पूरी हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,বাঙালি চুদাই

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीपी जंगल: पूरी हिंदी बीएफ, मैं भी उससे एक-एक सीढ़ी पीछे उतरने लगा। अंतिम सीढ़ी पर जाकर वो रुकी और मेरी ओर मुड़ गयी। मेरा दिल जोर से धड़कने लगा।निचली सीढ़ियों पर खड़े हुए मेरा दिल धक-धक कर रहा था.

खुला मारवाड़ी सेक्सी वीडियो

दोनों ने इस मस्त चुदाई के बाद कुछ देर आराम किया और कुछ देर तक एक दूसरे से चिपक करके यूं ही लेटे रहे. फिल्म ब्लू ब्लू फिल्मभाभी भी कमर हिला हिला कर मेरा साथ दे रही थीं और उनके मुँह से ‘ऊहह … आहह … सी.

यह कह कर अब्दुल ने उठाकर मुझे टेड़ा कर दिया और अपना लंड मेरी चूत को चौड़ा करके डाल दिया. स्कूल गर्ल पोर्न वीडियोमौका देख कर मैंने उसके बाक़ी के कपड़े उतार दिए और उसकी चूत में उंगली डाल दी.

पापा जोर से रोने लगे और कहने लगे- हे भगवान मैंने तेरा क्या बिगाड़ा था, जो तूने मुझे पागल बेटा और ऐसी चुदक्कड़ बेटी दी, हे भगवान ऐसी बेटी किसी को मत देना.पूरी हिंदी बीएफ: तभी उसने अपना लंड मुझे चूसने के लिए बोला और मैं लपक कर उसके लंड को चूसने लगी.

मैंने धीरे से अपनी गांड पीछे की, तभी उसने जोर से मुझे पकड़ कर मेरी गांड में अपना लंड घुसा दिया.जरूरी काम तो डॉक्टर के पास से आपकी पिक डिलीट करना है हो सकता है उसने वीडियो भी बनाई हो अगर कही नेट पर डाल दी न तो सोच लो आप कहीं की नहीं रहोगी।”आप उससे मेरी सारी पिक निकलवा दो, तुम जो कहोगे वो करूंगी।”तो ठीक है, कल से तुम डाक्टर से मिलने नहीं जाओगी.

ब्लू फिल्म सेक्सी फिल्म वीडियो में - पूरी हिंदी बीएफ

पहली बार जो देखी थी मैंने अपनी बहन की चूत। फिर मैं धीरे से क्लिटोरिस को उंगली से छेड़ने लगा तो उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया.उसके बाद हम दोनों बाथरूम में जाकर फ्रेश हुए और नंगे ही एक-दूसरे के साथ चिपक कर सो गए.

वह भी मेरी तरह से दो कपड़ों में ही थी और पहले से ही अपना मन चुदवाने के लिए बना चुकी थी. पूरी हिंदी बीएफ जब मुझे लगा कि अब लंड फट जाएगा, तब मैं उन दोनों को बेड पर ले गया और पीठ के बल लेट गया.

उसने खुद को ढीला छोड़ दिया और अपने मम्मों को मसलवाने का मजा लेने लगी.

पूरी हिंदी बीएफ?

उसने बातों बातों में कई बार बताया था कि उसे किस प्रकार का सम्भोग करने पसंद हैं और किस तरह से औरतें उसे रोमांचित करती हैं. पांच मिनट के बाद मैंने उसको फिर से खड़ी कर दिया और सुषी को दीवार के सहारे से लगा दिया. जब वो मुझे कुतिया बनाकर चोद रहा था, तो उसने मेरी गांड को दबाया और चमाट मारते हुए मेरी चूत को चोदने लगा.

पापा ने भइया को जोर से थप्पड़ मारा और कहा- तेरी बहन घर में चुद रही थी और तू बाहर बिस्किट खा रहा है, पागल बेशरम कहीं के. माँ ने मुझे उनका फोन नम्बर दे दिया था ताकि मैं उनसे फोन पर बात कर सकूँ. मैंने कहा- अब शाम तो हो गयी; कब बताओगी सरप्राइज़?तो फ़िर से दोनों बोली- पहले काफ़ी तो पी लें.

मेरी हालत सुनकर मुझे सहारा देने की जगह मुझे कहा जाने लगा कि अकेली हो, जवान हो, मज़े लो सेक्स के. अब तक आपने पढ़ा कि राज अंकल ने पैसे लेकर मुझे अनजान लड़कों के हवाले कर दिया था चुदने के लिए. बड़े बड़े गोल गोल बूब्स, गुलाब की पंखुड़ी जैसे होंठ, चिकनी गर्दन, सुडौल नितंब चलते चलते बारी बारी से दोनों हिलते थे.

वाह चिकनी बुर थी, मैं उसकी बुर पर हाथ फ़ेरने लगा, परन्तु इस बार मैंने अपनी उंगली उसकी बुर में नहीं डाली क्योंकि मुझे डर था कि कहीं वह फ़िर से ना बिदक जाए, इसलिए मैं सिर्फ़ उसकी बुर को ऊपर से ही मसलता रहा. पता बताने की बजाय उसने मुझे मंडी हाउस के मैट्रो स्टेशन पर आने के लिए कह दिया.

अब मैंने उसकी पैंट को गांड के नीचे कर लिया और उसकी गांड को किस करने और चाटने लगा.

मुझे लगा कहीं ये लोग सबको बता देंगे, तो मैं किसी को मुँह कैसे दिखाऊंगी.

फ़िर एकदम से उसने मेरी गर्दन जोर से पकड़ी और दूसरी टांग भी उठा कर मेरी कमर पर लपेट कर मुझे यहां वहां चूमने लगी. मैं आपका दोस्त, आर्यन एक बार फिर से अपनी एक और नई एवं सच्ची चुदाई की कहानी के साथ आप लोगों का मनोरंजन करने के लिए हाजिर हूँ. कुछ देर बाद बारिश थोड़ी कम हो गई थी लेकिन पूरी तरह से बंद नहीं हुई.

’इतना बोलकर पद्मा उठकर ऊपर आ गयी और अपनी दोनों चूचियां बारी बारी से मेरे मुँह में देने लगी, वहीं शीला पूरा लंड मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. दूसरा आप भाभी को रेस्पेक्ट दें, उनकी थोड़ी तारीफ करें, उनके साथ कुछ टाइम अकेले में स्पेंड करें, उनकी पसंद और न पसंद जानने की कोशिश करें. मैं उससे अपनी पसंद के बारे में बता दिया करता था कि मुझे किस तरह की लड़कियाँ पसंद हैं और वह भी मुझसे कुछ इस तरह की बातें अक्सर किया करती थी.

वर्षा तुम्हें नहीं पता, मैंने उसके लिए क्या क्या नहीं किया वर्षा … पर उसे तो मेरी शक्ल भी पसन्द नहीं थी.

एक लंबे चुंबन के बाद भाभी ने मुझे रोका और किचन में जाकर दो ग्लास में हल्दी का दूध लेकर आ गईं. सारा की तरफ हँस कर देखते हुए मैंने एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया. मैं तुम्हारा एहसान कैसे चुकाऊं?अरे पगली, उसमें एहसान क्या … बस इसी तरह से चुदवाते रहना … हिसाब बराबर …”हम दोनों हंसने लगे.

मैंने सोचा अब अगर ऐसे बेवकूफों की तरह इंतजार किया तो जरूर रात में यहीं फंस जाऊंगा. वैसे मैं भाभी के बारे में बता दूँ, भाभी एक मस्त हुस्न की मलिका थीं. ऊपर से बनाने वाली की कृपा से और पॉर्न मूवीस की बदौलत मेरे लंड की साइज़ भी काफ़ी ठीक है.

होटल के रूम में पहुंचकर हम दोनों कुछ देर सामान्य बातें करने लगे और फिर वह उठकर बाथरूम में फ्रेश होने चली गयी.

उस दिन मेरी सहेली ने भी अपने एक दूसरे बॉयफ्रेंड को चुदाई के लिए बुला लिया था. एक बहुत ही खूबसूरत जिस्म वाली औरत उसे न केवल फ्री में मिल गई थी, बल्कि उसे उल्टे कुछ पैसे भी कमाने को मिलने वाले थे.

पूरी हिंदी बीएफ क्रीम लेकर आने के बाद उसने मेरी वाइफ से बोला- डार्लिंग, लास्ट टाइम तुमने ब्रा और पेंटी में रैंप शो किया था … इस बार फ्लोर पे कॅट्वाक करके दिखाओ प्लीज़ … एकदम कॅट्वाक माने बिल्ली की तरह चल कर दिखाना, न कि किसी मॉडल की तरह … समझ गई ना!ऋतु क्रीम को सोफे पे रख के घूम गयी. बेटे को लेके मैं वापस लखनऊ आ गयी, अब्बा हुज़ूर ने संभाल तो लिया, पर रिटायर्ड होने के कारण पेन्शन में घर चलाने में थोड़ी तकलीफ़ होने लगी.

पूरी हिंदी बीएफ मैं भी बहुत देर से भरा खड़ा था, तो मैंने भी सोचा चलो एक बार पानी निकाल ही लेता हूँ. जो मुझसे चार-पांच साल बड़ी होतीं या जिनका शरीर मेरी पसन्द का होता था.

फिर मैंने उन्हें उठा कर अपनी गोद में बिठा लिया, दोनों हाथों से उनकी कमर जोर से जकड़ कर उनको ऊपर नीचे करने लगा.

सील कैसे तोड़ी जाती है

मेरी चूची को चूस कर और मेरे निप्पल्स को बाईट करके वो मुझे चोद रहा था. सीमा उसके बाद उठ कर बाथरूम में चली गई और अपनी चूत को धोने के बाद बाहर आयी. उनके नंगे, गोल गुदाज बाजू और घुंघराले कन्धों तक सजे बाल गजब ढहा रहे थे.

उसने अगले ही पल मेरा पूरा लंड अपने गले तक नीचे उतार लिया और डीप सकिंग करने लगी. अब मैंने पक्का ठान लिया था कि अब मैं खुद को काबू में रखूंगी, चाहे कुछ भी हो, मेरी खुद की चूत मेरा नहीं मानेगी, तो चाकू से काट के कुत्तों को डाल दूंगी. मैं पलट कर उसके ऊपर ही 69 की पोजीशन में आ गया और उसके हाथ में अपना 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड पकड़ा दिया.

वो बोली- कहां खो गए?मैं- आप में …ये मैंने कह तो दिया, लेकिन एक ही पल मुझे झटका लगा कि ये मैंने क्या किया.

फ्रेश होकर जब सासू माँ के पास गई, तब उनसे पता चला कि हितेश ऑफिस जा चुके हैं. वह भी मेरी तरह से दो कपड़ों में ही थी और पहले से ही अपना मन चुदवाने के लिए बना चुकी थी. भाभी उदास होकर बोलीं- उसका हंसबैंड उसको समय ही नहीं देता, वो बिजनेसमैन है, रोज सुबह रायपुर जाता है और रात को 10 से 11 बजे आता है, थक हार के सो जाता है.

इधर चारु हमेशा मुझे हितेश के नाम से चिढ़ाती और उसकी देखा देखी बाकी लड़कियां भी मुझे हितेश का नाम लेकर चिढ़ाने लगीं. एक दूसरे से मिलन की आग ने हम दोनों को सेक्स करने का मन बना दिया था. शावर के नीचे हमारा खेल शुरू हुआ और उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया.

कब हम दोनों की जुबानें एक दूसरे को चूसने लगीं, इस बात का अहसास तक नहीं हुआ. मेरी पिछली कहानी थीअपने पड़ोसी के मोटे लंड से चुदीअब मैं अपनी कहानी सुनाने जा रही हूँ.

मेरी दोनों बहनों का उन लड़कों के साथ नैन-मटक्का चल ही रहा था कि तभी मेरे फोन पर मेरी माँ का फोन आना शुरू हो गया. जब चूत में लंड डाला जाता है तो चूत और लंड दोनों को बहुत मजा आता है. मैंने महसूस किया कि ऐसे डर के साथ चुदाई करने में जल्द पानी नहीं निकलता.

उन्होंने मुझसे पूरी जानकारी ली जैसे- क्या नाम है, कहां से हो, क्या करते हो, तुम्हें रूम के बारे में किसने बताया, तुम्हारा बजट कितना है वगैरह-वगैरह। मैंने सब बताया और बजट के बारे में भी बता दिया.

उसी वक़्त उसकी सलवार का नाड़ा खोल कर उसकी पैंटी के ऊपर ही उसकी योनि को रगड़ने लगा. आप सबका मेल मेरे लिए बहुत मायने रखता है क्योंकि आपके फीडबैक से मैं अपनी और भी कहानी आपको बताती हूँ. मैं- अरे यार ट्रेनिंग पे थक जाता हूँ, अब उठ गया हूँ तो खाना खाने बाहर जाऊंगा.

मैंने कहा- ठीक है आंटी, आप मुझे अपना दूध पिला दो और मैं आपको अपना दूध पिला देता हूँ. नाईटी भाभी के चूतड़ों को आधा ढके हुए थी और आधे चूतड़ दिखाई दे रहे थे.

फिर आया वो दिन … सच कहूँ तो मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं था कि कल्पना का मैसेज आएगा या वो मुझे बुलाएंगी, लेकिन ऐसा हुआ. फिर चुदाई को ब्रेक करके मैं किचन में गई और कुछ खाने के लिए लेकर आई. मैं समझ तो गया था कि आंटी ये फ्रूट्स देने का बहाना करके आई हैं और उनके दिल में कुछ और ही चल रहा है.

मिया खलीफा इमेज

रमीज मुझसे बोला- वन्द्या, मैं लौड़ा घुसा दूं तेरी गांड में?मैं बोली- हां रमीज डाल दो.

इस तरह की आवाज अपने आप मेरे मुँह से निकल रही थीं कि अचानक से दरवाजा खुला और सोनम की मम्मी उसकी चाची और सामने वाली एक लेडीज सामने आके खड़ी हो गईं. आप भले ही मुझे छह महीने बाद मिलो, पर मैं अपने गम भूल के अब खुश रहने की कोशिश करूँगी. इस सबमें लगभग 20 मिनट तक मुझे चुदाई के पहले की धुआंधार गर्म करने के खेल में मेरा पानी छूट गया.

अजय ने कहा- नहीं रे … रमेश भी तेरे साथ मस्ती करने की बात मुझसे एक दो बार कह चुका है, पर मैंने ‘तेरा मूड नहीं है. तभी मैंने अपने आपको संभाला और मामी के आने के डर से उससे कहा कि हम लोग बाकी की प्यास बाहर चल कर बुझा लेंगे, अभी जल्दी से बाहर चलना चाहिए. हॉट सेक्स पोर्न वीडियोमैं झट से वहां के बटन को पकड़ कर स्वेटर को लूज करने की कोशिश करने लगा.

वो कमरा मुझे पसंद आया तो मैंने उसका किराया पूछा तो उन्होंने उसका किराया छह हजार बताया. खैर, मैंने बात को टालते हुए कहा- नहीं भाभी जी! ऐसी कोई बात नहीं है, दरअसल मैं आपसे शरमाता हूँ और झिझकता हूँ.

मुझे खुशी होगी अगर तुम मेरे पति के लंड को भी टेस्ट करोगी ताकि तुम्हें भी कुछ अलग माल मिले. गांव में पहुंचकर नवीन ने गाड़ी रोकी और संजीव से गाड़ी को पार्क करने के लिए कह दिया. उनमें से एक आंटी थोड़ी मोटी थीं, पर उनका फिगर बड़ा कमाल का लगता था.

मामी के हाथ में एक बड़ा सा बैग था तो मैंने उसे मामी के हाथों से ले लिया और चल पड़ा. उसने उंगली से मेरी गांड में थूक लगा कर कुछ चिकना सा किया और कमर पकड़ के जोर से लंड दबा दिया. आप निश्चिन्त होकर इसी तरह मुझसे बातें करते रहें।मुझसे जुड़े रहिये।मैंने आपसे वादा किया था कि मैं मेरी अगली कहानी बहुत ही जल्द आप लोगों के लिए लिखूंगा जो कि एक कपल को लेकर होगी, मैं आज वही कहानी आप लोगों के साथ शेयर करने जा रहा हूँ.

तभी उसने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला और मेरी चूत को चाटने लगा.

कुछ देर मौके का इंतज़ार करने के बाद धीरे से मैंने अपनी स्कर्ट के नीचे अपनी कच्छी में हाथ डाला और पर्ची निकाल कर आन्सर शीट में दबा ली. फिर जब मेरी चेतना लौटी और मेरी आंखें खुलीं तो मैं उसको किस करने लगी.

मेरी फिगर की वजह से ही स्कूल टाइम से ही बहुत से लड़कों ने मुझे प्रपोज़ करना शुरू कर दिया था, पर मैंने किसी के भी प्रपोजल को स्वीकार नहीं किया. अब मैं भैया को पकड़ने गई, तो भैया इधर उधर पानी में गए और मैं भी पूरे जोश के साथ उनका पीछा कर रही थी. मेरी जैसी सेक्सी का आपने दो बार पानी छुड़ा दिया … अब आप मेरे हो गए हो, मैं कभी ना रोऊं … आपने ऐसा कर दिया है.

जब मैंने ध्यान से देखा तो वह भी समझ गया कि मैं उसकी पैंट में बन रही उस आकृति को देख रही हूँ. जब वो अपना मेरी चूत में डालता है और चोदना शुरू करता है, तो कम से कम मुझे एक बार में 20 मिनट तक चोदता है. लेकिन जब पूनम ने कुछ कहने के लिए अपना मुँह खोला, तो जो मैंने सुना उस पर मुझे विश्वास ही नहीं हुआ.

पूरी हिंदी बीएफ उसके बाद मैंने धीरे से भाभी की चूत में लंड को डाल दिया और भाभी ने मेरे कंधे को नोच लिया. अब इतना लिखने से आप लोग मेरी बीवी की रसभरी जवानी की महक को समझ ही गए होंगे.

रोमांस हॉट वीडियो

मुझसे भी अब रहा नहीं गया तो मैंने व उसकी पीठ पर हाथ रख दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा. फिर 4 बजे भाभी ने चाय बनाई और बाहर बालकनी में मामा जी को चाय देकर मेरे पास आकर बैठ गईं. उफ्फ्फ्फ … क्या मम्मे थे उसके … दूधिया रंगत के पिंक निप्पल एकदम से खड़े हुए थे.

तुझे इस सोसाइटी के बारे में ही बता दूँ, इसी सोसाइटी के करीब 90℅ औरत और मर्द का कहीं न कहीं टांका भिड़ा है. साल भर इसी तरह तड़पते सुलगते गुजर गया। बस फोन, पोर्न और अपनी उंगली का ही सहारा था। वह नामर्द तो कभी बहुत उकसाने पर चढ़ता भी था तो योनि गर्म भी नहीं हो पाती थी कि बह जाता था. न्यू एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियोजब मैं उनके घर पहुंचा, तो देखा वो मैक्सी पहन कर बैठी थीं और बच्चे को पढ़ा रही थीं.

अभी तक कुत्ते का लिंग थोड़ा बाहर था, पर अब उसका लिंग पूरी तरह बाहर आकर लाल दिख रहा था.

मैंने गली के बाहर से ही कहा कि अपने घर का चैनल खोल कर रखो, मुझे अन्दर आना है. सर प्लीज़ … मुझे माफ़ कर दो … आइन्दा नहीं करूँगी …” मैंने अपनी आवाज़ को धीमा ही रखा।इसकी तलाशी तो ले लो एक बार … क्या पता कुछ और भी छिपा रखा हो!” सर ने मैडम से कहा।तलाशी की बात सुनते ही मेरे होश उड़ गये.

यह सुनकर मैं शॉक हो गया; मैं तुरन्त ही बोल पड़ा- क्या? आपके पति भी? क्यूँ आप मुझे मरवाना चाहती हो … मैं नहीं आ सकता, आप कोई और देख लो. इंदु को इस आसन में मजा आने लगा, वो बोली- मैंने ऐसे पहले कभी नहीं किया. तो एक 22 साल की लड़की मिली और उसके साथ जब मज़े करके हम बात कर रहे थे, तो वो बोली कि अभी एक और सरप्राइज़ है आपके लिये!और इतना कह कर वो वहां से चली गयी.

मैंने उस वक्त दीदी को चोदते हुए पूछा- दीदी मेरा साथ कैसा लग रहा है?दीदी ने नीचे से गांड उठाते हुए जर्क दिया और कहा- यानि?मैंने कहा- तुम मुझसे संतुष्ट तो हो?दीदी ने कहा- हां ठीक है, कोई चिंता नहीं.

करीब दो-तीन मिनट तक किस करने के बाद आशीष मेरी नाक को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा. रेखा के लड़के सोनू को अपने आगे बिठाया और रेखा मेरे पीछे बैठ गई।थोड़ी दूर जाने पर मैंने रेखा को बोला- सोनू को ठीक से पकड़ कर बैठ जा।तब रेखा बोली- गाड़ी रोको. कुछ ही देर में मुझे ऐसा लगने लगा कि वो मेरे होंठों को चूसते हुए मेरी चूत को भोसड़ा बनाने के नजरिये से चोदे जा रहा था.

हिंदी बफ ओपनजब प्रमिला पूरी तरह मजा लेने लगी, तो मैं धीरे धीरे पूरा लंड अन्दर बाहर करने लगा. इतने साइज का लंड तो एक औरत की चूत की खुजली मिटा देने के लिए पर्याप्त होता है.

देवर भाभी की लड़ाई

कुत्ता भी उसके पेशाब को सूंघते हुए उसके पास आ पहुंचा और उसके चूतड़ों को सूंघते हुए कुतिया की योनि चाटने लगा. उन्होंने मुझे देखा, तो देखते ही मेरे पास आके मुझे गले लगा लिया और मुझे गाल पर किस करने लगीं. अब इतना अंदाजा तो मुझे भी था कि एक जवान लड़की और एक बूढ़ी औरत की आवाज में कितना फर्क होता है.

उसने जैसे ही अपनी गांड ढीली की, मैंने लौड़ा उसकी गांड के अन्दर घुसा दिया. कभी बीच में हमारी नजरें मिल जातीं तो हल्की सी स्माइल दे देते दोनों. उसकी चूत में मेरा थोड़ा सा ही लंड घुसा था कि वो कराहने लगी तो मैंने उसका मुँह बन्द कर दिया और अपने होंठ उसके होंठ पर रख कर धीरे धीरे चूत में भी लंड को पेलने लगा.

उसकी बातें सुनकर मुझे भी चुदास चढ़ जाती थी, तो हम दोनों लोग कभी कभी लेस्बो भी कर लेते थे. मैंने पंकज के पास जाकर कहा- अब तुझे इस तरह अपने लंड की मुट्ठ मारने की जरूरत नहीं है. मेरा लंड जो इस वक्त बिल्कुल खूंखार हो चुका था … उसकी गीली चूत से टच हुआ.

धारा- धत … मेरे जैसी पसंद कैसे हो सकती है तुम्हारी?मैं- क्यों नहीं हो सकती भला, क्या कमी है तुम में? किसी अप्सरा से कम थोड़ी ना दिखती हो. वो मुझे देखने लगी, मैं निःसहाय पड़ी थी, मेरी आंखें भी बंद हो रही थीं, पलकों को उठाने की ताकत भी नहीं बची थी.

सबसे पहले एक होटल में एक रूम बुक किया, फिर उसके लिए कुछ गिफ्ट ख़रीदे और उसको तय जगह पर रिसीव करने चल दिया.

अगर आपको कोई दिक्कत न हो, तो मैं 5 मिनट में वाशरूम में जाकर वहां से आपको कॉल करूँ?कल्पना- ठीक है, आप मुझे कॉल करो. ओपन सेक्स खुलायह कहानी बहुत छोटी है, पर यह सच है कि मैंने अपनी जिंदगी के सिर्फ दो सच आपको बताएं हैं. नेपाल एक्स वीडियोमैं- तो मैंने यही तो कहा है कि मेरी पूरी कोशिश रहेगी कि आपको परेशानी न हो. उसके बाद मैंने बाइक को घर से कुछ दूरी पर रोक लिया और ताक-झांक करने की कोशिश करने लगा.

उसने मुझसे बोला- जा जाकर बेडरूम से कोई क्रीम ले आओ … पहली बार है, तेरी बीवी को दर्द नहीं होगा.

यह बात होने के बाद मैं बाथरूम में गया और अपने लंड को खड़ा करके पेन से लंड पर उसका नाम लिखा. कुछ सहकर्मी अच्छे दोस्त भी बन गए, उनके दूसरे देश के होने के कारण हर रोज़ कुछ ना कुछ नया जानने को मिलता. ऊपर से बनाने वाली की कृपा से और पॉर्न मूवीस की बदौलत मेरे लंड की साइज़ भी काफ़ी ठीक है.

फिर मैंने उसको घोड़ी बना लिया और उसकी पीठ पर झुक उसके चूचों को हाथों में दबाते हुए पीछे से लंड को चूत में घुसा दिया. पापा जोर से रोने लगे और कहने लगे- हे भगवान मैंने तेरा क्या बिगाड़ा था, जो तूने मुझे पागल बेटा और ऐसी चुदक्कड़ बेटी दी, हे भगवान ऐसी बेटी किसी को मत देना. हम दोनों 15 मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे के ऊपर नंगे पड़े रहे और फिर मुझे बगल वाले कमरे में कुछ बर्तनों की आवाज सुनाई दी.

sex पोजीशन

मेरे धक्कों में भले पहले की तरह ताकत न लग रही हो, पर मैं धक्के मारना छोड़ नहीं रही थी. फ्रेश होकर नहा कर बाहर आया और नाश्ता करके जैसे ही खड़ा हुआ, मेरी सास ने मेरा लंड पकड़ा और घप से अपने मुँह में ले लिया. दूसरे दिन शाम को सुजाता और अजय गेस्ट हाउस में रमेश से मिलने चले गए.

”फिर मैं अपने घर चला गया, थोड़ी देर टीवी देख कर समय निकाला, लेकिन अब तो जैसे एक मिनट भी 1 घंटे के बराबर लग रहा था.

उसने थोड़े गुस्से में कहा कि मैंने अन्दर करने को मना किया था न?इस पर मैंने कोई जवाब नहीं दिया और मुस्कुरा दिया.

उसके कपड़े अभी भी उसके शरीर पर थे जो मुझे अब कबाब में हड्डी के जैसे महसूस होने लगे थे. जब हम दोनों की नजरें एक दूसरे से मिलीं, तो वो मुझे हवस भरी नजरों से देख रहा था. भोजपुरी गाना वाला सेक्सी वीडियोखाना बनाया और कपड़े वगैरह साफ करके सब काम खत्म करने के बाद दोपहर को फ्री हुए, जब सास ससुर आराम करने बेडरूम में चले गए तो ठीक उसी समय मैंने भाभी से पूछा.

निहारिका कभी मेरे लंड को चूसने लगती तो कभी उसको हाथ में लेकर मुट्ठ मारने लगती. उनके बार बार आने वाले ईमेल और अपनेपन के कारण आज मैं आपके सामने फिर से हाजिर हूँ और आगे भी होता रहूंगा. उधर सारा मेरे लंड को पकड़ कर मुझे बाथरूम में लेकर गयी और लंड को धोकर साफ़ किया.

उसने उंगली से मेरी गांड में थूक लगा कर कुछ चिकना सा किया और कमर पकड़ के जोर से लंड दबा दिया. यह बात आज से पूरे एक साल पहले की है, जब मेरी बुआजी की बेटी की शादी थी.

निहाल नया लड़का था, तो उसका लौड़ा बहुत बड़ा और कड़क महसूस हो रहा था.

मेरे लंड को थोड़ा हिलाने के बाद उसने मुझे घुमा दिया और झुकने को बोला. दोनों में से कोई भी रुकने को तैयार नहीं थी और ज़ोर ज़ोर से हंसे जा रही थीं. सुनसान अँधेरे कमरे में चुदाई की वो मधुर आवाज घप घप घप और उसकी दर्द भरी सिसकारियां ‘अह अह अह हम्म ह्म्म्म.

सनी लियोन सेक्सी वीडियो 2020 मेरे घर के नजदीक एक पार्क है, जब मैं कहूँ, तुम वहां पर आ जाना, मैं तुम्हें लेने आ जाऊंगी. सुषी ने मुझे कस कर पकड़ लिया और मैं तेजी के साथ उसकी चूत में लंड को अंदर-बाहर करते हुए उसकी चूत को चौड़ी करने लगा.

वहां मैंने धीरे धीरे उनके सारे कपड़े उतार दिए और उन्होंने मेरे कपड़े उतार दिए. मैं भी रंजना दीदी के दूधों को जोर जोर से दबाने लगी और रंजना दीदी के होंठों को भी चूमने लगी. मालिश करते करते मैं बीच में उसकी गांड में उंगली कर देता, तो वो अपनी चुत वाणी के मुँह पर दबा देती.

पिक्चर ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चर

मैं आंटी के घर में अन्दर आ गया और उससे जोर से कहने लगा- तू आज मेरा पैसा वापस कर दे. वह इतनी जोर से चिल्लाई थी कि मुझे लगा शायद उसकी आवाज को पूरे घर ने सुना होगा, वह इतने जोर से चिल्लाएगी, इसका मुझे जरा भी अंदाजा नहीं था, वरना मैं पहले ही उसके मुँह पर हाथ रख लेता. हाय … मार दिया … मार दिया … इतना बड़ा लंड … इतना मोटा … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैंने पहली बार लिया है.

एक बात जो बहुत सेक्सी लग रही थी वह यह कि भाभी ने अपनी कमर में चूतड़ों के ऊपर एक चांदी की झालर नुमा चेन पहन रखी थी, जिसको तगड़ी कहते थे. मैं भी कहाँ पीछे रहने वाला था, मैंने भी एक हाथ से संध्या का सिर पकड़ा.

आखिर शिखा ने ऐसे बिहेव क्यों किया आज?रात को जब दस बजे का टाइम हो गया तो दीदी की आवाज आई कि खाना रेडी हो गया है.

उसने मुझसे कहा- हां चलो, मैं तुम्हें छोड़ देती हूँ, पर जाने से पहले तुम मेरे साथ चाय तो पी लो. वैसे तो मैं शाम को अक्सर बाहर निकलता था क्योंकि लक्ष्मी नगर में स्टूडेंट बहुत रहते हैं और शाम को बहुत चहल-पहल भी रहती है तो घूमने में मन भी लगता था और इसी तरह मेरे दिन कट रहे थे. अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगाया और उसकी चूत के ऊपर लंड को रखकर एक जोर का धक्का दे दिया.

उसकी कोई आपत्ति न पाकर मुझे हिम्मत आ गई और मैंने उसे अपनी तरफ घुमा लिया. तभी महेश बोला- यार, इसको अपन चारों एक साथ फिल्मी स्टाइल में करते हैं. उस दिन का नाश्ता भी जग ने ही बनाया था और मेरे पति जाने से पहले जग को बोल गए थे कि मेरे पूरा ध्यान रखे और उस दिन जग ने वैसा किया भी.

मैंने उसकी साड़ी ऊपर को खिसका दी और वाणी ने और आगे खिसक कर लंड को अपनी चुत में घुसा लिया.

पूरी हिंदी बीएफ: सोनम की मम्मी मेरे बाल पकड़ कर बोली- देखो कैसे कुतिया नंगी पड़ी अपनी गांड मरवा रही थी, छिनाल कहीं की. तो उसने हां कर दी और कहा कि वो घर से एक दो घंटे से ज़्यादा देर तक बाहर रहेगी, तो घर वालों को शक हो जाएगा.

दोस्तो, मेरी कहानी के पिछले भागबीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-5में आपने पढ़ा कि मैं जब काम से वापस आया, तो गीता के साथ मज़े किए और फ़िर वो अपने घर चली गयी. उन लड़कों के पीछे सिर्फ दीवार थी, तो मैंने हिम्मत की और थोड़ा सा अपनी मुंडी घुमा दी. मैं अभी 25 साल का हूँ और मेरी कद काठी बहुत मजबूत, बिल्कुल एक जिमनास्ट की बॉडी जैसी है.

… मर गई …मैंने उसकी चीख को अनसुना किया और फिर से जोर से लंड दे ठोका.

मैंने बियर-वोडका का प्रबंध कर लिया था और अपनी एक सफेद साटन की लगभग पारदर्शी और बेहद सेक्सी नाईटी रख ली थी कि उसे पहन कर उसका स्वागत करूँगी।अगले दिन यानि शनिवार छुट्टी करके सुबह से ही मैंने तैयारी कर ली. मैं- हां मैं आ जाऊंगा, पर आना कहां है?कल्पना- परसों मेरे घर वाले दोपहर में सूरत जा रहे हैं किसी शादी में शरीक होने. मैंने पूछा- खाना किधर है?वो बोले- इसको तुमने गर्म किया है ना … अब इसको ठंडा भी तो करो.