मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर

छवि स्रोत,आठवां सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी वीडियो दिखाओ: मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर, हां मैं मानता हूं कि वो दारू पीते हैं लेकिन कभी आपसे लड़ाई भी तो नहीं करते।वो बोली- हां, वो हैं और लड़ाई भी नहीं करते.

नोट सेक्सी वीडियो हिंदी

फिर उन्होंने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ा और उस पर किस करते हुए बोलीं- तुमने मुझे आज खुश कर दिया है. सेक्सी नौकरानी सेक्सी वीडियोइसके बाद उन्होंने मेरे दोनों पैर अपने कन्धों पर रख लिए और अपना लंड फिर से मेरी चूत के छेद पर सेट किया और पूरे दम से मेरे भीतर धकेल दिया.

लेकिन अगले भाग में आपको कमसिन गीता की कुंवारी देहाती चूत की सील तोड़ने की सेक्स कहानी में आगे मजा दूंगी. सेक्सी वर्जन सेक्सी वीडियोपापा आज तीन महीने हो गए, मैं हर रात इस मादरचोद के आगे नंगी होकर सोती हूँ … मगर इस हिजड़े का लंड तो एक बार भी खड़ा नहीं हुआ.

अब मैं सीधा उसको ऐसे ही नीचे करके लेट गया और उसने अपने हाथ मेरी कमर पर लगा दिए। मैंने अपने कपड़े नहीं निकाले थे.मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर: तभी मुखिया की नज़र एक लड़की पर गई, जो करीब 20-21 साल की एक सुंदर सी लड़की थी.

मैंने सुरेखा को बेड पर सीधा लिटा कर उसे चोदने की तैयारी शुरू कर दी.फिर मनोज को जोश आ गया और उसने अब शांतिपूर्ण बर्ताव को छोड़ कर एकदम से पूजा की टांगों को चौड़ी कर लिया और देसी स्टाइल में उसकी चूत में लंड को लगा दिया.

इंग्लिश सेक्सी साड़ी - मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर

पिछले कुछ दिनों से सुबह जब मैं सो कर उठती हूँ, तो मेरी छाती में दर्द रहता है … और हां मेरी फुन्नी में भी दर्द रहता है … वहां भी ऐसे ही निशान हैं.प्रिया- आह आह उह ओह्ह नहीं प्लीज नहीं … ओह्ह ओह्ह काटो मत, छोड़ो मुझे आह आह.

” मौसा जी इस तरह बेहद कामुक और अश्लील बातें करते हुए मेरी योनि के केश सहलाने लगे और फिर उन्होंने अपनी एक उंगली मेरी योनि में घुसा दी. मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर मैं समझ गयी और बोली- 10000 लूंगी और मुझे सुबह यहीं लाकर छोड़ना पड़ेगा.

सविता लंड लेते हुए मयंक से बोली- कल रात भर आप मेरे सपने में आए, मैं रात में सो तक नहीं पाई.

मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर?

दुबारा कोशिश करने पर सुपारा अन्दर घुस गया, तो सुनयना भाभी के मुँह से आअह्ह्ह की आवाज निकली. मुझे अपनी बहन की चूत में उंगली करने में काफ़ी मजा आने लगा और थोड़ी ही देर बाद मोनिषा ने करवट बदल ली. वो मुझे चूमना मसलना चाहता था, मगर मैं उसे अपने बदन को हाथ ही नहीं लगाने देना चाहती थी.

मैंने भी उसको हग किया और उसके मोटे हो चुके चूचे मेरे सीने से सट गये. उसे अचानक से याद आया और उसका चेहरा एकदम ऐसे पीला पड़ गया, जैसे उसकी कोई चोरी पकड़ी गई हो. मुखिया सुमन को गालियां देता हुआ झटकों पर झटके मारता रहा और सुमन की मादक सिसकारियां निकलती रहीं.

मैंने बिना उसको नंगी किए सभी आसनों में सेक्स किया। जाने से पहले मैंने अंजू से कहा- एक बार और प्लीज़।अंजू ने अपने आप ही सारे कपड़े निकाल दिए और मेरे पास मेरी गोद में आकर बैठ गयी. ”काफी सोच विचार के बाद सुनील जी और उनका परिवार इस प्रस्ताव पर सहमत हो गया. भाभी ने एक बहुत ही मोहक सेंट लगाया हुआ था, जिसे मैं बस सूंघे जा रहा था.

अब राहुल ने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और बोला- आई लव यू जान, लव यू लव यू. जो नए पाठक हैं उनके लिए अच्छा होगा कि वो मेरी दूसरी कहानियों को पढ़ लें ताकि आपको इस देसी लंड चुत की कहानी को पढ़ने में पूरा मजा आए.

इस तरह से अंजू के साथ मेरा प्यार वाला सफर तो ज्यादा दिन नहीं चला लेकिन मैंने उसकी चूत की चुदाई जमकर की.

मोनिषा सोने का नाटक करने लगी और मैंने कम्बल हटाकर मोनिषा की लोवर को खींचकर निकाल दिया.

पब्लिक प्लेस सेक्स स्टोरी पर मुझे आप सभी प्यारे पाठकों के फीडबैक का इंतजार रहेगा, तब तक अपने प्यासे लौड़ों और चुदासी चूतों की प्यास को शांत करते रहिए और जिन्दगी के मज़े लेते रहिए।[emailprotected]. मैंने धीरे धीरे उनके होंठों पर होंठ रख दिए और भाभी के होंठों पर किस करने लगा. मेरे मुंह से तो जैसे सिसकारियां निकलने लगीं।मुझे चूमकर फिर वह मेरे कान के पास आकर बोला- भाभी, आपने मुझे बहुत परेशान किया है.

मैं नहाई और फिर एक मिनी स्कर्ट पहन ली और उसके ऊपर एक बहुत ही टाइट टीशर्ट पहन ली. उसके मुंह से मस्त कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं और वो आह्ह … अम्म … आई … ओह्ह … आहाह … करके मुझसे अपनी चूचियां दबवा रही थी और मेरे सीने को सहला रही थी. इधर ये भी एक सोचने वाली बात थी कि जिस लौंडे के बाजू में इतनी माल लड़की लेटी हो, वो उसे चोदे बिना कैसे मान सकता था.

उस रात मैंने रागिनी को तीन बार चोदा और सुबह 3 बजे स्वाति के कमरे में जाकर सो गया.

पीछे से उसकी पीठ पर हाथ रखकर दूसरे हाथ से लंड को उसकी चूत के मुँह पर लगाया और चोदने को तैयार हो गया. उनको बोलता रहा कि रात में भाईसाहब से चुदवाती रहना ताकि बच्चा होने पर उनको शक न हो. मैं उनके गालों को किस किया, फिर कान को … और अपना हाथ पीछे से उनकी चड्डी में घुसेड़ दिया.

धकापेल चुदाई में हम दोनों ही एक दूसरे को मानो इस लड़ाई में परास्त कर देना चाहते थे. मैं मुस्कुराते हुए उसके निशान को अपनी यादगार चुदाई के रूप में महसूस करने लगा. ये सुनकर मैं परेशान हो उठी- कब तक आ जाएगा?उसने लाचारी भरे चेहरे से कहा- कभी आधे घन्टे में भी आ जाता है, तो कभी एक घन्टे में.

रोड सेक्स की हिंदी कहानी में पढ़ें कि मुझे मर्दों के मोटे लंड से चुदाई का बहुत शौक है.

‘मुझे फोन आया था कि मेरे पति अस्पताल में हैं, तो मैं शहर जा रही थी. थोड़ी देर बाद मुझे लगा कि उनका दर्द कम होने लगा है, तो मैंने तेल की शीशी से भाभी की गांड में फंसे अपने लंड पर तेल टपकाया और धीरे-धीरे आगे पीछे करने लगा.

मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर एक दूसरे की गर्मी हमें अच्छी लग रही थी, पर इस गर्मी के कारण मेरे लंड में हरकत होने शुरू हो गयी. फिर उसने अपना हाथ अंदर तक मेरी गांड के छेद तक पहुंचा दिया और मेरी गांड में उंगली दे दी.

मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर उन्होंने कहा- ठीक है, फिर फिल्म बंद ही समझो, और मैं तो बर्बाद ही हो गया हूं, वैसे फ्रस्ट्रेट हो कर मैं सुसाइड भी कर सकता हूं. तेरी मां को ये सब पता है क्या?मीता- नहीं, मैंने तो उनसे बस इतना कहा था कि मुझे सीने में दर्द है.

मेरी हॉट वाइफ स्टोरी के अगले भाग में मैं सब तरतीब से लिखूंगा कि पारिज़ा के साथ सेक्स का मजा हमने कैसे लिया.

मकान मालिक की चुदाई

मन कर रहा था कि भाभी के हाथ को पकड़ कर अपने उफनते लौड़े पर रखवा दूं. वो मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी और मैं उसकी चूत में जीभ देकर चोदने लगा. दोस्तो, कैसे हो आप लोग, मैं आशा करता हूँ कि आप सभी लोग अच्छे होंगे.

इससे पहले उसने चूत पर क्या अपने जिस्म पर भी किसी पुरूष का हाथ नहीं अनुभव किया था. मेरी क्लाइंट बोली- ये सब मत करो, मुझे ये सब अच्छा नहीं लगता।मना करने पर मैं ऊपर की ओर आ गया और फिर से उसके चूचों को और होंठों को अच्छे से चूसने लग गया. मैंने उनकी चूत में उंगली डाली और चूत के पानी को लेकर उनकी गांड पर फिराने लगा.

उसको संभालते वक़्त मेरा एक हाथ उसके पेट पर आ गया और दूसरा उसके स्तन पर.

मेरे पेट की सारी मांसपेशियां खिंचने लगीं और इस वजह से मेरे पेट और लंड में 3 दिन तक बहुत दर्द रहा। उसके बाद ज़ब वो अपने गांव से वापस आई तो मैंने उसको फिर से कई बार चोदा. मुझे अकेले छोड़ दो, भगवान करेगा तो दो चार दिन में ठीक हो जाऊँगी, मुझे कोरोना नहीं है, बस एहतियात के लिए ऐसा करना जरूरी है. अगले ही पल ने रीमा की स्कूटी स्टार्ट कर दी और महक उचक कर पीछे बैठ गयी.

मेरी बुर ने यदि कभी मुझे ज्यादा तंग किया या बहुत खुजली महसूस हुई तो मैंने अपने भगांकुर को रगड़ मसल कर तथा दरार में उंगली से रगड़ रगड़ कर जैसे तैसे झड़ कर समझा लिया पर कभी भी योनि के भीतर उंगली या अन्य कोई भी वस्तु नहीं घुसाई. वकील साहब का कॉल खत्म हुआ और जैसे ही वो मुड़े तो मैं आगे देखने लगी. उस लड़की के मन की सबसे बड़ी बात उसकी जवानी की दहलीज पर कदम रखने के बाद आए दिन उसके गुप्तांगों में उठ रही चुल्ल को शान्त करने से जुड़े होते हैं.

मेरे मन में भी राज के खड़े लंड को देखकर मेरे मन में विचार आने लगे थे कि क्यों न राज के साथ ही मजे ले लिए जाएं. उसकी बातों को सुन कर लग रहा था कि वो शायद किसी और को भी यहां पर आने का न्यौता दे रही थी.

सुमन की साड़ी भी नेट की थी यानि ऐसी जालीदार साड़ी, जिसमें से उसका गोरा बदन स्पष्ट झांक रहा था. उनमें से हमने कुछ ब्रा पैंटी के सैट और सिल्वर कलर की बेबीडॉल नाइटी लेकर ट्रायल रूम की तरफ चले गए. मैंने उसे मना कर दिया और लिखा- नहीं तुली, मैं रात को सोते समय अपने सारे कपड़े उतार कर बिल्कुल नंगा लेटा हुआ हूँ.

मेरा बेटे अपनी अम्मी की शक्ल पर है तो किसी को कोई शक भी नहीं होता कि वो अपनी अम्मी के शौहर की औलाद नहीं है.

पहले भाग में मैंने बताया था कि मेरे कॉलेज की दोस्त अंजू को मुझसे प्यार हो गया था और उसने मुझे प्रपोज कर दिया. चूंकि मैं भी चिकन की दीवानी हूं तो मैंने उससे कहा- तो मुझे कब खिलाओगे?वो बोला- जब तुम बोलो. वो मेरे करीब आईं और मेरे गाल पर किस करके बोलने लगीं- तुमने सच में अभी तक किसी लड़की के साथ कुछ नहीं किया?मैं- नहीं, सच में नहीं किया.

उसके वे अरमान उसके सपनों के राजकुमार से दिखने वाले पति से ही होते हैं. मैंने एक सिगरेट सुलगाते हुए पूछा- अंकल कब से चूत नहीं चोदी?अंकल बोले- जब से तेरी पारिज़ा की अम्मी गई है.

फिर मैंने उसको अपने नीचे लिया और धक्के देने लग गया। अब मैं भी थक गया था. मेरी गर्म सेक्सी बीबी की चूत मैं चोद रहा था कि उसके अब्बू का फोन आ गया. करीब 11 बजे साइड वाले अंकल नीचे चले गये और घोष भाई साहब को मैंने अंदर भेजा.

गंदी शायरी वीडियो

राज- नहीं अभी मुझे हाथ से नहीं करना … कल उसी की चूत में रस निकालूंगा.

फिर मैंने दोबारा चेक करने के लिए गर्दन उठायी तो पाया कि प्रेरणा भाभी मेरे लंड को देख रही थी. मैंने रिसेप्शन मैं जाकर पूछा कि आज मुझे कोई पढ़ाने आएगा कि नहीं!तो रिसेप्शनिस्ट मुझसे कहने लगी कि जो टीचर आपको पढ़ाते थे, वो अब आपको नहीं पढ़ा पाएंगे. दोस्तो, मैं रोहित एक बार फिर से अपनी बहन की हनीमून सेक्स स्टोरी लेकर आपके सामने हाजिर हूँ.

वो मां की चूत को चोदने के लिए अब एक पल का भी विलम्ब बर्दाश्त नहीं कर सकता था. मेरा लंड उसके थूक से पूरा सन चुका था और उसके मुंह से थूक निकल निकल कर मेरी बाल्स तक आ रहा था. सुहागरात सेक्सी सेक्स वीडियोये आवाज इतनी तेज थी कि हम दोनों ने बाहर जाकर देखा, तो एक आदमी अपनी बाइक से मेरे गार्डन के दरवाजे से टकरा कर गिर गया था.

मेरी गंदी कहानी हिंदी में कैसी लगी? मुझे आप लोगों की ईमेल और फीडबैक का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा. बहुत ही कामुक का अहसास मिल रहा था उसके होंठों का स्वाद लेते हुए। साथ ही मैं उसकी चूचियों को भींच रहा था.

मेरे तो अक्सर सवेरे कपड़े गंदे हो जाते हैं, मेरा पानी तो अपने आप ही निकल जाता है. मैंने पूछा- इसका मतलब क्या है कि मेरे जैसी!इस पर विवेक बोला कि मेरा कहने का मतलब था कि तुम नशे में बेहोश हो गई थीं न … तो ऐसे ही उसने भी नशा कर लिया होगा. अब वह पूरा लंड पेल कर पीछे से आराम से धक्के लगा रहा था और मैं मजे ले रही थी.

मैंने उसकी काले रंग की ब्रा भी उतार दी अब वो सिर्फ़ पेंटी में रह गई थी. उन्होंने सभी जानकारी देने के बाद मेरी सहमति ली और मुझे व्हाट्सएप नंबर पर अपनी कुछ और फोटो व एड्रेस भेज दिया. मैं- सीमा डार्लिंग … तेरी मां को चोदूं … बहन की लौड़ी … चल अब घोड़ी बन जा.

लंड सरकता हुआ गांड में घुस गया और वो धीरे धीरे ऊपर नीचे होकर गांड मरवाने लगी.

उसने मजे से अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया और लंड के टोपे पर अपने होंठ रख दिए. वो भी मेरे लंड के पानी को चूस कर पीती चली गई और उसने चटखारे लेते हुए मेरे लंड की आखिरी बूंद तक को चाट लिया.

लेकिन मिली नौकरानी की चूत!दोस्तो, आज मैं आपके लिए एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आई हूँ. मैं- वो उस दिन की वजह से सविता आपसे …मयंक- क्या आपसे … पूरी बात कहो न!मैं- वो कह रही थी कि …मयंक- अरे साफ़ बता ना?मैं- प्लीज़ गुस्सा ना करना … जो भी हो हां या ना … कर देना बस … ओके!मयंक- ठीक है. गांड चुदाई और इस लंड चुसाई के बाद मेरे लंड ने दम तोड़ दिया और अपना सारा माल दिशा के मुँह में फेंक दिया.

दस मिनट तक मैं फराह के होंठों का रस पीता रहा और फिर उसने छोड़ने को कहा. लेकिन मैंने पहले से सारा बन्दोबस्त कर लिया था ताकि इन इक्कीस दिनों तक हमें कोई परेशानी ना हो. नमस्कार पाठको और पाठिकाओ, मैं पिंकी सेन फिर से आपको चुदाई की दुनिया में ले जाने आ गई हूँ.

मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर आखिर में उसने एक बहुत तेज धक्का लगाया और अपना सारा वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया। झड़ता हुआ वो फिर ऐसे ही मेरे ऊपर लेट गया। तब जाकर मेरी कुछ जान में जान आई। फिर रोहित थक कर एक तरफ लेट गया।उस पूरे दिन और रात को मिलाकर उसने मुझे 7-8 बार चोदा था. मुझे देख कर उसने स्माइल दिया और इशारे में पूछा- किधर जा रहे हैं?मैं धीरे से उसके गेट के सामने पहुंचा और हल्की आवाज में पूछा- अकेली हो?उसने गर्दन हां में हिलाया तो मैं दाएं बाएं देख जल्दी से उसके घर मे घुस गया.

भोजपुरी बिरहा कांड

खाना आया, तो मैंने रिया को उठाये बिना टेबल पर सब कुछ सजा दिया और नंगा होकर उसे उठाने आ गया. अभी से मैं क्या कह सकती हूं?उसने कहा- जब करना ही है तो फिर राजीव भैया में क्या बुराई है? तुम अच्छी तरह से सोच लो और फिर बाद में मुझे बता देना. मैंने कहा- किसी को बुला दूँ?उनके मुँह से निकल गया कि मुझे तो पारिज़ा के अलावा किसी और के साथ मजा ही नहीं आएगा.

मयंक ने उसे वहीं किचन की स्लैब पर घोड़ी बना दिया और वो मेरे सामने ही मेरे पति से चुदने लगी. सुबह होते ही कभी न्यूज पेपर उठाने, कभी पौधों को पानी देने के बहाने बाहर गया ताकि यार का दीदार हो जाये. आरती का सेक्सीबहुत ही कामुक का अहसास मिल रहा था उसके होंठों का स्वाद लेते हुए। साथ ही मैं उसकी चूचियों को भींच रहा था.

मेरी पिछली कहानी थी-मस्ती में चुद गयी मस्त हसीनाइस Xxx चूत की मस्त चुदाई कहानी की शुरूआत जून, 2018 में उस वक्त की है, जब मैं अपने ऑफिस से घर आ रहा था.

तभी उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में डालने लगी. चाची सेक्स स्टोरीज इन हिंदी में पढ़ें कि मैं अपनी विधवा चाची के सेक्सी जिस्म को भोगना चाहता था.

जैसे ही मैंने चुत पर जीभ लगाई, चाची एकदम से छटपटाने लगीं, मेरे बाल खींचने लगीं. हमारी चूमाचाटी इतनी गहरी होती चली गयी कि हम दोनों एक दूसरे की राल और थूक चाटने लगे. उसके मुंह से निकल रहा था- आह … आह … जोर से … आह … आह … कम ऑन … मेरी जान, पेलते रहो, मैं प्यासी हूं तुम्हारी।इस तरह की कामुक बातों से मेरा जोश और भी बढ़ गया और मैं तेजी से लिंग अंदर बाहर करने लगा.

जब भाभी गाड़ी चला रही थीं, तभी अचानक से उन्होंने ब्रेक मारा और मैं उनके ऊपर को सरक गया और मेरे होंठ उनकी नंगी पीठ पर चिपक गए.

पहले भी मेरी कई बार इच्छा हुई कि मेरे पति नमन मेरी चूत को चूमें चाटें और मुझसे अपना लंड भी चुसवाएं. फिर मैंने घर का एक चक्कर लगाया तो एक कमरे में कुछ लोगों का पीना पिलाना चल रहा था, शराब की गंध कमरे के बाहर तक आ रही थी और रूचि के पापा यानि कि मेरे मौसा जी की बहकी बहकी बातें बाहर तक सुनाई दे रहीं थीं. एक दिन शाम को महक का मैसेज आया- क्या कर रहे हो?मैंने रिप्लाई दिया- बोर हो रहा हूँ.

सेक्सी फिल्म जानवरों का सेक्सीदूसरे दिन सुरेखा का फोन आया- घर में कोई नहीं है, तुम आ सकते हो क्या?मैं बहुत खुश हो गया और मैंने आने की हां बोल दी. मेरी ननद रेखा और मेरे बीच मज़ाक का रिश्ता था, तो हम लोगों के बीच चुहलबाज़ी शुरू हो गयी.

नेपाल की लड़कियों की फोटो

जब उन्होंने टटोल कर देखा तो धीरे से मेरे पजामे में हाथ डालकर हल्के हाथ से मेरा लंड सहलाने लगी. मम्मी बोली- अब थक गई हूं यार … ये लास्ट कर लो फिर सो जायेंगे।फिर पापा ने धीरे धीरे हिलाना शुरू कर दिया. तो श्वेता ने कहा- भैया हमारा एक दूसरे के सिवाए कोई नहीं है और आप भी जानते हो कि हम एक दूसरे के बिना अब जी नहीं सकते.

वो अब तक 5 बार झड़ चुकी थी। अब वो भी बहुत थक चुकी थी और कहने लगी कि अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है. जब हम एक दूसरे से अलग हुए, तब हम दोनों का चेहरा पूरा गीला हो गया था. फिर मैंने उसकी चूचियों से उसके हाथों को अलग किया और खुद उनको भींचते हुए उसको चोदने लगा.

एक हफ्ते बाद फिल्म की शूटिंग शुरू हो गई और मैं और लोगों के साथ शूटिंग करने लगी. मैं दो पाटों के बीच में पिसने लगा, मगर वो पल मेरी जिंदगी का सबसे सुखद पल था. मेरी गर्म चूत की देसी चुदाई कहानी के पिछले भागगाँव के मुखिया जी की वासना- 4में आपने अब तक पढ़ा था कि गांव के महामादरचोद मुखिया जीवन परसाद आज अपनी कामवाली सन्नो की ननद मुनिया की जवानी का स्वाद चखने वाले थे कि तभी उसका नौकर कालू ये बताने आ गया कि डॉक्टर सुरेश की मदमस्त बीवी सजी धजी मुखिया जी को बुला रही है.

क्योंकि दानिश के अब्बू का इंतकाल 3 साल पहले हो गया था और उसकी बड़ी बहन की शादी भी एक साल पहले हो गई थी. वो कामयुद्ध कोई बीस पच्चीस मिनट तक चला होगा कि मौसाजी के लंड ने वीर्य की पिचकारियां मेरी चूत में भरना शुरू कर दीं.

और वे मेरी टांगें फैला कर उनके बीच में आकर बैठ गए और अपना लंड मेरी चूत के द्वार पर टिका दिया और चूत की फांकों पर उसे रगड़ने लगे.

उस दिन पहली बार पता चला कि लड़कों के अण्डकोषों में इस तरह की दिक्कतें भी हो जाती हैं. xx3 सेक्सी पिक्चरऐसा नहीं था कि मुझे मोती से कोई दिक्कत थी, मुझे उसको सताने में मजा आ रहा था. मोटी औरत का फुल सेक्सी वीडियोमेरी चुदाई सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी सहेली की तलाक तक बात पहुंच गयी. उसने मचलते हुए कहा- भैया अब जल्दी से लंड डाल दो … पूरे 4 महीने से लंड नहीं गया है … पेलो न जल्दी से.

पोर्टफोलियो बनाने के दौरान उन्होंने मुझे नंगी कर दिया और मेरी फोटो खींचने के बाद मुझे सेक्स के लिए राजी कर लिया.

फ्रेंड्स अब सेक्स कहानी में मुखिया के लंड की खुराक के लिए मुनिया नाम की कच्ची कली के हाथ से मुखिया के बदन की मालिश का मजा अगले भाग में मिलेगा. मैं बोली- आप ये क्या बोल रहे हो?वो बोले- हां, वहीं बोल रहा हूं जो तुम सुन रही हो. उसकी मां ने उसे देख कर पूछा- ऐसे लंगड़ा कर क्यों चल रही हो?मां के पूछने पर उसने बता दिया कि आते वक़्त वो गिर गई थी, इसलिए पांव में हल्की मोच आ गई है.

चूंकि मैं जयपुर में रहकर तैयारी कर रहा था, तो मैंने बोला कि काफी अच्छी चल रही है. एक चुचे को मसल रहा था और दूसरे चूचे को अपने मुँह में लेकर चूस रहा था. मेरे देवर ने मेरी चुत चुदाई किस तरह से की … इसे मैं अगले भाग में पूरे विस्तार से इस होली सेक्स की कहानी को लिखूंगी.

सलमान खान की सेक्स वीडियो

फिर वो थोड़ा ऊपर हो गईं, तो मैंने अपना सिर उनकी छाती पर रख लिया और उनकी नाइटी को खोलकर चूची निकाल कर चूसने लगा. दोस्तो, ये कहानी मेरी सगी बहन की है जिसकी उम्र अब 25 साल है वो मेरे से 2 साल बड़ी है. उस वक्त मैं दिल्ली में आ गयी और कमाने के लिए मेरे पास कोई और जरिया नहीं था.

वो कैसे, मैं आपको इसी रोड सेक्स कहानी के माध्यम से बताने जा रही हूं.

फर्स्ट नाईट सेक्स स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी होने वाली भाभी की बहन को चोदा.

अंकल का लंड इतना बड़ा नहीं था और अंकल की तरह वो भी मुरझाया हुआ शर्मा रहा था. अचानक उसने मुझे धक्का दिया और मुझे खड़ा करके मेरे कपड़े उतारने लगी. सेक्सी फिल्म दिखाइए फुल एचडी मेंमैं इस बात से मन ही मन इन्कार नहीं कर पा रही थी कि मंगेतर के सामने मुझे अपने पुराने यार के साथ मस्ती करने में अगल ही मजा मिलता था.

उसने भी इतनी जल्दी ब्लाउज उतारा था कि मुझे अपने स्तनों को छुपाने का मौका भी नहीं मिला. थोड़ी देर बाद मैंने अपनी जीभ को बाहर निकाला, तो श्वेता ने उसे चूसना शुरू कर दिया. मुझे भी अपनी चुत में लंड की खुजली होती थी, मेरा मन चुदने का होता था.

पहला साल पूरा होते ही अंजू का फोन आया और उसने बताया कि उसने भी जम्मू में ही जेबीटी में दाखिला लिया है. सोच रही थी कि इतना कोमल लंड उत्तेजना में कैसे लोहे के जैसा सख्त हो जाता है.

मैंने उसको होंठों पर, गर्दन पर, कान के नीचे … किस करना शुरू कर दिया.

तभी दीदी ने मेरा हाथ पकड़ कर दूसरे कमरे में ले गईं और उन्होंने अपना कुर्ता निकाल दिया. फिर मैंने अपने लौड़े पर भी बहुत सारा थूक लगाया और उनकी गांड के छेद पर रख दिया. मैंने जैसे ही पारिज़ा की ब्रा हुक खोला, वैसे ही उसने मेरी ओर सेक्सी नजर से देखते हुए अपनी ब्रा निकाल कर दूर फेंक दिया.

जयपुरी सेक्सी वीडियो सुमन की साड़ी भी नेट की थी यानि ऐसी जालीदार साड़ी, जिसमें से उसका गोरा बदन स्पष्ट झांक रहा था. रोहन का लंड तो तैयार था ही, उसने मुझे घोड़ी स्टाइल में झुकने के लिए कहा.

चाची जागीं, तो उन्होंने थोड़ी देर मेरे हाथ पर अपना हाथ रखा हुआ था … फिर प्यार से मेरा हाथ हटाकर वो चली गईं. https://thumb-v0.xhcdn.com/a/mo4zzuMZwsi-e058Ldotyg/020/416/820/526x298.t.webm. उनका थोड़ी देर पहले ही फ़ोन आया था कि वो 2 दिन की छुट्टी लेकर जा रही हैं.

ब्लू ब्लू फिल्म इंग्लिश

समस्या ये थी कि स्कूल से लौटने के बाद सभी बच्चे अपने घर में चले जाते थे और मेन गेट में अंदर से ताला बंद कर लेते थे।मैंने कई बार रोज़ी से ताला खोलने को कहा, मगर उसने हर बार भाई बहन के होने की बात कही। मैं खाली बाहर से उसके स्तन और चूत को छूता था. उसकी नजरों के लिए मैंने अपनी चूचियों के उभारों को और दिखा दिया और नजारा बहुत कामुक हो गया. मैं उनकी चूत को चाटते हुए उनकी चूत में दो उंगलियां डालकर भी अन्दर बाहर कर रहा था.

दोस्त की सिस्टर की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी … मुझे ईमेल जरूर करना. जब मैं उसकी चूचियां देख रहा था, तब उसने मुझे देख लिया और मुस्कुराने लगी.

इस सेक्स कहानी में सभी पात्रों के नाम भले ही काल्पनिक बता रही हूं, लेकिन जो मैं आपको बताने जा रही हूं, वह किस्सा एकदम सच है.

उसने मजे से अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया और लंड के टोपे पर अपने होंठ रख दिए. मैं बहू के गाल कान चूमने लगा और उसकी चूचियों की क्लीवेज पर हाथ फेरने लगा. मेरे हाथ उसकी पीठ पर लगातार घूम रहे थे और मेरा लंड उसको चुभ रहा था.

Xxx बहन की कहानी पर अपनी कमेंट्स में बतायें कि आपको ये स्टोरी कैसी लग रही है. यह सब महसूस करते हुए मैंने भी अपने बदन को बिल्कुल ढीला छोड़ दिया और विनी को मनमानी करने दी. मैं जिस काम से आया था, वो उसके पापा से ही था, तो मैं कुछ सोचने लगा.

मैंने उसे बेड पर लिटाया और उसकी टांगें उठाकर उसकी चूत में अपना लंड घुसाने लगा.

मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर: मेरा लंड इतना टाइट था कि अंडरवियर के अन्दर होने के बावजूद दिशा के मुँह के पास आ गया. पापा बोले- देख रही हो मेरे लंड की ताकत?मम्मी बोली- हां, पता है मुझे.

ये सुनते ही मुखिया जी को सुमन की चुदाई की याद आने लगी और वो खुश हो गया. उठने के बाद मैं सीधे नहाने चला गया और उसके बाद फ्रिज में से फल निकाल कर खा रहा था. दो मिनट तक उसके मम्मों को सहलाने के बाद मैं उसे गर्दन पर चूमा तो पारिज़ा घूम गई.

अंकल ने अपनी बेटी की ओर देखा और उन्होंने पारिज़ा के बदन से चादर हटा दी.

फिर रात में मोनिषा को जागते हुए ही मैंने उसके सामने अपना लंड खोल दिया और उसने भी ये कह कर लंड मुँह में भर लिया कि आपका अंगूठा बड़ा प्यारा है. उसके बाद दोनों बाथरूम में चले गये और फिर वापस आकर साथ में बेड पर लेट गये. डॉटर फादर रोल प्ले सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक युवा लड़की ने विडियो चैट में मेरी बेटी बन कर मेरे साथ सेक्स किया और उसके बाद सच में मिलकर मुझसे चुदकर बच्चा पैदा किया.