एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन

छवि स्रोत,पंजाबी सेक्सी ऑडियो वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात मनाने का तरीका: एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन, मैंने कुछ कहना ठीक नहीं समझा और चुपचाप हाथ पीछे ले जाकर ब्रा का हुक खोल दिया.

अलार्म का सेक्सी

मैं उसके पास गया, वो बिना कुछ कहे मेरी बांहों में समाते हुए मेरे गले लग गई. लॉकडाउन में सेक्सी वीडियोतेरे ये गदराये बदन को मेरे जैसे ही आदमी की जरूरत है; कोई कमजोर आदमी तुझे खुश नहीं कर सकता!इतना कह कर मेरी चड्डी के ऊपर से मेरे गांड को सहलाते हुए बोले- आज तक कितनों से चुदी हो?मैं बोली- बस एक से ही!वो बोले- लगता है किसी गलत के हाथ में लग गई थी, तुमको जो मजा चाहिए वो दे ही नहीं पाया.

मोनिका मेरे लंड को घपाघप चुत में अन्दर बाहर ले रही थी और इस दौरान उसकी बस कमर हिल रही थी. सेक्सी एक्स एक्स एक्स वीडियो कॉमअब मैंने उसके पांव को फैलाया और उसकी जाँघों को अंदर की तरफ से चूमने लगा चाटने लगा.

बहुत ही भाग्यवान होते हैं वो लोग जिन्हें ‘पद्मिनी’ वर्ग की स्त्री का समीप्य नसीब होता है.एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन: पिंकी जोर से बोली- छीःवो दौड़ कर बाथरूम में जाकर वीर्य साफ करने लगी.

मुझे पता था कि अगर लड़की के साथ सेक्स का पूरा मजा लेना है तो उसको पूरी तरह से गर्म करना चाहिए.वैसे तो हम दोनों में काफी खुले तौर पर बात हो रही थी लेकिन अभी तक इतने भी नहीं खुले थे कि बात सेक्स तक पहुंच जाये.

सेक्सी एक्स एक्स एक्स वीडियो कॉम - एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन

आलिया मुझे प्यार से राजा कहकर बुलाती थी और मुझसे आलिया बड़ी होने पर भी मैं उनको प्यार से आलिया कहकर बुलाता था.वो मेरी चूत को चाट नहीं रही थी, बल्कि उसे खाने का प्रयत्न करने में लगी थीं.

वो बोले- ठीक है जाओ … लेकिन चॉकलेट खा लेना और एक अपनी दीदी को दे देना. एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन दोस्तो, अगर मेरी दीदी की बात की जाए, तो वो एकदम फिल्म हिरोइन तब्बू की तरह लगती थी.

फिर उन्होंने मुझे खाने वाली मेज पर सीधा लेटा दिया और खुद नीचे जमीन पर बैठकर मेरी चूत को चाटने लगे.

एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन?

कुछ देर बाद नार्मल बात करते करते वो भाभी मेरे बदन पर हाथ फेरने लगी. मैं नंगी उठ कर बाथरूम में चली गई, पर जब मैं बाथरूम से लौटी, तो दीदी गहरी नींद में सो चुकी थीं. मैंने लंड पर कंडोम लगाया और उनके एक चूचे को फिर से मुँह से लगा कर चूसने लगा.

वो बोला- क्या पता फिर मौका मिले ना मिले? बस तुम अपना दरवाजा अन्दर से बंद मत करना।मैंने कहा- ठीक है. तो मैंने सासू माँ से कहा की- मॅमा, आप यहीं रूको, मैं स्कूटी पकड़ती हूँ. ठीक है बेटा और पढाई बिल्कुल मन लगा कर करना, अब जाओ, तुम्हें देर हो रही होगी.

जैसी ही उसकी चूत पर गर्म टॉवल रखा गया तो वो एकदम से मुझसे लिपट गयी. मैं रोज अपनी प्यासी चूत को शांत करने के लिए इसमें टॉर्च डाला करती थी. मैं एक पल के लिए तो हड़बड़ा गई … पर दूसरे ही पल संभलते हुए कहा- आज एक सहेली का जन्मदिन है … आज उससे पार्टी लेनी है, हो सकता है आज कॉलेज से आने में देर भी हो जाए.

फिर वही बोली कि मुझे माफ कर दो जान … मैं आपको एक बात बताना चाह रही हूँ. पर स्नेहा का मुँह अभी भी दरवाजे की तरफ ओर था और उनकी पीठ मेरी तरफ थी.

उसकी चूत पर मैंने पीछे से लंड लगा दिया और एक ही झटके में पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

मैंने भाभी की टांगों को फैला दिया और उनकी टांगों के बीच में उनकी लाल हो चुकी फूली हुई चूत पर अपने लंड को रख दिया और लंड से उसको सहलाने लगा.

अब हम उपहार लेकर उसके दुकान से निकल गए और वो दूर तक हमें देखता रहा. यदि प्यार किसी और की अमानत है तो सेक्स की प्यास आप कहीं भी बुझा सकते हैं. तभी मैंने दीदी की एक सहेली का कमेंट्स पढ़ा- हां यार, शिवम तो तेरा ही है.

एक तो भैया का सुपारा इतना मोटा कि मेरे मुँह के अंदर पूरा आए ही मुश्किल से … और फिर जब हलक तक चला गया तो साँसें तो रुकनी ही थी।भैया को पता लगा कि मैं सहन नहीं कर पा रहा तो तुरंत मेरे मुँह से लंड निकाला और मुझे किस करने लगे।मैं लोड़े का स्वाद भूल पाता, इससे पहले ही भैया ने मुझे फिर से चूसने के लिए बोला. एक दो मिनट तक मेरी चूत को देखने के बाद उसने मेरी चूत को ऐसे ही देखने के बाद उसने अपनी लंबी सी जीभ निकाली और मेरी चूत में घुसा दी. दीदी अपना सर नीचे झुकाए बैठी रही … वो कुछ नहीं बोली … मैंने देखा दीदी का चेहरा पूरा लाल हो गया था … उस समय दीदी इतनी खूबसूरत लग रही थी कि अब मैं सोचता हूं.

मैं उसके उपर से ही उसे किस करने लगा और उनके बूब्स के निपल्स को निचोड़ता रहा।मैं थोड़ा नीचे आकर चाची के पेट को किस करने लगा.

तभी पड़ोस वाले शर्मा अंकल को देखा जो कि हमारे ही घर की तरफ आ रहे थे. कुछ देर बाद संगीता आ गई, मैंने उसका टॉप उठाकर चूचियां निकाल लीं और संगीता को अपने पैरों के पास जमीन पर बिठाकर अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया. यह कहकर उन्होंने जल्दी से अपना नाश्ता ख़त्म किया और वो ऑफिस चली गईं.

साथ ही मैं एक हाथ से उसकी चिकनी बुर को सहलाने लगा, इससे वो और भी पागल हो गई और चिल्लाने लगी … हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाने लगी- अब चोद दो राज … पेल कर गांड भी फाड़ दो राज … अब मत तड़पाओ प्लीज़ आह मां मार डाला … आह … आह जल्दी पेलो!पर मैं उसे तड़पाता रहा. वह घोड़ी बन गई, मैंने उसके पीछे आकर उसका पेटीकोट ऊपर किया तो देखा, अपनी चूत शेव करके आई थी. कुछ देर बाद मैंने नीतू को शावर के नीचे ही झुका कर घोड़ी बना दिया और उसकी चूत में लंड पेल दिया.

स्वीटी आंटी को मैंने चित लिटा दिया और उनकी चुत पर अपना लंड रख कर रगड़ने लगा.

राजन ने ममता के सर को अपने दोनों हाथों से पकड़ा हुआ था और अपनी ओर भींचा हुआ था. मन से मैं आज भी उसका हूं, जहां तक शारीरिक सुख की बात है तो वो बाहर से पूरा हो जाता है.

एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन मैंने कहा- भैया को अच्छा लगूँ … इसका क्या मतलब होता है?उन्होंने साड़ी अपने चूचों पर सैट करते हुए कहा- तुम नहीं समझोगे. उन पलों को सोचता हूं तो उसकी चूत के रस का नमकीन स्वाद आज भी मेरे मुंह में पानी ले आता है.

एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन ’ की चीख सुन कर मैं समझ गया कि अबकी बार दीदी की चुत में अंकल का लंड सही से चला गया. शर्मा अंकल मेरी मॉम की गांड पर थप्पड़ मारते हुए- चल मेरी घोड़ी!!मॉम- ऊउफ्फ्फ… शर्मा जी। आज देखिये आपकी ये घोड़ी आपको कितनी दूर तक सवारी करवाती है … आह्ह।शर्मा अंकल- ठीक है भाभी जी, चलिये शुरू करते हैं।अंकल ने मॉम की गांड के छेद में थूका और अपने लण्ड से थूक उनकी गांड पर मलने लगे.

मेरे इशारे को समझते हुए वो मेरी बांहों की कैद में आ गयी और अपने दोनों पैरों को फैलाते हुए बैठने लगी.

भारतीय कामसूत्र

मैंने जरा मूड में आकर पूछा थ, तो मालकिन फिर से सीधी होकर लेट गईं और साड़ी को नीचे लाते हुए झट से उठ कर बैठ गईं. इतवार का दिन था, ममता आज की छुट्टी ले चुकी थी, इसलिये मैंने खुद ही ब्रेड ऑमलेट बनाकर नाश्ता किया और चाय का मग लेकर ड्राइंग रूम में आ गया. मैंने ज्योति से पूछा- इतना ही हुआ या इससे अधिक कुछ हुआ है, मुझे सच सच बताओ? तभी मैं राकेश का सही इलाज कर पाऊंगा.

वैसे भी मेरी क्लास अगले हफ्ते स्टार्ट होगी।मैंने भी हाँ कह दिया।अब मुख्य कहानी प्रारम्भ होती है जिसकी मैंने कल्पना भी नहीं कि थी। लेकिन उससे पहले मैं उसके फिगर के बारे में बता दूँ कि उसका जिस्म 32डी-28-32 है।चूँकि हम दोनों थके हुए थे तो नींद भी आ रही थी लेकिन हुआ यह कि मेरे रूम में एक ही बेड था तो मैंने उसे कहा- तू ऊपर सो जा … मैं नीचे जमीन पर सो जाऊंगा. मैंने अपने तने हुए लंड को हाथ में लेकर हिलाते हुए भाभी को दिखाया और कहा- देखो, कैसे उतावला हो रहा है मेरा औजार आपकी इस प्यारी सी मुनिया (चूत) को एक बार फिर से प्यार करने के लिए. वो जब भी अकेले में मिलती थी, तो कभी मेरी चूची मसल देती थी, तो कभी चुत को सहला देती थी.

हम आपस में गुत्थम गुत्था करते हुए एकाकार होने का प्रयत्न कर रहे थे.

ठीक है बेटा और पढाई बिल्कुल मन लगा कर करना, अब जाओ, तुम्हें देर हो रही होगी. उसने मेरी टी-शर्ट को उपर उठा दिया और फिर मेरे गले और मेरी बाजू से निकाल कर अलग कर दिया. अंकल बोले- जल्दी बोलो … मैं अपना रस कहां निकालूँ?मम्मी बोलीं- मेरे अन्दर ही डाल दो.

15-20 मिनट मेरी इस तरह चुदाई करने के बाद राज अंकल ने अपना लन्ड मेरी चूत में, असलम अंकल ने मेरी गांड में और भानुप्रताप अंकल मेरे मुँह को चोदने लगे. जब तक लड़की का जिस्म खूबसूरत दिखता है, तब तक मर्द उस पर पैसे लुटाएंगे. तभी मेरे दोस्त ने एक लड़की से पूछा- प्रीति कहां है?उस लड़की ने कहा- बस वो आ रही है.

मैंने कहा- तो क्या आप कॉल गर्ल का काम करती हो?वो बोली- नहीं, मैं किसी के बुलाने पर नहीं जाती. कुछ देर बाद हम अलग हुए तो भाभी ने मेरे गाल पर चुटकी काटी और अपने कपड़े ठीक करके घर का काम करने लगीं.

सायरा ‘ओह पापाजी, ओह पापाजी’ कहती जाती।मेरा लंड भी अब फड़फड़ाने लगा था. वो कहने लगीं- बाबू तुम तो बहुत मजा देते हो … तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले. शायद अंकल मेरी तकलीफ को समझ रहे थे क्योंकि मैं अब दर्द और छटपटा रही थी.

मैं विक्की से बोली- अरे यार ये तो भारी प्रॉब्लम हो गई … उसने सब कुछ देख लिया है और अब वो मम्मी को बता देगा.

यह मेरा आजतक का सर्वश्रेष्ठ मुखमैथुन का अवसर था जिसकी लज्जत को मेरा रोम रोम महसूस कर रहा था. मैंने पूछा- मगर हुआ क्या?वो बोली- जब मैं खुद सब कुछ कर रही हूं तो तुम्हें इतनी जल्दी क्या पड़ी है. उनके घर सामान रख कर मैं भागने वाला ही था, तब भाभी ने आवाज़ लगाई और रुकने को कहा- रूको … मैं चाय बना कर लाती हूँ.

मैंने अपनी आँखें खोली तो देखा कि कोमल के बॉस और उनका दोस्त दोनों ही मेरे नंगे बदन से चिपके हुए हैं. मौसी की लड़की की चूत मुझे इस तरह से अचानक ही मिलेगी मुझे इसका यकीन नहीं हो रहा था.

भगवान तुम्हारे पति की आयु सौ साल करे! लेकिन हकीकत यह है कि तुम भी शारीरिक सुख से तो वंचित ही हो. हम दोनों ही सेक्स करना चाहते थे, पर कहीं जगह का जुगाड़ नहीं बन पा रहा था. इसी तरह किस करते करते हम खड़े हो गए और किस करते करते ही बेडरूम तक चले गए.

ब्लू देहाती सेक्सी वीडियो

मैंने मनु को दस बजे कॉलेज के बाहर मिलने को कहा था, पर कमीनी अभी तक नहीं आई थी.

एक जवान लड़की के कोमल हाथों में जब लंड गया तो मैं खुद को रोक नहीं पाया. अधिकारी- अरे नहीं सर आप 10 मिनट का टाइम दो, मैं आप का काम करता हूँ आप बाहर इंतज़ार करें. ये तुम्हारे लिए ही तने हैं … आह चूस लो इनको … सारा रस निचोड़ लो इनका.

हमेशा की तरह उसने मुझे फोन करके बुलाया तो अपने मीटिंग प्वाइंट पर पहुंच गई. इस दौरान उसकी नजर मेरे खड़े होते लौड़े पर थी और मेरी पिपासु नजरें उसकी मदमस्त चूचियों का आंखों से चोदन कर रही थीं. हीरोइन की सेक्सी चुदाईआप सभी ने मेरी पिछली सेक्स कहानीपहली बार गांड मरवाने की तमन्नापढ़ी थी और आप लोगों मुझे काफी सारे मेल भेजे थे, जिसके लिए आप सभी का शुक्रिया.

मैं उसे छेड़ते हुए- सिर्फ फुटबॉल देखते हो या कभी खेलते भी हो?उसने झेपते हुए कहा- हां! बचपन में थोड़ा थोड़ा!मैं जोर से हँसती हुई- बचपन में? हा हा हा!फिर मैंने दूसरा पेग बनाया और उसकी गोद में आकर बैठ गयी. मैंने देखा कि श्वेता ने अपने पैरों को मेरे पैरों के ऊपर रखा हुआ था.

हम दोनों बैड से जब नीचे उतरे तो देखा कि बैड पे जो चादर थी उस पर खून और वीर्य लगा था. मैं अपना लण्ड उसकी चूत के पास ले तो गया लेकिन उससे उसकी चूत को रगड़ने लगा. फिर धीरे धीरे मैंने उसके टीशर्ट को ऊपर किया और उसकी चूची को ब्रा में से निकाल कर चूसने लगा और वह शस्सश शहहह करने लगी.

मेरी पिछली कहानी थी-भोली मस्त लड़की की ऑफिस में चुदाईयदि आप नए पाठक हैं तो आप इस कहानी के ऊपर दिए गए मेरे नाम पर क्लिक करके मेरी सभी कहानियों को पढ़ सकते हैं. कुछ लोगों से पूछने पर पता लगा कि तूफान की वजह से आगे रास्ता बंद कर दिया गया है. मुझे थोड़ा दर्द का अहसास हुआ लेकिन थोड़ी देर में सब सामान्य हो गया, मैंने उसे अपने पैरों से उसको जकड़ लिया था.

मैंने चालाकी से उसके दोनों मम्मों की तारीफ की, तो बेध्यानी में चुत से हथेलियों को हटा कर उसने अपने दोनों हाथों से चुचियों को छिपा लिया.

मैंने कहा- थक कैसे गई यार … कहां गई थी तुम?संजू बोली- कहीं नहीं, आप आईये ना … सब बताती हूँ, पर खाना जरूर से लेते आईयेगा. मेरी दीदी एक ऐसी कुंवारी लड़की है, जिसे देखने के बाद एक बुड्डे आदमी को भी अपनी जवानी लौट कर आती महसूस होने लगती है.

मैंने पूछा- लेकिन आप तो कह रही थीं कि चाचा अब आपको नहीं चोदते हैं?वो बोलीं- मैंने गलत कह दिया था. मैं टीवी ही देख रहा था कि तभी अचानक 2 से 3 मिनट बाद उसका मेसेज आया- सोये नहीं?मैं बोला- नींद नहीं आ रही!आप लोगो को बता दूं मैं कि अभी तक कोई भी ऐसी बात नहीं हुई जिससे कुछ गलत समझा जाये. अब केला आधे से थोड़ा ज्यादा चूत में घुस चुका था और मैंने उसे वैसे ही रहने दिया.

मैंने पूछा- घर में कौन कौन है?तो उसने बताया कि घर में सब हैं, हस्बैंड है एक बेटा है. उस पर परमीत और मनु ने मुझे बार-बार संदीप के नाम से छेड़ कर और बेचैन कर दिया. इसके बाद उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे दोनों पैर अपने कंधे पर रख लिए.

एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन बाथरूम से वापस आती हुई पिंकी ने मुस्कुराते हुए विजयी भाव से मेरी तरफ देखा और मेरे चेहरे को हाथों में पकड़ कर फिर से एक गर्मागर्म चुम्बन शुरू कर दिया. मैं तैयार हो गया क्योंकि उनके और हमारे काफी गहरे संबंध थे, तो उन्होंने मुझे बुलाया था।हब मैं उनके घर गया तब वो मेरी ही राह देख रही थी.

भोजपुरी २०२१

उसी समय वो मेरे घर में आयी और मुझे आवाज देते हुए मेरे कमरे में आ गई. घंटे भर पार्क में बैठ कर बातें करने के बाद हम अपने अपने रास्ते हो लिये. इस बार मैंने मेघा से कहा ही नहीं और वो खुद ही मेरे लंड पकड़ कर चूसने लगी.

ऐसे भी मेरा गुस्सा दिखावे का था और अब उसके स्पर्श से मन में प्रेम तरंग हिलौरें मारने लगी. संदीप उतावलेपन में बेरहम हो गया था और मेरे लिए उसका बेरहम होना वरदान साबित हो रहा था. साउथ इंडियन की सेक्सीफिर मैंने बात को टालते हुए उसका ध्यान दूसरी तरफ खींचने की कोशिश की ताकि वो दोबारा से लंड चुसाई करने के लिए तैयार हो जाये.

मैंने झट से उनके स्तन अपने हाथों में पकड़ कर उन्हें कचाकच दबाने लगा.

इससे वो एकदम गनगना उठी थी और मुझसे चिपक कर मेरा सर अपने मम्मों पर दबाए जा रही थी. मगर अगली दो बार वो बिना कंडोम के चुदीं और माल झड़ने के समय मेरे लंड का सारा माल पी गईं.

संजू थोड़े विरोध के बाद मेरा साथ देने लगी, आखिर वो तो हमेशा इसके लिए तैयार रहती है. शायद डोली को खिड़की से दिख जाने से ये पता चल गया था और वो हमारी चुदाई को खुली खिड़की से देखती रही. उत्तेजना में मैंने लंड को कुछ ज्यादा ही अंदर घुसा दिया था उसके मुंह में.

अब हम वहाँ चार लोग ही बचे थे।मालिक के जाते ही उस अरबी ने मुझे इशारा किया और अपनी तरफ बुलाया।मैं धीमे कदमों से उसकी तरफ चल दी.

फिर मनु ने दुबारा से चूत को छूने के लिए जैसे ही हाथ बढ़ाया था कि दरवाजे पर दस्तक हुई और दीदी की आवाज कान में पड़ी. हम सब नंगे ही टेबल पे नाश्ता करने लगे।आखिर में मैम फ्रीज़ से आइसक्रीम लायी. मैं अंकल के ऊपर गयी तो अंकल ने अपना 9 इंच लम्बा विशाल लन्ड मेरी चूत में एक ही झटके में डाल दिया.

सेक्सी करिष्मा कपूरनिधि समझ गई कि उसके पतिदेव बहुत गुस्से में हैं और लवड़ा पकड़ कर मुठ मार रहे हैं … इसलिए इतने भड़के हुए हैं. रेखा को लेकर मैं बेडरूम में आ गया और अपने लण्ड पर कॉण्डोम चढ़ा लिया.

देसी औरत का बीएफ वीडियो

इस सेक्स से परिपूर्ण कहानी पर अपनी राय देने के लिए नीचे दिये गये मेल आईडी पर मेल करें. मैं आदी से बोली- क्या देख रहे हो?उसे ये बोल कर मैं आईने में अपने बाल संवारने लगी. मैंने बाथरूम के दरवाजे से कान लगा कर सुनने का प्रयास किया, मगर कोई ख़ास मालूम न हो सका.

वसुंधरा ने फ़ौरन मेरे दोनों हाथ खींच कर अपनी दोनों सुदृढ़ और उन्नत छातियों पर रख लिए और मेरे दोनों हाथ ऊपर से अपने दोनों हाथों से सख्ती से दबा लिए. मेरी जीभ चुभलाते हुए भी उसके हाथ निरंतर मेरी कमर और कूल्हों को सहला रहे थे और दबाने मसलने का भी पूरा प्रयास किया जा रहा था. मैंने उनको आगे बोला- जो ख़ुशी तुम्हें तुम्हारा पति नहीं दे पाया, मैं तुम्हें दूंगा.

वसुंधरा स्कूल-टूर पर दो-तीन दिन घर से बाहर रह कर आज ही घर आयी थी बल्कि मेरे आने से दो-तीन घंटे पहले ही घर आयी थी. यह देख कर अंकल ने दीदी के पेटीकोट को दूर फेंक दिया और इसके बाद उन्होंने दीदी के ब्लाउज को उतार दिया. हम लेटे हुए किस किए जा रहे थे और मैं दोनों हाथों से उसके चूतड़ मसले जा रहा था.

लेकिन उसके लिये मुश्किल यह थी कि वो लंड को चूत के अन्दर ले नहीं पा रही थी, वो लंड को पकड़ कर जब भी अन्दर डालने के जोर लगाती, लंड उसको चिढ़ाते हुए इधर-उधर फिसल जाता. इस सेक्स कहानी के शब्द जैसे-जैसे आगे बढ़ रहे थे वैसे-वैसे मेरे बदन का तापमान भी बढ़ने लगा था.

भाभी की चूचियों के निप्पल पहाड़ की चोटियों के जैसे तन कर खड़े हुए थे.

घुड़सवारी करने वाले को रोज मालिश करानी चाहिये ताकि टांगें मजबूत रहें. नेपाली सेक्सी फोटो वीडियोनौकरानी समझ चुकी थी कि मेरा और इनका क्या रिश्ता है।मैंने इनको दूर किया।तब ये बोले- तुम गेस्ट रूम में चले जाओ और नहाकर फ़्रेश हो जाओ।मैं गेस्ट रूम आयी और बाथरूम में चली गयी।इतने में नौकरानी ने बाथरूम का दरवाजा खटखटाया. ब्लॅक मॅन सेक्सी व्हिडिओजैसी ही उसकी चूत पर गर्म टॉवल रखा गया तो वो एकदम से मुझसे लिपट गयी. अब आगे:फिर एक बजने वाले थे, तो उसने मुझे फोन करके कहा- मैं आ रहा हूँ … कोई है तो नहीं?मैं बोली- नहीं, कोई नहीं है … आ जाओ.

यहाँ पर ड्राइवर पहले से ही मुझे पकड़ने की ताक में खड़ा था उसने अंधेरे का फ़ायदा उठाते हुए मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरे होंठों को अपने होंठों में डाल कर चूसने लगा.

मैं ऐसी ही नंगी आदी के रूम के पास आई और दरवाज़े को धक्का दिया, तो वो नहीं खुला. वसुंधरा का हाथ लगते ही ख़्वाबों के खटोले से मैं एकदम धरातल पर आ गया. मेरे लंड की मुठ मारते हुए वो बोली- अब कर दो न जल्दी से, प्लीज … मुझसे नहीं बर्दाश्त हो रहा है.

मेरे प्यारे दोस्तो, अंतर्वासना पर मेरी चुदाई कहानी में आपका स्वागत है. दोस्तो, यह थी मेरी सेक्स स्टोरी मेरी चाची की चूत और गांड चुदाई की … मुझे मेल करके बताइएगा कि आपको यह गर्म कहानी कैसी लगी. वो आंखें मूंदे ही बोली- आप ही बता दीजिये … मैं किसको इमेजिन करूं?एकाएक मेरे मुँह से निकला- अपने भैया को.

डब्ल्यू डब्ल्यू सेक्सी बीएफ

ममता फुल मस्ती दे रही थी, मैंने उससे पेटीकोट उतारने को कहा तो बोली- साहब, गैर मर्द के सामने हम लोग सारे कपड़े नहीं उतारते. मेरी कमर के दोनों बगल में उन्होंने अपने दोनों घुटने टेक दिए और थोड़ी देर तक वह अपनी गांड मेरे लंड पर घिसती रही. फिर भी नवयौवना की चूत का मुँह चाहे जितनी भी फूली हो, पर खुली नहीं रहती.

एक बार फिर सायरा ने मेरी मलाई चाटकर अपनी चूत साफ की और फिर गीले कपड़े से मेरे लंड को।उसके बाद वो मुझसे चिपक कर सो गयी.

इसी दौरान मैंने अपना एक हाथ उसकी चुत पर रख दिया, जिससे उसके मुँह से एक लम्बी आह्ह निकल गयी और उसने मुझे कसके पकड़ लिया.

वो लंड के टच से और भी पागल सी हो रही थीं और बार बार बोले जा रही थीं- आह मत सताओ … प्लीज़ अब डाल भी दो अपना लंड. लगभग 40 मिनट के मेरे 80-90 शॉट लगने के बीच ज़ेबा दो मर्तबा झड़ चुकी थी. सेक्सी वीडियो यामैं बोली- अच्छा ठीक है … वैसे बाबू क्या तुमने मेरे कपड़े देखे हैं, पता नहीं कहां चले जाते हैं … मिल ही नहीं रहे हैं.

इस बात से भी हिचकता था कि अगर तूने कुछ बता दिया तो फिर मेरा क्या होगा. मैं अपने दोनों हाथों से आलिया की गांड को सहला रहा था, हम इतने मशगूल हो गए थे कि हम यह भूल गए थे कि इस कमरे में हमारे अलावा भी दो और लोग हैं. प्रीत ने आदी से कहा- कल रात में तुमने मेरी आंख पर पट्टी बांध कर मेरा लंड चुसाई की थी … आज बिना पट्टी के लंड चूसना चाहोगे?ये सुन कर आदी मेरी तरफ देखने लगा.

उसने बालकनी में आकर इधर उधर देखा और कोई समस्या न पाते हुए अंकल फिर से अन्दर घुस गए. दुकान वाले को देख कर उस सांवले से बॉडीबिल्डर ने कहा- आ जा पहलवान … सुणा दे.

उनकी चिकनी टांगें और बिकनी के ऊपर से उभरी उनकी चूत साफ साफ दिख रही थी.

उसके बाद उन्होंने सही निशाना लगा कर मेरी चूत में एकदम से लंड को घुसा दिया. इसके बाद मैंने कामिनी के पैर को ऊपर उठा दिए, जिससे उसकी चुत खुलकर सामने आ गई. उसने भी कहा- मुझे भी चरम सुख प्राप्त हुआ संजय … मैंने तुम्हारी आभारी रहूंगी.

सेक्सी भोजपुरी सेक्सी व्हिडिओ मैंने अचकचा कर पूछा- अरे आपको क्या हुआ? आप रो क्यों रही हैं?चाची ने सुबकते हुए अपना सारा दर्द मुझे बताना शुरू कर दिया. खाला हंसती हुई बोलीं- अरे बेटा जल्दी क्या है … तीन दिन बाद तो किला फ़तह करना ही है … जल्दबाज़ी क्या है?मैंने उनकी तरफ मुस्कुरा कर देखा.

उसका नाम शीला है वो भी दिखने में पटाखा है शायद राज उसे चोद चुका है!मैं और प्रीति सही मौके का इन्तज़ार करने लगे. वो कहने लगीं- बाबू तुम तो बहुत मजा देते हो … तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले. वो तो उषा ने प्रीति को चुदाई के बारे में बता बता कर उसको चुदाई के लिए इतना प्रेरित कर दिया कि प्रीति को लंड की चाहत होने लगी थी.

भोजपुरी बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियो

ये बोल कर उसने अपने बैग से टॉवल निकाला और बाथरूम में जाने लगी, तो मैंने उसे रोका और अपना शॉर्ट्स उतार कर उसे गोद में उठाया और बाथरूम में ले गया. दाने पर मेरी उंगलियों की हरकत महसूस करते ही स्नेहा भाभी ने मस्ती भरी आवाजें निकालना शुरू कर दी थीं. आहहहा … क्या नज़ारा था … जेठजी का लंड, जिसे पहले राउंड में मैं देखने को तड़प गयी थी और पूरी चुदाई के दौरान देख ही नहीं पायी थी.

मैंने फिर से अपनी कमर को उचकाकर एक धक्का लगा दिया। पिंकी तो पहले से तैयार थी, उसने भी अपनी कमर को लय में उचका दिया, उसकी चूत भी कामरस से लबालब थी और एक बार में लगभग मेरा पूरा ही लण्ड उसकी चूत में उतर गया।पिंकी के मुंह से एक बार फिर से ‘आह्ह्ह्ह …’ की एक मीठी सी कराह निकल‌ गयी।पिंकी ने मुझे अब तुरन्त ही अपनी अपनी दोनों जाँघों के बीच अपनी टांगों से जकड़ सा लिया. फिर चाचा ने उनकी टांगों को चौड़ी किया और चाची की चूत में लंड डाल कर हिलने लगे.

मैंने ड्राइंग रूम का दरवाजा बंद किया और बेडरूम में पहुंचा तो रेखा कपड़े उतारकर नंगी हो चुकी थी.

मैंने उसकी ब्राउजिंग हिस्ट्री को खोल कर देखा तो मेरे होश ही उड़ गये. ड्राइवर ने भी मेरी कमर को पकड़ते हुए नीचे से एक झटका लगा दिया जिससे उसका मोटा और विशाल लंड मेरी फुदी के भीतर तक समा गया. सागर- अच्छा तो शाम का क्या प्लान है?मैं- कुछ नहीं … बस ये लैपटॉप बनने देने जा रही हूँ, वहीं थोड़ा शॉपिंग का प्लान है.

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि पहली बार की चुदाई के दौरान भी मैं जेठजी का लंड चूसना तो चाहती थी, पर शर्म और झिझक की वजह से कह और कर नहीं पायी थी. पूर्णिमा भाभी की चूत में जरा जरा से बाल थे जो उसकी चूत को और आकर्षक बना रहे थे. इस बार फिर मुझे बेतहाशा दर्द हो रहा था। मैं बस यही सोच रही थी कि जल्द से जल्द इसका पानी निकल जाए और यह मुझे छोड़ दे मगर उस कमीने का पावर इतना ज्यादा था कि इतनी जल्दी उसका पानी नहीं निकल रहा था.

मैंने केले को अपनी आंखों के सामने लाया, वो थोड़ा मुलायम सा हो गया था, वो अधपका केला था, नहीं तो अब तक तो कब का पिचक चुका होता.

एचडी सेक्सी बीएफ इंडियन: मैंने गाड़ी एक तरफ रोकी और उसकी चूचियों को सहलाते हुए उसके होंठों को अपनी ओर करके उसे किस करने लगा. दीदी ने हामी भर दी, तो अंकल ने दीदी के हाथ को पकड़ लिया और दीदी को लेकर दूसरे रूम में ले गए.

मैंने लण्ड को चलाना शुरू किया तो देखा मेरा लण्ड खून से सना हुआ था लेकिन ताज्जुब था कि ज्योति न चीखी न चिल्लाई. मीना के एग्जाम खत्म होने के बाद एक दिन मनोज ने मीना को फ्लाइट में बैठा दिया और उसे रिसीव करने के लिए मैं एयरपोर्ट पहुंच गया. ‘नहीं … नहीं’ कहती क़ामयानी को अभिसार के लिए मनाने के लिए उस से थोड़ी सी जबरदस्ती करने में उसे अपनी जीत का अहसास होता है और जिस-जिस आसन या जिस-जिस मुद्रा को स्त्री ‘न’ कहती है, बारबार वही आसन या मुद्रा अपनाता है या उसी क्रीड़ा में लिप्त होना चाहता है जिस में स्त्री को कुछ कष्ट होता हो.

उसका कसरती बदन, मस्त डोले, चौड़ी छाती, सिक्स पैक ऐब्स, उसके मस्त कट्स देख कर मैं उसको देखती ही रह गयी.

धीरे धीरे 10-12 झटके के बाद प्रीति की चूत में मेरा आधा लंड घुस चुका था. इसके बाद उन्होंने कहा- तुम्हारे भैया के नहीं रहने के बाद आज से हम दोनों पति-पत्नी की तरह रहेंगे. अंकल पास में रखे एक डिब्बे को लेकर आए और दीदी की कमर के पास रख कर बैठ गए.