बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,एक्स एन एक्स बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी की भाभी सेक्सी: बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ, ’ लेने लगी और इसके साथ ही वो अपनी गाण्ड भी उचकाने लगी।मेरा लंड भी वापस खड़ा हो गया था।थोड़ी देर बाद ज़ेबा बोली- अब मुझसे सहन नहीं हो रहा.

बीएफ नेकेड

जाहिरा सीधी उसी हालत में मेरे पास रसोई में आ गई।मैंने उसे थोड़ा सा काम बताया तो वो बोली- भाभी मुझे चेंज कर आने दें. इंडिया की नंगी सेक्सी वीडियोएक लड़की आलिया भट्ट मंदिर में भगवान के आगे हाथ जोड़ कर प्रार्थना कर रही थी- भगवान जी, प्लीज़ मेरी दोनों चूचियाँ बड़ी बड़ी और चूत कसी हुई कर दो!पास ही मंदिर का पुजारी खड़ा था, आलिया भट्ट की बात सुन कर धीरे से उसको बोला- रानी, धीमी आवाज में प्रार्थना करो, तुम्हारी प्रार्थना का सीधा असर मेरी धोती में हो रहा है!***आलिया भट्ट एक दन्त चिकित्सक के पास गई.

पर कोई भी सफल न हुआ।इससे उसकी हिम्मत और बढ़ गई और वह कामरीश की राजधानी के दरबार के में नंगी ही पहुँच गई।यह देख कर पूरी राज सभा अचम्भित हो गई और एक दरबारी ने पूछा- अरे निर्लज्ज कुतिया. हॉट सेक्सी भोजपुरी वीडियोजब मेरी जॉब एक एनजीओ में लगी थी। मेरी पहली पोस्टिंग आजमगढ मंडल के एक जिले में हुई थी।एक दिन उस एनजीओ में एक नुक्कड़ नाटक होने के दौरान एक महिला का रोल की बात सामने आई.

इसलिए टी-शर्ट और लोवर उतार कर नयना के हाथ में दे दिए। डर की वजह से मेरा लौड़ा पूरी तरह से सिकुड़ गया था.बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ: ’उसकी इस तरह की आवाजों से मेरा जोश बढ़ रहा था और मेरे झटके तेज होते जा रहे थे।उसका पति बड़ी ध्यान से चुदाई देख रहा था.

मैं समझा था कि ताबिदा है।इसके साथ ही फैजान ने दूसरी तरफ करवट ली और दोबारा से सोने लगा। लेकिन मैं जानती थी कि दोनों बहन-भाई को काफ़ी देर तक नींद आने वाली नहीं थी।मुझे यह भी पता था कि अब कुछ और नहीं होगा.कुछ ही पलों के बाद उसे भी मजा आने लगा था।काफ़ी देर तक मैंने उसे लगातार चोदा और बाद में उसकी गांड भी बहुत मारी.

घोड़ा वाला सेक्सी बीएफ - बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ

वो तो पागलों की तरह मेरे मुँह को चोदने लगा।उसने मेरे सर को उस दीवार के सहारे लगा कर पूरा लौड़ा मेरे गले तक घुसेड़ने लगा।मेरी साँसें अटक गईं.एक हाथ से उसके चूचों को मसलना शुरू कर दिया और दूसरा हाथ उसकी चूत पर ले गया।अब मैं उसकी चूत को सहलाने लगा और उसकी जांघों को भी सहलाना शुरू कर दिया।वो ‘ऊहहहह.

तो मुझे भी मज़ा आने लगा।फिर उन्होंने मेरे हाथ को पकड़ कर अपने मम्मों पर रख दिए और मुझसे मम्मों को सहलाने की लिए बोला।मैंने ज़ोर-ज़ोर से उनके पपीतों को सहलाने लगा और उन्होंने मेरा दूसरा हाथ पकड़ कर अपनी पैन्टी के अन्दर डाल दिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं बड़े प्यार से उन्हें सहलाने लगा।अब वो सिसकारियाँ ले रही थीं- आआह. बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ जिससे मेरा दर्द कम हो जाए?नीरज- मेरी जान अगर तुम्हारी चूत को में जीभ से हल्के-हल्के चाटूं तो इसका दर्द कम हो जाएगा।रोमा- तो इतना सोच क्या रहे हो.

लेकिन थोड़ी देर रेस्ट करने के बाद हम लोग बस में बैठ कर घर आने लगे।वहाँ से रास्ते भर वो यही कहती रही- क्या चोदा है.

बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ?

इसलिए मैं भी बैठ कर देखने लगा।वहाँ पर नानी और एक मामी भी और पूजा भी थे।मैं मामी के बगल में बैठा था। मैं सबसे बातें भी कर रहा था और फिल्म भी देख रहा था।कुछ देर के बाद बिजली चली गई. यह बात भी बाद में बताऊँगी… पर मैंने पुनीत से प्यार किया था और मेरा कोई ब्वॉय-फ्रेण्ड नहीं था। जिसे वो ब्वॉय-फ्रेण्ड समझ रहा था. वो दोनों भी अपने कमरे में चली गईं।मीरा ने दरवाजा बन्द किया और बिस्तर पर जाकर बैठ गई।दोस्तो, उम्मीद है कि आप को मेरी कहानी पसंद आ रही होगी.

वैसे तो वो हमेशा ही सेक्सी लगती हैं लेकिन उस दिन कुछ ज्यादा ही मस्त लग रही थीं।मैंने आंटी को नमस्ते की. तो भाभी ने कहा- थोड़ा ऊपर तक कर दो।तो मैंने भाभी का गाउन उनके नितम्बों तक चढ़ा दिया और उनकी शानदार जंघाओं पर हाथ फेरने लगा।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उनका गदराया हुआ बदन देखकर मेरा बुरा हाल था। मेरा कीमती हथियार भाभी को सलामी देने के लिए तैयार था. इस नशे में मैं सातवें आसमान में था।मैंने आँखें बंद कीं और पैन्टी सूंघते-चाटते मुठ्ठ मारना चालू कर दिया।तभी एकदम से बाथरूम का दरवाजा खुला.

और मेरा लंड भी लड़कियों के लिए एकदम सही है।मुझे शुरू से ही आंटियाँ और भाभियाँ बेहद पसंद हैं और मैं इनका दीवाना हूँ।यह बात 2 साल पुरानी है. आंटी के चूचे इतने मोटे थे कि ब्रा बहुत ज्यादा टाइट हो रही थी।तो मैं हुक बन्द करने के बहाने उन्हें टच करने लगा और मेरा लण्ड उनके शरीर पर रगड़ने लगा।अचानक से मेरे हाथ से ब्रा छूट गई और नीचे गिर गई. वो थोड़ा शरमाते हुए बोली- पर अंकल अगर किसी को इस बारे में पता चला तो मेरे लिए बहुत दिक्कत हो जाएगी और थोड़ी देर पहले आपने सही कहा था कि आज तक मेरे स्तनों को छूना तो दूर उन्हें किसी ने देखा भी नहीं है। इसलिए मुझे बहुत शर्म भी आ रही है।मैंने उसकी बात को बीच में ही काट कर कहा- देखो.

कभी-कभी उसकी जांघ को सहलाता और योनि प्रदेश के द्वार को उँगली से सहलाता।अब सुप्रिया मदहोश होने लगी और उसने अपनी टाँगों को फैला दिया।उसकी मदहोशी को देख कर मैंने अपनी जीभ उसके योनि प्रदेश में लगा दी और उसकी बुर और जांघ के आस-पास चाटने लगा।अब सुप्रिया इस स्थिति में नहीं थी कि वो मेरा विरोध कर सके। वो अपने चरम को पार कर चुकी थी. जल्दी कुछ करो।मैं- भाभी तब तो तुम सूट उतार कर उसे एक बार अच्छी तरह से झाड़ लो कहीं ज्यादा ना हों।मालकिन- तुम्हारे सामने कैसे?मैं- तो क्या हुआ.

तो उसने भाग कर मुझे अपनी बाँहों में ले लिया और मेरे होंठों को चूसने में लग गई।वो होंठों को ऐसे चूस रही थी.

तो भाभी कॉफी बनाकर लाईं, वो बोलीं- यही तुम्हारी टयूशन की फीस थी।उसके बाद हमने चुदाई के कई खेल खेले।तो यह थी मेरी सच्ची कहानी.

क्या करता है।मैं चुपचाप खामोशी से आँख बंद करके पड़ी रही। वो मेरी रानों पर हाथ फेर रहा था। नीचे घुटनों से ले कर ऊपर रानों के ऊपरी हिस्से तक. घर में घुसते ही मैं उन्हें किस करने लगा और वे भी मुझे सहयोग करने लगीं।मैं करीब 5 मिनट तक चुम्मी करता रहा और मैंने कहा- अब दस दिन तक मैं आपकी जवानी का मज़ा लूँगा. फिर मैं कपड़े पहन लूँगी।मैं हल्का सा झेंप गया और तुरंत आसमान से जमीन पर आ गया। मैंने एक बार फिर से उसके पेट और कंधे की नाप ली।फिर जैसे ही मैंने सीने की नाप लेने की कोशिश की.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा यानि देव शर्मा के खड़े लंड का प्यार भरा प्रणाम।मेरी पिछली कहानी थी:पहले प्यार की पहली चुदाईआज मैं आपको कुछ दिन पहले हुई एक घटना के बारे में बताना चाहता हूँ. अभी तक बहे जा रही है।जब मैंने ध्यान दिया तो वाकयी में चूत से बूँद-बूँद करके रस टपक रहा था।मैंने हैरानी से देखते हुए उनसे पूछा- ऐसा क्या हो गया आज. बालों के बगैर उसकी कुँवारी चूत किसी बहुत ही छोटी सी बच्ची की चूत का मंज़र पेश कर रही थी।दोनों बेरूनी फलकों के दरम्यान से गुलाबी रंग की अन्दर की चमड़ी का कुछ हिस्सा नज़र आ रहा था। जिससे यह अंदाज़ा हो सकता था कि दोनों फलकों के अन्दर का गोस्त किस क़दर गुलाबी और नर्म होगा।उसकी चूत के दोनों फलकों के निचले हिस्से में जहाँ पर चूत की लकीर खत्म होती है.

साथ ही मैंने भी उसके निप्पलों पर अपने होंठों का दबाव बढ़ा दिया। बल्कि अब मैं उसके निप्पलों को अपने दाँतों से हौले-हौले काटने भी लगी थी।तेज-तेज साँसों के साथ जाहिरा के मुँह से तेज-तेज सिसकारियाँ भी निकल रही थीं.

उसकी मदमस्त उठी हुई गाण्ड देख कर राधे का लौड़ा तन गया।राधे चुपचाप बिस्तर के पास गया अपना अंडरवियर निकाला और लौड़े को सहलाते हुए मुस्कुराने लगा. मैंने ज़िंदगी में पहली बार ऐसी चूत देखी थी। उसकी फुद्दी देख कर मेरा 7 इंच का लण्ड तनतना गया।मैं उसकी फुद्दी चूसने और चाटने लगा। वो मेरा सर अपनी फुद्दी पर दबाने लगी, उसकी सिसकारियाँ निकलने लगीं।मैं उसकी चूत का रस चाटने लगा और अपनी जीभ उसकी गांड में फिराने लगा।वो बेकाबू होने लगी. तो मैंने उनके होंठों पर अपने हाथ रख कर उन्हें चुप करा दिया और फिर अचानक एक उंगली उनकी चूत में पेल दी। इससे वो चीख पड़ीं और बोलीं- धीरे-धीरे डालो.

तो मैं अब आराम से चुदाई करने लगा।थोड़ी देर बाद दोनों पूरे जोश में आ गए फिर मैं कमोड पर बैठ गया और वो मुझे चोदने लगी।उसने कानों को मुँह में लिया और काटती. कहीं पापा मेरी आँखों में आँसू न देख लें।अब मैं पास के ही हाईवे पर था। शराब की दुकान खुली थी और लगभग बाकी सारी दुकानें बंद थीं।शादियों के मौसम में यही दुकान तो देर तक चलती है। मैं दुकान में गया और स्कॉच की हाफ-बोतल ले आया।पास में ही एक बंद दुकान की सीढ़ियों पर बैठ गया। थोड़ी देर में वहाँ जो बची-खुची दुकानें थीं. अब मेरा लंड उसकी चूत के पास स्पर्श हो रहा था। मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरा लवड़ा उसके कपड़े को फाड़ कर चूत में चला जाएगा।फिर मैं हाथ नीचे ले जाकर उसके चूतड़ों को दबाने लगा और चूचियों के ऊपर किस करने लगा।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके मम्मों को दबाने लगा।वो सिसकरियाँ लेने लगी ‘आआअह.

आंटी के चूचे इतने मोटे थे कि ब्रा बहुत ज्यादा टाइट हो रही थी।तो मैं हुक बन्द करने के बहाने उन्हें टच करने लगा और मेरा लण्ड उनके शरीर पर रगड़ने लगा।अचानक से मेरे हाथ से ब्रा छूट गई और नीचे गिर गई.

फिर मैंने बोला- जाने से पहले एक हग भी नहीं देगी?तो उसने जो मुझे अपने गले से लगाया तो मानो सच में बहुत अच्छा फील हुआ।फिर हम दोनों हाथों में हाथ डाल के चलने लगे।वो बोलती- तू मुझे बहुत पसंद है. मैंने भाभी को सीधा लिटाया और उनकी जंघाओं पर बैठकर लण्ड भाभी की चूत पर लगा दिया और जोर का धक्का लगा दिया।भाभी को इस हमले की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी। अचानक घुसे मोटे मजबूत लण्ड से भाभी की आंखें फट गईं।भाभी ‘आउउउह.

बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ तो भाभी को आया देख कर मैंने उन्हें चाय के लिए पूछा- भाभी मैं चाय बना रहा हूँ आप पीएंगी?पहले तो वो मना करने लगी. मैंने बात को तो संभाल लिया। पर अब मुझे इतना तो पता था कि अब मैंने लाल कपड़े पहन कर खुद ही सांड को न्योता दे दिया है।पैनल- जनाब आप आ जाएँ। आज हम सब आपसे एक्टिंग की बारीकी सीखना चाहते हैं।मैं मन ही मन में- बेटा आज तो बिना वेसिलीन के ही अन्दर जाने वाला है।मैं- जैसा आप कहें सर।पैनल- एक्टिंग में सबसे मुश्किल होता है एक साथ कई भावनाओं को कुछ ही पलों में जी लेना। मैं तुम्हें कहूँगा ख़ुशी.

बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ और तेरी भाभी कहाँ है?जाहिरा आहिस्ता से बोली- भैया वो उधर चली गई हुई हैं।फिर फैजान की आवाज़ आई- सॉरी जाहिरा. फिर मुझे क्या?मेरी बात सुन कर जाहिरा हँसने लगी और मैं भी हँसने लगी।फिर हम लोग तीनों जा कर एक बैंच पर बैठ गए और इधर-उधर की बातें करने लगे। वहाँ से थोड़ी ही दूर पर एक कैन्टीन थी। कुछ देर के बाद फैजान ने अपना पर्स निकाला और उसमें से कुछ पैसे निकाल कर जाहिरा को दिए और बोला- जाओ जाहिरा.

जबकि लड़के ने लड़की की चुदाई कई तरीके से कर दी और जब झड़ने को हुआ तो उसने लड़की की बुर से अपना लौड़ा निकाला और लड़की के मुँह को चोदने लगा.

सेक्स वीडियो मोटी वाली

अब उन्होंने ब्रा और पैन्टी पहनी हुई थी।मैंने जल्दबाजी में ब्रा को भी खोल दिया और उन्हें बिस्तर पर लिटा कर उनकी चूची दबाने और चूसने लगा।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं उनके दूध कुछ ज्यादा ही ज़ोर से चूस और दबा रहा था. इस बात को कोई भी माइंड नहीं करता।जाहिरा- लेकिन भाभी वो भैया?मैं- तू क्या समझती है कि यह जो लड़कियाँ बाहर इतनी टाइट जीन्स और लेग्गी पहन कर फिरती हैं. पर जाते मैं अपना मोबाइल नम्बर उसको दे आया।फिर मेरी उससे रोज़ बात होने लगी।एक रात एक बजे उसका फोन आया कि वो घर पर अकेली है।मैं बोला- फिर तो मैं आ जाता हूँ।वो डरने लगी- कोई देख लेगा.

उसे दवा दी और उसके कहने पर कुछ देर रुका रहा।जब उसका दर्द कुछ कम हुआ तो अचानक वो उठी और उसने मुझे किस कर लिया और बोली- देवर जी. उसने पलक झपकते ही रिचा की शर्ट उतार फेंकी।अब लाल ब्रा के नीचे स्कूल यूनिफार्म की स्कर्ट झूल रही थी।लड़के का एक हाथ स्कर्ट में घुस गया था और दूसरे हाथ से उसने ब्रा उतार फेंकी।रिचा ने भी उसकी शर्ट उतारी. जो भी कर रहा हूँ।फिर वो कुछ नहीं बोल रही थी।अब मैंने उसकी सलवार में हाथ डाल कर उसकी चूत को अपनी उंगली से छुआ और धीरे-धीरे उंगली को उसकी चूत में अन्दर तक डाल दिया।वो अपनी आँखें बंद करके मेरे किस और अपनी चूत में मेरी घुसती-निकलती उंगली.

तो हम सब तुम्हारे बिना ही केक ख़त्म कर देंगे।मैं ऊँघता हुआ उठा और चेहरे को धो कर हॉल में आ गया। मेरा सबसे पसंदीदा केक (चोकलेट केक) था। उस पर लिखा था ‘ हैप्पी बर्थ-डे टू माय लविंग सन.

और मेरे साथ क्या गलत किया आपने?दिलीप जी- तेरी शादी की उमर हो गई मगर मेरा स्वार्थ है कि तू चली जाएगी तो मीरा अकेली रह जाएगी. मैं निखिल राय अपनी कहानी को आगे बढ़ाता हूँ।मैंने जल्दी से ब्रा और पैंटी अलमारी में रख दी और कम्प्यूटर के पास बैठ गया। भाभी कुछ देर बाद नहा कर बाहर आईं और रोज की तरह कपड़े फैलाने के लिए छत पर गईं।आज मुझे बहुत डर लग रहा था, भाभी मेरे पास आकर बैठ गईं, मैं जैसे-तैसे भाभी को पढ़ाकर अपने घर आया।मैं यह सोचकर परेशान था कि भाभी जब अपनी पैंटी देखेंगी. मस्त मम्मे हम दोनों के लंड खड़े हो गए थे और मेरे शार्ट और राजीव की पैन्ट में तम्बू बन गया था।मैंने बोला- राजीव रुको.

अब मैं विनोद के पास जा रहा हूँ।उसने मुझे फिर से मेरे कन्धों पर हाथ रख कर मेरे होंठों पर चुम्बन लिया और बोली- तुम कामयाब होना. तो वो आपको ज्यादा दिनों तक नाराज नहीं देख सकता।ऐसा ही मेरे साथ हुआ।कुछ दिन बाद उसने कहा- क्या बात है. जो मैं अभी नहीं कर सकता। क्या आप मुझे अपना नंबर दे सकती हैं?मैंने सोचा शायद यह मुझे कुछ बताना चाहता है.

पर मुझसे बोलती कम थी।मैंने उसे कम्प्यूटर सीखने का ऑफर दिया जिसे वो और उसके घर वाले तुरन्त मान गए क्योंकि उसके पापा उसे घर से बाहर नहीं भेजना चाहते थे।अब वो जब भी समय मिलता. तृषा की शादी की तारीख 15 मई को तय हुई थी। मैं बस इस सैलाब के गुज़र जाने का इंतज़ार कर रहा था।जैसे-जैसे दिन करीब आ रहे थे.

जिसमें मेरा लंड तम्बू की तरह तना हुआ था। उसने चड्डी नीचे खिसकाई और मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर सहलाने लगी।मैं खड़ा था. उह्हह ह्हहह्ह…’ की आवाजों से पूरा कमरा गूंज रहा था। करीब 10 मिनट तक मैं उसकी चूत चाटता रहा। इस बीच वो 2 बार झड़ चुकी थी।फिर मैंने भाभी की चूत को भी इसी तरह से चाटा. कामातुर हो कर उसने मेरा लण्ड पकड़ लिया और अपनी चूत पर लगाने लगी।मैंने धीरे से उसकी चूत में लण्ड टिकाया और पेल डाला.

मुझे अब पूरी मस्ती छा गई और मैं उसका सर पकड़ कर ज़ोर-ज़ोर से आगे-पीछे करने लगा।थोड़ी देर के बाद उसने लौड़ा मुँह से निकाला और अपनी चूत मेरी तरफ करके चुदने के लिए तैयार हो गई।मैंने भी देर ना करते हुए अपना लौड़ा उसकी रसीली चूत पर लगाया और जोर लगा कर उसकी नरम चूत में पेल दिया।उसके मुँह से चीख निकल गई- उउईईईई.

एक बहुत ही अच्छी कंपनी में इंजीनियर है।वहाँ उसको एक लेबर किस्म के काम करने वाले लोगों में काम करने वाली लड़की शन्नो बहुत लाइन देती थी। जब उनकी बात आगे बढ़ी. मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, फिर मैंने उसको घुटनों के बल बैठा दिया, मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर टिकाया और 2-3 धक्कों में ही पूरा लंड उसकी चूत में जड़ तक पेल दिया।वो ज़ोर से चिल्लाई- आहहह. मैंने धीरे से खोलने लगी कि दरवाजा ढलक गया और अन्दर का दृश्य तुरंत सामने आ गया।मैंने दरवाज़े को वहीं का वहीं पकड़ी खड़ी रही.

और फिर जाहिरा टीवी लाउंज के एक कोने में पड़े हुए इस्तती स्टैंड की तरफ बढ़ गई।मैं रसोई में आ गई ताकि फैजान भी खुल कर अपनी बहन के जिस्म का दीदार कर सके।जहाँ जाहिरा खड़ी होकर शर्ट प्रेस कर रही थी. मेरी तरफ ऑफिस में घूर-घूर कर देखने वाले को आज भगवान ने मेरे ही सामने बिना कपड़ों का खड़ा कर दिया…नयना- हा हा हा हा.

मैंने भी उसे चूमना चालू कर दिया।इस तरह करीब 20 मिनट तक हम चूमा-चाटी करते रहे और 20 मिनट बाद वो बोली- सिर्फ़ चुम्बन ही करते रहोगे या कुछ और भी करोगे?यह सुनते ही मैं गर्म हो गया और किस करते हुए उसके मम्मों को दबाने लगा। उसके मस्त मम्मों को दबाते हुआ मेरा हाथ अब धीरे-धीरे नीचे जाने लगा।मैं अपना हाथ उसकी स्कर्ट में डालते हुए उसकी चूत पर पहुँच गया. जब मुझे पहली बार किसी को चोदने को मिल रहा था। मैं उसे लेने उसके होस्टल गया और उसे लेकर अपने दोस्त के कमरे पर आ गया। मैंने कमरे का दरवाजा बंद किया और उसे गले से लगा लिया। वो भी तड़प रही थी. जिसके कारण करेंट चला गया और पता चला कि कोई पेड़ गिरने की वजह से वायर टूट गया है और उस दिन करेंट नहीं आएगा।बारिश तो बंद हो गई.

सेक्सी बीएफ भाई बहन की

मैंने भी देरी न करते हुए नीलम से पूछा- कैसे चुदवाओगी?अब वो गाण्ड मेरी तरफ करके बिस्तर पर कुतिया की तरह हो गई। मैं समझ गया, मैंने पीछे से अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया और धक्के लगाने लगा।वो ‘उईईए.

मैं किसी को नहीं बताऊँगा कि मैंने तुम्हें नंगी देखा।वो बोली- प्लीज किसी को मत बताना कि तुमने क्या देखा।मैंने कहा- वैसे तुमने भी तो मेरा देखा था. वो मेरे भैया हैं और आप उनकी बारे में ऐसी बातें कह रही हो।मैं मुस्कुराई और उसकी गाल पर हाथ फेरती हुई बोली- क्या करूँ. नाश्ते के बाद वो दोनों बहन-भाई चले गए और मैं रसोई का सामान समेटने के बाद नहाने के लिए चली गई। फुव्वारे से ठंडी-ठंडी पानी की गिरती बूंदों के नीचे नहाते हुए मैं यही सोच रही थी कि अब आगे क्या किया जाए.

’ करते हुए वो चिल्ला उठी।मैं चूमते हुए नीचे जाने लगा। इसी के साथ मैंने उसकी ब्रा निकाल दी और एक निप्पल को उंगलियों से छेड़ा. मैं ऊपर आती हूँ।नीलम मेरे ऊपर आ गई और लंड को अपनी चूत में घुसवा लिया और जोर-जोर से चुदने लगी। उसे बहुत मजा आ रहा था ‘वूऊऊऊओ. एक्स एक्स एक्स वीडियो देहाती एचडीसिर्फ़ मेरी आँखों में देख रही थी।जैसे ही मैंने उसकी पैंटी निकाली तो उसने अपनी जाँघें बंद कर लीं, तो मैंने धीरे से उसकी जाँघों को अलग किया तो देखा उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था.

आप इस रस्सी के नीचे खड़े हो जाओ।भाभी रस्सी के नीचे खड़ी हो गईं। मैंने भाभी के दोनों हाथ ऊपर करके रस्सी से बाँध दिए और भाभी की आँखों पर पट्टी बाँध दी।फिर मैंने एक मोरपंख उठाया और भाभी के जिस्म पर धीरे-धीरे फेरने लगा। मैंने भाभी के चेहरे से मोरपंख को फेरते हुए भाभी के निपल्स पर फेरा और फिर नाभि से होते हुए भाभी की जाँघों पर फेरने लगा।भाभी बुरी तरह कसमसा रही थीं। फिर मैंने भाभी की चूत पर मोरपंख फेरा. मैं अपना स्कूल छोड़कर किसी और स्कूल में पढ़ने के लिए गया। वहाँ की लड़कियाँ सिर्फ मेरे बारे में ही बातें करती रहती हैं.

जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में ठोक दो।मैंने अपना लंड उसके मुँह से बाहर निकाला और उसकी चूत मैं घुसेड़ डाला। चूत गीली होने के कारण लौड़ा झट से चूत में पूरा जड़ तक समा गया।वो भी चुदी चुदाई थी सो उसको भी मजा आ गया। अब कमरे में उसकी ‘आहों’ की गूँज सुनाई देने लगी- फच्छ. कुछ ही धक्कों में फिर वो खुद गान्ड हिला-हिला कर मेरा साथ देने लगी।‘फच्च… फच्च…’ मदमस्त चुदाई की थापें फिर कमरे में गूँजने लगीं।फिर मैंने अपने धक्के तेज कर दिए. मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी, वो भी मस्त होकर उसे चूसने लगी।करीब 15 मिनट तक हम चुम्बन करते रहे। बीच में मैंने उसके मम्मों को खूब दबाया था और वो मुझे कस कर दबा देती रही।मैंने उसकी टी-शर्ट ऊपर कर दी.

अब मेरे दिमाग में एक और शैतानी ख्याल आया जिससे मैं फैजान को और भी क़रीब से उसकी बहन की नंगी मुलायम टाँगें दिखा सकती थी। मैंने अपने पास ही सोफे पर रखी हुई मूव नीचे फर्श पर गिरा दी। थोड़ी देर के बाद मैंने फैजान को आवाज़ दी- सुनो. यहाँ तक की सोते-सोते भी ‘उसी’ के बारे में सोचता रहता है।यह बात करके वे दोनों हँसने लग गईं।मैंने भी कमेन्ट मार दिया- आंटी. तो मैं भी चालू हो गया। मैंने भी उसका साथ दिया और हम दोनों एक-दूसरे को पागलों की तरह चूम-चाट रहे थे।फिर मैंने उसके टॉप को और उसने जो जींस पहनी थी.

यह सुनते-सुनते मुझे ग़ुस्सा आ गया और मैंने उसके गाल पर एक जोर से चांटा लगा दिया। वो जोश में आ गई और बोली- हाँ.

पर क्या होता है ये तो आप सभी को मालूम ही है।मैंने भी उस मेम की गोरी चूत को कस कर चाटा और फिर उस मेम को अपने काले लंड को चाटने के लिए आमंत्रित किया।एन्ना ने मेरे काले लौड़े को पूरी मज़बूती से बहुत आराम से पकड़ा और फिर अपनी जुबान निकाल कर लंबी सांस लेते हुए समूचे लंड को अपने मुँह में निगल लिया।वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेती जाती रही. मैं उन्हें अपने मुँह में दबा कर अच्छी तरह से चूसने लगा।आंटी मेरे बालों में हाथ सहला रही थीं और अपने होंठ भी काट रही थीं।फिर मैंने आंटी की नाभि को चुम्बन करने लगा और साथ में आंटी की पैन्टी के ऊपर से ही उनकी चूत को मसलने लगा।फिर मैंने उनकी पैन्टी उतार दी.

मैंने ब्रेजियर ली और फैजान वापिस जा कर सोफे पर बैठ गया। जैसे ही वो वापिस गया तो मैंने उसे दोबारा बुलाया।मैं- अरे यार यह क्या है… यार. तब से हमारा लिंक टूट गया है।वैसे भी जयपुर में मेरा कोई काम भी नहीं है। दोस्तो, मैं अभी तक अविवाहित हूँ और मेरे वो 8 महीने. अब ‘फ्रेंच-किस’ में तब्दील हो चुका था और वो भी अब गरम होने लगी थी।मैंने उसका एक हाथ पकड़ कर अपने 7 इंच के खड़े लंड पर रख दिया.

तो भाभी कॉफी बनाकर लाईं, वो बोलीं- यही तुम्हारी टयूशन की फीस थी।उसके बाद हमने चुदाई के कई खेल खेले।तो यह थी मेरी सच्ची कहानी. जब मैं उनकी बीवी के संपर्क में आया और उनकी डायरी पढ़ी। मैंने ये डायरी उनके कपबोर्ड से निकाल कर पढ़ी थी। उस डायरी में मेरे बारे में भी लिखा था।‘प्रणय एक कमसिन लड़का है और बहुत ही गरम लड़का है. इसलिए गूँ गूँ करके ही रह गई।फिर मैं थोड़ी देर बाद खुद को धीरे-धीरे उसके ऊपर-नीचे करने लगा।अब चांदनी को भी मजा आने लगा और वो भी अपनी कमर को ऊपर-नीचे करने लगी।मैं अपनी रफ्तार बढ़ाने लगा और करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मैंने उसकी चूत में ही सारा माल छोड़ दिया।मैं झड़ने के बाद उसके बगल में लेट गया.

बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने अब चोदना शुरू किया… वो आआह्ह… उउह्ह्ह… करने लगी।हम एक-दूसरे को मुँह में किस भी कर रहे थे। मुझे तो मानो जन्नत मिल गई थी। मैं और तेजी से चोदने लगा. मुझे तृषा की जलती हुई चिता मेरे सामने होती। ऐसा लगता मानो वो अपना हाथ बढ़ा रही हो और मैं उसे बचा नहीं पा रहा हूँ।मेरे बगल वाली बर्थ पर तृष्णा सोई थी। वो मुझे इस तरह बार-बार करवट लेता देख मेरे पास आई और उसने मेरे हाथ को कस कर पकड़ लिया।मेरे कानों में तृष्णा धीरे से बोली- शांत हो जाओ और सोने की कोशिश करो। मैं तुम्हारे दर्द को समझती हूँ.

बीएफ हरियाणा

चुदाई खत्म होकर हम दोनों ने विदा ली फिर तो गाहे-बगाहे उसकी चूत मेरे लौड़े की खुराक हो ही जाती थी।तो मित्रोम यह थी वो काम रस से भरी कथा. जो मुझे तृषा में अजीब लगी थी।उसकी आँखें कुछ कहती थीं और उसकी जुबान पर कुछ और ही बात होती थी।आज जो उसकी आँखों में था. मैं किसी को नहीं बताऊँगा कि मैंने तुम्हें नंगी देखा।वो बोली- प्लीज किसी को मत बताना कि तुमने क्या देखा।मैंने कहा- वैसे तुमने भी तो मेरा देखा था.

जिसका पति एक बहुत बड़ी कंपनी में जनरल मैनेजर था और सारा दिन काम में लगा रहता था।उसका पति कविता पर कुछ ख़ास ध्यान नहीं देता था. जब मैं अपनी 12 वीं की परीक्षा के बाद की छुट्टियाँ मना रहा था।मेरे घर के पड़ोस में एक छोटा सा परिवार रहता था. क्सनक्सक्स तीनमतलब कबड्डी खेलने से पहले लड़की को गरम करना सीख ले फिर कबड्डी खेलने का और ज्यादा मजा आएगा।मैंने कहा- सिखाओ.

पर शायद तृषा को शर्म आ गई, वो अपने हाथों से अपने जिस्म को छुपाने की नाकाम कोशिश करने लग गई।मैं उसके जिस्म पर जहाँ-जहाँ भी खाली जगह थी.

पर तब भी इस साईट पर सभी कहानियाँ मुझे बहुत ही रोचक और सनसनाहट देने वाली लगती हैं।और अब मैं अपनी पहली सच्ची कहानी लिख रहा हूँ।मेरा कद 5 फीट 11 इंच है और मैं एक अच्छे कसरती जिस्म का मालिक हूँ। जिस फर्म में मैं काम करता हूँ. इसको चुदना तो पड़ेगा ही।रोमा ने अच्छे से सारे बाल साफ किए और नास्ता करके स्कूल चली गई।स्कूल के मेन गेट पर उसको टीना मिली।टीना- हाय रोमा.

पहले झटके में ही मेरे लंड का टोपा अन्दर घुस गया।वो एकदम से चिल्ला पड़ी और मुझे भी दर्द सा महसूस हुआ।मैं रुक गया. भांजा सो चुका था इसलिए दरवाज़े पर दस्तक देकर उसे जगाना मुनासिब नहीं समझा। लेकिन ऐसा लगा कि दरवाज़ा पूरी तरह से बन्द नहीं था. पर शायद पहली बार किसी नंगी लड़की का अपने सामने मुलायम बदन देख सबके साथ यही होता है।मैंने हार नहीं मानी और इस बार बाथरूम में जाकर ‘सू.

बस घर को नहीं बेचा मगर वो भी दोनों के नाम कर दिया।राधा- पापा अपने ये सब क्यों किया? इतनी भी क्या जल्दी थी आपको?दिलीप जी- बेटी मैं दिल का मरीज हूँ.

तो मैं उन्हें देखता ही रह गया। वो बिल्कुल नई दुल्हन लग रही थीं।अब मैं उनके नजदीक गया और कहा- आज मैं अपनी मौसी नहीं. ? तुम्हारा ये सूट बहुत दिक्कत कर रहा है। अच्छा अपने दोनों टिप पर अपनी उंगलियाँ रखो।एक मिनट को वो कुछ सोच में पड़ी. अब तक उसकी बेटी को भी कुछ आराम पड़ गया था।अब मीना कुछ प्रसन्न सी दिख रही थी और मुझे शुक्रिया कह रही थी।इस मौके पर.

देसी गर्ल एक्स वीडियोमैंने सोचा नहीं था।उनके पास जाते हुए मेरी धड़कनें बढ़ रही थीं, उनकी ब्रा के हुक बांधते हुए मेरे हाथ कांपने लगे, मेरा लंड खड़ा होकर भाभी की गाण्ड पर दस्तक देने लगा।भाभी ने पूछा- निखिल, तुम्हारे हाथ क्यों कांप रहे हैं?मैंने कहा- भाभी पहली बार किसी औरत के पास ऐसी हालत में खड़ा हूँ. मैं जैसे हवा में उड़ रही थी।उसकी उंगलियाँ अब मेरी चूत की दरार के ऊपर थीं। उसकी हथेली अब मेरे पेट के ठीक नीचे थी.

बीएफ सारी वीडियो

नहीं तो हाथ आई चूत बिना दर्शन के ही वापस जा सकती है।मैं चिल्लाया- भाभी दो चीटियां तुम्हारी पैन्टी के अन्दर घुस रही हैं. मेरा नाम राजकिशोर है और मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ। मैं जिस्म मसाज का काम करता हूँ और उन्हीं घटनाओं को मैं आप सभी से साझा भी करता हूँ. तो उसने मेरी गांड से लंड निकाल कर मेरे चूतड़ों पर गिनकर 10 थप्पड़ लगाए और फिर मेरे गांड में लंड को दे मारा। अब वो और भी जोरों से अन्दर-बाहर करने लगा।तभी जो लंड मेरे मुँह में था.

’वो मैडम की आवाज़ थी।शायद उस वक्त उन्होंने मेरा नम्बर ही लिया था।मैं जल्दी-जल्दी बेसमेंट की तरफ भागा।मेरे दिल में ख़ुशी भी बहुत थी और मैं थोड़ा परेशान भी था कि आगे क्या होगा।जब मैं बेसमेंट में पहुँचा. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !फिर भाभी ने ब्लोजॉब देना चालू कर दिया। उन्होंने जीभ हटा कर हाथ चलाया तो मैंने भाभी को केवल मुँह से करने को कहा।भाभी ने अपना हाथ लंड से हटा लिया और सिर्फ़ मुँह से ब्लोजॉब देने लगीं।थोड़ी देर बाद मैं झड़ने वाला था. अमन ने मेरे अन्दर की वासना को जगा दिया था।अचानक उसने मेरे निप्पल को अपने दाँतों से हल्का सा काट दिया।हाय.

और जिस तौलिये से उसने अपनी प्यारी सी रसीली चूत छुपा रखी थी, तो वो ले लिया।अब वह हम दोनों के सामने एकदम नंगी लेटी हुई थी और हसरत भरी निगाहों से मुझे देख रही थी।खुशबू उसके सर के पास थी और मैं उसकी जाँघों के पास बैठा था।खुशबू ने भी सिर्फ काली ब्रा पहन रखी थी और उसकी भी चूत में से रस टपक रहा था।मैंने अभी तक किसी को चोदने की बात तो छोड़ो. तो क्या तुम वो सब नहीं करतीं?यह बोल कर मैं दीदी को चूमने लग गया, मैं उसके मम्मों को दबाने लग गया।अब दीदी का विरोध कम हो गया।मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत पर लगाई. अभी मैं लास्ट इयर में हूँ।यह घटना 2012 के नबंबर महीने में हुई थी, मैं अपने एक मौसेरे भाई की शादी के कार्यक्रम में उनके घर आया था, वैसे मैं बाहर रह कर पढ़ाई करता था.

फिर मैंने फ़ोन कट कर दिया और खाना खा कर सो गया।अगले दिन मैंने मम्मी से कहा- मैं दोस्त के घर पढ़ने जा रहा हूँ. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !हम दोनों एक-दूजे को बेतहाशा चूमना शुरू किया। मेरा लण्ड जो पहले से ही खड़ा था.

मम्मी ने आंटी से मेरे खाने-पीने का कह दिया था।दूसरे दिन चूंकि मैं घर में अकेला था तो मैं रात भर अपने गर्ल-फ्रेण्ड से सेक्सी चैट करता रहा और ब्लू-फिल्म देखते-देखते नंगा ही सो गया।घर की एक चाभी आंटी के पास भी थी.

मेरी आप सबसे विनती है कि आप मेरी कहानी को आनन्द लेकर पढ़िए और उसमें आने वाली छोटी-छोटी ग़लतियों को माफ़ कर दीजिएगा. बीएफ सेक्सी मारवाड़ीअब एक छोटी सी काली पैन्टी उसके कमर पर चिपकी थी।मेरी तरफ देख कर वो हल्के से मुस्कुराई और उसने नीचे झुकते हुए पैन्टी उतार दी. ಗೋವಾ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್एक लंड गाण्ड में और एक लंड मुँह में घुसा हुआ धकापेल मुझे एक चुदाई में तीन का मजा मिल रहा था।उस ढाबे पर उस दिन से मुझे पूरा स्टाफ जान चुका है. मैंने तो रेस्टोरेंट से लंच मंगवाया था।इतना कह कर वो रसोई में जाने के लिए अपनी मैक्सी पहनने लगी।मैंने कहा- अगर आपको ऐतराज न हो.

जबरदस्त चुम्मियां ले रहे थे।काफी देर के बाद भाभी नीचे बैठ गईं और भैया का अंडरवियर नीचे करके उनका लण्ड चूसने लगीं.

उसके जिस्म और उसकी ब्रेजियर और उसकी चूचियों को देख रहा है।मेरी नज़रें तो फैजान की हर हरकत पर थीं कि कैसे खाना खाते हुए. तब तक मैंने अपना पैन्ट पहन लिया था और नीचे ही सोया हुआ था।तभी उन्होंने अचानक लाइट ऑन कर दी और मुझे नीचे देखा और मौसा जी को ऊपर. ताकि कल को तेरा भी किसी अच्छी जगह पर रिश्ता हो जाए और तू अपने शौहर के साथ अपनी ज़िंदगी एंजाय कर सके। अरे यह जो थोड़ा बहुत जिस्म को शो करना होता है ना.

पर बात उसके गले से बाहर नहीं आ पा रही थी।ना मुझमें अब कुछ बोलने की हिम्मत बची थी।मैं दरवाज़े की ओर मुड़ा और दरवाज़ा खोल ही रहा था कि तृषा का मोबाइल बज उठा।कॉलर ट्यून थी ‘लग जा गले. अब बता अपनी गर्लफ्रेंड को कैसे खुश करेगा?मैंने समय न गंवाते हुए आंटी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उन्हें चूसने लगा।आंटी पहले से ही गरम होने के कारण मेरा साथ देने लगीं।मेरा हाथ आंटी के चूचों पर चला गया।क्या बड़े और मस्त चूचे थे उनके. लगभग रोज़ ही हमारी आँखें एक-दूसरे से टकराती थीं।कुछ दिनों बाद भाभी मुझे देख कर मुस्कुराने लगीं और मैं भी भाभी को देख मुस्कुराने लगा। ऐसा करीब पन्द्रह दिनों तक चलता रहा।एक दिन जैसे ही मैंने अपनी बाइक स्टार्ट की.

लेटेस्ट बीएफ

और हम एक-दूसरे को प्यार करने लगे। मैं उससे बेइंतेहा मोहब्बत करने लगा और हम रात-रात भार जाग कर बातें करने लगे।इसी दौरान मैं उससे मिलने गया. !मैंने कहा- बात मजे की नहीं है… किसी को पता चल गया तो?वो बोली- अरे मैं यहाँ किसी को बताने के लिए थोड़ी आई हूँ. हम दोनों मंदिर गए और पूजा करने के बाद भगवान को साक्षी मान कर हमने शादी की।उसके बाद मैंने जो होटल में कमरा बुक किया था.

वो थोड़ी सहमी हुई लग रही थी। तभी मैंने कहा- अगर तुम ना कहोगी तो मैं कुछ नहीं करूँगा और हम अभी घर वापस चले चलते हैं।पर उसने अपना हरा सिगनल दे दिया, वो बोली- बात ऐसी नहीं.

रोमा ने धीरे से सुपाड़े को मुँह में ले लिया और नीरज ने उसके सर को पकड़ कर आधा लौड़ा उसके मुँह में घुसा दिया। रोमा छटपटाने लगी मगर नीरज ने उसका सर कस कर पकड़ लिया।नीरज- आह.

जिसे वो मान गई।मैंने उसे अब अपने सिस्टम के सारे फोल्डरों के बारे में बताना शुरू किया किसमें क्या सेव है और एक खास फोल्डर दिखा कर उससे कहा- मीनू इसे कभी मत खोलना. हम दोनों के शर्म के परदे हट चुके थे और हम हर हरकत पर अपनी बेशर्मी की हदें पार कर रहे थे।अब मेरे ऊपर थी वो. தமிழ் திரைப்படம் செக்ஸ்படம்पर उसकी शादी अभी तक नहीं हुई। क्योंकि मैं कुकरेजा फैमिली का शुभचिंतक हूँ इसलिए मिसेज कुकरेजा मुझे अपना बेटा ही मानती हैं।अनिल एक दुबला-पतला सा लड़का है.

मैं भी ज़ोर-ज़ोर से उनकी चूत पेलने लगा।करीब 20 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मैंने कहा- दीदी मेरा वीर्य निकलने वाला है।तो दीदी ने कहा- मेरी चूत में ही निकाल दो।मैंने माल की पिचकारी दीदी की बुर में छोड़ दी।ुमेरे साथ ही दीदी भी झड़ गईं और हम दोनों निढाल हो गए।उस रात को मैंने दीदी को चार बार चोदा और दीदी की बुर की हालत खराब हो गई।अगले दिन उनकी एक सहेली का फोन आया कि वो हमारे घर आ रही है. शायद वो पहले से चुद चुकी थी या फिर तैराकी करने की वजह उसकी चूत की सील पहले से फटी हुई थी।वो मेरे लौड़े के इस तगड़े प्रहार के कारण ज़ोर से चिल्लाने वाली थी कि मैंने अपना मुँह ज़ोर से उसके मुँह पर रख दिया और उसके चूचों को दबाने लगा।वो बहुत दर्द के कारण रोने लगी थी. कि मेरे इस दोस्त के पास ही मेरे मर्ज़ की दवा है। वरना हम खुद ही ज़िक्र कर देते।श्वेता जी- वो दोस्त ही क्या.

उसके हर एक इंच पर मैं अपने प्यार के तेज़ाब से अपनी मुहर लगा देना चाहता था।उसके मुँह में जितना पानी आया. मीरा कमार उठा-उठा कर चुदने लगी और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया।राधे अब भी पूरी स्पीड से चोद रहा था उसका स्टेमिना पावरफुल था।मीरा- आह्ह.

वो मेरे भैया हैं और आप उनकी बारे में ऐसी बातें कह रही हो।मैं मुस्कुराई और उसकी गाल पर हाथ फेरती हुई बोली- क्या करूँ.

मुझे पता भी नहीं चला।फिर उस आदमी ने मुझे उठाया और बिस्तर पर मेरा सर रख कर दोनों पैर ऊपर उठा दिए और मेरी चूत चाटने लगा।इतने में उन दो लड़कों में से एक आया और मेरे मुँह में अपना लंड घुसा दिया, मैं भी उसका लवड़ा चूसने लगी।अब बहुत ज़्यादा मजा आने लगा. शायद मैम इसी इरादे से मुझे अपने घर लाई थीं और मेरे ऊपर पहले ही इतनी मेहरबानियाँ की थीं।मैंने कहा- मैम. उसके बाद गाण्ड मराई की रस्म पूरी करेंगे।दोनों ही खड़े हुए और नहाने चले गए।लो दोस्तो, सॉरी इस बार की चुदाई जल्दी में बता दी मैंने.

सेक्सी एक्स एक्स एक्स इंग्लिश कि आपके भाई का लंड मस्त है या नहीं? क्या आपकी मस्त चूत इसको अन्दर लेने के लिए मचल रही है या नहीं?’पद्मा के चेहरे के भाव बता रहे थे कि वो एक पल के लिए झिझकी. उसने मुझे पलंग पर पटका और मेरे ऊपर आकर मेरी टाँगें फैलाईं और अपने सुपारे को मेरी अनचुदी चूत पर टिका कर एक तगड़ा झटका मार दिया।‘हाय मर गई.

जिससे अहसास हो रहा था कि शायद वो झड़ चुकी है।मैंने भी उसके दोनों स्तनों को पकड़ कर आख़िरी धक्के मारे और ढेर सारा वीर्य उसकी चूत में गिरा दिया।आज मैंने अपनी इच्छा पूरी की. जिसमें हीरो-हीरोइन थोड़ी-थोड़ी देर में चुम्मा-चाटी करते थे।दूसरी ओर खुशबू ने टी-शर्ट के बटन बंद नहीं किए थे. अब मेरा लंड उसकी चूत के पास स्पर्श हो रहा था। मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरा लवड़ा उसके कपड़े को फाड़ कर चूत में चला जाएगा।फिर मैं हाथ नीचे ले जाकर उसके चूतड़ों को दबाने लगा और चूचियों के ऊपर किस करने लगा।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके मम्मों को दबाने लगा।वो सिसकरियाँ लेने लगी ‘आआअह.

बीएफ वीडियो हाई क्वालिटी

जिसे वो मान गए। दो दिन बाद वो नार्मल हो गई और अब तो हम रोज ही कमरा बंद करके जल्दीबाजी वाला राउण्ड खेलने लगे। उसे मैं बहुत बार अपने दोस्त के कमरे में भी ले गया. की आवाज़ के साथ मैंने पूरा वीर्य उनके मुँह में छोड़ दिया था।मैडम उससे बड़े प्यार से चाटने लगीं।अब मैं मैडम की चूत का रस पीने लगा था। मैं उनकी चूत का सारा रस पी गया. मैं तुम्हारे उतारता हूँ।फिर मैंने एक-एक करके उसके सारे कपड़े उतार दिए, उसने भी देर ना करते हुए मुझे नंगा कर दिया।अब मेरा खड़ा लण्ड उसके सामने था, मैंने लण्ड पर बियर गिराई और उसे चूसने को बोला।वो मजे लेकर मेरे खड़े लौड़े को चूसने लगी थी।सपना- राज.

एक बाइक मेरे पास थी और एक मैंने अपने उस दोस्त को बुलाया जिसके पास बाइक थी।मैंने अपने दोस्त से मीना की बेटी को ले चलने को कहा. उसने मेरा लण्ड पकड़ कर मुँह में ले लिया और खूब जोर से मुँह में अन्दर-बाहर करने लगी।थोड़ी देर में बोली- अब मेरे से रहा नहीं जाता.

। लेकिन जानू अब हम कभी एक-दूसरे को कॉन्टेक्ट करने की भी कोशिश नहीं करेंगे। हम दोनों एक-दूसरे को भूल जाएंगे।मैंने कहा- ठीक है.

तुम्हें दुखी नहीं देख सकता। अगर तुमने ‘ना’ कहा तो मैं मर जाऊँगा।रोमा ने जल्दी से आयुष के होंठों पर हाथ रख दिया- नहीं आयुष. फिर भाभी ने मेरी तरफ देखा शायद उन्हें मेरे प्रणय निवेदन में सच्चाई दिखी और सच्चाई तो यह थी कि वे खुद भी चुदासी थीं, बोलीं- अगर किसी को पता चल गया तो. तो तुम मेरे कमरे में बच्चों के सोने के बाद ड्रिंक कर सकते हो।मैंने उन्हें ‘धन्यवाद’ दिया और झेंपते हुए बताया- बस भाभी जी.

उसके बारे में सोचने लगी।मेरे चेहरे पर हल्की सी मुस्कराहट फैली हुई थी।इतनी में जाहिरा ट्रे में चाय के तीन कप ले आई।उसे देख कर मैं मुस्कुराई और वो मेरे पास ही बिस्तर पर लेटते हुए बोली- भाभी आप तो भैया के साथ चिपक कर बहुत ही बेशर्मी के साथ सोती हो. तो फिर मैं क्या कर सकती हूँ।मेरी बात पर जाहिरा हँसने लगी।जाहिरा- भाभी क्या आपको ऐसे कपड़ों में कुछ गलत फील नहीं होता क्या. फिर एक दिन वो वाकिया हुआ जो इस कहानी के आगे बढ़ने की वजह बना, उससे पहले ना कुछ ऐसा-वैसा हुआ हमारे घर में, और ना ही किसी के दिमाग में था.

उसकी चूत का रस इतना गर्म था कि जिससे उसके शरीर पर सवार चुदाई की गर्मी का अंदाज़ा लगाया जा सकता था।तभी वो एक लंबी ‘आआह्ह्ह.

बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ: क्योंकि चिड़िया दाना चुगने लगी थी और अब जल्दी ही जाल में फँस जाएगी।नीरज ने मौके का फायदा उठाया और फ़ौरन जाल फेंक दिया यानि कि वो अपने घुटनों पर बैठ गया और रोमा का हाथ अपने हाथ में लेकर उसको ‘आई लव यू. राधे सोया हुआ था।मीरा ने कपड़े चेंज किए और राधे के पास जाकर उसके बालों को सहलाने लगी।राधे- अरे मीरा तुम कब आईं?मीरा- मुझे आए हुए आधा घंटा से ज़्यादा हो गया.

तो अनायास ही उसकी चूचियां और क्लीवेज का कुछ हिस्सा ज़रूर नज़र आ सकता था।मुझे तो नज़र आ भी जाता था।अब अक्सर मैं उसे घर में टाइट कुरती और लेग्गी ही पहनाती थी. मैं तुम्हारे साथ सेक्स कर रहा हूँ।इतना सुनते ही उसका मुँह पीला पड़ गया और हाथ में पकड़ा हुआ बिस्किट भी हाथ से छूट गया। वो मेरी तरफ देखती ही रह गई।मैं उसकी तरफ देख रहा था. भाभी रसोई में थीं। मैंने भाभी को ‘गुड मॉर्निंग’ कहा और हम वापिस एक देवर-भाभी बन गए।वो दिन मेरे और भाभी के लिए सबसे यादगार दिन था।मेरी भाभी की कातिल जवानी की यह मस्त कहानी आपको हिला कर रख देगी.

’ की आवाज़ सुनकर मुझे और भी मज़ा आने लगा था।अब करीब और 5 मिनट के बाद वो फिर से झड़ गई और मैं भी अब गिरने ही वाला था।मैंने पूछा- कहाँ गिराऊँ.

मैं बार-बार ब्रेक मार रहा था।कुछ ही देर बाद हम वहाँ पर पहुँच गए और हम घूमने लगे। तो मैंने देखा कि वहाँ पर काफ़ी कपल्स घूम रहे थे और वो हमें बार-बार देख रहे थे क्योंकि वो लग ही रही थी इतनी हॉट एंड सेक्सी. जाहिरा सीधी उसी हालत में मेरे पास रसोई में आ गई।मैंने उसे थोड़ा सा काम बताया तो वो बोली- भाभी मुझे चेंज कर आने दें. मैंने भी उसे चूमना चालू कर दिया।इस तरह करीब 20 मिनट तक हम चूमा-चाटी करते रहे और 20 मिनट बाद वो बोली- सिर्फ़ चुम्बन ही करते रहोगे या कुछ और भी करोगे?यह सुनते ही मैं गर्म हो गया और किस करते हुए उसके मम्मों को दबाने लगा। उसके मस्त मम्मों को दबाते हुआ मेरा हाथ अब धीरे-धीरे नीचे जाने लगा।मैं अपना हाथ उसकी स्कर्ट में डालते हुए उसकी चूत पर पहुँच गया.