इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,लड़की का मोबाइल नंबर

तस्वीर का शीर्षक ,

www.com हिंदी ब्लू फिल्म: इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ, ‘ओओओओ … क्या मम्मे थे उसके …’तभी उसने झट से अपना दुप्पटा सीधा किया और हल्का सा ऊपर कर लिया.

पंजाबी सेक्सी पिक्चर दिखाओ

नेहा के चिकोटी काटने से जब मुझे दर्द हुआ तो जैसे मैं होश में आ गया और मैंने नेहा की तरफ देखते हुए उससे पूछा- क्या?? क्या है?क्या है? जान से मारेगा क्या?? आराम से भी तो कर सकता है ना …” नेहा ने कराहते हुए कहा. क्या बादाम सॉन्गतो मैंने उसे चुप कराया, उसकी आँखों पर चुंबन किया और उसके बदन के साथ खेलने लगा.

जब दस-बीस हजार रूपये इकट्ठे हो जाते हैं तो वह अपने देश जाता है और पैसे भी दे आता है तथा अपनी बीवी से भी मिल आता है. सेक्सी ओपन मेंआप सोच सकते हो कि दो भरे हुए खरबूज़ आदमी के मुँह के सामने हों और वो कुछ ना कर सकता हो, तो उसकी क्या हालत होगी.

अब करें क्या … बस फिलहाल देख कर ही थोड़ी आंख सेंक लो, पर मन ने तो खजाना लूटने की तय कर ली थी.इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ: इस वक्त मेरी सहेली का भाई मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चोद रहा था और बता रहा था कि वो अपनी भाभी को किस आसन में चोदता है.

फिर मैं चुपके से अपने बिस्तर से उतरा और छोटी चाची के कमरे में चला गया.रवि मामा का लंड झटके मार रहा था और मैं उसके काम रस को पीने को उतावला था.

सेक्सी पिक्चर डाउनलोड वीडियो में - इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ

शायद ऐसा ही हाल नेहा का था, पर वो अपना ये हाल दिखाना नहीं चाहती थी.दूसरी बोली- अरे वाह … तुम्हारे तो मज़े हैं फिर सारी रात अन्दर डलवा कर पड़ी रहती हो.

यह मुझे पता चला तो मैंने अनिल को कहा- भाई एग्जाम हैं तो रात को मेरे यहीं रुक जाया कर. इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ लेकिन मैं अब सोचती हूं कि काश ऐसा फिर हो जाए, अबकी बार में बिल्कुल रंडी की तरह चुदूँगी।क्या आप मेरी इस कहानी से सहमत हैं?प्लीज मुझे ईमेल जरूर करें।[emailprotected].

अब उसे भी मजा आने लगा था और वो नीचे से कमर उठा उठा के मेरे धक्कों का जवाब दे रही थी.

इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ?

’उसने मेरे चूतड़ दबा कर पूछा- और इनके बीच में भी कुंवारी है?मैंने कहा- हाँ सील बन्द. और मुझे अपनी कहानियों में क्या बदलाव की आवश्यकता है? मुझे नीचे दिए गए ईमेल पर ज़रूर बताएं. उसने अन्दर जाकर ब्रा पेंटी के ऊपर अपना बुरका पहन लिया और बाहर आ गई.

तो मैंने कहा- बाहर ही निकाल दो!तो उसने अपना लंड मेरी चूत से निकाल लिया और अपना पानी मेरे पेट पर निकाल दिया. प्रिया की चुत भी उसकी बहन नेहा के जैसी ही लग रही थी बिल्कुल‌ छोटी सी और काफी फूली हुई. अब मैक का लंड मेरी चूत में पूरा जड़ तक घुस रहा था और उसके झटके और धक्के से चूत से फच फच की आवाज आने लगी थी.

हालांकि मैं दो भाभियों की चूत कई बार मार चुका था मगर कुंवारी चूत को चोदने का मजा ही कुछ अलग होता है. भाभी का कॉल आया और वो मुझसे बोलीं कि भैया एक दिन के लिए ऑफिस के काम से कहीं बाहर जा रहे हैं. जब रात को मेरे सास, ससुर सो जाते थे, तब मैं रसोई में जाकर कोई भी लंड के आकार की चीज, जैसे केला या ककड़ी को अपनी चुत में डाल लेती थी, उसी से मेरी चुत की आग थोड़ी देर के लिए शांत हो जाती थी, पर मेरी चुत को तो बड़े लंड की आदत पड़ी थी.

वह बोली- ठीक है, लेकिन आज नहीं, अगर हनीमून पर तुम मुझे किसी और से चुदवाना चाहते हो तो मैं तैयार हूँ। लेकिन उस दिन तुम मुझे नहीं चोदोगे. फिर मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और घोड़ी बना दिया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा.

मैडम भी मज़े के मूड में आ गई- अरे आगे भी तो बोलिए ना सर … आपकी बीवी इतना अच्छा खाना नहीं बनाती थीं क्या?आज देवी मैडम बड़ी मस्ती के मूड में थी.

राज अंकल ने एक स्कॉर्पियो में मुझे बैठा दिया और जिस गाड़ी में आए थे उसमें मम्मी को बिठा कर बोले कि इसमें आप बैठो.

मेरी दिलचस्पी अभी भी मर्दों में ही है, पर कोई भी लड़की या किसी औरत के साथ भी करने का मौका मिला तो मैं खुशकिस्मत मानूंगी. पर एक बात तो आज भी वो मुझे कहती है कि उस वक्त मैंने इतनी बेदर्दी से उसके मम्मे चूसे थे कि आज तक किसी मर्द ने भी उसके साथ ऐसा नहीं किया. इसकी मम्मी भी आ रही है, उसकी एज लगभग 45 वर्ष है, पर वह इसकी मम्मी है, इसलिए उसको भी चोदना जरूरी है.

खैर मैंने चाची की पेंटी उतार दी और चाची से कहा- प्लीज़ चाची, आज पहले मुझे तबीयत से जी भर के आपकी चुत को देखने दो. तुम्हारी लाल पैंटी, जैसे मैंने सरकाई तो तुमने लज्जावश अपनी चुत को अपने दोनों अंजुलियों से ढक लिया था. नैना बोली- यार तुम कितने सॉफ्ट टच करते हो बूब्स को … और कितना सॉफ़्टली चूस रहे हो.

मैं लेट गयी और अपनी टांगें खोल कर घुटनों को मोड़ते हुए उससे बोली- आ जाओ.

रूपा अपने एक निप्पल पर मेरे होंठों को महसूस करके और गरम हो गयी और उसके मुँह से कामुकता से भरपूर सिसकारियां निकलने लगीं- उम्ह्ह ह्ह मालिक ओह धीरे चुसोओ. इससे मेरी बहन मीनाक्षी बहुत गर्म होने लगी और ऐसे उसका कंठ ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करके आवाज निकालने लगा. ऐसी सेक्सी गांड वाली भाभी को तो मैं किसी भी कीमत पर चोदने के लिए हमेशा तैयार रहता हूँ.

साथ ही मैंने अपने एक हाथ से उनके चुचों को भर लिया और उनको नींबू की तरह निचोड़ने लगा, उनके निप्पल को उंगलियों से रगड़ने लगा. मैं वापस बेड पर जाकर लेट गई और मामी ने सामान चेक किया और उससे कुछ बातें करने लगी. मैं उत्तरायण स्नान के एक दिन पहले दोस्त के घर गया, तो उसने मुझे सबसे मिलाया.

मैंने बोला- दो लास्ट प्रश्न … क्या आपका मन नहीं करता सेक्स का?तो उत्तर आया- हां करता है!और लास्ट सवाल था- आपको कैसा लंड पसंद है.

उतने में जेठ जी आये और मेरे पास बैठ गए- नीतू, कल रात के लिए मुझे माफ़ कर दो. फिर दुबारा थोड़ा तेल डाला और ज़ोर लगाया तो मेरा पूरा लंड मैम की गांड में अन्दर चला गया.

इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ अब मैं जब तक वापस गुसलखाने में जाता, वो कामवाली लौंडिया कमरे आ गयी और मुझे नंगा देख कर हंसने लगी. कामरस से गीली होकर नेहा की मुनिया अब चिकनी हो गयी थी, जिससे मेरी उंगलियां उसकी मुनिया पर अपने आप‌ ही फिसलने लगीं और नेहा के मुँह से हल्की हल्की सिसकारियां फूटनी शुरू हो गईं.

इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ उनके होंठ रखते ही जाने कैसी गर्मी मुझे होने लगी और उनकी सांसें मेरी सांसों से गरम-गरम अन्दर जाने लगी. मेरी कसी हुई छातियों को दबाते हुए बोले- खुदा ने खूब तराशा है।मैंने बांहें उनके गले में डालते हुए कहा- आप जैसे कद्रदानों के लिये तराशा है। कर लो अपनी चाहतें पूरी और इस अधूरी तनु को अपने जोश से संपूर्ण कर दीजिए।लगता है हुस्न के इस बगीचे का माली कमज़ोर है.

क्यों तुम ये सवाल क्यों पूछ रहे हो?मैं- मनीषा, तुम्हारी चूत का मुहूर्त मैं नहीं कर सका पर तुम्हारी गांड का मुहूर्त में करना चाहता हूँ.

हिंदी सेक्सी गाना वाली सेक्सी

अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी चूत को अनवर जोर जोर से चोद रहा था, धक्के मार रहा था. करीब 5 मिनट की चुदाई के बाद मैं नीरू की चूत में अपना माल छोड़ दिया और मैं भी शांत पड़ गया और अपनी पत्नी को मैंने जीभ से चाट कर शांत किया. अब तक मैं कपड़े पहन चुका था तो वो जोर से सांस लेते हुए बोली- लोग केवल बोलते रहते हैं और कपड़े पहन कर कमरे में बैठे रहते हैं.

क्या होंठ थे, इतने दिनों बाद किसी स्त्री के बांहों में होना मुझे तरन्नुम दे रहा था. मैं आपको अपनी मकान मालकिन भाभी की कामुकता की आग की कहानी बता रहा हूँ. मैंने झट से अपनी कैप्री उतार दी और नंगा हो गया और ऊषा का एक हाथ नीचे ले जाकर अपना लंड पकड़ा दिया.

उन्होंने स्कर्ट की इलास्टिक पकड़कर पूरी नीचे उतार दी और बोले- यह समीज और अपना ऊपर की टी-शर्ट भी उतार दे.

मेरी सरोज चाची जब भी कहीं जाती थीं, तो वे मुझे अपने साथ ही लेकर जाती थीं. मैंने उसका पता ले लिया और फिर व्हाट्सएप पर मैंने उसकी फोटो भी मांग ली. इस पूरे प्लान में मैं कहीं नहीं था क्योंकि इनका प्लान दीवाली के बाद जाने का था और दीवाली के वक़्त मेरा बिज़नेस जोर पर होता है तो मैं नहीं जाने वाला था.

वो बोली- थैंक्स!उसने अन्दर आने को कहा, मैं अन्दर जाकर सोफे पर बैठ गया. साथ ही मैंने नीचे चुत में दो उंगली डालने की कोशिश की, लेकिन कसावट के कारण नहीं गईं. अंकल थाड़े असमंजस थे और उन्होंने जल्दबाजी में अरुणा को अपनी बांहों में भर लिया और अपने होंठ उसके होंठों पे लगा दिए.

इस तरह से मैंने खाला की जम कर चुदाई की और उनको जन्नत की सैर करा दी. कुछ देर बाद उनकी पढ़ाई ख़त्म होने के बाद वो अब उठकर सीधा बाथरूम में नहाने चली गई और मैं उनके बच्चों के पास बैठा था.

मेरा सूट थोड़ा मॉडर्न था, जिसमें से मेरी चूची का आकर बिल्कुल साफ़ दिख रहा था. सोनू भी रोमांच से भर गई और कहने लगी- राज बात तो तुम ठीक कह रहे हो, मम्मी के चूतड़ तो मेरे चूतड़ों से कहीं ज्यादा भारी हैं. पुनीत जी मुझे लगता है, मेरी चूत फट गयी है पीछे भी लगता है मेरी गांड को चीर फाड़ दिया है.

मैंने उनकी गांड पकड़कर अपनी स्पीड बढ़ा दी, तो वो भी कुछ देर के बाद झड़ गईं.

अंकल भी पूरे मादरचोद थे, वे जानते थे कि कोई भी औरत ऐसी स्थिति में बिना चुदवाये नहीं रह सकती. मैं भी जानबूझ कर आगे का ब्रेक लगा देता, जिसे वो मेरे और करीब आ जाती. उसके छोटे छोटे संतरे जैसे बूब्स और उसकी जांघों के बीच छोटे बालों से घिरी छोटी सी चूत देखकर मेरा लंड उफान मारने लगा.

मेरी चूत लंड लेने के लिए तड़प रही थी और मेरी चूत में से फिर से पानी भी निकलने लगा था. मैंने जो भी देखा था, मुझे उस पर विश्वास नहीं हो रहा था … पर सब सच था.

स्कूल से घर साथ घूमना फिरना, एक साथ खाना, एक साथ नहाना … रोज रात को चुदाई के मज़े लेना. अब मालती ने मेरी चूत को नकली लंड से ही सही, लेकिन मीठा दर्द दे दिया था … जिससे उसको अब लंड की सख्त जरूरत होने लगी. मैं चौंक गयी और कहा- यहां तो कोई भी आ सकता है और अगर किसी ने देख लिया तो मुसीबत हो जाएगी.

सेक्सी वीडियो हॉट एक्स एक्स एक्स

उसके बाद मैं मॉम को वहीं छोड़ कर अपने दोस्त के घर के लिए कुछ मिठाई लेने के बहाने घर से निकल आया.

मैं जैसे ही अजनबी अंकल की गोद में बैठी, उनका लंड मेरी चूत से छू गया. आखिर करूँ तो क्या करूँ … अगर अपने पति को बताती कि मुझे और चुदवाने का मन कर रहा है, तो वो न जाने मेरे बारे में क्या सोचते. कुछ देर में मैंने सोनू की गर्दन पर हाथ रखकर उसे कहा कि अपनी चूचियां बेड पर रख लो.

मैंने उसी समय उनकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसको खोलते ही उनके 38 साइज़ के बूब्स उसी समय लटककर मेरी छाती पर आ गए. फिर मुझे दुकान के लिए खरीदी करने के लिए जाना था जिसमें कम से कम दो दिन लगने वाले थे. अंग्रेजी फिल्म सेक्सइतने में गैब्रियल अपना लंड गांड से निकाल कर बाकी रस मेरे कूल्हों में और कमर में रगड़ते हुए गिरा दिया.

ओके, मैं शाम को आता हूँ…”और मैं नमस्ते कह कर वहाँ से चला गया। उसकी तस्वीर मेरी आँखों में सारा दिन घूमती रही।आख़िर शाम हो ही गई. तब मैंने जानबूझकर आंख बंद कर दी, जिसे देख कर वंदना को लगा कि शायद नींद में रख दिया है और उसने मेरे हाथ को पकड़ कर अपने चूचों के एकदम पास कर लिया.

हम फ्लैट के अन्दर आ गए तो उसने मुझे पानी दिया और मुझे अपनी स्टोरी के बारे में थोड़ा बताया कि उसने शादी के बाद पति की काम शक्ति से मायूस होने पर अपने देवर को पटा लिया था, पर उसका लंड भी छोटा निकला, जिससे उसको संतुष्टि नहीं मिली. बस सर्विस ही तो की है लेकिन मीना ने प्यार से कहा- आप रख लो ना प्लीज!मीना के कहने पर मैंने वो पैसे रख लिए और मैं वहां से वापस आ गया. इससे भाबी और ज्यादा उत्तेजित हो कर मुझे गालियां देने लगी- मुदित भोसड़ी के … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद चोद डाल मुझे … बुझा इस कुतिया की प्यास आह कुत्ते बहनचोद … आ न आह!उसकी गालियों ने मुझे और उत्तेजित कर दिया.

दोपहर को खाने के समय लड़कियां आपस में बातें करने लगीं जो जरूरत से ज़्यादा अश्लील हुआ करती थीं. नीचे आते ही सन्नी मुझसे लिपट गया और बड़ी व्याकुलता से मुझे चूमने लगा. पर मुझे क्या पता था कि जहां मैं जा रहा हूं, वहां एक से बढ़ कर एक चूत मिलेंगी.

अन्दर सोनल को दादाजी के सुपारे को मुँह में लेकर चूसते देख कर उत्तेजना से मेरी आंखें बंद होने लगी थीं.

इसे प्यार से चोद कर हमारी तरह ही कली से फूल बनाओ! लेकिन इसको दर्द ना होने पाए!मैंने कहा- ठीक है, जैसी आपकी आज्ञा!मैंने समय की मांग को देखते हुए पायल की बुर पर अपनी जीभ लगा कर उसको चाटना शुरू कर दिया. एक तेज ‘आआह …’ के साथ उसकी पकड़ थोड़ी ढीली हुई और हमारे होंठ भी अलग हो गए.

वो बुरी तरह से थक गई थी तो मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा और पीछे से जोरदार चुदाई करने लगा. भाबी अपने मम्मों को दबवाते हुए पागल हो रही थी और मेरे लंड को और जोर से चूस रही थी. मैंने साड़ी पहनी थी, तो एक तरफ होकर उसकी मोटर साईकल पर बैठ गयी और उसे एक हाथ से पकड़ लिया.

होटल के रूम में पहुंचते ही वह किसी भूखी शेरनी की तरह मुझ पर टूट पड़ी. मैं बोला- ठीक है … ये किसका नंबर है?तो उसने बड़ी सहजता से कहा- ये मेरा ही नंबर है. क्योंकि लोन उसके पति के नाम पर था। तो उसने मुझसे कहा- मुझको लोन की सख्त ज़रूरत है।मैंने अपनी दिक्कत बताई कि ऐसे काम नहीं चलेगा।तो उसने कहा- क्या आप आज शाम को 7 से 8 बजे के करीब मेरे घर आ सकते हैं.

इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ फिर जब भाभी से रहा नहीं गया तो उसने मुझे नीचे पटक लिया और मेरे अंडरवियर को नीचे खींच कर एकदम से मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया. मैंने भी अपने शर्ट के बटन खोले और उसकी स्तनों पर टूट पड़ा, उसके ब्लाऊज के हुक खोलने लगा.

सेक्सी फिल्म केवल

इसकी वजह से तुम्हारे साथ साथ मेरी भी बहुत बदनामी होगी!मैंने उनसे कहा- मैं आपसे सिर्फ़ हग ही तो माँग रहा हूँ, उसमें कैसी बदनामी? यह बात मैं किसी को नहीं बताऊंगा, मेरा आपसे यह पक्का वादा रहा!तब उन्होंने कहा- हाँ ठीक है … लेकिन तू मुझे सिर्फ़ गले ही लगाएगा और उसके आगे कुछ नहीं करेगा. मेरी इस मस्तराम सेक्स स्टोरी के पहले भागगांव वाली साली की सहेली को चोदा-1अब मैंने उसके निप्पल को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. दो महिलाएं और एक आदमी भी मनमाड़ से ही बैठे थे लेकिन मैंने उन पर उतना अधिक ध्यान नहीं दिया था.

मैंने एक हाथ उसकी चूत पर रखा … क्या बताऊं भाई आप लोगों को … बिल्कुल साफ मखमली चूत थी. खैर मैं इस बात से खुश था कि मुझे बिना प्रयास के अपनी हर मनोकामना पूरी होती दिख रही थी. सेक्सी पिक्चर खेलते हुएवहीं पर रीतिका से भी मुलाकात हुयी, जब हम तीनों की नजर एक दूसरे से मिली तो एक मुस्कुराहट के साथ सभी ने एक दूसरे का स्वागत किया.

क्या पता उस वक्त वह नींद में ना हो और उसे पता चल गया हो कि दादाजी उसके साथ क्या कर रहे थे.

मैं- अमित अब बर्दाश्त नहीं हो रहा … प्लीज़, डाल दो न!अमित- क्या डाल दूँ मेरी जान?मैं- अपना लण्ड मेरी चूत में डाल दो. मैं मेरी मॉम के बारे में बता दूँ कि मेरी मॉम का नाम निशा है और उनकी उम्र अभी 41 साल है.

तभी उसने एक और करारे धक्के में पूरा लंड अन्दर घुसा दिया और लंड सीधे बच्चेदानी में टच हो गया. तब मनीषा ने मेरे लन्ड को मुँह में लेकर गीला किया और लन्ड को अपने हाथों से पकड़ कर चूत पर रखा और मुझे जोर लगाने को बोला. मैंने उसके पैरों को पकड़ा और उसकी पैरों की उँगलियों को एक एक करके चूसना शुरू किया.

मैं तैयार थी, पर उसने अपना 8 इंच का लौड़ा सीधे मेरी चूत की जगह गांड में पेल दिया.

मुझे अब दरवाजे पर किसी के होने का आभास सा हुआ, मगर मैंने जब दरवाजे की तरफ देखा तो मुझे‌ नेहा नजर आयी. मेरे मन में तो चोर घुसा हुआ था, मेरी गांड फटने लगी थी कि कहीं सरोज चाची मेरी मम्मी से कह न दें. मैंने उसको रोका पर उसने पकड़ कर मेरे स्तन दबा दिए।उसने अपने कपड़े उतारे और मुझे पकड़ कर बिस्तर पर ले गई.

शरीफ दिलदारसरिता खुद मुझे एअरपोर्ट लेने आई थी, लाल ड्रेस ऊपर दुपट्टा डाले, वो गजब की माल लग रही थी. उसके बाद वे खड़े हुए और मेरे पास आकर बोले- अरे वाह अन्नु … रेशमा ने तुझे कैसे तैयार किया है मेरे लिए.

सेक्सी वीडियो अंग्रेजी सेक्सी सेक्सी

मैंने उठकर उसे पीछे पकड़ लिया और कहा- जानू, वीर्य पान तो कर लिया … अब मूत्र का स्वाद भी चख लो. मेरे देवर ने मुझे अपने ऊपर करके अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मुझे अपने लंड पर उछलने के लिए बोला. हाय दोस्तो, मैं विराट आप सबके लिए अपनी कहानी को आगे बढ़ाते हुए एक बार फिर से हाजिर हूँ.

मैंने भी मौका का फ़ायदा उठाया और फट से उसके हाथ को उठा कर चूम लिया. आप सब को मेरी पिछली कहानियां पसंद आईं और अपने अपने कॉमेंट भेजे, इसके लिए दिल खोलकर शुक्रिया. पहले दिन तो रहम करता, अब तो अगले 2 साल तक मैं तेरी रंडी हूँ, जब मन करे तब चोद दियो, आज तो छोड़ दे.

अपने‌ लंड‌ के सुपारे को नेहा की मुनिया पर घिसते हुए मैंने फिर से एक बार नेहा के चेहरे की तरफ देखा. रवि मेरी चूत में पूरी ताकत से लंड डाल के अन्दर बाहर रगड़ रगड़ कर चुदाई करने लगे. उसने मेरी गांड पे क्रीम लगाई, उंगली घुसाई फिर लंड को निशाने पे रखा और पेल दिया.

थोड़ी देर बाद मैंने हिम्मत करके उससे कहा- अगर आप बुरा आ मानो तो क्यों ना आप अपना दूध यहीं बॉटल में निकाल लो ताकि आपको बार बार जाने ना पड़े. दादाजी की उंगलियां अब सोनल की टांगों पर घूमने लगीं, फिर धीरे धीरे जांघों पर जा पहुँची.

जब हम उठे तो मैंने वियाग्रा की गोली खा ली ताकि अगला राउंड 20 मिनट नहीं बल्कि एक घंटे तक चले.

दादाजी ने अपने अंगूठे और उंगली से सोनल की चूत की पंखुड़ियां खोलीं, तो सोनल की चूत का दाना उनके सामने आ गया. छोटी बच्ची सेक्सउनका ब्लाउज उतार कर मैंने चाची के चूचों को ब्रा के ऊपर से दबाना शुरू कर दिया. सेक्सी खतरनाकमैंने पति को आवाज देकर अन्दर आने को कहा, मेरे पति अन्दर आकर देखा मेरी गोरी गांड और दोनों कूल्हों के बीच से मेरी चुत चुदने के लिए तैयार थी. हम दोनों वहां के सरकारी क्वार्टर में रहने लगे, उस एक ब्लॉक में 8 र्क्वाटर थे.

फंक्शन के दिन सुबह 10 बजे वह मुझे लेने आ गया और 15 मिनट में हम फ्लैट पर पहुंच गए.

तभी वो बोली- पता है मुझे … मैंने ही पापा को बोला था तुम्हें मेरे साथ भेजने के लिए!मैं तो जवाब सुनकर हैरान रह गया. अब मैंने रॉकी से बोला कि भाई ये कस्टमर बिरजू करता क्या है?तो उसने बताया कि वो ड्राइवर है. अब अगले तीन दिन बाद मुझे घर वापस आना था तो नीना की चूत मेरी सेवा में किस तरह हाजिर हुई.

मेरी कहानी आपको कैसी लगी, प्लीज़ बताए ताकि मैं, आपका मीत, जल्द ही अपने दूसरे अनुभव आपको भी बता सकूं. मुझसे वो बहुत ही खुल कर बात कर रही थी, जबकि मुझे थोड़ी झिझक हो रही थी. एक दिन मैंने पान दुकान वाले से उस लड़के के बारे में पूछा, तो पान वाले से पता चला कि वो एक अमीर घर का एकलौता लड़का है, पर थोड़ा गांडू किस्म का है.

सेक्सी व्हिडीओ ट्रिपल एक्स बीपी

मुझसे रहा नहीं गया इसलिए मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी‌ गर्दन‌ को‌ पकड़कर उनके होंठों को अपने मुँह में भर लिया और उन्हें जोरों से चूसने लगा. उस फिल्म में एक बूढ़ा आदमी एक जवान लड़की को कैसे पटाता है और कैसे चोदता है, वह दिखाया गया था. रवि मामा का लंड झटके मार रहा था और मैं उसके काम रस को पीने को उतावला था.

महेश ने सुनील को बोला- यार तू कुछ पहन के नीचे जा, दारू की बोतल ले आ.

देख ना वो रोड के उस पार है … कितनी दूर है, फिर भी इतनी मस्त दिख रही है, तो पास से क्या माल दिखती होगी रे … सच में यार ये तो कयामत है.

वहाँ स्टेशन पर ही हमारे लिए बस खड़ी थी, सबने अपना सामान उस बस में रख दिया और अपने हिसाब से सीट पकड़ ली. कुछ देर बाद मैंने एकता को मेरे पीछे किया और अपने पैरों को चौड़ा करके प्रमिला की तरफ को थोड़ा झुक गया. सिर दर्द की टेबलेट का नामतभी मेरी चूत को थोड़ा ज्यादा सा खोल कर उसने अपनी जीभ मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा.

‘कामिनी, तू तो मेरी रखैल है न?’‘नहीं मेरे साजन … आज से मैं और मम्मी दोनों तेरी चीज़ हैं. रिक्शा वाला अपने कपड़े पहन कर 200 रूपये नेहा के मम्मों पर फेंक कर बोला- जानू रंडी से ज्यादा मज़ा तेरी चुत में है. फिर मैं ऊपर जा कर चाय और सिगरेट पीने लगा और सोच रहा था कि अगर ये ऊपर आ जाती है, तो इसकी चुत का मज़ा लूंगा और अगर नहीं आती है, तो फिर इसे भूल जाऊंगा.

अब तक की इस मस्त सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं नेहा की चूत में लंड घुसाने की तैयारी में था. मेरा लंड है, खड़ा भी होता है, पर उसमें मुझे ज्यादा दिलचस्पी नहीं थी.

फिर मैं चुपके से अपने बिस्तर से उतरा और छोटी चाची के कमरे में चला गया.

आपको बता दूं कि कहानी कि हर एक भाग में महज शब्द ही मेरे हैं, जबकि घटना का लेखाजोखा बताने वाली तो मेरी चुदक्कड़ वाइफ नीना खुद ही है. सुलेखा भाभी को देखकर ऐसा नहीं लग रहा था कि मैं उन्हें चोद रहा हूँ बल्कि ऐसा लग रहा था जैसे कि भाभी मुझे चोद रही हों. अब फिर से मैंने उसकी चूत के मुहाने पर अपने लंड का सुपारा लगाया हल्का सा अंदर दबाया इस बार चिकना होने की वजह से मेरा सुपारा पायल की चूत के अंदर समा गया.

भाभी सेक्सी वीडियो मैं चुपचाप उसके फ्लैट पे पहुंच गया, तो सुरभि भी कॉलेज जाने के लिए तैयार थी. जेठ जी बड़े ही उतावले हो गए थे, मुझसे फोरप्ले करने की बजाए, वह मुझे जल्द से जल्द नंगी करने पर तुले थे.

अब तक मैंने जितनी भी औरतों के साथ सेक्स किया है, रुबीना के जिस्म की बात सबसे अलग थी. लगभग बीस मिनट बाद वह तौलिया लपेटकर निकली और मुझे देखते हुये मुस्कुराई. एकता बड़बड़ा रही थी- आज आयेगा मजा … क्या जोरदार लंड है साले का … बिग कॉक बेबी … हार्ड कॉक याआआ आआआअ … गूऊऊउ गूऊऊउ …वो अपनी मादक आवाजों के साथ लंड पर जोर जोर से अपना मुँह आगे पीछे कर रही थी.

स्नान करने वाली सेक्सी

सन्नी मेरे सामने गांड खोले खड़ा था और मैं उसके सामने से पीछे हाथ करके उसकी गांड में उंगली कर रहा था. वैसे अजय ने भी कोई जल्दबाजी नहीं दिखाई मुझसे गंदी बात शुरू करने में. सभी बारी-बारी से मेरी चुत को, मम्मों को और गालों को चूमने चाटने लगे.

आपको जवान लड़की की यह मस्त सेक्स कहानी कैसी लग रही है? आप अपने ईमेल भेज सकते हैं. मतलब जैसे ही मैंने भाभी को ऊपर से नंगी किया, उसी समय उसने भी मुझे ऊपर से नंगा कर दिया.

फिर धीरे धीरे उसकी पकड़ ढीली हो गयी और वो निढाल सी होकर बिस्तर पर ढेर हो गयी.

मुझे लगा कि जगत अंकल और अन्दर तक लंड डालें, पर मैं बोल नहीं सकती थी. फिर मैं डर के कारण जल्दी से उठ कर अपने बेड पर आकर रज़ाई में घुस गया. आज रात मेरी ड्यूटी है, नहीं तो तुम्हारी और एक बार चुदाई करता, पर कोई बात नहीं कल रात मैं छुट्टी ले लूंगा.

अब मेरी चीख भी नहीं निकल रही थी, क्योंकि मेरे मुँह में महेश अपना लंड डालकर उसे अन्दर बाहर करने में लग गया था. उस वक्त मैं 21 साल की हुई थी और मामा के घर पर ही रहती थी उस वक्त मेरा फिगर 34-28-34 के करीब था. टटोलते हुए मैंने धीरे-धीरे उसके लंड को ढूंढ लिया और मेरा हाथ किसी मोटे डंडे जैसे लौड़े पर जाकर सेट हो गया.

उसने मुझे इतने जोर से पकड़ा था कि उसके नाख़ून मेरे पीठ में चुभ गए थे.

इंग्लिश बीएफ सेक्सी सेक्सी बीएफ: मैंने एक हल्का सा नीचे से धक्का मारा और कहा- जा अपनी चाय यहीं ले आ. मैंने आपको बहुत दिनों से छत पर कसरत करते हुए देखकर अपनी चूत में उंगली की है.

फ़िर वही हुआ, चुचियों को पकड़ते ही वो गरमा गई और बोली- जल्दी जल्दी चोदो … मेरा भी हो गया … बस बाहर मत निकालना … मुझे अन्दर ही महसूस करना है. उसने झट से मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. मैंने भी अपनी जीभ बाहर निकाल कर उसके मुँह में घुसा दी, जिसे वो जोरों से चूसने लगी.

पिंकी अपने हाथ को वापस खींचने की कोशिश करते हुए बगैर उनकी तरफ देखे बोली- जाने दो ना सर … प्लीज़ … !”सर ने मेरा हाथ अपने दूसरे हाथ में पकड़ा और मुझे अपने लंड के नीचे लटक रहे ‘गोले’ पकड़ा दिए … मैंने हल्का सा विरोध भी नहीं किया और उनके गोले अपनी उंगलियों से सहलाने लगी.

इधर से मैं अपनी चूत के दर्शन उसको करवा रही थी तो दूसरी तरफ से अजय अपने लंड का साइज अपने हाथ में लेकर मुझे नापकर दिखा रहा था. फिर वो अचानक से चिल्ला भी नहीं सकीं, क्योंकि उनका मुँह मेरे मुँह से दबा था और मैं उनको ज़ोर-ज़ोर से किस करता गया और धक्के लगाते गया. वो मेरी आज्ञा का पालन तुरंत करने लगा और थोड़ी देर चाटने के बाद मुझे लगने लगा कि अब मैं खुद को रोक नहीं सकती.