बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ चुदाई करने वाला वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक औरत दो मर्द की सेक्सी: बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो, और थोड़ी मदहोश सी भी हो गई थी।फिर भाई ने मेरी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाला और मेरे मुलायम पेट को सहलाने लगे और फिर धीरे से मेरी ब्रा के अन्दर हाथ डालकर मेरे चूचे और निपल्स को दबाने लगे।मैं शांति से मजा लेटी रही.

डॉक्टर का सेक्सी बीएफ वीडियो

रात को दोनों ने खाना खाया, फिर जॉन ने फ्लॉरा को एक गोली दी और उसे खाने को कहा. इंग्लिश सेक्सी बीएफ मराठी2 मिनट बाद वो अपनी चड्डी मुँह में फंसा कर पूरी नंगी होकर बेड पर आई और बोली- आज रात की हर हुई और होने वाली गलती के लिए पहले से माफ़ी मांगती हूँ, और तुम मुझे माफ़ करोगे यही मेरी दोस्ती का गिफ्ट होगा.

जब पांच फुट तीन इंच हाईट की गोरी सुंदर लड़की जिसके ऊपर की ओर उठे हुए उरोज हों, चिकनी खूबसूरत टांगें हों, हर अंग तराशा हुआ, आँखों में नशा हो, वो लड़की सिर्फ ब्रा और पैंटी में सामने खड़ी हो तो किसी का भी मन बेइमान हो उठेगा. हिंदी बीएफ गंदी फिल्मभाड़ में गई कसम… मैं वापस लेती हूँ अपनी कसम… भगवान् से माफ़ी मांग लूंगी.

अनु आंटी- अरे कभी आंटी से भी मिलने आया करो! रुक जा, तेरे लिये जूस लाती हूँ.बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो: आप मेरी पहली कहानीपड़ोसन आंटी की चुत चुदाई करके चोदना सीखापढ़ चुके हो.

उसके बूब्स की बात तो पड़ोस में सभी आंटी करती थी क्योंकि ये बातें एक आध बार मैंने सुनी थी.साला आदत से मजबूर है ये!संजय- सुनो उस साली को मैंने सुबह ही ताड़ लिया था, अच्छी तरह चुदी चुदाई है.

बीएफ पिक्चर पहली पहला - बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो

उसने कुर्ता पजामा पहना हुआ था, शरीर से तगड़ा था और बड़ी-बड़ी मूछें जो उसके होठों को ढकती हुई नाक के दोनों ओर से उसके गालों की तरफ मुड़ी हुई थीं.फिर वो धीरे धीरे अपनी चूत मेरे लंड पर आगे पीछे स्लिप करने लगी घिसने लगी.

कॉम पर यह मेरी पहली फैमिली सेक्स स्टोरी है जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपने मामा की बेटी को उसकी शादी के कुछ दिन पहले चोदा. बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो फिर मैं बाहर निकला और मेरा फ्रेंड अन्दर घुसा और वो भी सीमा को चोद कर बाहर निकल आया.

संजय- हा हा हा उनको क्या पता वो नसीब वाला तेरा मामा ही है हा हा हा.

बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो?

नौकरानी- तो क्या हुआ… मैं हूँ तो एक औरत ही ना… और औरत को भी तो तन की भूख लगती है, मुझे अपनी भूख मिटानी है बस!मैं- अरे… तो आपके पति?नौकरानी- वो साला गांडू निकला, उसे मर्द पसंद आते हैं, वो बस हिजड़ों के बीच में घूमता है!मैं- तो आपको चोदता कौन है?नौकरानी- तुम जैसे नए लड़के जिनको चूत चाहिए होती है. दर्द के मारे मेरी तो आवाज ही बंद हो ग़ई थी, आँखों से पानी बह रहा था. फ़िर जब वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने एक जोरदार झटका दिया और मेरा आधा लंड उनकी चूत में घुस गया.

मैंने जब देखा तो उसका लंड जो कि 8″ का लम्बा था, पूरा का पूरा मेरी बहन की चुत के अन्दर जा चुका था. पर जब ऋतु बोली- अगर तुम्हें लगे कि यह ‘शो’ अच्छा नहीं हैं तो तुम पैसे मत देना. मौसी थोड़ी से पीछे को हुई, तो मैंने उसके दोनों बोबे पकड़ लिए और खूब ज़ोर से दबाये, जितना मुझे जोश आता, मैं उतनी ज़ोर से दबाता.

तब मामा ने अपने दोनों हाथ से मेरे दोनों चूतड़ कस कर पकड़ कर फैला दिए और मेरी गांड के छेद को जीभ से सहलाने लगे. मेरे गले पर किस करने लगा, मेरे मम्मों को जोर-जोर से दबाने लगा।मैं पागल होने लगी क्योंकि ये सब कुछ मेरे साथ पहली बार हो रहा था। मेरे भाई ने मेरी नाईट ड्रेस को उतार दिया और मुझे ब्रा और पेंटी पर कर दिया। इसके बाद मेरे भाई ने मुझे चूमते हुए मेरी ब्रा भी उतार दी और मेरे मम्मों को चूसने लगा। कभी-कभी वो मेरे निप्पल को काट भी लेता. मैं- दीदी, मुझे तुमसे कुछ पूछना है?सीमा- हाँ पूछो?मैं डर भी रहा था पर हिम्मत कर के बोला- ये सब क्या हो रहा है, तुम्हारे रूम एक किताब मुझे मिली थी.

पूजा उल्टे पाँव उसके पास आ गई। जब वो बैठने लगी संजय ने उसका स्कर्ट ऊपर कर दिया और उसको कल की तरह बैठा लिया। अब लंड सीधे चुत से टकराया तो पूजा सिहर उठी।पूजा- इससस्स उफ़फ्फ़ मामू आपकी गोद में आज ये गर्म-गर्म क्यों लगा?संजय- तूने चड्डी नहीं पहनी ना इसलिए. मैं बोला- मैं अकेला नहाऊंगा क्या? आप नहीं नहाओगी?तो जमीला- चलो मैं भी साथ आती हूँ.

मैंने पास में ही होटल देखा और कमरा ले लिया। इस दरमियान हमारे बीच ज्यादा बात नहीं हुई। मैंने खाना आर्डर किया और तब तक हम दोनों फ्रेश हो गए.

फिर तुझे बताता हूँ।पूजा जैसे ही बेड से उतरी उसको चुत में बहुत दर्द हुआ.

उसका होंठ चूमना मुझे अच्छा लगा, मैंने मौसी का चेहरा पकड़ा और एक बार फिर उसके होंटों से अपने होंठ जोड़ दिये. मेरा मन तो कर रहा था कि मैं जाकर मेरी बहन की चुत में अपना लंड डाल के खूब चोदूँ. सोच ले, इससे अच्छी और भी पुस्तकें है मेरे पास तुझे वो भी चाहिए या नहीं.

भाभी मुस्कुरा कर बोलीं- क्या देवर जी क्यों ऐसे कन्डोम को निहार रहे हो? कभी इसका इस्तेमाल किया है या नहीं?मैं बोला- नहीं!तो भाभी बोलीं- करोगे?मुझे लगा कि भाभी मुझ पर फिदा हो रही हैं, तो मैं लंड सहला कर बोला- हाँ. बाक़ी बातें लंच के टाइम कर लेंगे।गोपाल सो गया और मोना अपने काम में लग गई दोपहर को भी यहाँ कुछ खास नहीं हुआ बस वही कामवाली को लेकर बातें हुईं।मगर दूसरी तरफ सुमन की जिंदगी में आज नया मोड़ ज़रूर आएगा. उसके मजबूत हाथ गांड पर लगते ही जैसे जन्नत का सुकून सा महसूस हुआ… और आगे से उसके लंड का टच होना इस अहसास को चौगुना कर रहा था.

बिल्कुल संतुष्ट!आज मैंने चार लड़कियों की चूत चाटी थी और पूजा ने मेरा लंड भी चूसा था और साथ ही साथ आठ हजार रूपए भी कमाए थे।अगले दिन जैसा मैंने सोचा था, उन सभी लड़कियों ने आकर मेरा लंड एक-एक करके चूसा और मेरा वीर्य भी पिया.

क्यों ना आज उसको बुला कर हम साथ में मज़ा लें?मेरी बात सुनते ही भाई ने झट से ‘हाँ’ बोल दिया।मैंने उससे कहा- तो चल तुझे अपनी तरह तैयार करती हूँ।मैंने उसको पूरा माल किस्म की लौंडिया जैसा तैयार किया, फिर उस डिलीवरी बॉय को कॉल करके आने को कह दिया।कुछ टाइम बाद डोरबेल बज़ी तो मैंने झट से भाई से कहा- तू साइड में छुप कर देख. फिर बोली- मुझे जरा काम से जाना है, तुम यहीं रुको, मैं बाजार से होकर आती हूँ. फिर घोड़ी बन गईं। मैंने भाभी की चुत पर लंड रखा और एक दमदार झटके से पूरा लंड भाभी की चुत के अन्दर गाड़ दिया।भाभी- हाइईइ क्या एंट्री है.

उसका खड़ा लंड देखकर मेरी हवस एक बार फिर से जग गई, मैं उसके लंड को चोरी छुपे देखने लगा, कभी खिड़की से बाहर झांकने के बहाने तो कभी बस में इधर-उधर देखने के बहाने…बार-बार नज़र उसके खड़े लंड पर जाकर टिक रही थी. अब उसके आगे:चूंकि पूजा को अब यही रहना था तो उसको अलग कमरा दे दिया गया. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि पूजा की छोटी सी बुर संजय का मोटा लंड सहन नहीं कर पाई और वो चिल्ला पड़ी.

मैं अपने घर आ गया और अगली रात का वेट करने लगा। अगली रातहम दोनों ने जी भर के चुदाई की। उनकी चुत सूज गई और मेरे लंड में दर्द होने लगा। सुबह 4 बजे हम थक-हार के बातें करने लगे। अब थोड़ी देर में मुझे निकलना था।भाभी- तू पिंकी को क्यों नहीं भाव देता?मैं शॉक्ड हो गया और बोला- वो तो अभी छोटी है, पर तुम क्यों ऐसा कह रही हो?भाभी- आज ढंग से देखना उसे.

उसको डिल्डो चूसते देखकर मेरे मुरझाये हुए लंड ने एक चटका मारा… जो ऋतु की नजरों से नहीं बच सका. बड़ी ज़ोर से उसके लंड का सुपारा चूत को भेदता हुआ बच्चेदानी में ठुकता और मेरी सीत्कार निकल जाती ;आहा आहा आहा आहा आहा करती हुई मैं मदमस्त होकर किलकारियाँ मार रही थी, चिल्ला रही थी- चोद चोद राजे… माँ के लौड़े… और ज़ोर से चोद कुत्ते… आहा आहा आहा… हाँ हाँ मेरी जान… फाड़ के रख दे इस हरामज़ादी चूत को…आहा आहा आहा.

बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो कहाँ निकालूं?तो उसने कहा- अन्दर ही डाल दे।मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और वो फिर से झड़ने वाली ही थी कि तभी हम दोनों साथ में झड़ गए. आबिदा ने बताया कि नदीम का लंड बहुत छोटा है, इतनी अंदर तक कभी गया ही नहीं जितना मेरा लंड उसकी चूत में गया.

बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो दोनों अंधाधुंध फ्लॉरा के दोनों छेदों को चोदने लगे। इधर इनको देख कर अजय का लंड फिर खड़ा हो गया मगर उसने कंट्रोल रखा क्योंकि वो जानता था दोबारा चुसवाएगा तो चुदाई नहीं कर पाएगा।इधर संजय और वीरू बाहर चले गए थे उनको बियर पीनी थी।करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद दोनों झड़ गए और साथ में फ्लॉरा भी झड़ गई। अब उसके जिस्म में बिल्कुल ताक़त नहीं थी. उसने मुझे ऊपर से नीचे तक देखा और बोला- कित तै आया सै बेटा (कहाँ से आया है बेटा)मैंने कहा- मैं बहादुरगढ़ से आया हूँ.

पूजा ने नोट किया कि ऋतु तो उसके ऊपर से उतर चुकी है फिर भी उसकी चूत पर किसी का मुंह लगा हुआ है तो वो झटके से उठी और मुझे देखकर उछल पड़ी और बोली- अरे तुम… तुम्म कब आये? और ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- नाश्ता!तभी ऋतु ने पूजा की तरफ देखकर कहा- चलो भैया का लंड चूसती हैं.

आदिवासी भाभी का सेक्सी वीडियो

सिर्फ़ दिक्कत अगर होती है भी तो सिर्फ़ प्राइवेसी और सेक्यूरिटी को लेकर ही होती है वरना कोई परेशानी नहीं होती. ’‘अच्छा चल जा अन्दर से थाली निकाल ला।’मैं जाते वक्त उनके कच्छे से उनके लंड को देखने लगी. यह इंडियन सेक्स कहानी आपको कैसी लग रही है, मुझे लिखें!चूतनिवास[emailprotected].

मगर बुर की दोनों फांकें ऐसे चिपकी हुई थीं जैसे इन्हें चाकू से काटकर खोलना पड़ेगा. तुम दोनों कोचुदाई का मौकामिलता है या नहीं?संजय- तू मौके की बात कर रही है, वो तो मेरे साथ मेरे बेड पे ही सोती है. काफ़ी देर तक वो उसे अलग-अलग तरीके से चोदते रहे और उन्होंने अनिता को इतना थका दिया कि उसकी हालत खराब कर दी.

अब आगे:सुबह उठ कर तैयार हुआ, दीदी ने मेरी ओर देख कर आँख मारी, फिर जाते समय माँ से छुप कर बोली- क्यों छोटू कैसे हो?और हंसने लगी.

बीच में एक दिन को ऋषिका का पति कुशल भी आया, वो भी स्मार्ट पर्सनालिटी का रंगीन तबियत का आदमी था तो तीनों ने साथ ही बाहर डिनर लिया… रात को देर तक तीनों गप्पें मारते रहे. फिर मामा ने मुझे स्लैब की ओर मोड़ कर झुका दिया, मैंने दोनों हाथ से स्लैब को पकड़ लिया, मामा फिर मेरे चूतड़ के पीछे से मेरी चूत सहलने लगे, मेरी चूत दोबारा से सूख चुकी थी, मामा जी ने नीचे झुक कर अपने दोनों हाथ से मेरे चूतड़ फैला कर गांड के पीछे से मेरी चूत चाटने लगे, मैंने भी और ज़्यादा झुक कर अपनी गांड फैला दी ताकि मामा आसानी से चूत चाट सकें और मज़ा लेने लगी. तो उसने चाय के लिए पूछा तो मैंने भी हाँ कर दिया।वो चाय बना कर लाई और हम साथ बैठ कर चाय पीने लगे। चाय पीते पीते उसने मुझसे पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने कहा- नहीं, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है।माधवी- क्यों कोई मिली नहीं या बनाया नहीं?मैंने कहा- नहीं, ऐसा नहीं है, मेरी दो गर्लफ्रेंड रह चुकी हैं लेकिन अब नहीं है.

साइकिल पर बैठते समय उसकी कुर्ती ऊपर चढ़ गई जिससे उसकी सफ़ेद सलवार के अन्दर से उसकी गुलाबी जांघों और सफ़ेद पेंटी की झलक मिली जिसे देखकर ही चित्त प्रसन्न हो गया. मैंने समय न जाया करते हुए मानसी को अपने बाहुपोश में कुछ ऐसा जकड़ा कि हम एक दूसरे के बदन के ताप को महसूस कर सकते थे. उसकी माँ का नाम भावना है जो दिखने में एकदम सेक्सी थी उनके बूब्स की तो क्या बात.

बस सेक्स ही सेक्स, आपको चाहिए भी यही था। चलो यहाँ थोड़ा ब्रेक लग गया है, मगर आपकी दोस्त आपके मज़े को बनाए रखेगी तो चलो मेरे साथ दूसरा सीन दिखाती हूँ।टीना और मॉंटी अपने अपने बिस्तर पर सो रहे थे मगर मॉंटी को नींद नहीं आ रही थी। वो इधर-उधर करवट बदल रहा था।टीना- क्या हुआ मेरा सोना. मैंने चूची को छोड़ कर अपनी पैन्ट उतार दी और लंड अपना लंड बाहर निकाल लिया, फिर उसकी साड़ी को खोल कर साया भी खोल दिया और लंड को गांड के दरार में सेट कर चूची को दबाने लगा.

उस दिन से तो हम सेक्स करने का मौका ढूढ़ने लगे, पर उसके टीचर होने की वजह से उसको छुट्टी नहीं मिल रही थी. दस बारह मिनट तक आंटी ने मुझसे चूत चटवाई और परम आनन्द प्राप्त करके वो शांत हो गई. ’ की आवाज़ों से उसे अपना और अधिक दीवाना बना रही थी।देवर भी पूरा जोश में आ गया, वो कभी मेरी चूत में लंड घुसेड़ता.

अब मैं चाची से खुल चुका था, मैंने कहा- हाँ मेरी रानी… तुम भी तो कमाल की हो!चाची जोर से हंसने लगी.

मैंने उसे अपनी बाहुओं में ले कर उसके गालों और होंठों चूमते हुए पूछा- क्या हुआ?अपनी आँखों से निकले आंसुओं को पोंछती हुई माला बोली- आपका बहुत लम्बा और मोटा है. यही सोचते हुए मैंने लंड से उसकी चूत पर तीन चार बार चपत लगाईं और उसके दोनों पैर ऊपर उठा कर घुटने उसके पेट की तरफ मोड़ दिए और एक तकिया उसकी कमर के नीचे लगा दिया जिससे उसकी चूत और अच्छे से मेरे सामने उभर गई. थोड़ी देर के बाद राजे ने करवट मेरी तरफ लेकर मेरा चेहरा प्यार से थाम लिया और फुसफुसाया- मोना रानी तूने बहुत मज़ा दिया चुदाई में… तू तो मेरी जान है मोनारानी… बहुत इश्क़ करता हूँ तेरे से!और फिर उसने मेरे होंठ चूम लिए.

मैंने चीखते हुए रोहित से कहा- और अंदर तक डाल अपने लंड को!रोहित ने भी अब मेरी जोरदार चुदाई शुरू कर दी, वो अपने गहरे और लंबे धक्कों के साथ मेरी चूत को चोद रहा था।कुछ देर की जोरदार चुदाई के बाद मैं भी झड़ने को हुई तो मेरे मुंह से बस सिसकारियां ही निकल रही थी ‘आआआअह्ह्ह. आंटी ने कहा- अब रहा नहीं जाता, मेरी चूत को चोद डालो!मैंने आंटी को कहा- मेरा पहली बार है.

फिर अपने लंड के सुपारे को पूजा की चूत पर रगड़ने लगा ताकि उसकी चूत में चिकनाई आ जाए. अब रफीक सबीना की चूत चाटते हुए और चूसते हुए उसकी गांड का छेद भी चाटने लगा, सबीना सिसकारियाँ भरने लगी. पिछले एक साल का समय तो मैंने जैसे काट लिया था पर अब, जबकि मैंने मानसी के हुस्न का दीदार कर लिया था और उसकी गर्मी को महसूस कर चुका था, मेरे लिए रुकना असंभव सा प्रतीत हो रहा था.

सेक्सी चुदाई ओपन

तब तक तुम मेरे लिए चाय लेकर आओ।मोना चाय बनाने चली गई और काका पुराने ख्यालों में खो गया।ये दोनों कुछ सोचें.

मेरी अकेले में फटती है।मैं तो खुश हो गया क्योंकि वो भी मेरे जैसी चुदक्कड़ थी।हम दोनों की खूब जम रही थी।जब हम खेत के रास्ते में जाने लगे थे. तो मैं चला जाता हूँ फिर तू ही सारी रामायण सुना दे।विक्की- सॉरी यार. आंटी की चुदाई मेरी आँखों के सामने घूमने लगी। मेरे सोचने मात्र से मेरे मम्मे टाईट होने लगे और बदन में झुनझुनी होने लगी। मेरा दिल हो रहा था कि अपने पूरे कपड़े उतार कर उनसे चुद लूँ।अभी मैं यही सोच रही थी कि उनकी नजर मेरे पर पड़ गई।‘कौन सुमन.

बाकी काम मैं जानता था और एक तेज धक्के से मैंने अपना सात इंच लम्बा लंड उसकी गर्म चूत में डाल दिया. इस बार प्लान हमने मनोज के घर का बनाया क्योंकि मेरे घर में छुटियों की वजह से कोई न कोई आता रहता है. एचडी में बीएफ वीडियो हिंदी5 इंची लंड को देख उनके मुँह से आह निकल गई- मस्त लंड है यार!इतना बोल कर भाभी ने लंड को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगीं। मैंने भाभी से ये बिल्कुल भी उम्मीद नहीं की थी। उन्होंने अच्छे से मेरा लंड चूसा-चाटा.

तभी वो मुझे धकेलने लगी, बोलने लगी- प्लीज बाहर निकल दो, नहीं तो मैं मर जाऊँगी. कुछ देर बाद मुरुगन ने मुझे घोड़ी बना कर भी चोदा और इसके बाद मैंने उनके मूसल लंड की सवारी करने की इच्छा जताई तो मुरुगन ने मुझे अपने लंड पर बैठा कर मेरी दम से चुदाई की.

मेरी एक मौसी थी जिसकी दोनों टाँगों में पोलियो हो गया था और वो हमारे साथ ही रहती थी, क्योंकि पोलियो की वजह से उसकी शादी नहीं हो पाई थी. अब मैंने उसके मम्मों पर हल्का सा हाथ फेर दिया, वो उठने लगी और मैं जल्दी से जाकर बिस्तर पे लेट गया. फ्लॉरा ने तो जॉन के मुँह की बात छीन ली, वो भी कुछ ऐसा ही सोच रहा था.

अभी मेरा नहीं निकला है।भाभी- नहीं अक्की मैं थक गई हूँ प्लीज़ छोड़ दो. जैसे ही मैंने चूत से लंड बाहर निकाला मेरा वीर्य उसकी चूत से निकलता हुआ उसके पटों पर बहने लगा. और निशा भाभी की आहें और सिसकारियाँ भी गूँज रही थीं।भाभी- ऊओह अक्की लव यू जानूउऊउउ.

अगर मेरी ये चाहत पूरी हुई तो जरूर लिखूँगा, पर जो मैं अभी सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ उसका मजा लीजिएगा.

उसने मेरी बहन के कंधे पर हाथ रख कर उनकी चूचियों को दबाने के लिए जैसे ही हाथ को नीचे किया, मेरी बहन मुस्कुराते हुए बोलीं- अभी से क्यों बेचैन हो रहे हो, अभी तो पूरी रात बाक़ी है. रफीक- आज तो मेरे मस्ताना की चमड़ी उतार दूँगा अपनी गांड से पूरा रस भी निचोड़ लूँगा.

अंत में जब वो धराशायी हुई तो उसका पूरा बदन कांपने लगा और शरीर ढीला हो गया. थोड़ी देर बाद मैंने पोजीशन बदलने की सोची, मैंने पूजा से कहा- बाबू तुम घोड़ी बन जाओ. मैंने नजर घुमाई तो पाया की बाकी सभी लड़कियाँ, पूजा और ऋतु भी… अपना मुंह फाड़े मुझे चूत चाटते हुए देख रही थी और उनका एक हाथ अपनी अपनी चूत पर था.

कुछ देर बाद उठकर वह बाथरूम जाने लगी तो मैंने ध्यान से उसके जिस्म को देखा. जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ।मेरा नाम सौरभ है, मेरी उम्र 27 साल की है, मैं यूपी का रहने वाला हूँ लेकिन अभी मैं दिल्ली में रहता हूँ। मेरे घर में पापा-मम्मी भाई-भाभी और एक भतीजी है। मेरी एक छोटी सिस्टर सोनी भी है. बोल बताऊं?पूजा- सच मामू ऐसी बात है तो बताओ?संजय ने कुछ टिप्स पूजा को बताए, जिसे सुनकर वो बहुत खुश हो गई और उसके चेहरे पे मुस्कान आ गई.

बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो योनि में हो रही संकुचन और टांगों में हो रही कंपन के कारण चाची खड़ी नहीं रह सकी और बिस्तर पर लेट गई. मैंने अपना लौड़ा रुचिका के मुंह के पास कर दिया तो रुचिका भी मेरे लौड़े को अपने गुलाबी होंठों में लेकर चूसने लगी, वो मेरे ट्टटों से लेकर लंड की टोपी और उसकी टोपी के अंदर अपनी जीभ से लार टपका टपका कर इतना अच्छे से लंड को चूस रही थी कि मुझसे बर्दाश्त करना मुश्किल हो रहा था और मेरी सिसकारियाँ तक निकल गईं.

ब्लू पिक्चर सेक्सी फिल्म हिंदी में

डिनर में मैं पूरी सज धज के साथ शिफान की नीले रंग की साड़ी पहन कर गई. उसे भी ये चीज़ पसंद आ रही थी इसीलिए वो अपनी टांगों को बिल्कुल मेरी पीठ पर घेर कर खुद को और मेरे लंड पर दबाने लगी. मैंने पूछा- मैंने भी तुम्हें डिल्डो को अपनी योनि में डालने के बाद चाटते हुए देखा है… क्या इसका स्वाद तुम्हारे रस से अलग है?ऋतु ने कहा- हाँ… थोड़ा बहुत… तुम्हारा थोड़ा नमकीन है… पर मुझे अच्छा लगा.

अगले ही क्षण उसका फौलादी लौड़ा दनदनाता हुआ मेरी चूत में घुस गया, घुसा क्या घुसता ही चला गया मानो बच्चेदानी को मेरी छाती तक धकेल के ही रुकेगा. कभी फ्लॉरा कीचड़ में जोर से पैर मारती और जॉन को गंदा करती, तो कभी जॉन ऐसा करता. कुंवारी लड़की का बीएफ हिंदीअब उसने दोनों हाथों से मेरी गांड के पाटों को अलग करते हुए मेरे छेद में उंगली डाली और अंदर बाहर करता हुआ सिसकारियां लेने लगा.

उन्होंने बेसिन में झुक कर मुँह साफ करने का प्रयास किया। मैंने उनको अपनी तरफ मोड़ा तो वो विरोध करने लगीं।आंटी- ये ग़लत है.

लेकिन एक शिकायत यह है कि आपका लिंग बहुत लम्बा है और जब वह मेरी गर्भाशय की दीवार से टकराता है तो मेरे जिस्म में एक झुरझुरी सी उठती है जिससे पूरे शरीर हलचल मच जाती थी. तभी मैं उसके पास गया और धीरे धीरे उसके शरीर में हाथ फेरने लगा और उसके साथ ही बेड पर लेट गया.

जो बहुत टाइट कपड़ों में अपने मम्मों को जकड़े हुए थीं। वे आंटी अपने मम्मों को और ज्यादा टाइट करके हम दोनों से मिलीं।सच में उनके बहुत बड़े-बड़े चूचे थे। जब वो पलटीं तो उनकी गांड. तो एक जोरदार धक्का दे मारा और मेरा लंड भाभी की चुत में जड़ तक धंसा दिया।भाभी के मुँह से चीख निकल गई, वो दर्द से ऊपर सरक कर बोलीं- ऊउउइईईई माँआ मारेगा क्याआअ. उसकी पेंटी के पास आ गया और पेंटी के ऊपर से ही उसकी चुत को सहलाने और किस करने लगा। फिर मैंने उसकी पेंटी उतार कर एक साइड में फेंक दी और उसकी चुत पर एक प्यारा सा चुम्बन किया और उसकी चुत के दाने को चाटने लगा।वो- आआहह.

तो मेरी फ्रेंड ज्योति शाम को मेरे घर पर आई।उसने पूछा- आज कॉलेज क्यों नहीं आई? तो मैंने उसे रात की सारी बात बताई.

अब तुम्हारा कुंवारापन ख़त्म हो गया, अब तुम्हें चुदने में कम दर्द होगा।इस पर वो हल्के से मुस्कुराई, और मैं अपने लंड को आगे-पीछे करने लगा। उसकी चुत से खून निकल रहा था तो मैंने अपना लंड उसकी चुत में ही रख कर उसकी ही चड्डी से खून साफ़ किया।फिर लंड आगे-पीछे करके उसे ट्रेन के इंजन की तरह चोदने लगा। करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गई, उसकी चुत पानी से भर कर और भी मस्त हो गई।मैं अभी बाक़ी था. मैंने आंटी की साड़ी ऊपर कर दी और नीचे उनकी पैंटी के ऊपर से चूत पर हाथ फिराने लगा. ऋतु ने भी कहा कि क्यों न वो अपनी दूसरी सहेलियों को भी मेरा हस्तमैथुन करता हुआ शो दिखाए या फिर मैं उसकी सहेलियों की चूत चाटूं!मैंने कहा- मुझे इसमें कोई आपत्ति नहीं है.

सेक्सी बीएफ दिखाएं हिंदी में बीएफअन्दर आते ही पूजा ने ऋतु से बड़ी अधीरता से पूछा- तुमने उससे क्या कहा? कैसे पूछा?ऋतु- वही जो हमने तय किया था. तब कहीं जाकर मोना को समझ आया कि माजरा क्या है। वो काका के लंड को सहलाने लगी।मोना- इसी लिए आज ये इतना अकड़ा हुआ है.

सनी लियोन की सेक्सी वीडियो चुदाई

मैं उम्म्ह… अहह… हय… याह… उउफ्फ़ कर रही थी… मुझे भी मज़ा आने लगा तो मैंने भी दीदी के कपड़े उतार दिए और पूरी नंगी कर दिया. इस अचानक हुए एक्शन से उसका निप्पल मेरे मुख से निकल गया और वो उठ कर साइड मेरे अंडरवियर की ओर आई और बोली- मुझे माफ करना, पर आज मैं अपनी सभी फंतासी तुमसे पूरी करुँगी. फिर ऋतु ने पूजा की तरफ देखते हुए कहा- पूजा, जरा दिखाओ तो इनको कि ये कितना मजा देता है.

अमीर खानदान होने के कारण खूब खाती पीती और ऐशो आराम से रहती थी तो उम्र का पता नहीं चलता था। उसके बूब्स ऐसे कसे व बड़े-बड़े थे कि जैसे किसी ने एक एक किलो के दो पपीते ब्लाउज में छुपा रखें हों लेकिन उसकी बाहर को उभरी हुई गांड भी कुछ कम नहीं लगती थी. क्लासमेट की गांड मारी: मेरी गे सेक्स स्टोरी-2अब रामू को मैं लगभग रोज़ ही चोदता था। चूँकि उससे मुझे अपना लंड चुसवाने में बहुत मज़ा आता था. मगर मज़ा बहुत ज़्यादा आ रहा था… मेरी गीली चूत कुछ ही देर में लंड को आसानी से अंदर बाहर करने लगी और पूरा लंड मेरी चूत में चला गया.

वो आगे बोली- लेकिन वो भी पहली बार सिर्फ तुम्हारे लिए… तब तुम अपने दोस्तों को नहीं बुलाओगे… फिर बाद में हम तय करेंगे कि आगे क्या करना है. फ़िर भाभी बोलीं- बाप रे इतना मोटा लंड!दोस्तो शायद मुठ मारने के कारण मेरा लंड कुछ बड़ा हो गया है. जोश में मैं बड़बड़ाने लगी- अहाहा हहाहय ऊऊहयहा… मेरी जान… और ज़ोर से चोदो मुझे… और ज़ोर से… उम्म्ह… अहह… हय… याह… फक मी… फक मी!मेरी बातें सुनकर पीटर को भी जोश आ गया और उसने अपने एक हाथ का अंगूठा मेरी गांड के छेद में घुसा दिया! मुझे तो मुँह मांगी मन्नत मिल गयी.

और अबकी बार जो उसकी जांघें सिकुड़ी तो मेरी हथेली सीधे योनि के ऊपर थी।‘ओय. अगले दिन सुबह ऋषिका बिलकुल फ्रेश थी… सन्डे था पर रयान को आज भी बैंक जाना था.

जमीला ने सबीना से आइसक्रीम लाकर जमीला की चुचियों पर डालने को कहा तो सबीना आइसक्रीम निकल लाई और काफी सारी आइसक्रीम जमीला की चुचियों और मस्ताना के टोपे पर गिरा दी.

दीदी ने अपना एक हाथ मेरी चुची पर रखा और ब्रा से बाहर निकाल दिया और अपना मुख मेरे निप्पल पर ले जा कर चाटने लगी. बीएफ फिल्म वीडियो में देखनाअब किया तो मैं मर जाऊंगी।संजय- डर मत जानेमन मैं इतना बेरहम नहीं हूँ. जबरदस्त का बीएफसुमन- नहीं पापा, मुझे कुछ नहीं चाहिए बस मेरे लिए आपका प्यार ही बहुत है. चल मुझे बिस्तर पर ले चल, वहाँ रगड़ के चोदना!’मैंने चुदक्कड़ मैडम को गोद में उठा लिया और बिस्तर पे ले गया.

हम दोनों ने उसके जिस्म के खूब मज़े लिए। फिर गोपाल ने उसकी सील तोड़ी.

वो खाट के सिरहाने के पास खड़े होकर अपना लंड ऊषा आंटी को चुसवा रहे थे। अंकल का लंड काफी गोरा और लंबा था और उनका हाथ आंटी की चुत को गर्म करने में लगा था। वो चुदाई में इतने मस्त थे कि कोई खड़ा है. दोनों लड़के पूरी तन्मयता के साथ गांड का भक्काड़ा बनाने में लगे हुए थे. बोलीं- मैंने तुम्हारे भैया का कभी मुँह में नहीं लिया है।फिर मेरे मनाने पर भाभी मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने चाटने लगीं। फिर हम 69 की पोजीशन होकर एक-दूसरे का गुप्तांग चूसने-चाटने लगे।बस 5 मिनट के बाद भाभी बोलीं- अब मत तड़पाओ।मैंने अपने लंड को भाभी की चूत पर रखा और जोर से धक्का मारा,भाभी की चूत में लंडघुसने से उनके मुँह से चीख निकल गई, भाभी बोलीं- आह.

कुछ देर में आंटी गर्म हो गई और मेरा सर पकड़ के अपनी चूत पर लगा दिया मैंने आंटी की चूत चाटना चालू कर दिया. जब गुलशन ने लंड बाहर निकाला, तो वीर्य के साथ बहुत सा खून भी बाहर आ गया. रफीक- आहहहह… यार राजेश मेरी गांड फाड़ दी उम्म्म… साले तेरा लण्ड है या मूसल?थोड़ी देर रुक कर जब रफीक थोड़ा रिलेक्स हुआ तो मेरे लण्ड पर उछलने लगा.

सेक्स वीडियो मोटी का

मेरी एक कजिन सिस्टर थी, आज से दो साल पहले उसकी शादी थी, तो हम शादी में गए थे. दिव्या चुपचाप मेरे पास आई और उसने मुझे गले से लगा लिया और मेरे होंठों को एक प्यारा सा किस करते हुए कहा- आई लव यू राज!मैं तो सोच भी नहीं सकता था कि आज ऐसा होगा. तभी मैंने दूसरा झटका मारा और मेरा लंड उनकी बच्चेदानी से जाकर टकरा गया.

मैं भी चुदास की भीषण अग्नि में सुलगती हुई चिल्लाई- चोद दे मादरचोद चोद दे… दिखा दे मेजर साहिब को अपने लंड की पावर… ज्योति से बड़ा सुना तेरे चोदन का… आज देखूं तो सही कितनी जान है तेरे लौड़े में!तब तक फरीदा भी बाथरूम से अपना चूतप्रदेश साफ करके आ गई थी और सुमित ने उसको अपनी जांघों पर बिठा लिया था.

यह मेरे लिए ग्रीन सिग्नल था, मैंने अपने घुटनों को ठीक से जमाया और उसकी चूत को ठोकना शुरू किया.

और मैं उसका हाथ पकड़ कर स्कूल के पीछे एक कोने में खींचते हुए ले गई और वो मुझे ‘अरे अरे. अब चाची जोरों से चिल्ला रही थी- आअहह आहह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… अशोक आययई ह्ह्ह्ह मेरे ग्ग्ग्ग गांड में सूऊ सुर सू सूऊ सुरसुराहट हो रही आह है… रुक मत और ज़ोर से पेल ईई ईई आहह…‘मज़ा आ रहा हैं चाची?’ मैं बोला. कुंवारी लड़कियों की सेक्सी बीएफ फिल्मलगता है संदीप ने इन दोनों को भी मुझे अपने लंड चुसवाने के लिए पहले ही बुलाया हुआ है। मैंने सोचा- हिमांशु, अब तो तू भगवान भरोसे है… रात को ना तो कोई साधन है और ना दूर-दूर तक कोई आदमी…संदीप जाकर उनके पास बैठ गया और उसने भी अपनी शर्ट निकाल दी और बनियान भी… संदीप का बदन बनावट में उन दोनों से दोगुना भारी था… उसकी छाती उठी हुई और डोले भी काफी मोटे और मजबूत थे.

वो बोलीं- मैंने कब मना किया? तुम बिल्कुल फ्री हो, जो चाहो करो!फिर हम दोनों 69 की पोजीशन में होकर एक-दूसरे का आइटम चूस रहे थे. अब याद आया मुझे!’‘अंकल जी मैंने सोचा है कि एक बार वो भी ट्राई करके देख लूं जो आप कह रहे थे…’ वो बड़ी मुश्किल से कह पाई. मैंने पूछा- कहाँ तक जाना है?‘मुझे कुछ किलोमीटर दूर एक छोटा सा गाँव है.

मैं उसे बोल रही थी- थोड़ा धीरे धीरे करो!पर वो तो मेरी जम कर चुदाई कर रहा था, उसका लंड मेरी चुत में बिल्कुल टाइट फिट था, अब मुझे भी मज़ा आ रहा था, मैं भी अपनी गांड आगे पीछे कर के चुदाई का मज़ा ले रही थी!आकाश अब झड़ने वाला था तो उसने मुझे सीधा किया और मेरी चुचियों पे अपना सारा माल निकाल दिया. वहीं साथ पढ़ाई करेगी।हेमा- मगर बेटी, तेरे अंकल भी नहीं हैं। तुम दोनों यहीं पढ़ाई कर लो ना?टीना- वो आंटी, मॉम बीमार हैं.

मैंने ये बात सोची ही नहीं, तुझे कैसे ये बात सूझी?पूजा- आप भूल गए उस दिन मेरी चुत फाड़ी थी, कितना दर्द हुआ था.

जो कि हमने बारी-बारी से एक-दूसरे की सिर्फ़ पेंटी उतारी लेकिन ब्रा नहीं उतारी।हम दोनों हील पहन कर ही रखी थीं और विग और स्टॉकिंग भी पहने रहे थे। उसने मुझे बेड पर लेटाया और खुद मेरे ऊपर लेट गया। हम दोनों की साँसें एक-दूसरे की साँसों से मिल रही थीं। उसने लिपस्टिक के ऊपर लिपग्लॉस लगा रखी थी. आलोक, स्वाति और अनिल बाहर हमारा ही इंतज़ार कर रहे थे… क्योंकि रोहित की तबियत ठीक नहीं थी तो मुझे भी उसकी देखभाल के लिए वही रुकना पड़ा।सब लोगों के जाने के बाद रोहित मेरे ही रूम में आ गया. एक बार तो मेरी जान हलक में आ गई कि आज मर ही जाऊंगी, इस साले बुड्ढे का बड़ा लंड तो मेरी चुत का भुरता बना देगा.

पाकिस्तानी सेक्सी मूवी बीएफ चोट मार देनी चाहिए।मैं उनके पीछे से आया और उनके दोनों चूचों को पकड़ कर मसलने लगा।पहले तो उन्होंने मेरा हाथ हटाने की कोशिश की. मैंने सोचा था कि जब शालू के साथ ऐसा चुदाई का कोई मौका मिलेगा तो उसको ज़रूर गिफ्ट करूँगा.

और मुझे क्यों बुरा लगेगा, आपने मदद का ही कहा है।सुधीर- मुझे भी तुम ही कहो, इससे नज़दीकियां बढ़ती हैं।मोना- अच्छा ये बात है तो चलो आज नज़दीकियां बढ़ा ही लेते हैं, मुझे भी तुम अपना टेलेंट दिखाओ।सुधीर- ओह. आमतौर पर लड़कियों के चूचे जहाँ होते हैं, उससे थोड़ा सा और ऊपर जैसे उन्हें अलग से चिपकाया गया हो. भाबी को भी मज़ा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगीं। भाबी मादक आवाजें निकालते हुए नीचे से अपनी गांड उठा कर झटके दे रही थीं ‘सस्स्स्शहिईई.

फुल हड हिंदी बफ

मेरठ से एक औरत, जिसकी उम्र 28 के आस पास होगी, चढ़ी, वहाँ से दो तीन कपल और चढ़े, वो सब एक साथ सीट लेकर बैठ गए क्योंकि काफी सीटें खाली थी. जब मैं अंदर घुसा तो ऋतु दरवाजे के पीछे छुपी हुई थी और मुझे पीछे से पकड़ कर मेरी पीठ पर चढ़ गई और मुझे पीछे से चूमने लगी. अतः कुछ दर्द हुआ। फिर उसने मुझे औंधा कर दिया और मेरे ऊपर चढ़ बैठा। वह मेरे से लम्बा और मजबूत मर्द था। उसके गांड मारने के अंदाज से लगता था कि पुराना खिलाड़ी है। फिर उसने धीरे-धीरे पूरा लंड पेल दिया।मैं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ कर रहा था। बगल वाले अब जाग गए थे और मेरी गांड मराई का लेटे-लेटे आनन्द ले रहे थे.

अच्छे भले कपड़े तो हैं अब ओल्ड क्या और न्यू क्या?सुमन- पापा व्ववो मुझे ज्ज. पूरा कमरा हमारी कामोत्तेजना से और कामुक आवाज़ों से आनन्दमय हो रहा था.

उसका क्या हुआ?टीना- सालों, सबके लंड लेकर मैंने देख लिया है। अब एक साथ सब करोगे तो मेरी हालत पतली हो जाएगी और वैसे भी इस पिद्दी को छोड़ के तुम चारों के लंड बड़े पॉवर वाले हैं, ना बाबा मुझे अपनी चुत फड़वानी है क्या?अजय- चुत तो तेरी तभी फट गई थी जब संजय ने तुझे पहली बार चोदा था अब कैसा डर.

परन्तु चार पांच दिन बाद जब वह बाजार में मिली तो उन्होंने मुझे कहा कि मेरे क्लिनिक पर आकर दिखाओ नहीं तो दोबारा दर्द हो जाएगा और पेशाब बंद हो जाएगा. वो अभी नहीं, अगर किसी मर्द के साथ करूँगी तो वो फिर बिना चोदे नहीं रहेगा, मॉंटी को तो कैसे भी रोक सकती हूँ मैं. पहले दरवाजा तो लॉक करो।मैंने झट से दरवाजा लॉक किया और आंटी को उठाकर बेड पर लिटा दिया। अब तक शाम के 7 बज गए थे.

अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि टीना अपने भाई मॉंटी के लंड की मालिश कर रही थी।अब आगे. गुलशन- अरे फिर पापा… तुझे कैसे समझाऊं, मैं तुम्हारा पापा नहीं हूँ और इसको देख कर तेरी माँ तो बहुत खुश हुई थी, तूने भी देखा होगा वो मुझसे शादी के बाद कितनी खुश रहती थी. यह सुनते ही तुरंत मैं कपड़े निकालकर नंगा होकर 69 पोजीशन में आ गया और हम 5 मिनट के अन्दर डिस्चार्ज हो गए.

पूजा झटपटाने लगी पर ऋतु ने उसके होंठ जकड़े हुए थे तो उसकी सिर्फ गूऊऊओ… गूऊऊऊऊ… की आवाज ही सुनाई दी.

बीएफ पिक्चर भेजो सेक्सी वीडियो: मैं- आप चित लेट जाइये… मैं चेक कर के देखता हूँ, दर्द कैसे हो रहा है. मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी और मेरे मुंह से सिसकारियाँ निकल रही थी, मुझे तो खूब मजा आ रहा था.

दोस्तो वो इतने प्यार से मेरा लंड चूस रही थी कि मैं बयाँ नहीं कर सकता. फिर मैडम नीचे से कमर उठाने लगीं और मुझे जोर से पकड़ कर दबाने लगीं, बोलीं- अशोक ओह ओह ओह अशोक, अब मैं झड़ने वाली हूँ. आप सबने मेरी पिछली कहानियों को बहुत पसंद करा, मैं आप सबका दिल से धन्यवाद करती हूँ! और जो दोस्त मेरी कहानी पहली बार पढ़ रहे हैं, वे मेरीपिछली xxx हिंदी स्टोरीजरूर पढ़ें और मज़ा लें.

टीना के साथ-साथ सब हंसने लगे।साहिल- टीना ये क्या फिल्मी डायलॉग मार रही थी तू?टीना- अरे मजाक यार.

उसकी फैलती हुई टाँगें बता रही थीं कि लड़का उसकी चूत को सहला रहा है, वो होठों को दबाती हुई इस क्रिया का आनन्द ले रही थी. कितना दर्द हो रहा है।संजय- अरे आज ठीक से चुदवा ले, सारा दर्द हवा हो जाएगा। फिर तू रोज मज़ा लेना. पीटर रिया के मम्मे दबा रहा था, उसके निप्पल खींच रहा था जबकि रिया उसका लंड पकड़ कर आगे पीछे कर रही थी, उसके टट्टों को सहला रही थी.