हिंदी में बीएफ चोदने वाली

छवि स्रोत,अश्लीलता मीनिंग इन english

तस्वीर का शीर्षक ,

डबल सेक्सी व्हिडिओ मराठी: हिंदी में बीएफ चोदने वाली, कहानी के पहले भागगाँव में मिली दो सेक्सी भाभीमें आपने पढ़ा कि गाँव में शादी थी, मैं वहां गया हुआ था.

सेक्सी व्हिडिओ पंजाबी सेक्सी व्हिडीओ

मैं समझ गया था कि अंजलि आ गई।मैंने अपने रूम का दरवाजा खोला तो सामने एक 5. सुंदर लड़की कारात को भी मेरी आंखों के सामने सेक्सी माधुरी का साड़ी वाला चेहरा सामने आया और मैं अपने बिस्तर पर लेटे लेटे ही अपने लंड को मसलने लगा.

उन्होंने मेरे पजामे को नीचे किया तो मेरा लौड़ा आजाद हो गया और भाभी ने फट से अपने हाथ में लेकर मेरे लंड को थोड़ा हिलाया. सेक्सी पिक्चर डाउनलोड वीडियो मेंथोड़ी देर बाद जब मेरा लंड फिर से खड़ा हुआ तो मैंने उसकी चूत को चोदना चाहा, पर मेरी आशा के विपरीत उसने चुदाई से मना कर दिया.

इस बार लंड अन्दर जाते ही उसे तेज दर्द हुआ- उमम्म … तुम मानते क्यों नहीं हो … मम्म … अह.हिंदी में बीएफ चोदने वाली: आज बहुत दिनों के बाद ये मौक़ा मिला था और हम इसका जी भरके मज़ा लूटना चाहते थे.

उधर भाभी को नंगी लेटा कर मुझे फिर से उसकी चूत चाटने का मन करने लगा.शाम को फ्री होकर मैंने बुआ को फोन किया तो बुआ बोलीं- हां, छोटी का फोन आया था.

लेडीस एंड डॉग सेक्स - हिंदी में बीएफ चोदने वाली

ये सुनकर साक्षी मेरे लंड से उतर कर बाजू हो गई और घोड़ी की तरह गांड ऊपर करके झुक गयी.कहानी के पहले भागचचेरी बुआ के साथ सेक्स की शुरुआतमें अब तक आपने पढ़ा था कि बुआ मेरे लिए खाना बना रही थी और मैं टीवी देख रहा था.

मैंने ज़रा सी भी देर नहीं की और उसकी टांगें खोलीं और उसके कुछ कहने से पहले ही अपना लंड उसकी चूत में उतार दिया. हिंदी में बीएफ चोदने वाली उसके मोटे लंड का आंवले सा सुपारा मेरी गांड के पहले छल्ले को फाड़ कर अन्दर फंस गया था.

तभी निखिल मेरे ऊपर आ गया और जोर से मेरे होंठों को पीने लगा, मेरे होंठों को चूसता रहा और मेरी आँखों में दर्द के मारे पानी आ गया.

हिंदी में बीएफ चोदने वाली?

मैं- डॉक्टर साब गए हुए हैं, अगर आपको सिर्फ उनसे ही बात करनी है, तो आप दो दिन बाद आइएगा. कुछ मिनट के बाद माधुरी भी मादक आवाजों में चिल्लाने लगी- आह राजा … मजा आ गया … और जोर से चोदो मेरे राजा … और अन्दर तक पेलो … आह … हम्म … हां हां … ऐसे ही पेलो. मैंने ड्राइवर को अपनी बांहों में कस लिया और नीचे से जोर का धक्का उसके लंड पर मार दिया.

उन्हें बेड के किनारे लाकर मैं खुद फर्श पर खड़ा हो गया और भाभी की एक टांग उठा कर उनकी चूत के निशाने पर लंड रख दिया. उन्होंने ब्रा भी नहीं पहनी थी, तो मैंने भी देर न करते हुए उसी समय उनकी नाइटी उतारकर उन्हें नंगी कर दिया. बातों बातों में पता चला कि वो अपनी जिन्दगी में बहुत डिप्रेशन से गुजरी हैं.

बीवी के जाने के बाद उसी दिन एक गाय ने बगिया के सारे फूल खराब कर दिए थे. मेरा बापू काकी की चूत के मजे ले रहा है, ये देख कर मेरा लंड आन्दोलन करने लगा. फिर अचानक से भैया के होंठों ने मेरे निचले होंठ को अपने होंठों के बीच में ले लिया.

अंकित ने मुझे गले से लगा लिया फिर मुझसे अलग होते हुए उसने मुझे गाल पर किस किया. फिर हमने एक दूसरी को इशारा किया और जाकर लड़कों की चड्डी उतारना शुरू कर दीं.

फिर थोड़ी देर बाद भाभी मेरा फिर से साथ देने लगीं और अपनी गांड उछाल उछाल कर मुझे उत्तेजित करने लगीं.

काकी की कामुक आवाजें धीरे धीरे निकल रही थीं- आ ऊ ई आई और करो उइ मां और अन्दर जीभ डालो लल्लू … बहुत मजा आ रहा है.

उसको पता था कि मैं उसके ऊपर गलत निगाह रखता हूँ क्योंकि कभी कभी मैं उसको अपनी बहन की बेबी पकड़ाने के बहाने से उसकी चूची को कुछ जोर से छू लेता था. इसलिए मैं हिंजेवाड़ी आईटी पार्क के एक पार्क मैं जाकर बैठ गया और अपना फ़ोन देख कर सोचने लगा कि माधुरी ने कोई मैसेज तो नहीं किया. फिर एक हिजड़े ने मुझे सहारा देकर उठाया तो मेरे तो होश ही फाख्ता हो गए.

मैं बोली- सालों रंडी की औलादों, ऐसे भी कोई चोदता है क्या? अब मेरे बॉयफ्रैंड को क्या मुंह दिखाऊँगी?अभी मैं उठ ही रही थी कि अब्दुल ने मुझे गर्दन पकड़ कर दबा दिया और घोड़ी बना दिया. वह मज़ाक़ में निशा से बोली- तू तो मना कर रही थी, अब क्या हुआ?हम तीनों हंसने लगे. लड़का लड़की सेक्सी कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी सहकर्मी लड़की को सेक्स के लिए चाहने लगा.

मैंने जैसे ही उसको क्रॉस किया, मेरा लंड उसकी चूत पर लग गया और एक सेकंड के लिए मुझे ऐसा महसूस हुआ कि में जन्नत में हूँ.

पर मुझसे बड़ी वाली चाची ही बात करती थीं; छोटी वाली चाची कभी कभी करती थीं. फिलहाल इस कॉलेज स्टूडेंट पोर्न कहानी के लिए आपके मेल का इन्तजार रहेगा. मैं- आप उसकी चिंता मत कीजिए यह सेलीब्रेशन मेरी तरफ से होगा और देखिए … न मत बोलना.

फिर हम कॉफी पीकर जाने ही वाले थे कि उसने कहा- मुझे आज रात तुम्हारे साथ में बितानी है. शबाना के एटीट्यूड से साफ जाहिर था कि वह अहसान आज और अभी उतारना चाहती थी. फिर भैया ने अपने लंड को बुर से थोड़ी बाहर की तरफ़ खींचा और फिर से एक जोरदार धक्का दे दिया.

आज मैं कोमल को इतना कसके रगड़ रहा था कि वो मेरे लंड की गुलाम हो गई थी.

खैर … मुझे बस उसकी आंखें दिख रही थीं तो मुझे पता नहीं चला कि ये जान कर उसकी क्या प्रतिक्रिया थी. हर तरह से माकूल माहौल था, घर पर भी कोई नहीं था, सब लोग शादी खत्म होने के बाद ही घर आने वाले थे.

हिंदी में बीएफ चोदने वाली हालांकि कभी नाप कर नहीं देखा मगर किसी औरत या लड़की की सील तोड़ने और उसको तृप्त करने के लिए काफी है. उसके बाद मैंने कंडोम लगाया और देसी लड़की की चूत में लंड सैट कर दिया.

हिंदी में बीएफ चोदने वाली a[emailprotected]X भाभी की हिंदी कहानी का अगला भाग:बुटीक वाली सेक्सी भाभी के जिस्म का मजा- 2. और तुम्हें कोई और पोजीशन पता हो तो हम ट्राई करें?‘ओके मैं बताता हूँ, वैसे करो.

मैं अपना लंड आधा बाहर निकालकर जोर से अन्दर ठोंकते हुए मम्मी की दोनों चूचियां अपनी मुठ्ठियों में दबोचते हुए चोदने लगा.

न्यूड गर्ल वीडियो

उसने कहा- तुमने बताया नहीं, आज मैं कैसी लग रही हूँ?मैंने कहा- तुम तो हमेशा से सुन्दर लगती हो. फिर मैंने एक प्लान बनाया और छुट्टी के दिन उस इंस्टिट्यूट पर बुलाया. मैंने पहले भी गांड में कई बड़े बड़े लंड लिए हैं तो मुझे कोई खास दर्द नहीं हुआ मगर मैं मोहित का जोश और ज्यादा बढ़ाना चाहती थी.

मेरी लड़का लड़की सेक्सी कहानी पर आप अपने विचार मेल और कमेंट के जरिए जरूर भेजें. उन्होंने मुझे आगे बताया कि तुम्हारी सुहागरात मनाने की इच्छा सुनकर मैं बहुत खुश हूँ और तुम्हारे लिए सुहागरात की सुहागी स्पेशल ऑडर पर तुम्हारे नाप की बनवाई है और ये तुम्हारी पसंद की ही है. वो भी मुझसे कुछ कुछ खुल रही थी और समय समय पर मुझे चाय के लिए पूछ लेती थी.

अब दीदी ब्रा में खड़ी थी और उनकी ब्रा पिंक कलर की थी और दीदी के जिस्म के कलर से ऐसे मैच कर रही थी कि ऐसा लगता था मानो कुछ पहना ही ना हो.

फिर आपा ने जीजू का लंड अपने मुंह में लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. फिर एक दिन सुबह सुबह उसका मैसेज आया कि बेबी आज मेरे परिवार वाले बाहर जा रहे हैं. अब जलालुद्दीन धीरे धीरे मेरी गांड में अपना लण्ड गोल गोल घुमाने लगे.

उनको देखते ही मेरे दिमाग में दो दिन पुरानी यादें ताजा हो गईं जब उन्होंने मुझे बुरी तरह रगड़ रगड़ कर चोदा था और मेरे भीतर छुपे जिन्न को मार डाला था. थोड़ी देर बाद मैंने फिर से हिम्मत की और फिर से ब्लाउज के ऊपर हाथ रख दिया. मेरी नज़र उनकी गोरी गोरी टांगों पर अटक गयीं लेकिन मैंने ध्यान ना देने का नाटक किया और ट्रे बेड पर रख दी.

थोड़ी देर बाद मॉम की फिर से आवाज घबराई हुई आई- आदर्श जल्दी से आ … बाथरूम में बिच्छू निकल आया है. अब अमित का लंड आयेशा की चूत में था और आयेशा की गांड ऊपर उठी हुई थी.

सोनी- क्या तुम कभी किसी वेश्या के पास गए?पुणे के बुधवार पेठ में वेश्या आसानी से मिलती है. मैंने पहले तो माधुरी के ऊपर वाले होंठ को बहुत देर तक चूमा, फिर चूस चूस कर उन्हें अपने दांतों में लेकर काटने लगा. और मैं उसके मुंह को फिर से चोदने लगा और उसके मुंह में ही मैंने अपना पानी छोड़ दिया।उसके बाद हम दोनों किस करते हुए सो गए.

पिछली पोजीशन से हम दोनों बहुत थक गए थे तो दोनों को आराम वाला पोज चाहिए था.

वह अपनी चूत को साफ करके कमरे में आई और मुझे लंड का खून साफ करने का इशारा किया. मैंने कहा- किधर मिल सकते हैं?उसने कहा- कुछ दिन बाद मेरे घर वाले बाहर जा रहे हैं. कमरे में जाने के कुछ समय बाद ही मेरे बदन में लहरें उठनी शुरू हो गईं और मुझे दौरे पड़ने लगे.

साथ साथ मैं उसके चूचों को मुंह में भर कर चूसने लगा, उसके निप्पल को भी काट रहा था।फिर मैंने उसको अपनी कुतिया बनाया और मैं खुद कुत्ता बन कर उसे चोदने लगा।इस बीच शुभी ने एक बार पानी छोड़ा।जब मुझे लगा कि मेरा पानी भी निकलने वाला है तो मैंने अपना लन्ड निकाल कर उसके मुंह में दे दिया. उसने बातों ही बातों में मुझे यह भी बताया कि उसका पति यानि मेरा साला भी किसी काम से दिल्ली गया हुआ है और वह भी 2 दिन बाद ही आएगा.

उन दोनों की धकापेल चुदाई और गालीगलौच से मुझे भी अपनी चूत में सुरसुरी होने लगी. फिर हम सब अपने अपने घर चले गये क्यूंकि अगले दिन हमें होली भी खेलने जाना था. उसकी तरफ से साफ़ साफ़ चुदाई का निमन्त्रण पाते ही मेरा तो दिल बाग़ बाग़ हो गया, जो बात मैं कहना चाहता था, वो उसने ही कह दिया.

सेक्स ओपन बीपी

अब जीजू ने मेरी छोटी सी चूत में अपनी जीभ डालकर उसको चाटना शुरू कर दिया.

अब जलालुद्दीन साहब अपना पूरा लण्ड बाहर निकालते और एक जोरदार धक्का मारकर अपना पूरा का पूरा मूसल मेरी चूत में पेल देते. मैंने तुरंत जलालुद्दीन साहब का लण्ड अपने मुंह में डाल लिया ताकि बचा खुचा वीर्य बर्बाद ना हो और मैं तब तक लण्ड को जोर जोर से चूसती रही जब तक कि लण्ड पूरा खाली नहीं हो गया. इस पर बीवी ने मजाक में कहा था कि कभी रवि से मिली तो उससे गांड मरवाने की कला सीख लूंगी.

रात को हम सबने डिनर किया और मेरे सोने के लिए भाभी ने कूलर के सामने सिंगल बेड लगा दिया. दोस्तो, बहुत ही जल्द ही मैं आगे की सेक्स कहानी लेकर आऊंगा और बताऊंगा कि आगे क्या हुआ. हॉलीवुड मूवी सेक्स वीडियोजलालुद्दीन साहब बोले- लेकिन तुमको तो चुदते हुए कई दिन हो गए हैं, अब वो पहली बार वाला दर्द कैसे दिया जा सकता है?मैंने मन ही मन अपनी जीत पर खुश होते हुए ऊपर से शांत रहते हुए कहा- तो फिर मैं इधर से नहीं जाने वाली.

मैं वापस गया और पेटीकोट लेकर मॉम को देने के लिए बाथरूम के बाहर रख आया. मैंने कुछ देर वहां अपना हाथ रखा और फिर आगे बढ़ने का मन बनाते हुए थोड़ा दबाया.

मैंने ब्लाउज के ऊपर से अपने मुँह को दबाना शुरू कर दिया और चाची के बूब्स को ऊपर से ही किस करने लगा. मैंने एक और जोर का झटका दे मारा और मेरा पूरा का पूरा लंड अन्दर चला गया. मैंने बोला- अब मुझे क्या पता कि किधर कौन सा कीड़ा घुसा है?चाची ने कहा- चल मैं कपड़े उतार देती हूँ.

जीजू ने मुझसे लंड चूसने को कहा तो मैंने मना कर दिया लेकिन जीजू ने जबरन मेरा सर पकड़ कर अपना लंड मेरे होंठों पर टिका दिया. मुझे उसके लंड से तेज बदबू आई तो घिन के मारे मैंने अपना मुंह दूसरी तरफ फेर लिया. लेकिन जीजू मेरे आंसू देख कर भी नहीं पिघले और अपना लंड मेरी चूत में डाले हुए मेरे होंठ चूमने लगे.

जब उसने मुझे पेलते हुए नहीं देखा तो उसने मेरे लंड को पकड़ लिया; लंड को अपनी चूत के छेद की ओर खींच कर अपनी गांड उठाने लगी.

मम्मी की चूत के लबों को खोलकर अपने लंड का सुपारा मम्मी के चूत के मुख पर सैट करके मैं आगे की ओर झुका और मम्मी की दाहिनी चूची अपने मुँह में पकड़कर चूसने लगा. कोई 5 मिनट तक मेरी चूत चाटने के बाद हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए.

मैंने आंटी कि ड्रेसिंग टेबल से तेल लिया और बहुत ज्यादा मात्रा में उनकी गांड के छेद में डाला, अपने लंड पर भी लगाया. कई साल इसी तरह मिर्गी का इलाज करते करते डॉक्टर ने बर्बाद कर दिए लेकिन मेरा मर्ज ठीक हो नहीं होता था. देसी गर्ल बर्थडे सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं किराए के कमरे में रहता था.

ये सुनकर तो मानो मेरे लिए खुलेआम चूत चुदाई का मौक़ा मिलने जैसा हो गया था. चूत झड़ने के बाद मैंने भाभी की चूत चटाई का अपना काम जारी रखा और भाभी की फुद्दी से निकले रस को अच्छे से चाटना शुरू कर दिया. कोमल को ब्लैक कलर की ब्रा और पैंटी में देखकर मेरा लंड घोड़े के जैसा खड़ा हो गया था.

हिंदी में बीएफ चोदने वाली उस दिन वे बहुत गुस्से में थी, उन्होंने मेरे घर का नंबर माँगा।फिर उन्होंने मेरी मम्मी को फ़ोन करके स्कूल आने को कहा।उन दिनों नोकिआ 1100 चलता था, मैडम के पास भी वही था।2:30 बजे मम्मी स्कूल आयी. मैं बहुत ही सांवली हूँ पर मेरे मम्मे बहुत ही मस्त हैं, बिल्कुल गोल और बहुत ही चिकने व मक्खन से मुलायम हैं.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಇಂಡಿಯನ್

मैंने साक्षी के ऊपर लेटे हुए ही उसकी गर्दन को किस करना शुरू कर दिया और साथ ही साथ उसके कान की लौ को चूसना शुरू रखा. मैं हैरान था मगर जल्द ही खुद को संयंत किया और मुस्कान भरी आवाज में ‘गुड मॉर्निंग कोमल …’ कहा. उसको जलालुद्दीन आलिम इसलिए कहा जाता था क्यूंकि वो जिन्न पकड़ने में माहिर था.

मैं- ऐसे कभी कभी खुजली होती है, आप परेशान मत हो, जल्दी आराम हो जाएगा. उसने अपना दाहिना पैर ऊपर उठा लिया और अत्यधिक कामवासना से उसे अपने बाएं पैर पर रगड़ने लगी. सेक्सी फुल मूवी वीडियोगड्डों की वजह से हमारे बीच का फासला कम होता जा रहा था और मेरा लंड जो डिंपी की चूचियों की वजह से खड़ा हुआ था, अब बस डिंपी की गांड तक पहुंचने वाला था.

फिर गली के बाहर निकल कर मैंने एक गुमटी पर खड़े होकर एक सिगरेट पी और सोचने लगा कि ये क्या हुआ था.

गांड में लंड पेलने की तैयारी और लंड पेल कर गांड कैसे मारना है, वो सब लिखा था. जलालुद्दीन साहब बोले- हाँ रंडी, पहले ठीक से गांड तो मार लेने दे, फिर तेरी चूत मारूंगा.

नीना और मैंने रवि के कमरे में सेक्सी ब्रा पैंटी और राजकुमारी वाला गाउन पहना, मेकअप किया. तो माधुरी ने इतरा कर कहा- अच्छा तो तुम मुझे रोज देखते हो!ये कह कर उसने मुझे एक प्यारी सी स्माइल दी और मेरे हाथ से चार्जर लेकर चली गयी. मैंने पहले तो भाभी को देखा और अपनी कामुकता को काबू में करते हुए अपनी पड़ोस की आशू भाभी को नजरअंदाज किया.

मैंने उसी अवस्था में कोमल को बेड पर गिरा दिया और खुद भी कोमल के साथ बिछ गया.

कुछ देर में जीजू को होश आया तो वो उठ खड़े हुए, मैं भी उठी तो नीचे देख कर मेरी गांड ही फट गई. अब मुझे आश्चर्य हुआ कि पीछे से रंजीत ने वंदना की स्कर्ट में अपना हाथ डाला और वह उसके चूतड़ मसलने लगा।अब वंदना सेक्सी महसूस कर रही थी और वह अपने हाथ से रंजीत के लंड को उसकी पैंट पर सहला रही थी. अब मैंने ठान लिया था कि जब ये इतनी हिम्मत दिखा सकती है तो मुझे भी थोड़ी हिम्मत दिखानी होगी, नहीं तो मेरा काम नहीं बनने वाला.

कामुकता कहानियांलेकिन कभी-कभी उसकी सफेद ब्रा की तनी बाहर झांक जाती थी, जिस वजह से मुझे ब्रा के रंग का पता चल गया था. कुछ देर बाद आसन बदला, अब मैं चारों हाथ पैर पर पलंग के किनारे खड़ा हो गया.

सेक्स दिखाओ करते हुए

इससे पहले कि मैं कुछ कहती, सलीम बीच में ही बोल पड़े- हां सलमा बेगम, आज तुम्हारे हाथों के जाम ही पिएंगे और तुम्हारे शौहर बनकर तुम्हारे साथ सुहागरात मनाएंगे. तभी मैंने उसकी टांगों को और झुकाकर सैट किया और चूचियों को जकड़ कर पूरी ताकत से लंड को अन्दर पेल दिया. मैंने उनका दर्द समझा और थोड़ा रुक गया लेकिन मेरा लंड अभी भी उनकी चूत में आधा घुसा हुआ था.

सुरेंद्र जी ने मेरे एक दूध को सहलाते हुए अपने दूसरे हाथ से पैंटी की डोरी खींच दी. मैं- डॉक्टर साब गए हुए हैं, अगर आपको सिर्फ उनसे ही बात करनी है, तो आप दो दिन बाद आइएगा. मैं भी चुदने के लिए तड़प रही थी तो बस उनसे मिलने, अपने घर पर कॉलेज जाने का बोलकर निकल गयी.

मैंने उसके कान के पास धीरे से किस की, जिससे वो थोड़ी उत्तेजित होने लगी. वो इसलिए कि मेरे पेग इस टाइम काम आ गए।अब अंजलि मेरे लण्ड को सहलाने लगी, आगे पीछे करने लगी और दूसरे हाथ से मेरे लण्ड के दोनों साथियों को भी सहलाने लगी।अब मुझ से बर्दाश्त नहीं हो पा रहा था।मैंने अंजलि को लण्ड को मुँह में लेने को बोला. मैंने उनके एक निप्पल को मुँह में भर लिया और उसे खींच खींच कर चूसने लगा.

उस दिन वो बहुत खुश थी, मुझे अपनी बांहों में भर कर ढेर सारी चुम्मियां की. तुम्हें अपनी बीवी के साथ जो जो करने की इच्छा थी और कर नहीं पाए, वह मुझे बताओ, मैं पूरी करूँगा.

मैं साक्षी के ऊपर चढ़ा था और उसकी गांड में लंड पेल का उसके नंगे बदन को रौंद रहा था.

मैंने उससे पूछा- क्यों तेरा पति चूत नहीं चूसता?वो उसे गाली देती हुई बोली- मादरचोद भोसड़ है … भैन के लौड़े को कुछ नहीं आता और न ही लंड में दम है. ओन्ली जयपुर से मंगवाईखिड़की पर मैं इसलिए गया था क्योंकि मुझे पता था कि खिड़की का थोड़ा सा कांच टूटा हुआ है और उसमें से अन्दर देखा जा सकता है. छत्तीसगढ़ी गाना पुरानासहसा उसकी नजर चादर पर लगे खून पर गई और उसने फौरन चूत से लंड निकालने के लिए मुझे धक्का दे दिया. मगर मैंने उससे कहा- आज मौका है चुद ले मेरी जान … फिर न जाने कब तेरी चूत को लंड मिलेगा.

कुछ देर मैंने भाभी की तरफ ध्यान दिया कि देखें इनका क्या रवैया रहता है.

मेरे चरम सुख पर पहुँचते ही मेरी चूत ने झटके खाए और रस की फुहार छोड दी. वो दोनों बुआ भतीजी तो जैसे तैसे सहज हो गईं लेकिन मेरी हालत बिल्कुल खराब थी. अब जैसे ही मस्ती का सुरूर उतरा, वैसे ही मैंने लंड बीवी की चूत से बाहर निकाला और कमरे के अन्दर हो लिया.

आज पहली बार मैं उसके स्तनों की गोलाई उसकी ब्रा से लगा पा रहा था जो वजनदार होने की गवाही दे रहे थे. जाते वक़्त मैंने उसका ब्लाउज पीछे से देखा तो वो पीछे जालीदार ब्लाउज और उसमें उसकी ब्रा की डोरी दिखी, तो मेरा तो मुँह खुला का खुला रह गया. दोनों ने एक बार फिर एक साथ पानी छोड़ दिया और मैं बुआ के ऊपर ही लेट गया.

इंडियन कामसूत्र सेक्स वीडियो

बड़े-बड़े मस्त कर देनेवाले उनके स्तन, नाज़ुक-सी उनकी चूत, जिस पर एक बाल भी नहीं था. मैं इसी तरह बैठा हुआ पीछे को लेट गया और उसकी गांड को दबा ऊपर को उठाना चाहा. लूडो का खेल कब चुदाई के खेल में बदल गया, ये आपको सेक्स कहानी के अगले भागों में मालूम पड़ेगा.

मैं जब भी उससे चोदने संबंधित बातें करता, वो मुझसे नाराज़ हो जाती थी और कहती कि तुम तो सिर्फ उसके लिए ही बातें करते हो.

मैं किस करते करते उसको जोर से गले से लगा कर उसकी चूचियों को अपने सीने पर गड़ता हुआ महसूस कर रहा था.

आज पहली बार मैं उसके स्तनों की गोलाई उसकी ब्रा से लगा पा रहा था जो वजनदार होने की गवाही दे रहे थे. मैं अकेले में बैठी सोच रही थी कि शायद यही कारण होगा कि पहले जमाने में जल्दी शादी कर दी जाती थी. गुजराती भाषा में सेक्स वीडियोजब उसकी गांड थोड़ी ढीली हो गई तो उसकी गांड में मैंने पास में रखा हुआ नारियल का तेल डाल दिया.

मैं कमरे में बने बाथरूम में गया और ब्रा पैंटी पहन कर एकदम सज-धज कर रूम में आ गया. दोस्तो, मैं इस सच घटना को आज भी सोचता हूँ और अपने बापू के लंड की सख्ती पर नाज करता हूँ. कमरे में जीजू पलंग पर लेटे हुए थे, आपा कमरे में आई तो जीजू ने उठ कर आपा को अपनी बाँहों में कस लिया और चूमने लगे.

ये कह कर चाची ने मेरा लोवर निकाल दिया और मैंने अपनी टी-शर्ट निकाल फैंकी. मैंने फिर से उंगली करना स्टार्ट की- आप इस शादी में कैसे?कोमल- मैं लड़के की बहन की फ्रेंड हूँ और आप कैसे?मैं- मैं लड़के के भाई का फ्रेंड हूँ.

बीवी का तो बिल्कुल भी मन नहीं करता था लेकिन मैं सेक्स के लिए तड़पता रहता था.

ये सुन कर मेरी ख़ुशी का ठिकाना ही ना रहा और मैं उनके मम्मों को प्यार से सहलाने लगा. देखने वाला ये सब अपनी आंखों से देख रहा था, जिसे मिष्टी से ये उम्मीद ही ना थी कि वो अपने पति से छिपकर अपनेसग़ी बहन के पति के साथ चुदाईका आनन्द ले रही थी. उक्त कस्बे में ज्वाइन करने के बाद दो रातें मैंने लोकल के एक होटल में बिताई थीं.

मराठी सेक्स ओपन सेक्स अब मैं खुद चाहने लगी थी कि निखिल मेरी चूचियों को और जोर देकर भींचे. जांघों पर हाथ फेरते फेरते शेखर का हाथ मेरी चूत तक आ गया और वो सलवार के ऊपर से ही मेरी चूत सहलाने लगा.

तुम जान हो मेरी … और जान को छोड़ने का मतलब ज़िंदगी खत्म!बस बातें करते करते हम दोनों यूँ ही खड़े रहे और कब हम किस करने लगे, हम दोनों को ही पता नहीं चला. पैंट की जिप खोलते हुए माधुरी ने कहा- देखो बेचारा कब से इस छोटी सी अंडरवियर में कैद पड़ा है. तो दोस्तो, मेरी ये सच्ची Xxx गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, बताइएगा जरूर!आपका प्यारा दोस्त अर्पण[emailprotected].

सेक्स सेक्स ब्लू पिक्चर

मैंने दोपहर में अपने बेडरूम को अच्छे से साफ किया, बिस्तर पर नई मखमली चादर बिछाई. प्रिंस ने अपने दोस्तों के साथ गांव घूमने का प्लान फिक्स कर लिया और वो तय समय पर अपनी अधूरी मोहब्बत को पूरा करने निकल पड़ा. अपनी सगी चाची की गांड फाड़ चुदाई का मजा मैंने लिया होटल में! चाची चूत मरवाने के चक्कर में मेरे साथ गयी थी पर मैंने चाची की गांड भी मार ली.

मुझे अप्रितम मजा आ रहा था मैं अपनी आँखें बंद करके लंड चुसाई का आनन्द ले रहा था. पहले साक्षी की गांड पर थोड़ा हिलाया और अपने लंड का सुपारा साक्षी की गांड में सटाक से घुसा दिया.

उनके साथ कोई और भी था जो दिखने में उनके जैसा ही था पर वो काले रंग का आदमी था.

जब मैंने उससे कहा कि जोर-जोर से ऊपर नीचे करो, तब उसने जोर से ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया. तय टाईम के अनुसार उसके इंस्टीट्यूट के पास से मैंने उसे अपनी बाइक पर बैठा लिया. पैंट की जिप खोलते हुए माधुरी ने कहा- देखो बेचारा कब से इस छोटी सी अंडरवियर में कैद पड़ा है.

आंटी एक बार रस छोड़ चुकी थीं लेकिन मेरे कपड़े अभी नहीं उतरे थे और आंटी के हाथ में लंड नहीं आया था इसलिए मेरे लंड ने हार नहीं मानी थी. आह आह के जैसी मादक आवाज निकलती हैं, इसका मतलब ये कदापि नहीं होता है कि किसी को दर्द हो रहा है. हम लोग एक वीक मजे मार के आएंगे।राजवीर ने हिल स्टेशन का नाम बताया तो मुझे याद आया कि अंजलि भी वहीं की रहने वाली है.

उन्होंने बताया कि उनकी जांघ पर इंफेक्शन हो गया है, जिस वजह से वे परेशान हैं.

हिंदी में बीएफ चोदने वाली: चाची रुक गईं और मेरे पास आकर बोलीं- क्या हुआ क्यों रोका मुझे?मैंने कहा- आप बहुत सेक्सी हो चाची. हम लोग टैक्सी में जाकर बैठे ही थे कि तभी ड्राइवर अब्दुल नाम के मकैनिक और हेल्पर छोटू को लेकर आ गया.

उन्होंने अपने शरीर को छिपाने का ज़रा भी प्रयास नहीं किया और मुस्कराकर मेरी ओर देखती रहीं. अब मेरे हाथ शबाना की छोटी-छोटी चूंचियों को मसल रहे थे और शबाना की मादक सिसकारियां निकल रही थीं. उनका सामान रख कर मैं जाने लगा तो आंटी बोलीं- रुको, मुझे तुमसे कुछ काम है.

मैं भी उन काम पिपासु लोगों में शामिल था जो उसकी मटकती गांड का जलवा देख कर अपनी जुबान से और लंड लार टपकाते थे.

मुझे रहा नहीं गया और मैंने हिम्मत करके उसकी पैंटी की इलास्टिक में उंगलियां फंसाईं और पैंटी नीचे खिसका दी. बाद में ध्यान से देखने पर पता चला कि वो लड़का रवि भैया है मेरे दोस्त का भाई. उसके चूसने के तरीके से साफ पता चल रहा था कि वो चुदने के लिए कितनी बेकरार है.