बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए

छवि स्रोत,सेक्सी मालिक वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

गोल्ड चैन डिजाइन: बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए, नाश्ते की टेबल पर जब हम मिले तो जग ने कहा कि अगर बुरा ना मानो तो एक बात कहूँ?मैंने कहा- तुम्हारी बातों का मैं कबसे बुरा मानने लगी? और तुम कब से मुझसे इज़ाज़त लेने लगे?फिर जग बोला- क्या मुझे आपकी ज़िन्दगी का एक दिन मिल सकता है?मैंने कहा- क्या.

सेक्सी वीडियो सुहागरात की वीडियो

आंटी को इस हालत में और उनकी फूली हुई चूत देखकर मेरा लंड तो बिल्कुल उत्तेजित हो चुका था. ओपन बीपी सेक्सी पिक्चर मराठीइसके बाद भाभी ने भी मेरी शर्ट के बटन खोलने शुरू कर दिए और जैसे ही सारे बटन खुले, मैंने शर्ट उतार कर साइड टेबल पर रख दी.

आज तुम मुझे चोदो … जितना चाहे चोदो … मैं प्यासी हूँ … मेरी चूत में इसे डालो जल्दी … मैं अब नहीं रह सकती … आह … जल्दी से चोद दे मेरे राजा … चोद दे मुझे. सेक्सी पिक्चर वीडियो mp3इसके बाद मैंने दो पल रुक कर अपने लंड को समझाया कि रुक जा भोसड़ी के, ज्यादा जल्दबाजी ठीक नहीं है.

वैसे तो मैं भी अपनी बीवी की चूत मारकर बोर हो चुका था और मन कर रहा था कि कोई नई चूत मिल जाए.बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए: अगर मैंने भाभी से ये पूछ लिया कि वो क्या खाती है, तो क्या बुरा किया जो इतना डांट रही हो मुझे?मॉम और भाभी शांत रह गईं, उन्होंने समझ लिया था कि मेरी बहन अभी कुछ नहीं जानती है.

उनकी चूत भी फूल गई थी और उसका आकार मुझको उसकी पेंटी के ऊपर से नज़र आ रहा था.कुछ देर तक तो मैं ऐसे ही प्रिया के ऊपर लेटा रहा मगर फिर प्रिया बोल उठी- चलो अब उठो … बहुत हो गया हां … मम्मी भी आने वाली होंगी!प्रिया ने प्यार से मेरे गालों को चूमते हुए कहा.

सेक्सी क्सक्सक्स इंडियन - बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए

दोस्तो, अन्तर्वासना वेब साइट के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार! मैं बहुत साल से इस वेबसाइट पर से चुदाई की कहानियाँ पढ़ता आया हूँ या यों कहूँ कि बिना चुदाई की कहानिया पढ़े ना तो मेरा दिन पूरा होता है और ना ही रात… अब तो हाल ऐसा है कि जब तक मैं कोई चुदाई की कहानी ना पढ़ लूं, तब तक रात को नींद भी नहीं आती मुझे.मैं बड़ी चाची के बारे में बोल बोल कर छोटी चाची को चोदने लगा- काश … आपकी तरह मुझे बड़ी चाची की चूत चोदने का सौभाग्य प्राप्त हो जाता.

मैंने कहा- अभी तू नादाँ है और ये सब तेरे जानने की चीज़ नहीं है, जब तू बड़ी हो जाएगी, तब पता चल जाएगा. बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए मेरे जोर से चूसने पर वो चिल्ला उठी- यार आराम से करो ना … मैं तुम्हारे पास ही हूँ पूरे एक हफ्ते के लिए …इसके बाद मैंने उसकी पैंटी को ऊपर से सूँघा तो मादक खुशबू का अहसास हुआ.

मैंने अपने लौड़े पर हाथ फेरना चालू कर दिया, तो उसने हंस कर कहा कि मुझे कोई दिक्कत नहीं है, तुम चाहो तो उसको आजाद भी कर सकते हो.

बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए?

कुछ और धक्के पड़ते रहे, उधर अब माइक भी हांफते हुए आवाजें निकालने लगा; ‘ओह्ह ओह्ह ओह्ह. फिर मैं रूक गया और स्तन चूसने लगा।उसने इससे पहले प्रशान्त के साथ सेक्स जरूर किया था लेकिन उसकी सील नहीं टूटी थी जो आज मैंने तोड़ दी थी। फिर कुछ देर बाद जब वो सामान्य हुई तो मैंने धीरे-धीरे धक्के लगाने शुरू किये और नीचे से वो भी मेरा साथ देने लगी। उसका दर्द अब कम हो गया था और उसे मजा आने लगा था. इसके बाद अंकित ने राज अंकल के और मुन्ना अंकल के कान में कुछ धीरे से बोला.

फोन का स्क्रीन लॉक भी कम्मो के फिंगर प्रिंट्स लेकर सेट कर दिया; अब कम्मो का फोन कम्मो के सिवाय और कोई नहीं खोल सकता था. चूंकि वो एक भीड़ भाड़ वाला इलाका था, तो मुझे वहां अच्छी अच्छी बालाएं मतलब भाभियां, आंटियां वगैरह दिख जाती थीं, जिन पर मैं अपनी पैनी नज़र गड़ाकर कुछ रुक कर देखता और गुजर जाता था. थोड़ी देर बाद उन्होंने अपने होंठों को मेरे होंठों पे रख दिए और हम दोनों जोर जोर से किस करने लगे.

’एक बार तो मुझे अटपटा सा लगा, पर मैंने इस वक्त रेवती को चोदना ज्यादा ठीक समझा. मुझसे रहा नहीं गया, मैंने कहा- जानू, प्लीज़ इसको पी लो ना!मैंने कमलेश के सिर को अपने बूब्स पर दबा दिया और वह ज़ोर से मेरे दूध को पीने लगा. मेरे मुँह से एक लम्बी सीत्कार निकल गई- आह … चाची … बहुत मजा आ रहा है … और अन्दर ले लो न प्लीज.

सोनू ने फर्स्ट एसी का पूरा केबिन बुक किया था तो हम सब आराम से बैठ गए, दोपहर का टाइम था खाना खाया और थोड़ी देर के लिए लेट गए. इसके बाद मैं करीब 10 -15 मिनट उसे ऐसे ही धक्के लगाता रहा और वो और जोर जोर से सिसकारियां भरके बोलने लगी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… अमन.

मैं और जीजू हम दोनों लोग बाथरूम में शावर के नीचे खड़े होकर नहाने लगे और हम दोनों ने अपने आपको साफ़ किया.

मैं अपना लंड उसकी गांड की दरारों की बीच में डालने की कोशिश कर रहा था, पर उसने बहुत ही टाइट साड़ी पहनी हुई थी, इसलिए मैं ऐसे ही लंड को उसकी गांड पर रगड़ रहा था.

तुम लोग तो साले शुरू हो गए … बहुत जबरदस्त लौंडिया है … साली को देख कर ही कंट्रोल नहीं हो रहा है. वो तो बस अपनी आंखें बंद करके लेटी थी और चूचियों को मिंजवाने का मज़ा ले रही थी. मनीष उठा मुझे देखा कि मैं कमरे से बाहर बालकनी में हूँ तो वो दरवाजा खोलने चला गया.

अब गैबरियल ने मुझे सीधा लिटा दिया और मेरे पैरों से मुझे चूमना शुरू कर दिया. मेरी कोमल, नर्म जवानी को, कसरती जिस्म का मालिक मन्नू दबा कर मसलता था. स्टेशन पर गाड़ी आने से आधे घंटे पहले ही हम लोग पहुंच चुके थे, मतलब हम लोग वक्त से पहले ही आ चुके थे.

मैं समझ गई कि ये झड़ने वाला है, मैंने भी अपनी टांगों को और चौड़ा कर लिया और कुछ ही टाइम में उसने मेरी चूत को अपने माल से भर दिया.

हम अपने मेहमान समेत बहुत उत्तेजित हो चुके थे और हमारे हाथ अपने-अपने लंडों को मसल रहे थे. मैं कभी मोटा लंड चूत में घुसता है, कभी लंबा, कभी छोटा कभी लंबा और मोटा टेड़ा सा लंड चूत में मजा देता है. तुम चाहो तो इसको अपने हाथों से खड़ा कर सकती हो या फिर इसे अपने मुँह में लेकर चूस चूसकर खड़ा कर सकती हो.

उसने ऊपर से नीचे ब्रांडेड कपड़े पहने हुए थे, एप्पल के दो मोबाइल थे, फुल मेकअप, गॉगल्स, बड़े बड़े चुचे, बड़ी गांड, मेरा तो लंड खड़ा हो कर सलामी देने लगा था. बुर को गीला कर देने के लिये।”दिख तो रही नहीं थी लेकिन मैंने उंगली लगा कर देखा तो वाकई वह बहने लगी थी।अगर रेजर के इस्तेमाल से परहेज न हो तो कहो यह मलबा हटा दूं।”हटा दो. मैं अपने मन में सोच रहा था कि बेटा आज कुछ कर ले मौक़ा है, वरना हाथ मलता रह जाएगा.

सुलेखा भाभी ने बताया कि आज शाम को मैं कहीं बाहर ना जाऊं क्योंकि वो सब लोग बाजार जा रहे हैं और यहां पर घरों में चोरी बहुत होती है, इसलिये मुझे घर पर ही रहना है.

जिसे देखकर एक बार तो सुलेखा भाभी झुंझला सी गईं मगर अगले ही पल उन्होंने मेरे अण्डरवियर में हाथ फंसा लिए और एक ही झटके में मेरे अण्डरवियर के साथ साथ मेरे लोवर‌ को भी उतारकर मुझे नीचे से नंगा कर लिया. उसके बारे में क्या बताना दोस्तो… लगता था कि ऊपर वाले ने उसे बड़ी ही तसल्ली से बनाया था.

बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए मैंने कहा- रहने दे यार … तुझे फिर दर्द होगा और मैं तेरा दर्द नहीं देख पाऊंगा और सारा मूड खराब हो जाएगा. जब तक मन्नू मेरी ज़िंदगी में रहा, मैंने दूसरे लड़के पर नज़र तक नहीं रखी थी.

बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए दोस्तो, सबसे पहले अन्तर्वासना का धन्यवाद जिसकी कृपा से सभी को लंड को खड़ा करने वाली और चूत में उंगली डालने को मजबूर करने वाली कामुक कहानियाँ पढ़ने और लिखने को मिल जाती हैं।मैं आप सबको अपने बारे में बता दूँ, मैं मेरा नाम प्रतोष सिंह है और मैं कोलकाता में रहता हूं. अभी कुछ देर पहले ही मैं नेहा के साथ साथ प्रिया के साथ भी मस्ती की योजना बना रहा था, मगर उनके गांव जाने की बात जानकर एक पल में ही मेरी सारी योजनाएं धराशाही हो गयी.

दिन गुजरते गए और हम दोनों एक दूसरे को और अधिक बेहतर तरीके से समझते गए.

हिंदी कहानियां दिखाइए

मैंने भी अब अपने हाथों को उनकी साड़ी व पेटीकोट के अन्दर घुसा दिया और अन्दर से ही उनकी चिकनी जांघों को सहलाता हुआ, फिर से ऊपर की तरफ बढ़ने लगा. कमरा ठीक ठाक था, तो मैंने पैसे दे दिए और अगले दिन आने का बोल कर वापिस आ गया. दमदार लंड का मालिक अपने सामने नंगी पड़ी मस्त लड़की को देखकर भी संयम रख ले तो उसमें कोई बात है.

मैंने उनके कूल्हों के नीचे तकिया लगाया और अपना लिंग सही जगह पर टिका कर धीरे से अन्दर की ओर धकेला तो योनि गीली होने के कारण आराम से अन्दर घुसता चला गया. वह पूरा डर में बदल गया, मेरे साथ यह पहली बार ऐसी स्थिति बनी मुझे कुछ समझ नहीं आया. मैंने बीस मिनट तक सोनाली की गांड चोदने के बाद अपना लंड उसके मुँह में दे दिया और मुँह की चुदाई करके झड़ गया.

पर उसका छोटा बेटा रजत, उसको अपनी माँ की गांड मारने में थोड़ी दिक्कत हो रही थी.

उसने बोला- क्या?मैंने कहा- जो भी मैं तुम्हें बताऊंगा, वो तू सिर्फ अपने तक ही रखेगी. जब उसने कहा कि दर्द कम हुआ है, तब मैंने एक और झटका लगाया और मेरा पूरा लंड उसकी चुत में समा गया. नेहा ने उस दिन दूध वाले को छेद से देखता हुआ जान लिया था, तो वो अपनी सफाचट चूत और बड़े बड़े मम्मों को मसलते हुए दूधवाले की नजरों की हवस जगाने लगी.

प्रिया की इस अदा पर मैं मुस्कुराये बिना नहीं रह सका और उसके पीछे पीछे सुलेखा भाभी के पास चला गया. उनके खुले बाल थे, वो गुलाबी रंग की कसी लैगिंग्स और शार्ट कुर्ते में थीं. इस बार मैंने उसे खड़े होकर बेड पर झुकने को कहा और खड़े खड़े चोदने लगा.

पूजा मुझको कुछ देर तक चोदती रही और फिर थक कर मेरा लंड अपनी चूत में घुसेड़े घुसेड़े ही मेरी गोद में शांत बैठ गयी. मैं एक चूची को दबाता और दूसरी चूची को ब्रा के ऊपर से ही किस करने लगता.

सतीश ने मेरी चूत में अपना गर्म गर्म लंड रस भर दिया और मेरे ऊपर चढ़ कर लिपट गया. घर में दोनों बेटे अपनी माँ को खूब चोद रहे थे और तीनों सदस्य एक दूसरे को खूब सारी गन्दी-गन्दी गालियां भी दे रहे थे पर इन सब चीज़ों से उनको बहुत ही ज्यादा आनन्द और उत्तेजना हो रही थी. इतना कह कर मैं वहां से उठने लगी तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और बस थोड़ी देर यूं ही मुझे देखता रहा.

जब मैंने पूछा कि सब लोग कहाँ गए?तो उसने बताया कि सब निमंत्रण में गए हैं और शाम को वापस आयेंगे.

साथ ही शान्ति चाची की बड़ी बड़ी चुचियां, बिल्कुल बेल फल की तरह कठोर और कसी हुई हैं. दूध वाले ने रवि के जाने के बाद मुझसे कहा- भैया, नेहा मेमसाब की चूत मुझे फिर से चोदने का मन है. समय अनुसार मैडम ने बालक को जन्म दिया लेकिन उससे पहले ही वो जॉब छोड़ चुकी थी.

तूने अब्दुल और रमीज जैसे पठानों के बड़े बड़े लंड लेकर जिस अंदाज से मस्त चुदवाया है. मैं मुड़कर चलने लगी, तभी ठाकुर ने किसी को फोन लगाया और बोला- इधर कॉर्नर वाले रूम में हैं.

आंखें अब भी नीचे थीं और एक अजीब सा भाव उनके चेहरे पर उभर आया था, जैसे कि उनकी चोरी पकड़ी गई हो. मैंने सोचा कि अब तो काफी देर हो चुकी है तो माइक मुनीर और तारा भी चले गए होंगे. मैंने मीता के उरोजों के चूमने के बाद उसके होंठों को अपनी कैद में लिया और अपने हाथों में मीता की कमर को थामकर अपने लन्ड से इस पारी का पहला जोरदार शॉट लगाया और लन्ड चूत की अथाह गहराई तक उतार दिया.

पुराने सोने की कीमत 2021

मेरा मन तो कर रहा था कि आंटी की गांड में पूरा लंड एक ही झटके में पेल दूं.

कुछ देर के बाद दीपक उठा और उसने मानसी की चूत में लंड घुसा दिया और जोर जोर से धक्का लगाने लगा. मैंने अपना अंडरवियर उतार दिया और सिर्फ अपना पैन्ट पहन कर वैसे ही बाहर आ गया. करीब तीन चार मिनट बाद मेरी गांड का दर्द भी कम होने लगा और अब मैं खुल के सेक्स को एन्जॉय करने लगी.

ये क्या कर रहा है … हाथ छोड़ मेरा … नहीं सुधरोगे तुम?” उसने अपना हाथ छुड़ाने की कोशिश करते हुए कहा. जब मेरा दर्द कुछ कम हुआ तो मैंने अपने कूल्हों को हिलाया और भाई को अपनी बांहों में भरकर ऊपर नीचे होने लगी।भाई ने भी सब समझकर मेरी चूत को चोदना चालू कर दिया. घरेलू सेक्सी देहातीमैंने कहा- मैं क्यों?उसने कहा- क्योंकि मैं आपसे मोहब्बत करता हूँ ना.

मीता पूरे शरीर पर हाथ फेरता हुआ मैं अपने लन्ड से मीता की चूत पर अपना प्यार लगातार अंकित करता जा रहा था. उनके लंड के वीर्य के फव्वारे ने मेरी बच्चेदानी के मुँह को मानो पूरी तरह से डुबो दिया था.

वे धीरे से मेरे कान में बोले- वन्द्या, तुम आज बहुत खूबसूरत लग रही हो. मैंने अपनी निक्कर धीरे से पैरों से निकाली और उसकी चड्डी की इलास्टिक में हाथ डाल कर उसे भी उसके चूतड़ों से नीचे को सरकाया। अब मेरे मामा की बेटी यानि मेरी ममेरी बहन के कूल्हे नंगे हो गए और मेरे हाथ उसकी भरी हुई टाँगों पर आ गए. सब अपनी अपनी बुक निकालो और बताओ कि आज कौन सा चैप्टर पढ़ना है?मनीषा मेरे पास तीसरा चैप्टर ले कर आ गई और बोली- पंकज, आज आपको ये पढ़ाना है.

मैं- हाँ चाची बहुत दिनों से आपकी इस गांड को मारने के लिए तड़प रहा हूँ. कुछ देर हम तीनों इसी मुश्किल पोज़ में चुदाई करते रहे और फिर हमने पोज़ को नेचुरल तरीके से आसान बना लिया. उस रात पढ़ने के बाद मैं अपने रूम में आ गया और मानो मेरे दिल दिमाग पर सिर्फ मनीषा ही मनीषा दिखाई दे रही थी.

फिर ठाकुर को फोन लगाया कि ठाकुर भाई हम लोग वन्द्या का ऊपर ऊपर से थोड़ा टेस्ट ले रहे हैं.

धीरे धीरे मनीष अपने हाथ पीठ से होते हुए नीचे बूब्स की मालिश करने लगा. जिनका मकान है वे मुझे बोले- तुम बस मेरी बात मानो और चाहे तो अपनी आंखें बंद कर लो और चुपचाप लेट जाओ.

अब मैंने उसे अपने ऊपर बुलाया तो वो मेरे मुँह पर अपनी चूत खोल कर 69 में बैठ गयी और मेरा लंड चूसने लगी. मैं यह सब देखकर चौंक गया और समझ गया कि ये आज मम्मी के साथ लेस्बियन करना चाहती हैं. दो मिनट लंड चूसने के बाद मैंने कहा- जीजू मैं बहुत प्यासी हूँ … चूत में खुजली हो रही है.

मेरी नजर केवल नीचे की तरफ लिंग पर थी, मैं देख सकती थी कि लिंग कितना अन्दर जा रहा और कितना बाहर है. बेबी बोली- ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि क्योंकि मैंने अपने अन्दर अभी तक इतना बड़ा नहीं लिया था. आप सोचती हैं … बहुत सोचती हैं, जिससे आपकी आधी ज़िन्दगी अन्दर से बर्बाद है.

बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए एक दिन मेरी छुट्टी वाले दिन रेवती मेरे पास आई और मुझे अपने साथ घर ले गई. हिमांशु बहुत खुला लड़का था, उसने सीधे मुझे लिटा कर मेरी टांग फैला दीं और अपने जीभ मेरी चूत के फांकों के बीच रख कर चाटने लगा और नाक से सूंघने लगा.

सेक्सी व्हिडीओ एचडी हिंदी

ओके?मैंने पप्पू महाराज को दो झटके दिए और कहा- यह बोल रहा है, ठीक है. चाची- तू अपनी सारी लालसा मिटा ले आज मेरी गांड मार मार के मस्त हो जा पर मेरी चूत में उंगली चलाता जा. मैंने एक दो बार उसकी चुत के द्वार में अपनी जीभ को घिसा और फिर अपनी गर्दन उठा कर उसके चेहरे की तरफ देखने लगा.

ज़िंदगी में मैंने बहुत मोमे दबाए थे, पर उस जैसा कसाव किसी में भी नहीं था. विक्रम- बिल्कुल…अशोक- रुको… अब चूंकि सबकुछ सामने आ ही चुका है, तो मुझे नहीं लगता कि कपड़ों को पहन कर रखने की जरूरत है. इंडियन सेक्सी इंडियन सेक्सी पिक्चरदेखो किस तरह से तुम्हारा सीना धड़क रहा है, तेरे दूध ऊपर नीचे हो रहे हैं.

सच में मुझे बेहद दर्द हो रहा था, अपने आप ही मैंने अपनी आंखें खोल दीं.

मैंने देखा कि उनकी साड़ी का पल्लू गिरा हुआ है और उनकी साँसें तेज़ चल रही थीं. उनका लंड मेरी बच्चेदानी में जा कर टकराने लगा, तो मेरा मुँह खुल रह गया था.

तब मैंने अपने हाथों को पूजा के पीठ पर ले जाकर पहले उसकी पीठ को सहलाया और उसके चूतड़ों को सहलाना शुरू कर दिया. वो कसकर मेरे होंठों को इस कदर चूसने लगी थीं, जैसे मेरे होंठों को वे पूरा खा जाएंगी. वो कहानी सारी उसने मुझको दूसरे दिन बताई, जो मैं आपको अगली बार बताऊंगा.

चलो लंड की सुविधा नहीं थी लेकिन क्या हस्तमैथुन से भी परहेज था?”क्लिटरिस हुड को रगड़ के मजा ले लेती थी.

एक दिन रात को सब लोग सो गए थे तो मैं और चिराग हम दोनों लोग अकेले में एक दूसरे से बात कर रहे थे. थोड़ी देर बाद रेवती बोली- बुरा मान गए क्या सरस?मैंने कहा- नहीं, बुरा मानने वाली कोई बात नहीं थी. फिर वो कभी अपनी चूत की फांकों को सिकोड़ लेती तो कभी ढीला छोड़ देती… कुछ देर ऐसा करने के बाद वो अपनी कमर धीरे धीरे खुद ही ऊपर नीचे करने लगी.

मूवी के सेक्सी सीनजैसे ही मेरी आंखें खुलीं कि तभी वे अंकल मुझसे बोले- वन्द्या तुम्हें कैसा लग रहा है. मैंने भी मीता के कूल्हों को अपने हाथों में थामा और गहरी गोल नाभिकूप पर अपने जलते होंठ रख दिये.

हॉट मॉम सेक्सी

शाम को मीतू दी का मैसेज आया- गजल कैसी लगी?मैं- गजल तो अच्छी थी पर…मीतू- पर क्या?मैं- गजल से ज्यादा तो आपके फोन में वीडियो मस्त थीं. लेकिन मैं डर गया था, मेरी तो गांड फट गयी थी कि अब क्या होगा, अब सबको ये बात पता चल जाएगी. अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैंने तुरंत उसे एक झटके में खुद से अलग करके उसको घोड़ी बनने को बोला, लेकिन वह घोड़ी बनने को तैयार नहीं हुई क्योंकि उसे दूसरी पोजीशन में चुदवाना था.

दोस्तो, इसके बाद मैंने किस तरह भाभी को पूरी रात चोद कर अपने लंड का दीवाना बनाया, वो मैं कामवासना से भरपूर अगली गर्म कहानी में बताऊंगा. मैंने भाभी को अपनी तरफ खींच कर बारी बारी से उनकी दोनों आंखों को चूम लिया. मैं हमेशा ही कंडोम का इस्तेमाल करता हूँ जिस वजह से ‘कहीं कंडोम निकल ना जाए’ इस बात पर ध्यान जाता है और इस वजह से चुदाई भी थोड़ा ज़्यादा देर चलती है.

लगभग दस मिनट मैंने उन्हें और चूसा चाटा और फिर एकदम से मैं नीचे की ओर बढ़ने लगा. मैंने सुना है कि तेरे पापा ने तेरी मम्मी को दो तीन बार रंगे हाथों पकड़ा है. मैंने भी देर ना करते हुए अपने दोनों हाथों से उन्हें थाम लिया और सीधा ही अपने प्यासे होंठों को उनकी चूचियों की नंगी घाटी के बीच में लगा दिया.

अब मैं मन ही मन बोल रहा था कि बस जल्दी से मॉम के लेक्चर खत्म हो जाएं और मैं बहन को खरी खोटी सुनाऊं. तभी नीरू ने पायल की सलवार में हाथ डाल दिया और उसकी चूत में उंगली डाल कर बाहर निकाल कर मुझे दिखाते हुए बोली- अरे जीजू, देखो इसकी बुर पूरा पानी छोड़ चुकी है, यह तो पूरे मजे ले रही है.

मेरी गर्म कहानी के पहले भागगांव की रिश्ते की साली को चोदा-1में आपने पढ़ा कि मेरी साली हमारे घर आयी हुई थी.

थोड़ी देर मजे लेने के बाद हमने दुबारा अपनी पोजीशन संभाल ली और चुदाई बदस्तूर चालू रखी. गंदी बातें सेक्सी वीडियोमैं कुछ समझा नहीं क्योंकि वो लड़की दीदी के ससुराल पक्ष की सहेली थी, जो भइया की शादी में आयी थी. मोटी लुगाई की सेक्सी वीडियो फिल्मचाची- दीदी कोई रंडी हैं, जो कहते ही अपनी चूत फैला कर तुमसे चुदवाने आ जाएंगी. यह सुनते ही मेरी चूत से झरने का बहना शुरू हो गया और मैंने कहा- आओ मेरे पति देव.

हम दोनों का लंड जब एक साथ उसकी चूत में पूरा घुसता तो सुशीला चिल्लाने लगती.

लेकिन अब जाहिर था कि मुझे उसको इस शर्म के दायरे से बाहर निकालने के लिए अभी और उत्तेजित करना होगा. तो मैंने एक्साइटेड होकर उसकी चुचियों को बाहर निकाला और उसके ऊपर दांत काटा और बोला- हिसाब-किताब बराबर!फिर हम दोनों ने अपने कपड़े ठीक किए और घर के लिए चल दिए।तो दोस्तो, यह थी मेरी पहली चुदाई की स्टोरी! उम्मीद करता हूं कि आप सब को पसंद आएगी. जबरदस्त तरीके से उसकी चुचियों को भीच कर उसकी बुर में धक्के लगाए जा रहा था.

मैं बाथरूम के अन्दर ब्रश कर ही रहा था कि अचानक मेरी नज़र मनीषा की पेंटी पर पड़ी. हम दोनों ने ये सब बहुत देर तक किया और उसके बाद हम दोनों अलग होकर सोने चले गए. शीतल को तो वैसे भी पता था कि अशोक मयूरी को चोद रहा है पर सब के सामने ऐसे व्यव्हार से वो भी विचलित हो रही थी.

धारा 3/25 क्या है

कुछ ही दूर बाद अचानक से एक मोड़ आने पर ऑटो एकदम से टर्न हुई और सामने से भी एक कार के आने से एकदम झटका सा लगा और इसी झटके के चलते मेरा हाथ प्रियंका के स्तन पर चला गया. चूत में लंड घुस जाने की वजह से मैं चीखी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मार डाला … साले बहुत दर्द हो रहा है. लेकिन उसके होंठ मैंने अपने होंठों से बंद करके रखा था, इसलिये उसके चिल्लाने की आवाज मुँह में ही दब गई.

मैं अपनी मौसी के बेटे चिराग अलावा भी अपने एक ब्वॉयफ्रेंड से चुदवाती थी.

” मैंने जोश जोश में उसके लोवर व पेंटी को थोड़ा जोरों से खींचते हुए कहा.

उनके जाने के बाद अगले दिन नीरू का फोन मुझे पास आया, उसने कहा- जीजू, मेरी बात पायल से हो गई है, वह तैयार है लेकिन शर्मा बहुत रही है, बोल रही है कि मैं उनकी पत्नी के सामने कैसे करवा पाऊंगी. उनके चेहरे पर अजीब सा दर्द छाया हुआ था और आंटी एकदम मासूम लग रही थीं. सेक्सी वीडियो हिंदी भाभी देवर”मैंने उसकी शर्ट खोल दी और उसके लोअर को खींच घुटनों तक सरकाते हुए खुद भी नीचे बैठ गई.

नीरू ने मुझको बताया- मैं कल बाजार से इसके लिए नई ब्रा और पेंटी लाई थी, बतलाओ कैसी लग रही है?मैंने कहा- अरे बहुत मस्त लग रही है!दोस्तो, सही बतलाऊं तो पायल बला की खूबसूरत लग रही थी … वह इस समय केवल ब्रा और पेंटी में ही थी. मेरा नाम आर्यन कुमार है, उम्र 28 साल है, मैं मुंबई का रहने वाला हूँ. नशे में धुत प्रीतम ने एक एक करके मेरे कपड़े उतारे और मेरी जवानी देख प्रीतम भी आपा खो बैठा.

दो तीन मिनट तक तो मैं ऐसे ही सुनता रहा, मैंने सोचा कि कमरे का दरवाजा खुलवाऊँ या नहीं! फिर मैंने सोचा कि चलो जो होगा देखा जायेगा, शायद मेरा काम भी बन जाये।मैंने दरवाजा खटखटाया तो अन्दर से आवाज़ आनी बन्द हो गई. फिर मैं पैंटी लाइन से चूमता हुआ उसकी जांघों को अंदर चूमने लगा और हल्का सा कहीं काट भी लेता, इससे नीता की आवाज़ और ज़ोर से निकलती।फिर मैंने धीरे धीरे उसकी पैंटी उतार दी और जो मेरे को देखने को मिला उसे देख कर मेरी आँखें खुली रह गयी। एकदम दूधिया रंग गोरी चूत और बाल का तो नामोनिशान भी नहीं। जब एक मिनट तक मैंने कोई हरकत नहीं की तो नीता ने आँखें खोल के देखा.

सर ने मुझे बांहों में कस लिया और अपनी आखिरी बूंद तक लंड को मेरी चूत में झाड़ते रहे.

वो दोनों बोले कि ऐसा नहीं होगा, ठाकुर साहब ने हम दोनों को बोला है, हम यहीं सोएंगे. कुछ पल के बाद तारा नीचे घुटनों के बल खड़ी होकर चूसने लगी और मुनीर उठ कर मेरी और आने लगी. मन में केवल एक बात थी के इतना बड़ा लिंग मेरी छोटी सी योनि में कैसे जाएगा.

मस्तराम सेक्सी फिल्म मैंने उन्हें उसी पोजीशन में अपने पैरों के ऊपर उनके बेड पर बिठाया और उनके ब्लाउज़ के ऊपर से उनके बूब्स मसलने लगा. सच कहूं मुझे बहुत दर्द हो रहा था, जब वो मेरी चूची दबा रहा था मगर उस दर्द से कहीं ज्यादा मज़ा भी आ रहा था.

थोड़ी देर बात करते करते मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया और उसके हाथ को सहलाने लगा. धर्मेन्द्र- गुड … अब मैं चलूं?मैं- जी, मगर मुझे यहाँ से दस किलोमीटर जाना है, अगर गाड़ी फिर बंद हो गयी तो?धर्मेन्द्र- वैसे तो बंद नहीं होगी अब आपकी गाड़ी, आप किस तरफ जा रही हैं?मैंने अपने घर की उल्टी दिशा के बारे में बता दिया. मेरी प्यारी सफ़ेद गुड़िया मस्त होकर अपने निचले होंठ को चुभलाने लगी और मेरी तरफ देखते हुए बोली- कितना मजा आ रहा है जानेमन! मेरी चुदक्कड़ गांड में दो-दो लंड!! बस ऐसे ही पेले जाओ मेरे पतिदेव!अब तक की चुदाई में मेरी सुन्दर बीवी का छोटा छेद इतना खुल चुका था कि अब मैं आराम से पूरा लंड बाहर निकाल लेने के बाद भी बिना किसी रूकावट के अन्दर घुसेड़ पा रहा था.

double meaning नॉनवेज चुटकुले इन हिंदी

आप मुझे मेल करके बताएँ कि मेरी कहानी कैसी लग रही है?[emailprotected]कहानी जारी है. मेरे मन में तो उस वक्त लडडू फूट रहे थे … फिर भी मैं एकदम सामान्य बना रहा. बेडरूम में आकर पूजा मुझसे लिपट कर बोली- अब क्या इरादा है? वैसे रात के 2.

तो मैं उठा और पूरी ताकत से अपने लंड को पकड़ कर उसकी चुत में डालने लगा. फिर मैं भी धीरे धीरे आहिस्ता आहिस्ता अपने लंड को ऊपर नीचे करने लगा.

मगर खाला ने बताया था कि उसकी सभी जांचें हो चुकी थीं और सभी ठीक ठाक ही रही थीं। उसे किसी तरह की कोई बीमारी नहीं थी.

मैं उसकी बचकानी बात पर हंसने लगी और बोली- ठीक है पी ले जैसी तेरी इच्छा।मेरे हां कहते ही आशू ने मेरे निप्पल चूसना शुरू कर दिया और बारी बारी से वह एक दुधमुंहे की तरह मेरे चूचियों को चूसता रहा, चूची चूसते चूसते कब उसे और मुझे नींद आ गयी, पता ही नहीं चला।अब यही प्रक्रिया लगभग रोज होने लगी, अब आशू को बगैर मेरी चूची चूसे नींद ही नहीं आती थी. शीतल को अपनी गांड और चूत दोनों में एक साथ दर्द हुआ, वो चीख पड़ी- आह… मर गई… तुम्हारा लंड तो बहुत मोटा है कुत्तो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… मुझे बहुत दर्द हो रहा है. क्योंकि दोस्तो, इस औरत के साथ मुझे पैसा, प्यार अपनापन सब मिला, इसलिए ही मैं यह कहानी लिख रहा हूँ.

गर्मियों के दिन थे, ठंडे रूस में भी दिन की गर्मी झुलसाए दिए जा रही थी. हां बगलों के बाल भी पूरी तरह से साफ़ करके पूरी चिकनी चमेली बन कर आना. अब मेरी चूत में सतीश का लंड और गांड में हिमांशु का लंड घुसा हुआ था.

इसके बाद मैंने उनको फिर से नीचे जमीन पर लिटा दिया और उनके ऊपर आ गया.

बीएफ एचडी वीडियो दिखाइए: एकता भाभी ने कहा- रिया यार, ये तेरा गांडू तो बड़ा क्यूट है और इसका तम्बू भी एकदम टाइट हो चुका है. मुझसे कंट्रोल करना मुश्किल हो रहा था लेकिन मैंने फिर भी कुछ देर अपने आपको रोक रखा था.

फिर वापस आकर बेडरूम में आ गया। मैं बिस्तर पर बैठा और उसके पैर को छुआ। मेरा लण्ड खड़ा होने लगा।फिर मैं धीरे-धीरे उसकी नाईटी उठाते हुए ऊपर की तरफ जाने लगा। मैंने उसकी कोमल और भरी हुई जांघों को छुआ. अब मेरी पत्नी ने कहा- पीछे बैठकर इसकी चूत में जीभ से चाटो!मैंने अपनी पत्नी की आज्ञा का पालन करते हुए उसकी चूत को कुत्ते की तरह चाटना शुरू कर दिया. उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया और सरसराते हुए मुझसे बोली- मुझको तो नंगी कर दिया, तुम अपने कपड़े नहीं उतारोगे?मैंने भी मौके का फायदा उठाते हुए कहा- तुम खुद ही नंगा कर दो ना.

किरण जी ने मम्मी को पूरी नंगी करके बिस्तर पर लिटा दिया और उनके चूचों को चूसने लगीं.

इसलिए छोटे छोटे बालों के बीच चुत की हल्की गुलाबी लाईन अलग ही नजर आ रही थी. मैंने सोनाली को कॉल किया, तो उसने दरवाज़ा खोला, गले लग कर उसने मेरा स्वागत किया. मैं उनके ऊपर पूरी तरह से चढ़ गया और लंड चूत में डाल कर, फिर से ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा.