बीएफ एडल्ट हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो में चुदाई वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स फिल्म नंगी वीडियो: बीएफ एडल्ट हिंदी, फिर मैंने उस के पेटिकोट का नाड़ा पकड़ कर खींच दिया तो उसका पेटीकोट उसकी जांघों से सरकता हुआ नीचे उस के पैरों में गिर गया.

सेक्सी वीडियो ऑनलाइन ओपन

इस बार जब मैं घर गया तो अपनी ताई के भी घर हो कर आया अपनी बहन से मिलने के बहाने से. सेक्सी वीडियो चोदा चोदी बुर की चुदाईफिर उसने मुझे फोन पर अपनी चुत का फोटो भेजा, मुझे उसकी बहुत अच्छी लगी.

फिर जब लड़का झड़ने की कगार पर पहुँचा तो मेरी मॉम और वो दोनों काफी जोर जोर से धक्के लगाने लगे, मेरी मॉम अपने कूल्हे पीछे धकेल धकेल कर अपनी चूत चुदवा रही थी, उनकी आवाजों से लग रहा था कि उन दोनों को खूब मजा आ रहा था. सेक्सी व्हिडीओ सेक्सी हिंदी व्हिडिओफिर मैं नीचे बैठ कर उसकी चुत चाटने लगा था और वो पैर चौड़ा कर चुत चटवाते हुए रोटियां बना रही थी.

बातों बातों में वो मेरे बिल्कुल नज़दीक आ गई और उसने हेल्प के बहाने मुझे छूना शुरू कर दिया.बीएफ एडल्ट हिंदी: मैंने पूछा- जानेमन कहां डालूँ?उसने चिल्ला कर कहा- चूतिये अभी से माँ बनाना है क्या?ये सुनते ही मैंने लंड निकाला और ज़ोर से हिलाने लगा.

फिर अवी ने मुझे बेड पर गिरा कर लिटा दिया और मेरी पैंटी निकाल कर फेंक दी और मेरी बुर, चूत, भोसड़ा.फिर अगली बार डॉगी स्टाइल में चोदा और उनको मेरे ऊपर बैठा कर काफी लम्बे समय तक चुदाई का आनन्द लिया.

सेक्सी फिल्म वीडियो सेक्सी एचडी - बीएफ एडल्ट हिंदी

जिसमें मुझे लड़की या औरतों की फुलबॉडी मसाज और उनकी जरूरत के हिसाब से उनकी चुदाई भी करनी पड़ती है और कभी कभी रेणुका मैडम मुझे होम सर्विस के लिए भी भेजती हैं.36 साइज कहने से ही समझ आ जाता है कि उसकी मादकता कितनी ज्यादा थी, और उसके सपाट और चिकने पेट ने मेरे मन में हलचल मचा दी।कोई भी औरत जब साड़ी पहनती है तो उसकी कमर किसी भी आवरण से परे होती है और उस जगह से ही आप किसी स्त्री को बिना छुये या बिना पास जाये भी अनावरित कर सकते हो। मतलब स्त्री के नग्न रूप का आभास किया जा सकता है, आंटी ने काम करने के लिए कमर में साड़ी बांध रखी थी.

झंडी हरी देखी तो फिर मैं उसकी जींस पे हाथ ले गया हो और हाथ फेरने लगा. बीएफ एडल्ट हिंदी कुछ देर बाद मैंने उससे मुँह में लेने के लिए बोला, तो उसने लंड मुँह में लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

अंजलि ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी बड़ी गांड को मटकाते हुए मुझे बगल वाले कमरे में ले चली.

बीएफ एडल्ट हिंदी?

हालांकि मुझे आकाश से चुदाई करवाने के बाद उससे कुछ प्यार सा हो गया था. तभी किसी ने मेरे हाथ में अपना लंड पकड़ा दिया। मैंने देखा जो कुछ देर पहले मेरे मुँह में खली हुआ था वो फिर से जिन्दा हो गया था. दोस्तो, मेरी गांड चुदाई की कहानी की कल्पना पर अपने कमेंट्स कीजिएगा.

अब उसने कोई रिप्लाई नहीं किया और मैंने उसे सॉरी लिख कर भेजा तो उसका रिप्लाई ‘इट्स ओके’ का आ गया. मैंने अपनी उंगलियो का कमाल दिखाना चालू किया और उसका जी-स्पॉट ढूँढ कर मालिश करने लगा. मैं मादक सिसकारियां लेती हुई अपना चेहरा इधर उधर घुमा रही थी और चचा जान मेरी गरदन को चूम रहे थे.

आंटी की चुत भोसड़ा बन चुकी थी, अब तक हजारों बार चुदाई हो चुकी थी और तीन बच्चे भी चूत से निकल चुके थे. मैंने उससे कहा- घबराओ मत, मैं आज तुम्हें सारा सुख दूंगा जो तुम्हें आज से पहले कभी नहीं मिला होगा. मेरी मॉम को गांड मराने का भी अनुभव था इसलिए वो धीरे धीरे ‘आहह आअहह.

और मैंने उसी मैडम से पूछा- मैडम, यहाँ सिमरन कौन है?वो मैडम बोली- मेरा ही नाम सिमरन है, क्यों क्या हुआ?मैंने कहा- कि मेरी एक क्लाइंट गीतांजलि का आपके लिये फोन है, वो आपसे बात करना चाहती है. पार्टी में मेरे भैया मेरे इस रूप को देख कर समझ ही नहीं पाए कि ये कौन है.

वह रेड कलर में एक वेस्टर्न ड्रेस थी और जैसे हॉलीवुड की हिरोईन पहनती थीं, ऊपर से और पीठ पर पूरी खुली थी मतलब स्लीवलेस एंड बैक लेस, नीचे घुटनों के ऊपर तक.

मेरा शरीर एकदम फिट है, जो मैंने आर्मी के लिए तैयार किया था, पर किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था.

लगभग 5 मिनट के बाद मैं हाथ उसकी चड्डी के अंदर लेकर गया तो पता चला उसकी चूत पर बहुत झाँट थी. मैंने स्पीड तेज कर दी और पूरा पानी चुत में डाल कर उसके ऊपर घोड़े की तरह चढ़ गया. मम्मी भी नीचे से अपने चूतड़ उछाल उछाल कर चुत चोदन करवा रही थी- आआह चोदो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ और जोर से…पट पट की अवाज से कमरा गूँज रहा था।ससुर जी ने मम्मी की चूत से लंड निकाल कर नीचे लेट गये, मेरी मम्मी को अपने लंड के ऊपर बिठा कर उनकी चुदाई करने लगे। मम्मी भी ससुर जी के लंड की घुड़सवारी कने लगी, उछल उछल कर चुत चुदाई करवाने लगी.

फिर मैंने अपना लंड हाथ में लिया और उस पर थोड़ा तेल लगाया क्योंकि मैं भी पहली बार चोदने जा रहा था और खुशबू भी पहली बार चुद रही थी. मैं भी अपनी जीभ को चाचा जी के मुँह में डाल कर डीप स्मूच का पूरा आनन्द ले रही थी. मैंने अपने लंड को भाभी की चूत फंसा दिया और भाभी मेरे लंड की सवारी करने लगीं.

अब आगे:इधर नीचे राजेंद्र अंकल मेरी चूत को जोर से अंदर तक जीभ से चाटने लगे, मैं कामुकता के वश में होकर उनके लंड को खुद से बहुत रगड़ने लगी.

मम्मों की जगह थोड़ी चौड़ी पट्टी थी, लेकिन ऊपर के थोड़े चूचे दिखते रहते. करीब पांच मिनट तक चोदने के बाद मैं चरम सीमा पर पहुँच गया और उस से बिना कुछ बोले उसकी चूत में ही झड़ गया. फिर वे मुझसे खुलने लगीं- तुमने किसी को बताया तो नहीं?मैंने कहा- नहीं.

मुझे टेंशन हो गया कि अगर गालों पे निशान हो गए तो मैं अपनी बीवी को क्या जवाब दूँगा. अब उसके विशाल चूतड़ मेरे मुँह के पास थे और चुत बिल्कुल मेरे मुँह में सामने. उस वक्त वह ऑनलाइन तो नहीं थी पर फिर भी मैंने उसे हाय का मैसेज डाल दिया.

फिर मैंने धीरे से लंड का टोपा उसकी चूत के छेद पर टिकाया और एक धक्का लगा कर अंदर पेल दिया, उसकी एकदम से चीख निकल गई.

मेरे चाचा ने अपनी पैन्ट खोल कर उतार दी, उनका लंड एकदम खड़ा था, वो मेरे सामने खड़े हो गए और बोले- बहुत चुदासी है मेरी भतीजी!उनका लंड पहले से ज्यादा खड़ा हो गया, लगता है मुझे दूसरों से चुदते हुए देखना उन्हें बहुत पसंद है. विवेक ने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए, अब विवेक और मैं दोनों बिल्कुल नंगे थे.

बीएफ एडल्ट हिंदी पर तुम्हारे यहाँ ये सब शुरू कैसे हुआ? मेरा मतलब है तुमने सबसे पहले किसका लंड लिया?मयूरी- ये एक लम्बी कहानी है, मैं तुमको बाद में बताऊँगी. मैंने अपनी जेब से रंग निकाला और भाभी की चुत में उंगली से डाल कर चोदने लगा.

बीएफ एडल्ट हिंदी मैंने तिवारी सर का लंड अपने मुँह में ले लिया तो तिवारी और नायडू दोनो खुश हो गए।थोड़ी देर लंड चूसने के बाद तिवारी सर नीचे लेट गये और मैं उनके ऊपर लेट गयी फिर तिवारी ने अपना लंड नीचे से मेरी चूत में डाल दिया और पीछे से नायडू ने अपना लंड मेरी गांड में डाल दिया. अब रात के 2 बजे थे, सब शादी की कारण उधर फंक्शन में थे, उस वजह से घर में उस वक़्त कोई नहीं था.

वो काजल की चूत में लंड डाले हुए वैसे ही थोड़ी देर तक उसके ऊपर पड़ा रहा.

कॉलेज की एक्स वीडियो

तीनों उसी अवस्था में नग्न ही सोफे पर बैठ गए और मयूरी के वापिस आने का इंतज़ार करने लगे. उसने दूसरा धक्का और जोर से मारा और तीन बार में पूरा लंड मेरी चूत में अन्दर तक कर दिया. ’ननदोई जी ने मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे गोरे गोरे मम्मों को अपने मुँह में लेकर चूसने लगे.

मैंने गांड में लंड अंदर बाहर करना शुरू कर दिया और मामी को दर्द से भरा मजा आने लगा. कुछ देर बाद सुभाष उठा और ना जाने कैसे उसका पैर फिसल गया, जिससे वो गिर गया, भाभी उसे संभालते हुए एकदम से घबरा गईं और रोने लगीं. मैंने अपनी गति तेज़ कर दी और मैं उसकी गांड में ही झड़ गया उसकी गांड मेरे रस से भर गई थी.

वैसे भी इतनी टाइट स्कर्ट थी और इतनी छोटी थी कि शायद उसमें एक दो उंगली भी सही से ना जाएं.

उसने ऐसा ही किया तो मैंने उसको अपने लंड पर बिठाया और ज़ोर ज़ोर से झूला झुलाते हुए चोदने लगा. आकांक्षा मेरे इस काम से इतनी खुश हुई कि उसने अपनी पहली सैलरी से मुझे ट्रीट भी दी, मैं खुश था कि वो अपने नए जॉब में खुश थी और धीरे धीरे पवन और उसकी बेवफाई को भूलती जा रही थी. मैं विल्स क्लासिक पीता हूँ, तो वो उसके लिए थोड़ी अलग और हार्ड थी, लेकिन हम इस सिगरेट वार्तालाप पर काफी करीब हो गए थे.

फिर उनके सर आ गए तो उन्होंने मुझे देखा और कहा- तैयार हो जाओ, फिर चलते हैं. दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि साइंस कहती है कि जैसा आंखें देखती हैं, बस मन वैसा जरूर सोचता है तो मुझे पक्का विश्वास था कि मीतू अब चुदने के बारे में सोच रही थी. अब से पहले मैं जब भी आता था तो स्टोर में भैया होते थे या भैया और भाभी दोनों होते थे.

एक दिन बात है, जब मेरे मम्मी पापा 7 दिन के लिए दीदी को लेकर उसकी पढ़ाई के लिए मुंबई सैटिल करने जाने का डिसकस कर रहे थे, पर मुझे घर पर ही रुकना था. मैं घर आकर पैन्ट उतारने लगा तो अंडरवीयर नीचे खिसक गया, जीजाजी का लंड खड़ा हो गया, उन्होंने मुझे फिर अंडरवीयर नहीं पहनने दिया.

मैंने अंकल से पूछा कि आप क्या करते हैं?वो बोले- मैं बीना थाने में टी आई हूँ. तभी हमारे सामने एक कपल आया, उसमें जो लेडी थी वो 24-25 साल की थी और उसका पति मुश्किल से 26 साल का होगा। भाभी का नाम आरजू था और उसके पति का नाम विनीत था. मैंने बिना बात किए हुए लंड पर तेल लगाया और उसकी चुत में आधा घुसा दिया.

दुःख इस बात का है हम लोगों ने 3 साल प्यार किया और 5 बार चुदाई की और तो वो दो बार मेरे साथ भागने के लिए तैयार थी, तो मैंने उसे समझाया था कि अगर किस्मत में अपनी शादी नहीं लिखी है तो कोई बात नहीं, हम लोग बात करना बंद नहीं करेंगे.

आज तो ये आलम था कि अगर मंजरी का बस चलता तो वो पुलकित के लंड को चबा कर खा जाती. नताशा भी नम्र मुस्कान के साथ सहमत हो गई और ओमार ने मुझे नाव किनारे पर ले जाकर उतार दिया और फिर वो कांसे के रंग वाले मोलेट की नाव की और नाव चलाने लगा. तुम बच्चों के रूम में अपना सामान शिफ्ट कर लेना, वो दोनों ट्रिप पर गए हैं.

तो लीजिये पेश है मेरी गर्लफ्रेंड की मॉम की सेक्स कहानी उसी की जुबानी. मैंने एक झीनी सी नाइटी पहनी थी, जिसमें मेरी चुचियां साफ दिख रही थीं.

इसके बाद हम मूवी देखने गए, उस टाइम पूनम ने रेड टी-शर्ट और ब्लैक स्कर्ट पहनी हुई थी. और ऐसा भी नहीं है कि मैं उसकी चुदाई कम करता हूँ हफ्ते में कम से कम 4 दिन चोदता हूँ।तो बताइये दोस्तो, आपको मेरी चुदाई स्टोरी कैसी लगी? कृपया अपने विचार अवश्य दें।[emailprotected]आप मुझे फेसबुक पर भी मिल सकते हैं, मेरी फेसबुक आई डी है :[emailprotected]. क्या नमकीन टेस्ट लग रहा था चूत का…वो जोर से अपने हाथ से मेरा मुँह को चूत पे दबा रही थीं और बीच बीच में गाली दे रही थीं- चूत को चाट ले साले… और मुँह से सिसकारियां ले रही थीं- ओह उम्म्ह… अहह… हय… याह… याह ओह यस ओह…तभी वो अकड़ गईं और मेरे मुँह में उनका पानी आ गया, शायद वो झड़ चुकी थी.

चोदा चोदी बीएफ

शिशिर ने सलमा के पैरों को अपने कंधे पर रखकर लंड को उसकी चुत पर रगड़ना शुरू किया तो सलमा बोली- ओह्ह हय मेरे राजा, क्यों मुझको तड़पा रहे हो.

मेरी बहन की साँसें गहरी गहरी चलने लगी थी और वो अब पूरी तरह गर्म हो चुकी थी, उसने मेरे पैंट की जिप खोल कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया और चूसने लगी. सर्दी और कोहरे में घर से बाहर सड़क तक जाते हुए वाकयी लोग हम दोनों को घूर घूर कर देख रहे थे. उन्होंने लंड चूस चूस कर मेरा माल निकाल दिया पूरा माल अंदर गटक लिया और चाट कर पूरा लंड साफ़ भी कर दिया.

दीदी थोड़ा गुस्से और दर्द में मिलीजुली आवाज़ से मुझे हटने को बोल रही थी लेकिन मैं फुल स्पीड से चुदाई करने में लगा हुआ था. रमेश- पर तुमने ये बात मुझे पहले क्यों नहीं बताया?मयूरी- क्योंकि तुम ये बात समझ नहीं पाते. जाति सेक्सी वीडियो एचडीमैं कॉलेज गई हुई थी कि हमारी टीचर को दिल का दौरा पड़ा और क्लास में ही उनकी मौत हो गई.

अब मेरी जीभ उसकी चूत को लपलप करके चाटने लगी और जितनी गहराई तक भीतर जा सकती थी जाकर चूत में तहलका मचाने लगी. चुदाई करते हुए मैं पूनम की पीठ को चूम रहा था और मम्मों को मसल रहा था.

अब सबसे मुख्य बात : कहानी लिखने में आप अन्तर्वासना द्वारा निर्धारित नियमों का पालन अवश्य करें. थोड़ा सुस्ता लेने के बाद, किड ने दुबारा अपना सामान उसके मुंह में घुसेड़ दिया लेकिन इस बार लंड ना घुसेड़ कर अपने अण्डों को मुट्ठी में इकट्ठा कर मेरी बीवी के मुंह में डाल दिया. ”बेंच पर साथ बैठा कोई न कोई लड़का मेरे स्कर्ट के नीचे से मेरी चड्डी में हाथ डालकर मेरी चूत को सहलाता रहता.

वो भी मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अन्दर की ओर धक्का लगा रही थी और हर धक्के के साथ उसकी आहें निकल रही थीं. अब मेरे बेटे का ट्रान्सफर बंगलौर हो गया है, कंपनी की तरफ से फ़्लैट भी मिला है तो बेटा बहू बंगलौर में ही रहते हैं अब. क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं क्या बोलूँ?वो बोले- क्या करवाने जा रही हो?मैं- आईब्रो ठीक करवाने.

इतने मैं विकास ने पूजा को आँख मार कर कुछ इशारा किया और मुझे ड्राइविंग करने के लिए बोल दिया.

सोफे पर बैठा वह नीग्रो ब्रायन मम्मी की साड़ी से झांकती जांघ को सहलाते हुए चूम रहा था. अब शनिवार का दिन आया तो हमेशा की तरह मैंने अपनी डायरी खोल कर देखा जिसमें उसके साथ के मुलाकात लिख रखा था.

ऑरलेंडो फ्लोरिडा का एक बहुत खूबसूरत शहर है और यहाँ का मौसम काफी हद तक भारत की तरह है. मैंने नहाने के बाद पूरा मेकअप किया और क्लाउड स्टाइल में बालों को रखा. लेकिन मम्मी इस तरह से किसी से पैसे लेकर अपने जिस्म को बेचना धंधा करना कहलाता है.

वो बहुत ही कामुक हो गई थी, वो बोली- भाई, ऐसे कपड़ों के ऊपर से क्या मजा आयेगा, मेरी नाइटी उतार कर मेरी चुची को सहलाओ, मसलो, चूसो!मैंने उसकी नाइटी उतार दी. सच कहूँ तो उसके मम्मों का आकार बहुत प्यारा है, वो एक क़यामत की तरह लगती है. और मेरी दूसरी चूची उसके हाथ में थी, वो उसे मसल रहा था, जोर से हाथ में दबा रहा था।फिर मैंने अपनी चूची अपने बेटे के मुंह से निकाली, उसके हाथ से अपनी दूसरी चूची छुड़वाई और फ्रेश होने बाथरूम में चली गयी।और जब मैं बाथरूम से बाहर आई तब तक रोहण भी उठ कर बैठ गया था.

बीएफ एडल्ट हिंदी फिर मैं मुड़ा तो देखा कि रश्मि भाभी एकदम नंगी बैठी थीं और अपनी चूत में उंगली कर रही थीं. अब मेरे मन में तीन बातें थीं… एक तो पहली बार चोदन का मौका मिला, दूसरी कि मेरी जान कितनी हसीन और जवान है और तीसरी हमें किसी का कोई डर नहीं था कि कोई आवाज़ सुन लेगा.

बीएफ सेक्सी बुर चुदाई

वो थोड़ा पीछे को हुई तो उसकी गांड में फंस गया और वो ऐसे ही मुझे किस करती रही, फिर वो नीचे उतर गयी और मुझे पलट दिया. मेरे प्रिय दोस्तों, मेरा नाम सनी सिंह है, मैं राजस्थान में रहता हूँ. सलमा चूतड़ तेजी से उठाने गिराने लगी और शिशिर भी ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा.

अगले दिन अपने घर में मैंने अन्दर खड़की के कांच से छुप कर देखा, जिसमें से अन्दर से बाहर का सब दिखता था, पर बाहर से अन्दर कुछ नहीं दिखता था. तुम क्या करने लगी थीं?उसने बताया कि वो उससे प्यार करती है और बस दीदी उससे मिलने के लिए आई थी. भाई बहन और मां की सेक्सी वीडियोभाभी ने यह सुन कर मेरी तरफ देखा और कहा- कोई बात नहीं, अगर आप माँ का प्यार नहीं दे पाई तो मैं दूँगी.

मैं दो मिनट रूका और फिर एक धक्का मारा तो पूरा लंड ही अन्दर घुस गया.

ओके डियर फ्रेंड!अवी- आप मुझसे एक बार बात कर लीजिये बस (हाँ बताओ क्या बात है)अमित- खाना खा चुकी हो और मुझे तुमसे मिलना था, किस समय आ जाऊं (हां खा चुकी हूँ और मुझसे क्यों मिलना है. अब अपने लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा, वो पागलों को तरह चादर को नोंचने लगी और बोलने लगी कि जल्दी से लंड डाल दो और मेरी चुत की प्यास बुझा दो.

मौसा जी पूरे गर्म होकर मेरे से चिपक गये और उनके सांसें तेज होकर चलने लगी, मुझसे चिपके होने से मुझे मौसा के गर्म होने का अहसास हो रहा था इसी लिए मैं उनके सीने से अपने पीठ को सटा लिया और अंकल का हाथ मेरे बगल से होता हुआ मेरे मम्मों को टच करने लगा. इस बार जब मैं घर गया तो अपनी ताई के भी घर हो कर आया अपनी बहन से मिलने के बहाने से. मैं बैठ गया और अपना लंड उसकी चूत पर सैट किया और एक दमदार शॉट लगा दिया.

लेकिन वो तो ऐसे थी कि जैसे कुछ हुआ ही ना हो!फिर रीनू आ गयी और वो भी मेरे साथ उन दोनों को देखने लगी, मेरी तो पहले ही हालत खराब हो चुकी थी.

” बुदबुदाते हुए माया दरवाजे की तरफ बढ़ने लगी कि तभी अमित अन्दर आ गया और उसके पीछे था उस्मान. इतने में उन्होंने मुझे झिड़क दिया और मैं हट गया, मगर वो फिर से हंसते हुए बाहर चली गईं. उन की चूत के गरम पानी की गर्मी से मैं भी उनके ही साथ उन की चूत के अंदर झड़ गया और भाभी के ऊपर ही लेट गया.

मध्य प्रदेश सेक्सी पिक्चरमैंने आपको बताया था कि ये हम दोनों का ही पहली बार था, हम दोनों ही नये थे और हमें नहीं पता था कि कैसे करना है. फिर वह थोड़ा ऊपर नीचे होने लगा और मेरी चुचियों को और तेज़ी से दबाने लगा.

सेक्स सेक्सी मूवी हिंदी

अभी मैं कुछ समझ पाता कि भाभी ने नीचे बैठते हुए मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. मेरी मॉम ने भी उस लड़के की पैन्ट की जिप खोल कर उस का लंड बाहर निकाल लिया और उससे खेलने लगीं, उसे आगे पीछे सहला कर जैसे मुठ सी मारने लगी. मैंने वहां एक रूम लिया और हम उस रूम में चल दिए और रूम में जाने के बाद मैंने दरवाजा लॉक कर दिया और लॉक कर के मैंने पूनम से बोला कि पूनम तुम मुझे ये बताओ कि तुम मुझसे कितना प्यार करती हो?तो पूनम ने कहा- शेखर ये भी कोई पूछने की बात है, आप मेरे हज़्बेंड हो और मैं आपको दिल ओ जान से प्यार करती हूँ.

मेरी मॉम की ऊपर को उठी हुई गांड की थिरकन को यदि पीछे से कोई देखे तो उसका कलेजा हिल जाए. वो बोली- जीजा जी, मेरी चुत में डालो, मैं आपका पानी महसूस करना चाहती हूँ. इससे उसकी उंगलियों में लगा वीर्य मेरे मुँह में चला गया, नमकीन सा था और अमित ये सब करके बहुत तेजी के साथ दरवाजा खोल के चला गया.

मेरी ये हिंदी सेक्स कहानी कैसी रही? अन्तर्वासना पर कमेन्ट जरूर कीजिएगा. लेकिन आप लोग रिप्लाइ ज़रूर करके बताना कि यह चुदाई कहानी कैसी लगी।मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]. अब मैं कभी उसकी चूची चाटता तो कभी निप्पल पर जुबान फेरता, इससे उसकी आवाज़ बढ़ती जा रही थी तो मैंने अपने एक हाथ से उसका मुँह बंद किया.

ट्रेन चलने लगी तो मेरा लंड उसकी चूत से निकल गया, जब ऐसा हुआ तो आरजू रोने लगी लेकिन अचानक कुछ दूर चल कर ट्रेन रुक गयी और मैं गेट पर ही था और मेरा लंड भी बाहर था जो 7″ का था, जब ट्रेन रुकी तो आरजू ने विनीत को बोला और फिर विनीत आरजू को अपनी गोद में लेकर मेरी तरफ आने लगा. अब मेरी साइड से चूचियां दिख रही थीं और मेरी पीठ पेट भी साफ़ दिख रहा था.

आठ दस बम पिलाट झटकों के बाद मैं झड़ने वाला हुआ तो मैंने उन्हें बिना बताए उनकी चुत में लंड झाड़ दिया.

मेरी उम्र 21 साल की है, कद 5 फीट 11 इंच है और रंग गोरा तो नहीं, पर ठीक ठाक है. ससुर पत्तों की सेक्सी वीडियोमेरी भाभी दिखने में बहुत सेक्सी हैं, मुझे उन के होंठ चूचे और चूतड़ बहुत सेक्सी लगते हैं. सेक्सी पिक्चर वीडियो संगीतइसके बाद आप बताएं कि कहानी में विभिन्न पात्र आपस में कैसे मिले, कैसे उनमें निकटता हुई, कैसे उनके बीच में प्यार/रोमांस हुआ, उनके बीच की लज्जा हटी. उन्होंने मुझसे से कहा कि मैं दो दिन बाद ही आऊंगा तब तक सबका ध्यान रखना.

पर मैं रुका नहीं; मैं धीरे धीरे आगे पीछे होने लगा और और वो भी उस दर्द के मज़े ले रही थीं.

तभी आंटी का लड़का कुछ दूसरे लड़कों के साथ बस से उतर गया और नीचे और लड़ाई के मज़े लेने लगा. और जैसे ही उसने मेरा व्यवसाय पूछा तो मैंने उसे बताया कि मैं पेशे से एक जिगोलो हूँ!उसे जिगोलो के बारे में पता नहीं था, वो रुक गई और उसने मुझसे पूछा- ये जिगोलो क्या होता है?तो मैंने कहा- आप जिगोलो नहीं जानती?वो बोली- नहीं!तो मैंने बताया कि जिगोलो एक मेल सेक्स वर्कर होता है जो असंतुष्ट स्त्रियों एवं लड़कियों को शारीरिक रूप से संतुष्ट करता है और औरतें और लड़कियाँ उसे फीस देती हैं. वैसे मेरा भाई कई बार रात में सोते वक्त कामुक आवाजों में सीत्कार सी करता था, शायद वो नींद में कुछ चुदाई के सपने देखता होगा.

मैं- यहां क्यों लेकर आए हो महेश? क्या बात है अब मुझे बताओगे भी?महेश- दिव्या, काफ़ी दिनों से मैं तुम्हें कुछ कहना चाहता था, मगर सोचता हूँ तुम्हें बुरा ना लगे. तभी एक जो करीब 25 साल का लड़का था, बोला- अंकल आप अपनी भतीजी को?चाचा बोले- पहले थी… पर इसके हुस्न ने मुझे पागल बना दिया, आज से ये मेरी बीवी है, मेरी रखैल है. मौके का फायदा उठा के उस्मान ने माया की नाभि के नीचे अपनी उंगली फिरा दी.

कुत्ता का बीएफ सेक्सी

मैंने चूत चाटते हुए उसे उसकी मॉम डैड की चुदाई कैसे देखी, के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि एक दिन रात को उसने मॉम डैड को चुदाई करते देख लिया था तब से वो चुदासी हो गई है. भाभी- अच्छा तो मैं अपने मुँह से चूस कर तुम्हारा लंड ठण्डा कर दूँगी. कहानी का पहला भाग:ननद को अपने पति से चुदवाया-1अब तक आपने इस चुदाई की कहानी में पढ़ा कि मेरी ननद मुझे अपने पति सागर के बड़े लंड से चुदते हुए देख रही थी.

रमेश- पर तुमने ये बात मुझे पहले क्यों नहीं बताया?मयूरी- क्योंकि तुम ये बात समझ नहीं पाते.

तभी भाभी के पापा बोले- जल्दी उठो आरती, तुम जाओ, किचन में अपने कपड़े पहनो जल्दी, तुम्हारी मम्मी आ गई।मैं भागी, जल्दी जल्दी अपने कपड़े पहने, 2 मिनट के अंदर मैं तैयार हो गई.

पहले थोड़ा अपने बारे में बता दूँ कि मैं एक स्मार्ट लड़का हूँ और मेरा नेचर शुरू से ही फ्लर्ट करने वाले जैसा रहा है, पर मुझे लड़कियों से ज्यादा मैरिड लेडीज में ही इंटरेस्ट है. बातों ही बातों में उसने मुझे बताया कि उसने शायद काफी टाइम से सेक्स नहीं किया क्योंकि उसकी बेटी अब खुद जवान है और काम के बोझ में वो खुद को टाइम नहीं दे पाती. हिंदी वीडियो सेक्सी डांसवहाँ से वापस आकर वो मुझसे पूछने लगी- तुम बाथरूम में मूठ मार कर आए हो क्या?मैं उसके इस सवाल से सकपका गया और हकबका कर बोलने लगा- वो वो… हाँ ना…फिर वो कहने लगी- मुझसे कह देते भाई, मैं अपने हाथ से करा देती.

भाभी जी ने मुझे अपनी पूरी शादी के बाद सुहागरात की चुदाई की बात बताई. इसके बाद उसने मेरी चुदाई शुरू की और करीब आधे घंटे तक वो मुझे चोदता रहा. पिताजी की उम्र 45 वर्ष है जो कि एक निजी कंपनी में मार्केटिंग की जॉब करते हैं और मैं हूँ.

मैं सुबह जल्दी उठी गई और दरवाजे की चौखट पर देखा कि एक पैकेट पड़ा था. ऐसी बातें प्रबुद्ध उच्च वर्गीय पाठकों के मन में ऊब और वितृष्णा या अरुचि ही पैदा करती हैं अतः ऐसी अतिश्योक्ति से बचना चाहिए.

मूवी खत्म होने वाली थी इसलिए हम दोनों को ये खेल बीच में ही छोड़ना पड़ा और अपने कपड़े ठीक करके हम बाहर निकल आए.

मैंने भी अपना लंड साफ किया और शावर बंद करके एक दूसरे को टॉवेल से पौंछा. मेरे ऊपर आते ही दीदी पागलों की तरह ऊपर नीचे होने की कोशिश करने लगी लेकिन ऐसा लगा जैसे दीदी इस खेल से थोड़ी अंजान थी, मैंने खुद दीदी की टाँगों को पकड़ा और उनके घुटनों को मोड़ कर बेड से लगा दिया. भाभी ने अपनी ब्रा पेंटी ब्लाउज और साड़ी ली और मैं भाभी को अपनी गोदी में ले कर उनको कमरे में लाया.

सेक्सी घोडे मेरा तो दिमाग़ ही खराब हो गया, इतने खूबसूरत चूचे थे, इतने गोरे गोरे कि मेरा तो लंड सीधा खड़ा हो गया. मैंने भी देर न करते हुए लास्ट झटका जोर से मारा और मेरा पूरा लंड उसकी नाज़ुक सी चूत ने समा लिया.

दुबारा में तो आठ दस धक्कों के बाद ही मेरा लंड उनकी चूत के सटासट अन्दर बाहर होने लगा. मैं- एड्रिआना, क्या आज की रात तुम यहाँ रुक सकती हो अगर तुम्हें कोई परेशानी ना हो तो?एड्रिआना- क्या? तुम मुझे यहाँ रुकने को क्यों बोल रहे हो? क्या तुम्हारे मन में कुछ गलत तो नहीं?मैं- नहीं एड्रिआना… मैंने आज तक कभी किसी को इस तरह नहीं पूछा लेकिन ना जाने क्यों जब से आप मिली हो, लगता ही नहीं कि हम पहली बार मिले हैं. भाभी बैठ गई और निपटने के बाद अपने चूतड़ धोकर खड़ी हुई तो मुझे भाभी की चूत फिर दिखाई दी.

ससुर बहू की बीपी

जब वो बस में चढ़ी और सीट तक गईं, उतनी देर तक सब बुड्ढे उनकी गांड और हिलते हुए मम्मों को देख कर मजा कर रहे थे. अब भाभी का कामुक बदन मेरी नज़र में चढ़ गया, मुझे लगने लगा कि भाभी मेरी प्यास बुझा सकती हैं. मैंने उनसे पूछा कि क्या आप भी पियोगी?भाभी बोलीं- मैं वोड्का पियूंगी.

अब उसकी चूत से खून निकल रहा था, जो प्रमाण दे रहा था कि हम अब वर्जिन नहीं रहे. मैं समझ गई कि महेश क्या देख रहा है फिर भी मैंने महेश से पूछा- क्या देख रहे हो महेश?तो उसने ‘कुछ नहीं.

मैंने पूछा- जी, कौन शीतल? मैंने पहचाना नहीं!फिर उसने बताया कि वो ही जिसने पार्क में आपका नंबर लिया था.

मीना- सच कहूँ तो भैया मेरे पहले से 2 ब्वॉयफ्रेंड हैं, एक आपके जीजू का दोस्त है और एक हमारे बिल्डिंग का बिना शादीशुदा लड़का है. मैं सोचने लगी कि कुछ तो खास बात होगी मुझमें और मैं अपने आप में ही खुश होने लगी कि पहली बार किसी लड़के से मैं उपहार लूँगी. बिस्तर पे जाते ही ही उसने मुझे धक्का दे दिया और मुझे बिस्तर पे गिरा कर मुझ पे चढ़ गई.

उसने कहा कि सोचने में जितना समय लेना है ले लो, बस जवाब हाँ में देना. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी लाल या काले रंग की फिशनेट स्टाकिंग्स पहनें… गार्टर बेल्ट के साथ बिना अंडरवियर के!9. रोज किसी ना किसी बहाने स्नेहा भाभी के घर जाने लगा और कभी उन्हें नहाते या कभी कपड़े बदलते देखने लगा.

सोनी बहुत ज़्यादा उसूलों वाली लड़की जिसके बारे कभी गलत सोचा भी नहीं जा सकता था.

बीएफ एडल्ट हिंदी: क्योंकि एड्रिआना मेरे लिंग मुंड के छिद्र को अपनी जुबान से किलकार रही थी और पूरे लंड को खोल कर सुपारा चूस रही थी. फिर दो मिनट बाद मैंने उनकी चूत पर अपना लंड को लगाया और जोर से झटका दे दिया.

मैंने गीतांजलि से पूछा- कैसी हो और यहाँ कैसे खड़ी हो?उसने कहा- मैं सिमरन के घर जा रही हूँ। क्या आप भी उसके घर जा रहे हो?मैंने बताया कि मैंने उसके इंस्टीट्यूट में इंगलिश बोलने का कोर्स करना था जिसके लिये एडमीशन फॉर्म फिल करना है, इसलिये उसने मुझे आज अपने घर बुलाया है, मैं वहीं जा रहा हूँ. स्टेशन पर बहुत भीड़ थी, मैं कुछ खास नहीं कर सका बस हल्का सा हग किया और सामान लेकर टैक्सी में बैठ गए और सीधे सुमीना के घर आ गए. सारी रात हमारी चुदाई का खेल चलता, ऐसे फ़िर मैंने उसे लगातार 3 साल तक हर स्टाइल में चोदा और इतना चोदा कि उसका पति उसे सारी उम्र नहीं चोद पाएगा.

वो जैसे ही मेरे पास आया तो उसने देखा कि मेरा लंड बाहर ही है, आरजू उसकी गोदी में थी, अभी भी और जब मेरे पास आया तो उसने आरजू की चूत को मेरे लंड पर रख दिया फिर मैं उसे चोदने लगा।आरजू मुझसे लिपट गयी और रोने लगी, मानो उसे प्यार हो गया हो, वो मुझे लिप किस करने को बोली.

मामी ने पापा को कहा- अब माया बड़ी हो गई है, अब तक कोई रिश्ता ढूंढा कि नहीं?मैं शरमा कर अन्दर चली गई और वो बातें करते रहे. अब उनके चेहरे पर जो खुशी थी, उस वक्त वो खुशी मैं भी महसूस कर रहा था. तब तक मेरा लंड टाइट हो चुका था और ऊपर से उनकी गांड के छेद में अड़ गया था.