हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की

छवि स्रोत,सेक्सी ओपन सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी की बीएफ फिल्में: हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की, औरतें काउबॉय पोजीशन में खुद को काबू में नहीं रख पाती हैं और लौड़े का पूरा मज़ा लेती हैं.

सत्ता मटका कुर्ला दे

अब आप मुझे बताइये कि आप उसको कैसे जानते हैं?मैंने सोचा कि जब इसको पता ही चल गया है और इसने सारी बात सुन ही ली है तो फिर अब छुपाने का क्या फायदा?फिर मैंने कहा- अच्छा, तो आपने क्या सुना था कॉल पर? मैंने तो किसी को कॉल नहीं किया था. सेक्सी फिल्म अंग्रेजी वालीमैं छत पर जाता, तो वो मुझे देखने के लिए छत पर आ जातीं और स्माइल करके अपने रूम में चली जातीं.

मगर मैंने कई बार ऐसा किया, तब जाकर उसने मेरे लंड को हाथों में पकड़ लिया. सेक्सी मूवी इंडियनउसकी चूत से साबुन के झागों के साथ ही उसकी चूत का पानी मिलकर बाहर आने लगा.

उन्होंने जाकर दरवाजा खोला तो उनके बहुत सारे दोस्त आए थे और वे उनके साथ होली खेलने के लिए बाहर चले गए।अब मैं घर पर अकेली थी।उनके जाने के करीब 10 मिनट बाद वह लड़का घर पर आया जिसका मैंने कहानी के शुरू में जिक्र किया था.हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की: हंसी मजाक करते हुए दोनों बहनें नीचे आ गईं, जिसे देख कर मनीष बोला- कौन ज्यादा ब्यूटीफुल लग रही है, कह नहीं सकता.

हम दोनों को मजा करते देख कर उसका शौहर शाईस्ता भी गर्म हो गया और अपने लोअर को हटा कर लंड निकाल कर हिलाने लगा.ऊपर तीन बेडरूम और एक स्टोर रूम है, जिसमें घर का पुराना टूटा फूटा फर्नीचर और भी अटाला भरा पड़ा है.

सेकसी विडियो हिदी - हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की

मैं अब सोचने लगा कि ये कौन है जो केवल हैलो-हैलो के ही मैसेज किये जा रहा है?मैंने उसको कॉल किया और पूछा- आप कौन हैं? आप केवल हैलो किये जा रहे हैं.अब आगे बाप बेटी सेक्स कहानी:उस दिन शिवम ने मां को चोदा तो मां बोली- ये तुम दोनों ने क्या कर दिया है.

अगर कमी मेरे भैया में थी, तब भी आपने परिवार की इज्जत की खातिर किसी से कुछ नहीं कहा. हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की मेरी चुदास देख कर अब सब मुझ पर एक साथ टूट पड़े और अगले ही कुछ सेकंड में उन लोगों में से एक ने एक झटके में मुझे नंगी कर दिया और सोफे पर बिठा दिया.

लौड़ा मुँह में लेने में या गांड में लेने के मज़े से वह अब तक अनजान थी.

हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की?

अगर आप इसे अपनी जीवन साथी बनाना चाहें, तो मैं इसके भाई से बात करती हूँ. आह्ह … दोस्तो … भाभी की चूत एकदम से फूल गयी थी और बहुत रसीली हो गयी थी. चूंकि मैं लड़कियों से जब तक मिला नहीं होता हूँ तब तक थोड़ा रिजर्व रहता हूँ.

मेरे लौड़े के दबाव से आँटी की स्कर्ट उनके चूतड़ों में अन्दर चली गई थी. फिर आंख मारती हुई बोली- आ जाओ राजा अन्दर … बस जरा धीरे से करना मेरी जान. पहले तो मैंने इग्नोर करने की कोशिश की लेकिन फिर मेरी भी नज़र उन पर जाने लगी.

मैंने उससे मिलने के लिए चेन्नई से बैंगलोर जाने के लिए बस की टिकट करवाई और मैं पूनामल्ली नाम की जगह पर बस का इंतजार करने लगा. रुखसार- थोड़ा तो रहम कर कशिश … आज ही तो तू अपने पति से चुद कर आई है. मुझे हल्का सा दर्द भी हुआ इसलिए मैं उसकी आंखों में देखती हुई अपने होंठ खोल कर हल्के हल्के से ‘आहह … आहह … स्सी … स्सी …’ करने लगी.

सुरेश अब हिल नहीं रहा था उसने सोनी के होंठ प्यार से तीन चार बार चूमे और उसके गाल थपथपाये. कुछ ही पलों में वो मस्ती में आ गया और उसने अपने लंड को एकदम से रेल के इंजन की रफ्तार से दौड़ा दिया.

मैंने अपना लंड उसके मुँह में डाल कर गीला करवाया और रचना की नर्म गांड के छेद पर सैट कर दिया.

उन्होंने मुझे विश किया, मुझे गले से लगाया और गणेशजी की मूर्ति का उपहार भी दिया.

ये सब देख कर मैं समझ गया कि नमन ने मेरी मॉम को सैट कर लिया है और वो शायद मेरी मॉम को चोद भी चुका है. वो मेरी बात को समझ नहीं पाई और पूछने लगी- हां तो बताओ कि कल सुबह कितने बजे आओगे?मैंने बोल दिया- एक दिन के लिए जरूरी काम से बाहर जा रहा हूँ. अब वो मेरे सीने पर हाथ घुमाने लगी और मेरे एक निप्पल को जीभ से कुरेदती हुई चूसने लगी.

लगता है तू आज वापस घर नहीं जाने देगा? मेरी जान‌ यहीं निकालेगा … आह. इस बात का मतलब ये था कि उस दिन रीता ने मुझे देख कर मुझसे चुदने का फैसला कर लिया था. फिर मैंने हेलीमा को घोड़ी बना दिया और गुलजान को कोल्ड क्रीम लाने को बोला.

मैंने विजय को बोला- जान अब बर्दाश्त नहीं हो रहा, प्लीज मेरी चूत को अपने लंड से धन्य कर दो और मुझे हमेशा के लिए अपनी बना लो!दोनों के लिए अब और इंतज़ार करना मुश्किल था।विजय ने पलंग पर मेरे कूल्हों के नीचे एक तकिया लगाया जिससे मेरी चूत उभर कर ऊपर की ओर हो गई।उसने 2-3 बार मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटा और अपने मूसल लौड़े को मेरी चूत की फांकों पर लगाया.

शर्ट को फाड़कर बाहर झांकते 34 साइज के चूचे, गदरायी कमर और बाहर निकली हुई लण्ड खड़ा कर देने वाली 36 साइज की गाँड. वो बोला- सर! ये बहुत बदमाश है, मैंने इससे अपनी दोस्त लौंडिया भी चुदवाई. मैं- नहीं तुम ग़लत तो नहीं हो, मगर फिर भी रोटी को थाली तक तो आने दो ना!वो- वो तो आ चुकी है मगर थाली से उठाने के लिए कोशिश तो करनी ही पड़ेगी ना!मैं इससे पहले कुछ बोलती, उसने मेरे कपड़ों में अन्दर हाथ डाल कर मेरे मम्मों से खेलना शुरू कर दिया.

सामान्य भाव से मामी मुझसे मम्मी पापा और भाई बहनों का हाल चाल समाचार पूछती रहीं. भाई ने मां की साड़ी, ब्लाउज़, पेटीकोट उतार कर फैंक दिया और मां पूरी तरह नंगी हो गयी. मेरे तो मुंह में पानी आ गया और झट से मैंने भाभी की चूत में जीभ देकर उसे चूसना शुरू कर दिया.

फिर जैसे ही मेरा आधा लंड गांड में गया, चाची जी चिहुंक उठीं और मुझे हटने का इशारा करने लगीं.

अचानक उसने आंखें बंद की और अपने मुँह को बड़ा सा खोलकर विक्रम के लंड को अपने मुँह में लेने का प्रयास किया. रात तो मैंने उसके साथ जाने से पहले अपनी अलमारी से नकली लंड जो कमर पर बांधा जाता है, उसे अपने पर्स में डाल लिया और उसके साथ उसके घर चली आई.

हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की अंकल मेरी शॉर्ट्स उतारने लगे तो मैंने फिर से रोक दिया और उन्हें अपने ऊपर खींच लिया और उनके किस करने लगी. वो तुम्हें ज़्यादा कुछ परेशान नहीं करेगा, बस थोड़ा तुम्हारे शरीर को टच करेगा.

हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की इस देसी अंकल सेक्स स्टोरी के पिछले भागपड़ोसी अंकल से चुदाई का खेलमें आपने पढ़ा कि मेरे पड़ोस के अंकल मुझे छोड़ने मेरे घर आये हुए थे. मगर तुम विचलित हुई, तो शायद तुम्हें तृप्ति नहीं हो सकेगी, जिसके लिए तुमने मुझसे दोस्ती की है.

उसने मॉम को 5 मिनट और चोदा और कहा कि मैं झड़ने वाला हूँ, कहां लेगी माल?मॉम ने कहा- मुँह में.

தமிழ் வில்லேஜ் செக்ஸ் வீடியோ

अब गुलजान मेरे लंड के सामने घोड़ी बनी हुई थी और हेलीमा उससे अपनी चुत चटवा रही थी. घर के मेनगेट को खोलकर मैं अब कुछ देर ऐसे ही नीचे घूमता रहा, फिर वापस ऊपर आ गया. मुझे तो उस से ही दर्द होता है, तुम्हारा लंड मैं कैसे लूंगी?मैंने कहा- भाभी आप टेंशन ना लो, मैं आपको दर्द भी नहीं होने दूँगा और मजे भी दूँगा।उन्होंने कहा- इसीलिए तो तुम्हारी पास आयी हूँ.

उसकी बीवी ने सिर्फ एक पैग लिया था लेकिन हम दोनों ने जल्दी ही 2-2 पैग खींच लिए थे. अंकल ने सजावट को लेकर खर्चा जानना चाहा, तो मैंने उनसे ही पूछा- आप किसी मैरिज प्लेस के लिए कितना खर्चा मान कर चल रहे थे?अंकल ने कहा- मैंने दस लाख की चैक तो तुम्हें एडवांस के लिए दी ही थी बाकी और जो लगता … वो अलग से. कभी तुम उसके घर … और कभी वो तुम्हारे घर! पूरे मजे लिए हैं तुम दोनों ने! पर मुझे एक बात का दुःख है।मैंने कहा- किस बात का भाभी जी?तो उन्होंने कहा- तूने सारा प्यार चाची को ही दे दिया.

अब हमें इस बात का भी कोई डर नहीं था कि हमारी चुदाई की आवाज कोई सुन रहा है या नहीं.

वो मुझे देख कर हमेशा की तरह मुस्कुरा दीं और बोलीं- क्या हुआ आज इस वक्त?मैंने कहा- हां नींद नहीं आ रही थी. उन्होंने मेरे सामने अपने कुक भूरा और एक दूसरे युवक सुनील की गांड मारी. फिर रचना ने अपनी गांड आगे की और बोली- जिस छेद में लंड डालना चाहते हो, डाल दो.

डॉक्टर ने उन्हें मेरे बारे में बताया है और वो सब भी मेरा मजा लेना चाहते हैं. मैंने अपना मेकअप किया और मैंने मनोज की गिफ्ट की हुई ड्रेस को पहन कर बाहर आ गई. ये घटना आज से ठीक एक साल पहले की है, जब मैं अपनी नौकरी से कुछ दिन का अवकाश लेकर अपने ताऊ जी के घर जाने की योजना बना रहा था.

उनके कुतिया बनने पर मैंने उनकी गांड पर थप्पड़ बजाते हुए पीछे से उनकी चूत में लंड पेला और धक्के लगाने चालू कर दिए. करीब 4 बजे नींद में किसी औरत की कराहने और रोने जैसी आवाज मेरे कानों में पड़ी.

मैंने अपनी चूत का पानी, जो उसकी उंगलियों पर लगा हुआ था, उसको पूरा चाट लिया और हम दोनों की होंठ दोबारा से आपस में मिल गए।हम दोनों के होंठ आपस में मिले हुए थे. मैंने अंकल को फोन पर बता दिया- हम दोनों यहीं रुक रहे हैं, अभी भी काम चल रहे हैं और गाड़ी भी खराब है. जब मेरा लण्ड उसकी बुर में जाने के लिए बावला होने लगा तो मैं उठा और टांगें फैला कर बैठ गया.

आह्ह … चोद दूंगा तुझे … फाड़ दूंगा ये छेद।इसी तरह 15 मिनट तक चोदने के बाद भाभी झड़ गयी.

बहुत लफड़ा होता।उनकी ओर देखकर मैं मुस्कराया।शेखर- तुमने तो बताया नहीं मगर भूरा ने बताया. मैंने गाड़ी की लाईट चालू ही रखी थी तो उसके उजाले में थोड़ा दूर जाकर मैं अपना लंड निकाल कर मूतने लगा. कोई बीस मिनट तक बहन के दोनों दूध चूसने के बाद मैं सबीना के पेट को चूमने लगा.

” कहकर मैंने हाथ पीछे कर लिये।उन्होंने मेरे दोनों हाथ पीठ के पीछे बाँध दीये और कहा- जमीन पर बैठ जाइये. जब से मैंने भाभी की चूत देखी थी, तब से ही मेरे दिमाग में भाभी की चूत घूम रही थी और मेरा लौड़ा भी खड़ा था.

साबुन लगाकर उसकी चूत को चोदने से उसकी चूत एकदम से साफ और अधिक कामुक लग रही थी. वो किसी से ज़्यादा घुलती मिलती नहीं थी … इसलिए ही शायद इतनी चिड़चिड़ी भी हो गयी थी. मैंने भी मेरी गांड ऊंची उठा दी, जिससे उन्होंने मेरे अंडरवियर को निकाल कर फैंक दिया.

ಬಾಯ್ಸ್ ಸೆಕ್ಸ್

मुझे इस अवस्था में देख कर उनका चेहरा शर्म से लाल हो गया और अपना चेहरा अपने आंचल से ढक लिया.

मैंने गुलजान से उसकी चूत हेलीमा के मुँह पर मेरी ओर मुँह करके बैठ जाने को बोला. इसी क्रम में शामिल एक और सत्य किंतु जिंदगी भर अविस्मरणीय रचना आपको नजर कर रहा हूँ. इस घर्षण से हम दोनों इतने मदहोश हो गए थे कि हर दर्द हमें खुशियां दे रहा था.

हम दोनों जल्दी से नहाए और फिर मैं उसे कुरुक्षेत्र बस अड्डे पर छोड़ आया।उसके बाद भी हम 2-3 बार और मिले. फिर भाभी ने मुझे नीचे लिटाया और मेरे लन्ड पर बैठ गयी और उछलने लगी।मैं भाभी की चूचियों को मसलता हुआ नीचे से धक्के लगाने लगा. ಬ್ಲೂ ಫಿಲಂ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್वो बाइक पर मुझे ले जाता था और रास्ते में जानबूझकर तेज ब्रेक लगाता था.

यहां मैं आप को बता दूं कि मेरे घर में मां पिताजी, भैया भाभी और मैं रहते हैं. चाची जी की नाइटी में हिलते हैवी चुचे देख कर और उनके मम्मे मेरे सीने पर टच होते ही मेरे लंड में आग लग गई.

मैंने देखा कि उसका लौड़ा निक्कर में ही अपने पूरे विकराल रूप को धारण कर रहा था … अब मैं खड़ी खड़ी उसके लौड़े को निहार रही थी. मुझे लगने लगा कि कहीं मेरा संयम इसके मुँह में ही न टूट जाये।अरे कहीं मेरा वीर्य तुम्हारे मुँह में ना निकल जाए. फिर धीरे-धीरे मेरी और मीना की भी बातें कम हो गयीं और हम अपने अपने रास्ते हो लिए।तो दोस्तो, ये थी उस गाँव की भाभी की चुदाई की सच्ची कहानी.

वो मेरे नितंबों को दबा कर लिंग को और गहराई में ले जाने लगी।जैसे जैसे घर्षण बढ़ रहा था, उसके नितंबों में भी उछाल आना शुरू हो गया. अपनी गाँव की लड़की चुदाई स्टोरी के पहले भागना-ना करते चुद गयी हरियाणवी छोकरी- 1में मैं आपको बता रहा था कि कैसे मेरी पड़ोस की एक सांवली लड़की मुझ पर लाइन मारने लगी और मैंने उसको किस करने के लिए छत पर बुलाया. वह इस सेक्स कहानी के माध्यम से आप सभी से जानना चाहती है कि उसने मेरे साथ सेक्स करके सही किया या नहीं.

अब मेरे देखने लायक कुछ भी नहीं बचा था मगर फिर भी मैं सुरेश का मुर्झाया हुआ लंड देखना चाहता था।कुछ देर बाद सुरेश का लंड जब मेरी बेटी की चूत से बाहर निकला तो ऐसे लग रहा था जैसे किसी कोबरा सांप की खाल छील दी गयी हो.

मेरा लंड सटासट सटासट सटासट ललिता भाभी की चूत के हाइवे पर दौड़ने लगा. मैंने चौंक कर बोला- आंटी जी, आधी रात हो गई है, आपके पति पूछेंगे नहीं कि कहां थीं आप?निर्मला- नहीं, वो हमारे फ्लोर पर नौ नंबर में मास्टरनी हैं न एक, मलयाली है वो, मिसेज मधुसूधन, मैं रात को उनके पास जाती हूँ … पता है इन्हें, बोल दूंगी वहीं थी.

मेरी नींद दस बजे खुली, तो मैंने देखा कि संजू अभी भी घोड़े बेच कर सो रही थी. हमारे बीच फिर से बातें होने लगीं और बातें करते करते उसका ऑफिस आ गया. भाभी लगभग साड़ी ही डालती है और इतनी कस कर बांधती है कि उनकी पैंटी की लाइन भी दिखने लगती है.

उसकी चूत को देख कर ही मुझे पता चल गया कि ये चुदना तो दूर … इसने कभी चुत में उंगली तक नहीं की होगी. वो बोला- मुठ तो मार दो भाभी?फिर मैं उसके लंड को हाथ में लेकर मुठ मारने लगी और वो मेरे होंठों को चूसते हुए मेरी चूचियों को दबाने लगा. वो कुत्ते की तरह ऊपर नीचे जीभ फेरते हुए मेरी प्यासी चूत चाटने लगा और मुझे बहुत मजा आना शुरू हो गया.

हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की एक दिन दोपहर में उसने मुझे वीडियो कॉल किया और हम उसी तरह की बातें कर रहे थे कि उसी समय मेरे पास प्रीति आ गयी. मैं बोली- आगे भी मुझे ही बताना पड़ेगा या तुम भी कुछ करोगे?विपिन मुस्कुराया और बोला- नहीं दीदी अब मैं अपने आप कर लूंगा.

सेक्सी वीडियो औरत के साथ

अभी मैंने थोड़ी देर ही चाटा था कि भाभी ने मेरे बाल पकड़े और मेरा सिर अपनी चूत पर दबाने लगीं. मैं उन्हें गले लगाने के लिए आगे को बढ़ा और वो शर्माते हुए मेरे सीने से लग गईं. मैंने कहा- मैं ऐसी हरकत करके तुम्हारे मन में अपने लिए गलत भाव नहीं बनाना चाहता.

रेनू ने मेरे वीर्य की एक-एक बूंद को लिंग के अंदर से चूस लिया। उसकी योनि भी मुझे प्यासा नहीं छोड़ रही थी. गोल गोल कटोरे जैसे भारी चूतड़ और चिकनी मोटी मोटी कदली जैसी जांघों को बीच पावरोटी की तरह फूली सुनहरे रोएंदार टाईट बुर किसी भी मर्द को घायल करने की माद्दा रखती थी. सेक्सी वीडियो नई सेक्सीजैसे ही मैंने उसकी चूत से लंड को बाहर निकाला तो उसने मेरे लंड को मुंह में ले लिया.

भाभी ने मेरे लौड़े को अब कसकर दबा दिया और उसको भींच लिया अपनी मुठ्ठी में.

आंटी ने पीहू को बुलाया और बोल दिया- तुम कान्हा के साथ जाओ और कोई अच्छा सा मैरिज प्लेस बुक कर लो. सरिता- किराये की तो कोई बात ही नहीं है लेकिन …फिर सोचकर बोली- चलो कुछ दिन देखते हैं.

यहाँ तक कि उसने दो अधेड़ उम्र की औरतें भी, जिनके बड़े बड़े बेटे हैं, पेल कर रख दीं. अदिति उठकर तकिए पर बैठ गयी, तो बचा हुआ हम दोनों का कामरस बाहर आ रहा था. फिर उन्हें बिस्तर पर लिटा दिया और उनका लंड फिर से चूसना शुरू कर दिया.

दिखा दी ना अपनी औकात … आज साबित कर ही दिया कि सब मर्द एक जैसे होते हैं.

तो मैंने भी धीरू अंकल को ज्यादा फोर्स नहीं किया क्योंकि गांड में अगर पानी चला भी जाता तो मुझे गर्भवती होने का कोई डर नहीं था. अपनी गांड में उसके मोटे लंड के तेज झटकों को मैं सहन नहीं कर पाई और मेरे मुँह से आवाजें निकलने लगीं. उसके बाद मैं बड़ा होता चला गया और फिर पढ़ाई के लिए दूसरे शहर चला गया.

सेक्सी वीडियो हिंदी हिंदी सेक्सी वीडियोमुझे उसके उछलते हुए चूचे देखने में मस्त लग रहा था तो मैं भी उसे उछलते हुए देखता रहा. उसके दस मिनट के बाद फिर मैंने पूरी स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत के चिथड़े होने लगे.

देवर भाभी फुल सेक्सी वीडियो

कुछ ही पलों में उसके सब्र का बांध टूटने लगा, तो उसने मेरे मुँह को अपनी चूत से हटाया और मुझे खींच कर अपने ऊपर ले लिया. फिर उसके मां बाप ने उसको मुझसे दूरियां बनाने को कहा।मैंने यह बात नोट की और मैंने उससे इसका कारण पूछा ‌तो उसने मुझे सारी बात बता दी. टिंकू भैया के साथ हम दोनों फैमिली का आना जाना बहुत था, तो हम सभी शादी में गए हुए थे.

लेकिन नमन ने मेरी मॉम के मुँह पर बहुत ज़ोर से थप्पड़ मारा और कहने लगा- रंडी साली, कल तू चलने लायक नहीं रहेगी इतनी बेदर्दी से चूत मारूंगा तेरी कि आज आलूबंडा सी सुजा दूँगा. मैंने कहा- उतने में आपके यहां की शादी की जगह के अलावा खाने पीने का इंतजाम भी हो जाएगा और कुछ बच ही जाएगा. उसके माँसल नितंब मेरी कामुक कल्पनाओं से भी कामुक थे।मैंने धीरे से उसके नितम्बों को दोनों हाथों से छुआ.

सास बोली- क्या बात है, क्यों तड़पा रहे हो, आओ न … मेरे पास!मैं चुपचाप खड़ा रहा. मगर उसने किराया कम करने से मना कर दिया।मैंने कुछ दिन का समय मांगा तो उसने समय देने से भी मना कर दिया. एक बार फिर से मेरे होंठों को चूमते हुए मेरे बदन से कपड़े लगभग उधेड़ते हुए मुझे एकदम नंगी कर दिया.

मैं रूचिका आंटी के पास आ गया और बोला- चलो ना आंटी मेरी रूम में … साथ में सोते हैं. भाभी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने मना कर दिया.

ना ही मैंने अपने बूब्स को हाथों से ढका और ना ही अपनी चूत को छुपाया।विजय मेरी चूत को देखकर पागलों की तरह उस पर टूट पड़ा और मेरे दोनों पैरों को फैलाकर उसने चूत पर अपना मुंह लगा लिया.

अपनी शर्त की अनुसार समीना की गांड के बदले मुझे उस सांवली रीता की भी चुदाई करनी थी. इंडियन सेक्स हॉट वीडियोअब हुआ यूं कि कभी वो लड़की छत पर कपड़े सुखाने आती, तो कभी उसकी मां आती. एनिमल एंड गर्ल सेक्स वीडियोबारिश की ठंडी फुहारों के नीचे जलता हुआ ज़ारा का नंगा बदन मुझे भी जला रहा था. ’ करते हुए जोर की सांस ली और रोते हुए बोली- आंह बहुत लग रही है भैया … आप लंड निकाल लो, मुझे नहीं करना … बहुत दर्द हो रहा है.

उसके बाद मैं भाभी के बेड के पास आ गया और मैंने अपने हाथों से भाभी को खाना खिलाया.

जब वो खुद ही बात नहीं कर रही, तो‌ फिर मैं आगे से क्यों बात करूं?मगर तभी ख्याल आया कि क्या इस तरह मैं शायरा को भूल पाऊंगा … और इसका जवाब था शायद ‘नहीं. अब वो नीचे झुक कर मेरा लंड अपने मुँह में भरकर मस्त ब्लोजॉब देने लगी. फिर मुझे दोबारा से जोश आने लगा और मैं उसकी चूचियों को फिर से दबाने लगा.

मैंने रात की 9 की बस में स्लीपर की पीछे तरफ की एक पूरी सीट बुक कर ली. उसकी टांगें कांपने लगीं तो मैंने उसकी कमर में हाथ डालकर उसे सहारा दिया. जैसा कि मैंने ऊपर बताया कि उससे मेरी कभी कभी कॉल पर भी, तब ही बात होती थी, जब वो करती थी.

भोजपुरी सेक्सी पिक्चर फिल्म

मैंने कुछ पल देखा और लंड की पुरजोर मांग पर तय कर लिया कि आज लौंडिया का काम उठा देना चाहिए. जौहरा को चोदने के साथ साथ मैं उसके मम्मों को भी जोर जोर से मसल रहा था. मेरे पास उसके पापा की तबीयत के बारे में पूछने का बहाना तो था ही, इसलिए उसी शाम मैं उसके घर उसके पापा का हालचाल पूछने पहुंच गया.

जैसा कि मैंने अपनी पिछली सेक्स कहानी बताया था कि मेरी तीन बुआ हैं, जिसमें एक का काम मैंने खेत में उठा दिया था.

क्या औरत थी वो!संजू ने मुँह खोल दिया और विक्रम ने अपने विशालकाय लंड को जोर जोर से हिलाते हुए अपना सारा माल संजना के मुँह में उड़ेल दिया.

शायरा के वापस दिल्ली आते ही मैंने अब फिर उससे दोस्ती बढ़ाने की सोची. जानू, तुम्हारे ये पंछी आज़ाद तो हो जाएंगे, लेकिन इस शिकारी के हाथ उन पंछियों को दबोच लेंगे. लालची औरत की कहानीमैंने कहा- ठीक है मैडम, जब आपने सारे मैसेज पढ़ ही लिये हैं तो फिर अब क्या रह गया है.

ना ही सोनी को कोई जॉब मिला और ना ही लड़के वालों की तरफ से हां या ना का जवाब आया. मैंने उसकी चूचियों को दबाया और उसकी चूत को सहलाया तो वो भी थोड़ी आक्रामक हुई और उसने भी मेरे कपडे़ उतार दिए. इससे मेरा लंड उसके मुँह में फंस सा गया और उसको उल्टी आने को हो गयी.

उन्होंने भी मस्ती से मुझे निहारा और वासना से कहा- अरे गलती से शरीर बोल दिया. मैं समझ गयी की बुड्डा अब गोली खाकर चोदेगा।धीरू अंकल मेरे बूब्स चूस रहे थे और मैं उनका लंड सहला रही थी, मुझे बहुत ही मजा आ रहा था.

मगर मैंने संजू से कहा- मान जाओ ना यार … बेचारा आज शाम को चला जाएगा.

संजू विक्रम को देख कर बोली- अब तो मन भर गया न … तब से बच्चे की तरह जिद किए जा रहा था. इन्सान पैसे के लिए और अपनी सेक्स इच्छा को पूरी करने के लिए कुछ भी कर सकता है. इधर मेरे 7 इंच लम्बे और 2 इंच मोटे लंड को अर्चना बहन ने चूस चूस कर गहरा लाल कर दिया था.

लीग का ढीलापन तभी मुझे फौजिया का फोन आया और वो मुझसे मेरे आने के बारे में पूछने लगी. मैं उन दोस्तों को तहेदिल से धन्यवाद कहना चाहूँगा और साथ ही साथ अन्तर्वासना साइट का भी तहेदिल से धन्यवाद कहना चाहूँगा जिसके वजह मुझे इतना प्यार व सम्मान मिला.

मगर कुछ सालों तक मेरी किस्मत ऐसी थी कि चूत के दर्शन किये मुझे कई महीने हो जाते थे।मैं एक शादीशुदा आदमी हूँ मगर मेरी पत्नी एक ठंडी बोतल है जो कभी गर्म नहीं होती थी. वो सामने वाले ने जैसे ही अपना मुँह ऊपर किया, तो मैं उसके होंठों को चूमने लगी. मैंने कई बार अपनी मॉम को नंगी नहाते हुए देखा है और मैं रोज उनके नाम की मुठ मारता हूँ.

শ্রাবন্তী এক্স এক্স ভিডিও

फिर जिस हाथ में उन्होंने कंडोम का पैकेट पकड़ा हुआ था, उस हाथ को मैंने पकड़ लिया. सामान्य दिनों में जब मैं और गुलजान अपने अपने ब्वॉयफ्रेंड को बुला कर अपनी चुदाई करवाती हैं, तो उन्हें चुल्ल होती है. उसकी चुत एकदम पनियाई हुई थी तो मेरा लंड एक ही झटके में पूरा अन्दर घुस गया.

मगर प्रियंका ने अपनी चुत उसके मुँह पर दबा रखी थी तो उसकी आवाज घुट कर रह गई. मैंने सोचा कि अब आएगा मजा, ये साला कुतिया बना कर भी चोदना जानता है.

मैंने उनकी चड्डी उनके मुँह में घुसा दी और कहा- आवाज मत निकालो यार … कोई सुन लेगा.

अंकिता ने मेरे बालों पर पकड़ और मज़बूत कर दी और अपनी टांगें मेरी पीठ पर कस दी थीं. उसके इस मादक रूप को देखने के लिए में इतने वर्ष तरसा था। उसके शरीर का एक-एक कटाव लाजवाब था।अब तो चाय पीओगे या कुछ और?” उसने तंज कसते हुए पूछा. प्रियंका हमारी चुदाई देख कर बोली- वाह … जीजा साली चुदाई में लगे हैं … जल्दी करो … सीटी खुलने … और मेरे दही खीरे के रायता बनने से पहले तुम दोनों चुदक्कड़ बाहर आ जाना, वरना साली की गांड में बेलन पेल दूंगी.

आगे यामिना बोली- साहब, मेरा सपना है कि मेरी बेटी भी अपनी कंपनी की सफेद शर्ट और लाल स्कर्ट पहने. चुदाई में तभी मजा आता है जब वो औरत खुद ही चुदवाने के लिए मन से इच्छा रखती हो. इधर मेरे मुँह से अपने मम्मों को चुसाने से जौहरा पूरी तरह से पागल हो गयी और उसने भी मेरी शर्ट उतार दी.

आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लग रही है, प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं.

हिंदी बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों की: भाभी इस बात को जानती थीं तो उन्होंने मेरे लंड को चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया. मेरे दोस्त और मैंने मिल कर मेरी पत्नी को नंगी करके उसकी गांड मारी और चूत भी सैंडविच बना कर!दोस्तो, सेक्स कहानी में जय दत्ता का नमस्कार.

ललिता भाभी की सिसकारियां बढ़ने लगीं और चूत लंड पर अपना कसाव बढ़ाने लगी. मैं भी अब फुल मूड में आ चुकी थी।इतने में उसने मेरी चूत में उंगली डाल दी जिससे मैं और बैचेन हो गयी और तड़पने लगी।वो अपनी उंगली को आगे पीछे करने लगा था।मैं भी अपना आपा खोने लगी थी। मेरे मुँह से हल्की हल्की सिसकिया निकल रही थी।इसी दौरान मैं बोली- सन्नी जो करना है जल्दी करो. फिर भी अच्छा है कुदरत ने हमें ऐसे नहीं मिलाया शायद कुछ कुछ होना होगा कि जैसी तेरी इच्छा, वैसी मेरी इच्छा.

कशिश दीदी चिल्लाती हुई- आअह मम्मी, मैं मर गई … साली हरामन रुखसार भाभी.

तेल से मेरी गांड तर हो गई और उन्होंने अपनी उंगलियां मेरे गांड के सुराख में डाल दीं. लेकिन कल की घटना की वजह से मैं बहुत शर्मिंदा महसूस कर रहा था इसलिए मैं आज उसके पास ना बैठ कर थोड़ी दूर पर बैठ गया. उसके लंड को मैंने अंडरवियर के ऊपर से ही दोबारा से अपने हाथों में थाम लिया और जोर से दबाने लग गई.