ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी ग्रैंड

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी गेम वीडियो में: ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ, तो वो अन्दर ही अन्दर खुश हो गई कि रणजीत को चुत की जरूरत है तो वो आज जल्दी ही अपनी बहन मुनिया को चोद देगा.

डॉक्टर की सेक्सी व्हिडिओ

मैंने अब अपना लौड़ा सीध में टिकाया और घुसाने की कोशिश करने लगा लेकिन चूत टाइट हो गयी थी. सेक्सी चुदाई देसी वीडियोतो मैं समझ गयी कि अब मेरी राज़ खुलने वाला है कि मैं सो नहीं रही हूँ.

वो लम्बी लम्बी सांसें ले रही और अपने बूब्स को मेरी छाती पर दबाये जा रही थी. बिहार का सेक्सी सेक्सी वीडियोपांच मिनट ही मैंने उसकी गांड मारी … क्योंकि उसको बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था.

मैं वापस आई और राहुल को किस करके कहा- चलो मेरे स्लेव … मेरी चुत चाटो.ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ: मैंने कभी नहीं सोचा था कि अपनी ऑफिस की दोस्त की जवानी का रस इस तरह से पीने को मिलेगा.

मुझे पता था कि आज जरूर चूत का भोसड़ा बनना है।मैं तय समय पर कॉफी शॉप में पहुंची.फिर जैसे ही मैंने अपनी उंगलियों को अंकिता की पैंटी के अन्दर डाला और उसकी चूत पर अपनी एक उंगली फिराई, वैसे ही अंकिता का पानी निकल गया.

ಶಕೀಲಾ ಸೆಕ್ಸ್ - ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ

मैंने उसका टॉवल खोला तो देखता ही रह गया।काले कलर की ब्रा और पैंटी उसके गोरे बदन पर बहुत सेक्सी लग रही थी.उसके बाद 5 मिनट तक हम ऐसे ही एक दूसरे को देखते रहे और किस करते रहे.

”अपने लण्ड की रफ्तार बढ़ाते हुए मैंने हनी के चूतड़ हवा में उठा लिये और उससे कहा- मैं पानी छोड़ने वाला हूँ लेकिन तुम्हें कपड़े नहीं पहनने दूँगा. ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ इस होटल में मैंने एक जिम भी बनाया है, जिसमें मैं खुद अपनी बॉडी को मेंटेन रखता हूँ.

वो शिथिल हो गई, मगर मैं उसकी चुत से निकले नमकीन अमृत को चाटता ही रहा.

ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ?

मेरा क्या होगा?”तुम कल सुहागरात मना लेना, विक्की बाबू तो आप पर मरे पड़े हैं. लागातार 15-20 मिनट चोदने के बाद सौरभ मेरी बहन के चूत में ही झड़ गया और वैसे ही उसके ऊपर पड़ा रहा।उस पूरी रात सौरभ ने मेरी बहन श्रेया की 4 बार अलग अलग पोजिशन में चुदाई की जो मेरे लैपटॉप में पूरा रिकॉर्ड हो गया था।फिर सुबह 4 बजे के आस पास सौरभ मेरे रूम में आकर सो गया था।दोस्तो, मेरी जवान बहन सेक्स कहानी कैसी लगी? ये कमेन्ट में बताना. लेकिन 15 – 20 धक्कों के बाद उसका बदन अकड़ने लगा और वो फिर से झड़ गया और उसने मेरी चूत को फिर से अपने लंड के रस से भर दिया.

भानू की गांड तेजी से आगे पीछे हो रही थी और उसका लंड शालू की चूत में पिस्टन की तरह चोद चोद कर बाहर आ रहा था. मैंने कहा- तुम मेरे नाम को किस नाम से सेव करोगी?तो बोली- पगले के नाम से फीड कर लूं?मैं हंस पड़ा और उसने मेरा नाम पागल आशिक के नाम से फ़ीड कर लिया. मगर मुझे ये समझ नहीं आ रहा था कि हम दोनों रुके क्यों हुए हैं? वो भी एक मर्द के जननांग को घूर रही थी और उसी हवस भरी नजरों से मैं उसके बदन को ताड़ रहा था.

तो साहिल ने राजसी से अपनी दोनों टांगों को खुद से पकड़ कर फैलाने को बोला और फिर उसके छेद को देख कर अपना लन्ड सेट किया. मीता- आह आइ उफ … करो आह जोर से करो … आह अब मेरा आ पानी आने वाला है. उसके बूब्स मेरे पैर पर रगड़ सुख दे रहे थे और उसका मुँह, मेरे लंड को खूब मस्ती से चूस रहा था.

बस अब आगे इंतज़ार है कि और भी मोहक जवानी की चुदाई का रस पीने मिलेगा. फिर वो राहुल के लंड को हाथ में पकड़ कर उसे खींचते हुए मेरे रूम में ले गयी.

मैंने दो चार बार और ज्यादा जोर से जीभ से उनकी चूत चोदी और वो मेरे मुंह को जोर से चूत पर दबाने लगी.

फिर मुझे लगा कि अब ये अगर कुछ देर और खड़ी रही तो यहीं पर स्खलित हो जायेगी.

भाभी मेरे सामने घूम गई थीं और मैंने उनके मुलायम होंठों को किस करना शुरू कर दिया. ये बात स्वरा को अभी गर्म कर ही रही थी कि तभी हीरोइन ने अपने होंठ उसके होंठों से लगाकर चूसना शुरू कर दिया. वो औरत मेरी कमर पकड़ते हुए बोली- किधर जा रहा है … तू कर … ये साली अनीता तो है ही रंडी … इसी की गांड में दर्द हो रहा था … साली को सुबह से हगने की पड़ी थी.

मेरी अम्मी सेक्स की दीवानी कहानी का अगला भाग:कामुक अम्मी अब्बू की मस्त चुदाई- 2. दीपक का लंड भी पूरा चिकना हो चुका था, एक जरा से धक्के से ही उसका आधा लंड मेरी चूत में समा गया. तो मैंने कहा- पिताजी, मुझे तो अभी रणबीर चाचा के यहां जाना … उन्हें कुछ काम था।पिताजी बोले- संजय, तू चल … अकेले पे तो ना हो काम!तो संजय ने कहा- पिताजी, आपके साथ कालू चला जा गा.

तभी उन्होंने एक लंबी सी सिसकारी ली और गांड उठाते हुए बोलीं- अब और नहीं … जल्दी अन्दर कर दो.

अब बताओ तुम्हें जो लड़की पसंद थी वो कैसी दिखती थी?मैं- सच बताऊं?संगीता- हां. मैं भाभी की साड़ी को पेटीकोट साथ ऊपर उठाने लगा, तो भाभी मेरा हाथ पकड़ने लगीं. तुम मुझे चोदना चाहते हो … मगर तुम्हारी गांड भी फटती है तुम डरते हो.

दीदी भी अपनी चूत को अलग अलग लौड़ों से चुदवाती है इसलिए मैंने भी दीदी को नहीं बताया कि मैं भी जीजू का लंड ले चुकी हूं. बलराम- उफ छोरी … ऐसे ना कर … इसको पूरा पकड़ और जरा प्यार से रगड़ दे … और तू क्या अभी तक ये कपड़े पहने बैठी लंड से खेल रही है. मैं मैडम को पूरे जोश के साथ चोदने के लिए पागल हो गया था और कुछ देर तक उन्हें अपने मन में चोदते हुए शौचालय में लंड सहलाता रहा.

अपनी चूचियां मसलते हुए हनी शायद मुझे इशारा कर रही थी कि इन्हें रगड़ो.

अम्मी की स्पीड तेज हुई तो मैंने देखा कि अम्मी उतनी ही गांड उछालतीं, जिसमें पूरा लंड बाहर आता, फिर धप से बैठतीं तो पूरा लंड अन्दर हो जाता. सुरेश- देखो रवि कच्ची चुत को गौर से देखो … इसकी अभी तक फांकें भी नहीं खुली हैं.

ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ कालू- मैडम जी अगर मैंने आपको चोदते समय कुछ बुरा कह दिया हो तो माफ़ करना … मैं चुदाई के समय ऐसा ही हो जाता हूँ. वह बहुत ही उत्सुक निगाहों से मेरे चेहरे के भावों को देख रही थी। मैं तो सिर्फ अपना लन्ड हिलाते हुए आह … उह … करने में व्यस्त था.

ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ इसके बाद मैंने फिर से उसकी गांड के छेद पर अपना लंड रख कर एक जोरदार झटके के साथ पूरा लंड राहुल की गांड में उतार दिया. फिर वो अस्मा के चूचे मसलते हुए बोला- अस्मा तेरी चूत तो बहुत जल्दी मैदान छोड़ गई.

वो भी जैसे अपना पूरा वजन मेरे ऊपर पीछे की ओर मेरे लंड पर डाल रही थी.

बांग्लादेश सेक्सी वीडियो में

बताओ कबका रखना है?वो बोली- ओके अभी हम आपस में बैठ कर तय कर लेते हैं. वो मुझे बहुत पसंद आ गया था, लेकिन अभी मैं कुछ बोल नहीं सकता था, तो मैंने अपनी ख़ुशी को अन्दर दबा दिया. जैसा कि मैं अपने अपार्टमेंट में अकेला रहता था इसलिए मेरे पास एक सोफा कम लांचर था, जिस पर मैं सोता था। कंचन ने मेरे अपार्टमेंट में चारों ओर देखा और फिर लांचर पर बैठ गई।मैंने उसे चाय-पानी की पेशकश की जिस पर वह आसानी से सहमत हो गयी।गर्मी का समय था तो उसे बुरी तरह से पसीना आ रहा था।मुझे उसके बारे में बुरा लगा कि मैंने उसको गर्मी में परेशान कर दिया.

मैं भी आपका और उनका लंड एक साथ लेना चाहती हूँ, पर ये सम्भव नहीं है. उसको दर्द हुआ तो उसने मुंह पर हाथ रख लिया और धीरे धीरे मैंने पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया. फिर मुझे अपनी बांहों में लेकर किस करके बोले कि मोना बेबी कल से तुम ऑफिस से छुट्टी ले लो, कुछ दिन और रात तुम मेरे दूसरे बंगले पर रहोगी.

उसकी इस मिनी स्कर्ट में उसका नीचे का फिगर बड़ा शानदार लग रहा था … खासकर उसकी गांड बड़ी उठी हुई दिख रही थी.

मकान मालकिन ने यहां वहां देखा और मुझसे लिपट कर मेरे होंठों को चूसने लगी. बस दोस्तो, आज की सेक्स कहानी यहीं तक … अब आगे क्या होगा, वो मैं अगले भाग में लिखूंगी. मेरे मंगेतर का लंड छोटा होने की वजह से मैं उनसे चुदने में ज्यादा रुचि नहीं रखती थी.

अपनी चूत सहलाती रहती है और बाथरूम में जाकर उंगली से अपनी चूत ठण्डी करती है. कुंवारी बुर सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि हमारे सामने वाले घर में मेरी क्लासमेट रहती थी. वो मुझे पकड़ कर क्लासरूम में ले गयी और मेरी शर्ट खोलकर मेरी छाती को चूमने लगी.

उसने कहा- मगर दर्द हो रहा है न!मैंने कहा- तुम बस चुप रहो और मजा लो. सेक्स तो चाहिए ही, लेकिन उससे ज्यादा उनकी भावनाओं को बांटने के लिए भी अगर कोई होना चाहिए.

मुझे जब एक लड़की अपनी बांहों में लेकर प्यार देती थी तो मेरी पूरी दिलचस्पी उसी में होती थी. फिर उसे लैगी पहनाकर मैंने उसे अपनी गोद में उठाया और हॉल की तरफ बढ़ा. अम्मी का कमरा बड़ा शानदार बन गया था, जहां रौनकी मेरी अम्मी और मेरी बहन को एक साथ पेलने लगा था.

मेरी बुर को तहस-नहस कर दिये हैं आप!मैं बोल पड़ा- मगर तुम्हें मजा आया कि नहीं?वह कॉलेज की लड़की झट से खुश होकर बोली- मजे में तो कोई कमी नहीं रही.

मैंने कहा- तुमको कुछ बियर शियर चलती है?वो चहक कर बोली- अरे खूब शौक से … आपके साथ तो मुझे और भी अच्छा लगेगा. मीता की चुत को अपनी जीभ से कुरेद रहा था और कभी कभी अपने सोये हुए लंड को उसकी चूत पर रगड़ कर अन्दर घुसेड़ने की नाकाम कोशिश भी कर रहा था. मैंने अपना लंड गांड पर रखा और एक ही झटके में आधे से ज्यादा लंड अन्दर पेल दिया.

मेरी अम्मी खुद को चुदवाते वक़्त पूरी तरह से चुदाई के सागर में डूब जाती थीं और सारी दुनिया को भूल जाती थीं. ”नहीं, साढ़े दस नहीं … बच्चों के जाने के बाद मुझे किचन का काम और घर समेटने के बाद नहाना होता है, साढ़े ग्यारह, बारह बज जाते हैं.

बाकी मीता की चुदाई भी आपको देखनी होगी तो बस मेरा जरा सा इंतजार कीजिए. कुछ समय बाद वो उठी और बोली- एक गिलास और पिला ना बियर!मैंने उससे बोला- यार दो बोतल में चार गिलास ही बनते हैं, जो हम दोनों पी चुके हैं. तो दोस्तो, ये मेरी दोस्त की गर्लफ्रेंड को पटा कर उसकी चुदाई की कहानी का वाकिया था.

नीलम की सेक्सी फिल्म वीडियो

कुछ दिन पहले मैं उसके घर गई थी, तब आंटी ने बताया था कि वो सभी औरंगाबाद जाने वाले हैं.

मैंने भाभी से पूछा- भाभी बियर पियोगी?भाभी बोलीं- बियर नहीं … तुम वोदका ले आओ. अब आंटी ने थोड़ा सा घी अपनी हथेलियों पर मलकर अपने चूतड़ों की मालिश कर दी. वो पिछले 6 महीने से एक प्राइवेट बैंक में मैंनेजर के पद पर कार्यरत एक लड़की को डेट कर रहा था.

जब उनसे मैंने पूछा, तो वो बोलीं- मैंने पहले दिन ही तेरा तना हुआ लंड देख लिया था. तभी अब्बू हंसे और अम्मी की गांड को मसल कर उन्होंने भी एक चूतड़ पर तेज एक तमाचा दे मारा. बढ़िया की सेक्सी फिल्महां, एक बात फिर से सुन लीजिए, ऐसा-ऐसा गंदा बात मत कीजिए और जांघिया पहन कर सोइए.

उसके मुँह से गाली निकली- उई माँ भैन के लौड़े … चूसना है मादरचोद … काटना नहीं है गांडू साले. सच कहूँ तो मेरा दिल कर रहा है कि मैं तुझे अपना असिस्टेंट बना लूं … और जब मन हो, तब तुमसे चुदवा कर अपनी चुत की हवस बुझा लूं.

और तुम भी गांड मरवाने का पूरा मज़ा नहीं ले पाओगी … क्योंकि आज मैं बहुत थका हुआ हूं. ये तब की बात है जब मैं नोएडा में एक संस्थान में पब्लिक रिलेशन ऑफिसर के पद पर था. उसकी यह पहली चुदाई थी, तो मैंने सोचा पहले इसकी चूत को थोड़ा फैला दिया जाए.

बस भाभी के जाने के बाद दो महीने बाद भाभी ने मुझे पापा बनने की खुशखबरी सुनाई. थोड़ी देर में मेरा शरीर भी अकड़ने लगा और आहहह आहहह आहहह करते हुए मेरे लौड़े से वीर्य निकल पड़ा और उसकी चूत में भर गया।मैं ऐसे ही उसके ऊपर लेट गया।थोड़ी देर बाद वो उठी और उसने लंड को पकड़ कर अपनी चूत से बाहर कर दिया।20-25 मिनट बाद उसने अपना हाथ मेरे लौड़े पर रख दिया और हिलाने लगी. सोचा कि यहां आपसे बातें भी हो जायेंगी और कुछ खाना पीना भी हो जायेगा.

अंकिता ये सब देख रही थी तो मैं अंकिता को दिखाते हुए अपनी उंगलियों को चूसने लगा.

पहली बार किसी ने मेरी चूत को छुआ था।मुझे इतना गीला महसूस हो रहा था, मुझे लगा कि मेरा महीना आ गया।मैं थोड़ा सा पीछे हट गयी. मैडम ने लंड से हाथ हटाया और बोलीं- तो चलो तुम्हारे कमरे पर चलते चलते हैं.

कुछ ही देर बाद मम्मी की चुत झड़ गई और उसी समय पापा ने भी तेज स्वर में आवाज करते अपना पानी छोड़ दिया. दोपहर में आंटी का फोन आया, तो मैंने जानबूझ कर नहीं उठाया और उनका कॉल खत्म होते ही मैंने मोबाइल स्विच ऑफ़ कर लिया. साड़ी के ऊपर से उसकी जांघें बहुत मस्त सेक्सी लग रही थीं। मैं ये तो समझ गया था कि बहुत ही गर्म चुदक्कड़ माल है ये!मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और चूसने लगा। वो भी मेरा पूरा साथ देने लगी.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था … क्योंकि पहले वाली औरत तो बेजान होकर चुदवा रही थी, पर अनीता तो मज़े ले लेकर चुदवा रही थी. मैंने लंड को थोड़ा सा अन्दर किया, तो वो जोर से ‘हह्म्म्म … हह्म्म्म … हह्म्म्म. कुछ बोलना चाह रहे थे लेकिन बोल नहीं पा रहे थे। फिर जोर से उनके मुंह से आह्ह … निकली तो मैं डर गया.

ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ वो कमरे से निकल कर सीधी बाथरूम में चली गयी और भानू ने अपने कमरे के दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया और फिर आराम से सो गया. मेरे जेठ जी की उम्र 38 साल है, वो दिखने में औसत कदकाठी के मर्द हैं.

जापान स्कूल सेक्सी वीडियो

अब आगे भाभी की गांड मारी कहानी:कहानी को आगे बताने से पहले मैं आप सभी पाठकों को धन्यवाद करना चाहता हूं कि आपने मेरी कहानी को इतना प्यार दिया और पहले भाग से संबंधित आपके बहुत सारे ईमेल मिले. खजुराहो में मेरा एक होटल है, जिसमें विदेशी पर्यटकों के लिए ऑनलाइन बुकिंग के साथ ही सभी सुख सुविधाओं सहित लक्जरी कमरे उपलब्ध हैं. जबकि वो न जाने इससे पहले कितने लौड़े अपने मुंह और अपनी चूत में ले चुकी थी.

अब बेड पर मैंने उसको पकड़ते हुए कहा- जानू अब असली चुदाई होनी है, तैयार हो जाओ. इस दौरान मैं अपनी जीभ को उसके मुंह में डालता तो वह लॉलीपॉप की तरह चूसने लगती। दस मिनटों की इस कामुक क्रीड़ा के बाद मैंने उसके ऊपर के बदन से पतला टीशर्ट खोल दिया. বাংলা ভাষায় বিএফफिर उस दिन शाम को लगभग 5 बजे मुझे कचंन का संदेश मिला कि वह मुझसे तुरंत मेरे अपार्टमेंट में मिलना चाहती है।मैंने उसे मैसेज किया कि मै थोड़ा व्यस्त हूं और आज नहीं मिल सकता।मुझे उसने तुरंत फोन किया।वह कहने लगी कि वह तुरंत मिलने के लिए तैयार है।मैंने सोचा कि जरूर कुछ खास बात है.

बस मैं समझ गई थी कि तुम ही वो मर्द हो जो मेरी चुत की भट्टी की आग को ठंडा कर सकते हो.

मैंने कहा- दर्द का काम खत्म हो गया है जानू … प्रिया तुम्हें असली मजा तो अब आना है. फिर मुझे उस पर प्यार आया, तो मैंने उसके मुँह से अपना मुँह लगा दिया और उसके मुँह में लगा मेरे लंड का वीर्य का स्वाद ले लिया.

मैंने कहा- चलिए, ईश्वर की कृपा से ऐसा ही हो … लेकिन अगर आप मुझे दोस्त मानती हैं, तो प्लीज़ मुझे हर बात बताइएगा. मैंने पूजा की चुत में अपना मोटा लंड ठूंस दिया था, जिससे उसे दर्द होने लगा था. उनका ट्रांसफर दूसरे शहर में हो गया है, तो मधु के पापा रात में मधु की मां को दूसरे शहर छोड़ने जाएंगे.

मैं उसको अपनी तरफ खींचा और अपनी बांहों में लेकर उसके होंठों को किस करने लगा.

भाई साहब बोले- क्या हुआ था अनु?मैंने कहा- बेटी रो रही थी … अभी बस दूध पिला रही हूँ. मगर उसके पहले 4 लाइन सुमन की सेक्स कहानी को लेकर भी बताना चाहूँगी … क्योंकि कुछ पाठकों की बड़ी डिमांड थी कि सुमन और हरी उसके बाद अपने आगे बताया ही नहीं. मेरे आंनद की अब सीमा न रह गई। वह अपने बाएं हाथ से लंबे लन्ड को पकड़कर आगे-पीछे कर रही थी और मैं जाम पीने में व्यस्त था.

गुड्डी सेक्सी वीडियोमैंने सोचा कि सबसे पहले मुझे भाभी को पूरी तरह से गर्म करना होगा ताकि मैं उनकी मस्त चुत को अच्छी तरह से पेल सकूं. हनी के होंठ छोड़कर मैं उठा और हनी की टाँगें अपने कंधों पर रखकर उसे धीरे धीरे चोदने लगा.

लड़की का सेक्सी ओपन

इतना कहकर वो उठे और अपने फोन की टॉर्च से देखते हुए तेल की शीशी उठा लाये. उस दिन रात को मैंने डरते डरते चाची को व्हाट्सएप्प पर गुड नाईट का मैसेज किया. अम्मी को एक दराज में जब अपनी पसंद की चीज नहीं मिली, तो उन्होंने दूसरी दराज़ में देखा.

बर्फ के बाद वो मेरे जिस्म के हर उस अंग को चूसने लगी, जहां जहां उसे शहद टपकाया था. अब मामी भी मेरा साथ दे रही थीं और अपने हाथ से अपने चुचे को मुझे पिलाते हुए मस्त हो रही थीं. बुआ ने मुझे भी पूरा नंगा कर दिया और मेरे लौड़े को मुंह में लेकर गपागप गपागप चूसने लगी।अब उसके दोनों मम्मे मेरे सामने थे.

जब भी मेरा हाथ उसकी चूत को छूता तो वो एकदम से लम्बी सांस लेने लगती। फिर मैंने उसकी पीठ पर तेल डाला और मालिश करने लगा।मैंने पूछा- ब्रा का हुक खोल लूं क्या? ब्रा की पट्टी बीच में आ रही है. अब तुम देर ना करो, आज इसकी बुर का मुहूर्त कर ही दो, तो बस मेरी इच्छा भी पूरी हो जाएगी. थोड़ी देर बाद पापा ने कहा- चलो, अब मुझे तुम्हारी चुत का रस पीने दो.

पूजा- मादरचोद फाड़ दे भैन के लंड मेरी इस चूत को … आह कितना मोटा है साले तेरा लंड … आह आज तक किसी ने इसकी आग ना बुझा पायी कुत्ते … मगर आज तेरा लंड लेने के बाद मुझे सबसे ज्यादा मज़ा आ रहा है … चोद हरामी बन जा मेरा कस्टमर … तुझे मैं रोज़ अपनी चूत और गांड चोदने दूंगी … आह जोर से चोद साले … फाड़ दे इस चूत को … बना दे इसका भुर्ता और मुझे अपनी रखैल बना ले. फिर मैंने स्वीटी से कहा- बेबी अब दर्द नहीं होगा … तुमको जितना दर्द होना था, हो चुका.

कौन सा ढीला छेद चोद रहा है … अभी तो तुझे एकदम टाईट माल चोदने मिल रहा है हरामी.

वो चिल्लाने, कराहने लगी लेकिन मैंने पूरा जोर लगाकर उसकी गांड में लौड़ा घुसा दिया. सेक्सी 2022 के वीडियोफिर मैंने उसकी टांगें हवा में ऊपर उठाईँ और उसकी चूत में जीभ लगा दी. ஹாட் செஸ் தமிழ்मेरे लिए भाभी की चुत थोड़ी टाइट थी, इसलिए मैं शुरुआत में धीमे धीमे से धक्का लगाकर भाभी को गर्म कर रहा था. 1 फीट है।अब तो मैं कॉलेज में दाखिला ले चुकी हूं लेकिन ये मस्त चुदाई स्टोरी तब की है जब मेरे 12वीं के बोर्ड एक्ज़ाम चल रहे थे.

मैं कहते कहते रुक गया कि सीधे आपके मम्मों से दूध चूसने में मजा आएगा.

जब उनसे मैंने पूछा, तो वो बोलीं- मैंने पहले दिन ही तेरा तना हुआ लंड देख लिया था. मैं आगे बोली- तुमसे अच्छे से तो तेरे पापा कल तुम्हारी चुत चाट रहे थे. वो बोली- फिर तुम ही बताओ कि क्या पहनूं?मैंने सोचा और कहा- जो पहनना है पहन लो.

उसके मोटे लंड के अन्दर घुस जाने से मुझे दर्द होने लगा और मेरी गांड फटी जा रही थी. फिर मैंने जल्दी से लंड को अंदर धकेला और जिप बंद करके वहां से भाग आया. अब वो चुदाई के मूड में आ गया था- बस कर छिनाल … तेरा मुख चोदन तो बढ़िया था, अब तेरी चुत फाडूंगा रंडी.

ससुर बहू की नंगी सेक्सी पिक्चर

इस तरह से उस रात मैंने भाभी की चुदाई तीन बार की, एक बार भाभी की गांड मारी. अनुराधा क्या हम दोनों एक दूसरे को जिस्मानी खुशी नहीं दे सकते हैं?मैं भाई साहब की बातें सुन रही थी … मगर कोई जवाब नहीं दे पा रही थी. चाचा मंझे हुए खिलाड़ी की तरह मेरे चेहरे को चूम रहे थे।अब चाचा ने अपने होंठों को मेरे होंठों पर रखा और दोनों होंठों को चूसने लगे।मेरी साँसें तेज़ होने लगी थी और चाचा मेरे होंठों को चूसे जा रहे थे।फिर उन्होंने मेरे निचले होंठ को अपने दोनों होंठों के बीच लिया और चूसने लगे.

तो हमने क्या किया?दोस्तो, मैं सोनल अपनी पापा बेटी सेक्स स्टोरी को लेकर एक बार से आप सभी लंड खड़े करवाने आ गई हूँ.

फिर उसे लैगी पहनाकर मैंने उसे अपनी गोद में उठाया और हॉल की तरफ बढ़ा.

मैंने मनीषा को अपने पास आते देखा, तो मैं भी देर ना करते हुए आगे को बढ़ गया. किस करते हुए ही एक बार फिर से मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड की सेक्स की आग भड़क गई और अब मैं उसके चुचे दबाते हुए उसकी गर्दन पर किस करने लगा. ट्रिपल सेक्सी व्हिडीओ दाखवादादी आगे वाले कमरे में सोती थी क्योंकि उनको चलने में दिक्कत होती थी.

बॉस ने कहा- मोना डार्लिंग, मैं तुम पर पूरी जायदाद लुटा दूंगा, तुम मुझे बहुत पसंद हो. बुरका उतारते वक्त उनका ध्यान अपने कपड़ों और साड़ी के आंचल पर नहीं था. उठकर मैंने उसके होंठों को जोर से किस कर लिया और फिर उसको पट लिटाकर उसकी टांगें फैला दीं.

वो चिल्ला चिल्ला कर बोलने लगी- आह फाड़ दी हरामी ने … आह साले मार ही दो मुझे मादरचोद … क्या किया मेरे साथ कि इतना हैवान हो गया … आह जल्दी लंड निकाल मादरचोद. ये सब सोचकर मैंने थोड़ी राहत की सांस ली और कहा- आप जाकर गेंद दे दीजिए.

थोड़ी देर बाद पापा ने कहा- चलो, अब मुझे तुम्हारी चुत का रस पीने दो.

रवि- अरे ये आप सीधे एक लड़की के सामने क्या बोल रहे हैं?सुरेश- देखो रवि, ये सिर्फ़ एक लड़की नहीं है, मेरी असिस्टेंट भी है. लेकिन राजसी थी बहुत बड़ी रंडी … इतने दर्द के बाद भी उसने साहिल से ना तो अपना लन्ड बाहर निकलने को बोला और न ही रुकने को!इधर साहिल भी हर धक्के में अपना लन्ड राजसी की गांड में ठूँसता चला जा रहा था. मैंने हिम्मत करके भाभी को बोल दिया कि भाभी आप बहुत सुंदर हो … और मैं आपको बहुत पसंद करता हूँ.

पंजाबी सेक्सी वीडियो खेत में बाद में मैं अपनी अम्मी को उनकी चुदाई की याद करवाने की कोई जुगत भिड़ा रहा था. मैंने कहा- दीदी इसके बाल साफ नहीं किये क्या?वो बोली- ऑपरेशन से पहले किये थे.

तो वो मेरे साथ आ गई।मैंने उसके हाथ को पकड़ा और बोला- चलो ट्यूबवेल पर चल कर बात करते हैं. मैंने पूछा- वो क्या है?उसने अपने कपड़े उतारे और कहने लगी कि मुझे भी हीरोइन मैम की तरह सेक्सी चुचे कमर और गांड चाहिए. एक बार जब हम दोनों अकेले थे तो …हाय दोस्तो, मैं फ्री सेक्स कहानी पर रेग्युलर कहानी पढ़ता हूँ और मुझे लगा कि क्यों न मैं भी मेरी चुत मारी कहानी आप सबके सामने लाऊं.

पंजाबी लेडीस सेक्सी

तो आंटी ने मुँह बना कर कहा- वो बाहर गए हैं और दस बारह दिन बाद लौटेंगे. उसके होंठों का रस पीकर अपने शरीर की गर्मी की प्यास बुझाऊं।वह मेरे कंधे पर उगे बालों पर हाथ फेरते हुए बोली- अंकल, मेरे कॉलेज में एक ड्रामा होने जा रहा है. हमारा चुम्बन टूटा, तो मैंने उसे अपनी बांहों में खींच लिया और उससे बोला- चलो बेडरूम में चलते हैं.

अब मेरे लंड का भी रस गिरने वाला था, तो मैंने भी सारा रस पूजा के मुँह में ही छोड़ दिया. एकदम वासना से तप्त नशीली आंखों को देखकर एक बार तो मैं भी हैरान रह गया.

मैं कामना करती हूँ कि अब आपको इस कहानी के अंत तक का मनोरंजन अनवरत मिलता रहेगा.

दोस्तो, आपको मेरी ये हॉट चुत की कहानी कैसी लगी, भाभी की चुदाई की कहानी अभी बाकी है. लगभग सात-आठ बार अंदर-बाहर करके धीरे-धीरे अपना पूरा लिंग घुसाने का प्रयास करने लगा और बोला- अब ठीक है धीमे-धीमे?वह योनि के दर्द से भरे शब्दों में बोली- हां, थोड़ा मज़ा आ रहा है, लेकिन पूरा लन्ड मत डालिएगा … नहीं तो मेरी फट जाएगी।ऐसा कहकर उसने अपने दोनों पैरों को सटा लिया. मैंने उस पर अपनी पकड़ ढीली करके गिलास हटा लिया और गिलास नीचे रख दिया.

मैंने कहा- चल थोड़ा मेरे पास खिसक कर बैठ, मैं तेरी मदद कर देता हूं. होटल में चुदाई करते हुए उसके साथ मैंने कैसे कैसे मजे किये और उसने मुझे क्या मजा दिया, वो सारी कहानी मैं आपको जल्दी ही बताऊंगा. 2 दिन तक हमारी कोई बात नहीं हुई।उसके बाद मैंने राजेश को फोन किया और पूछा- कहां और कब मिलना है? मेरे पास 2 दिन का समय है क्योंकि मेरे हस्बैंड बिजनेस के सिलसिले में पंजाब जा रहे हैं आज!फिर उसने आज शाम को वही कॉफी शॉप में मिलने को कहा.

मैंने देखा कि अम्मी ने उसमें से कंडोम का एक पैकेट निकाला और एक कोई बोतल टाइप की निकाली, जैसे डियोड्रेन्ट टाइप की होती है.

ट्रिपल सेक्सी हिंदी बीएफ: कहानी के पहले भागहॉट मामी के जिस्म की वासना- 1में आपने मामी की तरफ से चुदाई की पहल के बारे में पढ़ा था. मैंने उनको कैसे खुशी दी?मैं विक्की एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ.

आज तेरा पहला दिन होने वाला है इसलिए मैं तेरे को ज्यादा दर्द नहीं दूंगा. अब जेनिल की जवानी मेरे लंड के नीचे मचलने वाली थी उसकी चुदाई की कहानी को मैं अगले भाग में लिखूंगा. उसके बाद मैंने उसका सौदा अपने दोस्त के साथ किया और हम तैयार होकर उसके रूम पर पहुंच गये.

उनकी इस बात से मैं पूरे जोश में आ गया और उनके ऊपर चढ़ कर उनके साथ मस्ती करने लगा.

जल्दी अन्दर पेल हरामी … अपनी मां को चोदेगा क्या हरामी?मैं बोला- नहीं मेरी जान, मुझे तो रेखा को चोदना है. सहेलियों से चुदाई के जिस मजे के बारे में सुना था, वैसा तो कुछ महसूस नहीं किया मैंने!सिर्फ दर्द और सिर्फ दर्द!दूसरी बार में जब थोड़ा सा मजा आना भी शुरू हुआ था, तब तक दीपक झड़ चुका था. मुझे क्या दिक्कत होगी!उन दोनों की बात सुनकर हम दोनों बाहर हक्के-बक्के रह गए.