सनी देओल की हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,भीम के सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

रीमा सेन सेक्स: सनी देओल की हिंदी बीएफ, उसके लिंग से चिकास (precum) और मेरी योनि के गीलापन से आसानी से लिंग गुदगुदाहट करता हुआ भीतर चला गया.

दिवाली सेक्सी वीडियो

वो खुद ही मेरी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूसतीं, कभी मेरे होंठों पर अपनी जीभ फेरतीं … और मेरे लंड को अपने हाथ से सहलाने लगतीं. यूट्यूब चालु करादरअसल ये सारी योजना मेरी एक सहेली, जो कि मुझे वयस्क साइट पे मिली थी और उसके पति अथवा कुछ और दंपतियों की थी.

समयानुसार भाभी के घर एक सुन्दर बच्चा पैदा हुआ।लेकिन बाद में पता चला कि भाभी ने यह बात अपनी बहन ज्योति को बता दी. चुत की कहानीकुछ देर तक उसके चूचों को पीने के बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत के छेद पर लगा दिया और एक जोर का धक्का लगा दिया.

मैं तो बहुत दिनों से इस मौके की तलाश में था कि भाभी के साथ कुछ करने का मौका मिल जाये.सनी देओल की हिंदी बीएफ: जब भाई मजे ले रहा है तो मैं क्यूं पीछे रहूं?मैंने कहा- तो मुझमें ऐसा क्या खास लगा तुमको?वो बोली- तुम काफी समझदार लगे मुझे.

जाते हुए मैंने उससे पूछा- आप रोज इतनी ही पीती हो क्या?इस पर वो हंस पड़ी और बोली- आज नहीं पीऊंगी.अगली देसी कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने मोनिका की छोटी बहन की बुर चोदन करके उसका भी उद्घाटन किया.

हॉट सेक्सी वीडियो मूवी - सनी देओल की हिंदी बीएफ

जब मुझे पूरा यकीन हो गया कि वो भी बुर चोदन करवाने की तैयारी करके ही आई है तो मैंने उसकी कमीज में हाथ डाल दिया.वहीं स्त्रियों को आनन्द तो आता है, मगर अधिक समय के घर्षण से पीड़ा होनी शुरू हो जाती है.

ऑफिस में और उसके साथ रहते रहते ऑफिस में एक लड़के जगेश के साथ मेरी भी बातें होने लगी. सनी देओल की हिंदी बीएफ वो एक चूचे को चूस रहा था और एक हाथ से उसके दूसरे चूचे को दबाने में लगा था.

चार महीने के बाद वो प्रेग्नेंट हो गई और अब डिलीवरी के लिए अस्पताल गई हुई है.

सनी देओल की हिंदी बीएफ?

हमें बिल्कुल भी होश नहीं था कि हम सिनेमा हॉल में एक पब्लिक प्लेस में हैं. तुम बोल रहे थे कि अपना 8 इंच का लंड मेरी चूत में डालोगे, रात भर चोदोगे, गांड भी मारोगे. कांतिलाल ने मुझे इस कामुक अवस्था में पाते ही मेरे होंठों से होंठ चिपका लिया.

मगर मैंने उनकी चिल्लपौं को अनसुना कर दिया और उनके ऊपर छाते हुए पूरा लंड चुत में पेल दिया. वो मेरे लौड़े को हाथ में लेकर सहलाने लगी और मैं उसकी चुत को चाटने लगा. पहले मैं सेक्स कहानी को लिखने से कुछ संकोच करता था, पर जब इस साईट पर अबकी सेक्स कहानी को पढ़ा, तो मुझे भी लगा कि अपने अनुभव बांटने से मजा बढ़ता ही है.

हम होटल से बाहर आ कर एक गार्डन में गए और वहां कुछ देर बैठकर एक दूसरे की बाँहों एक दूसरे को किस किया. शाम को शैली ने कॉल करके पूछा- आज रात को दीदी आना चाहे तो?वो हमारी साली साहिबा हैं, उनका स्वागत है. रवि ने अपने लिंग को सही दिशा दिखाते हुए लिंग का सुपारा मेरी योनि द्वार में प्रवेश करा दिया.

उसके होंठों को चूसते हुए मेरा लंड दस मिनट के बाद फिर से खड़ा हो गया. कुछ देर के बाद बाद मैंने साराह की पैंटी भी निकाल दी और साराह को बेड पर लेटा दिया.

जब भाभी से रहा न गया तो भाभी ने पीछे हाथ ले जाकर बल्लू के लंड को उसकी पैंट के ऊपर से पकड़ लिया और उसको सहलाने लगी.

उस समय वैसी सी फीलिंग आ रही थी कि मेरे अन्दर न जाने ताकत एकदम से डबल कैसे हो गई थी.

मैंने वापस सीमा जी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और एक हाथ से उनके ब्लाउज के हुक खोलने लगा. अब सब लोग बोले- अब हम लोगों को चलना चाहिए … क्योंकि अब 2 घंटे बाद कैसीनो जाना है. इधर जैसे ही मेरे हाथ आज़ाद हुए, मैंने पहले तो उनको उसके पेट पर रखा, उसकी नाभि में उंगली डाली, उसकी कमर को सहलाया और फिर मेरे हाथ धीरे धीरे ऊपर आने लगे.

लिंग का सुपाड़ा जैसे ही रमा की योनि में घुसा, रमा ने ऐसा दिखाया, जैसे उसे न जाने कितना सुकून मिल गया हो. मैं उसके आदेश के अनुसार नीचे घुटनों के बल हो गई और उसके लिंग को देखते हुए उसे हाथों में लेकर हिलाने लगी. तो मैंने उसे कैसे सब कुछ समझाया?मेरा नाम रोहन है और मैं गोरखपुर से हूं.

मैं उससे ताकतवर था और उसके लंड का सुपारा मेरी गांड में घुसा आनंद दे रहा था.

’थोड़ी देर बाद मैंने मॉम को दीवार के सहारे खड़ा कर दिया और उनकी पैंटी भी फाड़ दी. अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत के मुँह पर सैट किया और हल्के से धक्का लगा दिया. मैं उसके लिंग के सुपारे को खोल चूसने लगी और एक हाथ से उसके अण्डकोषों को दबाने ओर सहलाने लगी.

मेरे लंड का टांका, तो मुठ मारने से टूट चुका था, जिससे चूत की गर्मी से मेरी अब उत्तेजना बढ़ने लगी थी. मैंने जैसे ही परी की चूत में अपनी जीभ घुसाई, उसको तो जैसे करेंट लग गया हो … वो मस्ती से चिल्लाने लगी- आह … अब नहीं रहा जाता … घुसा दो … मेरी चूत में अपना लंड … फाड़ दो इसे … चोदो मुझे चोदो. वो भी एक मदमस्त कली थी, जिसके नीबू जैसे टिकोरे देख कर मेरा लंड फनफनाने लगा था.

उसने मेरा लंड अपने मुंह से निकाला और मुझे सीधा लेटा कर मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सेट किया और एक ही झटके में बैठ गयी जिससे हुआ ये कि मेरा लंड सीधा उसकी बच्चेदानी से जा लगा।अब मैं सोनू के नीचे था और वो मेरे ऊपर बैठ कर मुझे चोद रही थी लेकिन उसकी चुदाई ज्यादा देर तक नहीं चली और वह थक कर नीचे आ गयी.

नमस्कार दोस्तो, यह कहानी मेरी पहली और सच्ची कहानी है चचेरी बहन की चुदाई की … अगर कोई गलती हो तो माफ़ करना।मेरा नाम है आनंद और मैं गाजीपुर (उ. मैने भी मौसी की चूत पर हाथ रख दिया और फिर मौसी की चूत को मसलने लगा.

सनी देओल की हिंदी बीएफ पर वो मुझे हिलने तक नहीं दे रहा था और बोला- अच्छा माफ कर दो, अब आराम से करूंगा. मेरी बीवी काफी शांत स्वभाव है मगर सेक्स के मामले में वो बहुत ही जोशीली है.

सनी देओल की हिंदी बीएफ मैंने बोला- तुझे पता भी है कि एक माशूका ओर आशिक के बीच क्या होता है?वो बोली- कुछ भी होता है … लेकिन लास्ट में तो चुदाई ही होती है. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और मैं अन्तर्वासना में आने वाली सभी कहानियों को पढ़ता हूँ.

मैं लगातार उसकी बुर को चाटता जा रहा था और बीच बीच में अपनी जीभ उसकी बुर के काफी अन्दर तक डाल कर उसे अन्दर ही घुमाता और चूत की दीवारों को अपनी खुरदुरी जीभ से चाट देता.

सेक्सी गाना बंगाली

पर मुझे भाबी की कहानियां पढ़ने में अलग ही मजा आता हैक्योंकि आप सब को तो पता है कि भाबी के साथ रोमांस करने का मजा ही अलग है. मैंने लंड बाहर निकालते हुए कहा- अब जल्दी से मेरी चुदाई कर दो, मुझसे रहा नहीं जा रहा है. कांतिलाल ने अपना संतुलन बनाया और सही स्थिति में आकर एक ही ठोकर में अपना समूचा लिंग कविता की योनि में उतार दिया.

भाबी ने एक रजाई मुझे दे दी और दूसरी रजाई में खुद और अपनी बिटिया के साथ लेट गई।सोने से पहले भाबी ने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया था और नाइट बल्ब जला दिया था जिससे कमरे में अंधेरा था और बहुत हल्का सा आस पास दिखाई दे रहा था. एक दबे हुए डर के साथ ही आनंद की उन लहरों में दीदी के होंठों को चूसने लगा. इस पर कमलनाथ ने कहा- वो तो ठीक है रमा … पर तुम अपनी सहेली को उस चूतिये नेता के साथ क्यों सोने दिया?रमा बोली- नहीं करती तो तुम सबको बेवकूफ कैसे बनाती और फिर क्या हुआ … कौन सा उस गधे नेता ने कुछ लूट लिया.

उन्होंने मुझसे कहा- पागल परेशान न हो … तेरा हथियार तो तगड़ा है, पर तेरा पहली बार था, इसलिए जल्दी निकल गया.

मैंने गाड़ी एक तरफ पार्क कर दी और हम दोनों हाथों में हाथ डाल कर घूमने लगे. उसकी कमर से उसके बालों को हटा कर मैंन उसकी ब्रा के सारे हुक खोल दिये. उसके बाद वीजू वंदना के कमरे की तरफ गया लेकिन वंदना भाभी ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया था.

मेरा लंड बहन की चूत में नहीं घुस पाया क्योंकि उसकी चूत बहुत टाइट थी. हमारी आंखें मिली हुई थीं, हमारे होंठ थरथरा रहे थे और हम दोनों एक दूसरे की गर्म सांसों को महसूस कर सकते थे. जिस प्रकार से वो धक्के मार रही थी, उससे उसके चूतड़ बहुत लुभावने दिख रहे थे.

क्योंकि मेरे लंड महाराज अपने रौ में आ गए हैं और इसको शान्त करना जरूरी है. योनि के भीतर भी बहुत दुख रहा था मगर उस वक़्त चरम सुख की लालसा के आगे हर दर्द सहने को तैयार थी.

अब मैं हर धक्के के साथ हल्का दबाव बढ़ाता गया और हल्का दर्द देते हुए मैंने उसकी चूत में आधा लंड घुसा लिया. प्लीज़ मुझे मेल करें और बताएं पड़ोसन की चुदाई की गंदी कहानियां कैसी लगी. डॉली की चूत पर लौड़ा रगड़ते रगड़ते मेरे लौड़े का सुपारा और डॉली की चूत दोनों ही लाल लाल हो गए थे.

मैंने अपने हाथों से उनके मोटे और मांसल बोबे सहलाने शुरू कर दिए थे, जिससे सीमा जी भी गर्म हो गयी थीं.

मैंने बोला- बेबी, जब तेरा पति तुझे खुद मेरी गोदी में बैठा रहा है, उसमें ज़्यादा मज़ा है. उस समय उन्होंने लाल रंग का गाउन पहन रखा था, जिसमें उनकी चुचियों की लाइन साफ दिख रही थी. हम दोनों कुछ देर ऐसे ही न्यूड पड़े हुए एक दूसरे के साथ चिपक कर लेटे रहे.

’ की आवाज़ करते हुए मेरे लौड़े को मुँह से बाहर निकाल दिया और जल्दी से एक कपड़े से साफ करने लगीं. मेरी उम्र जब उन्नीस साल की थी, तब मैंने मेरे एक दोस्त के साथ पहली बार सेक्स किया था.

इधर रमा अचानक से चिल्लाने लगी- आह जानू और जोर और जोर से चोदो मुझे … मैं झड़ रही हूँ … आहहह ओह्ह और तेज और तेज. कमलनाथ ने झट से राजेश्वरी को रोका और उसे पीठ के बल चित्त लिटा दिया. एक लेखक के रूप में अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है लेकिन मैं काफी समय से इसकी कहानियों को पढ़ कर ही मजा ले रहा था.

जम्मू का सेक्सी

मैंने पहली बार मामी की नंगी चूत को देखा था और बार-बार उसको देख कर मैं अपने लंड को मसल कर मजा लेने में लगा हुआ था.

अब मैडम बेचैन हो गई, कहने लगी- बस अब बहुत खेल लिए, अब अपने शेर को मेरी गुफा में घुसा दो. दीदी ने मेरे लंड को अपने मुलायम से हाथ में पकड़ कर अपनी योनि के द्वार पर सेट किया और मुझे अपनी तरफ खींच कर ये बताया कि अब धक्का लगा. यह सेक्स कहानी मेरी शादी के एक साल बाद की है, तब मेरी बीवी अपने मायके कुछ महीनों के लिए गई हुई थी क्योंकि वो माँ बनने वाली थी.

फिर मैंने साराह से पूछा- घर में शहद नहीं है क्या?तो साराह ने कहा- फ्रिज में है. बल्लू ने बिजली बंद कर दी और भाभी ने बल्लू को दूसरे रूम में जाने के लिए चुपके से बोल दिया. सेक्सी वीडियो घोडा वालाभाभी की गर्म चूत में जाते ही मैंने उसकी कमर को अपने हाथों में थाम लिया और बिल्कुल धीरे-धीरे अपनी गांड को हिलाते हुए मैं भाभी की चूत में धक्के लगाने लगा.

आंटी मेरे 6 इंच लंबे व 3 इंच मोटे लन्ड को देखते ही रह गई, फिर वो बोली- मेरे पति का बस 4 इंच का ही है. इस तरह कमलनाथ यानि लड़के के भाई ने राजेश्वरी (लड़की की बहन) को राजी कर लिया.

तब तक आप अन्तर्वासना पर गर्म कहानियों का मज़ा लेते रहें और दूसरों को भी मज़ा दिलवाते रहें. मैंने उसके गले में हाथ डाल दिया और उसने मुझे कंधों से पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया. बल्लू ने जो काम था, वो बाजू मे रख कर तुरंत जाकर फोन लिया- हैलो भाभी, बोलो?वंदना भाभी- बल्लू कहां पर हो तुम, मेरी याद आती है या नहीं?बल्लू- ओह जानेमन, तुम्हें कैसे भूल सकता हूँ मैं.

वो पूरी ताकत से राजेश्वरी को पकड़ उसके ऊपर लेट कमर उचकाते हुए संभोग किए जा रहा था. मैंने अपनी उंगली सीधी उसकी बुर में डाल दी उसने अपनी आंखें बंद कर लीं. फिर उसको दोबारा से आगे की तरफ घुमाया तो उसके गोल-गोल चूचे, जिनके निप्पल भूरे रंग के थे, मेरी आंखों के सामने नंगे हो गये.

वो अपनी गांड नीचे से उछाल उछाल कर अपनी उंगली अपनी चुत में डाल कर … और मम्मे दबाने लगीं.

उस समय वैसी सी फीलिंग आ रही थी कि मेरे अन्दर न जाने ताकत एकदम से डबल कैसे हो गई थी. मैंने बीवी से कहा कि मेरा दोस्त राहुल तुमसे बात करना चाहता है क्योंकि तुम उसे बहुत ही हॉट और सेक्सी लगती हो.

आपको मेरी यह भाई बहन की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बताना. मैं कुछ देर ऐसे ही मदहोशी की हालत में लेटा रहा और भाबी के कोमल हाथों के स्पर्श के बारे में सोचता रहा. उसके लिंग का हर धक्का ऐसा प्रतीत हो रहा था … मानो सीधा मेरी नाभि में जा रहा हो.

मैंने फोन उठाया तो मेरी स्टूडेंट ने कहा- सर, 2 बजने ही वाले हैं, आप आये नहीं अभी तक?मैंने कहा- बस निकल रहा हूं मैं भी. मैं उसके निर्देशानुसार कुतिया की तरह झुक गई और मैंने अपना सिर जमीन पर रख अपने चूतड़ों को पूरा उठा दिया. मैंने कहा- तो फिर कभी बोला क्यों नहीं?वो बोली- मैं शर्म रही थी कि कहीं आप नाराज न हो जाओ.

सनी देओल की हिंदी बीएफ अन्दर आकर उसने अभी बॉटल को खोला ही था कि मैं भी बाथरूम से बाहर आ गया. ये सब इतनी जल्दी में उसने किया कि मेरे लिए न कुछ समझ पाना आसान था, न खुद को संभाल पाना.

नया सेक्सी वीडियो चुदाई वाला

उनके कहने पर एक दिन मैंने अपनी गर्लफ्रेड का नम्बर भी दे दिया और फोटो भी ईमेल कर दी. फिर 5-6 धक्कों के बाद मैं भाभी की चूत में ही झड़ गया और उनके ऊपर लेट गया. मैंने ही उस रात का जिक्र किया, तो वो क्या शरमाई थी … आह … मुझे आज भी याद है.

अब वो कराह रही थी- आह जल्दी करो न … मुझे बहुत दर्द हो रहा है तुम्हारा लंड बहुत मस्त लम्बा और मोटा है … मुझे मज़ा भी आ रहा है … और दर्द भी हो रहा है. तेरे पापा को यह बात पता है कि उनके बाद मैं तेरे भाई से चुत चुदवाती हूं. लड़की और डॉगी की सेक्सी वीडियोचाहती तो शायद वो भी थी कि मैं उसे चोद दूं, तभी तो वो कोई भी प्रतिक्रिया किए बिना मेरे लंड के छूने से उसने कभी कोई बुरा नहीं माना और न कुछ कहा.

जिस लड़के की बात मैं यहां पर कर रहा हूं उसकी उम्र 25 साल के करीब थी, वो जॉब करता था.

लेकिन बहुत दिनों के बाद आज मौका मिला है। अगर कुछ त्रुटि हो गयी हो तो माफ कीजियेगा. दोनों काफी उत्तेजक तरीके से एक दूसरे के बदन को टटोलते हुए होंठों से होंठ मिला कर एक दूसरे का रस पी रहे थे.

मेरी योनि बहुत चिपचिपी और गीली हो गई थी, जिसकी वजह से जब जब रवि लिंग बाहर कर अन्दर धकेलता, तो मेरी योनि से छप छप की आवाज आती. काव्या ने बोला- अच्छा जी … तो जनाब सीधा सेक्स करते हैं?ये कह कर उसने मुझे आंख मार दी. इन कहानियों में आप सभी को हम पांचों सहेलियों को सेक्स लाइफ और गुप्त बातों के बारे में पता चलेगा.

थोड़ी देर बाद वो बोली कि अब मेरा ताश खेलने का मन नहीं कर रहा, कुछ और खेल खेलते हैं.

मैं बोला- मम्मी वो तो मैं आज चोद ही दूंगा … लेकिन आप पहले मेरी लॉलीपॉप तो चूस लो. मैंने उनको अपने होंठों से अलग किया और उनकी सांवली बांहों से लटका हुआ ब्लाउज निकाल कर अलग कर दिया. पिंकी दूसरे रूम में जाने लगी तो मैंने उससे कहा- तुम मेरे साथ मेरे रूम में ही सो जाओ.

राजस्थानी सोंग्स वीडियोमैं मॉम के चूचे पकड़ कर कहने लगा- नीलम साली … आज से तू मेरी रखैल है. भाभी ने जिद करते हुए कहा- बताओ ना यार?मैंने बोला- आपका फिगर … आपका फेस सब कुछ मस्त है.

आसाराम बापू की सेक्सी फोटो

एकदम गोरी, योनि की फांकें चिपकी हुईं और किनारे फूले हुए … मानो उसने कभी संभोग किया ही नहीं था. मैंने सोचा कि वो अंदर ही होगी तो मैं बिना दरवाजा खटखटाये अंदर चला गया. पर वो धक्के ज्यादा गहराई तक नहीं थे, सो मुझे परेशानी की जगह आनन्द मिला.

अब मैं आंटी के बोबे को हाथों से मसलने लग गया, एक हाथ से आंटी के बोबे को दबाता तो दूसरे बोबे को मुंह में लेकर चूसता. मैंने उसे पीछे से झुका दिया और लंड को चूत के छेद पर सैट करके सीधा अन्दर पूरा का पूरा घुसा दिया. इस तरह हमने कपड़े चेंज करके नाश्ता आर्डर किया और आराम करने का फैसला किया.

देख कर सो जाऊंगा।सभी लोग छत पर जाकर सोने लगे। कुछ समय बाद प्रिया छत से नीचे आयी और मेरे बगल में बैठ गयी. मामी ने मुझसे पूछा- ऐसे क्यों देख रहा है?मैंने शर्म के मारे नजर नीचे कर ली. थोड़ी देर बाद मैंने लंड को चूत से बाहर निकाला और उसके बोबे चूसने लगा.

छठी मंजिल आने के बाद आंटी ने मुझसे हेल्प करने के लिए कहा तो मैंने उनको हां कहा और दो बैग उठा लिये. वहीं दूसरी तरफ राजेश्वरी लंबे समय तक टांगें फैलाने की वजह से असहज दिखने लगी थी.

फिर तेज़ी से अपनी कमर आगे पीछे करते हुए उसके मुँह में लिंग अन्दर बाहर करने लगा.

पीछे से उसकी बड़ी सी काली चूत में अपने लंड को पेल दिया और उसकी चुदाई शुरू कर दी. सेक्सी मराठी पिक्चर सेक्सी मराठीभाभी मेरे बालों में हाथ फेरते हुए बोल रही थीं- आह चूस लो मेरे राजा … खा जा इनको … आह और चूस. डॉग और औरत का सेक्सउनकी तरफ से कोई विरोध न देख कर मैंने दीदी की ब्रा भी खोल दी और उनके दो परिंदों को आज़ाद कर दिया. आपके मेल मिलने के बाद मैं आपको अपनी बहन की कुछ और सहेलियों की चुदाई के किस्से लिखूंगा.

वो मेरी योनि में उंगली डाल चाट रहा था और मैं एक हाथ से उसका लिंग हिला रही थी, दूसरे हाथ से उसके आंडों को सहला रही थी.

मेरे चूतड़ गठीले और काफी बड़े दिख रहे थे और टॉप ऐसा था, जिसकी गर्दन बहुत अधिक खुली थी और उसमें से मेरे एक तिहाई स्तन साफ़ दिख रहे थे. काव्या ने बोला- अच्छा जी … मेरे साथ फ्लर्ट कर रहे हो, आप तो कुछ ज़्यादा ही एड्वान्स निकले. मैंने अपने आपको संभालते हुए कहा कि मैं तो आपको नहीं देखता हूं … मैं तो बस अपने काम से काम रखता हूं.

भूरे रंग के मस्त निपल्स, काव्या की हर एक सांस के साथ ऊपर नीचे होती उसकी 36 की गोरी मोटी चुचियों पर चमक रहे थे. मुझे तो बस बुआ की चुदाई करनी थी, मेरी ये भी हसरत पूरी हो रही थी।मैंने झटके लगाने शुरू किए. कुछ देर में लंड की पिचकारी पर पिचकारी निकलीं और मैंने भाभी के चूचों को ज़ोर से मुँह में भर कर कस कर माल निकाल दिया.

नई नवेली दुल्हन की सेक्सी वीडियो हिंदी

कुछ ही देर में उनकी ननद की सील टूट गई और वो भी चुदाई का मजा लेने लगी. जिस तरह से साड़ी बंधी थी उसमें आगे के हिस्सा, मेरी योनि से केवल 3 इंच ऊपर था और कमर के ऊपर का हिस्सा ऐसे दिख रहा था, जैसे मेरे चूतड़ के ऊपर हो. उसके लगातार चाटने से थोड़ी ही देर में मेरी योनि में फिर से हलचल शुरू हो गई और मैं अपनी जांघें खुद चौड़ी कर उसे अपनी योनि से खेलने देने लगी.

उनको काफी देर तक काम करना होता है इसलिए वो देर रात को ही घर पर आते हैं.

उसने अगले ही पल लंड को झटका मारा तो उसका लंड मेरी फांकों को फैलाता हुआ अन्दर घुस गया.

एक तो उसके बोबे मेरे सीने से चिपके थे और दूसरे, उसका एक हाथ मेरे नीचे हरक़त कर रहा था. अन्दर दो लड़कियां थीं, उन्होंने मुझे कपड़े उतार कर एक जगह लेटने को कहा. ट्रिपल सेक्स फिल्ममेरा लंड भाभी की चूत में था और भाभी की उंगली मेरी गांड के छेद को सहला रही थी.

और पर मुझ पर सेक्स का भूत सवार हो चुका था तो मैंने उसे गंदी गंदी गालियां देते हुए चोदना शुरू कर दिया।वो उम्म्ह… अहह… हय… याह… करती हुई चुद रही थी. तो उसने शर्मा के अपना चेहरा अपने हाथों में छिपा लिया।मैंने उसका गाउन उतारा तो देखा कि उसने काले रंग की जालीदार ब्रा व पैंटी पहनी हुई थी जिसमें वो बहुत सेक्सी व हॉट लग रही थी।उसके बाद उसने मेरे कपड़े खुद ही उतार दिए. लेकिन वो ऐेसे बर्ताव कर रही थी जैसे वो नींद आने के चलते बड़बड़ा रही है ताकि उसको मां को इस बात का शक न हो जाये कि उसकी बेटी एक मोटे और लंबे लंड के साथ नीचे फर्श पर पड़ी हुई अपनी चूत की चुदाई करवा रही है.

ऐसी ही गंदी गंदी बात करते हुए राकेश उसे ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था और अब काव्या भी शुरू हो गयी थी. वो मुझसे चुदने के लिए लगभग रेडी हो गई थी मगर मैं भी उसे और अधिक तड़पाने के लिए ये सब कर रहा था.

दूसरा राउंड बीस मिनट तक चला और इस राउंड में हम दोनों एक साथ ही झड़ गये.

उसी दिन करीब 4 बजे फिर कॉल आया तो नलिनी बोली- मेरा आपसे मिलने का मन हो रहा है, क्या आप मिल सकते हो?मैंने उसकी अन्तर्वासना को पहचाना और तुरन्त हां बोला. मैं अपने आप में सिकुड़ कर सीधा लेटी हुई थी और अपने बदन को अकड़ा लिया था. अब मैं उसकी चुदाई के लिये तड़प गया था और भगवान से प्रार्थना कर रहा था कि घर वाले कहीं चले जायें.

हॉट सेक्सी हिंदी मूवी बाहर गांव था, नलिनी के परिवार के लोग होने के कारण वहां कुछ नहीं हो सकता था और ना ही कुछ आगे हो सका. जब मैंने उस परिधान को पहनने के लिए अपनी साड़ी, ब्लाउज और पेटीकोट उतारे … तो निर्मला बोली- बहुत गठीला बदन है तुम्हारा.

मुझे कुछ समझ नहीं आया, मैं उस रात सो नहीं पाया और सुबह का इंतजार करने लगा. मैं भी वहीं सो गया था उसके साथ में ही। वो उठी और बाथरूम में चली गई. उन दोनों का मौसम बन चुका था … बस कुछ टाइम में अंधेरे का फायदा लेकर खुले में चुदाई के प्रोग्राम की वजह से ही वे रुके थे.

जंगल न्यूज़ सेक्सी

एक तो पार्लर जाकर जो हुआ, उसी से मैं गोरी और कम उम्र की दिख रही थी. मुझे अंदाज़ा हो चुका था कि वो झड़ने के क्रम में जो धक्के मुझे मारेगा, वो असहनीय होगा … पर मैं उसके वश में थी और मेरे पास बर्दाश्त करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. वो कॉलेज गर्ल हरिद्वार से थी और वो रुड़की के किसी इंजिनियरिंग कॉलेज से अपनी पढ़ाई कर रही थी.

मैं उसके पास जाके बैठा और उसका हाथ मेरे हाथ में लेकर उससे बोला- टीना मैं तुमको बहुत चाहता हूँ और मैं तुमसे हमबिस्तर होना चाहता हूँ. वैसे मेरी साराह से कोई मुलाकात नहीं हुई थी, मुझे तो कम्पनी के एच आर ने ज्वाइन करवाया था.

मैंने 10 मिनट के अन्दर उनकी चुत का सारा पानी अपने मुँह में पी लिया.

फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत में डाल दिया और मेरे मम्मों को अपने हाथों से मसलते हुए मेरी चुदाई करने लगा. वो फिर से दर्द से चिल्ला पड़ी ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’लेकिन अबकी बार मैंने अपने लंड को बाहर नहीं निकाला. सुखबीर को संतुष्ट करने के बाद मैं भी निश्चिन्त थी और मेरा मन भी आनन्दित लग रहा था.

जब मैं 19-20 साल का था, जब मैंने पहली बार अपनी मॉम को जमकर चोदा था. मैं बोला- यार क्या करूं राकेश, तेरी बीवी है ही इतनी मस्त कि मुझसे बिल्कुल कंट्रोल भी नहीं हुआ. फिर मैंने अपने लंड को वहीं रोक कर हल्का हल्का आगे पीछे करना शुरू किया, तो उसका दर्द भी कुछ कम हुआ और उसको मजा आने लगा.

इससे काव्या चौंक गयी और उसके मुँह से निकल गया- उफफ्फ़ …राकेश ने पूछा- क्या हुआ जान? आर यू ओके?काव्या ने बोला- हां, कुछ नहीं, जीभ कट गयी थी.

सनी देओल की हिंदी बीएफ: फिर ऐसा हुआ कि एक दिन अम्मा ने कहा- मैं थोड़ी देर के लिए बाहर जा रही हूँ … मार्किट में होकर आती हूँ. ऐसे नैन नक्श की मल्लिका की थी इस कहानी की पात्र जिसका नाम था अंगिका।अंगिका को देखने के बाद पूरे 7 साल बाद मेरे शरीर में ऐसी हलचल हुई थी कि उसने मेरे दबे अरमानों को फिर से जगा दिया.

फिर धीरे-धीरे मेरी उससे दोस्ती हो गई और मैं उन दोनों के साथ ही घुल-मिल गया. इसलिए घर में चुदाई की कहानियां पढ़ना और चूत में उंगली करना हमारे ग्रुप की सभी लड़कियों की आदत में शुमार था. करीब एक मिनट की इस स्खलन प्रक्रिया के बाद दोनों ही ढीले होकर एक दूसरे से लिपटे रहे.

फिर मेरे बहुत कहने के बाद उन्होंने मेरे लंड को अपने मुंह में भी ले लिया.

मैंने पूछा- तुम अभी तक कितने लड़कों से चुदी हो?प्रिया ने बताया- मैं अभी तक वर्जिन हूँ. मैंने उसे पूरा मुँह में भर उसे चूसते हुए जीभ से सुपारे को भी सहलाने लगी. जब उसके नहाने का टाइम होता तो वो नहाने के लिए हमारे कमरे के पीछे जो स्टोर रूम था, ठीक उसी के पास खुली जगह पर एक हैंड पंप लगा हुआ था, वो उसी पर नहाती थी.