बांग्लादेश वर बीएफ

छवि स्रोत,भाभी के देहाती सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स बीएफ पिक्चर: बांग्लादेश वर बीएफ, मैं किसी अंग्रेज का नहीं लेती और न ही वहां मेरे पास इतना वक्त रहता है कि मैं कुछ कर सकूँ.

लड़की की कुत्ते की सेक्सी फिल्म

प्रियंका धीरे धीरे करके अपनी तीनों उंगलियों को अन्दर तक घुसेड़ने लगी … अन्दर बाहर … अन्दर बाहर …फच्च फच्च की आवाजें बाथरूम से होते हुए कमरे में भी गूंज रही थीं. आदिवासी सेक्सी पिक्चर पाठवारश्मि एक खेली खाई लौंडिया थी, उसे अच्छी तरह से पता था कि मर्द को कैसे खुश करना होता है.

भाभी- साफ़ नहीं किया तुमने?मैं- अरे, मुझे उम्मीद थोड़ी ही थी कि आज ही मेरी किस्मत खुल जाएगी. सेक्सी लड़की को चोदनामैंने अपने लौड़े को स्पीड में कर दिया और फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च की आवाज तेज हो गई।मैंने कंडोम नहीं लगाया था.

उनकी दूध सी गोरी टांगें, मोटी मोटी जांघें और उभरी हुए आधी गांड को खुली देख कर मेरी हालत खराब हो रही थी.बांग्लादेश वर बीएफ: नहीं तो मुझे कल फिर से आना पड़ेगा।डाक्टर गर्दन हिलाते हुए मना करने लगा.

अगर उसका चेहरा थोड़ा खूबसूरत होता, तो भगवान कसम उसे किसी हाल में नहीं छोड़ता.फिर हमने आधे घंटे के अंदर खाना खत्म किया और वो मुझे अपने बेडरूम में ले गयी.

देसी सेक्सी खेत वाला - बांग्लादेश वर बीएफ

मुझे एहसास हुआ कि ये तो बहुत प्यासी हैं, भाभी को लंड की बहुत ज़रूरत है.मेरा कुकोल्ड पति रोहन थॉमस से बोले- सर, मैं अपनी गलती के लिए शर्मिंदा हूँ … आप मुझे माफ़ कर दीजिए.

तब तक आंटी ने बोला कि मेरी तो सिर्फ़ पैंटी बची है … तुम भी तो अपने कपड़े उतारो. बांग्लादेश वर बीएफ कुछ देर बाद तीव्रता कम करते हुए मैंने धीरे धीरे झटके लगाते हुए मंदगति से रंजू की चुत चुदाई चालू कर दी थी.

सच में मुझे अब अहसास हुआ था कि बूढ़ा कोई अनाड़ी नहीं बल्कि मंझा हुआ खिलाड़ी था.

बांग्लादेश वर बीएफ?

सभी ने जल्दी जल्दी कपड़े पहने और अनु ने दरवाजा खोल कर बच्चों को अन्दर ले लिया. दोस्तो, उसके बाद अभी हाल ही में मैंने अन्जना के साथ एक और लाइव सेक्स चैट सेशन किया था. कविता भाभी बोलीं कि अकेले क्यों रहते हो … अब तक शादी क्यों नहीं की?मैंने भी बोल दिया- तुम्हारे जैसी कोई मिली ही नहीं.

गीतिका मुझे बिल्कुल भी नहीं रोक रही थी, मैंने गीतिका को घोड़ी बनने के लिए कहा, गीतिका झट से बेड के ऊपर घोड़ी बन गई. उसने लंड को थूक से गीला किया और बैठ गई लंड सट्ट से अंदर चला गया। अब वो उछल उछल कर अपनी चूत से मेरे लौड़े को चोदने लगी।अब हम दोनों ही सिसकारियां निकलने लगी. मैंने रोहन के हाथ से फ़ोन लिया और फ़ोन के स्पीकर पर खुद ही थॉमस से बात करने लगी.

चाचा जी की फरमाइश के अनुसार ही मैंने उनके द्वारा दी हुई वही सेक्सी ड्रेस पहन ली और बाल खोल कर कर्ल कर लिए और स्टाइल से बांध लिए. जैक ने मुझे लंड चूसने का इशारा किया, तो मैंने जैक का लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी. संजय लेट गया और संजय के लेटते ही गीत संजय की तरफ मुंह करके उसके लंड पर अपनी चूत रख कर बैठ गयी.

फिर हम दोनों ने मिलकर चाय पी और अपनी कार में बैठकर माउंट आबू के लिए रवाना हुए. अब कपिल परेशान था कि उसे उसको देखने भी जाना था जो कि गुड़गांव से 200 किलोमीटर से ज्यादा दूर था.

मुझे पता था कि अभी एक दो बार नर्स सासू माँ का ड्रिप बदलने और दवाई देने के लिए आएगी.

वो भी बिन बताए, कभी बता कर आते … तो हम भी बताते कि मेहमाननवाजी क्या होती है.

आनन्द के वशीभूत शायरा के मुँह से अब जोरों से सिसकारीयां फूटना शुरू हो गयी थीं, इसलिए उसका‌ मजा और अधिक बढ़ाने के लिए मैं अपने एक हाथ से उसकी दूसरी चूची को दबाने भी लगा. मैंने फिर से भाईजान के लिप्स को चूसना शुरू कर दिया और उनके हाथ अपने बूब्स पर रखवा लिये. इसी से संबंधित एक घटना मैं आपको आज बता रहा हूं जो कुछ महीने पहले की ही है.

इतना बोल कर जिया चुप हुई, तो मैंने उसे चूमा और उसे भरोसा दिलाया कि मैं तुम्हारा हमेशा साथ दूंगा. उसकी सहेली मेरठ की थी तो घर चली गई।अब मैं जोर जोर से झटके मार रहा था. मैं- अच्छा चूचियों को चूचियां और बुर को बुर नहीं तो क्या बोलना है!वो- तुम तो वाकयी आगे ही बढ़ते जा रहे हो.

दर्द हो रहा था मुझे चूत में और मेरे मुंह से निकल रहा था- छोड़ दो … अब बस … ओह्ह … प्लीज रुका जाओ.

दादी ने मुझे जकड़ लिया और बेतहाशा चूमते हुए अपने चूतड़ उचकाते हुए बोलीं- ऐसा कैसे चलेगा, विजय? मुझे तो तुम्हारे लण्ड की आदत हो गई है, मल्लिका के घर रहते तो मेरी चूत तड़पती रहेगी. मैंने धीरे से भाभी के चूतड़ों को फैलाया और अपनी नाक उनकी चुत तक पहुंचा दी. उन्होंने साड़ी के नीचे पैरों में बहुत सुन्दर काले सैंडल पहन रखे थे, जो साड़ी पलटने से उनकी गोरी और गुदाज़ टांगों में बहुत ही सुंदर और सेक्सी लग रहे थे.

कुछ दूर जाकर मैंने गाड़ी रोकी और अपना मोबाइल निकाल कर ओयो ऐप से हम दोनों के लिए एक अच्छा सा होटल बुक कर लिया और उसी होटल की तरफ गाड़ी मोड़ दी. जैसे ही मैंने गीतिका को नीचे उतारा उसने अपना हाथ मेरे लोअर में डाल दिया और मेरे तने हुए लंड को अपनी मुट्ठी में पकड़ते ही एकदम से चीखी- उई मां. अपनी उंगलियों पर लगे शायरा के चुतरस को चाटने के बाद मैंने दोनों हाथों से उसकी पैंटी को पकड़ लिया और धीरे धीरे उसे नीचे खींचने लगा.

ये मौका देख कर कविता ने जबरदस्ती मेरी नाइटी खींच कर मेरी टांगों से निकाल मुझे पूरी तरह से निर्वस्त्र कर दिया.

भाभी मेरी तरफ झुक गई और मैंने थोड़ा टेढ़ा होकर उनका एक मम्मा मुंह में भर लिया और दूसरे को हाथ से मसलने लगा. मैं पहली बार लंड से झांटें साफ कर रही थी तो क्रीम यहां वहां सारे में फ़ैल गयी थी.

बांग्लादेश वर बीएफ फिर उसे चूमते चूसते हुए उसकी सलवार पैंटी उतार कर …अब आगे की साली की चुत की कहानी:अब आगे की साली की चुत की कहानी:वो लगातार मेरा विरोध किये जा रही थी और मुझसे दूर हटने की पूरी पूरी कोशिश कर रही थी पर मैंने उसकी दोनों हथेलियां अपनी हथेलियों में फंसा लीं और उसे अच्छे से चूमते हुए किस करता रहा. उसके कहे अनुसार फिर मैंने अपनी आंटी की एक पैंटी उठा ली और उसको अपने अंडरवियर के ऊपर से ही पहन कर आंटी के पास गया.

बांग्लादेश वर बीएफ मैं उसके जिस्म की तपन को … और मेरा लौड़ा उसकी चूत से निकलती हुयी गर्मी को महसूस कर रहा था. उसकी लम्बी सुराहीदार सेक्सी गर्दन, बहुत ही सुन्दर नयन नक्श, बड़े बड़े मम्मे, गदराया शरीर, नशीली आंखें यानि कि हर लिहाज से सुंदरता में लाजवाब थी.

जिससे हम दोनों … हम दोनों ही क्या, उस पेड़ के नीचे खड़े सभी लोग ही भीगने लगे.

xxx bf वीडियो

साथ साथ में बोले जा रही थी- साले … राजे मेरे मुफ्त में खरीदे हुए दास … ले अपनी मालकिन के पांवों का स्वाद चख … सूंघ और चाट … सूंघ और चाट कमीने … तेरी माँ की चूत हरामी … मुंह खोल भोसड़ी वाले … खोल मुंह. फिर बताओ और क्या करोगे?अब मैंने अनजान बनते हुए पूछा- हां तो मैं कहां पहुंचा था?वो- तुम मेरी दोनों बांहों को चूस रहे थे. उसके बाद मैंने अपने हाथों से अपनी एक चुची को पकड़ के उसके मुँह में डाल दी.

बोलो तो मम्मी के कमरे से चाभी चुरा कर आ जाऊं … जल्दी से चोद कर चला जाऊंगा. मैंने अपने लंड को चुत की फांकों में ऊपर की तरफ दबाते हुए घिसा और बाहर निकाल लिया. दीपिका ने बहुत सुन्दर स्लीवलेस टॉप पहना था जिसमें से उसकी आधी सुडौल चूचियाँ बाहर निकल रही थीं और चूचियों ने टॉप को छतरी की तरह से उठा रखा था.

बहुत ज़्यादा खुशी के साथ उसने ‘थैंक्यू जान …’ बोला और मैंने केक की तरफ इशारा किया.

तूने ही किया है ये सब … इसलिए तेरे ही कपड़े खराब होंगे … मेरा तो महीना आने में अभी टाईम था, पर तेरी वजह से तीन चार दिन पहले ही आ गया. फिर जैसे ही मैंने वापस उंगली करना चाही, तो मैंने देखा कि उसकी जांघों के आसपास कुछ चिपचिपा सा हो गया है. मैंने पुलिस से पूछा- इनका अपराध क्या है?पुलिस- ये सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरक़तें कर रहे थे.

अनीता बोली- फूफाजी के घर में उनके बार में कितनी तरह की बोतलें मैंने देखी हैं. मैंने उसे कुछ देर बेड के नीचे सोने को कहते हुए कहा कि वार्ड में एक बार शान्ति हो जाएगी तो मैं तुम्हें उठा कर बाथरूम ले जाऊंगा. इसके बाद मैंने अपनी जांघों पर ब्लैक रंग की स्किन पहनी और उसके ऊपर से मैंने एक रेड कलर की नाइट गाउन डाल लिया, जो सिर्फ मेरी चुत तक ही आ रहा था.

मैंने मेरे लण्ड के ऊपर अपना हैंकी डाल लिया जिसे दीपिका और संजना ने देख लिया. भावना ने मजे से आंखें बंद कर लीं और कुछ देर वैसे ही बैठे रह कर उसने खुद को ब्रा के बंधन से आजाद करा लिया.

लम्बे अरसे से शायद लौड़ा नसीब नहीं हुआ थामेमरानी ने अब तीव्र चुदास से भरकर हौले हौले धक्के देने शुरू किये. आगे की नॉन वेज कहानी सेक्स की में मैं दूसरे भाग में बताऊंगी कि जीजू ने मेरी किस तरह चुदाई की और मेरे साथ क्या क्या हुआ. लेकिन ये मज़ा कुछ ही दिनों में सज़ा में बदल गयी।ऐसा मैं रोज नहा कर करती थी.

लेकिन मुझे नहीं मालूम था कि अब तो वो मेरा कुत्ता नौकर मेरी और जान ले लेगा.

दीपिका की इतनी सी बात ने मुझे अन्दर तक रोमांचित कर दिया क्योंकि इसी इशारे से हमारे आगे के संबंधों की नींव रखी जा चुकी थी. कुछ ही देर में लंड ने चुत में जगह बना ली और मैं उन्हें पूरी रफ्तार से चोदे जा रहा था. उसको अपने लैपटॉप में कुछ काम था, जिसके लिए उसने सेल्स ऑफिसर का नम्बर उस दुकानदार से लिया.

मैंने हाय कहा, तो उसने हाथ बढ़ा दिया और उसके नाजुक हाथों के स्पर्श ने मेरे हृदय के तारों को झंकृत कर दिया. थोड़ी दूर चलने पर विजय ने कार का एक्सीलेटर कम ज्यादा करना शुरू कर दिया और कार को झटके खिलाने लग गया जानबूझकर!झटके खाती कार को देखकर मैं विजय से बोली- क्या हो रहा है?तो विजय ने बोला- कार में कुछ दिक्कत आ गई है देखना पड़ेगा!विजय ने कार हाइवे पर एक बहुत बड़ी होटल के सामने रोक दी.

उधर दूल्हा वैभव अपनी शेरवानी ठीक करते हुए खुद की किस्मत पर इतरा रहा था. इसी बीच उसकी ब्रा जमीन पर गिरी, मैंने झट से उसको भी उठाया और सूंघने लगा. दीपिका ने उस समय घुटनों तक की स्कर्ट और ऊपर बिना ब्रा के स्लीवलेस टॉप पहन रखा था.

नंगी बताइए

इसलिए लॉकडाउन में छूट मिलते ही मैंने अपने पति के सामने ही अपने बॉयफ्रेंड थॉमस के मोटे लंड से चुदने की एक प्लानिंग की.

नेहा गीत को मेरी तरफ इशारा करके बोली- इधर को मुंह करके अपनी गांड मरवा इनसे. प्रियंका- अच्छा वो सब छोड़ … ये बता हुआ क्या था?अनामिका ने प्रियंका को सब बताया कि मेरा ब्वॉयफ्रेंड गांडू है, साला जरूरत के समय साथ नहीं देता. दोस्तो, मुझे मालूम था कि किसी लड़की को गर्म कर दो, तो वो बिना चुदे नहीं रह सकती.

उसने फिर कहा कि कल आओगे क्या?मैंने कहा- हां … जरूर कल फिर से मिलेंगे. मुझे लंड पेलते ही समझ आ गया था कि सच में उनकी चूत बहुत ज्यादा टाइट थी. सेक्सी इंग्लिश पिक्चर सेक्सी वीडियोमैंने उनके ऊपर झुककर उनके होंठों को किस किया और धीरे से अपना हथियार बाहर निकाला.

उसकी बड़ी बड़ी चूचियां मेरे मुंह में नहीं आ रही थी।हम 69 अवस्था में आ गए. लेकिन मैं भी एक खेली खाई हुई औरत थी … इस तरह हार नहीं मान सकती थी उसके लौड़े के आगे!इसलिए मैंने भी पूरा मन बना लिया था उसके लौड़े को अपनी गांड में लेने के लिए और सोचा ‘जो होगा देखा जाएगा!’विजय उठकर खड़ा हो गया और अलमारी में से जाकर नीविया क्रीम की डब्बी लेकर आ गया और मुझे घोड़ी बनने के लिए बोला.

मैंने उसका लंड अपने हाथों में लिया और फिर अपने मुँह में लेकर उसका लंड चूसने लगी. मैं बस ‘आह्ह आअह … और जोर से चोदो … मादरचोदो लंड में जान नहीं है क्या चूतियो’ ही कर रही थी. प्रिया भाभी का फोन आया- बस कुछ ही मिनट पहले तुम्हारे भैया घर से निकले हैं.

शायरा की आंखें, जो प्यार की गर्मी से जल रही थीं, उसे अपने होंठों से ठंडा करने के लिए मैं अब उसकी आंखों पर किस करने लगा. मैंने खुद की आंखों से देखा था कि उसने अपने ब्वॉयफ्रेंड के कहने भर से ही अपना मूत खुद ही पी लिया था. एक बात और … सनी से आप लोगों से जब भी बात हो, आप उसे अपना साला ही मानना और मन करे तो बोल भी देना क्योंकि मैं तो आप लोगों की मुँह बोली बीवी हूँ ना!अब आगे की देसी गर्ल की चुत कहानी:सुबह जब मेरी नींद खुली तो 8 बज रहे थे.

मैं जानता था कि भैया मार्किट गए हैं, फिर भी मैं भाभी से बोला- भाभी, भैया कहां गए हैं?उन्होंने हंस कर कहा- आपके भैया कुछ लेने मार्केट गए हैं.

अब मैंने गीत की चूत में झटका लगा कर और उसकी आँखों में आँखें डाल कर उसे कहा- आह्ह. वो बोली- फोटो नहीं दूंगी मैं!मैंने कहा- एक बार दे दो प्लीज।वो बोली- नहीं, मैं नहीं दूंगी.

पर उसके बाद ये अंतर बढ़ जाता है … और बच्चे पैदा होने के 1-2 साल बाद तो पति-पत्नी में सेक्स की चाह घटती चली जाती है. एक बार जब मैं उस दोस्त के घर गया तो …हाय फ्रेंड्स, अन्तर्वासना पर मैंने बहुत सी कहानियां पढ़ी हैं. लेकिन जीजू ने मेरेदोनों पैरों को खोलकर फैला दिया और मेरी चूत को करीब से देखने लगे।फिर जीजू मेरी भगनासा को छूने सहलाने लगे।मैंने कहा- जीजू मत करो.

तो जीजू बोले कि अरे अभी तो मैंने कुछ किया ही नहीं है।फिर जीजू ने मुझे लिटा दिया और लंड का सुपारा मेरी चूत की दरार में फंसा दिया. वह कहने लगा- आप ऐसा करें, आप इन लड़का लड़की के साथ पार्क के बाहर तक आ जाओ, इन्हें इनके घर भेज देंगे और हम अपनी ड्यूटी पर चले जायेंगे. मैं हड़बड़ी में उठा और अंदर से आवाज देकर पूछा- कौन?बाहर से आवाज आई- अबे खोल भोसड़ी के, मैं हूं शिवम!मेरा दोस्त आ गया था और मैं रूबीना के साथ नंगा पड़ा था.

बांग्लादेश वर बीएफ इस डिल्डो में डबल साइड लंड था जिसे लेस्बियन सेक्स के टाइम पर लड़कियां इस्तेमाल किया करती हैं. मैं रोज मोबाइल पर गंदी फ़िल्म देखता और मुठ मार कर खुद को शांत करने लगा था.

सेक्सी आदिवासी चुदाई

अमीश के जाने के बाद मेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ गई थी और अपना रास्ता बनाने के लिए मैं अक्सर दादी के पास चला जाता था ताकि मल्लिका के करीब जाने का मौका मिल सके. मैं अब उसके होंठों को चूमना छोड़ कर उसके गालों, गले और सीने को चूमती हुई उसके स्तनों की ओर बढ़ने लगी. पाठिकाओं से मेरा लंड तुनकाकर निवेदन है कि अपनी इस मधुर, मादक, अति कामोत्तेजक सुगंध वाली ताक़त को पहचानें और इसका प्रयोग अपने पार्टनर्स को कठपुतली की तरह उंगलियों पर नचाने के लिए करें.

साली जी प्लीज, अब देखने का सुख मत छीनो मुझसे, जब इतना कुछ दे रही हो तो फिर आधा अधूरा सा क्यों देना, मान जा न!” मैंने उसका गाल चूमते हुए कहा. इस भाभी बूब्स सकिंग स्टोरी के अगले भाग में भाभी ने मुझे कैसे अपनी चुत चोदने दी. 3's सेक्सीयह मेरे पहले अनुभव पर आधारित एक सेक्स कहानी है और ये आज से एक साल पहले की हॉट सेक्सी भाबी की चुदाई कहानी है.

नंगी आंटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे भाभी की मम्मी ने मुझे अपनी सेक्स कहानी सुनाने के बाद मेरा लंड पकड़ लिया.

मेरा मन कर रहा है कि बस उसकी गांड को चोद दूं मैं! तुम ही बताओ, मैं क्या करूं … अपने लौड़े को कैसे शांत करूं?”दोस्तो, मैं अन्जना से खुलकर बात कर रहा था. अगर कहीं दीदी देख लेती तो पता नहीं क्या होता!और उनका लिंग तनाव में उठा हुआ था वे तो रात को अंडरवियर बनियान में ही सोते हैं।दोस्तो, एक बार पता नहीं कैसे मेरे पूरे शरीर में खुजली की बीमारी हो गयी.

मैंने अरुण को आज बड़ी मुश्किल से पढ़ाया क्योंकि आज मैं बहुत डरा हुआ था. एक बार मल्लिका की ननिहाल में कोई शादी थी जिसमें मल्लिका व उसके मम्मी पापा एक हफ्ते के लिए जयपुर गये. ’ करके बोलीं- आह धीरे चोद मां के लौड़े … फ्री की चुत मिली तो रंडी की चुत समझ कर न चोद.

कविता की योनि अत्यधिक गीली थी और चिपचिपाहट से ऐसी भरी हुई थी मानो झाग बन गया हो.

धीरे धीरे जब उसका काला नाग मेरी ज्वालामुखी के सुरंग में पूरा घुस गया, तो वो रुक गया और मेरी तरफ देखने लगा. अन्दर बाहर दोनों तरफ से मैं उसकी मलाई सी जांघों को लगभग खाने लगा था. पर आधे घंटे बाद भी सूरज का लंड खड़ा नहीं हुआ और मेरी बेचैनी बढ़ती चली गयी.

मेरी भाभी की सेक्सी वीडियोगीत की चूत के अंदर संजय का लौड़ा पूरी तरह घुसा हुआ था और पीछे से मैं भी अपने लंड से गीत की गांड को अंदर तक छेद रहा था. मैं कामुक सिसकारियां लेने लगी- आआअहह अहह अहहह आह उफ्फ़ सोनम ये क्या कर दिया तूने!सोनम ने मेरी एक न सुनी.

देशी सेक्स विडियो

मैंने सारा ध्यान चुदाई पर लगा कर ताबड़ तोड़ 15- 20 शॉट लगाए और भाभी की चूत को अपने वीर्य की गर्म पिचकारियों से भरने लगा. कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि मैं नयी नयी जवान हुई थी और जवानी के असर से खिलती ही जा रही थी. मैं थोड़ा सो गया क्योंकि मैं पहली रात को भी कम सोया था और मुझे पता था आने वाली रात को सरोज के साथ जागना था और उसको चोदना था.

पर इस बीच कविता ने अपनी हाथों की रफ़्तार उस वक्त तक एक पल के लिए कम नहीं की, जब तक मैं शांत नहीं पड़ गयी. आदमी- क्या मतलब जंचे नहीं? हमने क्या किया है?मैंने कहा- भाई साहब, जब आप अपनी बीवी से इतनी बुरी तरह से पेश आ रहे हैं तो आप मेरे साथ भी ऐसा ही बर्ताव करेंगे, इसलिए मेरी ओर से आपके पहले ही सॉरी. मैं आज रात अपने डार्लिंग हब्शी के मोटे लंड से चुदाई करवाने के लिए बहुत उत्सुक थी.

शायरा तो उसकी धक्का लगवाने की बात से शर्म पानी‌ पानी ही हो गयी थी … मगर इन सब बातों में मैं पक्का बेशर्म हूँ इसलिए मैं मजा लेता रहा. उन्होंने अपना मुंह और छाती तो मेरी छाती पर रखी थी और बाकी शरीर बेड पर था. ये सब दिमाग में आया, तो मैंने सोचा कि क्यों ना अभिषेक के साथ एक चांस मार कर देखा जाए.

इसलिए जब सरोज ने तुम्हारे बारे में मुझे बताया कि तुमने इनकी मदद की है तो मैंने उस दिन सरोज से तुम्हारे बारे में बात की थी और कहा था कि अगर तुम्हें राज ठीक लगता है तो इसे घर पर ही रख लो. मेरी भी हालत शायरा के जैसी ही थी … इसलिए मैं भी अब खुद को नॉर्मल करने लगा.

बूढ़े को पता नहीं कितना मज़ा आया होगा मेरे बूब्स के साथ अपनी कोहनी रगड़ कर!फिर मैंने बूढ़े को थोड़ा और मज़ा देने के बारे में सोचा.

वो अपने कान में आला लगाकर मेरे शर्ट के ऊपर से ही स्तन पर रखकर चैक करने लगा. सेक्सी वीडियो बड़े बूबेमैं बचपन से ही पढ़ाई में बहुत तेज़ थी और लड़कियों से ज़्यादातर दूर ही रहती थी. हॉलीवुड की हॉट सेक्सी मूवीहर 5-7 मिनट बाद जम्प करके चढ़ जाता था और झटके मार मार कर भैंस की बस कर देता था. वो थोड़ी देर बाद गर्म होने लगी और कहने लगी- ऐसे ही चूसते रहोगे या मुझे चोदोगे भी?विनीता की चूत लंड लेने को बेकाबू हो रही थी.

Bhai Bahan Xxx कहानी में पढ़ें कि अब्बू अम्मी के बाद मैं और भाईजान ही थे.

इधर तो मामला ही चुदाई का था, तो मैडम ने एकदम पतले कपड़े की स्किन कलर की कुर्ती पहनी हुई थी और उसी रंग की ब्रा पैंटी थी. साली जी प्लीज, अब देखने का सुख मत छीनो मुझसे, जब इतना कुछ दे रही हो तो फिर आधा अधूरा सा क्यों देना, मान जा न!” मैंने उसका गाल चूमते हुए कहा. उस नर्स ने फटाफट इधर उधर देखा और मेरे मोबाईल में नंबर टाइप कर दिया.

इस समय कविता ने अपने धक्के को और अधिक जोर से मारने लगी और उसे गालियां देने लगी. बड़ी चाची ने अपना अनुभव दिखाते हुए लंड को अपने गले से नीचे तक ले लिया और पूरा मुँह में ले लिया. मेरे बालों को सहलाते हुए दादी बोली- इतना अच्छा तो जवानी में भी नहीं लगता था, जितना अब लग रहा है.

गुजराती ओपन बीपी

इस बार उसके मुँह से चीख निकल गई- आआआह्हह … मर गयी … ओह्ह … आईईई मां। धीरे करो यार। फट रही है मेरी. मैं गीतिका की चूचियों के ऊपर दाएं बाएं घुटनों को मोड़कर चढ़ गया और अपना लौड़ा गीतिका के मुंह में डाल दिया. रोहित अभी वैसे ही खड़ा था जो झुक कर कहीं उसके होंठों को चूसता तो कहीं अपना लिंग उसके मुंह में दे कर उसका मुंह चोदने लगता।थोड़ी देर बाद हमने उसे गिरा लिया लेकिन जगह बदल बदल कर हरकतें वही होती रहीं। उसका मुंह भी चूमा-चूसा और चोदा जाता रहा, उसके दोनों दूध भी मसले और चुभलाये जाते रहे और उसके दोनों छेद भी चाटे, मसले और खोदे जाते रहे।अब घुसेड़ो.

10 मिनट की किस के बाद मैं अब पूरी तरह से गर्म हो चुका था और अब उसको नंगी करना चाह रहा था इसलिए पीछे हटने लगा.

मैं रोज मोबाइल पर गंदी फ़िल्म देखता और मुठ मार कर खुद को शांत करने लगा था.

मैंने सोचा था कि तुम शायद कभी नहीं मानोगी … लेकिन कोशिश करने में क्या हर्ज है, यही सोचकर मैंने तुमसे बात की थी. आंटी ने फिर कहा- तुम्हें इनमें से जो भी भैंस पसंद हो पहले उसकी गर्मी तुम निकाल देना. सेक्सी की सुहागरातवो अपनी बेचैनी के चलते चुदाई की गति और तेज करने लगी, बड़बड़ाने लगी, अकड़ने लगी … और कुछ तेज धक्कों के साथ मेरे लंड पर ही अपना रस अर्पण करके मेरे ऊपर पसर गई.

मैंने दीपिका से उसका कोल्डड्रिंक का गिलास लिया और उसमें आधा पेग 30 एम. मैंने रोहन के हाथ से फ़ोन लिया और फ़ोन के स्पीकर पर खुद ही थॉमस से बात करने लगी. इतने में जीजू ने कसकर दूसरा धक्का लगा दिया जिससे उनका पूरा लिंग अन्दर चला गया.

उसने धीरे से अपना लोअर नीचे किया और लण्ड को मेरे हाथ में दुबारा रख दिया. मैंने चूतड़ों में से लण्ड बाहर निकाला, लण्ड इतनी सख्ती से ऊपर की तरफ खड़ा था कि भाभी एकदम पलटी और लण्ड को अपने हाथ में ले कर अपनी चूत पर अड़ा लिया और बोली- लण्ड राजा, आग तो इस छेद में लगी है और भाभी जोर जोर से लण्ड को अपनी चूत के छेद पर रगड़ने लगी.

कभी वो मेरी जीभ अपने मुँह में लेकर चूसतीं और कभी अपनी जीभ को मेरे मुँह घुसा देतीं.

ये मेरी आदत भी है कि मैं इस तरह की किसी भी औरत से जब बात करता या मिलता हूं, तो पहले उनकी बातों को ध्यान से सुनता हूं. इस पर वो मादक आवाज में बोलीं- साले, मुझे आंटी मत बोल … मुझे अपनी सविता रखैल बोल … क्योंकि मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है तेरे लंड से चुदने में … आह मैं अब हमेशा ही तुम्ह़ारे लंड से चुदना चाहती हूँ. वो- वैसे तुम यहां पढ़ाई करने आए हो या दोस्ती करने?मैं- वैसे आया तो पढ़ाई करने ही हूँ … पर कोई नया दोस्त बन जाए तो इसमें गलत क्या है?वो- हाई, मेरा नाम शायरा है, मैं हाउसवाइफ हूँ.

अंग्रेजों की सेक्सी फिल्म मूवी फिर वो दोनों अपना पूरा टाइम बच्चे और परिवार की देख रेख में गुजार देते हैं. बारिश का मौसम तो पहले हो रखा था, अब जैसे ही हम वहां से निकले रास्ते में ही हल्की हल्की बारिश होना शुरू हो गयी.

गांड मराने के बाद जब मैं सो कर उठी, तो मैंने देखा कि मेरी प्यारी सी गांड फूल कर लाल हो गयी थी. मैंने उसकी हथेलियां छोड़ कर दोनों मम्में दबोच लिए और उन्हें कुर्ते के ऊपर से ही मसलने लगा और उसके दोनों गाल चाटने लगा. कविता ने एक तो मेरे दोनों हाथों को पकड़ रखा था, दूसरे वो अपनी टांगें मोड़ ऐसे मेरी टांगों के बीच बैठी थी कि मैं टांगों से भी उसे रोक नहीं पा रही थी.

क्सक्सक्स भाभी हिंदी

मैं मैडम को सुने जा रहा था और बीच-बीच में उन्हें किस किए जा रहा था. तुझे मेरी सारी गंदी गंदी फेंटेसी पूरी करनी पड़ेंगी। मैं फ्री में तुझे 10 लाख नहीं दे रहा. गीत को अपने ऊपर आने का इशारा किया तो गीत भी संजय के लंड से उठकर आ गयी.

मैं उनकी चूचियों के निप्पल बारी बारी से अपने मुँह में भर कर चूसने लगा. काव्या की गुलाबी चूत के ऊपर छोटा सा खूबसूरत दाना मुझे आमंत्रित कर रहा था.

मैंने उनके होंठ चूसना शुरू कर दिए तो उन्होंने भी अपने होंठ चुसवाने में मेरा पूरा साथ दिया.

फिर मुझे लगा कि पहले चैक कर लेता हूँ कि इसके साथ कोई और आदमी तो नहीं आया है. इतने में जीजू बेशर्मी से बोले- अरे मेरी रानी … अगर तू बोल तो तेरी दीदी के सामने तुझे पटक कर चोद दूं. ब्रा मुझे टाइट आ रही थी, उसमें सिर्फ मेरे आधे बूब्स ही आ रहे थे और मेरे मम्मों की दरार पूरी दिख रही थी.

मगर इतनी सुबह मेरी और उसकी चुदाई की कहानी सुनने के लिए फ़ोन किया है या फिर कुछ और बात है?रमेश- यार, अपने उस दल्ले रत्न लाल से बोल कर मेरे लिए आज रात के लिए कुछ नया इन्तज़ाम करवा।रवि- क्यों वह रिया नहीं चलेगी?रमेश- नहीं, कुछ अलग बोल उससे।रवि- ठीक है. जैसे ही मेरी योनि से मूत्र की धार छूटी तो उसकी आंखों में एक अलग तरह की ललक दिखी. दोस्तो, मैं आपको बताना भूल गया था कि भाभी के एक लड़का भी है, जो अभी अपने नाना के घर गया हुआ था.

गीतिका की चूत लाजवाब थी, एकदम गोरी चिकनी चूत के दोनों उभार बहुत ही सुंदर शेप के थे.

बांग्लादेश वर बीएफ: मैं किसी ना किसी बहाने से उससे रोज़ मिलने लगी और हमारी दोस्ती गहरी होती चली गयी. उसकी जवानी अभी-अभी खिली थी, चिकनी चूत भी ऐसे लग रही थी मानो कली का फूल बनना बाकी हो.

दरवाजा खुला तो सामने रमेश खड़ा हुआ था और रिया को देख कर बोला- आ गयी रंडी, अपनी गांड चुदवा कर!रिया मचलते हुए बोली- डैड, बड़ा ही ज़ालिम दोस्त है आपका. ”अब?”तुम अभी तो घर जाओ और … हाँ … वो बाइक सिखाने वाला काम आज नहीं हो पायेगा।”ओह …” सानिया ने बुझे मन से कहा।अरे मेरी जान, तुम उदास मत होओ 2-3 दिन बाद दशहरा वाले दिन छुट्टी है. इस हिंदी सेक्ससी कहानी में पढ़ें कि कैसे एक मैडम ने मुझे उनकी वासना को ठंडी करने के लिए बुलाया था.

मुझे समझ आ गया था कि यदि मौका मिला तो इसको अपने लौड़े के नीचे ले ही लूंगा.

मैंने पीछे से लण्ड ठोके ठोके आँटी के हाथों के नीचे से उनके दोनों चूचों को पकड़ लिया और उनका मर्दन करते हुए चोदने लगा. मेरे तो जैसे मन की मुराद पूरी हो गयी उसके जाने से!उसके जाने के बाद रॉनी मेरे पास आया और बोला- चलो यह गया तो सही. हो सकता है ये हॉट साली की चूत कहानी कुछ पाठकों को पसन्द आए और कुछ मुझे गाली भी दें … जो भी हो, पर एक प्रार्थना है कि ये सेक्स कहानी केवल और केवल काल्पनिक है, इससे ज्यादा कुछ नहीं है.