बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सनी लियोन सेक्सी वीडियो चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

नए जमाने की सेक्सी: बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो, अब तक इस हिंदी चुदाई स्टोरी में आपने पढ़ा था कि दीपक ने मेरी दमदार चुदाई करके मुझे तृप्त कर दिया था और अब वो मुझे दुबारा चोदने के लिए कह रहा था.

सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स एक्स

तो मैं वापस लौटने लगा और एक तिराहे पर पहुंच गया, जहाँ मुझे मालूम भी नहीं लगा कि मैं आया कहाँ से था. www सेक्स कमदेखा सब घर थे क्योंकि संडे था, तो सबसे मिला, मौसी ने सबसे मेरा परिचय कराया कि ये मेरा भांजा है.

तभी मैं अपने गांव गया, शायद कोई फंक्शन में पापा की जगह मुझे जाना पड़ा था. सनी लियोन के सेक्सी पिक्चर वीडियोअब तक की इस सेक्स स्टोरी के पिछले भागग्रुप सेक्स का ऑनलाइन मजा-2में आपने जाना था कि मुनीर तारा और माइक का थ्री सम सम्भोग चल रहा था, जिसे मैं ऑनलाइन देख रही थी.

उसने मेरी ब्रा और पेंटी भी निकाल दी और मेरी चूची को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा.बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो: ये भी नहीं मालूम?मैंने भी मज़ाक मज़ाक में बोला- नहीं मालूम कि तुम क्यों टॉयलेट जाना चाहती हो.

उसके साथ बातचीत हुई, उसने मुझे रोजाना के आधार पर ब्वॉयफ्रेंड हायर किया था, उसका हज़्बेंड बिज़्नेस के लिए ऑस्ट्रेलिया में रहता था.उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैं तुरंत दो उंगलियाँ उसकी चूत में डाल दी और जोर जोर से फिंगर फक करने लगा.

हिंदी सेक्सी मूवी ब्लू पिक्चर - बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो

कई बार सोते हुए मैं जानबूझ कर अपने हाथ उसके मम्मों पर रख देती थी और कई बार उसकी चूत पर भी.एक दिन जब मैं बाथरूम में उनकी पेंटी में मुठ मारने घुसा, तो देखा कि उनकी पेंटी बहुत ही ज्यादा गीली थी, ऐसा लग रहा था जैसे कि नहाने से पहले वो अपनी चुत में उंगली डाल कर डिसचार्ज हुई हों.

मेरी गांड फट के हाथ में आ गयी, लगा कि आज तो सारी दीवानगी एक झटके में खत्म हो जाएगी. बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो उसने पूछा- मुझे कब करोगे?मैंने कहा- रात को!वह खुश हो गई और वहां से चली गई.

तभी उन्होंने मेरे कान में बोला- सर को सिर्फ गांड दिखा रहे थे या और कुछ भी दिखाते हो?मैंने गांड को उनके लंड की ओर उछालते हुए बोला- आपको भी देखना है क्या?तभी वे मेरी चुचियां को दबाने लगे और एक हाथ गांड में डालने लगे.

बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो?

अंदर आकर वो रसोई में पानी पीने जा रही थी कि रास्ते में ही बाथरूम से सिसकारियों की आवाज सुनकर रुक गयी और बाथरूम के पास आकर जोर से दरवाजा बजाया. पर अब मेरी हालत बहुत खराब थी, मुझे अंकित प्यासा छोड़ गया था, मेरा पूरा जिस्म अकड़ रहा था, पूरा बदन टूट रहा था, कभी भी लड़की को ऐसे नहीं छोड़ना चाहिए।मैं बता नहीं सकती कि मुझे क्या फील हो रहा था. ऐसे लोग मेरी फ़िक्र भी करते हैं और मुझे मजा देते हुए धकापेल चोदते भी हैं.

आज तुम मेरे साथ रहना।फिर हम एक बिल्डिंग में गए, कार पार्क की और लिफ्ट से साक्षी के घर गए। अन्दर आते ही साक्षी ने गेट बंद किया और बोली- रोबिन जाओ बेटे रूम में. सुनील ने उसे ड्रिंक ऑफर की लेकिन उसने ‘मैं नहीं पीती…’ बोल के टाल दिया. मैंने उसको सीट पर लेटा दिया और उसके टॉप ऊपर किया, अन्दर उसने ब्लैक कलर की जॉकी की ब्रा पहनी थी.

मैं नहीं चाहता कि जब मौका मिला है तो उसको अच्छे से इस्तेमाल न करूँ … और हां मैं प्रिया के लिए लाल रंग की ब्रा और पैंटी भी खरीद लाया था. मैं एक बिल्कुल सीधा साधा सा व्यक्ति हूँ लेकिन कभी कभी जीवन में इस प्रकार की घटनाएं घट जाती हैं, जो कि व्यक्ति के जीवन को पूरी तरह बदल देती हैं. उसने आंख बंद करके ही कहा- हैरी डाल भी दो न, क्या कर रहे हो!मैं भी उसकी बात को सुनके एकदम जोश में आ गया और पूरा लंड एक बार में ही डाल दिया.

सेठ जी को भी सब ठीक लगा और उन्होंने बुआ जी से बात करके रिश्ता पक्का कर दिया. वो मुझे अपनी कार में ले गयी, उसने पेसेंजेर साइड वाला दरवाज़ा खोला और सीट पर बाहर की तरफ मुँह करके बैठ गयी.

उसने दरवाजा बंद किया और अपने बाल बांधे और ड्रॉवर से ड्यूरेक्स का कंडोम निकाला और बोली- लगा लो.

उनमें से एक अंकल को पहचानती थी, वो मेरी मौसी की ननद के पति थे, वो आर्मी से रिटायर्ड हो चुके हैं.

कुछ देर बाद वो चाचा से बोला कि इसकी टांगें फैलाओ ताकि चूत को देख सकूँ कि यह चुदी हुई है या नहीं. चाचा, आज आपने तो हम दोनों की किस्मत बना दी, मैं तो कहूंगा कि वन्द्या को आप अपनी परमानेंट अपनी रखैल बना लो, इसकी मम्मी का चक्कर छोड़ो, जो करना है इसी के लिए किया करो. उसकी चूचियों को मस्ती से मसकता हुआ, मैं उसको दबा कर चोदे जा रहा था.

पापाऽऽ स्सस्सस्सस…आः ह…” बहूरानी के मुंह से धीमी सी कराह निकली और उसने मेरा चेहरा पकड़ कर अपने होंठ मेरे होंठों से जोड़ दिए और पूरी तन्मयता के साथ चूसने लगी. इसी के साथ प्रिया की मादक सिसकारियां और उसकी चुदाई करते टाइम जो भी आवाज आतीं, उससे मेरा मन और भी जोशीला हो जाता था. इस बात पे वो हंस दीं और बोलीं- बता बात क्या है?अब मैं चुदाई की बात करने में थोड़ा सा घबराने लगा.

मैं समझ गया कि आज यह बहुत ज्यादा गजब के मूड़ में है तो मैंने अपने आप को उसके हवाले कर दिया और उसके मुलायम होंटों को चूमने लगा.

दोस्तो, पिछली कहानीमालिक की बेटी के बाद उसकी बहन को चोदामें आपने पढ़ा था कि कैसे सतीश और बुआ जी का टांका सैट हो गया था और सतीश ने बुआ जी को चोद दिया था. कुल मिलाकर दिन बड़े बोरियत से निकल रहे थे और वापस जाने में अभी भी 20 दिन थे. अपनी नयी सेक्स की स्टोरी लेकर हाजिर हूँ, सो लेडीज, आंटी, और भाभी अपनी अपनी चुत में उंगली डालने को तैयार रहो.

मगर जरूरी था कंट्रोल करना तो मैंने पूछा- क्या बात है पूजा?ये बोलते ही पूजा बोली- क्या बात है … बड़ा प्यार आ रहा है? पूजा भाभी से सीधा पूजा?और बोली- तेरे मुँह से अच्छा लगता है. उस रात को सोते समय भी मैंने डर के मारे मौसी को टच नहीं किया, लेकिन तभी मेरा ध्यान स्नेहा की तरफ गया. वो अपनी ही बहन के आगे नंगा मजबूर था जो इस समय खुद ही नंगी थी, पर यह उसके लिए राहत की बात थी क्योंकि किसी नंगे आदमी के सामने नंगा होने में उतना बुरा नहीं लगता.

कभी ज़रा सा खड़ा होने की कोशिश करता भी था, तो चूत के पास आते ही अपना पानी निकाल देता था.

उधर मेरे चीखते ही उसने अपना लंड निकाला और मेरे कान में बोला- चिल्लाओगी तो कैसे काम चलेगा?मैंने धीरे से कहा- दर्द हुआ तो क्या करूँ?उसने कहा- क्या पहली बार ले रही हो?मैंने कुछ नहीं कहा. मैंने शहद निकाला और उसको अपनी तर्जनी उंगली से चाटते हुए स्वाति को देखने लगा.

बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो आज मैं मेरे जीवन की एक और वास्तविक घटना को कहानी का रूप देकर आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रही हूँ. करीब 20 मिनट के बाद मैं भी उनकी चुत में ही डिसचार्ज हो गया और अपना सारा पानी उनकी कसी हुई चुत में ही छोड़ दिया.

बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो सर मेरी लुल्ली को हिलाने लगे, थोड़ा सा हिलाते ही मेरी लुल्ली लंड बन कर बड़ी हो गई. प्लीज मेरी कहानी के बारे में अपने कमेंट, अपनी राय मुझसे जरूर शेयर करें.

उसने मुझे नजर भर के देखा और कुछ इस तरह से रिएक्ट किया जैसे उसको मैं कोई अजनबी सा लगा होऊं.

मारवाड़ी sex

उस से भी ज्यादा, उनकी अपनी बहन दोनों भाइयों के सामने ऐसे खुले में चूत, चूचियां और लौड़ा जैसे शब्दों का उपयोग कर रही थी वो भी बेधड़क. अब मैंने प्रिया की चूत में एक उंगली डाली तो प्रिया ‘ओह्ह … आह आआ आआह …’ करने लगी. आज मौसी मेरे साइड में आकर सोफा पे बैठ गईं और मुझसे इधर उधर की बातें करने लगीं.

मेरी और मेरी चाची की आपस में बहुत बनती है, तो मैंने उनसे बात करते हुए बताया कि मेरी एक गर्लफ्रेंड है. मैंने उसके चेहरे को ऊपर की ओर किया और पूछा- कभी किस वगैरह तो किया होगा?उसके आंखों में मुझे एक नशा सा महसूस हो रहा था. अब घर में सिर्फ वो और उसके दो भाई रहने वाले थे जिसमें से एक को उसने कल शाम में अपनीचूत का स्वाद चखायाथा और एक को आज सुबह ही अपनी चूत के साथ-साथ अपनी गांड का भी स्वाद चखा चुकी थी.

गोल भरी नंगी बाहें और टॉप में से बटन तोड़कर बाहर झांकते हुए उसके बड़े बड़े मम्मे थे, जिनका साइज़ लगभग 36 इंच होगा.

मैंने 2 दिन बाद का टिकट लिया रिजर्वेशन उसी पटना हटिया में और मैं रांची चला गया वहां जाकर मैं जब सुबह करीब आठ बजे रांची के प्लेटफार्म पर उतरा ही था कि उन्होंने मुझे फोन किया तो मैंने उसे कहा कि मैं स्टेशन पर उतर गया हूं. ”आपको कैसे पता है?”क्योंकि मेरा भाई आपके बारे में ही बात करता रहता है. इसके बाद उसने फैसला किया कि अब वो किसी ना किसी से चुदाई करवा के ही मानेगी।उसने बहुत सोचा कि सबसे आसान है कि किसी लड़के को पटाओ और खूब चुदाई करवाओ.

अगर मेरा निर्णय आप लोगो को पसंद ना आया हो तो भी मैं इसे अपने साथ ही रखूँगी और मैं कोई अलग मकान लेकर इसे पालूंगी. तभी मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और हम दोनों अगले राउड के लिए तैयार हो गए. हिमानी ने छोटी सी चिपकी हुई पतली सी लगभग 6 इंच की निक्कर पहन रखी थी तथा ऊपर एक स्लीवलेस टॉप पहन रखा था.

अचानक माइक ने अपना हाथ बिस्तर से हटा कर तारा को नीचे से हाथ डाल उसके कंधों को ऐसे पकड़ लिया, जैसे वो कहीं भाग न जाए. अब तो वो मुझसे छुड़ाने का प्रयास करने लगी, लेकिन मेरी पकड़ मजबूत होने के कारण वो मुझसे छूट न सकी.

देखते देखते मुझे शौर्य के कुछ सेक्सी पिक्स दिखे, जिसमें वो अपने गोल, सफेद और भरी हुए गांड को दिखा रहा था. वह दो बार झड़ चुकी थी लेकिन पता नहीं आज क्यों मेरा लंड झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था. चाची भी रुकने का नाम नहीं ले रही थीं, वो उसी तरह बेतहाशा अपनी भारी भरकम गांड को उछाले जा रही थीं.

उसने मेरी तरफ घूमते हुए कहा- क्या देख रहे हो??क्या मस्त गांड है यार.

फिर मैंने अपना लंड भाभी की चूत में रखकर फुल जोश में आकर जोरदार झटका मार दिया और लंड चिकना होने के कारण फिर से चूत में अन्दर घुसा गया. मेरी शादी हुई थी, तब मैं सत्ताइस साल का था और मेरी बीवी मुझसे तीन साल बड़ी तीस की थी. बस मैंने फांकों में सुपारा फंसाया और उसके ऊपर झुकते हुए उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया.

तो ऐसे ही उन दिनों गर्मी का मौसम था जब मैं एक अनजान डगर पर आगे बढ़ गया. फिर सब कपड़े पहनकर सामान्य माँ-बेटों की तरह तैयार हो गए क्योंकि मयूरी के घर आने का वक्त हो चला था.

जैसे ही चाचा का लंड मेरी गांड के छेद में टच हुआ, मुझे बहुत अजीब सी फीलिंग हुई. तभी टीवी पे बारिश की न्यूज दिखाने लगे, पूरे शहर में पानी भरा था और रास्ते बंद होने लगे थे और बिजली का भी प्रॉब्लम हुआ था. फिर रात में चाय देने के लिए मैं उनके कमरे में गई, तो उन्होंने मुझे पकड़ लिया और बोले- आज रात जब सब सो जाएं तो मेरी प्यास बुझाने तुझे आना ही है.

मोटी औरतों का सेक्स

उसकी कसी हुई ब्रा में से किसी पर्वत के सामान उठे हुए चूचों को मैंने जैसे ही आजाद किया.

भाभी दिखने में खूब गोरी तो नहीं, पर उनका रंग साफ है और वो घर में साड़ी पहनती हैं. उसके होंठ देख के ही मैंने अंदाज़ा लगा लिया था कि इसकी चूत का चीरा 3 इंच से ज्यादा का नहीं होगा. अचानक उसमें एक नंगी मैगज़ीन भी निकल आई, मैंने कहा- ये क्या है? तुम्हारे पास कहाँ से आई?वह चुप रही.

तभी मैंने देखा कि मामी नहाने के बाद मेरा फोन उठा कर देख रही थीं कि कहीं वीडियो रेकॉर्डिंग तो नहीं हो रही है. अगले दिन वो चला गया मगर जाने से पहले एक पत्र लिख कर मुझे देते हुए बोला कि इसे मेरे जाने के कम से कम चार घंटे के बाद खोलना. देवर भाभी की हिंदी चुदाईपद्रह मिनट की ठुकाई के बाद मैंने अपना माल उसकी चूत में उतार दिया और उस पर गिर पड़ा.

हम दोनों को डर नहीं था किसी का!और मुझे तो बहुत दिन के बाद लंड मिला था चुदवाने के लिए तो मैं बहुत मजे से आराम से अपने भाई से चुदवा रही थी. मैंने कहा- आपने मेरी बॉडी एक्सरसाइज़ करते से देखी न?तो अंकिता बोली- हाँ तभी देखी थी न.

मेरे पैर कांप रहे थे और मुझे खड़े होने में प्राब्लम हो रही थी तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया. मगर डॉक्टर ने उसे बताया कि इस लड़की ने तुम्हें होश में लाने के लिए अपनी जिस्म को नंगा करके तुम्हें सौंप दिया ताकि तुम्हें यह अहसास हो कि तुम अपनी प्रेमिका के साथ हो, वो तुम्हारे साथ ही है. मनीषा हल्के हल्के मेरे लंड को पूरा अन्दर तक लेने की कोशिश कर रही थी.

मुझे भी लंड गले में लेने में मज़ा आ रहा था, उन्होंने मेरा मुँह तब तक चोदा, जब तक की उनका सारा वीर्य मेरे गले में निकल नहीं गया. मैंने और श्लोक ने आश्रम से गुप्त दान की औपचारिकताओं को पूर्ण किया और दोनों अपने अपने होटल में लौट आए. कोई ना कोई आएगा शहीद होने!”मैंने कहा- ओके, कल से लंड की खोज शुरू!फिर मैं कॉलेज से छुट्टी के बाद घर आ गयी, रात वाली बात से मेरी वासना जाग गयी थी जो अब तक शांत थी.

थोड़ी देर मैंने पानी छोड़ा तो मौसी ने मेरे पानी को अपने मुँह में ले लिया, फिर अचानक खड़ी होकर कुल्ला करने चली गईं.

उन्होंने पीछे से मेरे बाल पकड़ कर अपना लौड़ा मेरी गांड में सैट किया. फिर उसने कहा- मुझे थूकना है!मैंने कहा- बाथरूम में जाकर थूक दो!तो वह बोली- आप मुझे अपनी बांहों में उठाकर ले जाओ.

फिर मैं उसको दीवार से सटा कर उसके गले में किस कर रहा था, पर वो मेरा साथ न देते हुए मेरी कैद से छूटने की चाहत दिखा रही थी. सायं 5 बजे मैंने हिमानी का दरवाजा खटखटाया तो उसने एकदम दरवाजा खोल दिया. यह पहला मौका था जब मैं 3 लंड से एक साथ मज़े ले रही थी। उसने मेरा मुंह अपने लंड से बन्द किया हुआ था और टीम और स्टीव मेरी चुदाई जारी रखी। बहुत देर तक दोनों ने मेरी चूत और गांड की पिटाई की, इस बीच पता नहीं मैं कितनी बार झड़ी, फिर मैं ऐसी ही नंगी सो गई.

उस पल को मैं बयां नहीं कर सकती। लगभग दस मिनट तक उसका दूध पीने के कारण प्रीति के चूचे और ज्यादा गुलाबी हो गए थे, और ज्यादा फूल गये थे. एक पल की देरी किये बिना उसने लंड के टोपे को चुत के मुँह पर लगाया और ऊपर नीचे हल्का सा रगड़ कर उसके ऊपर बैठ गयी. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के बारे में उन्हें पहले से ही पता था, शायद उनकी किसी सहेली ने बताया था उन्हें, तो वो भी इस बेस्ट साईट पर चुदाई की कहानियाँ तो पढ़ती थी.

बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो देखा जाए तो माइक और मुझे एक समानता यह थी कि उसे हिंदी ठीक से आती नहीं थी और मुझे अंग्रेज़ी ठीक से नहीं आती थी. ऊपर से मेरे सामने उसके दो तने हुए मम्मे मुझे ललचा रहे थे, जिनके ऊपर जालीदार ब्रा उसके आमों की खूबसूरती में चार चांद लगा रही थी.

देसी देहाती चुदाई

अगले दिन जब मैं उनसे कॉलेज में मिला तो मुझे उनसे मिलने में बहुत शरम आ रही थी. सच में स्वप्न सुन्दरी सी थी लाल रंग का स्लीब लैस सूट और हाई हील्स पहने एक जबरदस्त माल मेरे सामने खड़ा था. बस अब तो ‘कम्मो की कुंवारी चूत और मेरा लंड’ मैंने खुश हो कर सोचा और जेब से क्वार्टर निकाल कर तीन चार तगड़े घूंट नीट ही गले से उतार लिए और खाली क्वार्टर वहीं फेंक कर तेज कदमों से बारात में शामिल होने चल दिया.

मैंने बैठने के बाद उसका नाम पूछा, तो उसने अपना नाम आंचल बताया और पूछने लगी- तुम मुझे इतनी देर से क्यों घूर रहे थे?मैंने कहा- आप हो ही इतनी अच्छी कोई भी देखेगा. मुझे भाभी की इस बात से पता चला कि जिनको चोदने का मैं सपने रोज देखता था, वो तो खुद ही मुझ से चुदना चाहती थीं. ब्लू सेक्सी फिल्म हिंदी वीडियोधीरे-धीरे रेशमा अपने पैरों से मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा होने लगा.

दोस्तो, मैं आज आपके साथ अपनी पहली सच्ची स्टोरी शेयर करना चाहता हूँ.

मैंने सोचा- एक बार में ही पूरा अन्दर कर देता हूँ, दर्द का झंझट ही खत्म हो जाएगा. इसके बाद उनको घर में आने के बाद दरवाजा बंद करके बेडरूम में आने के लिए 4-5 मिनट लगे होंगे.

मैंने हैरानी से उसको देखते हुए पूछा- फिर?पिंकी बोली- फिर मैंने एक दिन सुना कि वो किसी लड़के को बुला कर लाया और मुझे दिखा कर बोला, आओ उधर बैठ कर बात करते हैं. बस 2 मिनट बाद मैंने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और उसको जोर जोर से चोदने लगा. कुछ गद्दे और कम्बल खरीद लिए, मन ही मन खुश भी था क्योंकि 2 चूत मेरे पास आने वाली थी, लन्ड भी खुश था.

वो मयूरी से बोला- मयूरी, अंदर चलें बेटा?मयूरी- क्यूँ पापा?अशोक- इनको रंगे हाथ पकड़ते हैं और फिर जोरदार चुदाई करेंगे… खुले में… सबके साथ…मयूरी- आज नहीं पापा… कल… यही तो मेरे जन्मदिन का तोहफा होगा… भूल गए?अशोक- अच्छा, चलो फिर कमरे में… तुम्हें तो चोद लूँ जी भर के… ये सब देखकर मेरा लंड उफान मार रहा है.

शीतल ने अभी एक नाइटी पहनी हुई थी और इस वस्त्र में उसके चूचियों और गांड के उभार साफ़ झलक रहे थे. फिर वो बोली- हाँ होता है कभी कभी … बिना खेले ही खिलाड़ी आउट हो जाता है. अंकल ने फिर मुझे बिस्तर पर लिटाया और फिर से मेरी दोनों चूचियों को मुँह में लेकर खूब चुसाई शुरू कर दी.

xxnx मराठीवासना और चूत गांड चुदाई से भरपूर मेरी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें. मुझे भी इन लम्हात का पहले से अंदाजा होता तो यूँ तुम्हारा तन ढलने की नौबत न आती। तुम्हारे यह थन सनी लियोनी की तरह वैसे ही फूले होते, ये चूतड़ किम की तरह बाहर उभरे होते और यह चूत पावरोटी की तरह फूली होती और तीन-तीन इंच बाहर निकली क्लाइटोरिस चूसने वाले होंठों को लुत्फअंदोज कर रही होती।”काश.

एक्स एक्स एक्स सेक्स हॉट

मैंने लड़के को फोन करके बताया भी मगर उसने कहा- मेरा कोई बाप नहीं है, मैं अब उसे नहीं देखने आऊंगा. उस वक़्त मम्मी ने साड़ी पहनी थी, पर उनके गहरे गले के ब्लाउज से उनकी चूचियों की लाइन दिख रही थी और संपत जी वहीं पर एकटक देख रहे थे. जिसका नतीजा यह निकला कि उसका सुपारा मेरी चुत को चीरता हुआ अन्दर चला गया और मेरी चुत से खून निकलना शुरू हो गया.

आज तेरी हर फरमाइश पूरी होगी?” मैंने कहा और उसकी जांघ को हौले से सहलाया. क्या करूँ?भाभी ने अपनी कमर पर मालिश करने को बोला और भाभी खटिया पर उल्टा लेट गईं. फिर 2 हफ़्तों के लंबे इंतज़ार के बाद 12वीं का लड़का आकाश मुझे प्रपोज़ करने आया, वो मुझे काफी दिनों से देखता रहता था पर कुछ नहीं बोलता था.

मैंने चुदास से भर कर अंकित के बाल पकड़ लिए और बोली- और ऊपर आ अंकित मेरे होंठों को चूम यार. परंतु सभी लोग मेरी मम्मी को बहुत अच्छे से जानते थे, मुझे देखकर बोलते थे कि यह तुम्हारी बेटी बड़ी हो गई. मैंने उनको भी उठा कर देखा हल्के से खूने के दाग से भरे वो विश्पर उसी में पड़े थे.

थोड़ी देर पीठ की मालिश करने के बाद शीतल का हाथ अपने आप ही मयूरी के गांड की गोलाइयों पर चला गया और वो बड़े प्यार से उनका मालिश करने में लग गयी. प्रिया के बदन को सहलाते हुए मैं अपने हाथों को उसकी जांघों पर ले आया और उसकी चिकनी जांघों को हल्के हल्के मुट्ठी में भर कर दबाना शुरू कर दिया.

लगभग 20 मिनट बाद एक लाल कलर की होंडा सिटी दुकान के बाहर रुकी और उसमें से करीब 28 साल की एक औरत निकली.

लेकिन बाथरूम के शीशे के परदे को नहीं हटाया, जिससे कि कमरे से बाथरूम में होने वाली गतिविधियों को देखा जा सके. ब्लू सेक्स ब्लू फिल्ममुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था, फिर भी समझा गया कि दीदी सेक्स चाहती है. हिंदी नंगी सीनचूंकि वो मेरी अच्छी दोस्त थी, तो एक बार वो मुझसे मेरी सेक्स लाइफ के बारे में पूछने लगी. मेरे सांवले हाथ में पकड़ा हुआ अंकल का गोरा लंड अब झटके भी ले रहा था.

अभी मेरे पति गुज़रे कुछ ही दिन हुए थे कि मेरे चाचा और चाची मेरे पास आए और बोले कि लाला तुम्हारे नाम से सब कुछ कर गए है या नहीं.

यह बात उस लड़की पता चली, तो एक दिन उसने मुझे क्लास के बाद रोक के मुझसे मेरा फोन नम्बर ले लिया. मैंने उसकी थोड़ी तारीफ की और कहा- मुझे आप बहुत अच्छी लगी हो, क्या मैं आपका नम्बर जान सकता हूँ?वो मुस्कुराते हुए बोली- किस चीज का नम्बर?मैंने अचकचा गया और कहा- फोन का नम्बर दे दीजिएगा. कुछ देर बाद मैं भी झड़ने वाला था और दस पंद्रह धक्के लगाने के बाद मैं लंड निकाल कर उसकी चूत के ऊपर झड़ गया.

मैं उन्हें ले कर स्टोर रूम में घुस गया और दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया ताकि कोई आ ना सके. फिर एक दिन शाम को जब मैं कॉलेज से घर आई तो मेरे घर में ताला लगा हुआ था, बगल वाली आंटी ने चाबी देते हुए बताया कि मेरे मम्मी पापा और भाई तीनों नानी के घर गए हैं मेरी मामी को देखने! उनकी तबियत ठीक नहीं थी. अब वो भी बड़ी मेरी आंटी बड़ी कमसिन नज़रों से मुँह पलट कर हंसते हुए मेरी गांड पे चमाट मारते हुए गांड को नोंचते हुए बोलीं- लगता है अभी भी मन नहीं भरा मेरे योगू का.

क्सक्सक्स+वीडियोस

तो मैंने बोला- ठीक है!मैं नहाया, खाना खाया और बाइक निकाल कर घर से निकल गया. पर अपने स्थिति पर काबू करते हुए उसने अपने हाथ में तेल लेकर मयूरी के पेट पर लगाया और मालिश करने में लग गयी. तो वह बोली- मुझे पता है और मैं सब सहन कर लूँगी, पूरा अन्दर तक डाल दो.

क्योंकि मैंने बड़े ध्यान से उनकी पेंटी को देखा था कि उनकी पेंटी में बहुत से सफेद दाग लगे रहते थे, जिससे ये पता चलता था कि मामी रात को या फिर दिन में ही कितनी बार झड़ जाती होंगी.

अब माइक ने सामने आते हुए लिंग पे हाथ से ढेर सारा थूक मला और एक हाथ से तारा की कमर पकड़ कर झुक कर लिंग योनि में घुसने का प्रयास किया.

कुछ देर यूं ही रुके रहने के बाद मैंने उसे साफ किया, कपड़े पहनाए और हम दोनों जाने को तैयार हो उठे. टॉयलेट में पहुँच कर पहले पूजा ने अपना चेहरा धोया और एक तौलिया भिगो कर अपने पूरे बदन को पौंछा. ಇಂಡಿಯನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊ ಕಮ್उधर चाचा ने चाची को चित करके उनके दोनों पैरों को घुटने तक मोड़ा और कंधों तक ले लिया.

यदि तुम्हारी सेक्स की इच्छा पूरी हो जाए तो फिर तुम्हारा पढ़ाई में मन लगेगा. यह बात उन दिनों की है, जब मैं 19 साल का हो चुका था, मेरा कलर फेयर और बॉडी स्लिम थी और आज भी है. वो मेरी चुची मसलते हुए बोला- वन्द्या, तू कब से चुदवाना शुरू करवा चुकी है, इतने मस्त तेरे फीचर्स हैं इतना जबरदस्त फिगर है वो भी इतनी छोटी उम्र में! वन्द्या तू लाजवाब है, इतनी छोटी उम्र में किसी भी लड़की का इतना मस्त फिगर नहीं होता है, तुम वन्द्या बहुत ज्यादा चुदाई करवा चुकी हो, सच बता मुझे भी!परन्तु मैं आज सच में कुछ नहीं बोल रही थी.

वो हमारी ही कदकाठी का था, पर बहुत ज्यादा सफेद रंग का था, बिल्कुल दूध जैसा सफेद. आज हमारा साथ दो, हम जबरदस्ती नहीं करेंगे, प्यार करने दो … तुम्हें बिल्कुल तकलीफ नहीं देंगे.

राज अंकल तभी मेरे ऊपर से उठ गए और अंकित को बोले कि अंकित आ सम्हाल अपनी बहन की चूत को.

अशोक की सरकारी नौकरी थी, वो देखने में एकदम साधारण व्यक्ति लगता था पर हमेश व्यायाम करता था इसलिए बहुत ही स्वस्थ था. कुछ देर बाद हिमानी से जब मेरी नजरें ही नहीं हट रही थी तो भाभी ने हिमानी से कहा- हिमानी! जरा अपनी मम्मी को ऊपर ही बुला लाओ, अभी आमने सामने ही बात कर लेते हैं. यह सोच कर पीछे के छेद को भी हल्का और साफ कर लिया ताकि किसी तरह का प्रेशर न बने। पिछली बार में तो मरवाने के टाईम ऐसा लग रहा था कि निकल ही जायेगा।”यह अच्छा किया क्योंकि शुरुआत में ऐसा होता है।”हां.

पंजाबी ब्लू फिल्म सेक्स मैंने मालिश खत्म की और 5 मिनट के चुसाई के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. कुछ देर बाद वो जब चेंज करके गाउन में आई तो माँ कसम मन कर रहा था कि साली को यहीं पटक कर अभी का भी चोद डालूँ.

रशीद ने पीछे से दांतों से उस ड्रेस की नॉट को निकाला और वो ड्रेस निकल गई. अदिति बेटा चलें फिर? वो सामान चेक करना है नहीं तो देर हो जायेगी फिर. फिर मामी जी ने थोड़ा सा आगे की तरफ झुकते हुए, अपनी गांड को पीछे से बाहर की तरफ निकाल लिया.

सेक्सी चूत दिखाइए

करीब एक डेढ़ घंटा खेलने के बाद सरिता ने कहा- यश अब थोड़ी देर सो जाते हैं. फिर मैंने पूछा कि तेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड है क्या?उसने भी ना में अपना सिर हिला दिया. फिर वो पूछने लगे कि मुझे उन टीचर की याद आती है?तो मैंने कह दिया- हां, कभी कभी आती है.

उसे समझना चाहिए था कि उसका बेटा शादी के लायक है, तब भी बेटे की शादी करने के बजाये अपनी कर ली. हमारी टैक्सी लाल किले के निकट पहुंच रही थी; किले की गुम्बदें साफ़ दिखाई देने लगीं थीं इधर कम्मो की जांघों के बीच छुपा लालकिला भी मुझे ही पुकार रहा था जिस पर मुझे चढ़ाई करके जीतना था पर सुरक्षित जगह की वजह से पता नहीं जीत भी पाऊंगा या नहीं.

जिस जिस्म को देखने हम पिछले एक वीक से तड़प रहे थे, बिना लाइट के उस हुस्न को कैसे देखेंगे.

भाभी को धकेल के दीवार से लगा दिया और होंठों को जोर जोर से चूसने लगा. तभी सिग्नल ग्रीन हो गया तो उसने अपने हाथ से पकड़ कर मेरी उंगली चूत से बाहर निकाल दी और कहा- अभी के लिए इतना काफी है. अब चमड़ी, लंड के इस काफ़ी चौड़े हिस्से से तुरंत नीचे उतर कर लंड वाले हिस्से में आ गयी थी.

उनकी मस्त गोरी गोरी मदमस्त मांसल और भारी गांड और फूल कर चौड़ी हो कर फैल गई. एक ही कप से आप और मैं दोनों ही आइस्क्रीम निकाल कर खा रहे हैं और किसी को नहीं लगता कि वो दूसरे की झूठी खा रही हैं. वह अपनी सुविधानुसार मेरा लण्ड चूसने लगी और मैं उसके दाने को अपने होंठों के बीच लेकर चूसने लगा.

उसने मुझसे कहा कि इस कहानी को अन्तर्वासना को भेज कर प्रकाशित करवा दूँ, इसलिए मैं यहां उसके लिए ये कहानी लिख कर भेज रहा हूं और उम्मीद करता हूं कि अन्तर्वासना के सभी पाठक इस कहानी को जल्द से जल्द पढ़ कर मजा ले सकें.

बिहार सेक्सी बीएफ वीडियो: फिर 15 मिनट की चुदाई के बाद जब लंड ने पानी छोड़ना शुरू किया तो मुन्ना ने पिंकी की चूत को ही भर दिया. यह सुन कर वो बहुत खुश हुईं और बोलीं कि कल शाम को ही हम लोग आते हैं.

फिर उसने कार स्टार्ट की और हम दोनों कुछ देर चल कर एक बिल्डिंग के पास पहुँच गए. दूसरे मांगलिक होने के कारण मेरी शादी नहीं हो पाई थी, उम्र भी तीस से ज्यादा हो गई थी तो अब रिश्ता होने के चान्स भी कम ही रह गये थे. मेरा स्कूल एक ग्रामीण क्षेत्र में है, इसलिये इस प्रकार की कोई बात होने पर अभिभावक अपनी लड़कियों को स्कूल से निकाल लेते थे.

वो मेरे लंड को पकड़ कर धीरे धीरे हिला‌ रही थी कि तभी मैंने एक हाथ से उसकी गर्दन को पकड़ कर अपने लंड पर दबा दिया, जिससे मेरा सुपारा उसके होंठों से छू गया.

प्रिया संग इतनी जोर जोर की चुदाई से चल रही थी कि हम दोनों ही पसीने से पूरे नहा लिए थे. तो ऐसे ही उन दिनों गर्मी का मौसम था जब मैं एक अनजान डगर पर आगे बढ़ गया. जगह की कमी है न सो कम जगह में कई मंजिला बिल्डिंग में बहुत से परिवार रह सकते हैं.