हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला

छवि स्रोत,हिंदी पोर्न वीडियोस

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली बीएफ बीएफ बंगाली: हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला, मैंने उनसे कहा- सेजल भाभी, आपकी चूत बहुत कसी हुई है?उन्होंने कहा- तेरे जैसा कोई मिला नहीं जो इससे फाड़ डाले.

तमिल सेक्स बीपी

दोस्तो, मैं आज आप लोगों को बताना चाहती हूँ कि किस तरह से मैंने अपनी सहेली को अपने पति से चुदवाया. सुहागरात चोदी चोदातो मेरी छाती से और ज्यादा दब जातीं। मुझे बहुत मजा आ रहा था; उसका चेहरा बिल्कुल लाल हो रहा था। मैं उसकी आँखों में देखने लगा.

मैं अपने लिंग-मुंड को वहीं अटका छोड़ कर प्रिया के ऊपर लम्बा लेट गया. हिंदी एम एम एस वीडियोमेरी कहानीट्रेन में मिली शादीशुदा लड़की की कामवासना और चुदाई-1ट्रेन में मिली शादीशुदा लड़की की कामवासना और चुदाई-2में अभी तक आपने पढ़ा कि ट्रेन में मुझे एक भाभी मिली, वो प्यासी थी, उसकी कामवासना उसके काबू से बाहर थी.

कामिनी बस आअह्ह्ह आअह अह ऊऊह ऊह ऊऊह्ह्ह करती रही और कमरे में उं दोनों की सिसकारियों के साथ ‘फिच फिच फिच फिच फिच’ की आवाज भी गूँज रही थी.हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला: लेकिन अब मेरी जिंदगी से शारीरिक इक्षाओं का वो समय पूर्णतः गायब हो गया है.

उसकी 38 साइज़ की ब्रा में उसके चूचे मेरे लंड को स्टैंडिंग पोजीशन में ही बनाए रहते थे.अब मैं तुम्हारी चुदाई करूँगा।उसने बोला- जो करना है जल्दी करो मुझसे सहन नहीं हो रहा। मैं पूरा मज़ा पाना चाहती हूँ।मैंने कहा- जान एक समस्या है?उसने पूछा- क्या?मैंने कहा- चुदाई में तुमको थोड़ा दर्द सहन करना होगा.

बाप ने की बेटी की चुदाई - हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला

वो मेरी तरफ कुछ अजीब तरह से देखने लगी और अपना चेहरा मेरे पास लाने लगी.जब मुझे लगा कि माँ सो गई हैं, तो मैं पलट गया और मैंने उनके पैर के ऊपर अपना पैर रख दिया.

मैं बालकनी में रखी प्याज को वहीं वाशवेसिन में धोकर झुक कर काटने लगी. हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला सच कहूं तो जितना दिल का साफ़ और मस्त इंसान मैं हूँ, उतना तो मुझे भी आज तक कोई नहीं मिला.

क्या परेशानी है? क्या मैं आपके कुछ काम आ सकता हूँ?आंटी पहले तो गुमसुम रहीं.

हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला?

मैं खुले शब्दों में बोलता हूँ कि अरे एक महीने तक मुझे तुम्हारे साथ वो सब करना पड़ेगा ना. उसके बाद रुचिका कालेज चली गई और फिर लगभग एक घन्टे बाद मैं पहुँचा तो रुचिका मुझे देखकर मुस्कराई. मैं शाम को आऊंगा, लेकिन मेरी एक ख्वाहिश है कि आज रात तुम मेरे लिए दुल्हन जैसे सजो और मैं तुम्हारे साथ सुहागरात मनाऊं.

मैं जब ससुराल पहुंचा तो वो मुझे देखते ही बोली- अरे जीजा जी, दीदी को नहीं लाए?मैंने बताया कि मैं कम्पनी के काम से आया था, सोचा सबसे मुलाकात करता जाऊँ. उसका कोई भी रिएक्शन नहीं आया क्योंकि आज ऑटो में और भी दो लोग बैठे थे. एक बात तो मैं आप लोगों को बताना भूल ही गया, नीति मैडम की एक सहेली जो हॉस्टल में उसकी रूममेट थी, वो भी मेरे कालेज में ही टीचर थी.

इसी बीच वो झड़ गई, उसने निढाल से स्वर में बोला- राजेश यार मेरा तो काम हो गया. अब उसका मुझे देखने का नजरिया बदल गया था, खैर जैसे तैसे हम अन्दर गए. एक झटके में पूरा लंड अन्दर जाते ही उसकी ज़ोर से चीख निकल गई, वो बोली- हाययई.

पर मैंने अंजलि को पीछे से अपनी दोनों बांहों में कस के जकड़ रखा था, मैं बोला- ऐ चोर लड़की… क्या कर रही थी? बता क्या चुरा रही थी?अंजलि- जी कुछ नहीं… मैंने कुछ नहीं चुराया यहाँ से!मैं- मैं पुलिस वाला हूँ, तुम चोरों को मैं अच्छी तरह जानता हूँ, हम पुलिस वालों को चोरों की जुबान खुलवाना आता है. मैंने रेहाना से इशारे में कहा कि वो उसके होंठ चूसे और मैंने मिंकी की चूत के छेद पर अपना लंड रखा और एक जोरदार धक्का लगा दिया जिससे मेरे लंड का सुपारा उसकी चूत को चीरता हुआ करीब 3 इंच तक घुस गया.

मैं अपने पूरे शरीर की ताक़त लगा के पागलों की तरह उसे चोदने लगा और सोचने लगा कि ये साली 40-45 किलो की औरत मेरे वजन को सह कैसे पा रही है.

मैंने कहा- कोई बात नहीं, अगर कोई दिक्कत होगी तो मैं आपके रूम में आ जाऊंगा!और हँसने लगा.

मेरे दिमाग में काम करना बंद कर दिया, मेरी बीवी गैर मर्द की बांहों में थी. उस दिन मॉर्निंग में शॉपिंग के लिए निकलने के हिसाब से बहुत सर्दी थी. वो कभी मेरा एक चुचा दबाता तो दूसरा चूसता और अगर दूसरा दबाता तो पहला चूसता.

ऐसा लगा, इतना दर्द हुआ कि मैं बेहोश सी हो गई, मेरे मुंह में बालू का लन्ड घुसा था तो मुंह से आवाज भी नहीं निकली और बालू इतने जोश में था कि बस लंड से मेरे मुंह को चोदे जा रहा था. मैंने उनकी चुत का नमकीन पानी गटक लिया और भाभी की पकड़ ढीली पड़ने लगी. सबसे पहले मैंने दोबारा अपना फ़ोन चैक किया कि वीडियो रिकॉर्डिंग चालू है कि नहीं, रिकॉर्डिंग चालू थी, सब कुछ ठीक चल रहा था.

मेरी प्यारी पत्नी की प्यासी चूत की प्यास भी आखिरकार बुझने लगी क्योंकि अभी तक तक तो सब सिर्फ उसकी गांड मारने की तलाश में ही थे.

तो मैंने उसका हाथ मेरे हाथ में लिया और बोला- यार, होता है कभी कभी हम धोखा खा जाते हैं. मुझे बड़ी लाज आई, मैंने जल्दी से अपने कपड़े पहने और कमरे से बाहर आई।फिर नहाने धोने लगी. मैं लौड़ा पूरा चूत के बाहर निकलता और फिर धीरे से जड़ तक बुर के अंदर घुसेड़ देता.

करीब 2-3 लाख रुपये तो वो हर महीना घूस में पा जाते हैं इसलिए अनाप शनाप पैसा खर्च करते हैं. फिर मैंने अपनी उंगली से उसकी पेंटी को एक साइड में किया और मुझे उसकी गोरी सी छोटी सी पाव सरीखी फूली हुई चुत दिख गई. किसी सेक्सी लड़की से कम नहींआज की आगे की कहानी भी मैं एक लड़की की तरह ही लिखूंगा.

मैंने उनसे इसका कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि उनके पति साल में एक या दो महीने के लिए आते हैं और वो उन्हें ठीक से संतुष्ट भी नहीं कर पाते हैं… बच्चा करना तो दूर की बात है.

एक दिन मैं अपनी जीएफ को कुछ अपनी पिक्स सेंड कर रहा था, तो वो ग़लती से भाभी के नंबर पे फॉरवर्ड हो गईं. मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने सोचा क्यों न एक बार अपना लंड मॉम की चुत पर टच किया जाए.

हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला कमरे में आते ही मैंने दरवाजे की कुंडी लगा दी और उस देसी लड़की कंचन के सारे कपड़े एक एक करके उतार दिए और वो पूरी नंगी हो गई. आंटी को लगा कि आज वो बहुत दिन बाद मिली है इसलिए उसको ऐसे तड़पा कर चोद रहा हूँ.

हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला मैं जब अन्दर गई तो पहले तो वो एकटक मुझे देखता रहा और बोला- आपको यह सब करते हुए शरम नहीं आती?मैं कुछ कहने लायक नहीं थी, इसलिए चुप रही. मैंने साहब की तरफ नजर डाली तो आँख बंद करके मेरी बांई चूची जल्दी जल्दी किसी प्यासे बच्चे की तरह पी रहे थे.

बाथरूम से निकला तो देखा कि वो रिमोट से पेन ड्राइव में सेव दूसरी मूवी ओपन करना चाह रही थी.

बिहार खलीफा सेक्सी वीडियो

अब मैं तुम्हारी चुदाई करूँगा।उसने बोला- जो करना है जल्दी करो मुझसे सहन नहीं हो रहा। मैं पूरा मज़ा पाना चाहती हूँ।मैंने कहा- जान एक समस्या है?उसने पूछा- क्या?मैंने कहा- चुदाई में तुमको थोड़ा दर्द सहन करना होगा. जब मुझे लगा कि यही सही मौका है, तो मैंने एक धक्का मारा और आधा लंड निशा की गांड में घुसेड़ दिया. आंटी मेरा 6 इंच का मोटा लंड देख कर खुश हो गईं, उन्होंने कहा- एक साल के बाद लंड के दीदार हुए.

लंड चूस कर फिर मैं चुपचाप बैठ गया, मैंने कहा- अब तो छोड़ दो!बोले- जाने से पहले यह तो देख ले!और जो सब उन्होंने मुझसे करवाया था, वो उन्होंने वीडियो रिकॉर्ड कर लिए था. पहले मैं भी हॉस्टल में रहता था, इसलिए मेरी उनसे ज्यादा बात नहीं होती थी. उस दिन उसने क्रीम कलर का ड्रेस पहना हुआ था और जस्ट अभी अभी नहा कर आई थी.

वो भी भड़कीले पीले रंग की, जो कि बड़े ही चुस्त तरीके उसकी चूत और गांड से चिपकी हुई थी.

उस रात मुझे और भी एक बार चोदने का मन किया, पर पायल का शरीर पूरी तरह से टूट चुका था. आप सब भाई लोग अपना लंड अपने हाथ में ले लें और अगर लड़की, भाभी या आंटी हैं तो चूत में उंगली घुसा लें और कहानी को ध्यान से पढ़ें. बड़ा लड़का दूसरे शहर में रहता था और दूसरे नंबर की लड़की पढ़ाई के चलते दूसरे शहर में चली गई थी.

मैंने कहा- अभी क्यों नहीं?मैं उनके चुचे दबाने लगा और पीछे से उनकी गांड में अपना खड़ा लंड लगाने लगा. चूँकि निशा का पहली बार था, तो थोड़ी तकलीफ़ हो रही थी और मैं ये भी सोच रहा था कि कहीं दर्द के डर के कारण निशा मना ना कर दे. मैंने उसके बाल पकड़ कर उसके मुँह को चोदना चालू किया, जब तक मैं थक नहीं गया, तब तक उसके मुँह में लंड को पेलमपेल पेलता रहा.

उसकी जांघ और गांड गुब्बारे जैसी लचकदार है, पर उसके उभार बिल्कुल भी निकले हुए नहीं है. मैंने उनकी साड़ी निकाल दी, वो मेरे सामने पेटीकोट और ब्लाउज में रह गई थीं.

जैसे ही मैंने भाभी को खोला वो उठ कर बैठ गईं और बहुत ही जोर से मेरे गाल पे थप्पड़ जड़ दिया. फिर मैं उसके दूध पीने लगा और उसके लोअर में हाथ डाल के चुत को मसलने लगा. फिर ललिता ने अपना हाथ सीधे मेरे लंड पे रख दिया, जैसे वो नींद में रख दिया हो.

कुछ सेकेंड बाद मैंने फिर से एक जोरदार झटका मारा और इस बार पूरा लंड चूत के अन्दर चला गया.

पायल बोली- वीशु, आप अपने लंड का बीज मेरी चूत में नहीं बल्कि मेरे मुँह में निकालना क्योंकि मैं तुम्हारा बीज पीना चाहती हूँ. उसकी गांड मेरे लंड को ऐसे ठोक रही थी, जैसे मैं उसको नहीं बल्कि वो मुझको चोद रही हो. अभी तो हम दोनों एक-दूसरे के आगोश में थे लेकिन अब जिंदगी में कभी ऐसा मौक़ा दोबारा आएगा या नहीं… और अगर आएगा भी तो प्रिया पॉजिटिव रेस्पॉन्स देगी या नहीं, इस का जवाब तो भविष्य के गर्भ में ही था.

मैं सामान लेकर आया और रोशनी से कहा कि तुम अपनी जीन्स और पेंटी पूरी उतार कर चेयर पर रख दो. मैं तुरंत भाग कर खिड़की पर गया और अपनी मोबाइल का फ्रंट कैमरा चालू करके रख दिया ताकि दरवाज़ा और सामने की खिड़की मुझे दिखती रहे.

फिर उन्होंने देखा तो उनकी आँखों से पता चला कि उन्होंने मेरी बात का विश्वास कर लिया कि मैं सच ही कह रहा हूँ. उसने भी पलटकर मेरे अंडरवियर को निकाल दिया और मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ कर उस के टोपे को चाटने लगी. मैंने उसकी बुर पर अपने मूसल जैसे लंड का गोल सुपारा रखा और एक धक्का मारा.

सेक्सी डायरी

हम दोनों बातें करने लगे, मैंने उससे पूछा- कैसा लगा?वो बोली- शुरू में जब तुमने अंदर घुसाया तो थोड़ा दर्द हुआ था लेकिन फिर तो मजा आने लगा था.

’ की आवाजें भी रूम में गूँज रही थीं, रूम का माहौल एकदम रंगीन हो गया था. फिर धीरे धीरे आगे पीछे करते हुए एक और झटका लगाया, मेरा पूरा लंड अन्दर हो गया. कुछ पीएंगी?मैंने कहा- मैं पीती तो नहीं मगर आपको नाराज़ भी नहीं कर सकती इसलिए आप जो कहेंगे मैं करूँगी.

पर पहले दिन सिर्फ इधर उधर की बातें हुईं जैसे कॉलेज के बारे में, अपने बारे में आदि इत्यादि. वो बीच बीच में कामुक सिसकारियां ले रही थी- आह्ह्ह… उह्ह्ह… उम्… ओहह… राजा… ओह्ह्ह मेरे राजा… और करो जोर से करो!उसके बाद मैं धीरे धीरे उसके पेट की तरफ बढ़ने लगा और उसके पेट को, नाभि को और उसकी कमर के ऊपर वाले हिस्से को पूरा चाटने लगा और चूमने लगा. एक्स एक्स एक्स एक्स हिंदी वीडियोदीदी अपनी दो उंगलियां वी शेप बना कर अपनी चुत के दोनों फांकों पर रख दीं और उंगलियों को फैला कर चूत को पूरा खोल दिया.

हमारी शानदार चौकड़ी झड़ चुकी थी… सब ढीले हो गए थे… सब निढाल पड़े थे! नताशा सबसे ज्यादा बुरी हालत में थी, वो अपनी ऑंखें बंद किए ऐसे पड़ी हुई थी, मानो उसमें जान ही न हो!मैंने उसके गालों को थपथपाया, तो उसने मुस्कुराते हुए अपनी आंखे खोल दी. दीदी- चल इसी बहाने तू फिक्स स्टाफ तू हो गई स्कूल की… प्रमोशन का प्रमोशन मज़े के मज़े भी… मज़े से याद आया.

अस्पताल के अंदर घुसते ही मेरा दिल खुश हो गया… अस्पताल सरकारी था इसलिये काफ़ी सिम्पल जवान मर्द वहाँ दिखाई दे रहे थे… और इतने मर्दाना और मजबूत जिस्म और लन्ड का उन्हें कोई घमण्ड नहीं था. पहले परीक्षित ने मेरे मुँह को चोदा और उसके बाद चिंटू ने अपना लंड मेरे मुँह में घुसेड़ दिया. मैंने अपने लंड को उसकी चूत में रखा और हल्का सा धक्का मारा, तो मेरा लंड फिसल गया.

बातों बातों में उसने मुझसे पूछा- भाई चाय पीयोगे क्या?तो मैंने कह दिया- अगर तेरी इच्छा है चाय की तो मैं भी पी लूंगा… बना ले!तो अंजलि चाय बनाने के लिए रसोई में चली गई. मैंने उन्हें बिस्तर पर चित लिटा दिया और अपने लंड पर थूक लगा कर लंड को उनकी चुत के मुहाने पर टिका दिया. मैंने धीरे से हाथ आगे ले जा कर सोनी को उठाया तो उसने आधी नींद में ही इशारे से पूछा- क्या हुआ?मैंने भी इशारे में कहा- इधर आ जा बाजू में.

जब सबका एक बार देखने में ये हाल हो सकता है तो फिर मेरा लंड कैसे काबू में रहता.

उसने हंस कर कहा- क्या ये मैं पहनूंगा? वैसे ये तुम पर अच्छे लगते हैं, रख लो, पहन लेना. आप सोच रहे होंगे कि मेरी कहानी में बहुत अचानक आ रहे हैं, पर सेक्स का मजा तभी है जब उसका पूरा लुत्फ़ उठाया जाये.

मैंने भाभी से कहा- इसको उतार दो!तो उन्होंने कमर ऊपर उठा दी मैंने सलवार के साथ पैंटी भी उतार दी. मैं दिन में भईया और रात को सैयां बनकर रहूँगा। इसके अलावा कोई रास्ता नहीं दिख रहा। आगे तुम्हारी मर्जी।किसी को पता चल गया तो?”किसी को पता नहीं चलेगा. अरे कहाँ?” पीछे से मैं चिल्लाया- अभी तो एरिक संग हम भी बाकी हैं… हमारा क्या होगा?विदेशी लड़की की गांड और चूत की चुदाई स्टोरी जारी रहेगी.

मैं इस देसी हिंदी कहानी की सबसे बड़ी साईट अन्तर्वासना पर रोज मजेदार कहानियां पढ़ता हूँ और मुठ मारता हूँ. मैं एकाएक उठा और उसकी साड़ी को उसके बदन से अलग कर दिया और उसका ब्लाउज खोलने लगा. ऐसा करते समय एक पल के लिए भी मेरी माँ ने मेरे लंड को अपनी चुत से जुदा नहीं होने दिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला मैं अंजान बनती हुई बोली- ओह… चलो कहीं बैठ कर चाय पीते हैं अगर तुमको कोई काम ना हो तो!वो बोला- मुझे कोई काम नहीं है. वो बोला कि आज तो तुम्हारी प्रमोशन का लेटर निकलवाता हूँ, कल बताऊंगा.

सनी लियोन ब्लू फिल्म सेक्सी

अगले दिन हम दोनों ने हाफ डे की छुट्टी की और कुसुम मुझको अपने घर पर ले आई. अब तो भाभी मेरी रखैल रंडी बन चुकी हैं, जब भी मौका मिलता है, मैं उनको चोद देता हूँ. इसी बीच वो बोले जा रही थी- आह जीजू इन्हें चूसो… नोंचो इन्हें… आह मज़ा आ रहा है… मेरा सारा दूध पी जाओ…मैं उसके मम्मों को पीता रहा.

मैंने धीरे से अपना लंड बाहर निकाला और हाथ से पकड़ कर धीरे से सुपारा मॉम की दोनों जांघ के बीच में लगा कर पीछे से बुर की फांकों के ऊपर लगा दिया. उधर मेरी साली भी यह सुन कर हंसने लगी और बोली- तुम्हें तो बस यही चाहिए. सुहागरात वाला सेक्सी पिक्चरमैंने धीरे से देखा तो देख कर दंग रह गया, कामिनी ने जांघों तक की छोटी बेबी डॉल ड्रेस पहन रखी थी, उसकी गोरी गोरी टांगें नंगी थी और उसकी बैक भी आधी से ज्यादा खुली थी और वो विवेक से चिपक कर बैठी थी.

” करके नवीन की ओर देख कर चिल्ला रही थीं- जल्दी जल्दी चोद न कमीने… दम नहीं बची है क्या भोसड़ी के तेरे अन्दर हरामी मादरचोद.

उसके बाद कोई 5 मिनट तक कुसुम विक्रम के लंड पर अपनी गांड उछालती रही. दोपहर में जब मैं अपने काम से फ्री हो जाती थी तो लगभग नंगी रह कर अन्तर्वासना की देसी इंडियन चुदाई की कहानी को पढ़ कर अपनी चुत की खाज को मिटा लेती थी.

जब मैं मार्किट जाने को हुआ तो उन्होंने मुझे आवाज लगा कर मेरा नंबर भी ले लिया कि जब मेरा फ़ोन रिचार्ज हो जायेगा तो मैं आपको कॉल करके बता दूंगी. मैंने रंग तो डाला ही, उनकी लुंगी को खींचते हुए उनके लंड को भी रंग से नहला भी दिया. वो बीच बीच में कामुक सिसकारियां ले रही थी- आह्ह्ह… उह्ह्ह… उम्… ओहह… राजा… ओह्ह्ह मेरे राजा… और करो जोर से करो!उसके बाद मैं धीरे धीरे उसके पेट की तरफ बढ़ने लगा और उसके पेट को, नाभि को और उसकी कमर के ऊपर वाले हिस्से को पूरा चाटने लगा और चूमने लगा.

”अगर मेरी प्रियतमा को ये सब छुप छुप कर करना पसंद था तो ठीक है… मैं जो उस को पसंद है वैसे ही करूंगा.

स्मिता अब जोर जोर से रो रही थी और बोल रही थी- मुझमें ऐसी क्या कमी है राहुल कि पंकज मेरे साथ ऐसा कर रहा है?मैंने मन में सोचा कि राहुल बेटा मौका अच्छा है. ग्राउंड फ्लोर में मेरे पापा और मम्मी रहते हैं, मेरे बड़े भैया बैंगलोर में जॉब करते हैं. जब उसका पूरा लंड मेरी गांड में घुस गया, तब वो एक मिनट के लिए रुक गया.

देसी सेक्स क्लिपवैसे तो मैंने कभी सेक्स बहुत ज्यादा नहीं किया था लेकिन ब्लू फिल्म देख कर सब तरह के खेल सीख गया था. खैर बताइए किस काम से आपका आना हुआ?जब मैंने उसे बताया अपने आने के मकसद के बारे में तो मुँह में बुदबुदाया कि साले ने अपनी बहन को भेज दिया.

सेक्सी चुदाई मारवाड़ी वीडियो

मैंने स्माइल करते हुए अपने पढ़ाई के कमरे में जाकर सोने की कोशिश की और पता नहीं कब नींद लगी. मैंने लंड को उनकी चुत पर सैट किया और लंड को चुत की दरार में ऊपर से ही ऊपर नीचे करने लगा. बहुत देर तक दूध दबाने के बाद भी दीदी नहीं उठीं, तो मेरी हिम्मत पूरी तरह से खुल गई.

मैंने कहा- अब बोलती ही रहोगी या फिर कुछ तरक्की जैसा कुछ मजा भी दोगी?उसने कहा- बेटा तूने अभी मजा देखा ही क्या है. मैं नीचे बैठ कर उनको देख रहा था, इसलिए वो बहुत ज़्यादा सेक्सी लग रही थीं. हम एक दूसरे में इतने पागल हो गए थे कि मेरे हाथ से बाजू में रखा एक बर्तन गिर गया, जिससे पापा की नींद खुल गई.

शायद उसकी चुदास भड़क उठी थी और वो आज अपना सर्वश्व लुटाने को तैयार थी. जब मैं उनकी योनि के बीच वाले उभरे हुए भाग को अपनी उंगलियों से छेड़ता तो टीचर जी एकदम सिहर जातीं और कस कर मेरे बाल पकड़ लेतीं. वरना वो एक और शिकायत करेगा कि मैंने किसी से शादी करके उसको उससे पैसे ऐंठने के लिए तंग कर रहा हूँ.

उसने मेरी चुत के ऊपर और नीच राउंड शेप में लिख दिया- आज इस चुत की नथ उतरी है अशोक के लंड के द्वारा. आंटी पूरी तरह से मेरी संगिनी बनकर चुदाने को रेडी थी लेकिन मैं उन्हें और तड़पाना चाहता था.

तेरा जो दिल करे, कर ले मेरे साथ, मैं तुझे किसी बात से नहीं रोकूंगी… चोद ले अपनी बहन की चूत दिल भर कर!मैं अपने कपड़े उतारने लगा.

भाभी ने मेरे कपड़े मेरे शरीर से एकदम अलग कर दिए और मैंने भी भाभी का गॉउन उतार फेंका. दोस्त की बीवी को चोदाफिर उसके बाद उसने मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. बुड्ढा और जवान लड़की का सेक्स वीडियोवो बोला- कुसुम जानेमन मेरा ये लंड तुमसे तुम्हारी मुनिया में जाने के लिए भीख माँग रहा है. क्योंकि उसे पता था कि मैं उसके बिछाए जाल में फंसती जा रही हूँ और इसमें से निकलने का कोई रास्ता नहीं बचेगा, सिवाय चुत को चुदवाने के.

पर फिर भी मैं उनकी चुत चाटता रहा और नतीजा ये हुआ कि थोड़ी ही देर में भाभी जी ने फिर से पानी छोड़ दिया.

मुझे ये सोच सोच कर नवीन से बात करते हुए बड़ा अजीब लग रहा था कि अभी कुछ मिनट पहले यही आदमी मेरी मॉम को कुतिया की तरह चोद रहा था. तो मैं बोला- तो फिर आज वही बचपन के पुराने दिन याद करते हैं और वही बचपन वाले कुछ खेल खेलते हैं. ’ करने लगीमैंने लगभग दस मिनट तक उसके दोनों चूचियों को खूब चूसा, काटा और निचोड़ा.

मैंने उन्हें कुछ नहीं कहा, बस देखा स्माइल पास की और भीड़ में जा कर खड़ी हो गई. बड़ौदा से सूरत कुछ ही घंटों का सफ़र है तो मैं आए दिन अपनी मौसी के घर जाया करता था. अब धीरे-धीरे मिलने-जुलने का कार्यक्रम होने लगा। चुम्मा-चाटी से होते हुए बात बढ़ी.

इंग्लिश इंग्लिश सेक्सी सेक्सी

उसने कुछ हमदर्दी दिखाते हुए कहा- मुझे पूरी हमदर्दी है तुम्हारे साथ. अब तो भाभी मेरी रखैल रंडी बन चुकी हैं, जब भी मौका मिलता है, मैं उनको चोद देता हूँ. उस वक़्त मेरा लंड अंडरवियर में पूरा टाइट था और मुझे थोड़ा नशा भी था.

उस दिन मॉर्निंग में शॉपिंग के लिए निकलने के हिसाब से बहुत सर्दी थी.

पर डर लगता था कि एक तो मैं लड़की नहीं हूँ, उस पर से उसका लंड कितना मोटा होगा, ये मालूम नहीं था.

मैं माँ की चुत के ऊपर अपने लंड को घिस रहा था और वे आँखें बंद करने लगातार सीत्कारें ले रही थीं. मेरी साली को भी इस हरकत का मजा आया और उसने उसका सर पकड़ कर अपनी ब्रा पर दबा दिया. मारवाड़ी वीडियो एक्समुझे उसका लंड काफ़ी सॉफ्ट सा लग रहा था। लौड़ा रगड़ते हुए उसने लंड को एक जगह पर रोक दिया.

तभी भाभी ने एक पैर मेरे सीने पे रख दिया और मेरा हाथ उनकी चूत के ऊपर पहुँच गया और सलवार के ऊपर से मैं भाभी की चूत को सहलाने लगा. जब दीदी बेसुध पड़ी रहीं तो धीरे से अपने हाथों को पजामे से बाहर निकाल लिया. मैंने हिम्मत करके उसके कॅप्री में अपना हाथ डालना शुरू किया, अब मुझे लगने लगा कि शायद अर्जुन भी जाग चुका है लेकिन वो जानबूझकर सोने का नाटक कर रहा था इसीलिए अब मैं भी बेबाकी से अपनी ख्वाहिशें पूरी करने में लग गया! हाथ अंदर डालते ही मेरा सबसे पहला स्पर्श उसके अंडरवीयर से हुआ.

वो रात को मुझे चोदता था… और सुबह पापा के ऑफिस चले जाने के बाद हम दोनों को चोदता था. अन्दर वो लाल रंग की जालीदार ब्रा पहने थीं, जिसमें वो बहुत ही सेक्सी लग रही थीं.

थप्प-थप्प… थप्प-थप्प… थप्प-थप्प…!! नीचे कबीरदास की चक्की पूरे यौवन पर चल रही थी.

ड्रॉइंग रूम में केक को टेबल पर रख दिया और निशा के लौटने का इंतजार करने लगा. मैं उनके घर जाता तोमेरी मौसी की बेटीऔर उसकी बहन मुझसे बहुत लिपट कर बहुत ख़ुशी जाहिर करती थीं. आपकी जानकारी के लिए और लंड खड़ा करने के लिए बताना चाहती हूँ कि मेरा फिगर 28-26-30 का है, मैं एकदम फेयर कलर की माल किस्म की लौंडिया हूँ.

सनी लियोन फुल सेक्स मैंने उससे कहा- गांड मार लेने दे,वो नहीं माना, मैंने उसको पैसे का लालच दिया तो वो मान गया. मैंने भी ज़्यादा टाइम बर्बाद ना करते हुए कंडोम का पैकेट निकाला और अपने लंड पे लगा के तैयार हो गया.

विनय- क्या हुआ नेहा?मैं- जिनके लंड के ऊपर तिल होता है, वो बहुत सेक्स करते हैं. उस खामोश रात में पहली बार मैंने मां को लम्बी सांसें लेते हुए महसूस किया. मगर समय की कसौटी ने मुझे बताया कि तुम्हारे पापा उससे ना सिर्फ प्यार ही करते थे, बल्कि उसका भविष्य भी सुधारना चाहते थे, जो मैं समझ नहीं पाई.

सेक्सी वीडियो जबरदस्ती मां बेटे की

माँ- सुनो… पहले प्रॉमिस करो कि ये बातें हमारे बीच में ही रहेंगी, किसी और को पता नहीं लगेंगी. कमाल की बात ये थी कि उस दौरान हम दोनों मां बेटा के बीच में कोई बातचीत नहीं होती थी और बस खेल खत्म होने के बाद हम दोनों माँ बेटा की तरह सो जाते थे. किस्मत से उसने मुझे भी साथ चलने को कहा, मैंने पहले थोड़ी न नुकुर की फिर हां बोल दिया.

मेरी जान निकली जा रही थी लेकिन चुत में जो मज़ा मिल रहा था, वो सब दर्द उस पर कुर्बान था. मैं धीरे धीरे अपने हाथ को उनकी पीठ से सरकाते हुए उनके नितंब यानि गोल गोल चूतड़ों पर ले आया और उन्हें कस कर दबा दिया.

मैंने उससे पूछा- मेरी बहन, भाई से चुदाई करवा के तुझे मजा आया?और उसने अब सर हाँ में हिला कर जवाब दिया.

मैंने उसकी एक ना सुनी और लंड फंसाए कुछ देर रुका रहा उसको चूमता और सहलाता रहा. मूवी खत्म हुई और हम लोगों ने प्लान किया कि अगले सन्डे को फिर से मिलेंगे. फिर धीरे धीरे मेरे जेवर उतारने लगे और नथ छोड़ कर सब उतार दिया।अब मेरी बेटी के पति ने मेरी साड़ी भी उतार दी.

मेरा एक हाथ उसकी गर्दन पर था और दूसरा हाथ उसके एक नंगे चूतड़ पर!थोड़ी देर में सांस ना आने के कारण वो बेचैन हो गई और उसने अपने होंठ मुझसे छुड़वा लिये. रानी अब मस्तानी होकर चुदाये जा रही थी और साथ में सीत्कार भी भरती जाती थी. यह स्टोरी मेरी चाची की है, वो बहुत ही सुडौल और सेक्सी शरीर की मालकिन हैं.

अब मां ने जो लंड उनके मुँह में बिना कंडोम का था, उन्होंने उस लंड को आइसक्रीम की तरह चूसना शुरू कर दिया और वे अपनी जीभ से लंड चाटने लगीं.

हिंदी सेक्सी बीएफ चोदने वाला: मेरा वीर्य कंडोम में निकल रहा था और इतना ज़्यादा माल आज पहली बार निकला था. फिर एक दिन मेम ने सबका टैस्ट लिया और इस टैस्ट में मुझे सबसे कम मार्क्स मिले.

मैं सीधा ऊपर क्लास में चला गया, जब मैंने ऊपर खिड़की से देखा तो वो जंगल जन्नत लग रहा था क्योंकि उस जंगल में मुझे असली सुख मिलने वाला था, मेरे सारे अरमान पूरे होने वाले थे. तभी मुझे भी लगा कि मैं भी झड़ने वाला हूँ तो मैंने भाभी की गांड को ज़ोर से भींच लिया और चाटने लगा और भाभी के मुख में ही झड़ गया और भाभी ने सब गटक लिया।अब हम शांत हो गए और फिर से बिस्तर पर आकर लेट गए।भाभी का सिर मेरे सीने पर था और मैं उनके सिर को सहला रहा था और वो मेरे लंड को हाथ में लेकर ऊपर नीचे कर रही थी. हमारे यहाँ बेटियों की शादी जल्दी ही कर दी जाती है तो हम अपनी बेटी के लिए रिश्ते की तलाश में थे। कुछ लोगों से बात बनी नहीं, कुछ की दहेज़ की मांग बहुत थी।मेरे पति किसान हैं, वो खेती करते हैं.

कुछ देर बाद आंटी रूम में आईं और बोलीं- तुम कुछ देर वेट करो, मैं अपने हज्बेंड को चाय मैं नींद की गोली मिला कर दे दूँ फिर तुम्हारे पास आऊंगी.

उसकी ये नाइटी काफी पारदर्शी थी जिसमें से उसकी ब्रा पेंटी भी साफ़ झलक रही थी. इसे आप यहाँ से download करें!सेक्स से भरपूर सेक्सी लड़की से हिंदी, पंजाबी, मराठी अंग्रेजी में सेक्स चैट, वीडियो सेक्स करने के लियेदिल्ली सेक्स चैटपर आयें और सेक्स की मजेदार बातें और वीडियो सेक्स करके मजा लें!. रोशनी की चूत की महक एकदम चमेली के फूल जैसी थी, मुझे वो रूम में अभी भी महसूस हो रही थी.