गुजराती एक्स एक्स बीएफ

छवि स्रोत,यानी सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

चूत चुदाई बीएफ हिंदी: गुजराती एक्स एक्स बीएफ, कहानी के पहले भागमामा की बेरुखी से मामी प्यासी रह गयीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं मामी के बुलाने पर उनके कमरे में आ गया था और उनके ही कहने पर मैंने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया था.

सेक्सी ब्लू नंगी वाली

जब तक मेरे लंड की एक एक बूँद नहीं निकल गई तब तक मैंने अपना लंड मुँह से बाहर नहीं निकाला. सेक्सी लंड का वीडियोतभी पिंकू ने मुझे देखते हुए पकड़ लिया और मुस्कुराती हुई बोली- क्या हुआ भैया?मैं बोला- कुछ नहीं ऐसे ही!पिंकू समझ चुकी थी कि भैया क्या देख रहे हैं।अगले दिन सुबह जैसे ही मैं सोकर उठा.

चाची खुश हो गईं और उन्होंने मुझसे कहा- आज से तुम ही मेरे पति हो … मेरे देवता हो. सेक्सी चुदाई वीडियो इंग्लिश मेंवो पहले तो कुछ नहीं बोली, फिर एक मिनट बाद बोली- जैसा सारे दिन मोबाइल में देखेगा, वही तो सपने में करेगा.

करिश्मा ने मुझे गुड मॉर्निंग विश करते हुए किस किया और पूछा- नींद कैसी आई?मैंने जवाब दिया कि ऐसा लगा कि मैं जन्नत में हूँ और एक हूर मेरे साथ है.गुजराती एक्स एक्स बीएफ: उसे अब अकेलापन बहुत सता रहा था और छुट्टी वाला दिन तो जैसे उसे काटने को दौड़ता था.

यूँ तो मोहिनी ने कभी भी किसी मर्द को अपने पास फटकने तक नहीं दिया था, पर ये भी सच है कि शरीर की भी अपनी जरूरतें होती हैं.मेरे सामने खड़े होकर उसने अपने कपड़े पहने और मुझे रुकने का इशारा करके वो झट से कमरे के बाहर चली गयी.

बीपी सेक्सी वीडियो राजस्थान - गुजराती एक्स एक्स बीएफ

कुछ देर बाद उन्होंने पीछे हाथ करके मेरे लौड़े को हाथ में पकड़ा और सहलाने लगीं.दोनों के पति उनको चुदाई का मजा नहीं ड़े पाते तो उन्होंने गैर मर्दों के लंड लेने शुरू किये.

कुछ धक्कों के बाद में उसका दर्द भी शायद काफूर हो गया था क्योंकि उसने भी अपनी गांड उठाकर धक्का देना शुरू कर दिया था. गुजराती एक्स एक्स बीएफ उस समय मैं समय की नजाकत को देखते हुए चुप हो गया और मैंने सॉरी बोल दिया.

मैं निराश हो गया क्योंकि मम्मी ऐसे वक्त पर पापा को निमंत्रण देती थीं कि आप पहले मुझे अच्छे से चोद लो, फिर कोई काम करना.

गुजराती एक्स एक्स बीएफ?

उसके साथ दारू पीने का प्रोग्राम बन गया था, अब उसकी चुदाई होनी बाकी थी. मेरा लंड पूरा लाल हो चुका था, मैं बोला- पिंकू आज तुझे जिंदगी का मजा मिलने वाला है बस 1 मिनट रुक!इतना कहकर मैं जल्दी से तेल की शीशी ले आया और थोड़ा सा तेल उसकी चूत और अपने लंड पर लगा दिया।मैंने उससे पूछा- तूने इससे पहले किसी से चुदवाया है?तो उसने मना कर दिया. गोवा की गर्मी के कारण मैं सिर्फ कच्छे में सो रहा था, बाकी पूरा बदन नंगा देख कर रीना की नज़र मेरे बदन पर घूमने लगी.

अब शीरीं, फ़ज़लू मियां की बेगम बनकर उसके लंड को खुश रखने में लग गई थी. कार चालक भी नीचे उतर आया, वो एक खूबसूरत नौजवान था, अच्छी पर्सनालिटी का मालिक था. इस तरह से उस दिन सनी की हमने बहुत ली और बहुत खिंचाई भी की, जिसका हर्जाना मुझे ही भुगतना पड़ा.

तो मैं भी मुस्कुरा कर देखने लगा।उसने फोन काट दिया और बोली- आपको नींद नहीं आ रही क्या?मैंने कहा- नींद तो आपको भी नहीं आ रही।फिर हमारी बातें होने लगी. बहुत देर से वो साली हम मर्दों को रेशमा का बदन भोगते हुए देख रही थी. वह घोड़ी बन गई और बोली- राज, अब मुझे जमकर चोद डालो प्लीज़!मैंने उसकी कमर पकड़कर पूरा लौड़ा अन्दर तक घुसा दिया और झटके लगाने लगा।अब धीरे धीरे वो भी अपनी गांड आगे पीछे करके ट्रेन सेक्स में मस्ती से चिल्ला रही थी- हहह आआह हहह उह हहह … ऐसे ही चोदो मुझे और और चोदो आहह आहह मजा आ रहा है!मैंने कहा- नाजिया, आवाज मत करो.

फिर अब मैं दुबला पतला, सूखा सा माशूक लौंडा भी नहीं रहा कि जिसका जब चाहे मन करे, पकड़ कर पेल दे, उस तरह के माशूक लौंडों की राजी हो या नहीं, ले जाकर पेल देने वाली बात खत्म हो गई. दोस्तो, इसके आगे कहानी में क्या हुआ ये जानिए कहानी के अगले भाग में.

शालिनी- जीजू, दीदी के बूब्स कितने बड़े हैं, मुझसे तो बहुत बड़े है … और गांड भी बहुत बड़ी है.

पोर्न स्टूडेंट सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने जिस्म की आग बुझाने के लिए अपने टीचर को अपना जिस्म दिखाकर गर्म किया, फिर उसके साथ लंड चूत चूसने का खेल खेला.

रंडी के घर में जाने से पहले मैंने मुँह पर रूमाल रख लिया ताकि कोई हमें पहचान ना पाए. भैया ने मुझे उसी कमरे ने पड़े एक तख्त पर पीठ के बल सीधा लिटा दिया और मेरी दोनों टांगों को चीर कर मेरी बुर खोल कर देखने लगे. राज मैं मर जाउंगी ऊईई ऊईईई बचाओ मर गई मम्मी बचाओ मर गई … मर गई बचाओ.

उन दीदी ने मुझे ये भी बताया कि उनकी कोई सहेली है, जो अपने सगे भाई के साथ सेक्स करती है. इतने में ही वेटर हमारे खाने को लेकर वहां आ गया और उसने मुझे नग्न देख लिया. जब रेखा बुआ कमरे में आई तो उस समय मैं सिर्फ शॉर्ट्स पहनकर एक्सरसाइज कर रहा था.

मैं फिर भी गिड़गिड़ाते हुए बोला- प्लीज ऑन्टी, मम्मी को कुछ मत बताना!यह कहते हुए मैं बाथरूम में गया और मुँह धोकर आया और उनके सामने सहम कर बैठ गया.

अन्दर आते ही मोहिनी ने जिम वाली टॉवल को एक तरफ फेंका और अर्णव को बैठने के लिए बोल कर कॉफ़ी बनाने चली गयी. नमस्ते दोस्तो, मैं आपकी अपनी अंजलि भाभी, जामनगर, गुजरात से हूं।उम्र 32 साल एक घरेलू महिला हूं लेकिन हूं बिल्कुल ठरकी। मुझे हर बार एक नया लन्ड चाहिए होता है।मैंने अपनी सारी इंट्रो पहली कहानी में दे दी थी।मेरी पहली कहानीबुर की सील की डील टीचर सेआपने पढ़ी होगी।उसमें मैंने बताया था कि कैसे मैं एक कमसिन लड़की अपनी मॉम का ठरकपन देखते हुए बड़ी हो रही थी।यह Xxx माँ बेटी सेक्स कहानी बहुत समय पहले की है. अब मैं भी उसी स्टोरी की तरह अपने भाई का टेस्ट लेने की कोशिश करने लगी और उस स्टोरी में बताई गई बातों को फॉलो करने लगी.

वो मेरे दूध दबाते हुए मुझे ब्लाउज पहना रहे थे और मुझे चूम भी रहे थे. भैया ने मुझे चूमते हुए मुझे उसी सोफे पर लिटा दिया और मेरी दोनों टांगों को फैला दिया. ये मेरे लिए पहला अहसास था, जब मैं किसी की चूचियों को मेरी पीठ में महसूस कर रहा था.

घर ना आने को क्यों मना किया है?मैं शाम को ब्रांच से थोड़ा जल्दी निकला और सिरमौर पहुंच गया.

ब्रांच पहुंच कर अपने जरूरी काम करके मैंने उसके मैसेज पढ़े, तो उसमें लिखा था कि राज तुम कल रात मेरे साथ बहुत कुछ कर सकते थे, लेकिन तुमने अपनी दोस्ती निभाई है. अब उसके दिमाग में सिर्फ अपनी मॉम का नंगा जिस्म घूम रहा था, उसे बार बार वही सब याद आ रहा था.

गुजराती एक्स एक्स बीएफ फिर अर्णव ने पैंटी की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसाईं और जरा सा खिसका कर मोहिनी की चूत के पास चूम लिया. मैं दिन भर सोचता रहा कि कैसे मैं रेशमा को अपने जाल में खींचू और उसके बदन का मजा ले सकूं.

गुजराती एक्स एक्स बीएफ उसके अन्दर सच में किसी औरत या लड़की को नंगी देखने की इच्छा तीव्र होने लगी, पर वो किसको देखे. दरअसल हल्की हल्की ठंड पड़ रही थी तो मेरी इस हलचल से मेरी आंख खुल गयी.

अर्णव भी फ्रेश होकर किचन में आ गया और पीछे से मोहिनी को अपनी बांहों में भर लिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ फुल मूवी

सोनी भी GF BF Xxx वीडियोज़ देखने के लिए लालायित रहती और अगर उसे भी वीडियोज़ वाला आसन पसंद आता तो हम भी वही आसान सेक्स के टाइम आजमाते. उनके जाने के दो दिन बाद मेरे घर का पाइप टूट गया, मेरे पूरे बाथरूम से पानी बाहर निकलने लगा. मुझे भी जानना था कि रीना और पॉल को किस तरह का सेक्स पसंद है और शायद उन दोनों को भी ये जानने की जल्दी थी कि मेरी कामवासना का जहाज कहां तक जा सकता है.

पहले तो मुझे अपने लिए खुद कुछ करना था और दूसरी बात मेरे पापा के रिश्तेदारों से एक पुणे में रहते थे और उनका एक फ्लैट भी था, जो खाली था. उसने धक्का लगाया तो चूत गीली होने से उसके लंड का सुपारा मेरी चूत में आसानी से घुस गया. किरण ने मुँह खोलकर अपनी चूत के रस से भीगा मेरा लौड़ा अपनी जुबान से चाटकर साफ कर दिया और फिर से आंखें बंद करके लेटने लगी.

उसके बाद मैं मां के साथ रजाई में घुस गया और सिर्फ अंडरवियर में लेट गया.

तो मम्मी ने कहा- बेटा, तुम थोड़ी देर बाहर खेलो, मुझे अंकल से कुछ बहुत जरूरी काम है।मुझे थोड़ा गुस्सा आया तो थोड़ी देर दरवाजे पर हाथ मार के मम्मी को आवाज लगाता रहा. वो सोचने लगी कि क्या वो सचमुच इतनी खूबसूरत और सेक्सी है कि अर्णव, जो उससे उम्र में काफी छोटा भी है और हैंडसम भी है, उसे पाने के लिए पागल हो जाएगा. फिर मैंने अपने दोनों हाथ उसकी गांड के नीचे डालकर उसकी गोरी, मांसल गाड को थमा और उसे मसलने लगा; साथ में अपनी उंगलियों से उसकी गांड के छेद को सहलाने लगा.

फिर उसने मेरा पैंट खींच कर उतारा और चड्डी पर ही मेरा लंड मसलने लगी. हमारे मकान की उसी दीवार पर बैठी बैठी मैं उस लड़के के बारे में सोच रही थी. पोर्न भाभी चुदाई का मजा मेरी पत्नी ने ही दिलवाया अपने मायके में! मेरे साले में शुक्राणु की कमी से भाभी को गर्भ नहीं ठहर रहा था तो उसने मेरे वीर्य से गर्भवती होने की सोची.

तुम्हारे इस मोटे लंड का चिकना सुपारा मेरी चूत और गांड के छेद पर रगड़ खा रहा है. तभी उसने मुझसे पूछा- क्या हुआ अनुष्का … क्या सोच रही हो?मैं बोली- कुछ नहीं भाई, बस यही सोच रही थी कि कितना मजा आ रहा है.

उसे पहले तो यकीन ही नहीं हुआ, पर जब मैंने उससे कहा तो उसने अपने घर की पहचान वगैरह बताई. पर सोनी ये सोच कर टेंशन में थी कि उसकी बुर से खून क्यों नहीं निकला या मैं क्या सोचूंगा उसके बारे में?वो बार बार मुझे विश्वास दिलाने की कोशिश करने लगी कि ये उसका पहली बार है. वो हंसी और बोली- क्या हुआ … डर गए क्या?मैंने उससे पूछ लिया कि तुम ऐसे खतरनाक नजर से देखोगी भौजी तो मैं तो डर ही जाऊंगा.

जेठानी (नंदा) ने तत्काल मुझे फोन लगाया और विस्तृत जानकारी लेकर बोली- मुझे लड़का देखना है.

मैंने होटल वहां पहले ही बुक कर लिया था तो सुबह 11 बजे करीब में होटल पहुंच गया और चेक-इन कर लिया. भाभी बोलीं- वो सब छोड़ो … अब तुम एक बार अपना मूसल बाहर निकालो, पर पूरा नहीं निकालना. मामी कहने लगीं- आशु अब और ना तड़पाओ … जल्दी से चोद दो मुझे … अपने लंड से फाड़ दो मेरी चूत को … मुझे अपना बना लो.

मुझे इस समय ढेरों कहानियां मिल रही हैं लेकिन ज्यादातर कहानियां पढ़ने से ही पता चल जाती हैं कि ये बनाई हुई हैं. पिंकू, तू अब बड़ी हो गई है, तेरा मन ही करता होगा कि तेरी कोई चुदाई कर दे।पिंकू बोली- भैया आप क्या बोल रहे हो, यह सब गलत है.

जब मैं उन्हें पेल रहा था तो वो मेरी गांड को जोर जोर से दबा कर ‘हूँ आंह …’ कर रही थी. इसमें भी आगे से काफी गहरा गला था, जिसमें से मेरी चूचियों का आकार साफ नजर आ रहा था. [emailprotected]फर्स्ट किस की कहानी का अगला भाग:प्यार का इकरार और तन का मिलन- 2.

बीएफ लंड बुर वाली

अंदर का नजारा देखकर मुझे लगा मानो मैं स्वर्ग में पहुंच गया हूं और मेरे सामने एक खूबसूरत अप्सरा बिना कपड़ों में है।मैंने देखा पिंकू बिना कपड़ों में बिस्तर पर लेटी हुई है, मस्ती से पोर्न वीडियो देख रही है, कभी वह अपने जन्नत नुमा बूब्स को मसल रही है तो कभी अपने दांतों से अपने रसीले होठों को काट रही है.

नीता- हर्षद ये तुम्हारा तगड़ा लंड थोड़ी देर अन्दर ही रहने दो, मुझे बहुत मजा आ रहा है. मैंने उसे समझाया कि आज भले चुदाई नहीं हो, पर बाहर से तो चूत का मज़ा लेने दो. अब उसने कहा- जीजू, एक एक पैग और बनाओ यार … नशे की मां चुद गई है … साली दारू उतर गई.

मैंने चूत की फांकों के बीच सुपारा सैट किया और एक दमदार झटके के साथ अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया. वो सीढ़ी पर खड़ी थी और मैं बाथरूम में नंगा नहा रहा था और अपना लंड सहला रहा था. hot सेक्सी पोर्नअब हमें बस लॉज या होटल में जाने के लिए एक बहाने की जरूरत होती और जैसे ही हमें मौका या बहाना मिलता, हम पहुंच जाते.

मेरे उत्तर न देने पर वो मेरे कमरे की ओर आ गईं और उन्होंने मुझे लंड हिलाते हुए देख लिया. जैसे तैसे मैंने अपना खाना खाया और मुंबई जाने की तैयारी करके सो गया.

फिर मैं उसके दूध को छोड़कर उसे चूमते हुए नीचे की तरफ आने लगा, उसके पेट नाभि को चूमते हुए मैं उसकी चूत तक आ गया. राकेश का दरी पट्टी समेट कर रखने का नंबर बर्थडे वाले दिन से दो दिन बाद आने वाला था. गर्मी का समय था तो मैं सुबह जल्दी नहाकर आराम से कूलर की हवा में लेटा फ़ोन पर गेम्स खेल रहा था.

उस दिन की चुदाई के बाद मैंने उसे और कई बार कई तरह से चोदा और चुदाई के मज़े लिए. आज तेरी सारी प्यास बुझा दूंगा बस ये फालतू की बात करने की बजाए कुछ मूड बना जान. अगर तुम चाहो, तो मेरे घर आ जाओ, हम दोनों ड्रिंक यहीं ले लेंगे और डिनर आर्डर कर देंगे.

जैसे ही उसने मुझे गले से लगाया, उसके जिस्म की खुशबू नाक में उतर कर दिमाग में छा गई.

कहानी के दूसरे भागकोचिंग सर ने मेरी चूत मार लीमें अब तक आपने पढ़ा था कि कोचिंग का कर्मचारी भोलू मुझे चोदना चाहता था और मुझे भी एक नए लंड का स्वाद लेने का मन था. इसके बाद समीर भैया मेरे दर्द को कम करने के लिए मेरे होंठों को और चूचियों को चूसते और दबाते रहे.

मैंने उनको धन्यवाद कहा तो प्रतिउत्तर में उन्होंने एक दिलकश मुस्कान दे दी. ये लड़का मेरी कॉलेज लाइफ से ही मेरा ब्वॉयफ्रेंड रहा था जो मेरा सीनियर भी था. और मुझे सलीम को मज़ा ही तो दिलाना था ताकि वो जल्द से जल्द झड़ जाए।पर मेरी फूटी किस्मत … गले तक डालते ही उसकी नींद टूट गई.

राजीव बोला- एक काम करेगा?सनी बोला- क्या?राजीव- अपना लंड दिखाएगा?ये सुनकर सनी चौंक गया और बोला- क्या … मेरा लंड क्यों देखना है?राजीव बोला- साले साहब गलत मत सोचो. देखने वाले के मन में उस समय यही आएगा कि काश एक बार ऐसी औरत चोदने को मिल जाए तो मज़ा आ जाए. मैंने एक हाथ धीरे से उसकी जींस के पीछे से उसकी पैंटी में डाल दिया और उसकी गांड दबाने लगा.

गुजराती एक्स एक्स बीएफ मैंने रीमा को अपनी तरफ थोड़ा खींच लिया जिससे मेरा लंड रीमा की गांड के बीच में घुस गया. फिर उसने मेरा पैंट खींच कर उतारा और चड्डी पर ही मेरा लंड मसलने लगी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मिया खलीफा

मेरे पापा का चक्कर इस वाली माँ से चल गया तो पापा ने मेरी सगी माँ को छोड़ दिया था और इससे शादी कर ली थी. मैं बोली- बदमाश कहीं के … और कितना चोदोगे … थकते नहीं हो क्या?मंयक बोला- तेरी जैसी माल को देखकर लोगों की थकावट दूर हो जाती है. जैसे ही मैंने उसकी टांगों के जोड़ को देखा तो उसका लौड़ा खड़ा हो चुका था और उस वक्त उसकी साइज़ साफ़ साफ़ समझ आ रही थी.

मैंने अदिति से दो तीन बार पूछा भी- क्या बात है अदिति, तुम बहुत उदास रहती हो? तुम्हारी तबियत तो ठीक है ना?वो बोली- मैं ठीक हूँ … मुझे क्या हुआ है. उसने मेरी शर्ट उतारी और मेरे छाती पर किस करने लगी, मेरे निप्पल चूसने लगी. जागरण वाली सेक्सीरंडी के घर में जाने से पहले मैंने मुँह पर रूमाल रख लिया ताकि कोई हमें पहचान ना पाए.

थोड़ी बहुत खेती है और बच्चों की क्लास लेकर और लड़कियों की सिलाई क्लास लेकर मैं अपने पैरों पर खड़ी हूँ.

भैया ने अपनी तोप को मेरी बारूदी सुरंग के सामने लाकर सैट किया और एक फायर कर दिया. रेशमा को फिर से बांहों में भरते मैंने उससे पूछा- तुम्हारे घर वाले तो मान जाएंगे न? पहले उनसे बात कर लो … फिर आगे का प्लान करते हैं.

राजीव को देखकर सनी हंसते हुए बोला- अच्छा तो जीजू को साथ लेकर आई हो. दिन भर कंपनियों का चक्कर लगाता और रात को इंटरनेट के सहारे नई नई कंपनियों की वेबसाइट पर अपना बॉयोडाटा भेजता. मैं तो यहां पूरा प्लान करके बैठी थी कि वह आएगा और मुझे ठोक कर मेरी चुदास पूरी तरह से मिटा देगा.

फिर मोहिनी अर्णव के नीचे की तरफ आयी और उसकी जींस के बटन खोल कर जींस को उसकी टांगों से आज़ाद कर दिया.

उस समय मेरा भाई मेरे मुँह को पकड़ कर मेरे मुँह में ही धक्के लगाने लगा. आज फ़ज़लू मियां को नशा चढ़ रहा था, जो शीरीं की उम्र और हुस्न को देखकर बढ़ता जा रहा था. ज्योति एकदम गोरी माल लौंडिया थी, उसके भरे हुए मम्मों के गुलाबी निप्पल देख कर मुझे बेहद सनसनी हो रही थी.

इंग्लिश में सेक्सी बताइएमेरी मम्मी पापा से ही खूब चुदवाती हैं और पापा को भी खूब मस्ती के साथ चोद चोद कर बेहाल कर देती हैं क्योंकि दस में से आठ बार तो मम्मी ही पापा को चुदाई के लिए निमंत्रण देती थीं. ये बात तब की है जब ठंड के दिनों में रूमी कुछ दिन के लिए हमारे घर रहने के लिए आई थी.

मराठी मराठी बीएफ सेक्सी

इस पर ईशा ने मना कर दिया और बोली कि सोना किसने है, बातें करेंगे, मूवी देखेंगे. मुझे चूमना रोकते हुए रीना पॉल को देख कर बोली- वहां क्या अपनी मां चुदा रहा है … आ जा मेरा मूत पीने भोसड़ी के. शायद पाटिल जी को गांड चुदाई में कम मजा आता होगा इसीलिए इस रंडी की गांड कम चुदी थी.

वैसे उसकी चूत की मस्त चुदाई के दौरान मेरे लंड को कस कर पकड़ने के कारण कुछ क्षणों में भी स्खलित होने वाला था. कुछ मिनट बाद चाची चिल्लाती हुई बोलीं- जोर से चाट साले … आहफिर अगले ही पल चाची अपनी चूत मेरे मुँह पर दबाती हुई बोलीं- आंह … मैं झड़ रही हूँ. अदिति झूठा विरोध करती हुई बोली- ये क्या कर रहे हो हर्षद!मैंने उसकी ब्रा और पैंटी भी निकाल दी.

मैं अपनी चूत को समझाने लगी कि साली रंडी जरा तसल्ली रख ले … तेरा पानी मेरा ब्वॉयफ्रेंड रोहित जल्दी ही मेरे ऊपर चढ़ कर जल्दी-जल्दी ठोक कर निकालने वाला है. मैंने भी खुश होते हुए अपना बदला पूरा करने के लिए लौड़े को थोड़ा सा पीछे करते हुए जोर का धक्का आगे की तरफ दे दिया. उसका भरा हुआ बदन दबाकर जो मजा मिला दोस्तो, वो शब्दों में कहना नामुमकिन है.

उसने फिर से अपना लंड सैट किया और इस बार एक हाथ से लंड पकड़ कर दाब दी. तभी रीना ने अपना नकली लंड पॉल की गांड से निकाला और पॉल के मुँह की तरफ आकर उसने इशारा किया.

वैसे मैंने कहीं पढ़ा था कि पहली बार चुदाई के दौरान खून निकलना जरूरी नहीं है.

जैसे ही वो चीखने को हुई, मैंने तुरंत ही उसके होंठों को अपने होंठों की गिरफ्त में ले लिया. रोमांटिक सेक्सी विडियो हिंदी मेंफिर जैसे ही मैं पेशाब करके उठी और बाहर निकल कर आ ही रही थी कि मेरा पैर फिसल गया और मैं जोर से चिल्ला पड़ी. नई सेक्सी हिंदी मूवीकुछ देर बाद उन्होंने पीछे हाथ करके मेरे लौड़े को हाथ में पकड़ा और सहलाने लगीं. मेरे अन्दर इतना रोमांच भर गया था कि दो उंगलियां मेरी चूत में, दो उंगलियां मेरी गांड में थीं.

उसने भी मेरी अंडरवियर में हाथ डालकर मेरा लंड सहलाना शुरू कर दिया।फिर दोनों पूरे नंगे हो गए और मैं उसके ऊपर आकर चूत में लंड रगड़ने लगा।मैंने उसके होंठों पर होंठ रखकर जोर का धक्का लगाया.

थोड़ी देर में वो मेरे ऊपर से उठा और उसका लौड़ा मेरी गांड से बाहर निकल कर लटक गया. मैंने ब्लाउज के एक हिस्से को ऊंचा करके एक दूध को बाहर निकाला और उसको अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. मैं भी अपना गुस्सा निकालने के लिए किरण को जोर जोर से चोदने लगा और साथ से उसकी गांड का छेद मेरे अंगूठे से कुरेदने लगा.

मैं पीठ खुजाते खुजाते साड़ी के ऊपर से उनकी गांड को छू देता तो कभी बूब्स को. मैं सीधी हो गई और दोनों टांगों को फैला कर पापा के सामने चूत खोल दी. धीरे-धीरे दो उंगली … फिर मैंने अपने लंड को तेल में भिगोकर उसकी गांड में घुसाने की कोशिश की.

देसी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज में

रानू दीदी नाग देवता के जहर जैसे प्रसाद को भी रसमलाई की तरह चखे जा रही थी. जब सूर्य उदय हो गया, तब वो बोली- मेरी दो बेटियां के लिए तुमसे अच्छा कोई मर्द नहीं मिल सकता. पापा- अरे वाह भाभी, क्या बात है … आपकी साइज़ तो मेरी बीवी से काफ़ी बड़ी हो गयी है.

वो सोचने लगी कि क्या वो सचमुच इतनी खूबसूरत और सेक्सी है कि अर्णव, जो उससे उम्र में काफी छोटा भी है और हैंडसम भी है, उसे पाने के लिए पागल हो जाएगा.

पॉल भी पूरी कामुकता से अपनी बीवी के मुँह से टपकता मेरा वीर्य खाने लगा और इधर उसकी बीवी रीना फिर से मेरे लौड़े पर लगा वीर्य चाटने लगी.

चूंकि उसने अपने लंड में तेल लगाया था इसलिए गांड में आसानी से लंड चला गया. सबसे बातें करने के बाद जब मैं रागिनी के कमरे में पहुंचा तो रागिनी मेरा ही रास्ता देख रही थी. सेक्सी गुजराती भाषा मेंमैंने मोबाइल में अपनी कुछ हॉट तस्वीर रखी थीं, जैसे ब्रा और पैंटी में.

मैंने उनसे कहा- अबे हिजड़ों तुम लोगों को शर्म नहीं है क्या कि तुम तीनों क्या कर रहे हो? मैं यहां पर अपने रूम में अकेली हूं और तुम तीनों यहां पर आकर मेरा साथ क्या करने की कोशिश कर रहे हो? मैं अभी ही पुलिस को बुला दूंगी और तुम तीनों को भी जेल में भरवा दूंगी. ऐसी घमासान चुदाई के चलते अब मेरा लौड़ा रीना के बच्चेदानी पर वार करने लगा और रीना इस घाव से बच नहीं सकी. अब फ़ज़लू मियां शीरीं के अलावा किसी और की तरफ देखने की इच्छा भी नहीं करता क्योंकि जब घर में गोश्त मिल जाए तो बाहर की दाल सब्जी किसको पसंद आएगी.

सुनीता की आवाज आई तो मैंने उसे ऊपर से झांका और उसके साथ मनु को आया देख कर खुश हो गया. अब यहीं पर बात करनी है या जिस काम के लिए बुलाया है, वो भी करना है?मैंने उससे कहा- सुहानी तुम्हारी बात सही है, पर यार पहले मैं नहाऊंगा, फिर खाना खाऊंगा.

हॉट इंडियन गर्ल सेक्स का मजा मुझे तब मिला जब मेरे किराये के कमरे में पास में रहने वाली लड़की ने पहल करके कमरे में आकर चूत चुदवा ली.

वो उसकी सुंदरता और उसकी मदहोश कर देने वाली फिगर के बारे में ही सोच रहा था. यहां मैं आप सबको बता दूं कि आकाश की पिछले साल ही रसिका से शादी हुई थी. जैसे ही पापा ने मम्मी के चूतड़ को अपनी ओर खींचा और मम्मी ने अपनी टांग उठा कर पापा की कमर पर रख दी.

अमेरिका सेक्सी वीडियो दिखाओ मरद बन गया है तू!वह बोला- हां मामी जान, मरद तो मैं वाकई बन गया हूँ. जब मैं घर पर रहता था और वो काम करती रहती, तो मेरी नजर उसके बड़े बड़े उछलते दूध और मटकती हुई गांड पर ही टिकी रहती थी.

मैं बस देखना चाहता हूँ कि तेरा लंड कितना बड़ा है?सनी मान गया और उसने अपना लंड बाहर निकाल दिया जो अभी मुरझाया हुआ था. सोनी फिर से मेरे और शिल्पा के बारे में सोच कर असहज होने लगी थी और बात बात पर मुझ पर कटाक्ष करती और कहती- सेक्स करने के लिए टाइम है तुम्हारे पास … और ऐसे मिलने के लिए टाइम नहीं है. मैं अगली कहानी में बताऊंगा कि क्या मेरे भांजी और भांजे ने मुझे अपना पापा माना या नहीं.

सेक्स बीएफ वीडियो ब्लू पिक्चर

मैंने सोनी की टांगों को घुटनों से और चौड़ी कर दीं और उसकी चूतके छेद में अपनी बीच वाली बड़ी उंगली डाली. मैंने अपनी जैकेट निकालकर नीता को दे दी और उससे कहा- तुम इसे पहन लो. फिर मैंने कोल्डक्रीम लेकर अपने लंड के सुपारे पर और थोड़ी सी क्रीम उसकी चूत में लगा दी.

अब मेरे होंठ रानू दीदी के होंठों से ऐसे खेल रहे थे, जैसे वो किसी गैर मर्द के साथ खेलने की अभ्यस्त हो. उनकी पत्नी मिसेस रूचिका भी मेरे पापा और मम्मी को कॉलेज के टाइम से जानती थीं.

इस समय रास्ता पूरा सुनसान हो गया था, तो मैंने अपने पैंट की चैन खोल कर अपना लंड उसके हाथों में दे दिया.

फिर मुझे सीधा करके मेरी चूचियों के बीच की घाटी में अपना मुँह घुसा कर अपनी जीभ फेरने लगे. अर्णव भी फ्रेश होकर किचन में आ गया और पीछे से मोहिनी को अपनी बांहों में भर लिया. पर जैसे ही मैंने लंड अन्दर डालने की कोशिश की, वो आगे खिसक गई और बोली- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- चुदाई.

धीरे धीरे उसने अपने हाथ को ऊपर उठाना शुरू कर दिया और मेरी चूत के चारों ओर घुमाने लगा. तब मुझे अहसास हुआ कि वो यहीं पास में रहता है और दीदी को भी जानता है. नंदा ने इस समय जींस और स्कर्ट पहना हुआ था, उसने अपनी एक बांह मेरे बांह में डाली हुई थी.

मैं उसकी टी-शर्ट को ऊपर करने लगा, साथ ही उसकी गर्दन को किस करने लगा.

गुजराती एक्स एक्स बीएफ: थोड़ी देर बाद मेरे आंड को अपने मुँह में लेकर हल्के हल्के से दांतों से चबाने लगीं. मैंने भी खुश होते हुए अपना बदला पूरा करने के लिए लौड़े को थोड़ा सा पीछे करते हुए जोर का धक्का आगे की तरफ दे दिया.

पर अब मैं बहुत तड़फ रही थी … और जब से तुम्हें मिली हूँ, ये तड़फ और बढ़ गयी थी. रूचिका आंटी चिल्ला चिल्ला कर अपनी चूत चटवा रही थीं- आह उई मां … कितना मज़ा आ रहा है … आज मेरी चूत को खा जाओ प्रभात डार्लिंग … ये भोसड़ी का मेरा गांडू पति मेरी चूत को चाटता ही नहीं मादरचोद!मैं ये सुनकर हैरान था कि आंटी सबके सामने अपने पति को गाली दे रही थीं. अबकी बार वो मुझे थोड़ा तेज धक्के लगा रहा था और मैं भी मजे से अपने भाई से चुद रही थी.

आपने सारे मजे ले लिए हैं, तो क्या मुझे मौका नहीं दोगे?मैं- हां जान क्यों नहीं दूँगा.

अभी मैं अपने मुँह में जीभ का अहसास कर ही रहा था था कि भाभी का हाथ मेरे लौड़े पर आ गया था. वैसे तो अजमेर से कोटा की बहुत सी ट्रेन हैं पर मैं कार लेकर जाना पसंद करता हूँ. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने मुझे नींबू की तरह निचोड़ दिया हो, शरीर में जैसे जान ही न हो!कुछ देर ऐसे ही पड़े रहने बाद मैंने भी उठकर अपने कपड़े पहने और ऑन्टी अपने घर चली गयी।प्रिय पाठको, आपको इस हॉट MILF आंटी सेक्स कहानी को पढ़ कर कितना आनन्द मिला? मुझे कमेंट्स में बताएं.