बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म पिक्चर हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ 2 साल: बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर, ये सुन कर वो मेरे सामने बैठ गयी और उसने मेरे शॉर्ट्स को नीचे खींच दिया.

ब्लू पिक्चर चुदाई वीडियो

रोहिताश ने मेरा मेरा लोवर और अंडरवियर दोनों निकाल दिए और मेरे लंड को सहलाने लगा. देसी छुड़ाईमैंने मम्मी की चूचियां चूसते हुए कहा- आहह मम्मी तुम्हारा जिस्म बहुत सेक्सी है मम्मी.

जाते टाइम मैंने मुड़कर उसे आंख मारी और एक अश्लील सी स्माइल देकर वहां से चली गयी।थोड़ी देर बाद शालिनी मेरे पास आई और बोली- क्या हुआ आज अंदर?तो मैं हंस दी. ब्लू सेक्सी फिल्म दिखाउसने कहा- आंटी फिलहाल तो मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है … लेकिन कुछ लड़कियां जरूर मुझे पसंद करती हैं.

मैंने उनकी पैन्टी में हाथ डाल दिया और चुत को अपनी उंगली से छूने और रगड़ने लगा.बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर: मेरे पास आकाश की बीवी नताशा थी, जिस मैं अपनी बहन चित्रा की सहेली होने के कारण बहन ही मानता था.

नज़मा ने अबकी बार मुंह खोल दिया और जीजा के लंड को हिचकते हुए धीरे धीरे मुंह में भर लिया.इस वक्त कमरे में फच फच फच की आवाज़ सुनाई दे रही थी और कोमल जोरों से चिल्ला रही थी.

सेक्स की सेक्स - बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर

मेरे लिए यह नज़ारा काफी आनंददायक था कि एक तरफ राशि कुतिया बन कर अपनी गांड हिला हिला कर मुझसे चुदवा रही थी और वहीं दूसरी ओर पल्लवी अविनाश पर बैठी उछल उछल कर चुद रही थी.मैंने उसकी लोअर की इलास्टिक में हाथ डाल कर उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को छूकर देखा तो उसकी चूत का स्पर्श पाते ही मैंने चूचियों का मोह छोड़ दिया.

उधर उसका पति कंपनी के काम के सिलसिले में बाहर गया था और उसके साथ रहने वाली ननद भी घर पर नहीं थी. बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर मुझे ये तो मालूम था कि चाची मेरे पास आ सकती हैं, मगर ये नहीं मालूम था कि वो कब अपनी चुत लेकर मेरे पास आ जाएं.

रोहित पूरा प्रयास कर रहा था कि जल्द ही उसका वीर्य निकल जाए, पर वो निकल नहीं पा रहा था.

बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर?

इसी दौरान जीजू ने मेरी चूत में उंगली कर दी, जिससे मैं चिहुंक उठी और बड़बड़ाने लगी- ऐसे मत तड़पाओ यार … जल्दी से इस चूत को फाड़ दो. पहले तो लोग राह चलते देख कर निकलते रहे … फिर कुछ लोग रुक कर देखने लगे. फिर जब उनका लंड पूरा आकर लेकर चिड़िया से बाज़ बन गया और शिकार के लिए तैयार हो गया, तो वो उठे और बेड के साइड में खड़े हो गए.

फिर उसने नीचे ही नीचे से हाथ ले जाकर मेरी शर्ट के बटनों को भी एक एक करके खोलना शुरू कर दिया. मैं किसी भी तरीके से अपनी सहेलियों से पीछे नहीं रहना चाहती थी, पर जवानी की दहलीज पर आकर लग रहा था कि मेरी सहेलियां मुझसे पहले जवान हो गई थीं. अब तो वो घर आते ही मेरी गोद में सर रख कर लेट जाता और मेरे मम्मों से अपने सर को रगड़ने लगता.

मैं सच में तुमसे मिलना चाहती हूँ … मगर …मैं- मगर क्या?वो- कहीं तुम मेरे ही गांव के ही निकले तो?मैं- तो क्या हुआ. मेरी चुत चुदाई मेरे जीजू के मोटे लंड से किस तरह से होगी, क्या जीजू का लंड मेरी चुत को ठंडा कर सकेगा. अब तक की मेरी इस मस्त सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि समुद्र तट पर मस्ती करने के बाद हम सभी जब खाना खा रहे थे, तब अपनी अपनी पार्टनर के बारे में बता रहे थे.

बाथरूम की दीवार पर तुम्हारे लण्ड की परछाई देखकर मेरी चूत ने कहा ‘चुदवा ले इससे, इस बेचारे का भी भला हो जायेगा और तू तो जन्नत के मजे लेगी ही. उनके मुँह और तेज सिसकारी निकलने लगी थी- अआह उह आउच आ जोर से … अआह मजा आ रहा है.

इससे पहले की मेरा हाथ उनके लिंग पर जाता उन्होंने पूछ लिया- आपके पति घर पर तो नहीं हैं?मैंने कहा- अगर होते, तब भी मैं बेशर्मों की तरह गैर मर्द की बांहों में जाने से हिचकती नहीं.

रोहित बोला- मैं क्या करूं भाभी … गोली की वजह से मेरा निकल ही नहीं रहा है, मैं बहुत प्रयास कर रहा हूँ.

वो- तो कब आ रहे हो?मैं- आ तो जाऊं … पर क्या तुम मुझसे सच में मिलोगी?वो- हां. आज से मैं तुम्हें खुलकर मजा दूंगी। लेकिन मेरी बेटी के चक्कर में मेरी चूत को न भूल जाना।आंटी आप चिन्ता ना करो. अब मुझे सिर्फ चुदाई दिख रही थी इसलिए मैंने कोमल की बात को अनसुना कर दिया और बस पूरे जोश में झटके मारने लगा.

अब दोनों अंकल ने लगभग 15 मिनट तक मम्मी की उसी पोजीशन में चुदाई करी. मैं बोला- ठीक है मालिक, आप जैसा कहोगे मैं वैसा करने के लिए तैयार हूं. अब दोनों अंकल ने लगभग 15 मिनट तक मम्मी की उसी पोजीशन में चुदाई करी.

फिर जैसे ही मैंने अपने होंठों से उसकी चूत की बड़ी फांकों को छुआ तो दीपिका एकदम से जोर से ‘आह्ह्ह … आआ राज … स्सस … आईया …’ करके चिल्लाई और उसने अपने चूतड़ों के हिस्से को ऊपर उठा कर चूत को मेरे होठों से जबरदस्त तरीके से रगड़ दिया.

फिर वो मेरी गोदी से उठ कर सामने सोफे पर गयी और अपनी टांगें फैला कर लेट गयी. मैंने कहा- तो फिर मसाज करवाना चाहोगी?वो बोली- पहले अपनी ड्रिंक तो खत्म कर लो. वो मुझे आवाज दे रही थी कि क्या हुआ क्या हुआ? लेकिन मैं सब अनसुना करके निकल गया.

जब मैं जवाहर से मिला था तो उसके कुछ महीने के बाद ही मैं अपने पैतृक शहर वापस आ गया था. मैंने पूछा- कैसी लगी बाबूजी, तुम्हारी भाभी की चूत?वो हवस भरे अंदाज में बोला- कयामत है जी, एकदम से कयामत।यह कह कर उसने सोनम की चूत पर एक प्यारी सी किस कर ली. उसकी चुत से बहुत पानी निकल रहा था, जिससे मेरा पूरा हाथ उसके पानी से भीग गया.

उसने कहा- काली क्यों?तब मैंने मजाक करते हुए कहा- क्योंकि मैं काला हूं ना.

कोमल के चूचे हवा में हिल रहे थे और मैं तेज़ी से उसकी गांड मार रहा था. मेरी दीदी बोलीं- तुम जो चाहो वो सज़ा दे दो … पर भैया हमारी लाज आपके हाथ में है.

बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर ”एक मिनट वसुंधरा! सिर्फ इतना बता दीजिये कि आप खुश तो हैं ना?”राज! अब फर्क नहीं पड़ता. पूजा ने भी मोहित की पैंट खोली और उसमें से उसका लन्ड निकाल लिया और हिलाने लगी.

बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर पर मुझे कोमल को अभी और तड़पाने को मन कर रहा था … इसलिए मैंने खड़े होकर अपनी पैंट और निक्कर निकाल दी. साली जी, इसे एक बार अपने हाथों में लेकर प्यार तो करो थोड़ा सा, जैसे कल किया था.

वो बोला- वाह … साली। तेरी जैसी दो टके की रंडी कहीं नहीं मिलेगी जो अपनी ही गांड से निकले हुए वीर्य को फर्श पर से चाट ले.

ज से लड़कों के नाम 2021

किसी का भी लण्ड खड़ा कर सकती थी। अब मेरा अगला निशाना उसकी माँ की चूत ही थी। उसकी माँ की चूत मैंने कैसे ली, मैं ये कहानी के अगले भाग में जल्द ही बताऊंगा।आपको मेरी लिखी कहानियां कैसी लगती हैं आप मुझे मेल करके इसी आईडी पर जवाब दे सकते हैं।और यह देसी चुदाई कहानी कैसी लगी?आपके जवाब और अमूल्य सुझाव के इंतजार में आपका अपना राज शर्मा![emailprotected]. फिर उसने मेरी टी-शर्ट भी उतार दी और मेरी छाती पर जीभ फेर कर चाटने लगी. मनीष ने धीरे से अपनी एक उंगली मेरी गांड के अन्दर घुसाई, मैं एकदम उछल सा गया.

अन्तर्वासना पर सभी को मेरा नमस्कार; समस्त भाभियों व कमसिन कन्याओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार!दोस्तो, कैसे हो आप सब?मैं नवनीत अजमेर से आप सभी पाठक पाठिकाओं का स्वागत करता हूं। मेरी उम्र 20 साल है लन्ड 6 इंच लम्बा व 2. तो अब कभी कभी विशाल और सुनील शीला की चुदाई साईट के ऑफिस में करने लगे. अपनी गांड पर लंड की चमड़ी का अहसास होते ही उसकी गांड ने झुरझुरी सी ली.

हम दोनों के मुंह आह्ह … ओह्ह … आह्ह … याह … उफ्फ … आह्ह … अम्म … ओह्ह … करके कामुक आवाजें आने लगीं.

उसकी और मेरी आहह और उसके बॉल्स की थपकी की आवाज़ से पूरा कमर भर गया था. वैसे मुझे भी बहुत कुछ कहना है, पर मैं मिलन के अनमोल क्षणों को और भी खुशनुमा होने देना चाहती हूं. अभी भी हमारे होंठ एक दूसरे के होंठों से उलझे हुए थे और हाथ एक दूसरे के पिछवाड़े पर जमे थे.

दोनों एक दूसरे को एक से बढ़कर एक चुम्बन दे रहे थे … नींद तो मानो कब की गायब हो चुकी थी दोनों की।फिर मैंने अपनी गाउन की चैन को अपने पेट तक पूरा खोल दिया. फिर पूरी मस्ती से उसने लण्ड को अपनी दोनों मुट्ठियों में भींच कर अपनी ओर खींचा और अपनी गर्दन के नीचे लगा कर अपने दोनों हाथों से मुझे मेरे हिप्स से पकड़ कर अपनी ओर खींच कर मुझसे लिपट गई. आंटी ने लड़की की कमर के नीचे तकिया रख दिया और मुझे बोली- धीरे से अंदर डाल!मैंने अपना लंड अपनी गर्लफ्रेंड की बुर के छेद पर टिकाया और थोड़ा सा झटका दिया तो इतने से ही तान्या चीखने लगी.

एक बांका हैंडसम मर्द जो एक कसरती मजबूत बदन का मालिक हो, उसके सामने अपने नंगे जिस्म का प्रदर्शन करके उसको तड़पाने का भी अलग ही रोमांच मैंने उस दिन अनुभव किया. मैंने उनका इशारा समझा कि वे मुझे चोदने के लिए बोल रही हैं।तो मैं अपना लंड पकड़कर उनकी चूत के पास आया और टच किया।उन्होंने बोला- अभी नहीं राजा, अभी तो पूरी मालिश बाकी है।और वे हंसने लगी।मैं हाथों में तेल लेकर उनकी जाँघों पर बैठा और उनके दूधों की मालिश करने लगा। फिर उनकी पेट की मालिश और नाभि की मालिश के बाद मैंने उनकी जांघों की मालिश की। और फिर धीरे-धीरे उनके पैरों की मालिश करने लगा.

फिर मैंने नित्या की बूब्स को बहुत जोर जोर से दबाने लगा, किस करने लगा तो नित्या के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं और बोली- धीरे धीरे दबाओ. अब हालात खराब हो रही है।मैंने पूछा- क्यों?तो वो बोली- दो साल से कुछ किया नहीं है, किसी ने छुआ नहीं है मुझे … तभी बोल रही हूँ।अब हम दोनों क अंदर की आग भड़क चुकी थी।एक दिन मैंने उसे कहा- कहीं घूमने चलते हैं. पर क्या करूं मेरे ठोकू मियां … मैं थक गयी हूँ, मुझे थोड़ा आराम तो कर लेने दे.

अब सुधा भी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी- आह … और जोर से चोदो प्लीज़ … मुझे और मज़ा दो … आह आज तो जन्नत में ही जाना है.

मैंने कहा- रानी मैंने कब मना किया आराम करने को … मैं तो सिर्फ गुड्डी रानी की सफाई के लिए जगा रहा था. मैंने बोला- कोई वायग्रा नहीं खाई … ये देसी खाने का कमाल है … लहसुन (गार्लिक) की कड़ी खा ली. फिर भाई ने एक मोटा से पैग बना कर दिया और बोला- खींच जा इसे … तुझे कोई दर्द नहीं होगा.

अब तक की हिंदी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि मैं अपनी एक्स-गर्लफ्रेंड को चोदने के लिए उसके घर आ पहुंचा था. मेरा हाथ पकड़कर चाचा बेडरूम में ले आये और बोले- दरअसल मैं रात से बड़ी उलझन में हूँ.

अगले दिन जब ज्ञान जी मेरे घर आये तो उन्होंने मुझे तेल की शीशी थमा दी. उन्होंने हाथ से अपना लंड पकड़ कर मेरी चूत की छेद पर रख कर दो तीन बार अपना लंड चूत के फांकों में ऊपर नीचे किया. मैं उन्हें बहुत शरीफ समझती थी।खैर शुरुआत में मुझे उनसे कोई परेशानी नहीं थी, वे मेरे साथ सामान्य बर्ताव किया करती थी।कुछ दिन निकलने के बाद से अचानक उन लड़कियों के मज़ाक करने का तरीका बदल गया.

सेक्सी मुवी

जब उसने प्यार की चुदाई के लिए मुझे आमन्त्रित किया तो मैं खुद को रोक नहीं पाया और बस उसके ऊपर चढ़ कर उसके होंठों को किस करते हुए मैंने बड़े ही प्यार से उसकी चुत में अपना लंड सैट कर दिया.

उसने अपनी आंखें बन्द कर लीं और अपने पैर चौड़े कर लिए, जिससे आसानी से मेरा हाथ उसकी चुत पर घूमने लगा. मैंने फोन में आज सुबह जो जीजा जी और आलिया की वीडियो रिकॉर्ड की थी, वो देखने लगा और अपने लंड को सहलाने लगा. वो अपनी साड़ी खोल कर सिर्फ़ पेटीकोट ब्लाउज में नाइट पैन्ट लेकर आ गई थीं.

आह … क्या साला बुड़का मारा!अब तो मैं रातों में सिसकारियां भी भरने लगी थी जो भाभी सुनती थी. अब कोमल भी मेरे लंड को चुत में लेने की आदी हो गई थी इसलिए उसने मेरे लंड का मजा लेना शुरू कर दिया. हुक्का हुक्कामैं किस करते हुए उसकी मस्त गांड को सहलाने लगा और वो भी मेरा साथ दे रही थी.

मुझे उम्मीद है कि अन्तर्वासना के प्रिय पाठकों को मेरी ये सेक्स कहानी बहुत पसंद आएगी. दीपिका ने अपनी बांहें मेरे गले में डाल दीं और अपने मुँह को मेरी छाती के बालों से रगड़ने लगी.

वे बड़ी तन्मयता से मेरे लिंग की मसाज करने में लगी हुई थी।फिर मेरी नजर उनकी नजर से मिली तो वे भी मुझे देख कर मुस्कुरा दी। उन्होंने एक आंख मार कर इशारा किया और अपने होंठों पर जीभ फेरी. फिर उसका पेट और धीरे धीरे मैं उसकी चूत पे आ गया। चूत पर जीभ रखते ही वो पागल सी हो गयी वो गीली होने लगी।मैंने उसकी चूत को दो उंगली से खोला और फिर एक उंगली से उसको अंदर बाहर करने लगा।वो मचल रही थी। उससे भी चुदास सहन नहीं हो पा रही थी. फिर मेरी मदद से पैन्ट बाहर निकल गया।फिर हीना ने मेरी ब्रीफ की इलास्टिक कमर के दोनों ओर से पकड़ी और नीचे खींचने लगी.

रस की एक फुहार मेरे लंड पे सब तरफ से गिरी, और रानी ने मुझे पूरी ताक़त से भींच डाला. पायल ने वहां से चलते हुए मेरे कानों में धीरे से कहा- बातों में नहीं, मुझसे किसी चीज में नहीं जीता जा सकता!मैंने मुस्कुरा कर हामी भरी और हम स्टेज के पास चले गए. कोई दस मिनट तक लगातार गांड मारने के बाद मैंने कोमल को पलट कर लेटा दिया और उसकी चुत में लंड घुसा दिया.

सुबह सब घर के काम में ऐसे लगे हुए थे जैसे कुछ हुआ ही न हो!भाभी भी मेरे पिताजी को आवाज दे रही थी- पापा जी … चाय पी लो!यह देख कर मेरा सिर चकरा गया कि ‘अरे कैसी बहू है जो रात भर ससुर के नीचे चुदती, कराहती रही और आज इतने प्यार से उन्हें चाय के लिए बोल रही है.

वैसे तो अब मैं भी उसके साथ ज्यादा सम्बन्ध रखना नहीं चाहता था, लेकिन वो इतनी हॉट माल थी कि मेरा उसको दोबारा चोदने का मन कर रहा था. पर वो अपने घर से ज्यादा टाइम के लिए नहीं आ सकती थी तो हमने एक रेस्टोरेंट में जाने का तय किया।उस रेस्टोरेंट के बारे में मुझे मेरे दोस्तों ने बताया था कि वो एक ऐसा रेस्टोरेंट था जहां प्राइवेसी मिलती थी तो मैं नीलम को वहीं ले कर गया।आज वो मुझे और भी ज्यादा माल लगा रही थी। वो हरे रंग का सूट पहन कर आई थी।वहाँ जाकर हमने कॉफी आर्डर की.

करीब दस मिनट बाद मैंने दीदी को घोड़ी बना दिया और उनके पीछे से उनकी गांड में लंड घुसा दिया. मगर अपने बेटे के लिए खुली किताब हो जाने के किये कैसे उसे तैयार करूं … मेरी समझ में नहीं आ रहा था. ’ की आवाज़ कमरे में गूँज गई थी … जिसमें उसका और मेरा प्यार साफ साफ झलक रहा था.

वो रोज मुझे स्कूल आते जाते भी देखती थी लेकिन मेरे में हिम्मत नहीं होती थी कि उससे आंखें मिला पाऊं. उसने मुझे समझाया कि तेरे घर पर कोई नहीं है, ज्यादा लोगों के आने से पड़ोसी को शक हो सकता है. कमर एक टांग से, मेरे पैर दूसरी टांग से, मेरा बदन अपनी मुलायम सी गोरी बांहों से और मेरा मुंह अपने मुंह से.

बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर मैंने उसकी चूत में उंगली करके शांत किया लेकिन वो कहने लगी कि मेरी चूत को किसी मर्द का असली लौड़ा दिलवा दे. फिर पायल ने पास आकर कुछ देर कुछ बातें समझाईं, म्यूजिक को चलाया, रूकवाया और कब क्या करना है … ये सब कुछ स्पष्ट करने के बाद मुझे स्टेज पर चलकर रिहर्सल करने का न्यौता दिया.

एचडी सेक्सी वीडियो पिक्चर

जीजा जी ने दरवाजा खटखटा कर दीदी को बुलाया, लेकिन दीदी का कोई जवाब नहीं आया. साब अब लड़खड़ाता हुआ खड़ा हुआ और मेमसाब और शीला का सहारा लेते हुए अपने कमरे में जाने लगा. फिर मम्मी कपड़े ठीक करने लगी तो उसने मम्मी के दूध दबाने शुरू कर दिए.

रुकैय्या पेशाब करके आ जाये तो चुदाई की जाये, यह सोचकर मैं अपना लण्ड सहलाने लगा. मैं- क्या?कोमल- वो भी हमारे साथ इस खेल में शामिल होने के लिए तैयार है … लेकिन बाद में. xxxबीडियोफिर उसने कहा कि उसे बहुत मज़ा आया और ऐसी चुदाई उसकी पूरी जिंदगी में किसी ने उसके साथ नहीं की।दोस्तो उस रात मैंने उस लेडी की चूत 3 बार मारी और फिर गांड चुदाई का भी मज़ा लिया क्योंकि किसी महान पुरूष ने कहा है कि लड़की और ऑडियो कैसेट को जब तक दोनों तरफ से नहीं बजाओ, तब तक मजा नहीं आता है.

सीमा ने फिर कहा- क्यों प्रियंका को क्या प्रॉब्लम है?मैंने कहा- साली, तुझे ज्यादा मज़ा देना है न … इसलिए!और साथ ही मैंने सीमा को घोड़ी बनने को बोल दिया ताकि पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दूँ.

मुझे स्पोर्ट्स ब्रा के नीचे मौसी के कड़क निपल्स ऐसे महसूस हो रहे थे. उसकी मांसल गोरी टांगें मेरे समक्ष उजागर हो गई, मैं बौराने लगा।वो मेरे ऊपर आई और कमर के दोनों ओर पैर डालकर मेरी जँघाओं पर बैठ गई.

जैसा कि आप सब जानते हैं कि भले ही ये पोज़ इंटरेस्टिंग है, पर इस पोज़ में थकान भी जल्दी लगती है. मेरे ग्रुप में मुझे मिलाकर 6 लड़कियाँ थी, सोनल, दिव्या, आशिमा, पूजा, इकरा और मैं।इन सब में पूजा बहुत हरामी लड़की थी. तभी वो तीनों नाश्ता बनाकर ले आईं और हम सभी ने साथ मिलकर नाश्ता करना शुरू कर दिया.

कोमल- अब तक कितनी लड़कियों के साथ सो चुके हो?मैं- मतलब?कोमल- मतलब मेरे अलावा कितनी लड़कियों के साथ सेक्स कर चुके हो?मैं- सच कहूँ तो अब तक एक के साथ भी नहीं.

मयंक ने सोनम की चूचियों को थाम लिया और पूरी ताकत लगा कर उसकी चूत में धक्के लगाने लगा. इतना कह कर चाची ने अपनी साड़ी उतार दी और फिर से ब्लाउज और पेटीकोट में आ गयी. वो मेरी चुचियों को देखने के लिए इतने व्याकुल हो गए कि उन्होंने मेरे टॉप को को जोर से खींचना चालू कर दिया.

देसी सेक्स दिखाइएउसके मुंह से अहह सुनकर मैंने पूछा- अच्छा लगा क्या?सीमांशी बोल पड़ी- हाँ मारो … और मारो. मैं- थोड़ी देर रुक जाओ, दर्द कम हो जाएगा।मैं वापस उसकी चिकनी चूत चाटने लगा तो मेरी गर्लफ्रेंड गर्म होने लगी.

केआरजी कॉलेज ग्वालियर

उसकी चुत में लंड जैसे ही फिट हुआ, मैंने अगले ही पल जोरों से धक्का मार दिया और मेरा लंड चुत में घुसता चला गया. फिर कोमल ने भी मेरे हाथों पर हाथ रख दिए और खुद भी जोर से दूध मसलने का इशारा करने लगी. कुछ देर बाद जीजा जी ने एक वाइन शॉप से चार बोटल स्कॉच व्हिस्की की ले लीं.

क्यों क्या हुआ?मैंने कहा- तो आगे बनाने की सोची है?उसने मेरी आंखों में झांकते हुए कहा- पहले कोई मिले तो सही!मैंने कहा- अगर मैं कहूँ कि मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ … तब क्या कहोगी तुम?उसने एकदम से नजरें झुका कर धीमी सी आवाज में कहा- हां बना लो. अपनी अपनी आँखें मलते हुए अम्मी ने कहा- चुदवाने गई है तो चुदवा लेने दे. इसी रोमांच के साथ मैंने एक हाथ अपनी चूत पर ले जाकर वहां रोंए तलाशने की कोशिश की, जो कि बहुत छोटे-छोटे और भूरी रंगत लिए कोमल अहसास देने के लिए वहां मौजूद थे.

फिर मेरी ब्रा के ऊपर से मेरी 36 की चूचियों को जोर से दबाया और फिर पीछे हाथ ले जाकर ब्रा को खोल दिया. बैठने के बाद उसने अपनी कुरती को नीचे से पकड़कर उठाया और निकाल कर शरीर से अलग कर दिया।अब तो उस हीना नाम की अप्सरा का रूप लावण्य देखते ही बनता था. मैंने धीरे से पूछा- इधर किधर?ट्रक ड्राईवर बोला- बहन जी, मेन रूट से हमें परमिशन नहीं है, इसलिए बाई पास से जाना पड़ता है.

अन्तर्वासना भाभी की चुदाई हिन्दी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त की बीवी ने मुझे ललचा कर अपने साथ सेक्स करने के लिए आकर्षित किया. मैं रात को मेनगेट खुला छोड़ दूंगी, तुम बस खोल के ऊपर वाले रूम में आ जाना।ये सब हम दोनों की ठरक थी जो ये काम करवा रही थी।मैंने शाम को नीचे शेव की और रात का इंतज़ार करने लगा। मैंने 1 बजे रात को कॉल की कि क्या मैं आ जाऊँ?उसने बोला कि उसे घर पे बुलाना सही नहीं लग रहा।हम सब का सेक्स लाइफ में यही होता है.

इसी सोच के साथ मैं उसके रोने की परवाह किये बिना उसे दम से चोदने लगा.

न जाने क्यों ऐसा लगा कि नीरा की चूचियां पहले से कुछ छोटी हो गई हैं और टाइट भी. सोई हुई भाभीवो भी नीचे से अपनी गांड उठा कर जोर मार रही थी, जिससे में जोश में आकर उसे और जोर से चोदने लगा. सेक्सी वीडियो ओपन देहातीअब्बू ने वैसा ही किया और फिर से अपना लण्ड अम्मी की गांड में डालने की नाकाम कोशिश की. मेरा बरमूडा और चड्डी दोनों खींच कर बिल्कुल ही उतार दिये भाभी ने … मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और फिर पहले तो उसके टोपे पर चूमा और उसके बाद अपने मुँह में ले लिया.

कुछ देर मुझे लगा कि अब ससुर जी अपना वीर्य निकालने वाले हैं, तो मैं झट से सामने आ गई.

यह बात सुनकर संजू को उस पर प्यार आ गया और वो उसके बालों पर हाथ फेरते हुए बोली- ऐसा नहीं कहते. मुझे तो विश्वास ही नहीं हो रहा कि हमारी फैंटेसी के चक्कर में दो बहनें अपने भाइयों से चुदने वाली हैं. मैंने चूचियाँ छोड़कर दीपिका की स्कर्ट में हाथ डाला और पकड़ कर स्कर्ट को नीचे खींच दिया.

उफ साहब भी क्या चाशनी में लपेट कर बातें कर रहे थे, बड़े ही जबरदस्त लवमैन निकले साहब. मैंने कई बार कोशिश की लेकिन तुम्हारी गांड इतनी टाइट थी जिसे मेरा लण्ड भेद नहीं पाया. चाचा मेरी टांगों के बीच आकर मेरी चूत चाटने लगे, कभी कभी उंगली भी अन्दर डाल देते.

अंग्रेजी फिल्म वीडियो सेक्सी

इतना कह कर बेबी रानी ने गुड्डी की गांड में जीभ घुसा दी तो गुड्डी रानी बड़े ज़ोर से चिहुंक उठी. रोहित नीचे झुका और मेरी बीवी की चूत में किस करने लगा और संजू की क्लिट को चूमने चूसने लगा. पर एक दिन जब बेबी की तबियत ख़राब हुई और मौसी उसे डॉक्टर के पास हल्द्वानी ले गईं … तो ये मुझे एक मौका समझ आया.

यह कह कर दीपिका अपनी चूत को जोर जोर से मेरे उल्टे खड़े लण्ड पर रगड़ने लगी.

बीच बीच में वो मेरी चुत में दांत चुभो देते थे, जिससे मैं और बेकरार हो जाती थी.

शायद रोहित सही कह रहा था कि कोई भी उसका लण्ड चूसना चाहेगा।कुछ देर बाद रोहित ने अपने मुंह से लण्ड को निकाला. मैंने टोका, तो बाबू बोले- यह सॉफ्ट सेक्स है … बहुत धीरे पर बिना आवाज के किया जाता है. सेक्सी वीडियो नंगा पिक्चरहीना ने पैन्ट का हुक खोला और पैन्ट को हल्के से खींचा तो पैन्ट सरक कर मेरे घुटनों पर आकर रुकी.

जब तक वे चूचियां चूसते, तो दूसरा हाथ कभी दूसरी चूची से … तो कभी नाभि से खेलने में लग जाता. उसके बाद उसने खुद से कमर उठाकर धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किए तो मैं समझ गया कि क्रिया तैयार है. उसके बावजूद ज़ेबा बच्चे का बड़े प्यार से ख्याल एक माँ की तरह रख रही थी.

गुड्डी रानी ने मुझे प्यार से एक के बाद एक बहुत सारे चुंबन पर चुंबन दिये. सामने से मैं अपने होठों से पैंटी में कैद गर्लफ्रेंड की कुंवारी बुर को चूम रहा था.

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी।कुछ ही देर में हम दोनों ने एक-दूसरे के जिस्म से कपड़े अलग कर दिए। वो भी पूरी तैयारी के साथ आयी थी.

बोलो कब का कार्यक्रम रखें?यार ये सब तो मैं भी करना चाहती हूं लेकिन यहाँ जंगल में नहीं. ” कहकर नताशा मेरी गोद से उठकर रसोई की ओर जाने का उपक्रम करने लगी।चलो मैं भी साथ चलता हूँ तुम खाना गर्म करना और मैं तुम्हें गर्म करता रहूंगा. चल अब मेरे लंड पर लगे हुए माल को भी चाट जा। चल … चाट साली कुतिया।रिया ने कुतिया बनकर अपने डैड के लंड पर लगे माल को किसी पालतू जानवर की तरह अपनी जीभ से चाट चाट कर साफ कर दिया.

ট্রিপল এক্স পর্ন ভিডিও मैं धीरे-धीरे उनकी साड़ी को खींच रहा था और वे खड़े खड़े घूमती जा रही थी। उनकी पूरी साड़ी निकलने के बाद वह सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज में रह गई।मेरे हाथों में अब उनकी साड़ी थी जो मैंने एक साइड रख दी।उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी ओर खींचा. पर हम सब यही कहते रहे साली कुतिया तू हमारी सबसे अच्छी सहेली बनती है और इतनी बड़ी बात हमसे छुपा कर रखी.

इस अन्तर्वासना हिंदी स्टोरी पर अपने कमेंट्स के जरिये मुझे बतायें कि मैंने ये फैसला करके सही किया या नहीं? मेरी जैसी समस्या में अपनी ही बीवी को किसी गैर मर्द से चुदवाना कहां तक सही है? मुझे आप लोगों की प्रतिक्रियाओं का इंतजार है. लेकिन दूसरे ही पल खुद को सम्भालतीं और मुझे छूटने के विरोध करना शुरू कर देतीं. आपको मेरी एक्स गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करें.

इंग्लिश मधून बाराखडी

मैंने कहा भी- यार, मैं ऐसे कैसे किसी से लिफ्ट ले सकती हूं?तो उसने मुझे सुझाव दिया- तुम किसी ट्रक में लिफ्ट ले लो. अब मैं पूरा अपना भार देकर संजना के ऊपर गिर गया और शीना मेरे ऊपर गिर गई. आप जानते ही हो कि जब कोई लड़की लंड को चूसती है, तो कितना मजा आता है.

नीचे से हाथ ले जाकर मायरा ने मेरे लंड को अपनी चूत पर सही पोजीशन में सेट करवा दिया. मैंने मायरा की गांड पर भी तेल लगाया और उंगली डाल कर उसकी गांड में तेल को अंदर तक पहुंचाने लगा.

काश तेरा खसम इधर होता, तो हम दोनों साथ में तेरी चुत और गांड की चुदाई करते.

उधर आकाश और दीदी दोनों रोमांस में मशगूल थे … आकाश की टी-शर्ट उतर चुकी थी. कभी अपने बालों को सहला रही थी तो कभी अविनाश के सिर के बालों को सहला रही थी. इधर उसकी योनि से निकलते ही ब्लडिंग देखकर मैं डर गया और अपना लिंग बाहर निकाल कर उठ खड़ा हुआ.

कमरे में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ ऐसी मादक सिसकारियां गूंज रही थी जो सिर्फ हमारे कानों को ही सुनाई दे रही थी। वे मेरी चूत में बहुत तेज तेज धक्के लगा रहे थे मैं भी खुलकर उनका साथ दे रही थी. खैर इन बातों के बीच एक और बात हुई थी और वो ये है कि मैंने मनु के स्तन पहली बार छुये थे. मैं- एक बात समझ नहीं आ रही कि सभी औरतें गांड मारने से डरती क्यों हैं.

अपनी चूत को बिल्कुल चिकनी बना कर लाई थी। उसकी छोटी सी गुलाबी चूत देखकर मेरा लण्ड फटा जा रहा था।अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था। मैं जल्द से जल्द उसकी मुनिया में अपना लण्ड डालकर उसकी जवानी का भोग लगाना चाहता था। मैंने उसे बिस्तर में लिटा दिया। अब मैं उसके कानों और गर्दन को चूमने लगा और उसकी चूचियों को बारी-बारी से मसलने लगा। उसकी चूचियाँ एकदम कड़क हो गयी थीं.

बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ पिक्चर: उन्होंने कहा- हां … मेरी जान तुम चुत को तैयार करो … और ये राजी ना हो … ऐसा तो हो ही नहीं सकता. फिर मैंने दो मिनट तक अपनी सहेली के दूधों को पीया और फिर उसके होंठों को चूसने लगी.

फिर मैंने बिना रुके ताबड़तोड़ आठ दस धक्के पूरी ताकत से साली जी की चूत में और लगा दिए ताकि चूत अच्छे से खुल जाये. उससे जो प्रीकम निकल रहा था उसने मेरे अंडरवियर को भिगोने के बाद मेरे पजामे पर भी अपनी छाप छोड़नी शुरू कर दी थी. मेरी आंखें अनिल भैया को खोज रही थीं … और उनका बिस्तर पर न होना, मुझे बड़ा अजीब सा लग रहा था.

करीब शाम के चार बजे जब हम घूम रहे थे, तब अचानक से हमें जिया और उसका पति मिल गया.

उसने मेरा लंड हाथ में ले लिया और लंड को मुँह में ले कर स्वाद लेने लगी फिर धीमे से लंड को चूसने लगी. मैं उनकी चुत चाटने लगा और इसके बाद उनकी टांगें फैलाकर मैं उनकी चुत पर लंड सैट करके बैठ गया. शीला जब मेहमान के कमरे में जाने लगी तो उसने खिड़की से मेमसाब के कमरे में झाँका तो देखा साब और मेमसाब पूरे नंगे हैं और साब नीचे लेटा है.