ओरिजिनल बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,कुत्ता और लड़की का सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

विदेशी ब्लू वीडियो: ओरिजिनल बीएफ वीडियो, ‘क्या बात है सर … एकदम टाइट है ये कभी बैठता नहीं है क्या?’‘तुझे देख कर खड़ा हो जाता है.

बीपी इंग्लिश बीपी

राज बोला- अनीषा यार, मुझे तुम दोनों की गांड चुदाई देखना है बस!मैं बोली- ओके लेकिन कैसे देखोगे?वो बोला- यहीं लाइव टेलीकास्ट. हिन्दी गाने वीडियोमेरी मजबूरी थी आपके साथ सोना … आप मेरी मजबूरी का फ़ायदा उठा रहे हैं.

मैंने उन्हें चूमते हुए कहा- भाभी, आपको तो मालूम ही है कि ये मेरा किसी लड़की के साथ पहली बार का मामला है. छतरी फिल्मचुत को छूने की बजाए मैंने हाथ से अपने खूंखार हो चुके नत्थूलाल को पकड़ कर, साड़ी के ऊपर से ही बिल्कुल ठीक उसकी चूत के ऊपर टिका दिया.

लेकिन टॉवल से सिर्फ मेरे मम्मों और मेरी चूत के ऊपर का थोड़ा सा हिस्सा ही ढका हुआ था.ओरिजिनल बीएफ वीडियो: वो बोला- हो सकता है कि वो सब एक साथ आगे पीछे से करें!मैं अपनी गांड मरवा चुकी थी ये बात मेरे पति को नहीं मालूम थी.

वो- हर्षद मेरी और एक तमन्ना है … क्या तुम पूरी करोगे?मैंने कहा- बोल कर तो देखो जान.अपनी अम्मी के कहने पर साबिरा ने मुझे देखा और मुड़ कर रसोई की तरफ जाने लगी.

कामुक लड़की - ओरिजिनल बीएफ वीडियो

अब मैं ऐसा कुछ करना चाहती थी, जिससे कि मेरे देवर का दिमाग हिल जाए और वो मेरा दीवाना हो जाए.अगर तुम्हें बुरा न लगे तो क्या हम दोनों एक गहरे दोस्त बन सकते हैं?पता नहीं कैसे, पर उसने बिल्कुल भी गुस्सा नहीं किया और अपना सर मेरे कंधे पर रखते हुए बोली- मैंने तो आपको अपना गहरा दोस्त आज से ही मान लिया है, बस हमारा रिश्ता दुनिया के सामने नहीं आना चाहिए.

सामान जो लगता हो वो आप ले लीजिएगा और जो घर का सामान लगना हो, उसकी लिस्ट बता दीजिएगा. ओरिजिनल बीएफ वीडियो लेकिन दोस्तो, मेरा ये नजरिया गलत निकला और अब मैं ये पूरे विश्वास के साथ कह सकती हूं कि हॉट लड़की की वासना, जिस्म की प्यास एक ऐसी प्यास है, जिसे बुझाने के लिए इंसान किसी भी हद तक जा सकता है और वो सारे रिश्ते नाते भूल सकता है.

उसकी उम्र करीब 45 के लगभग होगी, लेकिन वो 30 से 32 साल की मस्त माल लग रही थी.

ओरिजिनल बीएफ वीडियो?

उन्होंने अपने अंगूठे से चूत को मसलना शुरू कर दिया और चूत से निकल रहा पानी उनके अंगूठे पर लग रहा था जिससे अंगूठा चिपचिपा हो गया और उन्होंने अंगूठा चूत में डाल दिया. तो बिना लंड के मेरा क्या हाल हुआ?नमस्कार दोस्तो, मैं कोमल मिश्रा अपनी नई सेक्स कहानी में आप सभी दोस्तों का स्वागत करती हूं. फिर उनके मम्मों को उनकी ब्रा पर से ही चूसने लगा और वो आह उह्ह की आवाज निकालने लगीं.

तभी एक बाबा ने मुझे अपनी तरफ खींचा और मेरा चुम्मा लेते हुए अपने मुँह से एक दवा की गोली मेरे मुँह में डाल दी. ये सब घूंघट वगैरह उसको मजबूरी में करना पड़ता था जो उसने मुझको बाद में बताया था. मामी एकदम से ठिठक गईं और उन्होंने कहा- शादी के बाद मैंने पत्नी धर्म निभाया है.

इस पर रियान ने मुझे अपना प्लान बताया कि कल बीच पर इसका फोटोशूट होना है. अन्दर लेते ही वह कामुक सिसकारियां भरने लगी- आ पूरा पेल दिया … बड़ा है निकाल लो. उसकी मुस्कान देख कर मैंने उसके एक हाथ को मेरे हाथ में लिया और धीरे से सहलाने लगा.

उसके बाद मैंने उसकी हेयर पिन निकाल दी और गले के आस-पास चुम्बन करने लगा. बहुत दिन से संभोग सुख से वंचित रेशमा की चूत मेरे लौड़े पर अपना पानी बहा कर मुझे धन्यवाद दे रही थी.

पर ग्रुप सेक्स और काले रंग के देहाती लंड अब तक सिर्फ मेरी सेक्स के दौरान इमेजिनेशन ही थे.

रेखा के माँ बाप मेरे घर में किरायेदार थे लम्बे समय से! रेखा उन दोनों की इकलौती संतान थी.

मैं कुछ देर बाद धीरे धीरे उसके मुँह में धक्के लगाने लगा, जिससे मेरा लंड उसके हलक तक पहुंच गया. थोड़ी देर बाद वो मुझसे बोली- तुमने मर्डर मूवी देखी?मैंने बोला- हां देखी है. मैंने अब तक उसकी गांड नहीं मारी थी तो मैंने सोचा कि अब इसके बाद न जाने कौन सी लौंडिया मेरे लंड के नसीब में होगी.

तीसरे दिन आंटी ने मुझसे कहा- तुम दूध लेकर अन्दर ही आ जाना, चाय बनाती हूँ. मुझे यह बात बहुत बुरी लगी और मैंने फैसला कर लिया कि इस रांड को अब मैं अपने लंड पर नंगी करके नचाऊंगा. उनकी आंखों से आँसू निकल रहे थे और वो मुखिया जी को अपने से दूर करने की कोशिश करने लगी.

वह अपना ज्वाइनिगं एप्लीकेशन लैटर भी साथ में लाया था, वो उसने मुझे दिया.

रेशमा की हिलती हुई चूचियां अपने हाथ में लेकर मैंने एक को चूसना चालू किया. ऐसे ही बीस मिनट के बाद दोनों एक साथ झड़ने लगे तो रेखा ने अपना सर मेरे कंधे रख दिया और मादक सिसकारियां लेने लगी. अब मेरा लंड भी उसकी चूत में साँप की तरह फुंफकार रहा था और किसी भी पल अपना जहर छोड़ सकता था.

मैं लंड अन्दर बाहर करने लगा और मैंने अपने जीवन की पहली चुदाई का कार्यक्रम शुरू कर दिया. हम लोग मामा के उस एरिया को बागड़ कहते है क्योंकि उनकी भाषा थोड़ी अलग किस्म की है. तो मैंने कहा- तुम्हारे पैर चूम लूं, चाट लूं … तुम्हारे अंडरआर्म्स को प्यार कर लूं … ओर घंटों तक बस तुम्हारे पूरे बदन को चाटता रहूँ.

इस तरह से उन दोनों ने हम दोनों ननद भाभी को एक साथ एक ही बिस्तर पर चोदा और सुबह 4:30 बजे तक मजा लेने के बाद अपने कपड़े पहने और चले गए.

नहीं तो घर में रह कुछ करता रहता हूँ या फिर किसी फ्रेंड के पास चला जाता हूँ. मैंने उसके मम्मे को पकड़ लिया और वो मजे से मुझसे अपने दूध मसलवाने लगी.

ओरिजिनल बीएफ वीडियो सोनम 10 बज कर 10 मिनट पर पापा के रूम में पहुंची, जहां उसका वे बसब्री से इन्तजार कर रहे थे. कुछ टाइम बाद दूध वाले का दोस्त बेड पर लेट गया और मैं उसके लंड पर चूत सैट करके उछलने लगी.

ओरिजिनल बीएफ वीडियो चूत में लंड फंसा कर वो मजे में गांड हिलाने लगी और आराम आराम से चुदने लगी. मुझे लोवर के बाहर से ही अन्दर की उफान चढ़ती नदी का अंदेशा हो रहा था.

मैंने दूसरे कमरे के पास पहुंच कर जैसे ही दरवाजा खटखटाने के लिए हाथ उठाया लेकिन दरवाजे को खटखटाने की हिम्मत नहीं हुई.

सेक्सी वीडियो मोटा लंड की चुदाई

वो बाहर निकली, उनके निकलने के बाद में बाहर आया और दोनों साथ सीढ़ियां चढ़ते हुए साथ में ऊपर चलने लगे. इस तरह से हमारी बातें भी चलती थीं और मेरे हाथ उसकी चूत और गांड पर भी चलने लगे थे. तभी ममा ने अपने भानजे के लण्ड पर क्रीम लगा दी।उसने दोबारा से मेरी चूत में धीरे धीरे लण्ड डाला।पहले धीरे धीरे लण्ड अंदर बाहर किया और फिर धीरे धीरे धक्कों की गति बढ़ा दी।मुझे मजा देने के लिए निहारिका और ममा ने मेरी एक एक चूची मुख में ले ली और चूसने लगी.

उसने पूरे पूरे टट्टे मुँह में लेकर खींच खींच कर चाटे और फिर मुँह में लंड ले लिया. आज मुझे भी जैसा मैंने अन्तर्वासना पर पढ़ा था, वैसा आनन्द प्राप्त हो रहा था. अब उसने अपनी गांड उठाकर एक हाथ में मेरा लंड पकड़ा और मेरे लंड का सुपारा अपनी चूत की दरार में रगड़ने लगी.

मैंने उसकी गांड मारनी शुरू कर दी और ड्यूरेक्स का स्प्रे उसकी चुत में डालता रहा.

थोड़ी देर में मैंने उसकी चूत में माल निकाल दिया और उसकी बाजू में लेट गया. देवर भाभी का रिश्ता भी मजाक का होता है जिससे किसी को शक भी नहीं होता था. अब शब्बो के बाल पूरे खुले चुके थे; उसका नंगा बदन अपने छोटे मालिक के नीचे दब रहा था।शब्बो के बोब्बे, गर्दन, पेट और कमर को चूम चाट कर वीरू ने उसका बदन गीला कर दिया था और अपना लौड़ा शब्बो की जांघों में रगड़ रगड़ कर उसकी चड्डी भिगो दी थी.

थोड़ा लोगों की नजरें पहचानने की योग्यता चाहिए और थोड़ा नाज नखरे और मर्दों को रिझाने की अदाएं चाहिए होती हैं, बस इतने में ही चूत का काम बन जाता है. KLPD स्टोरी मतलब खड़े लंड पर धोखा की कहानी! एक बार मेरे साथ एक सेक्सी लड़की थी. मैं अपने दोस्त से फोन पर बातें करता था और हम दोनों प्लान बना रहे थे कि कैसे किसी लड़की को साथ में चोदेंगे.

वह हवाई जहाज से मुंबई जा रहे थे।वहां से लौट कर आई और अपनी कार पार्क कर रही थी। तभी मुझे अरविन्द अंकल दिखाई पड़े।मैंने आवाज़ लगाई- अंकल जी!वे पीछे मुड़े, मुझे देखा और बोले- अरे तुम हुमा … कैसी हो?मैंने कहा- अंकल मैं अच्छी हूँ, आप कैसे हैं?वे बोले- मैं मस्त हूँ. मेरे मुँह में एक मम्मे का मजा था, तो मेरे दोनों हाथ उसकी कमर में से पैंट में घुस गए थे.

कुछ देर बाद जब मैं थोड़ा शान्त हुई तो साले हरामी ने फिर से एक जोरदार झटका मार दिया और अपना पूरा गधे जैसा 8 इंच का लंड मेरी चूत के अन्दर उतार दिया. ये वो पल था जिसका दोनों को ही बड़ी बेसब्री से इंतजार था।आपको ये सेक्सी मेड हॉट स्टोरी कैसी लगी इस बारे में अपनी राय जरूर भेजें।अपनी प्रतिक्रिया दी गई ईमेल पर भेजें[emailprotected]सेक्सी मेड हॉट स्टोरी का अगला भाग:. उसकी बातें सुनकर मैं अचंभित था कि एक शादीशुदा लड़की, कली कैसे बनी रह सकती है.

कुछ देर बाद हम दोनों मस्ती से झड़ गए और लेट कर अपनी योजना के बारे में चर्चा करने लगे.

इसके कारण, मेरे लंड का घर्षण तुम्हारी चूत में इतना ज्यादा होता है कि तुम कामवासना में डूबकर जल्दी झड़ जाती हो. उनके पति को गुस्सा आ गया, वो बोला- ले साली आज अपने लंड से तेरी चूत फाड़ ही देता हूँ. सुनीता सेक्सी शरीर की मालकिन है, लेकिन सेक्स के नाम से कोसों दूर है.

दोस्तो, वैसे दिक्कत तो मुझे भी थोड़ी हो रही थी क्योंकि अभी तक मेरा लंड वर्जिन था. डरी सहमी चेतना एक शब्द भी नहीं बोली और घर में किसी और को नहीं बताने की मिन्नतें करने लगी.

उसने एक हाथ में मेरा लंड ऊपर से ही पकड़ा और दूसरे हाथ से गुब्बारे देती हुई बोली- ये तो बहुत बड़ा है हर्षद जी. भाभी ने मेरे सर को जोर से पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया और अपनी गांड उठा कर अपनी चूत को मेरे मुँह में भरती हुई चिल्लाने लगीं- ओह राहुल मेरा होना वाला है … आज चूस लो … पूरा खा जाओ मेरी चूत को उंह आआह. हम दोनों पांच मिनट तक एक दूसरे के होंठों को चूसते हुए ऐसे ही कुछ मिनट लेटे रहे.

सेक्सी वीडियो नंगी नंगी चुदाई

मैं राज से बोली- आजा मेरे राज, आज जो करना है, खुलकर कर लो, बहुत दिनों से मुझे भी लंड नहीं मिला है.

एक दिन विलास का फोन आया कि बच्चे के नामकरण की विधि बीस मार्च को है. मैं उनकी जांघ पर बैठी हुई थी और उन्होंने मेरी साड़ी कमर तक निकाल दी थी. सानू हंस पड़ा और बोला- अरे यार … ‘तुम्हारी’ में अब कौन डाल सकता है, पर अब भी तुम नमकीन तो हो.

उसी समय पता नहीं मुझे क्या हुआ, मैं साबुन पकड़ उसकी पीठ पर लगाने लगी और मैंने अपना पल्लू नीचे सरका दिया. मैंने भाभी की गांड के छेद में अपनी जीभ लगा दी और छेद गीला करने लगा. लड़की का फोटो वॉलपेपरमैंने उसे बेड पर लेटा दिया उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया कर चूत में लंड पेल दिया.

अब आगे हॉट स्टूडेंट पोर्न स्टोरी:हम दोनों ने हल्दी वाला दूध पीना शुरू कर दिया. एक दिन मैं मार्किट में सामान खरीद रहा था, अचानक आनन्द जी और उनकी बीवी नेहा जी से मुलाकात हुई.

ये एक सत्य घटना पर आधारित कहानी है, जिसके पात्रों के नाम गोपनीयता की वजह से बदल दिए गए हैं. फिर नवाज बोले- इनका तलाक हो गया था, आपको बताया ही था, अब ये शादी कर रहे हैं. मैं उनकी फैमिली में अब तक सिर्फ उनके बेटे से मिला था, इसके अलावा और किसी को पहचानता ही नहीं था.

मैंने शर्माते हुए भाभी से कहा- आप तो सो गयी थी ना?भाभी बोली- क्यों नाटक सिर्फ तुम लोग ही कर सकते हो?मैंने कहा- भाभी माफ करो मुझे. पिछली जनवरी से शब्बो चाची उनके घर में काम कर रही थी।सुबह आकर सबसे पहले घर को साफ़ करती थी, फिर कपड़े धोना, फिर वीरू के लिए नाश्ता, दोपहर का खाना बनाकर शब्बो करीब 12 बजे तक शर्मा जी के घर का काम ख़त्म करके दूसरे घरों में काम करने निकल जाती थी. तभी उसके लंड से वीर्य का फव्वारा निकला, जो मेरे मुँह से गले में चला गया और कुछ माल मेरे मम्मों पर गिरा दिया.

फिर वो मुस्कुरा कर बोलीं- एक बात बताओ, आप मुझे रोज रोज छत पर क्यों देखते हो?मैंने कहा- नहीं, ऐसा तो कुछ नहीं है.

एक झटके में वो मेरे ऊपर आ गए और मेरे चेहरे को जोर जोर से चूमने लगे. Xx सेक्सी गर्ल की चुदाई कहानी के पहले भागडांस टीचर को चूत में उंगली करती देखामें अब तक आपने मेरी सेक्स कहानी में पढ़ा था कि मैं श्रेया की गांड मारना चाह रहा था और वो राजी हो गई थी.

उधर मेरे लंड का अहसास करते ही वो एकदम से बोली- उई माँ, ये तो तुम्हारा कितना बड़ा है. आशा करता हूँ कि इस अन्तर्वासनाX पोर्न कहानी को भी मेरी पिछली कहानियों की तरह आपका बहुत सारा प्यार मिलेगा. इतना भी नहीं जानते हो?इस पर मैं बोला- अच्छा बेटा परायी लड़की के चूचे पकड़ना बुरी बात होती है, तो पराये लड़के का लंड चूसना भी बुरी बात होती है.

अब मेरा मन थ्रीसम सेक्स के बारे में जो सोच रहा था, आज वही मैं आपको ऐसे बता रही हूँ, जैसे मैं भी कर रही हूँ. वे हमारे घर कम ही आते हैं पर फिर भी मेरी थोड़ी बहुत दोस्ती हो गई थी अंकल से। मैं उनके साथ बैठ कर वाइन भी पी लेती थी लेकिन कभी इसके आगे नहीं बढ़ी।मैंने सिर्फ एक मैक्सी पहन ली. ललिता भाभी बोलने लगीं- राज अब और न तड़पा … जल्दी से अपना लौड़ा मेरी प्यासी चूत में घुसा दे.

ओरिजिनल बीएफ वीडियो इसके बाद सोनम ने सिर पर दुपट्टा डाल कर हम दोनों के लिए मेज पर खाना लगाया. धुंधली रोशनी में मामी जी चेतना के कान में कुछ बड़बड़ा कर निकल गईं और बाहर से कमरे की कुंडी लगा कर अपने कमरे में अमरचंद के पास चली गईं.

ग्रुप सेक्सी कहानियां

करीब पांच मिनट की धुंआधार चुदाई के बाद मैं रुका और अपना लंड बाहर निकाल लिया. मैंने उसे पीले रंग वाली ब्रा पैंटी दी और कहा- लो इसे पहन कर रूम में आ जाओ. उतरते हुए उसने पूछा- क्या आप ही ड्रेसिंग करवाने के लिए पूछ रहे थे?मैंने उंगली दिखाते हुए कहा कि जी हां, मुझे ही ड्रेसिंग करवानी है.

उनकी बातें सुन कर पता चला कि ये सोनाली का दूसरी बार का संभोग था और इसी मास्टर ने घर पर 2 सप्ताह पहले उसकी सील को तोड़ा था. मास्टर से एक हाथ से चूत में उंगली करना चालू रखा और दूसरे हाथ से भाभी की एक चूची को दबाने लगा. इंग्लिश बीपी डायरेक्टमैंने धीरे धीरे चुदाई जारी रखी और आधा घंटा तक अपनी भांजी की चुत को चोदने के बाद मैं झड़ने वाला हो गया था.

मैंने बोला- कैसे?समीर ने कहा- कल मेरे घर पर कोई नहीं है, तो तुम सर को मेरे घर बुला लेना.

फिर उसने अपना पूरा वजन मेरे ऊपर डाल दिया और और धीरे-धीरे धक्के देने लगा. वो तुमने देखा है?मैं बोला- ऑफ़ कोर्स यार … वो ही तो उस फिल्म की जान है.

उन दोनों की एक बहन 22 साल की अर्चना बहुत ही ज्यादा आकर्षक और सुंदर थी. मैं भी उनके होंठों से होंठ लगा कर उनको चुम्बन में साथ देने लगी थी, साथ ही मैं अपने हाथों से उनके बालों को सहलाने लगी थी. इतना कहते हुए उसने कपड़ा लेकर अपनी चूत पौंछकर साफ कर ली और फर्श भी पौंछकर साफ कर दिया.

जब तुम गुब्बारे लगा रहे थे, तब मैंने तुम्हारा लंड अपनी हाथों से रगड़ा था.

मैं अपने दोनों हाथों से उसके स्तन, पेट, कमर पर साबुन लगाकर उसे सहलाते हुए नहला रहा था. कुछ दिनों बाद गर्मी की छुट्टी आयी तो मेरी पत्नी बच्चों को लेकर मायके निकल गयी. मेरे मैसेज के जवाब में उसने लिखा- नहीं मैं बुरा नहीं मानूंगी, आप बेधड़क बोलो.

सेक्सी बीपी नवीनसना ने खुश होकर मुझसे कहा- आज रात डिनर पर आइए, खूबसूरती और महंगी दारू से आपकी खिदमत की जाएगी. सना ने हिंदुस्तान आने की इच्छा भी जाहिर की लेकिन पTकिस्तानी पासपोर्ट होने के कारण उसे वीसा नहीं मिल सकता था.

भारत की सेक्सी हिंदी

हैलो साथियो, मैं कविता एक बार फिर से आपको अपने परिवार की कामवासना से रुबरू कराने हाजिर हूँ. मुझे उसके दूध बड़े ही मस्त लगे तो मैंने अपना पूरा हाथ उसके एक दूध पर जमा दिया और उसके निप्पल को अंगूठे से छुआ. यह मैं अपनी बड़ाई के लिए नहीं लिख रहा हूँ दोस्तो, केवल सत्य बता रहा हूं.

सोनम ने पापा का लंड दबा दिया और बोली- पापा एक बात कहूँ … आपके इसमें तो बहुत दम दिख रहा है. फिर मैंने उसकी चूत पर दो उंगलियों से फांकों को जरा फैला दिया और अपना लंड का सुपारा घुसा कर ठेल दिया. भाभी- वही तो, अब मैं क्या करूं … उस दिन के बाद से मुझे बहुत मन कर रहा … पर मैं ऐसा नहीं कर सकती.

उसने अपनी जीभ बाहर निकाल कर मेरे गालों से चाटती हुई मेरे पूरे मुँह को साफ कर दिया. वो मासूम हंसने लगी, उसे अपनी चूत की ताकत लंड के सामने चार गुनी लगने लगी थी. पर जब मैंने देखा की वो अकड़ने लगी है तो मैं रुक गया और उसे तड़पता हुआ देखने लगा.

नीता मेरे कंधे पर अपना सर रखकर बोली- इतनी तेज क्यों चला रहे हो? गीता से मिलने के लिए बहुत उतावले हो रहे हो क्या हर्षद?ऐसा कहते हुए नीता ने अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया. तभी उसने मुझको एक थप्पड़ मारा और बोला- हराम के लौड़े गांडू भोसड़ी के … चिल्ला क्यों रहा है मादरचोद … लंड का मजा ले.

आज जब हम दोनों एक दूसरे को एक बार ज़ी भर कर चोद चुके हैं और चूस चुके हैं और अपनी जवानी की प्यास को आंखों से अभी चोद रहे थे.

रुचिका ने तुम्हारी बहुत प्रसंसा की है और वो बोली है कि अब कुछ ऐसा करो कि सप्ताह में एक बार मिलन होता रहे. रंगरसिया सीरियलमैंने कार्ड देखकर उससे पूछा- इन दोनों नम्बर में से आपका कौन सा नंबर है? ऑर्डर किस नंबर पर करूं?उसने कहा- जो नम्बर बैक साइड में नंबर लिखा है, आप उस पर कॉल करके आर्डर कर सकते हैं. र्पोन क्या होता हैएक दिन मैं रात को ड्यूटी करके सुबह लौटा तो मैंने देखा कि जावेद काम करने वाले लड़के को फर्श पर औंधा लिटाए, उस पर चढ़ा हुआ था. धीरे धीरे पता नहीं क्या कैसे हुआ, हम दोनों एक दिन, रात में मेरे कमरे में बैठ कर आपस में बातचीत कर रहे थे कि तभी हमारे बीच सेक्स की बातें शुरू हो गईं.

’‘सर अब तो आप कई बार मुझे भोग चुके हो, क्या पहले से ही मुझे चोदने प्लान बना रखा था आपने … या बस ऐसे ही हो गया.

हम दोनों थक कर ऐसे ही लेटे थे कि नीरजा की आवाज आई- मम्मी मामा आप दोनों ये क्या कर रहे हो?हम दोनों घबरा गए. बेडरूम में मोनिका की चुदास से भरी हुई आवाजें गूँजने लगीं- अहा … आह … राज बस जल्दी से मेरी चूत में लंड डाल दो. उसने मासूमियत से पूछा- क्यों?मैं- मैं अपने पैरों पर खड़े होने के बाद ही शादी करना चाहता हूँ.

गर्म धधकते अंगारों जैसे अपने दोनों होंठों को वो मेरी नंगी छाती पर फेरती हुई सिसकारियां ले रही थी. मैं कुछ हरियाणवी भाषा का प्रयोग करूंगा, आपकी समझने में कुछ दिक्कत जरूर हो सकती है लेकिन मुझे उम्मीद है कि आपको सब समझ में आ जाएगा. थोड़ा आराम करने के बाद सीमा उठी और मेरे ऊपर आकर लेट गई और मुझसे कहने लगी- मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ, तुम मेरा बहुत ख्याल रखते हो.

सेक्सी आर्केस्ट्रा वीडियो डांस

हैलो साथियो, मैं कविता एक बार फिर से आपको अपने परिवार की कामवासना से रुबरू कराने हाजिर हूँ. और इसी मदहोशी भरे पल में कब हमारे कपड़े उतर गए, हमको पता ही नहीं चला. वहां से भैया अपने दोस्तों के साथ गाड़ी में बैठ कर निकल गए और मैं भाभी के पास आ गया.

तब मैंने आयशा से कहा- सॉरी यार आयशा, गलती से मेरे हाथ तेरे बूब्स पर लग गए थे.

उनके घर का दरवाजा बंद था जबकि मैंने कुछ देर पहले उस मास्टर को भाभी के घर में पढ़ाने जाते हुए देखा था.

चु…!मैं- मतलब आप चुदवा नहीं सकती, पर क्यों?भाभी- मैं अपने पति को धोखा नहीं दे सकती. मैंने उससे पूछा- तुम्हारा कोई बॉयफ़्रेंड है क्या?उसने कहा कि पहले तो कई रहे थे, मगर बाद में एक ज्यादा पसंद आ गया था. ममता कुलकर्णी xxxमैंने किचन में जाकर उससे पूछा- दीदी आपका फिगर बहुत टाइट है और सेक्सी भी.

मैंने ध्यान दिया कि भाभी मेरी उंगली को एक ही जगह आगे पीछे कर रही थी और उसका हाथ पहले से थोड़ा ज्यादा ही तेज़ होता जा रहा था. मेरा नाम रवि कुमार साहू है और मैं छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से हूँ. मैंने सोफे पर लेटे हुए अपने देवर को ऐसे अनदेखा किया जैसे कि मैंने उसे देखा ही नहीं था.

उसकी कुंवारी बुर एकदम कसी हुई थी और मेरा मोटा लंड उसकीसीलपैक बुरमें नहीं जा पा रहा था. अमन- आह आह … आ ह … चा चा ची … चाची मेरा निकल गया!यह कह कर मेरे ऊपर गिर गया।मैं उसके नीचे थी, उसका लंड अभी मेरी Xxx चूत में था और मेरी चूत उसके पानी से और मेरे पानी से भर गई थी इसलिए पानी बाहर निकल रहा था।मेरे अंदर इतनी भी शक्ति नहीं थी कि मैं अब अमन को साइड कर के कपड़े पहन सकूं, इसलिए मैं वैसे ही पड़ी रही.

हम दोनों ने एक दूसरे को अपनी बांहों में कस लिया और चूम कर अलग हो गए.

मैं उसके पीछे अपने घुटनों पर हो गया और पहले उसकी गांड को हाथों से सहलाते हुए अपने होंठों से चूमने लगा. वो खुद जोर जोर से गांड उठा कर उंगली करवाने लगीं और उसी में उन्होंने अपनी पेशाब की धार तक बहा दी. रेखा अपनी गांड मेरे लंड पर रगड़ती हुई बोली- अब क्या हुआ हर्षद? क्या तुम्हारा अभी तक दिल नहीं भरा?मैंने उसके स्तन नाईटी के ऊपर से ही मसलकर कहा- कैसे बताऊं रेखा … तुम्हें देखते ही बार बार मेरा दिल और मेरा लंड मचल उठता है.

भूत और चुड़ैल की कहानी उसकी फाइल लगभग उस पोजीशन में थी कि कोई ख़ास ऑब्जेक्शन नहीं लगाया जा सकता था, तब भी मेरे साइन के बिना उसका लोन नहीं हो सकता था. उसकी साड़ी के अन्दर नंगी मोटी चूचियां, गोरी कमर, सुडौल चूतड़, हूरों जैसे तीखे नैन नक्श, जो हमेशा मुझे ही देखते रहते थे और मैं उन्हें!हमारे घर में काम करने के लिए कई नौकर हैं, गाड़ियां हैं.

इधर मैंने भी सोच लिया था कि अगर ससुर जी ने मेरे साथ कुछ करना चाहा, तो मैं उन्हें मना नहीं करूंगी क्योंकि मुझे अपने जिस्म की आग अब बर्दाश्त नहीं हो रही थी. हम सभी घर वालों का उस फकीर के प्रति पिछले दस सालों से बहुत ही अधिक झुकाव था और हम सब उसे फ़रिश्ते की तरह मानते थे बल्कि यूं कहें कि फ़रिश्ते से भी ज्यादा बढ़कर मानते थे. उसके गर्म होंठ मेरे लंड को छू रहे थे, जिसके कारण लंड और ज़्यादा सख्त हो गया था.

सदाबहार सेक्सी

अब हम दोनों ने फिर से वीडियो कॉलिंग शुरू की और अब हम दोनों दोबारा से मिलने का प्लान बना रहे हैं. कुछ देर ऐसे ही धकेलने के बाद उसने एक झटका दिया और मेरे मुँह से निकल गया- हाय मम्मीईई मर गईई … नहीं … नहीं … छोड़ दो … मैं मर जाऊंगी … ओह्ह मां!मेरी सांस दो पल के लिए रुक गई थी. मैंने उसके उभार को बड़े प्यार से चूमा और दोनों तरफ से उंगली डाल कर चड्डी उतार कर फैंक दी.

उसने बहुत प्यार से खाना खिलाया और बाद में कहा- बैठो, मैं चाय बनाती हूँ. मेरे मामा के पड़ोस में ही उनकी सहेली मिहिका मामी (काल्पनिक नाम) रहती हैं, वो मेरी सगी मामी नहीं हैं.

मैंने उनसे पूछा- कोई ज्यादा तकलीफ तो नहीं हो रही है?वो बोलीं- नहीं नहीं ठीक है, आप करो.

जब मैंने की-होल में से झांकने की कोशिश की तो मेरी पैर के नीचे से जमीन खिसक गई. वो ट्विस्ट क्या है वो जानने के लिए आप लोगों को सेक्स कहानी पूरी पढ़नी होगी. दो दिन बाद जब अनीशा का मैनेजर आया तो मेरे सेक्रटरी ने उन्हें कहा- सर आपका ऑफिस विजिट करेंगे और आपके सारे कागजात खुद चैक करेंगे.

हम तीनों अब जब भी मिलते हैं, तो मैं सबसे पहले दीदी को चोदता हूँ और नीरजा मेरे लंड को चूसती है. मैंने उससे कहा- मुझे दुःख है मेरी जान रीतिका, मैंने तुम्हारी सील तोड़ दी है. आपको मेरी ट्रिपल Xxx हिंदी स्टोरी कैसी लगी, आप प्लीज मेल करके जरूर बताएं.

मैं उसका एक हाथ अपने लंड पर रख दिया और वो चड्डी के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी.

ओरिजिनल बीएफ वीडियो: मैं उस तक पहुंचने का या यूं कहें उससे बात करने का तरीका खोजने लगा था. उस समय सब लौंडों को शायद ये भ्रम होता था कि लड़कियां अच्छी बाइक्स वाले लड़कों को ज्यादा पसंद करती हैं.

उस दिन वो मुझे अपनी चूची भी नहीं दिखा रही थी, जो वो हमेशा मेरे लिए खुली रखती थी. मैं ये कह रहा हूँ कि क्या रिश्तों के अलावा कहीं और चुत मिलनी बंद हो गई जो रिश्तों में ही चुदाई करने का काम किया जाता है. [emailprotected]लेखिका की पिछली कहानी थी:मेरी अम्मी ने पड़ोसी से फड़वा दी मेरी बुर.

आज तक कभी अपनी दीदी को इस रूप में देखने का सुखद अहसास नहीं मिला था.

चेतना की देसी बुर ने दो बार झड़ कर इतना अधिक मदनरस छोड़ दिया था कि बुर के नीचे बिस्तर गीला हो गया था. शादी के पहले जब कई लोगों से चुदवाने की आदत पड़ जाती है तो फिर कभी छूटती नहीं है. मैंने उससे कहा- तुम वहीं रुको, मैं तुम्हें लेने के लिए पहुंच रहा हूँ.