मलयालम सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्स बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सराय सेक्सी वीडियो: मलयालम सेक्सी बीएफ, फिर 15 मिनट के बाद हमने एक दूसरे को प्यार से देखा और बस अब हम दोनों में प्यासे मर्द और औरत की वासना दिख रही थी.

बीएफ सेक्सी दिखाओ बढ़िया

हरामज़ादी की सांसें तेज़ तेज़ चल रही थीं जिससे उसके चूचुक कभी ऊपर कभी नीच होते. बीएफ देसी बीएफ पिक्चरहाय भाईजान अब आप जल्दी से अपनी बहन को चोदकर बहनचोद बनिए और मुझे भी जवान होने का मज़ा दीजिए.

पूजा के जाने के बाद मैं सो गया और सुबह पूजा की बड़ी भाभी ने मुझे उठाया. कन्नड बीएफ व्हिडीओपारिवारिक पार्टी, साथ में बाजार एवं मूवी देखने जाना आदि सब होने लगा था.

उसने कहा- मैं घर से निकल चुकी हूँमैं उसका इंतज़ार करने लगा और अपने लंड को हाथ में लेकर उससे बातें करने लगा कि आज उसे चूत का पानी मिलेगा.मलयालम सेक्सी बीएफ: अब मेरे सामने उसकी नाजुक, मुलायम चुत खुली पड़ी थी, मुझे उसके दीदार हो गए थे.

उसने कहा- दीदी तब मुझे कुछ भी पता नहीं होता था सिवाय इसके कि जिसे चूत कहा जाता है, वो सिर्फ मूतने के लिए होती है.ऐसा बोलकर उसने मेरे हाथ को बहुत ज़ोर से पकड़ लिया और मेरे ऊपर सवार हो गई.

और हिंदी बीएफ - मलयालम सेक्सी बीएफ

इसमें विशेषकर ये बताने लायक है कि मैं लोगों से बात करते वक्त उनसे उसकी बात को सुनता हूं, खासकर लेडीज़ की.” चेतना बोली।कौन?” हम तीनों ने उसकी तरफ देखा तो वह घबरा गई।नहीं… कोई नहीं” वह बोली।कौन? कौन?” रंजू उसे चिढ़ाती हुई बोली।नही…कोई नहीं” चेतना इधर उधर देखते हुए बोली।तुम्हारा नौकर… क्या नाम है उसका?” राखी कुछ सोचते हुए बोली।कौन… दामोदर?” रंजू ने चेतना को चिकोटी काटते हुए पूछा।हाँ याररर… क्या मस्त है ना!” अब राखी लगी चेतना की टांग खींचने लगी।हाँ यार… उसका वो ना बहुत बढ़िया है… और मजबूत है.

यह क्या कर रहे हो?इतना कहकर आपा अपने रूम में जाने लगीं, तो मैंने आपा को आवाज दी लेकिन आपा ने मुझे डांट दिया कि आज के बाद मुझसे कभी बात मत करना और यह सब शाम को अम्मी को बोलूँगी. मलयालम सेक्सी बीएफ और ये देख कर मैंने भी स्पीड बढ़ा दी और शिवानी को ऐसे चोदने लगा जैसे आज उसकी चुत फाड़ ही डालूंगा!तभी मैंने एक डिलडो लिया और प्रभा की गांड में डाल के हाथ से ही उसकी गांड मरने लगा.

धीरे धीरे वाली शुरुआत अब व्यग्र रूप ले चुकी थी… मैं अपनी तीनों उंगलियों को उसकी कसी हुई चूत में इतनी तेज़ी से अंदर बहार कर रहा था कि मेरी कलाई भर आयी.

मलयालम सेक्सी बीएफ?

मैंने जैसे ही उनके निप्पल को मुँह में लिया, भाबी की कामुक सिसकारी निकलने लगीं. आपको कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे नीचे दिए गए ई-मेल पते पे जरूर मेल करें. मैं ज़ोर ज़ोर से उनको धक्के पे धक्का दे रहा था, उनके दोनों चूचे तो मानो झूले में झूल रहे हों, ऐसे हिलोरें ले रहे थे.

दोनों हाथ उसके चेहरे पर रख कर, अपना चेहरा पास लाकर उसके होंठों से होंठों का चुम्बन करने लगा. जीजा ने मेरे मुंह में अपनी उंगलियां डाल दी, मैं उन्हें चूसने लगी, तभी उन्होंने अपना लन्ड मेरे हाथ में पकड़ाया और बोला- अब तुम मेरे लन्ड को चूसो वन्द्या!मैं बोली- मुझे घिन आएगी!जीजा बोले- लड़कियां लन्ड को चूसने को पागल रहती हैं, वन्द्या चूसो!और मेरे मुंह में लन्ड डाल दिया. चल बस कर नवीन…मॉम की बात सुन कर नवीन साड़ी से बाहर अपना मुँह पौंछता हुआ निकला.

बिंदु ने उसको समझाया कि कभी कुत्ते को कुतिया पर चढ़ते हुए देखा है?तो बोला- हां बहुत बार. बुआ के घर टीवी नहीं था, मेरे घर पर था तो वो डेली रात को डिनर के बाद मेरे घर टीवी देखने आ जाती थीं. मैंने उससे लंड के पास में किस करने को कहा तो उस ने जोरदार किस किया.

हल्की हल्की झांटों वाली चूत का भी एक विशिष्ट सौन्दर्य होता है जैसे हमारे सिर के केश हमारे चेहरे को सुन्दरता प्रदान करते हैं, ठीक वैसे ही छोटी छोटी झांटों वाली चूत भी मुझे अत्यंत मनोरम लगती है देखने और चोदने में. इसका वचन दे सकते हो?मैंने उनकी आँखों में आँखें डालते हुए कहा- बस इतना.

फिर उसको एक हेयर रिमूवर क्रीम की शीशी देकर कहा कि इस क्रीम को चूत के बालों पर लगा कर दस मिनट रखना, फिर किसी साफ़ कपड़े से साफ़ करके अच्छी तरह से वॉश कर लेना.

साली के चूचे कस कर जकड़ लिए और दोनों पंजे अकड़ा कर उँगलियाँ अंगूठे उनमें गाड़ कर ऐसे मसलने लगा जैसे सचमुच में उनका कीमा बनाना हो.

मैंने उसकी दोनों बाजू पकड़ी और उसे अपनी ओर खींचा, धीरे से उसे किस करते बोला- आई एम फॉलिंग इन लव विद यू!उसने बोला- डोंट… इट विल ओन्ली हर्ट अस बोथ. अभी जब भी मैं जॉब से छुट्टी पर घर आता तो हर बार ससुराल जाकर ममता की चुदाई करता हूँ. हमारे घर में खेती और भैंसों का काम करने के लिए एक बिहारी नौकर रखा हुआ है, उसका नाम राजेश है, वो देखने में बहुत सुन्दर लगता है और बॉडी वी बहुत अच्छी बनाई हुई है.

तब मामी बोलीं- बस इतना ही?तब मैंने उन्हें उठाकर बेड पर पटका और उनके ऊपर चढ़कर उनके बोबे मसलने के साथ साथ उनके होंठों पर किस करने लगा. ‘राजे राजे राजे… मैं तेरी गुलाम बन गई… अब से मैंने तेरी रखैल… इतना मज़ा!!! हाय… हाय…. जब मैं झड़ने के करीब आया तो मैंने ज्योति से कहा- अब मैं झड़ने वाला हूँ इसलिए बताओ ज्योति कि मैं कहाँ निकलूँ?तब तक काजल दीदी बीच में ही बोल पड़ी- वीशु, मेरे मुँह में झड़ जाओ.

कुछ सहलाने पुचकारने के बाद अचानक मैंने अपने हाथों की पकड़ को मज़बूत करते हुए सुकन्या रानी की चूत को मुट्ठी में भर के दबा लिया.

उसकी चूत नंगी करते ही बहूरानी का चेहरा लाज से लाल पड़ गया और उसने अपना मुंह अपनी हथेलियों से छिपा लिया. अभिलाषा कहने लगी- मिस्टर राज! मैं ड्यूटी पर हूँ, आप यह क्या कर रहे हैं? प्लीज मेरे हाथ छोड़ दीजिए. कुछ देर बाद वो मेरी चुत के होंठों को जितना भी फैला सकता था, फैला कर अपनी ज़ुबान उस में घुमाता था.

वहां से फिर उसने अपने हाथ को पद्मिनी की बांहों के नीचे फेरा, जहाँ छोटे छोटे बाल उग गए थे… और अपनी नाक को वहां रगड़ कर सूंघना शुरू किया. अब उसके चूतड़ व पीठ मेरी तरफ थे, मैंने थूक लगाकर उसकी गांड पर अपना लंड टिकाया, लौंडा तैयार था, उसने गांड ढीली कर ली और लंड आसानी से उसकी गांड में घुस गया. मैंने उठाया तो पापा ने कहा कि हमें गांव जाना होगा, उधर किसी की डेथ हो गई है.

भाभी की मादक कराहें निकलने लगीं- आहा ह्ह्ह्ह आह्ह ह्ह्ह ऊह्ह्ह ह्ह… ये बहुत बड़ा है.

दीक्षा- आप नाराज़ हो गए न… इसीलिए मैं नहीं बता रही थी… प्लीज नाराज़ मत हो ना।उसकी बच्चों सी मासूमियत ने मेरे अंदर तूफान ला दिया था। एक तरफ मैं उससे प्यार करने लगा था तो दूसरी तरफ मेरी वासना बढ़ती जा रही थी। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूँ। जिसके कारण मेरा ग़ुस्सा बढ़ता चला गया और मैं उस पर बरस पड़ा- दीक्षा जाओ यहाँ से… वरना मैं कुछ कर बैठूँगा. मैंने उनकी गांड के छेद पर लंड टिकाया और एक धक्का दे मारा तो मेरी मम्मी एकदम से उछल पड़ीं.

मलयालम सेक्सी बीएफ जो हुआ था वह सहज रूप से हुआ था।चलो जैसे भी हुआ पर कमीने की तो बन आई।तो उतार दें कपड़े?” अहाना ने उसे देखते आंख मारते कहा।पहले घर ठीक से लॉक कर दो कि कहीं कोई आ न सके और देख लो कि उस दिन की तरह पहले से ही कोई हो न. मैंने लंड बाहर निकाल कर पहले उसकी चुत की मलाई को चाटा, फिर चुदाई चालू की.

मलयालम सेक्सी बीएफ फिर मैंने अपना लंड निकाल कर सबा के मुँह के सामने हिलाया तो वो समझ गई और उसने मेरे लंड को आने मुँह में ले लिया और कुल्फी की तरह लंड चूसने और चाटने लगी. ”पूजा फिर रमेश का चुदाई पूरा साथ देने लगी, वो रमेश के ऊपर चढ़ के उसके सारे बदन को प्यार करने लगी.

उसकी फ्रेंड और किरायेदार भाभी के संग क्या मजे हुए ये सब अगली चुदाई की कहानी में लिखूंगा.

हिंदी सेक्सी वीडियो खेतों में

खैर इसका असर यह हुआ कि उसने ऑनलाइन एक लंड स्ट्रेप ऑन वाला मंगवा लिया. उधर बड़ी चाची ने छोटी चाची का मुँह जोर से अपनी चुत में दबा दिया तो छोटी चाची की चीख उनके गले में ही घुट कर रह गई. उसको किसी तरह हमारी कहानी का पता चल गया तो उसने मुझे कहा- जीजू, क्या बात है, ममता दीदी पर बड़े फिदा हो रहे हो.

तो मैं अपने घर में हमेशा फ्री रहती थी तो पूरे दिन हम दोनों दोनों फेसबुक पर बातें करते थे. तुम हो ना सेक्सी!उसने शर्मा कर अपनी आंखें बंद कर लीं और इसी बात का फायदा उठा कर मैं दीदी को किस करने लगा. मैंने अपनी वाइफ से बोला- साली… कितने लंड लेगी अपनी चुत में… एक लंड ने तो तेरी चुत फाड़ दी.

वो खड़ी नहीं हो पा रही थीं, तो मैंने उन्हें उठाया और रूम में ले गया.

तब मैंने जीभ को चुत की फांकों के ऊपर ही फेरने का मन बनाया और उंगली अन्दर से नहीं निकाली. मैंने दोनों का रस चाट कर साफ कर दिया, दोनों का एकदम टेस्टी पानी था. वहां से फिर उसने अपने हाथ को पद्मिनी की बांहों के नीचे फेरा, जहाँ छोटे छोटे बाल उग गए थे… और अपनी नाक को वहां रगड़ कर सूंघना शुरू किया.

हम दोनों लोग चुदाई करते करते बीच बीच में एक दूसरे को किस कर रहे थे और एक दूसरे के होंठों को चूस रहे थे. मैं दीदी की चुत में अपनी जीभ को बहुत अंदर तक घुसेड़ कर चूस रहा था, बीच बीच में मैं उनकी चुत के दाने को भी अपने होंठों से दबाते हुए खींच रहा था, जिससे दीदी की गरम आहें निकल रही थीं. मैंने शीतल से कहा- चोदने का मन कर रहा है!तो शीतल ने कहा- आगे जंगल की तरफ झाड़ियों में चलते हैं!हम लोग झाड़ियों में पहुंच गए, वहां कुछ कपल पहले से चुदाई में मगन थे, ये सब देख के शीतल भी गर्म हो गयी, शीतल तुरंत घुटनों पर बैठ गयी और मेरा लंड बाहर निकाल के चूसने लगी.

भोसड़ी वाली शोर करेगी तो पूरा कस्बा यहां इकट्ठा हो जाएगा और फिर सारे के सारे तुझे चोदेंगे. हम अलग हुए कभी न मिलने के लिए!वह जीप लेकर चला गया, मैं स्टेशन की ओर बढ़ा।.

तभी चाचा बोले- देखो यह वन्द्या का दर्द गायब हो गया है, अब मनोहर वन्द्या की चूत में अपना लंड अन्दर बाहर करो और धीरे धीरे स्पीड बढ़ाना. इन सुन्दर, मुलायम, रेशमी हाथ पांव चूसूंगा तो कितना आनंद आएगा, यह मैं कल्पना कर कर के बेहाल हो रहा था. फिर उनके बालों को कस कर पकड़ कर सोफा से उठा कर सीधे पंलग पर पटक दिया.

जब वो नहा रही थीं और पानी उनके शरीर पर गिरा तो पेटीकोट उनके शरीर से चिपक गया और सारा कुछ दिखने लगा था.

फिर उन्होंने अपनी जीन्स उतारी, उन दोनों ने अपनी अपनी ब्रा के रंग की पैंटी भी पहनी हुई थी. मैंने अपने दूसरे दोस्त से पूछा तो वो कहने लगा- मेरा भी हो गया, मैंने भी जम कर चोद लिया है. मैं जल्दी से उसके मम्मों को टॉप के ऊपर से ही दबाने लगा और थोड़ी देर बाद मैंने उसका टॉप भी उतार दिया.

बुर की रसमलाई की तेज़ फुहारें मेरे लंड पर चारों तरफ से पड़ती हुई महसूस हुईं. छोटे टमाटर जैसा हिस्सा योनि की फांक में एकदम गुम हो गया।फिर मेरे पसीना छूट गया यह देख के.

मेरी गांड की कहानीडांस में गांड हिलाई फैन्स से मरवाई-1से आगे:उन भाई साहब का नाम रमेश था, वे गांव के समृद्ध किसान परिवार से थे. डॉली ने लंड को पकड़ रखा था और एकता को लंड के ऊपर आने का बोला और एकता की गांड पर मेरे लंड को सैट करने लगी. करीब दस मिनट बाद काले रंग की ऑडी कार आकर रुकी और तो उसमें से मेरे पड़ोस की रहने वाली काजल दीदी, ज्योति और एक 24-25 की दूध जैसी गोरी और एकदम मस्त आइटम शायद उसका नाम कविता था, उतरीं और तीनों सुन्दरियां सीधी उस कमरे में आईं, जहाँ मैं लेटा हुआ था.

સેકસી ફિલ્મ

मेरा लण्ड बुरी तरह से अकड़ने लगा।मैंने धीरे से प्रिया को अपने से दूर किया और उनके माथे पर किस किया फिर दोनों आँखों पर किस किया।प्रिया ने आँखें बंद कर ली.

बुर की रसमलाई की तेज़ फुहारें मेरे लंड पर चारों तरफ से पड़ती हुई महसूस हुईं. जैसे ही मैं कमरे का दरवाज़ा खोल रहा था, सामने से मेरा जीजू रमेश दिखाई दिया. मैं तुम्हारी स्माइल का दीवाना हूं और ये स्माइल बनी रहने के लिए जो हो सके वो करने के लिए तैयार हूं.

उसके बाद मैंने उनके गले पे किस किया और धीरे धीरे ऊपर आते हुए भाभी के होठों को चूसने लगा. ब्रा और पैंटी भी उतार कर मेरे दोनों तरफ मेरी दोनों नंगी बहनें सो गई और मैं बीच में नंगा लेता था। मैं तो खुद पर कंट्रोल नहीं कर पा रहा था. नंगी बीएफ दिखाओ वीडियो मेंफिर वो मेरी गर्दन को किस करने लगा, फिर उसने मेरे गालों को चूसना शुरू कर दिया और अपने दांतों से चबाने लग गया.

पूरे रूम में लंड चूत की पट पट की आवाज़ गूँज रही थी और भाभी की मादक सिसकारियां माहौल को और सेक्सी कर रही थीं. किस करते करते उनके लन्ड तक पहुँच गया, वो बोले- मुँह में लो ना?पहले तो मैंने मना कर दिया लेकिन बाद सोचा एक बार ट्राय करके तो देखूँ कि कैसा लगता है.

मैंने उनकी गांड पर आठ दस ज़ोर ज़ोर से थप्पड़ मारे, जिससे उनकी गांड लाल हो गई. मैंने गुस्सा होते हुए उनसे पूछा कि ये वीडियो कब बनाई?तो एक बोला- कल नाइट में. उसने कंडोम लगाया और उसने अपना लण्ड मेरी चुत पर सेट किया और थोड़ा जोर दिया, उसका आधा लण्ड मेरी चुत में चला गया.

और कल मैं कुछ अलग इंतजाम करती हूँअब तक सुबह के 4 बज चुके थे तो वो जाने लगी. तब मेरे दिमाग में कुछ और ख्याल आया और सोचा कि आज अच्छा मौका है, दीदी को अपने प्यार के बारे में बता देने का. पूजा को छिपा कर मैंने भाभी को बोला- मैं नहा रहा हूँ भाभी, पूजा यहाँ नहीं है.

तब भी मुझसे उनका रोना देखा नहीं जा रहा था, तो मैं थोड़ी देर उनके बूब्स चूसने लगा और दबाने लगा.

वो मुझे देख कर कमेंट करने लगा- अगर तुम्हारी जैसी मेरी गर्लफ्रेंड हो होती नेहा. बस अकेले होने का जी चाह रहा था। हमारे नसीब में अकेला होना कहाँ नसीब… आज मौका था तो सोचा कि थोड़ा वक़्त यूँ भी सही। घर पे तो बोल के ही चले थे कि शाम हो जायेगी कल की तरह, तो कोई परेशानी भी नहीं।”पर यहाँ यूँ अकेले बैठना सेफ रहेगा भला? और यहाँ से वापस कैसे जायेंगी.

अपनी 24 साल की बाली उम्र में शादीशुदा लाइफ, वो भी कॉलेज करते हुए ये सब हो रहा था. ये हमारी मम्मी कम और रंडी ज्यादा है!और इतना कहकर उसने उसके बाल पकड़े और साड़ी खोल दी!शीतल बोली- तुम लोग बातें करो, मैं कपड़े चेंज कर के आती हूँ. फिर आरुषि ने मेरी बनियान उतारी और मेरी छाती को चूमते हुए नीचे लंड पर हाथ फिराने लगी, फिर उसने मेरे अंडरवीयर को खोलते हुए लंड को हाथ में पकड़ा और टोपे को नंगा करके उस पर जीभ फिराने लगी.

उसने गेम देखा और कुछ देर गेम खेल कर वो मेरे मोबाइल में पोर्न देखने लगी. फिर कुछ देर बाद मेरी भी तबियत ठीक हो गई और मैं भी अपने ऑफिस जाने लगा. मैंने उसको बताया था कि जब जोश चढ़ा करे, तो अपनी चूत में उंगली डाल कर अन्दर बाहर किया करो, इससे तेरी पिपासा शांत हो जाएगी और तुम झड़ जाओगी.

मलयालम सेक्सी बीएफ तो मैं अनजान बनते हुए ऐसे कहा- मैं कुछ समझा नहीं?तो उसने कहा- तुम्हारा हाथ कहाँ था आज?मैंने कहा- कहीं नहीं… क्यों क्या हुआ?तो उसने कहा- तुम्हारा हाथ आज मेरे सीने पे था. मैंने विदेश से पढ़ाई की है और पढ़ाई पूरी कर कुछ दिन पहले ही घर वापिस आया हूँ.

बुआ के घर टीवी नहीं था, मेरे घर पर था तो वो डेली रात को डिनर के बाद मेरे घर टीवी देखने आ जाती थीं

अब तक की चुदाई कहानी में आपने पढ़ा कि जगत ने मेरी चूत को अपने आठ इंच लम्बे और मोटे मूसल लंड से चोद कर मुझे थका डाला था और अब मुझसे उसका लंड सहन नहीं हो रहा था. तभी जैसे मेरी तन्द्रा टूटी, मैंने उसको बताया कि अंजना का इलाज लम्बा चलेगा और इसके इलाज में कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिये. वो अभी किशोरावस्था में थी, लेकिन देखने में पूरी भरी हुई जवान कचौड़ी सी फूली 18 साल से कम नहीं दिखती थी.

अब जब भी मैं दूध निकालती थी तो मैंअपने बदन को थोड़ा एक्सपोज़ करती रहती थीराजेश को… वो भी समझने लगा था मेरी हरकतों को!एक दिन भैंसों के बीच मेरे चूतड़ उसके लंड से छू गए. मैंने उसकी चुत से उंगली बाहर निकाली और उसकी तरफ मुँह करके उसको चूमने लगा. सेक्सी बीएफ वीडियो देखमैंने महसूस किया था कि मेरा लम्बा लंड देख कर भाभी की आँखें चमक उठी थीं.

फिर वो अपनी जीभ को उस पर फेरते हुए अपने बापू के चेहरे पर देख रही थी.

वैसे तो मैं उत्तर प्रदेश का हूँ लेकिन जमशेदपुर में रहकर नौकरी कर रहा था. 5-6 मिनट बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो वो अपने आप से अपनी गांड आगे पीछे करने लगी, मैं भी झटका दे दे कर उसे चोदने लगा.

मेरी कोशिश हालाँकि कामयाब नहीं हो सकी क्योंकि चूत के अन्दर पहले से ही आर्थर का ताकतवर लंड उछल-कूद मचाए हुए था. इत्तेफाक से जब वे इस बार सऊदी गये, मैं ठीक उसी वक्त लखनऊ शिफ्ट हुआ था तो मुलाकात न हो सकी।”मुझे नहीं पता था… मुझे लगा स्कूल कालेज के टाईम के दोस्त रहे होगे।”आप बताइये कुछ अपने बारे में।”मैं मलीहाबाद से हूँ. फिर मम्मों को पकड़ पकड़ का ऐसे खींचता था, जैसे कि किसी बॉल से कोई खेल रहा हो.

इसके कुछ दिन के बाद मैंने फिर से उनसे बच्चे के बारे में पूछा, तब उन्होंने बताया कि उनके पति में कुछ कमी है, लेकिन उनका इलाज चल रहा है.

जब मैंने उसे मेरे प्यार का इज़हार किया तो उसने भी हाँ कहा… लेकिन सब कुछ पहले ही जैसा था. उनकी पकड़ मेरे पीठ पे कमजोर होती जा रही थी, लेकिन उनके पैर अभी भी मेरे शरीर को जकड़े हुए थे. राज ने एक लंबी सांस ले कर एक जोर का शॉट मारा और उससे मैं लिपट गई- आह्ह राज… राज… और… और करो… मजा आ रहा है… चोदो मुझे… और तेजी से चोदाई करो मेरी!और राज शॉट पर शॉट मारने लगा.

रीना बीएफअब मुझ से रहा नहीं जा रहा था, मैं और पास जाके उसके पेट पे हाथ फिराने लगा. काजल ने अपनी चुत में पहली बार तुम्हारा पानी लिया था, मैं अपने मुँह में लूँगी.

सेक्सी में बताइए

इसी बीच मेरा स्कूल खत्म हो गया था और मेरे कॉलेज की पढ़ाई के लिए माँ मुझे लेकर शहर के बाहर चली गईं. ब्रा के ऊपर से ही चूचे दबाते दबाते मैं उसकी तरीफ करे जा रहा था और चुम्बनों वर्षा भी कर रहा था. मैंने उनसे पूछा- मैं आपका सामान ला दूँगा, पर मुझे क्या मिलेगा?भाबी ने कहा- जो आप कहो.

बिल्डिंग में से बहुत से लोग छुट्टी पे गए थे, तो ज्यादातर फ्लैट बंद थे. सोनिया तो ऐसे बेड पर पैर खोल कर ऐसे लेट गई, जैसे जन्मों से चुदासी हो. ऐसा करते हुए मैंने कुछ ही देर में उसका पानी निकाल दिया और फिर उसके पानी को अपने मुँह में ले कर पी गया.

दोस्तो आपने पिछली पोर्न कहानीफूफा जी के हब्शी लौड़े से चूत की चुदाई करवा लीमें पढ़ा कि कैसे मैंने रात को फूफा जी का नशे की हालत का फ़ायदा उठा कर उनका बड़ा हब्शी लंड अपनी चुत में लिया था. आज भी उनसे फोन पर बात होती है, पर उनसे मिलने का दोबारा मौका नहीं मिला. कहीं कोई शर्म नहीं। वह कोई नयी उम्र की लड़की नहीं थी, बल्कि खूब खेली खायी एक औरत थी और अपनी ज़रुरत को लेकर एकदम मुखर और स्पष्ट थी।अब तक वह जैसे भोग्या वाले रोल में थी और हम दोनों जैसे उसे भोग रहे थे लेकिन अब उसे यह मंज़ूर नहीं था। उसने खुद से आगे बढ़ कर मुझे चिपका लिया और मुझे रगड़ने लगी।होंठों से जैसे मेरे होंठ चूसे डाल रही थी, अपनी जीभ मेरे मुंह में घुसा दे रही थी और मेरी जीभ खींच-खींच कर चूस रही थी.

मैंने एकता की चुत से शुरू किया और अन्नू की चुत में उंगली गीली करके डालने लगा. वे खुश हो गए, मेरे चूतड़ सहलाने लगे, फिर थूक लगा कर अपना हथियार मेरी गांड पर टिका दिया.

डिनर के बाद हम दोनों ने थोड़ी देर होटेल के पार्क में टहलकदमी की और ऐसे ही बातें करते हुए वापिस अपने कमरे की तरफ बढ़ने लगे.

उसने गेम देखा और कुछ देर गेम खेल कर वो मेरे मोबाइल में पोर्न देखने लगी. भाभी का बीएफ एचडीराशिदभाई के सामने नंगी हो गयीएकदम? छी…” मुझे एकदम इतनी तेज शर्म आई कि चेहरा तक गर्म हो गया।तो पहन लूं कपड़े और तड़पती रहूं खुजली लिये।” अहाना ने मुंह बनाते हुए कहा।अरे तो सलवार खिसका के मुनिया खोल देती. देसी बीएफ बुर चुदाईअन्तर्वासना के चाहने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी गर्म कहानी के दूसरे भागचुदाई की कहानी शबनम भाभी की-2में आपने पढ़ा कि भाभी ने मुझे उनके नाम की मुठ मारते देख लिया. मेरी रसियन वाइफ मुंह में एरिक का लंड लिये हुए घू-घू की आवाजें निकालने लगी और उसकी आँखों में आंसू छलक आए!इसको कहते हैं- एयर टाइट पोज़!मेरी गोरी बार्बी डॉल के शरीर से कुछ भी बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं बचा था… उसका दर्द भी सिर्फ उसकी आँखों के रास्ते आंसुओं के रास्ते बाहर निकल रहा था.

मुझे भी न जाने क्यों उसके द्वारा बुलाए जाने में एक ख़ुशी सी मिली थी.

सोनिया तो ऐसे बेड पर पैर खोल कर ऐसे लेट गई, जैसे जन्मों से चुदासी हो. फिर वो दोनों उठे और बापू पद्मिनी को गोद में उठाकर उसे चूमते हुए गुसलखाने में ले गया. जब मेरा लंड जागृति आंटी की चूत में घुसा तो मुझे इतना आनंद आया जितना आनंद मुझे अपने जीवन में कभी नहीं आया था.

क्या बताऊँ दोस्तो, मुझे उससे पहली नज़र में प्यार हो गया!वो देखने में बहुत ही सुन्दर, और हाइट में मुझसे लगभग 4 इंच कम यानि की 5 फीट 6 इंच के आस-पास रही होगी और उसका फीगर यही कोई 32-28-32 के आस-पास का होगा. एक दिन मेरी सहेली ने मुझे एक इंडियन सेक्स वीडियोस साईट पर से एक पोर्न वीडियो का लिंक सेंड किया, उसको देख कर मुझमें सेक्स की इच्छा जागने लगी थी. और हाँ देखो… अगर बोर होने लगो तो मेरे पीसी के टेबल की लेफ्ट ड्रॉवर से फिल्म निकाल कर देख लेना.

ಸೆಕ್ಸ್ ಕನ್ನಡ ಪಿಚ್ಚರ್

मैंने आँख मारी और इशारा किया तो उसने एक ही झटके में अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. बहुत ही प्यारी लग रही थी ऐसे सोये हुए वो!मैं पीछे हटा और उसके कूल्हों को सहलाने लगा. पर वो मानी ही नहीं, भाभी बोलीं- अमित तुमसे एक मदद चाहिए, मुझे बच्चे नहीं हैं.

उसे समझ में नहीं रहा था कि वो कैसे पद्मिनी से वो सब कहे, जो उसके दिल में था.

डॉली धीरे धीरे दो, फिर तीन उंगलियों को एकता की गांड में अन्दर बाहर करने लगी.

ये कह कर उस औरत नीलू ने भी मेरे सामने ही अपना टॉप और शॉर्ट उतार दिया. अब भाई ने मुझे लिटा दिया और मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया और चूत को खोल खोल कर अपनी लार से भर दिया. हिंदी लड़कियों के बीएफवो अजीब तरह की आवाज निकाल रही थी और उसकी मदमस्त कामुक आवाज से मुझे और भी मजा आ रहा था.

उसी वक्त उसने अपनी हिप उठा दी, जिससे मैंने उसकी पैंटी को थोड़ा नीचे तक खींच दिया. मेरी मेल आईडी है[emailprotected]आप मुझे फेसबुक पर भी ढूंढ सकते हैं. मैं लंड को चुत पर रख कर रगड़ने लगा वह कराहने लगी और चुत में लंड डालने को बोलने लगी.

कहां गायब हो गए थे? तुमको ढूँढने मैं रोज उस दुकान पर जाती थी कि शायद तुम दिख जाओ. अब मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने उसको सीधा लेटाया और पांच मिनट तक चोदने के बाद जब मेरा निकलने लगा तो मैंने उससे पूछा कि कहा निकालूँ?तो उसने बोला कि ऐसा मर्द का पानी चुत में निकलवाना ही अच्छा होगा.

मुझे कुछ नहीं पता था इसलिए मैंने पहली बार में ही 3 उंगलियां एक साथ डाल दी.

मैंने बिना देर किए उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और ब्रा को अलग कर दिया. मैं सोचने लगा कि भाभी जी अन्दर कैसे आ गईं, फिर याद आया कि रात को हमने डोर बंद तो किया था मगर लॉक नहीं किया था. लगता था जैसे कि 18 साल की कोई कच्ची कली हो, जिसकी कली अभी खिली ना हो.

जपानी बीएफ सेक्स उसकी गाली सुनकर मैंने एक धक्का लगा कर आधा लंड उसकी चुत में डाल दिया. दो दिनों बाद भाई का फोन आया- तुम चिंता मत करो, अगर प्राब्लम है तो मेरे शहर में आ जाओ, मैं तुम्हारा रहने का प्रबंध कर दूँगा.

फिर मुझे थोड़ा ये भी लगा कि अगर उनको कुछ मेरे साथ ग़लत करना होता तो मुझे रात को नहीं बुलातीं. फिर मैंने भाभी की कमर में हाथ डाल कर अपनी तरफ खींचा तो भाभी एकदम से सिहर सी गईं और ‘इस्स्स्स. हम जिस गली से गुजरे, वहाँ दोनों तरफ एकदम सजधज कर लड़कियाँ और औरतें खड़ी थीं.

सनी लियोनी का सेक्सी फोटो

कुछ देर बाद वह आदमी चला गया तो उसने अपनी गर्लफ्रेंड को फिर से पकड़ लिया और उसे किस करने लगा, उसकी चूचियां दबाने लगा. क्योंकि सुकन्या रानी के हाथ पाँव बेड से बंधे हुए थे इसलिए सुकन्या बस अपनी कमर को उचका उचका कर मेरा साथ दे पा रही थी. अब मेरे सामने उसकी नाजुक, मुलायम चुत खुली पड़ी थी, मुझे उसके दीदार हो गए थे.

कुछ देर आराम के बाद मैंने बिना उनके कहे अपना लिंग उनकी योनि में डाला और कार्यक्रम दोबारा शुरू किया लेकिन इस बार सब मजे से सही सही हो गया।जब मैं वापिस आने लगा तो उन्होंने मुझे थैंक्स बोला और कुछ पैसे दिए. उसने कहा- मैं किसी लड़के को नहीं जानती हूँ और इसमें मुझे डर भी लगता है.

वो हर धक्के का कुछ इस तरह स्वागत कर रही थी, जैसे कोई बहुत दूर से आया दोस्त हो.

अलका चिहुंक उठी… मेरी गर्दन छोड़ के मुंह अलग किया और ज़ोर से सीत्कार भरी. तो ये सुनते ही मैं गर्म हो गया और किस करते हुए उसके चूचे दबाने लगा. मेरी कहानी पर अपने विचार मुझे मेल करें, मेरा मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरा नौकर राजू और मेरी बहन-5.

वह हँसते हँसते बोला- तुम सुर में गा रहे हो, गला अच्छा है पर शब्द गलत हैं तुम्हारे चू…. फिर मैंने उससे कल की चुसाई चटाई की बात के बारे में पूछा, तो वो कहने लगी कि हां मुझे भी तुमसे ये सब करना है, पर इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकती हूँ. आधा घंटे तक हमने बातें की होंगी कि भाभी ने अब अपनी गांड में उंगली करते हुए मुझे गांड मारने का इशारा दिया.

मनोहर ने अपना आधा लंड चूत से निकाला और मेरी चूत खोल कर देख कर अपनी उंगली मेरी चूत में डाल कर बोला कि हां थोड़ा बहुत खून निकला है क्योंकि ये वन्द्या नई लड़की है, कम उम्र की है और वो मर्द ही कैसा, जो लड़की की चूत से खून ना निकाले.

मलयालम सेक्सी बीएफ: सुकन्या की नज़र मेरे लण्ड पर गड़ गयी और मैं जानता था कि आगे करना क्या है. ? मैं समझा नहीं?वो उसी तरह झुके हुए कहने लगी- अरे जब मेरी बेटी ठीक हो जाएगी तो मुझे चैन मिलना तो तय ही है न.

मैंने उसको बोला कि तुमको मैं सबसे पहले किस करूँगा, फिर नीचे आ कर तुम्हारे दूध पियूंगा, चूसूंगा और कमर सहलाऊंगा, चूत चाटूंगा और चूत को भी चूसूंगा. आप सबने मेरी पिछली कहानीबुआ के बेटे ने चोद दियाको बहुत प्यार दिया, उसके लिए धन्यवाद. मैंने पेंटी को खींच कर फाड़ दिया और उनकी चूत पर मुँह लगा कर बोला- ला पिला.

वो नंबर देख कर चौंक गया क्योंकि यह जिस आदमी ने हमारी शिकायत की थी, उसी कमीने का नम्बर था.

वैसे भी उसको मेरी छेड़ छाड़ में, चूतड़ या चुची या जांघें सहलवाने में बड़ा आनन्द आता है, जबकि सब लड़कियों की तरह ऊपर से नक़ली गुस्सा दिखाती है. अपनी बेटी की चूत में अपना मोटा लंड घुसाने के लिए उसको तैयार कर रहा था. मैंने उनकी तरफ देखा और एक प्यारा सा क्यूट सा चेहरा बना कर सॉरी कहा.