बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,30 साल की लड़की का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात सेक्सी व्हिडिओ: बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स, दोस्तो, पिछली रात बारिश हुई थी और बड़ी ठंड थी और धुंध भी बहुत ज़्यादा थी.

दुल्हन mehndi

भैया बोले- कितने दिनों के लिए आई है?मैं बोली- एक महीने के लिए आई हूँ. এডাল ব্লুअगले दिन मेरी और प्रियंका की पहले से ही प्लानिंग हो चुकी थी कि बुखार का बहाना कर स्कूल नहीं जाएंगे और आगे का खेल खेलने की तैयारी करेंगे.

दोस्तो, सेक्सी लड़की की सीलपैक चुत और गांड की चुदाई की कहानी को मैं अगले भाग में लिखूँगा. மலையாள வீடியோ செஸ்हब मैंने रेखा को बताया तो उसने मेरे लंड पर हाथ रखकर कहा- सब इसकी करतूत है.

इस बार वो मुझे गालियां नहीं दे रहा था बल्कि मुझे प्यार से भरी चुदाई कर रहा था.बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स: वाइफ गांड चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी की सहेली उसके पति के साथ हमारे घर आई। मस्ती करते हुए हमारा मूड बन गया और फिर वो हुआ जो मैंने कभी नहीं सोचा था।प्रिय पाठको, मेरा नाम मिहिर है। मैं कानपुर से हूं और 42 वर्ष का हूं। मेरी हाइट 5.

थोड़ी देर बाद फेरे हुए, सौम्या ने सच में मेरी मलाई से भरी चूत के साथ ही फेरे लिए … वो भी बिना पैंटी के.हम दोनों की सांसें तेज तेज चल रही थीं क्योंकि किसी के आने के डर के साथ ऐसे में चुम्बन करने का अलग ही मज़ा होता है.

सेक्सी पिक्चर नंगी वीडियो सेक्सी - बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स

शायद वो एकदम कुँवारी थी या बहुत टाइम से चुदी नहीं होगी इसलिए अन्दर उंगली नहीं जा रही थी.मैंने कहा- अभी कहां हो?उसने बताया कि घर से कुछ दूरी पर एक पार्क है, वहां बैठी हूँ.

मम्मी मेरी तरफ पीठ करके सोई थीं, पर मेरी कुछ करने की हिम्मत नहीं हो रही थी. बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स अब आगे नई भाभी की चुदाई बार बार:मेरे लंड का सुपारा गीला हो गया था और सरिता की चूत भी गीली थी.

इससे मुझे बेहद सनसनी होने लगी और ऐसा लगने लगा कि मैं जल्दी से इसका लंड अपनी चुत में ले लूं.

बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स?

मैं भी उसके हाथों के स्पर्श को महसूस करने लगा और अंधेरा होने के बहाने से उसका हाथ पकड़ लिया. मैंने कहा- अरे फ़्लर्ट क्या … इतनी सुन्दर लड़की अगर इतना करीब आकर गले से लगा ले, तो क्या मन नहीं बहकेगा!उसने कहा- कुछ भी न … एक तो मैं सुन्दर नहीं, दूसरा ऐसे कोई थोड़ा पास आयी कि बहक जाओ … पागल कहीं के. मेरी खाला चिल्ला उठीं- मादरचोद भोसड़ी के … मार डाला साले चुत फाड़ दी मेरी!मैं कुछ नहीं बोला, बस धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मेरा इतना कहते ही उसकी बांहों की गिरफ्त और तेज हो गई।ऐसा नहीं था कि आकांक्षा और मैं पहली बार गले मिले थे लेकिन इस बार अहसास अलग था. जैसे ही मेरी उंगली ने उसकी भगनासा को छुआ, उसकी कुंवारी चूत ने पानी छोड़ कर रजामंदी दे दी. ये कह कर भाभी ने मुझे आंख मारी और उठते समय आपनी चुत एक हाथ से रगड़ ली.

बहुत गर्म माहौल हो गया था, पूरे कमरे में फच फच फच फच की आवाज़ आ रही थी. दो मिनट बाद उसका झड़ना बंद हो गया और उसने अपना सिर बिस्तर पर रख दिया. तभी उसमें से एक ने बोला- ऊपर जाकर देखना जरूरी हैं, उसकी आवाज सुनकर कोई और ना आ जाए.

राहुल कहने को मेरा दोस्त है लेकिन हम दोनों में भाइयों से ज्यादा प्यार है. मैंने सौम्या डार्लिंग को नसबंदी करवाने से रोकने का सोच लिया था ताकि बाद में सौम्या मेरे बच्चे की मां बन सके.

इसी बेड पर मैंने सरिता की रात भर अपने मूसल जैसे लंड से चुदाई की थी.

उसी समय मेरी जॉब लग गई थी तो मैं उसके साथ ही दिल्ली शिफ्ट हो गया था.

मैं रात को अकेली कमरे में तुमसे मिलने की बात कर रही हूँ … तो क्या सब कुछ खुल कर ही कहना पड़ेगा?मैं समझ गया कि मैं वाकयी लुल्ल हूँ और एक लड़की की चुदने की चाहत को समझ नहीं पा रहा हूँ. मुझे रात में नींद आ ही नहीं रही थी, बस उनका लंड देखते देखते सुबह होते होते मेरी आंख लगी. लगभग 2 मिनट बाद ही उसकी चूत से एक फव्वारा सा निकला, जिसने मुझे पूरा भिगो दिया.

जल्दी ही लेपटॉप मेरी ओर करके वो मुझसे बोला- तुम्हारा अकॉउंट नम्बर इसमें लिख दो, कुछ देर में अमाउंट तुम्हारे अकॉउंट में आ जायेगा. मेरे ब्लाउज के बटन खुलने के कारण मैं सिर्फ ब्रा में उसके सामने आ गई. मैंने पम्मी आंटी का पैर अपने मुँह तक उठाया और हल्के से उस पर एक चुम्बन कर दिया.

मैं चाह कर भी अपनी नजरें उसके कड़क हो चुके निप्पलों पर से हटा नहीं पा रहा था.

मैंने कुछ नहीं बोला तो उन्होंने मुझे खड़ा कर दिया और एक ऊंची सी टेबल पर बिठा दिया. तभी भाभी अन्दर से बाहर आईं तो उन्होंने देखा कि उनका बच्चा मिट्टी खा रहा है. ये सुन कर मैंने उसकी चूत का दाना मसल दिया और वो एकदम से आंह कर उठी.

दीदी बोलीं- तू कहे तो मैं फोन पर ही तेरा हिला दूँ?मैं उनकी बात सुनकर मस्त हो गया. काफी देर तक लंड चूसने के बाद हार्दिक ने उसको उठाया और बेड पर लिटा दिया. शाम को मैंने उसके डिब्बे में एक थैंक्स का नोट, एक चॉकलेट रखी और डिब्बा देने के बहाने उसे कॉल करके नीचे बुलाया कि अपना डिब्बा ले लो.

मैं सरिता के ऊपर झुककर उसकी एक चुची अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और एक हाथ से दूसरी चुची मसलने लगा.

मैंने कहा क्या हुआ … चुप क्यों हो गई?वो बोली- तुम मेरी जान लेकर रहोगे. फिर मैं सीधा लेट गया और वो मेरे ऊपर अपना सर रखकर मुझसे लिपट कर लेट गयी.

बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स मैं कहां पीछे रहता, मैं भी मोबाईल रखकर पत्नी की मैक्सी और पेटीकोट उठाकर उसके मोटे मुलायम चूतड़ों पर हाथ फेरने लगा. मैंने पूछा- तो तुमको उसमें से कोई पसंद नहीं आया क्या?शिल्पा बोली- उनमें से कई लड़के मुझे पसंद तो आए थे पर पता नहीं मुझे अन्दर से डर लगता था कि अगर घर पर किसी को पता चलेगा तो बहुत दिक्कत हो जाएगी.

बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स वो किसी मेमने की तरह मुझसे छूटने की कोशिश करने लगीं पर मैंने उनके शरीर पर अपनी पकड़ बना रखी थी जिससे वो चाह कर भी नहीं छूट पा रही थीं. दोस्तो, मैं अगम अपनी दुबई वाली पाठिका फ़लक के साथ चुदाई का मजा आपको सुना रहा था.

अब शनाया ने हार्दिक के लंड को अपने मुँह में ले लिया और उसे चूसने चाटने लगी.

नवेली दुल्हन की चुदाई

हिंदी में लंड चूत जैसे शब्द उसके मुँह से सुनना मुझे बहुत उत्तेजित कर रहा था. पंद्रह मिनट की भाभी की हॉट चुदाई के बाद मैं मिनी की चूत में ही झड़ गया. बहुत दिनों की इच्छा है मेरी! आज मैं पहले ये इच्छा पूरी करना चाहता हूँ.

खाला ने अपने मोबाइल में अन्तर्वासना में भाई-बहन की चुदाई कहानी खोल कर मेरी बहन को पढ़ा दी, जिसे पढ़कर वो शर्माने लगी. अगले ही पल निशा अपने हाथों से इशारे करने लगी कि आह वो शांत होने वाली है और तेज तेज चोदो. मैं आप सबको बता दूँ कि टाइम मशीन में क्वांटम वर्ड में टाइम बहुत अलग चलता है.

आपने मेरी इस Xxx कहानी के पिछले भागसऊदी में रहने वाली भारतीय लड़की से दोस्तीमें अब तक पढ़ा था कि फ़लक मेरे साथ बिस्तर में थी और हम दोनों चुम्बन का मजा ले रहे थे.

उसने पूछा- खाना खाया?मैंने कहा- अभी तो आया हूँ यार, अभी कहां से … अब बनाऊंगा तब ना खाऊंगा. टीना और नव्या भाभी दोनों की चूत पूरी गुलाबी थीं लेकिन टीना की कुंवारी चूत मैंने चोदी थी तो उसकी चूत एकदम गुलाब के फूल की पंखुड़ियों जैसी मुलायम थी. फिर मैं भी 5-7 मिनट बैठ कर बात करने लगा और इसके बाद आंटी को ‘और कोई काम हो तो बताइएगा …’ कह कर वापिस अपने घर आ गया.

गांड लाल करने के साथ साथ मैं उसकी चुत पर भी थप्पड़ मारता रहा और वो चिल्लाती रही. गांव में विलास के कोई पहचान वाले मिले, तो बातों बातों में और घूमते घूमते समय निकल रहा था. तभी मैं अच्छे से चैक करके दवाई से साफ कर पाऊंगी और मलहम भी अच्छे से लगा सकूँगी हर्षद.

कुछ देर उसकी नाभि को किस करने के बाद मैंने उसकी सलवार और कच्छी उतार दी. मैंने उन्हें देखा तो मुझे अजीब सा लगने लगा जब तक वो गांड मटकाती हुई बाथरूम में घुस गईं.

उसने मेरी आंखों में देखा और कहा- अब ये ही चूसते रहोगे क्या?मैं तुरंत बोला- मैं इतना भी लुल्ल नहीं हूँ मेरी जान … मुझे मालूम है कि जन्नत का सुख किधर से मिलेगा. मेरा खड़ा हुआ मूसल जैसा लंड देखकर सरिता बोली- हे भगवान, रात भर मेरी बहन चोद कर भी दिल नहीं भरा हर्षद. मैं समझ गया कि चाची की मजबूरी है, जिस कारण से चाची बात नहीं कर रही हैं.

जैसे ही मैंने उसकी आंखों में देखा, तो गोरी आंखें, काजल, हल्का सा आंखों को उठाना और उसका आंखों का मेरी आंखों में देख कर एक इशारा करना कि आप सुरक्षित हैं.

ऐसा सोच मेरी गांड में खुजली रुकने का नाम नहीं ले रही थी पर मैं बस सो गया. फिर मैंने उसे अपने दोनों हाथों से उठाकर चूम लिया और बेड पर लिटा दिया. उसी समय मेरे घर से कॉल आया और घर वालों ने पूछा- घर कब आओगे?मैंने कहा- अभी तो एग्जाम 3 दिन डिले हो गए हैं.

मैंने अपना सर भाभी के दोनों पैरों के बीच में करके दोनों हाथों से चूत को खोल दिया और जीभ से चुत को कुरेदने लगा. हम दोनों का रस एक साथ उसकी बुर में मिल रहा था … जन्मों की प्यास बुझ रही थी.

उस दिन मुझे बड़ा मजा आया, तो अब मैं रोज ही उनकी ब्रा और पैंटी पर मुठ मारने लगा था. अगले दिन फिर मेरे हस्बैंड का फोन भी आया और उन्होंने मुझसे कहा- अभी मुझे यहां टाइम लग रहा है. दोनों एक दूसरे में मिलकर रेखा की चूत से निकलकर गांड के छेद से तकिया को भिगोता हुआ बेडशीट पर बहने लगा था.

एक्स एक्स फिल्म हिंदी

कुछ देर बाद मैंने भाभी को घोड़ी बनने को बोला और उनकी गांड पर थप्पड़ों की बरसात कर दी.

उसने वो जल्दी से छुपा ली, फिर इधर उधर देखती हुई पर्ची पढ़ी जिस पर लिखा था आज लंच बाहर करेंगे, बाहर आ जाओ. मौत के कुंए का खेल जैसे ही चालू हुआ, तो मुकेश ने फिर से अपना हाथ मेरी गांड पर रख दिया और मेरी गांड को दबाने लगा. अनुषा मेरा लंड बाहर निकालने को कोशिश कर रही थी मगर मैं लंड मुँह में ही पेले रहा.

ये वाली ट्रेन बड़ी स्लो चलती है, एक तरह से इसमें मुझे दूसरी ट्रेन से चार घंटे ज्यादा लगने वाले थे. उसकी उठी हुई गांड, चौंतीस की साइज के चूचे, एकदम गोरा बदन और वो कातिल सी मुस्कराहट मेरे दिल को घायल कर गई. বাংলা ভাষায় বিএফउस दिन रीता एक अधिकारी के रूम से जैसे ही बाहर निकली कि उसका पैर अचानक मुड़ गया और उसमें मोच आ गई.

गद्दा छोटा होने के कारण जब मम्मी ने करवट ली तो उनके घुटने और मेरे घुटने टच होने लगे. उस समय उनके लिए मेरे मन में ऐसा कोई इरादा नहीं था मगर मुझे भी वो काफी हॉट एंड सेक्सी लगी थीं.

उसने मुझसे पूछा- क्या पहले कभी गांड मरवाई है?मैंने उसको बताया- पहले मैं अपनी गांड का उद्घाटन करवा चुकी हूं. इससे मुझे बेहद सनसनी होने लगी और ऐसा लगने लगा कि मैं जल्दी से इसका लंड अपनी चुत में ले लूं. रिया को घोड़ी बनाकर मैंने पीछे से उसकी चुत पर अपनी जीभ रख दी और जीभ को अन्दर तक घुमा घुमाकर चुत की चटायी करने लगा.

फिर खाला हंसकर बोलीं- मेरा शाहबाज़ कब इतना बड़ा हो गया, पता ही नहीं चला. फिर उन्होंने मुझे रिपोर्ट लाकर दिखाई और बोलीं- इसी कारण मैं उनसे लड़ रही थी, पर मैंने तुम्हारे भैया को इसके बारे में अब तक नहीं बताया है. मैंने देखा मोटा काला सा लन्ड जेठ जी का!आज मैं इसी से चुदने वाली थी।जेठ जी ने मुझे कस के अपनी बांहों में जकड़ लिया और किस करने लगे.

दोस्तो, यह लॉकडाउन की कहानी है जब मुझे ऑनलाइन डेटिंग एप पर एक लड़की मिली जिसकी मैंने उसके शहर में जाकर सेक्स विद Xxx गर्ल का मजा लिया.

सरिता ने मेरे गले में हाथ डालकर कहा- सब कुछ इधर ही करोगे क्या … हर्षद चलो उठो, बेडरूम में चलते हैं. मैं बार-बार उसके चेहरे की तरफ देखती … और जब मुझे लगता था कि वह मेरी तरफ देख रहा है तो मैं इधर-उधर देखने लगती.

अब आगे Xxx इंडियन भाभी सेक्स स्टोरी:ट्रेनिंग खत्म होने के बाद जब हम दोनों घर वापिस आए, तो हमें बाहर तो मम्मा बेटे जैसा ही रहना पड़ता लेकिन घर में हम दोनों पति पत्नी की तरह चुत चुदाई का खेल खेलते रहते. आगे क्या हुआ, वो मैं लेडी डॉक्टर सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. मैंने उसका पानी अपने मुँह में भरा और ऊपर उठ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

काफी देर तक लंड चूसने के बाद हार्दिक ने उसको उठाया और बेड पर लिटा दिया. मैंने भाभी को चूमा और बिस्तर पर पटक दिया, फिर अपनी टी-शर्ट जैसे ही उतारी. मैं कुछ ही दिनों में एकदम ठीक हो गया था लेकिन ना चाहते हुए भी डाक्टर रेखा का सुंदर चेहरा, उसका अपने हाथों से लंड रगड़ना और मेरे हाथ से उसकी चूत रगड़ना मुझे हर बार गर्म कर देती रही थी.

बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स उसने मेरी तरफ एक बार सरसरी निगाह से देखा और फिर अपना काम करने लगी।हालांकि वो कोई खूबसूरत नहीं थी और ना ही मैंने उसे कभी बुरी नजर से देखा था. मैंने झट से अपना हाथ उसके मम्मे से हटा दिया कि कभी कोई उसकी आवाज सुनकर इधर ना आ जाए.

सेक्स गावठी

उसने अपने दोनों हाथ मेरे बालों में डाल दिए और मुझे अपनी नाभि में और दबा दिया. एक दिन अचानक मेरे जेठ की पत्नी को मायके जाना पड़ा क्योंकि उसके मां की तबियत ठीक नहीं थी. कुछ मिनट बाद मैंने उसकी चुत से लंड निकाल लिया और उसके बाजू में लेट गया.

मगर वो दोनों साले आपस में यही बातें किए जा रहे थे कि टीना और दिशा चोदने लायक माल हैं यार!वो टीना की चुचियां देख कर लार टपका रहे थे तो कभी दिशा की चुचियां देख कर … वो दोनों यही सब कर रहे थे. वो भी मस्ती में बोलने लगी- आह चोद दे मेरी जान … अब मुझे भी मज़ा आ रहा है … आंह और जोर से चोद. मान सेक्सीतभी मैंने देखा कि नीरजा मुझे पीछे से घूर रही है और अपने मम्मों को कभी कभी हल्का दबा रही है.

फिर राहुल ने चाची के चूतड़ों पर हल्की थपकी मार उनको उठने के लिए बोला- चलो जान, अब सीधी हो जाओ.

मैंने राहुल को कॉल करके जाने का कन्फर्म किया, तो राहुल ने मुझे ये भी बताया कि कैसे उसने अपनी चाची से मेरे साथ में आने की बात कर ली है. फिर मैं उसको बोली- थोड़ा नीचे मालिश कर!‘थोड़ा नीचे … थोड़ा नीचे …’ बोलकर मेरी गांड तक उसका हाथ पहुंच ही चुका था.

मैंने दिमाग़ लगाया और सोचा कि टीना ऐसे वक़्त आए, जब भाभी उसे देख लें कि टीना आई है, मगर भाभी ना आ पाएं. मैं फिर से हैरान और खुश दोनों था कि मेरी मम्मी लंड चूसने की शौकीन भी हैं. चाचा जी का शायद अभी तक मन नहीं भरा था, उनका लंड दीदी की चूत में जा ही नहीं पाया था.

दोस्तो, पिछली रात बारिश हुई थी और बड़ी ठंड थी और धुंध भी बहुत ज़्यादा थी.

वो हमेशा ऑफिस में बिजी रहते हैं या घर आकर अपनी मां और बहन से बातों में लग जाते हैं. फिर लड़की और तेज़ चिल्लाई- आह मर गई!मैंने आंख खोल कर देखा तो उसका भाई उसकी एक टांग उतार उठाए उसे चोद रहा था और मेरा भाई क्रीम, कंडोम के पैकेट निकाल रहा था. मैं उनकी चूत चाटने का अभिनय करने लगा और मादक आवाजें लेकर भाबी को गर्म करने लगा.

लिंग को कैसे मोटा करेंअब वो भी मस्ताने लगी थी- आह जोर से … और जोर से जीजू … आज से मैं आपकी हुई … आपका जब मन करे, मुझे प्यार करो, जब चोदने का दिल करे तो अपने ऊपर लेटा लो … आप जैसा बोलोगे, मैं वैसा करूंगी … बस मुझे जिंदगी भर चोदते रहना. जब मैं दीदी को याद करके अपना लंड हिला रहा था, तभी दीदी का कॉल आ गया.

चाची की गांड चुदाई

पूरी ताकत लगाकर मैंने आधा लंड उसकी चूत में घुसा दिया और जोर जोर से झटके देने लगा. मैं ज्यादातर लैगी कुर्ती ही पहनती हूँ, जिसमें मैं काफी सेक्सी भी लगती हूँ. थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि दीदी ने अपना पैर हिलाया और गहरी नींद में सोने का नाटक करने लगीं.

पांच मिनट बाद निशा ने अपने कपड़े पहने और बाथरूम में फ्रेश होकर आ गई. आशिया की चुत के भगनासा को छेड़ने के साथ साथ मैं अपनी जीभ को भी चलाने लगा. उसने मुझे टैंट वालों के पास जाकर उनके लिए लाइट का और खाने का इंतजाम करने को बोला.

मैंने समझकर भी ना समझते हुए उससे पूछा- वो मतलब क्या … ऐसा क्या देखा तुमने रेखा?तो वो शर्माकर बोली- अरे वो तुम्हारा लंबा सा और मोटा है न … वो?मैंने कहा- उसका नाम तो बताओ रेखा!रेखा बोली- तुम बहुत बदमाश हो. इससे मेरी निक्कर में टेंट बन जाता था और मेरी बहन मेरे खड़े लंड को छुप छुप कर देखती थी. फिर जैसे ही मैंने आशिया के पजामे का नाड़ा खोला तो उसके नाड़े वाली जगह पर एक किस कर दिया.

अब मैं और मेरा चेला रिंकू एक साथ अकेले कमरे में आ जाते और नंगी चुदाई की क्लिप्स देखते थे. उसकी स्कर्ट पहले से कुछ ज्यादा ही उठी हुई थी, जिससे उसकी ग्रे कलर की पैंटी मुझे साफ दिखाई देने लगी.

उन्होंने मुझसे कहा- कुछ दिन के लिए अमित हमारे घर पर रहने के लिए आ रहा है, तो तुम इस बात का ध्यान रखना कि जब तक वो हमारे पास रहे, उसे किसी चीज की कमी महसूस ना हो.

कुछ देर इसी तरह चूमाचाटी में ही हम दोनों को कब नींद आ गयी, कुछ पता ही नहीं चला. जापान कॉलेज सेक्सी वीडियोमैं सरिता के ऊपर झुककर उसकी एक चुची अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और एक हाथ से दूसरी चुची मसलने लगा. मराठीमध्ये सेक्सी झवाझवीउन्होंने मेरे हाथ को पकड़ कर अपनी नाभि के नीचे साड़ी के ऊपर रखवा दिया और खुलवाने का इशारा करने लगीं. फिर मैंने उसके कान को चूमना शुरू किया, जो उसको और भी उत्तेजित कर रहा था.

निशा- आंह अमित अह … अअअहहह … देर न करो … पहले एक बारमुझे चोद दो प्लीज़!लेकिन अभी तो शुरुआत हुई थी.

मैंने पहली बार कोई सेक्स कहानी लिखी है, इसमें हुई गलतियों के लिए माफ़ी सहित मैं आपके सुझावों की प्रतीक्षा करूंगा जिससे अगली बार उन्हें सुधार कर आपको उत्तम मनोरंजन पेश कर सकूं. ये सब मैं उससे कहता, तो वो तब तक मुझे वीडियो कॉल पर नंगी होकर रिझाती, जब तक मेरा पानी निकल नहीं जाता. सरिता अपने हाथों से मेरा सर सहलाकर अपनी उंगलियां मेरे बालों में फिराने लगी थी, साथ में वो अपने स्तनों पर मेरा मुँह दबा रही थी.

हमने होटल में एंट्री की और रूम में चले गए। अब हमारे पास पूरी रात थी।वहां जाकर हम ने चेंज किया और अपने नाइट सूट पहन लिए।वह अपने घर से ही पीने के लिए फ्लेवर्ड हुक्का लेकर आई थी। उसने सुलगाया और उसमें फ्लेवर डालकर करके कश लगाने लगी।फिर उसने एक बीयर मंगवाई और पूरी बीयर खत्म कर गई।उसके बाद हमने खाना खाया और थोड़ी बहुत बातें की. मैंने पूछा- आपकी शादी को कितने साल हो गए?भाभी ने बताया- शादी को 5 साल हो गए हैं. मेरा लंड उसका कौमार्य भंग करते हुए उसकी चूत में पूरा का पूरा समा गया.

एक्स एक्स वीडियो हिंदी देसी

इस काम में ही हम दोनों को इतना मजा आने लगा था कि हमारे बीच की सारी झिझक खत्म हो गई थी. आंटी के मैसेज आए हुए थे और देखा कि पम्मी आंटी की 6 मिस्ड कॉल भी पड़ी थीं. मैंने पहली बार लंड चुत के अन्दर डालने की कोशिश की तो मेरा लंड फिसल गया.

सौम्या ने अविश्वास के साथ मेरी तरफ देखकर कहा- मुझे तो उनके किसी भाई के बारे में पता नहीं है.

वैसे भी मैं उनसे शादी तो करने ही वाला था लेकिन भविष्य में बात तो ये थी कि मैं सौम्या की चूत से निकलने वाला था.

तेल की चिकनाहट और उसकी चुदास से मेरा फनफनाता गर्म लंड उसकी कुँवारी गर्म चूत में घुस गया. सौम्या अपनी गांड मरवाना भी बहुत पसंद करती है और सौम्या को उसकी रेगुलर चुदाई नहीं होने की वजह से गुस्सा भी बहुत आता है. अभी शराबीबाहर मैंने आंटी से कहा- थैंक्स आंटी, आपके चलते मेरा और मेरी मॉम का सपना पूरा हुआ.

घर की परिस्थितियों की वजह से मुझे काम की जरूरत पड़ी तो मैं अपने ही शहर में काम की तलाश करने लगा. मैंने कहा- अरे फ़्लर्ट क्या … इतनी सुन्दर लड़की अगर इतना करीब आकर गले से लगा ले, तो क्या मन नहीं बहकेगा!उसने कहा- कुछ भी न … एक तो मैं सुन्दर नहीं, दूसरा ऐसे कोई थोड़ा पास आयी कि बहक जाओ … पागल कहीं के. भाबी- क्यों आग लगा रहे हो यार … मैं गर्म हो गई तो मेरे लिए रात को सोना मुश्किल हो जाएगा.

मैंने उसकी ऊंह आह को सुनकर चूत में और तेजी से उंगली को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. मैं देखने में सामान्य हूं, लम्बाई 5 फुट 6 इंच की है और बॉडी भी मस्त है.

कई बार जब भाभी आने वाली होतीं तो मैं टॉयलेट का गेट खुला रख देता तो वो चोर नज़रों से मेरे लंड को देख भी लेती थीं …मगर उन्होंने कभी मुझसे चूत चोदने को लेकर कुछ भी इशारा नहीं दिया था.

ये ओरिजिनल नाप है … लड़कियां देखना चाहेंगी तो उन्हें दिखा भी सकता हूँ. कुछ देर ऐसा करने से वो भी गर्म होने लगी और उसने अपने आपको ढीला छोड़ दिया. तो मैंने भी सोच लिया था कि मैं अपने भाई को वो दूंगी, जिसकी उसको जरूरत है.

बहन को माँ बनाया डॅाक्टर मम्मी के चूतड़ों पर इंजेक्शन लगा ही रहा था कि मम्मी की झांटों वाली बुर दिख गई।डॉक्टर मम्मी की चूचियां मसल कर पहले से ही गर्म था, वो मेरी मम्मी की नंगी बुर देख पगला उठा।जैसे तैसे दिन कटा और रात में मरीज आना बंद हो गये, उसने अपना क्लीनिक बंद किया और अब केवल वो और मम्मी थे।डॉक्टर लुंगी में आ गया. उन्होंने मुझे गुड नाईट कहा।सुबह जेठ जी उठे भी नहीं थे और मैं सारा काम खत्म करके नाश्ता बनाने लगी.

मेरा एक हाथ उसकी चूत पर रगड़ रहा था और अब दूसरा हाथ मैंने उसके सीने के ऊपर लिपटी हुई चादर को नीचे कर दिया. साली कुतिया रंडी … तुझे तो मैं बहुत दिन से चोदना चाहता था … आज तो मैं तेरी चुत फाड़ कर रख दूँगा साली … ले लौड़ा ले मादरचोद. उसने लंड महसूस करते हुए कहा- राज तुम्हारा तो बहुत बड़ा है … मेरी तो फट ही जाएगी.

ट्रिपल एक्स मूवी

कुछ ही देर ऐसे चुदाई करने के बाद मैंने शिल्पा को पेट के बल लेटा दिया. कुछ समय बाद मैंने देखा कि चाची बार बार अपने मम्मों को पकड़कर सहला रही थीं. धीरू ने कहा- सन्नो तू जिस तरह लंड चूस रही है, लग रहा है बहुत एक्सीरियंस्ड है.

वो पहली बार किसी मर्द के साथ नंगी एक बिस्तर में थी।रोमिल ने उसकी चूत को चाट चाट कर उसे गर्म कर दिया।अब दोनों गर्म हो गए थे। उसने पिंकी को बैठा दिया और उसके होंठों पर लंड फिराने लगा. जब वो झड़ा तो उसने अपने लंड से वीर्य की पिचकारियां मेरे स्तनों और चेहरे पर मार दीं.

मुझे काफी सारे लेखक पसंद आए हैं, जिनमें मुझे सबसे ज्यादायशोदा जी की कहानियांबहुत पसंद आती हैं.

हालांकि मेरा काम ऐसा था कि जो भी महिला ग्राहक मुझे अपने घर बुलाती थी, मैं उसको उसके घर जाकर फुल बॉडी मसाज देने लगा था. वो एक हाथ से अपनी चूत के दाने को मसल रही थीं और दूसरे हाथ से उन्होंने मेरे कंधे को थामा हुआ था. भाभी की और देवर की चुदाई हुई मजेदार … वो मेरे मौसेरे भाई की पत्नी थी और उन्हें बच्चा नहीं हो रहा था.

करीब दस मिनट बाद उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाला और लंड निकलते ही मैं गिर पड़ी. मैंने समझकर भी ना समझते हुए उससे पूछा- वो मतलब क्या … ऐसा क्या देखा तुमने रेखा?तो वो शर्माकर बोली- अरे वो तुम्हारा लंबा सा और मोटा है न … वो?मैंने कहा- उसका नाम तो बताओ रेखा!रेखा बोली- तुम बहुत बदमाश हो. उसके लैटर के जवाब में मैंने भी कह दिया- मैं तुम्हें काफी ज्यादा पसंद करता हूं और मुझे तुम्हारा नंबर चाहिए.

वो बोले- बेटा थोड़ा तकलीफ दूंगा, पर मेरा पैर बहुत दर्द कर रहा है, जरा बाम लगा दो.

बंगाली बीएफ एक्स एक्स एक्स: अब पिंकी भी लंड पर उछलने लगी थी और आहह आह हहह करके लंड लेने लगी थी।रोमिल उसकी चूचियों को मसलने लगा और वो लंड पर ऐसे उछलने लगी जैसे घुड़सवार घोड़ी दौड़ा रहा हो।अब दोनों मस्ती करने लगे और एक दूसरे को चोदने लगे।रोमिल ने पिंकी को बिस्तर पर लिटा दिया और चोदने लगा. मैंने कहा- इतनी सुंदर हो और हॉट भी लगती हो, तो ये बताओ तुमको अभी तक कितने तो कितने लड़कों ने फ्रेंडशिप का ऑफर दिया?शिल्पा हल्के से हंस दी और बोली- तारीफ़ के लिए शुक्रिया.

कुछ पल ऐसे ही करते हुए हो गया था शिल्पा लंड चूत में अन्दर पेलने के लिए लगभग गिड़गिड़ाने लगी थी. मैंने उनको मैसेज किया तो बोलीं- अरे यार तेरे जीजा जी की कॉल आ गयी थी. टीवी पर कोरोना की खबरें आ रही थीं तो मैं बोर हो गया और मैंने एक मूवी लगा दी.

मैं उठकर सरिता के बाजू में लेट गया सरिता उठकर बैठ गयी और वो अपनी चूत की तरफ देखकर बोली- हर्षद, देखो ना कितना सारा रस बह गया है.

रवि चाय की दुकान की नौकरी छोड़कर कहां चला गया, किसी को नहीं मालूम था. मैंने बिना चाची को उठाए और चाची को बिना आभास कराए अपने लंड को चुत में सैट कर दिया और पूरी ताकत से पेल दिया. उसके थोड़े टाइम बाद में अपने कपड़े पहन कर अपने रूम में आ गया और अपने ऑफिस का काम करने लगा.