बीएफ हिंदी में बिहार का

छवि स्रोत,सेक्सी घोड्याचा

तस्वीर का शीर्षक ,

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೊ ತುಣುಕುಗಳು: बीएफ हिंदी में बिहार का, बस के सफ़र में मैं जिन मैडम की बात कर रहा हूँ … उनका नाम हिमांशी था.

स्तनों को बड़ा कैसे करें

मुझे पूरा यकीन हो चला था कि चाची मेरी पटाई में आ चुकी है और अब मुझे चाची की चूत मिलने ही वाली है. छोटी सेक्सी मूवीये सुनकर दीदी एकदम से डर गईं और बोलीं- कब पढ़ी?मैंने बताया कि तब आपके फ़ोन में पढ़ी थी, जब काम करने के लिए लिया था.

पैन्ट में मेरा खड़ा लंड भी दिखाई देने लगा यहां देख कर बरखा ने मुझे आंख मारी और अपने बड़े बड़े बूब्स को हिलाने लगी जिससे उसका एक बूब्स लगभग ब्लाउज से बाहर निकल ही आया था यह देख कर मेरा लंड भी पूरे जोश में खड़ा हो गयाफिर मैं पंखे की प्लेट को ठीक करने लगा जिससे पंखे में आवाज आ रही थी. बिहारी एचडी सेक्सी वीडियोअधिकतर लड़के और लड़कियां जवानी के जोश में यह भूल जाते हैं कि वो सेक्स में अंधे होकर जिन्दगी के लिए कितना बड़ा खतरा पैदा करने जा रहे हैं.

ऐसे वक़्त पर मुझे उसका साथ देना चाहिए, ना कि उसे डांटना-डपटना चाहिए, या फिर पापा-मम्मी को उसकी शिकायत करनी चाहिए.बीएफ हिंदी में बिहार का: बीच बीच में बारी बारी से में दोनों को अपनी टेबल पर लाता और पैग लगवाकर वापिस डांस फ्लोर पर ले जाता.

मैंने कहा- ये तुम क्या कह रही हो!वो बोली- इसमें बुराई ही क्या है?मैंने कहा- मगर तुम स्वयं एक पत्नी होकर मुझे किसी परायी औरत के साथ संभोग करने के लिए कह रही हो?वो बोली- मैं तुम्हें खुली छूट नहीं दे रही.अब मैं पूरी तरह बरखा के सामने नंगा होकर खड़ा था पर अभी तक बरखा का सिर्फ साड़ी का पल्लू ही नीचे था.

सट्टा किंग गली दिसावर की रिजल्ट - बीएफ हिंदी में बिहार का

अब मामी की बारी थी, उन्होंने मेरा लंड निकाला और चूसना शुरु कर दिया.मैंने उसे खड़ा किया, वो मदहोश थी और कह रही थी- आह … देर मत करो … प्लीज़ चोद दो मुझे.

मेरा लंड रूपाली को करीब पा कर और खड़ा हो गया था और बगल वाले बाथरूम में बड़ी जुड़वां ओर सैंडी कैसे चुदाई कर रहे होंगे, ये सोच कर मेरा लंड कड़क हुए जा रहा था. बीएफ हिंदी में बिहार का अपने होंठों को काटने लगीं और इसी के साथ उस वक्त उन्होंने मेरी कमर पर अपने नाखून से अपनी मोहब्बत के निशान बना दिए.

वो बोली- नहीं … मैं इस मुँह में नहीं लूँगी।पापा बोले- अच्छा बिस्तर पे लेट जाओ.

बीएफ हिंदी में बिहार का?

लेकिन मुझे उम्मीद है कि मैं अपने पति को ग्रुप सेक्स के लिए मना लूंगी, तब जो भी नया घटेगा, मैं आप सभी के साथ अपना सेक्स अनुभव साझा करूंगी. मैं भाभी के पास गया और नीचे आकर मैंने पहले तो पेंटी के ऊपर से ही भाभी की चूत पर अपना हाथ रखकर चूत सहलाई. तुम भी जवान हो रहे हो और कल को जब तुम किसी लड़की के साथ सेक्स करोगे तो तुम्हें आसानी होगी.

अगले ही पल उसने एक और झटका दे मारा और अपना पूरा लंड मां की चुत में पेल दिया. बुआ शायद मेरे इरादे भांप गयी थीं- चल बदमाश, अकेले में तू अपनी दुल्हन से मिलना … चल अभी कोई आ जाएगा. वहां मैंने उस लड़की की चुदाई कैसे की?अब तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागपांच महिलाओं के साथ सेक्स कहानी-1में पढ़ा कि मैंने अपनी ऑफिस वाली शादीशुदा फ्रेंड की कुंवारी चुत में लंड पेला था, जिससे उसको दर्द हुआ था और मैं बिना चुदाई के ही रह गया था.

ऐसा इसलिए होता था कि क्योंकि उनके घर की छत और हमारे घर की छत आपस में मिली हुई थी. मैंने उसको अपनी बांहों में कसके जकड़ लिया और अपने होंठों को उसके होंठों पर लगा कर लंड धीरे धीरे अन्दर डालने लगा. वो बोली- अभी नहीं, वक़्त आने दो … जब मेरी अम्मी कहीं बाहर जाएंगी, मैं खुद आ जाऊंगी.

अब मैं निम्मी की बुर को सुपाड़े से लेकर जड़ तक के लम्बे लम्बे धक्के देकर चोदने लगा. मैंने हंस कर पूछा- कैसे मालूम हुआ … क्या तुम लंड की डॉक्टर हो?वो मेरे मुँह से लंड शब्द सुनकर शर्मा गई और फिर से लंड पकड़ कर बोली- इसमें डॉक्टर वाली क्या बात है, ये गर्म है … इसलिए मैंने कहा कि इसको बुखार चढ़ा है.

फिर उसने सीधा हल्के से धक्के के साथ अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया.

फिर अचानक से काव्या बोली- अभी नहीं जीजाजी … आज रात को मैं आपके कमरे में आऊंगी.

पर पता नहीं क्यों उसने उसका जवाब नहीं दिया और ना ही मुझसे दो तीन दिन तक मिली. शरीर भले ही पतला हो लेकिन जो चीज मोटी होनी चाहिए उसका साइज बहुत अच्छा है. जब सुबह उठा, तो देखा कि 11 बजने वाले थे और मेरी मीटिंग 10:30 बजे की थी.

उसके टॉप में से उसके संतरे जैसे चुचे बहुत मस्त लग रहे थे और निप्पल भी अंगूर के दाने के बराबर थे. आज तुम्हारे पास इन सबके बदले अपने और अपनी बहनों के भविष्य को उज्जवल बनाने का मौका है. मैंने इसी बीच घूम कर दूसरी तरफ देखा, तो सभी लड़कियों के कपड़े उनके बदन से चिपके हुए थे और उनकी ब्रा साफ़ दिख रही थीं.

पर मैंने जानबूझकर अपने मुँह से ‘आह आई ईईई…’ की आवाज निकाल दी, जिससे कि मेरे पति को शक ना हो.

जब तक सामने से कोई लड़की या महिला मुझसे चुदने का इशारा नहीं कर देती है, तब तक मैं चुदाई की सोचता भी नहीं हूँ. यहां घर पर बैठे-बैठे मेरा दिमाग खराब रहता था और जेब में पैसा भी नहीं रहता था. मैंने जब से तेरे 8 इंच के लंड को देखा है ना, तभी से मैं तुझसे चुदवाने के लिए बेचैन हो गई हूं.

बाइक पर जाते समय भाभी ने एक जगह थोड़ी देर के लिए गाड़ी रोकने के लिए कहा. निशा अभी भी मेरे लंड को पकड़ कर खेल रही थी क्योंकि मेरा लंड अभी शांत नहीं हुआ था. आप भी मजा लें मेरी बुआ की चुदाई कहानी का!दोस्तो, अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है बुआ की चुदाई की, इसलिए हो सकता है कि मुझसे कोई गलती हो जाए, प्लीज़ आप गलती को नजरअंदाज कर देना.

मैंने उसकी बुर से मुख मोड़ा और अपने लंड को ऊपर लाते हुए उसकी दोनों चूचियों के बीच में रख दिया.

फिर इस बार पत्ते मैंने बांटे और मॉम फिर जीत गई और मॉम बहुत खुश हुई और बोली- आज मेरी किस्मत सिकंदर है, मैं ही जीत रही हूं. फिर हम लोगों ने उसे देखा, तो ऐसा लगा कि खुद हम लोगों से ज्यादा जल्दी से चुदने की पड़ी थी.

बीएफ हिंदी में बिहार का मुझे हार्डकोर सेक्स बहुत पसंद है इसलिए वो भी मेरी आदतों से भली भांति परिचित थी. उसने जैसे ही मेरे लंड को महसूस किया, तो उसकी सिसकारियां निकलने लगीं.

बीएफ हिंदी में बिहार का मैंने बोला- बिना ब्रा पैंटी के तू पूरे मॉल में घूमती रही थी?वो हंस कर बोली- तो क्या करती … गीली गीली पेंटी से मुझे अच्छा नहीं लग रहा था. मैंने कहा- तुमको विश्वास नहीं होता क्या? तुमने दिन ही इतना अच्छा बताया है कि अगले दिन हमें संडे मिल जाएगा … और सुनो, प्रोग्राम ये होगा कि हम लोग अगले शनिवार डिस्क जाएंगे.

अब या तो तुम सच बता दो या फिर मैं तुम्हारे पापा को तुम्हारी हरकतों के बारे में बता दूंगी.

बीएफ सेक्सी वीडियो मूवी

मैंने पूछा- तो इसकी फोटो क्यों खींच कर लाया?वो बोला- इसको भी चोदेंगे. मेरा पूरा दिन उसकी याद में ही गुजरा, जैसे अब मेरा कुछ अपना रहा है ना हो. मैंने अपनी शर्ट निकाली, तो उधर कसरत कर रहे सभी लोग मेरी बॉडी देखने लगे.

मैं बोला- हां मॉम, रेशमा आंटी हॉट और सेक्सी है लेकिन आपके जितनी नहीं. कल मेरे पति ऑफिस चले जायेंगे और उसके बाद मैं घर में अकेली ही रहूंगी. वो भी मस्ती से अनिरुद्ध के लंड को चूसते हुए अपने भाई के लंड से चुदने का मजा ले रही थी.

मैं जाँघों को चाटते हुए उनकी चुत पर आ गया और पैन्टी के ऊपर से ही चुत को चाटने लगा.

उसने अपनी गांड उठाते हुए बुर को लंड के आगे पेश कर दी और बोली- तुम शुरू में आधा ही लंड अन्दर डालना … पिछली बार तूने पूरा लंड एक साथ डाला था, जिससे मुझे दर्द होने लगा था. सुजन को अलग ले जाकर मैंने कह दिया- भाई तेरी चमन चुत चुदाई के लिए राजी हो गई है. मैंने लंड हिलाते हुए कहा- आज तो तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा मेरी जानेमन.

किंतु तुरंत बाद परायी चूत चोदने के ख्याल से ही लंड में गुदगुदी होने लगी. वो एकदम सिसक गई- ईईई … इस्स …मैं धीरे धीरे उंगली चुत में अन्दर बाहर करने लगा. यद्यपि उसका अतीत मेरे शक के अनुसार सही निकलता है, तब उस स्थिति में क्या मेरा व्यवहार उसके प्रति वैसा ही रह सकेगा, ये समझ नहीं आ रहा है.

अब बरखा कपड़े ऐसे पहनने लगी थी कि उसे देखकर तो लंड का हाल ही खराब हो जाया करता था. उसे गांड मराते हुए देख कर आंटी की हिम्मत भी बढ़ गई और उन्होंने ख़ुद कुतिया बन कर मेरे लंड को अपनी गांड में फिट करवा लिया.

वो भी मेरी ही उम्र की मतलब करीब 19 साल की थी मगर मेरे मुकाबले वो बहुत चालू थी. मन में वहम हो गया कि कहीं एचआईवी संक्रमण न हो गया हो?बहुत दिनों तक मन को समझाता रहा कि मैं व्यर्थ ही चिंता कर रहा हूं. तुमको पता है न जब कोई खास मेहमान आता है, तो हम सिर्फ अंडरगारमेंट पहनते हैं.

माँ की मुस्कराहट देख कर मेरी सासु एंड कम्पनी को कुछ भी समझ में नहीं आया.

मुझे भी अच्छा लगा, मैंने अपना लंड उनके हाथ में दे दिया और वे उसे जोर जोर से चूसने लगी. हम दोनों बचपन में साथ में ही स्कूल पढ़ने जाते रहे थे और बाद में साथ में ही कॉलेज भी जाते रहे थे. तो मैंने उसके पापा को कहा- रुक जाओ थोड़ा!वो थोड़ा से रुके … फिर थोड़ा सा और पेला अंदर.

भी को रंग लगा कर मैं भाभी को रंग लगाने लगा और …मैं इंदौर की एक कॉलोनी में रहता हूं और ये भाभी सेक्स स्टोरी होली की मस्ती में पड़ोस की भाभी की चुदाई की है. और फिर वह कहने लगी- विकी क्या तुम मेरी मदद कर सकते हो?मैंने कहा- मैडम आपको मुझसे क्या मदद चाहिए?तो कहने लगी- मुझे कुछ पैसे एडवांस चाहियें!मैंने उसे कहा- आपको कितने पैसे चाहिएँ?वह मुझे कहने लगी- तुम मुझे ₹25000 दे सकते हो?उस दिन इतने पासे मेरे घर में ही रखे थे तो मैंने उसे पैसे निकाल कर दे दिए.

इतने से ही बरखा की चीख निकल गई, कहने लगी- 2 साल से मेरी चूत में लंड नहीं गया है. मैं अपने लंड को मामी की चुत पर सैट करने लगा, तो मामी ने अपने हाथ से लंड को अपनी चुत की फांकों में सैट कर दिया. मैंने जान बूझकर अपना फोन बंद कर लिया तो वो मेरे लिये नया फोन लेकर आ गयी.

सनी लियोन की बीएफ चुदाई वीडियो

मैंने उसके होंठों पर धीरे से अपने होंठ रख दिए और लंबा किस करने लगा.

उनकी कार को पार्क किया और उसके पति को अपने कंधे पर उठा कर मैं घर के अंदर ले गया. फिर 6 वें दिन मैंने रवि से बात करके निशा को अपने रूम में बुलवाया और कैसे उसकी चुदाई की, इसे पढ़िए और बताइये कहानी कैसी है. दूसरे दिन सुबह ही मेरी पत्नी को स्कूल के काम से दिल्ली जाना पड़ा, यह मेरे लिए सोने पर सुहागा जैसा था.

फिर मैं बोला- मॉम कंडोम है क्या?वो हंस के बोली- तू उसकी चिंता मत कर!मैं बोला- ओके मॉम!फिर मॉम ने ड्रेसिंग टेबल से एक स्प्रे अपने चूत के अंदर छिड़का और बोली- इससे अब मैं जल्दी नहीं झड़ूँगी. वो प्रिया की चूत को अपने हाथ से सहलाने लगी और प्रिया बेड पर तड़पने लगी. किनर का फोन नंबरवो होटल देख कर बोली- मुझे लगा हम हॉस्पिटल जाएंगे, पर ये तो होटल है.

दीदी ने मेरी तरफ वासना भरी निगाहों से देखा, तो मैंने उनको अपनी बांहों में भर लिया और उनको चूमने लगा. आंटी ने कमरे में जाते ही कमरा बंद कर लिया … मगर मैंने सुजन को इशारा कर दिया था कि तुम दरवाजा खोल देना.

मैंने उसकी चुत और दूध निहारते हुए अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसके बगल में आकर लेट गया. एक बात मैं आपको बता देती हूं कि मेरी सील सुहागरात वाले दिन मेरे पति ने ही तोड़ी थी, उसके पहले मैंने कभी नहीं चुदवाया था. मेरी चूत चाटता है और उंगली चलाता है लेकिन चोदता नहीं है क्योंकि उसका लण्ड खड़ा नहीं होता है.

निशा ने हंसते हुए उसने मेरे सामने ही अपनी नाइटी उतार दी और ऐसे ही गांड मटकाते हुए रसोई में चली गयी. जब मेरा पानी निकल गया, तो चाची मुझे चूमते हुए बोलीं कि अब मेरी चूत को कौन शान्त करेगा. एक बार मैंने उसकी तारीफ की और बोला- तुम बहुत खूबसूरत हो और मुझे लंबी लड़कियां पसंद हैं.

मैंने उसे रिलैक्स होने को कहा, मगर वो जलबिन मछली की तरह आजाद होने के लिए छटपटा रही थी.

हमारी चुदायी की आवाज़ फ़च फ़च पच पच कमरे में गूंजने लगी थीं, जिसे सुन कर मुझे और भी जोश आ गया. वो कहने लगी- अभी ऐसी भी क्या जल्दी है रामू, आपसे रोज रोज बात तो कर नहीं पाती हूं.

कुछ देर के बाद मौसी मेरे रूम में आई और टीवी में पेन ड्राइव लगाने लगी. वाह पापा जी वाह!लेकिन यह वीडियो कॉलिंग चुदाई मैं भी देखना चाहता था तो मैंने फटाफट अपने दिमाग की लाइट जलाई. वो बोले- इधर तुम्हारा मन नहीं लग रहा था … उधर मेरा भी मन नहीं लग रहा था.

उस लड़के और आशिमा का सेक्स याद करके मेरा रोम-रोम वासना से भर रहा था. कुछ दिन तक उससे होने वाले हंसी-मजाक को मैं अब दूसरे नजरिए से देखने लगा और जब मुझे लगा कि हां इसके दिमाग में कुछ चल रहा है, तब मैंने उसे एक लव लेटर लिख कर दे दिया. मैंने उसकी टांगों को फैलाया और उसकी चूत में लंड को लगा कर अपने लंड को अंदर धकेल दिया.

बीएफ हिंदी में बिहार का हर रात तीन-चार बार हम दोनों सेक्स करते और एक दूसरे को संतुष्ट करते रहे. एक बार उसकी रस की फुहार निकली, तो हम लोग खाना ख़त्म करके बिस्तर में आ गए.

ब्लू सेक्सी पिक्चर दीजिए

पीयूष ने अंजना को अपनी बगल में बैठाया और उसकी चूचियों को दबाने लगा. कभी-कभी तो वह सुबह ही आ जाती जब मैं सोया हुआ करता था और आकर मेरे रूम की सफाई करने लग पड़ती. मैं मोसी के होंठों को चूसने लगा और मेरे हाथ मोसी की गांड पर चले गये.

ऐसा लग रहा था मेरे सामने 18 साल की लड़की गुलाब की पंखुड़ियों के जैसी अपनी योनि को खोले पड़ी हो. माँ और सासु की धकापेल चुदाई के बाद मैंने दोनों की चुत में लंड पेला और स्खलन के समय मेरी माँ और सासु ने मेरे लंड रस को चाट कर मजा लिया. सेक्सी फिल्म मूवी वीडियो मेंमैंने चाची के सामने लंड को हिलाते हुए कहा- कैसा है चाची?वो बोली- तेरे चाचा के जैसा ही है.

उसके बॉस समयानुसार मेरे ससुराल वालों ने अपने भरोसे की डॉक्टर से उसकी डिलीवरी करवायी.

वाह … एक कसी सी ब्रा में उसके चुचे बहुत बड़े और रसीले फंसे से लग रहे थे. मैं लगातार उसके पैरों को हवा में उठाए हुए पकड़े था और उसको अपने होंठों से ही चूम और चूस रहा था.

उसकी ब्रा पैन्टी को छूकर मैं ऐसे मुकाम पर पहुँच गया जहाँ बगैर सेक्स किये अब मैं वापस नहीं जा सकता तथा. इसमें मॉम तो साफ साफ दिख ही रही थी, साथ में टीवी भी!मॉम के साथ सेक्स की कहानी जारी रहेगी. थोड़ी देर में मैं उठा, आशिमा की ही दूसरी पैन्टी से अपने लंड को पौंछ कर साफ़ किया और फिर आँखें बंद करके कुछ देर के लिए लेट गया.

मैंने कहा- रोज़ हाथ से काम चला रहा था … अब आप मिल गयी हो, तो आप ही अपने हाथ से शांत करो.

वो मेरे लंड को पकड़ते हुए बोली- तो भुलाओ ना यार … मैं तो उसको भूलने को तैयार हूँ … आप ही देर कर रहे हो. मैं कॉफ़ी पीकर उसको किस करके जाने लगा, तो वो पीछे से आकर मेरे गले से लग गई. मैंने पूछा- क्या हुआ मेरी जान … बबासीर का इलाज भी करवाना है?भाभी हंस दीं और बोलीं- मुझे बबासीर नहीं है, लेकिन गांड में खुजली जरूर है.

सेकसी लडकियाफिर शायद दीदी ने मुझे इस तरह से घूरते हुए देख लिया, तो उन्होंने मुझे टोकते हुए बोला- ओ हैलो … ऐसे क्या देख रहे हो?उनके टोकते ही मेरी नजर एकदम से हट गई. मैंने महसूस किया कि मुझे उसको कमोड पर चोदने में दिक्कत हो रही थी, तो मैंने उसे गांड के बल उठाया और वाशबेसिन पर बिठा दिया.

वीडियो बीएफ हिंदी

मॉम कुछ बोलती, उससे पूर्व ही मैंने अपना लन्ड मॉम के मुंह में डाल दिया और शॉट मारना शुरू कर दिया. रवि को ये अच्छा लगा, उसने अपने लंड में दाल मखनी गिरा ली और निशा को चाटने के लिए बोला. मॉम मेरे पास वाली चेयर पर बैठ कर खुद नाश्ता करने लगी तो मैं बोला- मॉम, आज कॉलेज नहीं जाने का मन कर रहा है, आज पूरे दिन आपके साथ रहना चाहता हूं मैं!वे बोली- बेटा, पहले पढ़ाई … फिर उसके बाद सब कुछ! मैं कहीं भागी थोड़ी जा रही हूं, इधर ही तो हूं.

इस तरह थकान के कारण अब मुझे नींद आने लगी, तो मोबाइल मैंने में समय देखा. काफी देर तक मुझे चोदने के बाद विशाल ने कहा- मॉम मैं अपनी मलाई कहां निकालूं?मैंने कहा- अपनी मां की चुत के अन्दर ही डाल दे. लेकिन फिर सबसे पहले मैंने दीदी की चूत के ऊपर अपने हाथ ले गया और चुत को सहलाते हुए दीदी की आंखों में झांका.

मैंने अँधेरे का लाभ उठाया और अपने लंड को पैन्ट से बाहर निकाल कर मामी के हाथ में दे दिया. मेरी मां बोलीं- क्यों अभी लंड से मन नहीं भरा है क्या?चाची बोलीं- नहीं दीदी … अभी भी आग लगी रहती है. उनकी चूत से निकलने वाले कामरस में भीग कर मेरा लंड एकदम से चिकना हो गया.

वो मेरे बालों में हाथ फेरती हुई कहने लगी- देख विशू, इस तरह अपने मां और पापा का सेक्स देखना अच्छी बात नहीं है. इसलिए इंतजार कर रहा था कि अगर तुम मेरी किस्मत में हुई, तो इरादा भी बता दूंगा.

मगर अचानक ही किचन में मेरे हस्बेंड आ गये और उन्होंने प्लम्बर को मेरी चूत में लंड डालते हुए देख लिया.

आपको यह कार सेक्स स्टोरी कैसी लगी इसके बारे में अपनी राय जरूर देना. आवारा पागल दीवाना फुल मूवीवो दर्द के कारण रोने लगी क्योंकि मेरा लंड 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है. रावण की बेटी का नामयह सुनकर मैं दिल ही दिल खुश तो बहुत हो रहा था पर मैं गुस्सा होने का नाटक भी कर रहा था. मैंने उनकी चूचियों को हाथ में लेकर भींचते हुए पूछा- तो क्या चाचा ने आपकी गांड भी चोदी हुई है.

मैंने कहा- भाभी आपसे क्या छिपाना मुझे कुंवारी लड़कियों में मजा नहीं आया, इसलिए मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को ज्यादा नहीं चोदा है.

किस करने के साथ वह लड़का नीचे से आशिमा की गांड को अपने हाथों के जोर से अपनी तरफ तरफ दबा रहा था ताकि कपड़ों के ऊपर से ही सही, उसका लंड आशिमा की चूत के आसपास लग जाए. मैंने अपना थोड़ा सा लंड उस देसी लड़की की चूत में डाला, वो चिल्ला उठी. शादी के लिए बैंक्विट हॉल तो होता नहीं है इसलिए अलग जगह टैंट लगा था.

वो बोली- मैं घर पर अकेली थी और बोर हो रही थी इसलिए तुमको फोन कर दिया. मैंने उससे कहा- आज शाम मैं तुम्हें तुम्हारी पसंद की सुन्दर-सुन्दर ड्रैस दिलवाउंगा. लेकिन उस दिन से संजय जीजा जी से चुदाई करवाके मुझको लगा था कि जैसे उस दिन ही मेरी असली सील टूटी थी.

एक्स व्हिडीओ कॉलेज

मैंने मस्ती से मैडम की चुत में उंगली अन्दर तक पेली और अन्दर बाहर करने लगा. फिर धीरे धीरे मैंने ध्यान दिया कि अक्सर दीदी कभी कभी फ़ोन पर किसी से बात करती रहती हैं … मैसेज करती हैं. मैंने चूत के ऊपर अपना लंड रखा ही था कि उसने अपनी कमर उचका कर मेरा आधा लंड अन्दर कर लिया.

फिर से हम दोनों तैयार थे एक दूसरे में खोने के लिए। फिर वह पीछे की तरफ लेट गया और मुझे अपनी ओर खींचा.

डॉक्टर मुझसे बोली- संजय पागल हो गए थे क्या तुम? ये मजा अब सजा में बदल गया … ये कौन है?मुझे उसको सच सच बताना पड़ा कि काव्या मेरे साले की बीवी है.

मुझे उसका जबाव पढ़ कर मस्ती सी छाने लगी और मैंने एक चुम्बन का इमोजी भेज दिया. मुझे उसका जबाव पढ़ कर मस्ती सी छाने लगी और मैंने एक चुम्बन का इमोजी भेज दिया. पुराने रीमिक्स गानेअपने लंड को गांड के छेद पर रख कर मैंने लंड को अंदर धकेल दिया तो मां चीख उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मगर मेरे लंड का टोपा मम्मी की गांड में जा चुका था.

वो हंस कर बोली- फिर तो अच्छा है, तुम जब भी आओगे … मुझसे मिलकर जाना. पांच मिनट लंड चुसाई में मेरे लंड ने सारा वीर्य उसके मुँह में छोड़ दिया, जिसे उसने सारा पलंग के नीच उगल दिया. उसने मेरे मम्मों पर चिपकी बनियान को उतार कर मेरे तन से अलग कर दिया और मुझे पर चढ़ गया.

हमें पता नहीं लग रहा था कि हम लोग शिमला में चुदाई कर रहे हैं क्योंकि दोनों के ही जिस्म बहुत ज्यादा गर्म हो चुके थे. मैंने उसके सूट का कुर्ता जैसे ही उतारना शुरू किया, तो उसने हाथ ऊपर उठाकर मेरी हेल्प की.

आह्ह … दोस्तो, उसकी चूत में लंड देकर जो मजा आया वो मैं आप लोगों को कैसे बताऊं.

मैंने वो सारा सामान वापस अलमारी में रखा और बाथरूम में जाकर मॉम को याद करके एक तगड़ी मुठ मारी और सारा माल बाहर निकाल दिया. तभी उद्घोषणा हुई कि राजेन्द्रनगर दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस प्लेटफार्म नम्बर एक पर आने वाली है. मैं उससे इस वक्त उससे रात को घर में न रोकने की बात पूछना चाहता था, पर न जाने क्यों, मैं चुप रह गया.

dubai में 10 ग्राम सोने की कीमत क्या है तभी उसने एक जोर का झटका लगा दिया और उसके लंड का टोपा मेरे अन्दर घुसता चला गया. गर्भ ठरहने के एक महीने बाद ही जब हम भ्रूण की सेहत जांचने के मकसद से चेक-अप के लिए गये तो पता चला कि भ्रूण जीवित नहीं था.

रोज सुबह मॉम जल्दी नहा धोकर तेयार हो जाती थी क्योंकि वो संस्कारी के साथ धार्मिक भी बहुत थी वो रोज नियमित रूप से भगवान की पूजा करती थी इसलिए उन्हें सुबह भगवान की पूजा भी करनी होती थी. मैं बोला- नहीं मॉम, ऐसा कुछ भी नहीं है।मॉम बोली- एक काम कर … तू अपनी हाफ पैंट उतार!मैं बोला- क्यों?वो बोली- मैं तेरी मॉम हूँ ना … मेरा कहना नहीं मानेगा?मैंने कहा- ठीक है मॉम!और मैंने अपनी हाफ पैंट उतार दी. मुझे समझ आ गया था कि क्यों लोग लंड पेलने के लिए पागल हो जाते हैं … जिस्मानी रिश्ता बनाने के लिए एकदम वहशी हो जाते हैं.

राजस्थान की बीएफ

वो भी अपनी सौतेली मां को … पोर्न वीडियो से अच्छी थी मॉम की गान्ड! और चूत के ऊपर तो एक भी बाल नहीं दिख रहा था. मैंने कहा- तो आज लेकर देख साली छिनाल, अगर दोबारा लेने का मन न करे तो कहना. ये बात उस समय की है, जब मैं पढ़ रहा था और उस समय मेरी आयु भरपूर जवानी की हो चुकी थी.

मैंने उसको उसके शैक्षिक सर्टिफिकेट भी साथ लाने को कह कर फोन काट दिया. मामा ने मुझे फोन पर ही अपने घर का पता बता दिया और जाने का रास्ता समझा दिया.

वो बोली- कहां आ रही है बारिश … मौसम तो साफ़ है?मैंने देखा तो अब बूंदें नहीं आ रही थीं.

चूंकि चलती बस में ये सब करना आसान नहीं होता, वो भी तब, जब आप बिना हिले डुले ये सब करो. मैं उससे बोलने वाला था कि मेरी शादी होने वाली है, पर उसकी इस खुशी में प्रॉब्लम नहीं बढ़ाना चाहता था, तो चुप रहा. वे ताला बाहर से नहीं लगाते थे हमारे घर की तरफ से लगाते थे ताकि किसी को पता ना चले कि वे लोग कहीं बाहर गये हैं।प्रमिला आंटी की उम्र लगभग 42-43 साल होगी.

वो बोली- बस 5 मिनट मेरी पिकी को चाटो … मैं तुम्हारा खेल कब से देख रही हूँ … अब मुझसे भी रहा नहीं जा रहा … जल्दी करो. मैं उसकी बुर की मदहोशी में खो जाना चाहता था, इसलिए मैंने उसकी बुर की खुशबू के ऐरोमा को लम्बी सांस लेते हुए महसूस किया और अपनी जीभ उसकी बुर पर रख कर नीचे से ऊपर धीरे-धीरे चाटने लगा. फिर मैंने ड्राइवर को ध्यान से देखा, तो याद आया कि ये तो कल रात वाला ही ड्राइवर है.

मैंने एक हाथ छोड़ कर लंड को हाथ से सैट किया और जोर से धक्का दे मारा.

बीएफ हिंदी में बिहार का: उसने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत में लगाया और मेरे लंड को अपनी चूत में ले लिया. पहले मैं आप सबको इस घटना से जुड़े हुए सभी लोगों से परिचित करवा देती हूँ.

उससे सब्जी लेकर मैं घर के अन्दर जाने लगी, तो वो मुझसे बोला- भाभी जी पैसे?मैंने कहा- भैया अभी अन्दर से लाकर देती हूँ. उसकी पूरी बॉडी पर एक भी बाल नहीं था … लगता था कि ब्यूटी पार्लर से सब साफ़ करवाती थी. निम्मी झट से बोली- सर, आपके ऑफिस में चल कर आराम से ट्राई कर लेते हैं.

दो रातों से चल रही हनी की चुदाई अब नित्यकर्म बन गया जो मेरे सास ससुर के लौटने के बाद भी जारी रहा.

वो बोली- तो फिर हमारे साथ करोगे क्या?हम भाभी की तरफ हैरानी से देखने लगा. मैंने उसकी चिल्लपौं पर कोई ध्यान नहीं दिया और उसे रगड़ रगड़ कर चोदने लगा. मैंने उसका पेटीकोट खोला, तो उसकी साड़ी ने भी अपनी जिद छोड़ दी और साड़ी भी बिखर गई.