बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ इंडियन बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेकस इसटोरी: बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो, मैंने सोनू के चूचों के बारे में सोचते हुए लंड को हिलाना शुरू कर दिया और तीन-चार मिनट में ही मेरा वीर्य निकल गया.

बीएफ का फोटो

रोनिता के मुँह से मदमस्त सिसकारियां निकल रही थीं- अहह यहह कम्म अह्ह उह अह्ह्ह कम्मं ऐसे हीईई अहह चोदो … और जोर से … अह्ह एहहह कम्मं हहह ओह्ह अहह फ़क मी हार्ड … यहस अह्ह. देहाती सेक्सी चुदाई बीएफयहां पर मैं बता दूं कि इंदौर और पालदा के बीच में कुछ दूरी का सुनसान इलाका पड़ता है.

इस तरह सारा तेल उनकी नाइटी पर मम्मों के पास गिर गया और चाची के मम्मों पर चला गया. बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी बीएफ! तुम्हें बहुत हंसी आ रही है … हम दोनों को चोद कर ठंडा कर भी पाओगे!सुरेश- कोशिश करूंगा … और आजकल तो एक से एक दवा आती हैं.

मेरा लंड भी उसके चूचों के बारे में सोच कर और उसके चूचों के टच होने के कारण तना हुआ था.बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो: जो भी उस समय मेरी मॉम को देखता, तो उसका मन यही करता कि उसी समय मॉम को पटक कर चोद दें.

ये कहानी जिसके बारे में है, वो मेरे पड़ोस में रहने वाली क्यूट सी लड़की और मेरी जुगाड़ है.उसका लंड उसके कच्छे में एकदम टाइट होकर मेरी चूत में घुसने को हो रहा था.

बीएफ चूत मारने वाली - बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो

उसका जवाब सुन कर मेरे मन को तसल्ली हो गई कि अब बात हम दोनों के बीच में ही रहने वाली थी.बेड के पास जाकर उसने उर्वशी को धीरे से बेड पर बिठाया और एक बार फिर से उर्वशी के होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा.

मैंने मॉम की गांड में अपना लंड पेला और उनकी चुचियों को भींचता हुआ उनकी गांड मारी. बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो मुझे तो उसकी नाज़ुक सी छोटे से छेद वाली चुत को मुँह में भरके चूसने का बहुत मन कर रहा था.

उर्वशी ने मिहिर को देख कर एक प्यारी सी स्माइल दी और उसे अंदर आने के लिए कहा.

बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो?

वो मान गई और उसने मुझे बिस्तर पर पीठ के बल लेटा कर मेरा लंड मुँह में ले लिया. मैंने मॉम की गांड में अपना लंड पेला और उनकी चुचियों को भींचता हुआ उनकी गांड मारी. सोचती थी कि बेटे का लंड लेकर चूत की प्यास बुझवा लूं, मेरी नजर में इस माँ बेटा सेक्स में कोई बुरी नहीं थी.

दस मिनट बाद चाची ने मुझे रोकते हुए कहा- चूसने का मजा मुझे भी लेना हैमैंने अपनी निक्कर उतार दी और लंड हिलाने लगा. उर्वशी ने मिहिर के बालों को ऐसे सहलाना शुरू कर दिया जैसे कि वो बरसों के प्यासे अपने आशिक के प्यार की हर एक बूंद की शीतलता को अपने उरोजों पर महसूस करके आनंदित हो रही हो. मेरी मौसी की बेटी का नाम खुशबू (बदला हुआ नाम) है, उस समय उसकी उम्र उन्नीस थी.

जैसा कि मैंने आपको पहले ही बताया कि मेरी हाइट बहुत कम थी तो मैं लोगों के बीच में फंस गई. मैंने मॉम की चूचियां छोड़ दीं और नीचे आकर लेट कर अपनी जीभ से मॉम की चूत चूसने लगा. मैंने बिना कंडोम के ही दुबारा से अपना लंड उसकी चुत में डाल दिया और धक्के लगाना चालू कर दिए.

उसके चूसने की स्पीड इतनी तेज थी कि मैंने कब माल उसके मुँह में छोड़ दिया, मुझे पता ही नहीं चला. चूंकि मेरे घर में केवल दीदी और मैं ही रहते थे, किसी का कोई डर ही नहीं था.

जाते वक्त उसने मुझसे पूछा- अगर ये काम मुझे अच्छा लगे, तो आप मुझे बाद में करने दोगे?मैंने हां में जबाब दिया.

मुझे उससे सम्भोग की बात भी मन में आई, लेकिन मैंने इस विचार को सुरेश की पहल पर छोड़ने का निश्चय किया और उसके आने का इन्तजार करने लगी.

रास्ते में मैंने भाभी के कंधे पर हाथ रख लिया और फिर उनकी कमर पर हाथ रख लिया. मैंने कहा कि आह … क्या मस्त चूचियां हैं … जिस बुर से मैं निकला हूँ आज उसी बुर को चोदने का सौभाग्य मिला. मैंने थोड़ा थूक लगाया, लेकिन माँ की गांड मेरे लंड को एन्ट्री ही नहीं दे रही थी.

उसकी और मेरी लम्बाई में तीन-चार इंच का ही अंतर था इसलिए दोनों की सांसों का आदान-प्रदान एक दूसरे की नासिका के द्वारा होने लगा था. प्लान के मुताबिक मैंने अनिरूद्ध को भी पहले से ही फोन कर दिया था कि मैं कॉलेज देर से आऊंगा. अगले दिन मैंने जल्दी से सब काम निपटा दिया और घर पर, दोस्त के घर जाने की कहकर निकल गया.

अगले दिन मैंने जल्दी से सब काम निपटा दिया और घर पर, दोस्त के घर जाने की कहकर निकल गया.

मैंने अब बेशर्म होते हुए कहा- तुम्हें पता है कि इसका नाम क्या है? मैंने अपने तने हुए लंड की तरफ इशारा करते हुए पूछा. वो बोली- क्या मैं तुम्हारे ‘उसको’ देख सकती हूं?मैंने अन्जान बनते हुए कहा- किसको?उसने शरमाते हुए मेरे झटके खा रहे लंड की तरफ देखा. साथ साथ मैं आहिस्ता आहिस्ता मोसी की चुदाई करने लगा।अब धीरे धीरे मोसी भी मेरा साथ देने लगी और मैंने मोसी की चुदाई की गति तेज़ कर दी और उनकी दमदार टाईट और रसीली चूत को जोर से चोदने लगा.

मैं उसको बोल देती थी कि जिस दिन मौका मिलेगा, उस दिन ब्रा और पेंटी पहन कर दिखा दूंगी. लेकिन अब कल्लू जब चाहे, मेरे सामने ही मम्मी की चुदाई कर देता है और मम्मी का कमरा भी खुला रहता है. वो अभी भी दीवार से लगी हुई थी, तो मैं भी पीछे से जाकर उससे चिपक कर उसकी गर्दन और कंधे पर किस करने लगा.

मम्मी सिसिया सिसिया कर नीचे से चूतड़ों को उठा उठा कर उसका साथ दे रही थीं.

मेरी भतीजी की जवानी की कहानी में पढ़ें कि मुझे अपनी साली की बेटी यानि मेरी भतीजी की जवानी को देखकर लगता था कि साली को लिटा कर चोद डालूं. उबकाई इस बार भी आयी, लेकिन उसने चूसना बंद नहीं किया और बड़े प्यार से मेरे लंड के सुपारे पर जीभ फिराने लगी.

बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो साफ़ दिख रहा था कि चाची ने अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी, पर पेंटी का मालूम नहीं चल रहा था कि पहनी है या नहीं. मैं बोला- मैं बहुत नसीब वाला हूँ कि आज इतनी खूबसूरत भाभी मेरी बांहों में है.

बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो साहब को तो पहले से ही पता था कि मैंने नीचे से ब्रा नहीं पहनी हुई है. पहली नजर में प्यार और वासना की कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया देकर कहानी की सार्थकता पर प्रकाश डालें.

चाची मादक अंदाज से अपनी गांड हिलाते हुए उठीं और पेंटी उतार कर उल्टी होकर लेट गईं.

बीएफ सेक्सी शॉट

अब पूजा हर छोटी से छोटी बात मुझे बताने लगी थी कि उसके घर में आज क्या बना था. बस यही है क्रॉस ड्रेसर की गांड की पहली चुदाई की दास्तान!अगली बार फिर तब आऊँगी जब नया लंड खाऊँगी किसी नए मर्द का!तब तक मस्त चुदाई भरी रातों का मज़ा लीजिये. इशारा मिलते ही उसने अपने कमर के हिस्से से दबाव बढ़ाया और लिंग का सुपारा सट से मेरी योनि की पंखुड़ियों को फैलाता हुआ भीतर चला गया.

प्रतिउत्तर में मैंने भी पहले तो उसके माथे पर चुम्बन लिया, फिर उसके दोनों गालों को चूमने लगा. मैं सीधा होकर लेटा था और विद्या मेरे ऊपर आकर मेरे सीने पर सिर रख कर लेट गई थी. पर उस समय ये प्यार मोहब्बत करना तो दूर की बात, लोग आपस में बातें भी नहीं करते थे.

वो अब मेरे ऊपर आ गया था और मेरी दोनों जांघें फैला कर वो बीच में आ गया.

फिर मुझे 7 महीने बाद पता चला कि सोमेश भैया की शादी बहुत पहले हो चुकी थी … उनके 2 बच्चे भी थे. आंटी ने कहा- बच्चों के आने का समय हो गया है।तो मैंने आंटी को किस् किया और हम दोनों ने कपड़े पहने और मैं जाने लगा. वो अपने चूतड़ों को उठा-उठा कर चुदवा रही थी … सच में बहुत ही मजा आ रहा था.

करीब पांच मिनट के बाद वो संयत हुई और मेरी तरफ देखते हुए मेरे लंड की गति को अपनी कमर हिलाते हुए मिलाने लगी. बुआ हंस कर बोलीं- सुबह सुबह ही लग गया … थोड़ा रुक जा, चाय पी ले … फिर कर लेना, जो करना है. मेरी बीवी के चूचों को दबाते हुए उसने अपने शरीर का भार सामने पड़ी मेरी नंगी बीवी के बदन पर डालते हुए उसकी योनि में मेरे दोस्त ने अपने लंड को प्रवेश करा दिया.

आज जो निशा जी दिख रहीं थीं, वो आनंद लॉस-वेगास की एक पॉर्नस्टार के साथ आया था।फिर सिलसिलेवार शरीर चूमने और लव बाइट्स का दौर चला. मैं कजरी को चोदने का प्लान बनाने लगा और कुछ ही देर में मेरे दिमाग में एक आइडिया आ गया.

मामी के लाल रंग के ब्लाउज में भरे हुए उनके मोटे और बड़े स्तन दिखने लगे. अब मैं अपनी उंगलियों को उसकी चुत पर फिराने लगा और वो वासना से भरी हुई सिसकारियां लेने लगी. घर काफी बड़ा है और सबके लिए अलग-अलग कमरे हैं इसलिए बड़ा परिवार होते हुए भी किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होती है.

मैंने अपने खड़े लंड को बहू की गांड से हटाया और पीछे धकेलते हुए उसको घूमने की जगह दे दी.

उसने जैसे ही मुझे चूमना चालू किया, तो मैं भी उसके होंठों को चूसने लगा. मेरी जीभ के स्पर्श से भाभी की सिहरन ने मुझे बता दिया था कि भाभी कितनी अधिक चुदासी हो गई हैं. वो कपड़े लेने के बहाने बाहर आयी, तो मैं उसको देख कर एकदम से पागल हो गया.

चलते समय आंटी ने पूछा कि खाने का इंतजाम कैसे करोगे? मैंने कह दिया कि जब तक कुछ इंतजाम नहीं होता तब तक बाहर ही कहीं दुकान या ढाबे पर खा लूंगा. अन्दर से निकल कर एक चिकनी क्लीन शेव्ड चूत मेरे सामने थी … जिसकी दोनों फांकें फूली हुई थीं.

मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और मोनिषा आंटी जोर जोर से चीखने लगीं- आह आह आह और जोर से और जोर से चोदो नवीन अपनी आंटी को आज मस्त कर दो. भाभी को भी पता चल गया कि मेरा लंड उसे सलामी दे रहा है, तो उसने कहा- तेरे लंड को अभी भी मेरी चूत चाहिए … देख कैसे इशारे कर रहा है. फिर बुआ ने कहा- खाना खा लें क्या?मैंने कहा- बुआ आप बुरा न मानो, तो आज मैं थोड़ा एन्जॉय कर लूं?बुआ ने आंखें नचाईं और पूछा- कैसा एन्जॉय?मैंने अंगूठा उठाया और दारू पीने का इशारा किया.

बड़े बड़े दूध वाली सेक्स

इंशा खड़ी थी और शिफा उसके सामने अपना लहंगा उठा कर बैठी थी, गोरी चिकनी टांगें, उसकी फुद्दी तो मैंने नहीं देख पाया, मगर कमर से लेकर नीचे तक खूबसूरत टांगें देख कर ही मेरा तो मन बहक गया.

मैंने लंड उसके मुँह से निकाल लिया और आकर उसकी बुर पर मुँह रखकर उसे चाटने लगा. मैंने उसे ऊपर नीचे हिलाया, तो उसका सुपारा खुल गया और ऐसा दिखने लगा जैसे अंगार उगलने को है. मैं तुम्हारे घर पर बात कर लूंगा और फिर वैसे भी बस दो दिन की तो बात है। उनको छोड़ कर तुम वापस चले आना और हाँ, तुम मेरी ही कार ले जाना।मैं मरता क्या न करता … मैंने कहा- जी ठीक है।अब मेरी समझ में यह बात नहीं आई कि मैडम को भी यह पता है कि मैं भी कार चला पाता हूँ.

चूंकि उसके घर के सदस्यों के साथ मैं घुल मिल चुका था इसलिए उसकी बहन का फोन नम्बर भी मेरे पास था. मुझे महसूस ऐसा हो रहा था कि उसके लंड का टोपा अंदर चला गया है लेकिन ऐसा वास्तव में नहीं था. ತೆಲುಗು ಸಿಕ್ಸ್मैंने अपना सारा माल उसकी चूत में गिरा दिया और मोसी की चूत में लण्ड डालकर उसके ऊपर लेट के दूध पीने लगा.

मैं बैठा था और अंधेरा भी था, तो मैंने उसकी कमर पर एक हाथ और एक हाथ उसके कपड़े के ऊपर से चूत पर रगड़ा. उस समय टीवी में वो लड़का उस औरत को बेड पर लेटा कर उसकी बुर में अपना लंड डाल कर ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था.

लेकिन पीछे से आवाज़ आई कि अब मैं तुम्हें ये सब्जेक्ट रोज एक्स्ट्रा एक घंटे पढ़ाऊंगी … अपने घर पर कह कर आना. जब मैंने मामी की चूत से लंड को निकाला तो दोनों के ही वीर्य का मिश्रण चूत से बाहर आ रहा था. वैसे तो मैं और श्वेता औरों के सामने चाचा भतीजी का रिश्ता निभाते थे, मगर अकेले में हम दोनों पति पत्नी बन कर ही रहते थे.

तब के बाद से जब भी घर में कोई नहीं होता है, हम सब चाची के साथ ग्रुप सेक्स का मज़ा ले लेते हैं. इस बीच उसने मुझे प्यार से गुरु बोलना शुरू कर दिया था … क्योंकि वो ज्यादातर गणित मेरे से ही सीख लिया करती थी. उसके बाद मैंने भाभी को बिस्तर पर लिटाया और उनके नंगे बदन के ऊपर आकर लंड को भाभी की चूत पर टिका कर झटका लगाया और लंड चूत के अंदर कर दिया.

मुझे हैरत होने लगी कि इसका ये पहली बार था, इसने बिना किसी हिचक के लंड भी चूसा और माल भी खा गई.

पूर्वी ने शर्माते हुए कहा- क्या भैया आप भी!मैंने उसकी खूबसूरती की तारीफ़ करते हुए कहा- ये सच है कि बहुत ही खूबसूरत हो. आशा करता हूं कि आप लोगों को मेरे साथ हुई ये कजिन सेक्स कहानी पढ़ने में मजा आयेगा.

जिसका दर्शन मिहिर को उर्वशी की आंखों में देखने पर हो रहा था और उर्वशी को मिहिर की आंखों में देखने पर. उसने चूमते हुए मेरे कानों में बोला- मेरा लंड चूसोगी?मैंने भी जवाब दे दिया- हां चूस दूंगी. राजशेखर उसकी थुलथुली बड़े गांड को दोनों हाथों से मसलने लगा और निर्मला उसे चूमती हुई एक हाथ से उसका लिंग पकड़ कर अपनी योनि से सीध बना कर बैठ गई.

मैं कैसी मस्ती से अपनी चूत चुदवा रही हूँ और हम दोनों एक दूसरे को सेक्स का मजा दे रहे हैं. मैंने उसके उभरे हुए निप्पलों को अपने होंठों में लेकर चूसना शुरू कर दिया. मैंने कहा- तुम तो बहुत कामुक लग रही हो … तुम्हारी जिससे शादी होगी, वो बहुत खुशनसीब होगा.

बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो मैं बड़े प्यार से भाभी के शर्ट और चुन्नी के ऊपर से उनके मम्मों को दबा रहा था. अब मुझे भी पूरा जोश चढ़ गया था और दोनों ही सेक्स चैट पर उतर आये थे.

ઇન્ડિયન સેક્સ પિક્ચર

यह सुनकर ज्योति सोफे से उठकर मुझे कसकर अपने गले से लगा लिया और बोली- मैं तुम्हारे सच्चे प्यार के लायक नहीं हूं … क्योंकि मेरे आयुष के साथ शारीरिक सम्बन्ध हैं. इधर उर्वशी को भी मिहिर के होने से एक साथी मिल गया था और उसको मिहिर की मौजूदगी अच्छी लग रही थी. सुरेश- अच्छा भूल गयी … पिछली बार कैसे माई … माई बस करो … छोड़ दो … चिल्ला चिल्ला के रो रही थी.

यौन दृष्टि से अब भारत में भी सेक्स को लेकर बहुत खुलापन आता जा रहा है. मैंने उनको फिर से अपनी तरफ किया और उसके चूचों को मुंह में भर कर पीने लगा. ब्लू फिल्में दोहम दोनों लैपटॉप पर पोर्न मूवी देख रहे थे और एक दूसरे को किस कर रहे थे.

मेरी आंखों के सामने जो नजारा था उसे देख कर मेरी आंखें फटी की फटी रह गयी.

मैं फौजिया दीदी के रिकॉर्ड वीडियो को किसी को भी अपने मोबाइल से ट्रांसफर नहीं करने देता था. लेकिन आंटी की वासना बढ़ रही थी तो मैंने अपने एक दोस्त से उन इंडियन सेक्सी आंटी को चुदवाया.

मैं बोला- सोच लो भाभी, मैं अपनी दोस्तों के साथ बहुत मस्करी करता हूं. हम दोनों को बस एक दूसरे के साथ सेक्स का खेल खेलने के अलावा कुछ सूझ ही नहीं रहा था. मैं किसी लड़के से फौजिया दीदी की चुदाई देखने के लिए बेताब होने लगा था.

प्रीति ने कहा- मैंने तो कभी तुम्हें छोटा नहीं समझा … और ये मेरे सवाल का जवाब नहीं है.

मैं कंडोम का पैकेट निकाला तो नंगी लड़की विद्या ने मेरे हाथ से कंडोम का पैकेट छीन कर दूर फेंक दिया. फिर मैंने उसकी सहेली से दोस्ती की और उसके साथ सोनम को पार्क में बुलाया. जब मैं हमारी कॉलोनी के नजदीक पहुंचा, तो मैंने जानबूझ कर बाइक को अपने फ्लैट की ओर ले लिया.

हिंदी में बीएफ वीडियो एचडीउसकी नजरें सिर्फ मेरे 6 इंच के खड़े लंड पर ही टिकी थीं और वो उसे बड़े ध्यान से देख रही थी. फिर उसने मुझे बिठाया और मेरे दुपट्टे को अलग किया, फिर उसने मेरी पीठ की तरफ से किस किया.

हॉट फिल्में

झड़ने के बाद उनके मुँह पर हल्की सी मुस्कान थी, जैसे वो बोल रही हों कि बहुत दिन बाद चुदाई करके उनको संतुष्टि मिल गयी हो. वो मुझे सामने देख के हक्का बक्का रह गयी और जल्दी जल्दी में, जिस मूली से वो अपना बुर चोद रही थी, उसे जल्दीबाजी में अपनी बुर में ही अन्दर फंसा लिया और साड़ी को नीचे करते हुए खड़ी हो गयी. उन्होंने मुझे किस किया और मेरे लंड की तरफ देखते हुए कहा- तेरा लंड तो तेरे बाप पर गया है.

उतने में संध्या ने भी चौंकते हुए कहा- कल शाम तक तो आप ठीक थीं, ये अचानक कैसे हो गया?पूजा ने मेरी तरफ देखा, मैं हल्का सा मुस्कुरा दिया. दरअसल साहब के यहां पर काम करने के लिए मां के अलावा कोई नहीं था क्योंकि साहब की बीवी तीन साल पहले ही चल बसी थी. मैंने उसकी कमर पकड़ ली और जांघें ज्यादा फैला दीं और टांगें उठा कर उसकी जांघों पर चढ़ा दिया.

मैं बोला- तो फिर मुझे कहां पर सुलाओगी?वो बोली- जहां तुम्हारा मन करे वहां सो जाना. भाभी की हालत देख कर मैंने वापस से लंड को आधा बाहर निकाल लिया और भाभी अब मजे लेकर मेरे लंड को चूसने लगी. उसके मुँह से ये सब सुनकर मैंने पूजा से कहा- कभी कभी गलत इंसान मिल जाता है … हमेशा ऐसा नहीं होता.

ये सब कैसे हुआ? पढ़ें मेरी इस रिश्तों में चुदाई की इस कहानी में!नमस्कार दोस्तो, कैसे हो आप लोग! मेरा नाम सावन है, मैं राजस्थान के जयपुर का रहने वाला हूँ. खाना खाने के बाद वापस होटल के कमरे में आने के बाद उसने मुझे किस किया.

मैं गाना गुनगुनाते हुए बाहर निकला ताकि मामी का ध्यान मेरी तरफ जाये.

दो चार बार मार लो; मन भर लो … आप तो इतने हैंडसम और हट्टे-कट्टे हो … बढ़िया जोरदारी से करोगे; लौंडे भी खुश हो जाएंगे कि डॉक्टर साहब का एहसान पटा. बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लूअब आप सभी को तो पता ही होगा कि लड़कियों को अपनी तारीफ़ करवाना कितना अच्छा लगता है. सेक्सी पिक्चर चुड़ै वालीमैंने बिना समय बर्बाद किए उसे बेड पर लेटा दिया और उसके गालों को चूमने लगा. सच में किसी भी लड़की या औरत के साथ शॉवर सेक्स करो, तो अलग ही मजा आता है.

बस फर्क इतना सा है कि वो हेड ऑफिस में है जबकि मैं ब्रान्च ऑफिस में हूँ.

उसके मुँह से ये सब सुनकर मैंने पूजा से कहा- कभी कभी गलत इंसान मिल जाता है … हमेशा ऐसा नहीं होता. मोनिषा आंटी ने लंबी सांस लेते हुए कहा- बहुत दिनों बाद किसी ने मेरी चूत को चूसा है. मैं भी मस्त हो जाती, पर वो कभी अपने दोस्तों या मेरी सहलियों के साथ होने पर मुझसे बात भी नहीं करता था.

यह कहते हुए मैंने अपने दोनों हाथों से उनके दोनों कंधे पकड़ कर बैठाया और बोला कि भईया नहीं हैं भाभी … तो क्या हुआ … मैं हूँ ना. कोई 25 मिनट मोनिषा आंटी की खूब चुदाई करने के बाद मोनिषा आंटी की चूत ने दो बार रस छोड़ा, मैंने भी अपने लंड का रस मोनिषा आंटी की चूत में ही छोड़ दिया. मम्मी इतने गजब की फिगर की मालकिन थीं कि कोई भी उनसे शादी करने के लिए तड़प जाता.

चोदी चोदा हिंदी फिल्म

अगर आप मुझसे निजी तौर पर कहानी के बारे में कोई सवाल करना चाहते हैं तो उसके लिए मैंने मेल आईडी भी दी हुई है. अब दीदी का ट्रांसफर बंगलोर हो जाने के कारण केवल मैं ही अकेला रहता हूँ. दोस्तों जैसा कि मैंने अपना नाम रसूल खान बताया … मैं बिहार में रहता हूँ और शादीशुदा हूँ.

मैं तब समझ गई कि वो अचंभित इसलिए हुई होगी क्योंकि इस उम्र में शायद ही किसी महिला के स्तनों से दूध आता हो.

उसने तुरंत अपने मुँह से मेरा लंड निकाल दिया क्योंकि वो मेरा मुठ पीना नहीं चाहती थी.

मैंने बिना कोई जवाब दिए, अपने एक हाथ को धीरे-धीरे उसके गोल-गोल स्तनों पर घुमाना शुरू कर दिया. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसके एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसा और दूसरे को मसला. हरियाणा की सेक्सी बीएफसुरेश इसी तरह के संभोग के प्यासा था, उसकी भावनाएं मैं समझ गयी थी, इसलिए सोचा कि इसकी इच्छा पूरी कर दूँ.

थोड़ी देर ऐसे ही ओरल सेक्स करने के बाद दस्तूर ने मेरे अंडरवियर को निकाल दिया और मेरे लंड का टोपा अपने मुँह में भर लिया. अब हुआ यूं कि मेरा छोटा साला जो है, उसकी बीवी फ़रजाना, पर मेरी शुरू से ही नज़र थी. प्रीति ने कहा- तुम इतने अच्छे सेक्सी दिखते हो … और तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

जिसका दर्शन मिहिर को उर्वशी की आंखों में देखने पर हो रहा था और उर्वशी को मिहिर की आंखों में देखने पर. समझ में नहीं आता कि क्या करूँ, अपनी ही माँ और बहन को देख देख कर अपने वीर्य का नाश कर रहा हूँ.

उबकाई इस बार भी आयी, लेकिन उसने चूसना बंद नहीं किया और बड़े प्यार से मेरे लंड के सुपारे पर जीभ फिराने लगी.

मैंने उससे ऐसा इसलिए कहा, क्योंकि वो छोटी थी और मुझे लग रहा था कि वो मेरा लंड नहीं ले पाएगी. धीरे धीरे गति बढ़ाते हुए पेलना शुरू किया तो ऐसा लगा कि बस ये पल यहीं रुक जाए अभी के अभी … सैक्स के अलावा दुनिया में इतना मज़ा ना कभी किसी को आ सकता है, ना कभी आएगा. मैंने आंटी से कहा- आंटी मैं नीचे लेट जाता हूं … आप मेरे मुँह पर अपनी चूत रखकर चटवाओ मुझसे … जब तक आपका दिल न भर जाए, आप उठना मत.

बीपी सेक्सी आंटी लंडरस पीने के बाद मैंने बैठी हुई मोनिषा आंटी को बेड पर धक्का मारा और उनके सारे कपड़े उतार कर उनको नंगी कर दिया. वो रूखे मन से चला तो गया, पर मुझे कुछ अलग सा महसूस हुआ कि आखिर उसने बेमतलब पुरानी बात क्यों की, जबकि हम जब साथ थे, उस वक्त न करके आज इतने सालों बाद की.

चूंकि मुझे भी नशा हो गया था, तो मैंने उस पंजाबी लड़की को किस कर दिया. भाई के लंड पर लगा हुआ मेरी चूत के पानी का स्वाद भी मेरे मुंह में आने लगा था. फिर मैंने उसके 36 के साइज के बोबों को अपने मुंह में भर लिया और उसके तने हुए निप्पलों को दांतों से काटते हुए उसके चूचों को पीने लगा.

हिंदी सेक्स आंटी

मेरी चूत और गांड में दर्द हो रहा था लेकिन मैं पूरी तरह से खुश हो गयी थी. एक दिन जब मैं दुकान पर अकेला था, तब उसका कॉल आया और इधर उधर की बात करने के बाद उसने मुझे गुस्से में बोला कि समीर आप मुझसे प्यार नहीं करते हो. मैं जानती थी वो वहीं पर मिलेगा और मेरा रास्ता भी वहीं से होकर जाता था.

मुझे उसका पता नहीं, पर मैंने अपनी आंखें बंद कर रखी थीं और जैसे जैसे ठंडी हुई, ढीली होती चली गई. मैं जानती थी वो वहीं पर मिलेगा और मेरा रास्ता भी वहीं से होकर जाता था.

तुम्हें बस मुझे किसी बड़े शहर में ले जाना है और मेरे अरमान पूरे करने है.

ये हालत मेरे लंड की ही नहीं थी, जो भी उनकी मटकती गांड को एक बार देख भर ले, गारंटी है कि उसका लंड खड़ा हो जाएगा. मैं बाइक को धीरे-धीरे चला रहा था ताकि उसकी बहन के साथ बाइक पर ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताया जा सके. मैंने कैसे चोदा उन्हें!अब तक की इस सेक्स कहानीएक रात में तीन लड़कियों की बुर की चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मेरी भतीजी श्वेता की चुदाई के बाद घर की शादी में आई दो अन्य लड़कियों की चुदाई के लिए मेरा लंड मचल रहा था.

आंटी को जो सुख अपनी शादी के इतने सालों में ना मिला था, वो मैंने उन्हें 3 महीने चोद कर दिया था. मैंने कहा- मैं गर्म तेल से इनकी मालिश कर देता हूँ, तो दर्द ठीक हो जाएगा. दोस्तों के किस्सों ने मुझे बेचैन कर दिया था कॉलेज में … तो मैं घर आकर बिना खाना खाये कंप्यूटर चलाने बैठ गया.

मेरा वजन 84 किलो है। शरीर के वजन के हिसाब से मैं काफी भारी भरकम हूं.

बीएफ सेक्सी नंगी चुदाई वीडियो: हम लोग गांव में जब रहते थे, तब मैंने सुना था कि सुरेश मॉम को चोदता था. उसके बाद मैंने दोबारा से उसको अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों का रस पीने लगा.

अब मैं और मेरी डार्लिंग निकल पड़े ऐसे सफ़र पे जिसकी शुरूआत तो मैंने की लेकिन अंत मेरी बहन की रसभरी चूत ही करेगी. जिसकी प्यास बुझाने के लिए मामी ने फिर क्या किया वो मैं मामी सेक्स स्टोरी के अगले भाग में बताऊंगा. मैं- बहुत प्यासी लग रही हो?भाभी- हां प्लीज चोद दो मुझे … अब बर्दाश्त नहीं हो रहा.

मैंने मैडम के ऊपर अपना हाथ रख दिया और जैसे ही मेरा हाथ उनको लगा, मैं तो मस्त हो गया … क्योंकि मैडम का शरीर बहुत ही गर्म हो गया था.

मैडम ने एक दो बार मेरे मूसल को हाथ में लेकर रगड़ा और फिर उस पर अपने रसीले होंठ रख दिये. मैंने लंड को उसकी सांवली सी चिकनी चूत पर रखा और एक जोर का धक्का दे मारा. नितिन के प्रमोशन की वजह से अब मुझे नौकरी करने की जरूरत नहीं थी, तो मैंने भी जॉब करनी बंद की और घर पर रह कर बच्चे की देखभाल करने लगी.