एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी

छवि स्रोत,4 मई की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ बीएफ फिल्में सेक्सी: एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी, मैंने बाहर ड्राइंगरूम में बैठ कर अपना पैग बनाया और ड्रिंक करना चालू कर दी.

इंदौर की चुदाई सेक्सी

फिर मैंने लंड के टोपे को हल्का सा पीछे की ओर खींचा और बिना चूत से बाहर निकाले एक और धक्का जोर से मार दिया. एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बढ़िया वालाउसने अपनी बीवी को नीचे लिटा लिया और मुझे उसके ऊपर आने के लिए इशारा किया.

फिर मैंने भाभी की सहेली को बेड पर लिटाया और उनकी टांगें अपने कंधे पर रखकर अपना लंड भाभी की चूत में डाल दिया और चुदाई करने लगा. भाभी का सेक्सी वीडियो जबर्दस्तदीदी- क्या मतलब है कि नहीं है … क्या तू बिना प्रोटेक्शन के मेरे साथ सेक्स करना चाहता है … ऐसा कभी नहीं होगा.

खैर हम वहां से चले आए, लेकिन हमारे दिल में एक डर सा था कि आखिर वो भाभी हमें घूर क्यों रही थी, क्या उन्हें पता था कि हम अन्दर चुदाई कर रहे थे!कुछ समय बाद मैंने उस भाभी को भुला दिया और मैं आकांक्षा के साथ सेक्स का मजा लेने में मस्त हो गया.एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी: मैंने एक हाथ से उसके चेहरे पर फैले बालों को हटाया और माथे पर एक किस किया.

उस दिन पहली बार मैंने उसकी बीवी दीपिका को अपनी आंखों के सामने देखा.जब मैं तौलिया बंद कर बाथरूम से निकली तो मैं सामने से साफ़ दिख रही थी.

लड़की का सेक्सी वीडियो सेक्सी - एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी

उसकी टाइट चूचियों और मोटी मोटी चूचियों को देख कर मेरे अंदर एकदम से वासना भर जाती है.जब वो बियर लेकर आई, तो मैंने उसे कहा- ये यहां रखो और अपनी आंखें बंद करो … तुम्हारे लिए एक गिफ्ट है.

करीब 2 मिनट के बाद वो झड़ गयी और उसका रस अपने लंड पर महसूस करके मैं भी झड़ने लगा. एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी उसने उंगली के इशारे से मुझे अपनी तरफ बुलाया और बेड पर बिठा कर कहा- कोई बात नहीं आर्यन … डरो मत मैं सब सिखा दूंगी.

आपका नाम क्या है?मैंने उसके सवाल का कुछ जवाब नहीं दिया तो सुमित ने कहा- क्या हुआ मैडम? सिर्फ नाम ही तो पूछा है यार … उसमें क्या दिक्कत है?तो मैंने फिर मैंने गुस्से में कहा- मेरा नाम पल्लवी है कोई प्रॉब्लम?सुमित ने कहा- अरे यार पल्लवी … क्या हुआ … इतना क्यूँ गुस्सा हो, क्या बात है कोई टेंशन?मैंने कहा- यार, आधा घंटा हो गया बस का इंतज़ार करते … लेकिन बस नहीं आई.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी?

पापा बाथरूम से क्रीम लेकर आ गए और बोले- तुम तैयार तो हो न!मैंने कहा- मैं तैयार हूं पापा … अब हो भी क्या सकता है, मम्मी भी नहीं हैं … अब तो आपको ही करना पड़ेगा. मेरा हाथ लंड पर चला गया और लंड हिला कर मैं कल्पना की चुदाई सोचते सोचते सो गया. ’ कहा … तो उसने गुस्से से कहा- भग बहन की लौड़ी यहां से … बड़ी आई … मोहन भाई को चूतिया समझ रही है.

मैंने उसकी एक चूची को मुँह में दबा कर ताबड़तोड़ धक्के देना शुरू कर दिए थे. उन दोनों ने मेरी मां की गांड और चूत में एक साथ लंड देकर मेरी मां को चुदाई का अलग ही मजा दिया. सुबह जब मैं उठा, तो मैंने महसूस किया कि मेरी पैंट में गीला गीला सा लग रहा है.

हनी की बांह पकड़कर उसे कुर्सी से खड़ा करते हुए मैंने पूछा- ये क्या देख रही हो?हनी आँखें नीचे किये चुपचाप खड़ी रही. उनकी ब्रा पिंक कलर की थी और पेंटी ब्लैक और कट वाली थी और बहुत ही सेक्सी दिख रही थी. ऐसे चुदाई करने के बाद मैं थककर बेड पर लेट गया और बहू भी मेरे साथ लेट गयी.

उसे देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया पर किसी तरह मैंने खुद को संभाला और उसे बाइक पर लेकर मार्केट चला गया. अपने नरम हाथों से जैसे ही निशा ने मेरे लंड को छुआ, मुझे लगा कि जैसे मैं किसी दूसरी दुनिया में जन्नत की सैर कर रहा हूँ.

यह सुनते ही उसने अपना लण्ड एक झटके से अंदर डाल दिया और धीरे धीरे झटके लगाने लगा.

क्योंकि मैं ये सोचता था कि माया मेरे दोस्त की पत्नी है … किंतु वो मेरे बारे में क्या सोचती थी, मुझे इसकी जानकारी बिल्कुल नहीं थी.

मैं और जोर से चुदाई करने लगा और एक मिनट बाद मैं भी उसी की चुत में झड़ गया. मैंने कहा- आप मुझे बहुत अच्छे लगे हैं, आप मुझे जितना मर्जी चोद लीजिए।मेरी ऐसी गरम बातें सुनकर फिर उनको मजा आने लगा. मेरी बाहरवीं कक्षा की परीक्षा हो गई थी और छुट्टियां चल रही थीं।घर पर मेरा टाइम पास नहीं हो रहा था.

मैंने पीछे से लंड सैट किया और एक झटके में पूरा लंड उसकी बच्चेदानी तक ठोक दिया. ऐसा करने से तुम्हारी बात भी रह जाएगी और मेरे कपड़ों में तेल भी नहीं लगेगा. उन्होंने कमरे का दरवाजा बंद करके पलटीं और एक झटके में अपनी मैक्सी उतार कर मेरे सामने एकदम नंगी हो गईं.

मेरा लंड पूरा खड़ा होकर झटके ले रहा था, जिसे देखकर आकांक्षा धीरे धीरे मुस्कुरा रही थी.

मैं उनके बाल पकड़कर अपना लंड अंदर तक घुसा रहा था।ऐसे ही चूसते रहने के बाद मैंने कहा- चूत में डाल दूं अंदर?वे बोली- कब से तो इंतजार कर रही हूं. उसने कहा कि मैं बस पांच मिनट में पहुंच जाऊंगी … अभी मैं ऑटो में हूँ. उधर पहुंच कर मैंने सीमा को फोन किया- स्वीट हार्ट कहां हो?उसने कहा- मैं घर पर हूँ.

मैं उसकी ब्रा पैन्टी को उतारने का सोच ही रहा था कि तभी अचानक उसे न जाने क्या हुआ कि वो मना करने लगी. मैंने अपनी बहन की तरफ देखा तो उसने कहा- मैं समझ गई कि आप क्या कहना चाहते हो. मैंने कुछ देर बाद एक वेटर को चुपके से अपने पास बुलाया और उससे दारू के लिए पूछा, तो उसने बताया कि वो पीछे चल रही है.

आकांक्षा फिर से चीख उठी- आआईईई मां उफ़्फ़ ओहह हह उईईई मार डाला … आराम से कुणाल.

मेरी पिछली गंदी सेक्स कहानीआंटी की गांड चाटी और चुदाई कीआपको पसंद आई. मैंने उसे फिर से किस करना शुरू किया और इस बार धीर से अपना लंड आगे पीछे करना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी भाभी एकदम मुस्कुरा कर बोली- आप गंदे सेक्स के बारे में खुल कर बताओ कि आप उसमें क्या क्या कर लेते हो?मैंने भाभी से कहा- भाभी पहली बात तो ये कि मुझे 30 से 40 की उम्र की औरतें चोदना बहुत पसंद हैं. दो अंजान मर्द मुझे धकापेल चोद रहे थे और मैं उन दोनों से एक साथ चुद कर मजा ले रही थी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी तभी मेरे लंड ने उबकाई करना चालू कर दिया और नसरीन भी मुझसे चिपक कर मेरे वीर्य की बौछार से अपनी चुत को ठंडा करने लगी थी. फिर मैंने अपने माल को उनकी गांड के छेद पर मल दिया और फिर अम्मी की गांड में उंगली दे दी.

आप बिना किसी जरूरी काम के घर से बाहर ना निकलें और ना ही अपने परिवार के सदस्यों को बाहर जाने दें.

बीएफ सेक्स कथा

तभी अचानक से उसने लंड जोर से दबा दिया और उसके लंड का टोपा मेरी गांड के अन्दर घुसता चला गया. यह मेरी पहली कहानी है और बिल्कुल सच्ची कहानी है इसमें जरा भी झूठ नहीं है. मुझे पता था की उनकी चीखने चिल्लाने की आवाजें तुम्हें डरा कर मुझे मेरे असली मकसद में कामयाब नहीं होने देंगी.

तभी अचानक से उसने कुछ ज्यादा ही ऊपर को गांड उठायी और एकदम से कांपते हुए अजीब सी आवाज निकालते हुए अपने पहले यौवन रस को अपनी बुर के रास्ते मेरे मुँह में निकालने लगी. उस दिन के बाद आकांक्षा के पीरियड शुरू हो गए थे, तो 4-5 दिन सूखे ही गुजारना था. लेकिन उन्होंने यह नहीं किया और मैं कामुकता की चरम सीमा तक पहुंच गई थी और निढाल पड़ गई.

वह फिर मेरी पास आ कर बोली- आशु, इस तरह की गन्दी बातें तू कहां से सीख कर आया है? अपनी सगी बहन के साथ ऐसा करते तुझे शर्म नहीं आती.

मैंने उसकी समस्या को अपनेपन से सुलझाया तो उससे दोस्ती हो गयी और उसके बाद …दोस्तो, कैसे हैं आप सब? मेरा नाम रिची है और यह मेरी पहली और सच्ची सेक्सी कहानी है. मेरी इस मस्ती भरी हॉट सेक्स कहानी के पहले भागसहेली की शादी में मेरी चुत चुद गई-1में आपने अब तक पढ़ा कि मैं अपनी सहेली की शादी में गई थी. बाहर का गेट खोल दिया और मेरे कमरे में आ गयी जहाँ मैं पहले से ही नंगा था.

कहानी का पिछ्ला भाग:ट्रेन के सफर में मेरे शौहर की कारस्तानी-2उन सब के अलग होते ही मुझे महसूस हुआ कि गांड का छेद बहुत जल रहा था और चूस चूस कर इन लोगों ने मेरे निप्पलों को सुजा दिया था. मैं कॉलबॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या विधवा बुलाती हैं. मैं उनके घर पहुँचा तो सिम्मी मुझे देखकर चौंक गयी। उनके घर में केवल सिम्मी, उसकी भाभी, भतीजे ही थे, बाकी परिवार के अन्य लोग पुश्तैनी घर गये थे, जहाँ पर सिम्मी की दादी का निधन हुआ था।सिम्मी के भतीजों के साथ खेलते खेलते रात हो गयी, सिम्मी उदास थी, शायद दादी के मरने का गम था.

शुरू शुरू में मैं समझता था कि वे ऐसी औरत नहीं है और मैं उस पर ध्यान नहीं देता था. उसने गाड़ी को एक ग्राउंड के कोने में लगा रखी थी, जहां पर ना ही कोई रोशनी थी और ना ही कोई आने जाने वाला था.

उसके बाद कोमल ने मुझे अपने ऊपर से हटाया और अपनी मैक्सी लेकर बाथरूम की ओर गयी. सारिका की सलवार और पैन्टी मैंने उतार दी, 69 की पोजीशन में आकर उसकी चूत चाटने लगा. पीछे से मामी की गांड उछलती देख कर मेरा लंड तो अपने आप खड़ा हो जाता है.

घर में कोई दूसरा तो था नहीं इसलिए मैं कुछ देर चाचा के पास ही बैठ गया.

बहू बोली- तो क्या आप गाँव में भी किसी औरत के साथ करते हैं?मैंने कहा- बहू इस शरीर की जरूरत के आगे झुकना ही पड़ता है. मुझे तो मजा आ गया चाचू आपका लंड अपने अंदर लेकर!मैं बोला- मेरी जान, मैं तो कब से तुझे चोदना चाहता था, पर डरता था कि तू बुरा ना माँ जाए।अब हम लोग रोज रात में चुदाई का मजा लेने लगे। वो प्रेगनेट ना हो जाये इसके लिये उसके लिए ‘सहेली’ गोलियाँ लाकर रख ली थी, मैं उसे रोज गोली खिला देता था। अब कोमल मेरे साथ बहुत खुश थी. आंटी एकदम से चिल्लाते हुए बोली- कहां डाल रहा है नालायक! मेरी गांड को फाड़ेगा क्या? मैंने चूत में लंड डालने के लिए कहा था.

जैसे कि योनि के ऊपरी हिस्से पर एक गुलाब बनाना कामुकता को कितना बढ़ा सकता है, आप स्वयं कल्पना करके इसका अंदाजा लगा सकती हैं. मेरे सामने अवनी जैसी सेक्सी आइटम पड़ी थी, जो पिछली रात खूब चुम्मा चाटी कर रही थी.

तभी मैंने ध्यान दिया कि मेरे पाजामे में मेरा लंड पूरा दिख रहा है मगर मैंने उस पर कोई ध्यान नहीं दिया और अंदर चला गया,मैं जानता था कि बहू जरूर देखेगी, अंदर जाते ही मैंने रानी को अपनी बांहों में पकड़ लिया. मैं चुदाई से इतना अधिक थक गया था कि मेरे में उठने तक की ताकत नहीं बची थी. मैंने धीरे से आकांक्षा को पीछे की तरफ धकेल कर बेड पर लेटा दिया और खुद उसके ऊपर आ गया.

देहाती बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी

मैंने अपना अंगूठा सारिका की गांड में डाल दिया तो अं…क…ल कहकर चिहुँक उठी.

मुठ मारने से अच्छा है कि मम्मी के चूतड़ों पर लण्ड रगड़कर डिस्चार्ज कर लूं, ऐसा सोचकर मैं मम्मी के बगल में लेट गया. दीदी ने अपनी आंखें हैरानी से फैलाते हुए कहा- ओ माय गॉड … तेरा इतना बड़ा है!शायद दीदी ने ये कभी सोचा ही नहीं होगा कि मेरा लंड उनकी सोच से बड़ा निकलेगा. और भाभी के बच्चों का भी टाइम हो चला था ट्यूशन से लौट के आने का … तो मैं रुक गया।मैंने उससे कहा- तो फिर अब क्या करूं?तो उसने बोला- तुम रात को अपने घर से बहाना मार के आजाना बोल देना कि आज दोस्त के घर सोऊंगा और मैं रात को बच्चों को जल्दी सुला के भाभी को उनके चाचा के घर भेज दूंगी.

ढाबे में खाना खाने के बाद हम लोग फिर से घर की ओर चलने के लिए तैयार थे. फिर उन्गोने मेरी चलित को अपनी ऊँगली और अंगूठे के बीच में लेकर मसला तो मेरी सिसकारी निकालने लगी और मेरे चूतड़ अपने आप ही ऊपर को उठाने लगे. सेक्सी पिक्चर ब्लू पिक्चर देखने वालाकुछ देर बाद उसकी अनचुदी कुंवारी नाजुक सी चूत उसके बमपिलाट लण्ड के नीचे दम तोड़ देगी।इधर चिन्ना को भी करोना बेटी कपड़ों में कतयी अच्छी नहीं लग रही थी.

मुझे आज उसे अकेले देखकर फिर ठरक चढ़ रही थी, पर हिम्मत नहीं हो रही थी. पर वो रट हुए बोल रही थी कि जय प्लीज लंड बाहर निकालो … बहुत दर्द हो रहा है.

इसलिए मुझे लगता था कि मामी की चुत में ज्यादा बार लंड नहीं गया होगा और उनकी चूचियां भी ज्यादा नहीं मसली गई होंगी. उसने भी पहले हाथ से, फिर मुँह में लंड लेकर एक बार फिर से मेरे लंड को खड़ा कर दिया. अपने घर में तो मैं ही एकलौती कुंवारी चूत थी जिसको तुम चोद ही चुके हो.

उत्सुकता से उसने पूछा- अच्छा, मुझे भी तो बताओ कौन है वो लकी गर्ल?मैंने कहा- नहीं, ऐसे नहीं बता सकता मैं उसके बारे में. मैंने कहा- मेरा निकलने वाला है, कहां निकालूं?वो बोली- अंदर नहीं, अंदर नहीं जाना चाहिए पानी. अपनी मौसेरी बहन की चूचियों और उसकी चूत के बारे में सोच कर अलग ही रोमांच पैदा हो गया था मेरे मन के अंदर।अगले दिन मैं उसके घर जाने के लिए तैयार था.

धक्का लगाते ही आंटी की चिकनी चूत में लंड घुस गया और मैंने एक बार फिर से आंटी की चूत की चुदाई शुरू कर दी.

और खाने के बाद एक दूसरे के साथ एक घण्टे लेट कर प्यार की बातें करने लगे!फिर हम होटल से बाहर आये. मैं आधे घंटे तक औरतों की गांड चाट लेता हूं … और फिर उसके बाद मैं काफी देर तक चुत भी चाटता हूंउसने कहा- बस इतना ही!मैंने कहा- नहीं भाभी … फिर मैं औरतों की पूरी शरीर पर मलाई लगाकर अपनी जीभ से चाटता हूं और मैं औरतों की बगलें भी चाटता हूं, सूंघता हूं.

मैंने भी झट से लोअर टी-शर्ट उतार दी और चड्डी में खड़ा लंड सहलाने लगा. इधर मेरा लंड ट्रेन की गति से होने वाले वाइब्रेशन से उनकी दोनों जांघों के बीच में मस्ती ले रहा था. मोहन ने मेरे बाल पकड़ कर मुझे खींचा और मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

बाद में मैंने उससे लंड चूसने के लिए बोला, तो इस बार वो रंडी की राजी हो गई थी. चिन्ना की बात सुन कर करोना की तन्द्रा भंग हुई और मालिश करने के लिए पहले वाली पोजीशन लेते लेते उसे ये बात अब समझ आ रही थी ये 15 मिनट की बात कर रहा है पर अब उसका 22 साल तक संभाल कर रखा कुंवारापन कुछ ही पल का मेहमान है. मैं बोली- हां मैं जानती हूँ … लेकिन मैं कहां कोई चोरी करने जा रही हूँ?इस पर वो सिक्योरिटी गार्ड बोला- एक काम करो … तुम अपना नंबर दे जाओ.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी टेलर के लंड से चुत चुदाई की कहानी का पूरा मजा आपको अगले भाग में लिखूंगी. ड्रेसिंग टेबल के पास खड़े खड़े फोरप्ले करते हुए हम दोनों पूरी तरह से उत्तेजित हो चुके थे इसलिए बेड पर आ गये.

इंडियन मद्रासी बीएफ

इस पर मोहन भाई ने मुझे देखते हुए कहा- इन कपड़ों में लहंगा चोली का नाप नहीं होता. जब मैं दिल्ली जाने के लिए घर से स्टेशन पहुंचा तो मुझे स्टेशन पर एक आदमी मिला. जब मैं एक दोबारा अपनी गर्लफ्रेंड को ले गया तो मेरा इरादा उसकी गांड मारने का था.

निधि के आने से पहले ही चली जाए!तभी अचानक निधि भी छत पर आ गयी और उस लड़की को देखकर तुरन्त वहाँ से जाने लगी। मैंने उसे आवाज देकर रोकने की कोशिश की. मैं खट से मम्मी के ऊपर आ गया और अपना मूसल सा लण्ड मम्मी की चूत में पेल दिया. कार्टून में सेक्सी वीडियो हिंदीमुझे देख के उसका लन्ड आकार लेने लगा जिसे वो छुपाने की कोशिश कर रहा था.

मैंने पूछा- क्यों?उसने बताया कि मेरी सहेलियां बताती हैं कि क्रीम लगाने से स्किन काली हो जाती है … इसीलिए उन्होंने कभी नहीं लगाई.

मैंने और एक कदम आगे बढ़ते हुए धीरे से कहा- क्यों कोई दिक्कत है क्या?भाभी ने सबको देखा और उठते हुए कहा- आप चलो न. मुझे बहुत गुस्सा आ गया और मैंने ठान लिया था कि इसको सबक सिखा कर ही रहूँगा.

मैं पहले से ही उत्तेजित हो चुका था और उसके द्वारा इस तरह से लंड चूसने के कारण मैं ज्यादा देर टिक नहीं पाया. उसको मजा आने लगा और वो बस आंख बंद करके अपने मम्मों की चुसाई और रगड़ाई का मजा लेने लगी. तो उन्होंने कहा- क्या तुम मेरी मसाज करोगे?मैंने कहा- भाभी, इसमें क्या दिक्कत है?तो उन्होंने बोला- ठीक है, तुम्हारे भैया की नाईट शिफ्ट होती है.

मैंने मुस्कराते हुए उससे बोला- हां, ठीक है, बाद की बाद में देख लेंगे.

अब आगे:अब नताशा की बारी थी, मैंने सोच लिया था कि उसको अपने माल के साथ मूत भी पिलाऊंगा और साली को नहलाऊंगा भी. उसने देखा कि मालिश करने वाली लड़की की कराहने की आवाज़ बहुत तेज़ हो गई है. फिर धीरे धीरे पूरा लंड भाभी की गांड के अंदर घुसा दिया और उसके बाद 15 मिनट तक लगातार भाभी की गांड की चुदाई की.

बाप बेटी का सेक्सी हिंदी वीडियोऔर उसने मेरे सीने में सर छुपा लिया।मैं- पर अभी हमने अलग अलग मजे किये ना, अब एक साथ करते हैं. एक दिन की बात है कि हम लोग मेरे भाई के बर्थडे पर बाहर खाना खाने के लिए जा रहे थे.

हिंदी बीपी बीएफ बीपी बीएफ

मानवी जो मेरे सामने वाली सीट पर सो रही थी, उसने अपने कम्फर्ट के हिसाब से क्रॉप टॉप और कैफ्री पहन रखी थी. उसने मेरी टांगों से लैगी और पैंटी को खींच कर मुझे नीचे से नंगी कर दिया. इसके बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाला और अपनी आंखें बंद करके जोर जोर से मुठ मारने लगा.

मैंने पूछा- भाभी आप इस टाइम?उन्होंने कहा- आपके भैया ऑफिस चले गए हैं. सबके सामने सिर्फ मैम कहा करो, उसके अलावा सिर्फ तनु या तनवी।मैंने कहा- ओके तनवी।ये बोलकर मैं वहाँ से जाने लगा तो उन्होंने कहा- आज रात को आ जाना. उधर तनु की सिसकारियां भी कुछ ऐसा ही इशारा कर रही थीं कि वो झड़ने वाली है.

सीमा मुझको एक्टिवा से लेने आ गई और मैं उसके साथ एक्टिवा पर बैठ कर उसके घर चला गया. इसके बाद मैं उसे अपनी गोद में लेकर सोफे पर बैठ गया और उसके मम्मों से खेलने लगा. अपनी चुत में उंगली करने या लंड की मुठ मारने से पहले मुझे मेल करना न भूलें.

जब तक उसके नाम से रात में अंडवियर को अपने वीर्य से गीला न कर लेता था मुझे चैन नहीं मिल पाता था. दीदी की चूत को सहलाते हुए मैंने पूछा- तो फिर आपने इससे पहले मुझसे इस बारे में बात क्यों नहीं की?वो बोली- मैं ताऊ जी से डरती थी और ताई जी को अगर पता लग जाता तो तेरी भी शामत आ जाती.

अभी वो धीमे-धीमे अपनी कमर को आगे पीछे कर रहा था और अपना लंड मेरी मां के मुंह में डाल रहा था.

तेरी चूचियां मुँह में लेकर तेरा दूध पीना चाहता हूँ, तेरी चूत और गांड को चाटना चाहता हूँ. आंटी भाभी सेक्सीऔर मुझे अभी और पढ़ना है।तभी उसने कहा- लेकिन आप को ये अचानक मेरी शादी की बात क्या सूझी?मैंने स्थिति को भांप कर बात को टाल दिया।फिर हम खाना खाकर सो गए।अगले दिन हम टाइम से उठ कर नहा धोकर सेण्टर की तरफ चले गए।पेपर 3 घंटे का था. लड़की और कुत्ता का सेक्सी वीडियो दिखाइएमेरी बात सुनकर तनु बोली- जब तुम इतनी सारी चूत चोद चुके हो तो तुमने मेरी बेचारी बुर क्यों चोदी?मैंने कहा- जब मैंने तुम्हें पहली बार देखा तो तभी मेरा मन तुम्हें चोदने के लिए कर गया था. उसने एक हाथ नीचे ले जाकर मेरे मुरझाए हुए लंड को पकड़ लिया और धीरे धीरे से सहलाने लगी मसलने लगी।मेरे लंड ने फिर से धीरे से अंगड़ाई लेनी शुरू कर दी और धीरे-धीरे उसने उसे अपने हाथ में भर लिया और धीरे धीरे मेरे लंड की मुठ मारने लगी.

लेकिन बस मैं उसे बहुत पसंद करने लगा था!पता नहीं कब हम वक़्त के साथ एक दूसरे के करीब आते गए.

जरा धीरे से करो।मैंने कहा- जान, तुम ही तो कह रही थी कि बाबू प्लीज कुछ करो ना, मेरे तन बदन में आग सी लग रही है और मुझे अपनी दीदी की तरह पूरा मजा चाहिए इसलिए तो मैंने तुम्हारे अंदर डाला। तुम चिंता ना करो पहली बार में हल्का सा दर्द होता है. बहू की आवाज आयी- बस डैडी जी, 5 मिनट!वैसे ये बात हर मर्द जानता है कि औरतों के 5 मिनट मतलब 30 मिनट होते हैं. निधि मेरा इशारा समझ गयी और वह मेरा लन्ड अपने मुख में डाल कर चूसने लगी।मैं धीरे धीरे धक्के लगा कर निधि के मुख को चोद रहा था.

हम दोनों ही अपने अपने चूतड़ों और कमर को हिलाकर चुदाई का मजा लेने लगे. मैं अपने लंड महाराज को उसकी चुत के द्वार तक ले जाने के लिए उसके दोनों पैरों के बीच में बैठ गया और उसके दोनों पैरों को अपनी कमर पर टिका दिया. मैं दोबारा ऊपर उनके पैरों को किस करते हुए ऊपर जाने लगा और उनकी जांघों को किस करने लगा.

सुहागरात वाला हिंदी बीएफ

कुछ देर बाद मैं अपनी नंगी भानजी के शरीर से हट कर उसकी बगल में लेट गया. कभी उनको किस करता और उनके चूचों को सहलाता जा रहा था।काफी वक़्त हो गया था तो मैंने मैम से कहा- मैं अभी चलता हूँ. कुछ देर बाद नीलम डेन्टिस्ट के यहां चली गई और मैं अपने कमरे में आ गया.

मेरे लंड को पहली बार किसी औरत का हाथ छू रहा था, तो मेरे लंड ने पैंट के अन्दर ही उछल-कूद करना शुरू कर दी थी.

अम्मी बोलीं- बेटा, मैं तेरे जज़्बात और भावनाओं को अच्छी तरह समझती हूँ.

मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और मुझे बहुत ज्यादा मजा भी आ रहा था।राज आज बहुत मजा आ रहा है … हां रे …!” नीचे लेटे लेटे आंखें बंद करते हुए सिसकारियां लेते वो बोली।मेरे अंदर भी कुछ होने लगा था. और साथ साथ मैं अपनी वाली भाभी की गांड में उंगली डालकर अंदर बाहर कर रहा था, उनकी गांड चुदाई कर रहा था. 3 सेक्सी गानाफिर उसने बोला कि मैं नीचे चादर बिछा कर सो जाता हूँ, आप आराम से ऊपर अपनी सीट पर लेट जाओ.

जब वो स्कूल नहीं आती थी तो मेरा मन नहीं लगता था। ऐसा लगता था कि स्कूल की छुट्टी ही न हो। उसकी वजह से उसका साथ पाने के लिए मेने अपना सब्जेक्ट बदल दिया साइंस मैथ से साइंस बायो ले लिया।एक दिन मैंने उसे अपना दिल का हाल भी सुना दिया. वो भाभी मुझे ऊपर चढ़ते देख कर बोलीं- ये आपकी बर्थ है?मैंने हां में उत्तर दिया. उसने भी मस्ती के चक्कर में हां कर दी और बोला- तुम बाहर रूम में जाओ … मैं आती हूँ.

मैंने अपनी बहन से कहा- रिया इस बार मैं तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ. उसके मुंह से कामुक आवाजें निकलने लगी थी। जो मेरे को और ज्यादा उत्तेजित कर रही थी।लगभग दस मिनट की बहन की चुदाई के बाद मेरा माल निकालने वाला था तो मैंने उसको पूछा- कहाँ निकालूं बहना?तो उसने बोला- भाई साहब, अपनी बहन की चूत के अंदर ही निकाल दो।मैंने उफ़ आ उफ़ ऊ येस आह ओह करते हुए उसकी चूत में अपना पूरा माल छोड़ दिया।उस रात को मैंने दो बार अपनी बहन को चोदा.

दीदी मुझे बार-बार धीमे चुदाई करने को कह रही थीं क्योंकि उनको असहनीय दर्द हो रहा था.

अब मेरी बारी है इसलिए तुम ऊपर आ कर मेरा खड़ा लण्ड अपनी चूत में ले लो और अपनी दोनों चुटकियों में पकड़ कर मेरे निप्पलों को मसलो. दीदी मेरे लंड को जोर जोर से चूसने लगी और मजे में मेरी आंखें बंद होने लगीं. उसने देखा और बोला- हां भैया ये तो बहुत अच्छी दिखने लगी … सुन्दर भी दिखने लगी है.

अनिता सेक्सी व्हिडिओ जब नंगे चूतड़ों पर लण्ड रगड़ने लगा तो मन में आया कि मम्मी तो सो ही रही है, अगर लण्ड और चूत की एक बार चुम्मी हो जाये तो मजा आ जाये. तब मुझे सच्चाई का पता चला, वो पिछले तीन महीने से अपनी क्लास में पढ़ने वाले किसी और लड़के से प्यार कर रही थी।मैंने उसे मनाने की बहुत कोशिश की पर वो नहीं मानी, मैं बस अपनी किस्मत की बेबसी देखता रहा।आज उसके गए हुए तीन साल हो गए हैं पर आज भी मुझे उससे ही प्यार है.

मैं बोला- ऐसा करो, तुम लोवर निकाल कर स्कर्ट पहन लो … तब तक मैं पानी गर्म कर लेता हूं. जब नंगे चूतड़ों पर लण्ड रगड़ने लगा तो मन में आया कि मम्मी तो सो ही रही है, अगर लण्ड और चूत की एक बार चुम्मी हो जाये तो मजा आ जाये. आंटी ने मेरा लण्ड मुंह में ले लिया और मेरे लंड को मुंह में लेकर लॉलीपोप के जैसे चूसने लगी.

हिंदी सेक्सी जबरदस्ती बीएफ

इस बार मैंने बहुत जोर से धक्का लगाया और मेरा लंड सीधा उसकी चूत को चीरते हुए उसकी बच्चेदानी को जा लगा. मैंने इस बार उसे अपने लंड पर बिठाया और उसकी उछलती चूचियों को अपने हथेलियों में भर कर खूब मींजा. सुहागरात की बात सुनकर मेरे अंदर भी शादी की पहली रात जैसा जोश भर गया जैसे.

मेरे कुछ पूछने से पहले वे खुद बोले- कपड़े इस्तरी को गये हैं, आ जाएँगे. और हम लोग 4 साल बाद मिल रहे हैं बदलाव तो होगा ही!मैंने हाँ में जबाब दिया.

उसके बाद भी वह इस तरह की अजीबोगरीब हरकतें मेरे जिस्म के साथ करते रहते हैं.

मैंने पूछा- कैसा लगा?वो बोली- भैया बहुत मजा आया … अब तो मैं रोज करूंगी. मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि मेरी दीदी इस समय मेरे लंड को चूस रही हैं. ऐसे ही करते करते पूरे 8 लोग उस दिन मेरे ऊपर एक एक करके चढ़ते रहे और मेरी चुत का भोसड़ा बनाते रहे.

मैंने देखा सिम्मी के स्तन के ऊपर एक छोटा प्यारा तिल है जो काफी मनमोहक था।मैं एक हाथ से जैसे ही सिम्मी के बायां स्तन दबाने लगा. मैंने फिर लंड सेट किया और हल्का धक्का दिया इस बार भी लंड फिसल गया क्योंकि अभी तक वह चुदी नहीं थी. मैंने उससे अपनी मम्मी पापा को लाने का कहा, तो वो अगले दिन से देर से नहीं आया.

आकांक्षा इस समय पूरी तरह से मदहोश हो चुकी थी और धीरे धीरे मादक सिसकारियां ले रही थी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी एचडी: मैंने कहा- कौन आ गया, कबाब में हड्डी?नीलम एक झटके में उठी और बोली- ये हनी है, घंटी बजाने की यह स्टाइल उसी की है. चेकअप के दूसरे दिन जब सब लोग खाना खा रहे थे, तब मम्मी ने कहा कि जोधपुर में उनकी एक सहेली है, जिसके लड़के की शादी है, उसमें उन्हें जाना है तो वो आज ही निकल रही हैं.

तुम ऐसा करो, बैड पर आ जाओ और मेरे ऊपर ऐसे बैठ जाओ जैसे घोड़े पर बैठते हैं. गदराया हुआ शरीर 34″ के उभार और मटका सी गांड! कुल मिलाकर ऐसी लगी कि मैं उसे देखता ही रह गया!मैं थोड़ी देर बाद अपने काम में लग गया, सारे काम चलते रहे. जल्दी से चोद डालो मुझे … बुझा दो आज मेरी चूत की आग … आह साली बहुत तड़पाती है … निगोड़ी कहीं की.

मैं भी उसे कपड़े बदलते देखना चाहता था तो मैंने अपनी आँख कीहोल पर लगा दी.

मैं उसके पास गया और उसे अपनी बांहों मे पकड़ कर उसके होंठों पर होंठों को रखकर उसे चूमने लगा. पापा तो जैसे तैयार बैठे थे, मेरे ये कहते ही पापा ने हां कर दी और बोल पड़े- ठीक है बहू, मैं अभी तुम्हारी झांटें साफ कर देता हूं. लड़की के दूध, प्रकृति की एक ऐसी देन हैं, जिससे मर्द के लंड में कड़ापन आ जाता है.