कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,नगरपालिका सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

नोट की चुदाई बीएफ: कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ, हमने नाश्ता किया और सविता मनोज से अलविदा कह कर वापिस आ गये फिर मिलने का कह कर!रात को मेघा और मनोज के बीच क्या हुआ, वो अगली कहानी!मेरी पोर्न स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल करें![emailprotected].

स्टेज शो सेक्सी

पर हमने तय किया कि हम सिर्फ उसी दिन एक दूजे को देखेंगे जिस दिन हम सेक्स करेंगे उससे पहले कोई फोटो तक नहीं देखेंगे. सेक्सी वीडियो चुदाई न्यूसुबह चारों एक साथ नहाये और सबीना जमीला और रफीक मुझे रेलवे स्टेशन छोड़ने आये.

वो भी खुश है और मैं भी!मेरी अन्तर्वासना हिन्दी स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल करें![emailprotected]. गुजराती सेक्सी व्हिडिओ सेक्सीवो मैं भी करना चाहती हूँ, लेकिन आज मैं नहीं कर सकती, मेरे पीरियड चल रहे हैं.

मेरी ‘हाँ’ सुनते ही उसने एकदम से मेरे होंठों पर किस लिया और मेरी गोद में आकर सीने से सीना लगा कर बैठ गई.कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ: संगीता ने अपनी जीभ निकाल कर जमाई राजा के लंड पर चमकते हुए उस मोती को अपनी जीभ पर ले लिया और मुँह में लेकर उसका स्वाद लिया.

चाची झट से बोलीं- मैं भी फिल्म देखूंगी, मैं बच्चों को सुला कर आती हूँ.तुझे मेरा लंड लेना है तो बता, नहीं तो निकल ले!मैंने कहा- यार, आपका लंड तो बहुत अच्छा है, चूसने में बड़ा मज़ा आता है लेकिन मैं गांड में नहीं लेता, मुझे बहुत दर्द होता है, और वैसे भी मैं किसी और को चाहता हूँ.

रेप वाला सेक्सी - कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ

सो मैंने नशीले अंदाज में कह दिया- जान, मैंने आपके कपड़े उतारे हैं, तो अब आपकी बारी है.उसने अपना नाम सुमन बताया और हम दोनों ने अपने मोबाइल नंबर एक दूसरे को दे दिए थे.

इतने में भैया बोले- देखता क्या है, साले चोद ले अपनी भाभी को!इतना सुनते ही मैं सीधा भाभी के नंगे शरीर पर टूट पड़ा और उनकी चूत को चाटने लगा. कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ मेरे चूतड़ों को काफी मसलने के बाद वह अपना हाथ मेरे लोवर में आगे की तरफ ले आया जहाँ पर उसके हाथ में मेरा लंड आ गया.

मुझे मेल करने के लिए नीचे दी गई मेल आई डी पर मेल करें और ध्यान रखें कि इस ईमेल आई में अंत में याहू डाट कॉम है.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ?

हेमा आगे कुछ बोलती तब तक सुमन वहां से निकल गई और सीधे टीना के घर जा पहुँची. उन्हें मेरा स्वीट बाइट अच्छा लग रहा था। मैं उनके गाल पर, उनकी ठोड़ी पर, उनके होंठों पर स्वीट बाइट दे रहा था। वे उसका पूरा इंजॉय कर रही थी।अब मैं अचानक नीचे आ गया और उनकी चूत को दोनों हाथ से फैलाया. साथ ही वो लंड की गोटियां भी चूस रही थी और गुलसन जी मजे की अलग ही दुनिया में खो गए थे.

उसी वक़्त जॉन वहां से गुजरा और उसकी नज़र जब फ्लॉरा पर गई, वो एकदम नंगी थी. मैंने बड़ी मुश्किल से उसे लंड चूसने के लिए मनाया उसको लेकिन वह खड़ा ही रहा, बैठा नहीं. मैंने उसे फिर बेड पर कमर के बल लिटाया और उसकी टांगों को अपने कन्धों पर रख कर चोदने लगा.

ये चाय छानने के लिए चले गए तो मैंने जोर दिया- बोलो न मनोज, क्या बात है? कैसे कम चल रहा है?वो बोला- फिर कभी बताऊँगा!कह कर बाथरूम चला गया और ये भी चाय लेकर आ गए. अब झड़ने की मेरी बारी थी तो मैंने लंड बाहर निकाल कर उसके पेट पर माल गिरा दिया. मैं भी बोली- गिरने दीजिए, मुझे भी देखना है कि लंड से कैसे रस निकलता है.

मैंने उनकी आंखों में देखा तो उनकी आंखों में मुझे दर्द का एहसास हुआ. तत्पश्चात बकरे की दाढ़ी वाले चंगेज़ ने मेरी भार्या की गांड को मांजने की हद तक चाटना शुरू कर दिया, और अंत में अपने मुंह से थूक का मोटा सा लेवड़ निकाल कर मेरी धर्मपत्नि की गांड पर थूक दिया.

‘तुम नल्लों को किसने काम पे रख लिया बे… ज़रा हम भी तो सुने!’ तिवारी ने कटाक्ष करते हुए पूछा.

फिर मैंने चाची को लिटा दिया और खुद उनके ऊपर लेट गया और किस करने लगा.

मुझे जॉब के सिलसिले में कई बार बाहर जाना पड़ता है तो एक बार करीब एक वर्ष पहले मैं मध्यप्रदेश के एक छोटे से शहर नीमच 15 दिन के लिये गया. ऋतु झुकी और अपने गीले मुंह में मेरा लंड ले लिया और अपनी टाँगें उठा कर घुमाते हुए बेड पर फैलाई और उसकी चूत सीधे मेरे खुले हुए मुंह पर फिक्स हो गई. वह पेशेंट को दवाई देने लगा, ब्लड प्रेशर चेक करने लगा और मैं उसके पास ही खड़ा हो गया और उससे कुछ पूछकर बात करने की कोशिश करने लगा और मौका मिलते ही मैंने उसे छू लिया.

मैंने सुनीता की ओर देखा, वो मुस्कुरा दी। उसकी मुस्कान में भी इतराना था, जैसे वो अपने बड़े बड़े मम्मों पे नाज़ करती हो।मैंने सैंडी का मम्मा अपने हाथ में पकड़ कर दबाया- नहीं आंटी जी, सैंडी के मम्मे भी अच्छे हैं. मेरे पति को ऐसे ही सेक्स करना अच्छा लगता है और मुझे भी कोई ऐतराज नहीं है!मेरे उम्र 29 साल है मेरे नवीन 32 के हैं. बच्चों के स्कूल जाने के बाद मैं चाची को नंगी ही रखता और खुद भी नंगा रहता.

उनकी तबीयत ठीक नहीं तो यहाँ रुक गई थीं और उन्होंने पापा को कॉल पर बता दिया था.

मेरी क्लास की बाकी लड़कियां पार्टियों, डिस्को में जाया करती थीं, पर मुझे कभी भी मन नहीं किया. भाभी के लंड पकड़ते ही मेरे लंड ने एक तुनकी सी मारी, भाभी मेरी आँखों में देखते हुए मुस्कुराईं तो मैंने आँख मार कर अपने होंठों पर बड़े ही अश्लील भाव से जीभ फेरी. उसने भी मुझे कुछ ज्यादा ही टाइट हग किया, फिर मुझे ऊपर से नीचे तक देखते हुए उसने कहा- वाओ, तुम तो आज बिल्कुल बॉम्ब शेल लग रही हो.

कुछ देर मामा बोले- रुक जाओ!मैं समझ गयी कि मामा जी का रस गिरने वाला है, मामा ने मेरी गांड से लंड निकाल लिया और फिर से घोड़ी बनने को बोले. कई चित्रों में चूत में लंड घुसा था और चूत की शान में कई शायरी भी लिखीं थीं. मेरे खड़े लंड को अपने हाथों में पकड़ कर उनके ऊपर की चमड़ी को हटा कर मेरे लाल लाल सुपारे को देखने लगीं.

मगर बारी-बारी से सबने उसके साथ डांस किया। विक्की ने कई बार उसकी गांड को सहलाया मगर फ्लॉरा इन सब की हरकतों को एंजाय कर रही थी।फिर संजय को लगा अब फ्लॉरा गर्म हो गई है तो उसने अजय को इशारा किया कि शुरू हो जा।मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं.

ये देखने के बाद मैं हिल गई थी, पर मैंने अपने आपको संभाला और वापस किचन में आ गई. इस पार्टी का नियम है कि एक बार तुम ऐसी पार्टी का हिस्सा बन गई तो तुम किसी को भी मना नहीं कर सकती। जिसे तुम पसंद आयी वो तुम्हें चोद के ही मानेगा! भले वो एक हो या पूरे सौ!मैंने अपनी आँखें तरेर के कहा- यार रिया, ऐसे कैसे किसी भी लल्लू से कोई लड़की चुदवा लेगी यार?तो उसने कहा- ऐसे किसी को भी एंट्री नहीं मिलती यहाँ। सब कुछ वेरीफाई करने के बाद ही आपको परमिट मिलता है.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ फिर मैंने इस दौरान भाभी के मम्मों को भी चूसा और जोर से लंड के दमदार झटके देने लगा. मैंने- आपको बात करना पसंद नहीं है क्या? रिप्लाइ ही नहीं करती हो आप?भाभी- मैंने कहा था ना.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ प्राची भाभी ने कहा- पूरे खानदान की छोड़ … पहले मुझे तो संतुष्ट करके बता. तकरीबन 10 मिनट बाद वो झरने को आया तो बोला- निकी, अब मेरा छूटने वाला है.

मैं भी अब उन्हें चोदने को बेताब था इसलिए उनकी दोनों टाँगें ऊपर करके बीच में आकर अपना लंड सेट किया और एक जोर के झटके के साथ ही अपना आधे से ज्यादा लंड अन्दर पेल दिया.

गांड में लंड डालने वाली सेक्सी वीडियो

तभी राजीव ने अपने लंड को मेरी हाथ से छुड़ाकर मेरी चूत में और मॉन्टी ने मेरे मुंह में लंड डाल दिया और फिर से दोनों चोदने लगे. मैं छुड़ाने की कोशिश करनी लगी लेकिन मैं असमर्थ थी और मन ही मन सोच रही थी कि सुन्दर होना भी एक गुनाह ही है. वो सोफे पर अपने पैर पसारे हुए बैठा था और मैं उसके ठीक सामने खड़ी थी.

वो मदहोश हो रही थी।फिर मैं 2 उंगलियां डालकर कर चोदने लगा। उसकी भी ये पहली चुदाई थी तो उसके भी आनन्द का ठिकाना नहीं था। वो अपने चूतड़ों को उछाल-उछाल कर खुद को ही चुदवा रही थी।मैं उसकी चुत का रस भी चाट रहा था। साथ ही उसकी जीभ को अपने मुँह से चूस रहा था। इसके बाद मैंने 3 उंगलियां डालकर उसकी चुत की चुदाई स्टार्ट की. मैं- अगर मैंने दवाई खाई हो, तो तुम्हारी चूत को कोई ऐतराज़ होगा क्या?इस पर भाभी ने हंस कर कहा- अरे नहीं ऐतराज़ कैसा … बल्कि मैं तो खुद दवाई खाकर आई हूँ … ताकि आज रात का पूरा मजा ले सकूं. रात के करीब 2 बजे का टाइम था और मेरे साथी सो चुके थे लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी.

घर में अन्दर तो आ जाओ।मैंने एक कातिल मुस्कुराहट दी और मैं अन्दर गया और भाभी से पूछा- आपके घर में कोई नहीं रहता क्या?तो उन्होंने कहा- मेरे पति बंगलोर में रहते हैं, वे महीने में एक बार आते हैं और महीने भर मैं सेक्स से भूखी रह कर तड़पती रहती हूँ।मैं- कोई बात नहीं अब आपको और नहीं तड़पना पड़ेगा.

मैंने खुद को मानसी से अलग किया तो पाया कि मानसी के होंठ बेतहाशा काँप रहे थे और वो मदहोशी की हालत में कुछ बड़बड़ा रही थी. प्रिय अन्तर्वासना पाठको, मेरा नाम मनोज है, मैं आगरा का रहने वाला हूँ. इसके बाद मैंने भाभी के मम्मों से चुसाई शुरू की और धीरे-धीरे भाभी के दूध पर हर तरफ चूसता चला गया, जिधर डेरीमिल्क लगाई हुई थी.

उसकी सिसकारियों की आवाज़ बढ़ती जा रही थी और साथ में उसके बदन का ताप भी. उस रात मैंने भाभी की दो बार चुदाई की और अपनी बीवी की एक बार चुत चोदी. फिर मैंने उसकी नाइटी उतार फेंकी और देखा कि उसने नीचे पिंक कलर का ब्रा और पैंटी का सैट पहन रखा था.

मैंने हिम्मत करके एक किस उनकी जाँघों पर और एक गाल पे किया और फिर सो गया. जब मेरे लंड से पानी निकलने को होगा तो मैं बता दूंगा और आप लंड को बाहर निकाल देना.

यहाँ किसी को भी कपड़े पहनने की जबरदस्ती नहीं है, कोई भी अपनी मर्जी से पार्टनर चुनता है. अब बचे दो लड़के, उस दोनों ने मेरे दोनों हाथों लंड पकड़ा दिया और आगे पीछे करने को बोला. वो बोला- तुम तो भीग गई हो? शमीज को उतार कर सुखा लो, घर जाओगी तो मम्मी पूछेगी.

अपनी बीवी को दो-2 मोटे लंड को इकट्ठे चूसता देख मैं तो पागलपन की हद तक उत्तेजित हो उठा था! मैंने न सिर्फ अपने धक्कों कि गति बढ़ा दी थी, इसके साथ-2 मैं नताशा के क्लिट पर भी समय-2 पर अपने उत्तेजित लंड के टोपे से चपत लगाने लगा था.

मैंने हिम्मत करके एक किस उनकी जाँघों पर और एक गाल पे किया और फिर सो गया. यही सोचता हुआ मैं बाहर आया और फिर से वही हेल्प डेस्क की तरफ गया लेकिन वह वहाँ नहीं था. फिर वो नहा कर बाहर आईं तो मैं अन्दर चला गया और आज पहली बार मैंने दीदी के नाम से मुठ मारी, तब जाकर लंड को कुछ शांति मिली.

इससे पहले वो रांड कुछ कहती, मैंने अनुराधा को बाइक पर बिठाया और हम भाग निकले. वहाँ पहुँचते ही भैया भाभी बहुत खुश हुए और दोनों ने मेरी बहुत अच्छी खातिर की.

मैंने अपना लंड वहाँ रखा और जैसे ही अंदर को धकेला, मेरा लंड किसी गीली, गरम और बड़ी मुलायम सी जगह में घुस गया. बात उस समय की है, जब मैं नागपुर में सन 2007 में अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहा था. तो मेरे प्यारे देवर जी, तुम रोज ही आ जाना और अपनी भाभी को चोद लेना।दोनों काफ़ी देर तक सेक्सी बातें करते रहे। फिर सुधीर मोना के ऊपर आ गया और एक बार फिर चुसाई का खेल शुरू हो गया।मोना- आह अब मत तड़पाओ.

अनुष्का सेक्सी व्हिडिओ

मैंने भी अपनी टाँग को ऊपर उठा कर मामा को लॉक कर लिया, जिससे मेरी चूत और कस सी गई.

सुमन- क्या हुआ दीदी आप मुझे ऐसे क्यों देख रही हो?टीना- देख रही थी ऐसे तो बहुत भोली बनती है तू मगर आज जो संजय के साथ मज़े ले रही थी. वो बोलीं- बेटा, चोद ले मुझे… आज मैं तेरी हूँ… बस आज के लिए ही हूँ… वैसे भी कई दिनों से लंड की प्यासी हूँ. मेरी कहानीकॉलेज गर्ल की चुदाई की कहानी हिंदी मेंको पढ़कर किसी पाठिका ने यह कहानी भेजी है, आप भी पढ़ें और आनन्द लें!मंजू शर्मामेरा नाम साबिया है.

और दूसरी बात मैं किसी को कैसे कहूँ कि मेरे साथ चुदाई करो?मीना- मेरी जान. मैं उसके नथुनों से निकलती गर्म साँसों को अपनी गर्दन पे महसूस कर रहा था और बहुत खुश था क्योंकि ये सब मेरी ही तो प्लानिंग थी. गरासिया का सेक्सी वीडियोइसके बाद से मैं कोई ना कोई बहाना ढूँढ रहा था कि कैसे फिर से चाची की चूचियों के दर्शन हों.

जैसे ही उसने अपना मुँह खोला मैंने लंड के सुपारे को उसके मुँह में डाल दिया. इस कहानी में रूबी ने हमारी एक बंगालन पड़ोसन की बात की थी जिसका पति फिसड्डी था और वो किसी स्पर्म बैंक से कृत्रिम गर्भाधान करवाने की सोच रही थी.

पत्नी से हर दूसरे दिन सेक्स करता, इस बीच जब कभी मौका मिलता तो मौसी को भी पेल देता. कुछ पल रुक कर अपने आपको ठंडा करने के लिए मैंने फव्वारा स्टार्ट किया. वह अपना सर नीचे पटक रही थी, मेरी जबान उसके निप्पल्स पर जब चलती तो उसका रोम-रोम खड़ा हो जा रहा है.

ये जगह और हालत सही नहीं है वरना मैं तुम्हारी सारी गर्मी अभी निकाल देता. मैं अन्तर्वासना पर रेगुलर हिन्दी चुदाई की कहानी पढ़ता हूँ और पोस्ट भी करता हूँ. परन्तु नेहा को चूत चुदवाते हुए ऐसे सुलेखा को किस करने से हमें थोड़ा दिक्कत हो रही थी तो नेहा ने अपने होंठ सुलेखा के होंठों से निकाल लिए और नेहा जोर जोर से सिसकारती हुई अपनी चूत मनोज से चुसवाने लगी.

मैंने लंड को मेरे गुलाबी होंठों के बीच पकड़ लिया और अपने गले की गहराइयों को नापने लगी.

ऋतु ने उसे फिर भी नहीं छोड़ा और पूजा के उठते हुए चूतड़ों के साथ वो भी उठ गई और रसपान जारी रखा. हालांकि उसके साथ इन अनैतिक रिश्तों की शुरुआत उसी की तरफ से अनजाने में ही हुई थी फिर बाद में वो और मैं दोनों चुदाई के इस सनातन खेल में लिप्त हो गए थे.

मैंने फोन सुनने के बाद ये बात मौसी को बताई, तो मौसी अपनी व्हील चेयर से उठ कर बेड पे लेट गई और बोली- आ मेरे राजा, आज तुझे लड़के से मर्द बनाती हूँ. मैंने अपना हाथ को आगे बढ़ाया, मामी ने मेरे हाथों से अपने चूचों को खूब दबवाया. कविता ने आज बहुत दिनों के बाद व्हिस्की ली थी तो उसे सुरूर सा हो रहा था.

मैंने उन्हें पूछा- मुझे अकेले सोने नहीं दोगी?वे बोली- नहीं! इन 2 दिनों में तुम जो भी करोगे, हम दोनों साथ मिलकर करेंगे. मेरी कामवासना अधूरी रह गई थी, मैंने बाथरूम जा कर अपनी चूत को साफ़ किया और आकर बेड पर लेट गई. वो कुछ देर बाद जब भाभी वापिस ठीक हुईं तो मैंने अपना पूरा लंड भाभी की चुत में पेल दिया.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ इतना कहते हुए सुमन उठ गई और बहुत आराम से पीछे मुड़ी ताकि गुलशन जी को संभलने का मौका मिल जाए और वो लंड जो तना हुआ है उसे वो छुपा लें. तो भाभियाँ चुदाई की एक्सपर्ट्स होती है और एक्सपर्ट्स की सलाह हमेशा लेनी चाहिए।ये कहानी काजल भाभी की है.

सेक्सी फोटो सेक्सी सेक्सी फोटो

इसलिए अब तक जितने भी लोगों से दोस्ती की है और जिनसे रिलेशन बने, वो हमेशा मेरी रिस्पेक्ट करते है और मैं उनकी. जॉन ने एक और जोरदार झटका मारा अबकी बार पूरा लंड बुर में खो गया और उस झटके के साथ एक चीख कमरे में गूँजी. करीब 5 मिनट ऊपर नीचे-होने के बाद मेरा लंड गीली चुत की वजह से स्लिप करके बाहर निकल गया।मैं- भाभी आप लेट जाओ.

’ की आवाज निकली और फिर चुप हो गई, पर अब भी वो मेरा साथ नहीं दे रही थी. हाँ मगर उसने उस रात पार्टी में हुई चुदाई की पूरी कहानी टीना से सुन ली थी और वो गर्म हो गई थी. शिल्पी राज सेक्सी videoफिर मैंने इंटरनेट पर सर्च किया तो बहुत सारे हेयर रिमूवर दिखे पर उसके लिए मुझे मार्केट जाना पड़ता.

आह चुद गई रवि तेरी रानी… चोद दी साले तेरे यार ने उई आह आह… मादरचोद बस बस बस.

खैर नहा कर बाहर आयीं दोनों… रीना ने ड्रायर से अपने और कविता के गीले बाल सुखाये. उसकी चुत की मांसपेसियां सिकुड़ने लगीं और उसका पानी लावा बनकर फूट पड़ा.

वो मुझे देख कर बनावटी गुस्सा दिखाने लगी और मैं आगे से मुस्कुरा दिया. आआआआ… आज तुम मुझे मार डालोगे! स्सस्सस्स!”उम्म्म्म म्म चूत में से पानी आने लगा है मेघा… क्या सुगंध है!”और कितना तड़पाओगे? अब इस में कुछ डालो!”आआअ स्स्स्स स्स्स्स मर गई!”अभी कहां, मुझे अभी दूध भी पीना है. क्या बात है आज ऐसे अचानक कैसे? वो भी इतने महीनों के बाद?मीना- अब सारी बात यहीं बताऊं या अन्दर भी बुलाएगी?मोना और मीना अन्दर आ गए और मीना ने मोना को देखते ही पहचान लिया कि वो अभी रोई हुई है, उसकी आँखें सूजी हुई थीं.

हो सकता है जवानी के जोश में वो बहक गई हो और यहाँ आने के बाद जरूर उसने अपने किये पर शुरू से आखिर तक सोचा होगा और पछताई भी होगी.

दाएं हाथ से उसने मेरी पैंट टहोक कर उसकी जिप खोलते हुए मेरा खड़ा लंड स्वतन्त्र कर दिया. चंदन ने देखा कि पहला चूचुक काफ़ी देर तक चूसने के कारण काफ़ी फूल गया था. लेकिन जैसे ही वो पीछे मुड़ीं, तो देखा उनके कपड़े पूरे चिपक गए थे और पूरा फिगर साफ दिख रहा था.

गांव की बूढ़ी औरत की सेक्सीमैंने भी देर ना करते हुए अपना लंड उसकी कुंवारी चूत पर रखा और झटका लगा दिया. विकास ने भी अपना मुंह मेरी बहन की चूत में दे मारा और उसे काफी तेजी से चाटने लगा.

राज शर्मा की सेक्सी कहानी

”ये मोर पंख से क्या करोगे?”बस देखती जाओ!”आआ गुदगुदी हो रही है… मत करो न!”उम्म्म्म स्स्स्स उईईइ आआआ स्स्स्स चूत में गुदगुदी मत करो, मैं तड़प रही हूँ. चाची की शादी को वैसे तो 12 साल हो गए हैं… पर इन 12 सालों में चाची को चाचा ने उतना नहीं चोदा होगा, जितना मैंने पिछले 7 सालों में चोद दिया. उसने मेरा अंडरवियर भी उतार दिया, अब मेरा 6 इंच का लंड उसके सामने था, वो उसे हाथ से सहलाने लगी और हाथ से आगे पीछे करने लगी… मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

अब मैं उसके पेट पर किस करने लगा और धीरे से सलवार का नाड़ा भी खोल दिया. मज़ा लेने में तेरा क्या जाता है?सुमन- मगर जोश में उन्होंने आँख खोल दीं या फिर मेरी चुत में लंड घुसा दिया तो?टीना- मैं किस लिए हूँ ऐसा कुछ नहीं होगा. मैंने कहा- भाभी मैं उतावला नहीं हूँ … आप पहली बार घर आयीं हैं, तो आपका स्वागत भी ना करूं क्या?तो भाभी झट से अन्दर आईं और दरवाजा बंद करके मेरे लंड को पकड़ कर चूसने लगीं.

जैसा कि आप सभी को पता है कि मैं घर पर ज्यादा समय नंगी ही रहती हूँ या कभी कभी ब्रा और पैंटी में ही रहती हूँ. वो सिसकारियाँ निकालने लगी और दोनों हाथों से मेरी पीठ को सहलाने लगी, मेरी शर्ट के बटन खोलने लगी. संजय- वाह टीना कमाल कर दिया तूने अब जैसा हमने प्लान किया था, बस वैसे ही करना ताकि सुमन खिंची चली आए.

तो ये बता अगर साफ सुथरा लंड सामने होगा तब चूस लेगी ना?सुमन- क्या दीदी. फिर उसने म्यूजिक सिस्टम चालू किया और एक इंग्लिश गाना लगाकर मुझसे डांस करने को बोला.

थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके ऊपर आकर उसे चोदने लगा.

मेरी हालत देखकर वह मेरा हाथ पकड़ कर अपने ब्लाउज पर रखकर मुझे इशारा करती थी- पागल, तुझे मेरे बूब्स के दर्शन करने हैं ना? मेरा स्तनपान करना है ना? तो बेकार में ब्लाउज में हाथ डालकर समय क्यों नष्ट कर रहा है? फट से मेरा ब्लाउज उतार, मेरी ब्रा भी निकाल और शुरू हो जा! मैं कितने दिन से तुझे देखती आई हूँ, तू मेरी और निखिल की चुदाई का नजारा चुपके चुपके देखता है. शिवसेना सेक्सी वीडियोलगभग दस मिनट बाद वो हटीं और मुझे अपने ऊपर चढ़ा कर मेरे लंड को अपनी चूत में डलवाने लगीं. छोटी छोटी बच्ची सेक्सी वीडियोबस की लाइटें दोबारा बंद हो चुकी थीं और सब लोग सफर के आखिरी पड़ाव में झपकी लेने की मुद्रा में चले गए थे. फिर मैं बेडरूम में गई और देखा कि मामा की वैसलीन की डिब्बी वहीं पड़ी थी.

उसने भी खूब एंजाय किया, आपमें से कई नौजवान संजय जैसा बनने की चाहत करने लगे मगर ग़लत काम का कभी अच्छा फल नहीं मिलता और देखो आज संजय जेल की सलाखों के पीछे है, ऊपर से किसी को मुँह दिखाने लायक भी नहीं बचा.

आनन-फानन में सब रेडी हुए, फ्लॉरा और टीना ने नाश्ता तैयार किया और सबने साथ नाश्ता किया. उसके बाद एक महीने में ही वो कब मेरी गर्लफ़्रेंड हो गई, पता भी नहीं चला. मगर वो चीज है कि जब वो ऊपर लग रहा होता है ना मांस में… वो एक अलग चीज है.

हाँ तो मैं देख रही थी कि वो पटाखा सी लौंडिया नहा रही थी कि तभी एक अफ्रीकन लड़का कमरे में आता है और लड़की के बाथरूम में जाकर उसको नहाते देख कर लंड मुठियाने लगता है. वो मेरे लंड की गोटियों को भी चूसती जा रही थी, कभी पूरा मुँह में लेती. ये ब्रा पूरी तरह से ट्रांसपेरेंट और नेट वाली थी, जिसमें से बूब्स साफ दिख सकते थे.

मराठी सेक्सी पिक्चर कॉलेज

उसके लैब जैसे शहद में डूबे हुए थे, एकदम मधुर… रस वाले… नर्म… ऐसा मन कर रहा था कि उसके लबों को ही खा लूँ!मैंने उसको अपनी बाजुओं में जकड़ लिया, वो भी मुझसे ऐसे कदर लिपट गई जैसे किसी वृक्ष से कोई लता लिपटी हो. यह सुनकर उसकी हवस और बढ़ गई और उसने अचानक से मेरी गर्दन पकड़़कर मेरे होंठ अपने खड़े लंड पर रगड़वा दिए और पूछा- फिर?मैंने उठते हुए कहा- फिर रवि ने अपनी फ्रेंची निकली और मेरे सामने लेटकर अपनी गांड मेरे मुंह में दे दी, मैं उसकी गांड को चाटने लगा. सुमन ने धीरे से आँख खोल कर देखा तो गुलशन जी खड़े हुए कुछ सोच रहे थे.

गोपाल वहां से चला गया नीतू ने उसको चाय दे दी और तब तक मोना भी उठ गई थी.

मैंने अपनी कमर चलाई और ज़्यादा से ज़्यादा अपना लंड उसके मुँह में घुसाता गया, वो भी लेती गई.

मैं मामा के लंड में धीरे-धीरे दाँत चुभाने लगी, इससे मामा को भी मज़ा आ रहा था. उसके चूचे मेरे हाथों में समा नहीं पा रहे थे और मैं महसूस कर रहा था कि अब तक उसके निप्पल तन कर खड़े हो चुके थे. बीपी हिंदी सेक्सी चुदाईजिन्होंने पहले मेरी दास्तानदोस्त की बहन को चोदा मजा लेकरपढ़कर अपनी चूत न रगड़ी हो और लंड न सहलाया हो, उनको बता दूँ कि मैं देहरादून का रहने वाला हूँ.

भाभी फेसबुक के हिसाब से 26 साल की थीं और उनका नाम नीलम (बदला हुआ नाम) था. मैंने छुप कर देखा कि मेरा बेटा अपनी माँ की नंगी चुची को देख रहा है और एक हाथ से अपने लंड को पैन्ट में छुपा रहा है. ‘सस्स्सीईई, इसस्स्स, बहुत अच्छे बेटे, बहुत खूब ऐसे ही, ओह सीए… ओह तुझको मादरचोद बना दूँगी आज, हाय मेरे राजा, अब मेरी चूत को चाटना बंद कर दो साले, चाटते ही रहोगे या फिर अपना लौड़ा भी अपनी माँ को दिखाओगे, हरामी, हाय अपनी बहन को चोदने वाले दुष्ट पापी लड़के… अब अपनी माँ को चोद दे, चूत के होंठों को फैला और उनमें अपना मादरचोद लंड जल्दी से पेल.

हालांकि गांड मरवाने में मुझे कुछ परहेज नहीं था मगर जिंदगी में पहली बार मैं दो लंड एक साथ अपने अंदर लेने वाली थी. ऐसे ही सीढ़ियाँ चढ़ते हुए हम लोग पांचवीं मंजिल पर पहुँचे… अंदर गए और सभी कमरों को देखते हुए आखरी छोर पर पहुँच गए जहाँ पर एक रेलिंग लगी हुई थी, जहाँ से शहर दिख रहा था.

फ्लॉरा की बात सुनते ही गुलशन जी ने झट से लौड़ा चुत से निकाल लिया और फ्लॉरा भी बिजली की तेज़ी से पलटी और लंड को मुँह में भर लिया.

सुबह उठने पर मुझे एक बात का पता और लगाना था कि आखिर वो मुझे क्या खिला देता था, जिससे मुझे कुछ होश नहीं रहता था. रिया ठहाके मार के हंस पड़ी मगर तभी यकायक उसकी हंसी कही बिखर गयी, चेहरे पर कड़वापन छा गया. इससे भाभी के स्तन और कड़े होकर उभर गए और निप्पल तो तन कर आमंत्रित करने लगे कि आओ मुझे चूस लो, काट लो …और मैं भला ये निमंत्रण कैसे अस्वीकार सकता था.

हिंदी सेक्सी वीडियो नंगी चूत मैंने अपने हाथ यश के सीने पे रख कर ऊपर नीचे होने की स्पीड बढ़ाई और पूरी ताकत से खुद की ही चूत चुदवाने लगी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग :पापा ने बेटी को क्सक्सक्स मूवी दिखा कर चोदा.

अब तक चार लड़के झर चुके थे, सिर्फ एक लड़का था जो मेरी गांड अभी तक चोदे जा रहा था, वो झरने का नाम ही नहीं ले रहा था, वो फुल स्पीड में मेरी गांड को चोदे जा रहा था. जीजाजी ने बच्चे की मालिश के लिए रखी तेल की कटोरी से दीदी की गांड के छेद पर तेल डाला और फिर अपना लंड गांड की मुहाने पर रखकर ज़ोर लगाने लगे. लंड खड़ा हो गया तो उसने मुँह में ले लिया।वह अपने बड़े भाई की तरह पुराना खिलाड़ी था। उसका माफी माँगना तो बहाना था। वह बड़ी जोरदारी से लंड चूस रहा था। फिर उसने मुँह में से लंड निकाल दिया और मेरी तरफ देखने लगा। पर उसे हाथ से पकड़े था.

मेहंदी लगाना बताइए

कभी बदन अकड़ सा जाता क्योंकि सेक्स किये बिना मुझे 2 महीने से ज्यादा समय हो चुका था. किसका क़त्ल करने का इरादा है?मैंने एक कातिल मुस्कान के साथ कहा- देखे कौन फंसता है आज?मगर दिल ही दिल में मैंने तो फैसला कर लिया था कि मैं तो आज इससे चुदकर ही रहूंगी।जब मैंने अपनी खरीदारी के पैसे दिए तो उसने मेरे शॉपिंग बैग्स उठा लिए और कहा- चलो तुम्हें तुम्हारी कार तक छोड़ दूँ. मैं अपने दिमाग़ में कहने लगा कि इसे तो ऊपर वाले ने 2-3 हफ्ते में बनाया होगा.

खाना खा कर सब यहाँ वहाँ बैठ गए, हर कोई मंजीत के बदन और उसके गुप्तांगों को छू कर सहला कर अपनी अपनी ठर्क मिटा रहे थे. सरिता के मुख से ‘ग्ग्ग्ग ग्ग्ग्ग गी गी गी गोगो गोग…’ जैसे आवाज निकाल रही थी और रमेश को स्वर्ग का सा मजा आने लगा- आह्ह्ह इह्ह ह्ह ओह ह्ह्ह ओह्ह… आह्ह ह्ह्ह्ह इह्ह.

मैंने कहा- मैं भी कहाँ सब में आता हूँ और मेरे हाथ में जो गाल आता है फिर वह कहीं नहीं जाता है.

उम्मीद है मेरी ये कहानी भी आप सभी को बाकी कहनियाँ की तरह पसंद आएगी. मैंने उनसे बोला- साली कुतिया, मैं सुअर की औलाद हूँ ना… इसलिए ज़ोर से ही दबाऊंगा. वैशाली बहुत ही गरम हो चुकी थी, उसने मेरी पैन्ट निकाली और मेरा लंड हाथ में लेकर जोर जोर से हिलाने लगी.

मैंने अपने मुंह से थोड़ा सा थूक निकाल कर नताशा की गांड के छेद से मला और अपने लंड के सुपारे को बीवी की गांड से लगा कर आसानी से पूरा लंड अन्दर घुसेड़ दिया. चूत पे हाथ लगाते ही वो मचल पड़ी और उठने की कोशिश करने लगी मगर अब मेरे सर पर वासना हावी हो गयी थी, मैं उसके ऊपर लेट गया और उसको चूमने लगा. क्या मस्त समा था, एक तरफ़ टीवी पर काला लंड चुत को चोद रहा था और इधर पापा का लंड मेरी बुर को भोसड़ा बनाने में लगा था.

हाय राम… मैंने कर डाली? या तूने रगड़ डाला? मैंने सोचा था कि थोड़ा सा दबाना चूसना मसलना और सड़का वगैरा करेंगे… पर जब मैंने तेरा बड़ा मोटा गोरा-गोरा ठोकू राम लन्ड देखा… उफ़ माय गॉड… मैं तो पागल हो गई… अपने आप को रोक ही नहीं सकी। वैसे भी तूने चूस कर मेरी चूत को इतना मस्त और गर्म कर दिया था.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ: इस पर वो हल्का सा मुस्कराई और खुद ही मेरे कपड़े उतारने के लिए मेरे करीब आते हुए जुट गई. उसका एक हाथ अपनी चूत की मालिश कर रहा था और वो अपने होंठों पर अपनी लाल जीभ फिरा रही थी जैसे वो मेरा लंड चूसना चाहती हो.

पत्नी से हर दूसरे दिन सेक्स करता, इस बीच जब कभी मौका मिलता तो मौसी को भी पेल देता. भाभी तो जैसे चुदास से तड़फ रही थीं उन्होंने अपनी कमर उठा कर मेरे लपलपाते लंड को अपनी चूत में खींच लिया. पण्डित जी ने कमर उठा कर नीचे से एक थाप मारा, तो थोड़ा सा लिंग मेरी योनि में और घुस गया.

रिसेप्शन के बाद मैं उसके घर तो नहीं जा पाया पर कभी कभी हम दिन में ही फोन सेक्स कर लेते हैं.

तो सबीना और जमीला दोनों एक साथ बोली- तुमको हमारी चिकनी चूतों की कसम!मैं बोला- एक शर्त पर बीयर पी सकता हूँ. रात की ज्यादा कामुकता की वजह से नींद नहीं आती तो मैं और नशा करती ताकि नींद आ सके. और जैसे ही दरवाज़े की और मुड़ा ही था कि अनीता ने तिवारी का हाथ फिर से पकड़ लिया, तिवारी फिर उनकी तरफ मुड़ा, अनीता ने तिवारी के फेस को अपने दोनों हाथों से पकड़ा और एक टाइट किस तिवारी के होंठो पे दी- आई लव यू तिवारी जी!और उन्हें हग कर लिया.