बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म

छवि स्रोत,एन डबल एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

दर्द की दवा बताओ: बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म, जैसी ही उन्होंने मेरा लंड चूसना चालू किया, मुझे लगा जैसे कि मैं जन्नत में आ गया हूँ.

हिंदी पोर्न वीडियो हिंदी पोर्न वीडियो

तब तक संडे को अम्मी की गांड मारने वाली ब्लू-फिल्म भी देखने को मिल जाएगी. सेक्सी विदेशप्रिया- मैं अभी तक कुंवारी हूँ और अब उम्र मुझे गर्म करती जा रही है.

प्रिंस का लंड पैंट से बाहर आते ही मैं तो मानो जन्नत में पहुंच गया था. ब्लू फिल्म चूतमेरे लंड की काफी लम्बाई अंदर घुसी हुई महसूस हुई तो मजा आ गया लेकिन उसके मुंह जोर की चीख निकल गयी.

वो मेरी हर हरकत का मजा ले रही थीं और बच्चों के जैसे किलकारी मार रही थीं.बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म: चाची की चूत चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी चाचीजान कुछ दिन के लिए हमारे घर रहने आयी तो उनका सेक्सी जिस्म देख मेरा वासना जाग उठी.

फिर सुरेश बोला- अब तू स्कूल की छुट्टी के बाद यहाँ पर मिलने आया करेगी.शाम पांच बजे उसने दरवाजा खटखटाया और मैं दरवाजा खोलते ही उसके बदन की खुशबू में खो गया.

देसी सेक्स वीडियो जंगल में - बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म

उसके किस करने के तरीके को देख कर कोई भी नहीं कह सकता था कि ये सेक्स की भूखी है.उसकी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया और भानू उसकी बूंद बूंद चाट गया.

फिर भाभी ने मेरे लंड पर दारू टपका कर लंड चूसा मैंने उनकी चुत में शराब भर कर चूत से शराब का मजा लिया. बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म नमस्कार पाठको, मैं आनंद मेहता … आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीजवान बहू की चुदासपढ़ी और पसंद की.

तब चौधरी बोला- सब बाहर जाओ!जितने भी लोग वहां पर थे, सब बाहर चले गये.

बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म?

मैं उसके फोन कॉल से खुश हो गया था और जल्दी से फ्रेश होकर रूम से निकला. थोड़ी देर के प्रयास के बाद मेरे लंड से मूत्र की धार निकलनी शुरू हुई. इसके बाद से ये मेरा अनुभव हो गया था कि मजबूर लड़की को समय के हिसाब से बहुत कुछ करना पड़ता है.

उसकी यह आवाज को दबाने के लिए मैंने फिर से उसे किस करना शुरू कर दिया. सेक्सी पड़ोसन की गर्म कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस से दो जवान बहनें रहने आयी. उधर हीरोइन नंगी होकर स्वरा के पीछे से चिपक गयी और उसके चुचे दबाने लगी.

हीरोइन ने एक आह करते हुए तेज झटका लिया, तो उसी समय मैंने दूसरा झटका दे मारा. मैंने पूछा- अब्बू नहीं आए क्या अभी तक?अम्मी बोलीं- वो तो 7 बजे आ गए थे क्यों?मैंने पूछा- आप लोगों ने भी चाय नहीं पी? क्योंकि किचन साफ पड़ा है. अब्बू मम्मी की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मेरी नंगी अम्मी बरामदे में मेरे अब्बू से अपनी चुदाई शुरू करवा चुकी थी.

मैंने शावर बंद करने की बजाय उसकी कमर को पकड़ उसे अपने पास खींच लिया. अब आगे:रणजीत- तू एक बात बता, कल तक तो ये मुनिया नादाँ सी थी, आज अचानक से इसके अन्दर इतनी आग कैसे लग गई … और दूसरी बात कितनी भी नींद क्यों ना लगी हो, मेरे इतना करने पर भी वो उठी क्यों नहीं?सन्नो- आप सोचते बहुत हो जी, इस सब पर आप ध्यान मत दो.

मेरे बहुत जोर देने पर भी वो नहीं रुकी, तो मैंने गेट खोल कर उससे बोल दिया कि अगर तू जाना चाहती है, तो खूब जा … पर मैं तुझे नहीं भेजना चाहता.

लेकिन मुझे अभी भी नीन्द नहीं आ रही थी और शायद साहिल भी मुझे और चोदना चाहता था।वो मेरे बगल लेट कर मुझे किस करने लगा.

तब सुरेश बोला- जो यह पानी चूत में डाले वो पति … और जो बाहर डाले उसकी तू रन्डी! समझी कुछ?तो मैं बोली- यह रन्डी क्या होती है?तब सुरेश बोला- भोसड़ी वाली … अभी तू 19 साल की है. वो लंड को अपनी चुत की फांकों में रगड़ने लगी और मैं अपने हाथों से उसके चुचे दबाने लगा. मैंने ये सब सामान राहुल के घर के पते पर बुक करवा दिया और इसके बाद मैं उठ कर बाहर मम्मी को देखने के लिए गई कि वो क्या कर रही हैं.

एक बार मैंने ग्रुप के 1 लड़के और लड़की को सेक्स करते देखा तो …नमस्कार दोस्तो, मैं रजत मुंबई से हूँ. जैसे ही मैंने डोरबेल बजाई तो उसने तुरंत गेट खोला, जैसे वो मेरा ही इंतजार कर रही थी. वो मेरे होंठों को चूस रहे थे और एक हाथ से मेरे निप्पल को जोर जोर से मसल रहे थे, जिससे मेरा दूध निकल कर उनके हाथों में आ रहा था.

मेरी तरह मेरा लंड काफी दमदार है जिसको देखकर कोई भी लड़की अपनी चूत चुदवाने के लिए तैयार हो जाये.

उसने टाइट ब्लू मिनी स्कर्ट और हरे रंग का टैंक स्लीवलेस टॉप पहना हुआ था।स्पष्ट रूप से पता चल रहा था कि उसने नीचे ब्रा नहीं पहनी है. मैंने उन्हें दिन में, रात में और सुबह 7 बजे चुदवाते हुए खूब देखा था. तब तक मैं अन्दर किचन से खाने के लिए कुछ नमकीन और बियर के लिए गिलास ले आती हूँ.

चाची की नींद गहरी लगी हुई थी, जिस वजह से उनकी तरफ से कोई भी प्रतिक्रिया नहीं हो रही थी. वो बोली- चूत तुझे देखनी है, मुझे नहीं!फिर मैंने चड्डी को उतार दिया और मेरी आंखें फैल गयीं. अब मैं लंड गपागप … गपागप अंदर बाहर करने लगा।अब आंटी की चूत ने पानी छोड़ दिया और गीला लंड फच्च … फच्च … करके अंदर बाहर होने लगा। लंड चूत में फिसलता हुआ बच्चेदानी तक जाने लगा।रेखा आंटी बोली- राज … जल्दी करो, सुबह हो गई है।मैंने कहा- चोद तो रहा हूं … मेरी जान।मैं अब और तेज तेज झटके मारने लगा। मैंने देखा 5:40 का समय हो गया था.

मधु कलपते हुए बोली- आह हय मर गई मम्मी रे … लंड निकाल रे मादरचोद … मर गयी मैं … ओह आह आह.

उसके झड़ने के बाद मैंने करीब 10 से 15 धक्के और मारे और मैं ‘आ आह आ आह आह हम्म आह. वो थोड़ा झुकी, उसने हाथ से पैर छूते हुए कहा- दर्द कहां पर है?हीरोइन ने कहा- थोड़ा ऊपर.

बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म उसके बाद वो अपने दूध को पिला कर उसके मुंह पर बैठ कर अपनी चूत चटवाने लगी. मेरा तो मन कर रहा था कि आपको हटा कर खुद नीचे लेट जाऊं कि आओ भाई … अब आप मेरी चूत को भी चोद कर इसे शांत कर दो.

बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म हालांकि मेरी पारखी नजरों ने ये पढ़ लिया था कि इस बात को बोलते हुए उनके चेहरे पर मायूसी और उदासी साफ झलक रही थी. उसको भी एक नया लण्ड चाहिए था जो उसे मेरे रूप में दिखने लगा था। फिर हमारी बातें फ़ोन सेक्स में बदलने लगीं।मैंने उसे ये एहसास दिला दिया था कि मैं उसे फिर से वही मजे दे सकता हूं जो वो शादी के पहले लिया करती थी।अभी तक मैंने उसे एक किस भी नहीं किया था।मगर बातों ही बातों में उसकी चूत को अपने लंड के लिए तड़पा जरूर दिया था.

मैंने चूसना रोक कर अपने हाथों से उसके मम्मों को और जोर से दबाना चालू कर दिया.

फिंगर मेहंदी

अभी आधा ही लंड मेरी गांड में गया था कि उसने नीचे से एक जोर का झटका दे दिया और अपना पूरा लंड एक ही बार में अन्दर पेल दिया. और मुझे भी अपने ऊपर गिरा लिया और मेरे होंठों को आहहह उम्ममम करते हुए चूसने लगी।इतनी बेकरारी मैंने आज तक कभी किसी लड़की में नहीं देखी जितनी शायरा में थी।होना भी लाजमी था. मैं उम्मीद करता हूँ कि ये नंगी लड़की की चुदाई कहानी आपको पसंद आई होगी.

कुछ देर चोदने के बाद अब मैं थकने लगा था किन्तु आंटी अपनी गांड को जोर जोर से आगे पीछे करके मेरा साथ देती जा रही थी. उन्होंने कहा- तुम अगर मुझे अपना समय दोगे और उसे मुझे मानसिक खुशी मिलेगी तो मैं भी तुम्हारे खुशी का ख्याल रखूंगी. मैं अच्छा ख़ासा मर्दाना जिस्म का मालिक हूँ और मेरे लंड का साइज़ आठ इंच है.

मैं बाहर आ गया- विनी का कॉल आ रहा है मामी, हां विनी बोल ना!ये कहते हुए मैं फिर से मामी के पास आ गया और वो मेरे लंड को चूसने लगीं.

तो वो मेरे साथ आ गई।मैंने उसके हाथ को पकड़ा और बोला- चलो ट्यूबवेल पर चल कर बात करते हैं. वो क्या दूध जैसी चमक रही थी … और उसके गुलाबी निप्पल वाले छोटे छोटे कड़क खड़े बोबे देख कर ही मैं मंत्र-मुग्ध हो गया. जिसका कारण ये था कि अब मेरे हस्बैंड को उनके हिस्से का काम भी करना पड़ता था.

मामी जी गहरी नींद में सो रही थीं और उनकी नाइटी उनकी जांघों से काफी ऊपर चढ़ी हुई थी. उनकी 36 इंच की तनी हुई चूचियां किसी को भी अपनी तरफ आकर्षित करने में सक्षम थीं. कई बार मस्ती करते करते मैं उसे पीछे से पकड़ लेता था जिससे मेरा लंड उसकी गांड की दरार में लग जाता था.

उसके जीन्स में चिपके मोटे मोटे चूतड़ मेरे लंड से सट गये और एक दो बार मेरे लंड से रगड़ खाने के बाद मेरा तौलिया खुल गया. पांच मिनट ही मैंने उसकी गांड मारी … क्योंकि उसको बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था.

और जब पीछे से धक्का लगता तो उसका लन्ड अब मेरी गांड में चुभता और मेरी चुची उसके हाथ से दब जाती. वो मुझसे बोला- साली तू बहुत बड़ी चुदक्कड़ है ना … बहुत हवस है ना तेरे अन्दर … आज इस लंड से तेरी सारी हवस मिटा दूंगा. मैंने कहा- तेरा घर वाला तुझे नहीं चोदता के!वो मुँह बना कर बोली- हुंह … उसकी तो छोटी सी लुल्ली है … मैं तो तेरे भाई ते चुदवा लेती हूं.

उन्होंने मेरी तरफ लाइटर उछाला और बिस्तर पर बैठते हुए मुझसे इशारे से सिगरेट जलाने की कहने लगीं.

फिर संगीता ने अपना मुँह मेरे लंड की ओर बढ़ाया और मेरे लंड को अपनी जीभ से ऊपर से मेरे टट्टों तक चाटने लगी. ऐसे ही हमारी कुछ देर बातें और हुईं और हम दोनों व्हाट्सएप्प चैट खत्म करके सो गए. रणजीत- तेरी कसम रानी … बस चल अब जल्दी से बता … कौन है वो!सन्नो- हमारी मुनिया.

वो इतनी गर्म हो चुकी थी कि उसने कहा- साले चुत तो ठोक जाओ, फिर खा लेना. ये सोच रहा था कि कैसे बेबाकी उसने मेरे साथ पोर्न फिल्मों की बातें कीं.

हम दोनों के होंठ एक दूसरे से ऐसे मिल गए थे … मानो फेविकोल का मजबूत जोड़ हो, बस एकदम चिपक गए थे. मैंने उनको कैसे ट्रिक से पटा कर उनके जिस्म का मजा लिया!कहानी के पहले भागबबीता और उसकी बेटी करीना की चुदाई- 1में आपने पढ़ा कि मेरे दोस्त ने चूत के चक्कर में अपनी कुंवारी बहन ही मुझसे चुदवा दी. इतना कहकर बलराम ने अंडरवियर को छोड़कर सारे कपड़े निकाल दिए, जिसे देख कर गीता सकपका गई.

गांव की चुदाई कहानी

‘हाय दैया … कितनी गर्म जीभ हो रही है तुम्हारी!’बस इसके बाद अम्मी की गर्म आवाजें आने लगी- उह ईई … हिस्सस … उईईई ईईए.

उससे शावर खुल गया था और वो बंद नहीं हो रहा था।उसने मुझे बुलाया, जैसे ही मैंने दरवाजा खोला देखा तो वो पूरी भीगी हुई थी. आंटी सोफे से नीचे उतर कर फर्श पर दोनों हाथों को आगे झुकाकर घुटनों पर आ गई. उनकी मस्त चुदाई देख कर मैं अपने लंड को हिलाए बिना रह ही नहीं पाता था और मुठ मार कर खुद को शांत कर लेता था.

उसने झट से किसी भूखी शेरनी की तरह मेरे लंड पर झपट्टा मारा और मेरा पूरा लंड अपने मुँह में भर लिया. उसने मैंने लंड को छूते ही कहा- जानू यही वो सामान है … जो आप मुझे कॉल पर दिखाते थे. पोर्न वीडियो देहातीनमस्कार पाठको, मैं आनंद मेहता … आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीजवान बहू की चुदासपढ़ी और पसंद की.

जब उन दोनों ने सामान अन्दर रख दिया, तो सुमन ने कालू को रोक लिया और दूसरे नौकर को बाहर खड़ा रहने को बोल दिया. आह … मेरा निकलने वाला है, किधर निकालूं?”भोसड़ी के चूत में डाल दे पूरा का पूरा माल, मेरे पास गोली है.

भाई साहब का सारा टाइम बस कमरे में रह कर बीतने लगा, वो कमरे में अकेले रोते रहते. कुछ पल बाद सायली ने अपना एक हाथ नीचे ले जाकर मेरा लंड सहलाना शुरू कर दिया. अब तो मेरा खड़ा लंड उनके चूतड़ों से रगड़ खाने लगा था … मगर हम दोनों के बीच में कपड़े आड़े आ रहे थे.

फिर एक दिन जब मैं जिम से वापिस आ रहा था, तो मुझे बिल्डिंग के गार्डन में वो फिर दिखीं. वह लपककर उनके पास गई और उनका लंड उनके हाथों से छीन अपने मुंह में लेकर चूसने लगी।अब डॉक्टर साहब की उह … अह …. पंडित जी बोले हैं कि सेक्स पाप है सिर्फ दिन-रात पूजा में लीन रहना है जिससे सारे पाप धुल जाएंगे.

बमुश्किल मैंने दस बार ही जीभ को चुत पर फेरा होगा कि मैडम अपनी गांड उठाते हुए मेरे मुँह में स्खलित हो गईं.

फिर हांफते हुए बोली- सब्र कर ले ना कुत्ते, आराम से करने दे मुझे!मैं बोला- सॉरी. वो थोड़ी देर में ड्रेस पहन कर आयी और बोली- देखो, कैसा लग रहा है?उसको देखकर मेरी तो आंखें फटी रह गयीं.

वो मुझे बहुत पसंद आ गया था, लेकिन अभी मैं कुछ बोल नहीं सकता था, तो मैंने अपनी ख़ुशी को अन्दर दबा दिया. यह मुझे तब पता चला जब मैंने अपनी नंगी अम्मी को अपने अब्बू के लंड से जमकर जोरदार चुदाई करवाते देखा. दूर से देखने से ऐसे लग रहा था कि ये दोनों सीढ़ी पर बैठे बातें कर रहे थे.

अब स्यू ने अपने कपड़े पहने, वीर्य से सनी पैंटी को पर्स में डाला और जाने के लिए रेडी हो गई. तुम सिर्फ और सिर्फ मेरी चुदाई करोगे और मुझे चोद कर मेरी चूत का भोसड़ा बनाओगे. मैं नौ बजे सर के आवास पर पहुंची तो सर व परीक्षक महोदय नाश्ता कर रहे थे.

बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म मैं ये सब देखकर अंदर नहीं गयी और अपने रूम में जाकर सो गई।अगली रात को मैं उनके सोने से पहले ही उनके रूम में चली गयी. घर आने के बाद भाभी ने सब सामान टेबल पर सजा दिया और एक टू पीस बिकनी में हो गईं.

दांत दर्द की दवा

मैंने देखा था कि तू मुझे देख रहा था … सच सच बोल!मैं घबरा गया और घिघियाने लगा- न. उसी दिन वो मेरे रूम में आईं और मुझे बेचैन देख कर बोलीं- लाओ, मैं शांत कर देती हूँ. तभी मैंने आंटी को घड़ी दिखाई और कहा- आंटी मेरे पाँच मिनट पूरे हो गये.

दीपक बहुत खुश था और मुझे किस कर रहा था, कभी मेरे चूचों को चूसता कभी मेरे होठों को चूसता!15 मिनट बाद ही उसका लंड फिर से सख्त होने लगा. गीता- नहीं नहीं दारोगा जी, मैं ऐसी लड़की नहीं हूँ … बस कुछ मजबूरी है, जो आपके साथ किया है, ये सब अब दोबारा नहीं करूंगीदरोगा- अरे साली तू इतनी डरती क्यों है … ये चुदाई का चस्का ऐसा होता है ना कि एक बार लग जाए, फिर चुत में खुजली चलने लगती है. डबल लंड की चुदाईकुछ देर बाद हम तीनों ने उठ कर बाथरूम में जाकर एक साथ नहाया और कुछ खा पी कर सो गए.

कोई दस मिनट तक इस तरह की चुदाई के बाद अब बारी आ गई थी कि मेरे या मम्मी के दोनों छेदों में एक साथ दो लंड से चुदाई शुरू हो.

उन्होंने मुझे खींच लिया और इस बार वो मुझे पकड़ कर मेरी चूत पर लंड लगाने लगे. उसने मेरी आंखों में कामुक निगाहों से देखा और बेडरूम की तरफ इशारा करते हुए कहा- चलो.

मैंने फोन को वीडियो रिकॉर्डिंग मोड में डाल दिया जिससे उन दोनों की लेस्बियन ब्लू-फिल्म की वीडियो रिकॉर्ड होने लगी. फिर मैंने जब अपना हाथ चाची की चुत पर रखा, तो देखा कि चाची ने तो पैंटी पहनी ही नहीं थी. अब मेरे मुंह से गाली और सिसकारी दोनों साथ निकल रहे थे- आह्ह … चूस साली … ओह्ह … पी जा इसको … ये तेरा है … खा ले इसको साली रंडी … तेरी चूत को फाड़ेगा आज ये … आह्ह … चूस … और चूस … होएए … आह्हह … डार्लिंग … चूस जा पूरा।मैं इतना उत्तेजित हो गया कि मेरा एकदम से निकल गया.

मैंने करीब एक घंटे तक इतंज़ार किया, फिर जब कुछ नहीं हुआ, तो नीचे चला आया.

अब तो मैंने साहिल के बालों को कस के पकड़ कर अपनी चूत पे पूरा दबा दिया जिसको वो बहुत मज़े से अपनी जीभ पूरी अंदर डाल कर चूसने और चाटने लगा. बस दोस्तो, आज की सेक्स कहानी यहीं तक … अब आगे क्या होगा, वो मैं अगले भाग में लिखूंगी. बीस मिनट बाद मैंने सोचा कि इसके साथ आज कुछ नया किया जाए तो मैंने दो टेबल के ऊपर उसे खड़ा करके कहा कि अपनी पूरी टांगें फैलाओ और मेरे लंड से चुदने के लिए अपनी चुत हवा में रखो.

ஆன்ட்டி ஹாட்मेरा लगभग आधा लंड उसकी चूत में जा चुका था और मुझे अपने लंड पर कुछ गीला गीला लग रहा था. इसके बाद से ये मेरा अनुभव हो गया था कि मजबूर लड़की को समय के हिसाब से बहुत कुछ करना पड़ता है.

शराबी नहीं मुझको बता दो

अगले दिन मैं जीजू के साथ होली खेलने के लिए जल्दी जाग गयी।मैं दीदी और जीजू मौहल्ले में लगभग सुबह 10 बजे तक होली खेले। उसके बाद जीजू भांग ले आये।दीदी ने मुझे मना किया पीने के लिये मगर खुद वो तीन गिलास पी गयीं. मीता के होंठ आजाद हुए तो वो लम्बी सांस लेते हुए कहने लगी- आह आइ मर गई मम्मी रे … उफ्फ बहुत दर्द हो रहा है. वो फुदक रही थी … क्योंकि उसकी फुद्दी मैं चूस रहा था और ये उसके लिए पहली बार था … तो जेनिल का पानी जल्दी आ गया.

कई सालों से आंटी चुदी नहीं थी शायद।फिर वो खुद ही बोली- बहुत समय हो गया है लंड लिये हुए. अपने दोनों हाथ अम्मी के कंधों की तरफ फर्श पर टिका दिए और एक झटके में अपना पूरा मोटा लंड अम्मी की गर्म सुलगती हुई चूत के अन्दर उतार दिया. मैं मेरी खून से सनी उंगली तो इशिका को नहीं दिखाना चाहता था, पर उसने देख लिया.

मैंने भी एक पल की देरी नहीं की और अपने हाथों से उसके चुचे दबाकर मसलने लगा. उसके बाद राहुल ने अपने लंड को मॉम की गांड के छेद पर टिका दिया और अंदर धकेल दिया. संगीता ने अपने दोनों हाथों से मेरा बॉक्सर मेरे घुटनों तक उतार दिया.

मैंने कहा- कोई बात नहीं, मेरे बॉयफ्रेंड और हस्बैंड ने कभी ऐसा नहीं किया. हमने एक दूसरे को किस किया और एक एक सिगरेट और पीकर अपने अपने घर चले गए.

चुत मारी कहानी में पढ़ें कि जब मुझे पता चला कि मेरी बहन सगी नहीं है तो मेरी नजर उसके सेक्सी बदन पर पड़ने लगी.

चूंकि वो अपनी चूत से दो बच्चे निकाल चुकी थी इसलिए लंड को अंदर घुसवाने में उसे खास दिक्कत नहीं हुई. ইন্ডিয়ান সেক্সি চুদাচুদিअब हम मज़ा लेंगे।” ऐसा कहकर अपनी गंजी को मैं खोलने लगा।उसने एक झटके में मेरे मोटे-मोटे चूतड़ों पर से लुंगी खींच दी और बोली- तो लीजिए खबर, चोदिये! कौन रोके हुए है।उसकी टीशर्ट और उजली दानेदार ब्रा को मैंने जल्दबाजी में खोला. ब्लू सेक्सी पिक्चरमेरी पहली चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी पहली चुदाई ही अधूरी रह गई थी। मैं मछली की तरह तड़प रही थी। तो मेरी बुर की सील कैसे टूटी? मुझे मजा आया या नहीं?मेरी पहली चुदाई कहानी के पहले भागपहली चुदाई का जोश- 1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी मौसी के किरायेदार लड़के के साथ अपनी जिन्दगी के पहले सेक्स का मजा लेने लगी थी. मैं जैसे ही उनके कमरे से जाने लगी, तो भाई साहब की आवाज आई- अनुराधा!उनके मुँह से अपना नाम सुनकर मैं वहीं खड़ी हो गयी.

संगीता ने मुझसे पूछा कि ये मूवी चलने दूँ?जवाब में मैंने भी कहा- हां यह मूवी मैं भी पहली बार देख रहा हूँ.

हमने खूब मस्ती की … साथ मैं मैंने अपने कैमरे से उनकी अच्छी अच्छी फ़ोटो भी लीं. राजेश अब सहन नहीं होता … चोद डालो मुझे … अपने लौड़े से भर दो मेरी चूत … बना लो मुझको अपनी रखैल … ओह मररर गई राजेश … अब अपने लौंडे का रस मेरी चूत में छोड़ दो राजेश!”राजेश खड़ा हुआ और मेरी साड़ी निकाली और रूम से बाहर फेंक दी. संगीता मुझसे दूर खिसकी और थोड़े पल बैठकर अपने बेडरूम की ओर जाने लगी.

मैं उम्मीद करता हूँ कि ये नंगी लड़की की चुदाई कहानी आपको पसंद आई होगी. मैंने उसके खाने की तारीफ की, तो वो बोली- अब तो आपको रोज तारीफ करनी पड़ेगी. मैंने पूजा से पूछा- तुमने रेखा को कैसे पटाया?वो बोलने लगी- साले … मैं तो तुम्हारी रखैल हूं … मुझे तो तुम्हारी बात माननी ही पड़ेगी.

इंग्लिश में ब्लू पिक्चर दिखाएं

औरत की वासना क्या क्या करवा लेती है उससे!मैंने उनसे साफ़ शब्दों में कहना उचित समझा और कह भी दिया- मामी जी क्या आपको मालूम नहीं है कि मामा जी की तबियत खराब है और वो अस्पताल में भर्ती हैं. कुछ देर बाद स्यू को याद आया कि उसकी सहेली निगार भी उसी एरिया में रहती है. पापा ने एक स्पेशल अंडरवियर पहनी हुई, जिसके आगे लंड के पास काफी बड़ी फांक सी खुली और पीछे गांड पर उनके चूतड़ों का इलाका पूरा खुला हुआ था.

यह सेक्स कहानी उस समय की है, जब मैं जवानी की दहलीज पर था और मेरे अब्बू की हार्ट सर्जरी समय के समय मुत्यु हो गयी थी.

फिर मैंने चाची को धक्का देते हुए बेड पर गिरा लिया और उनके ऊपर चढ़ गया.

मैंने उसके दोनों हाथ पकड़ के मेरे सिर के पीछे लगा दिए और लार की वजह से भीगा हुआ मेरा मुँह उसकी व्हाइट, सिल्की, क्लीन और सुगंधित अंडरआर्म्स में दबा दिया. मैं नाश्ता देने टेबल की ओर गई, तो मेरी नज़र सीधे पापा के लंड के ऊपर गई. देसी मराठी सेक्स व्हिडिओXxx गांड चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी पहचान के लड़के से मेरी सहेली का मन चूत चुदाई से नहीं भरा.

पन्द्रह मिनट तक उनके दोनों चुचों को बारी बारी से चूस कर मैंने लाल कर दिए थे. कभी पूजा रेखा के चूचों को खा रही थी, तो कभी रेखा पूजा के चुचों को मत रही थी. एक दो दुकान देखकर हम तीनों थोड़ा घूमे और कुछ खाकर घर आ गए।इस कहानी को गर्मागर्म लडकी की सेक्सी आवाज में सुनें.

मैं इंग्लिश बोल लेता था क्योंकि मैंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की हुई है. तो उसने बताया कि उसे पता नहीं क्यों हिंदी और भारत से अनजाना सा लगाव है.

थोड़ी देर बाद उसे मैंने कुतिया की तरह किया और अपना लंड उसकी चूत में दे मारा.

मैंने अब उसके बालों को पकड़ा और उसके मुँह में लंड को अन्दर बाहर करने लगा. फिर मुझे लगा कि अब ये अगर कुछ देर और खड़ी रही तो यहीं पर स्खलित हो जायेगी. चुदने के बाद वो मुझे सब बताती थीं कि चुदाई में उनके साथ क्या हुआ … अपने ब्वॉयफ्रेंड के लंड के साथ कैसे सेक्स किया.

कुत्ते का संभोग धक्के मारते मारते वो कभी मेरी चूत के दाने को मसल देता, कभी मेरे चूचों पर काट लेता. दीदी बोली- क्या हुआ, तूने कभी देखी नहीं है क्या?मैं हैरानी से दीदी को देखने लगा.

कुछ ही देर में हम दोनों पति पत्नी पूरे नंगे होकर बैठ गए थे और लंड चुत का मजा ले रहे थे. ’ कहते हुए अपने लंड की सारी मलाई पूजा की चूत में छोड़ दी और पूजा के ऊपर ही ढेर हो गया. मस्त चुदाई स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि कैसे मुझे मेरे भाई का दोस्त पसंद आ गया.

सेक्स पहली बार

तभी वो झड़ गया और उसके लंड से निकलता हुआ गर्म पानी मुझे पेट के अन्दर गिरता सा महसूस होने लगा. ”मैंने हाथ बढ़ाकर तपते मूसल जैसा लण्ड अपनी बुर के मुखद्वार पर रख दिया. आज मैं आपको अपने परिवार की मॉम डैड सेक्स स्टोरी बताने जा रही हूँ, जिसमें मेरे पति ने मेरे साथ मिलकर अपने सास-ससुर के साथ सेक्स के मज़े लिए.

अब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए। रेखा आंटी मस्त होकर मेरा लंड चूसने लगी. मैंने अपने खड़े लंड को हाथ से पकड़ा और उसकी चुत के मुँह पर लगा कर तेजी से रगड़ने लगा.

तो दोस्तो, फिलहाल मैं हूं तो एक छात्र ही लेकिन मन के भंवर में सपने हमारे भी आते हैं, ये उम्र का पड़ाव ही ऐसा है.

मैं अपने हाथों को उसकी गर्दन तक ले गया और मालिश करने लगा।फिर मैंने कहा- सीधी हो जाओ।वो बोली- नहीं, आगे नहीं दिखा सकती. अब मैं उससे ये सब कैसे करूं?तब रेशमा आंटी बोलीं- देख रौनकी शौकीन मर्द है, अब तू उसे मस्त कर दे … या उसके पैसे लौटा दे. उस वक्त अम्मी अपने सिर को उनके कंधे पर रखी थीं औऱ अब्बू ने अम्मी के गाल चूमते हुए अपना लंड अम्मी का गांड की दरार में फंसा रखा था.

मैंने पूछा- उनसे मिलने का चलना है?स्यू- ओके … हम आज ही जाएंगे निगार से मिलने. इससे वो बिलबिला गई और गाली बकने लगी- साले लौड़ा क्यों निकाला मादरचोद. हम इतने मस्त हो चुके थे कि हम दोनों के बाकी बचे कपड़े कब उतर गए, हमें कुछ पता ही नहीं चला.

दरोगा हांफते हुए बोला- वाह गीता रानी … सच में यार तू बहुत टाईट माल थी रे … देख साला लंड तेरी चुत की गर्मी से कैसे चुस सा गया.

बीएफ इंडियन सेक्सी फिल्म: करीब दस मिनट की चूमा-चाटी के बाद मैं चाची की मम्मों को जोर जोर से दबाने लगा और ब्लाउज़ के ऊपर से ही उनके एक निप्पल को चूसने लगा. फिर जब सब लोग चले गये तो मैं चुपके से गर्ल्स टॉयेलट में जाकर छिप गया.

फिर मैंने एक हाथ उसके चूचे के ऊपर और दूसरे हाथ से उसकी पैंट के ऊपर से चुत को सहलाना शुरू कर दिया. उसकी बात पर ध्यान न देते हुए मैंने धीरे धीरे उसकी चूत में उंगली डाली. अब सर ने एक तकिया मेरे चूतड़ों के नीचे रखा, उसपर अपना तौलिया बिछाया और घुटनों के बल खड़े होकर अपने लण्ड पर हाथ फेरने लगे.

पापा ने मेरे मुँह में अपने लंड का रस टपका दिया और राज ने अपनी सास के मुँह में पानी छोड़ दिया.

सुरेश कुछ देर मीता के होंठों चूसता रहा, फिर उसने लंड को हरकत शुरू कर दी और लंड के धीरे धीरे झटके चूत में लगने लगे. मगर तब भी मैंने बॉस की टेबल पर हाथ रख कर झुक कर मुस्कुराते हुए पूछा- आपकी खुशी के लिए मुझे क्या करना पड़ेगा?बॉस ने मेरी मस्त चूचियों को देखते हुए कहा कि तुमको तो मैंने बताया ही था कि तुम्हारी मेम प्रेग्नेंट है, इसलिए में अपने लंड को उसकी सुरंग में नहीं घुमाने ले जा पा रहा हूँ. मेरे लौड़े से वीर्य की धार निकल पड़ी और उसकी चूत को भर दिया।हम दोनों बुआ भतीजा पसीने से लथपथ हो गये.