ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो मोटी वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियोxxxbf: ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ, फिर कुछ देर चूसने के बाद वो उठी और उसने अपने सारे कपड़े निकाल फेंके.

भोजपुरी बीएफ ब्लू वीडियो

अलीमा की नजरों को बलविंदर भी कुछ कुछ पहचानने लगा और इस बात का बलविंदर फायदा उठाने लगा था. एक्स एक्स एक्स बीएफ चूत चुदाईअब मैं जैसे ही वहां पहुंचा तो मेरा अच्छा स्वागत हुआ।दिनभर हम सब काम में बिजी रहे.

उन लोगों ने मेरे शौहर को अगले बोगी में धकेल कर दोनों बोगियों के बीच का दरवाजा बंद कर लिया. हिंदी में चोदा चोदी वीडियो बीएफमॉम बोलीं- मैं मोटी हूँ, मुझ पर ये अच्छी नहीं लगेगी … और मैं अपने बेटे के सामने कैसे पहन सकूंगी.

पीछे हाथ ले जाकर भाभी की गांड और चूत पर भी हल्के हल्के हाथ से सहला रहा था.ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ: अजय का लंड माया की चुत से टच होने लगा था और माया उसे बड़ी वासना से देख रहा था.

उसकी चूचियों के निप्पल एकदम पहाड़ की चोटी की तरह उसकी चूचियों पर नुकीले होकर तन गये थे.क्योंकि मुझे नहीं लगता कि बुआ जी अपने बेटे के साथ ऐसा कुछ करना पसंद करेंगी.

सेक्सी वीडियो हॉट बीएफ - ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ

अब मुम्बई में किसी औरत को लाने के लिए आप भी सोच सकते हो कि उसे घर भी चाहिए और उसके खर्चे का हिसाब भी फिर अलग रह जाता है.भाभी की चूचियों को दबाते हुए मैंने भाभी से पूछा- मेरी जान, कैसा लग रहा है?तो भाभी ने कहा- अच्छा लग रहा है जानू.

मैंने कहा- पापा, हम लोग डांस ही तो कर रहे हैं इसमें क्या बदनामी का डर है … वैसे भी हमें यहां पर कौन जानता है!पापा के साथ मैं डांस करने लगी. ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ कुछ देर के अंतराल में वो दोनों भी बाहर आ गए।मम्मी की एक सहेली आ गयी थी तो उनकी ही वजह से पूरा खेल खराब हो गया.

बात अब से 5 साल पहले उस वक्त की है, जब मैं किसी काम से मेरे मामा जी के घर गया हुआ था.

ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ?

मैंने पिछली सेक्स कहानी में बताया था कि मैं गुजरात में भरुच का रहने वाला हूँ. इस सब में 20-25 दिन लग गये और जब सब कुछ निश्चित हो गया तो फिर मैंने डिम्पी को फोन किया और उससे कहा कि मैंने उसके लिये सारा इंतजाम कर लिया है. वो मेरी मां को अपनी बांहों में भर कर बोला- भाभी जी, आज मेरा मन भर दो; आपका क्या घिस जाएगा … वैसे भी आप भी प्यासी हो.

वो मुझसे छूटकर गुस्से में बोलीं- ये तुम क्या कर रहे हो तुम्हारे मामा से बोलूंगी … रुको!मैं बोला- वो मैं ही हूँ डार्लिंग … जिसका तुम अभी वेट कर रही थीं. मैंने जोर से झटके पर झटके लगाने के साथ उनकी एक चूची को अपने मुँह में दबाया और लंड को बह जाने दिया. लड़कों की नजर और विचार दोनों ही लड़कियों के स्तनों और उनकी योनि में उलझे रहते हैं.

सहेली की चूत पर हाथ रखते ही खुद ही मेरा हाथ उसकी चूत को सहलाने लगा. मैंने सोच लिया था कि यदि अक्षय पहल करेगा तो मैं उससे चुद जाऊंगी … मगर अपनी तरफ से पहल नहीं करूंगी. वह पूरी तरह से हमलावर हो चुकी थी, वो उठी मेरा अण्डरवियर उतारा और मेरा लण्ड चूसने लगी.

कई साल बाद वो दिन आया, जब मैं उस हॉस्टल से निकला और बाहरी दुनिया में आया. सीमा की चूत उसके कामरस से एकदम भीगी हुई थी इसलिए जैसे ही मैंने हल्का सा झटका दिया, मेरे लंड का सुपारा सरकता हुआ उसकी चूत के छेद में समा गया और उसकी जोर से सिसकारी निकल गई- सीईईई … ह्म्म्म … बहुत सख्त है.

मुझे पता था कि समर को लाल रंग बहुत अच्छा लगता है इसलिए मैंने लाल रंग की ब्रा-पैंटी और मैक्सी पहनी।जब मैं बाथरूम से बाहर आई तो वो मुझे देखता रह गया।फिर मैं उसके पास जाकर बैठ गयी.

मैंने पापा के हाथ पर रख लिया और उनका सख्त हाथ छूकर मेरी चूत में कुछ अच्छा लगने लगा.

अमित मेरी बीवी के मुँह में लंड डालते हुए बोला- तो क्या हुआ मादरचोद रांड. भाभी को पहले तो बहुत दर्द हुआ लेकिन धीरे धीरे भाभी ने सारा दर्द भुलाकर मेरा साथ देना शुरू कर दिया।अब मुझे भाभी की गांड चोदने में चूत से भी ज्यादा मजा मिल रहा था. मैं और राहुल जल्द ही होटल के कमरे में पहुंच गए, कमरे में मैं और राहुल ही थे.

फिर अंकल ने अपना मोबाइल निकाल कर मुझे मेरी वीडियो दिखाया, जिसको देखकर मेरे होश उड़ गए. मजुला को भट्टाचार्य जी का घर एक नज़र में ही भा गया और उसने तुरंत हां कर दी. वो मेरे एक दूध को अपने हाथों में लेकर मसलने लगे और अपने होंठों से मेरे एक चूचुक को दबा लिया.

मैंने तो ये अपने शौहर के लिए की है।फिर मैं बोला- अच्छा बाजी, अब आपके शौहर मेरे से ज्यादा अजीज़ हो गये कि आप मुझे मना कर रही हो? अभी तो उनका अता पता भी नहीं कि आप गांड फैलाकर उनके लिए तैयार हो रही हो?बाजी चुप हो गई और अपना सूट उठा कर होंठों में दबा लिया और सलवार का नाड़ा खोल दिया। सलवार नीचे गिर गई और वो अपनी ब्लू कलर की पैंटी नीचे खिसकाने लगी.

फिर अशोक, रोहन को किस करने लगा और दोनों एक दूसरे के मुँह में सारा वीर्य देने लगे. मैं सामने ही खड़ा था और तभी एक भाभी बाथरूम से निकल कर आती हुई दिखाई दी. आज ठकुराईन को चेकअप कराने जाना था, तो सास-ससुर, ठकुराईन, साली … सब जा रहे थे.

मगर समर को अभी भी चैन नहीं था; वो मेरे बालों को खींचते हुए पूरे लंड को अंदर धकेल देना चाहता जबकि उसका लंड पहले ही मेरे गले में जाकर फंसा हुआ था. मैंने उससे दूसरे दिन मिलने के लिए एक जगह बुलाया … और वो राजी हो गई. मैंने कई बार अपनी चूत को अपने हाथों से सहलाया था लेकिन उस लड़के के हाथों से चूत रगड़वाने में कुछ अलग ही मजा मिल रहा था मुझे.

किरण का शराब का नशा उतर चुका था और अब वो पूरी तरह से जवानी के नशे में थी.

मैडम की चुदाईमैंने कैसे की वो मैं आपको अपनी अगली स्टोरी में बताऊंगा. फिर मैंने उसकी पैंटी को हल्का सा एक तरफ किया और उसके अंदर उंगली घुसा दी.

ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ मैं कोक की बॉटल में व्हिस्की मिला कर रखता था, गुरप्रीत रोज कोक समझकर एक पेग व्हिस्की लेने लगी. काफी दिन बाद मुझे लंड चूसना नसीब हुआ था इसलिए मैं भी पूरी मस्ती से लंड को मुँह में अन्दर तक ले ले कर चूस रही थी.

ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ जय जी, मुझे आपका फ्लैट बहुत पसंद है … मैं कल ही यहां शिफ्ट हो जाती हूँ. मैं भी अब अपनी बहन की तरह आधी नंगी हो गई।वो मेरे मोटे चूचे बड़े ध्यान से देखने लगी।मैं समझ गई कि ये अब कामुक हो गई है।तो मैंने उसको हाथ से पकड़ कर हिला दिया और बोली- घूर कर क्या देख रही है?वो बोली- दीदी, आपकीतो बहुत मोटी हैं।तो मैं बोली- क्या मोटी है?तो वो बोली- चूची।अब मैं हंसने लगी.

प्रेसिडेंट बनने के बाद तो मुझे बहुत ज्यादा समय छात्रों की समस्याओं को लेकर निकालना पड़ता था.

लाडकी के नाम फोटो

वो बोला- ठीक है, अब अपनी लैगी भी निकाल दे और घोड़ी बनकर मेरे लंड को चूस. दुनिया की नजरों में हम दोनों ही शादीशुदा थे और रिश्ते में भाई-बहन भी लगते थे. एक दिन मुझे मनजीत का फोन आया और बोली- हरजिंदर घर आओ … कोई जरूरी बात करनी है.

गांव में पहुंचा तो चाची घर पर अकेली थी और मैंने मौका पाकर चाची की चूत और गांड चोद दी. ये कहते हुए बड़ी मम्मी जी मेरे सीने पर अपना था रखते हुए मुझे वापस लेटने के लिए एक दबाव दे दिया. अब तो बड़े आराम से लील लेती है इसे!” मैंने कहा और उसका मुंह चूमने लगा.

अब ससुर जी बेड पर आ गये, उन्होंने धीरे धीरे मेरी दोनों टांगें फैला दीं और मेरी टांगों के बीच आ गये.

धीरे धीरे उनकी सिसकारियां चिल्लाने में बदल गईं और वो अपनी कमर को हिलाने लगीं. मैंने मना कर दिया … लेकिन जब वो ज़्यादा ज़ोर देने लगे तो नीरजा ने भी मुझसे जाने के लिए बोला. अब बाजी हल्की फुल्की आवाज़ ही निकाल रही थी मगर मैं तो पूरी मस्ती से चोद रहा था.

बाबूजी 10 बजे टीवी बंद करके अपने कमरे में चले जाते थे, वही आज भी हुआ. वो अपने मुँह को मेरी मां के मुँह पर लगाए हुए उनकी आवाज को बंद किये हुए था. वो इतनी ज्यादा गर्म हो गई थी कि वो एक मिनट से भी कम समय में पूरी तरह नंगी हो चुकी थी.

मैंने भाभी की कमर को सहलाते हुए कहा कि मेरी जान ये तो मेरी किस्मत है, जो तुम मुझे चोद रही हो, चोदो जानेमन. मैंने सोनाली की बात नहीं सुनी और मैं उसकी बहन की चूत को रगड़ने और उंगली से चोदने में लगा रहा।इधर गरिमा मेरी गर्दन पर काटने लगी थी.

फिर आरिया की टांगें खोल कर अपना लंड आरिया की चूत पर सैट किया और आरिया की चूत चोदने लगा. मैंने उसको तैरना सिखाया और इसी बीच मेरा लंड बार बार उसकी गांड से टकरा रहा था. मौसी फिर मेरी तरफ घूम गई और हम दोनों के होंठों ने एक दूसरे के मुंह का रस पीना शुरू कर दिया.

आप सच्चे मन से किसी की कोई सहायता करना चाहो पर आप पर क्या लांछन लग जाये कहा नहीं जा सकता.

इस बार मैडम ने मेरी चोर नजरों को खुद को घूरते हुए पकड़ लिया था, उसने कहा कि चलो 8000 दे देना, पर मेरा छोटा सा काम करना पड़ेगा. अब भी वो चोली पहन कर झाड़ू लगा रही थी। उनका बाकी जिस्म अब भी नंगा था. इस तरह आज मैं भी अपनी पहली चुदाई की कहानी आप सभी को सुनाने जा रही हूँ.

दस मिनट तक उसके कबूतरों के साथ मस्ती करने के बाद मैं उसके बगल में लेट गया. पर मेरा बदमाश लंड मेरी बीवी शनाज़ की बात सुन कर तभी से ठुमक रहा था और उसकी चूत में घुसने के लिए मचल रहा था.

मेरी पिछली कहानी थी:अम्मी और बाजी को रंडी बना कर चोदामेरी उम्र 32 साल की है. अपनी चढ़ती जवानी में उसने स्ट्रेट लौंडों को पटा कर उनके लंड को चूसने की कला भी सीख ली थी. लेकिन ज़ोहरा आपा को शनाज़ ने कहा- आपा … असल अशफ़ाक भाईजान …तब ज़ोहरा ने हंस कर शनाज़ की गाल पर हल्का सा थप्पड़ मारकर कहा- बेशर्म लड़की … अशफ़ाक अब तेरा शौहर है.

एचडी सेक्स वीडियो अंग्रेजी

गर्मियों के दिन थे और बगल की छत पर मेरा चचेरा भाई अक्सर मुझे शाम को टहलते हुए दिख जाया करता था.

कुछ ही पलों में लंड ने चुत को फैला दिया था और मंजू भी हौले हौले से चुदाई का मजा लेने लगी थी. मैंने कहा- आज रात को क्या कर रही हो तुम?मां बोली- कुछ देर के बाद राजेश मास्टर आयेंगे. बलविंदर की इस बात से अलीमा समझ चुकी थी कि आज बलविंदर उसे छोड़ने वाला नहीं है.

इस पर मैंने बोला कि इनका ध्यान कौन रखेगा?सासु मां बोलीं- कि मैं रख लूंगी. बच्चे बड़े हो जाएं तो मां-बाप के बेकार हो जाते हैं, ऐसा नहीं होता है ना. बीएफ फिल्म ब्लू पिक्चर बीएफउसके बाद उसने मेरी पेटीकोट ऊपर किया और बोला- इतनी मस्त चूत पहली बार देख रहा हूँ … इतनी चिकनी चमेली चुत मुझे अब तक नहीं मिली.

मैं मौसी के करीब पहुंचा तो मेरा तना हुआ लंड मौसी की गांड पर टच होने लगा. मेरा दोस्त अफजल 28 साल का युवक था लेकिन वो साला अंकल जी टाइप का लगता था.

मेरे पति के जाने के बाद मुझे कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ा, मेरी आपबीती को मैं विस्तार से आपको लिख रही हूँ. इस कहानी को पढ़कर आपको कितना मजा आया मुझे इसके बारे में जरूर लिखना. मॉम उसकी बात सुनकर मुस्करायी और बोली- साहब, इस लंड को हिलाकर जल्दी खड़ा करो.

ठाकुर ने नीरजा देवी को अपनी बांहों मे उठा लिया और घास के ढेर की ओर चल पड़ा. इसके बाद मैंने मामी की गांड कैसे मारी ये सेक्स कहानी मैं आपको अगली बार में लिखूंगा. कुछ देर बाद मैंने बुआ से हंस कर बात कर ली और उनके साथ मजाक करने लगा.

गांड में लंड देने के बाद कल्लू फिर से राजधानी ट्रेन की रफ्तार से चोदने लगा।अनु मज़े से सिसकारी भर कर आवाज निकाल कर गांड चुदाई करवा रही थी।नौकर कल्लू ने आधे घंटे की चुदाई का फल उसकी गांड में ही निकाल दिया।लड़की की गांड चुदाई करके अब कल्लू दुकान पर वापस आया तो सेठ जी ने पूछा कहां गया था?तो कल्लू बोला- खांड खाने गया था.

मैंने अपने ब्लाउज की डोरी संजय से बांधने के लिए बोली, तो वो तुरंत आकर बांधने लगा. मैं अपनी मौसेरी बहन शनाज़ को पसंद करता था और वो भी मुझे दिलोजान से चाहती थी.

रात भर सफर किया था इसलिए मुझे तो बहुत नींद आ रही थी और मैं जाते ही सो गया. मैंने देखा कि बड़े पापा बगल में बैठे हैं और बड़ी मम्मी उनके सामने नंगी होकर ब्रा पहन रही थीं. मेरी मां को भी कभी कभी किसी मर्द के नीचे पिस जाने का मन करता था … पर वो डरती थीं कि कहीं कोई उनको परेशान न करने लगे.

और ये सुनते ही हम 69 की पोजिशन में आ गए। मैं संगीता की चूत चाटने लगा जिस पर एक भी बाल नहीं था. मैंने कहा- बहन-भाई के बीच में ऐसा कैसे हो सकता है यार?वो बोली- अरे सब होता है. मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोलकर उसे उतार दिया और कुर्ती को भी उतार दिया.

ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ कुछ ही दिनों के बाद मैंने देखा कि उसकी चूचियों का आकार बढ़ने लगा था. ज़ोहरा बोली- अशफ़ाक भाई … जो करना है, ज़ल्दी कर … अम्मी और शनाज़ आने वाली होंगी.

साउथ सेक्स वीडियो

पर उसकी ओर मैंने ध्यान ना देते हुए जोर जोर से अपनी कमर चलाकर अपना लंड सीमा की चुत में उतारने निकालने लगा. वैसे तो मैं शादी से पहले ही मेरी चूत की गर्मी के कारण चुद गई थी और इस बात को मैंने अपने पति को भी बता दिया था कि मेरा शादी से पहले एक दोस्त था, जिसने मेरी चुत की सील खोली थी. कुछ देर बाद मैंने भाभी की गांड से लंड खींचा और उनको सीधा लिटा कर अपने सामने कर लिया.

मुझे जैसी लेडी गर्ल्स पसंद हैं, वो बिल्कुल वैसी माल थी … कुल मिलाकर मेरी फ़न्तासी से भरपूर मॉल नताशा. उसके बाद वो काफी देर तक चूचियों को पीता रहा और फिर उसने उनकी जीन्स खोलना शुरू की. बीएफ फॉरेनअब हर तीसरे दिन मेरी सहेली के साथ हॉस्टल में हम दोनों का लेस्बियन सेक्स होता था.

अब पढ़ें चुदासी लड़की की वासना स्टोरी:सबसे पहले मैं एक बार फिर से अपने बारे में बता देती हूँ.

थोड़ी देर तक उसके दोनों मम्मों को चूसने के बाद मैं नीचे आया और उसकी नाभि के पास किस किया. मां को देख कर वो अपने लंड को खुजला रहा था, या यूं कहें कि वो मां को अपना लंड सहला कर दिखाने की कोशिश कर रहा था.

सोनी ने मेरे लंड को मुंह में ले लिया और दस मिनट तक चुसवाने के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. नहीं तो हवस के पुजारी आपके बच्चों को मजबूर करके उसकी बहुत बुरी हालत करेंगे. वह मुस्कुराया और मेरे योनि के दरार पर अपना लण्ड रख कर एक झटके से अंदर डाल दिया.

बाबूजी (मेरे ससुर) सारा दिन घर पर ही रहते थे इसलिये अड़ोस पड़ोस में भी कुछ नहीं हो सकता था.

कॉलेज में मेरी पहली चुदाई की कहानी आपको पसंद आई हो तो मुझे अपने मैसेज के जरिये जरूर बतायें. मगर असल में मैंने 4 लोगों के साथ कई बार चुदाई का मजा लिया था और अपनी मेरी चूत की गर्मी से उनका बिस्तर गर्म किया था. दीपू की कड़क गीली चूचियों को जोर जोर से चूसते हुए मैं उसके निप्पलों को काट रहा था.

बीएफ हिंदी एचडी मूवीज़ोहरा आपा की इस हालत के लिए अम्मी अब्बू को ही जिम्मेदार मानती थी और अम्मी अब्बू के बीच अक्सर लड़ाई रहती थी. वैसे मेरा मन उसके साथ कुछ करने के लिए नहीं कर रहा था लेकिन फिर भी मैं उसको उठा कर खेत के अंदर ले गया.

मटका जीतो

या बुर का पानी निकाल कर करेगी मालिश?तो वो रुक गई और लोशन से मालिश करने लगी।अब उसकी उत्सुकता बढ़ रही थी।वो बोली- दीदी, बुर से पानी कहाँ निकलता है? वो तो पेशाब होता है. मेरा लंड पकड़ हिलाने लगीं और गप्प से मुँह में ले कर जोर जोर चूसने लगी थीं. उसकी गोरी जांघों को देख मेरा लौड़ा फूलने लगा।अंजलि ने मुझे कोहनी मारी जो शांत रहने का इशारा था।मैंने जैसे तैसे अपना लण्ड शांत किया.

आपको मेरी ये सच्ची देसी यार सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर करना. मैं भी उनके पीछे ही चल दिया।नीचे आकर बाजी टॉयलेट में घुस गई तो राबिया बोली- इमरान, मुझे पता है कि तुम्हें अजीब लगेगा, मगर मैं तो रोज़ तुम दोनों को चुदाई करते देखती हूं. अब वो मेरे बदन से ज़ोर से लिपटी हुई थी और मुझे कुछ भी देखने नहीं दे रही थी.

साले बहन को चोद कर मन नहीं भरा, जो मॉम की चुत बजाने के लिए सोच रहा है. ‘बाबू जी जरा धीरे चलो!’इस गाने में एक सीन है कि शराब जिस्म के ऊपर डालते हैं और साथ में शराब को अभिनेत्री के बदन के ऊपर से पीना होता है. प्रियंका चुपचाप सोफे पर पड़ी मजे ले रही थी और मैं भी पहली बार किसी लड़की को अपने पास नंगी करके लेटाए हुए था.

[emailprotected]देसी इंडियन लड़की चुदाई कहानी का अगला भाग:हवाई यात्रा में मिली एक हसीना- 6. फिर मैंने उसको बेड के कोने पर लेटाया और मैं खुद नीचे खड़ा हो गया। मैंने उसकी टांगों को अपने कंधे पर रखकर लन्ड उसकी चूत में एक ही बार में घुसा दिया।अब बेड के कॉर्नर पर मैं उसको तेजी से चोदने लगा.

तो अलीमा के पापा मम्मी सोचने लगे कि उनकी बेटी अलीमा घर में अकेली रह जाएगी.

उसकी बात मानते हुए मैंने कहा- बात तो तुम्हारी सही है लेकिन पापा पहले बहू की चुदाई पर ध्यान देंगे. लंड चूसने वाला बीएफवो अपना एक पैर मेरे कंधे पर रखकर मेरे सर को पकड़ कर दीवाल के सहारे खड़ी हो गई।मैंने ज्योति की कमर को पकड़ कर बहन की बुर पर एक किस किया. बीएफ चाहिए हिंदी वालामैंने सोचा कि अब यहां से निकल लिया जाए, नहीं तो पकड़ लिए गए तो बहुत पिटाई होगी. संतरे के आकार की मेरी चूची पकड़कर बाबूजी बोले- किरण, ये जो संतरे जैसी तुम्हारी चूचियां हैं, मेरे चूसने से साल भर में खरबूजे जैसी हो जायेंगी.

इस बात पर वह थोड़ा चुप हो गए और बोले- समधन जी आप ही बताइए, मैं क्या करूं.

मुझे लगा उसको गुस्सा आ जाएगा तो मैंने भी अपने कपड़े उतार कर लंड बाहर निकाल दिया और बाजी की तरफ गया।मैंने बाजी की कमर पकड़ी और उन्हें झुका दिया तो बाजी के हाथ से सलवार छूट गई और उनकी लाल पैंटी दिखने लगी।तो मैंने बाजी को कहा- बाजी आप सिलेंडर पर हाथ रख लो. मैंने सोच लिया था कि उसके लंड को खड़ा करके अपनी चूत की प्यास तो मैं उसी के लंड से बुझवा कर रहूंगी. मैं समझ गया कि बड़ी मम्मी जी आज मुझसे चुदने के लिए ही मूड बना कर आई थीं इसलिए उन्होंने ब्रा पैंटी नहीं पहनी थी.

तभी मैंने उसकी ब्रा हटा दी और मेरी वाइफ के ढीले बूब्स मेरी आँखों के सामने आ गए और मैं उनसे खेलने लगा. फिर मैं दरवाजे के पास अनजान बनकर गया और खटखटा कर बोला- कौन है अंदर? मुझे भी नहाना है. थोड़ी दूर ही बस चली होगी कि वो मेरी तितली अपने पापा के साथ बस में चढ़ गई.

ट्रिपल सेक्सी इंडियन

मगर डिम्पल ठीक से चल नहीं पा रही थी तो वो मेरी तरफ कातर भाव से देखने लगी. इतने देर में मुझे ये तो समझ आ गया कि वो मुझसे बदला लेने की कोशिश कर रहे हैं. जिस दिन मैं उसको नहीं चोदता था उस दिन वो मुझे बाथरूम में अंदर खींच लेती थी और मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगती थी.

मेरी वक्षरेखा पर पड़ी पानी की बूंदें देख कर शैलेश की हालत टाइट होने लगी.

इस पर संजय ने उससे मज़ा लेते हुए कहा- क्यों तेरी होने वाली बीवी खराब है क्या … फ़ोन लगाऊं अभी क्या?उसका दोस्त हंस कर कहने लगा- अरे रहने दे यार … शादी कैंसिल करवाएगा क्या!अब हम दोनों अन्दर आ गए और कुछ देर बैठे.

फिर उसने मां के ब्लाउज को जोर से खींचा, तो चिटकनी वाले बटन लगे होने के कारण ब्लाउज़ खुल गया. मैंने दिल्ली में एडमिशन के लिए कहा तो पापा अपने दोस्त से बात कर ली. बिहारी बीएफ फुल एचडीपाठिकाओं के लिए सबसे जरूरी जानकारी वाली बात यह है कि मेरे लंड की लम्बाई 7.

मैं थोड़ा शांत तो हो गया लेकिन अब मैं किसी भी हाल में मामी की चुदाई करना चाह रहा था. अब मेरा मन किसी जवान लड़के के लिंग को देखने, छूने और उसको अपनी चूत में लेने के लिए करने लगा था. जब मैं वहां पहुंचा, तो मामा जी बाथरूम में नहा रहे थे और मैं इनके आने का इंतजार करने लगा.

बाद मैं मुझे पता चला कि वो बंगला एक बूढ़ी महिला का है, जो बेड पर लेट कर अपनी मौत का इंतजार कर रही है. उसका नाम रूबी (बदला हुआ) था और उसके पति फ़ौज में एक उच्च अधिकारी के पद पर कार्यरत थे।भाभी का फिगर 36-32-38 का था.

इसके बाद मैं अपनी जिंदगी में आगे हुई प्रियंका के साथ और भी चुदाई की कहानी को लिखूंगा कि कैसे मैंने उसे उसके घर में चोदा.

वो हमेशा सोचता कि फिर से कब रजक लाल के लंड को चूसने का मौका मिलेगा. इतना तो मैं अन्तर्वासना पर पढ़कर समझ ही चुका था कि लड़की को गर्म कैसे करते हैं. पंजाबन की कुंवारी चूत चूसते हुए मुझे जो मजा उस वक्त मिल रहा था वो मैं यहां शब्दों में नहीं बता सकता.

कामवाली बाई का बीएफ फिर शराब के नशे में मस्त होकर एकाध ब्लूफिल्म देखते हुए अपनी बुर में उंगली करके ही सो पाती थी. मैंने निधि को ये बताया, तो उसने भी अपने घर पर बोल दिया कि मैं अपनी दोस्त के यहां पार्टी में जा रही हूँ.

तो मैंने क्या किया?मेरा नाम राज है; मैं 36 साल का हूं और मेरी बीवी माया उम्र 35 साल की है. मुझे उसकी लाल रंग की सैक्सी पैंटी के दर्शन होने लगे जिसमें से उसकी फूली हुई चूत नज़र रही थी. दामाद ने बारी बारी से अपनी सास के दोनों चूचे चूस चूस कर लाल कर दिए थे.

भाभी मेरी चुम्मियाँ लेने लगी

मंजुला के साथ कुछ कर पाना तो संभव था ही नहीं क्योंकि हमें कुछ देर बाद बिछड़ ही जाना था और फिर मुझे भी गुवाहाटी में कॉन्फ्रेंस अटेंड करके वापिस लौटना था. मैं अब अपने हाथ के अंगूठे से उसकी चूत के दाने को हल्का हल्का रगड़ने लगा।चूत में मैं उंगली अंदर बाहर करने लगा और एक हाथ से उसकी चूची के निप्पल को उंगली और अंगूठे के अग्र भाग से गोल गोल आगे पीछे करने लगा।उसकी चूत में मैंने अब दो उंगलियां डाल दीं और अंदर बाहर करने लगा. वैसे तेरी जोरू का बदन काफी कसा हुआ है, शायद नई नई शादी हुई है तेरी.

जब लगभग एक तिहायी लंड गांड में घुस गया तो फिर मैंने एक जोरदार धक्का मार कर समूचा लंड उसकी गांड में पिरो दिया. कुछ देर बाद जैसे ही मेरे पीछे वाला लड़का मेरी गांड में झड़ा, उसकी जगह तीसरे वाले ने ले ली.

हम दोनों ने भी अपने मन मार लिये और सोचा कि मां इतनी फीस लायेगी कहां से.

फिर वो चिल्लायी- क्या कर रहे हो? दिख नहीं रहा मैंने कपड़े नहीं पहने. क्योंकि 7 साल से मैं चुदी नहीं थी तो उन दोनों की इस हरकत से मैं एकदम पागल सी होने लगी. चुदाई के नशे में वो बड़बड़ाई- आह्ह … जोर से … आज मैंने सब कुछ तुम्हें सौंप दिया है.

मैंने कहा- सर पेपर कंप्लीट करने के लिए क्या करना होगा?तो सर ने बोला- मैडम से मिल लो. हालॉंकि मेरी पैंटी तो रोजाना ही गीली होती थी तो सबसे पहले मैं अपनी चूत को शान्त करती उसके बाद कहानी में दिए गए मेल आई डी मेल करना; ये मेरा रूटीन वर्क बन गया।जब मैंने कोमलप्रीत कौर को मैंने उनकी कहानी में दी हुई आईडी पर मैंने मेल किया तो मेरे पास मेल का जवाब मेल पर ही आया. ठकुराईन ने खांसने का नाटक किया, तो बलदेव को होश आया और उसने अपनी सास का हाथ छोड़ दिया.

मैं सोचने लगा यह तो गलत हो गया, लेकिन जब वो वापस नहीं आई, तो मैं भी उठ कर अपने कमरे में आ गया.

ससुर पतोह का सेक्सी बीएफ: हां, सर जी, अब मुझे तो यहीं गुवाहाटी में ही रहना है तो सोचती हूं कल शक्ति पीठ दरबार में जाकर उनके दर्शन कर उनका आशीर्वाद ले लूं. वो मेरी बात पर जोर जोर से हंसने लगी और मैंने उसको पकड़ कर नीचे बेड पर लिटा लिया.

बाद में उसे महसूस हुआ कि मैं साथ ही हूँ तो हम दोनों सामान्य बातें करते हुए चलने लगे. ज़ोहरा अपने मन में सोच रही थी- क्या करूँ मैं … कुछ भी समझ में नहीं आ रहा! मैं दो बार अपनी जांच करवा चुकी हूं. अक्षय ने कहा- टीना क्या तुम अपनी शादी के बाद भी मुझे ये सुख दोगी!मैंने गांड हिलाते हुए कहा- मैं तुम्हारी हूँ अब मेरे अक्षय … चाहे तो औरत बनाओ या रखैल.

मौसी की गांड को देख कर मेरा लंड तो पहले से ही तनाव में आना शुरू हो गया था.

ससुराल पहुंचते ही सास ससुर ने उनका स्वागत किया, सास ने दामाद के पैर धोए. जब कई मिनट तक गांड को चाटता रहा तो मौसी ने कहा- ये सब किसी और दिन कर लेना. अब आहिस्ते आहिस्ते घर में सभी लोगों के मन में डर होने लगा कि कहीं हम दोनों भाई बहन के ऊपर कुछ ऐसा है कि हम बेऔलाद ही रहेंगे.