. साउथ हीरोइन के सेक्सी बीएफमैं आपका दोस्त, राजवीर मिड्ढा फ़िर से आपकी खिदमत में हाज़िर हूँ जिंदगी की भाग-दौड़ में वाक़या एक नया अफसाना लेकर. ऐश्वर्या की बीएफमैंने कहा- कौन?तो उधर से आवाज आयी- नौकरी चाहिये, तो कल शाम मैसेज में दिए पते पर आ जाना. मैं बेकरार हो रहा था लेकिन आंटी की बेकरारी का इन्तजार कर रहा था जो जल्दी ही खत्म हो गया.

राधिका को ऐसा सीन देखकर अजीब सा अहसास हो रहा था और वो सोच रही थी कि अभी मैं सोनल की बैंड बजा रहा था, फिर इतनी जल्दी से दिशा को पकड़कर चोदने में लग गया.

उसने मेरे हाथों को अपने हाथों में ले लिया और उनको प्यार से सहलाने लगा. मैंने मामी से पूछा- आपको मजा आ रहा है?वो बिना कुछ बोले मेरे बाल पर अपना हाथ फिरा के मेरा साथ देने लगीं. उसे पहले तो काफी दर्द महसूस हुआ लेकिन मैंने उसके चूचों से अच्छी तरह से दबाना जारी रखा.

उसकी गांड से मेरी जांघें टकरा रही थीं जिससे फट्ट-फट्ट की आवाज पैदा हो रही थी. गर्मियों के दिन थे और बाहर की तेज धूप बदन को झुलसाने का काम कर रही थी. वे मेरे साथ कंफर्टेबल फ़ील कर रही थी … मैं भी उनके साथ कंफर्टेबल फ़ील कर रहा था.

देवर भाभी सेक्सी इंडियन

मैंने उसको पानी दिया, तो उसने बोटल हटा दी और मुझे अपनी बांहों में भरके किस करने लगा. उसके साथ कुछ देर तक मैंने बातें कीं और फिर मैंने अपने कपड़े पहन लिये. फिर अंकल ने आंटी को अपने लंड पर झुका दिया और आंटी ने अपना मुँह खोलकर अंकल के लंड का स्वागत किया.

ऊपरी हिस्से मैं मैं अकेला रहता था और उससे ऊपर के फ्लोर पर मकान मालिक अपने परिवार के साथ रहता था जिसकी चार बेटियां थी डोली, पूजा, शालू और सोनिया!यह कहानी मेरी और मोनिका की है.

मेरे ख्याल से वह अपनी चूचियों को छिपाने के लिए उठी थी मगर अब मैं उसके ऊपर आ चुका था इसलिए वह बस कंधे सिकोड़ कर रह गयी.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं अपनी पड़ोसन की बेटी मोनी की चूत को चोदने के लिए तड़प रहा था. मेरी बहन अपने बिस्तर पर नंगी थी और एक नंगे लड़के की पीठ पर उसने अपनी टांगें लपेट रखी थीं. लड़की बीएफ सेक्सकुछ देर बाद उसने अपना मुँह मेरी चूत पर रख दिया और मेरी प्यासी चूत को चाटने लगा.

पहले झटके में सुपारा आंटी की चूत में चला गया और दूसरे झटके में पूरा लण्ड. मैंने उसकी पैंटी को थोड़ा खींचा तो साइड से उसके अंदर मुझे उसकी गांड के इर्द-गिर्द हल्के से बाल दिखाई दिये. मगर लड़की ने मेरी हालत को भांप लिया और मुझे ऐसी हालत में देख कर मुस्कुराने लगी। उसको मुस्कराती देख मैंने भी उसकी तरफ देख कर मुस्करा दिया और उसे आंखों ही आंखों में लण्ड की तरफ इशारा कर दिया। मगर उसने मुंह फेर लिया.

पहले कन्धों की मांसपेशियां, फिर ब्रा के स्ट्रैप के बाद हंसली की हड्डी और ऊपरी पसलियां की नर्म त्वचा और फिर ब्लाउज़ के ऊपर दो पर्वत-श्रृंगों पर मेरे दोनों हाथ जम गए. थोड़ी देर बाद मैंने अपने होंठ काजल के होंठ के ऊपर लगा दिए और उसके होंठों का रस पीने लगा.

उसने काजल को दिखाते हुए उसकी राय जाननी चाही और काजल ने भी अपनी पसंद की मोहर लगा दी सुमिना की पसंद पर।सुमिना खुश हो गई और फिर उसको ट्राई करने के लिए ट्रायल रूम की तरफ चली गई.

थोड़ी देर उसी पोज़ में चुदाई करने के बाद मैंने उससे ऊपर आने को बोला. वरूण ने पैंट खोल कर अपना लंड निकाला और पीछे से आंटी की गांड पर रगड़ने लगा. वे दोनों मुझे दिखा कर किस करने लगे और सुमेर उसके बूब्स दबाने लगा और पारो उसके लण्ड को सहलाने लग गयी.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी फिल्म मैं धीरे धीरे अपने लंड को चुत के अन्दर बाहर करते हुए अनुषी की आंखों में देखने लगा. मुझे सबसे पहले दिशा को चोदना था, इसलिए अगली बार मुझे सावधानी रखनी थीअब मुझे तीनों की पीठ सहलानी थी.

वो अहसास शायद ही जिंदगी में कभी भूल पाऊँ!वो बेइंतहा मेरे होंठों को चूसते जा रहे थे. ये सोच कर मैंने एक कॉल सेंटर में आईटी के पद के लिए आवेदन किया और मेरा चयन हो गया. दोनों ने मेरी चूत के साथ साथ मेरी गांड भी चोद चोद कर खुली कर दी थी.

चूत लंड की सेक्सी वीडियो हिंदी

मैं बताई तारीख से 2 दिन पहले निकल गया और 28 को बैंगलोर पहुंच कर होटल में रूम लेकर रुक गया. दोस्तों जानबूझकर नम्रता ने अपनी चूतड़ ठीक मेरे सोये हुए लंड के ऊपर रखे हुए थी. मैंने फिर खिड़की से देखते हुए फोन किया, तो उसने फिर फोन काट दिया और फिर फोन स्वीच ऑफ कर दिया.

फिर नाभि में जीभ चलाता और फिर उसकी उजली जांघों में जीभ चलाते हुए पैंटी से ढंकी हुई चूत पर भी जीभ चला देता. अन्दर बाहर करते करते अब वो समय आ गया कि अब पैसेन्जर ट्रेन को राजधानी बनाने की इच्छा होने लगी.

मैंने उसकी कमर से उसकी पैंटी को खींच कर नीचे करना शुरू किया और उसकी भूरे रंग के हल्के बालों वाली चूत मेरे आंखों के सामने बेपर्दा होने लगी.

फिर हमने एक रूम ले लिया, वहां जाकर मौसी बिस्तर पे बैठ कर बोलीं- तू कुछ खाने के लिए ले आ. कुछ देर में ही वह एक पैर पर खड़ी-खड़ी थक गई तो उसने दूसरा पैर भी मेरी पीठ पर रख लिया और मेरी गोदी में आ गई. मेरी पुष्ट जांघें और उभरा हुआ गोलमटोल पिछवाड़ा मुझे बेहद सेक्सी लुक देता है.

जिस मकान में मैं रहता था उस मकान के निचले हिस्से में एक मल्लाह परिवार भी था जिसमें मोनिका अपने दो भाई और माँ बाप के साथ रहती थी. वो इतनी ज्यादा हॉट है कि उसके चेहरे भर को देखने के बाद ही किसी का भी मन उसे चोदने को बचैन हो जाएगा. बलवन्त ने मुझे घोड़ी बनाया और तेल की शीशी खोल कर ढेर सारा तेल मेरी गांड के छेद में डाल दिया.

उसके बाद मैं उसकी दोनों चूचियों को पकड़कर उसको ज़ोर ज़ोर के झटके मारने लगा.

एचडी देहाती बीएफ: मैं और गर्म हो गया और लंड चूत से निकाल कर तुरंत उसकी गांड में डाल दिया. दोस्तो, मैं सपना जैन … मेरी दोनों कहानियोंगाँव में ससुर जी के लंड के मजेकाश वो चुदाई खत्म ना होतीका अच्छा रेस्पॉन्स मिला, उसके लिए आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद.

मैंने दरवाजे के पास कान लगाकर सुना तो अंदर से सेक्सी आवाजें आ रही थीं. ऐसा पहली बार नहीं हुआ था, लेकिन इस बार सीन ये था कि मैं भी इन दिनों अपने घर आया हुआ था. बुआ ने हंसते हुए बोला- मुझसे झूठ मत बोल … इस उम्र में तो सब लड़कों की गर्लफ्रेंड होती हैं.

इतना कह कर जीजा मेरी गांड में जोर-जोर से लंड को डालते हुए चोदने लगे.

वह भी उतावली है चुदाई के लिए! क्यों न उसकी पहली और आमिर की पहली चुदाई करवा दें?मैं और भी उतावला हो गया और बोला- जल्दी करवाओ. मैं कई बार राकेश की कजिन को चोद चुका हूँ।मैंने उसे स्माइल दी और उसके कपड़े उतार दिए. मेरी एक आदत है कि बस से बाजार जाते समय जब मेरा वक्त नहीं कटता है तो मैं लीड कान में लगा कर गाने सुनने लगती हूँ.