बीएफ बस में

छवि स्रोत,न्यू सेक्सी देसी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

चुदाई वाली हिंदी वीडियो: बीएफ बस में, वो दर्द से चीखने लगे तो मैं रुक गया।फिर धीरे धीरे मैंने सर की गांड को चोदना शुरू किया.

सेक्सी फोटो चुदाई वाला

फिर हम दोनों कॉलेज की कैंटीन में बैठकर बातें करने लगे और चाय पीने लगे. विदेशी सेक्सी वीडियो दिखाओविशाल के शब्दों में:मैंने चोर नजरों से दीदी को देखा। क्या मस्त लग रही थी वो। उन्होंने ऊपर मेरी शर्ट पहन रखी थी। जिसमें उनकी ब्लैक कलर की ब्रा की झलकी साफ नजर आ रही थी।नीचे मेरी शर्ट उनकी आधी जांघों को ही ढक पा रही थी। उनकी गोरी चिकनी टांगें बिल्कुल नग्न थीं। ठंड से ठिठुर कर वो पैर मोड़ कर सोई थी।दीदी ने कहा- विशाल, क्या कर रहा है, आ यहीं सो लेंगे, एक ही रात की तो बात है.

मैं- और सेठजी?मालकिन- वह आज घर पर नहीं हैं, कहीं बाहर जाने वाले हैं. नई पंजाबी सेक्सी मूवीफिर उसने मेरी ब्रा को निकाल कर कर चूची को नंगा किया और जोर जोर से दबाने लगी.

वह मेरी बात काटते हुए बोलीं- वैसे भी अभी कल की ही बात है कि …वो इतना कह कर चुप हो गईं.बीएफ बस में: स्कर्ट में उसके चूतड़ों के बारे में ज्यादा पता नहीं लगता था लेकिन जब वो पजामे में होती थी उसकी पैंटी की शेप भी नजर आ जाती थी.

अभी मैंने सारे बर्तनों को सिंक में रखा ही था कि इतने में जेठजी ने पीछे से आकर मुझे फिर से पकड़ लिया और मुझे बेसिन के पास से हटाकर रसोई के बीचों बीच करके अपनी तरफ घुमा दिया.ये सब देख कर मुझे ऐसा लगने लगा कि मैं इस भोसड़ी वाले शर्मा अंकल को यहां मारकर भगा दूं और अपना लंड घुसा कर उसकी जबरदस्त चुदाई कर दूं.

मराठी भाषेतील सेक्सी पिक्चर - बीएफ बस में

मेरा नाम संदीप है, मैं उत्तरप्रदेश का रहने वाला हूँ और आजकल मुंबई में हूँ.मैंने सोचा कि जब तक ये जॉब से आती है तो मैं आरती के कंप्यूटर को ठीक कर देता हूं.

दोनों के मन में एक ही बात चल रही थी ‘बहनचोद, 4000 रुपये महीना का प्रोटीन खाएगा तो घर वाले गांड पर लात मार कर बाहर निकाल देंगे. बीएफ बस में राजन की आँख रात दो बजे खुली, उसने धीरे से शोभा को उठाया और ड्राइंग रूम में ले जाकर सोफे पर शुरू हो गए.

आपको मेरी और सड़क पर मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई की पहली चुदाई का किस्सा पसंद आया या नहीं? मुझे अपनी प्रतिक्रियाओं के जरिये अवगत करायें.

बीएफ बस में?

कुछ दिन मैंने उसे नहीं छेड़ा यह सोच कर कि अभी इसे यहाँ रमने देता हूँ. यह मुझको पहले पता होता, तो मैं अब तक अपनी भूख अनेकों बार मिटा चुकी होती और मेरी चुत की आग शांत हो चुकी होती. मैंने भी अपने हाथ को स्टॉल के अंदर डाल कर उसके हाथ पर अपना हाथ रख दिया और उसके हाथ को अपनी फुदी पर दबा दिया.

चित्रा- हां यार … इसका बहुत बड़ा मूसल है … पता नहीं आलिया का क्या हो रहा होगा. मेरे हाथों ने डिल्डो को दीदी की चूत में अचानक ही अन्दर तक घुसेड़ दिया और सीधे जड़ तक पेल कर वहीं रोक दिया. उसकी मस्त शेप वाली गोल मटोल जांघों में फंसी जीन्स की जिप के अगल-बगल लौड़े के करीब बनी पैंट की सिलवटें देख कर मेरी सांसें भारी होने लगीं.

ये सब देख कर मुझे गुस्सा आ रहा था मगर पता नहीं क्यों मेरा लंड मेरी पैंट में अपने आप ही तन गया था. ऐसा कहते हुए बिक्कू ने मेरी स्कर्ट को पकड़ कर नीचे मेरे घुटनों तक खींच दिया. फिर तीसरे दिन भी चाचा मेरी चाची की चूत में तीन-चार धक्के लगाने के बाद ही झड़ गये.

शायद दीदी ने ऐसा कभी नहीं किया था, इसलिए वो अति उत्तेजित हो गईं और मेरी चूत को मुँह में भरकर काटने लगीं, जिससे मैं भी तड़प उठी. अगर गुस्सा कर जातीं और किसी से बात शेयर कर देतीं, तो मेरी बड़ी बदनामी हो जाती.

मुझे अच्छे बुरे हर तरह के मेल आते हैं पर जवाब मैं सिर्फ अच्छे ईमेल का देती हूं.

अगले दो मिनट तक मैंने श्वेता की चूत को ऐसे ही उंगलियों से चोदा और फिर उसकी चूत को अपने दोनों हाथों से खोल कर अपनी जीभ की नोक उसकी चूत के द्वार पर हल्का हल्का फिराना शुरू कर दिया.

मैंने गिलास में बियर डाली और सिगरेट का कश लगाते हुए केशव से लड़कियों को बुलाने के लिए कहा. इससे आलिया की आंख में आंसू आ गए … मगर मैं बेरहमी से आलिया को उसके भाई के सामने पेलता रहा. उसका कसरती बदन, मस्त डोले, चौड़ी छाती, सिक्स पैक ऐब्स, उसके मस्त कट्स देख कर मैं उसको देखती ही रह गयी.

मनु ने मुझे खुद से अलग किया और मेरे सर पर हाथ घुमा कर अपनी कनपटी पर टिका कर उंगलियां फेरते हुए नजर उतारी और मेरी खूबसूरती की तारीफ की. तभी अचानक से प्रीत ने मुझे अपनी तरफ खींचा और आदी के सामने मुझे किस करके मेरे मम्मों को दबाने लगा. अब केला आधे से थोड़ा ज्यादा चूत में घुस चुका था और मैंने उसे वैसे ही रहने दिया.

करीब आधे घंटे बाद नहा-धो कर, पूरी तरह से रिलैक्सड मैं जब वाशरूम से बाहर आया तो देखा कि आतिशदान में और लकड़ियां डाल दी गयी थी और उसमें भड़भड़ा कर आग जल रही थी.

कुछ देर बाद अंकल ने आंटी को जल्दी से नीचे पटक दिया और जोर जोर से अपनी गांड को हिला हिला कर अपने लंड को स्वीटी आंटी की चुत में धकेलने में लग गए. दीदी- वो … … तो तुम खाओ ना … मुझे क्यों दे रहे हो?मैं- अरे उन्होंने मुझे दो चॉकलेट दिए थे … एक मेरे लिए और एक तुम्हारे लिए … मैंने अपना खा लिया. तौलिया लपेटकर जैसे ही मीना बाहर निकली, मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया.

अब मुझे दो ब्वॉयफ्रेंड सँभालने थे, मैं दोनों में से किसी को नहीं छोड़ सकती थी … क्योंकि एक मेरी पैसों की जरूरत पूरी कर रहा था और दूसरा मुझे मेरी चुत ठंडी करने के लिए चाहिए था. जब दो तीन बार मेरा हाथ ऊपर को गया और मालकिन की तरफ से कोई आपत्ति नहीं हुई, तो मेरे मन में आने लगा कि अपना हाथ और ऊपर तक घुसेड़ दूँ. पहले तो मैंने भाभी की पैंटी में ही हाथ डाल कर उनकी चूत के दाने को मसला.

नमस्कार दोस्तो … मैं बिंदू देवी अपनी चुदाई की नई कहानी लेकर आप सभी के सामने फिर से हाज़िर हूँ.

इस वक्त वासना से लबरेज होकर मेरी चुत और भी ज्यादा फूलकर कुछ बड़ी सी हो गई थी. उसने अपनी जांघों पर बहते रस को अपनी हथेली से पोंछा और उसको चाटने लगी.

बीएफ बस में मुझको अंडरवियर में खड़ा करके मेरे लंड को छूते हुए बोली- हम्म … बहुत ज़ोर मार रहा है … अभी इसको जन्नत दिखाई देगी. 15 मिनट तक मैंने उसकी चूत को चोदा और जब मैं झड़ने को हुआ तो मैंने पूरा जोर लगा कर उसकी चूत में लंड को घुसेड़ते हुए धक्के लगाना शुरू कर दिया.

बीएफ बस में उन्होंने थोड़ी देर तक मेरे लंड को चूसा, फिर बोलीं- जानू मुझसे नहीं रहा जा रहा है … इस लौड़े को जल्दी से अन्दर डाल दो. तभी पड़ोस वाले शर्मा अंकल को देखा जो कि हमारे ही घर की तरफ आ रहे थे.

क्या आप मुझसे मिलना चाहेंगे?”मुंबई में हूँ से क्या मतलब?” आप तो शायद मुंबई में ही रहती थी.

हिंदी सेक्सी एचडी बीपी वीडियो

जब मुझसे रुका न गया तो मैंने उसको बांहों में ले लिया और उसके गाल पर एक किस कर दिया. लंड लेते ही भाभी ने एक मादक सिसकारी ली और धीरे धीरे ऊपर नीचे होने लगीं. वहां पर मैंने देखा कि एक औरत दूसरी औरत के साथ सेक्स वाली क्रियाएं कर रही थी.

दीदी अपनी चूत की तरफ़ उंगली से इशारा करते हुए बोली- यहां और कमर में. दीदी ने मुझे उठाया और हम निकल पड़े कार ड्राइविंग सीखने के लिए।मैंने 10 दिन तक दीदी को पूरी ट्रेनिंग दी. मेरा अनुमान एकदम ठीक था, जेठजी का लंड मेरे पति के लंड से करीब आधा पौना इंच ज्यादा लंबा और मोटा था.

अब अंकल ने दीदी से पूछा- कैसा लग रहा है?दीदी ने आंखें बंद करके मुस्कुराते हुए अपनी गरदन को हिला कर ‘हां … अच्छा लग रहा है.

वो बार-बार अपनी चूत को मेरे जांघिया में तने हुए मूसल पर रगड़ रही थी. मैं बोला- तुमने घोड़े की सवारी तो कर ली है, अब जरा लौड़े की सवारी भी कर लो. मनु ने दरवाजा खोला और दीदी ने अन्दर आकर सामान रखते हुए मेरे और परमीत के बारे में पूछा.

दीदी ने कहा- मैं हूँ ना …उन्होंने बिस्तर पर उल्टे लेटते हुए पोजीशन बदल ली और मुझे पैर सीधा करने को कहा. वो मेरी ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा था और मैं उसकी दमदार चुदाई का मज़ा ले रही थी. मैंने कहा- मादरचोद रंडी, बोल रही थी ना कि बड़े बड़े लण्ड चाहियें … अब ले इस तेरे यार के लण्ड को!मैंने उसके मुँह पर हाथ रखा और दूसरा झटका मारा.

अब मेरा भी पानी छूटने वाला था, तो मैंने उसके मुँह से लंड निकाल लिया. हम सब नंगे ही टेबल पे नाश्ता करने लगे।आखिर में मैम फ्रीज़ से आइसक्रीम लायी.

वो एक बार तो थोड़ा उचक गई मगर मैंने ज्यादा अंदर तक उंगली को नहीं घुसाया. पर मन में ही मैंने जवाब ढूंढा कि पैरों में झुनझुनी भरी होगी या नींद के कारण ऐसा होगा. ज्योति मेरे पास आकर खड़ी हुई तो मैंने उसकी स्कर्ट ऊपर उठाकर उससे कहा- पैन्टी नीचे खिसकाओ.

उसने एक लाल रंग की हाफ बाजू वाली टीशर्ट पहनी हुई थी जिसका ऊपर वाला बटन खोल रखा था उसने.

जेठजी मेरी तरफ ही देख रहे थे, जैसे वो जानने को बेचैन से थे कि आगे मैं क्या करने वाली हूँ?मैं उनकी मनोदशा समझ गयी और अब मुझसे भी और देरी बर्दाश्त नहीं हो रही थी. मालकिन तूफानी ताकत से लंड पर हिल रही थी … और ऐसे हिलते समय उनके बड़े बड़े दोनों स्तन ऊपर नीचे झूल रहे थे. अब मैंने उनको उल्टा करके उनकी गर्दन पर भी किस किया और पीछे चाची की गांड पर हाथ फेरने लगा.

मुझे अन्दाजा हो गया था कि मेरी बहन के अन्दर कुछ ज्यादा ही सेक्स भरा हुआ है. उसकी जांघिया के अंदर पहुंच कर मेरे हाथ की उंगलियां उसकी गर्म भट्टी की गर्मी को महसूस करके आ रही थीं.

ये देख कर मैं बहुत खुश हुई और सागर को गले लगा कर थैंक्यू बोलने लगी. मेरे लंड का साइज़ औसत है, जो किसी भी लड़की या औरत को संतुष्ट करने के लिए काफी है. केले के पेड़ के तने जैसी उनकी मक्खन जांघों को देखकर मेरे मुँह में पानी आने लगा.

सेक्सी वीडियो इंडियन चोदा चोदी

यहां आधुनिकता से अलग, किन्तु एक मोहक अंदाज में जन्मदिन मनाया जा रहा था.

देखने में मैं आम हिन्दुस्तानी जैसा ही दिखता हूँ लेकिन किसी साउथ इंडियन हीरो से कम नहीं हूँ. सच में आलिया इतनी हॉट थी, जो भी उसको एक बार देख लेगा, वो जरूर सोचेगा कि काश ये लौंडिया मेरी गलफ्रेंड होती. मैंने देखा कि अंकल के रूम का दरवाजा खुला था और दीदी उनके घर के अन्दर जाने को हुई ही थीं कि अंकल दीदी को देख कर मुस्कुरा दिये और आगे आकर उनको अपनी बांहों में लेकर अन्दर ले लिया था.

उसने आईने में देखते हुए मुझे आँख मारी तो मैं भी उसकी तरफ देखकर मुस्करा दी. उसने मुझे अलग अलग पोज़ में करीब 20 मिनट तक चोदा और मेरे अन्दर ही झड़ गया. सेक्सी वीडियो एचडी में इंग्लिशक्योंकि वह बहुत अच्छा था इसलिए मुझे उसे नंबर एक्सचेंज करने में कोई परेशानी नहीं हुई.

उसने धीमे स्वर में पूछा- तुम्हारे साथ और कौन आया है?मैंने कहा- कोई नहीं … क्यों पूछ रहे हो?फिर उसने अपनी कुर्सी से उठ कर मुझे गले लगा लिया. जीजा जी सिगरेट का धुंआ छोड़ते हुए वहां पर पड़ी कुर्सी पर बैठ गए और मैं खड़ा होकर उन दोनों को किस करते देखने लगा.

कुछ देर की मशक्कत के बाद मैंने कुछ लंड अन्दर पेल दिया और उसको चूमने सहलाने लगा. आपके गुलाबी गाल … जब आप हँसती हो तो गुलाब से खिल उठते हैं।”इतना कहकर मैं रुक गया। हम दोनों ने असहज महसूस किया। मैं कुछ ज्यादा बोल गया था। मैं माफी मांग कर अपनी गलती जाहिर नहीं करना चाहता था।दीदी बोली- मेरी आज तक किसी ने ऐसे तारीफ नहीं की, आशू ने भी नहीं. ये कहते हुए उसने मेरी चूचियों को सहलाना शुरू किया और मेरे होंठों पर होंठों को रख किस करने लगा.

मेरी अकड़न तेज होते देख कर दीदी झटपट उठ बैठीं … और नीचे जाकर मेरे दोनों पैरों को मोड़ कर मेरे सर की ओर उठा दिया, जिससे मेरी चूत उनके सम्मुख और स्पष्ट बाधा रहित पहुंच गई. वो अपने सीने को हाथ से मसलते हुए बोले- जान क्या देख रही हो? मेरा शरीर अच्छा नहीं लगा क्या? तुम्हारी बहन को तो बहुत पसंद है. परमीत की चूत के बीचों-बीच वाली दरार मेरी चूत की दरार से थोड़ी अधिक थी.

मुझे अब बिस्तर में लिटा दो वरना मैं पागल हो जाऊंगी, गिर जाऊंगी। प्लीज जल्दी … मेरे साथ कुछ करो.

वो बोली- दामाद जी, तुम तो बड़े कमीने हो कि तुम दारू पीकर सब कुछ भूल जाते हो. मैंने कहा- तो फिर वहां पर कैसे क्या होता है?दीदी बोली- वहां पर अगर तुम्हारे साथ कोई सेक्स करता है तो उसके साथ मजा तो मिलता ही है, साथ में कई सारे गिफ्ट्स भी मिलते हैं.

मैंने कहा- मुझे घर में इजाजत नहीं है कि मैं किसी लड़के की बर्थडे पार्टी में जाऊं. ऊपर का पंखा अभी चालू है।इतने में वो आगे बढ़ गयी और कहा- ऊपर ही चलते हैं. मैंने कहा- साले चूतिया, अगर प्रोटीन खाकर बॉडी बनायेगा तो लंड भी खड़ा होना बंद हो जायेगा.

उसमें तो कुछ खास नहीं था, बस उसके फ्रेंड्स के नंबर थे और कुछ खास नहीं था. वैसे भी मेरी क्लास अगले हफ्ते स्टार्ट होगी।मैंने भी हाँ कह दिया।अब मुख्य कहानी प्रारम्भ होती है जिसकी मैंने कल्पना भी नहीं कि थी। लेकिन उससे पहले मैं उसके फिगर के बारे में बता दूँ कि उसका जिस्म 32डी-28-32 है।चूँकि हम दोनों थके हुए थे तो नींद भी आ रही थी लेकिन हुआ यह कि मेरे रूम में एक ही बेड था तो मैंने उसे कहा- तू ऊपर सो जा … मैं नीचे जमीन पर सो जाऊंगा. जैसे ही मैंने पानी छोड़ना शुरू किया, उसने अपना लंड चूत पर रख दिया और मेरे चूत रस से अपने लंड को गीला करने लगा.

बीएफ बस में मैंने अपने लंड को अपनी बहन की चुत पर सैट किया और एक धक्का लगा दिया मगर मेरा लंड फिसल गया. कहानी में अगर आपको मजा आ रहा हो तो मुझे अपनी प्रतिक्रिया जरूर भेजें.

सेक्सी वीडियो गीत वाला

मैंने भी अपने हाथ को स्टॉल के अंदर डाल कर उसके हाथ पर अपना हाथ रख दिया और उसके हाथ को अपनी फुदी पर दबा दिया. ”उससे क्या होगा?”मेरे भाग्य में होगा तो एक कुंवारी लड़की को छूने चोदने का मेरा सपना पूरा हो जायेगा. मैं पिंकी के टाईट दूध को जीभ से चारों तरफ सहलाते हुए धीरे धीरे चूस भी रहा था.

आकाश- अब आगे का क्या प्लान है?जीजा जी- आज कोई प्लान नहीं … सिर्फ चुदाई होगी. बीच बीच में वो कभी मेरे मुँह को चोदने लगता … और कभी मैं खुद उसके लंड को अपना सर आगे पीछे करके अपना मुँह चुदवाने लगती. सेक्स वीडियो सेक्सी ओपनकभी सुबह आठ बजे आती तो कभी रात को आठ बजे आ जाती कि दादू ये बता दीजिये, दादू वो बता दीजिये.

फिर भानुप्रताप अंकल मेरे पीछे आये और अपने लन्ड को मेरी गांड के छेद पर लगाया और धक्का दिया तो अंकल के लन्ड का टोपा मेरी गांड में चला गया.

उसके बाद भाभी ने मेरे मुख पर फाउंडेशन लगाया और मेरे चेहरे को एकदम गोरा बना दिया, जिससे मेरा चेहरा और चमकदार हो गया. क्योंकि मुझे मालूम था कि भाभी चुदासी है और वाइल्ड सेक्स की ख्वाहिश पूरी करने के लिए उसने मुझे यहां बुलाया है.

अगले दिन सुबह पूजा ने कहा- मुझे दो घंटे के लिए स्कूल जाना है, प्रिन्सिपल मैम ने सब टीचर्स को बुलाया है. मुठ्ठी में पकड़कर आगे पीछे करती तो उसकी ऊंगलियों की कला को दाद देने का दिल करता. मैंने पास पड़े तौलिये से मुँह साफ किया और बाथरूम में जाकर मुँह धोकर आ गया.

क्योंकि जब एक बार वो चोदना शुरू करता है, तो बिल्कुल जालिमों की तरह चोदने लगता है.

कुछ देर रुक कर फिर से लिपलॉक किस किया और धीरे धीरे लंड आगे पीछे करने लगा. मैंने आलिया को बेड पर पटक दिया … और आलिया के ऊपर चढ़कर उसके होंठों को चूमने लगा. मैंने उसकी कमर पर हाथ फेरते हुए उसे कस कर बाँहों में ले लिया जैसे मैं उसे अपने अन्दर समा लेना चाहता हूँ.

सेक्सी गाना लड़कीशुरूआत में तो मैं चुत की फांकों के ऊपर ही सुपारे को रगड़ रहा था, पर उसी दरम्यान उसने नीचे से कमर को उठाते हुए एक ऐसा झटका लगा दिया कि लंड छप की आवाज के साथ अन्दर घुसता चला गया. उनके आने की जान कर मैं तो मन ही मन अपनी सलहज का दीदार करने को बेताब हो गया था.

नो सेक्सी वीडियो

मैं समझा कि कहीं स्कूल में किसी से तू तू मैं मैं हो गयी होगी तो प्रीति कुछ गुस्से में होगी. उसको डांटने के बाद मुझे भी बुरा महसूस हुआ तो मैंने आरती को गले लगा लिया और चुप करवाने लगा. लोग तो तेरी बैंड बजा देंगे।फिर उसने मेरे कूल्हे को दांत से काटकर उसमें दो तीन थप्पड़ मारे और मेरे ऊपर लेट गया। उसका लंड मेरी गांड की लकीर पर टिका हुआ था।मेरे कान में आकर बोला- आज तो तेरी गांड भी चोदूँगा। देगी न तू अपनी गांड?मैंने भी शर्म छोड़ कर कहा- हाँ क्यों नहीं, जो चोदना है चोद लो.

मुठ तो बहुत मारी थी लेकिन किसी जवान सेक्सी नंगी लड़की के जिस्म पर लंड को छुआने का आनंद अलग ही होता है. फिर सिल्क ने मुझे ऊपर खींच लिया और मेरे मुँह को जो उसकी चूत के रस से सना हुआ था, मेरी नाक, मूंछें, सब कुछ चूत के रस से सराबोर थी, चाटने लगी, अपनी ही चूत के रस को चाटने लगी. जैसा कि मैंने ऊपर भी बताया था कि मैंने कभी सेक्स नहीं किया था, मगर सेक्स के वीडियो बहुत देखे थे … उस कारण मुझे सेक्स का काफी ज्ञान था.

दोनों में से कोई किसी से बात नहीं कर रहा था। एक दो बार उसने बात करने की कोशिश की लेकिन मैंने कुछ रेस्पोन्स नहीं दिया. मैंने लण्ड को चलाना शुरू किया तो देखा मेरा लण्ड खून से सना हुआ था लेकिन ताज्जुब था कि ज्योति न चीखी न चिल्लाई. सेक्स के बीच ऐसी रूकावट मन को बेचैन कर देती है, मैं भी दीदी को जल्दी आने के लिए कह रही थी.

उन्होंने हंसते हुए कहा- नहीं … ऐसे सजने के बाद सिर्फ पति-पत्नी ही प्यार करते हैं. चाची ने अगला सवाल दागा- तेरी कोई जीएफ है क्या?मैंने झेंपते हुए कहा- चाची आप भी … मेरी कोई जीएफ-वीएफ नहीं है.

कुछ देर की चुसाई के बाद एकाएक जेठजी रुक गए और मेरी आंखों में देखने लगे.

मेरी दीदी से साकेत भैया का चक्कर कैसे फिट हुआ और मेरी दीदी की कैसे बुर चोदी उसने! इस सबको मैं पूरे विस्तार से लिखता रहूँगा. सेक्सी ऑंटी सेक्सी ऑंटी सेक्सी ऑंटीहम दोनों के लंड चुत के नसीब से अगले दिन मेरे मम्मी पापा को एक घंटे बाद नानी के यहां जाना था. कुत्तों के साथ लड़कियों की सेक्सीइतने में वो सीधी होकर लेट गयी जिससे उसके चूचे मेरी तरफ हो गए जिन्होंने उसकी खूबसूरती में 4 चांद लगा रखे थे। मेरा लंड आपे से बाहर था और पैन्ट फाड़ने को बेताब था।क्या मैं अपने कपड़े उतार सकता हूँ।” मैंने अकस्मात ही पूछ लिया।हाँ हाँ. मेरे मम्मे अब आजाद थे। मेरी नंगी पीठ पर हाथ फिराते हुए वो मेरे होंठों को हब्शी की तरह चूस रहा था.

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि मैं एक मसाज बॉय हूं, मैं लुधियाना के एक स्पा सेंटर में काम करता हूँ। मैं पिछले 9 साल से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं.

मैं उनकी इस बात को सुनकर हल्के से हंस दिया और लंड को अडजस्ट करते हुए बाहर आ गया. थोड़ी ही देर में पिचकारी की तरह गाढ़ा वीर्य का फव्वारा निकला, जो उसके मुँह के ऊपर, उसके चूचियों पर, कंधों पर गिरा. वो मुझे चूमते हुए बोलीं- दरवाजा खुला रखना है क्या?मुझे याद आया कि जल्दीबाजी में दरवाजे बंद ही नहीं किये थे.

जिस तरह जैसे अविनाश ने तुम्हारी बहन की सील तोड़ी थी, आज तुम उसकी बहन की सील तोड़ोगे. लड़का बोल रहा था- साली तेरी चुत में बहुत गर्मी है … ले मादरचोद … पूरा अन्दर ले … साली रांड. अधिकारी- अरे नहीं सर आप 10 मिनट का टाइम दो, मैं आप का काम करता हूँ आप बाहर इंतज़ार करें.

सेक्सी चुदाई जानकारी

मैं बोली- पागल हो क्या … यहाँ कैसे कुछ हो सकेगा? बाहर तुम्हारे इतने सारे मरीज बैठे हैं. ये सेक्स कहानी मेरे और मेरी पड़ोसन लड़की के बीच की चुदाई को लेकर लिखी गई है. मैं परमीत और मनु हम तीनों मजे करते हुए जब एक दूसरी के साथ लेस्बीयन सेक्स चुदाई कर रही थी तो परमीत ने कहने लगी- यार, तुम लोगों से चुदाई करके जीवन का आनन्द ही आ जाता है.

मैंने कहा- पर दीदी घर भी तो जाना है, हम किसी और दिन आते हैं … तब आपसे खूब बातें करेंगे.

जब सुबह मेरी नींद खुली तब 10 बज रहे थे तो मैं बाथरूम में फ्रेश हुई और तैयार होकर उन अंकल से विदा ली.

शुरू में देखते हुए मुझे तो ऐसा लगा ये मेरे ऊपर चढ़ गए तो शायद मुझे मार ही डालेंगे. मुझे ये नहीं पता था कि संदीप ने चूत चाटते वक्त मुझे चुदी चुदाई समझा, या कुंवारी समझा. सेक्सी हिंदी वीडियो सेक्सी हिंदी मेंआलिया ने दोनों हाथों से बेडशीट पकड़ ली थी … मैं पूरी ताकत से आलिया को चोदने में लगा हुआ था.

जब वह मेरे ऑफिस में आई तो मैंने उसको अपने बगल की कुर्सी पर बैठाया और पूछा- तुम्हारा फिगर बहुत मस्त है और तुम बहुत खूबसूरत हो. कुछ देर की मशक्कत के बाद मैंने कुछ लंड अन्दर पेल दिया और उसको चूमने सहलाने लगा. ये सब देख कर मुझे गुस्सा आ रहा था मगर पता नहीं क्यों मेरा लंड मेरी पैंट में अपने आप ही तन गया था.

दस मिनट तक मैं उसकी चूत को चोदता रहा और वो इस दौरान दो बार झड़ गयी थी. उसके जिस्म के ऊपर अच्छे से चढ़ गया और मुँह में मुँह डाल कर चाटने लगा … ताकि दर्द से चीखने की आवाज बाहर न जाए.

वो कुछ ही पलों में गांड को बड़ी मस्ती से आगे पीछे करते हुए जोर-जोर से हिलाने लगीं.

वो मेरी तरफ देखकर बहुत प्यार से मेरे बालों में हाथ फेरते हुए बोली- आई लव यू … आप बहुत-बहुत अच्छे हैं. वो बड़बड़ा रही थीं- आहह … उहहह डाल दे ना अब …मैंने भी नियमित गति से डिल्डो चूत में उतारना शुरू कर दिया. इतना कहते कहते मैंने उसका कुर्ता और ब्रा उतारकर उसके कबूतर आजाद कर दिये और कहा- बिल्कुल आराम से बैठो, समझो कि अपने पति के साथ वैवाहिक जीवन का आनन्द ले रही हो.

हिंदी पंजाबी सेक्सी ब्लू पिक्चर सपना- अच्छा … जनाब फोन पर और मैसेज पर तो बड़ी बातें करते थे, बड़ा बोलते थे कि तुम मिल ज़ाओ तो ऐसा वैसा … अब गांड फट गई?उसने ‘गांड फट गई’ कहा, तो मैं हंस पड़ा. दीदी अपनी चूत की तरफ़ उंगली से इशारा करते हुए बोली- यहां और कमर में.

मेरे गोरे गोरे बूब्स, जो ब्लैक नाइटी में दूध की तरह चमक रहे थे और बाहर आने को मचल रहे थे. मां बोली- कोई बात नहीं, अब तेरे जीजा जी जैसे बोल रहे हैं वैसा ही कर. कुछ देर बाद आलिया अपना नाश्ता खत्म करके नहाने चली गई और मैं नाश्ता करते हुए इंस्टाग्राम यूज करता रहा.

ज्यादा सेक्सी हो

मैंने कहा- थक कैसे गई यार … कहां गई थी तुम?संजू बोली- कहीं नहीं, आप आईये ना … सब बताती हूँ, पर खाना जरूर से लेते आईयेगा. फिर हम दोनों फ्रेश हुए और खाना खाया क्योंकि उठने में ही 1 बज गया था तो नाश्ते का तो टाइम ही नहीं था।और फिर हम उसके लिए रूम ढूढने गए … अंततः उसे रूम मिल गया. ”तुमने कभी सेक्स इन्ज्वॉय किया है?”हनी ने हैरान होते हुए उत्तर दिया- नहीं दादू.

मेरी चूत ज्यादा गीली होने के कारण अंकल का लंड एकदम मेरी गर्म चूत के अंदर चला गया. पूरी तरह साफ चूत पैंटी से ढकी हुई और उसकी मांसल गुन्दाज़ जाँघें … भरे हुए चौड़े कूल्हे … गोरा बदन!मैंने झुक कर उसकी जांघों को चाट लिया.

मोनिका ये सुनकर बहुत खुश हो गई और बोली- क्या तुम मेरी तारीफ कर सकते हो, जो मुझसे हर बार करते थे.

फिर दो उंगलीं, फिर तीन उंगलियां एक साथ उनकी चूत में डाल दीं और जैसे पोर्न मूवीज में दिखाते हैं, वैसे अपनी उंगलियों से उनकी चुदाई करने लगा. उसको एक गिलास पकड़ाया और अपने होंठ से गिलास को चाट चाट कर हल्का हल्का सिप लेने लगी. दोस्तो, ये थी मेरी अनजान भाभी सेक्स स्टोरी … आप लोगों को कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

जब लंड सिकुड़ कर बाहर निकल गया, तो वो मेरे बगल में आकर लेट गई और अपना एक पैर मेरे जाघों पर रख कर हाथों से मेरे छाती के बालों से खेलने लगी. अविनाश- तो तैयार हो न … दूसरे राउंड के लिए?आलिया- भाई इस समय में बहुत थक चुकी हूँ. सच में दोस्तो, उसकी चुचियों का साइज बढ़ा था … पर वो एक परसेंट भी लूज़ नहीं हुई थीं, बिल्कुल उसकी छाती पर टेनिस की बड़ी बॉल की तरह उठी हुई थीं.

उनकी बिना बालों वाली चिकनी सी आर्मपिट देख कर मेरा मन उनको चाटने के लिए करने लग गया.

बीएफ बस में: यदि इस प्रयास में अगर कहीं पर कोई त्रुटि रह गई हो तो उसको नजरअंदाज करें. मैं जब भी कहीं बाहर जाती हूँ तो सभी मर्दों की नज़र मेरे मोटे मोटे और गोल मटोल चूतड़ों, मेरी पतली कमर और 34 साइज़ के मम्मों पर ही टिकी रहती है.

इसके बाद मैंने अपना कुर्ता उतार दिया और पूछा- मर्दों की छाती में बाल क्यों होते हैं?पता नही, दादू. मैंने उसके चूतड़ पर हाथ फिराया, उसने बड़े ही मस्त अंदाज से सिसकारियां ली- आह आहाहा हाहा हाहा!मेरा लंड खड़ा ही था, उसने निना देर किए मेरा लंड पकड़ कर चूसा. सच यही है कि मैं काफी सालों के बाद यौवन से भरी निर्वस्त्र लड़की देख रहा था.

उसने अपने मुंह से मेरा मुंह दूर करने की प्रतीकात्मक कोशिश की लेकिन मेरे लण्ड से अपना हाथ नहीं हटाया और टटोल कर मेरे लण्ड के साइज का अन्दाजा लगाने लगी.

यह बोल कर उसने अपना फोन निकाला और मुझे दिखाते हुए मेरे भाई का नम्बर लगाने लगा. वो दो पल के दर्द के बाद बड़े मजे लेने लगीं- अहह उहह … और ज़ोर से और जोर से!चाची यही सब बोलते हुए मेरे में जोश भरती रहीं और पूरा कमरा उनकी चुत चुदाई की ‘फ़च फ़च. बस की स्पीड तेज थी, रास्ते के स्पीड ब्रेकर की वजह से हमें ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ रही थी.