2020 का हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्स वीडियो सेक्स वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

गरम कहानी: 2020 का हिंदी बीएफ, फिर मैंने तौलिया को थोड़ा और ऊपर सरकाया और जैसे ही वहां पर हाथ रखा चाची ने आँख बंद कर लीं और मुझसे बोलीं कि तुम मालिश बहुत अच्छी तरह करते हो.

कॉलेज गर्ल का सेक्स वीडियो

पहले तो उनके बदन से साड़ी अलग की और भाभी को थोड़ा पीछे करके उनके चुचों पर टूट पड़ा. फर्स्ट नाईट स्टोरीमैं तो बहुत देर से जोया को चोदना चाह रहा था, इसलिए कुछ देर आराम करने के बाद मैंने राहुल से जोया को बेड के किनारे सिर करके चोदने को कहा.

”लाईट आएगी तो क्या करेंगे?”करना क्या हैं? हम दोनों जैसे फिल्मों में नंगे बदन देखते हैं, वैसे ही असलियत में भी देखेंगे. বাংলা xxxxवो धीरे धीरे कर रही थी… मेरे लम्बे और मोटे लंड के माप को भाम्प कर वो… शायद वो घबरा गयी… उसके हाथ कांपने लगे.

दोस्तो नमस्कार, मेरा नाम प्रकाश है। मैं उत्तराखण्ड का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र अभी 28 साल है। मेरा लंड 6.2020 का हिंदी बीएफ: फिर रोहण ने धक्के मारना शुरू कर दिया और फिर हमारी चुदाई की आवाज पूरे रूम में गूँज रही थी.

इस भाई बहन की चुदाई की सेक्स स्टोरी पर आपके कमेंट्स का इन्तजार रहेगा.दीदी मुझे अजीब नज़रों से देख रही थी, तभी मैंने दीदी को उठाया और अपने साथ सोफे पर ले गया और वहाँ बैठ कर अपने जूते और पैन्ट भी निकाल कर नंगा हो गया.

मारवाड़ी से - 2020 का हिंदी बीएफ

क्योंकि जब वो सब कुछ खोलने के लिए मान ही गई है तो उसे भी पता है कि इतना करने के बाद तो उसे भी चुदना ही है.कभी चूची को दबाता और कभी जांघ पकड़ कर दबा देता, पीछे से चूतड़ को मसल देता.

कुछ देर बाद मुझे महसूस हुआ कि उसकी बुर में कुछ हलचल सी हो रही थी और जैसे गर्म लावा निकाल रही हो, मतलब वो झड़ रही थी. 2020 का हिंदी बीएफ उसी कोशिश में:विक्रान्त नंगा अपने बाथरूम में खड़ा था, उसका अजगर जैसा लन्ड पूरे उफान पर था… दिनेश का मेसेज आ चुका था कि वो ईशा को उसके ऑफिस के सामने ड्राप कर चुका है.

मैं भी थोड़ी देर रुक गया और भाभी के होंठ चूसने लगा, चूचे दबाने लगा.

2020 का हिंदी बीएफ?

लंड तो लंड ही होता है उसके पास सोचने समझने के लिए बुद्धि विवेक कहाँ होता है; लंड को तो किसी औरत के जिस्म की आंच महसूस हो तो वो तुरन्त ही लड़ने भिड़ने को, दंगा करने को तैयार हो जाता है; उसे तो नर मादा के बीच बनने वाले उस एक रिश्ते को ही निभाना आता है. उसने मेरा नाम पूछा, मैंने शुभम बताया और उसे कहा- अगर हम दोबारा कभी मिले तो मेरा नसीब अच्छा होगा. इसके बाद जहां सैम की मम्मी रुकी थीं, हम लोग उस होटल में गए और मैं उनसे मिली.

ये थी मेरी बीवी की बेवफाई की कहानी कि कैसे मैंने अपनीबीवी की नंगधड़ंग चुदाई देखी. अब बॉस ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर रख दिया और मेरे चूतड़ों को पकड़ लिया. उसे दर्द हुआ और उछल कर उसने लंड बाहर निकाल दिया।मैंने दोबारा कोशिश की और इस बार लंड चूत पर सटा कर उसके ऊपर लेट कर अपना पूरा भार भी उसके नागे बदन पर दाल दिया गया ताकि वो उछल ना पाये.

रात के दस बजे थे कि वो मेरे कमरे में आई और मुझे बांहों में भर लिया और फूटफूट कर रोने लगी, बोली- दीदी मुझे माफ़ कर दो, मेरी चूत फिर से उसी तरह जल रही है दीदी. अब मुठ तो मारनी ही थी तो मैंने अपने सारे कपड़े उतार डाले और नंगा ही लेट कर अपने लंड को प्यार से दुलारने लगा. मेरी पड़ोसन जिनको मैं रजनी भाबी कहा करता था, उसकी उम्र लगभग 23-24 साल की थी, वो दिखने में बेहद सुंदर थी.

चाचा शादीशुदा थे लेकिन मैं उनको पसंद करने लगी थी क्योंकि वो मेरी बहुत देखभाल करते थे और कभी कभी वो मुझे अपने पैसों से मेरी जरूरत की चीजें मुझे लाकर देते थे. जो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था, आज सपना ने मेरे हाथों को वहाँ तक पहुँचा दिया.

क्या लग रही थीं वो… पूरी गहने से लदी… आँखों में सुरमा… एकदम लाल होंठ… गोरे गाल…मैंने चॉकलेट साइड में रख दी और अपनी जेब से अंगूठी निकाल कर उनका हाथ पकड़ते हुए अंगूठी उनकी उंगली में पहना दी और हाथ चूमते हुए कहा- मेरी जान के लिए यह छोटा सा तोहफ़ा इस नाचीज़ की तरफ से.

दीदी मुझे अजीब नज़रों से देख रही थी, तभी मैंने दीदी को उठाया और अपने साथ सोफे पर ले गया और वहाँ बैठ कर अपने जूते और पैन्ट भी निकाल कर नंगा हो गया.

कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा और कुछ लोगों को मेरी सोसाइटी में पता चल गया था कि मैंने और रोहण ने शादी कर ली है. कुछ देर ऐसे अपनी चूत चूसवाने के बाद वो झड़ गयी और अपना सारा पानी मेरे मुँह में ही निकाल दिया. सगाई के लिए पापा ने एक होटल बुक किया, जिसमें सिर्फ हमारे परिवार और उनके परिवार के लोग थे.

मेरा नाम बन्टी है, मैं अमेरिका में रहता हूँ, यह मेरी पहली सेक्सी स्टोरी है. विवेक ने कामिनी को ऊपर खींच लिया और उसको पूरे बदन में किस करने लगा, मम्मे बुरी तरह से मसलने लगा. !मैंने उसका हाथ अपने हाथ में पकड़ के बोला- तुम टेंशन मत लो, मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगा प्रॉमिस.

मैं- सर मेरी चूत आपकी है, आप कभी भी चोद दीजिए, पर ये ऑफ़िस है कोई आ गया तो बहुत बेइज्जती होगी.

मेरे द्वारा अचानक से हुए हमले से सुकुमारी भौजी सहम गईं और जोर से चीखने लगीं. दीदी के बूट में लगे नुकीली कीलों की मार से गुलाम की गांड पर कट आ गए थे, जिससे खून रिस रहा था. मैं गांड में उंगली डलवाते हुए लिफाफे को खोलकर पढ़ने लगी तो मेरी ख़ुशी दोगुनी हो गई.

लड़कों ने इस बार हद कर दी थी, और किड ने तो अब नाता की गर्दन पकड़ कर उसके मुंह में लंड को गर्दन तक धकेलना शुरू कर दिया था. मैंने पीछे से घुटनों के बल चल कर पिंकी के दोनों गुब्बारे जैसे पुट्ठों को पकड़ कर फैला दिया. इतना सुनना ही था कि मैंने अपने होंठ चाची के होंठों से जोड़ दिए और उनके होंठों का रस पीने लगा.

मैं घबरा गया और जल्दी से वीडियो बंद करके उठ गया लेकिन मेरा लंड अभी उसी हाल में था.

मित्रो, अन्तर्वासना के जिन पाठक पाठिकाओं ने मेरी पूर्व की कहानियाँ नहीं पढ़ी हैं उनके मन ये जिज्ञासा जरूर होगी कि हम ससुर बहू के मध्य यौन सम्बन्ध कैसे स्थापित हो गये?इसके लिए मेरी लिखी सबसे पहली स्टोरीअनोखी चूत चुदाई की वो रातको पढ़ सकते हैंफिर भी अत्यंत संक्षेप में मैं यहाँ पूरा वाकया दोहराता हूँ कि मेरी बहूरानी अदिति और मेरे बीच अनैतिक चुदाई के सम्बन्ध कैसे स्थापित हुए. तभी उस आदमी को किसी ने आवाज़ लगाई, उसने मुझसे बोला- आप इनको लेकर चले जाओ… पार्किंग में देख के आ जाओ… मुझे कोई बुला रहा है.

2020 का हिंदी बीएफ मैंने मस्ती से उनकी चूत को देखा और अपनी दो फिंगर उनकी चूत में डाल कर काफ़ी स्पीड में अन्दर बाहर करने लगा. तभी वो पीछे होते होते दीवार से लग गई, वह संभल गयी और बोली- तुमने यह क्या कर दिया?मैं बोला- वही किया जो तुम चाहती थी!वो बोलने लगी- यह गलत है, अभी मैं कुछ नहीं करने दूंगी.

2020 का हिंदी बीएफ घुटनों तक मेहंदी लगी थी। हर एक पल मेरी पायल और चूड़ियाँ छन-छन कर रही थीं।मेरे गोरी टांगों पर कुछ बाल भी थे और बगलों पर भी. मैं चाची के रूम से तौलिया ले आया और बाथरूम के बाहर खड़े होकर बोला- अब आपको अन्दर आकर कैसे दूँ?चाची बोलीं- तू तो मेरे बेटे जैसा है, फिर शरम कैसी?इतना कह कर उन्होंने अपना हाथ बाथरूम के दरवाजे में थोड़ी जगह करके बाहर निकाला और मैं उन्हें तौलिया पकड़ा ही रहा था, मगर उनके साबुन लगे होने के कारण उनका पैर स्लिप हो गया और वो बाथरूम में ही फिसल गईं.

उसने बोला- क्या मेरी साथ दुकान में जाने में शर्म आती है?मैंने कहा- ऐसी कोई बात नहीं.

ससुर और बहू का हिंदी सेक्सी वीडियो

उसने बिना रहम किये मुझे ऐसा चोदा कि मुझे अधमरी कर दिया, अंकल बीस मिनट तक लगादार चोदने के बाद मेरी चूत में झड़ा, उसका वीर्य भी बहुत निकला था, वो थक गया था, जोर से सांसें ले रहा था. तब मीना जी ने मेरे दोनों हाथों को पकड़ लिया और कहा- रुको मैं कुछ लाती हूँ. मेरे भीतर का मर्द बहूरानी की कामुक चेष्टाओं से पूर्ण उत्तेजित हो चुका था.

खाना पैक कराने के बाद मैंने कुछ कंडोम के पैकेट और वियाग्रा का एक पैक खरीद लिया. फिर उन्होंने मेरी साड़ी उतार दी और मेरे पेटीकोट का नाड़ा खींच कर खोलने लगे. वो वर्षा से बोला- मैं किशोर हूं तुम्हारे मकान का काम मैं ही करता हूं.

मुझसे सब्र ही नहीं हो रहा था तो मैंने झपट्टा मार कर भाभी की ब्रा को खींच कर उतार दिया और उनके मस्त मम्मों पर अपने प्यासे होंठों को लगा दिया.

पांच मिनट बाद मैं होटल पहुँच गई और रूम की जानकारी ली कि किस फ्लोर पर है. उन्हें ऐसे देख कर मैं तो शरम के मारे इधर उधर देखने लगा, तो वो बोलीं- अब क्यों शर्मा रहा है, देख ले मुझे. मैंने दीदी के लिप्स को किस करना चाहा लेकिन दीदी ने मुँह दूसरी तरफ घुमा लिया तो मैं अपने मुँह को दीदी के बूब्स की तरफ ले गया और बूब्स को मुँह में भर के चूसने लगा और हाथ को दीदी की चूत की तरफ ले गया.

मैं- दीदी एक बात पूछूँ… आपको मज़ा तो आया ना मेरे साथ?दीदी- हाँ सन्नी बहुत मज़ा आया…मैं- तो फिर एक बार और कर. मैंने ऐसा ही किया और लंड थोड़ा सा बाहर खींच कर एक जोरदार धक्का मारा, पूरा लंड सरसराता हुआ चुत की दीवारों से रगड़ता पूरा अन्दर घुस गया. फिर हम सभी मिलकर पार्टी की तैयारी करने लगे और तैयारी पूरी होने के बाद सभी फ्रेश होकर पार्टी के लिए तैयार होने लगे थे.

हमने वो बहुत टेस्टी लगी तो मैंने दो गिलास सिकंजी डिस्पोजेबल में ले ली हम वहां से चल दिए. उस वक्त फरवरी का महीना था, जब मैं यहां आया तब यहाँ पर कोई मेरे जान पहचान का नहीं था.

मैं सोचने लगा कि कैसे भाभी को नहाते हुए देखूं, लेकिन कोई उपाय नज़र नहीं आया तो फिर मन मसोस कर टीवी देखने लगा. कुछ देर के बाद मैंने बहन का दूसरा मम्मा दबाने के लिए अपना हाथ बहन के दूसरे मम्मे पर ले गया तो मैंने महसूस किया कि बाजू वाला लड़का मेरी स्वाति बहन का दूसरा मम्मा दबा रहा था. फिर जाते समय मैंने आज छाया को अपना कार्ड दिया औऱ कहा- कुछ भी काम हो तो फोन करना.

हां बेटा जी, जो काम लंड नहीं कर सकता वो काम उंगली या अंगूठा करता है.

हमारा मन एक दूसरे को छोड़ कर जाने का नहीं हो रहा था लेकिन हम मजबूर थे. इस बार उसने मुझे अपने ऊपर लेकर चोदा और शाम चार बजे तक संजय ने मुझे 3 बार बेड पर चोदा. मेरा कभी झूठी कहानियाँ लिखने का मन करता मग़र अनुभव न होने के कारण लिख नहीं पाता था.

मैं हूँ ही अच्छी! तो अच्छी ही लगूंगी ना!मैं बोला- तुम समझी नहीं यार… यार… मैं तुम्हें चाहता हूँ, तुमसे बहुत प्यार करता हूँ. मैंने अब ताकत भरे करीब पचास झटके मारे, रोशनी की साँसें तेज होने लगी और मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

दोस्तो, आप लोग मेरे लिए दुआ करो कि मेरी प्यारी भाभी मुझसे दूर ना जाए. अब वो भी दो थी और हम भी दो… तो हमने फैसला किया कि प्रियंका मेरे दोस्त के साथ और रीना (प्रियंका की ननद) मेरे साथ चुदाई करेगी. विनोद स्वाति को रूम में ले गए, उनके बीच कुछ बातचीत हुई, फिर विनोद मेरे पास आए, उन्होंने मुझसे हाथ मिलाया और मुझसे बोला कि जो सुख मैं स्वाति को नहीं दे पाया, वो आप जरूर देना.

सेक्सी सेक्सी पिक्चर पिक्चर

सुमित के हाथ के साथ साथ सुमित भी थोड़ा थोड़ा ऊपर होता जा रहा था और जैसे ही सुमित के हाथ माया की पेंटी तक पहुँचे, सुमित ने माया के मम्मे के थोड़ा सा नीचे अपने होंठ लगा दिए.

”रोशनी बहुत गुस्से में अपने कपड़े पहन कर चली गई, फिर हम सब भी बाथरूम में अपने आपको अच्छे से क्लीन करके चले गए. उसी घर का दूसरा भाग जो बिल्कुल वहीं बाजू में था, उसमें एक राजस्थान के रहने वाले भाभी और भैया रहते थे. मैं- ठीक है थोड़ी देर बाद आऊँगी लेकिन मैं 15 मिनट से ज्यादा नहीं रुकूँगी उतनी देर में ही मालिश करनी होगी.

मैं समझ तो गया था कि दीदी ऐसा क्यों बोल रही हैं, तो मैंने भी बोल दिया- ये सब आपके साथ नहाने की वजह से हुआ है. मैंने मानवी भाभी के मुँह पर एक चपत लगाई और उसके मुँह में अपना औज़ार जबरदस्ती डाल दिया. ओपन में सेक्सी वीडियोखैर मैंने जोया को औंधा किया, जिससे उसकी गांड का छेद मेरे सामने आ गया.

वो इस तरह सिर्फ हमारी मम्मी के साथ सोती है, जिससे वो सबसे ज्यादा प्यार करती है. इधर मेरा भी वही हाल था जैसे मैं सर्दी में आग के पास खड़ा हो गया होऊं.

मैंने उन्हें कुछ नहीं कहा और चुपचाप देखता रहा, अपना लंड सहलाता रहा. ” अब उसका लंड मम्मी की चूत को चीरता हुआ पूरा अन्दर चला गया और उस दर्द से मम्मी एकदम चीख पड़ीं. अब उसने मेरी ओर देखा और धीरे से उसके चेहरे को चादर के अन्दर ले लिया.

मैंने फटाक से अपने होंठ उनके गुलाबी होंठों पे रख दिये उन्होंने तपाक से अपनी जीभ मेरे मुँह में घुसा दी और मेरी जीभ की तलाश करने लगीं. तभी उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं जब कपड़े धो रही थी, तब तुम क्या देख रहे थे?मैंने कहा- कुछ नहीं. तभी दीदी ने मेरे हाथ को छोड़ दिया और मेरे लंड को हाथ में पकड़ लिया फिर लंड पर हाथ को ऊपर नीचे करने लगी, मैंने भी मौका देखा और दीदी के ऊपर चढ़ गया। दीदी ने मुझे हैरानी से देखा मैंने भी सर हिला कर इशारा किया कि मैं कुछ नहीं करूँगा जब तक आप नहीं बोलोगी.

इसके कुछ ही दिनों बाद मेरी 12 वीं क्लास के पेपर खत्म हुए थे और मैं रोज़ दोपहर को घर पर अकेला होता था.

मैं बहन की चुत पर उंगलियां घुमा रहा था और एक हाथ से बहन के मम्मे दबा रहा था. एक हाथ से मैं भाभी की चूत मसल रहा था और दूसरे हाथ से उनके मम्मे भींच रहा था.

चाची के पूछने के बाद दीदी ने उनको बताया कि मुझसे खेलते हुए पैर में मोच आ गई. फिर मेरे शांत होने पर उसने जोर से झटका मारा और इस बार पूरा लंड अन्दर चला गया. बॉस- तो कहीं बाहर चलोगी, जहां खुल कर मैं तुमको चोदूँगा?मैं- सर अभी पहले भाई के लिए कुछ इन्तजाम कर दूं, फिर चलूँगी नहीं तो घर वाले सोचेंगे कि मैंने छोटे भाई को ऐसे ही भटकने के लिए छोड़ दिया.

मुझे काफ़ी दर्द हो रहा था, मैं कामुक सिसकारियां निकाल रही थी और चुदाई के मज़े ले रही थी. फिर भाभी की चुत पर उंगली रख कर चूत सहलाई, भाभी को जैसे झटका लगा हो वैसे ही एकदम से उनकी सीत्कार निकल गई- उह्ह. एक दिन मैं ऑफिस में काम कर रही थी और चाचा का मेसेज आया कि वो मुझे होटल में खाना खिलाना चाहते थे.

2020 का हिंदी बीएफ एक तो वो इस घर की बेटी नहीं थी, वो इस फैमिली से बाहर की लड़की थी, जबकि बाकियों के बीच में खून का रिश्ता था. अब आपको पता ही है कि ऐसे वक्त में बातें तो कैसी होनी हैं, उस टाइम प्यार का खेल ही होता है.

सेक्सी सेक्सी वीडियो कहानी

मुझे भरोसा था कि वो जरूर आएगा, मेरे लिए नहीं तो तेरे लिए जरूर आएगा. फिर 24 जुलाई को हमारी मुलाकात हुई, उन लोगों ने हमें खाने पर बुलाया था क्योंकि उस दिन छाया का जन्मदिन था. दो महीनों के बाद छाया ने मुझे फोन करके बताया- बधाई हो, आप पापा बनने वाले हो.

मैं वापस उसकी बुर को चूसने लगा और मैंने इतनी ज़ोर से चूसा कि इस बार उसकी मुठ का सफेद पानी नहीं. मेरी एडल्ट स्टोरी पर आप अपनी राय नीचे दिए ईमेल पते पर भेजें![emailprotected][emailprotected]. हिंदी मारवाड़ी सेक्सी फिल्मअब हम दोनों में इतना खुलापन हो गया था, बिल्कुल गर्लफ्रेंड ब्वॉयफ्रेंड जैसी फ्रेंडशिप हो गई थी.

माया ने चौंक कर अपनी आँखें खोलीं, लेकिन अगले ही पल वापस बंद कर लीं.

मैं भी अब इतनी मदहोश हो चुकी थी कि पूरा जोर लगा कर उसको अपने अन्दर खींच रही थी. अब वो धीरे-धीरे मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं बिल्कुल पोर्न मूवीज की अभिनेत्री की तरह.

उसकी फ्रेंड भी दिखने में एकदम मस्त थी, पर पता नहीं क्यों उस दिन मुझे अपनी बहन के अलावा दूसरी कोई लड़की अच्छी ही नहीं लग रही थी. मैंने कहा- आप नहीं जानती दीदी उस दिन के बाद मैं आपको हमेशा याद करता रहता हूँ और कभी कभी तो मुठ भी मारना पड़ता है. छोटे टमाटर के आकार जैसा मेरा टोपा बहूरानी की चूत में जा के फंस गया.

तो घर के कपड़ों में थी। शॉर्ट केप्री और टी-शर्ट में वो बहुत सेक्सी लग रही थी।उसने कहा- मैं तुम्हारे लिए ऑमलेट बनाने जा रही हूँ.

चाय से निबट के बहूरानी बोली- पापा जी, अब मैं कुछ देर सोना चाहती हूँ. शायद हमारे माँ बेटे के रिश्ते की शर्म के कारण! इसी कारण मैं भी ज्यादा खुल नहीं पा रही थी. थोड़ी देर में ही भाभी फिर से साथ देने लगीं और अपनी कमर उठा उठा कर चुदवाने लगीं.

लड़कियों का डांस सीखने का तरीकापाठकगण! आप आँखें बंद कर के जरा कल्पना करें कि बिस्तर पर उस एक पूर्ण जवान और सोलह कला सम्पूर्ण कामविह्ल कामांगी की जो सिर्फ़ एक काले रंग की छोटी सी पैंटी में थी जो बस जैसे तैसे उसकी योनि को अनावृत होने बचाये हुई थी. तुझे बेड पर कुतिया बना कर चोदने में जो मजा है, वह कहीं नहीं!उफ़ कुतिया क्यों ब्रायन? चुदवा तो रही हूँ चुपचाप.

सेक्सी भोजपुरी डांस

नताशा की क्लिट को मसलते मसलते ओमार इतना अधीर हो उठा कि उसने मेरी पत्नी को अपने ऊपर लेटा कर नीचे से उसकी चूत मारते हुए उसके होठों को चूमना शुरू कर दिया:आह. इतनी धूप में एक अकेली लड़की को देखा, तो मैंने सोचा कि कुछ हेल्प कर दूँ. बहुत लोग मुझे लाइन मारते हैं, बहुत लोग मुझसे बात करना चाहते हैं, असल में वे सब के सब मेरी चुत चुदाई करना चाहते हैं.

गुड नाईट बेटा जी!” मैंने भी कहा और उसका सिर अपने सीने से सटा लिया और उसे थपकी देने लगा जैसे किसी छोटे बच्चे को सुलाते हैं. मेरी वासना से भरपूर पिछली चोदन कहानीकिस्मत खुली चुत फटीआपने पढ़ी, आप सबके मेल मिले. स्लेटी रंग के फूलों वाले प्रिंट की लॉन्ग फ्रॉक पहने मंजरी बहुत खूबसूरत और सेक्सी लग रही थी.

मतलब जो मेरी गांड बजा रहा था, वो अब चुत चोद रहा था और जो चुत मार रहा था, वो अब मेरी गांड ठोक रहा था. तभी पहले दोस्त ने पदमा की गांड को हाथों से उठा कर थोड़ा थूक उंगली से लेकर गांड के अन्दर डालकर लगा दिया और उसके न न करने पर भी उसकी गांड को जोर की झापड़ लगा दिया. भाभी मेरे लंड को सहला रही थी और मैं उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूस रहा था.

मेनका- आह आह आअह्ह हह अतुल, ये क्या कर दिया आह आह बहुत अच्छा लग रहा है… ऐसे ही करता रह… ऐसे ही मुझे प्यार करते रहना अतुल हमेशा!मैं- मेनका, मैं अब पूरा का पूरा तुम्हारा हूँ… हमेशा ऐसे ही तुम्हें प्यार करता रहूँगा. मैं उनके मम्मों को लगभग खा ही जाना चाहता था, पूरे मम्मों को मुँह में भर लेना चाहता था.

यह बात तो आज से डेढ़ साल पहले की है, लेकिन इसकी शुरूआत के लिए हमें कुछ साल पीछे जाना पड़ेगा.

मैं बोली- क्या?वर्षा बोली- तुम कैसे अपनी गांड मरवा रही थीं, आराम से सोते हुए. मराठी पिक्चर सेक्सी वीडियोइससे उनको हल्की सी गुदगुदी हो रही थी, लेकिन लगता था कि उन्हें मजा आ रहा है. खतरनाक सेकसीकुछ देर बाद मेरी रफ़्तार में कई गुना बढ़ोत्तरी होने लगी और सुकुमारी भौजी भी मेरा भरपूर सहयोग देने लगीं. मुझे थोड़ा अजीब लगा, पर उस समय मुझे चुदाई के अलावा कुछ और दिखाई ही नहीं दे रहा था.

कमल बार बार अपना लंड मेरी गांड से पूरा निकालता और एक बार में ही मेरी गांड में डाल देता.

बहूरानी मेरी छाती को सहलाने लगी, उसका हाथ मेरे सीने पर पेट पर सब जगह फिरने लगा, फिर उसने मेरी छाती चूमना शुरू कर दी. लेकिन मेरे ख्यालों में बार बार मम्मी की नंगी चूचियाँ ही नज़र आ रही थी तो फिर मैंने मुठ मारी और सो गया. दोनों कैमरामैन मम्मी की उस नीग्रो के साथ चुदाई की ब्लू फिल्म बनाते रहे.

मैं डर गया, बाहर से आंटी चिल्लाईं- क्या हुआ है बेटी?कल्याणी कराहते हुए बोली- मैं ऊपर से किताब निकालते समय गिर गई, रवि ने सम्भाल लिया है. उसने जो हाथ पैंटी में डाला था, उसी से मेरी पैंटी नीचे कर दी और मेरी गांड की तरफ अपना लंड मेरी पैंटी में डाल कर मेरी गांड में पेलने लगा. कमल ने मेरे दोनों टांगों को जोड़कर पकड़ लिया और अपने लंड से मेरी चुदाई करने लगा.

బొంబాయి సెక్స్

हिंदी सेक्स स्टोरीज के पाठकों को मेरा नमस्कार… मेरा नाम जीत रॉक है, मैं इंजीनियरिंग का स्टूडेंट हूँ और अभी सेकंड ईयर में हूँ. कमल ने मेरे दोनों टांगों को जोड़कर पकड़ लिया और अपने लंड से मेरी चुदाई करने लगा. मैंने कहा- चिंता मत करो मैं सिर्फ लंड को तुम्हारी चूत पर सहलाउंगा, अन्दर नहीं डालूँगा.

उसको सम्हलने का मौका नहीं देते हुए मैंने उसकी दोनों चुचियों को पकड़ कर, जोर से खींचकर एक और शाट दे मारा.

फिर अचानक रोहण ने मुझे गोद में उठा लिया और रूम में ले आया, मैं समझ गयी थी कि रोहण अब बस मुझे चोदने वाला है.

अभी तक की इस कामवासना से भरपूर बहु की चुदाई कहानी में आपने पढ़ा कि हम ससुर बहू अपने केबिन के बाहर की दुनिया से बेपरवाह अपनी ही दुनिया में खोये हुए सेक्स का मजा कर रहे थे. हम दोनों घूमने के लिए दुबई आ गये और मैंने अपने बेटे को अपनी वासना प्रदर्शित भी की. कुदाल का चित्रकरीब दस मिनट के बाद दोनों ने एक साथ अपना पानी मेरे अंदर छोड़ दिया। हांफते हांफते उन्होंने जैसे मुझे नीचे उतारा तो बचे हुए तीसरे ने मुझे सीधा जमीं पे गिराया और सीधा अपना हथियार मेरी चूत में घुसा कर चोदना शुरू किया। नंगी जमीं पे वो बड़े जोरों से मुझे चोद रहा था.

मैंने पीछे से एक हाथ की उंगलियों से बड़े प्यार से उसकी निप्पल को सहलाया, दूसरे हाथ की उंगलियों से उसकी क्लिट वाली लुल्ली पे घुमाने लगा. उसकी टांगों के बीच में आकर उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठों को चूसने लगा. भैया ने ताकत से अपना लंड बाहर निकालने की बहुत कोशिश की, पर अब उन्हें भी बहुत दर्द हो रहा था.

मैंने किसी लड़की की चूत पहली बार देखी थी सो मैं भी मस्ती से चाटे जा रहा था. मुझे लंड घुसाने की इतनी प्रेक्टिस हो गई थी कि छेद को भी ढूंढने की जरूरत नहीं पड़ती है.

मैं कुछ समझती उससे पहले तो मेरा नाड़ा खिंच चुका था और मेरी सलवार जमीन पर थी.

शादी में भाभी की चाची की बहन जो कि बहुत ही सुंदर, सेक्सी, स्मार्ट, जैसे किसी ने माधुरी दीक्षित की कॉपी ला के खड़ी कर दी हो, जैसी लग रही थी. दीदी ने एकदम से ऐसा किया तो मैं थोड़ा घबरा सा गया था लेकिन एक ही पल में दीदी के साफ़्ट लिप्स का एहसास अपने लिप्स पर पा के मुझे भी खुमारी चढ़ने लगी और मैंने भी दीदी की किस को उन्ही के अंदाज़ में रेस्पॉन्स देना शुरू कर दिया. ये लो मेरी रानी…” मैंने भी कहा और लंड को बाहर तक निकाल कर पूरी दम से पेल दिया चूत में!हाय राजा जी… ऐसे ही चोदो अपनी बहूरानी को!” बहूरानी कामुक स्वर में बोली और मेरे धक्के का जवाब उसने अपनी चूत को उछाल कर दिया.

नेपाली सेक्सी वीडियो नेपाली !भाभी- हां मेरे राजा, आज के बाद तू ही मुझे चोदेगा और मेरी प्यास बुझाएगा. अगले दिन प्रोपोज़ डे था तो मैं रोज लेकर भी गया और आज वो रास्ते में भी नहीं मिली.

पहले भी उसने मंजरी के बोबे बहुत बार दबाये थे, चूसे थे, मगर आज का मज़ा ही कुछ और था. एक दिन उससे चैटिंग करते हुए मैंने मजाक करने के लिए उसे गर्लफ्रेंड बनने का ऑफर मारा. मैं- तो कहाँ जाना चाहता है आपका लंड?अब मैं उठ कर बॉस की तरफ जाने लगी.

டீச்சர் செக்ஸ் வீடியோஸ்

देखा तो क्या… उसके बूब्स क्या मस्त लग रहे थे, जैसे कह रहे हों ‘हमें इस ब्रा से मुक्त करो. तो देखा उसने अपनी पैन्ट उतारी हुई थी और अपने लण्ड को मुठिया रहा था। मुझे देख कर उसने झट से पैन्ट पहन ली।मैं- यह क्या कर रहे हो?वो चुप रहा. वो सोच रही थी, ये क्या किया है पुलकित ने, ये प्यार था या हवस की पूर्ति.

उसने मुझे गले लगा लिया और मेरे गालों पर किस करके बोला- सरिता आई लव यू, तुम आज कितनी हॉट लग रही हो. हमने वो बहुत टेस्टी लगी तो मैंने दो गिलास सिकंजी डिस्पोजेबल में ले ली हम वहां से चल दिए.

”विक्की ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और अपनी खड़ी डंडी के साथ बिस्तर पे चढ़ कर सीधा लेट गया.

मैंने उसे कुतिया बना कर सीट से चिपका दिया और पीछे से उसकी चुत में लंड लगा दिया. जैसे ही मैंने उसकी गांड को जरा सा ऊंचा करके एक धक्का मारा, पिंकी का बैलेंस बिगड़ गया और उसके निप्पल विक्की के मुँह में जाके घुस गए. उम्र के इस पड़ाव पर भाभी करीब करीब हर रात चुदना चाहती थीं, पर भाई साहब चोदने से भागने लगे थे.

अब जैसा कि मैंने आपको बताया कि वहां भीड़ ज़्यादा थी, इसलिए झूले पर बैठने के लिए हमें लाइन में खड़े होना पड़ा. फिर ऐसे ही बात करते करते मैं उससे सेक्सी बात करने लगा कि कब मिलोगी? मुझे किस चाहिए. नीग्रो द्वारा शर्मीली भारतीय शादीशुदा औरत की चुदाई लोगों को पसंद आती है.

अब मैंने उसके सामने खड़े होकर एक हाथ उसके कंधे पे रखा और दूसरे से उसका नाम लेते हुए लंड को सहलाता रहा.

2020 का हिंदी बीएफ: उस दिन मैंने ब्रा पहनी तो बहुत टाइट हो गई थी, तो जो अमित ने ही दूसरी ड्रेस दी थी, मैंने उसी को पहन लिया. वहां जाकर दरवाजा बंद करके जीजू ने मेरे होंठों को चूसना चालू कर दिया.

मेरे ऊपर जैसे कोई सुगन्धित रेशम का ढेर हो वैसी ही फीलिंग देता बहूरानी का नंगा जिस्म मुझसे लिपटा हुआ था. उनकी वो पावरोटी सी फूली गुलाबी चुत थी, उसे देखकर मेरे मुँह में पानी आ गया. मैं उसकी प्रतिक्रिया देखने के लिए वहीं खड़ा रहा तो वो बड़े गुस्से से मुझे देख रही थी.

अब मेरा पूरा लंड अन्दर ही अपना माल छोड़े जा रहा था- आआहा आआहा… आह एयाया… ले आंटी मेरी मलाई खा ले…मेरा सारा बीज आंटी की चूत के अन्दर ही छूट गया.

क्या देख रहे थे?मैंने कहा- भाभी, मुझे कहने में थोड़ी झिझक लग रही है. वो तो ऑफ़िस में नया है, तो उसको पता नहीं था कि नॉक करके अन्दर आना चाहिए. अंकित हांफता हुआ माया की पीठ पर गिर गया और माया उसका वजन संभल नहीं पाई और वो भी बिस्तर पे गिर गई.