भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी

छवि स्रोत,बीएफ पिक्चर सेक्सी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

पहेली मजेदार: भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी, सच में उस दिन मुझे अहसास हुआ था कि मेरी अम्मी जन्नत की हूर सी लाजवाब हैं.

ससुर ने बहु को चोदा चोदी

अब कमरे में उसकी मादक आवाज़ कोयल जैसी गूंज रही थी जो मुझे और उत्तेजित कर रही थी. बिहारी लड़की का ब्लू फिल्मवो बोली: टैक्सी क्यों?अजीत: अलग अलग लन्ड पर घूमती हो न! इसलिए तुम टैक्सी हो.

फिर मैं झड़ गई और थक कर ढीली पड़ गई।उसके बाद उसने हॉट बुर पर तेल लगाया और अपना लन्ड मेरी बुर पर रख कर एक धक्का दिया. नंगे वीडियो दिखाएंनमस्कार, आदाब, अभिनंदन और आभार! मैं प्रणव फिर से अपनी छिनाल बहन अंजलि की चुदाई की एक नयी और गर्म सेक्स कहानी लेकर आया हूं.

मैंने हेमा चाची से कहा- चाची, अगर मैं भी आपके साथ इसी तरह पीछे से सेक्स करूं … तो क्या आपको मजा आएगा?चाची हंसी और बोलीं- भास्कर, मजा तो आएगा … लेकिन दर्द भी होगा.भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी: मैं भी जानबूझकर अपना सर टी-शर्ट में फंसाए हुए छिपकर उसकी आंखों को पढ़ने की कोशिश करता रहा.

मामी मेरे लंड को तेज़ तेज़ गपागप चूसने लगी।अब मैंने कंडोम निकाला और मामी को दिया.मैंने भी जोर नहीं डाला क्योंकि मैं उसको चोदने का मौका छोड़ना नहीं चाहता था.

राजस्थानी सेक्सी पिक्चर चुदाई - भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी

मैं उससे यही सब बातें करते हुए धीरे धीरे से लंड उसकी गांड में डालता जा रहा था.लेकिन मैंने भाभी को अच्छी तरह से दबोच रखा था जिससे भाभी हिल भी नहीं पा रही थी।भाभी कहने लगी- रोहित प्लीज बाहर निकालो.

एक ने बोला- इतना मजा तो कभी नहीं आया … जितना आज तुमने हम चारों को दिया है. भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी वो मेरे इस तरह आने से एक बार को तो चौंकी, मगर अगले ही पल उसने मुझे हैलो बोल कर बैठने को कहा.

वैसे ही फिर मैंने नीचे वाले होंठ के साथ किया और फिर एक लंबा चुंबन दे दिया उसको.

भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी?

Xxx विलेज गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं भाभी के साथ उनके मायके आया. थोड़ी देर में वो शांत हुई तो इस बार मैंने पूरी जान लगाकर धक्का दे दिया. मैं उसकी बांहों से लिपट कर घर आ गयी।घर आने के बाद मैं रागिनी के पास चली गयी सोने और साहिल अपने कमरे में।अगले दिन रागिनी ने मुझे सुबह सात बजे उठाया, बोली- तैयार हो जा … घर चलना है.

आपने मेरी प्रेगनेंसी सेक्स स्टोरी के पिछले भागबिना शादी के बना बापपढ़ी होगी. फिर एक दिन मेरी पड़ोस की जवान लड़की ने मुझे क्या कहा कि …दोस्तो, कैसे हो आप सब लोग? उम्मीद है सब अच्छे ही होंगे और लॉक डाउन में सब मज़े में ही होंगे।मैं ये स्टोरी पहली बार लिख रहा हूं. तो कुछ देर बाद मैंने कहा- मम्मी, यह खेल बहुत बोरिंग है।नैंसी- हाँ हनी! तो ऐसा कुछ आईडिया दो जिससे हमारा मनोरंजन हो।मैं- क्या हम स्ट्रिप पोकर खेलें?नहीं जानता मैं कि मैंने ऐसा क्यों कहा.

आगे इस ज्वालामुखी के फटने से क्या हुआ और सेक्स का लावा किस तरह से हमारी चुदाई की कहानी को अंजाम तक ले गया. तभी खाना खाते समय मेरे लंड के ऊपर सब्जी गिर गयी, तो भाभी अपने रूमाल से लंड पर गिरी सब्जी को साफ़ करने लगीं. उसने मुझसे एक बाल्टी मांगी, तो मैंने उसे बाल्टी दे दी और वो नल के पास खड़ा होकर बाल्टी भरने लगा.

उस वक़्त भी मेरी नजर फ़रज़ाना दीदी पर ही थी और उसने भी ये देख लिया।फिर हम चाय पीने लगे. फिर उसने खुद मोनू का लंड अपनी गांड के छेद पर लगवाया और उसको अंदर घुसवा लिया.

आह … क्या कोमल हाथ था हेमा चाची का कि मैं शब्दों में बयान ही नहीं कर सकता.

एक बार आंटी हर्ष के लंड को मुंह में लेती और अर्पित के लंड की मुठ मारती.

उसका हाथ मेरे सर पर था और वो आह आह करके अपनी मादकता को जाहिर कर रही थी. उसके हाथ अब रुकने वाले नहीं थेवो शालू की चिकनी पिंडलियों पर हाथ फिराने लगा. मैं दोनों चूचों को दोनों हाथों से भींच भींचकर उसकी सिसकारी निकलवाने लगा.

फिर हेमा चाची इसी अवस्था में मेरी ओर देख कर मुस्कुरा दीं और अपने मुँह में मौजूद मेरे वीर्य को पी गईं. काफी देर बाद वो सो गया तो मां ने कहा- इसे बहू के पास सुला दे और तू भी सो जा, बहुत रात हो गई है।मैं उसे लेकर भाभी के पास गया, मैंने देखा तो भाभी भी सो रही थी।मैंने धीरे से उसे लेटा दिया और भाभी को जगाने लगा।मगर भाभी गहरी नींद में थी।मैं उनके पैर पर हाथ रख कर सहलाने लगा और उनकी साड़ी को ऊपर उठाया. वह पूरा का पूरा लंड मुंह में ले रही थी। उसके चूसने के तरीके से लग रहा था कि काफी लंड चूसे हैं उसने और अपनी चूत में भी लिये होंगे.

मैंने अपने होंठों से साफ कर दिया जिसके बाद जवाब में उसने मेरे गाल को पकड़ा और अपना दांत मेरे गाल में घुसा दिया.

फिर मैं खाना खाने उनके घर 9 बजे गया तो अंकिता मुझे देख कर स्माइल करने लगी. मगर वो मेरे बॉयफ्रेंड से देखने में कहीं ज्यादा अच्छा था और मैं उसको रोक नहीं पा रही थी. मैंने कहा- तो आंखें बंद करो और सोचो कि मैं तुम्हारे बेड पर आ गया हूं.

मैं निरन्तर उनके चूतड़ों और गांड की दरार पर अपना लंड फेर रहा था और हम दोनों एक दूसरे से कुछ बोले बिना मजे ले रहे थे. अब वो प्रतीक और मेरे बीच में सेन्डविच की तरह हो गयी। मैंने दी को पीछे से गले की तरफ पकड़ा और नेक किस करते हुये अपना लण्ड दी की गांड में उतार दिया।श्वेता नहीं-नहीं … करती रही मगर तब तक उसकी गांड में पूरा लंड उतर चुका था. कुछ देर बाद मैंने भाभी जी को चुदाई के लिए चित लिटाया और टांगें फैला कर उनकी चुत खोल दी.

फिर मैंने उसके सूट को पकड़ा और ऊपर की तरफ इशारा किया तो वो बैठ गई और उसने अपना कमीज उतार दिया।चूमने से उसका चेहरा लाल हो गया था.

एक ने बोला- इतना मजा तो कभी नहीं आया … जितना आज तुमने हम चारों को दिया है. उसकी साड़ी में भी उसकी पतली कमर और मीडियम आकार की गांड बहुत खूबसूरत लग रही थी.

भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी फिर मंजुला को याद करते हुए मैंने अपना लंड सहलाना शुरू किया; और अपने मोबाइल में उसका फोटो देख कर मुठ मारने लगा. मैं बोला- तो ऐसे कब तक चुदोगी? इससे अच्छा है कि तुम हाई क्लास रंडी बन जाओ.

भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी फिर मैं तुम्हें आज से ठीक 4 दिन के बाद चोदूंगा और उसके बाद फिर एक दिन छोड़कर फिर से सेक्स करूंगा. मैं बोला- तो फिर आपने क्या कहा?दीदी- मैं अब उनको मना कर दूंगी कि मुझे शादी नहीं करनी.

अब मैं तुम्हारे ऊपर लेटकर तुम्हारी चूची दबाते हुए होंठों को पी रहा हूं.

नंगी लड़कियां कम उम्र की

शायद किसी चौकीदार का कमरा लग रहा था, परन्तु मेरे लिए वह कमरा एकदम फिट था. उसकी जांघें देख कर मन मचल उठता और मेरे लंड में से सीन देख कर ही पानी निकल जाता. वो जोर से सिसकार रही थी- ओह्हह … आह्ह … आउच … ह्म्म्म … आह … काटो … जोर से काटो … आह … ऐसे ही!उसकी चूचियों पर मेरे दांतों के निशान पड़ गये थे.

वो बोली- आज तो बहुत मस्ती आ रही है, और वो खिलखिलाकर हंस पड़ी और मुझसे लिपट गई।हम दोनों एक दूसरे को बेइंतेहा स्मूच कर रहे थे. ये देखकर हेमा चाची ने जरा भी छी: या ऐसा वैसा शब्द नहीं बोला क्योंकि हेमा चाची ब्लू फिल्में देखती थीं, तो उन्हें इस सबकी आदत हो गई थी. मेरा मन हेमा चाची को देखने के लिए इस कदर मचला जा रहा था कि जैसे मैं चाची से मिलते ही सेक्स करूंगा.

आज शायद अपने जीवन में मैंने पहली बार खुद को इतने सेक्सी अंदाज़ में देखा था।कुछ देर बाद मैं आ गयी अपने इंस्टीट्यूट में!एक दो लड़कियों ने मेरी तारीफ भी की जिससे मुझे बहुत अच्छा लगा.

मैंने उसके बालों को पकड़ा और उसके मुंह में लंड दिये हुए ही उसकी एक फोटो ले ली. जब शादी से पहले चूत में एक बार लंड चला ही गया, तो अब बार बार भी जाने देती हूँ. स्वीटी ने उससे कहा- क्या तुम भी इसका स्वाद लेना चाहोगी?फिर क्या था, वो सब खिल उठीं और तनु व ऋतु उठ कर मेरे लंड को बारी बारी से चूसने लगीं.

मैंने- फिर?वो- फिर वो मेरे लंड को चूस कर उसे साफ़ कर देता है और दुबारा से लंड चूस कर खड़ा कर देता है. उसके मुँह से निकल गया- हाय दय्या ये अन्दर ना जा पाएगा … मैं तो मर ही जाऊंगी. मेरी पत्नी से बात करती हुई रूबी कभी-कभी मेरी तरफ अजीब नजरों से देख लेती, तो मैं भी मुस्कुरा कर उसे देख लेता था.

एक पल बाद ससुर ने तौलिया नीचे की तो मैं लाज से पलट कर जाने लगी मगर मेरे दिल ने ससुर के लंड से इश्क कर लिया था; वो उधर से जाने का कर ही न रहा था. भाभी मेरा साथ इतना एंजॉय कर रही थीं मानो न जाने कब से ही प्यासी हों.

मैं- भाभी आप दवाई खाकर सो जाओ या आप अच्छे से पैर में मालिश करके सो जाओ, इससे आपको आराम मिलेगा।भाभी- सनी तुम मेरी एक बात मानोगे?मैं- हां भाभी, बोलो!भाभी- क्या तुम मेरी मालिश कर दोगे?यह बात सुनकर तो मैं अंदर ही अंदर बहुत खुश हो गया. मेरी चुसाई का नतीजा ये हुआ कि उसका लंड और बड़ा हो गया और मुझे चूसने में और भी मज़ा आने लगा. आज भी मैं उस पल को याद करता हूँ।दोस्तो, आपको ये पहली बार सेक्स की स्टोरी कैसी लगी? मुझे ईमेल करके जरूर बतायें।मेरा इमेल है[emailprotected]धन्यवाद।.

फिर वो मुद्दे की बात पर खुद ही आ गयी और बोली- देख अर्जुन, मैं उस दिन के लिये सॉरी बोलती हूं लेकिन तू ये वीडियो किसी को नहीं दिखाएगा.

सलमान ने लंड पर दबाव दिया तो अम्मी ने कहा- तेरा बहुत बड़ा है … धीरे से अन्दर करना. मामा के मुंह से निकलती सिसकारियां बता रही थीं कि वो कितने आनंद में हैं. दोस्तो, मेरी ये गरम सेक्स भाई बहन कहानी कैसी लगी, आप मुझे मेरी मेल आईडी पर बताना न भूलें.

मैं सब भूल चुकी थी कि मैं पब्लिक बस में किसी अनजान का लंड चूस रही हूं. मगर न जाने क्यों आज बहुत दिन बाद ऐसा लगने लगा था कि मुझे किसी भी तरह इसका लंड देखना है.

रिया बहुत ही चालू किस्म की लड़की है। उसके पहले भी बहुत बॉयफ्रेंड रह चुके हैं। हम दोनों एक दूसरे से सब कुछ शेयर करते हैं।ये पिछले साल की ही बात है. अब तू जा और कर ले!अर्पित- कैसा माल है? मजा आया कि नहीं?हर्षदीप- बहुत मस्त रांड है।ये सुनने के बाद अर्पित रूम के अन्दर गया. भाभी ने राज खोला कि ये शॉपिंग इसलिए हुई है कि मैं अपने घर जाऊंगी और तुम्हारे रिश्ते की बात करके आऊंगी।मैंने भाभी को बांहों में पकड़ कर बोला- भाभी मैं भी चलूं आपके साथ?वो बोली- तेरा जाना अच्छा नहीं लगेगा।मैं उदास हो गया और घर वापस आ गया.

चोदा चोदी चोदा चोदी वीडियो चोदा चोदी

काफ़ी देर तक एक उंगली से करने के बाद जब उसने दो उंगली साथ डालीं तो मैं बिल्कुल तड़प गई.

उसी पल शबाना भाभी की चुत का दाना मेरे होंठों के बीच दब गया और मैंने सर उठा कर उस दाने के मां चोद दी. शुभम गांड मार रहा था और बोल रहा था- रंडी टैक्सी … तुझे तो हर रोज़ अपने लौड़े पर बैठा कर घूमूँगा।फिर सभी लोगों ने लगातार चुदाई की. इसलिए मेरी बहन का एडमिशन घरवालों ने जल्दी ही करवा दिया था और वो मेरे पीछे ही बाहरवीं में आ गयी थी.

वो जोर जोर से सिसकारते हुए कहने लगी- आह्ह … चोद दो … जोर से चोद दो मुझे … मैं प्यासी हूं … अंदर डालो जल्दी. कुछ देर ऐसा करने के बाद मैं नन्दा के ऊपर से अलग हुआ और मैंने अपना पेंट बनियान निकाल दिया. बीएफ लोकलउसकी चूत से पानी निकलने लगा और चूत लंड के घर्षण से फच फच की आवाज गूंजने लगी।वो बोलने लगी- ओओओ ओऔऔ मीत ममम मस्त चोद रहे हो! और डालो अंदर … मेरी चूत का भोसाड़ा बना डाललौ उममययम्!मैंने उसे जोर से और जोर से धक्का देना शुरू कर दिया।15 मिनट तक चोदने के बाद मैंने अपनी स्पीड बढ़ानी शुरू कर दी और आखिर में मैंने उसकी चूत में ही मेरा सारा माल छोड़ दिया.

हो सकता था कि वह चुदी हुई भी हो क्योंकि उसको लंड लेने हल्की फुल्की दिक्कत ही हुई. मेरी आवाज सुनकर भाभी आई और उसने बिजली का पंखा चला कर देखा, तो वो संतुष्ट हो गई.

जब वो घर से निकली तो उसकी सफेद शर्ट में से मैं भी उसकी ब्रा को देख पा रहा था. तो राजसी अपने घुटनों पे बैठ गयी और साहिल का लौड़ा उसकी शार्ट में ही मसलने लगी. आंटी की Xxx चुदाई कहानी के पिछले भागदूध वाली की चुत चुदाई- 1अब तक आपने पढ़ा कि मेरे गांव में एक दूधवाली आंटी मुझ पर फिदा हो गई थीं और मेरा लंड भी उनकी चुत चोदने के लिए मचल उठा था.

भाभी फोन पर भैया से बात करके मुझे फोन देकर वापस चली गईं और मैं भी कुछ देर अपना माथा पीटता रहा. होंठों को चूसते हुए मैंने अपना एक हाथ उसकी टीशर्ट में डाल दिया और उसके बूब्स दबाने लगा।क्या मस्त बूब्स थे यार … रानी के।थोड़ी देर बाद हम दोनों पूरा गर्म हो चुके थे. वो अपने मुँह को पौंछ रहे थे और नीचे गीले जांघिये में से उनका मोटा लंड बड़ा ही मोहक लग रहा था.

भाभी रांड जैसे बोलीं- भोसड़ी के … तेरा चूतिया भाई हरदम बाहर ही रहता है.

हेमा चाची के घर का बाथरूम बहुत बड़ा था, जिसमें एक कोने में एक बड़ा सा बाथटब रखा था. अर्पित और हर्षदीप जब जाने लगे तो शीतल ने उन दोनों को किस किया और उनके फोन नम्बर ले लिए.

मेरे साथ छोटी मोटी घटनाएं होती थीं जैसे किसी का लंड हाथ में ले लिया या फिर भीड़ में गांड किसी के लंड पर रगड़ दी. वहां दो बाथरूम थे, बीच की दीवार छोटी थी तो वो दोनों पहले वाले में चले गए और अंदर से बंद कर लिया. बिना उसको छुए या उसके शरीर पर हाथ ने रखे, मुझे चैन ही नहीं मिलता था.

वो अपने एक हाथ को साहिल के पीछे से सर पर रख कर अपने मुंह की तरफ दबाव दे रही थी. मेरे तो होश उड़ गये कि अब कौन आना बाकी है?फिर वहां रूपाली और निशा आये. तू कर सकेगी?उसकी बात सुनकर मैं एकदम से चौंक गयी और बोली- क्या … तू ये क्या बोल रही है?खुशबू बोली- हां, मैं अपना जिस्म दिखाती हूँ … और दिखाने के साथ साथ बिस्तर भी गर्म करती हूँ.

भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी वो मेरी गर्दन को चूमते हुए बोला- जान, तुम्हारा आज तो जान लेने का इरादा दिख रहा है. भाई की शादी में मैंने उसकी चूत भी देख ली थी लेकिन उसने चूत चुदवाने से मना कर दिया.

mango चूत

अब मैं उन चारों के बारी बारी से दूध दबा रहा था और उन्हें किस कर रहा था. 3 घंटे का समय और बाकी था उन दोनों के पास!फिर वो दोनों किस करने लगे और लड़के ने मेरी बहन की गांड चुदाई की इच्छा जताई. दीदी- पागल हो गयी है क्या! उसकी उम्र ही क्या है अभी?फिर मैं चाय लेकर अंदर चला गया.

मैं यही सोचता था कि मैं तो साला कुंवारा ही मरूंगा, पर शायद मेरी किस्मत को कुछ और ही पसंद था. मैंने आगे बढ़ कर उनके गाल चूम लिए और बुआ ने भी हमेशा से कुछ ज्यादा ही मुझे पानी बांहों में कस लिया और मेरे सर पर चुम्बन देने लगीं. ಬ್ಲೂ ಫಿಲಂ ವೀಡಿಯೊवो अपने एक हाथ को साहिल के पीछे से सर पर रख कर अपने मुंह की तरफ दबाव दे रही थी.

जो नये लड़के इस मेल प्रोस्टीटयूशन धंधे में जाना चाहते हैं खासकर उनके लिए मैंने ये जानकारी लिखी.

अब आगे की हॉट टीनेज गर्ल्स सेक्स स्टोरी:कुछ देर बाद वो फिर से मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी. एक समय ऐसा आया कि उसकी काली ब्रा में लिपटे गोरे गोरे तो दो बड़े आम मेरे सामने थे.

चाची अपनी गांड में मेरी उंगली का अहसास पाकर एक बार को उचक गई थीं लेकिन चिकनाहट के कारण चाची मेरी उंगली को अपनी गांड में जज्ब कर गईं. आह क्या मुसम्मियां थीं … छोटी छोटी लेकिन एकदम गोल और मक्खन की तरह मुलायम. मैंने अपने हाथों और पैरों पर मेहंदी लगवाई और मेहंदी की डिजाइन में अमन का नाम भी लिखवाया.

अमित मेरे साथ हमेशा ड्रिंक भी करता था, तो हम दोनों के लिए एक जगह रहना एक फायदे का सौदा था.

मैं शाम को बाजार से रेजर ले आया और सुबह नहाते वक्त मैंने अपने लंड के बालों को बिल्कुल साफ कर लिया. जब भी हमें मौका मिलता हम दोनों एक दूसरे से लिपट कर चूसा चासी करते और जिस्मों को नोंचने की कोशिश करते. हमारे बीच की बातें अब बुआ भतीजे की न होकर दोस्तों जैसी होने लगी थी.

इंडियन पोर्न वीडियो दिखाएंथोड़ी देर किस करने के बाद मैं उसके कपड़ों के ऊपर से ही उसके चूचों को दबाने लगा. नूपुर- नहीं मैं नहीं लूंगी … ये इतना बड़ा है … मेरे मुँह में भी नहीं आएगा.

अमरीश पुरी की सेक्सी

उसने मुझे कुछ ही सेकंड में पूरी नंगी कर दिया और मुझे सोफे पर लिटा कर मेरा दूध पीने लगा. थोड़ी देर बाद मैं उठकर तैयार हो गया और उससे कहा- तुम अभी लेटी रहो ऐसे ही. वह मेरी ही कॉलोनी में रहती थी लेकिन मैंने कभी उस पर ध्यान नहीं दिया था.

आंटी ने मुस्कुरा कर कहा- आह इतना मज़ा पहले मुझे कभी नहीं आया … किसी ने भी मुझे आज तक ये मज़ा नहीं दिया. मैं बोला- क्या हुआ … कुछ गलत बोल दिया मैंने?उन्होंने बोला- तुम तो अभी भी गलत ही बोल रहे हो ना!मैंने बोला- क्या!उन्होंने कहा- क्या मैं तुम्हें अब भी आंटी लग रही हूँ?मैंने बोला- नहीं आंटी … सॉरी सॉरी आंचल जी … मेरा यह मतलब नहीं था. दोस्तो, कैसे हो सब? उम्मीद करता हूं कि सब को ही गर्म चूत और लौड़ों का आनंद मिल रहा होगा.

मैं वासना से भरी आवाजें भी निकाल रही थी मेरी आवाज में चुदने की कसक सुनाई पड़ रही थी- आह्ह्ह … अह्ह्ह … ससुर जी … उफ़्फ़्फ़ … अब देर मत कीजिए … आह जल्दी से डाल दीजिए अन्दर!मगर ससुर जी मेरी सुन ही नहीं सुन रहे थे. जब सभी लोग खाना खाने के बाद सोने के लिए जाने लगे, तो भैया बोले- मनीष तू हमारे साथ छत पर सो जाना!मैं भाभी और भैया छत पर एक साथ तीनों बिस्तर लगा कर सोने लगे. ये सुन कर मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया और अपने बीवी की चूत को काटने लगा.

उसके बाद जब भी बस हिलती तो धीरे से वो हथेली मेरी गांड के उभरे हुए हिस्से पर घुमा देता. मेरे हाथों की गर्माहट ने उन्हें मदहोश कर दिया और धीरे धीरे उनका सोया हुआ शेर जागने लगा.

पर हेमा चाची ने कहा- अरे रुको तुम यहीं नहा लेना … और मैं तुम्हारे लिए अदरख वाली चाय बना दूंगी, वो पीकर चले जाना.

घुड़चढ़ी के पश्चात् अब बारात जाने की तैयारी होने लगी।बारात को दिल्ली जाना था जो कि हमारे शहर से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर थी। बारात के लिए 2 बस और लगभग 10 छोटी गाड़ियां थीं और सभी यार दोस्त व रिश्तेदार बारात में जाने के लिए अपनी अपनी तैयारी करने लगे।हिमानी और उसकी मम्मी भी बारात में जाने के लिए तैयार होने लगीं. अंग्रेजी सेक्सी बीएफ अंग्रेजी बीएफफिर थोड़ा और वीर्य लेकर हेमा चाची की गोरी और मोटी कड़क चूचियों वाली छाती पर मला. एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियो बीपीबलविंदर ने अलीमा की चूत से निकले हुए पानी को अपने मुँह से स्पर्श किया और जीभ से चाटा. इस आवाज को सुनते ही मैंने अम्मी की तरफ पलट कर देखा, तो वो अपने एक चूचे को अपने हाथ से सहलाते हुए सलमान से धीमी आवाज में बोल रही थीं- जरा रुक जा न … अभी राणा आ गया है, वो देखेगा तो क्या सोचेगा.

तब उसने बताया कि उसका पहली बार है।मैंने पास में पड़ी क्रीम की डिब्बी से क्रीम निकली और अपने लंड और उसकी चूत पर लगा दी.

मैंने अपने लंड की इसी टिकाऊ ताकत के दम पर अब तक बाईस छेद चोद लिए हैं. फिर कमर से मुझे खींचते हुए लंड को फुद्दी पर दबाने की कोशिश करने लगी. मुझे मालूम है कि कल उन्हें एक हफ्ते के लिए दिल्ली जाना है, तो वो आज अपना पूरा काम निपटा कर ही आएंगे.

अब आगे की चाची Xxx स्टोरी:हेमा चाची बार बार मेरे खुले लंड को ताके जा रही थीं. वो पूरा वीर्य निगल गई।मेरे स्खलित होने के बाद भी उसने मेरा लन्ड मुंह से नहीं निकाला और वो और भी मज़े से लन्ड चूसती रही।वो मेरे अंडकोषों को हाथ में लेकर सहलाने लगी।मेरे लंड में गुदगुदी होती रही लेकिन उसने लंड नहीं छोड़ा. उसने वो हाथ उसके सर से हटाकर बलविंदर के हाथों पर रख दिया और मम्मों को दबवाने के कहते हुए मस्ती भरी आवाज निकालने लगी- आह अंकल … और जोर से दबाओ … आह मेरे मम्मे मसल दो … आह.

काजल अग्रवाल सेक्सी वीडियो

फिर सर अपने लंड को मुठ मारने लगे और अपना सारा पानी मेरे लंड पर निकाल दिया. वो अपनी चूत को आगे पीछे धकेलने लगी जैसे मेरे मुंह को ही चोद रही हो. अब वो मेरी जीभ से खेलने लगा और उसे चूसने लगा।मेरी बुर और मैं अब तड़पने लगे और मैंने उससे बोला- अब मुझे और मत तरसाओ प्लीज … मैं तुमसे कब से चुदवाने के लिए तड़प रही थी.

अलीमा के मुँह से चुदाई के आनन्द में मादक सिसकारियां निकलने लगीं और वो बलविंदर के लंड का सुख लेने लगी.

दिन भर वो मम्मी के साथ रहती थी और रात को भी मम्मी के ही रूम में सोती थी.

दोस्तो, आपको गैंगबैंग चुदाई की मेरी सिस्टर सेक्स स्टोरी कैसी लगी? मुझे जरूर बताना. अलीमा लंड को इस तरह से कड़क होते महसूस करके बड़े ही आश्चर्य भाव से लंड को देखने लगी. हिंदी सेक्स बीपी पिक्चरउसकी चोली डीप कट थी जिसमें से उसकी पिंक ब्रा की थोड़ी सी डिज़ाइन दिख रही थी और चूचों के ऊपर का हल्का सा हिस्सा भी दिख रहा था.

वो लंड के पानी को पीना नहीं चाहती थीं … पर मैंने सारा पानी उनके मुँह में गिरा दिया, तो उन्हें वीर्य पीना ही पड़ा. मेरी पत्नी से बात करती हुई रूबी कभी-कभी मेरी तरफ अजीब नजरों से देख लेती, तो मैं भी मुस्कुरा कर उसे देख लेता था. मेरे निप्पल तन गये और अब मैंने उसके सिर को चूचियों पर दबाना शुरू कर दिया.

मैं वहाँ से उठ कर चला गया।फिर कुछ दिनों तक जब किसी ने मुझसे कुछ नहीं कहा तो मैं समझ गया कि इसने अब तक किसी को कुछ नहीं बताया है।मेरी हिम्मत बढ़ गयी और फिर से मैं छुप छुप कर कभी उसकी गांड को तो कभी उसकी चूचियों को घूरने लगा. मैं उसको छिपी हुई नजरों से ताड़ने लगा था और अपनी आंखों से ही उसे चोदने लगा था.

नन्दा की पैंटी भी उसकी देसी चूत से हट चुकी थी और अब नन्दा एकदम नंगी मेरे सामने थी मैं उसकी देसी चूत निहारने लगा.

आज मैं आपको मेरे जीवन में चुदाई की शुरूआत की कहानी बताऊंगा कि मेरे साथ क्या हुआ।तो हुआ ये कि हमारे घर के बराबर में एक किराएदार रहने आए जिसमें अंकल आंटी और उनकी बेटी सलोनी (बदला हुआ नाम) थी. मुझे उसने उस खाली गोदाम के एक कोने में चलने का इशारा किया और हम दोनों कोने में आ गए. उसने मेरे सीने पर हाथ फेर कर कहा- बताया नहीं?मैंने उसका हाथ अपने सीने पर दबाते हुए कहा- हां चलूंगी न!फिर थोड़ी देर के बाद बस स्टॉप आ गया.

हिंदी बीएफ भोजपुरी मैंने राहुल का पूरा लंड अपने मुंह में ले लिया और उसको जीभ से सहलाने लगी. ठाकुर उसका इशारा पाते ही थोड़ा झुक गया और उसने चंपा को अपने कंधे पर उठा लिया.

काफी देर तक मेरी गांड मारने के बाद उसने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे लंड के ऊपर अपना रस गिरा दिया. मेरी चूत के पहले दर्शन करते हुए विजय बोला- अरे वाह क्या बात है इसकी बुर तो एकदम गुलाबी है. मैं उसकी टांगों को फैला कर चुत के मुहाने पर लंड का सुपारा टिका कर बैठ गया.

घाघरा डिजाइन फोटो

हेमा चाची की चूत में घुसे हुए मेरे लंड पर मुझे कुछ गीलापन सा महसूस हुआ. सेक्स इन वाटर स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक अनजान आदमी ने मुझे स्वीमिंग पूल पर चूत में उंगली करते देख लिया. बहू ससुर सेक्स की यह कहानी एक ठरकी ससुर के बारे में है जिसकी वासना इतनी ज्यादा थी कि उसने अपने बेटे की नयी नवेली पत्नी पर ही हाथ साफ कर दिया.

तब मेरे मुँह से मादक आवाजें निकलना शुरू हो गईं- अह्ह्ह … अह्ह … उफ़्फ़. मैंने देर न करते हुए अपनी अंडरवियर निकाली और अपने लंड पर कॉन्डोम लगा लिया.

सेक्स इन मॉम स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी मम्मी के साथ चेन्नई के एक होटल में रुका तो मुझे रात में नंगा सोने की आदत थी.

सेक्स करने का मुझे बहुत शौक है और चूतों के इंतजार में मेरा लौड़ा झांटें बिछाये खड़ा रहता है. बुआ अपनी गांड उठा उठा के मेरा साथ से रही थी और जोश में मैं भी उन्हें गले देते हुए चोद रहा था- ले साली रांड भैन की लौड़ी … कितने दिन बाद पटी साली. हेमा चाची के बदन पर लगा मेरा वीर्य किसी तेल की तरह काम कर रहा था, जिससे उनका पूरा बदन एकदम चिकना हो गया था.

फिर घर से निकल कर मैंने साहिल की बताई जगह पर पहुंच कर उसको फ़ोन किया. मैंने हेमा चाची को धीरे से हिलाकर जगाने की कोशिश की कि हेमा चाची भी उठ जाएं और हम तीसरी बार भी सेक्स का भरपूर मजा ले सकें. काफी देर तक अलग-अलग आसनों में चुदाई करने के चलते अलीमा एक झड़ गई थी.

वो बस आंखें बंद किये आह्ह … आह्ह … करते हुए चुदने का मजा ले रही थी.

भोजपुरी बीएफ व्हिडिओ एचडी: आपको मेरी इंडियन सिंपल गर्ल सेक्स स्टोरी अच्छी लगी उआ नहीं? मुझे मेल करना न भूलना. फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और साथ में लायी गर्भ रोकने की दवा उसे खाने के लिए दी और साथ में पेनकिलर भी।हमने एक दूसरे को किस किया.

आह … मुझे ऐसा लग रहा था … जैसे किसी गर्म भट्टी में मेरा लंड घुस गया हो. उसका जवान मर्दाना शरीर देख कर मेरी आँखें किसी प्यासी रंडी की तरह चमक उठीं. जब मैं उन्हें दवाई खिला रही होती थी, तो मेरा पल्लू गिर जाता था और मैं उसे ऊपर उठाने का जरा सा भी प्रयास नहीं करती थी.

अब मुझे भी महसूस हो गया कि इस आसन में मेरा लंड उसके बच्चेदानी तक चोट कर रहा था.

और सबसे ज्यादा आनन्द तो मुझे तब मिला था जब मेरी चूत और गांड दोनों में एक साथ लंड घुसे थे. हेमा चाची बोलीं- भास्कर पता नहीं मेरे घर की टीवी में क्या हो गया है … उसमें शायद कुछ सैटिंग गड़बड़ हो गई है, वो चल ही ही नहीं रहा है. फिर आगे पता चला कि साहिल नहीं जाएगा तो दादी बात खत्म करने के बाद मुझे बताने लगी कि हम लोगों को उनके साथ चलना है लेकिन साहिल नहीं जाएगा.